बुधवार, 30 अगस्त 2023

वोकल फॉर लॉकल, चीन निर्मित राखियां नदारद

वोकल फॉर लॉकल, चीन निर्मित राखियां नदारद 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। पिछले कुछ सालों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की त्योहारों पर ‘वोकल फॉर लॉकल’ और ‘आत्मनिर्भर भारत’ की अपील का असर धरातल पर नजर आ रहा है। उत्तर भारत के सबसे बड़े थोक बाजार, सदर बाजार में इस बार रक्षाबंधन के त्यौहार पर चीन निर्मित राखियां नदारद हैं और सिर्फ भारतीय राखियों की ही भरमार है।
इससे दुकानदारों में भी खासा उत्साह है और उन्हें इस बार अच्छा कारोबार होने की उम्मीद है। 
सदर बाजार में चीन निर्मित राखियां कम उपलब्ध होने पर स्थानीय दुकानदार बृजेश ने कहा, “ आए दिन चीन सीमा का अतिक्रमण कर हमारे देश में घुस रहा है। हम क्यों चीन का माल बनाएं? चीन की राखी न हमारा ग्राहक खरीदना चाहता है और न हम बनाना चाहते हैं।” 
एक अन्य दुकानदार अरविंद कुमार ने कहा,“ अब लोग चीन की राखियां पसंद नहीं करते और इसलिए हम रखते भी नहीं हैं।” स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि ग्राहक भारतीय राखियों की ही ज्यादा मांग कर रहे हैं। वे चीन की राखी की मांग में कमी का एक प्रमुख कारण उसकी महंगी कीमत और खराब गुणवत्ता को भी बता रहे हैं। दुकानदार संजय यादव ने बताया कि इस बार सदर बाजार में तीन रुपये से लेकर 200 रुपये कीमत तक की भारतीय राखियां उपलब्ध हैं जबकि चीनी राखी की शुरूआती कीमत ही 50 रुपये है और यह टूटती भी जल्दी है।
दिल्ली व्यापार महासंघ के अध्यक्ष देवराज बवेजा ने एक न्यूज एजेंसी को बताया, “ बाजार में 80 फीसदी भारतीय राखियां ही मिल रही हैं और राखियों के बाजार में चीन की हिस्सेदारी मुश्किल से 20 फीसदी तक ही रह गई है।
यह भी केवल कच्चे माल के तौर पर ही है।” उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि चीन की राखियों की मांग बीते तीन-चार साल के दौरान कम हुई है। इससे पहले चीन से राखियां खूब आती थीं।
राखियों के थोक व्यापारी अनिल का भी यही कहना था कि राखियों के लिए कुछ कच्चा माल जरूर चीन से आता है लेकिन उन्हें यहीं तैयार किया जाता है। 
देशभर के व्यापारियों के राष्ट्रीय सगंठन कान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण खंडेलवाल ने दावा किया है कि इस बार राखी पर दिल्ली समेत समूचे देश में 10 हजार करोड़ रुपये का कारोबार होने की उम्मीद है, जबकि पिछले साल राखियों का सात हजार करोड़ रुपये का व्यापार हुआ था। खंडेलवाल ने बताया कि भारतीय बाजार पर चीनी कब्जे की कुछ साल पहले तक ये स्थिति थी कि चीन से करीब चार हजार करोड़ रुपये की राखियां या उत्पाद आयात किए जा रहे थे। 
हालांकि दुकानदारों का यह भी कहना है कि उत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों में मूसलाधार बारिश और बाढ़ की वजह से इस बार राखियों की बिक्री में पिछले साल की तुलना में कमी आयी है। व्यापारी अनिल ने बताया कि इस बार पंजाब, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश और बाढ़ के कारण राखी का कारोबार पिछले साल की तुलना में कम रहा है।” दुकानदार संजय यादव ने बताया कि ज्यादातर दुकानदारों का अब तक सिर्फ 50 से 75 फीसदी ही माल बिका है जबकि पहले अब तक सारा माल खत्म हो जाता था। 
भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन का त्यौहार सावन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस साल रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त दोनों दिन मनाया जाएगा। 
रक्षाबंधन के दिन बहन, भाई की कलाई पर रक्षासूत्र बांधकर उसके सुखी जीवन की कामना करती हैं। वहीं भाई, बहन की रक्षा का वचन देता है। राखी व्यापारी केवल सिंह ने बताया कि आजकल धागे वाली और सूती राखियों की मांग है और बाजार में सिर्फ भारतीय राखियां ही उपलब्ध हैं। 
बाजार में इस बार धागे वाली राखी, रेश्म की राखी, कलावा वाली रखी, रूद्राक्ष की राखी, मोर पंखी राखियां हैं। इसके अलावा भैया-भाभी की ‘लुम्बे’ वाली राखियों भी बाजार में मिल रही हैं। 
बच्चों के लिए कार्टून किरदारों की राखियां उपलब्ध हैं। उनमें ‘मोटू पतलू’ “छोटा भीम’, ‘शिनचेन’ और ‘डोरी मोन’ आदि राखियां हैं। प्रधानमंत्री ने बीते रविवार को भी ‘मन की बात’ कार्यक्रम में रक्षाबंधन की अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए दोहराया था, “पर्व-उल्लास के समय हमें वोकल फॉर लोकल’ के मंत्र को भी याद रखना है। ‘आत्मनिर्भर भारत’ का अभियान हर देशवासी का अपना अभियान है।”

