राष्ट्रीय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
राष्ट्रीय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 11 जून 2024

जयशंकर ने नए विदेश मंत्री के तौर पर पद संभाला

जयशंकर ने नए विदेश मंत्री के तौर पर पद संभाला

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। डॉ. एस जयशंकर एक बार फिर से विदेश मंत्री के तौर पर देश को अपनी सेवाएं देने वाले हैं। मंगलवार (11 जून) सुबह जयशंकर ने विदेश मंत्रालय पहुंचकर देश के नए विदेश मंत्री के तौर पर अपना पद संभाला।
इस दौरान उन्होंने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) और पाकिस्तान-चीन पर ऐसा कुछ कहा, जिसे सुनकर हर कोई हैरान रह गया।
विदेश मंत्री से पीओके को लेकर सवाल किया गया था, जिस पर उन्होंने कहा, "कृपया मेरे मुंह में शब्द न डालें।" जयशंकर ने कहा कि भारत की भूमिका बढ़ती जा रही है। अब दुनिया भारत को एक दोस्त के तौर पर देख रही है, जो संकट की घड़ी में उनके साथ रहता है। उन्होंने नवाज शरीफ के बधाई संदेश को लेकर बात करते हुए कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से 'एक्स' पर रिप्लाई दे दिया गया है।
पाकिस्तान और चीन के साथ अगले पांच साल के रिश्तों पर बात करते हुए विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि हम विवादों को सुलझाने पर काम करेंगे। उन्होंने कहा, "किसी देश में खासतौर पर किसी लोकतंत्र में ये बहुत बड़ी बात होती है, जब लगातार तीन बार किसी सरकार को चुना जाता है। इस वजह से दुनिया को जरूर महसूस होगा कि भारत में राजनीतिक स्थिरता है।"
उन्होंने आगे कहा, "जहां तक चीन और पाकिस्तान की बात है, इन देशों के साथ भारत के रिश्ते थोड़े अलग हैं। इस वजह से समस्याएं भी अलग हैं। चीन के संबंध में हमारा ध्यान सीमा मुद्दों का समाधान खोजने पर होगा और पाकिस्तान के साथ हम वर्षों पुराने सीमा पार आतंकवाद के मुद्दे का समाधान ढूंढना चाहेंगे।"

विदेश मंत्रालय की कमान मिलने पर क्या बोले जयशंकर ?

एस जयशंकर ने विदेश मंत्रालय फिर से मिलने पर कहा, "एक बार फिर विदेश मंत्रालय का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी दी जाना बेहद सम्मान की बात है। पिछले कार्यकाल में इस मंत्रालय ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था। हमने जी-20 की अध्यक्षता की हमने वैक्सीन मैत्री आपूर्ति सहित कोविड की चुनौतियों का सामना किया। हम ऑपरेशन गंगा और ऑपरेशन कावेरी जैसे महत्वपूर्ण अभियानों के केंद्र भी थे।"
उन्होंने कहा, "पिछले एक दशक में पीएम मोदी के नेतृत्व में यह मंत्रालय बेहद जन-केंद्रित मंत्रालय बन गया है। आप इसे हमारी बेहतर पासपोर्ट सेवाओं, सामुदायिक कल्याण निधि सहायता के संदर्भ में देख सकते हैं, जो हम विदेशों में भारतीयों को देते हैं।" जयशंकर ने कहा, "साथ मिलकर हम भारत को विश्व बंधु के तौर पर स्थापित करेंगे। हम एक ऐसे देश के रूप में स्थापित होंगे, जिस पर लोग भरोसा करते हैं।"

यूएनएससी की स्थायी सदस्यता पर क्या कहा ?

अगले पांच साल में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की सीट मिलने को लेकर भी जयशंकर ने बात की। उन्होंने कहा, "इसके अलग-अलग पहलू हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में, मोदी 3.0 की विदेश नीति बहुत सफल होगी। हमारे लिए, भारत का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है, न केवल हमारी अपनी धारणा के संदर्भ में बल्कि अन्य देश क्या सोचते हैं, इसके संदर्भ में भी।"
विदेश मंत्री ने कहा, "उन्हें लगता है कि भारत वास्तव में उनका मित्र है और उन्होंने देखा है कि संकट के समय में, अगर कोई एक देश है, जो ग्लोबल साउथ के साथ खड़ा है, तो वह भारत है। उन्होंने देखा है कि जब हमने G20 की अध्यक्षता के दौरान अफ्रीकी संघ की सदस्यता को आगे बढ़ाया तो दुनिया ने हम पर भरोसा किया और हमारी जिम्मेदारियां भी बढ़ रही हैं, इसलिए हमें भी विश्वास है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में दुनिया में भारत की पहचान निश्चित रूप से बढ़ेगी।"

सोमवार, 10 जून 2024

दूसरा कार्यकाल शुरू, विदेश मंत्री बनें जयशंकर

दूसरा कार्यकाल शुरू, विदेश मंत्री बनें जयशंकर 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। रविवार को पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ कैबिनेट मंत्री का शपथ लेने के बाद एस जयशंकर ने सोमवार (10 जून, 2024) को बतौर विदेश मंत्रालय काम करना शुरू कर दिया। इसके साथ ही वह बतौर विदेश मंत्रालय में लगातार दूसरा कार्यकाल शुरू करने वाले देश के पहले विदेश मंत्री बन गए हैं।
आजादी के बाद कोई भी व्यक्ति विदेश मंत्री के तौर पर एक कार्यकाल के बाद दूसरा कार्यकाल शुरू नहीं कर पाया है।

नेहरू ने भी संभाला था विदेश मंत्रालय का कार्यभार

एक अपवाद देश के पहले प्रधानमंत्री स्वर्गीय जवाहर लाल नेहरू हैं जिन्होंने लगातार 16 वर्षों तक शीर्ष पद पर रहते हुए विदेश मंत्रालय का कार्यभार भी संभाला था।

पांच साल तक विदेश मंत्री थीं सुषमा स्वराज

हाल के दशकों में सिर्फ स्वर्गीय सुषमा स्वराज ने पीएम मोदी के पहले कार्यकाल के दौरान बतौर विदेश मंत्रालय पांच वर्षों तक अपनी सेवाएं दी थी। इसके अलावा सरदार स्वर्ण सिंह को दो बार विदेश मंत्री बनाया गया है लेकिन उनका कार्यकाल अलग-अलग (जुलाई, 1964-नवंबर, 1966 और जून, 1970-अक्टूबर, 1974) रहा है।

