शनिवार, 4 जुलाई 2020

पेड़ काटने पर निकलता है खून

मनोज सिंह ठाकुर


नई दिल्ली। ऐसे तो हम कहते हैं कि पेड़ों में भी जान होती है उनको काटने या पत्ते आदि तोड़ने पर दर्द होता है। हम लोग ये सब मानते भी हैं कि पेड़ पौधे भी हमारी तरह दिन में जागते और रात में सोते हैं। ऐसा सब हम बचपन से सुनते आए हैं लेकिन ये हकीकत भी है। एक पेड़ ऐसा भी है जिसे काटो तो इंसानों की तरह खून निकलता है। सुनने में यह सब भले अजीब लगे, लेकिन ऐसा होता है। दरअसल, ऐसा एक पेड़ है जिसे काटने पर उसमें से लाल रंग का पदार्थ निकलने लगता है और कई बार इसे देखने पर आप चौंक भी सकते हैं या हो सकता है डर भी जाएं। यह पेड़ दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में पाया जाता है जो बेहद ही खास और अनोखा है। दक्षिण अफ्रीका के अलावा यह अनोखा पेड़ मोजाम्बिक, नामीबिया, तंजानिया और जिम्बाब्वे जैसे देशों में भी पाया जाता है। इस पेड़ को लोग ‘ब्लडवुड ट्री’ के नाम से जानते हैं। इसके अलावा इसे किआट मुकवा, मुनिंगा नाम से भी जाना जाता है। वहीं इसका वैज्ञानिक नाम ‘सेरोकारपस एंगोलेनसिस’ है। इसके काटने पर निकलने वाला लाल रंग का पदार्थ भले ही आपको डराने वाला हो, लेकिन यह जानकर भी हैरान होंगे कि इसका उपाय दवाई के रूप में किया जाता है। इससे पेट की समस्या, मलेरिया और गंभीर चोटों को भी ठीक की जाती हैं। इसके अलावा यह पेड़ खून संबंधी बीमारियों को ठीक करता है। ऐसे में लोग इस पेड़ को जादुई पेड़ भी कहते हैं।


स्वदेशी एप बनाने की चुनौतीः पीएम

नई दिल्ली। चीन के साथ सीमा पर चल रहे तनाव और चीन के 59 मोबाइल एप पर प्रतिबंध लगाये जाने के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने युवाओं और स्टार्ट अप कंपनियों का स्वदेशी मोबाइल एप बनाने की चुनौती दी है। पीएम मोदी ने आज “आत्मनिर्भर भारत एप नवाचार चुनौती की” शुरूआत करने के बाद टि्वट किया , “यह चुनौती आपके लिए है, यदि आपके पास ऐसा उत्पाद है या आपको ऐसा लगता है कि आपके पास इस तरह के उत्पाद को बनाने का विजन और विशेषज्ञता है तो मैं प्रौद्योगिकी से जुड़े अपने सभी मित्रों से इसमें हिस्सा लेने का आग्रह करता हूं।”


उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी और स्टार्टअप से जुड़े लोगों में विश्व स्तरीय मेड इन इंडिया एप बनाने को लेकर बहुत अधिक उत्साह है। उनके विचारों और उत्पाद को आगे बढ़ाने के लिए सरकार ने आत्मनिर्भर भारत एप नवाचार चुनौती पेश की है। उल्लेखनीय है कि सीमा पर चीन के साथ चल रही तनातनी के बीच भारत ने चीन की 59 मोबाइल एप पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह चुनौती इन एप के विकल्प पेश करने के लिए शुरू की गयी है। 


फिर चलेगा ऑपरेशन क्लीनः योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर की घटना को गंभीरता से लेते हुए अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई करने के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को निर्देश दिए। उन्होंने कहा यूपी में एक बार फिर ‘आपरेशन क्लीन’ चलाया जाएगा। हर जिले के अपराधियों की लिस्ट तैयार की जाए।


अपराध के आधार पर सभी जिलों की लिस्ट बनाई जाए। हर जिले की लिस्ट की समीक्षा डीजीपी आफिस करेगा। यह अभियान हिस्ट्रीशीटर और बड़े अपराधियों के खिलाफ चलाया जाएगा। ‘कानपुर कांड’ के बाद अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ पुलिस लगातार सतर्कता बरत रही है।                 


मनोज सिंह ठाकुर


दुनिया में 1.11 करोड लोग संक्रमित

नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। पुरी दुनिया में 1.11 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में दुनिया में दो लाख 8 हजार 270 मामले सामने आए। वहीं अबतक पूरी दुनिया में कोरोना से एक करोड़ 11 लाख 81 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि मरने वालों की संख्या पांच लाख 28 हजार के पार पहुंच गई है।


दुनिया में कहां कितने केस, कितनी मौतें
अमेरिका अभी भी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में सबसे ऊपर है। यहां अबतक 28.90 लाख लोग संक्रमण के शिकार हो चुके हैं, जबकि एक लाख 32 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। वहीं ब्राजील में भी सिलसिला थम नहीं रहा है। यहां अमेरिका के बराबर केस और मौतें दर्ज की जा रही हैं। ब्राजील में पिछले 24 घंटों में कुल 41,988 हजार नए मामले आए और सबसे ज्यादा 1,264 लोगों की मौत हुई। ब्राजील के बाद रूस और भारत में संक्रमितों की संख्या दुनिया में सबसे ज्यादा तेजी से बढ़ रही है।



  • अमेरिका:  केस- 2,890,588, मौतें- 132,101

  • ब्राजील:     केस- 1,543,341, मौतें- 63,254

  • रूस:         केस- 667,883, मौतें- 9,859

  • भारत:       केस- 649,889, मौतें- 18,669

  • स्पेन:         केस- 297,625, मौतें- 28,385

  • पेरू:          केस- 295,599, मौतें- 10,226

  • चिली:        केस- 288,089, मौतें- 6,051

  • यूके:          केस- 284,276, मौतें- 44,131

  • इटली:       केस- 241,184, मौतें- 34,833

  • मैक्सिको:  केस- 238,511, मौतें- 29,189


14 देशों में दो लाख से ज्यादा केस
ब्राजील, रूस, स्पेन, यूके, इटली, भारत, पेरू, चिली, इटली, ईरान, मैक्सिको, पाकिस्तान, टर्की और साउथ अरब में कोरोना मामलों की संख्या दो लाख पार हो चुकी है। वहीं जर्मनी में भी 1 लाख 90 हजार से ज्यादा मामले आए हैं। भारत दुनिया में सबसे ज्यादा केस के मामले में चौथे नंबर पर है, जबकि सबसे ज्यादा मौत की लिस्ट में आठवें नंबर पर है।            


हापुड़ मे फूटा कोरोना बम, 8 नए मरीज

अतुल त्यागी
फिर फूटा कोरोना पॉजिटिव मरीजों का बम्ब निकले 8 नये मरीज


आपको बता दें कि हापुड़ जनपद में फिर फूटा कोरोना पॉजिटिव मरीजों का बम्ब। कोरोना पॉजिटिव के 8 नए मरीज मिलने से जिले में मचा हड़कंप। हापुड़ में लगातार तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण। एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर हुई 134, रिकवरड हुए 510, कोरोना से अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है।


यूपी 'पुलिस' की हिट लिस्ट के 25 नाम

बृजेश केसरवानी 
लखनऊ। यूपी पुलिस की इस हिट लिस्ट में आजमगढ़ के बाहुबली नेता और बीएसपी विधायक मुख्तार अंसारी, प्रयागराज के बाहुबली नेता अतीक अहमद और गौतम बुद्ध नगर के अनिल भाटी का नाम भी शामिल है। यूपी पुलिस की इस हिट लिस्ट में कुल 25 नाम हैं। इसमें बाकायदा अपराधी का नाम, पता लिखा गया है और उसके खिलाफ कार्रवाई हुई है या नहीं ये भी लिखा है। इसके अलावा अपराधी वर्तमान में किस जेल में बंद है या फिर जमानत पर बाहर है लिखा हुआ है। इस हिट लिस्ट को एसटीएफ से मिली जानकारी के आधार पर तैयार किया गया है।


इसके अलावा हिट लिस्ट में उमेश राय, त्रिभुवन सिंह, खान मुबारक, मोहम्मद वसीम, मोहम्मद सोहराब, मोहम्मद रुस्तम, बृजेश कुमार सिंह, सुभाष सिंह ठाकुर, ध्रुव कुमार सिंह, मुनीर, संजीव महेश्वरी, सुंदर भाटी, अनिल दुजाना, सिंह राज भाटी, सुशील, अंकित गुर्जर, अमित कसाना, आकाश जाट, ऊधम सिंह, योगेश भदौड़ा, अजीत उर्फ हप्पू, लल्लू यादव, अजय सिंह, रमेश सिंह, संजीव द्विवेदी, मुलायम यादव, राजेश यादव, बच्चा पासी, दिलीप मिश्रा और ओम प्रकाश श्रीवास्तव का नाम शामिल है।


बता दें कि कानपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुए हमले के बाद योगी सरकार ने अपराधियों से निपटने का मूड बना लिया है। कानपुर हत्याकांड में सीओ देवेंद्र मिश्रा समेत 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। अभी यूपी पुलिस की 100 टीमें पूरे प्रदेश में विकास दुबे को तलाश रही हैं।          


विभाग में तबादले के लिए बोर्ड का गठन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने पुलिस विभाग में अधिकारियों के तबादले के लिए बोर्ड का गठन किया है। आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को बताया कि अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बोर्ड गठन का आदेश जारी किया है जिसके अनुसार सहायक पुलिस अधीक्षक और पुलिस उपाधीक्षक का ट्रांसफर बोर्ड अध्यक्ष पुलिस महानिदेशक करेंगे।


तीन सदस्यीय बोर्ड के दो अन्य सदस्य अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक कार्मिक एवं अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक प्रशासन होंगे। उन्होंने बताया कि निरीक्षक का तबादले की जिम्मेवारी पुलिस महानिदेशक की अध्यक्षता वाला बोर्ड करेगा हालांकि इस बोर्ड के सदस्य अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक कार्मिक एवं अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक स्थापना होंगे। सूत्रों ने बताया कि उप निरीक्षक और उसके नीचे के अधिकारियों के तबादलों के लिए चार सदस्यीय बोर्ड गठित किया गया है जिसमें अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक स्थापना अध्यक्ष होंगे जबकि पुलिस उप महानिरीक्षक कार्मिक अथवा पुलिस महानिदेशक द्वारा नियुक्त डीआईजी के अलावा पुलिस अधीक्षक प्रशासन और अपर पुलिस अधीक्षक कार्मिक, पुलिस उपाधीक्षक कार्मिक सदस्य होंगे। उन्होंने बताया कि गठित बोर्ड की संस्तुति पर अधिकारियों के तबादले किये जायेंगे।           

अमित शर्मा


171 कर्मचारियों को दिया नियुक्ति-पत्र

नगर परिषद पलवल में 171 सफाई कर्मचारियों को लिया गया पालिका रोल पर विधायक ने सफाई कर्मचारियों को प्रदान किए नियुक्ति पत्र


रतन सिंह चौहान


पलवल। नगर परिषद पलवल में 171 सफाई कर्मचारियों को आज पालिका रोल पर ले लिया गया। पलवल विधानसभा क्षेत्र के विधायक दीपक मंगला ने शुक्रवार को बाल भवन में आयोजित कार्यक्रम में सभी सफाई कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किए। इस मौके पर सफाई कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री मनोहरलाल व शहरी निकाय मंत्री अनिल विज का आभार प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने सबका साथ-सबका विकास किया है। इस अवसर पर नगर परिषद की चेयरपर्सन इंदू भारद्वाज सहित सभी वार्डों के पार्षद भी मौजूद रहे।
विधायक दीपक मंगला ने कहा कि सफाई कर्मचारियों की लंबे समय से यह मांग चल आ रही थी कि उन्हें पालिका रोल पर लिया जाए। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने सफाई कर्मचारियों के हित को ध्यान में रखते हुए सफाई कर्मचारियों की लंबे समय से चली आ रही यह मांग आज पूरी कर दी है। दीपक मंगला ने कहा कि सफाई कर्मचारियों को पालिका रोल पर लेने से पलवल शहर की सफाई व्यवस्था में सुधार होगा। पलवल साफ व सुदंर शहर बनेगा। उन्होंने कहा कि नगर परिषद में कार्यरत अन्य सफाई कर्मचारियों के दस्तावेजों को भी पूरा करने के बाद उन्हें भी पालिका रोल पर लिया जाएगा।
सफाई कर्मचारियों ने कहा कि नगर परिषद में सफाई कर्मचारी लंबे समय से कार्य कर रहे थे। सफाई कर्मचारियों की यह मांग थी कि उन्हें ठेके की बजाय पालिका रोल पर लिया जाए। प्रदेश सरकार ने अपने वायदे को पूरा करते हुए पलवल में 171 सफाई कर्मचारियों को पालिका रोल पर लिया है। इससे उनके जीवन स्तर में और अधिक सुधार होगा। सरकार ने सफाई कर्मचारियों को आज एक नई सौगात प्रदान की है। सरकार के इस निर्णय से सफाई कर्मचारियों में खुशी की लहर है। इस अवसर पर पलवल निगरानी समिति के चेयरमैन मुकेश ङ्क्षसगला, अधिवक्ता अविनाश भारद्वाज, जिला महामंत्री पवन अग्रवाल, भाजपा वरिष्ठï नेता एल.डी. वर्मा, सुरेंद्र सिंगला, सीडब्ल्यूसी चेयरपर्सन दर्शना भारद्वाज मौजूद रहे।