आदित्य एल-1 मिशन को लॉन्च करने की तैयारियां

आदित्य एल-1 मिशन को लॉन्च करने की तैयारियां 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। इसरो यानी इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन ने बुधवार को बताया कि आदित्य एल-1 मिशन को लॉन्च करने की तैयारियां चल रही हैं। व्हीकल के इंटरनल चेक पूरे कर लिए गए हैं। आदित्य L1 को PSLV XL रॉकेट के जरिए 2 सितंबर को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से सुबह 11 बजकर 50 मिनट पर लॉन्च किया जाएगा।
ये करीब 4 महीने में पृथ्वी से 15 लाख किलोमीटर दूर लैगरांजे पॉइंट-1 यानी L1 पॉइंट तक पहुंचेगा। आदित्य स्पेसक्राफ्ट, L1 पॉइंट के चारों ओर घूमकर सूर्य पर उठने वाले तूफानों को समझेगा।
इसके अलावा मैग्नेटिक फील्ड और सोलर विंड जैसी चीजों की स्टडी करेगा। आदित्य में प्रयोग के लिए 7 पेलोड लगे हैं।
आदित्य को सूर्य और पृथ्वी के बीच हेलो ऑर्बिट में स्थापित किया जाएगा। L1 पॉइंट के चारों ओर की ऑर्बिट को हेलो ऑर्बिट कहा जाता है। इसरो का कहना है कि L1 पॉइंट के आस-पास हेलो ऑर्बिट में रखा गया सैटेलाइट सूर्य को बिना किसी ग्रहण के लगातार देख सकता है।
इससे रियल टाइम सोलर एक्टिविटीज और अंतरिक्ष के मौसम पर भी नजर रखी जा सकेगी। 
उम्मीद की जा रही है कि आदित्य L1 के पेलोड कोरोनल हीटिंग, कोरोनल मास इजेक्शन, प्री-फ्लेयर और फ्लेयर एक्टिविटीज की विशेषताओं, पार्टिकल्स की मूवमेंट और स्पेस वेदर को समझने के लिए जानकारी देंगे।
लैगरांजे पॉइंट का नाम इतालवी-फ्रेंच मैथमैटीशियन जोसेफी-लुई लैगरांजे के नाम पर रखा गया है। यह सामान्य तौर पर एल-1 के नाम से जाना जाता है। ऐसे पांच पॉइंट धरती और सूर्य के बीच हैं, जहां सूर्य और पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल बैलेंस हो जाता है और सेंट्रिफ्युगल फोर्स बन जाता है।
ऐसे में इस जगह पर अगर किसी ऑब्जेक्ट को रखा जाता है तो वह आसानी से दोनों के बीच स्थिर रहता है और एनर्जी भी कम लगती है। पहला लैग्रेंज पॉइंट धरती और सूर्य के बीच 15 लाख किलोमीटर की दूरी पर है। आम शब्दों में कहें तो एल-1 ऐसा पॉइंट है जहां पर कोई भी ऑब्जेक्ट सूर्य और धरती से बराबर दूरी पर स्थिर रह सकता है।