राजग और संप्रग सरकार में कई नेता बने विदेश मंत्री

अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में गठित राजग सरकार के कार्यकाल में और बाद में डॉ. मनमोहन सिंह की अगुवाई वाली संप्रग सरकार (वर्ष 2004 से वर्ष 2014) के दौरान किसी को भी पूरे कार्यकाल के लिए विदेश मंत्री नहीं बनाया गया था। इस दौरान जसवंत सिंह, यशवंत सिन्हा, नटवर सिंह, प्रणब मुखर्जी, एसएम कृष्णा, सलमान खुर्शीद अलग-अलग समय पर विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाली।

जयशंकर के पास विदेश सेवा का लंबा अनुभव

इसके अलावा बतौर पीएम वाजपेयी ने और मनमोहन सिंह के पास भी विदेश मंत्रालय अतिरिक्त जिम्मेदारी के तौर पर महीनों रहा है। एस जयशंकर देश के पहले विदेश मंत्री भी हैं जिन्होंने विदेश मंत्रालय में एक लंबी सेवा दी है और भारत के विदेश सचिव के तौर पर भी अपनी सेवा दे चुके हैं।
अपने पहले कार्यकाल (2019-2024) में उन्होंने भारतीय कूटनीति का एक बहुत ही तेज-तर्रार लेकिन बेहद व्यावहारिक चेहरा पेश किया है, इससे तेजी से बदलती वैश्विक व्यवस्था में भारत के हितों को सही परिप्रेक्ष्य में रखा जा सका है। 

रूस से रिश्तों को किया मजबूत

एक तरफ जयशंकर ने अमेरिका को भारत का सबसे करीबी रणनीतिक साझेदार देश के तौर पर स्थापित करने में मदद की तो दूसरी तरफ अमेरिकी विरोध के बावजूद रूस जैसे सबसे पुराने रणनीतिक साझेदार के साथ संबंधों को मजबूत किया है। पिछले दो वर्षों में भारत ने जिस तरह से ग्लोबल साउथ (विकासशील व गरीब देशों) का अगुवा बनाने का दावा वैश्विक मंच पर सफलतापूर्वक पेश किया है, उसका श्रेय भी जयशंकर को जाता है।

विदेशी मेहमानों से की द्विपक्षीय मुलाकात

सोमवार को जयशंकर ने पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे विदेशी मेहमानों, बांग्लादेश के पीएम शेख हसीना, नेपाल के पीएम पुष्प कमल दहल और श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे, भूटान के पीएम शेरिंग तोग्बे और मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के साथ अलग-अलग द्विपक्षीय मुलाकात की। इन नेताओं की पहले ही पीएम मोदी के साथ संक्षिप्त द्विपक्षीय बैठक हो चुकी थी।

उत्तरी अरब सागर एवं महाराष्ट्र में आगे बढ़ा 'मानसून'

उत्तरी अरब सागर एवं महाराष्ट्र में आगे बढ़ा 'मानसून' 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग ने सोमवार को कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून उत्तरी अरब सागर और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ गया है। अगले दो दिनों में मानसून के उत्तरी अरब सागर, दक्षिण गुजरात और महाराष्ट्र के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल हैं।
मौसम विभाग ने 10 और 11 जून को कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और तटीय और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में भारी से बहुत भारी बारिश जारी रहने का अनुमान लगाया है।

इन राज्यों में भारी बारिश की संभावना

पूर्वोत्तर क्षेत्र में अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, तथा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में व्यापक रूप से व्यापक वर्षा होगी। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, असम और मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में 10 से 14 जून तक भारी वर्षा होने की संभावना है। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी 10, 13 और 14 जून को भारी वर्षा होगी। असम और मेघालय और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में 11 से 14 जून तक तथा अरुणाचल प्रदेश में 13 और 14 जून को बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

इन क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा का अनुमान

मध्य और दक्षिणी भारत में, 18°N के साथ एक शियर ज़ोन और मराठवाड़ा पर चक्रवाती परिसंचरण मौसम के पैटर्न को प्रभावित कर रहे हैं। इन स्थितियों के परिणामस्वरूप अगले 4-5 दिनों तक कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कर्नाटक, तेलंगाना, केरल और माहे, और लक्षद्वीप में गरज, बिजली और तेज़ हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे) के साथ व्यापक रूप से हल्की से मध्यम वर्षा होगी। 

यहां 10 से 12 जून तक होगी भारी वर्षा

10 और 11 जून को कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में, 10 से 12 जून तक केरल और माहे में, 10 और 11 जून को तेलंगाना में, 10 से 13 जून तक कर्नाटक में, 13 जून को तटीय आंध्र प्रदेश और यनम में और 11 जून को रायलसीमा में भारी वर्षा होने की संभावना है। 10 और 11 जून को कोंकण और गोवा में, 10 जून को मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में, 11 और 12 जून को केरल और माहे में, 10 से 12 जून तक तटीय कर्नाटक में और 10 और 11 जून को उत्तर आंतरिक कर्नाटक में बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है।

उत्तर भारत में भी होगा पश्चिमी विक्षोभ का असर

उत्तर भारत में, पश्चिमी विक्षोभ के साथ-साथ उत्तर-पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर चक्रवाती परिसंचरण के कारण 10 जून को उत्तराखंड और राजस्थान में गरज और बिजली के साथ छिटपुट हल्की वर्षा होने की संभावना है। 11 से 14 जून तक राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दक्षिण हरियाणा में 25-35 किमी प्रति घंटे की गति से तेज सतही हवाएं चलने की संभावना है।

