रविवार, 6 अक्तूबर 2019

मां सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता

माँ दुर्गाजी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है। इस दिन शास्त्रीय विधि-विधान और पूर्ण निष्ठा के साथ साधना करने वाले साधक को सभी सिद्धियों की प्राप्ति हो जाती है। सृष्टि में कुछ भी उसके लिए अगम्य नहीं रह जाता है। ब्रह्मांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामर्थ्य उसमें आ जाती है।


सिद्धिदात्री- नवदुर्गाओं में नवम
देवनागरी-सिद्धिदात्री
संबंध-हिन्दू देवी
अस्त्र-कमल
जीवनसाथी-शिव
सवारी-सिंह
श्लोक:-सिद्धगन्धर्वयक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि । सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी।।


सिद्धियां:- मार्कण्डेय पुराण के अनुसार अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, ईशित्व और वशित्व- ये आठ सिद्धियाँ होती हैं। ब्रह्मवैवर्त पुराण के श्रीकृष्ण जन्म खंड में यह संख्या अठारह बताई गई है। इनके नाम इस प्रकार हैं-


माँ सिद्धिदात्री भक्तों और साधकों को ये सभी सिद्धियाँ प्रदान करने में समर्थ हैं। देवीपुराण के अनुसार भगवान शिव ने इनकी कृपा से ही इन सिद्धियों को प्राप्त किया था। इनकी अनुकम्पा से ही भगवान शिव का आधा शरीर देवी का हुआ था। इसी कारण वे लोक में 'अर्द्धनारीश्वर' नाम से प्रसिद्ध हुए।


माँ सिद्धिदात्री चार भुजाओं वाली हैं। इनका वाहन सिंह है। ये कमल पुष्प पर भी आसीन होती हैं। इनकी दाहिनी तरफ के नीचे वाले हाथ में कमलपुष्प है। प्रत्येक मनुष्य का यह कर्तव्य है कि वह माँ सिद्धिदात्री की कृपा प्राप्त करने का निरंतर प्रयत्न करे। उनकी आराधना की ओर अग्रसर हो। इनकी कृपा से अनंत दुख रूप संसार से निर्लिप्त रहकर सारे सुखों का भोग करता हुआ वह मोक्ष को प्राप्त कर सकता है।


स्तुति:-या देवी सर्वभू‍तेषु माँ सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।


अर्थ:- हे माँ! सर्वत्र विराजमान और माँ सिद्धिदात्री के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे अपनी कृपा का पात्र बनाओ।


सिद्धार्थ ने सैफाली को किस किया

बिग बॉस 13: सिद्धार्थ डे ने सलमान खान के सामने किया इस कंटेस्टेंट को 'किस


मुबंई। सलमान खान के शो बिग बॉस 13 में शनिवार को पहला वीकेंड का वार हुआ। इस दौरान सलमान खान ने घर के सदस्यों के साथ मस्ती करने के अलावा उनकी क्लास भी ली। 'बीबी हॉस्पिटल टास्क' के दौरान आरती और शेफाली के बीच हुए विवाद को सलमान खान ने खत्म किया। कंटेस्टेंट से पूरे हफ्ते का हालचाल लेते समय सलमान खान उस समय असहज हो गए जबकि उनकी एक्स गर्लफ्रेंड ऐश्वर्या राय बच्चन का जिक्र हुआ।


बिग बॉस के घर में पिछले दिन हुए टास्क बीबी हॉस्पिटल में शेफाली बग्गा ने देबोलीना भट्टाचार्य को क्वीन बनने नहीं दिया। इसमें बाद से घर के सभी सदस्य दो हिस्सो में बंट गए। इसमें सिद्धार्थ डे और शहनाज गिल को छोड़कर घर के सभी सदस्य शेफाली के खिलाफ हो गया। लेकिन 'वीकेंड का वॉर' में सलमान खान में शेफाली के इस कदम को स्पोर्ट किया। इसके साथ ही शेफाली को इस हफ्ते सेफ कर दिया। इसी खुशी में शेफाली के साथ बैठे सिद्धार्थ डे ने शेफाली बग्गा को किस किया।


सलमान खान ने शो में सभी कंटेस्टेंट्स से पूछा था कि उन्हें घर में सबसे स्ट्रॉन्ग कनेक्शन किसका लगता है तो इसके जवाब में ज्यादातर ने शहनाज गिल और पारस छाबड़ा का नाम लिया। इसके बाद सलमान ने सिद्धार्थ डे की खिचाई करते हुए कहा कि तुम इन दोनों के बीच में क्यों आ रहे हो? सिद्धार्थ डे ने कहा कि सर आपकी फिल्म थी हम दिल दे चुके सनम, उसमें अजय देवगन आखिर में ऐश्वर्या राय को ले गए थे। क्या आप अजय देवगन, पारस सलमान खान और शहनाज पंजाब की कटरीना कैफ नहीं ऐश्वर्या राय है। सिद्धार्थ की ये बात सुनकर सलमान थोड़ा सा असहज हो गए। इस पर सलमान खान ने सिद्धार्थ डे का जमकर मजाक बनाया। सलमान ने कहा कि बस मौके मिला नहीं की किस कर के कैलोरी बर्न करने लगे। इस पर घर के बांकी सदस्य हंसने लग जाते हैं।


गौरतलब है कि बिग बॉस का 13वां सीजन अपने ग्रैंड प्रीमियर से ही विवादों में बना हुआ है। इसमें दो अलग-अलग समुदाय के लड़के-लड़की के बेड शेयर करने को लेकर बिग बॉस के खिलाफ लोगों में नाराजगी है। इसके बाद ट्विटर पर इसे लेकर कई हैशटैग ट्रेंड करने लगे।


'औरतें' भी करेगी आमरण-अनशन'

गौतमबुध नगर,दादरी। शाहबेरी, जिला गौतम बुध नगर में पिछले 1 साल से प्राधिकरण द्वारा बड़े बिल्डरों के इशारे पर किए जा रहे दमनकारी नीतियों के तहत कार्रवाई के विरोध में और प्राधिकरण सरकार  के खिलाफ 11 अक्टूबर से भूख हड़ताल के संबंध में पंचायत का आयोजन  किया गया। जिसमें हजारों की संख्या में निर्दोष बायर्स और आम जनता व भारतीय किसान संगठन के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र यादव वह गौतम बुधनगर आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष गाजियाबाद के जिला अध्यक्ष चेतन त्यागी जी ने भाग लिया, और शाहबेरी संघर्ष समिति ने फैसला लिया गया कि 11 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर जाएंगे और इस दौरान आसपास के गांवों के किसानों का पूरा समर्थन मिलेगा। सुपर टेट एवं अन्य हाई राइज बिल्डिंग में पैसा फसा चुके निर्दोष बायर्स का भी पूरा समर्थन मिलेगा। अनिश्चितकालीन आमरण अनशन के दौरान शाहबेरी क्षेत्र के तमाम 25000 परिवार के सवा लाख लोग अपना पूरा समर्थन दे रहे हैं। साथ ही आमरण अनशन शुरू होने के 3 दिन के अंदर अगर प्रशासन या प्राधिकरण ने हमारी समस्या का समाधान नहीं किया तो हम सभी शाहबेरी निवासी अपना बोरिया बिस्तर बर्तन बिछावन लेकर प्राधिकरण के दफ्तर के बाहर जाकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पर बैठ जाएंगे और तब तक वहां से नहीं हटेंगे जब तक कि हमारी समस्या का समाधान न निकाला जाए। इस दौरान शाहबेरी की महिलाओं ने भी शाहबेरी संघर्ष समिति को समर्थन दिया और बोला कि हम लोग अपना चूल्हा चौका बंद करके भी इस अनशन को समर्थन देंगे।


'संगम' पर नहीं होगा मूर्ति विसर्जन

नहीं होगा इस बार संगम में मूर्तियों का विसर्जन। 


गंगा नदी के बाढ़ की स्थिति के कारण संगम तट पर काली रोड पर प्रतिवर्ष होने वाले दुर्गा पूजा में पूजित मूर्तियों का विसर्जन इस वर्ष नहीं हो पाएगा। 


प्रयागराज। जिलाधिकारी के अनुपस्थिति के कारण अपर जिलाधिकारी नगर के आदेश अनुसार नवीन विसर्जन स्थल महेंद्र प्रताप सिंह डिग्री कॉलेज अंदावा झूँसी थाना सराय इनायत के सामने बने बड़े तालाब पर कराया जाएगा एवं शहर की तमाम कमेटियों  को सूचित करने का कार्य शुरू कर दिया गया है तथा सभी विभागों को उपरोक्त स्थल पर विसर्जन हेतु तमाम व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने का आदेश भी दे दिया गया है। 


पूरे शहर में लगभग 70 से ज्यादा कमेटियां और लगभग 130 घरेलू दुर्गा पूजा होती है एवं कई कई मूर्तियां काफी बड़ी और भारी होती है जिसकी वजह से इन मूर्तियों को लाने ले जाने के लिए एवं विसर्जित करने के लिए बड़ी बड़ी गाड़ियों और काफी ज्यादा लोगों की जरूरत होती है,  इस पर शहर से लगभग 15 किलोमीटर दूर इस नए विसर्जन स्थल पर कितनी मूर्तियां पहुंच पाएंगी और इन मूर्तियों को वहां तक पहुंचाने के लिए जो व्यवस्थाएं जैसे ट्रैफिक सुरक्षा एवं घाटों की परिस्थितियां आवश्यक है उनका इंतजाम मात्र 2 दिनों में कैसे हो पाएगा यह तो प्रशासन ही बता सकता है लेकिन कई ऐसी कमेटियां हैं जो लगभग 30 से 35 किलोमीटर दूर से नवीन विसर्जन स्थल पर पहुंचेंगे
 रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


घुसपैठियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन

लखनऊ। लखनऊ में अवैध बांग्लादेशी और विदेशी नागरिकों को लेकर अभियान पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) के आदेश के बाद लखनऊ पुलिस ने अवैध रूप से रह रहे नागरिकों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया। यह अभियान लखनऊ के गोमती नगर इलाके में विभूतिखंड पुलिस ने कठौता इलाके में चलाया गया।
झुग्गी-झोपड़ियों में रह रहे लोगों से पूछताछ
इस अभियान के तहत पुलिस ने बस्तियों में छापेमारी की और झुग्गी-झोपड़ियों में रह रहे लोगों से पूछताछ की। साथ ही उनके डॉक्युमेंट्स चेक किए। वोटर आईडी, पैनकार्ड, आधार कार्ड सहित तमाम दस्तावेजों के जरिए जांच और पूछताछ की गई। इससे पहले लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी ने अवैध बंगलादेशी और विदेशी नागरिकों के लिए टीम गठित की।
एंटी हेल्पलाइन नंबर जारी
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने एसपी नॉर्थ को नोडल अफसर बनाया गया और एक एंटी हेल्पलाइन नंबर जारी कर ऐसे लोगों के खिलाफ सूचना देने को भी कहा गया है। एसएसपी ने कहा कि डीजीपी के आदेश के मुताबिक अवैध बांग्लादेशी और विदेशी नागरिकों को सर्च किया जाएगा।
डीजीपी ने कहा कि इस अभियान के तहत गठित की गई टीम को आदेश दिया गया है कि मकान मालिकों से कहा जाए जो विदेशी नागरिक उनके घरों में किराए पर रह रहे हैं, वह अपना सत्यापन करवा लें। अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


स्पा सेंटर पर छापा, 19 लोग गिरफ्तार

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद में 3 स्पा सेंटर्स पर पुलिस ने छापा मारा। छापेमारी में पुलिस ने 19 लोगों को गिरफ्तार किया है। शनिवार देर रात इंदिरापुरम थाना पुलिस को मुखबिरों से खबर मिली कि इलाके में चल रहे कुछ स्पा सेंटर्स अवैध तरीके से चलाए जा रहे हैं। इतना ही नहीं इन स्पा सेंटरों में सेक्स रैकेट भी चलाए जा रहे थे।