रोहतास में भीषण हादसा, 7 लोगों की मौत

रोहतास में भीषण हादसा, 7 लोगों की मौत 

अविनाश श्रीवास्तव 
रोहतास। रोहतास जिले में भीषण सड़क हादसे में एक परिवार के सात लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि पांच लोग गंभीर हालत में है। घायलों को हायर सेंटर रेफर किया है। घटना थाना शिवसागर क्षेत्र से पखनारी के पास हुई। NH 2 पर आज बुधवार सुबह कंटेनर में पीछे से स्कॉर्पियो ने टक्कर मार दी। हादसा इतना भीषण था कि सात लोगों की दर्दनाक मौत मौके पर हो गई। घटना के बाद हाईवे पर जाम लग गया।
सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को अस्पताल भेजा। पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर स्कॉर्पियो में फंसी लोगों की लाशों को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस के मुताबिक, हाईवे किनारे खड़े कंटेनर में तेज रफ्तार स्कॉर्पियो ने टक्कर मार दी।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सड़क पर तेज गति से आ रही स्कॉर्पियो अचानक से अनियंत्रित हो गई और सीधे सड़क किनारे खड़े कंटेनर से जा टकराई। इस हादसे में पांच महिला, दो बच्चों सहित सात लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। सभी मृतक कैमूर जिला के सवार थाना के कुडारी गांव के निवासी थे। गाड़ी में सवार घायल अन्य पांच लोगों को सदर अस्पताल में भर्ती किया गया है। जाानकारी के मुताबिक स्कार्पियो सवार सभी लोग बोधगया से कैमूर लौट रहे थे और हादसे का शिकार हो गए। सभी मृतक और घायल एक ही परिवार के हैं। शिवसागर हादसा।
मृतकों में 50 वर्षीय अरविंद शर्मा, उनकी पत्नी, पुत्र आदित्य कुमार, रिया कुमारी के अलावा 15 वर्षीय चांदनी कुमारी, 18 साल की तारा कुमारी तथा 35 वर्ष की सोनी देवी की मौत हो गई। वहीं घायल नंदन प्रियदर्शी, रितु शर्मा, संदेश्वर शर्मा, दिव्या कुमारी तथा उपेंद्र शर्मा को सासाराम के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन घायलों की नाजुक स्थिति देखते हुए सभी को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। पुलिस सभी शवों को सासाराम के सदर अस्पताल लाई है, जहां पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

कांग्रेस जनहितैषी पार्टी, साबित किया: राहुल

कांग्रेस जनहितैषी पार्टी, साबित किया: राहुल

अकाशुं उपाध्याय 
बेंगलुरु। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के नेतृत्व वाली कर्नाटक सरकार ने बुधवार को विरासत शहर मैसूर में बहुप्रतीक्षित 'गृह लक्ष्मी' योजना शुरू की है। एक अग्रणी पहल का उद्देश्य उन महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करना है जो राज्य में अपने-अपने घरों की मुखिया हैं। यह योजना कर्नाटक में महिलाओं की भलाई और वित्तीय सशक्तिकरण में सुधार के लिए कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा शुरू की गई सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों की एक श्रृंखला का हिस्सा है। 
गृहलक्ष्मी कार्यक्रम की शुरुआत एआईसीसी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने रुपये का डिजिटल चेक जारी करके की। 2000 में मंच पर एक विशेष बैले गीत और एक फिल्म कलाकार साधु कोकिला द्वारा रचित असेंबल संगीत की पृष्ठभूमि में। खड़गे ने सिद्धारमैया सरकार के 100 दिन पूरे होने के अवसर पर प्रचार एवं सूचना विभाग द्वारा प्रकाशित एक पुस्तक का भी विमोचन किया। कांग्रेस प्रमुख ने कर्नाटक के लोगों को आश्वासन दिया कि 'युवा निधि' की पांचवीं गारंटी जल्द ही लागू की जाएगी। "मुझे विभिन्न अन्य पार्टियों से इनपुट मिला है कि वे भी गारंटी के माध्यम से इस सामाजिक न्याय को प्रदान करना चाहते हैं, वे चाहते हैं कि हम लोगों को सामाजिक न्याय प्रदान करने में उनका मार्गदर्शन करें"। उन्होंने कहा कि यद्यपि कांग्रेस की गारंटियों ने सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के बाद देश में हलचल मचा दी है, लेकिन भाजपा के लोग कांग्रेस की गारंटियों के प्रभाव और प्रभावकारिता को समझने में सक्षम नहीं थे। नरेंद्र मोदी और अमित शाह दोनों कांग्रेस के प्रभाव को समझने में असमर्थ थे। गारंटी देता है। वे पूछ रहे थे कि 53 साल में कांग्रेस सरकार की क्या उपलब्धियां रहीं? मैं उन्हें यह बताना चाहता हूं कि 1947 से 2014 तक साक्षरता का स्तर 14 प्रतिशत से बढ़कर 74 प्रतिशत हो गया है, जीवन प्रत्याशा 39 वर्ष की सीमा तक थी और अब 2014 तक यह 71 वर्ष है। महिलाओं का साक्षरता स्तर 1947 में देश में कांग्रेस के 53 वर्षों के शासनकाल में यह मात्र 7 प्रतिशत थी, जो 2014 तक 54 प्रतिशत तक पहुंच गई है। 
हाल के अन्न भाग्य कार्यक्रम ने राज्य के गरीबों को खाद्य सुरक्षा का आश्वासन दिया है। खाद्य सुरक्षा विधेयक यूपीए सरकार के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता द्वारा प्रस्तावित किया गया था और गरीबी और कुपोषण के उन्मूलन के लिए बड़ा प्रोत्साहन प्रदान किया गया था। सांसद और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गृहलक्ष्मी कार्यक्रम के तहत प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) की पहली खेप का हस्तांतरण इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से किया। इस अवसर पर बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस सरकार ने चुनाव से पहले किए गए सभी वादे पूरे किए हैं, जिसका मतलब है कि कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है जो अपने शब्दों पर कायम है। गृहलक्ष्मी, शक्ति, अन्न भाग्य और गृहलक्ष्मी योजनाएं महिलाओं के कल्याण और उनके वित्तीय और सामाजिक सशक्तिकरण के लिए निर्देशित की गई हैं। INC गारंटियों के पीछे एक गहरी जड़ वाला दर्शन है। कांग्रेस में हम मानते हैं कि उस समाज को हिलाया नहीं जा सकता जिसकी जड़ें एक बड़े पेड़ की तरह गहरी हों। मैंने सैकड़ों महिलाओं से मुलाकात की और समझा कि विशेषकर ईंधन और आवश्यक वस्तुओं की महंगाई के बाद जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है। मैं महिलाओं को हमारे समाज की नींव और जड़ मानता हूं और जड़ों को मजबूत किए बिना हम समाज को मजबूत करने की उम्मीद नहीं कर सकते। रक्षा बंधन के इस दिन कांग्रेस ने राज्य में गृहलक्ष्मी कार्यक्रम शुरू करके भाईचारे के स्नेह को कायम रखा है।