गौ सेवा कर मनाया जन्मदिन उत्सव

गौ सेवा कर मनाया कार्तिक गुर्जर ने जन्मदिन


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। लोनी बंथला नहर पर कन्हैया गौशाला में जाकर कार्तिक गुर्जर ने आज गायों की सेवा कर अपना जन्मदिन मनाया। साथ में उपस्थित गो सेवकों ने गायों की सेवा की एवं कार्तिक गुर्जर को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी।
सतपाल प्रधान ने कहा सांसारिक जीवन में गौ सेवा करना बड़ा पुण्य का कार्य है। भारतीय संस्कृति में गाय, गंगा व गायत्री को प्राचीन काल से ही सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। आज मानव मात्र गोवंश के कारण खड़ा है यह प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से हमारे जीवन को बचाने में महती भूमिका निभा रही है। जननी मां की तरह गौ माता अपने दूध से सभी बच्चों को बलवान बनाती है। गाय के दूध से तनाव एवं कैंसर जैसे गंभीर रोगों से बचा जा सकता है।मुख्य रूप से विनोद प्रधान कार्तिक गुर्जर कपिल प्रधान सचिन राकेश बाल्मीकि आदि लोग उपस्थित रहेंं।     


छोटे भाई ने बड़े भाई को गोली से उड़ाया

जमीनी विवाद में छोटे भाई ने बड़े भाई को गोली से उड़ाया
बृजेश केसरवानी 
पुलिस ने आरोपी को लाइसेंसी बंदूक समेत किया गिरफ्तार
 
प्रयागराज। करछना थाना क्षेत्र के पथरहिया गांव में दो भाई जमीन के विवाद को लेकर शनिवार दोपहर में विवाद कर लिए और बात आगे बढ़ी तो बड़े छोटे भाई ने लाइसेंसी एक नाल की बंदूक से बड़े भाई को गोली मार दी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जिससे परिजनों कोहराम मच गया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को आला कत्ल के साथ गिरफ्तार कर लिए। जानकारी के मुताबिक करछना थाना क्षेत्र के भुंडा पुलिस चौकी के अंतर्गत पथरहिया गांव के रहने वाले राउरदीन  पटेल के बड़े पुत्र रमेश चन्द्र पटेल (52) व छोटे बेटे राम बहादुर पटेल के बीच जमीन का विवाद आपस में चल रहा है। शनिवार दोपहर में  इसी बात को लेकर दोनों भाई आपस में कहासुनी कर लिए, बात आगे बढ़ी तो छोटे भाई राम बहादुर पटेल ने लाइसेंसी बंदूक से बड़े भाई रमेश चंद्र पटेल को गोली मार दी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर करछना थाना क्षेत्र की पुलिस के साथ ही सीओ करछना  आशुतोष तिवारी मौके पर पहुंचे और आरोपी को आलाकत्ल के साथ गिरफ्तार कर लिए। इस संबंध में करछना क्षेत्राधिकारी आशुतोष तिवारी ने बताया कि छोटे भाई ने बड़े भाई को लाइसेंसी बंदूक से गोली मार दी। जिससे उसकी मौत हो गई। आरोपी को गिरफ्तार कर मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।


व्यापार संचालन हेतु एसडीएम से मिलें

अतुल त्यागी
बाजार खुलवाने को लेकर एडीएम से मिलें भाजपाई
21 दिन से 14 दिन हुआ समय


हापुड़। नगर के प्रमुख बाजारों को खुलवाने के लिए भाजपा जिला अध्यक्ष उमेश राणा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल एडीएम  से मिला और बाजार खुलवाने की मांग की। भाजपा जिलाध्यक्ष  उमेश राणा ने कहा कि इस समय व्यापारी वर्ग बहुत अधिक परेशान है तथा आजीविका साधन बिल्कुल रुका हुआ है।


 गोल मार्केट, कसेरठ बाजार, छोटी बड़ी मंडी, सर्राफा बाजार ,चंडी रोड व  पिलखुआ के घास मंडी, रेलवे रोड आदि बाजारों के विषय में चर्चा करते हुए खुलवाने की मांग की। एडीएम जय नाथ यादव ने बताया कि अब सरकार ने 21 दिन की बजाए 14 दिन का समय कर दिया है। जिस कारण  जल्द ही कुछ बाजार खुलने वाले हैं।  सरकार को भी व्यापारी वर्ग की बहुत अधिक चिंता है तथा दिन रात प्रशासन भी इसी चिंतन में लगा है कि किस प्रकार जल्दी से जल्दी बाजार खुले और व्यापार प्रारंभ हो। इस मौके पर  पुनीत गोयल, यशपाल सिंह सिसोदिया ,श्याम इंद्र त्यागी, विनीत दीवान ,प्रवीण सिंगल, गगन बाटला, अमित त्यागी  एवं जिला मीडिया प्रभारी सुयश वशिष्ठ मौजूद थे।


कोरोना रिकवरी 60.81 प्रतिशत हुई

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमित मरीजों के रोगमुक्त होने (रिकवरी) की दर बढ़कर 60.81 प्रतिशत हो गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी कि देश में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर बढ़कर 60.81 प्रतिशत हो गयी है।


देश में फिलहाल कोरोना संक्रमण के 2,35,433 सक्रिय मामले हैं और 3,94,226 कोरोना संक्रमित मरीज अब तक पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, जिससे संक्रमण मुक्ति की दर बढ़कर 60.81 प्रतिशत हो गयी है। पिछले 24 घंटे में 14,335 कोरोना संक्रमित रोगमुक्त हुए हैं। संक्रमण मुक्त मरीजों और सक्रिय मामलों का फासला बढ़कर अब 1,58,793 हो गया है। कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए जांच सुविधा उपलब्ध कराने वाले लैब की संख्या भी लगातार बढ़ती हुई 1,087 हो गयी है जिससे नमूना जांच की गति भी तेजी हुई है। देश में फिलहाल अब तक 95,40,132 नमूनों की जांच की जा चुकी है।


यूपी राज्यमंत्री की जांच, मिलें पॉजिटिव

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश सरकार में आयुष राज्यमंत्री डाॅ. धर्म सिंह सैनी की जांच रिपोर्ट शनिवार को कोरोना पॉजिटिव आई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. बलजीत सिह सोढी ने बताया कि आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी को पिलखनी स्थित राजकीय मेडिकल कालेज में भर्ती किया गया है। उन्होंने बताया कि उनके परिवार के सदस्यों के सैम्पल लेने के लिए स्वास्थ्य टीम को रवाना किया गया है।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि मंत्री के संपर्क में आये स्थानीय नेताओं के बारे में जानकारी ली जा रही है। उनके सैम्पल भी लिये जाएंगे। डॉ. सोढी ने बताया कि मंत्री को खांसी की शिकायत है और वह थकावट भी महसूस कर रहे हैं। एक्सरे के बाद ट्रू-नॉट मशीन से कोरोना जांच कराई गई। जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 


फारूख खान


हथियार की तरह 'डाटा' का इस्तेमाल

नई दिल्ली। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और उसकी सैन्य शाखा मोबाइल नेटवर्क और एप के जरिये एकत्र किये जा रहे भारतीयों के डाटा का इस्तेमाल हथियार के तौर पर कर रही हैं और इस खतरे से निपटने के लिए एक बहुउद्देशीय राष्ट्रीय सुरक्षा कानून बनाये जाने की जरूरत है।


राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े विशेषज्ञों तथा जानकारों ने ‘डाटा एक हथियार : मोबाइल ऐप और 5 जी नेटवर्क के जरिये ‘चीन का हमला’ विषय पर आयोजित एक बेबिनार में यह दावा करते हुए जोर देकर कहा है कि चीन इन प्रौद्योगिकियों का इस्तेमाल जासूसी उपकरणों की तरह कर रहा है और भारत को इस बारे में दीर्घावधि रणनीति के तहत स्वदेशी प्रौद्योगिकी के विकास और दूरसंचार क्षेत्र में विनिर्माण क्षमता को बढाने पर जोर देना चाहिए।

विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि सस्ते सामान और कम्युनिस्ट सरकार की सब्सिडी की नीति के कारण फल फूल रहे चीन के आर्थिक विस्तारवाद पर अंकुश लगाने की भी जरूरत है। चीन की इस नीति से अमेरिका और अनेक यूरोपीय देशों में औद्योगिकरण बुरी तरह प्रभावित हुआ है। वेबिनार में पूर्व दूरसंचार सचिव तथा नेसकॉम के पूर्व अध्यक्ष आर चंद्रशेखर , डाटा संप्रभुता के क्षेत्र में सक्रिय कार्यकर्ता विनित गोयंका और वरिष्ठ पत्रकार सिद्धार्थ जराबी ने अपने विचार व्यक्त किये।


वेबिनार का आयोजन ‘लॉ एंड सोसायटी एलायंस और रक्षा तथा सामरिक मामलों की पत्रिका डिफेंस कैपिटल ने किया था। विशेषज्ञों ने कहा कि चीन ने विभिन्न देशों से डाटा जमा कर अपनी वैश्चिक पैठ बना ली है और उस पर लगाम लगाने के लिए दीर्घावधि रणनीति बनाया जाना जरूरी है जो स्वदेशी प्रौद्योगिकी और विनिर्माण क्षमता को मजबूत बनाये।


इसके साथ ही इस खतरे से निपटने के लिए एक बहुउद्देशीय राष्ट्रीय कानून बनाये जाने की भी दरकार है। वेबिनार का आयोजन ऐसे समय में किया गया है जब भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में पिछले दो महीने से सैन्य गतिरोध जारी है और भारत ने चीन की 59 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है तथा विभिन्न ढांचागत परियोजनाओं में चीनी कंपनियों की भागीदारी पर पाबंदी लगा दी गयी है।               


चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र'


विशेष कार्य योजना तैयार करने के निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को गौतमबुद्ध नगर तथा गाजियाबाद के लिए विशेष कार्य योजना तैयार करने के निर्देश देते हुए कहा कि दोनों जिलों में संक्रमण को नियंत्रित करने तथा उपचार व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए और अधिक प्रयास किए जाने की आवश्यकता है।


योगी ने शनिवार को अपने सरकारी आवास पर एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद में संक्रमण को रोकने तथा उपचार व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिये एक विशेष कार्य योजना बनाने की आवश्यकता है। गाजियाबाद में स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम भेजी जाए, जो वहां कैम्प करे। यह टीम कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को बेहतर करते हुए संक्रमित रोगियों के स्वास्थ्य लाभ के सभी उपाय सुनिश्चित करें। उन्होंने बुलन्दशहर में भी इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम को भेजे जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी चिकित्सालयों में भी ट्रूनैट मशीन क्रियाशील रखने के लिये स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किये जाय। आरटीपीसीआर जांच विधि से टेस्टिंग क्षमता को 25 हजार टेस्ट प्रतिदिन से अधिक किया जाए। उन्होंने कहा कि आरटीपीसीआर जांच विधि, ट्रूनैट मशीन तथा रैपिड एन्टीजन टेस्ट को अपनाते हुए जांच क्षमता में व्यापक स्तर पर वृद्धि की जाय। योगी ने कहा कि मेडिकल काॅलेजों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि वरिष्ठ चिकित्सक नियमित राउण्ड लें। उन्होंने मेडिकल काॅलेजों की स्वास्थ्य सेवाओं की मॉनिटरिंग के लिए अलग से अधिकारी को नामित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी के तौर पर जिलों में भेजे गए विशेष सचिव स्तर के अधिकारी कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं की निरन्तर मॉनिटरिंग करते रहें। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों को, उनके स्वास्थ्य की नियमित रूप से जानकारी उपलब्ध कराई जाए।इसके लिए वार्ड इंचार्ज द्वारा मरीज के तीमारदार को रोगी के स्वास्थ्य की जानकारी टेलीफोन के माध्यम से प्रदान करने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के प्रत्येक चिकित्सालय में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना के निर्देश दिए हैं।

सुनील पुरी

विद्युत-विभाग के भ्रष्टाचार की सच्चाई

रवि चौहान 
गाजियाबाद। बिजली विभाग में स्टीमेट के नाम पर उपभोक्ताओं को किस तरह से परेशान किया जा रहा है। इसका जीता जागता उदाहरण लोनी क्षेत्र के भोपुरा में प्रकाश में आया है। एक तरह से कहा जाए तो स्टीमेट के नाम पर खेल किया जा रहा है। भोपुरा निवासी सेवा राम कासना के अनुसार 50 किलो वाट के कनेक्शन के लिए आवेदन किया था। उसके बाद विभाग की ओर से उन्हें ₹500000 का एस्टीमेट बना कर दिया गया। जबकि 500000 का उसमें सामान नहीं लगाया गया। उपभोक्ता सेवाराम कसाना आरोप है कि विभाग ने जो स्टीमेट बनाया, उससे कम सामान लगाया। इसकी शिकायत उन्होंने विद्युत विभाग के चीफ से की। उन्होंने तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए। उसके बाद विद्युत विभाग की ओर से तीन लाख 48 हजार की धनराशि का स्टीमेट बनाया गया। उपभोक्ता सेवा राम का आरोप है कि उन्हें बकाया धनराशि अभी तक नहीं दी गई है। जब इस संबंध में विद्युत विभाग के चीफ से बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह पूरा मामला निबट गया है और जो बकाया धनराशि है वह बिल में एडजस्ट कर दी गई है। जबकि उपभोक्ता सेवा राम का कहना है कि उन्होंने 52 हजार के करीब बिल आया था। वह भी जमा करा दिया है।  बकाया धनराशि है वह बिल में एडजस्ट नहीं की गई है। उन्होंने इस बात पर भी आपत्ति जताई की बकाया धनराशि उन्हें ब्याज सहित लौटाई जानी चाहिए। बिल में एडजस्ट करने की कोई आवश्यकता नहीं है और यदि बिल में एडजस्ट की जाती है तो उनको ब्याज सहित पूरी धनराशि वापस लौटाई जाए। मामले की शिकायत एवं प्रदेश के मंत्री से अपील की है कि विद्युत विभाग में भ्रष्टाचार फैला रहे संबंधित अधिकारियों के खिलाफ उचित से उचित कार्रवाई की जाए। जिससे की जनता का उत्पीड़न रोका जा सके। सेवा राम का है कि उन्होंने तो प्रयास करके विद्युत विभाग के  इस घोटाले को उजागर किया है। लेकिन स्टीमेट के नाम पर जो भ्रष्टाचार किया जा रहा है वह अधिकतर उपभोक्ताओं को मालूम ही नहीं होता हैं। इस तरह उपभोक्ता उत्पीड़न का शिकार हो रहे हैं इस तरह भ्रष्टाचार करने वाले विद्युत विभाग के अधिकारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।            