जानकारी मिलते ही इंदिरापुरम के एसओ ने एक टीम गठित की और इलाके में चल रहे 3 स्पा सेंटरों पर छापा मारा। छापे में मुखबिरों की खबर सही निकली। इसके बाद 3 अलग- अलग स्पा से 10 लड़कों और 9 लड़कियों को रात में गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक स्पा सेंटर में छापे के दौरान कई मोबाइल फोन और दवाइयां भी बरामद की गईं। पुलिस ने स्पा सेंटर से एक रजिस्टर भी जब्त किया है, जिसकी पड़ताल जारी है। देर रात हिरासत में लिए गए 10 लड़कों और 9 लड़कियों को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया और तीनों स्पा सेंटरों को सील कर दिया गया। गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों को अदालत में पेश किया जाएगा।


इंद्रप्रस्थ धार्मिक रामलीला रहेगी नंबर वन

सचिन विसौरिया


गाजियाबाद। लोनी की इंद्रप्रस्थ धार्मिक रामलीला ने तोड़े सारे रिकॉर्ड 30 से 40,000 लोगों ने लिया भाग। इतनी बड़ी संख्या के बीच लोगों ने पहुंच कर लिया रामलीला मंचन का आनंद। राम के नाम की सार्थकता और क्षेत्रीय जनता का दुलार इस कदर उमड़ा की रामलीला मैदान में जनता ही जनता नजर आती थी। कमेटी के संयोजक पवन मावी ने बताया कि दिन-प्रतिदिन लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। हमारा मकसद धार्मिक श्रीराम लीला इंद्रप्रस्थ को जिले की नंबर वन रामलीला बनाना है।


भाजयुमो ने बनाई चुनावी वोट रणनीति

लोनी में एमएलसी स्नातक चुनाव वोट बनाई जाने के लिए बैठक


अवीनाश श्रीवास्तव


गाजियाबाद। लोनी युवा मोर्चा जिला कार्यालय में क्षेत्रीय मंत्री युवा मोर्चा भूपेश चौधरी जी के अध्यक्षता स्नातक चुनाव के विषय में लोनी ज़िला ग़ाज़ियाबाद भारतीय जनता युवा मोर्चा की एमएलसी स्नातक चुनाव को लेकर जिला पदाधिकारी व मंडल अध्यक्षों की  बैठक हुई। बैठक में स्नातक वोट बनाने की रणनीत तैयार की गई।बैठक में भाजपा के जिलाध्यक्ष सुनील चौधरी युवा मोर्चा एमएलसी स्नातक चुनाव को लेकर जिला पदाधिकारी बैठक में स्नातक वोट बनाने की रणनीत तैयार की गई। बैठक में भाजपा के ज़िला बैठक का संचालन जिला महामंत्री युवा मोर्चा अनुज त्यागी जी ने किया। और भूपेश चौधरी प्रशात कुमार निशांत त्यागी अनुज त्यागी कपिल पांचाल  ने टीम के साथ बलराम नगर में स्नातक मतदाताओं से संपर्क किया गया एवं मतदाता फोम नंबर 18 भर वाया गया।
बताया कि एमएलसी स्नातक चुवाव हेतु वोट बनवाने का कार्य प्रदेश भर में चल रहा है इसी के तहत हमारे लोनी जिला गाजियाबाद में भी स्नातक चुवाव के लिए वोट बनवाने का कार्य चलाया जा रहा है और स्नातक वोट की जानकारी देता हूँ आवश्यक सामग्री 2016.2017 या उसे पहले ग्रेजुएशन फाइनल इयर मार्कशीट की फ़ोटो कॉपी,आधार कार्ड वोटर कार्ड की फ़ोटो कॉपी एक पासपोट साइज फोटो लेनी होगी और सभी से अधिक से अधिक स्नातक वोट बनाने का आग्रह किया गया। 
मुख्य रूप से भूपेश चौधरी क्षेत्रीय मंत्री युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष सुनील चौधरी युवा मोर्चा प्रशांत कुमार मंडल अध्यक्ष निशांत त्यागी युवा मोर्चा अनुज त्यागी जिला महामंत्री कपिल पांचाल मंडल महामंत्री, सेक्टर संयोजक रणसिंह कश्यप मंडल अध्यक्ष शुभम मिश्रा जिला मंत्री डॉ रविश शर्मा जिला संयोजक रवि कसाना मंडल अध्यक्ष देहात विनोद कसाना बूथ  अध्यक्ष विनय त्यागी मंडल उपाध्यक्ष देहात मीरपुर हिंदू निशु त्यागी मंडल मंत्री देहात मीरपुर हिंदू सुमित अग्रवाल मंडल उपाध्यक्ष आर्येंद्र शर्मा बूथ अध्यक्ष राजेश सक्सेना बूथ अध्यक्ष आकाश ठाकुर ओमबीर बाल्मीकि बूथ अध्यक्ष गुलाब सिंह बूथ उपाध्यक्ष मयक त्यागी पीतम सिंह प्रकाश कुमार कपिल धामा संदीप त्यागी आदि मोजूद रहे


6गांवों के किसानों ने किया रोष जाहिर

गाजियाबाद। मंडोला विहार योजना से प्रभावित मंडोला समेत 6 गांव के किसान अपनी जमीन के मुआवजे की मांग को लेकर 2 दिसम्बर 2016 से गांधीवादी तरीके अपनाकर धरना प्रदर्शन करते आ रहे हैं जिनका धरना आज भी जारी रहा। पीड़ित किसान अपनी अधिग्रहित जमीन का मुआवजा भूमि अधिग्रहण पुनर्वास एवं पुनर्स्थापन अधिनियम 2013 से दिए जाने की मांग पर अड़े हुए हैं आज धरनारत किसानो ने क्षेत्रीय विधायक नन्दकिशोर द्वारा विधान सभा में क्षेत्रीय मुद्दे उठाने का वीडियो सोशल मीडिया पर देखा व् समाचार पत्रो के माध्यम से विधायक जी द्वारा जारी विज्ञप्ति के माध्यम से छपी खबर को पढ़कर विधायक के प्रति अपनी नाराजगी व् तीन वर्षो से धरनारत किसानो का जिक्र विधानसभा में नही करने पर रोष प्रकट किया । 
गौरतलब है कि मंडोला ,नानू,पंचलोक,अगरोला,नवादा ,मिलकबामला आदि गांव के किसान 2 दिसम्बर 2016 को भाजपा नेताओ ने किसान नेता मनवीर तेवतिया(भट्टा पारसोल) को किसान आंदोलन का नेतृत्व सौंपकर धरने पर बैठाया था गाजियाबाद से भाजपा सांसद जनरल वीके सिंह उनकी पुत्री मर्णाली सिंह,बागपत के सांसद  डॉ० सतपाल चौधरी समेत लोनी विधान सभा प्रत्याशी व् लोनी नगरपालिका अध्यक्ष मनोज धामा समेत समस्त कार्यकर्ताओ ने किसानो के धरने व् उनकी मांगों को जायज ठहराया था ।
 उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद को मोहरा बनाकर पूर्व की सरकारो द्वारा मंडोला समेत 6 गांव के किसानो की ऊपजाऊ एवं बहुफसलीय 2614 एकड़ जमीन का अधिग्रहण आपात स्थिति में जमीन की आवश्यकता दिखाकर अधिग्रहण अधिनियम की आपातकालीन धारा 17 को पूर्व की सरकारो द्वारा मंजूरी देकर कराया गया था ।
क्षेत्रीय भाजपा नेताओ ने असंवेधानिक तरीके अपनाकर किये गए अधिग्रहण की आवाज बुलंद करने के लिए किसानो को जागरूक करके धरने पर बैठाया और वर्तमान विधायक नन्दकिशोर गुर्जर व् अन्य क्षेत्रीय भाजपा नेताओ ने भरोसा दिलाया कि  केंद्र में भाजपा की सरकार है यदि प्रदेश में भी भाजपा की सरकार बन गई तो धरनारत किसानो को उनका अधिकार दिलाने के बाद ही लखनऊ से घर वापसी करेंगे ।
लेकिन ऐसा कुछ नही हुआ प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद नवनिर्वाचित भाजपा विधायक नन्द किशोर गुर्जर ,सांसद एवं केंद्रीय मंत्री जनरल वी के सिंह व् भाजपा जिला अध्यक्ष बसन्त त्यागी समेत समस्त भाजपा नेताओ ने धरने पर बैठे किसानो से किनारा कर लिया । किसान आज भी अपनी मांगों को लेकर सत्याग्रह आंदोलन पर बैठे हैं। धरनारत किसान विधायक से उम्मीद कर रहे थे कि जैसे ही मौका मिलेगा विधायक जी द्वारा विधानसभा में उनका मुद्दा जरूर उठाया जायेगाा। लेकिन विधायक जी द्वारा किसानो के धरने या उनकी मांगों से सम्बंधित एक भी शब्द नही बोला गया। जिससे किसानो ने अपने विधायक के इस बर्ताव को लेकर अपना रोष प्रकट किया । आज किसानो के धरने पर अपने विधायक द्वारा गांधी जयंती के दिन विधानसभा में किसानो के गांधीवादी सत्याग्रह आंदोलन का जिक्र न किये जाने पर चर्चा होती रही । सैकड़ो महिला व् पुरुष भी धरने पर उपस्थित रहे ।
नीरज त्यागी


किन्नरों के गुटों का विवाद गरमाया

प्रयागराज किन्नर पीठाधीश्वर टीना से है खतरा : छोटी गुरु 
प्रयागराज। पिछले दिनों दो किन्नर गुटों में विवाद पर आज प्रेस वार्ता करते हुए नेहा गुरु उर्फ छोटकी किन्नर ने प्रयागराज की किन्नर पीठाधीश्वर टीना गुरु से अपने लिए खतरे का आरोप लगाया । 
पिछले दिनों अपने ऊपर हमले का आरोप लगाते हुए नेहा गुरु ने टीना गुरु आदि पर अतरसुइया थाने में एफआईआर लिखाया है उसके बाद टीना गुरु ने भी बड़े पुलिस अधिकारियों से मुलाकात करने की कोशिश किया और बैठक करके नेहा गुरु पर आरोप लगाय कि दिल्ली में नेहा गुरु के ऊपर हत्या ,चोरी आदि का केस चल रहा है और वह जबरन टीना गुरु पर आरोप लगा रही है। इन आरोपों को लेकर नेहा गुरु ने एक अदालती आदेश की कापी भी पत्रकारों को दिया जिसके तहत दिल्ली के नेशनल पार्क सर्विस रोड पर एक चोरी 2006 में हुई थी , जिसके तहत नेहा गुरु,  शिल्पा , रंजीता मुख्य आरोपी थे । पुलिस जांच में नेहा गुरु के पास से कुछ नही मिला और 2017 में आए फैसले में वह सुरक्षित हैं । 
नेहा गुरु का कहना है कि वे प्रयागराज की रहने वाली है और टीना गुरु उनके इलाके पर कब्जा करना चाहती है, जिसके लिए भद्दी भद्दी गालियां देना और मारने पीटने की धमकी दे रही है  तथा सारे आरोप दिल्ली में रहने के दौरान जो लगाए जा रहे है वे निराधार हैं। महिला अधिकार संगठन  ने कहा कि महिला अधिकार संगठन नेहा गुरु के साथ है और कोई भी जबरदस्ती या जोर अगर किसी द्वारा किया गया तो महिला अधिकार संगठन छोटकी का साथ देगा। और यह भी कहा कि पुलिस किसी के दबाव में नहीं निष्पक्ष जांच करे।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