किशोरी के मुंह में कपड़ा ठूंस कर रेप किया

किशोरी के मुंह में कपड़ा ठूंस कर रेप किया   

आदर्श श्रीवास्तव   
पीलीभीत। घर से कुछ ही दूरी पर स्थित खेत में शौच के लिए किशोरी को गांव के ही शोहदे ने बुरी नियत से पकड़ लिया। किशोरी के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया ताकि वह शोर न मचा सके।इसके बाद डरा धमकाकर जबरन दुष्कर्म किया। किसी तरह किशोरी घर पहुंची और घटना परिवार वालों को बताई।
बरखेड़ा पुलिस पिता से मिली तहरीर पर नामजद रिपोर्ट दर्ज की है। बरखेड़ा थाने में दी गई तहरीर में क्षेत्र के एक व्यक्ति ने बताया कि वह मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते हैं। बेटे के साथ काम के सिलसिले में बाहर गए हुए थ।
उनकी 16 वर्षीय पुत्री 27 अगस्त की सुबह नौ बजे घर से कुछ ही दूरी पर एक खेत में शौच को गई थी। कुछ देर बाद पीछे से गांव का अभिषेक आ धमका। उसने किशोरी को पकड़ लिया और उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया।
इसके बाद किशोरी से दुष्कर्म किया। दरिंदगी के बीच मुंह में ठूंसा गया कपड़ा निकल गया और किशोरी चीखने चिल्लाने लगी। शोर सुनकर कुछ  ग्रामीण मौके पर गए। इस पर आरोपी किशोरी को धमकी देकर भाग गया। किशोरी डरी सहमी हालत में घर आई। पहले तो खुद के साथ हुई घटना को धमकी से घबराकर छिपाए रही।  
29 अगस्त की रात  को वह अपने बेटे के साथ घर पहुंचे तो उसे गुमसुम देख परिवार के सदस्यों ने कई बार पूछा। तब जाकर किशोरी ने बीती रात घटना बताई। आरोपी से परिवार को खतरा बताते हुए सख्त कार्रवाई की मांग की है।  इंस्पेक्टर बरखेड़ा राजवीर सिंह परमार ने बताया कि मामले में दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच कराई जा रही है।