किसान क्रेडिट कार्ड, खंड स्तरीय शिविर

रतन सिंह चौहान
होडल पलवल। पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग पलवल की उपनिदेशक डा. नीलम आर्य ने बताया कि विभाग द्वारा जिले में पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड (पी.के.सी.सी.) बनवाने के लिए खंड स्तर पर शिविर लगाए जा रहा हैं। यह शिविर 3 से 15 जुलाई तक आयोजित किए जाएंगे। इन शिविरों में पशुपालको द्वारा भरे गए आवेदनों को बैंक अधिकारियों को प्रस्तुत किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने पशुपालकों के लिए पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की है, जिसके तहत पशुपालकों को पशुओं के रखरखाव के लिए नियमानुसार ऋण राशि दी जाएगी तथा ऋण राशि को पशुपालकों द्वारा छ: आसान किस्तों में एक साल के अंदर भुगतान करना होगा। इस योजना में एक लाख 60 हजार रूपये से अधिक या 3 लाख तक का ऋण लेने पर ब्याज दर कम हो जाएगी। यदि तीन से ज्यादा पशुओं पर ऋण लेना हो तो पशुपालक को बैंक द्वारा निर्धारित शर्तों का पालन करना होगा। यह कैम्प पशुपालकों को जानकारी देने तथा पशुपालकों द्वारा इस योजना का अत्यधिक लाभ उठाने के लिए आयोजित किए जा रहें हैं।
उपनिदेशक ने बताया कि पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना के संबंध में अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें पशुपालन विभाग के अधिकारी व ऑरिंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक मौजूद रहे, जिसमें अतिरिक्त उपायुक्त द्वारा ज्यादा से ज्यादा पशुपालकों के पशु किसान क्रेडिट कार्ड (पी.के.सी.सी.) बनवाने के निर्देश दिए गए।
इन गांवों में किया जाएगा शिविरों का आयोजन
डा. नीलम आर्य ने बताया कि 6 जुलाई को हसनपुर, 8 जुलाई को हथीन, 10 जुलाई को होडल, 13 जुलाई को पलवल, 15 जुलाई को पृथला में इन शिविरों का आयोजन किया जाएगा।  
यह रहेगी ऋण राशि
उपनिदेशक ने बताया कि ऋण राशि एक वर्ष के लिए दी जाएगी। गाय के लिए 40 हजार 783 रुपये एवं भैंस के लिए 60 हजार 249 रुपये और भेड व बकरी के लिए 4 हजार 63 रुपये तथा सूअर के लिए 16 हजार 337 रुपये का ऋण दिया जाएगा।
ऋण लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज
बैंक प्रारूप के अनुसार आवेदन फार्म-शपथ पत्र तथा केवाईसी पहचान के लिए वोटर आईडी कार्ड एवं आधार कार्ड अथवा पैन कार्ड व अन्य दस्तावेज की आवश्यकता होगी।             


क्वारंटाइन सेंटर में किया योग कार्यक्रम

तनाव मुक्ति के लिए एडवांस कॉलेज क्वारेंटाइन सेंटर में किया गया योग कार्यक्रम, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों का करें सेवन करें। उपायुक्त नरेश नरवाल।


रतन सिंह चौहान


पलवल। जिला उपायुक्त नरेश नरवाल के मार्गदर्शन में आयुष विभाग द्वारा जिला के सभी कंटेनमेंट जोन के साथ-साथ को-मोर्बिड लोगों को भी आयुर्वेदिक इम्यूनिटी बूस्टिंग दवाओं का वितरण व जागरूकता कार्यक्रम जारी हैं। जिले के लगभग पांच हजार को-मोर्बिड लोगों में से 4 हजार 664 व्यक्तियों को इम्यूनिटी बूस्टिंग दवा का वितरण किया जा चुका है। इन लोगों को आशा व एएनएम के माध्यम से दवा का वितरण किया गया। प्रात: काल एडवांस कॉलेज में क्वारेंटाइन किए हुए लोगों को योगाचार्य डा. रामजीत ने तनाव मुक्ति हेतु योग करवाया व ध्यान लगाने के तरीके बताए।
नागरिक अस्पताल के डा. पुरेंद्र चौहान की देखरेख में आयुर्वेदिक काढ़ा बनाया जा रहा हैं। डा. संजीव कुमार व डा. हमीदुल्ला ने जिले के सभी क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती लोगों को काढ़ा पिलवाया। डा. प्रवीण गोयल एवं डा. प्रवेश अग्रवाल व डा. उर्वशी और डा. गुलफाम ने नागरिक अस्पताल, डा. ममता ने गांव ककराली, मेघपुर, डा. रुचि तथा डा. सुनील ने गांव गदपुरी, सहराला, मंदपुरी, कलवाका, फिरोजपुर, डा. प्रिया ने पीएचसी भुलवाना, डा. रफीक ने हसनपुर, डा. धर्मेन्द्र ने कोट, झांडा में इम्यूनिटी बूस्टिंग दवा संशमनीवटी व काढ़ा वितरित किया। सभी व्यक्ति सरकार द्वारा समय-समय पर जारी किए गए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देशों का पालन करें, संशमनीवटी व काढ़े तथा अन्य रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें। अपने घर अथवा आस-पास के क्षेत्र में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। तनाव मुक्ति के लिए योग करें।           


बैठक में करोड़ों के बजट को सर्वसम्मति

नगरपरिषद होडल पार्षदों की बैठक में करोडों रूपए के विकास कार्य हुए सर्वसम्मती से पास,


रतन सिंह चौहान
पलवल। होडल नगर परिषद द्वारा लघु सचिवालय स्थित सभागार में पालिका परिषद की बैठक का आयोजन किया गया।  बैठक नगर परिषद की प्रधान आशा रानी तायल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिसमें शहर के विकास में करोड़ों रुपए के कार्य को सर्वसम्मति से मंजूरी दी गई। स्थानीय विधायक जगदीश नायर,परिषद की अध्यक्षा आशारानी तायल,कार्यकारी अधिकारी मनेंद्र सिंह पालिका परिषद की बैठक में शहर की चरमराई सफाई व्यवस्था,क्षतिग्रस्त पडी नालियों का जीर्णोद्धार,गढी पटटी में सोल्ड वेसट मैनेजमेंट को अन्य स्थान पर स्थानांतरित करने, शहर के विभिन्न चौराहों पर गंदगी ना डालने और उनकी नियमित सफाई कराने के अलावा सीसीटीवी कैमरे लगवाने व सफाई व्यवव्था को दुरुस्त कराने जैसे विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श किए गए। बैठक में विभिन्न वार्डों के पार्षदों ने विधायक नायर व परिषद की अध्यक्षा तायल को भी वार्डों में व्याप्त समस्याओं तथा अधूरे पडे विकास कार्यों से अवगत कराया। जिस पर विधायक जगदीश नायर व अध्यक्षा आशारानी तायन ने आश्वासन दिया कि वार्डों में अधूरे पडे विकास कार्यों को शीघ्र ही पूरा कराया जाएगा। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को भी सख्त हिदायत दी कि जो ठेकेदार निर्धारित समयावधि के दौरान निर्माण कार्यों को पूरा नहीं कराता है तो उन्हें एक सप्ताह के अंदर कार्य पूरा करने का समय दिया जाए, अगर उक्त समय के दौरान भी ठेकेदार लापरवाही बरतता है तो उसे ब्लेक लिस्ट कर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
बैठक में आशारानी तायल  ने कहा कि बाजार में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण,बाजार में सीसीटीवी कैमरे,बाबरी मोड से डबचिक मोड तक सडक मार्ग के दोनों तरफ सर्विस रोड तथा जी टी रोड का सौंदर्यीकरण,दोनों तरफ लाईटें, लगवाने,गढी पटटी में स्टेडियम ,शमशान घाट की चारदीवारी सहित कई शहर में पानी निकासी की व्यवस्था,जगजीवनराम चौक से गांधी बाजार,गढिया बाजार में सडक मार्ग का निर्माण कराने के लिए सहमति बनी है। जिन पर शीघ्र ही कार्य शुरु कराया जाएगा। अधिकांश पार्षदों द्वारा वार्डों में सफाई व्यवस्था के मामले ही उठाए। जिस पर सफाईकर्मियों की शीघ्र भर्ती का प्रस्ताव बनाकर भेजने का आश्वासन दिया और शीघ्र की सफाई व्यवस्था बहाल करने को कहा। बैठक में मौजूद पार्षदों ने मास्क व शारीरिक दूरी का पालन करते हुए हिस्सा लिया। इस अवसर पर विधायक नायर ने कहा कि शहर के विकास के परिषद द्वारा सौ करोड रुपए का डीपीआर बनाकर मुख्यमंत्री को भेजा गया है। शहर के विकास में किसी भी प्रकार की कमी नहीं छोडी जाएगी। 
इस अवसर पर राजकुमार तायल, बांके वशिष्ठ, प्रिया, रासिद खान,संजयगोला,किरणदेव,शीशपाल,तेजसिंह,शिवराम,जसवंत  सिंह, तेज सिंह, लखनलाल, राजू,तपेंद्र आदि मौजूद थे। बैठक में विधायक नायर ओर अध्यक्षा आशा तायल ने सभी वार्ड पार्षदों को भरोसा दिलाया कि शहर के विकास में किसी भी प्रकार की कसर नहीं छोड़ी जाएगी।            


उपायुक्त ने दी हिदायत, बताएं एहतियात

रतन सिंह चौहान
होडल पलवल। गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिïगत अनलॉक-2 के दौरान नई हिदायतें जारी की गई है। उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि सरकार द्वारा कंटेनमेंट जोन के बाहर विभिन्न गतिविधियों पर छूट दी गई है, लेकिन ऐहतियात के तौर पर कुछ गतिविधियों पर रोक पहले की भांति जारी रहेगी।
आदेशों के अनुसार धार्मिक स्थलों, पूजा के स्थानों, होटल, रेस्टोरेंट्स, खरीददारी करने के स्थानों तथा अन्य हॉस्पीटलिटी यूनिट में कोविड-19 के संक्रमण के फैलाव से लोगों की सुरक्षा के दृष्टिïगत एसओपी लागू रहेगी। शहरी क्षेत्रों की शराब की दुकान व ठेके सहित सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठïान रविवार के दिन सैनेटाइज करने के उद्देश्य से बंद रहेंगे। संबंधित एसडीएम, कार्यकारी अधिकारी तथा नगर परिषद सचिव सभी मार्किट क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालना और एसओपी के नियमों की पालना करवाना सुनिश्चित करेंगे। पडोसी राज्यों राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दिल्ली व हरियाणा के अन्य जिलों से पलवल जिला में आने वाले व्यक्तियों की नागरिक अस्पताल में कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर चिकित्सा परिक्षण करवाना सुनिश्चित किया जाएगा। कार्यालयों व कार्यस्थलों पर कर्मचारियों की सुरक्षा के दृष्टिïगत सभी कर्मचारियों के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड होना चाहिए। उपायुक्त ने सभी नागरिकों से आह्वïान किया है कि वे भी आरोग्य सेतु एप को अपने कम्पीटिबल मोबाइल में डाउनलोड कर अपने स्वास्थ्य स्टेटस को अपडेट करते रहें। कोविड-19 के संक्रमण से लोगों की सुरक्षा के दृष्टिïगत पहले से ही धारा 144 लगाई हुई है, जिसके अंतर्गत सभी नागरिकों को फेस मास्क का प्रयोग करने अनवार्य है। फेस मास्क का प्रयोग न करने, सार्वजनिक स्थानों पर थंूकने व नियमों की उल्लंघना करने पर 500 रुपये जुर्माना के साथ-साथ आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान है।  
नागरिक रखें इन बातों का विशेषकर ध्यान
जारी हिदायतों के अनुसार सभी सार्वजनिक स्थानों, कार्य स्थलों व यातायात के दौरान फेस मास्क पहनना जरुरी है। इसके अलावा सार्वजनिक स्थानों पर 6 फिट की शारीरिक दूरी (दो गज की दूरी) बनाए रखना जरुरी है। अत्यधिक संख्या में एक स्थान पर लोग इक_ïा नहीं हो सकते, विवाह समारोह में 50 से अधिक लोग शामिल नहीं होंगे। इसके अलावा दाह संस्कार में 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते। सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान व थूकने पर जुर्मानें का प्रावधान है। कार्यस्थलों के एंट्री, एग्जिट प्वाइंटों व अन्य प्वाइंटों पर थर्मल स्क्रीनिंग, हैंडवॉश व सैनिटाजर होना जरुरी है। सार्वजनिक व सामान्य स्थानों व अन्य बार-बार छूए जाने वाले स्थानों को लगातार सैनिटाइजेशन किया जाएगा।  एंड्रायड मोबाईल पर आरोग्य सेतू एप को डाऊनलोड किया जाना जरूरी है, जोकि समय-समय पर कोरोना से सचेत करता रहेगा।       


कानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन

रतन सिंह चौहान


पलवल। मुख्य न्याय दंडाधिकारी एवं सचिव श्री पीयूष शर्मा  के आदेश अनुसार आज गांव अहरवां में मोबाईल वैन स्वराज माजदा के द्वारा गाँव क़ानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन पैनल अधिवक्ता हंसराज द्वारा किया गया। विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा किये जा रहे इन कार्यक्रमों का उद्देश्य समाज के गरीब व् कमजोर वर्गों को  निःशुल्क कानूनी सेवाएं प्रदान करना व इस वैश्विक महामारी के समय जरूरतमंद लोगों को हरियाणा सरकार के द्वारा दी जा रही योजनाओं का लाभ मिल सके।उपस्थित लोगों को कोविड19 महामारी से बचाव , लोगों के विवादों को मध्यस्थता केंद्र  के माध्यम से निपटाने, जो कि जिला न्यायालय पलवल के वैकल्पिक विवाद समाधान केंद्र पलवल में स्थित है, व  हरियाणा पीड़ित मुआवजा योजना, पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 के बारे तथा स्थाई लोक अदालत बारे तथा उपस्थित लोगों को भारतीय संविधान में वर्णित मौलिक अधिकार व  11 मूल कर्तव्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस विशेष कार्यक्रम के माध्यम से कोविड-19 वैश्विक महामारी में इस समय हमें सरकार द्वारा निर्धारित नियम व क़ानूनों का पालन करना है यदि कोई व्यक्ति इन कानूनों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है तो ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जा सकती है।             