मुजफ्फरनगर पुलिस को मिली कामयाबी

पुलिस अधीक्षक देहात नेपाल सिंह ने प्रेस वार्ता में किया बड़ा खुलासा


मुजफ्‍फरनगर। शाहपुर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, जंगल में चल रही तमंचा फैक्ट्री सहित मौत का सामान बना रहे आरोपि को किया गिरफ्तार। एसएसपी अभिषेक यादव के कुशल एवं प्रभावी निर्देशन में व पुलिस अधीक्षक देहात नेपाल सिंह के नेतृत्व में थानाध्यक्ष शाहपुर धर्मेंद्र सिंह व उनकी टीम ने एक शानदार गुड वर्क को अंजाम देते हुए एक ऐसे गिरोह को बेनकाब किया है। जो मौत का साजो-सामान बनाकर लोगो की जान से खिलवाड़ करते थे। इनके पकड़े जाने से आमजन को बड़ी राहत मिलेगी। जंगल में चल रही थी तमंचा फैक्ट्री का शाहपुर पुलिस ने किया भंडा फोड़। पकड़ा एक आरोपी जिसके पास से भारी मात्रा में अवैध असलाह ,कारतूस सहित अवैध असलाह बनाने के उपकरण भी बरामद हुए। जबकि मोके से एक आरोपी फरार होने में कामयाब रहा है। जिसकी धर पकड़ में पुलिस टीमे लगी हैं।


प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस लाईन स्थित मनोरंजन कक्ष में हुई प्रेस वार्ता के दौरान एस पी देहात नेपाल सिंह ने जानकारी देते हुए बताया की वरिष्ठ पुलिस अधिकारीयों द्वारा छेड़े गए अभियान वांछित अभियुक्तों ,बदमाशों ,चोर लुटेरों की धर पकड़ अभियान के क्रम में थाना शाहपुर पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता।


जिसके चलते थानाध्यक्ष शाहपुर धर्मेन्द्र व् उनकी टीम को मिली मुखबिर खास की सूचना पर उपनिरीक्षक अजयपाल सिंह ने मय हमराही गणों के साथ क्षेत्र के गांव किनोनी के जंगल में चल रही अवैध तमंचा फैक्ट्री का भंडा फोड़ किया है ।पुलिस ने मोके से अवैध असलाह बनाते हुए मुनव्वर पुत्र मौ0 शाकिर निवासी ग्राम पिन्ना थाना शहर कोतवाली जनपद मु0 नगर को गिरफ्तार किया है जबकि उसका दूसरा साथी मोके से पुलिस को चकमा देकर फरार होने में कामयाब रहा जिसकी तलाश में पुलिस टीम लग गई है ।पकड़े गए आरोपी के कब्जे से 8 तमंचे 315 बोर  बने हुए , 4 जिन्दा कारतूस 315 बोर व् 10 अर्धनिर्मित तमंचे एंव तमंचे बनाने के उपकरण भी बरामद किए हैं।


थानाध्यक्ष शाहपुर धर्मेन्द्र सिंह ,उपनिरीक्षक अजयपाल सिंह, उप निरीक्षक प्रदीप कुमार , हेड कांस्टेबिल संजीव कुमार , कां . राजीव ,संदीप,वीनीत व् ललित।


'कांग्रेस संदेश यात्रा' को मिला समर्थन

लखीमपुर खीरी। गोला गोकरननाथ सदर चौराहा इंदिरा चौक से गांधी संदेश यात्रा का शुभारंभ किया गया। सबसे पहले शहर अध्यक्ष सहजेंद्र दीक्षित निवर्तमान प्रदेश सचिव प्रहलाद पटेल सदस्य जिला पंचायत खीरी ,श्री पारस प्रसाद मिश्रा ,पूर्व ब्लाक अध्यक्ष श्री मूलचंद वर्मा, निवर्तमान ब्लॉक अध्यक्ष कुंभी प्रेम कुमार वर्मा आदि जनों ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर इंदिरा चौक से गांधी संदेश यात्रा को वरिष्ठ कांग्रेसी नेता श्री राम जयसवाल ने अलीगंज रोड  के लिए प्रस्थान किया। यात्रा का नेतृत्व निवर्तमान प्रदेश सचिव प्रहलाद पटेल, शहर अध्यक्ष श्री शहजेंद्र दीक्षित, श्री पारस प्रसाद मिश्र  ने किया गांधी संदेश यात्रा अलीगंज रोड से अंबेडकर चौराहा होते हुए मेला डामर रोड से बजाज हिंदुस्तान शुगर मिलगेट से मिल रोड मेन मार्केट होते हुए सदर चौराहे पर समाप्त हुई। यात्रा में राम धुनि  बजाई गई गांधी संदेश यात्रा में मुख्य रूप से लखीमपुर से चलकर के आए। कांग्रेस पार्टी के कार्यालय प्रभारी श्री रवि गोस्वामी और अब्दुल भाई, गोला से महेश जयसवाल, खलील खान, मुस्ताक अली इदरीसी, अमीनुद्दीन ,बदले राम गौतम, रामासरे चौरसिया, फहीद विनीत मोहन मिश्र ,मनोज गुप्ता, संतोष शर्मा ,सतपाल पटेल ,राजाराम गौतम, रामपाल सक्सेना, प्रदीप वर्मा  रघुनंदन राज पासी सदस्य जिला पंचायत ,मांगा लाल पटेल रामासरे अर्कवंशी, शफी आगा ,जियालाल राठौर, फकीर मोहम्मद, अनीस अहमद इसरार अली सहित सैकड़ों कांग्रेसी मौजूद रहे। यात्रा के समापन पर सभी कांग्रेसजनों ने बारी-बारी से गांधी जी के चरित्र व जीवन पर प्रकाश डाला। अपने संबोधन में प्रहलाद पटेल ने कहा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एक पूरे देश के लिए अनमोल विचार धारा है। सत्य अहिंसा परमो धर्मा सदा सत्य बोलो के मार्ग पर गांधीवादी ही चल सकते हैं। गांधी जी ने देश की गरीब जनता को नंगे भूखे देख कर के वस्त्र त्यागने का निर्णय लिया था। जिन्होंने एक ही धोती और लंगोटी से अपना जीवन पार कर दिया और वह कहते थे  जितनी स्वच्छता बाहर  होनी चाहिए उतनी ही स्वच्छता हमारे मन के अंदर भी होनी चाहिए। आज जो गांधीवादी बनने का राग अलाप रहे हैं जनता चाहे भूखी हो चाहे नंगी हो दिन में चार बार कपड़े बदलने का कार्य कर रहे हैं। और दिन-रात निरंतर झूठ पर झूठ बोला जा रहा है। देश के अंदर फासीबादी ताकतें अव्यवस्था बढ़ती जा रही है। ऐसे में हम लोगों को पुनः गांधी जी के बताए हुए सत्य के मार्ग पर चल करके और सत्य की विजय हमेशा होती है। यह बात हमें ध्यान रखनी चाहिए।


2 करोड लोगों ने छोड़ा डीटीएच

नई दिल्ली। टेलिविजन और ब्रॉडकास्टिंग सेक्टर के लिए टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया की ओर से अनाउंस किए गए नए रेग्युलेशंस के बाद डीटीएच प्लान महंगे हुए हैं। साथ ही केबल का बिल भी आसमान छू रहा है। ट्राई की ओर से भले ही कस्टमर्स को उनकी पसंद के चैनल सेलेक्ट करने और उनके लिए ही पेमेंट करने का ऑप्शन नए नियमों के अनुसार दिया गया लेकिन लगता है कि कस्टमर्स का डीटीएच सर्विसेज से मोहभंग हो चुका है। पिछले साल की दूसरी तिमाही के मुकाबले इस साल केबल बिल करीब 25 प्रतिशत महंगे हुए हैं। यही वजह है कि भारतीय डीटीएच और केबल सर्विसेज छोड़ रहे हैं।
मार्च, 2017 में टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने ब्रॉडकास्टिंग और केबल सर्विसेज के लिए नया फ्रेमवर्क तैयार किया, जिसे 29 दिसंबर, 2018 से लागू किया गया। इन नियमों के हिसाब से कंज्यूमर्स को उनकी पसंद के चैनल सेलेक्ट करने और केवल उनके लिए ही भुगतान करने का विकल्प मिला। पहले माना जा रहा था कि ऐसा होने के बाद सब्सक्राइबर्स को कम पैसे अपने प्लान के लिए चुकाने होंगे लेकिन इसका उल्टा ही हुआ। बेसिक से लेकर प्रीमियम प्लान्स तक महंगे हो गए और चैनल चुनने की जगह चैनल पैक चुनने का विकल्प सब्सक्राइबर्स को मिला, जो उन्हें रास नहीं आया।
2 करोड़ सब्सक्राइबर घटे:-
ट्राई की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि डीटीएच सर्विस का एवरेज ऐक्टिव सब्सक्राइबर बेस इस साल की पहली तिमाही जनवरी-मार्च में लगभग 7.2 करोड़ यूजर्स का था। 30 जून को खत्म हुई पिछली तिमाही तक इसमें 25 प्रतिशत की गिरावट देखी गई और लगभग 5.4 करोड़ ऐक्टिव डीटीएच सब्सक्राइबर्स बचे हैं। CRISIL और CARE की रिपोर्ट्स में सामने आया है कि टैरिफ ऑर्डर लागू होने के बाद बिल में कमी होने की जगह बढ़ोतरी देखी गई है। कई यूजर्स ने फ्रीडिश का इस्तेमाल शुरू किया, जिसके चलते छोटे चैनल जैसे बिहार का दंगल टीवी रातोंरात सबसे ज्यादा देखे जाने वाले चैनलों में शामिल हो गए और इन्होंने कलर्स, स्टार टीवी तक को पीछे छोड़ दिया है।
शहरी कस्टमर्स ने यह निकला उपाय:-
शहरी कस्टमर्स ने डीटीएच या केबल की जगह ओवर-द-टॉप सर्विसेज पर स्विच किया है। एमएक्स प्लेयर, नेटफ्लिक्स, ऐमजॉन प्राइम विडियो और हॉटस्टार जैसे विडियो स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म्स अब सब्सक्राइबर्स को पसंद आ रहे हैं। टाइम्स इंटरनेट के एमएक्स प्लेयर के पास सबसे ज्यादा 21 प्रतिशत कस्टमर्स हैं, इसके बाद ऐमजॉन के पास 15 प्रतिशत और नेटफ्लिक्स और हॉटस्टार के पास 14-14 प्रतिशत कस्टमर बेस मौजूद है। स्मार्ट टीवी भी सस्ते हुए हैं, जिनसे इस सर्विसेज के प्रोग्राम कस्टमर्स अब बड़े पर्दे पर भी देख पा रहे हैं। जी एंटरटेनमेंट के ZEE5 ऐप, स्टार इंडिया के हॉटस्टार और सोनी के सोनी लिव ओटीटी सर्विसेज का असर भी डीटीएच सब्सक्राइबर बेस पर पड़ रहा है।


इमरान से उठा सेना-विपक्ष का विश्वास

नई दिल्ली। इमरान ख़ान अपने देश की सेना और विपक्ष का विश्वास खो चुके हैं, लिहाज़ा इमरान के तख्तापलट की तारीख 'तय' हो गई है। एक लाइन की खबर ये है कि इमरान खान की विदाई होने वाली है। या यूं कहें कि पाकिस्तान में फिर एक बार सैनिक शासन की तैयारी हो चुकी है। क्योंकि पाकिस्तान के बड़े बिजनेसमैन के साथ पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में बैठक नहीं होती है। बैठक होती है रावलपिंडी में जहां पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी का हेडक्वार्टर है। वैसे भी पाकिस्तान की तरह वहां के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान भी फेल हो चुके हैं।