किशोरी को मुंबई ले जाकर दुष्कर्म किया

किशोरी को मुंबई ले जाकर दुष्कर्म किया    

अमित कुमार सिंह   
आजमगढ़। जिले की पुलिस ने किशोरी को मुंबई ले जाकर रेप की घटना को अंजाम देने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। इस मामले में 23 नवंबर 2022 को मुकदमा दर्ज कराया गया था कि आरोपी शिवल उर्फ माखन जो कि तरवां थाना क्षेत्र के कबूतरा का रहने वाला है कि पीड़िता को शादी का झांसा देकर मुंबई भगा ले गया। आरोपी द्वारा पीड़िता के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया गया। इसी बीच पीड़िता मौका पाकर बंबई से भाग कर आजमगढ़ आ गई और पूरी बात अपने परिजनों को बताई। इस मामले में परिजनों ने मुकदमा दर्ज कराया। पीड़िता का मेडिकल कराया गया। मेडिकल में रेप की पुष्टि होते ही आरोपी के विरूद्ध रेप का मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश की जाने लगी। इसी क्रम में आरोपी की गिरफ्तारी हुई है।
जिगनी बाजार से आरोपी गिरफ्तार
इस मामले की विवेचना कर रहे सब इंस्पेक्टर विशाल चक्रवर्ती ने बताया कि आरोपी की तलाश की जा रही थी। इसी बीच आरोपी के बारे में पुलिस को सूचना मिली की आरोपी शिवल उर्फ माखन जो कि फरार था आजमगढ़ के जिगनी बाजार के निकट है। इस सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। आरोपी को न्यायालय भेजा जा रहा है जहां से जेल रवाना किया जाएगा। पुलिस का कहना है कि मामले में वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

दो बच्चों की मां ने भतीजे से शादी की, हद

दो बच्चों की मां ने भतीजे से शादी की, हद 

अविनाश श्रीवास्तव
मधुबनी। जिले में अजब प्रेम की गजब कहानी सामने आया है। दो बच्चे की मां ने गांव के ही दस वर्ष छोटे रिश्ते में भतीजा से शादी रचाई। मामला रहिका थाना के डुमरी गांव की है।
प्यार में पागल दो बच्चे की मां ने रिश्ते की भी परवाह नहीं की और गांव के ही एक युवक 26 वर्षीय सुजीत चौपाल को दिल दे बैठी और दोनों में लुका-छुपी का खेल शुरू हो गया। उम्र में 36 वर्षीय महिला की 26 साल के भतीजे से ग्रामीणों और पुलिस ने करायी शादी। रिश्ते में चाची और भतीजा दोनों एक-दूसरे से आए दिन छुप-छुपकर मिला करते थे। महिला की सास की माने तो युवक सुजीत दिन में महिला से आकर मिलता था। रात में सास के सोने के बाद युवक महिला के पास घर में जाता था।
ग्रामीणों की माने तो युवक को घर से रंगे हाथ महिला के साथ बंद पाया। घर से निकालकर पीटा जाने लगा तो दोनों ने शादी करने की बात बताई। दोनों की कहानी जब गांव वालों को पता चला तो गांव वालों ने पूरे मामले की जानकारी महिला के पति को दी। महिला का पति दिल्ली में काम कर रहा था। अपने पत्नी के बेवफाई की जानकारी मिलते ही पति तुरंत ही ट्रेन पकड़ गांव पहुंचा। पति गांव पहुंच अपनी पत्नी की बेवफाई की कहानी लोगों के मुंह से सुनने लगा। इतना ही नहीं, हद तो तब हो गई जब पंचायत में पत्नी ने अपने पति को पहचानने से इंकार कर दिया।
महिला मीना देवी बोलने लगी मैं शादी करूंगी उसी लड़के से, जिसके बाद पति दुखी पासवान ने भी फैसला किया कि अब यह महिला घर में नहीं रहेगी। वहीं धीरे-धीरे यह मामला पूरे गांव और आसपास के इलाकों में फैल गए जिसके बाद लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। मामले की इसकी सूचना रहिका थाना को दी गई। पुलिस पहुंचकर महिला और प्रेमी से पूछताछ कर उसके इच्छानुसार दोनों की शादी करा दी। महिला दो बच्चे की मां है, 10 साल और 6 साल का दो बेटे हैं। महिला को पति भी रखने के लिए तैयार नहीं हुआ ना ही मायके के परिजन ने स्वीकार किया। ऐसे में रहिका थाना ने दोनों प्रेमी युगल जोड़ी को कहीं और रहने के लिए कहा।

आशिक के साथ मिलकर पति की निर्मम हत्या की

आशिक के साथ मिलकर पति की निर्मम हत्या की   

संदीप मिश्र      
बांदा। जिले में एक युवक जिसकी हत्या में जेल गया था पत्नी ने उसके भाई से ही दिल लगा लिया। 18 साल बाद पति जेल से छूटा तो अवैध संबंध में बाधक बनने लगा। पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर रास्ते से हटाने का फैसला कर लिया। खौफनाक तरीके से पति को मौत के घाट उतार दिया। वारदात के चौथे दिन पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा कर युवक की पत्नी, उसके आशिक और आशिक के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है।
बिसंड थाने के कैरी गांव के 45 वर्षीय बालकरन ने वर्ष 2005 में पड़ोसी राजाराम पटेल की गोली मार कर हत्या की थी। इस मामले में न्यायालय ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। करीब 18 वर्ष बाद सजा काटकर बालकरन इसी साल जनवरी में जेल से बाहर आया था।
जेल से आने पर पता चला कि उसकी पत्नी संतोषिया के राजाराम के भाई राजकुमार से नजदीकियां हो गई हैं। पति और पत्नी के बीच विवाद होने लगा। इस पर पत्नी संतोषिया और राजकुमार ने उसकी हत्या की साजिश रच डाली। रात में जब बालकरन सो गया तो उसकी पत्नी ने फोन करके राजकुमार को बुलाया। राजकुमार दो अन्य साथियो के साथ घर पहुंचा और बालकरन को गोलियां मारकर हत्या कर दी।
पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो पत्नी पर शक गहराया। सर्विलांस और कॉल रिकॉर्डिंग से मामला खुल गया। रविवार को एसपी अंकुर अग्रवाल ने हत्याकांड का खुलासा कर दिया। मारे गए बालकरन की पत्नी के साथ ही उसके आशिक और आशिक के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है।