योजना लाभार्थियों को पौधों का वितरण

पीएम किसान योजना के लाभार्थियों को निशुल्क पौध वितरण 


संयुक्त कृषि निदेशक प्रयागराज मंडल प्रयागराज द्वारा निशुल्क वितरण का शुभारंभ
बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। मंडी परिषद मुंडेरा प्रयागराज के द्वारा पूर्वाहन 11:30 बजे से कृषि विभाग एवं मंडी परिषद द्वारा निशुल्क पौधों का वितरण प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को प्रदान किया गया। कृषि विभाग द्वारा वन विभाग की नर्सरिओं से अब तक 413000, पौधे उद्यान विभाग की नर्सरी ओं से 8000 पौधे तथा मंडी परिषद के सौजन्य से 25000 फलदार पौधों का प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों में वितरण के लिए उठान कराया गया है जिसका लाभार्थियों को वितरण आज किया जा रहा है। आज सायंकाल तक सभी पौधे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के ऐसे  लाभार्थियों को दिए जा रहे हैं जिन के गड्ढे पहले से खुले हुए हैं । यह पौधे निशुल्क हैं और दिनांक 5 जुलाई को माननीय मुख्यमंत्री जी उत्तर प्रदेश के निर्देशानुसार 1 दिन में रोहित कराए जाएंगे। और वितरण के समय प्रयागराज मंडल प्रयागराज के संयुक्त कृषि निदेशक श्री आर बी सिंह, उप कृषि निदेशक श्री विनोद कुमार, मंडी परिषद मुंडेरा की सचिव सुश्री रेनू वर्मा ,उप परियोजना निदेशक श्री आई के पांडे, विषय वस्तु विशेषज्ञ श्री अनिल मौर्या तथा बड़ी संख्या में कृषि विभाग के कर्मचारी तथा लाभार्थी उपस्थित थे। कोविड-19 के दृष्टिगत मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित किया गया।                 


खड़े ट्रक से टक्कर, खलासी की मौत

गन्ने चौकी के समीप खड़ी ट्रक में टक्कर लगने से युवक की मौत
बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। बारा थाना क्षेत्र के अंतर्गत गन्ने चौकी की समीप सुबह 4:30 बजे के तकरीबन खड़ी ट्रक में यूपी 63 एटी 1031 के चालक रामबाबू द्वारा पहले से खड़ी ट्रक संख्या यूपी 65 एटी 1290 ने पीछे से टक्कर मार दी। जिसमें खलासी धर्मराज पुत्र रामजीयावन ग्राम भरुदहना मिर्जापुर उम्र लगभग 30 वर्ष की मौके पर ही मृत्यु हो गई। मृतक के भाई धनराज को मोबाइल पर दुर्घटना की सूचना दे दी गई है। मौके पर गन्ने चौकी से उप निरीक्षक शैलेंद्र कुमार यादव, उप निरीक्षक संदीप कुमार यादव, अमित मिश्रा, कृष्णानंद चौबे, राजेश राय आदि लोग मौके पर पहुंचे। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया तथा मृतक के परिजनों के आने का इंतजार किया जा रहा है।   


शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल सपा इकाई

हण्डिया के शहीद जवान नेबूलाल बिन्द की अन्तिम यात्रा में शामिल हुए एमएलसी रामवृक्ष


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी के निर्देश पर एम एल सी रामवृक्ष यादव कानपूर में शहीद हुए जवान नेबूलाल बिंद जी के गाँव भीटी हंडिया पहुंच कर उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए और दिवंगत पुलिस जवान को पुष्प चक्र अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।दुखी परिवार को सांत्वना देते हुए समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव का सन्देश देते हुए परिजनों को ढाढस बंधाया।कहा दुर्भाग की बात है की प्रदेश में अपराधियों को सरकारी संरक्षण होने की वजहा से आमजन के साथ साथ पुलिस जवान भी सुरक्षित नहीं हैं।कहा पुरा समाजवादी परिवार इस दुख की घड़ी में शहीद पुलिस जवानों के साथ खड़ा है।रामवृक्ष नवाबगंज के देवापुर में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से दुखी परिवार को सांतवना देने भी गए मृतक के भाई राम गोपाल से मुलाक़ात कर दुख जताया।एम एल सी व पूर्व मंत्री रामवृक्ष यादव के साथ महावीर यादव,मो०शारिक़,सै०आबिद अली,नसीर उद्दीन राईन आदि ने शहीद पुलिस जवान को श्रद्धांजलि अर्पित की।


राष्ट्रपति के नाम डीएम को सौंपा ज्ञापन

उत्तर प्रदेश सरकार की बरखास्तगी को लेकर सपा ने राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन ज़िलाधिकारी को सौंपा


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी यूवजन सभा के पूर्व ज़िलाध्यक्ष रविन्द्र यादव के नेत्रित्व में महामहिम राष्ट्रपति को सम्बोधित तीन सूत्रिय ज्ञापन सौंपा गया।ज्ञापन में कानपुर में पुलिस और अपराधियों की मुठभेड़ में शहीद पुलिस के जवानो सहित प्रयागराज के थाना होलागढ़ के ग्राम वरई हरख में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या सोरांव थाने के युसूफपुर गांव के एक ही परिवार के पाँच लोगों की हत्या,माण्डा थाने के अन्तर्गत दम्पती और उनकी बेटी की हत्या आदि प्रयागराज में आए दिन बलात्कार और हत्याओं सहित कानपुर में शहीद जवानों के उपर हुए हमले की निष्पक्ष सी०बी०आई० जाँच कराने के साथ अपराध न रोक पाने के कारण योगी सरकार को तत्काल बरखास्त करने की मांग ज्ञापन के माध्यम से की गई।ज्ञापन सौंपने वालों में पूर्व सांसद नागेन्द्र पटेल,निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन,रविन्द्र यादव,महबुब उसमानी,महावीर यादव,मो०शारिक़,रेहान अहमद,डा०सरताज आलम,कमला यादव,दान बहादुर मधुर,सै०मो०अस्करी,नसीर उद्दीन राईन,बलवन्त यादव,अनूराग सहगल,मोनू प्रजापति,सुशील यादव,धीरेन्द्र यादव,रामसुमेर पाल,विनोद यादव,अवधेश यादव,विक्रम सक्सेना,शैलेन्द्र कुमार,आदर्श यादव,सोनू,सुनील पटेल आदि मौजूद रहे।


 


बेटे के गम में मां-बाप ने तोड़ा दम

गंजम। ओडिशा के जनपद गंजम में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। मिल रही जानकारी के मुताबिक कोरोना संक्रमित इकलौते बेटे की मौत के कुछ ही घंटों के बाद पति-पत्नी का शव बरामद किया गया। पुलिस ने कहा कि जिले के कबिसरीनगर पुलिस सीमा के अंतर्गत नारायणपुरससन गांव के राजकिशोर सत्पथी और उनकी पत्नी सुलोचना सतपथी अपने 27 वर्षीय शिक्षक बेटे के भुवनेश्वर के एक अस्पताल में निधन हो जाने के बाद मृत पाए गए।


दंपति के अविवाहित बेटे को गंजाम में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। वह कुछ हफ्तों से कोरोना वायरस से संक्रमित था। युवक को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। इसके बाद बुधवार को भुवनेश्वर के कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कोरोना के लक्षण दिखने के बाद युवक का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिसमें वह मंगलवार को पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद शुक्रवार सुबह अस्पताल में उसकी मृत्यु हो गई। गंजम जिले में 283 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1850 हो गयी है। इसके बाद खोरदा में 894, कटक में 702, जाजपुर में 540, गजपति में 442, बालासोर में 370 तथा जगतसिंहपुर में 305 लोग संक्रमित हुए हैं। ओडिशा के इन 10 जिलों (गंजम, गजपति, खोरदा, कटक, जाजपुर, जगतसिंहपुर, बालासोर, मयूरभंज, क्योंझर और झारसुगुडा) में 50 से अधिक सक्रिय मामले हैं। इसके अलावा कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चार अन्य जिलों में भी सप्ताहांत में पूर्णबंदी लागू करने का फैसला किया है।                  


जनप्रतिनिधि का सम्मान करें अधिकारी

श्रीराम मौर्य


देहरादून। विधानसभा सत्र के दौरान अक्सर जनप्रतिनिधियों की ओर से ये शिकायत दर्ज कराई जाती है कि विधायकों और सांसदों को नौकरशाहों से उचित सम्मान नहीं मिल रहा है। पीठ की ओर से कई दफा इस संबंध में सरकार को निर्देश दिए जा चुके हैं। मुख्यमंत्री की ओर से इस बारे में सदन में भी आश्वासन दिया जा चुका है। इसके बाद सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से इस संबंध में सभी अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों, मंडलायुक्तों, पुलिस महानिदेशक, जिलाधिकारियों और सभी विभागाध्यक्षों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इसमें सभी सरकारी सेवकों को संसद व विधानसभा सदस्यों के प्रति शिष्टाचार को निभाना अनिवार्य करार दिया गया है।


सरकार की ओर से जारी आदेश में सरकारी सेवकों को जनप्रतिनिधियों की बातों को धैर्यपूर्वक सुनकर गंभीरतापूर्वक विचार करने और फिर गुणदोष व विवेकपूर्ण निर्णय लेने को कहा गया है। सांसद या विधायक की ओर से अधिकारी से मिलने की इच्छा जताने पर आपसी सहमति से मिलने का समय प्राथमिकता के आधार पर नियत करने और बैठक के लिए समय से उपलब्ध रहने को कहा गया है। सांसद व विधायक से मिलने पर खड़ा होकर उनका स्वागत करने, चलते समय उन्हें खड़े होकर विदा करने, सार्वजनिक समारोहों के प्रत्येक अवसर पर उनके बैठने की व्यवस्था पर विशेष रूप से ध्यान देने, फोन को तत्परता से उठाने को कहा गया है। शासनादेश में विधायकों व सांसदों से मिलने वाले पत्रों पर सावधानी से विचार कर उचित स्तर व शीघ्रता से जवाब देने और उन्हें गोपनीय सूचनाओं को छोड़कर स्थानीय महत्व के मामलों से संबंधित सूचनाएं और आंकड़े सुगमता से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को इस मामले में सरकार का रुख साफ कर दिया। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों का दर्जा अधिकारियों से ऊपर है। अधिकारी ऐसी भूल न दोहराएं, इस बारे में उन्हें निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि अधिकारियों को जनप्रतिनिधियों का हर हाल में सम्मान करना चाहिए। अधिकारी अक्सर ये भूल जाते हैं, लिहाजा उन्हें समय-समय पर याद दिलाना पड़ता है।               


आयुक्त की अधिकारियों के साथ बैठक

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाए जाने, कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने तथा सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज संभव कराने के उद्देश्य से आज मेरठ की कमिश्नर अनीता सी मेश्राम के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत करते हुए शासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को प्रोटोकॉल के अनुरूप सभी व्यवस्थाएं युद्ध स्तर पर संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

मंडलायुक्त कोविड-19 महामारी को लेकर आयोजित बैठक में गहन समीक्षा कर रही थी। उन्होंने प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जनपद में करोना मृत्यु दर घटाने के उद्देश्य से व्यापक स्तर पर अभियान चलाकर कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उन्हें प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज संभव समय पर कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनपद में कोरोना मृत्यु दर कम हो सकें। उन्होंने कहा कि प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के द्वारा संयुक्त कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए कोविड-19 को लेकर जनपद में कोविड-19 अस्पतालों में आगामी परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए बैडों की व्यवस्था पूर्व से ही सुनिश्चित करने की कार्रवाई तत्काल प्रभाव से की जाए, ताकि सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को प्रत्येक स्तर पर यथा समय इलाज संभव हो सकें।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय मुख्यमंत्री कोविड-19 को लेकर सभी जन समस्या को इसके संक्रमण से बचाने के उद्देश्य से निरंतर रूप से कार्यवाही सुनिश्चित कर रहे हैं। माननीय मुख्यमंत्री के द्वारा मेरठ मंडल के सभी जनपदों में करोड़ों संक्रमित व्यक्तियों की खोज करते हुए उनका तत्काल इलाज संभव कराया जा सकें। इस उद्देश्य से 2 जुलाई से 12 जुलाई तक घर-घर जाकर विशेष सर्विलेंस अभियान भी संचालित किया जा रहा हैं। उन्होंने इस अभियान को बहुत ही गुणवत्ता के सारा चलाने के निर्देश दिए हैं, ताकि करोना संक्रमित व्यक्तियों की पहचान हो सकें तथा अन्य बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों की मैपिंग का कार्य भी सुनिश्चित किया जा सकें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सैंपलिंग के कार्य को और अधिक गतिशीलता के साथ संचालित करने के निर्देश दिए हैं।              


कलेक्ट्रेट में बैठक के बाद किया निरीक्षण

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के निर्देशन में जनपद में निरंतर कार्रवाई सुनिश्चित कराई जा रही हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को कलेक्टर सभागार में जनपद के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी की अध्यक्षता में बैठक आहूत हुई हैं। बैठक में नोडल अधिकारियों द्वारा जनपद में चल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए कोविड-19 संक्रमण से ग्रस्त मरीजों के उपचार मैनेजमेंट पर विस्तार से चर्चा भी हुई हैं।


इस अवसर पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए हम सबको मिलकर एक सार्थक प्रयास करना होगा। कोविड-19 कार्य में तेजी लाने के उद्देश्य से नोडल अधिकारी द्वारा जनपद के जिला स्तरीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं।