सरकार के खिलाफ गुस्से का फायदा उठाएगी बाजवा की सेना:-पाकिस्तान में सेना रेडियो स्टेशन, टीवी स्टेशन, दूर संचार भवन, संसद हर जगह कब्जा कर सकती है और पाकिस्तान में फिर एक बार सेना के बूट की धमक सुनाई देगी। पाकिस्तान में फिर एक बार एक चुनी हुई सरकार की बलि सेना लेने जा रही है। इस बैठक में पाकिस्तान के चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ कमर जावेद बाजवा से पाकिस्तान के बड़े कारोबारियों ने मुलाकात की। ये मुलाकात रावलपिंडी के आर्मी हाउस में की गई थी। मुलाकात के बाद पाकिस्तान के बड़े बिजनेस लीडर्स ने सेना प्रमुख के साथ डिनर भी किया। सूत्रों के मुताबिक बिजनेस लीडर्स ने कहा है कि इमरान सरकार अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए कोई बड़ा कदम नहीं उठा रही है। 
पाकिस्तान के बड़े कारोबारियों ने इमरान खान से भी मुलाकात की थी लेकिन क्योंकि उनकी समस्य़ाओं को दूर करने के लिए इमरान खान ने कोई कदम नहीं उठाया इसलिए इन सभी बिजनेस लीडर्स ने अब आर्मी चीफ से मुलाकात की है। 
इमरान के लिए क्यों ये खतरे की घंटी है ये समझिए
तो क्या पाकिस्तान में इमरान की नहीं बाजवा की ज्यादा चलती है? क्या इमरान का कहा शब्द आखिरी नहीं माना जाता? क्या आर्मी चीफ ही पाकिस्तान में सत्ता का सबसे बड़ा केंद्र है? अफसोस यही है कि हर सवाल का जवाब हां में है। पाकिस्तान ने पहले भी तख्तापलट देखें हैं, और फिर एक बार पाकिस्तान का एक जनरल एक चुनी हुई सरकार को उखाड़ फेंके तो हैरानी नहीं होनी चाहिए। 
इमरान खान के तख्तापलट का कोड 111 क्या है:पाकिस्तानी सेना की ट्रिपल वन ब्रिगेड के अधिकारियों और सैनिकों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। ट्रिपल वन ब्रिगेड रावलपिंडी में तैनात रहती है। ट्रिपल वन ब्रिगेड रावलपिंडी में पाकिस्तानी सेना की गैरिसन ब्रिगेड है
इसलिए इसे COUP BRIGADE भी कहते हैं जो तख्तापलट के लिए कुख्यात है। इस ब्रिगेड का इस्तेमाल इससे पहले हुई लगभग हर सैन्य तख्तापलट में किया गया है। ब्रिगेड के सभी अधिकारियों और सैनिकों को ड्यूटी पर लौटने के आदेश दिए गए हैं। पाकिस्तान के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की सुरक्षा का ज़िम्मा ब्रिगेड 111 के पास ही है।


भारत पेट्रोलियम बिकने के कगार पर

नोमुरा के नोट के अनुसार बीपीसीएल में हिस्सेदारी खरीदने के बाद रिलायंस को 25 फीसदी मार्केट शेयर हासिल हो जाएगा। इसमें 3.4 करोड़ टन की अतिरिक्त रिफाइनिंग क्षमता के साथ ही उसे सार्वजनिक कंपनी की संपत्ति पर भी अधिकार मिलेगा।
नई दिल्ली। भारत पैट्रोलियम बेचने को तैयार मोदी सरकार,  रिलायंस औद्योगिक संस्था के मुकेश अंबानी लगा सकते हैं बोलीनोमुरा रिसर्च के अनुसार रिलायंस के अलावा इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन भी बोली लगा सकती है।
मोदी सरकार तेल सरकारी तेल मार्केटिंग कंपनी भारत पेट्रोलियम में अपनी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है। सरकारी कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने के लिए मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) बोली लगा सकती है।
जापानी स्टॉकब्रोकर नोमुरा रिसर्च ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलावा सरकारी क्षेत्र की एक अन्य तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने भी बीपीसीएल में हिस्सेदारी खरीदने में रुचि दिखाई है। मालूम हो कि हाल ही में विनिवेश मामलों के कोर ग्रुप ने रणनीतिक निवेश के तहत बीपीसीएल में सरकार की पूरी 53.29 फीसदी को बेचने की सिफारिश की थी।
नोमुरा का कहना है कि सचिवों की समिति की तरफ से कंपनी में सरकार की पूरी हिस्सेदारी बेचे जाने की सिफारिश के बाद इस सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बीपीसीएल के निजीकरण की संभावना बढ़ गई है। हमें लगता है कि इस मामले में कैबिनेट की मंजूरी सिर्फ औपचारिकता भर है।
वैसे भी जिस एक्ट के तहत बीपीसीएल का राष्ट्रीयकरण किया गया था उसे हटाया जा चुका है। ऐसे में इस संबंध में कोई कानूनी बाधा भी नहीं आनी चाहिए। निवेशकों को भेजे गए नोट में नोमुरा ने कहा है कि भले ही रिलायंस रिफाइनिंग/केमिकल में अपनी हिस्सेदारी कम करना चाहती हो और कर्ज को शून्य करना चाहती हो लेकिन वह बीपीसीएल में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बोली लगा सकती है।
अर्थव्यवस्था पर लोगों का डिगा भरोसा! 6 साल के सबसे खराब हालात, 50% से ज्यादा की राय- नौकरियों के लिए हालात हुए बदतर।
नोमुरा के नोट के अनुसार बीपीसीएल में हिस्सेदारी खरीदने के बाद रिलायंस को 25 फीसदी मार्केट शेयर हासिल हो जाएगा। इसमें 3.4 करोड़ टन की अतिरिक्त रिफाइनिंग क्षमता के साथ ही उसे सार्वजनिक कंपनी की संपत्ति पर भी अधिकार मिलेगा। इतना ही नहीं कंपनी के करीब 15000 पेट्रोल पंप के जरिये रिलायंस को अपना बिजनेस बढ़ाने में भी महत्वपूर्ण रूप से मदद मिलेगी।


खनन माफिया ने इंस्पेक्टर को मारी गोली

झांसी। उत्तर प्रदेश के झांसी में शुक्रवार देर रात बदमाशों ने एक बार फिर पुलिस को चुनौती देते हुए थाना मोंठ में तैनात थानाध्यक्ष को गोली मारकर सनसनी फैला दी। इस घटना से पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल हो गया।


आनन-फानन में घायल इंस्पेक्टर को उपचार के लिए झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि मोंठ प्रभारी निरीक्षक धर्मेद्र सिंह चौहान ने दो दिन पहले अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई की थी। एक खनन माफिया का ट्रक सीज कर दिया था। इससे माफिया खुन्नस खाए हुए थे। घटना को अंजाम देने के बाद खनन माफिया अपने साथी के साथ कार भी लूट ले गए। घटना की जानकारी होने पर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके से पुलिस को बाइक और कारतूस बरामद हुए हैं।
वारादत के पुलिस ने पूरे इलाके में नाकेबंदी कर दी। इसी दौरान मोंठ इंस्पेक्टर पर गोली चलाने वाले आरोपी खनन माफिया पुष्पेंद्र यादव की पुलिस से मुठभेड़ हो गई। गुरसराय इलाके में पुलिस को देखकर पुष्पेंद्र ने फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से पुष्पेंद्र घायल हो गया। घायल आरोपी को लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, जहां डाॅक्टर ने मृत घोषित कर दिया।
हमले से पहले इंस्पेक्टर को किया फोन:-बताया जा रहा है कि धर्मेंद्र दो दिन पहले छुट्टी पर अपने घर कानपुर गए थे। शनिवार की रात मोंठ इंस्पेक्टर कानपुर से अपनी कार से मोंठ आ रहे थे। खनन माफिया ने रास्ते में उनको फोन कर कहा कि वह मिलना चाहता है। इस पर इंस्पेक्टर ने मोंठ से पहले हाइवे पर मिलने के लिए कहा। जैसे ही वहां कार से इंस्पेक्टर पहुंचे खनन माफिया ने फायरिंग कर दी। गोली उनके बगल से निकल गई। इसके बाद माफिया और उसके साथी ने इंस्पेक्टर पर हमला कर दिया। घटना की जानकारी पाकर डीआईजी सुभाष सिंह बघेल, एसएसपी डॉ. ओपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक देहात राहुल मिठास समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंच गई।
एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मोंठ इंस्पेक्टर ने एक बालू माफिया की गाड़ी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सीज कर दी थी। इसके बाद बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है। एसएसपी ने बताया कि बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। वहीं, इंस्पेक्टर की हालत स्थिर बताई जा रही है। एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि गोली इंस्पेक्टर के गाल को छूते हुए निकल गई।
सपा राज्यसभा सांसद ने एनकाउंटर पर सवाल खड़े किये:- 
समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद डाॅक्टर चन्द्रपाल सिंह यादव ने इस एनकाउंटर पर सवाल खड़े किये है। उन्होंने कहा कि पुष्पेन्द्र यादव का मोंठ थानेदार ने ट्रक पकड़ा था। जिसको छोड़ने के लिए पुष्पेन्द्र यादव और मोंठ थानेदार के बीच पैसे के लेन-देन को लेकर कहा-सुनी हो गई। कहा-सुनी के दौरान ही पुष्पेन्द्र की पुलिस ने पेशबंदी कर हत्या की है।
वह पुलिस से पूछना चाहते है कि जैसा उनका कहना है कि पुष्पेन्द्र थानेदार की कार लूटकर भाग गया था। यदि ऐसा है तो रास्ते में कई थाने पड़ते है, बीच में किसी थाने की पुलिस ने उन्हें क्यों नहीं रोका। इतनी दूर ले जाकर क्यों पुष्पेन्द्र का एनकाउंटर किया गया है। पुष्पेन्द्र की मौत एनकाउंटर से नहीं बल्कि पुलिस की पेशबंदी के कारण हुई है। वह इस मामले में जांच की मांग करते हैं और पुलिस पर हत्या का मामला दर्ज करने की मांग करते है।


आरोपियों का नाम हाथ पर लिख,लगाई फांसी

मुजफ्फरनगर। थाना छपार के एक गांव में रेप पीड़िता का शव उसके ही घर में रस्सी के फंदे से लटका पाया गया। बताया जा रहा है कि मृतका ने अपने बाएं हाथ पर आरोपियों के नाम लिखे थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच पड़ताल शुरु कर दी है। पुलिस ने मामले में एक नामजद और तीन अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है। घटना के बाद मृतका के घर में कोहराम मच गया।
घटना छपार थानांतर्गत के बढीवाला गांव की है। जानकारी के अनुसार, चार वर्ष पूर्व ससुराल में युवती के मामा ससुर ने उसके साथ रेप किया था। बाद में कुछ लोगों ने मामले में समझौता करा दिया था, लेकिन पीड़िता इससे काफी नाराज थी। बताया जाता है कि इसी कारण वह तनाव में रहती थी। इतना ही नहीं, एक वर्ष पूर्व रोहाना खामपुर मार्ग पर राजवाहे के पास पीड़िता को रिक्शे से उतारकर उसके साथ गांव के ही तीन युवकों ने गैंगरेप भी किया था। मामले में मुजफ्फरनगर शहर कोतवाली में आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। फिलहाल तीनों आरोपी जमानत पर हैं।


बाएं हाथ लिखा आरोपियों का नाम:-बताया जाता है कि पीड़िता की मां जब जंगल से लौटी तो बेटी का शव मकान में रस्सी के फंदे से लटका हुआ पाया. मृतका ने अपने बाएं हाथ पर आरोपी बिरजू और तीन अन्य युवकों के नाम लिखे थे। काफी देर बाद पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। मृतका के पिता ने एक को नामजद और तीन अज्ञात के खिलाफ थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई है।
पुलिस के मुताबिक, छपार थाना क्षेत्र के बढीवाला गांव में एक 21 वर्षीय युवती ने फंदे पर लटककर आत्महत्या कर ली और रेप जैसी कुछ बात सामने आई है। इस मामले में जांच की जा रही है। वहीं, युवती ने अपने हाथ पर कुछ नाम भी लिखे हुए थे, उसकी भी छानबीन की जा रही है।


71 नौकरशाहों की पीएम को चिट्ठी

PM मोदी को 71 पूर्व नौकरशाहों की चिट्ठी, सियासी बढ़त के लिए हमें न बनाएं निशाना



नई दिल्ली। इस पत्र पर जिन पूर्व अधिकारियों के दस्तखत हैं उनमें ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के डीपीपी रहे मीरां बोरवनकर, पंजाब के पूर्व नौकरशाह जुलियो रिबेरो, मध्य प्रदेश में अतिरिक्त मुख्य सचिव रहीं रश्मि शुक्ला शर्मा हैं।
सरकार का कदम ईमानदार सेवा के लिए एक गंभीर 'हतोत्साहन'ईमानदार अधिकारियों को चुनिंदा ढंग से बनाया जा रहा निशाना आईएनएक्स मीडिया मामले में वित्त मंत्रालय के चार पूर्व अधिकारियों पर मुकदमा चलाने की मंजूरी मिलने के बाद 71 पूर्व नौकरशाहों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में पूर्व अधिकारियों ने इस मामले को 'राजनीतिक' बताते हुए चिंता जताई है और कहा है कि ऐसी कार्यवाही मौजूदा अधिकारियों को हतोत्साहित करेगी और इसके खतरनाक परिणाम होंगे।


पूर्व अधिकारियों के खिलाफ अभियोग


केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई की अपील पर सरकार ने चार पूर्व अधिकारियों के खिलाफ आईएनएक्स मीडिया मामले में अभियोग चलाने की इजाजत दी है। इन चारों पूर्व अधिकारियों में वित्त मंत्रालय में पूर्व अवर सचिव आर प्रसाद, निदेशक प्रबोध सक्सेना, संयुक्त सचिव अनूप पुजारी और अतिरिक्त सचिव सिंधुश्री खुल्लर हैं। सरकार ने इन सभी अधिकारियों पर केस दायर करने की अनुमति दे दी है। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को लेकर सरकार ने पहले ही मुकदमा चलाने की अनुमति दे दी थी। चिदंबरम फिलहाल न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद हैं।


क्या कहा गया है चिट्ठी में?


चिट्ठी में कहा गया है, 'अपना कामकाजी जीवन सरकार की सेवा में लगाने के चलते यह मुद्दा उठाना हमारा कर्तव्य है कि वित्त मंत्रालय के चार पूर्व अधिकारियों पर मुकदमा चलाने का फैसला बेहद खतरनाक है। मंत्रालय में सेवारत रहते हुए अधिकारी अपनी सेवाएं देने के लिए बाध्य होते हैं। पॉलिसी पैरालिसिस को दूर करने के प्रयास में सरकार ने पिछले साल भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम में संशोधन किया था। इसमें रिटायर्ड या सेवारत अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाने से पहले सरकार से अनुमति लेने का प्रावधान किया गया था।


इस पत्र पर जिन पूर्व अधिकारियों के दस्तखत हैं उनमें ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के डीपीपी रहे मीरां बोरवनकर, पंजाब के पूर्व नौकरशाह जुलियो रिबेरो, मध्य प्रदेश में अतिरिक्त मुख्य सचिव रहीं रश्मि शुक्ला शर्मा हैं।



कर्तव्य निभाने के लिए कोई सुरक्षा नहीं


देश भर के पूर्व अधिकारियों ने सरकार के इस कदम को ईमानदार सेवा के लिए एक गंभीर हतोत्साहन बताया है. पत्र में लिखा है, 'यह कदम सिविल सेवकों की सबसे खराब आशंकाओं को सच साबित करता प्रतीत होता है कि उन्हें अपना कर्तव्य निभाने के लिए कोई सुरक्षा नहीं दी जाएगी। इस कदम के बाद यह कोई हैरत की बात नहीं होगी कि सिविल अधिकारी हर प्रस्ताव की जांच करने के लिए उसे लटकाए रखें, क्योंकि उनके पास कोई गारंटी नहीं है कि उन्हें कई सालों बाद आपराधिक कार्यवाही में नहीं फंसाया जाएगा।आईएनएक्स मीडिया केस को राजनीतिक बताते हुए पत्र में कहा गया है, 'यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि अधिकारी, खास तौर पर वे जो अब सेवा में नहीं हैं, उन्हें ऐसी कार्यवाही का सामना करना पड़ रहा है जो राजनीतिक लाभ लेने के लिए की जा रही है। केंद्र और राज्य की सभी सत्ताओं में, चाहे उनकी राजनीतिक संबद्धता कोई भी हो, सभी इस अपराध के लिए दोषी हैं।


ईमानदार अधिकारियों बनाया जा रहा दोषी


इन अधिकारियों का कहना है कि अगर पूर्व अधिकारियों पर इस तरह की कार्यवाही होगी तो स्वाभाविक है कि जो अधिकारी सेवा में हैं वे हतोत्साहित होंगे। ईमानदार और समर्पित अधिकारियों को चुनिंदा ढंग से निशाना बनाया जा रहा है जबकि उनका कोई दोष नहीं है, वे अपने पद पर रहते हुए उस समय की सरकार के निर्णय और नीतियों को लागू कर रहे थे।पत्र में कहा गया है कि अगर इस तरह से फाइलों को खोदकर निकालने और अंदेशे के आधार पर कार्यवाही की जाएगी तो सरकार में कोई निर्णय ही नहीं हो पाएगा। किसी अधिकारी के रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित समय सीमा ​होनी चाहिए कि उसके बाद उससे जुड़ी फाइल नहीं खोली जाएगी। अधिकारियों को रिटायरमेंट के बाद शांतिपूर्ण जीवन जीने का आवश्यकता है।


पी चिदंबरम पर आरोप


पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम पर आरोप लगा है कि उन्होंने उस समय वित्त मंत्रालय के अधिकारियों के साथ मिलकर आईएनएक्स मीडिया को अनुमति दी। हालांकि, सीबीआई की हिरासत में रहने के दौरान पी चिदंबरम ने दावा किया था कि कि आईएनएक्स मीडिया सौदे को प्रभावित करने के लिए उन्हें किसी भी अधिकारी ने नहीं फंसाया है। चिदंबरम का यह भी दावा है कि उनके खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई बीजेपी के कहने पर की जा रही है।


.


24 घंटे में ही खत्म आमरण अनशन

मनोज पाण्डेय


कुशीनगर। थानाध्यक्ष और तहसीलदार खड्डा ने नेबुआ नौरंगिया बिकास खण्ड अंतर्गत ग्राम पंचायत सूरत छपरा में रास्ते और नाली के चल रहे विवाद में विराम लगा दिया। वहीं तहसीलदार खडडा और एसओ खडडा रामाशीष यादव द्वारा ग्रामीणों की मांग को मानते हुए सोलिंग कार्य को पूर्ण कराया तथा धरने को समाप्त कराया। इस दौरान ग्राम प्रधान प्रतिनिधि सूरत छपरा द्वारा ग्रामीणों के सहयोग से सोलिंग कार्य में संपूर्ण सहयोग कर इस निर्माण कार्य को पूर्ण कराया। जिसमे मौके पर कानूनगो योगेन्द्र गुप्ता, लेखपाल बिजेन्दर सिंह के साथ ब्लॉक नेबुआ के भगवंत प्रसाद सहित पुलिस फोर्स उपस्थित रही।
बताते चले कि वर्षों से यह काम कोई भी ग्राम प्रधान नहीं करा सका था जिसे शासन, प्रशासन और ग्रामीणों के सहयोग से पूरा करा दिया गया। वही दुसरी तरफ खडडा ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचायत खैरी में आमरण अंंसन पर बैठे रबिन्द्र चौबे जो अपने ही बड़े भाई के खिलाफ अंंसन कर रहे थे वहां भी तहसीलदार खडडा ने थानाध्यक्ष नेबुआ नौरंगिया, कानूनगो योगेंद्र गुप्ता मौके पर जा कर दोनों पक्षोंं को समझा बुझाकर रबिन्दर चौबे को जूस पिला कर अंंसन को तोड़वाया।


विशाखापट्टनम टेस्ट सीरीज में भारत जीता

विशाखापट्टनम टेस्ट में भारत की विशाल जीत


विशाखापट्टनम। राजशेखर रेड्डी स्टेडियम पर खेले गए तीन टेस्ट मैच की सीरीज के पहले मुकाबले को 203 रन से जीतकर टीम इंडिया ने सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। आखिरी दिन 395 रन के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम 191 रन पर ऑलआउट हो गई।पांचवे दिन के पहले सत्र में भारतीय गेंदबाजों ने कमाल की गेंदबाजी करते हुए सात विकेट झटक मुकाबले को भारत के पाले में कर दिया। लंच के बाद के सत्र में दो विकेट लेकर भारत ने विशाखापट्टनम टेस्ट को अपने नाम कर लिया।


अश्विन ने इस मैच में कुल 8 विकेट लिए, जडेजा ने चार, मोहम्मद शमी ने पांच और इशांत शर्मा ने दो विकेट चटकाए। अश्विन ने इस मैच में टेस्ट करियर के 350 विकेट पूरे किए। रोहित शर्मा ने दो शतक जड़े (176,127) और मयंक अग्रवाल ने दोहरा शतक (215) लगाया। दक्षिण अफ्रीका की ओर से डीन एल्गर ने पहली पारी में 160 रन बनाए और क्विंटन डीकॉक ने 111 रन बनाए।


गांव मे पानी-पानी,विधायक ने किया दौरा

सन्दीप मिश्रा 


रायबरेली। महराजगंज क्षेत्र के बाढ़ ग्रस्त गावों का भाजपा विधायक रामनरेश रावत ने उपजिलाधिकारी विनय सिंह, क्षेत्राधिकारी विनीत सिंह व सरकारी अमले के साथ भ्रमण किया । इस दौरान टापू मे तब्दील सुखलिया मजरे पुरासी गांव का नाव से पहुच ग्रामीणों की समस्याओं का अवलोकन किया । 
बताते चले की बारिश के दिनो मे विगत 50 वर्षो से चारो तरफ से जलमग्न एवं क्षेत्र से कट जाने वाले सुखलिया गांव पहुचे विधायक रामनरेश रावत ने समस्या की भयावह स्थिति देख मुख्यमन्त्री व जिले के प्रभारी मंत्री डा दिनेश शर्मा से मुलाकात कर सड़क व पुल बनवाए जाने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया इस दौरान उपजिलाधिकारी विनय सिंह को ग्रामीणों ने कोटेदार पर समय से राशन ना देने व अभद्रता करने का शिकायती पत्र दिया । जिस पर एसडीएम ने पूर्ति निरीक्षक मोईनुद्दीन को मौजूद रह राशन वितरण कराने के निर्देश दिए । वही विधायक के निर्देश पर एसडीएम ने एक माह का अतिरिक्त राशन ग्रामीणों को देने की बात पूर्ति निरीक्षक से कही। इस दौरान क्षेत्र के नाथ गंज, गुरुबक्सगंज सहित आदि गांव का दौरान का घरगिरी एवं फसल बीमा का लाभ ग्रामीणों को देने के निर्देश विधायक ने दिए। मौके पर सरदार फतेह सिंह, विद्यासागर अवस्थी, प्रभात साहू , पुरासी प्रधान गंगासागर पांडेय एवं राजस्व, स्वास्थ सहित विकास विभाग के कर्मी मौजूद रहे।


पात्र तक पहुंचे योजना का लाभ:कविता

राणा ओबराय


सोनीपत। महिला एवं बाल विकास मंत्री व भाजपा प्रत्याशी कविता जैन ने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भ्रष्टाचार पर करारा वार करते हुए दलाल, बिचैलिया संस्कृति को खत्म करने की दिशा में मील का पत्थर स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि जीरो टालरेंस की नीति की बदौलत आज हर लाभार्थी तक सरकारी सेवाएं, योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है। शनिवार को सब्जी मंडी परिसर में कांगे्रस छोडकर मनीष सैनी एवं एससी मोर्चा जिला सचिव रजनी रानी ने अपने समर्थकों सहित मंत्री कविता जैन, सांसद रमेश कौशिक एवं मुख्यमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन के सामने भाजपा की सदस्यता ली। मंत्री एवं भाजपा प्रत्याशी कविता जैन ने कहा कि मोदी शासन के दौरान भ्रष्टाचार पर कडा वार करते हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय की अंत्योदय भावना के अनुरूप प्रत्येक जरूरतमंद तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचना सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि आज सोनीपत हलके में उज्ज्वला योजना में 9 हजार बहनों को धुंए से बचाते हुए गैस कनेक्शन मुहैया कराया गया है। इसी प्रकार आयुष्मान भारत योजना में शहर में 21 हजार परिवार पांच लाख रूपए सालाना तक निशुल्क इलाज के लिए सरकारी तथा निजी अस्पताल की सुविधा मिली है। सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि भाजपा प्रत्याशी कविता जैन ने काम के बूते पर जीत की हैट्रिक लगाएंगी। उन्होंने कहा कि सोनीपत शहर में उनके प्रयासों की बदौलत आज हम बडे बदलाव देख रहे हैं। केंद्र सरकार की अमरूत योजना में पूरे प्रदेश में सबसे तेजी से प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है।  मुख्यमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि जीरो टालरेंस की नीति से आमजन के अंदर प्रशासनिक व्यवस्था में बडे सुधार हुए हैं और आमजन को एक छत के नीचे सरकारी योजनाओं का लाभ मिलना सुनिश्चित हुआ है। इस मौके पर सांसद रमेश कौशिक, कुलदीप काकरान, आजाद नेहरा, जयचंद सैनी, मनोज शर्मा, मनीष सैनी, मोहन कुच्छल, विनोद सैनी, रामप्रसाद सैनी, रमेश सैनी, पीपी शर्मा, संजय कामरा, मांगेराम, रामनिवास, सुरेश सैनी, मुकेश बल्ला, मनोज सैनी, शिवकुमार, कृष्ण सैनी, विजय गोयल आदि मौजूद रहे।


हरियाणा कांग्रेस, इनेलो को बड़ा झटका

राणा ओबराय
तीन विधायकों ने सीएम की मौजूदगी में थामा भाजपा का दामन, कांग्रेस व इनेलो को लगा बड़ा झटका
रोहतक। भारतीय जनता पार्टी में कांग्रेस व इनेलो को एक बार फिर बड़ा राजनीतिक झटका दिया है।रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में तीन पूर्व विधायकों सहित अनेक लोगों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभी को तिलियार पर्यटक स्थल पर आयोजित एक कार्यक्रम में भाजपा का पटका पहनाकर पार्टी में शामिल कराया। मुख्यमंत्री ने सभी का पार्टी में स्वागत करते हुए चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रचार में जुट आने की अपील की।


कांग्रेस व इनेलो के इन दिग्गजों ने थामा कमल


मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हिसार जिले की बरवाला विधानसभा सीट से 2014 में इनेलो की टिकट पर जीत हासिल करने वाले वेदपाल नारंग ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। वेदपाल नारंग को एक मजबूत जनाधार वाला नेता माना जाता है। फतेहाबाद जिले की रतिया विधानसभा सीट से कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व मंत्री रामस्वरूप रामा ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। रामस्वरूप रामा 1996 में बंसीलाल की सरकार में मंत्री रह चुके हैं। इसके बाद कांग्रेस में शामिल हो गए थे। कैथल जिले के गुहला चिका विधानसभा सीट से पूर्व कांग्रेस विधायक फूल सिंह खेड़ी ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है। झज्जर के बादली विधानसभा सीट से पूर्व मंत्री रहे स्व. चौधरी धीरपाल सिंह के परिवार के अरविन्द गुलिया व अभिषेक गुलिया ने कांग्रेस को अलविदा कहते हुए भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। सिरसा के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भूपेश मेहता ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।


कांग्रेस की फितरत 4 लोग इक्क्ठा होकर नहीं चल सकते


मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कांग्रेस पर भी वार किया। उन्होंने अशोक तंवर पर पूछे गये सवाल पर कहा कि ये तो तंवर ही अच्छी तरह बताएंगे कि उनसे किसने सम्पर्क किया, हमारी तरफ से ऐसी कोई बात नहीं। कांग्रेस में ये कोई नई बात नहीं है, ये तो कांग्रेस की फितरत है वहां चार लोग इक्कठे। होकर नहीं चल सकते। प्रदेश तो क्या उनके केंद्रीय नेतृत्व में भी यही हाल है। ये खानदानी पार्टी है, वंशवाद है, इसीलिए ये हाल आज कांग्रेस का है।


स्वच्छ छवि वाले नेताओं का ही भाजपा में प्रवेश : सीएम


मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सदस्यता ग्रहण कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए स्पष्ट किया कि भारतीय जनता पार्टी में स्वच्छ छवि वाले सभी नेताओं का स्वागत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में जब भी कोई नेता शामिल होता है, तो सबसे पहले उसके बैकग्राउंड का पता किया जाता है। भाजपा के इस मानक पर अगर नेता खरा उतरता है। तभी उसे भाजपा में शामिल कराया जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है। जिसका एक मात्र उद्देश्य देश व समाज की सेवा है।


चुनाव प्रचार की हो चुकी है शुरूआत : सीएम


मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी चुनाव प्रचार की शुरूआत कर चुकी है। मैं खुद 5 अक्टूबर को करनाल में जनता के बीच था। करनाल की जनता से भाजपा के लिए वोट की अपील की है। आज रोहतक से पूरे प्रदेश में चुनाव अभियान की शुरूआत कर रहा हूं। इसके बाद अम्बाला, कुरूक्षेत्र व यमुनानगर में भाजपा प्रत्याशियों की जीत के लिए जनता से अपील करूंगा।


75 प्लस का लक्ष्य करेंगे प्राप्त, जनता का आशीर्वाद हमारे साथ;- मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी विधानसभा चुनाव में अबकी बार-75 पार का लक्ष्य प्राप्त करेगी। पूरे प्रदेश में जनता का आशीर्वाद भारतीय जनता पार्टी को प्राप्त हो रहा है। भाजपा के प्रत्याशियों को आशीर्वाद देने के लिए जनता का सैलाब उमड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने मेवात का जिक्र करते हुए कहा कि मेवात में भाजपा के दो प्रत्याशियों का नामांकन कराने जब वह पहुंचे, तो वहां पर उमड़े जनसैलाब ने यह स्पष्ट कर दिया कि भाजपा विधानसभा चुनाव में अबकी बार-75 पार का लक्ष्य जरूर प्राप्त करेगी।


90 विधानसभा सीटों पर 1846 प्रत्याशी

राणा ओबराय
हरियाणा विधानसभा चुनाव में 90 सीटों पर 1846 चुनावी योद्धाओं ने ठोका था दावा,कल नामांकन वापिस लेंगे कई योद्धा!
चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा आम चुनाव-2019 के लिए उम्मीदवारों द्वारा नामांकन भरने की प्रक्रिया के अंतिम दिन हरियाणा की 90 विधानसभा क्षेत्रों से 1263 नामांकन पत्र भरे गए हैं। पांच दिन चली नामांकन प्रक्रिया में 90 विधानसभा क्षेत्रों से कुल 1846 नामांकन पत्र भरे गए हैं। भिवानी जिले में सबसे अधिक 116 तथा चरखी दादरी में सबसे कम 36 लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किए हैं। नामांकन पत्रों की जांच 5 अक्तूबर को की जाएगी और 7 अक्तूबर तक नाम वापिस लिए जा सकते हैं।
रोहतक में 90 ने किए नामांकन
भिवानी में 116 ने किए नामांकन
गुरूग्राम में 85 ने किए नामांकन
मेवात में 66 ने किए नामांकन
फरीदाबाद में 94 ने किए नामांकन
अम्बाला में 76 ने किए नामांकन
पानीपत में 63 ने किए नामांकन
फतेहाबाद में 75 ने किए नामांकन
कैथल में 82 ने किए नामांकन
चरखी दादरी में 38 ने किए नामांकन
करनाल में 98 ने किए नामांकन
यमुनानगर में 76 ने किए नामांकन
सिरसा में 103 ने किए नामांकन।


राहुल चुनाव बीच बैंकॉक,सवाल उठें

नई दिल्ली। कांग्रेस में जारी आंतरिक कलह और महाराष्ट्र-हरियाणा में विधानसभा चुनाव के बीच पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बैंकॉक जाने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक शनिवार को वह बैंकॉक के लिए विस्तारा एयरलाइन की फ्लाइट से रवाना हो गए। अब तक यह स्पष्ट नहीं है कि राहुल गांधी किस वजह से बैंकॉक गए हैं।


ऐसे वक्त में जब दो सप्ताह बाद ही दो राज्यों में चुनाव हैं और कांग्रेस अंदरुनी जंग में उलझी हुई है, तब राहुल गांधी के बैंकॉक जाने पर सवाल उठ रहे हैं। इससे पहले 2015 में भी उनके बैंकॉक जाने को लेकर सवाल खड़े किए गए थे। इस बीच ट्विटर पर बैंकॉक टॉप पर ट्रेंड कर रहा है। दोनों ही राज्यों में कांग्रेस ने पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को स्टार प्रचारकों की सूची में भी शामिल किया है।


राहुल गांधी के बैंकॉक जाने पर तंज कसते हुए बीजेपी आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय ने ट्वीट किया, 'क्या आप भी हैरान हैं कि बैंकॉक क्यों ट्रेड कर रहा है।' दोनों ही राज्यों में 21 अक्टूबर को मतदान होगा और 24 तारीख को चुनाव के नतीजों का ऐलान होगा। बता दें कि महाराष्ट्र में मुंबई के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने पार्टी में लोकतंत्र की कमी होने का आरोप लगाकर कांग्रेस के लिए प्रचार न करने का ऐलान किया है। वहीं, हरियाणा में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने टिकट वितरण में धांधलेबाजी में और राहुल गांधी के करीबियों को किनारे लगाने का आरोप लगाकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।


आंतरिक कलह से जूझ रही कांग्रेस पार्टी
गौरतलब है कि आने वाले कुछ ही दिनों में दो राज्यों में विधानसभा चुनाव है। 21 अक्टूबर को हरियाणा और महाराष्ट्र में वोटिंग होगी, जिसके नतीजों का ऐलान 24 तारीख को होगा। अभी हाल में कांग्रेस की लोकसभा चुनाव में स्थिति खराब रही है। वहीं, दो राज्यों में चुनाव को लेकर पार्टी आंतरिक कलह से जूझ रही है।


दो महिला वैज्ञानिक करेगी स्पेसवॉक

नई दिल्ली। भारत के चंद्रयान-2 के असफल होने के बाद अंतरिक्ष में एक नया इतिहास बनने वाला है। दो महिलाएं मिलकर अंतरिक्ष में इतिहास बनाने जा रही हैं। ये दोनों एक साथ अंतरिक्ष में चहलकदमी करेंगी। विश्व के अंतरिक्ष विज्ञान के इतिहास में ऐसा पहली बार है जब दो महिलाएं एक साथ स्पेसवॉक करने जा रही हैं। ये इतिहास 21 अक्टूबर 2019 को बनने वाला है। इन दो महिलाओं का नाम है जेसिका मीर और क्रिस्टीना कोच। ये दोनों नासा की एस्ट्रोनॉट हैं। ये दोनों फिलहाल इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में हैं। 21 अक्टूबर को ये दोनों महिला एस्ट्रोनॉट्स स्पेस स्टेशन के सोलर पैनल में लगी लिथियम आयन बैटरी को बदलने के लिए आईएसएस से बाहर निकलेंगी। उसी दौरान ये स्पेसवॉक भी करेंगी। गौरतलब है कि पहले महिलाओं का स्पेसवॉक मार्च 2019 में होना था। लेकिन स्पेससूट नहीं होने के कारण इसे टाल दिया गया था। बता दें कि अक्टूबर 2019 में कुल पांच स्पेसवॉक होने वाले हैं। अंतरिक्ष यात्रियों द्वारा ये सभी स्पेसवॉक आईएसएस की मरम्मत के दौरान आईएसएस से बाहर आने पर किए जाने वाले हैं। ये अलग-अलग तारीखों पर होंगे। अक्टूबर के बाद पांच स्पेसवॉक फिर से दिसंबर 2019 में किए जाने की योजना है।



11 अक्टूबर : क्रिस्टीना कोच और एंड्रयू मॉर्गन स्पेस स्टेशन से बाहर निकल कर स्पेसवॉक करेंगे।


16 अक्टूबर : जेसिका मीर और एंड्रयू मॉर्गन स्पेसवॉक करेंगे।


21 अक्टूबर : जेसिका मीर और क्रिस्टीना कोच आईएसएस से बाहर निकलेंगी और साथ स्पेसवॉक कर इतिहास बनाएंगी।


25 अक्टूबर : जेसिका मीर और लूका परमितानो स्पेसवॉक करेंगे।


31 अक्टूबर : ओलेग स्क्रीपोचा और एलेक्जेंडर स्कवोर्तसोव आईएसएस की मरम्मत करने के साथ-साथ स्पेसवॉक करेंगे।


कार-बस की भिड़ंत में तीन जिंदा जले

बाडमेर। राजस्थान के बाड़मेर में कार और बस की भिड़ंत में 3 लोगों के जलने की खबर है। इन तीनों लोगों की मौत हो चुकी है। इस दर्दनाक हादसे में दोनों गाड़ियों के जलने की खबर है। दरअसल ये हादसा रामदेव मन्दिर निम्बानिया की ढाणी के पास हुआ जहां बस और कार की आपस में भिड़त हो गई। इस हादसे में मरने वाले तीन लोगों में से एक की पहचान हो गई है। मृतक का नाम धनराज रोडा बताया जा रहा है, जो बाड़मेर के ही रहने वाले थे। रिपोर्ट्स की मानें तो ये हादसा ओवर टेकिंग के चलते हुआ। एक्सीडेंट होते ही बस में आग लग गई।


71 बच्चे फाइलेरिया पॉजिटिव मिले

रायपुर। राज्‍य को फाइलेरिया मुक्‍त बनाने के लिए रेंडम प्रक्रिया के माध्‍यम से स्‍कूली बच्‍चों का सर्वे किया गया। जिसमें रायपुर जिले के 71 बच्चों में फाइलेरिया (हाथी पांव) की पुष्टि होने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य विभाग अलर्ट हो गया है।


चिरायु की टीम ने जिले के चयनित 71 स्‍कूलों के पहली और दूसरी कक्षा में अध्‍ययनरत कुल दर्ज 3544 बच्‍चों में से 2737 बच्‍चों का ब्‍लड सेम्‍पल लेकर फाइलेरिया टेस्‍ट स्‍टीप कीट से जांच किया जिसमें 71 बच्‍चों में फाइलेरिया के लक्षण मिले हैं। जबकि 2529 बच्‍चों में फाइलेरिया निगेटीव पाए गए।


सर्वे रिपोर्ट के बाद फाइलेरिया पॉजेटिव बच्‍चों को 12 दिनों तक नियमित दवाईयां दी जा रही है। वहीं स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम प्रभावित बच्‍चों के स्‍कूल और निवास स्‍थान के आस-पास कैम्‍प लगाकर प्रभावित परिवार सहित मोहल्‍लों के अन्‍य परिवारों का भी लाइन लिस्टिंग कर हाथी पांव से पीडि़त मरीजों की खोज किया जाएगा।


स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव-मोहल्ले में नाइट सर्वे भी करेगी और पीड़ित बच्चों की स्लाइड बनाएगी। फाइलेरिया टांसमिशन असेसमेंट सर्वे-2019 के लिए चयनित रायपुर जिले में हाथी पांव रोग के संक्रमण की जांच के लिए 20 से 30 सितंबर 2019 तक सर्वे किया गया।


इस बीमारी का परजीवी मौजूद
जिला मलेरिया अधिकारी डॉक्टर विमल किशोर रॉय के अनुसार प्रारंभिक जांच से पता चला कि इन बच्चों के अंदर इस बीमारी का परजीवी मौजूद है। इसी को देखते हुए राष्ट्रीय वेक्‍टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जल जनित रोगों को दूर करने के लिए चिरायु की 11 टीम सर्वे के बाद स्‍थानीय स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अमले को निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं।


डॉ राय ने बताया जिले के चार ब्‍लॉक अभनपुर के 12 स्‍कूल में 9, आरंग के 13 स्‍कूल में 16 , तिल्‍दा के 12 स्‍कूल में 23, धरसींवा के 11 स्‍कूल में 6 और राजधानी रायपुर व बिरगांव नगर निगम क्षेत्र के 23 स्‍कूलों में 17 बच्‍चों में फाइलेरिया के लक्षण मिलने की पुष्टि की गई है।


फाइलेरिया उन्‍नमूलन के लिए रायपुर में 80, बलौदाबाजार में 49, गरियाबंद में 79 और महासमुंद में 73 चिंहाकिंत सरकारी और निजी स्‍कूलों में सर्वे किया गया। डॉक्टर राय ने बताया, फ़ाइलेरिया को हाथीपांव भी कहा जाता है।


इसे ग्रसित लोगों का जीवन बहुत कष्ट दाई होता है हालांकि यह जान लेवा नहीं होता है लेकिन इसका इलाज नहीं होता है। यह रोग मूलत गरीबी अवस्‍था में जीवन यापन करने वालों में पाया जाता है। इस रोग के कारण कार्यक्षमता प्रभावित होने से रोगी की आर्थिक स्थिति और खराब होते जाती है।


घबराएं नहीं, सरकारी अस्पताल जाएं
मुख्‍य स्‍वास्‍थ्‍य चिकित्‍सा अधिकारी डॉ श्रीमती मीरा बघेल ने बताया, किसी को फाइलेरिया बीमार के लक्षण नजर आते हैं तो वे घबराएं नहीं। स्वास्थ्य विभाग के पास इसका पूरा उपचार उपलब्ध है। विभाग स्तर पर मरीज का पूरा उपचार निशुल्क होता है। इसलिए सीधे सरकारी अस्पताल जाएं।


उन्‍होंने बताया सर्वे में लिए गए रक्त के नमूने की जांच में ये पता किया जाता है कि मरीज के रक्त में परजीवी की संख्या कितनी है। इसके बाद मरीज का उपचार शुरू किया जाता है। मरीज को 12 दिन की दवा की खुराक दी जाती है इससे बीमारी के परजीवी मर जाता है। और मरीज इस रोग के दुष्‍प्रभाव से बच जाता है। फाइलेरिया के बीमारी से बचाव के लिए लोगों में जागरुकता जरुरी है।


कैसे फैलता है रोग
फाइलेरिया को हाथी पांव रोग भी कहा जाता है। ये रोग क्यूलेक्स मच्छर काटने की वजह से होता है। इस मच्छर के काटने से पुवेरिया नाम के परजीवी शरीर में जाने से ये रोग होता है। वयस्क मच्छर छोटे-छोटे लार्वा को जन्म देता है, जिन्हें माइक्रो फाइलेरिया कहा जाता है। ये मनुष्य के रक्त में रात के समय एक्टिव होता है। इस कारण स्वास्थ्य टीम रात में ही पीड़ित का ब्लड सैंपल लेगी।


चिंपांजी पेंटिंग के रिकॉर्ड तोड़ मूल्य

नई दिल्ली। पेंटिंग बनाने वाले कलाकरों की अलग-अलग पेंटिंग दुनिया भर में भारी कीमत पर बिकती है और अपने घरों में शौक से पेंटिंग लगाने वाले लोग अच्छी कलाकृति को मनचाहे दाम पर खरीदना भी चाहते है। आज हम आपको एक ऐसी पेंटिंग के बारे में बताने जा रहे है जो रिकॉर्ड कीमत में बिकी है। हम बात कर रहे है लंदन में एक गुमनाम पेंटर द्वारा बनाई गई ब्रिटिश संसद  'हाउस ऑफ कॉमन्स' में बैठे चिम्पांजियों वाली पेंटिंग की जिसे साल 2009 में बनाया गया था। शुरुआत में इस पेंटिंग की कीमत 13 से 20 करोड़ करोड़ रुपये आंकी गई थी, लेकिन नीलामी में यह करीब 86.41 करोड़ रुपये में बिकी। इस पेंटिंग का शीर्षक है 'डिवॉल्व्ड पार्लियामेंट'। नीलामी में इस पेंटिंग को खरीदने के लिए कुल 10 लोगों ने बोली लगाई थी। 13 फीट लंबी यह पेंटिंग महज 13 मिनट में ही बिक गई। 'ब्रिटिश संसद में बैठे चिम्पांजी' वाली पेंटिंग बनाने वाले पेंटर ने शुरुआत में इसका नाम 'क्वेश्चन टाइम' रखा था, लेकिन इसी साल मार्च महीने में ब्रिस्टल म्यूजियम में इसकी प्रदर्शनी से एक दिन पहले उसने इसका नाम बदल कर 'डिवॉल्व्ड पार्लियामेंट' रख दिया। इस पेंटिंग की तस्वीर बैंक्सी नाम के इंस्टाग्राम अकाउंट पर डाली गई थी। पेंटर के एक पूर्व सहयोगी ने बताया कि इस पेंटिंग को खरीदने वाले ने इसमें जरूर मौद्रिक मूल्य से अधिक कुछ देखा होगा, तभी इसे खरीदा है। अगर वह सिर्फ पैसे को अहमियत देते तो सोने में निवेश नहीं करते।


बिहार: बारिश के बाद डेंगू का डेरा

पटना। जलजमाव के बाद शहर पर डेंगू का कहर टूट पड़ा है शनिवार को एक दिन में सर्वाधिक 85 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है। ये सभी के सभी मरीज पटना जिले के ही हैं। पीएमसीएच के वायरोलॉजी डिपार्टमेंट में तैयार हो रही अब तक की रिपोर्ट के मुताबिक एक दिन में मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है।


इसके साथ ही इस मौसम में डेंगू मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 775 हो गया है। इसके पहले शुक्रवार को एक दिन में 67 मरीज डेंगू से प्रभावित मिले थे। वहीं, गुरुवार को दो दिनों में अस्पताल में 58 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई थी।


डॉक्टरों के मुताबिक घरों के आस पास जमा बारिश का पानी भी इसका एक कारण हो सकता है। डेंगू के अलावा चिकुनगुनिया के 23 मरीज और दिमागी बुखार यानी जेई के 46 रोगी भी इस सीजन में अबतक मिल चुके हैं। इस कारण तुरंत घरों में जमा साफ पानी को गिरा दें और घर के आगे जमा पानी पर किरासन तेल डाल दें। शनिवार को पीएमसीएच के इमरजेंसी डिपार्टमेंट में डेंगू के सात नये मरीज भर्ती हुए हैं। इलाज डेंगू वार्ड में किया जा रहा है। लंगरटोली का 15 वर्षीय आशाब, चिरैयांटांड की हेमा कुमारी, नटराज गली के विश्वेश्वर साह, मसौढ़ी के नंदबिहारी, दानापुर की नेहा कुमारी, फुलवारी की रोशन खातून और वैशाली के रोशन कुमार शामिल हैं। पीएमसीएच के ब्लड बैंक, रेडक्रॉस सोसायटी और जयप्रभा मॉडल ब्लड बैंक की ओर से मरीजों के परिजनों को प्लेटलेट्स मुहैया कराये जा रहे हैं। पंचलोक डाइग्नोस्टिक सेंटर के साथ डेंगू का निःशुल्क टेस्ट शिविर आयोजित किया जा रहा है।


85 मरीजों में डेंगू की पुष्टि एक दिन में 775 डेंगू की पुष्टि अब तक जांच में मिले डेंगू के चार मरीज
पटना सिटी। नालंदा  मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में शनिवार को 18 सैंपल  की जांच की गयी, जिनमें चार में  डेंगू होने की पुष्टि हुई, जबकि 14 की   रिपोर्ट निगेटिव मिली। विभागाध्यक्ष डॉ हीरा लाल महतो ने बताया कि  अब तक  डेंगू के 477 मरीजों की जांच हुई है। इनमें 100 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है, जबकि  377 मरीज  की रिपोर्ट निगेटिव मिली है। चिकनगुनिया के दो मरीजों की जांच हुई, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव मिली। विभागाध्यक्ष ने बताया कि चिकनगुनिया के 76 मरीजों की जांच हो चुकी  है। चार में बीमारी की पुष्टि हुई है, जबकि 72 की रिपोर्ट निगेटिव  मिली है।


ठंडे प्रदेश से आई लोकाट की प्रजाति

Loquat ( एरीओबोट्री जपोनिका ; कैंटोनीज़ चीनी से: at E ; ज्युटिंग : lou4-gwat1 ) परिवार Rosaceae में फूलों के पौधे की एक प्रजाति है, जो दक्षिण-मध्य चीन के ठंडे पहाड़ी क्षेत्रों के मूल निवासी है। यह जापान, कोरिया, भारत के पहाड़ी क्षेत्रों (हिमाचल), पाकिस्तान के पुटोहर और तलहटी क्षेत्रों में भी काफी आम है और कुछ फिलीपींस के उत्तरी भाग में, और श्रीलंका में पहाड़ी देश में पाया जा सकता है । [ उद्धरण वांछित ] यह कुछ दक्षिणी यूरोपीय देशों जैसे तुर्की , साइप्रस , ग्रीस , माल्टा , इटली , अल्बानिया , मोंटेनेग्रो , क्रोएशिया , स्लोवेनिया , फ्रांस , स्पेन और पुर्तगाल में भी पाया जा सकता है ; और मोरक्को , अल्जीरिया सहित कई उत्तरी अफ्रीकी देशों और मध्य पूर्व में जैसे ईरान , सीरिया , इराक , जॉर्डन , फिलिस्तीन , इज़राइल और लेबनान । यह केन्या के पूर्वी अफ्रीका के कुछ हिस्सों में भी पाया जाता है।


यह एक बड़ा सदाबहार झाड़ी या पेड़ है , जो अपने पीले फल के लिए व्यावसायिक रूप से उगाया जाता है, और एक सजावटी पौधे के रूप में भी खेती की जाती है।


एरोबोट्री जापोनिका को पहले जीनस मेस्पिलस से निकटता से संबंधित माना जाता था, और अभी भी कभी-कभी जापानी पदक के रूप में जाना जाता है। इसे जापानी बे और चीनी बेर , के रूप में भी जाना जाता है। इसे चीन में पीपा और इटली में नेस्पोला के नाम से भी जाना जाता है।


उपयोगी गुड़ के अनेक फायदे

गुड़ एक मीठा ठोस खाद्य पदार्थ है जो ईख, ताड़ आदि के रस को उबालकर कर सुखाने के बाद प्राप्त होता है। इसका रंग हल्के पीले से लेकर गाढ़े भूरे तक हो सकता है। भूरा रंग कभी-कभी काले रंग का भी आभास देता है। यह खाने में मीठा होता है। प्राकृतिक पदार्थों में सबसे अधिक मीठा कहा जा सकता है। अन्य वस्तुओं की मिठास की तुलना गुड़ से की जाती हैं। साधारणत: यह सूखा, ठोस पदार्थ होता है, पर वर्षा ऋतु जब हवा में नमी अधिक रहती है तब पानी को अवशोषित कर अर्धतरल सा हो जाता है। यह पानी में अत्यधिक विलेय होता है और इसमें उपस्थित अपद्रव्य, जैसे कोयले, पत्ते, ईख के छोटे टुकड़े आदि, सरलता से अलग किए जा सकते हैं। अपद्रव्यों में कभी कभी मिट्टी का भी अंश रहता है, जिसके सूक्ष्म कणों को पूर्णत: अलग करना तो कठिन होता हैं किंतु बड़े बड़े कण विलयन में नीचे बैठ जाते हैं तथा अलग किए जा सकते हैं। गरम करने पर यह पहले पिघलने सा लगता है और अंत में जलने के पूर्व अत्यधिक भूरा काला सा हो जाता है।


गुड़ का उपयोग मूलतः दक्षिण एशिया में किया जाता है। भारत के ग्रामीण इलाकों में गुड़ का उपयोग चीनी के स्थान पर किया जाता है। गुड़ लोहतत्व का एक प्रमुख स्रोत है और रक्ताल्पता (एनीमिया) के शिकार व्यक्ति को चीनी के स्थान पर इसके सेवन की सलाह दी जाती है। गुड़ के एक अन्य हिन्दी शब्द जागरी का प्रयोग अंग्रेजी में इसके लिए किया जाता है।


गुड़ बनाने की विधियाँ 
उपयोग:-गुड़ उपयोगी खाद्य पदार्थ माना जाता है। इसका उपयोग भारत में अति प्राचीन काल से होता आ रहा है। भारत की साधारण जनता इसका व्यापक रूप में उपयोग करती है तथा यह भोजन का एक आवश्यक व्यंजन है। इसमें कुछ ऐसे पौष्टिक तत्व विद्यमान रहते हैं जो चीनी में नहीं रहते। स्वच्छ चीनी में केवल चीनी ही रहती हैं, पर गुड़ में 90 प्रतिशत के लगभग ही चीनी रहती है। शेष में ग्लूकोज, खनिज पदार्थ, विटामिन आदि स्वास्थ्य की दृष्टि से उपयोगी पदार्थ भी रहते हैं। आयुर्वेदिक दवाओं तथा भोज्य पदार्थों में विभिन्न रूपों में इसका उपयोग होता है।


संकल्प: राम-भरत संवाद

राम-भरत संवाद
देखो मुनीवरो, आज हम तुम्हारे समक्ष पूर्व की भांति कुछ मनोहर वेद मंत्रों का गुणगान गाते चले जा रहे हैं। यह भी तुम्हें प्रतीत हो गया होगा। आज हमने पूर्व से जिन वेद मंत्रों का पठन-पाठन किया है। हमारे यहां परंपरागतो से उस मनोहर वेद वाणी का प्रसार होता रहता है। जिस पवित्र वेद वाणी में उस परमपिता परमात्मा की महिमा का गुणगान किया जाता है। क्योंकि वह परमपिता परमात्मा आनंदमई माने गए हैं और जितना भी यह जड़ जगत अथवा चेतन्‍य जगत हमें दृष्टिपात आ रहा है। उस सर्वत्र ब्रम्हांड के मूल में प्राय: वह परमपिता परमात्मा दृष्टिपात आते रहते हैं। उस परमपिता परमात्मा की महिमा अथवा उसका जो अग्नि मई रूप है जो तजोमयी कहलाता है ।आज हम तेजोमयी परमपिता परमात्मा की महिमा अथवा उसके गुणों का गुणवादन करते रहे हैं। क्योंकि वह परमपिता परमात्मा अनंतमई माने गए हैं। और वह हमारे पुरोहित है जो परा विद्या को प्रदान करने वाले हैं। मानव ही पुरोहित कहलाते हैं। इसलिए हमारे यहां पर उस परमपिता परमात्मा को पुरोहित के रूप में वर्णित किया गया है। और प्रत्येक मानव उसे वर लेता है। और उसे अपना पुरोहित बना करके उससे परा विद्या को अपने में धारण करने वाला है। इसलिए हम उस परमपिता परमात्मा जो परा विद्या का देने वाला है। जिस विद्या को धारण करने के पश्चात मानव का जीवन पवित्र बन जाता है और उस विद्या के अनुपम रहस्य को जानता हुआ मानव अपने कर्मकांड की ओर भी नाना पद्धति को अपनाने के लिए तत्पर हो जाता है। इसलिए हम उस परमपिता परमात्मा की महिमा अथवा उसके गुणों का अभिवादन करते चले जाएं। वह परमपिता परमात्मा हमारा पुरोहित है और पुरोहित उसे कहा जाता है जो परा विद्या को जानने वाला है। जो परा विद्या में रत रहने वाला है। मानो उसी का दिया हुआ यह अनुपम ज्ञान और विद्या है। मानव उसी के आश्रित रहता हुआ अपनी मानवीयता को पवित्र बनाता रहता है। आज हम अपने परम देव पुरोहित के लिए सदैव गान गाते रहें। क्योंकि यहां तो प्रत्येक मानव अपने पुरोहित को जानने के लिए सदैव तत्पर रहा है और यह विचार ता है कि मैं आज पुरोहित को अपने में अपनाता हूं मैं परम पिता परमात्मा के अनुपम क्षेत्र में रमण करने वाला वह परमपिता परमात्मा जो पुरोहित है। जिसकी विद्या को जानने के लिए मानव समाज इच्छुक रहता है। और भी नाना महापुरुष उनके ज्ञान को जानने के लिए तत्पर रहे हैं। वह परमपिता परमात्मा जो हमारा पुरोहित है जो इस ब्रह्मांड का पुरोहित है। जो मानव को परा विद्या प्रदान करने वाला है। उसे ही पुरोहित कहा जाता है। आज इस पुरोहित के लिए हम सदैव गुणगान गाते रहे हैं। पुरोहितानाम्‌ भविताम ब्रह्म: वही तो पुरोहित है। जो परमात्मा परब्रह्म के स्वरूप में विद्यमान है। हमारे यहां पुरोहितों के संबंध में भिन्न भिन्न प्रकार की विवेचना की गई है। जब हम पुरोहितों के लिए अपने विवेचना अथवा अपने लिए तत्पर होते हैं तो है पुरोहितनाम्‌ भविताम ब्रह्मा: जो पुरोहित बनकर के मानव के लिए जनकल्याण के लिए विचारता रहता है और अपने संपर्क में लाता हुआ अपने को उस में आहूत कर देता है। विचार विनिमय क्या है? हम पुरोहित की उपासना करने वाले बने, उन पुरोहित को जानते रहे जो परा विद्या को देने वाला है। जो मानव को मानवता की आभा में परिणत कर देता है। तो बेटा, वह पुरोहित कहा जाता है। एक पुरोहितनाम्‌ यज्ञम भव्यतम ब्राह्मण: यह जो संसार रूपी एक प्रकार की यज्ञशाला हैं। इस यज्ञ शाला में मानो आप ही तो पुरोहित बने हुए हैं। जो परा विद्या के अंकुरों को हमें परिणत करते रहते हैं और उसी परा विद्या को धारण करते हुए, हम सागर से पार हो जाते हैं। देखो पुरोहितजन प्रत्येक ग्रह में परिणत होता है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 07, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-64 (साल-01)
2. सोमवार, 07 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,शुक्‍लपक्ष,तिथि-नवंमी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:16,सूर्यास्त 06:05
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै.,अधिकतम-32+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, आद्रता बनी रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


चिकित्सा अधिकारी को प्रभाव से निलंबित किया

मनोज सिंह ठाकुर         उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन संभागायुक्त ने टीकाकरण महाअभियान के दौरान अनुपस्थित रहने पर एक चिकित्सा अधिकारी को तत्क...