24 रुपए में 150 किमी जाएगी देसी कार: अजब

24 रुपए में 150 किमी जाएगी देसी कार: अजब  

सत्येंद्र पवार    
मेरठ। पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों के बीच मेरठ के दो युवाओं ने एक ऐसी कार विकसित की है, जो कि सिर्फ 24 रुपये में 150 किलोमीटर तक का सफर तय करा सकती है। खास बात यह है कि यह कार कबाड से तैयार हुई है।
वर्तमान समय में युवा नए-नए आइडिया के साथ इनोवेटिव चीज तैयार कर रहे हैं। जो लोगों को काफी पसंद आ रही है। कुछ इसी तरह मेरठ के रोहटा रोड स्थित जवाहर नगर कॉलोनी में रहने वाले दो युवाओं ने इलेक्ट्रिक एवं सौर ऊर्जा की देसी कार तैयार की है। जो मेरठ में चर्चा का विषय बनी हुई है क्योंकि यह कर इतनी खास है। देसी कार को तैयार करने वाले युवा आशीष ने एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए बताया कि उन्होंने कबाड़ के माध्यम से इस देसी कर को तैयार किया है। जो बिल्कुल थार के लुक में नजर आती है।
उन्होंने बताया कि थोड़ा सा काम इसमें रह गया है। जो जल्दी पूरा हो जाएगा। इसकी कुल कीमत 45000 रुपए आई है। इसमें आगे के हिस्से में पुरानी मारुति 800 का उपयोग किया गया हैं। साथ ही इसका पूरा डिजाइन खुद उन्होंने ही तैयार किया है।
युवा की माने तो यह कार 24 रुपए में डेढ़ सौ किलोमीटर तक की यात्रा कर सकती है। उन्होंने भी सावन में हरिद्वार से इसी कर के माध्यम से जल लाने का विचार किया था। इसके बाद वह उनके छोटे भाई दोनों ही हरिद्वार गए और जल लेकर आए। इतना ही नहीं उनका तो यह भी कहना है कि जिस तरीके से जाम में पेट्रोल डीजल सहित अन्य प्रकार के वाहनों का ईंधन खर्च होता है. इस गाड़ी की बात की जाए तो उसमें बचत होती है।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने मोदी जिस प्रकार स्टार्टअप नीति को आगे बढ़ते हुए युवाओं को आगे बढ़ा रहे हैं। ऐसे मगर उन्हें भी अवसर मिले तो वह देश पर्यावरण रहित कर बाइक का निर्माण कर सकते हैं। बताते चलें कि आशीष का मैकेनिक और इलेक्ट्रॉनिक से कोई बैकग्राउंड नहीं है। उसके बावजूद भी वह नए-नए आइडिया के साथ इस तरह की चीज बनाते रहते हैं .इससे पहले उन्होंने तेजस बाइक बनाई थी। जो लोगों को काफी पसंद आई थी।