उन्होंने कोविड-19 वैश्विक महामारी की रोकथाम के लिए समस्त स्वास्थ्य सुविधाएं एवं अस्पतालों में व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के निर्देश भी दिए हैं। बैठक में नोडल अधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया है कि कोरोना संक्रमण के ग्रस्त मरीजों के उपचार में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके लिए जैसे ही यह संज्ञान में आता है कि कोई कोरोना संक्रमण से ग्रस्त है तो उसका तत्काल प्रभाव से संख्या- 1, 2 और 3 अस्पताल में रेफर कर इलाज शुरू कराना सुनिश्चित कराया जाए, जिसमें किसी भी प्रकार के उपचार में देरी ना हो सकें। बैठक में नोडल अधिकारी द्वारा पाया गया कि जनपद में स्वास्थ्य सेवा मानकों के अनुरूप चल रही हैं।

उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जागरूकता एवं इसके बचाव संबंधी व्यापक प्रचार-प्रसार करा जाए। इसी क्रम में नोडल अधिकारी द्वारा एसआरएम कॉलेज मोदीनगर का निरीक्षण किया गया, जो संख्या-1 अस्पताल हेतु परिसरों को सुरक्षित रखा गया हैं। नोडल अधिकारी एवं जिला अधिकारी द्वारा कोरोना वायरस अभी व्यक्तियों कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज समय पर संभव हो सकें। इस श्रंखला में एसआरएम कॉलेज मोदीनगर जो कोविड-19 के रूप में विकसित किया गया है उसका निरीक्षण किया गया हैं। 

एसआरएम कॉलेज में 400 बेड की व्यवस्था तथा कोविड-19 को लेकर प्रोटोकॉल के अनुरूप सभी व्यवस्थाएं भी उपलब्ध है, जो 4 जुलाई 2020 से प्रभावी एवं सचिव रूप से क्रियाशील हो जाएगा। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त, राजस्व अपर जिलाधिकारी भू०आ० स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीगण सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी भी उपस्थित रहें हैं।              


किसान की धान 'संपादकीय'

किसान की धान      'संपादकीय'


धान से पैदा भोजन में महत्वपूर्ण जगह रखने वाले चावल और धान की फसल तैयार करने वाली समस्याओं लागत एवं फायदे पर विशष


 हम भारतीय खाने की थाली में विशेष महत्व एवं स्थान रखने वाले भोजन के महत्वपूर्ण अनाज धान से निकलकर चावल का स्वरूप धारण करने वाली फसल और  फसल पैदा करने वाले किसान भगवान की ज्वलंत समस्याओं लागत और फायदे नुकसान पर चर्चा करने की कोशिश कर रहे हैं।धान की फसल के लिए पानी उतना ही जरूरी होता है जितना मछली के जिंदा रहने के लिए पानी का होता है।धान की फसल की शुरुआत का तरीका बदल गया है और अब हल बैल का जमाना जाने के बाद टैक्ट्रर उसका विकल्प बन गया है।धान की फसल की शुरुआत बेड़न बिठाने से होती है और बेड़न बिठाने के लिये बीज की जरूरत होती है जो अब पहले की तरह घर से नहीं बल्कि बीज की दूकान से मुंहमांगी रकम अदा करके लाना पड़ता है।वैसे सरकार की तरफ से किसानों को अनुदान वाला बीज उपलब्ध कराया जाता है इसके बावजूद आधुनिक विभिन्न किस्म के दस आने धान का बीज दूकानों से खरीदा जाता है।बीज में मनमानी मूल्य झेलने के बाद किसान को बेड़न डालने के बाद खाद दवा के साथ ही जंगली पशुओं नीलगाय एवं छुट्टा गाय बछड़ा साड़ आदि की मनमानी की मार झेलनी पड़ती है और बेड़न खेत में डालने के एक हफ्ते के बाद से ही रात दिन चारपाई डालकर उसकी रखवाली करना पड़ता है।बरसात के मौसम की शुरुआत होते ही धान की फसल की तैयारी भी शुरू हो जाती है।इस फसल में नकदी की जरूरत बीज से बीज डालने रखवाली करने तक ही सीमित नहीं है बल्कि बेड़न की रोपाई के लिये खेत में पानी भरने बाद टैक्ट्रर से जुतवाकर पाटा चलाने तथा मजदूरों से रोपाई खाद दवाई तक की खरीद करनी पड़ती है।इस समय सौ रूपया सैकड़ा बेरन खोदकर उसकी मुठ्ठी बंधवाने पर खर्च करना पड़ता हैं।बिजली नलकूप वाले डेढ़ सौ दो डीजल वाले दो सौ रूपया प्रति घंटा लेते हैं और कच्चा डेढ़ बीघा खेत में रोपाई लायक पानी भरने में तीन से साढ़े तीन घंटे का समय लग जाता है।पानी भरकर जुताई मैवाई कराने के बाद रोपाई करने के लिए साढ़े तीन से चार सौ रूपया कच्चा बीघा खर्च करना पड़ता है।इतना ही नहीं धान की फसल में उवर्रक डालने की भी शुरुआत बेड़न से होती है और जबतक फसल में बालें नहीं निकलती हैं तबतक इसकी जरूरत पड़ती है।जिस तरह शुरू से अंत तक डीएपी से यूरिया खाद पर किसानों की एक अच्छी रकम खरीदने के नाम पर खर्च करने पड़ते हैं। उसी तरह इस फसल को तैयार करने के लिए खरपतवार नाशक दीमक नाशक फफूंदी नाशक आदि दवाओं पर भी नकद खरीदना पड़ता है।


इतना खर्च करने के बाद भी किसान को फसल तैयार करने के कम से कम दो बार निकाई भी कराना पड़ता है और निकाई करने वाले मजदूरों को चाय समोसा पान मसाला या दोहरे के साथ सौ रूपया नकद खेत पर ही भुगतान करना पड़ता है।इस फसल को तैयार करने के लिए किसान को पांच हजार से अधिक प्रति बीघा खर्च करने के साथ ही कम से कम चार महीने तक उसकी रातदिन रखवाली करके पशुओं से बचाना पड़ता है।इतना सब खर्च करने के बाद उसे काटकर तैयार करने के लिए उत्पादन का दसवां हिस्सा लौनी यानी कटाई के रूप में देना पड़ता है।इस फसल के सकुशल तैयार होकर घर आते आते किसान द्वारा खर्च की गई धनराशि की वापसी मुश्किल हो जाती है।इतनी मेहनत से किसान धान को पैदा करके उसे चावल बनने लायक बनाता है यही वजह भी है कि चावल मजहबी बंधनों को तोड़कर हिन्दू मुसलमान सिख इसाई सबका सर्वप्रिय भोजन का अंग बना हुआ है।जिन किसानों को सारा कार्य किराये पर कराकर धान की फसल पैदा करनी पड़ती है उसे घाटा उठाना पड़ता है क्योंकि एक बीघा खेत में औसतन तीन चार कुंटल से अधिक पैदावार नहीं होती है।धान की फसल तैयार करने में किसान के हिस्से में सिर्फ पुआल आता है और "बोया ऊँख बहुत मन फरका, कीन हिसाब बचा कां सिरका" वाली कहावत चरितार्थ होती है।



भोलानाथ मिश्र


3 दिवसीय डिजिटल प्रशिक्षण शिविर

एसिड पीड़िता और छात्राओं ने तीन दिवसीय डिजिटल साक्षरता प्रशिक्षण शिविर में आनलाइन नई तकनीक के साथ साइबर सुरक्षा का पाठ पढ़ी
   
-विशेषज्ञों ने बताया कि शोसल मीडिया, ऑनलाइन बैंकिंग या अन्य प्लेटफॉर्म पर किन बातों का रखें ध्यान


-आशा ट्रस्ट और रेड ब्रिगेड ट्रस्ट द्वारा चलाए जा रहे तीन दिवसीय प्रशिक्षण का शनिवार को समापन हुआ


वाराणसी। सोशल मीडिया में सक्रिय रहते हुए किन बातों का ध्यान रखें, साइबर क्राइम से बचने के क्या तरीके हैं, डिजिटल वर्ल्ड में किस तरह गोपनीयता और सुरक्षा बनाएं रखें, आशा ट्रस्ट और रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के ओर से शहर के दुर्गाकुंड स्थित आरेंज कैफे में तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के तीसरे दिन कोरोना काल के समय से बढ़ते साइबर अपराधों के प्रति लोगों को जागरूक किया।


इसकी शुरुआत करते हुए प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के प्रमुख अजय पटेल ने बताया कि लॉकडाउन से ही अनलाक 2 में भी लोग घरों में कम्प्यूटर, मोबाइल फोन और टैबलेट पर ज्यादा समय व्यतीत कर रहे हैं। ऐसे में साइबर अपराधियों को उनके सिस्टम को हैक करने का ज्यादा मौका मिलता है। बतौर प्रशिक्षक सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने बताया कि साइबर अपराधी लॉकडाउन में बैंक की ओर से तीन महीने के लिए छूट देने का बहाना बनाकर लोगों से खाते संबंधी जानकारी लेकर फ्रॉड कर रहे हैं। ऐसे में लोगों को पता होना चाहिए कि बैंक कभी इस तरह के फोन नहीं करता। यूपीआई व इंटरनेट बैंकिंग संबंधी फ्रॉड पर चर्चा करते हुए बताया कि अक्सर लोग गूगल पर नंबर सर्च कर फ्रॉड के शिकार हो जाते हैं। लोगों को सिर्फ असली वेबसाइट पर जा कर ही कस्टमर केयर का नंबर लेना चाहिए।


प्रशिक्षण के दौरान साइबर क्राइम से बचने से लेकर नये नये तकनीक के उपयोग की भी जानकारी दी गई।


राजकुमार गुप्ता ने बताया कि इस वर्तमान समय में आईजीआरएस, पीजी सहित विभिन्न पोर्टलों, निगरानी, ई-कोर्ट, भूलेख, आरटीआई, आरटीई आदि पोर्टलों, ऐप्स, वेबसाइट आदि के माध्यमों से आमजन, विद्यार्थियों को सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रौद्योगिकी को अपनाया जा रहा है। जिसमें पेपरलेस, आनलाइन, आवेदन, शिकायत एवं सुझाव बिना भागदौड़ घर बैठे पाठयक्रमों में पंजीकरण, ई-अधिगम, ऑनलाइन-परीक्षा, डिजिटल प्रमाण-पत्र शामिल है तथा जिसे स्वतः एसएमएस एवं आधार समर्थित प्रत्यक्ष लाभ अन्तरण (डीबीटी) योजनाओं का समर्थन प्राप्त है। 


अजय पटेल ने कहा कि महिला सशक्तीकरण और सुरक्षा को लेकर डिजिटल ऑनलाइन पेपरलेस प्रशिक्षण शिविर अभियान चलाया जा रहा है। हमारे विशेषज्ञों की टीम पूर्वांचल के कई जिलों की प्रतिभागियों को डिजिटल आनलाइन विषय के बारे में जानकारी दिया। इस दौरान उन्हें इंटरनेट के सुरक्षित इस्तेमाल के बारे में जागरूक भी किया गया।


साइबर क्राइम से निपटने के तरीके सुझाएं गये


डिजिटल ऑनलाइन पेपरलेस प्रशिक्षण शिविर का मुख्य उद्देश्य एसिड पीड़िताओं और छात्राओं को साइबर जगत के नकारात्मक पहलुओं से अवगत कराते हुए इंटरनेट पर उनके लिए सुरक्षित माहौल तैयार करना है। इसके तहत तीन मुख्य उद्देश्यों पर काम किया गया। इनमें डिजिटल साक्षरता को बढ़ावा देना, साइबर क्राइम के बारे में जागरूकता लाना और साइबर क्राइम से निपटने के लिए सुरक्षा के मौजूदा टिप्स के बारे में जानकारी देना शामिल है जिससे पीड़िताओं, छात्राओं को जागरूक बनाकर उन्हें सुरक्षा कवच दिया जा सकता है।


अआनलाइन फ्रॉड राेकने के लिए बरतें ये सावधानियां


कभी किसी अजनबी का बैंक अधिकारी के नाम से आई काॅल पर भी काेई डिटेल नहीं दें ओटीपी नंबर और एटीएम पिन भी कतई नहीं दें किसी भी अज्ञात लिंक पर क्लिक न करें, न ही लालच में काेई अनजान एप इंस्टॉल करें सोशल मीडिया का यूजर आईड और पासवर्ड भी शेअर नहीं करें।
इस दौरान अजय पटेल, राजकुमार गुप्ता, वाराणसी से बदामा देवी, सुमन कुमारी, आस्था कुमारी, मऊ से नग्मे इरम खान, इलाहाबाद से संगीता पटेल, गाजीपुर से प्रियंका भारती, प्रीति सरोज, जौनपुर से सन्नो सोनकर आदि लोग शामिल रहे।


रिपोर्ट- राजकुमार गुप्ता 


5 रूपये के लिए गार्ड ने मारी गोली

विजय भाटी


गौतमबुध नगर। हाइटेक सिटी कहे जाने वाले नोएडा के सेक्टर 58 में सिर्फ ₹5 रुपये को लेकर मामूली विवाद में एक सिक्योरिटी गार्ड ने फल विक्रेता को गोली मारी दी, जिसमें फल विक्रेता गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल अवस्था मे उसको निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। फल लेने के दौरान गार्ड और फल विक्रेता में 5 रुपये को लेकर विवाद हो गया था, जिसके बाद ये घटना हुई।


फल विक्रेता ने की गार्ड की पिटाई


नोएडा के सेक्टर 58 कोतवाली एरिया के सेक्टर 56 में उस समय हड़कम्प मच गया जब एक निजी कंपनी के सुरक्षाकर्मी ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से फल विक्रेता को गोली मार दी।दरअसल, सेक्टर 56 में परदेसी  उर्फ जेठा फल की ठेली लगाता है। निजी कंपनी में गार्ड की नौकरी करने वाले सतेंद्र पांडे से फल के पैसे को लेकर उसका विवाद हो गया गया। विवाद इतना बढ़ गया कि परदेसी ने अपने साथियों के साथ मिलकर सतेंद्र को पीट दिया। इस घटना के बाद सतेंद्र गुस्से में अपनी कंपनी में गया और अपनी लाइसेंसी बंदूक लाकर फल विक्रेता परदेसी को गोली मार दी। गोली उसके पैर में लगी। आनन-फानन में घायल फल विक्रेता को निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है।