रविवार, 9 जून 2024

अगले दो दिनों तक भारी बारिश होने के आसार

अगले दो दिनों तक भारी बारिश होने के आसार 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। उत्तर भारत में पड़ रही गर्मी के बीच मौसम विभाग (IMD) ने अहम जानकारी दी है। मौसम विभाग ने बताया है कि अगले दो दिनों तक दक्षिणी कोंकण, गोवा, दक्षिणी मध्य महाराष्ट्र, तटीय और उत्तरी इंटीरियर कर्नाटक में भारी से बहुत भारी बारिश होने वाली है।
ऐसे में लोगों को अलर्ट रहने की भी जरूरत है। हालांकि, उत्तर पश्चिम भारत के राज्यों में 9 जून से हीटवेव चलने का फिर से अनुमान है। इसके अलावा, उत्तर प्रदेश, पूर्वोत्तर भारत के राज्यों में अगले पांच दिनों तक हीटवेव जैसी स्थिति रहने वाली है।
पिछले 24 घंटे के मौसम की बात करें तो पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार में हीटवेव चली। पूर्वी यूपी में सबसे ज्यादा तापमान 42-45 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड किया गया। वहीं, पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस रहा। कोंकण, गोवा, असम, मेघालय, सब हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, मध्य महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल आदि में भारी से बहुत भारी बारिश हुई।
मौसम विभाग ने साउथवेस्ट मॉनसून पर भी अपडेट दिया है और कहा है कि 9 जून को यह महाराष्ट्र के मुंबई, सेंट्रल अरेबियन सी आदि में पहुंच गया है। वहीं, अगले सात दिनों तक अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालाय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, सब हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम में हल्की से मध्यम स्तर की बारिश होने वाली है। इसके अलावा, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कर्नाटक, केरल, माहे, लक्षद्वीप, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, रायलसीमा, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल में अगले चार से पांच दिनों के बीच बारिश होगी।
वहीं, उत्तर पश्चिम भारत की बात करें तो जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में 9 जून को हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। वहीं, पश्चिमी राजस्थान में 9 और 10 जून, पूर्वी राजस्थान में अगले पांच दिनों तक हल्की बारिश, आंधी तूफान की संभावना जताई गई है।

केरल के दो जिलों में ''ऑरेंज अलर्ट'' जारी

केरल के कई हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के कारण जारी भारी बारिश के बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को राज्य के दो जिलों के लिए 'ऑरेंज अलर्ट' जारी किया है। आईएमडी ने उत्तरी जिलों कन्नूर और कासरगोड़ में 'ऑरेंज अलर्ट', जबकि राज्य के अन्य 10 जिलों में 'येलो अलर्ट' जारी किया है। 'रेड अलर्ट' 24 घंटे में 20 सेंटीमीटर से अधिक यानी भारी से अत्यधिक भारी वर्षा की ओर संकेत करता है, जबकि 'ऑरेंज अलर्ट' का अर्थ 11 से 20 सेंटीमीटर तक यानी भारी वर्षा और 'येलो अलर्ट' का मतलब छह से 11 सेंटीमीटर के बीच यानी भारी वर्षा है। केरल राज्य आपद प्रबंधन प्राधिकरण (केएसडीएमए) ने कहा कि कोल्लम, इडुक्की, कोझिकोड और कन्नूर जिलों में एक से दो स्थानों पर मध्यम वर्षा होने और तूफान आने की आशंका है।

शुक्रवार, 7 जून 2024

बारिश का 'येलो अलर्ट' जारी किया: मौसम

बारिश का 'येलो अलर्ट' जारी किया: मौसम 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। राजधानी में लोग चिलचिलाती गर्मी से बेहाल हैं। शनिवार को आसमान में हल्के बादल छाए रहेंगे। धूल भरी आंधी के साथ तेज सतही हवा 25 से 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से चल सकती है। ऐसे में हल्की बारिश होने के आसार हैं।
मौसम विभाग ने बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। इससे लोगों को गर्मी से फौरी राहत मिलने का अनुमान है। इस दौरान अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस होने की आशंका है। जबकि न्यूनतम तापमान भी 29 डिग्री सेल्सियस तक जाने की संभावना है।
शुक्रवार को सुबह से ही कड़ी गर्मी हुई। इससे लोग परेशान रहे। दोपहर में सूरज के तेवर और कड़े हो गए। इससे उमस भरी गर्मी महसूस की गई। शाम के समय कुछ इलाकों धूल भरी आंधी के साथ तेज हवा चली। प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक के साथ 43 दर्ज किया। वहीं, न्यूनतम तापमान सामान्य से 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, अधिकतम आर्द्रता का स्तर 57 फीसदी रही।

नजफगढ़ में 45 के पार पहुंचा पारा

मौसम विभाग के मुताबिक नजफगढ़ इलाका सर्वाधिक गर्म रहा। यहां अधिकतम 45.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। वहीं, नरेला में 44.9, पीतमपुरा में 44.3, पूसा में 44, जाफरपुर व रिज में 43.4 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान दर्ज किया।

खराब श्रेणी में आबोहवा
राजधानी में हवा की गति कम होने से आबोहवा खराब श्रेणी में पहुंच गई है। शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 228 रहा, जोकि खराब श्रेणी में है। सर्वाधिक इलाकों में एक्यूआई 200 के पार दर्ज किया। दिल्ली की हवा समग्र रूप से खराब श्रेणी में बनी रही। मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार को हवा मध्यम श्रेणी में पहुंचने का अनुमान है। सीपीसीबी के अनुसार एनसीआर में ग्रेटर नोएडा का सबसे अधिक वायु गुणवत्ता सूचकांक दर्ज किया। यहां एक्यूआई 273 रहा, यह खराब श्रेणी है। गुरुग्राम में 271, नोएडा में 232, फरीदाबाद में 216 व गाजियाबाद में 177 एक्यूआई दर्ज किया।

शुक्रवार को दिल्ली का तापमान

अधिकतम तापमान- 43 डिग्री सेल्सियस
न्यूनतम तापमान- 28 डिग्री सेल्सियस

शनिवार को दिल्ली के मौसम का अनुमान

तेज हवा के साथ धूल भरी आंधी चलने और हल्की बारिश होने का अनुमान।
अधिकतम तापमान- 42 डिग्री सेल्सियस
न्यूनतम तापमान- 29 डिग्री सेल्सियस।