सितंबर महीने में बारिश अनुमान से थोड़ी बेहतर

सितंबर महीने में बारिश अनुमान से थोड़ी बेहतर

अकाशुं उपाध्याय 
नई दिल्ली। अगस्त के महीने में इस साल ऐतिहासिक तौर पर कम बारिश हुई है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि बीते 100 सालों में कभी इतना सूखा अगस्त नहीं देखा गया है। इससे पहले 1918 में यानी 105 साल पहले ही अगस्त में इतनी कम बारिश हुई थी। यह स्थिति तब पैदा हुई है, जबकि जुलाई में अच्छी खासी बारिश देखने को मिली थी। हालांकि सितंबर महीने में बारिश अनुमान से थोड़ी बेहतर हो सकती है, लेकिन अल नीनो भी चिंता बढ़ा सकता है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगस्त महीने में भी अल-नीनो के असर की वजह से ही बारिश में कमी देखी गई है।
सितंबर में अल-नीनो का असर थोड़ा कम होगा तो बारिश बेहतर हो सकती है। अब अनुमान है कि दक्षिण चीन सागर और बंगाल की खाड़ी में चक्रवात की स्थिति बनेगी और उससे भारत में बारिश की परिस्थितियां बनेंगी। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगस्त के मुकाबले सितंबर में अच्छी बारिश हो सकती है। हालांकि अभी पूरे महीने का अनुमान विभाग की ओर से आना बाकी है। वेदर मॉडल के मुताबिक सितंबर महीने के शुरुआती सप्ताह में कम दबाव वाला क्षेत्र बनेगा, जो मध्य भारत में जाकर समाप्त होगा। इसके पूरे भारत में असर दिखाने की संभावना कम ही है। साफ है कि सितंबर में अगस्त की तुलना में मॉनसून अच्छा रहेगा,लेकिन अल-नीने का असर भी बना रह सकता है।
मौसम के एक जानकार ने कहा कि कुल मिलाकर सितंबर महीने में अच्छी बारिश होगी। यदि यह बारिश औसत से 5 से 6 फीसदी कम भी होती है तो यह इसे कमजोर नहीं माना जाएगा। उन्होंने कहा कि अगस्त के महीने में 20 दिन ऐसे रहे, जब बारिश नहीं हुई। बता दें कि अगस्त महीने में यूपी, मध्य प्रदेश, बिहार समेत देश के कई राज्यों में बारिश अनुमान से कम रही। लेकिन हिमाचल, उत्तराखंड जैसे पहाड़ी राज्यों में भी बारिश हुई है। यहां तक कि शिमला में तो इसके चलते आपदा ही आ गई और 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई।

हार्डवेयर की दुकान में आग लगी, चार की मौत

हार्डवेयर की दुकान में आग लगी, चार की मौत

इकबाल अंसारी   
पुणे। महाराष्ट्र के पुणे जिले से दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। यहां एक इलेक्ट्रिक हार्डवेयर की दुकान में भीषण आग लग गई है। हादसे में चार लोगों की जलकर मौत हो गई है। दुकान से उठती आग की ऊंची-ऊंची लपटें और धुएं का गुबार देख आसपास के लोगों के होश उड़ गए। घटना की जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम और फायर ब्रिगेड को दी गई। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने स्थानीय लोगों की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास किया है। मृतकों की अभी तक कोई पहचान नहीं हो पाई है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
अग्निशमन विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि पुणे जिले के पिंपरी-चिंचवड़ के पूर्णानगर इलाके में आज आग लगने से चार लोगों की मृत्यु हो गई। आज सुबह करीब 5 बजे एक आवासीय इमारत के भूतल पर स्थित एक इलेक्ट्रिक हार्डवेयर की दुकान में आग लग गई। अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है। इस हादसे में चार लोगों की मृत्यु हो गई। आज सुबह करीब 5 बजे एक आवासीय इमारत के भूतल पर स्थित एक इलेक्ट्रिक हार्डवेयर की दुकान में आग लगी।
अधिकारियों की मानें तो इस भयानक हादसे में दुकान पूरी तरह जलकर खाक हो गई है। खबर लिखे जाने तक आग लगने का कारण पता नहीं चल सका है। हालांकि माना जा रहा है कि रात के समय शॉर्ट सर्किट होने से दुकान में आग लगी होगी, लेकिन हादसे की अभी तक कोई ठोस वजह सामने नहीं आ पाई है। पुलिस फिलहाल हादसे की वजह तलाश रही है। वहीं, आंध्र प्रदेश में श्रीकाकुलम जिले के पाठपट्टनम में एक शॉपिंग मॉल में बिजली के शॉर्ट सर्किट के कारण आग लग गई। आग बुझाने के लिए दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई हैं।