आरोपी गार्ड गिरफ्तार


एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि फल विक्रेता से पैसे को लेकर विवाद हो गया। जिसमें उसने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से गोली चला दी, जिसमें फल विक्रेता घायल हो गया है. घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही घटना में प्रयुक्त बंदूक को भी बरामद कर लिया गया है।                


एमपी बोर्डः 62.84 प्रतिशत छात्र पास

भोपाल। मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) ने कक्षा 10वीं के रिजल्ट की घोषणा कर दी है, जो छात्र 10वीं की इस परीक्षा में शामिल हुए हैं, वह रिजल्ट जारी होने के तुरंत बाद mpbse.nic.in, mpresults.nic.in. पर जाकर अपना स्कोर चेक कर सकते हैं, इस साल परीक्षा में 62.84% छात्र हुए पास हुए हैं, रिजल्ट पिछले साल की तुलना में बेहतर है, पिछले साल एमपी बोर्ड 10वीं का रिजल्ट 61.32 फीसदी रहा था, 10वीं में लड़कियों का रिजल्ट लड़कों से बेहतर रहा था, एमपी बोर्ड 10वीं में 63.69% लड़कियां और 59.15% लड़के पास हुए थे, एमपी बोर्ड 10वीं में सागर जिले के गगन दीक्षित और आयुष्मान ताम्रकार ने टॉप किया था, दोनों के 500 में से 499 मार्क्स थे |


यह रिजल्ट इन वेबसाइट्स पर देखे जा सकते हैं 


Mpbse.nic.in


Mpresults.nic.in


Mpbse.mponline.gov.in               


जीएसटी फाइल में देरी, जुर्माना ₹500





अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। अब जीएसटी फाइल करने में देरी होने पर व्यापारियों को सिर्फ पांच सौ रुपये प्रति रिटर्न फाइन देना होगा। सरकार ने फैसला लिया है कि मासिक और तिमाही बिक्री रिटर्न तथा कर भुगतान फार्म देरी से भरने को लेकर जुलाई 2020 तक अधिकतम विलंब शुल्क 500 रुपये प्रति रिटर्न से ज्यादा नहीं लिया जाएगा। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड ने एक बयान जारी कर कहाकि, जीएसटी करदाताओं को राहत देने के लिए सरकार ने जुलाई 2017 से जुलाई 2020 की अवधि के लिए जीएसटीआर-3बी फार्म भरने को लेकर अधिकतम विलम्ब शुल्क 500 रुपए प्रति रिटर्न पर सीमित कर दिया है। यह सुविधा तभी उपलब्ध होगी जब इस अवधि की जीएसटीआर-3बी रिटर्न 30 सितंबर 2020 से पहले भर दी जाए।


सीबीआईसी ने इस बारे में नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहाकि अगर कोई कर देनदारी नहीं बनती है तो व्यापारियों को कोई विलम्ब शुल्क नहीं देना होगा। अगर कोई कर देनदारी बनती है, तो अधिकतम विलम्ब शुल्क 500 रुपए प्रति रिटर्न लगेगा लेकिन इसके लिए जरूरी है कि जीएसटीआर-3बी रिटर्न 30 सितंबर 2020 तक दाखिल कर दी जानी चाहिए।



 

 






 










  


मुंबई क्षेत्र में भारी बारिश का अनुमान






मुंबई। मौसम विभाग ने मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में अगले 24 घंटों में बेहद भारी बारिश का अनुमान जताया है। इन इलाकों में रेड अलर्ट भी जारी कर दिया है। 3 और 4 जुलाई के बीच कई स्थानों में मूसलाधार बारिश की आशंका है।




शनिवार को मुंबई और आसपास के जिलों में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। इनमें मुंबई और ठाणे के अलावा रायगढ़ और रत्नागिरि के कई इलाके शामिल हैं, जहां मूसलाधार बारिश की आशंका मौसम विभाग ने व्यक्त की है। इससे पहले शुक्रवार को लगभग पूरे दिन मुंबई सहित उपनगरीय ठाणे, पालघर के कुछ हिस्सों में भारी बारिश देखने को मिली। रत्नागिरी और रायगढ़ के कुछ इलाकों में भी पानी भरा।
सुबह से ही मुंबई के इन इलाकों में हो रही बारिश
शनिवार सुबह से भी मुंबई के सबअर्बन इलाकों में 5 से 10 मिलीमीटर के बीच बारिश हुई है। इनमें विले परले, अंधेरी, माटुंगा, किंग सर्कल, एंटाप हिल, बांद्रा और मलाड के कुछ इलाके शामिल हैं। इससे पहले शुक्रवार को हुई बारिश से मुंबई शहर और उपनगरों में जगह-जगह पानी भर गया। इनमें दादर, माटुंगा, वरली नाका, लालबाग, किंग्ज सर्कल, सायन, कुर्ला, अंधेरी सहित कई इलाके शामिल थे।
आज महाराष्ट्र में यहां बारिश होने की संभावना
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि शनिवार को पालघर, मुंबई, ठाणे और रायगढ़ में कई स्थानों पर मूसलाधार बारिश होने की आशंका है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘4 जुलाई को पालघर, मुंबई, ठाणे और रायगढ़ जिलों में कुछ जगहों पर मूसलाधार बारिश होने की आशंका है। कुछ जगहों पर अत्यधिक भारी वर्षा होने का अनुमान है।’
कई जगह यातायात डाइवर्ट किया गया
शुक्रवार को हिंदमाता और गोलदेवल इलाके में सड़क पर पानी भरने के कारण यातायात को दूसरे मार्ग पर डायवर्ट करना पड़ा। अंधेरी सबवे से यातायात को रोक दिया गया। मुलुंड में कई जगह पानी भरने से लोगों को परेशानी हुई। कई जगह पेड़ गिरने और शॉर्ट सर्किट की भी शिकायतें बीएमसी को मिलीं। लॉकडाउन की वजह से सड़कों पर ज्यादा लोग नहीं थे, फिर भी बारिश के कारण सड़कों पर गाड़ियों का जाम लगा रहा।


बृज बिहारी दुबे




 

 






 










  


दिल्ली में टमाटर का रंग हुआ लाल

 








बृज बिहारी दुबे




नई दिल्ली । कोरोना काल में वैसे ही आम आदमी का जीना दूभर हो गया है, ऐसे में टमाटर के भाव आसमान में पहुंच गए हैं। कुछ दिन पहले ही 10-15 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर 70-90 रुपए किलो तक चला गया है। यही नहीं अन्य हरी सब्जियां और आलू भी उसी के पीछे-पीछे चलना शुरू कर दिया है। नवीन सब्जी मंडी, सहिबाबाद में टमाटर के एक आढ़ती का कहना है कि पहले टमाटर गुजरात खूब आता था। बरसात शुरू होने से वहां से आवक कम हो गई है। ऐसे में शिमला से आने वाले टमाटर के भरोसे हैं। शिमला वाला टमाटर भी कम ही आ रहा है। साथ ही डीजल महंगा होने से भाड़ा भी बढ़ गया है। इसलिए अच्छा टमाटर का थोक रेट ही 50 रुपए से ज्यादा हो गया है। ऐसे में खुदरा में तो कीमत और बढ़ेगी ही। पिछले सप्ताह जो आलू 20 रुपए किलो मिल रहा था वह 30 रुपए किलो हो गया है। इस समय भिंडी का दाम 30 से 40 रुपए किलो, शिमला मिर्च 60 से 80 रुपए किलो, फ्रेंच बीन 60 से 80 रुपए, फूल गोभी 40 से 60 रुपए किलो मिल रहा है। 10 रुपए किलो मिलने वाला तोरी भी अब 20 से 30 रुपए किलो हो गया है। बैगन भी 30 रुपए किलो, कद्दू 20 रुपए किलो बिकने लगा है। सब्जी दुकानदारों का कहना है कि बरसात शुरू होने से हरी सब्जी की खेती पर नुकसान पहुंचा है। इसलिए आवक कम हो गई है।




 

 


 


 










  




 

 







 

 







 







 




 




 



 




बीएसएफ के 8 जवान और हुवे संक्रमित





















बीएसएफ के 8 जवान कोरोना वायरस की चपेट में, अब तक 30 जवान संक्रमित







कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में नक्सल मोर्चे पर तैनात बीएसएफ के जवानों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। शुक्रवार को सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ के 8 जवानों में कोरोना संक्रमण की पहचान हुई है। संक्रमित पाए गए सभी जवान अंतागढ़ में तैनात हैं। बता दें सभी 8 जवान छुट्टी से वापस लौटे थे। इसके बाद से सभी को अंतागढ़ के हाई स्कूल में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में ठहराया गया था।


सभी संक्रमित जवानों को इलाज के लिए जगदलपुर रवाना किया जा रहा है। यहां के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में सभी का इलाज किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक जिले में कुल 30 जवान कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। ऐसे में प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। जवानों में कोरोना के लगातार बढ़ते केस न केवल नक्सल मोर्चे पर तैनात जवानों के लिए चिंता खड़ी कर सकता है, बल्कि कैंपों में तैनात अन्य जवानों में भी दहशत भर सकता है। बता दें अब तक कोरोना की चपेट में आए सभी 30 जवान छुट्टी से लौटे थे।


सीएमएचओ डॉ. जे.एल उइके ने बताया कि अंतागढ़ कैंप के 8 जवानों में कोरोना की पुष्टि हुई है, जिन्हें जगदलपुर मेडिकल कॉलेज भेजने के लिए मेडिकल टीम रवाना कर दी गई है। अंतागढ़ से अब तक 18 जवान कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। जबकि 12 जवान बांदे कैंप से हैं। दूसरी ओर, कांकेर जिले में अब तक कोरोना के 66 मामले सामने आ चुके हैं। जिनमें से 30 नक्सल मोर्चे पर तैनात सुरक्षा बलों के जवान हैं।








 

 


 


 










  




 

 







 

 







 







 




 




 




 



 



 


 


 











 

 

 



 

 

 



 

 

 


 


 

 

 







 

 





 



 


 


 







 

 


 






यूपी में 10 आरटीओ की नई तैनाती

लखनऊ समेत प्रदेश के दस आरटीओ को मिली नई तैनाती

लखनऊ के आरटीओ समेत प्रदेश के अन्य जनपदों में तैनात 10 अधिकारियों को नई तैनाती दी गयी है। 

प्रमुख सचिव परिवहन राजेश कुमार सिंह की ओर से आदेश जारी कर दिया गया है। 

बृजेश केसरवानी

लखनऊ। सभी अधिकारियों को कार्यालय आदेश जारी करते हुए तत्काल तैनाती स्थल पर पहुंचकर कार्यभार ग्रहण करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रमुख सचिव ने बताया कि लखनऊ ट्रांसपोर्टनगर आरटीओ कार्यालय में तैनात एआरटीओ (प्रवर्तन) संजीव कुमार गुप्ता को आरटीओ के पद पर प्रोन्नति करते हुए उप निदेशक राजस्व एवं विशिष्ट अभिसूचना के पद पर सचिवालय में तैनाती मिली है। वहीं परिवहन आयुक्त मुख्यालय पर तैनात एआरटीओ राजेश कुमार गंगवार को आरटीओ (प्रशासन) पद पर झांसी में तैनात किया गया है।

इसके अलावा एआरटीओ (प्रवर्तन) अजय कुमार यादव को आरटीओ (प्रवर्तन) गोंडा, एआरटीओ (प्रवर्तन) राजेश कुमार मौर्या को गोंडा से आरटीओ (प्रशासन) प्रयागराज, एआरटीओ (प्रवर्तन) संतदेव सिंह अयोध्या से आरटीओ (प्रशासन) बांदा, एआरटीओ (प्रवर्तन) उदयवीर सिंह को जौनपुर से आरटीओ (प्रवर्तन) वाराणसी, एआरटीओ (प्रवर्तन) हिमेश तिवारी को गौतमबुद्धनगर से आरटीओ (प्रवर्तन) मुरादाबाद, एआरटीओ (प्रशासन) अरूण कुमार को रामपुर से आरटीओ (प्रशासन) आगरा, एआरटीओ प्रवर्तन राजेश सिंह को गाजियाबाद से आरटीओ (प्रवर्तन) मेरठ व एआरटीओ (प्रशासन) आरएन चौधरी को आजमगढ़ से आरटीओ (प्रवर्तन) आजमगढ़ के पद पर तैनाती की गई ।

ब्रहामणो की निर्मम हत्या पर आक्रोश




















रजनीकांत अवस्थी
रायबरेली। कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव सुशील पासी ने प्रयागराज जिले के सोरांव इलाके में एक ही परिवार के पांच ब्राह्मणों की हुई निर्मम हत्या पर तीव्र आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि, इस अमानुषिक हत्याकांड ने यह साबित कर दिया है कि, प्रदेश में कानून व्यवस्था बुरी तरह ध्वस्त हो चुकी है और प्रदेश जंगलराज के हवाले है।

आपको बता दें कि, कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव सुशील पासी ने इलाहाबाद में हुई पांच ब्राह्मणों विमलेंद्र पांडेय 48, प्रिंस पांडेय 19, शिबू पांडेय 20, सोमा पांडेय 18 की हत्या की खबर मिलते ही कल साम मृतकों के परिजनों से मिलने इलाहाबाद पहुंचकर पीड़ित परिवार के आंसू पोछे, और शोक संवेदना व्यक्त करते हुए हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ गांव पहुंचकर अग्रिम रणजीत के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को जानकारी दी।

 

कांग्रेस के प्रदेश सचिव श्री पासी ने स्थानीय जिला कमेटी के पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि, पूरे हत्याकांड की विस्तृत रिपोर्ट प्रदेश नेतृत्व को सौंपे। जिससे राज्यपाल से मुलाकात कर पूरी वस्तुस्थिति से अवगत कराया जा सके। कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव सुशील पासी ने मुख्यमंत्री से हत्याकाण्ड की सीबीआई जांच कराने और अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी सुनिश्चित करने और पीड़ित के परिजनों को कम से कम एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता देने की मांग की है, और कहा है कि, इस जघन्य हत्याकाण्ड को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी राज्यव्यपी संघर्ष छेड़ेगी। भाजपा सरकार में आये दिन ब्राह्मणों की हत्याये और उत्पीड़न की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है और अब प्रदेश में हो रही ब्राह्मणों की निशंक हत्याओं को लेकर कांग्रेस पार्टी चुप नही बैठने वाली है।

 

 


 


 










  




 

 







 

 







 







 




 




 




 



 



 


 


 











 

 

 



 

 

 



 

 

 


 


 

 

 







 

 





 







 


 







 

 


 






सीएम खट्टर ने कई प्रस्तावों को मंजूरी दी





राणा ओबरॉय

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नगर पालिका, अम्बाला सदर में फायर स्टेशन के निर्माण के विकास कार्य को पूरा करने के लिए 13.38 करोड़ रुपये के विशेष अनुदान (स्पेशल ग्रांट) को मंजूरी प्रदान कर दी है। यह जानकारी आज यहां एक सरकारी प्रवक्ता ने दी।मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरूग्राम जिले के दो गांवों में दो सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) के निर्माण के लिए मंजूरी प्रदान कर दी है। इस संबंध में जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि एक एसटीपी गांव धनकोट में और एक बजघेडा गांव में बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि गुरूग्राम के गांव धनकोट में 2 एमएलडी क्षमता के एसटीपी के निर्माण पर खर्च सरकार द्वारा किया जाएगा जबकि बजघेडा में बनाए जाने वाले एसटीपी के निर्माण का खर्च संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा वहन किया जाएगा।प्रवक्ता ने बताया कि गुरूग्राम के गांव धनकोट में बनाए जाने वाले एसटीपी का निर्माण विकास एवं पंचायत विभाग के जमा कार्य के रूप में गुरूग्राम महानगर विकास प्राधिकरण द्वारा करवाया जाएगा जिस पर 785.16 लाख रूपए की राशि खर्च होगी। उन्होंने बताया कि हरियाणा ग्रामीण विकास योजना के अंतर्गत कार्य योजना के अनुसार यह कार्य 31 दिसंबर, 2020 को पूरा होगा।सीएम मनोहर लाल ने हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों द्वारा किलोमीटर स्कीम के खिलाफ की गई हड़ताल के समर्थन में अन्य विभागों के कच्चे/अनुबंध कर्मचारियों द्वारा 26 अक्तूबर, 2018 के सामूहिक अवकाश, 30 व 31 अक्तूबर, 2018 को आयोजित हड़ताल तथा 8 व 9 जनवरी, 2020 की राष्ट्रव्यापी हड़ताल अवधि को ‘‘लीव ऑफ काईंड डयू’ करने के एक प्रस्ताव को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी है।

 

 



 



क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में निकलींं भर्ती

नई दिल्ली। देश में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में बंपर भर्तियां निकाली गई है। बैंकों में ऑफिस असिस्टेंट एवं ऑफिसर्स के कुल 9638 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन जारी किया गया है। इन पदों पर एक जुलाई से आवेदन की प्रक्रिया शुरु हो गई है। आवेदन की आखिरी तारीख 21 जुलाई 2020 है। इन पदों पर आवेदन के लिए आवेदन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सोनेल सिलेक्शन यानि IBPS के ऑफिशियल पोर्टल जर जाकर आवेदन कर सकते हैं। आईबीपीएस ने 9638 ऑफिस असिस्टेंट (मल्टीपर्पज) एवं ऑफिसर्स (स्केल 1, 2 एवं 3) के पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन (CRP RRBs IX) 30 जून 2020 को जारी किया है।


शैक्षणिक योग्यता
ऑफिस असिस्टेंट, ऑफिसर्स ( स्केल 1, 2 ) के लिए स्नातक पास होना अनिवार्य
ऑफिसर्स ( स्केल 3 ) के लिए अलग-अलग शैक्षणिक योग्यताएं और प्रोफेशनल योग्यताएं होनी चाहिए।


एमपी के 11 विभागों में पहुंचा संक्रमण





ग्वालियर। शहर में पहला संक्रमित मरीज 26 मार्च को चेतकपुरी निवासी मिला था। कोरोना की रफ्तार को रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन ने काफी हद तक कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लगा रखा था।


 अनलॉक-1 व 2 के शुरू होते ही प्रशासन ने शहरवासियों को इसमें राहत दी। इसका लोगों ने फायदा उठाया और जमकर लापरवाही बरती। इस कारण कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली। एक दिन में 25-25 कोरोना पॉजीटिव मरीज सामने आ रहे हैं। अब कोरोना सरकारी कार्यालयों के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ शहर के छोड़े-बड़े कारोबारियों तक जा पहुंचा है। अब तक 11 विभागों में कोरोना पॉजीटिव मरीज मिल चुके हैं। शहर में मार्च महीने के अंतिम सप्ताह में दस्तक देने वाला कोरोना संक्रमण लॉकडाउन के दौरान दूसरे रेड जोन वाले इलाकों से शहर में आने वाले लोगों तक ही सीमित था।

लेकिन अनलॉक-1 में प्रशासन ने शहरवासियों को छूृट दी। छूट के साथ मॉनीटरिंग में बरती गई लापरवाी प्रशासन के लिए मुसिबत बन गई। अब कोरोना का डंक दूसरे शहरों से आने वाले कोरोना कैरियर्स तक ही सीमित नहीं होकर सरकारी कार्यालयों के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ शहर के छोड़े-बड़े कारोबारियों तक जा पहुंचा है। कोरोना की रफ्तार का आलम यह है कि कोरोना का डंक घरों से बाहर नहीं निकलने वाली महिलाओं, बुजुर्गों व बच्चों तक को शिकार बना रहा है। अब तक नगर निगम, पुलिस, एसएएफ, बीएसएफ, एयरफोर्स, टीचर, वन विभाग, डॉक्टर, डाकघर, बैंक और स्मार्ट सिटी के ऑफिस में कोरोना पॉजीटिव मरीज मिल चुके हैं।


नियमों का पालन नहीं करना पड़ा भारी


कोरोना संक्रमितों की संख्या में एकाएक बढ़ोत्तरी होने का कारण कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बनाए गए नियमों की अवेहना करना ही लोगों को भारी पड़ता दिख रहा है। शहर में 80 फीसदी शहरवासी न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और न ही कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए चेहरे पर मास्क लगा रहे हैं। नियमों की अवहेलना करना ही शहरवासियों को भारी पड़ रहा है। जिसके चलते रोजाना ही संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं।


 सरकारी विभागों में फैल गया है सनसनी का माहौल

दरअसल ग्वालियर चंबल संभाग में जितने भी सरकारी ऑफिस है। वहां पर पिछले कई समय से विविन पत्रकार संस्थाओं के द्वारा लगातार साफ सफाई स्वच्छता को लेकर खबरें छापी जाती थी। जिसमें दिखाया जाता था कि वास्तव में ग्वालियर के जितने भी सरकारी विभाग है। वहां पर साफ सफाई का नितांत अभाव रहता है। वहां पर जो बाथरूम है वह बेहद गंदे रहते हैं और वहां पर अधिकारी वर्ग वास्तव में किसी भी प्रकार की स्वच्छता के लिए ध्यान नहीं देते थे। जब अखबार समाचार पत्रों और विभिन्न वेबसाइटों के द्वारा इस विषय पर लेख लिखे गए इस विषय पर कई बार अधिकारियों को जागरूक करने का प्रयास किया गया। फिर भी ग्वालियर चंबल संभाग के अधिकारी वर्ग इस विषय पर जागरूक ना हुए उन्होंने अपनी मुद्रा को जारी रखा और आज इसी का परिणाम है कि ग्वालियर चंबल संभाग में सरकारी विभागों में तेजी से फैल रहा है। क्योंकि वहां पर साफ सफाई बिल्कुल नहीं रहती है और किसी भी प्रकार की सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा जाता है। अधिकारी सिर्फ और सिर्फ अपने विषय में सोचते हैं और कर्मचारी अधिकारियों के सामने घुटने टेकने पर मजबूर हो जाते हैं। इस प्रकार से वाली चंबल संभाग वास्तव में गहरी गफलत में चला जा रहा है।



 

 






 










  


बैंक पहुंचा संक्रमित, सील की शाखा

 










बेतिया। शहर में कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर किये जा रहे दावे में बड़ी लापरवाही सामने आयी है। दो दिन पहले आधा दर्जन व्यवसायिक घरानों, दो राजनीतिक परिवारों व प्राॅपर्टी डीलर के करीबी रहने वाले जिस युवक में कोरोना का संक्रमण मिलने पर उसे कोरेंटिन किया गया था, वह युवक कोरेंटिन तोड़ते हुए गुरुवार को पैसा निकालने हरिवाटिका स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखा में जा पहुंचा।

मामला शुक्रवार को उजागर होने पर बैंक को सील कर दिया गया है। मैनेजर समेत सभी कर्मचारी होम कोरेंटिन किये गये हैं। उक्त युवक को जीएमसीएच में आइसोलेशन वार्ड में दाखिल करा दिया गया है। बैंक मैनेजर एके सुमन ने बताया कि शुक्रवार को उन्हें युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मिली। इसके बाद उन्होंने इसकी सूचना प्रशासन को दी।

 

फिलहाल बैंक को कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। नगर परिषद की टीम बैंक परिसर को सैनिटाइज करने में जुटी है। बैंक सूत्रों की माने तो गुरुवार को शाखा में पहुंचे युवक ने अच्छी खासी रकम निकाली थी। उस समय तक बैंक कर्मियों को उसके संक्रमित होने की जानकारी नहीं थी। चूंकि युवक शहर के राजनीतिक परिवार, व्यवसायिक घरानों और प्रॉपर्टी डीलर का करीबी है, ऐसे में बैंक के अधिकारियों व कर्मचारियों से उसकी अच्छी पहचान है। वह अक्सर लेनदेन के सिलसिले में बैंक जाया करता था।




 



 



 










  




 

 







 

 







 







 




 




 



 




एसओ तिवारी से एसटीएफ की पूछताछ

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए शूटआउट में एक दिलचस्प मोड़ सामने आया है। गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात विकास दुबे और उसके गुर्गों ने पुलिस टीम पर फायर झोंक दिया था। इसमें एक सीओ और इंस्टपेक्टर समेत कुल 8 पुलिसकर्मियों की गोली लगने से मौत हो गई थी और 7 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। पुलिस की य​ह टीम हिस्ट्रीशीटर विकासदुबे को गिरफ्तार करने पहुंची थी। पुलिस टीम पर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके गुर्गों की ओर से हुए हमले में चौबेपुर थानेदार की भूमिका संदिग्ध है। यूपी एसटीएफ ने चौबेपुर एसओ विनय तिवारी को इस मामले में ग्रिल करना शुरू किया है। सूत्रों की मानें तो हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर एफआईआर दर्ज करने के मामले में एसओ विनय तिवारी की भूमिका संदिग्ध पाई गई है।


चौबेपुर थानेदार विनय तिवारी विकास दुबे के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत एफआईआर लिखने में आनाकानी बरत रहे थे। पीड़ित राहुल तिवारी ने सीओ देवेंद्र मिश्रा से इसकी शिकायत की थी, इसके बाद विकास दुबे पर मुकदमा दर्ज हुआ था। आपको बता दें कि इस शूटआउट में सीओ देवेंद्र मिश्रा शहीद हो गए। चौबेपुर थानेदार विनय तिवारी पर विकास दुबे के खिलाफ पुलिस कार्रवाई के बारे में मुखबिरी का शक है। सूत्रों के मुताबिक जब पुलिस टीम विकास दुबे को गिरफ्तार करने पहुंची थी तो थानेदार विनय तिवारी दबिश में सबसे पीछे चल रहा थे। सीओ देवेंद्र मिश्रा और थानेदार विनय तिवारी में पटरी नहीं थी। इसके चलते थानेदार पर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे से सीओ देवेंद्र मिश्रा की मुखबिरी का शक है। शक के दायरे में आए चौबेपुर थानेदार विनय तिवारी से एसटीएफ पूछताछ कर रही है।


लद्दाख में सेना की 4 डिवीजन तैनात

 







अब तक पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना की कुल चार डिवीजन तैनात
मई से पहले एक डिवीजन सियाचिन से लेकर चुमुर तक के इलाके की करती थी निगरानी


नई दिल्ली,। लद्दाख सीमा पर चीन की तरफ से भारी संख्या में सैनिकों की तैनाती के जवाब मेंं भारतीय सेना ने एक और डिवीजन तैनात कर दी है। इस डिवीजन की तैनाती के बाद सिर्फ पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना की कुल चार डिवीजन हो गई हैं, जबकि मई से पहले इस इलाके में केवल एक डिवीजन तैनात थी। यह भारत की ओर से किसी भी सीमा पर सेना की अब तक की सबसे बड़ी तैनाती मानी जा रही है।


सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश से ले जाई गई यह नई डिवीजन पूर्वी लद्दाख में तैनात रहेगी, जिसमें 15 से 20 हजार तक सैनिक होंगे। इसके साथ इस डिवीजन का तोपखाना भी लद्दाख ले जाया जाएगा। गलवान की घटना के बाद चीन ने धीरे-धीरे एलएसी पर अपने सैनिकों की तैनाती में जबरदस्त बढ़ोतरी की है। सीमा पर चीनी सैनिकों की तैनाती के जवाब में भारत ने भी टैंक, पैदल सेना के वाहनों और करीब 10 हजार अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती की है। लद्दाख में चीन से लगती हुई 856 किमी. की सीमा काराकोरम पास से शुरू होकर दक्षिण लद्दाख में चुमुर तक जाती है। एलएसी के शुरुआती हिस्से यानी काराकोरम पास से लेकर दौलत बेग ओल्डी, डेपसांग प्लेन, गलवान घाटी, पेंगांग झील, डेमचौक, कोइल और चुमुर तक हर जगह से चीन घुसपैठ करने की कोशिश में है। इनमें से गलवान घाटी और पेंगांग झील के बाद सीमा विवाद का एक बड़ा मुद्दा डेपसांग प्लेन भी है। डेपसांग घाटी के पास ही भारतीय वायुसेना की हवाई पट्टी दौलत बेग ओल्डी भी है जिसे दुनिया की सबसे ऊंची एयर स्ट्रिप होने का खिताब हासिल है।


भारतीय सेना एलएसी पर विवादित इलाकों का कोई भी हिस्सा असुरक्षित नहीं छोड़ना चाहती है, इसीलिए चीनी सेना के जवाब में अपने सैनिकों की भी तैनाती बढ़ाती जा रही है। इससे पहले मई में तनाव शुरू होने के तुरंत बाद ही उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश से दो माउंटेन डिवीजनों को लद्दाख में तैनात किया गया था। परिस्थिति या वातावरण के अभ्‍यस्‍त इन सैनिकों की तैैनाती पूर्वी लद्दाख में उन जगहों पर की गई जहां वह मुस्तैदी के साथ चीनियों से मोर्चा संभाल सकते हैं। तनाव शुरू होने के दो महीने बाद चीन की तरफ से और ज्यादा सैनिकों, टैंकों और बख्तरबंद गाड़ियों की तैनाती के बाद ही भारतीय सेना ने भी लद्दाख में सैनिकों की तादाद बढ़ाई है।



 

 


 


 










  




 

 







 

 







 







 




 




 



 




इनाम घोषित, कोशिशें से और तेज की

कानपुर। यूपी पुलिस ने कानपुर एनकाउंटर के मुख्‍य आरोपी विकास दुबे पर पचास हजार के इनाम का ऐलान किया है। गुरुवार देर रात हुए इस एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए थे। इसके बाद से यूपी की योगी सरकार एक्शन मोड में है। शुक्रवार शाम सीएम योगी आदित्यनाथ कानपुर पहुंचे और घायल पुलिस कर्मियों से रीजेंसी अस्पताल में मुलाकात की।


कानपुर आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने शातिर बदमाश विकास दुबे पर इस इनाम का ऐलान करते हुए उसे दबोचने की कोशिशें और तेज कर दी हैं। इससे पहले विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए कानपुर देहात में उसके परिजन के यहां पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की थी। लखनऊ में कृष्‍णा नगर में विकास दुबे के मकान पर भी पुलिस ने छापा मारा।


‘जहां अपराधियों की जगह है वहां पहुंचेंगे’
डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने बिल्हौर स्थित बिकरू गांव का निरीक्षण करने के बाद कहा कि दो अपराधी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं। बॉर्डर सील हैं और टीमें अपना काम कर रही हैं। लगातार सर्च ऑपरेशन हो रहे हैं, एसटीएफ की टीम भी लगी है। पुलिस जल्द ही मामले की तह तक पहुंचेगी और अपराधियों को उसी जगह पहुंचाएंगे जहां उन्हें होना चाहिए।


हिस्‍ट्रीशीटर है विकास दुबे
कानपुर में देर रात शातिर बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुई फायरिंग में आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। यह घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने बताया कि विकास दुबे कानपुर का हिस्ट्रीशीटर भी हैं इसके ऊपर कई मुकदमें दर्ज हैं। इस पर दबिश डालने के लिए पुलिस बिकरू गांव पहुंची जहां पर पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी वगैरह लगा कर रास्ता रोक रखा था। पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें पुलिस के 8 जवान शहीद हो गए। विकास दुबे की लोकेशन पता लगाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस किया जा रहा है। पुलिस की टीमें लगातार जगह-जगह दबिश दे रही हैं।


दो बदमाश भी मारे गए
चौबेपुर में गुरुवार रात अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। इस घटना में पांच पुलिस कर्मी, एक होमगार्ड का जवान और एक आम नागरिक घायल हो गए। इसके बाद शुक्रवार सुबह मुठभेड़ में पुलिस ने दो बदमाशों को मार गिराया।


पुलिस के हथियार भी छीन लिए थे
पुलिस की ओर से जारी बयान के मुताबिक अपराधी ने गुरुवार रात को मुठभेड़ के बाद पुलिसकर्मियों के हथियार भी छीन ले गए, जिनमें एके 47 राइफल, एक इंसास राइफल, एक ग्लाक पिस्तौल तथा दो नाइन एमएम पिस्तौल शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि शुक्रवार सुबह मारे गए दोनों अपराधियों में से एक के पास से पुलिस से लूटा गया एक हथियार बरामद कर लिया गया है। कुछ आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं, जिनकी तलाश पुलिस के साथ एसटीएफ भी कर रही है।


यूपी में वायरस के 8451 सक्रिय मामले





















प्रदेश में कोरोना के 7,451 सक्रिय मामले, अब तक 17,597 मरीज इलाज से हुये ठीक


लखनऊ। प्रदेश में कोरो वायरस का प्रसार जारी है। अनलॉक टू में भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बीते चौबीस घंटों में राज्य में संक्रमण के 982 नए मामले स्वास्थ्य महकमे को बड़ी चुनौती देते हुए सामने आए हैं। इससे पहले गुरुवार को 817 नए मामलों की पुष्टि हुई थी। अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शुक्रवार को बताया कि प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब 75 जनपदों में 7,451 हो गई है। वहीं अब तक 17,597 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। इसके अलावा अब तक प्रदेश में इस वायरस से 982 लोगों की मौत हो चुकी है।


प्रतिदिन होने वाली जांच संख्या पहली बार 27 हजार के पार


अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य ने बताया कि प्रतिदिन की जाने वाले कोरोना नमूनों की जांच संख्या पहली बार 27 हजार के पार पहुंच गई। गुरुवार को रिकार्ड 27,565 कोरोना नमूनों की जांच की गई। इससे पहले बुधवार को 24,890, मंगलवार को 26,489, सोमवार को 21,414 और रविवार को 22,378 नमूनों की जांच की गई थी। वहीं अब तक प्रदेश में कुल 8,10,991 कोरोना नमूनों की जांच हो चुकी है।


7,467 लोग आइसोलेशन वार्ड में भर्ती


राज्य में इस समय 7,467 लोग आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। वहीं 4,509 लोग फैसिलिटी क्वारंटाइन में हैं। फैसिलिटी क्वारंटाइन में उन लोगों को रखा गया है जो कि कोरोना संक्रमितों के सम्पर्क में रहे हैं। हॉटस्पॉट में होने के कारण उनमें लक्षण नजर आये या जिनमें संक्रमण की सम्भावना होती है।


2,457 पूल के जरिए 13,870 नमूनों की हुई जांच


उन्होंने बताया कि गुरुवार को 2,457 पूल के जरिए 13,870 नमूनों की जांच की गई। इनमें 2,140 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई, जिसमें से 229 पूल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 317 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई, जिसमें से 49 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।
इससे पहले बुधवार को 1,974 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। वहीं मंगलवार को 2,096 पूल के जरिए 12,095 नमूनों की जांच की गई। इनमें 1,773 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई, जिसमें से 208 पूल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 323 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई, जिसमें से 24 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।



 

 


 


 










  




 

 







 

 







 







 




 




 




 



 



 


 


 











 

 

 



 

 

 



 

 

 


 


 

 

 







 

 





 



 


 


 







 

 


 






अमेठीः 7 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव

अमेठी। जिले में कोरोना की रफ्तार एक बार फिर तेज हो गई है। अब दरोगा, महिला कांस्टेबल और कलेक्ट्रेट कर्मी समेत सात लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव मिली है। शुक्रवार को कलेक्ट्रेट को 24 घंटे के लिए सील कर सेनेटाइज किया गया है।


जिला प्रशासन के अनुसार कलेक्ट्रेट कर्मी (27 वर्ष), पुलिस लाइन में निवास कर रहे दरोगा (53 वर्ष) और महिला कांस्टेबल (27 वर्ष) की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इसके अलावा बताया गया है कि गौरीगंज क्षेत्र के एसीसी टिकरिया कालोनी निवासी तीन युवक और मुसाफिरखाना के वार्ड नंबर 9 के निवासी एक युवक की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। वहीं गौरीगंज स्थित कलेक्ट्रेट परिसर को सील कर उसे सेनेटाइज कराया जा रहा है। जिले में अब कोरोना पाजिटिव कुल मामले 290 हो गए हैं। जिसमे वर्तमान में एक्टिव केसो की संख्या 16 है और इलाज के उपरांत 273 मरीज अब तक डिस्चार्ज किए गए हैं। वही एक व्यक्ति की जिले में कोरोना से मौत भी हुई है।


4 राशियों को प्रभावित करेगा चंद्रग्रहण

नई दिल्ली। जल्द ही इस साल का तीसरा चंद्रग्रहण लगने जा रहा है | ये चंद्रग्रहण 5 जुलाई 2020 को लगेगा | हालाँकि ये चंद्रग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा | ये उपछाया चंद्रग्रहण होगा और ना ही इसका सूतक माना जायेगा | ज्योतिषीय गणना के अनुसार उपछाया चंद्रग्रहण होने के बावजूद भी ये चंद्रग्रहण राशियों पर प्रभाव डालने वाला है | इस वजह से कुछ राशियों की मुश्किलें बढ़ सकती है | आज हम आपको उन्ही राशियों के बारे में जानकारी देने जा रहे है |


मिथुन-ये चंद्रग्रहण आपके सातवे भाव में है | आपकी राशि इस ग्रहण से सबसे अधिक प्रभावित होने वाली है | दाम्पत्य जीवन में जीवनसाथी की तबियत बिगड़ सकती है | साथ ही व्यापार में साझदेरी के बिगड़ने की सम्भावना है, आपको बेहद सावधान रहने की आवश्यकता है |


कन्या-ये ग्रहण आपके चौथे भाव में लग रहा है | ये आपके कार्यक्षेत्र में आने वाली परेशानियों की वजह बन सकता है | माता जी की तबियत अचानक बिगड़ सकती है, जमीन जायदाद को लेकर आपको किसी बड़े नुकसान का सामना करना पड़ सकता है | ये ग्रहण आपके जीवन में परेशानियां लेकर आ रहा है, इसीलिए आपको सावधान रहने की जरूरत है |


वृश्चिक-चंद्रग्रहण आपके दूसरे भाव में लगने जा रहा है | बता दे दूसरा भाव धन का है, इसी वजह से आपको धन से जुडी किसी हानि का सामना करना पड़ सकता है | इसके अलावा आप किसी दुर्घटना के शिकार भी हो सकते है, इसीलिए बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है |


मीन-ये ग्रहण आपके दसवे भाव में लगेगा | आपको कार्यक्षेत्र में किसी मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है | पिताजी का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है, इसीलिए उनकी सेहत को लेकर सतर्क रहे | घर-परिवार का माहौल आपको तनाव दे सकता है | ये ग्रहण आपके लिए कष्टकारी परिणाम लेकर आया है |


धोखाः 30 रुपए में कोरोना की दवाई

गाजीपुर। एक तरफ जहां पूरी दुनिया कोरोना महामारी से लड़ाई के लिए वैक्सीन बनाने की तरकीबें खोज रही है, वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस आपका दे वक्त में भी अवसर तलाश रहे हैं। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में कुछ ऐसे लोग भी मिले हैं जो समाज में भ्रामक प्रचार-प्रसार के जरिए कोरोना का इलाज 30 रुपये से 50 रुपये में कर रहे हैं। इनका दावा है कि इस दवा के उपयोग से कोरोना नहीं होगा और जिनको संक्रमण हैं वह भी स्वस्थ हो जाएगा। हालांकि मामला खुलने के बाद प्रशासन कार्रवाई की बात कह रहा है।
जानकारी के मुताबिक, गाजीपुर जिले के बिरनो थाना क्षेत्र के बद्धुपुर गांव में ‘आन शोध संस्थान’ ने कोरोना से बचाव के लिए लोगों को दवा बेचा और दावा किया कि यह दवा होम्योपैथिक की आर्सेनिक एल्बम-30 नाम की दवा है जो कि कोरोना महामारी के लिए कारगर साबित हो रही है। ग्रामीणों के बीच इस दवा को 30 रुपए से 50 रुपए लेकर बेचा गया।


यूं खुला भेद
गांव के लोगों ने जब एनजीओ के कर्मचारियों से कोरोना की दवा के बारे जानकारी लेते हुए यह पूछा कि क्या कोरोना दवा बेचने के लिए संस्था के पास स्वास्थ विभाग या आयुष मंत्रालय का आदेश है, तो एनजीओ के कर्मचारी टाल-मटोल करने लगे। तब तक एनजीओ के कर्मचारी गांव के कई एक लोगों को कोरोना की कथित दवा दे चुके थे। ग्रामीणों ने कोरोना की कथित दवा बांटने वाले एनजीओ के खिलाफ जिला प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है।


एनजीओ ने कहा- पूरे प्रदेश में बांट रहे दवा
हैरान करने वाली बात तो यह है कि जब इस मामले में दवा बांटने वाली संस्था के प्रतिनिधि आसिफ खान से बात की गई तो उन्होंने बताया कि संस्था कोरोना महामारी से बचाव के लिए सिर्फ गाजीपुर ही नहीं बल्कि प्रदेश के सभी जिलों में अपने कार्यकर्ताओं के जरिए दवा वितरण का कार्यक्रम संचालित कर रही है। आसिफ ने आगे बताया कि इस महामारी को देखते हुए लोगों में खासा भय व्याप्त है। इस दवा को लेकर लोगों की मिली जुली प्रतिक्रिया है। बताया जा रहा है कि यह एनजीओ का मुख्यालय लखनऊ है और वहीं से यह प्रदेश के सभी जनपदों में दवा वितरण का कार्यक्रम संचालित कर रही है। एनजीओ के प्रतिनिधि लाइसेंस होने की बात पर कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए ।


जिलाधिकारी ने कही जांच की बात
जब इस बारे में जिला अधिकारी ओमप्रकाश आर्य ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी से बात कर संबंधित एनजीओ से आख्या लेने की बात कही है और अगर इस तरह का कोई मामला है जो कानून सम्मत नहीं है, तो तत्काल कार्रवाई की जाएगी


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...