गुरुवार, 6 जून 2024

आयुक्त ने राष्ट्रपति को चुने गए सदस्यों की सूची सौंपी

आयुक्त ने राष्ट्रपति को चुने गए सदस्यों की सूची सौंपी

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने दो अन्य चुनाव आयुक्तों के साथ गुरुवार शाम को राष्ट्रपति भवन पहुंचकर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 18वीं लोकसभा के लिए चुने गए सदस्यों की सूची सौंपी। इसके साथ ही 16 मार्च को लोकसभा चुनाव के ऐलान के साथ ही देश में लगाई गई आचार संहिता भी गुरुवार को समाप्त हो गई। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने गुरुवार शाम राष्ट्रपति भवन पहुंचकर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। राष्ट्रपति सचिवालय के मुताबिक जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा-73 के संदर्भ में भारत के चुनाव आयोग द्वारा जारी अधिसूचना की एक प्रति राष्ट्रपति को सौंपी गई। 
इसमें 18वीं लोकसभा के आम चुनावों के बाद लोकसभा के लिए चुने गए सदस्यों के नाम शामिल हैं। राष्ट्रपति ने मानव इतिहास की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक चुनावी प्रक्रिया के सफल समापन पर मुख्य चुनाव आयुक्त और चुनाव आयुक्तों को बधाई दी। पूरे देश की ओर से, उन्होंने चुनाव आयोग, उसके अधिकारियों और कर्मचारियों के सदस्यों, अभियान और मतदान के प्रबंधन और पर्यवेक्षण में शामिल अन्य सार्वजनिक अधिकारियों, पुलिस और सुरक्षा कर्मियों, केंद्र और राज्य के प्रयासों की सराहना की। राष्ट्रपति सचिवालय के मुताबिक लोगों के मतपत्र की पवित्रता को बनाए रखने और स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए अथक और परिश्रमपूर्वक काम किया गया है।सबसे बढ़कर, उन्होंने लाखों मतदाताओं की सराहना की, जिन्होंने इतनी बड़ी संख्या में चुनाव प्रक्रिया में भाग लिया। राष्ट्रपति ने कहा, “यह पूरी तरह से हमारे संविधान और भारत की गहरी और अटल लोकतांत्रिक परंपराओं के अनुरूप है।” राष्ट्रपति से मुलाकात के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त के साथ चुनाव आयुक्त ज्ञानेश कुमार और डॉ. सुखबीर सिंह संधू भी मौजूद रहे। इससे पहले बुधवार को राष्ट्रपति ने 17वीं लोकसभा को तत्काल प्रभाव से भंग किया था। यह फैसला राष्ट्रपति ने केंद्रीय कैबिनेट की सलाह पर लिया था।

सोमवार, 3 जून 2024

मतदान: आज होगा 542 सीटों पर 'चुनाव'

मतदान: आज होगा 542 सीटों पर 'चुनाव' 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्‍ली। देश में 18वीं लोकसभा के लिए सात चरणों में चुनाव संपन्न हो चुके हैं। 97 करोड़ मतदाताओं ने 543 लोकसभा सीटों पर चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों के भाग्‍य का फैसला कर दिया है। इनमें से गुजरात की सूरत लोकसभा सीट छोड़कर 542 सीटों का फैसला आज यानी 4 जून 2024 को आएगा।
ऐसे में हम सभी के मन में सवाल आता है कि इतनी बड़ी संख्या में वोटों की गिनती कौन करता है और कैसे होती है? मतगणना का समय क्या है? ऐसे ही कई सवालों के जवाब यहां पढ़िए...

इतनी बड़ी संख्या में वोटों की गिनती कौन करेगा ?

चुनाव आयोग (ECI) की ओर से रिटर्निंग ऑफिसर की नियुक्ति की जाती है, जो कल यानी 4 जून को पारदर्शिता के साथ बिना किसी बाधा के मतगणना कराएंगे। लोकसभा चुनाव में वोटों की गिनती रिटर्निंग ऑफिसर (RO) और सहायक रिटर्निंग ऑफिसर (AROS) की देखरेख में किसी बड़े हॉल में होती है। इनके अलावा, चुनाव आयोग की ओर से एक वरिष्ठ अधिकारी को पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात किया जाता है।
वोटों की गिनती शुरू करने से पहले रिटर्निंग ऑफिसर और असिस्टेंट रिटर्निंग ऑफिसर मतों की गोपनीयता बनाए रखने की शपथ लेंगे। मतगणना शुरू होने से पहले जोर-जोर से बोलकर शपथ लेते हैं।

वोटों की गिनती कब शुरू होगी ?

चुनाव आयोग के मुताबिक, मतगणना सुबह 8 बजे से शुरू होगी। हालांकि, किसी विशेष परिस्थिति में समय में बदलाव भी किया जा सकता है। सबसे पहले बैलेट पेपर और इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम ( ETPBS) के जरिए डाले गए वोटों की गणना होगी।
बता दें कि आमतौर पर बैलेट पेपर व ईटीपीबीएस के जरिए चुनाव ड्यूटी में तैनात सरकारी कर्मचारी, सैनिक, देश के बाहर सेवारत सरकारी अधिकारी, बुजुर्ग मतदाता व प्रिवेंटिव डिटेंशन में रहने वाले लोग मतदान करते हैं। इन वोटों को गिनने में करीब आधे घंटे का समय लग जाता है।
सुबह 08:30 बजे के बाद सभी टेबलों पर एक साथ EVM के वोटों की गिनती शुरू होती है। हॉल में एक राउंड में 14 ईवीएम के वोटों की गिनती की जाती है।
मतगणना केंद्र पर मौजूद रिटर्निंग ऑफिसर प्रत्येक राउंड की गिनती के बाद रिजल्ट का एलान करते हैं। साथ ही इसे चुनाव आयोग की वेबसाइट पर भी अपडेट किया जाता है। मतों की गिनती का पहला रुझान सुबह 9 बजे से आना शुरू हो जाएगा।
बता दें कि देश की 542 सीटों पर चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों की किस्‍मत का फैसला आएगा। इनमें से गुजरात की सूरत लोकसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी की निर्विरोध जीत हो गई थी।

'अमूल' दूध की कीमतों में ₹2 प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी

'अमूल' दूध की कीमतों में ₹2 प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। देश में महंगाई से जनता का बुरा हाल है। इसी में एक बड़ा झटका और लगा है। अमूल ने देशभर में दूध के दाम बढ़ा दिए हैं। जानकारी के मुताबिक, गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन संघ ने नोट सोमवार से अमूल दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी की है।
बता दें, अमूल ने अपने अमूल गोल्ड दूध में दो रुपये प्रति लीटर की वृद्धि करने के साथ-साथ अमूल शक्ति और टी स्पेशल के दामों में भी इतने ही रुपये का इजाफा किया है। बढ़ी हुई सभी कीमतें आज सोमवार से लागू हो गई हैं।
अब अमूल गोल्ड दूध के नए रेट 64 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 66 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। वहीं, अमूल टी स्पेशल के दाम 62 रुपये से बढ़कर 64 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। इस बढ़ोत्तरी पर अमूल ने कहा कि बढ़े हुए दाम सिर्फ 3 से 4 फीसदी की बढ़ोत्तरी है, जो फूड इंफेलेशन से भी कम है। अमूल ने आगे कहा कि इससे पहले पिछले साल फरवरी 2023 में दाम बढ़ाए गए थे। इसलिए दाम बढ़ाने जरूरी थे। अमूल ने कहा कि दूध के उत्पादन और कॉस्ट में बढ़ोत्तरी के चलते यह फैसला लिया गया है।

शनिवार, 1 जून 2024

'एशिया' के सबसे अमीर शख्स बनें अडानी

'एशिया' के सबसे अमीर शख्स बनें अडानी 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ते हुए एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। उनकी संपत्ति में भी भारी उछाल देखने को मिला है। पिछले 24 घंटे में अडानी के शेयर में जोरदार उछाल देखने को मिला है। 
बता दें, कि अमीरों की टॉप लिस्ट जारी हो चुकी है। लिस्ट में कई फेरबदल देखने को मिला है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स के अनुसार मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ते हुए गौतम अडानी एक बार फिर से भारत समेत एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं।

सोमवार, 27 मई 2024

'आईसीएफ' ने 1010 पदों के लिए भर्ती खोली

'आईसीएफ' ने 1010 पदों के लिए भर्ती खोली 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। अगर आप भारतीय रेलवे में नौकरी पाना चाहते हैं तो आपके लिए एक सुनहरा अवसर है। दरअसल, इंडियन रेलवेज़ इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) ने 1010 अप्रेंटिस पदों के लिए भर्ती खोल दी है। इसके लिए ICF ने ऑनलाइन आवेदन मंगाए हैं। वहीं योग्य उम्मीदवार ICF चेन्नई के रिक्रूटमेंट पोर्टल pb.icf.gov.in पर जाकर इसके लिए अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जानकारी के अनुसार इन पदों पर आवेदन करने की आखिरी तारीख 21 जून 2024 है।

जानें, इसकी पूरी डिटेल

दरअसल ICF ने दो कैटेगरी में ट्रेड अप्रेंटिस की भर्तियां निकाली हैं: फ्रेशर्स और एक्स आईटीआई। जिसमें फ्रेशर्स की बात करें तो इसमें 330 वैकेंसी हैं, जिनमें आवेदन करने के लिए उम्मीदवार को 10वीं में कम से कम 50 फीसदी अंकों के साथ पास होना जरूरी है। इसके अलावा, 12वीं में साइंस/मैथ्स विषय पढ़ा होना भी अनिवार्य है।
वहीं, आईटीआई कैटेगरी की बात की जाए तो इसमें कुल 680 वैकेंसी निकली गई हैं, जिनमें एलिजिबिलिटी देखि जाए तो कैंडिडेट्स को हाईस्कूल 50 फीसदी अंकों के साथ पास होना और संबंधित ट्रेड में आईटीआई सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है।

NTPC रिक्रूटमेंट 2024

आवेदन की प्रक्रिया
जानकारी दे दें कि इच्छुक और योग्य उम्मीदवार ICF के आधिकारिक पोर्टल pb.icf.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की आखिरी तारीख 21 जून 2024 है, इसलिए समय रहते अपना आवेदन जरूर जमा करें। आवेदन प्रक्रिया में उम्मीदवारों को अपनी शैक्षिक योग्यताओं, अनुभव और अन्य आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।

स्टाइपेंड की जानकारी

वहीं, आपको बता दें कि ICF द्वारा चुने गए अप्रेंटिस को प्रशिक्षण के दौरान स्टाइपेंड दिया जाएगा। फ्रेशर्स- स्कूल पास आउट (10वीं क्लास) के लिए 6000 रुपये प्रति माह, फ्रेशर्स- स्कूल पास आउट (12वीं क्लास) के लिए 7000 रुपये प्रति माह, और एक्स आईटीआई- नेशनल या स्टेट सर्टिफिकेट होल्डर के लिए 7000 रुपये प्रति माह का स्टाइपेंड दिया जाएगा।

'ग्रैंड प्रिक्स' अवॉर्ड जीतने की उपलब्धि पर गर्व

'ग्रैंड प्रिक्स' अवॉर्ड जीतने की उपलब्धि पर गर्व

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। डायरेक्टर पायल कपाड़िया इन दिनों सातवे आसमान पर है। इस खुशी का कारण हैं उनकी फिल्म ‘ऑल वी इमेजिन एज लाइट’ को कान्स फिल्म फेस्टिवल 2024 में अवॉर्ड से नवाजा गया है। ऑल वी इमेजिन एज ने कान्स का इस फिल्म फेस्टिवल का दूसरा सबसे बड़ा अवॉर्ड अपने नाम किया है। ऐसे में सोशल मीडिया पर उन्हें ढेरों बधाइयां मिल रही हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी डायरेक्टर और उनकी पूरी टीम का बधाई दी हैं।

पीएम मोदी ने दी बधाई

पायल कपाड़िया ने कान्स में अपना परचम लहराया और इस फिल्म फेस्टिवल का दूसरा सबसे बड़ा अवॉर्ड अपने नाम किया। ऐसे में रविवार 26 मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने एक्स अकाउंट पर पूरी टीम का बधाई देते हुए लिखा, ”भारत को पायल कपाड़िया पर उनके काम ‘ऑल वी इमेजिन एज लाइट’ के लिए 77वें कान्स फिल्म फेस्टिवल में ग्रैंड प्रिक्स जीतने की ऐतिहासिक उपलब्धि पर गर्व है। 
एफटीआईआई की पूर्व छात्रा, उनकी उल्लेखनीय प्रतिभा वैश्विक मंच पर चमकती रहती है, जो भारत में समृद्ध रचनात्मकता की झलक देती है। यह प्रतिष्ठित सम्मान न केवल उनके असाधारण कौशल का सम्मान करता है। बल्कि भारतीय फिल्म निर्माताओं की नई पीढ़ी को भी प्रेरित करता है।

8 मिनट तक मिला था स्टैंडिंग अवेशन

बता दें, कान्स फिल्म फेस्टिवल में ‘ऑल वी इमेजिन एज लाइट’ इसका प्रीमियर 23 मई को हुआ था, जिसे देखकर लोगों ने इसे स्टैंडिंग ओवेशन मिला। मूवी खत्म होने के बाद 8 मिनट तक लोगों ने खड़े होकर इसके लिए तालियां बजाई थी। ये नजारा देख स्टार कास्ट बेहद इमोशनल होती दिखाई दी थी।

क्या है फिल्म की कहानी ?

‘ऑल वी इमेजिन ऐज लाइट’ की कहानी एक नर्स प्रभा के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसे लंबे समय के बाद उसके पति से तोहफा मिलता है। इसमें प्रभा के अपने पति के साथ संबंध काफी समय से खराब हैं। वहीं, उसकी रूममेट अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ वक्त गुजारने के लिए प्राइवेट रूम देखती हैं। फिर एक दिन दोनों रोड ट्रिप पर जाती हैं, जहां उनकी लाइफ में नया मोड़ आता है।

फिल्म की स्टार कास्ट

पायल कपाड़िया फिल्म में कनी कुश्रुति, ऋधु हरूण, दिव्या प्रभा, छाया कदम और अजीस जैसे स्टार्स ने काम किया है।

रविवार, 26 मई 2024

दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर, जवाब मांगा

दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर, जवाब मांगा 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सहयोगी बिभव कुमार ने जमानत के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया है। कुमार पर स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट करने का आरोप है।
कोर्ट ने उनकी याचिका पर दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 27 मई को होगी। कोर्ट ने शुक्रवार को कुमार को चार दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।
पांच दिन की पुलिस हिरासत की अवधि समाप्त होने पर कुमार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 28 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।
13 मई को स्वाति मालीवाल पर हमले के सिलसिले में विभव कुमार को 18 मई को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद कुमार को स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां से पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था।
जांच से जुड़े पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस क्राइम सीन को रीक्रिएट करने कुमार को सीएम आवास भी ले गई थी। विभव कुमार को मुंबई में तीन जगहों पर ले जाया गया। कुमार ने एक जगह पर अपना फोन फॉर्मेट कर दिया था, जिसका खुलासा तकनीकी जांच के बाद हुआ।
पुलिस के अनुसार, कुमार ने 17 मई को फोन में खराबी का हवाला देते हुए उसे फॉर्मेट कर दिया था। दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास पर स्वाति मालीवाल पर कथित तौर पर हमले के आरोप में कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
सिविल लाइंस थाने में दर्ज एफआईआर में आईपीसी की धारा 308, 341, 354 (बी), 506 और 509 के तहत आरोप शामिल हैं।

बुधवार, 22 मई 2024

2,10,874 करोड़ के ट्रांसफर को मंजूरी दी: बैंक

2,10,874 करोड़ के ट्रांसफर को मंजूरी दी: बैंक 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के केंद्रीय निदेशक मंडल ने वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए सरकार को सरप्लस के रूप में 2,10,874 करोड़ रुपये के ट्रांसफर को मंजूरी दे दी है। आरबीआई ने 22 मई को मंजूरी दे दी है। यह निर्णय गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में आयोजित भारतीय रिजर्व बैंक के केंद्रीय निदेशक मंडल की 608वीं बैठक में लिया गया है। 
आरबीआई ने एक बयान में कहा कि बोर्ड ने अकाउंटिंग ईयर 2023-24 के लिए केंद्र सरकार को सरप्लस के रूप में 2,10,874 करोड़ रुपये के ट्रांसफर को मंजूरी दी। 2022-23 के लिए लाभांश भुगतान 87,416 करोड़ रुपये था।
आरबीआई ने एक विज्ञप्ति में कहा कि केंद्रीय बैंक ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए सरकार को अधिशेष ट्रांसफर बिमल जालान समिति की सिफारिशों के अनुसार आरबीआई द्वारा अपनाए गए आर्थिक पूंजी ढांचे (ईसीएफ) पर आधारित है। ECF को RBI द्वारा 26 अगस्त, 2019 को अपनाया गया था।
2024-25 में ट्रांसफर डिविडेंड, सरकार की अपेक्षा से कहीं अधिक है। यह ट्रांसफर FY24 के लिए है। लेकिन यह FY25 के लिए सरकार के खाते में दिखाई देगा।
विशेषज्ञों ने कहा कि उच्च डिविडेंड सरकार की लिक्विडिटी सरप्लस और उसके बाद खर्च का समर्थन करेगा। सरकार ने 2024-25 के लिए 1.02 लाख करोड़ रुपये के लाभांश का बजट रखा था। 1.02 लाख करोड़ रुपये पर, वित्त वर्ष 2025 के लिए बजटीय डिविडेंड रेवेन्यू 2023-24 के 1.04 लाख करोड़ रुपये के संशोधित अनुमान से 2.3 फीसदी कम है।

शुक्रवार, 17 मई 2024

मोटोरोला एज 50 फ्यूजन को लॉन्च करने की घोषणा

मोटोरोला एज 50 फ्यूजन को लॉन्च करने की घोषणा

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी मोटोरोला ने आज अपनी प्रीमियम एज फ्रेंचाइजी के नवीनतम संस्करण के तौर पर मोटोरोला एज 50 फ्यूजन को लॉन्च करने की घोषणा की। जिसकी कीमत 20999 रुपये है। 
कंपनी ने यहां जारी बयान में कहा कि मोटोरोला एज 50 फ्यूज़न ने अपने सेगमेंट की कई सर्वश्रेष्ठ सुविधाओं के साथ 25 हजार से कम कीमत वाले स्मार्टफोन सेगमेंट में है। यह अपने 50 एमपी के प्राइमरी कैमरे में इस सेगमेंट का सबसे उन्नत सोनी-एलवायटीआईए700सी सेंसर, स्मार्ट वॉटर टच तकनीक के साथ सेगमेंट का एकमात्र आईपी 68 अंडरवाटर प्रोटेक्शन और कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 प्रोटेक्शन के साथ 144हर्ट्ज़ 10-बिट पोलेड 3डी कर्व्ड डिस्प्ले पेश करता है। 
इसके अतिरिक्त, मोटोरोला एज 50 फ्यूज़न में स्नैपड्रैगन 7एस जेन 2 प्रोसेसर, 12जीबी तक इन-बिल्ट रैम और 256जीबी स्टोरेज, 5000एमएएच बैटरी के लिए 68वॉट का चार्जर और 4 साल के सुरक्षा अपडेट के साथ 3 ओएस अपग्रेड का आश्वासन दिया गया है। इसके साथ-साथ, टिकाऊ पैकेजिंग और उत्पाद डिजाइन की गुणवत्ता को आगे बढ़ाते हुए, यह स्मार्टफोन एक पर्यावरण-हितैषी पैकेजिंग में आता है, जो प्लास्टिक से मुक्त है तथा इसमें रिसाइकल की गई व रिसाइकल करने योग्य सामग्री का उपयोग किया जाता है।

मंगलवार, 14 मई 2024

परस्पर लाभ पहुंचाने से जुड़े मामलों की जांच कराएं

परस्पर लाभ पहुंचाने से जुड़े मामलों की जांच कराएं 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। दो गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) ने मंगलवार को उच्चतम न्यायालय से अनुरोध किया कि वह चुनावी बॉन्ड योजना में राजनीतिक दलों, कॉरपोरेट संस्थाओं और जांच एजेंसियों के अधिकारियों की ओर से कथित तौर पर परस्पर लाभ पहुंचाने से जुड़े मामलों की जांच अदालत की निगरानी में विशेष जांच दल से कराएं।
उन्होंने अदालत से इस संबंध में उनकी जनहित याचिका को सूचीबद्ध करने पर विचार करने की अपील की। न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति दीपांकर दत्ता की पीठ ने गैर सरकारी संगठनों ‘कॉमन कॉज’ और सेंटर फॉर पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन (सीपीआईएल) की ओर से पेश वकील प्रशांत भूषण की इस दलील का संज्ञान लिया कि याचिका को जल्द से जल्द सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने की आवश्यकता है। न्यायमूर्ति खन्ना ने भूषण से कहा, ”सीजेआई के कार्यालय को इसकी जानकारी है। इसे सूचीबद्ध किया जाएगा। ”पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने 15 फरवरी को भाजपा सरकार की ओर से शुरू की गई चुनावी बॉन्ड योजना को रद्द कर दिया था। एनजीओ की ओर से दायर याचिका में चुनावी बॉन्ड योजना को घोटाला करार देते हुए विभिन्न राजनीतिक पार्टियों को चंदा देने वाली मुखौटा कंपनियों व घाटे में चल रही कंपनियों के स्रोतों की जांच के लिए प्राधिकारियों को निर्देश देने का अनुरोध किया गया है।याचिका में अधिकारियों को कंपनियों द्वारा दान में दिए गए धन को जहां यह अपराध की आय के रूप में अर्जित किया गया हो, वापस लेने के लिए निर्देश देने की भी मांग की गई है।
शीर्ष अदालत के फैसले के बाद चुनावी बॉन्ड योजना के तहत अधिकृत वित्तीय संस्थान भारतीय स्टेट बैंक ने चुनाव आयोग (ईसी) के साथ योजना की जानकारी साझा किया की थी, जिसने बाद में इसे सार्वजनिक कर दिया।

'बीएसएनएल' ने एक साथ दो प्लान पेश किए

'बीएसएनएल' ने एक साथ दो प्लान पेश किए 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनियां अपने ग्राहकों के लिए रिचार्ज से संबंधित ऑफर लाती रहती हैं। हम सभी ऐसे प्लान की तलाश में रहते हैं, जो सस्ता हो। ऐसे में अगर आप भी किसी सस्ते प्लान की तलाश में हैं तो बीएसएनएल ने एक साथ दो जबरदस्त प्लान पेश किए हैं। 
बता दें BSNL के इन प्लान की कीमतें 58 रुपये और 59 रुपये हैं। इनमें से 59 रुपये वाला एक रेगुलर सर्विस वैलिडिटी प्लान है, जबकि 58 रुपये वाला एक डाटा प्लान है। तो चलिए इन दोनों प्लान के बारे में विस्तार से जानते हैं। 

58 रुपये वाले प्लान के फायदे

BSNL के 58 रुपये वाले प्लान के फायदों की बात करें तो इस प्लान में हर रोज 2 जीबी डाटा मिलेगा और इसकी वैधता 7 दिनों की है। वहीं डाटा खत्म होने के बाद इंटरनेट की स्पीड 40Kbps हो जाएगी। यदि आपको डाटा की जरूरत है तो यह प्लान आपके लिए हो सकता है क्योंकि इसमें महज 58 रुपये में आपको 14 जीबी डाटा मिलता है।

59 रुपये वाले प्लान के फायदे

बता दें BSNL के इस प्लान के साथ हर रोज 1 जीबी डाटा मिलता है। वहीं इसके अलावा इस प्लान के साथ 7 दिनों की सर्विस वैलिडिटी मिलती है। अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा भी मिलती है। इस प्लान में एसएमएस नहीं मिलेगा। यह प्लान उनके लिए है जिन्हें डाटा के साथ कॉलिंग भी चाहिए।

शनिवार, 11 मई 2024

आंधी की चपेट में आकर गिरा पेड़, 2 लोगों की मौत

आंधी की चपेट में आकर गिरा पेड़, 2 लोगों की मौत 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। तन झुलसाती गर्मी के बीच दिल्ली और एनसीआर में आई धूल-भरी आंधी आफत बनते हुए दो लोगों की जान ले गई है। आंधी की चपेट में आकर गिरे पेड़ की चपेट में आकर दो लोगों की मौत हो गई है। तूफान के कारण अलग-अलग हादसों में घायल हुए 23 लोगों को हॉस्पिटलों में भर्ती कराया गया है। देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर इलाके में इस समय पड़ रही भीषण गर्मी के बीच शुक्रवार की रात आई धूल भरी आंधी ने चारों तरफ आफत के हालात पैदा कर दिए। सड़कों पर पेड़ गिरने से जहां दिल्ली और आसपास के इलाकों में यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ है, वहीं पेड़ गिरने से दो लोगों की मौत हो गई है। आफत बनकर आई तेज आंधी में कई इमारतों को नुकसान भी पहुंचा है। पेड़ गिरने से जुड़े 152 और इमारत को नुकसान पहुंचाने से जुड़े 55 और पावर कट से जुड़े 200 मामले पुलिस ने रिसीव किए हैं। हालांकि आंधी और बारिश के बाद राजधानी दिल्ली और एनसीआर में निरंतर बढ़ रहे तापमान से लोगों को थोड़ी राहत मिली है। आज शनिवार को मौसम सुहावना बना हुआ है और कुछ स्थानों पर रुक-रुक कर हल्की बूंदा-बांदी भी चल रही है।

शुक्रवार, 10 मई 2024

सीएम को चुनाव में प्रचार करने के लिए जमानत दी

सीएम को चुनाव में प्रचार करने के लिए जमानत दी

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक जून तक अंतरिम जमानत दिए जाने के बाद यहां स्थित आम आदमी पार्टी के कार्यालय में जश्न मनाया गया। खुशी से लबरेज कार्यकर्ताओं ने नृत्य किया और “जेल के ताले टूट गए, केजरीवाल जी छूट गए” जैसे नारे लगाए। शीर्ष अदालत ने शुक्रवार को केजरीवाल को बड़ी राहत देते हुए लोकसभा चुनाव में प्रचार करने के लिए अंतरिम जमानत दे दी।
न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति दीपांकर दत्ता की पीठ ने कहा कि कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में गिरफ्तार केजरीवाल को दो जून को आत्मसमर्पण करना होगा और वापस जेल जाना होगा। आम चुनाव का आखिरी चरण का मतदान एक जून को होगा।

गुरुवार, 9 मई 2024

इंडिया एक्सप्रेस ने 25 क्रू मेंबर्स को बर्खास्त किया

इंडिया एक्सप्रेस ने 25 क्रू मेंबर्स को बर्खास्त किया 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। अचानक एक साथ छुट्टी पर गए क्रू मेंबर्स पर कार्यवाही का डंडा चलाते हुए एयर इंडिया एक्सप्रेस ने अपने दो दर्जन से भी अधिक क्रू मेंबर्स को बर्खास्त कर दिया है। नौकरी से निकालकर बाहर किए गए कर्मचारी 7 मई की रात अचानक छुट्टी पर चले गए थे। एक साथ इतने सारे क्रू मेंबर्स के छुट्टी पर चले जाने की वजह से एयर इंडिया एक्सप्रेस को अपनी 90 से भी ज्यादा पुराने कैंसिल करनी पड़ी थी। बृहस्पतिवार को टाटा ग्रुप के स्वामित्व वाली एयरलाइंस एयर इंडिया एक्सप्रेस ने 7 मई की रात अचानक एक साथ छुट्टी पर गए 25 क्रू मेंबर्स को बर्खास्त करते हुए उन्हें सेवाओं से बाहर कर दिया है। एयरलाइंस के सीईओ आलोक सिंह ने बताया है कि बृहस्पतिवार और आने वाले दिनों में भी एयरलाइंस को अपनी कई फ्लाइट कैंसिल करनी पड़ सकती है। इसके अलावा एयर इंडिया एक्सप्रेस अपनी उड़ानों में भी कटौती करेगा।

बुधवार, 8 मई 2024

जंगलों में आग लगने का केस, 15 मई को सुनवाई

जंगलों में आग लगने का केस, 15 मई को सुनवाई 

अकांशु उपाध्याय/पंकज कपूर 
नई दिल्ली/देहरादून। उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग के कारण हालात चिंताजनक होते जा रहे हैं। राज्य सरकार के तमाम प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। कई जगहों पर आग नए सिरे से भड़क रही है। इस कारण दमकल कर्मियों के साथ-साथ वायुसेना को भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि राज्य सरकार और मामले से जुड़े याचिकाकर्ता केंद्रीय अधिकार प्राप्त समिति (CEC) को रिपोर्ट सौंपें। समिति रिपोर्ट के आधार पर अपनी राय बनाएगी और शीर्ष अदालत को सूचित किया जाएगा।
बुधवार को मुकदमे की सुनवाई के दौरान उत्तराखंड सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि केवल 0.1% वन्यजीव क्षेत्र जंगल में लगी आग के कारण प्रभावित हुए। दलीलों को सुनने के बाद अदालत ने कहा कि इस मामलें में अगली सुनवाई 15 मई को होगी। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बीआर गवई और न्यायमूर्ति संदिप मेहता की पीठ में इस मामले की सुनवाई हो रही है। सरकार ने बताया कि साल 2023 में जंगल में आग लगने की 398 घटनाएं हुई थीं, जिसके पीछे इंसानों का हाथ था।
उत्तराखंड सरकार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि जंगल में आग लगने की घटनाओं से सख्ती से निपटा जा रहा है। अब तक 350 आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। 62 लोगों को नामजद किया गया है। सरकारी वकील के मुताबिक लोगों का मानना है कि उत्तराखंड का 40 फीसदी हिस्सा आग की चपेट में है। हालांकि, वन्यजीव क्षेत्र के महज 0.1 फीसदी हिस्से में आग लगी है। दलीलों को सुनने के बाद पीठ ने कहा कि क्लाउड सीडिंग या प्राकृतिक बारिश पर निर्भर रहना इस परेशानी का निदान नहीं है। अदालत ने साफ किया कि सरकार को और अधिक उपाय करने होंगे।

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'  सरस्वती उपाध्याय  चिलचिलाती गर्मी के मौसम में सभी को ठंडा रहने के लिए शरीर को ठंडक ...