गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020

जानवरों का शिकार, मांस का व्यापार

देहरादून। वन विभाग की टीम ने सीमाद्वार से जंगली जानवरों का शिकार करके उनके मांस को गांव में बेचने वाले स्थानीय गिरोह​ का पर्दाफाश किया है। वन पुलिस ने पकाए गए व कच्चे मांस के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। जबकि उसके दो साथी भाग निकलने में सफल हो गए। बरामद मांस जंगली सुअर का बताया जा रहा है। वन महकमे के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी फरार लोगों के घरों पर छापमारी की कार्रवाई की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वन पुलिस को सूचना मिली थी कि सीमाद्वार में भीम, रोहित व अर्जुन जंगल से जंगली जानवरों का शिकार करके उन्हें ग्रामीणों को बेचते हैं। इस सूचना पर आज वन पुलिस ने सीमाद्वार निवासी भीम के घर पर छापा मारा। वन पुलिस को देख उसके दो साथी भाग गए। वन पुलिस के अनुसार पकड़े जाने से पहले इस गिरोह के सदस्यों ने 17 लोगों को जंगली सुअर का मांस बेच भी दिया था। वे मांस को पका कर भी बेचते थे। भीम को गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि उसके साथी एफआरआई निवासी रोहित व इंद्रानगर के शास्त्रीनगर निवासी अर्जुन मौके से फरार हो गए। उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है।


किए गए कार्य की समीक्षा और भावी कार्यनीति

देहरादून। मंत्रियों ने अपने विभागों की तीन वर्ष की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए साथ ही भावी कार्ययोजना भी विधायकों के समक्ष रखीं। विधायकों ने अपने क्षेत्र की आवश्यकताओं से अवगत कराने के साथ ही सुझाव भी दिए। सीएम आवास स्थित सभागार में आयोजित मंथन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश सरकार की तीन वर्ष की अवधि में किये गये कार्यों का उल्लेख करते हुए विकास की भावी रणनीति पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि मंथन कार्यक्रम की पूर्व संध्या पर मंत्रिगणों एवं विधायक गणों से हुए विचार विमर्ष में राज्य के समग्र विकास की दिशा तय करने को सम्बन्धित महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए हैं। इस मंथन से प्राप्त होने वाला अमृत, प्रदेश को नई दिशा देने में मददगार होगा। 
मुख्यमंत्री ने कहा इन तीन वर्षों में हम क्या कर पाये इसका आकलन करने को मिला है। तीन वर्ष की अवधि में राज्य हित में की गई 57 प्रतिशत घोषणाएं पूर्ण की जा चुकी हैं। अन्य घोषणाओं पर कार्यवाही गतिमान है।  सीएम घोषणाओं का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। हम घोषणा पत्र के अनुपालन की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। घोषणा पत्र के इतर भी कई कार्य जनहित में किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने के अवसर हमने तीन कार्यक्रमों के आयोजन का लक्ष्य रखा है। इसमें रिवर्स पलायन की दिशा में पहल करने वाले युवाओं के लिए ‘आवा अपणा घर आवा’ के सन्देश का आधार तैयार करने वालो का सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। इसके अतिरिक्त रामनगर मे एडवेंचर समिट का आयोजन किया जायेगा। टिहरी झील को देश व दुनिया में पहचान दिलाने तथा एडवेंचर टूरिज्म का प्रमुख केन्द्र बनाने के लिये टिहरी लेक महोत्सव को बड़ी भव्यता के साथ आयोजित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उधमसिंह नगर के बोर जलाशय, पिथौरागढ़ के मोस्टमानु में टयूलिप गार्डन के साथ ही विभिन्न स्थलों पर पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिये धनराषि उपलब्ध करायी गयी है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रदेश की आर्थिक दशा में सुधार के लिये भी प्रभावी कदम उठाये गये हैं। 15वें वित्त आयोग ने राज्य को 14वें वित्त आयोग के स्तर पर हुए नुकसान की भरपाई करते हुए पांच हजार करोड़ रूपए सालाना धनराशि की संस्तुति की है। इसमें राज्य को आगामी वर्षों में 30 हजार करोड़ का लाभ होगा। आपदा मद में राज्य को अब 200 करोड़ रूपए के स्थान पर 1041 करोड रूपए़ की धनराशि उपलब्ध होगी। राज्य को केन्द्रीय करों की मद से दी जाने वाली धनराशि में भी बढ़ोतरी की गई है। यही नहीं उत्तर प्रदेश सरकार से वर्षों से लम्बित पेंशन की धनराशि राज्य को दिये जाने का रास्ता साफ हो गया। 
मंथन कार्यक्रम में मंत्रिगणों ने तीन वर्ष के कार्यकाल व भविष्य की कार्ययोजना के आधार पर प्रस्तुतिकरण दिया। बताया गया कि सभी सेक्टर्स में उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु नीति आयोग द्वारा जारी ‘‘भारतीय नवाचार सूचकांक 2019’’ में पूर्वोत्तर एवं पहाड़ी राज्यों की श्रेणी में उत्तराखण्ड राज्य को सर्वश्रेष्ठ तीन राज्यों में शामिल किया गया। प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय वर्ष 2018-19 में 1,98,738 रूपए रही जोकि देश की औसत प्रति व्यक्ति आय से अधिक है। 
अटल आयुष्मान योजना के अन्तर्गत प्रत्येक परिवार को पाँच लाख का मुफ्त इलाज सरकारी एवं गैर सरकारी चिकित्सालयों में अनुमन्य करने वाले देश का प्रथम राज्य है। वर्तमान तक इस योजना के अन्तर्गत 37 लाख 98 हजार लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराए जा चुके हैं।
गत तीन वर्षों में लोक निर्माण विभाग द्वारा माह जनवरी तक 2027.34 किमी. मार्गों का नव निर्माण, 2374.20 किमी. लम्बाई में पुनः निर्माण व 205 न. सेतुओं का निर्माण करते हुए 353 ग्रामां को संयोजकता प्रदान की गयी। जल जीवन मिशन के अन्तर्गत प्रदेश में 15 लाख से अधिक परिवारों को हर घर को नल से जल/कनेक्शन की योजना प्रारम्भ की गई है। 22 अर्द्धनगरीय क्षेत्रों में पेयजल सुलभ कराने हेतु रू0 975 करोड़ स्वीकृत। प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना ‘‘सौभाग्य’’ के अन्तर्गत प्रदेश के सभी इच्छुक अविद्युतीकृत घरों/परिवारों के शत-प्रतिशत विद्युतीकरण किया गया है। राज्य सरकार द्वारा पाईन निडिल एवं अन्य बायोमास आधारित ऊर्जा उत्पादन नीति-2018 जारी की गई है। जिसके अर्न्तगत 1060 किलोवाट सम्मिलित क्षमता की 36 योजनाऐं तथा 2000 मी0टन क्षमता की दो ब्रिकेटिंग प्लाण्ट योजना निजी विकासकर्ताओं को स्थापना हेतु आवंटित की जा चुकी हैं। इस योजना से वनाग्नि को रोकने के साथ ही स्वरोजगार विकसित होंगे। सौर ऊर्जा नीति के अन्तर्गत पर्वतीय श्रेणी में स्थानीय निवासियों के माध्यम से 203 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना की स्थापना हेतु कुल 283 फर्मो को परियोजनाऐं आवंटित की गयी है। हरिपुर एवं तुमरिया जलाशय पर 40 मेगावाट क्षमता के सोलर पावर प्रोजेक्ट की स्थापना जिससे 6.8 करोड़ यूनिट बिजली प्रतिवर्ष उत्पादित होगी। 
प्रदेश में आयोजित निवेशक सम्मेलन में एक लाख करोड़ के एम.ओ.यू. हस्ताक्षरित हुए जिसमें से प्रथम चरण में 19000 करोड़ के निवेश की ग्राउंडिंग हो चुकी है। वर्तमान में 450 प्रोजेक्टस गतिमान हैं, इससे लगभग 56 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। सिंगल विन्डो क्लीयरेंस सिस्टम के अन्तर्गत वर्तमान में लगभग 18 हजार निवेशकों द्वारा पंजीकरण कराया गया है। देहरादून शहर में स्मार्ट सुविधाओं के विकास हेतु रू0 1400 करोड़ की धनराशि वाह्य सहायतित परियोजना के अन्तर्गत स्वीकृत किए गए हैं। मार्च 2019 में केन्द्र सरकार द्वारा उत्तराखण्ड को खाद्यान्न उत्पादन श्रेणी-2 में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए कृषि कर्मण प्रशंसा पुरस्कार दिया गया। जैविक कृषि में उत्कृष्ट कार्य हेतु प्रदेश को जैविक इंडिया अवार्ड 2018 में राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत 3,40,479 कृषकों को आर्थिक सहायता। किसानों के लिए ब्याज रहित रू0 1 लाख तक का ऋण दिया जा रहा है। टिहरी झील को महत्वपूर्ण पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जा चुका है जिसमें पर्यटकों की संख्या में उत्तरोत्तर अभिवृद्धि हो रही है। टिहरी झील में पर्यटक सुविधाओं के विकास हेतु रू0 1200 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की जा चुकी है। चिकित्सा विभाग में चिकित्सकों के कुल 2735 सृजित पदों के सापेक्ष 2045 चिकित्सकों की तैनाती की जा चुकी है। राज्य के 35 प्रमुख चिकित्सालयों पर मरीजों की जांच एवं डाइग्नोस्टिक सुविधा हेतु टेली रेडियोलॉजी सेवा प्रारम्भ की गई है। प्रदेश के तीन सरकारी मेडिकल कॉलेजों यथा दून, हल्द्वानी एवं श्रीनगर समेत पिथौरागढ़, पौड़ी, उत्तरकाशी एवं टिहरी जिला अस्पतालों में भी आई.सी.यू. की सुविधा की गई है। प्रशासनिक सुचिता एवं कार्य संस्कृति विकास हेतु सी.एम. मानीटरिंग डैशबोर्ड, ‘उत्कर्ष’, जन समस्याओं के त्वरित समाधान हेतु सी.एम. हेल्पलाईन 1905 एवं सेवा का अधिकार आदि कार्य मिशन मोड में संचालित किए जा रहे हैं। विद्यालयी शिक्षा विभाग के अन्तर्गत समस्त राजकीय विद्यालयों में एन.सी.ई.आर.टी. पाठ्यक्रम लागू। विद्यालयी शिक्षा विभाग के अन्तर्गत 500 राजकीय विद्यालयों में वर्चुअल क्लासेस का संचालन किया जा रहा है एवं 700 विद्यालयों में वर्चुअल क्लासेस संचालन हेतु कार्य गतिमान है। उच्च शिक्षा विभाग के अन्तर्गत बी.एच.ई.एल. रानीपुर, जनपद हरिद्वार एवं किच्छा जनपद उद्यमसिंहनगर में मॉडल कॉलेज स्वीकृत किए गए हैं। नवीनतम तकनीक आधारित ग्रीन स्टेट डेटा सेन्टर एवं ड्रोन एप्लीकेशन  रिसर्च केन्द्र की स्थापना की गई है। ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना के अन्तर्गत 82 सेवायें प्रदान की जा रही हैं। सभी 670 न्याय पंचायतों को ग्रोथ सेन्टर बनाने की योजना लागू। विभिन्न विभागों के अन्तर्गत वर्तमान में 83 ग्रोथ इनमें से 75 ग्रोथ सेन्टर हेतु धनराशि स्वकृत की जा चुकी है। राज्य में 27 हेलीपोर्ट विकसित किए जा चुके हैं। क्षेत्रीय संपर्क योजना के अन्तर्गत देहरादून (सहस्रधारा) को पंतनगर, पिथौरागढ़, चिन्यालीसौड़ एवं गौचर से जोड़ा जा चुका है। जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट को अंतरार्ष्ट्रीय स्तर का बनाया जा रहा है। लम्बे समय से लम्बित जमरानी बहुउद्देशीय परियोजना की पर्यावरण स्वीकृति उपरान्त धनराशि भी स्वीकृत की गई है। देहरादून शहर एवं उसके उपनगरीय क्षेत्रों की वर्ष 2053 तक अनुमानित आबादी हेतु पेयजल सुनिश्चितता हेतु रू0 1290 करोड़ की सौंग बांध पेयजल परियोजना की कार्यवाही गतिमान है। महिला स्वयं सहायता समूहों को बिना ब्याज के 05 लाख रूपए तक का ऋण का प्रावधान किया गया है। मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना के अन्तर्गत बीस हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से ढाई लाख बच्चों को निःशुल्क दूध की व्यवस्था की गई है। 13 डिस्ट्रिक्ट-13 न्यू पर्यटक डेस्टिनेशन चिन्हित कर पर्यटक स्थल विकसित किए जा रहे हैं। आई.डी.पी.एल. ऋषिकेश में वेलनेस सिटी एवं कन्वेंशन सेंटर बनाया जा रहा है। प्रदेश के मूल/स्थायी निवासियों हेतु होम स्टे योजना प्रारम्भ की गई है। कद््दूखाल-सुरकण्डा देवी रोपवे निर्माण कार्य गतिमान है। ठुलीगाड़ से पूर्णागिरी देवी, रोपवे निर्माण कार्य प्रारम्भ।
जनसहभागिता से कोसी एवं रिस्पना नदियों का पुनर्जीवन कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में 16 हजार से अधिक आवास अनुमन्य। 12535 को आवास स्वीकृत किए गए हैं। समेकित सहकारिता विकास निधि हेतु रू0 3340 करोड़ की स्वीकृति मिली है। द्वितीय विश्वयुद्ध के पूर्व सैनिकों/सैनिक विधवाओं की पेंशन चार हजार से बढ़ाकर आठ हजार प्रतिमाह की गयी है। आंगनबाड़ी कार्यकत्री का मानदेय रू. 6000 से बढ़ाकर रू. 7500, आंगनबाड़ी सहायिका का मानदेय रू. 3000 से बढ़ाकर रू. 3750, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री का मानदेय रू. 3500 से बढ़ाकर रू. 4750 किया गया एवं होमगार्डस का मानदेय रू. 13950 से बढ़ाकर रू. 18600 प्रतिमाह किया गया। चारधाम यात्रा की महत्ता के दृष्टिगत 889 किमी लम्बी ऑल वेदर रोड़ का रू0 11700 करोड़ का कार्य युद्धस्तर पर गतिमान। हरिद्वार में भूमिगत केबलिंग हेतु केन्द्र सरकार से रू0 400 करोड़ का कार्य गतिमान। प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के अन्तर्गत 63908 महिलाओं को रू0 5000 की धनराशि डी.बी.टी. के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है। अल्पसंख्यक कल्याण हेतु प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत रू0 1324 लाख की धनराशि अवमुक्त की गई है। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज, डॉ0 हरक सिंह रावत, श्री मदन कौशिक, श्री यशपाल आर्य, श्री सुबोध उनियाल, श्री अरविन्द पाण्डेय, राज्य मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत, श्रीमती रेखा आर्या सहित विधायकगण, मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह सहित अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव एवं शासन के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।