हापुड़ हुईं घटना के विरोध में किया प्रदर्शन

हापुड़ हुईं घटना के विरोध में किया प्रदर्शन

राकेश दिवाकर
कौशाम्बी। जनपद हापुड़ में शांतिपूर्ण तरीके से धरना प्रदर्शन कर रहे अधिवक्ताओं पर 29 अगस्त को लाठी चार्ज किए जाने के विरोध में चायल तहसील बार एसोसिएशन के आक्रोशित अधिवक्ताओं ने चायल से मनौरी की ओर जाने वाली सड़क को जाम कर दिया है। और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए वहीं पर वकील बैठ गए हैं। मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर उप जिला अधिकारी चायल पहुंचे। अधिवक्ताओं ने मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन उप जिला अधिकारी को सौंपा है।
धरना प्रदर्शन कर रहे, अधिवक्ताओं ने कहा कि हापुड़ जनपद में बुजुर्ग और महिला अधिवक्ताओं के साथ अन्य अधिवक्ताओं पर भी बर्बरता पूर्वक पुलिस ने लाठी चार्ज किया है। जिससे तमाम अधिवक्ता गंभीर तरीके से घायल हैं। जिसकी कड़े शब्दों में निंदा की जाती है।
तहसील में अधिवक्ताओं ने बैठक कर धरना प्रदर्शन की रणनीति बनाई और न्यायिक कार्य से विरत रहने का फैसला लिया धरना प्रदर्शन कर रहे, अधिवक्ताओं ने कहा कि हापुड़ जनपद में पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर लाठी चार्ज किए जाने के विरोध में पूरे प्रदेश के अधिवक्ता आक्रोशित है। और जब तक हापुड़ जनपद के पुलिस अधीक्षक और क्षेत्राधिकारी पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस अधिकारियों को बर्खास्त नहीं किया जाता तब तक अधिवक्ताओं का धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। 
इस मौके पर बार एसोसिएशन चायल अध्यक्ष एडवोकेट जगजीत सिंह महामंत्री राजेश्वर सिंह कोषाध्यक्ष अजीत सिंह यादव, रामकरन, संदीप कुमार, अजीत कुमार पटेल देवेंद्र कुमार पांडे,सुल्तान अहमद, घनश्याम कुमार, राम नरेश पटेल, अजीत पटेल, राजेंद्र कुमार, विद्यासागर, सुभाष कुमार,जवाहर सिंह,सुनील कैथवास, बलवंत सिंह, दुष्यंत सिंह, विनीत सिंह, त्रिभुवन सिंह, विनय सिंह आदि एडवोकेट मौजूद रहे।

गाजियाबाद: अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या

गाजियाबाद: अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या

अश्वनी उपाध्याय    
गाजियाबाद। अधिवक्ता की हत्या के मामले में अधिवक्ताओं ने किया अपना दर्द बयां। उन्होंने कहा कि न्यायालय व तहसील कार्यालय,सरकारी कार्यालय जो जिला प्रशासन के सबसे सुरक्षित जगह कहीं जाती है। पुलिस  प्रशासन की कुशासन लापरवाही के खुलेआम शिकार होकर अपनी जान गवा रहे हैं। सम्मानित अधिवक्ताओं की सरेआम हत्याएं हो रही है। खुलेआम जान लेवा हमले हो रहे हैं। पुलिस प्रशासन का रुक भी सम्मानित अधिवक्ता परिवारों के प्रति सहयोगात्मक नहीं रहता है।
गाजियाबाद तहसील चेंबर नंबर 95 में मोनू चौधरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। यह घटना सहानी के क्षेत्र में की गई है। मोनू चौधरी तहसील में चुनाव भी लड़ चुके थे। उनके पिताजी भी उत्तर प्रदेश पुलिस में सेवा दे चुके है। अज्ञात लोगों द्वारा गोली मारी गई है।
जबकि सम्मानित अधिवक्ता अवैतनिक रूप से सरकार को पूरे देश में अरबो रुपए का स्टांप ड्यूटी रजिस्ट्रेशन शुल्क न्याय शुल्क के रूप में सरकार/न्याय प्रशासन को दिलाते है। सरकार से बदले में सम्मानित अधिवक्ताओं को क्या मिलता है। शासन प्रशासन के अधिकारियों की कोई जिम्मेदारी, जवाबदेही और उत्तरदायित्व सम्मानित अधिवक्ताओं के प्रति नहीं दिखाई देती?
कौन है इन हत्याओं और जान लेवा हमलों का जिम्मेदार?
जिला प्रशासन के संबंधित पुलिस अधिकारियों पर सम्मानित अधिवक्ता पर तहसील में या न्यायालय में कार्य करते हुए जानलेवा हमला होने की साजिश में शामिल होने के लिए, जिम्मेदार ,जवाब देह ठहराते हुए प्रथम सूचना रिपोर्ट में नाम जद किया जाना चाहिए। आखिर यह तनखा किस बात की लेते हैं। सरकार की जिम्मेदारी है देश के हर नागरिक और सरकार के लिए बेहतर न्याय और राजस्व कलेक्शन करने के लिए निशुल्क अवैतनिक कार्य करने वाले कोर्ट ऑफिसर की सुरक्षा की, 
सुरक्षा में लापरवाहीऔर गैरजिम्मेदारी आपराधिक साजिश के तौर पर संबंधित पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें जेल भेज कर की जाए। यह हम अधिवक्ताओं की मांग है।
एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करे। बार और बेंच के कोर्ट आफिसर सम्मानित अधिवक्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-317, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बृहस्पतिवार, अगस्त 31, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट पंकज कपूर  देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरका...