सोमवार, 11 जनवरी 2021

निराश्रित गायों की जगह सड़क नहीं, 'नंदी' पार्क

अश्वनी उपाध्याय 

गाज़ियाबाद। सड़कों पर घूम रहे पशु आए दिन सड़क दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं। ऐसे ही निराश्रित गौ वंश के प्रति संवेदनशीलता दिखते हुए नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने शहर की मुख्य सड़कों पर घूम रहे गौवंश को गौशाला में लाने के निर्देश दिए। जिससे गायों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और उनकी देखभाल की जा सकें। इसी क्रम में आज (सोमवार को) म्युनिसिपल कमिश्रर महेंद्र सिंह तंवर ने नंदी पार्क का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि किसी भी हालत में गोवंश सड़कों पर नहीं घूमनी चाहिए। उनके लिए ठंड से बचाव के लिए गोशालाओं के उचित व्यवस्था होनी चाहिए। नंदी पार्क पहुंचने के बाद सबसे पहले म्युनिसिपल कमिश्रर ने देखा कि गायों के लिए टीन शेड की व्यवस्था है या नहीं। इसके बाद उन्होंने गायों को ठंड से बचाने के लिए अलाव जलाने के साथ ओढ़ने की व्यवस्था की गई। इसके अलावा गोवंशों के खाने पीने की व्यवस्था का विशेष ध्यान रखने का आदेश दिया। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि गोवंशों की देखभाल शासन की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा यदि किसी भी स्तर पर लापरवाही हुई और गोशालाओं की पड़ताल या गोशाला की समस्या के निवारण में अनदेखी हुई तो उनकी जवाबदेही तय की जाएगी। निरीक्षण के दौरान एसबीएम के नोडल अधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, पशु चिकित्सा एवं कल्याण अधिकारी डॉ.अनुज कुमार सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश कुमार आदि उपस्थित रहे।

विधायक ने जनसुनवाई कार्यक्रम में समस्याएं सुनी

कौशांबी। विधायक चायल संजय कुमार गुप्ता ने अपने कार्यालय भरवारी में जनसुनवाई का कार्यक्रम किया। जन सुनवाई के दौरान प्रधानमंत्री आवास, हैण्डपम्प, जमीनी विवाद व नाली से संबंधित लगभग 185 शिकायतें पत्र प्राप्त हुए 10 से अधिक शिकायतों को विधायक ने मौके पर ही निस्तारण किया। शेष बची शिकायतों को निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को पत्र के माध्यम से निर्देशित किया। शिकायतकर्ता में मुख्य रूप से भिखारी का पुरवा से राजू विश्वकर्मा के साथ दर्जनों महिलाओं ने अपने गांव का रास्ता बनवाने हेतु शिकायती पत्र दिया। शाहिदा रोही से भानमती यादव समसपुर से अनारकली काजू से प्रधानमंत्री आवास के लिए प्रार्थना पत्र दिया। रानी देवी परसरा से अंतोदय कार्ड हेतु प्रार्थना पत्र दिया। निकी पुत्री संगम लाल बिसरा से परिवारिक मारपीट होने पर प्रार्थना पत्र दिया। गिरसा से पेयजल हेतु शीला देवी ने प्रार्थना पत्र दिया नौढिया से राघवेंद्र सिंह ने अपने मोहल्ले की नाली बनवाने के लिए प्रार्थनाा पत्र विधायक ने सभी पत्रोंं का अवलोकन करते हुए संबंधित विभाग को निस्तारण हेतु पत्र के माध्यम से आदेश किया।
गणेश साहू 

कौशाम्बी: हवन यज्ञ भंडारे के साथ कथा संपन्न हुई

हवन यज्ञ भंडारे के साथ भागवत कथा संपन्न

कौशांबी। मंझनपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम चांदेराई में सप्ताहिक श्रीमद्भागवत भागवत कथा सोमवार को संपन्न हो गयी। कथा के समापन के अवसर पर हवन यज्ञ और भंडारे का आयोजन किया गया। भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने पहले हवन यज्ञ में आहुति डाली और फिर प्रसाद ग्रहण कर पुण्य कमाया। भागवत कथा का आयोजन नवीन संस्कार सेवा समिति की ओर जिला पंचायत अध्यक्ष अवध रानी व उनके पुत्र जगजीत सिंह के सौजन्य से करवाया गया था। कथा व्यास पं. नागेन्द्र गुरु जी ने 7 दिन तक चली कथा में भक्तों को श्रीमद भागवत कथा की महिमा बताई। उन्होंने लोगों से भक्ति मार्ग से जुड़ने और सत्कर्म करने को कहा। आचार्य पं. नागेन्द्र गुरु जी ने कहा कि हवन-यज्ञ से वातावरण एवं वायुमंडल शुद्ध होने के साथ-साथ व्यक्ति को आत्मिक बल मिलता है। व्यक्ति में धार्मिक आस्था जागृत होती है। दुर्गुणों की बजाय सद्गुणों के द्वार खुलते हैं। यज्ञ से देवता प्रसन्न होकर मनवांछित फल प्रदान करते हैं। उन्होंने बताया कि भागवत कथा के श्रवण से व्यक्ति भव सागर से पार हो जाता है। श्रीमद भागवत से जीव में भक्ति, ज्ञान एवं वैराग्य के भाव उत्पन्न होते हैं। इसके श्रवण मात्र से व्यक्ति के पाप पुण्य में बदल जाते हैं। विचारों में बदलाव होने पर व्यक्ति के आचरण में भी स्वयं बदलाव हो जाता है। कथावाचक आचार्य पं. नागेन्द्र गुरु ने भंडारे के प्रसाद का भी वर्णन किया। उन्होंने कहा कि प्रसाद तीन अक्षर से मिलकर बना है। पहला प्र का अर्थ प्रभु, दूसरा सा का अर्थ साक्षात व तीसरा द का अर्थ होता है दर्शन। जिसे हम सब प्रसाद कहते हैं। हर कथा या अनुष्ठान का तत्वसार होता है जो मन बुद्धि व चित को निर्मल कर देता है। मनुष्य शरीर भी भगवान का दिया हुआ सर्वश्रेष्ठ प्रसाद है। जीवन में प्रसाद का अपमान करने से भगवान का ही अपमान होता है। भगवान का लगाए गए भोग का बचा हुआ शेष भाग मनुष्यों के लिए प्रसाद बन जाता है। कथा समापन के दिन रविवार को हुआ तथा सोमवार को विधिविधान से पूजा करवाई एवम् दोपहर तक हवन और भंडारा कराया गया। इसमें यजमान जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अवधरानी ने अपने परिवार के साथ आहुति डाली। ग्रामीण क्षेत्रों से आए श्रद्धालुओं ने भी हवन में आहुति डाली। पूजन के बाद दोपहर को भंडारा आयोजित कर प्रसाद वितरण किया गया। जिसमें भाजपा जिला अध्यक्ष अनीता त्रिपाठी, रमेश पासी, उदयन सिंह, संजय जायसवाल, आशीष केसरवानी, धर्मराज मोर्य, नितिन पासी, एवम् क्षेत्र से आए हुए अपार जनमानस ने भोजन कर प्रसाद ग्रहण किया।
सुशील केसरवानी 

हापुड़ः टीबी रोग हारेगा और 'भारत' जीतेगा

अतुल त्यागी
हापुड़। भारत सरकार के कार्यक्रम टी.बी. हारेगा देश जीतेगा। कैम्पेन के 9 वे दिन मुख्य चिकित्सा अधिकारी महोदया डॉ. रेखा शर्मा के कुशल निर्देशन में सघन छय रोगी खोज अभियान में दिनांक 11 जनवरी 2021 को तीन लाख की चिन्ह्ति शहरी आबादी में 98 टीमो द्वारा 5805 घरों में जाकर 29276 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। जिला छय रोग अधिकारी द्वारा जनपद में चल रहे टी.वी. रोगी खोज अभियान का फील्ड में जाकर निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. राजेश सिंह जिला कार्यक्रम समन्वयक दीपक शर्मा जिला पी.पी.एम. समन्वयक सुशील चौधरी, एसीएफ सुपरवाइजर, गजेन्द्र पाल सिंह, नंदकिशोर, ब्रजेश कुमार, हरिश्चन्द्र रामसेवक, संगीता अरोरा इत्यादि मौजूद रहे। निरीक्षण के दौरान डॉ. राजेश सिंह द्वारा टीम के द्वारा किए गए कार्य की गहनता से जांच की गई। टीम द्वारा किए गए कार्य को क्रॉस चेक किया गया। पी.पी.सी. कोठी गेट सभागार में सभी सुपरवाइजर की शाम को बैठक लेकर कार्यक्रम की समीक्षा की गई। अभियान में अभी तक 22 टी बी रोगी खोजे जा चुके है।

हापुड़: पुलिस ने 5 जुआरियों को अरेस्ट किया

अतुल त्यागी 
हापुड़। पुलिस ने पांच जुआरियों को गिरफ्तार किया।
जुआ खेलतें पांच जुआरी गिरफ्तार कर नगदी बरामद की। थाना जनपद क्षेत्र में जुआ खेलतें पुलिस ने पांच जुआरी गिरफ्तार किए हैं। जानकारी के अनुसार जनपद के खुर्जा पेंज में जुआ खेलते जनपद निवासी शकील, नौशाद, आबिद, लख्मी व शोएब को गिरफ्तार कर तीन हजार रुपये व ताश की गढ्ढी बरामद की।

बिजली का तार टूट कर गिरने से दंपत्ति की मौत

प्रशांत कुमार 
कौशांबी। जनपद के सरायअकिल थाना क्षेत्र के पुरखास गांव में सोमवार सुबह तकरीबन 10 बजे खेत में काम कर रहे पति.पत्नी के ऊपर बिजली का हाइटेंशन तार टूटकर गिर गया। इस अनहोनी में दोनों गंभीर रूप से झुलस गए। खबर फैली तो वहां भीड़ लग गई। परिवार के लोग फौरन उन्हें पुलिस की मदद से एंबुलेंस बुलाकर सीएचसी सरायअकिल लेकर गए। जहां हालत बेहद नाजुक देख डाक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इस घटना से लोगों में बिजली विभाग के प्रति आक्रोश है। जर्जर तार टूटने की घटनाएं लगातार हो रही हैं मगर तार नहीं बदले जाने की वजह से कोई सुधार नहीं हो रहा है।खेत में कर रहे थे काम तभी टूटकर गिरा तार
पुरखास गांव निवासी बच्चीलाल रैदास 58 पुत्र गरीबदास मजदूरी करता है। सोमवार सुबह वह पत्नी मझिलकी 56 के साथ अपने ही गांव स्थित आरा मशीन के पीछे मटर के खेत में काम कर रहा था। खेतों के ऊपर से ही बिजली का हाइटेंशन तार गुजरा है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक अचानक बिजली का हाइटेंशन तार दोनों के ऊपर टूट कर गिर गया। तार की चपेट में आकर वे दोनों गंभीर रूप से झुलस गए। लोगों ने देखा तो चीख.पुकार की। और भी ग्रामीण आ गए। लोगों ने किसी तरह सूखे बांस से तार हटाकर दोनों को अलग किया। इस बीच उन दोनों के परिवार के लोगों समेत आसपास के ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई। पावर हाउस में सूचना देकर बिजली सप्लाई बंद करवाई गई। परिवार के लोगों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने एंबुलेंस बुलाकर ग्रामीणों व स्वजनों की मदद से दोनों पति.पत्नी को सीएचसी सरायअकिल भेजा। जहां डाक्टरों ने परीक्षण के बाद दोनों की हालत गंभीर देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया है। लोगों ने बिजली अधिकारियों से भी शिकायत कर दी है।

हद: बच्चों पर पेट्रोल डालकर मां ने आग लगाईं

बुलंदशहर (डेस्क)। पति-पत्नी में आपसी विवाद इतना बढ़ गया कि गुस्साई महिला ने अपनी छह माह और तीन साल की बेटियों पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। वारदात उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के अगौता थाना इलाके के गांव गढ़िया की है। पति-पत्नी में आपसी विवाद गैस खत्म होने पर चूल्हे पर खाना बनाने की बात को लेकर हुआ। आग से चीख पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने आग बुझाई और घटना की सूचना पुलिस को दी।मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों बच्चियों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उन्हें रेफर कर निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार गांव गढ़िया निवासी मुकेश लोधी बेलदारी का कार्य करता है। शनिवार को उसके घर में खाना बनाने के दौरान सिलिंडर में गैस खत्म हो गई। इस पर मुकेश ने अपनी पत्नी को चूल्हे पर खाना बनाने के लिए कहा। महिला ने चूल्हे पर खाना बनाने से इनकार कर दिया। इस बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया।
बताया जा रहा है कि इस दौरान मुकेश ने अपनी पत्नी की पिटाई कर दी। पति की पिटाई से गुस्साई महिला ने बाइक से पेट्रोल निकाल लिया और घर में जमीन पर लेटे अपनी दो बच्चियों यशोदा और छह माह की भूमिका के ऊपर पेट्रोल उड़ेल दिया और आग लगा दी। दोनों बच्चियों की चीख पुकार सुनकर अन्य परिजन और ग्रामीण मौके पर पहुंचे और आग को बुझाया। तब तक भूमिका 50 प्रतिशत से अधिक झुलस चुकी थी। ग्रामीणों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर मौके पर थाना प्रभारी अगौता इंस्पेक्टर ध्रुव भूषण दूबे पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे। अस्पताल में भूमिका जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है। वहीं, पुलिस ने आरोपी महिला को मौके से हिरासत में लेकर पूछताछ की। देर शाम तक मामले में परिजनों की ओर से कोई शिकायत नहीं दी गई है।

अभय चौटाला ने विधानसभा को भेजा इस्तीफा

राणा ओबरॉय  
चंडीगढ़। चौधरी अभय सिंह चौटाला ने विधानसभा स्पीकर को अपना इस्तीफा लिखकर भेज दिया है। आज मीडिया के सामने इस्तीफे पर हस्ताक्षर कर कृषि कानूनों को लेकर विरोध जताया है। वहीं कृषि कानूनों के विरोध में संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए भारत के मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि अगर केंद्र सरकार कृषि कानूनों को लागू करने पर रोक नहीं लगाना चाहती तो हम इन पर रोक लगाएंगे। भारत के मुख्य ​न्यायाधीश ने केंद्र सरकार से कहा कि आपने इसे ठीक से नहीं संभाला है हमें आज कोई कदम उठाना होगा।

उपद्रव: 800 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया

राणा ओबरॉय  

करनाल। कैमला गांव में हुई किसान महापंचायत में हुई तोड़फोड़ के मामले में पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए 71 प्रदर्शनकारी पर नाम से मामला दर्ज कर लिया है। कुल 800 लोगों से ज़्यादा के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। वहीं भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह के खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है। आपको बता दें कि इस महापंचायत में हरियाणा के मुख्यमंत्री को आना था पर प्रदर्शनकारी किसानों के हंगामे के बाद उन्होंने हेलीकॉप्टर लैंड नहीं करवाया था।कल जो करनाल के कैमला गांव में हुआ वो सबने बड़े करीब से देखा, ना मंच बचा, ना पोस्टर, ना कुर्सियां, ना हेलिपैड सब तहस नहस था। प्रदर्शनकारी किसानों ने कानून अपने हाथ मे लिया और मुख्यमंत्री के आने से पहले ही वो प्रदर्शनकारी किसान उस जगह पर पहुंच गए जहां सीएम मनोहर लाल ने 3 कृषि कानूनों के बारे में जनता को बताना और समझाना था। पहले हेलिपैड, फिर मंच के पास रखा पोडियम, फिर कुर्सियां, फिर गमले, फिर साउंड सिस्टम और अंत मे पोस्टर तक फाड़ दिया। कल मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी इस घटनाक्रम को लेकर भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढूनी पर हमला बोला था और कल रात रात होते पुलिस कप्तान गंगा राम पूनियां ने भी 71 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ नाम से मामले दर्ज कर दिए। जबकि कुल 800 से ज़्यादा प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

क्योंकि जब कल हंगामा हो रहा था तो बड़े आईपीएस अधिकारियों के साथ साथ प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर थे पर पुलिस उनके सामने बेबस नज़र आ रही थी। कुल 800 से ज़्यादा प्रदर्शनकारी के ऊपर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, सरकारी कर्मचारियों के साथ मारपीट करने, उन्हें धमकी देने,  साजिश रचने और उकसाने के तहत कई धाराओं में मामला दर्ज किया है। भले ही अब उन प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी हो लेकिन क्या जो कल हुआ उसे होने से रोका जा सकता था। देखना अब ये होगा कि आगे किसानों की तरफ से क्या रणनीति रहती है। फिलहाल एक जांच कमेटी बनाई गई है जो लगातार उस महापंचायत वाले स्थान पर जो जो हुआ उसके वीडियो चेक कर रही है। फिलहाल किसी भी प्रदर्शनकारी को हिरासत में नहीं लिया गया है।


दिल्ली-एनसीआर में शीत लहर का प्रकोप जारी

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप जारी है। पहाड़ों पर हुई बर्फबारी से मैदानी इलाकों में शीतलहर और कोहरे ने कहर मचा कर रखा है। सोमवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग इलाके में सात डिग्री तापमान दर्ज किया गया, वहीं पालम में न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री दर्ज किया गया। रविवार की तरह आज भी भले ही धूप खिली हुई है लेकिन तेज चल रही ठंडी हवाओं से लोग ठिठुर रहे हैं।

आईएमडी दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि 14 जनवरी को पारा एक बार फिर पांच डिग्री तक गिर सकता है। उन्होंने ये भी बताया कि आने वाले दिनों में घना कोहरा भी छा सकता है। वहीं अनुमान है कि आज के बाद से शीतलहर का प्रकोप कम होगा और ठंडी हवाएं आज के बाद से नहींं चलेंगी।

दिल्ली-एनसीआर में शीत लहर का प्रकोप जारी…दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप जारी है। पहाड़ों पर हुई बर्फबारी से मैदानी इलाकों में शीतलहर और कोहरे ने कहर मचा कर रखा है। सोमवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग इलाके में सात डिग्री तापमान दर्ज किया गया, वहीं पालम में न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री दर्ज किया गया। रविवार की तरह आज भी भले ही धूप खिली हुई है लेकिन तेज चल रही ठंडी हवाओं से लोग ठिठुर रहे हैं।

आप विधायक सोमनाथ के चेहरे पर स्याही फेंकी

संदीप मिश्र  
रायबरेली/अमेठी। रायबरेली में सोमवार को आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती पर एक युवक ने स्याही फेंक दी। अमेठी पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती रविवार की रात सिंचाई विभाग में रुके थे। सोमवार की सुबह वह क्षेत्र में जाने के लिए तैयार होकर जैसे ही बाहर निकले एक युवक ने उन पर स्याही फेंक दी। सूचना मिलते ही अमेठी पुलिस वहां पहुंची और एक मामले में विधायक को अपने साथ अमेठी ले गई।पुलिस अधीक्षक रायबरेली श्लोक कुमार ने बताया कि आप विधायक पर स्याही फेंकने की घटना हुई है। इसकी छानबीन की जा रही है। उधर अमेठी से मिली खबर के अनुसार जिले की जगदीशपुर पुलिस ने आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती को सोमवार को गिरफ्त्तार किया है।

अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक दया राम ने बताया कि सोमनाथ भारती के खिलाफ जगदीशपुर थाने में मामला दर्ज था, उसी सिलसिले में उन्हें रायबरेली से गिरफ्तार किया गया है। सोमनाथ भारती द्वारा उत्तर प्रदेश के अस्पतालों को लेकर की गयी विवादित टिप्पणी पर भाजपा कार्यकर्ता सोमनाथ शाहू ने जिले के जगदीशपुर थाने मे मामला दर्ज कराया था।

भीख मांगता "बचपन" 'विश्लेषण'

संदीप सिंह 

लगातार आर्थिक तरक्की कर रहे भारत में एक तरफ अरबपतियों की लम्बी कतार बनती जा रही है तो दूसरी ओर देश में ही एक तबका भीख मांग कर पेट भरने को मजबूर है।

लखनऊ। भिक्षावृत्ति आधुनिक होते भारत के माथे पर कलंक की तरह हैं। मंदिरों, मस्जिदों या किसी भी धार्मिक स्थल पर भिखारियों का जमवाड़ा लगा रहता है। दो जून की रोटी को तरसते देश के लाखों गरीब अस्पतालों, बस अडडों, चौराहों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर भिक्षावृत्ति को मजबूर हैं। कानूनी प्रावधानों के ज़रिये भिक्षावृत्ति पर रोक की कोशिशें अब तक असफल ही साबित हुई हैं। भिक्षावृति को कानूनन अपराध घोषित करने के बावजूद भिखारियों की तादाद कम नहीं हुई।

कुछ लोग अपने फायदे के लिए जबरन बच्‍चों से उनका बचपन छीन कर चौक-चौराहों पर भीख मंगवाते हैं। कोरोना काल में सड़कों पर भीख मांगने वाले इन बच्‍चों में इजाफा हुआ है।उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद चल रही है लेकिन शहर के कई चौराहे पर कहानी ही कुछ अलग है। पुलिस की नाक के नीचे मासूमों का बचपन छीना जा रहा है। मासूमों से भीख मंगवाई जा रही है। हलांकि भीख मांगने का अंदाज थोड़ा बदल दिया गया है। यदि आप राजधानी लखनऊ में रहते हैं तो शायद ऐसा आपके साथ भी हुआ होगा। कार से दफ्तर या बाजार जाते समय जब गाड़ी रेल लाइट पर रुकती है तो अचानक छोटे-छोटे बच्चे हाथ मे कपड़ा लिए आपकी गाड़ी साफ करने लगते हैं। हजरतगंज के हलवासिया चौराहे से लेकर कपूरथला आईटी पुराना लखनऊ के चौक दुबग्गा समेत कई इलाकों में ये तस्वीरें आम है।

दरसल में बच्चे आम नही हैं औऱ न ही गाड़ी साफ करवाने के बहाने मेहनत करके आपसे पैसे मांग रहे। इनके पीछे भीख मंगवाने वाले गिरोह काम करते हैं जो बच्चों को आगे कर देते और बाद में उनसे जुटाए गए पैसे में हिस्सा बसूलते हैं। भीख मांगने में ही नही बल्कि बच्चों के अधिकार को लेकर देश की सबसे बड़ी अदालत भी कई बार गाइडलाइंस जारी कर चुकी है लेकिन न तो पुलिस न ही प्रशासन इस ओर ध्यान देता है।बाल भिक्षावृत्ति जागरूकता अभियान के तहत शुक्रवार को महिला सहायता प्रकोष्ठ की टीम ने कस्बा गढ़ीपुख्ता पहुंचकर बाल भिखारियों के संबंध में डोर टू डोर सर्वे किया, हालांकि टीम को कस्बे में कोई भी बाल भिखारी नहीं मिला। टीम ने लोगों को जागरूक करते हुए बच्चों से भीख मंगवाने वालों की सूचना प्रशासन और पुलिस को देने की अपील की।

यूपी की योगी सरकार  ने जनपद स्‍तर पर इन बाल भिक्षुओं को चिन्हित कर एक विशेष कार्य योजना लागू की है। इस योजना के तहत बाल भिक्षुओं को शिक्षा की दिशा में प्रेरित किया जाएगा और उनके माता-पिता को रोजगार देने दिया जाएगा। राज्‍य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्‍यक्ष डॉ. विशेष गुप्‍ता ने बताया कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश में बाल भिक्षावृत्ति रोकने व बाल भिक्षुओं को सबल बनाने के लिए इस विशेष अभियान को शुरू किया है।प्रदेश में बाल भिक्षावृत्ति के संबंध में शासन को लगातार शिकायतें मिल रही थी, इसके बाद पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश, अपर पुलिस महानिदेशक, महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन ने शामली जिला प्रशासन को 26 दिसम्बर से 10 जनवरी तक बाल भिक्षावृत्ति जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए थे। शासन के निर्देशों के बाद एसपी शामली सुकीर्ति माधव ने महिला सहायता प्रकोष्ठ की टीम को जिले में डोर टू डोर सर्वे कर बाल भिक्षावृत्ति के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। शुक्रवार को महिला सहायता प्रकोष्ठ की मुख्य आरक्षी आशा, आरक्षी दीपा बालियान, प्रीति रानी, काजल व पवन कुमार की टीम ने कस्बा गढ़ीपुख्ता पहुंचकर अभियान चलाया।

क्रिकेट: 41 साल बाद ऑस्ट्रेलिया का सपना तोड़ा

हरिओम उपाध्याय   
नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी टेस्ट पांचवें और आखिरी दिन ड्रॉ हो गया। टीम इंडिया ने सिडनी टेस्ट की चौथी पारी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 131 ओवर खेले, जो टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में 80 साल बाद खेले गई सबसे लंबी चौथी पारी है। इस तरह 41 साल बाद टेस्ट क्रिकेट में ये बड़ा कारनामा हुआ है। ऑस्ट्रेलिया के 407 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को रोहित शर्मा (52) ने बेहतरीन शुरुआत दी और इसके बाद ऋषभ पंत और चेतेश्वर पुजारा ने भारत की जीत की उम्मीदें जगा दी।पुजारा और ऋषभ पंत ने मिलकर 148 रनों की पार्टनरशिप की थी, लेकिन ऋषभ पंत महज तीन रन से अपने तीसरे टेस्ट शतक से चूक गए, जबकि पुजारा 77 रन बनाकर हेजलवुड की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी ने मिलकर मैच ड्रॉ करा दिया। भारत ने दूसरी पारी में 5 विकेट पर 334 रन बनाकर मैच ड्रॉ कर लिया।

टीम इंडिया सिडनी टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक जीत दर्ज करने से चूक गई। अगर टीम इंडिया इस मैच में जीत दर्ज कर लेती तो वह अपने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में चौथी पारी में सबसे बड़े 407 रनों के लक्ष्य को हासिल करने का रिकॉर्ड बना लेती।इससे पहले 12 अप्रैल 1976 को चौथी पारी में सबसे बड़े लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करने का रिकॉर्ड भारत के नाम दर्ज हो गया था, जो 27 साल तक बरकरार रहा। भारत ने पोर्ट ऑफ स्पेन टेस्ट में 403 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 406/4 रन बनाकर इतिहास रच दिया था।

चौथी पारी में सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत

  1. वेस्टइंडीज विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया, 418/7 रन, टारगेट 418, सेंट जोन्स 2003
  2. साउथ अफ्रीका विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया, 414/4 रन, टारगेट 414, पर्थ 2008
  3. भारत विरुद्ध वेस्टइंडीज, 406/4 रन, टारगेट 403, पोर्ट ऑफ स्पेन, 1976

सिडनी में भारतीय टीम के रिकॉर्ड की बात करें तो वह अच्छा नहीं रहा है। भारत अब तक खेले गए 13 टेस्ट मैचों में से सिर्फ 1 ही मुकाबला जीत पाया है, जबकि 5 टेस्ट मैचों में कंगारुओं ने टीम इंडिया को मात दी है। इसके अलावा 7 मैच ड्रॉ पर खत्म हुए हैं।

आखिरी बार भारत ने विराट कोहली की कप्तानी में यहां 3-7 जनवरी 2019 में टेस्ट मैच ड्रॉ कराया था। टेस्ट सीरीज अभी भी 1-1 से बराबर है। ऐसे में भारत अगर ब्रिस्बेन में चौथा टेस्ट जीत लेता है, तो वह ऑस्ट्रेलिया की धरती पर दूसरी बार टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमा लेगा। आखिरी बार 2018-19 के दौरे पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज 2-1 से जीती थी।

सिडनी में टीम इंडिया का रिकॉर्ड

  1. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 12-18 दिसंबर 1947 – सिडनी – मैच ड्रॉ
  2. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 26-31 जनवरी 1968 – सिडनी – ऑस्ट्रेलिया 144 रनों से जीता
  3. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 7-12 जनवरी 1978 – सिडनी – भारत पारी और 2 रन से जीता
  4. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 2-4 जनवरी 1981 – सिडनी – ऑस्ट्रेलिया पारी और 4 रन से जीता
  5. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 2-6 जनवरी 1986 – सिडनी – मैच ड्रॉ
  6. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 2-6 जनवरी 1992 – सिडनी – मैच ड्रॉ
  7. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 2-4 जनवरी 2000 – सिडनी – ऑस्ट्रेलिया पारी और 141 रनों से जीता
  8. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 2-6 जनवरी 2004 – सिडनी – मैच ड्रॉ
  9. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 2-6 जनवरी 2008 – सिडनी – ऑस्ट्रेलिया 122 रनों से जीता
  10. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 3-6 जनवरी 2012 – सिडनी – ऑस्ट्रेलिया पारी और 68 रनों से जीता
  11. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 6-10 जनवरी 2015 – सिडनी – मैच ड्रॉ
  12. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 3-7 जनवरी 2019 – सिडनी – मैच ड्रॉ
  13. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया – 7-11 जनवरी 2021 – सिडनी – मैच ड्रॉ

कृषि, बागवानी व पशुपालन पर 221 लाख खर्च

कृषि, बागबानी, पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए (आतमा) द्वारा खर्च किये जा रहे 221 लाख: एडीसी

दीपक शर्मा 

धर्मशाला। कृषि, बागबानी व पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण(आतमा) द्वारा वर्तमान वित वर्ष में विभिन्न गतिविधियों के लिए 221 लाख रुपये खर्च किये जाएंगे, जिसमें से 188 लाख रुपये खर्च किये जा चुके हैं। यह जानकारी एडीसी राहुल कुमार ने आज सोमवार डीआरडीए के सभागार में कृषि प्रौद्योगिकी प्रबन्ध अभिकरण(आतमा) की गवर्निग बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। एडीसी ने कहा कि कृषि व सम्बद्ध विभागों के अधिकारी बेहतर तालमेल बनाकर आतमा स्कीम एवं सरकार द्वारा कृषकों के हित में चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का सुचारू रूप से क्रियान्वयन करें।इस दौरान एडीसी द्वारा ब्लॉक स्तर के 46सर्वश्रेष्ठ किसान पुरस्कारों को मंजूरी दी गई। जिसमें कृषि विभाग के 16 किसान, पशु पालन विभाग के 15 किसान तथा बागवानी विभाग के 15 किसानों के लिए 4.60 लाख रुपये की राशि अनुमोदित कि गई। इसके अतिरिक्त स्वयं सहायता समूह के 2 ग्रुपों को40 हजार रुपये की राशि अनुमादित की गई।

एडीसी ने बताया कि वर्तमान वित वर्ष में कांगड़ा जिला में 12000 किसानों को प्राकृतिक खेती के दायरे में लाया जाना था उसके एवज में 9952 किसान प्राकृतिक खेती के दायरे में लाये गये हैं। उन्होंने कहा कि किसानों का प्राकृतिक खेती की और रूझान बढ़ा है। उन्होंने बताया कि जिला कांगड़ा में वर्ष 2018 से अभी तक 24089 किसान प्राकृतिक खेती कर रहे हैं।एडीसी ने बताया कि वर्तमान वित्त वर्ष में किसानों के लिए दो दिवसीय 345 प्रशिक्षण आयोजित किये गये जिसमें 7506 किसानों को प्रशिक्षण देकर सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया गया है। उन्होंने बताया कि प्राकृतिक खेती के अन्तर्गत 736 पंचायतों में यह प्रशिक्षण दे दिया गया है। प्राकृतिक खेती को प्रोत्साहन देने के लिए 47 देसी गाय पर 25 हजार रुपये प्रति गाय अनुदान दिया गया है। गौशाला के फर्श को पक्का करने के लिए 247 किसानों को लाभान्वित किया गया है। इसके अतिरिक्त प्राकृतिक खेती के अन्तर्गत घटक बनाने के लिए 3385 प्लास्टिक ड्रम पर 75 प्रतिशत अनुदान के हिसाब से 3385 किसानों को लाभान्वित किया गया है। संसाधन भंडार बनाने के लिए 10000 अनुदान प्रति किसान के हिसाब से 89 किसानों को लाभान्वित किया गया है।
इस दौरान पशु पालन विभाग के सहायक निदेशक डॉ. संदीप मिश्रा ने कडकनाथ पोल्ट्री ब्रीड को बढ़ावा दने के लिए तथा डॉ. संजय शर्मा, इन्चार्ज कृषि विज्ञान केन्द्र कांगड़ा द्वारा खडरपतवार को नियन्त्रण करने के लिए ब्रीफ प्रेजेंटेशन दी गई। इस अवसर पर बैठक में मौजूद अधिकारियों ने अपने बहुमूल्य सुझाव दिये।
निदेशक आतमा डॉ.डीके अवस्थी ने बैठक का संचालन किया तथा विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की विस्तृत जानकारी  दी।
इस अवसर पर उप परियोजना निदेशक आतमा डॉ.अमित शर्मा, डॉ.अरूण ब्यास, जिला कृषि अधिकारी डॉ. कुलदीप धीमान, नाबार्ड डॉ. अरूण खन्ना, डां.संदीप कुमार, डॉ. सरिता शर्मा, डॉ.अजय सिंह, डॉ.चंदन,  डॉ. अनिल शर्मा, रोहित संग्राय  सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में जुड़ने का आह्वान किया

मोदी ने स्टार्टअप इंडिया अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में जुड़ने का किया आह्वान
अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आगामी 15-16 जनवरी को होने वाले स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन प्रारंभ से जुड़ने के लिए देश भर के युवाओं का आह्वान किया और कहा कि इस कार्यक्रम में उद्योग, निवेश, बैंकिग और वित्त जगत के श्रेष्ठ लोगों के अलावा स्टार्टअप से जुड़े युवा उद्यमी भी शामिल होंगे।
प्रधानमंत्री ने सोमवार को एक लिंक्डेन पोस्ट भी साझा किया जिसमें उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि कैसे कोविड-19 महामारी के संक्रमण काल में डिजीटल संवाद एक नया आयाम बनकर उभरा है। उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा लाभ है। कि लोग घरों में बैठे हुए भी कार्यक्रमों का हिस्सा बन सकते हैं।
उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अधिकांश कार्यक्रम इन दिनों डिजीटल माध्यम से हो रहे हैं। जिससे युवाओं को विदेशी और घरेलू कार्यक्रमों में जुड़ने का मौका मिल रहा है। ऐसा ही एक मौका प्रारंभ’ के रूप में 15-16 जनवरी को आ रहा है। मैं देश के युवाओं से इससे जुड़ने का आग्रह करता हूं।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में लोगों ने अधिकांश समय घरों में बिताया और इसके चलते उन्हें अपने काम करने के तरीके में भी बदलाव लाना पड़ा। लोगों को घरों से काम करना पड़ रहा है। लिहाजा प्रौद्योगिकी को आदतों में शुमार करना ही बेहतर है। उन्होंने कहा कि डिजीटल माध्यम का उपयोग करके उन्होंने विश्व के नेताओं के साथ द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकें भी की।
उन्होंने कहा कि मुझे अधिकांश कार्यक्रम डिजीटल माध्यम से करने पड़े जो बहुत उपयोगी साबित हुए। इन कार्यक्रमों के जरिए वैज्ञानिकों, चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े पेशेवरों, कोरोना योद्धाओं, शिक्षाविदों, उद्योग जगत के नेताओं, युवा अन्वेषकों और आध्यात्मिक नेताओं से संवाद हुआ।
उन्होंने कहा कि इसी माध्यम से उन्होंने मील का पत्थर साबित होने वाली विकास की कई योजनाओं का उद्घाटन ओर शिलान्यास भी किया। यहां तक कि सरकारी योजनाओं के लाखों लाभार्थियों से भी मैंने संवाद किया। सम्मेलन का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि यह आयोजन भारत में स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत के पांच साल होने का गवाह भी बनेगा।
उन्होंने कहा कि इस शुरुआत से भारत में विश्व का सबसे आकर्षक स्टार्टअप ‘इको सिस्टम’ भी तैयार हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत के युवाओं के जज्बे को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। नवाचार के प्रति उनकी लगन ने उत्कृष्ट परिणाम दिए हैं। यह अच्छा संकेत है। कि हमारे स्टार्टअप से जुड़े युवा न सिर्फ बड़े बल्कि छोटे-छोटे शहरों से सामने आ रहे हैं।

विंटर: हिमाचल सैलानियों का पसंदीदा स्थल बना

श्रीराम मौर्य  

शिमला। हिमाचल विंटर सीजन के दौरान सैलानियों के भ्रमण का पसंदीदा स्थल बनता जा रहा है। राज्य में संडे को बाजार खोलने के निर्णय, चार जिलों में नाइट कर्फ्यू खत्म करने सहित बाहरी राज्यों के लिए वोल्वों बस सेवा आरंभ करने के बाद पर्यटकों की आमद में इजाफा रिकॉर्ड किया गया है। 

राज्य सरकार के इस निर्णय के बाद प्रदेश में सैलानियों की आमद में 25 से 30 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। प्रदेश के पर्यटक स्थलों पर क्रिसमस व नववर्ष के दौरान काफी संख्या में सैलानी पहुंचे थे। वीकेंड पर भी सैरगाहों में काफी तादाद में सैलानी यहां पहुंच रहे थे, लेकिन शिमला, कुल्लू, मंडी व कांगड़ा में नाइट कर्फ्यू और वोल्वों बस सेवा बंद होने से वीकेंड को छोड़कर सप्ताह के शेष दिनों के दौरान कम ही संख्या में सैलानी पहुंच रहे थे, मगर अब नाइट कर्फ्यू खत्मा होने और वोल्वों बस सेवा बहाल करने के बाद सैलानियों की आमद में बढ़ोतरी आई है। होटल एवं रेस्तरां एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सूद ने कहा कि इन निर्णयों के बाद सैलानियों की आमद में बढ़ोतरी हुई है।

सैलानियों की आमद में 25 से 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। शिमला, धर्मशाला, डलहौजी, मनाली और कुल्लू में काफी तादाद में सैलानी पहुंच रहे हैं। ऐसे में प्रदेश के पर्यटक स्थल पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन गए हैं।वीकेंड पर प्रदेश के अधिकतर पर्यटक स्थलों पर होटल सैलानियों से जैम पैक रहे। प्रदेश में शुक्रवार व शनिवार को होटलों में 60 से 80 प्रतिशत तक ऑक्यूपेंसी दर्ज की गई है, जबकि रविवार को भी प्रदेश के होटलों में ऑक्यूपेंसी दर 50 से 60 फीसदी रिकॉर्ड की गई है। अब पर्यटन कारोबारी मौसम में करवट आने के इंतजार में हैं।

भारत में पहली बार मिला अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन

मुसीबत बढ़ी: भारत में पहली बार मिला अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन

मुंबई। देश में कोरोना वायरस ने खुद को भयानक तौर पर बदल लिया है। यानी वह म्यूटेट कर गया है। इस म्यूटेशन की वजह से अब उस पर तीन तरह की एंटीबॉडीज का कोई असर नहीं है। इसे खोजा है। मुंबई के एक डॉक्टर और उनकी टीम ने। कोरोना ने जो म्यूटेशन किया है। उसका सीधा संबंध दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन से है। यानी ये कोरोना के खिलाफ आपके शरीर में बन रही एंटीबॉडीज का असर इस नए कोरोना वायरस पर कम होगा। मुंबई के खारघर स्थित टाटा मेमोरियल सेंटर में रिसर्चर्स को मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन (मुंबई शहर से बाहर) के तीन कोरोना मरीज मिले, जिनमें दक्षिण अफ्रीका के कोरोना म्यूटेशन की तरह ही म्यूटेशन हुआ है। यहां तक मुबंई में हुए म्यूटेशन की वंशावली यानी जीनोम का स्ट्रक्चर दक्षिण अफ्रीका वाले म्यूटेशन में मिलता है।
अखिलेश यादव ने सोमवार को ट्वीट किया भाजपा सरकार किसानों के प्रति असंवेदनशील होकर जिस प्रकार उपेक्षापूर्ण रवैया अपना रही है। वह अन्नदाता का सीधे-सीधे अपमान है। घोर निंदनीय यादव ने आगे कहा अब तो देश की जनता भी किसानों के साथ खड़ी होकर पूछ रही है। दुनिया में उठता हुआ धुआं दिखता है। जिन्हें घर की आग का मंज़र, क्यों न दिखता उन्हें’।
अखिलेश यादव ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का जिक्र करते हुए कहा सपा के समय में पूर्वांचल की खुशहाली के लिए समाजवादी एक्सप्रेस-वे का काम शुरू हुआ था। जिसे भाजपा सरकार न बना सकी। अब सपा की सरकार आयेगी और हवाई जहाज उतारकर इसका उद्घाटन करेगी। उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश की जनता त्रस्त है। भाजपा सरकार के ऐसे विकास से, नाम है। एक्सप्रेस-वे, पर बना रही है। बैलगाड़ी की चाल से...

सोना फिर हुआ सस्ता,खरीदने का बेहतर मौका

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। मोदी सरकार एक बार फिर आज से सस्ता सोना बेच रही है। अगर आप सोने में निवेश करना चाहते हैं। 11 जनवरी से 15 जनवरी तक आपके पास बेहतरीन मौका है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (स्वर्ण बांड) के लिए सोने की कीमत 5,104 रुपये प्रति ग्राम तय की गई है। भारतीय रिजर्व बैंक ने यह जानकारी दी है। बता दें यह गोल्ड आपको फिजिकल रूप में नहीं मिलेगा। सॉवरेन स्वर्ण बॉन्ड स्कीम 2020-21-एक्स श्रृंखला खरीद के लिए 11 जनवरी से 15 जनवरी, 2021 तक खुलेगा। रिजर्व बैंक ने कहा बॉन्ड का मूल्य 5,104 रुपये प्रति ग्राम के स्तर पर बैठता है। बॉन्ड का मूल्य, खरीद अवधि ((6-8 जनवरी, 2021) के पहले के तीन कारोबारी दिवसों में 999 प्रतिशत शुद्धता वाले सरल औसत बंद मूल्य (जो भारतीय सर्राफा एवं आभूषण संघ द्वारा प्रकाशित किया जाता है) पर आधारित है। केंद्रीय बैंक ने आगे कहा, सरकार ने आरबीआई के परामर्श से, ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों को इस मूल्य पर 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट देने का फैसला किया है। इसमें आवेदनों के लिए भुगतान डिजिटल मोड के माध्यम से किया जाना है। केंद्रीय बैंक ने कहा ऐसे निवेशकों के लिए स्वर्ण बॉन्ड की कीमत 5,054 रुपये प्रति ग्राम होगी।

नागपुर: चिकन देने से इनकार, ढाबे में लगाईं आग

चिकन देने से किया मना तो ढाबे में लगा दी आग..

नागपुर। महाराष्ट्र के नागपुर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां देर रात नशे में धुत कुछ लोगों ने ढाबे को आग के हवाले कर दिया। ढाबे वाले शख्स की गलती सिर्फ इतनी थी, उसने नशे में धुत लोगों को चिकन देने से मना कर दिया था। क्योंकि ढाबे में चिकन खत्म हो चुका था। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल, ये पूरा मामला नागपुर के बेलतरोडी इलाके का है। जहां रविवार देर रात सड़क किनारे एक ढाबे पर 29 वर्षीय शंकर तायडे और 19 वर्षीय सागर पटेल खाना खाने पहुंचे थे। दोनों ने ढाबा मालिक से चिकन का ऑर्डर किया, लेकिन रात के 1 बज रहे थे। और ढाबे में चिकन खत्म हो गया था, जिसके चलते मालिक ने दोनों से चिकन ना मिल पाने की बात कही। आरोप है। कि ढाबा मालिक से चिकन खत्म की बात सुनते ही शंकर और सागर भड़क उठे और दोनों ने ढाबे में आग लगा दी। हालांकि, इस हादसे में कोई हताहत तो नहीं हुआ लेकिन ढाबे को खासा नुकसान हुआ है। फिलहाल, इस घटना के बाद ढाबा मालिक की शिकायत पर पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें थाने ले जाया गया है। जहां उनसे पूछताछ की जा रही है।

ऊना में सर्वाधिक व मंडी में सबसे कम मतदान

ऊना जिला में सबसे ज्यादा 73.40, मंडी में सबसे कम 55.80 फीसदी मतदान

श्रीराम मौर्य 

शिमला। हिमाचल प्रदेश के शहरी चुनावों में रविवार को 70 फीसदी मतदान हुआ। शहरों में रहने वाले लोगों ने कोरोना काल के बावजूद मतदान के प्रति खूब रूझान दिखाया। हालांकि इसमें अनुकूल मौसम का भी खास योगदान रहा। शांतिपूर्ण तरीके से प्रदेश के शहरी निकायों में मतदान का क्रम पूरा हुआ, जिसमें कोरोना संक्रमित लोगों ने भी मताधिकार का प्रयोग किया।

सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक चली वोटिंग के बीच 70 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। कुल तीन लाख 10 हजार 730 मतदाता शहरी क्षेत्रों में दर्ज किए गए थे, जिनमें से दो लाख 35 हजार 85 लोगों ने मतदान किया है। ऊना जिला में सबसे ज्यादा 73.40 फीसदी मतदान हुआ, जबकि मंडी जिला में सबसे कम 55.80 फीसदी मतदान हुआ। इसके अलावा बिलासपुर जिला में 70.20 फीसदी, चंबा जिला में 69.60 फीसदी, हमीरपुर जिला में 69.80 फीसदी, कांगड़ा जिला में 69.50 फीसदी,  कुल्लू जिला में 64.40 फीसदी, मंडी जिला में 55.80 फीसदी। 

शिमला जिला में 62.40 प्रतिशत, सिरमौर जिला में 67.40 फीसदी तथा सोलन जिला में 56.60 फीसदी फीसदी मतदान रिकार्ड किया गया। प्रदेश की 50 कमेटियों में कुल 401 वार्डों पर वोट पड़े। सभी जगहों पर शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव होने की सूचना है। कांगड़ा जिला के जवाली में बिजली गुल हो जाने से मोमबत्ती की रोशनी में मतदान हुआ, वहीं कई जगहों पर थर्मल स्कैनिंग मशीनें सही तरह से काम नहीं कर पाईं। कोरोना काल में यह चुनाव चुनौतीपूर्ण था। तय समय पर चुनाव से जुड़ी सभी सूचनाएं प्राप्त नहीं हो पा रही थीं। 

वहीं, दोपहर में  ऐप में भी कुछ डिस्टर्बेंस बताई जा रही थी। चुनावी नतीजों को लेकर लोगों का कौतुहल बरकरार रहा, क्योंकि चुनाव के नतीजे आने में देरी हुई। चुनावी नतीजे शाम छह बजे के बाद सामने आने लगे। सरकार ने कोविड के चलते जीत का जश्न मनाने से इनकार किया था, मगर ऐसा नहीं हो सका और नतीजे आने के बाद ढोल- धमाके होने शुरू हो गए। समर्थकों ने खूब नाच गाना किया, जिससे कहीं पर नियम भी टूटते दिखे। हालांकि पुलिस का पुख्ता प्रबंध पूरे प्रदेश में दिखाई दिया।

जासूसी के लिए कई तरीके अपना रही 'आईएसआई'

आई एस आई की लड़कियां न्यूड होकर करतीं थीं बात, हनी ट्रैप में फंसा पूर्व सरपंच


जयपुर। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आई एस आई सीमावर्ती इलाकों में जासूसी के लिए कई तरीके अपना रही है। राजस्थान के जैसलमेर में पोखरण रेंज से गिरफ्तार एक शख्स ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं। इस शख्स का कहना है। कि आई एस आई की ओर से लड़कियां उससे न्यूड होकर फोन पर बात करती थी। इस शख्स ने कहा है। कि लड़कियों से बात करने और तस्वीरें देखने के चक्कर में वो ऐसा फंसा कि सेना की गोपनीय जानकारी उनतक भेजने लगा।
सुरक्षा एजेंसियों ने इस मामले में राजस्थान के जैसलमेर के पोखरण फायरिंग रेंज के पास लाठी गांव से एक पूर्व सरपंच को गिरफ्तार किया है। आई एस आई की हनी ट्रैपिंग में फंसे इस व्यक्ति का नाम सत्यनारायण पालीवाल है। ये व्यक्ति इस इलाके का सरपंच रह चुका है।
अब तक की जांच के अनुसार सत्यनारायण पालीवाल ने सेना की गतिविधियां समेत कई सामरिक सूचनाएं आई एस आई को पहुंचाई है। आरोपी ने आई एस आई की लड़कियों से बात करने के लिए सोशल मीडिया पर नकली अकाउंट बना रखा था। इस अकाउंट से वह सूचनाएं आईं एस आई को भेज रहा था।
सुरक्षा एजेंसियों ने इस मामले में राजस्थान के जैसलमेर के पोखरण फायरिंग रेंज के पास लाठी गांव से एक पूर्व सरपंच को गिरफ्तार किया है। आई एस आई की हनी ट्रैपिंग में फंसे इस व्यक्ति का नाम सत्यनारायण पालीवाल है। ये व्यक्ति इस इलाके का सरपंच रह चुका है।
अब तक की जांच के अनुसार सत्यनारायण पालीवाल ने सेना की गतिविधियां समेत कई सामरिक सूचनाएं आई एस आई को पहुंचाई है। आरोपी ने आई एस आई की लड़कियों से बात करने के लिए सोशल मीडिया पर नकली अकाउंट बना रखा था। इस अकाउंट से वह सूचनाएं आई एस आई को भेज रहा था।

पंचायत: उम्मीदवारों के लिए तय हुए चुनाव-चिन्ह

उम्मीदवारों के लिये तय हुए चुनाव चिन्ह, जानिए कौन - कौन से चुनाव चिन्ह
बृजेश केसरवानी 
लखनऊ। पांच वर्ष के बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का समय आ गया है। अब बारी है। प्रधान कौन बनेंगे। उसी का सूरज खुशियों के साथ उगेगा और वोटर भी तोप से वोट के गोला दागेंगे तथा प्रधानजी भी जीतने के बाद प्लेन से उड़ान भगेंगे। इसके लिये बैलेट पेपर भी आ गये हैं। जिन पर मतदान के लिये तरह-तरह के चुनाव चिह्न भी जारी किये गये हैं। जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को तैयारियां रफ्तार से चल रही हैं। मतदान की प्रक्रिया को अधिसूचना का इंतजार है। इस बार मतदान के दौरान ग्राम प्रधान के पद पर 45 लोग चुनाव लड़ने का एक गांव से प्रवाधान होगा। प्रधानी के चुनाव में 45 लोग दावेदार हो सकेंगे। इनके लिये अलग-अलग चुनाव चिह्न का मतपत्र होगा। बता दें कि इस बार चुनाव के लिये मतपत्र पर तोप से लेकर हवाई जाहज (प्लेन) तक का चिह्न भी रहेगा। इसके अलावा उगता सूरज, हल जोतता किसान, इमली, अनार, पुस्तक जैसे चिह्न रहेंगे। जिनके माध्यम से प्रधानों की पांच वर्ष के लिये किस्मत लिखी जायेगी। दहगवां के नगर पंचायत बनने के बाद जिले में 1,037 ग्राम पंचायतों पर चुनाव कराया जायेगा। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने वाला है। इसके लिये तीन प्रकार के अलग-अलग मतपत्र मिलेंगे। जिसमें ग्राम प्रधान पद के लिये अलग, वार्ड सदस्य के लिये अलग, जिला पंचायत सदस्य पद के लिये अलग मतपत्र मिलेगा। तीनों मतपत्रों के अलग-अलग रंग होंगे, जिन पर मतदान करके मतपेटिका में मतपत्र डाला जायेगा।
डॉ. पीएस पटेल, सहायक चुनाव अधिकारी बताते हैं। कि निर्वाचन आयोग से मतपत्र आ गये हैं। चुनाव चिह्न प्रकाशित हैं। चुनाव में काफी ज्यादा संख्या में चुनाव चिह्न हैं। और अलग-अलग पद के लिये मतपत्र आये हैं। प्लेन और हल जोतता किसान जैसे कई चिह्न पुराने भी हैं। बाकी कुछ नये चिह्न आये हैं। प्रशासन निर्वाचन की तैयारियां जोरशोर से कर रहा है।

यूपी: फंदे पर लटका मिला महिला सिपाही का शव

फंदे पर लटका मिला महिला सिपाही का शव, पीआरवी 112 में थी तैनात

लखनऊ। मोहनलालगंज कोतवाली की पीआरवी (पुलिस रिपोर्टिंग व्हीकल) में तैनात महिला सिपाही उर्मिला वर्मा (24) ने रविवार रात फांसी लगा ली। वह कस्बे के मऊ इलाके में एक हॉस्टल में रहती थीं। हॉस्टल के कमरे में ही पंखे से दुपट्टे के सहारे फंदे पर शव लटका मिला। सूचना पर पहुंचे पुलिस अधिकारी उर्मिला के आत्महत्या के कारणों की पड़ताल कर रहे हैं।
इंस्पेक्टर मोहनलालगंज ने बताया कि उर्मिला मूल रूप से अयोध्या जिले की रहने वाली थीं। रात 10 बजे से उनकी ड्यूटी थी। वह ड्यूटी पर भी नहीं पहुंची थीं। इस बीच उनका कोई परिचित हॉस्टल पहुंचा। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद होने पर काफी देर तक खटखटाता रहा। कोई उत्तर न मिलने पर उसने पड़ोस में रह रहीं एक महिला दारोगा को बताया। महिला दारोगा ने कमरे के दूसरे दरवाजे से अंदर देखा तो कमरे में पंखे से दुपट्टे के सहारे उर्मिला का शव लटका देख सन्न रह गईं।
उन्होंने घटना की जानकारी थाने पर दी। इसके बाद एसीपी प्रवीण मलिक, डीसीपी साउथ रवि कुमार मौके पहुंचे। फंदे से शव को उतारा गया। उर्मिला के परिवारीजनों को घटना की जानकारी दी। इंस्पेक्टर ने बताया कि मौके से कोई सोसाइडनोट नहीं मिला है। उर्मिला के आत्महत्या करने के कारणों की जानकारी नहीं हो सकी है। मौके से उनका मोबाइल भी नहीं मिला है। मोबाइल की खोजबीन की जा रही है। इसके अलावा कई अन्य बिंदुओं पर पड़ताल की जा रही है। उर्मिला के परिवारीजन के आने पर ही कुछ जानकारी हो सकेगी।
देर रात तक झाड़ियों में हुई मोबाइल की खोजबीन
घटना के बाद से उर्मिला का मोबाइल पुलिस को मौके से नहीं बरामद हुआ। पुलिस का दावा है कि उर्मिला के मोबाइल से उसकी मौत के रहस्य से पर्दा उठेगा। इस कारण देर रात तक पुलिस उर्मिला के कमरे समेत घर के आस पास और कुछ दूर स्थित झाड़ियों तक में पुलिस की टीम मोबाइल की खोजबीन करती रही। पर देर रात तक मोबाइल नहीं मिल सका।
देर शाम साथी सिपाहियों के साथ खेलती रही बैडमिंटन
पुलिस ने बताया कि उर्मिला के अलावा हॉस्टल में थाने की अन्य दारोगा और महिला पुलिस कर्मी रहती हैं। सबके कमरे अलग-अलग हैं। देर शाम उर्मिला उनके साथ बैडमिंटन भी खेल रही थी। काफी देर तक बैडमिंटन खेलती रही। उसके बाद वह अपने कमरे में चली गई थी। फिर नहीं निकली।

सरकार लगाएगी रोक या हम लगाएं: एससी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार और किसानों के बीच किसान आंदोलन के समाधान को लेकर अब तक हुई बातचीत में प्रगति न होने पर सोमवार को चिंता जताते हुए केंद्र से पूछा कि क्यों न तीनों कानूनों पर रोक लगा दी जाये? मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रमासुब्रमण्यम की खंडपीठ ने सुनवाई के दौरान तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि क्यों न तीनों कानूनों पर उस वक्त तक रोक लगा दी जाये। जब तक न्यायालय द्वारा गठित समिति इस मामले पर विचार न कर ले और अपनी रिपोर्ट न सौंप दे।

रेहड़ी-पटरी वालों ने कलेक्ट्रेट में किया प्रदर्शन

मुजफ्फरनगर। पैंठ ना लगने से बच्चों के लालन पालन के लिए परेशान दुकानदारों ने पैंठ लगवाये जाने की मांग करते हुए कलेक्ट्रेट में जोरदार प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया।सोमवार को पैंठ आदि में साग-सब्जी आदि की दुकानें लगाकर रोजी-रोटी कमाने वाले दुकानदारों ने धरना प्रदर्शन करते हुए प्रशासन से शाहबुददीन रोड पर लगने वाली पैंठ आरंभ कराये जाने की मांग की। प्रदर्शनकारी दुकानदारोें द्वारा डीएम कार्यालय पर धरना प्रदर्शन करते हुए सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह को दिये गये ज्ञापन में बताया गया है कि शाहबुददीन रोड पर पिछले काफी समय से पैंठ बाजार लगता आ रहा है।

मुंबई: एक्ट्रेस प्रियंका ने फिल्म की शूटिंग पूरी की

मुंबई। पिछले महीने प्रियंका चोपड़ा ने बताया था कि कोरोना वायरस संबंधी महामारी के बीच होने वाली शूटिंग में रोजाना उनकी और फिल्म निर्माण टीम की कोविड-19 जांच होती है और भौतिक दूरी का अनुपालन किया जाता है। अभिनेता प्रियंका चोपड़ा ने लंदन में अपनी आगामी हॉलीवुड फिल्म 'टेक्स्ट फॉर यू' की शूटिंग पूरी कर ली है। जिम स्ट्रॉस निर्देशित यह रोमांटिक फिल्म वर्ष 2016 में जर्मन में आई सुपरहिट फिल्म 'एसएमएस फर डिच' से प्रभावित है जो सोफी क्रामर की इसी नाम से आए उपन्यास पर आधारित थी। प्रियंका चोपड़ा (38) ने इंस्टाग्राम पर अपनी तस्वीर साझा करते हुए शूटिंग के समाप्त होने की जानकारी दी। इस तस्वीर में वह फिल्म की पटकथा की प्रति लिए हुए दिख रही हैं। उन्होंने लिखा, ''समापन हो गया। पूरी टीम को बधाई और धन्यवाद। आपको फिल्म में देखेंगे।''

नंबर लिंक कराएं बिना कोरोना का टीका नहीं लगेगा

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने अब लगभग यह साफ कर दिया है कि बिना आधार को अपने मोबाइल नम्बर लिंक कराए बगैर आपको कोरोना का टीका नही लगेगा। जबकि पहले यह कहा गया था कि आप अपने अन्य फोटो पहचान पत्र के सहारे आप टीका लगवा सकते हैं  .......फर्जी पहचान या नाम के जरिये किसी भी तरह की फर्जीवाड़ा टीकाकरण में न होने पाए, इस बात का बहाना बनाकर सरकार उन सभी लोगों से मोबाइल नंबर आधार से लिंक करने को कह रही है, जिन्हें निकट भविष्य में टीका लगना है। आज ही आधार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में फैसला आ सकता है। दरअसल केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी आधार योजना की संवैधानिक वैधता को बरकरार रखने के अपने आदेश के खिलाफ दायर पुनर्विचार याचिकाओं की सुनवाई हुई है और आज फैसला आ सकता है.....कोर्ट ने अपने आदेश में योजना के कुछ प्रावधानों को खत्म करने की बात कही थी।जिसमें बैंक खातों, मोबाइल नंबरों और स्कूल में दाखिले की जानकारी आधार से जोड़ने का प्रावधान शामिल है। टीकाकरण को भी आधार से जोड़ा जा रहा है केंद्र ने राज्यों से एक भी प्रॉक्सी  (एक व्यक्ति की जगह दूसरे वैक्सीन का वैक्सीन लगवाना) न होने देने और इसके लिए आधार कार्ड का इस्तेमाल करने को कह रहा है। राज्य सरकार के अधिकारियों को किसे, कब और कौन सी वैक्सीन लगी, इन सभी बातों का डिटिजल रिकॉर्ड रखने को कहा गया है। दरअसल आधार जैसी आधिकारिक पहचान, संवेदनशील व्यक्तिगत डेटा का ही एक स्वरूप है और सरकार ऐसे डेटा को तब तक एकत्र नहीं कर सकती जब तक कि ऐसा करने के लिए कानून द्वारा मान्यता प्राप्त एक स्पष्ट और विशिष्ट उद्देश्य न हो ,लेकिन मोदी सरकार को इस बात की अब कोई परवाह नही है और वह जमकर मनमानी कर रही है। हम सब यह अच्छी तरह से समझ चुके हैं कि इस तरह के डेटा संग्रह और ओर टीके को आधार से जोड़ देना आपके मोबाइल नंबर से जोड़ देने का वास्तविक लाभ वे ही कम्पनिया उठाएगी जो यह बिग डेटा कलेक्ट कर रही है।भारत मे वे लोग जो आधार की परियोजना की शुरूआत करने वाले थे वे ही लोग आज आधार को टीकाकरण से जोड़ने की हिमायत कर रहे हैं। 19 अक्टूबर को प्रकाशित इंडियन एक्सप्रेस के साथ एक साक्षात्कार में इंफोसिस के नंदन नीलेकणी ने कोविड-19 टीकाकरण प्रक्रिया के साथ आधार को जोड़ने के लिए एक विस्तृत प्रस्ताव रखा, जहां सभी लाभार्थियों को आधार और डेटा सहित प्रमाणित किया जाएगा। जहां “व्यक्ति का नाम, वैक्सीन लगाने वाले का नाम, किस टीके का उपयोग किया गया, किस समय, तारीख, स्थान को रिकॉर्ड किया जाएगा” और इन जानकारियों को क्लाउड पर अपलोड किया जाएगा। उन्होंने कहा कि “यह केवल इसलिए जरूरी नहीं है कि मुझे टीका लग गया है बल्कि यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि आप जानते हैं कि मुझे टीका लगा है। नीलेकणी ने यह भी प्रस्ताव दिया कि टीकाकरण के प्रमाण के रूप में एक डिजिटल प्रमाण पत्र लाभार्थियों को भेजा जाए। जिसे “नौकरी के साक्षात्कार, हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आदि“ पर मांगा जा सकता है। शायद आप अब समझ पाए  कि यह कितनी खतरनाक चीज है।

किसान आंदोलन के साथ 1 और आंदोलन शुरू

टीकाकरण: आधार से मोबाइल लिंक होना अनिवार्य

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। भारत में 16 जनवरी से कोरोना का टीकाकरण शुरू हो रहा है। इस संबंध में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निर्देश दे दिया गया है। टीकाकरण के लिए सरकार ने को-वि (Co-win) ऐप और प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। इसी प्लेटफॉर्म के जरिए टीकाकरण होगा और इसी पर टीकाकरण से संबंधित सभी तरह की जानकारी डाली जाएगी। हालांकि, को-विन ऐप को अभी प्ले-स्टोर पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध नहीं कराया गया है। टीकाकरण के लिए पूरी तैयार कर ली गई है और सबसे जरूरी बात कि इसके लिए आधार नंबर से मोबाइल नंबर लिंक करवाना अनिवार्य होगा।

यदि आप कोरोना का टीका लगवाना चाहते हैं तो आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक होना चाहिए। हालांकि अभी इस बारे में पूरी जानकारी नहीं दी गई है कि लोगों को खुद अपना मोबाइल नंबर आधार से लिंक करवाना होगा या सरकार कैंप लगवाकर यह काम करेगी। नोटिफिकेशन में केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से कहा है कि वे लोगों के आधार नंबर को मोबाइल नंबर से लिंक करें ताकि टीकाकरण के लिए एसएमएस भेजने में सुविधा हो।बता दें कि आप खुद से मोबाइल नंबर को आधार से लिंक नहीं कर सकते। इसके लिए आप अपने आधार कार्ड को लेकर अपने मोबाइल नंबर प्रोवाइडर कंपनी के नजदीकी स्टोर पर जाएं और आधार को मोबाइल नंबर से लिंक करने को कहें, हालांकि यह काम सभी स्टोर पर नहीं हो सकेगा। आधार को मोबाइल से लिंक करने का काम उसी स्टोर से हो सकेगा जो प्वाइंट ऑफ सेल (POS) ऑथराइज्ड हैं। साल 2018 में लाखों लोगों ने सरकार के आदेश के बाद अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराया था। यदि आपका मोबाइल नंबर पहले वाला ही है तो अब आपको अपने नंबर को आधार से लिंक कराने की जरूरत नहीं है। आप में से कई लोग ऐसे होंगे जिन्होंने पहले आधार को मोबाइल नंबर से लिंक भी करा लिया होगा।

आपका नंबर लिंक है या नहीं ऐसे जानें – अगर आपको जानना है कि आपका नंबर वाकई में आधार से लिंक हुआ है या नहीं तो इसके लिए आप आधार की वेबसाइट वेरिफाई मोबाइल नंबर में जाकर चेक कर सकते हैं कि आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक हुआ है या नहीं। इसके लिए इन स्टेप को फॉलो करें My Aadhaar> Aadhaar Services >Verify Email/Mobile Number. इस तरह आप मोबाइल नंबर की लिंकिंग चेक कर सकते हैं।

आंदोलन में शामिल 1 और किसान की मौत

बहादुरगढ़। कृषि कानूनों को लेकर चल रहा किसान आंदोलन लगातार किसानों की मौत की वजह बन रहा है। बताना लाजमी है कि लगातार किसानों की हो रही मौत का अकड़ा अब 56 तक पहुंच गया है। धीरे -धीरे ये आकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। एक तरफ किसान अपनी मांगो को पूरी करवाने और कानून को वापस लेने की मांग कर रहे है तो वहीं दूसरी तरफ सरकार भी पीछे हटने को तैयार नहीं है। बतादें कि कृषि कानूनों को रद करवाने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन में टीकरी बॉर्डर पर सोमवार यानि आज एक और मौत हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार, तबीयत बिगड़ने पर जगदीश को घर लाया गया था। परिजनों ने इलाज के लिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां इलाज के दौरान किसान ने दम तोड़ दिया। बता दें कि किसान आंदोलन में शामिल अब तक 56 किसानों की मौत हो चुकी है। वहीं अकेले टिकरी बॉर्डर पर 15 किसानों जान गई है। गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन में मौतों की सिलसिला नहीं रुक रहा है। एक और किसान की मौत होने की बात सामने आ रही है। हरियाणा के बहादुरगढ़ जिले में टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन में शामिल किसान की हार्ट अटैक से मौत हो गई है। मृतक की पहचान 60 वर्षीय जगदीश के रुप में हुई है। वह पंजाब के मुक्तसर साहिब के लुडेवाला गांव का रहने वाला था। वह बहादुरगढ बाइपास पर गांव वालों के साथ ट्रॉली में रह रहा था।

धन्यवाद यात्रा, हार का फैक्टर समझने की कोशिश

अविनाश श्रीवास्तव  
 पटना। धन्यवाद यात्रा पर निकलने से पहले भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवारों की हार का फैक्टर समझने की कोशिश कर रहे हैं। तेजस्वी यादव ने आज अपनी पार्टी के तमाम प्रदेश उपाध्यक्षों की बैठक बुलाई है। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर तेजस्वी यादव ने प्रदेश अध्यक्षों के साथ बैठक कर रहे हैं इस बैठक में इस बात को लेकर कई मजबूत जनाधार वाली सीटों पर पार्टी के उम्मीदवारों को क्यों मुंह की खानी पड़ी। आज की बैठक के बाद तेजस्वी यादव अगले कुछ दिनों में पार्टी के अन्य नेताओं के साथ भी चर्चा करने वाले हैं। तेजस्वी यादव ने चुनाव के दौरान भितरघात जैसे कारणों की रिपोर्ट लेने के लिए नेताओं की कमेटी भी बनाई है। यह कमेटी भी अपनी रिपोर्ट तेजस्वी यादव के सामने देगी। दरअसल तेजस्वी यादव इस पूरी कवायद के जरिए अपनी यात्रा का कार्यक्रम तय करना चाहते हैं। तेजस्वी यादव का मकसद है कि वह उन इलाकों से अपनी यात्रा की शुरुआत करें जहां आरजेडी पिछले चुनाव में कमजोर साबित हुई है। 
आज की बैठक में तेजस्वी यादव के साथ वृषण पटेल, उदय नारायण चौधरी, भूदेव चौधरी, सुरेश पासवान समेत कई नेता मौजूद है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की इस बैठक में शामिल होने के लिए पार्टी के 23 उपाध्यक्ष को आमंत्रित किया गया है, जिनमें कई नेता 10 सर्कुलर आवास पहुंच चुके हैं।

मेरठ: फंदे पर लटकी मिलीं रेप पीड़िता की लाश

मेरठ। दुष्कर्म पीडि़ता का शव रविवार सुबह फंदे से लटका मिला। दो माह से वह नौचंदी क्षेत्र में किराये पर रह रही थी। मकान मालिक और स्वजन ने कमरे का दरवाजा तोड़कर शव को उतारा। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पीड़िता का तीन साल पहले तलाक भी हो गया था। सिविल लाइन थाना क्षेत्र निवासी युवती ने करीब आठ साल पहले मोदीनगर निवासी युवक से प्रेम विवाह किया था। विवाद के चलते तीन साल पहले तलाक हो गया था। मकान मालकिन बिजली का बिल लेने के लिए तीसरी मंजिल पर गई थी, लेकिन महिला ने कमरा नहीं खोला। कुछ देर बाद महिला की बहन भी पहुंच गई। पुलिस के अनुसार जांच में पता चला कि महिला गत वर्ष मेडिकल क्षेत्र में किराये पर रहती थी। इस दौरान उसने एक युवक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। कोर्ट के आदेश पर थाने में रिपोर्ट दर्ज हो गई थी। इस मामले की जांच सीओ सिविल लाइन कर रहे थे। वहीं, सीओ सिविल लाइन देवेश कुमार ने बताया कि कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। मामले की जांच की जा रही है। मकान मालिक और पड़ोसियों ने बताया कि महिला छत पर घूमते हुए या फिर कपड़े सुखाते हुए दिखाई दे जाती थी, लेकिन तीन-चार दिन से दिखाई नहीं दे रही थी। मृतका की बहन ने बताया कि वह भी दो-तीन दिन से फोन कर रही थी। उसका भी जवाब नहीं आ रहा था। रात भी फोन किया था, इसलिए सुबह मिलने आ गई। युवती तीन महीने पहले एक मामले में पुलिस पर खुद की पिटाई का आरोप भी ला चुकी है। जिसके बाद मामले में हंगामा भी हुआ था। हालाकि इस बारे में अधिकारी से जानकारी करने पर यह मामला गलत बताया गया है। पुलिस महिला के आत्‍महत्‍या मामले की जांच करेगी।

गणतंत्र दिवस पर बैरिकेड तोड़ एंट्री करेगें 'किसान'

सोनीपत। कृषि कानून को लेकर सरकार और किसान आमने सामने है। और ये टकराव दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है। एक तरफ सरकार नई -नई तरकीबे सोच रही है। किसानों को मनाने के लिए तो वहीं दूसरी तरफ किसान भी सरकार को अपनी ताकत दिखाने के लिए नई -नई योजनाएं बना रहे है। बताना लाजमी है कि सरकार को दिखा देना चाहते है कि वो अपनी मांगो के लिए कुछ भी कर सकते है। गौरतलब है कि हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर पर करीब डेढ़ महीने से आंदोलनरत किसान तीन कृषि कानूनों को निरस्त करवाने की मांग को लेकर धरने पर डटे हुए हैं। इतने दिन बीतने के बाद भी समस्या का कोई समाधान नहीं निकल रहा। सरकार के साथ हो चुकी आठ दौर की वार्ता के बाद भी किसानों की मांगों का कोई समाधान नहीं निकल सका है। सातवें दौर की वार्ता तक किसानों को आस थी कि सरकार उनकी मांगे पूरी करेगी, लेकिन आठवें दौर की वार्ता के बाद से किसानों में नाराजगी बढ़ती जा रही है। किसानों को जिस तरह से सरकार ने साफ कहा है कि कृषि कानूनों को रद्द नहीं किया जा सकता है, उससे किसान अब अपनी ताकत सरकार को दिखाना चाहते है। जिसके लिए सरकार के हर अभियान व कार्यक्रम को किसान रोकना चाहते है। यही कारण है कि अब सरकार के साथ टकराव के हालात पैदा हो रहे हैं। तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर कुंडली बॉर्डर पर 46 दिनों से आंदोलनरत किसानों ने अब आंदोलन को तेज करने की रणनीति बनानी शुरू कर दी है। सरकार के साथ आठ दौर की वार्ता के बाद भी आंदोलन का कोई समाधान न निकलने से किसानों में नाराजगी बढ़ रही है। किसान नेताओं का कहना है कि सरकार के रुख को देखते हुए लगता है कि सरकार समस्या का समाधान करने के पक्ष में ही नहीं है। जिसके बाद अब टकराव के आसार बढ़ते जा रहे हैं। किसान नेताओं ने ऐलान किया है कि जिस तरह से हर बाधा को पार करते हुए वे दिल्ली की दहलीज तक पहुंच गए हैं। इसी प्रकार गणतंत्र दिवस की परेड के लिए भी बैरिकेट तोड़ते हुए दिल्ली के अंदर तक घुसेंगे। किसानों के इस ऐलान के बाद सरकार की परेशानी भी बढ़ने लगी है। अब देखना ये होगा कि गणतंत्र दिवस से पहले किसानों की मांग पूरी होती है या नहीं ? 

बिहार में दाखिल खारिज का काम ठप हुआ

अविनाश श्रीवास्तव  
पटना। बिहार में इन दिनों जमीन के दाखिल ख़ारिज कराने का काम बिलकुल कछुआ की चाल में रेंग रहा है। ऑनलाइन व्यवस्था होने के बावजूद भी म्यूटेशन के लिए लोगों को काफी इंतजार करना पड़ रहा है। याचिकाओं की संख्या तो बढ़ गई लेकिन समय पर निष्पादन नहीं हो पा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक 100 में से 5 लोगों का भी काम अधिकारी समय पर पूरा नहीं कर पा रहे हैं। बिहार में दाखिल-खारिज के आवेदन में केवल 3.46 प्रतिशत का ही निष्पादन समय पर हो पाया है। यह आंकड़ा पिछले साल 1 दिसंबर तक का है। खुद विभाग की समीक्षा बैठक में यह खुलासा हुआ है कि आख़िरकार अधिकारी कर क्या रहे हैं। इस बात का भी खुलासा हुआ है कि ऑनलाइन म्यूटेशन का निपटारा हो भी जाता है तो कर्मी जान-बूझकर त्रुटि छोड़ देते हैं। कभी नाम गलत तो कभी खाता संख्या गलत चढ़ा देते हैं। 
हालांकि इसके लिए सरकार ने सुधार की अलग ऑनलाइन व्यवस्था की है। हम आपको बता दें कि बिहार में जमीन के दाखिल ख़ारिज कराने को लेकर राज्य के सभी अंचलों को ऑनलाइन व्यवस्था से जोड़ दिया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक 2017-18 में जब व्यवस्था मैनुअल थी तो म्यूटेशन के लिए 13 लाख 41 हजार 734 याचिकाएं दायर की गई थी। 

साल 2019-20 में जब व्यवस्था पूरी तरह ऑनलाइन हो गई तो याचिकाओं की संख्या 20 लाख 25 हजार 391 हो गई। पिछले साल 1 दिसम्बर 2020 तक याचिकाओं की संख्या 40 लाख 71 हजार 908 हो गई। इनमें निष्पादन 76.64 फीसदी आवेदनों का हो गया। लेकिन अधिसंख्य आवेदन का निपटारा तय समय के बाद हुआ।


डीएम ने देखी कोविड-19 कंट्रोल रूम की व्यवस्था

मुजफ्फरनगर। जनपद में हुए कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन टैस्ट की व्यवस्थाओें का जायजा ले रही डीएम सेल्वा कुमारी जे अचानक कलेक्ट्रेट स्थित कोविड-19 कंटोल रूम का निरीक्षण करने पहुंची और कंट्रोल रूम कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। सोमवार को जनपद में कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन टैस्ट किया गया। डीएम सेल्वा कुमारी जे ने जिला मुख्यालय पर जिला अस्पताल समेत अन्य स्थानों पर की गई ड्राई रन टैस्ट की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते हुए स्वास्थ्यकर्मियों को आवश्यक निदा-निर्देश दिये। इसी दौरान जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे कलेक्ट्रेट में बने कोविड-19 कंट्रोल रूम का औचक्क निरीक्षण करने जा पहुंची। उन्होने कंट्रोल रूम में काम कर रही कोविड-19 के डॉक्टरों की टीम व कर्मचारियों को आवयक दिशा निर्देश देते हुए पूछा कि मरीजों से बात करने में उन्हे किसी प्रकार की कोई परेशानी तो नहीं आ रही हैं। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे कोविड-19 कंट्रोल रूम में काम कर रहे डॉक्टरों व कर्मचारियों के काम से संतुष्ट नजर आई।

मुंबई: मिस्ट्री फिल्म में काम करेंगी अभिनेत्री जीतन

मनोज सिंह ठाकुर 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री जीनत अमान मर्डर मिस्ट्री फिल्म में काम करती नजर आयेंगी। जीनत अमान फिल्म 'मरगांव : द क्लोज्ड फाइल' में काम करती नजर आयेंगी। यह फिल्म एक मर्डर मिस्ट्री है जो अगाथा क्रिस्टी की कार्यशैली को दर्शाती है। फिल्म की कहानी में 69 वर्षीय अभिनेत्री को एक एंग्लो इंडियन परिवार की मुखिया के रूप में पेश किया गया है, जो एक स्वतंत्र महिला, एक मां और साथ ही एक उद्यमी की भूमिका भी अदा करती हैं। फिल्म के बारे में निर्देशक कपिल कौस्तुभ शर्मा ने बताया कि, "जीनत जी सिल्विया नाम की एक मजबूत महिला का किरदार अदा करेंगी. यह विभिन्न रंगों के साथ एक जटिल और अपरंपरागत चरित्र है।"

डीलर के घर लाखों की लूट, विरोध पर बम फेंका

अविनाश श्रीवास्तव  
 सुपौल। इस वक़्त की बड़ी खबर सुपौल जिले से सामने आ रही है जहां 10-12 की संख्या में हथियारबंद अपराधियों ने डीलर के घर भीषण डकैती की घटना को अंजाम दिया है। अपराधियों ने हथियार के बल पर लाखों रुपये कैश और गहने पर अपना हाथ साफ़ कर लिया। इतना ही नहीं जब घटना के दौरान पड़ोसी की नींद खुली और उसने विरोध किया तो अपराधियों ने उनके ऊपर बम फेंक दिया। इस बम विस्फोट में पड़ोसी बुरी तरह घायल हो गए।
 बताया जा रहा है कि 10-12 की संख्या में हथियारबंद डकैतों ने डीलर देबनारायण चौधरी के घर धावा बोला। पिछले दरवाजे को तोड़कर सभी डकैत घर में घुसे और हथियार के बल पर घर वालों को बंधक बनाकर एक-एक कमरे की तलाशी ली। इसके बाद लॉकर तोड़कर जेवरात और कैश सहित लाखों रुपये समेट लिए। शोर सुनकर पड़ोसी त्रिभुवन साह की नींद खुली और देखने पहुंचे तो सभी डकैत बम फेंककर फरार हो गए। बम के विस्फोट में त्रिभुवन साह जख्मी हो गए। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई जिसके बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर जांच में जुट गई है। पुलिस ने मौके से तीन जिंदा बम बरामद किया है। पीड़ित डीलर के बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

सनसनी: दिल्ली में 'बर्डफ्लू' की दस्तक, पुष्टि हुई

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। पिछले दिनों पार्कों में मृत पाये गये कौवौं और बत्तखों की जांच में इसकी पुष्टि हुई है। दिल्ली सरकार के पशुपालन विभाग ने मरे हुए कौवौं और बत्तखों को जांच के लिये जालंधर की प्रयोगशाला में भेजा था। विभाग से सोमवार को मिली जानकारी के अनुसार मरे हुए कौवों और बतखों के आठ नमूनों की जांच में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है है। विभाग के मुताबिक संजय झील की बत्तख और मयूर विहार के पार्क के कौवों में बर्ड फ्लू पाया गया है। दिल्ली सरकार ने राजधानी में बर्ड फ्लू की आशंका में पूर्वी दिल्ली स्थित मुर्गा मंडी को नौ जनवरी को ही 10 दिन के लिये बंद कर दिया था और जीवित पक्षियों के राजधानी में लाने पर प्रतिबंध लगा दिया था।


यूपी: सीएम योगी को धमकी, आरोपी गिरफ्तार

बलिया। उत्तर प्रदेश की बलिया पुलिस ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धमकी देने वाले व्यक्ति को गड़वार क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक विपिन तांडा ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी दी थी। इस सिलसिले में लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि पुलिस ने मोबाइल सिम के आधार पर धमकी देने वाले बलिया जिले के गड़वार क्षेत्र के रहने वाले गौरव सिंह राजपूत को रविवार शाम उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि इस संबंध विधिक कार्रवाई करते हुए लखनऊ पुलिस को सूचना दे दी गई है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-148 (साल-02)
2. मंगलवार, जनवरी 12, 2021
3. शक-1983, पौष, कृष्ण-पक्ष, तिथि- चतुर्दशी, विक्रमी संवत 2077।

4. प्रातः 07:12, सूर्यास्त 05:29

5. न्‍यूनतम तापमान -03 डी.सै., अधिकतम-15+ डी.सै.।

6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।

8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110

http://www.universalexpress.page/

email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +91935030275                                        (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...