पालतू बंदर ने बुजुर्ग के साथ प्राण छोड़ा

फतेहपुर। यह इत्तेफाक है या मालिक से पूर्व जन्म का कोई रिश्ता कि एक पालतू बंदर ने अपने पालक बुजुर्ग शिक्षक की मौत के बाद अपने भी प्राण त्याग दिए। यह घटना फतेहपुर जिले के किशनपुर कस्बे के पाखरतर मुहल्ले की है। गुरुवार को परिजनों ने दोनों के शव को एक ही चिता में रखकर अंतिम संस्कार कर दिया। बुजुर्ग शिक्षक शिवराज सिंह (75) की मौत बीमारी के चलते बुधवार शाम में हो गई। घर में परिजनों के रोने की आवाज सुन पालतू बंदर भी शव के पास पहुंच गया और शव के पास बैठे-बैठे ही उसकी भी मौत हो गई। गुरुवार को शिक्षक और बंदर के शव को एक ही चिता में रखकर परिजनों ने अग्निदाह कर दिया। मृत शिक्षक के भतीजे देवपाल ने बताया कि उनके चाचा ने इस बंदर को पाला था। उनके कोई औलाद नहीं थी, इसलिए बंदर को बेटे की तरह प्यार करते थे। लेकिन कुछ साल पहले बीमार होने की वजह से बंदर की देखभाल न कर पाने के कारण उसे तीन साल पहले खागा कस्बे छोड़ आये थे। बंदर दस दिन पूर्व ही वापस उनके पास लौटा था। बुधवार की शाम चाचा की मौत पर पूरा परिवार गमगीन था, इसी बीच बंदर भी छत से उतर उनके शव के पास आकर बैठ गया और कुछ ही देर बाद उसकी भी मौत हो गई है। उसने बताया कि चाचा के शव के लिए बनाई गई चिता में बंदर के भी शव का अग्निदाह किया गया है, अब उसका तेरहवीं संस्कार भी चाचा की तेरहवीं के साथ किया जाएगा।


हरियाणाः कॉलेजों के प्राचार्योंं की बैठक

राणा ओबराय

हरियाणा कालेजों के प्राचार्यों की बैठक 13 व 14 फरवरी को डीजी अजीत बालाजी जोशी की अध्यक्षता में पंचकूला में होंनी हुई तय

चण्डीगढ़। हरियाणा के गवर्नमैंट व गवर्नमैंट एडिड कालेजों के प्राचार्यों की क्रमश: 13 व 14 फरवरी, 2020 को पंचकूला में बैठक होगी जिसकी अध्यक्षता उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक श्री अजीत बालाजी जोशी करेंगे। विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक श्री अजीत बालाजी जोशी कल 13 फरवरी को राज्य के गवर्नमैंट कालेजों के प्राचार्यों की बैठक की अध्यक्षता करेंगे। यह बैठक पंचकूला स्थित रैड बिशप पर्यटन केंद्र में होगी। बैठक में गवर्नमैंट कालेजों में आगामी शैक्षणिक सत्र से नए विषय या कोर्स शुरू करने, सीटें कम या ज्यादा करने की जरूरत बारे संबंधित प्राचार्यों से चर्चा होगी तथा उनसे सुझाव लिए जाएंगे। वर्कलोड के अनुसार नई फैकल्टी लगाने या सरप्लस की जानकारी भी ली जाएगी। नए शैक्षणिक सत्र में ऑनलाइन एडमिशन को और अधिक सिस्टेमैटिक करने व स्टूडैंट-फ्रैंडली बनाने के लिए भी सुझाव सांझा किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि बैठक में आने वाले प्राचार्यों से उनके कालेज में वर्तमान डिजीटल इन्फ्रास्ट्रक्चर तथा डिमांड लाने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा नैक व एन.आई.आर.एफ से एक्रिडेशन लेने के लिए कालेज ने क्या तैयारियां की हैं, इसकी विस्तृत रिपोर्ट ली जाएगी। प्रवक्ता ने आगे बताया कि अगले दिन 14 फरवरी 2020 को उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक श्री अजीत बालाजी जोशी गवर्नमैंट एडिड कालेजों के प्राचार्यों की बैठक की भी अध्यक्षता करेंगे। उन्होंने बताया कि गवर्नमैंट एडिड कालेजों में कार्यरत टीचिंग व नॉन-टीचिंग स्टॉफ की एम.आई.एस पोर्टल पर जानकारी अपडेट करने, बायोमिट्रिक अटेंडेंस लगाने के अलावा अधिकतर उक्त मुद्दों पर प्राचार्यों से चर्चा की जाएगी तथा शिक्षा में गुणवत्ता बढ़ाने के निर्देश दिए जाएंगे।


सघन होगा टीबी रोग खोजी अभियान

17 से 29 फरवरी तक चलेगा सघन टी0बी0 रोग खोजी अभियान

प्रयागराज। पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत 17 से 29 फरवरी तक चलेगा सघन टी0बी0 रोग खोजी अभियान चलाया जायेगा।
केंद्र सरकार 2025 तक भारत को टी.बी  मुक्त करने के लक्ष्य को लेकर कार्य कर रही हैं इसी कड़ी में प्रति तीन माह में सघन टी.बी रोगी खोज आभियान (ए.सी.एफ) चलाया जाता हैं जिसके तहत स्वास्थ्य वभाग की टीम घर घर जाकर संदिग्ध टी.बी रोगियों को खोजती हैं मौके पर ऐसे मरीजों के बलगम की जाँच के नमूने लिए जाते हैं। जाँच में रोग की पुष्टि के बाद इलाज शुरू किया जाता हैं। मरीजो को सम्बंधित सामुदायिक और प्राथमिक केंद्र के माध्यम से घर पर ही टी.बी की दवा उपलब्ध करायी जाती हैं।
जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. ए. के तिवारी ने बताया कि 2018-19 में 15890 टी.बी के मरीजो को चिन्हित किया जा चुका हैं । जिसमे से 9268 मरीज सरकारी अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं और 6622 ऐसे मरीज हैं जो कि प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं जिनकी जानकारी निश्चय पोर्टल पर भी अपडेट हैं। उन्होंने बताया जिसमे से 6,910 मरीजों को 500 दर से पोषण राशि का भुगतान किया गया हैं । डॉ तिवारी ने बताया की कुल आबादी का 10% प्रतिशत यानि 6,64,450 की आबादी को लक्ष्य रखा गया हैं जिसे पूरा करने के लिए कुल 183 टीमों का गठन किया गया जो जिले में कार्यक्रम के अंतर्गत कार्य करेंगी जिसमे समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के एम.ओ.आई.सी जोनल सुपरवाइजर  होगें जो प्रत्येक दिन की रिपोर्ट उपलब्ध करायेगें। उन्होंने बताया कि प्रत्येक विकास खण्ड केन्द्रों पर एक.एक टी0बी0 जांच यूनिट हैं ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों की जाँच  वहीं पर किया जा सकेगा। 
टीबी रोग क्या है और कैसे फैलता है।
क्षय रोग माइक्रोबैक्टेरियम ट्यूबरक्लोसिस नामक जीवाणु के संक्रमण के कारण होता हैं। यह रोग मुख्यतः फेफड़ों में होता है लेकिन यह रोग शरीर के अन्य अंगों जैसे दिमाग, हड्डियों, ग्रंथियों, आत आदि में भी हो सकता हैं। टीबी के रोगी द्वारा खासने या छींकने पर रोग फैलता हैं रोगी द्वारा इधर-उधर खुली जगह पर बलगम थूकने तथा रोगी के इस्तेमाल की हुई रूमाल आदि के प्रयोग करने से यह रोग फैलता हैं।


बृजेश केसरवानी


भारी बर्फबारी के बाद, यातायात बहाल

नीना गौतम


जालोडी दर्रा। सूबे में हुई भारी बर्फबारी के बादएनएच-305 अब यातायात के लिए पूरी तरह बहाल कर दिया है। पिछले 38 दिनों से औट-आनी-लूहरी सड़क पर वाहनो की आवाजाही प्रभावित रही। हालांकि बीच-बीच में एनएच प्राधिकरण द्वारा छोटे वाहनों के लिए बहाल भी किया था। लेकिन जलोडी दर्रे में अत्यधिक ठंड होने के चलते सड़क पर पानी जम जाने सेगाडिय़ों के स्किड होने का खतरा और बढ़ गया था। जिसके द्वारा प्राधिकरण द्वारा रोड पर मिट्टी और रेता डाला। आखिर 38 दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद जलोडीजोत के दोनो तरफ बसों की आवाजाही हुई, जिससे आऊटर सिराज की जनता को राहत मिली है। पिछले 38 दिनों से अवरुद्ध सड़क से अधिकतर लोगों ने जलोडी दर्रा पैदल पार किया, जिससे क्षेत्र के लोगों को भारी परेशानियां भी झेलनी पड़ी जबकि कई लोग वाया मंडी सफर कर जिला मुख्यालय पहुंचे। वही, इसबारे एनएच-305 आनी सब डिवीजन के एसडीओ सुनील गुप्ता ने कहा कि सड़क से दो दिन पूर्व बर्फ हटा दी थी जिसके बाद छोटे वाहनो की आवाजाही हुई थी।वीरवार से एनएच-305 से बड़े वाहनो की आवाजाही भी शुरू हो गई है।


पेड़ काटते समय खाई में गिरा, मौत

शिलाई। सिरमौर के शिलाई उपमंडल की ग्राम पंचायत नैनीधार के गांंव बाउटा के एक व्यक्ति की पेड़ से लकड़ी काटते समय खाई में गिरने से मौत हो गई।


शिलाई पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बाउटा निवासी 55 वर्षीय बारूराम पुत्र कालू राम वीरवार प्रात: घर के नजदीक एक पेड़ से लकड़ी काट रहा था। उसी दौरान पेड़ पर उसका संतुलन बिगडऩे से वह खाई में जा गिरा। जिसकी मौके पर ही मौत हो गई। शिलाई पुलिस ने सूचना मिलते ही घटनास्थल से शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल शिलाई पंहुचाया। पोस्टमार्टम के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया है। पंचायत प्रधान अर्चना राणा ने मामले की पुष्टि की है। उधर नायब तहसीलदार जयराम शर्मा ने मृतक के परिजनों को 10 हजार की फौरी राहत प्रदान की।


गृह-मंत्री ने कमियों को स्वीकार किया

नई दिल्ली। देश के गृहमंत्री अमित शाह ने टाइम्स नाउ 2020 समारोह में बातचीत करते हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली हार का जिक्र करते हुए कहा कि यह बात सही है कि इस बार हम चूक गए। लेकिन हमने कभी अपनी पार्टी की विचारधारा से समझौता नहीं किया। शाह ने आगे शाहीन बाग के बारे में बात करते हुए कहा कि लोगों को विरोध करने का हक है। लेकिन सवाल यह है कि विरोध कैसे होना चाहिए ? जिस तरह से शाहीन बाग में विरोध किया गया, वैसे ही हमें भी अपनी बात कहने का अधिकार है।
वहीं दिल्ली में मिली हार के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने मान लिया है कि बीजेपी को भड़काऊ भाषण से नुकसान हुआ है। उन्होंने यह भी मान लिया है कि गोली मारो और भारत-पाक मैच जैसे बयानों से बीजेपी को लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ी है। अमित शाह ने कहा कि ‘गोली मारो’ और ‘भारत-पाक मैच’ जैसे बयानों से बीजेपी को बचना चाहिए था। पार्टी नेताओं द्वारा दिए गए नफरत भरे बयानों के कारण बीजेपी को चुनाव में नुकसान उठाना पड़ा है।


जोरदार भिड़ंत में ऑटो के परखच्चे उड़े

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, प्रवीण कुमार रिपोर्टर पिलखुआ


हापुड़। तेज रफ्तार का कहर लगातार जारी तेज रफ्तार ऑटो और वैगनआर कार की हुई जोरदार भिड़ंत ऑटो के उड़े परखच्चे वैगनआर कार भी हुई पूरी तरह क्षतिग्रस्त। आपको बता दें मामला जनपद हापुड़ के थाना धौलाना क्षेत्र का हैं जहां आज सुबह 9:30 बजे पिलखुवा की तरफ से धौलाना तेज गति से जा रहे ऑटो की वैगनआर कार से जोरदार भिड़ंत हो गई जिसमें 3 लोग घायल हो गए उसी ऑटो में बैठी पिलखुवा कोतवाली की गाड़ी पर तैनात राजीव कुमार की पत्नी गार्गी गंभीर रूप से घायल हो गई सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को कराया पास के निजी अस्पताल में भर्ती। बताया जा रहा है गार्गी धौलाना क्षेत्र में किसी स्कूल में टीचर के पद पर तैनात हैं आज सुबह बच्चों को पढ़ाने जा रही थी उनके पति राजीव कुमार पिलखुवा कोतवाली की गाड़ी पर ड्राईवर हैं फिलहाल पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है धौलाना थाना क्षेत्र का मामला।


तेज रफ्तार का कहर, 1 की मौत 1 गंभीर

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, प्रवीण कुमार रिपोर्टर पिलखुआ


हापुड़। तेज रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन हो रही है। घटनाएं रोज जा रही हैं जाने लोग हो रहे हैं। घर से भी बेघर बाइक सवार दो युवकों को ट्रक ने मारी जोरदार टक्कर दोनों हुए घायल एक की हालत नाजुक राहगीरों ने पास के निजी अस्पताल में कराया भर्ती। एक की हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने किया दूसरे अस्पताल के लिए रेफर सूचना मिलते ही 112 नंबर पुलिस पहुंची मौके पर जांच पड़ताल में जुटी दोनों घायल पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के गांव गालंद के निवासी परिजनों का रो रो कर बुरा हाल आज दोपहर 2:00 का मामला पुलिस जांच पड़ताल में जुटी तेज रफ्तार का कहर बन रहा है लोगों की जान पर भारी आए दिन हो रही है तेज रफ्तार की वजह से घटनाएं।


पटरी पर 'प्रेमी-युगल' ने कटकर दी जान

चक्रधरपुर। वैलेंटाइन वीक में एक प्रेमी युगल ने समाज को झकझोर देने वाला कदम उठा ल‍िया। किश दे के द‍िन रेल की पटरी पर प्रेमी युगल ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। यह घटना झारखंड के चाईबासा ज‍िले की है। वैलेंटाइन वीक में प्रेमी युगल ने एक दर्दनाक कदम उठाया।एक-दूसरे को गले लगाने के बाद ‘किस डे’ के दिन दोनों की दर्दनाक मौत हुई। प्रेमी युगल ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। दोनों ने एक-दूसरे की कमर में हाथ रखकर पटरी पर गर्दन रखी। ट्रेन के न‍िकलते ही दोनों के स‍िर धड़ से अलग हो गए। यह घटना चक्रधरपुर स्टेशन के ईस्ट केब‍िन के पास की है। घटना के बाद मौके पर जीआरपी पुल‍िस पहुंची, तब शव को उठाया गया। दोनों के पर‍िजनों से संपर्क करने की कोश‍िश जारी है। दोनों ने जान क्यों दी, इस बारे में अभी कोई स्पष्ट जानकारी नहीं म‍िली है। दोनों युवक-युवती चक्रधरपुर थाना क्षेत्र में झरझरा क्षेत्र के रहने वाले हैं। युवती का नाम रायमुनि हांसदा और युवक का नाम लखीराम गागराई है।


भारतीय केंद्र का नाम बदला, 'सुषमा स्वराज'

नई दिल्ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को दिवंगत पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के सम्मान में उनकी जयंती (14 फरवरी) से एक दिन पहले प्रवासी भारतीय केंद्र और विदेशी सेवा संस्थान का नाम उनके नाम पर रखने का ऐलान किया है। केंद्र द्वारा लिए गए इस निर्णय के बाद अब प्रवासी भारतीय केंद्र को ‘सुषमा स्वराज भवन’ और विदेशी सेवा संस्थान को ‘सुषमा स्वराज विदेशी सेवा संस्थान’ के नाम से जाना जाएगा। बता दें कि प्रवासी भारतीय केंद्र देश की संस्कृति को प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का काम करता है। वहीं विदेश सेवा संस्थान देश के अग्रणी प्रशिक्षण केंद्रों में से एक है। यहां पर राजदूतों को प्रशिक्षण दिया जाता है। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की जयंती 14 फरवरी को है। उनका जन्म 14 फरवरी, 1952 को हरियाणा के अंबाला में हुआ था। पिछले साल 6 अगस्त को 67 साल की उम्र में उनका निधन हो गया था। स्वराज ने दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में आखिरी सांस ली थी। इससे पहले पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को गणतंत्र दिवस के मौके पर पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया था।


शेयर बाजारः 98 अंक टूटा सेंसेक्स

मुंबई। चीन में कोरोनावायरस का प्रकोप गहराने के कारण विदेशी बाजारों से उत्साहवर्धक संकेत नहीं मिलने से गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान सुस्ती बनी हुई थी। सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 98 अंक से ज्यादा टूटा और निफ्टी भी 12,200 के नीचे आ गया। सुबह 9.41 बजे सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 87.11 अंकों यानी 0.21 फीसदी की गिरावट के साथ 41,478.79 पर कारोबार कर रहा था। वहीं, निफ्टी पिछले सत्र से 25.40 अंकों यानी 0.21 फीसदी की कमजोरी के साथ 12,175.80 पर बना हुआ था।
इससे पहले बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स मजबूती के साथ 41,707.21 पर खुला और 41,709.30 तक उछला, लेकिन जल्द ही विकवाली के दबाव में फिसलकर 41,467.49 पर आ गया। पिछले सत्र में सेंसेक्स 41,565.90 पर बंद हुआ था।
इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बढ़त के साथ 12,219.55 पर खुला और 12,225.65 तक उछला, लेकिन जल्द ही फिसलकर 12,171.60 पर आ गया। पिछले सत्र में निफ्टी 12,201.20 पर बंद हुआ था।
बाजार के जानकार बताते हैं कि चीन में कोरोनावायरस के नये मामलों में इजाफा होने की रिपोर्ट आने के कारण एशियाई बाजारों से उत्साहहीन संकेत मिला है जिसके चलते भारतीय शेयर बाजार में विकवाली का दबाव देखा जा रहा है।


मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर, हलचल शुरू

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद मोदी मंत्रिमंडल के पहले विस्तार को ले कर हलचल शुरू हो गई है। इस क्रम में बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी की वाईएसआर कांग्रेस के मुखिया और आंध्रपदेश के सीएम जगनमोहन रेड्डïी की डेढ़ घंटे की मुलाकात को इसी से जोड़ कर देखा जा रहा है। कहा जा रहा है कि इसी दौरान बिहार के सीएम का भी मन टटोला गया है। माना जा रहा है कि संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण से पहले पीएम अपने मंत्रिमंडल का पहला विस्तार कर सकते हैं। दरअसल विस्तार पर मंथन बजट सत्र के पहले से ही चल रहा है। पार्टी ने उस दौरान भी नीतीश से बात की थी और उनका रुख सकारात्मक था। अब दिल्ली चुनाव के नतीजे आने के बाद गैरकांग्रेस विपक्षी दलों के बीच एकजुटता बढऩे की संभावना के मद्देनजर इस दिशा में नए सिरे से हलचल शुरू हुई है। पार्टी चाहती है कि लोकसभा में खाली पड़े डिप्टी स्पीकर के पद और मंत्रिमंडल विस्तार के जरिए न सिर्फ सहयोगियों से तालमेल ठीक किया जाए, बल्कि राजग के इतर कुछ दलों को भी साधा जाए। जगन-पीएम मुलाकात: बुधवार को आंध्रप्रदेश के सीएम की पीएम मोदी से लंबी मुलाकात हुई। सूत्रों का कहना है कि भाजपा वाईएसआर कांग्रेस को राजग में शामिल कर मंत्रिमंडल में भागीदारी देना चाहती है। अगर वाईएसआर इसके लिए राजी नहीं हुआ तो उसे बीते कार्यकाल में अन्नाद्रमुक की तरह लोकसभा में डिप्टी स्पीकर का पद दिया जा सकता है। इसके उलट अगर जगन ने राजग में आने पर सहमति दी तो यह पद बीजेडी को दिया जा सकता है। चूंकि बीजेडी राजग में नहीं आ सकती, इसलिए इस पद के बहाने पार्टी उसे गैरकांग्रेस विपक्ष के मोर्चे में शामिल होने से रोकने के साथ राज्यसभा में अपनी ताकत बढ़ा सकती है। सहयोगियों को साधना जरूरीः सरकार गठन के समय मंत्रिमंडल में पद की संख्या पर मतभेद के कारण जदयू को सरकार में जगह नहीं मिली। जबकि अपना दल को जगह नहीं दी गई। इस बीच राजग की कार्यशैली पर भी सहयोगियों ने सवाल उठाए हैं। अब लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान अपनी जगह अपने सांसद पुत्र चिराग पासवान को मंत्री बनाना चाहते हैं। चूंकि बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव है, इसलिए जदयू को सरकार में भागीदारी देने के अलावा लोजपा को साधे रखने की जरूरत है। सहयोगियों से बेहतर संबंध का संदेश देने और यूपी में अभी से चुनावी तैयारियों में जुटने की रणनीति के तहत अपना दल को भी साधे रखने की जरूरी है। चूंकि शिवसेना अब राजग के साथ नहीं है, ऐसे मेंं जदयू को मंत्रिमंडल में अधिक भागीदारी देने पर अब कोई समस्या नहीं है। चर्चा है कि अगर चिराग मंत्री बनाए गए तो राजग संयोजक का पद पासवान को दिया जा सकता है।
नई सियासी परिस्थिति की चुनौतीः दिल्ली चुनाव के बाद अचानक गैरकांग्रेसी दलों के एकजुट होने की संभावना बनी है। भाजपा को पता है कि लगातार कमजोर हो रही कांग्रेस की जगह अगर क्षेत्रीय दलोंं फ्रंट बना तो यह उसके लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकती है। करीब छह साल से लगतार बह रहे राष्ट्रवाद की बयार के बाद दिल्ली के नतीजे ने कल्याणकारी राज्य पर सियासी बहस शुरू की है। गुजरात का विकास मॉडल के बाद अब देश भर में दिल्ली के विकास मॉडल की चर्चा हो रही है। क्षेत्रीय दलों का फ्रंट बना तो दिल्ली के गुजरात का विकास मॉडल बनाम दिल्ली का विकास मॉडल की सियासी जंग छिड़ सकती है।


ट्रक-कार सहित बाइकों के काटे चालान

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, प्रवीण कुमार, रिपोर्टर पिलखुआ, रिंकू सैनी रिपोर्टर    


हापुड़। थाना धौलाना क्षेत्र में चलाया गया संघ चेकिंग अभियान जिसमें ट्रक कार सहित बाइकों के काटे चालान। जिन गाड़ियों वालों ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी उनके भी काटे चालान बाइक सवार बिना हेलमेट के मिलने पर भी काटे गए चालान तीन सवारियों पर भी काटे चालान। एस आई रजनी वर्मा ने बताया हापुड़ एसपी संजीव सुमन के दिशा निर्देशों अनुसार चेकिंग अभियान चलाया गया है 30 गाड़ियों के लगभग चालान किए गए हैं।


'पीएम मोदी' पर आतंकी हमले की आशंका

लखनऊ। खुफिया एजेंसियों ने उत्तर प्रदेश पुलिस को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में संभावित आतंकी हमले को लेकर अलर्ट किया है। खुफिया जानकारी के अनुसार, इस बात की संभावना है कि हमलावर मंदिर में पत्रकार के रूप में प्रवेश कर सकता है। अलर्ट के बाद, गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।सूत्रों ने कहा कि गोरखपुर पुलिस को स्थानीय पत्रकारों द्वारा मुहैया कराई गई जानकारियों की समुचित जांच के बाद उनका नया फोटो पहचान पत्र बनाने के लिए कहा गया है। योगी आदित्यनाथ को लखनऊ में पत्रकारों से दूरी बनाए रखने वाले नेता के रूप में जाना जाता है, जबकि गोरखपुर में मीडियाकर्मी उनसे आसानी से मिल सकते हैं। वह गोरखपुर में रहने के दौरान मंदिर परिसर में जनता दरबार में भी स्थानीय लोगों से मुलाकात करते हैं।


व्यापार मंडल की प्रथम बैठक आयोजित

देहरादून। संयुक्त व्यापार मंडल, उत्तराखंड की प्रथम बैठक आयोजित की गई। जिसमें संयुक्त व्यापार मंडल की प्रदेश कार्यकारिणी का विस्तार किया गया। उत्तराखंड प्रदेश के प्रभारी धर्मेंद्र सिंह, राष्ट्रीय कोर कमेटी सदस्य राघवेंद्र सिंह चंदेल, रविंद्र सिंह आनंद प्रदेश अध्यक्ष संयुक्त व्यापार मंडल की अध्यक्षता में निम्न महानुभावों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई। वरिष्ठ उपाध्यक्ष के पद पर सरदार गुलजार सिंह, कोटद्वार महासचिव संजय मित्तल, कोटद्वार उपाध्यक्ष जगदीश सिंह गुसाईं को बनाया गया। साथ ही प्रदेश सचिव के पद पर सुधीर कपूर, हरीश गुलाटी, अशोक ग्रोवर और मनीष शर्मा को जिम्मेदारी सौंपी गई। प्रदेश प्रवक्ता रोहित छाबड़ा को नियुक्त किया तो प्रदेश मीडिया प्रभारी के पद पर आशीष जदली को जिम्मेदारी सौंपी गई। पौड़ी जिलाध्यक्ष के पद पर राजकुमार नागपाल, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दलबीर सिंह कलेर, वरिष्ठ प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शाहिद हुसैन, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य नवीन सिंह चौहान को आईटी सेल की जिम्मेदारी सौंपी गई है। नियुक्ति के दौरान संयुक्त व्यापार मंडल के समस्त पदाधिकारियों ने जय व्यापारी, जय व्यापार, व्यापारी एकता जिंदाबाद के नारे लगाए।


संस्कृति,संरक्षण-संवर्धन के लिए प्रशिक्षण

कालपी। विद्यालय के पूर्व प्राचार्यों व छात्रों की मौजूदगी मे भारतीय संस्कृति के संरक्षण व संवर्धन के लिए आयोजित निशुल्क त्रैमासिक पौरोहित्य प्रशिक्षण का शुभारंभ किया। श्री व्यास क्षेत्र संस्कृत महाविद्यालय के प्रबंधक योगेन्द्र नरायन शुक्ल वैद्य ने उपस्थित लोगों को बताया कि उत्तरप्रदेश संस्कृति संस्थान लखनऊ द्वारा भारतीय संस्कृति के संरक्षण व संवर्धन के लिए संस्कृत महाविद्यालयों मे अध्यनरत छात्रों व इच्छुक छात्रों को जानकारी देने के लिए निशुल्क त्रैमासिक पौरोहित्य प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ कराया है। छात्रों के प्रशिक्षण के लिए संस्थान द्वारा प्रदीप द्विवेदी की प्रशिक्षक के रुप मे नियुक्ति की गयी है, जो छात्रों को प्रशिक्षण देंगे तथा प्रशिक्षण उपरान्त छात्रों को प्रमाण पत्र भी दिया जायेगा। पूर्व विधायक डॉक्टर अरुण मेहरोत्रा ने कहा कि भारतीय संस्कृति में जो गिरावट आ रही थी प्रशिक्षण से उसे बढ़ावा मिलेगा व उसका संरक्षण व संवर्धन भी होगा तथा संस्कृत के छात्रों को इसका ज्ञान मिलेगा। ऐसे कार्यक्रमों की सराहना होना चाहिए। वहीं कार्यक्रम में पूर्व प्राचार्य शिवशंकर शुक्ला, गणेश शंकर त्रिवेदी, उत्तम कुमार निरंजन, डॉ. आर.पी.दीक्षित, कार्यक्रम के जिला संयोजक अनिरुद्ध त्रिपाठी, प्रशिक्षक प्रदीप कुमार द्विवेदी के अलावा उमेश भदौरिया व आनन्द तिवारी आदि मौजूद रहे तथा कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर विवेक मिश्रा ने किया।


रंगा-रंग कार्यक्रम में 'हुनर हाट' का उद्घाटन

नई दिल्ली। रेल एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आज एक रंगारंग कार्यक्रम में राजपथ के इंडिया गेट लॉन में 20वें ‘हुनर हाट’ का उद्घाटन किया। ‘कौशल को काम’ थीम पर आधारित यह हुनर हाट 13 से 23 फरवरी तक आयोजित किया जायेगा। यहां देश भर के हुनर के उस्ताद दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं, जिनमें 50 प्रतिशत से अधिक महिला दस्तकार शामिल हैं। पीयूष गोयल ने इस अवसर पर कहा कि दस्तकारों एवं शिल्पकारों के सशक्तीकरण के लिये देश में कम से कम तीन साल तक आयोजित किये जाने वाले समारोहों के दौरान अतिथियों को देसी उपहार दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वाणिज्य अल्पसंख्यक और जनजातीय मंत्रालय आपस में समन्वय कर हस्तकला और शिल्पकला को विदेशों में बाजार उपलब्ध करा सकते हैं जिससे ऐसे उत्पादों को पर्याप्त मूल्य मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि हस्त और शिल्पकला को ई-कामर्स से जोड़ा जायेगा और लोगों में इसके प्रति जागरुकता पैदा की जायेगी। उन्होंने हुनर हाट की सराहना करते हुये कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से लुप्त हो रही कलायें बचायी जा सकेंगी। एक समय अगरबत्ती उद्योग पर देश में ध्यान नहीं दिया गया जिसके कारण विदेशी अगरबत्ती का देश में इसके बाजार पर कब्जा हो गया और और देशी लघु उद्योग बंद हो गये। देश में विदेशी अगरबत्ती के आयात पर प्रतिबंध लगाया गया तो अधिकारियों ने उन्हें भयभीत किया था लेकिन वह अपने निर्णय पर कायम रहे और अब यह उद्योग एक बार फिर फलने-फूलने लगा है। गोयल ने कहा कि हुनर हाट ने कई विलुप्त हो रही कला/क्राफ्ट को पुनर्जीवित किया है। हुनर हाट देश भर के दस्तकारों, शिल्पकारों को मौका-मार्केट मुहैया कराने का मजबूत अभियान है। मुख्तार अब्बास नकवी ने इस अवसर पर कहा कि देश भर के दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों के स्वदेशी विरासत के सशक्तीकरण का मेगा मिशन साबित हो रहा है हुनर हाट। उन्होंने कहा कि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश की विरासत को मौका-मार्केट मुहैया कराने के ड्रीम प्रोजेक्ट को मजबूत कर रहा है। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय देश के कोने-कोने के हुनरमंदों की शानदार विरासत का संरक्षण करने एवं उन्हें राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मार्केट उपलब्ध कराने का ऐतिहासिक कार्य कर रहा है। नकवी ने कहा कि पिछले लगभग तीन वर्षों में हुनर हाट के माध्यम से लगभग तीन लाख दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों को रोजगार और रोजगार के मौके उपलब्ध कराये गये हैं। इनमें बड़ी संख्या में देश भर की महिला दस्तकार भी शामिल हैं। इससे पहले दिल्ली, मुंबई, प्रयागराज, लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, हैदराबाद, पुड्डुचेरी, इंदौर आदि स्थानों पर हुनर हाट आयोजित किए जा चुके हैं। अगले हुनर हाट का आयोजन रांची में (29 फरवरी से आठ मार्च), चंडीगढ़ में (13 मार्च से 22 मार्च तक) आयोजित किया जाएगा। आने वाले दिनों में हुनर हाट का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, पुड्डुचेरी, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुवनेश्वर, अजमेर आदि में किया जायेगा। उन्होंने कहा दिल्ली में आयोजित किये जा रहे हुनर हाट में 250 से ज्यादा स्टॉल लगाए गए हैं जिनमें देश भर से दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं जो देश के कोने-कोने के स्वदेशी हस्तशिल्प और हथकरघा के शानदार स्वदेशी उत्पाद अपने साथ लाये हैं। यहां विभिन्न राज्यों के पारंपरिक लज़ीज़ पकवान भी ‘बावर्चीखाने’ सेक्शन में अपनी सुगंध बिखेर रहे हैं। इसके अलावा रोजाना होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम लोगों के आकर्षण का मुख्य केंद्र होंगे।


फैक्ट्री में आग लगने से मचा हड़कंप

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, प्रवीण कुमार रिपोर्टर पिलखुआ


हापुड़। कोतवाली क्षेत्र के इंदिरा नगर कॉलोनी में उस समय हड़कम्प मच गया जब एक जूता फैक्ट्री में अचानक भीषण आग लग गई । फैक्ट्री में कई लोग फसे हुए थे। आग ने देखते ही देखते विकराल रूप ले लिया जिससे इलाके में हड़कंप मच गया। 
जूता फैक्ट्री में आग व फैक्ट्री में मजदूरों के फसे देख लोगों ने पुलिस और दमकल विभाग को आग की सूचना दी आग की सूचना पर दमकल विभाग की गाड़ी ने मोके पर पहुंच कर कड़ी मशक्कत के बाद अंदर फसे करीब 8 लोगों को सकुशल बाहर निकाला वहीं दमकल विभाग ने गाजियाबाद, मेरठ व गढ़मुक्तेश्वर से भी
दमकल की कई गाड़ियों को मोके पर आग बुझाने के लिए बुलाया। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस आग से लाखों रुपये का माल जल कर खाक हो गया। वहीं आग लगने की कारणों की दमकल विभाग जांच कर रहा है।


गैस सिलेंडर फटने से दर्दनाक हादसा

सीकर। राजस्थान के सीकर शहर में गुरुवार को गैस सिलेंडर फटने से दर्दनाक हादसा हो गया। इस हादसे में कुल 13 लोग झुलस गए। सभी घायलों को एसके अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इनमें से नौ की हालत गंभीर होने पर उन्हें जयपुर रेफर कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक शहर के शेखपुरा मोहल्ले स्थित कुरैशी क्वार्टर में असरार कुरैशी, अजीज अहमद कुरैशी के मकान में सुबह अचानक सिलेंडर फट गया। जिससे आस पास के मकान भी थर्रा उठे। तेज धमाके से लोग दहशत में आ गए। हादसे में मकान में रहने वाले नंदलाल सिंधी के परिवार सहित कुल 13 लोग घायल हो गए। सूचना पर दमकल और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। घायलों को एंबुलेंस की सहायता से एसके अस्पताल पहुंचाया गया। जहां से नौ लोगों की गंभीर हालत में जयपुर रेफर कर दिया। हादसा इतना भीषण था कि किसी को बाहर निकलने का मौका तक नहीं मिला।


नेपाल के रास्ते नहीं आ पाएंगे चीनी नागरिक

देहरादून। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते अब नेपाल के रास्ते चीन के नागरिक भारत नहीं आ पाएंगे। नेपाल के रास्ते भारत आने वाले चीनी नागरिकों को चीन सरकार के पत्र पर केवल दिल्ली एयरपोर्ट पर आने की सुविधा मिलेगी, जहां से उन्हें कड़ी सुरक्षा में मेडिकल आबजर्वेशन में रखा जाएगा। इससे पहले भी नेपाल के रास्ते भारत आ रहे एक चीनी नागरिक को वापस लौटा दिया गया था। नेपाल के सड़क मार्ग से कोई भी चीनी नागरिक भारत में नहीं आ सकेगा। वे केवल हवाई मार्ग से दिल्ली आ सकेंगे। बता दें कि उत्तराखंड में केवल बनबसा ही थर्ड कंट्री (भारत नेपाल को छोड़कर) के नागरिकों और पर्यटकों के आवागमन का वैधानिक मार्ग है। राज्य में बनबसा में ही इमिग्रेशन चेकपोस्ट बनाया गया है। यह कदम चीन में फैले कोरोना वायरस के खतरों से बचाव के लिए उठाया गया है। लेकिन, भारत नेपाल सीमा पर एसएसबी, इमिग्रेशन चेकपोस्ट, कस्टम, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों की पूर्ण सुरक्षा की व्यवस्था नहीं की गई है। जल्द ही इन लोगों के लिए सभी व्यवस्थाएं की जाएंगी।


रेशमः तितली के अंडे से बनता है कोसा

राजिम। माघी पुन्नी मेला में शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाने और जानकारी देने के उद्देश्य से विभिन्न विभागों द्वारा स्टॉल लगाया है। ग्रामोद्योग रेशम प्रभाग विभाग द्वारा लगाए गए स्टॉल में कोसा के बारे में जानकारी दी जा रही है। रेशम प्रभार के नोडल अधिकारी ए.डी.एस कोहलेकर, जी.पी. शर्मा के साथ किरवई के किसान गोविंद साहू और भेखराम साहू श्रद्धालुओं को कोसा उत्पादन की जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं। कोसा कृषक गोविंद साहू ने बताया कि सी.एस.बी. या बी.एस.एम.टीसी. से तितली का अण्डा प्राप्त होता है। इस अण्डे को ट्रे मे रखकर प्राकृृतिक तरीके से प्रजनन कराके लार्वा यानि एक छोटा सा कृमि प्राप्त करते है। इस कृमि को हम कहवा, साजा, सरई, साल के वृक्ष के पत्तों में कृमि को डाल देते है। ये कृमि पत्ते को खाकर कीड़ा बन जाते है। वह कीड़ा अपने लार के माध्यम अपने चारो ओर आवरण तैयार करते जाते है। ऐसी स्थिति आती है कि उस आवरण के अन्दर बंद हो जाता है। इस तरह से प्राप्त फल कोसा कहलाता है। कोसा के अन्दर बंद कीड़ा प्यूपा बन जाता है। वही प्यूपा जो अनुकूल वातावरण में तितली बनकर बाहर आते है और कृषक इन्ही तितलियों का संग्रहण कर पुन: कोसा प्राप्त करने के लिये तितलियो से अण्डा प्राप्त करते है। उसी के साथ कोसे से रेशम बनाई जाती है। रेशम का बाजार में अच्छा मूल्य मिल जाता है। ये एक प्रकार का आधुनिक कृषि है जिसमें अधिक लाभ होती है। छत्तीसगढ़ का कोसा पूरी दुनियाः छत्तीसगढ़ का कोसा सिल्क पूरी दुनिया में अपने आरामदायक टेक्स्चर के लिए जाना जाता है। प्रदेश में विदेशी पर्यटकों के आगमन के साथ ही यहां की कोसा सिल्क साडिय़ों के निर्यात में दिनों-दिन बढ़ोतरी हो रही है। राजिम माघी पुन्नी मेला के मौके पर लगाई गई प्रदर्शनी में कोसा सिल्क बनाने वाली तितलियों को भी रखा गया है। इन तितलियों को देखते ही कई लोग इनके बारे में और जानने की इच्छा जाहिर करते नजर आए तो कई लोगों ने इनकी तस्वीरें अपने कैमरे में कैद की। क्या है कोसा की खासियतः कोसा सिल्क प्रदेश के कुछ जिले में मुख्य रूप से तैयार किया जाता है। यह बेहद मजबूत होता है और पूरी दुनिया में अपने नर्म टेक्स्चर के लिए जाना जाता है। यह सिल्क के सबसे शुद्ध प्रकारों में गिना जाता है। इसकी खासियत इसके रंग हैं। कोसा सिल्क प्राकृतिक रूप से हल्के गोल्डन रंग में मिलता है जिसे पलाश, लाख और गुलाब की पंखुडियों से बने रंगों से डाई किया जाता है। सिर्फ साड़ी नहीं डिजाइनर आउटफिट्स भी होते हैं तैयारः पारंपरिक रूप से कोसा से सिर्फ साडिय़ां बनाई जाती थीं लेकिन अब इससे लहंगे भी बनाए जाते हैं। विदेशों में कोसा सिल्क के कपड़ों से कई तरह के डिजाइनर वेस्टर्न आउटफिट्स भी तैयार किये जाते हैं।


आईएनएस को सम्मान देना गौरव का क्षण

नई दिल्ली। आईएनएस शिवाजी ने उत्कृष्टता के 75 वर्ष पूरे कर लिये हैं। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कलर प्रदान कर सम्मान प्रदान किया। राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में कहा कि मेरे लिए आईएनएस शिवाजी को राष्ट्रपति का कलर प्रदान करना गौरव का क्षण है। यह प्रतिष्ठान एचएमआईएस शिवाजी के रूप में 1945 में कमीशन किया गया। तब से यह अत्याधुनिक प्रशिक्षण सुविधाओं के साथ भारतीय नौसेना का प्रतिष्ठित तकनीकी प्रशिक्षण संस्थान के रूप में विकसित हुआ है। संस्थान ने मरीन इंजीनियरिंग के सभी पहलुओं में बदलती हुई प्रौद्योगिकी के साथ अपनी गति बनाए रखी है। उन्होंने कहा कि मुझे यह जानकर प्रसन्नता हुई है कि इस महान संस्थान में अभी तक नौसेना, तटरक्षक तथा मित्र देशों के दो लाख से अधिक अधिकारी और नाविक मरीन इंजीनियरिंग की सभी शाखाओं में प्रशिक्षित किए गए हैं।


बुनियादी सुविधाएं धरातल पर दिखेंं

रायपुर। राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग द्वारा अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग की शिकायतों के निराकरण के संबंध में गुरुवार को यहां सिविल लाइन स्थित न्यू सर्किट हाउस में कैम्प सीटिंग एवं जन सुनवाई आयोजित की गई। राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एच.एल. दत्तू ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि मानवा अधिकार संरक्षण और आर्थिक सामाजिक योजनाओं के क्रियान्वयन में गहरा संबंध है।


उन्होंने कहा कि मानव अधिकारों के संरक्षण के लिए बुनियादी सुविधाओं के लिए ठोस कार्य धरातल पर दिखे। महिलाओं और बालिकाओं को सेनिटेशन की सुविधा उपलब्ध हो। महिलाओं और बालिकाओं की ट्रेकिंग की घटनाओं पर तत्काल और ठोस कार्यवाही की जाए। उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य सरकार के सभी विभागों के सहयोग से सभी की समस्याओं का निराकरण होगा। राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एच.एल. दत्तू ने दीप प्रज्जवलित कर कैम्प सीटिंग सत्र का शुभारंभ करते हुए कहा कि मानव अधिकारों का हनन नहीं हो इसके लिए अनुसूचित जाति एवं जनजाति अधिनियम के तहत सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि इस खुली सुनवाई का उद्देश्य पीड़ित और राज्य सरकार के अधिकारियों को एक मंच पर लाकर मानव अधिकार हनन के प्रकरणों का त्वरित निदान करना है। आयोजन से ऐसा वातावरण निर्मित हो, जिससे सभी नागरिकों के मूलभूत अधिकारों का संरक्षण हो और वे संविधान में प्रदत्त मानव अधिकारों का उपभोग कर सके। उन्होंने बताया कि कैम्प सीटिंग के माध्यम से प्रभावितों को क्षतिपूर्ति राशि दिलाई जाती है और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की अनुशंसा भी की जाती है। शिविरों के माध्यम से मानव अधिकार एक्ट 1993 के तहत मानव अधिकार हनन के प्रकरणों को सुनने और निराकृत करने का अवसर मिलता है। न्यायमूर्ति एच.एल. दत्तू ने मानव अधिकारों के संरक्षण के लिए बुनियादी सुविधाओं-शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी, स्वच्छता के विकास पर विशेष जोर दिया। न्यायमूर्ति दत्तू ने कहा कि आयोग का उद्देश्य मानव अधिकार के प्रकरणों की सुनवाई कर न्याय दिलाना है। आम लोगों को उनके मूलभूत अधिकार मिले, स्कूल ठीक से संचालित हो, आंगनबाड़ी प्रभावी ढंग से कार्य करें, लोगों को स्वास्थ्य की सुविधा मुहैया हो। आयोग राज्य में विशेषकर अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति के प्रकरणों की सुनवाई करेगा। इस अवसर पर आयोग के सेक्रेटरी जनरल जयदीप गोविंद ने मानव अधिकार से संबंधित प्रकरणों के निराकरण और पीड़ित पक्षों को क्षति पूर्ति राशि वितरित करने की जानकारी दी। उन्होंने बताया राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग मानव अधिकार के उल्लंघन के संबंध में सुनवाई कर प्रभावितों को न्याय दिलाने का कार्य करता है। आयोग द्वारा प्राप्त शिकायतों की शत्प्रतिशत सुनवाई की जाती है और इसका पालन भी किया जाता है। आयोग द्वारा निःशक्तजनों, ओल्ड एज होम, जेन्डर की शिकायतों का भी निराकरण किया जाता है। मानव अधिकार से संबंधित गतिविधियों का प्रचार-प्रसार हिन्दी और अंग्रेजी में किया जाता है। प्रभारी मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पहली बार राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग की फुल बेंच एवं सिंगल बेंच द्वारा एक साथ अनुसूचित जाति एवं जनजाति से संबंधित शिकायतों की खुली जनसुनवाई की जा रही है। इसका लाभ पीड़ित पक्षों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि इन वर्गाें से संबंधित प्रत्येक प्रकरणों को आयोग के समक्ष रखने और उनके निराकरण के लिए छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद पहली बार यह अवसर मिला है। जैन ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 32 प्रतिशत जनसंख्या अनुसूचित जनजाति की है। प्रदेश के 150 में से 85 विकासखण्ड अनुसूचित जनजाति के है। राज्य में इन वर्गाें की शिक्षा, पोषण और स्वास्थ्य के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। राज्य सरकार द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों और गर्भवती महिलाओं को गर्म भोजन प्रदान किया जा रहा है। प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों में साप्ताहिक हाट बाजारों में चिकित्सकों की टीम द्वारा स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई जा रही है। शहरी क्षेत्रों के स्लम एरिया में भी घर पहुंच चिकित्सा व्यवस्था मुहैया कराई जा रही है। वनांचल क्षेत्रों में मलेरिया नियंत्रण के लिए विशेष अभियान चलाकर हर व्यक्ति की जांच कर उपचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दंतेवाड़ा जिले में गरीबी रेखा का स्तर राष्ट्रीय स्तर के समकक्ष लाने के लिए विभिन्न विभागों के समन्वय से मिशन मोड़ पर काम कर रहे हैं। कैम्प सीटिंग के उद्घाटन अवसर पर राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग की सदस्य ज्योतिका कालरा, सदस्य डाॅ. डी.एम. मूले, राज्य मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष एम.पी. सिंघल, सदस्य गिरधारी लाल नायक, सेक्रेटरी जनरल डाॅ. प्रभात सिंह, रजिस्ट्रार सूरजीत डे, एन.सी. सांखला, पुलिस महानिदेशक डी. एम. अवस्थी सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी और जिलों के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक उपस्थित थे।


मेरठ में योगी-अमित का पुतला फूंका

मेरठ। दिल्ली रोड स्थित शॉप्रिक्स मॉल सीओ ब्रह्मपुरी ऑफिस के सामने समाजवादी कार्यकर्ताओं ने गृह मंत्री अमित शाह व प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंक कर विरोध दर्ज कराया। हालांकि पुतला फूंकने की सूचना मिलते ही परतापुर ब्रह्मपुरी टीपी नगर पुलिस सहित व सीओ ब्रह्मपुरी चक्रपाणि त्रिपाठी फोर्स के पूरी तैयारी के साथ खड़े थे।


आपको बता दें कि पुलिस की तैयारी उस वक्त रखी ही रह गई। जब समाजवादी कार्यकर्ता ने नारेबाजी करते हुए, गृह मंत्री व मुख्यमंत्री के पुतले में आग लगा दी।  समाजवादी कार्यकर्ता द्वारा अचानक आग लगाने पर पुलिस ने पुतले को एक साइड में कराते हुए दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।  दक्षिण विधानसभा सपा नेता पवन गुर्जर नूरनगर ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर जामिया में हुई छात्राओं के साथ मारपीट के विरोध प्रदर्शन में पुतला दहन किया है। वही, गिरफ्तारी के दौरान पवन गुर्जर नूर नगर ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के तानाशाही रवैए के चलते हैं। छात्राओं के साथ पुलिस द्वारा बुरी तरह मारपीट जो की गई उनके शरीर पर ऐसी जगहों पर वार किए गए जिनके बारे में बताना भी शर्म की बात है।  दिनाक 11/02/2020  को दिल्ली पहुंचकर घायल हुई छात्राओं से मुलाकात की थी। इसी के चलते विरोध कराने के लिए अमित शाह और योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका है।


मेरठ में लेंटर उठाते वक्त बड़ा हादसा

मेरठ। लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र मे एक कैंची कारखाने का लेंटर उठाते वक्त। दर्दनाक हादसा हो गया। मैवगढ़ी मजीदनगर में आज एक मकान का लेंटर को उठाते समय लेंटर के गिर जाने से उसके नीचे नौ मजदूर दब गए। इस हादसे में आठ मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि एक कर्मचारी।  का हाथ कट गया और  एक की मौत हो गई। आसपास के लोगों ने आनन-फानन में। दबे हुए मजदूरों को बाहर निकाला और अस्पताल भिजवाया। सूचना पाकर थाना लिसाड़ी गेट  पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। आपको बता दें। मजीदनगर में आमीन वाले मदरसे के पास शयामनगर निवासी समीरूदीन व जाऊदीन निवासी विकासपुरी का कैंची बनाने का कारखाना है। तीन सौ गज जमीन पर करीब पचास साल पूराना लैंटर पड़ा हुआ है। समीरूदीन पूराने लेंटर को उठवा रहा था। और जैग लगाकर नौ मजदूर लेंटर उठा रहे थे, इसी दौरान अचानक लेंटर भरभराकर गिर गया। इसी चपेट में सभी मजदूर आ गए। तेज धमाके की आवाज पर क्षेत्र में हड़कंप मच गया। आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए। वही। लोगों को घायलों को अस्‍पताल भिजवाने के लिए एंबुलेंस बुलाने के लिए फोन भी किया, लेकिन फोन किसी ने रिसीव नहीं किया। आनन-फानन में। क्षेत्रवासियों ने घायलों को तुरंत मेडिकल में भर्ती कराया। गया है कई की हालत गंभीर बनी हुई है।


बैंक फ्रॉड के सामने दिवस सरकार

मोदी सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद बैंक फ्रॉड के मामले कम होते हुए नहीं दिखाई दे रहे हैं। 


नई दिल्ली (एजेंसी)। मोदी सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद बैंक फ्रॉड के मामले कम होते हुए नहीं दिखाई दे रहे हैं। चालू वित्त वर्ष के पहले नौ महीनों, अप्रैल-दिसंबर,2019 के दौरान 18 सरकारी बैंकों में कुल 1.17 लाख करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 8,926 मामले सामने आये। प्रदेश के नीमच निवासी आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक ने उन्हें सूचना के अधिकार के तहत यह जानकारी दी है। 
आरटीआई के तहत मुहैया कराये गये आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा वित्तीय वर्ष के शुरूआती नौ महीनों में देश का शीर्ष वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) धोखाधड़ी का सबसे बड़ा शिकार बना। आलोच्य अवधि में एसबीआई की ओर से 30,300.01 करोड़ रुपये की बैंकिंग धोखाधड़ी के 4,769 मामले सूचित किये गये। यह राशि इस अवधि में सरकारी बैंकों में बैंकिंग धोखाधड़ी के सूचित मामलों की कुल रकम 1,17,463.73 करोड़ रुपये की करीब 26 प्रतिशत है। 
पंजाब नेशनल बैंक द्वारा अप्रैल से दिसंबर तक बैंकिंग धोखाधड़ी के 294 मामले सूचित किये गये जिसमें 14,928.62 करोड़ रुपये की धनराशि शामिल है। इस अवधि के दौरान बैंक ऑफ बड़ौदा में कुल 11,166.19 करोड़ रुपये के 250 मामले सामने आये। आलोच्य अवधि के दौरान इलाहाबाद बैंक में 6,781.57 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 860 मामले, बैंक ऑफ इंडिया में 6,626.12 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 161 मामले, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में 5,604.55 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 292 मामले, इंडियन ओवरसीज बैंक में 5,556.64 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 151 मामले और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में 4,899.27 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 282 मामले सूचित किये गये।
 केनरा बैंक, यूको बैंक, सिंडिकेट बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक, युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक और पंजाब एंड सिंध बैंक में 1,867 मामले सामने आये जिसमें कुल 31,600.76 करोड़ रुपये की धनराशि शामिल है। आरबीआई की ओर से आरटीआई के तहत मुहैया करायी गयी जानकारी में बैंकिंग धोखाधड़ी के मामलों की प्रकृति और छल के शिकार बैंकों या उनके ग्राहकों को हुए नुकसान का विशिष्ट ब्योरा नहीं दिया गया है।


नौकरी में आरक्षण देने के लिए इंकार

सरकारी नौकरी में प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए सरकार को आदेश देने से इनकार कर दिया है।


नई दिल्ली (एजेंसी)। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने एक फैसले में कहा है कि सरकारी नौकरियों में प्रमोशन में आरक्षण पाना मौलिक अधिकार नहीं है। लिहाजा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए राज्य सरकार बाध्य नहीं है। यह पूरी तरह से सरकार की इच्छा पर निर्भर है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ घमासान तेज हो गया है। फैसले के खिलाफ भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी नौकरी में प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए सरकार को आदेश देने से इनकार कर दिया है।


प्रमोशन में आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं-SC
जस्टिस नागेश्वर राव और हेमंत गुप्ता की बेंच ने कहा था कि प्रमोशन में आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं हैं। लिहाजा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए राज्य सरकार बाध्य नहीं है। यह पूरी तरह से सरकार की इच्छा पर निर्भर है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में यह भी साफ किया कि सरकारी नौकरियों में नियुक्ति में आरक्षण भी मौलिक अधिकार नहीं हैं। लिहाजा सरकार को मौलिक अधिकारों की तरह आरक्षण देने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है।
फैसले के खिलाफ भीम आर्मी ने दाखिल की पुनर्विचार याचिका
सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को आरक्षण देने के लिए संविधान के अनुच्छेद 16 के प्रावधान राज्य सरकारों को सक्षम बनाते हैं और यह राज्य सरकारों के विवेक पर निर्भर करता है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट में आरक्षण पर फैसले के खिलाफ भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद और शाहीन बाग के अब्बास नकवी ने पुनर्विचार याचिका भी दाखिल की है।


BJP-RSS के DNA को आरक्षण चुभता है-राहुल गांधी 
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को लेकर कांग्रेस ने भी मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मसले पर मोदी सरकार पर बरसते हुए कहा कि बीजेपी-आरएसएस के डीएनए को आरक्षण चुभता है। राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा आरक्षण के खिलाफ है। वे किसी न किसी तरीके से रिजर्वेशन को संविधान से निकालना चाहते हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि पहले उन्होंने रविदास मंदिर तोड़ा, क्योंकि जो एससी-एसटी समुदाय के लोग हैं, उनको ये आगे नहीं बढऩे देना चाहते हैं। राहुल गांधी ने कहा कि यहां मुद्दा यह है कि आरएसएस और बीजेपी दलितों, जनजातियों व ओबीसी के आरक्षण के विचार के साथ नहीं जी सकते हैं। यह उनको परेशान करता है और उन्होंने इसे मिटाने की कोशिश की है। 


सुप्रीम काेर्ट के फैसले से कतई सहमत नहीं है बसपा-मायावती 
भाजपा सरकार आरक्षण काे कर रही कमजाेर-अखिलेश यादव
..ताे सड़क से लेकर संसद तक करेंगे संग्राम-तेजस्वी


मानक विरूद्ध स्कूली वाहनों पर कार्रवाई

एआरटीओ विनित मिश्रा ने मानकों की अवहेलना कर नौनिहालों के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं स्कूली वहानों के खिलाफ की कार्रवाई


तस्लीम बेनकाब
मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर संभागीय परिवहन विभाग अधिकारी विनित मिश्रा के द्वारा आज खतौली पहुंचकर स्कूल वाहनों के खिलाफ अभियान छेड़ा तथा ऐसे वाहन जो मानकों की अवहेलना कर नौनिहालों के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई की एआरटीओ विनित मिश्रा के द्वारा आज चलाए गए चैकिंग अभियान में लाल दयाल पब्लिक स्कूल खतौली के 9 वाहनो के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए स्कूल कैम्पस में ही उक्त वहानों के चालान किए।


विदित हो कि एआरटीओ विनित मिश्रा ने यह पहले ही सभी स्कूलों के प्रबंधको को अवगत कराया था कि सभी स्कूल प्रबंधक अपने स्कूली वाहनों की फिटनेस व रेगुलर चेकिंग करा लें तथा सभी मानक पूरा करके रखे। लेकिन कुछ स्कूल प्रबंधको के द्वारा एआरटीओ के आदेश ना मानकर अपनी मन मानी कर रहें थे। इसी को लेकर आज एआरटीओ मिश्रा के द्वारा खतौली क्षेत्र में सख्त अभियान चलाया गया ओर बड़ी कार्यवाही अमल में लाई गई तथा स्कूली वहानों के लिए निर्धारित मानक का उल्लंघन कर बिना फिटनेस, बिना परमिट, पंजीयन, परमिट ना होने पर भी बड़ी कार्यवाही की चेतावनी दी तथा कहा कि अपने स्कूली वहानों के पूरे मानक पूरा करले। एआरटीओ विनित मिश्रा की इस कार्यवाही से सभी स्कूल प्रबंधको में अफरा तफरी का माहौल दिखाई दिया।


दिल्ली की जनता बिकाऊ 'संपादकीय'

मधुकर कहिन


दिल्ली का चुनाव हारने पर दिल्ली की जनता को बिकाऊ कहने वाले जान लें ..
भारतीय नेताओं से ज्यादा भ्रष्ट और बिकाऊ वैसे भी कोई नहीं पूरे विश्व में


जब से भाजपा दिल्ली में चुनाव हारी है , तब से भाजपा आईटी सेल के कुछ उद्दंड लोग झेंप मिटाने हेतु ,सोशल मीडिया पर बार बार यही चिपकाने में बिज़ी हैं की - दिल्ली की जनता बिक गई ! मुफ्त बिजली और पानी की कीमतों पर दिल्ली की जनता ने केजरीवाल जैसे निकृष्ट आदमी को पूर्व मुख्यमंत्री बना दिया।


महज़ अपनी हार की झेंप मिटाने के लिए , नेतागिरी करने वाली इस घटिया जमात का चरित्र देखिए आप !! इस जमात को वैसे भी वोटर की कभी चिंता तो रही नहीं .... बस एक आंखों की शर्म बाकी थी । वो भी चंद संभ्रांत नेताओं में हुआ करती थी । जो कम से कम वोटर को इस तरह से मूँह पर गाली नहीं देते थे । आज धर्म और जातिवाद की दलाली करने वाले नेताओं की हार क्या हुई ? यह लोग उसी वोटर को खुल कर बिकाऊ बोल कर गाली देने लगे हैं । वाह भाई ! वैसे तो नेता को गाली देते हुए सबने सबको सुना है। लेकिन नेता वोटर को गाली देता है इसका मतलब यह हुआ कि वह लोकतांत्रिक व्यवस्था को खेल समझ रहा है। आप चुनाव पद्दति से चुन कर आते हैं, और वोट करने वाले को गाली दे रहे हैं। इसका मतलब यह है कि आप तानाशाह है, और आपको लोगों की अंतरात्मा की आवाज़ से कोई लेना देना नहीं है।


वोटर को गाली देने वाले नेता यह कान खोल कर समझ लें कि यदि वोटर को बिकाऊ कहते हो तो , भारतीय नेताओं जैसी विश्व विख्यात बिकाऊ जमात शायद ही कोई पूरी दुनिया में और कोई होगी । ऐसा सैकड़ों भ्रष्टाचार से जुड़े सर्वे


पहले कई बार कह चुके हैं। पहले अपने गिरेबान में झांके उसके बाद आम आदमी को इस तरह से गाली दे। यह चुनाव आपको यह सिखा कर गया है कि यह वक्त दरअसल आत्म विवेचना का है। और अपने आप में सुधार लाने का है। यह चुनाव आपको यह भी सिखा कर गया है कि इस देश में नफरत और जातिवाद के दम पर लंबे समय तक राज नहीं किया जा सकता। जाती वाद से ज्यादा प्राथमिकता आज भी रोटी, रोज़गार और मकान की है। जहां तक नेतागिरी करने के लाइसेंस की बात है, तो वहां पर सिर्फ अब इंसान, इंसान, इंसान और इंसान ही चलेगा । जातिवाद की आग में घटिया जज़्बातों के कबाब सेक कर अब नेतागिरी का पेट इस देश में नहीं भर पायेगा। उल्टा अपच हो जाएगी।


किसी भी तरह का 'चालाक जीव' अब इस देश की जनता की आंखों में जातिवाद की धूल नहीं झोंक सकता। भाजपा को चाहिए कि अपने आईटी सेल को यह समझाएं की - इस तरह से लिखकर और आम जनता को गाली देकर वह लाखों वोटरों की भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं। साथ ही साथ यह भी दिखा रहे हैं कि वह खुद आखिर किस हद तक गिर सकते हैं। तुरंत यह सब बंद कर दें , नहीं तो इसका असर बाकी राज्यों में व्याप्त छोटे-मोटे चुनाव में भी सटीक तरीके से दिखाई देने लगेगा । और वह दिन और पास आ जायेगा जब इन्हें अपनी झेंप मिटाने के लिए पूरे देश को एन्टी नेशनल या फिर देश द्रोही करार देना पड़ेगा।


नरेश राघानी


बेटी को विदा कर जेल, पैरोल खत्म

 पुत्री की विदाई के बाद 14 को कपिल, 15 को उदयभान जायेंगे जेल
प्रयागराज। मेजा की विधायक नीलम करवरिया और पूर्व विधायक उदयभान करवरिया की पुत्री का विवाह बुधवार को उनके आवास कल्याणी देवी के एक गेस्ट हाउस में सकुशल संपन्न हो गया। विवाह समारोह में कई दिग्गज राजनेता और मंत्री शामिल हुए थे। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने उदयभान की पुत्री को गिफ्ट देकर आशीर्वाद दिया। वहीं उनके साथ वैâबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह मौजूद रहे। विवाह समारोह में शामिल होने के लिए उदयभान और कपिलमुनि करवरिया को पैरोल मिली थी जिसमें अब दोनों की पैरोल सीमा समाप्त होने जा रही है। 14 फरवरी को कपिल मुनि करवरिया १२ बजे के लगभग नैनी सेंट्रल जेल पहुंच जायेंगे। वहीं १५ फरवरी को उदयभान करवरिया भी नैनी सेंट्रल जेल 12 बजे के अंदर भेज दिये जायेंगे। उक्त जानकारी भाजपा के वरिष्ठ नेता तथा अधिवक्ता देवेंद्रनाथ मिश्र ने दी है।


बृजेश केसरवानी


गैस टरबाइन-संचालित जेट सूट की उड़ान

भारती साहू


लंदन। क्या आपने कभी उड़ते हुए ऑफिस जाने का सोचा है बिना किसी ट्रैफिक की समस्या या फिर पार्किंग की समस्या के… केवल यात्रा का मजा लेते हुए दरअसल, हम एक रीयललाइफ आयरन मैन की बात कर रहे हैं, जिसने गैस-टरबाइन-संचालित जेट सूट पहनकर उड़ान का सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया। इस जेट सूट का निर्माण सैम रोजर्स  ने किया है। जेट सूट बनाने का विचार केवल लोगों का मनोरंजन करना और उन्हें खुश करना नहीं है, बल्कि इसका निर्माण इसलिए किया जा रहा है, ताकि आने वाले वक्त में मनुष्य आसानी से उड़ सके और एक स्थान से दूसरे स्थान जा सके।


सैम रोजर्स ने उस जेट सूट को फिर से डिजाइन किया है, जिसने मानव वैमानिकी नवाचार के क्षेत्र में गति के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है सैम के अनुसार, “आपके शरीर पर स्पूलिंग करने वाले पांच टर्बोजेट इंजन, एक बहुत ही अलग अनुभव कराते हैं”। ब्रिटेन स्थित लॉबोरो विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले सैम, वर्तमान में ग्रेविटी इंडस्ट्रीज में एडिटिव डिज़ाइन लीड और जेट सूट पायलट हैं। इसकी स्थापना ब्रिटिश आविष्कारक और उद्यमी रिचर्ड ब्राउनिंग ने 2017 में की थी। रोजर्स ने डसॉल्ट सिस्टम्स के 3-डी एक्सपेरिएंस वर्ल्ड कॉन्फ्रेंस में कहा, “हम पेटेंट और लंबित तकनीक के एक सूट के साथ अद्वितीय मानव उड़ान को सक्षम बनाना चाहते हैं।” जेट सूट पहनने वाले उत्साही लोगों के साथ एक नदी पर एक फ्लाइंग रेस की स्थापना करने वाले रोजर्स ने कहा, “एक मार्वल सुपरहीरो की तरह, जेट सूट पहनना और उड़ना, बहुत से लोगों की इच्छा है


रोजर्स ने कहा, “हमारा उद्देश्य है कि लोग अपनी आंखों से खुद को उड़ता हुआ देखें, जो आपको यह सवाल करने पर मजबूर कर देगा कि मनुष्य अपनी रचनात्मकता से और क्या-क्या प्राप्त कर सकता है” पांच-टर्बोजेट इंजन जेट सूट को पूरी तरह से एल्यूमीनियम, स्टील और नायलॉन से बनाया गया है. इस जेट सूट की कीमत 4,40,000 डॉलर (लगभग 3,14,48,340 रुपये) है और कंपनी अब तक ऐसे 10 सूट बेच चुकी है। रोजर्स ने कहा, हमारा उद्देश्य है कि इस जेट सूट को बड़े पैमाने पर उपलब्ध कराया जाए और इसकी कीमत कम करने की दिशा में काम किया जाए, ताकि अधिक से अधिक लोग इसका इस्तेमाल  कर सकें।


आरजेडी की नई कार्यकारिणी से मचा बवाल

अनुराग ठाकुर


पटना। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर बुलाई गई आरजेडी के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक के पहले जमकर बवाल देखने को मिल रहा है। प्रदेश पदाधिकारियों की लिस्ट सार्वजनिक तौर पर आरजेडी ने जारी नहीं की थी और आज की बैठक में शामिल होने के लिए नेताओं को फोन करके बुलाया गया था अब प्रदेश पदाधिकारियों की लिस्ट में शामिल पुराने नेता। जगह नहीं पाने के बाद भड़के हुए हैं राबड़ी आवास के बाहर जमकर तू-तू मैं-मैं देखने को मिल रही है।


राजद के प्रदेश पदाधिकारियों के बैठक के बीच राबड़ी देवी के आवास के बाहर राजद कार्यकर्ताओं का हंगामा नए लिस्ट में पुराने पदाधिकारियों को जगह नहीं मिलने पर हंगामा शुरू हो गया। हंगामा करने वालों ने प्रदेश अध्यक्ष और तेजस्वी के ऊपर लगा रहे गंभीर आरोप लगाया। कई जिलों से आए कार्यकर्ताओं को बैठक में नहीं बुलाया गया है। जिसकी वजह से यह लोग नाराज हो के गेट पर ही हंगामा कर रहे हैं। दूसरे जिलों से पहुंचे कार्यकर्ताओं का कहना है कि वे तेजस्वी जी पार्टी के कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर रहे हैं। दूसरे दल से आए लोगों के चलते हमें बाहर किया जा रहा है। नेताओं का कहना है कि बीजेपी-आरएसएस और जेडीयू के लोग पार्टी पर कब्जा करते जा रहे हैं, जो हम लोग किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करने वाले हैं।


हालांकि इससे पहले ही आरजेडी की बैठक विवादों में आ गयी थी। आरजेडी के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि बिना प्रदेश पदाधिकारियों की लिस्ट जारी किए हुए सीधे उनको बैठक में बुलाया गया। सभी प्रदेश पदाधिकारियों को पार्टी दफ्तर से पर्सनल कॉल करते उनकों नियुक्त किए जाने की बात बताई गई है और आज होने वाली बैठक में शामिल होने के लिए बुलाया गया । पार्टी के पदाधिकारी बनने वाले नेताओं को भी इस बात की जानकारी नहीं थी कि उन्हें प्रदेश पदाधिकारी बनाया गया है। उन्हें भी पार्टी ऑफिस से कॉल आने  के बाद इस बात की जानकारी मिली। 



सगे भाई ने गले पर किया वार, गंभीर

अयोध्या। रौनाही थाना के बड़ा गांव में संपत्ति विवाद को लेकर सगे भाई ने दो भाईयों पर हंसिया से हमला बोलकर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। एक का गला कटा वहीं दूसरे की दाएं हाथ की उंगलियां कट गईं। दोनों को जिला अस्पताल में लाकर भर्ती कराया गया। शिव चरन मौर्य की हालत गंभीर होने के कारण उसे जिला अस्पताल से ट्रामा सेंटर लखनऊं रेफर कर दिया गया है।


बड़ा गांव निवासी 34 वर्षीय राम नरेश का भाईयों से संपत्ति को लेकर कई सालों से विवाद चल रहा है जबकि राम नरेश बंटवारे के बाद अलग रहता है। बुधवार की शाम विवाद होने पर सत्तीचौरा चौकी से पुलिस ने मौके पर आकर मामला शांत कराया था और गुरूवार को सुलह कराने के लिए दोनों को चौकी बुलवाया था। गुरूवार सुबह शिव चरन के गले पर राम नरेश ने हंसिया चला दिया जिससे गर्दन पर गंभीर घाव हो गया। छोटा भाई राम चरन जब बचाने दौड़ा तो उस पर भी हंसिया चला दी, जिससे दाएं हाथ की उंगलियों पर गहरा जख्म हो गया है।


शिमला लाई जा रही 40 लाख की चरस

चंपावत। चंपावत की बनबसा पुलिस एवं एसएसबी की टीम ने भारत नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दो नेपाली महिलाओं को 3 किलो 960 ग्राम चरस के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। पकड़ी गई महिलाओं ने स्वीकार किया है कि वे इस चरस को नेपाल से हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में पहुंचाने का प्रयास कर रही थीं। 
चंपावत पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान पुलिस व एसएसबी को बड़ी सफलता मिली है। चौकी शारदा बैराज थाना बनबसा क्षेत्रान्तर्गत भारत-नेपाल अन्तराष्ट्रीय सीमा पर स्वागत गेट के पास थाना बनबसा, चौकी शारदा बैराज एवं सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने 2 नेपाली महिलाओं के कब्जे से कुल 3 किलो 960 ग्राम चरस बरामद की है। पुलिस के अनुसार 38 वर्षीय माया देवी पत्नी स्व. रमेश रोका कब्जे से 1 किलो 960 ग्राम चरस एवं 40 वर्षीय लक्ष्मी रूका पत्नी मैते के कब्जे से 2 किलो चरस बरामद कर उन्हें गिरफ्तार किया गया है। दोनों महिलाएं नेपाल के ग्राम रुकुम, वार्ड न0-08, जिला रूकुम की रहने वाली हैं। 
बरामद चरस की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 3,96000 रुपये है। पूछताछ में उन्होंने बताया कि वे यह चरस अपने गॉव रुकुम नेपाल से शिमला ले जा रही थी। जिसके लिए उन्हे दस हजार रूपये गॉव के ही एक व्यक्ति द्वारा दिये गये थे।


चावला के प्रत्यपर्ण से खुलेंगे कई राज़

नई दिल्ली। कई पूर्व भारतीय क्रिकेट सितारे सट्टेबाज संजीव चावला के भारत प्रत्यर्पण से मुश्किल में पड़ सकते हैं। दिल्ली पुलिस दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान दिवंगत हैंसी क्रोनिया से जुड़े मैच फिक्सिंग मामले के कथित मास्टरमाइंड को गुरुवार को लंदन से भारत लेकर आई है।


दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के सूत्रों ने आरोप पत्र के हवाले से कहा कि मैच फिक्सिंग मामले में अभी तक फरार चल रहा ब्रिटिश नागरिक चावला भारतीय खिलाड़ियों सहित कई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों के साथ जुड़ा हुआ था। क्राइम ब्रांच द्वारा संजीव चावला पर तैयार डोजियर से पता चलता है कि उसके लंदन स्थित 4मोंक विले एवेन्यू बंगले में कई भारतीय क्रिकेर्ट्स का आना-जाना लगा रहता था। इतना ही नहीं, पुलिस द्वारा बरामद चावला की फोन सूची से वर्ष 2000 के जनवरी से मार्च के बीच कॉल डेटा रिकॉर्डस (सीडीआर) में उन क्रिकेर्ट्स के फोन नंबर पाए गए हैं।


भारत में वर्ष 2000 में खेली गई भारत-दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट सीरीज के मैचों को फिक्स करने का खुलासा हुआ है। यह 2000 में फरवरी से मार्च के बीच की घटना है जब भारत में भारत-दक्षिण अफ्रीका सीरीज के दौरान मैच फिक्स करने की साजिश का खुलासा हुआ था। दिल्ली पुलिस के एक पूर्व आयुक्त ने आईएएनएस से कहा, “चावला के लंदन भाग जाने के बाद उससे पूछताछ नहीं की जा सकी। बाद में तत्कालीन भारतीय क्रिकेटरों को वैश्विक सट्टेबाजों से जोड़ने वाले सीडीआर की भी जांच नहीं हो पाई थी।” क्राइम ब्रांच ने स्कॉटलैंड यार्ड से भी दस्तावेज इकट्ठा किए हैं। स्कॉटलैंड यार्ड के अधिकारियों ने चावला को वर्ष 2001 में इंग्लैंड के खिलाड़ियों से जुड़े एक और सट्टेबाजी के मामले में गिरफ्तार किया था। क्राइम ब्रांच ने इंग्लैंड के क्रिकेटरों की संलिप्तता वाले सट्टेबाजी के एक अन्य मामले में चावला को गिरफ्तार करने वाली स्कॉटलैंड यार्ड से भी दस्तावेज लिए हैं।


इंग्लैंड के पूर्व ऑल राउंडर क्रिस लुईस ने आरोप लगाया था कि चावला ने इंग्लैंड के तत्कालीन कप्तान एलेक स्टीवर्ट को मैचों में खराब प्रदर्शन करने के लिए रिश्वत की पेशकश की थी। इसके बाद स्कॉटलैंड यार्ड ने लुईस के बयान के आधार पर चावला और एक प्रमुख भारतीय प्रमोटर से पूछताछ की थी।


जांच के दौरान यह भी पता चला कि भारत, पाकिस्तान, वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका के कई खिलाड़ी चावला के संपर्क में थे और इनमें से अधिकतर खिलाड़ी बुकी के 230 कमर्शियल रोड लंदन ईआई 2एनबी स्थित रेस्तरां ईस्ट इज ईस्ट गए थे। दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर अजय राज शर्मा ने दुबई स्थित सट्टे के सिंडिकेट्स के साथ चावला के संबंधों के बारे में कहा कि दिल्ली पुलिस को शुरुआत में अंडरवल्र्ड के एक सदस्य द्वारा उपयोग किए गए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के एक नंबर का पता चला था। चावला के अंडरवल्र्ड के साथ संबंधों की जांच हालांकि पुलिस हिरासत में पूछताछ के दौरान होगी। दिल्ली पुलिस के आरोप पत्र के अनुसार, सट्टेबाज संजीव चावला के सहयोगियों में से एक कृष्ण कुमार (टी-सीरीज म्यूजिक ग्रुप के) का फोन नंबर सीधे तौर पर वर्ष 2000 की शुरुआत में दुबई से संचालित अंडरवल्र्ड संगठन के एक कथित सदस्य शाहीन हैथले के फोन नंबर से जुड़ा था।


दुनिया भर की क्रिकेट बिरादरी को हिला देने वाले मैच फिक्सिंग मामले के दौरान दिल्ली पुलिस प्रमुख पूर्व आईपीएस अधिकारी अजय राज शर्मा ने कहा, “मैच फिक्सिंग मामले के मास्टरमाइंड चावला से पूछताछ के बाद क्या सामने आता है, इसका मुझे बेसब्री से इंतजार है। उसने कई महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय मैचों के परिणामों को बदलने के लिए कई क्रिकेटरों को भारी मात्रा में भुगतान किया था। उससे पूछताछ के बाद पूर्व के अन्य घोटाले भी उजागर होंगे।”


दिल्ली मेट्रो रेल फिर बनी लवर प्वाइंट

रवि चौहान


नई दिल्ली। जहां एक तरफ पूरी दुनिया में जोरो शोरो से वेलेंटाइन डे मनाने की तैयारी चल रही है। वहीं सोशल मीडिया पर दिल्ली मेट्रो में एक जोड़े की वी़डियो तेजी से वायरल हो रही है। जिसमें एक प्रेमी जोड़ा एक दूसरे को किस करता हुआ नजर आ रहा है। वायरल हुए वीडियो में देखा जा सकता है कि एक कपल मेट्रो से यात्रा कर रहा है। प्रेमिका के स्टेशन पर उतरने से पहले मेट्रो के अंदर रोमांस करना शुरू कर देता है। वीडियो में लड़का-लड़की दोनों एक दूसरे को किस कर रहे हैं। मेट्रो में सफर कर रहे इस कपल को किसी की भी परवाह नहीं है।


फिलहाल अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि यह वीडियो किस मेट्रो स्टेशन का है। यह कोई पहला मामला नहीं है, जब मेट्रो के अंदर की कुछ इस तरह का वीडियो वायरल हुआ है। अब तक देश की कई मेट्रो से इस तरह की घटना सामने आ चुकी हैं। वहीं दो महीने पहले भी दिल्ली मेट्रो में अश्लील हरकतें करते हुए एक कपल का वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें एक कपल चलती मेट्रो में सभी यात्रियों के बीच किस करते हुए नजर आए थे। जिसका मेट्रो में सफर कर रहे एक यात्री मे वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर किया था।


लखनऊ न्यायालय परिसर में बम धमाका

लखनऊ (एजेंसी)। कोर्ट परिसर में बुधवार दोपहर दो वकीलों के बीच आपसी विवाद का मामला इतना बढ़ गया कि एक ने देसी बम से हमला कर दिया। अचानक हुए बम धमाके से पूरा परिसर गूंज उठा और कोर्ट में सनसनी फैल गई। हमले में कोर्ट परिसर में मौजूद कुछ वकील घायल हुए हैं। यह घटना लखनऊ के वजीरगंज की है। सूचना मिलते ही वजीरगंज पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। शुरूआती जांच में बताया जा रहा है कि मामला दो वकीलों की बीच शुरू हुआ, जिसके बाद एक ने देसी बम से दूसरे पर हमला कर दिया। जिस वकील पर हमला किया गया, उनका नाम संजीव लोधी बताया जा रहा है।मौके पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल से तीन जिंदा बम भी मिले हैं। घटना के बाद से पूरे परिसर में हड़कंप मच गया है। हमले के बाद से ही वकीलों में आक्रोश है। वकील संजीव लोधी ने परिसर में वकीलों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाया है और अपनी सुरक्षा की मांग की है।


आदिवासी छात्र-छात्राओं का लखनऊ दौरा

रिपोर्ट-हरदीप छाबड़ा 


अंबागढ़ चौकी- क्षेत्रीय मुख्यालय (बैगलुरू) न.वि.अ., भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के उप-महानिरीक्षक श्री संजय कोठारी के मार्ग दर्शन एवं 38वीं. वाहिनी के सेनानी श्री नरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ के नक्सल प्रभावित जिला राजनांदगांव मे तैनात 38 वीं वाहिनी भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल द्वारा जनकल्याण कार्यक्रम के तहत वाहिनी के कार्यक्षेत्र से लखनऊ भ्रमण के लिए 28 आदिवासी छात्र-छात्राओं (13 छात्र व 15 छात्राए) का चयन किया गया एवं दिनांक 13.02.20 को सामरिक मुख्यालय में एकत्रित कर नेहरु युवा केन्द्र, राजनांदगांव भेजा गया।


सभी चयनित छात्र-छात्राओं को दिनांक 15.02.20 से 21.02.20 तक लखनऊ के विभिन्न ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थलोें का निःशुल्क भ्रमण कराया जायेगा तथा देश के विभिन्न राज्यों के आदिवासी छात्र-छात्राओं से सांस्कृतिक मूल्यों का आदान प्रदान किया जायेगा। भ्रमण के लिए चयनित सभी छात्र-छात्राओं को डाॅं. मनोरंजन कुमार, सहायक सेनानीध् वैट., 38वी वाहिनी के द्वारा उचित मार्गदर्शन एवं उत्साहवर्धन किया गया तथा भ्रमण से प्राप्त होने वाले शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक मूल्यों से अवगत कराया गया एवं लखनऊ भ्रमण हेतु नेहरु युवा केन्द्र, राजनांदगांव (छ0ग0) के लिए रवाना किया गया।


यूपीः बस हादसे में 14 की मौत 35 घायल

फिरोजाबाद (एजेंसी)। उत्तरप्रदेश के फिरोजाबाद जिले में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर बुधवार देर रात दिल्ली से बिहार जा रही एक स्लीपर बस ने खड़े ट्रक में पीछे से टक्कर मार दी। इससे 14 लोगों की मौत हो गई। हादसे में 35 यात्री घायल हो गए, जिनका इलाज सैफई पीजीआई में किया जा रहा है।


बस में 90 लोग सवार थे। अब तक 11 मृतकों की पहचान हो गई है। बताया जाता है कि यह हादसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे में फिरोजाबाद और इटावा जिले की सीमा में भदान गांव के पास बुधवार रात हुआ जिसमें पंक्चर बनवा रहे खड़े ट्रक में एक अनियंत्रित स्लीपर बस ने पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में बस सवार 14 यात्रियों की मौत हो गई और 35 यात्री घायल हो गए हैं जिन्हें इलाज के लिए सैफई के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।


बस दिल्ली से बिहार के मोतिहारी जा रही थी। हादसा इतना जबरदस्त था कि बस का अगला हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। बस को क्रेन के जरिए हटाया गया है। अभी मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। घायलों के परिजनों को दुर्घटना की सूचना दे दी गई है और मृतकों की पहचान मुकेश, विनोद कुमार, कलामुद्दीन, भगवान चौधरी, हरिंदर पासवान, चन्दन महतो, नागेश्वर शाह, गुलशन कुमार, अनिल शाह, राकेश कुमार, ट्रक चालक भूरा के रूप में हुई है।च्च्मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे में मरने वाले यात्रियों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और घायलों के समुचित इलाज के निर्देश दिए हैं।


यूपी विधानसभा में विपक्ष का हंगामा

लखनऊ (एजेंसी)। यूपी विधानसभा का बजट सत्र शुरू होते ही सीएए-एनआरसी और एनपीआर के मुद्दे पर विपक्षी विधायकों ने हंगामा किया। सपा-बीएसपी के विधायकों ने पोस्टर बैनर के साथ विरोध किया। विपक्षी विधायकों ने वेल में आकर नारेबाजी की। वहीं, कांग्रेस के विधायकों ने विधानसभा के गेट पर प्रदर्शन किया। उन्होंने हाथों में तख्तियां थाम रखीं थी जिन पर सरकार को किसान और महिला विरोधी बताया गया था। साथ ही उन्होंने सरकार से नागरिकता क़ानून वापस लेने की मांग की। कांग्रेस विधायकों का कहना है कि सरकार असल मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए नागरिकता कानून लेकर आई है।
विपक्षी विधायकों ने राज्यपाल के अभिभाषण में भी हंगामा किया। जैसे ही राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अपना अभिभाषण पढ़ने के लिए उठीं, वैसे ही समाजवादी पार्टी के विधायक सदन के बीचे में जाकर प्रदर्शन करने लगे और कुछ वहीं बैठ गए। इनमें से कुछ विधायकों ने सीएए, एनआरसी के खिलाफ प्ले कार्ड हाथ में ले रखे थे। कुछ विधायक अपनी पीठ पर गैस सिलेंडर लेकर पहुंचे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सदन में ही मौजूद थे कुछ समाजवादी और कांग्रेस विधायक विधानसभा के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे।


एनएचएआई का फैसला 'फास्टैग शुल्क माफ'

नई दिल्ली (एजेंसी)। इलैक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन को बढ़ावा देने के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 29 फरवरी तक फास्टैग शुल्क माफ करने का फैसला किया है। बुधवार को भारत सरकार ने 527 से ज़्यादा नेशनल हाईवे पर फास्टैग सेवा शुरू करने का ऐलान किया है।
सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय ने अपने स्टेटमेंट में कहा कि, “राष्ट्रीय राज्यमार्ग प्लाज़ा पर उपभेक्ता शुल्क की डिजिटल वसूली को बढ़ाने के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने फैसला किया है कि NHAI फास्ट टैग पर 15 फरवरी से 29 फरवरी 2020 के दौरान 100 रुपए फास्टैग शुल्क माफ किया जाएगा।”
सड़क पर वाहन चलाने वाले सभी यूज़र्स किसी भी अधिक्रत विक्रय स्थल पर जाकर अपना मान्य रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट दिखाकर मुफ्त में NHAI फास्टैग ले सकते हैं।


NHAI फास्टैग सभी नेशनल हाईवे टोल प्लाज़ा, रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस, सामान्य सर्विस सेंटर्स, ट्रांसपोर्ट हब और पेट्रोल पंप के साथ कई अन्य जगहों से खरीदा जा सकता है।
स्टेटमेंट में कहा गया है कि, “अपने नज़दीकी NHAI फास्टैग विक्रय स्थल पर पहुंचने के लिए मायफासटैग ऐप डाउनलोड कर सकते हैं या www.ihmcl.com पर लॉगइन कर सकते हैं, इसके अलावा एनएच हेल्पलाइन नंबर 1033 पर कॉल करके इसकी जानकारी ली जा सकती है।”
फास्टैग के लिए लगने वाले सिक्युरिटी डिपॉज़िट और फास्टैग वॉलेट के लिए मिनिमम बैलेंस अमाउंट में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।


सड़क पर रेप पीड़िता का शव, हंगामा

मेरठ(यूए)। रेप पीड़िता का शव पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचने के बाद परिजनों और ग्रामीणों ने मिलकर हंगामा किया। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़क पर बैठे ग्रामीण और परिजन। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को शांत करने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण और परिजन अपनी मांग पर अड़े हुए हैं और शव को उठाने नहीं दे रहे हैं। सड़क पर शव रखकर ग्रामीण और परिजन रास्ता बंद करके हंगामा कर रहे हैं।


ज्ञात हो मवाना थाना क्षेत्र के कॉल गांव की रेप पीड़िता ने बंद कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिससे ग्रामीण वासियों में अच्छा खासा रोष व्याप्त है।


 


कोरोना पर टिप्पणी पड़ी भारी, किया ट्रोल

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी एक बार फिर अपनी गलती को लेकर ट्रोल हो गए हैं। दरअसल कोरोना वायरस को लेकर बुधवार को किए गए एक ट्वीट में राहुल ने जम्मू-कश्मीर के एक हिस्से को पाकिस्तान के हिस्से के तौर पर दिखा दिया। इसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने राहुल को ट्रोल करना शुरू कर दिया। जिसके बाद राहुल ने वह ट्वीट डिलीट कर दिया।
राहुल ने कहा कि कोरोना वायरस हमारे लोगों और हमारी अर्थव्यवस्था के लिए बहुत ही गंभीर खतरा है। मेरे हिसाब से सरकार इस खतरे को गंभीरता से नहीं ले रही है। समय पर कदम उठाने की जरूरत है। यहां तक तो ठीक था, लेकिन उन्होंने इस ट्वीट के साथ विश्व का नक्शा शेयर किया जिसमें भारत से कश्मीर को अलग दिखाया गया है। इस नक्शे में जम्मू-कश्मीर के एक हिस्से को पाकिस्तान के हिस्से के रूप में दिखाया गया है। इसे लेकर राहुल गांधी ट्रोल हो गए। राहुल के इस ट्वीट के बाद ट्विटर यूजर्स ने राहुल को निशाने पर लेना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद राहुल ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया और एक न्यूज स्टोरी के साथ दूसरा ट्वीट किया।


अर्टिका-हाइवा में टक्कर, तीन की मौत

सुनील पटेल


मुंगेली। बिलासपुर-रायपुर मुख्यमार्ग में सरगांव के पास आज सुबह तेज रफ्तार अर्टिका कार खड़े हाइवा को जोरदार टक्कर मारी। हादसा इतना गम्भीर था की कार में सवार मौके पर ही तीन लोंगो की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार ट्रक चालक सड़क किनारे ट्रक खड़े कर टायर की हवा चेक करवा रहा था।


पीछे से आ रही तेज रफ्तार कार सीजी 04 एमवी 6176 ट्रक को टक्कर मार दी। घटना की सूचना मिलने पर मौके पहुंचकर कार में फंसे लोगों को क्रेन की मदद से बाहर निकाला गया है। मृतक कौन है इसका पता अभी तक नहीं चल पाया है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।


टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री पर कोरोना का असर

नई दिल्ली। कोरोना वायरस चीन के बाद अब दुनियाभर में तेजी से फैल रहा है। अब इस वायरस का असर टेक इंडस्ट्री पर भी पड़ा है। चीन के बाद दुनियाभर में फैल रहे कोरोना वायरस के खतरे का असर टेक्नॉलजी इंडस्ट्री पर भी पड़ रहा है। इस वायरस की वजह से बार्सिलोना में होने वाला दुनिया का सबसे बड़ा टेक इवेंट MWC 2020 भी कैंसल करना पड़ गया। MWC (मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस) इवेंट 24 फरवरी से 27 फरवरी के बीच आयोजित होना था। दरअसल, कोरोना वायरस के खतरे के कारण इस इवेंट में एक के बाद एक कई दिग्गज कंपनियों ने आने से मना कर दिया था, जिसके बाद GSM असोसिएशन ने इस साल के इवेंट को कैंसल करने का फैसला किया है।


जनिेए क्या है मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस
मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस का आयोजन हर साल फरवरी में स्पेन के बार्सिलोना में होता है। यह दुनिया में टेलिकॉम सेक्टर का सबसे बड़ा इवेंट है। स्पॉन्सर्स सहित कई बड़ी और छोटी कंपनियां पहले से ही इस इवेंट में हिस्सा नहीं लेने का एलान कर चुकी हैं। हाल ही में वोडाफोन ने भी कहा था कि 'कंपनी कोरोना वायरस से जुड़ी रिपोर्ट्स की निगरानी कर रही है। कंपनी ने वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन की ओर से हाल में जारी हुई चेतावनी को देखने के बाद इस साल MWC में शामिल नहीं होने का फैसला किया है।' इससे पहले नोकिया, HMD ग्लोबल, LG, वीवो, सोनी, ऐमजॉन, टानला सलूशंस और कुछ अन्य कंपनियां MWC से हटने की घोषणा कर चुकी थीं। इस टेक इवेंट में 1 लाख से ज्यादा विजिटर्स आने वाले थे, जिनमें चीन के 5000 से 6000 विजिटर्स शामिल होते।


रेलवे का फुटओवर ब्रिज गिरा, 12 घायल

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पुराने स्टेशन पर गुरुवार को फुटओवर ब्रिज के स्लोप का एक हिस्सा ढह गया। हादसे में 9 लोग घायल हो गए, जिसमें 3 की हालत गंभीर है। 4 को रेलवे और 5 को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक, हादसा 2-3 नंबर प्लेटफॉर्म पर हुआ। उस वक्त तिरुपति निजामुद्दीन एक्सप्रेस खड़ी हुई थी। फुटओवर ब्रिज के नीचे कुछ स्टॉल भी लगे हुए थे। हादसे के बाद रेलवे प्रशासन ने आम यात्रियों के लिए एफओबी को बंद कर दिया। मामले की जानकारी मिलते ही जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा मौके पर पहुंचे। मंत्री ने स्टेशन के सभी ब्रिज की जांच करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान मंत्री ने हादसे की जानकारी ली। वहीं हादसे के बाद प्रदेश के मंत्रियों की अब प्रतिक्रिया सामने आ रही है। मंत्री सज्जन सिंह ने ट्वीट कर घायलों के जल्द स्वास्थ की कामना की है। हादसे की खबर मिलने के बाद मुक्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर घायलों को हर संभव मदद उपलब्ध करवाने की और सभी के जल्द स्वस्थ होने की बात कही।


राजनीतिक अपराध पर कसा शिकंजा

नई दिल्ली (एजेंसी)। सुप्रीम कोर्ट ने सभी राजनैतिक पार्टियों से आपराधिक रिकार्ड वालों को टिकट देने का कारण पूछा है और सभी ऐसे प्रत्याशियों का क्रिमिनल रिकार्ड भी मांग है और उसे सर्वजनिक करने के भी लिया कहा है। हालांकि सारे चुनाव लगभग निपट चुके है फिर भी बिहार और बंगाल राज्य में विधानसभा चुनाव होने वाले है। अगर राजनैतिक पार्टिया ईमानदारी से सुप्रीम कोर्ट के राजनीति से गंदगी साफ करने वाले कदम का समर्थन करती है तो हो सकता है राजनीति के शुद्धिकरण का श्रीगणेश हो जाये। ये शायद इस लोकतंत्र की जड़ो में लग रहे दीमक की रोकथाम करने का सबसे कारगर उपाय साबित होगा। बहरहाल सुप्रीम कोर्ट ने हंटर तो चला दिया है पर बेशर्मी में गेंडे को मात देने वाले नेताओं की मोटी चमड़ी पर कितना असर करेगी ये तो वक़्त ही बताएगा।


चिकित्सा अधिकारी को प्रभाव से निलंबित किया

मनोज सिंह ठाकुर         उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन संभागायुक्त ने टीकाकरण महाअभियान के दौरान अनुपस्थित रहने पर एक चिकित्सा अधिकारी को तत्क...