शनिवार, 2 जुलाई 2022

'प्लास्टिक मुक्त प्रयागराज' कार्यक्रम का आयोजन

'प्लास्टिक मुक्त प्रयागराज' कार्यक्रम का आयोजन

बृजेश केसरवानी          
प्रयागराज। शनिवार को आर्य कन्या इंटर कॉलेज प्रयागराज में नगर निगम द्वारा स्वच्छता अभियान के अंतर्गत 'प्लास्टिक मुक्त प्रयागराज' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें नगर निगम की टीम द्वारा बताया गया, कि हमें सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करना चाहिए और गीले कचरे के लिए हरा कूड़ेदान, सूखे कचरे के लिए नीले कूड़ेदान एवं इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स के लिए काले रंग के कूड़ेदान का प्रयोग करना चाहिए। विद्यालय के प्रबंधक पंकज जायसवाल ने छात्राओं को प्लास्टिक के प्रकार समझाते हुए बताया कि रंगीन प्लास्टिक का यूज़ कैंसर का एक कारण होता है। 
प्रधानाचार्या डॉ. सुधा उपाध्याय ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि नो प्लास्टिक के अंतर्गत सबसे पहले हम विद्यालय में कपड़े के झोले बनाएंगे और वहीं, उपयोग करने पर जोर देंगे। उपप्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना जायसवाल ने समझाया कि हमें प्लास्टिक के बर्तनों में गर्म खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए एवं सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करना चाहिए। कार्यक्रम के दौरान नीरज गुप्ता, आशा श्रीवास्तव, नीना प्रजापति ,ऋतु अरोरा ,वन्दिता अस्थाना, सलोनी अग्रवाल नीलम श्रीवास्तव , रैहां इदरीश, मनीक्षा श्रीवास्तव, अनुपमा सिंह, मोउ बसु, वंदना मिश्रा आदि शिक्षिकाएं एवं छात्राएं उपस्थित रहीं।

भर्ती प्रक्रिया के तहत 'यूपीएसईएसएसबी' में नौकरी

भर्ती प्रक्रिया के तहत 'यूपीएसईएसएसबी' में नौकरी 

हरिओम उपाध्याय
लखनऊ। उम्मीदवार दिए गए इन तमाम खास बातों को ध्यान से पढ़कर आवेदन करें। साथ ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत 'यूपीएसईएसएसबी' में नौकरी पा सकते हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में नौकरी पाने का गोल्डन चांस है। इसके लिए यूपीएसईएसएसबी में ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पदों पर आवेदन करने की कल अंतिम डेट है। इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो अभी तक इन पदों के लिए अप्लाई नहीं किए हैं, वे यूपीएसईएसएसबी की आधिकारिक वेबसाइट upsessb.org और upsessb.pariksha.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Agencies.aspx?uTVe3S4xVOs1PaOekpDaJg पर क्लिक करके इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।साथ ही इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Online_App/Notifications.aspx के जरिए भी आधिकारिक नोटिफिकेशन देख सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत कुल 4153 रिक्त पदों को भरा जाएगा। महत्वपूर्ण तिथियां UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की शुरुआत तिथि- 09 जून 2022 UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 03 जुलाई 2022 रिक्ति विवरण कुल पदों की संख्या- 4153 ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर – 3529 टीजीटी पुरुष – 3213 टीजीटी महिला – 326 पोस्ट ग्रेजुएट टीचर- 624 PGT पुरुष – 549 PGT Fमहिला – 75 योग्यता मानदंड TGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही बी.एड (4 वर्षीय एकीकृत डिग्री के लिए) की डिग्री भी होनी चाहिए। PGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए। आयुसीमा न्यूनतम – 21 वर्ष अधिकतम – कोई आयु सीमा नहीं वेतन TGT: रु. 44900- 142000/- (स्तर- 7, ग्रेड पे 4600) PGT: रु. 47600- 151100/- (स्तर-8, ग्रेड पे 4800) लिखित परीक्षा – 80 अंक साक्षात्कार – 10 अंक योग्यता और अन्य – 5 अंक
लखनऊ। उम्मीदवार दिए गए इन तमाम खास बातों को ध्यान से पढ़कर आवेदन करें।साथ ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत UPSESSB में नौकरी पा सकते हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में नौकरी पाने का गोल्डन चांस है। इसके लिए UPSESSB में ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पदों पर आवेदन करने की कल अंतिम डेट है। इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो अभी तक इन पदों के लिए अप्लाई नहीं किए हैं, वे UPSESSB की आधिकारिक वेबसाइट upsessb.org और upsessb.pariksha.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Agencies.aspx?uTVe3S4xVOs1PaOekpDaJg पर क्लिक करके इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।साथ ही इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Online_App/Notifications.aspx के जरिए भी आधिकारिक नोटिफिकेशन देख सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत कुल 4153 रिक्त पदों को भरा जाएगा। महत्वपूर्ण तिथियां UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की शुरुआत तिथि- 09 जून 2022 UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 03 जुलाई 2022 रिक्ति विवरण कुल पदों की संख्या- 4153 ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर – 3529 टीजीटी पुरुष – 3213 टीजीटी महिला – 326 पोस्ट ग्रेजुएट टीचर- 624 PGT पुरुष – 549 PGT Fमहिला – 75 योग्यता मानदंड TGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही बी.एड (4 वर्षीय एकीकृत डिग्री के लिए) की डिग्री भी होनी चाहिए। PGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए। आयुसीमा न्यूनतम – 21 वर्ष अधिकतम – कोई आयु सीमा नहीं वेतन TGT: रु. 44900- 142000/- (स्तर- 7, ग्रेड पे 4600) PGT: रु. 47600- 151100/- (स्तर-8, ग्रेड पे 4800) लिखित परीक्षा – 80 अंक साक्षात्कार – 10 अंक योग्यता और अन्य – 5 अंक
लखनऊ। उम्मीदवार दिए गए इन तमाम खास बातों को ध्यान से पढ़कर आवेदन करें।साथ ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत UPSESSB में नौकरी पा सकते हैं।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में नौकरी पाने का गोल्डन चांस है। इसके  लिए UPSESSB में ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पदों पर आवेदन करने की कल अंतिम डेट है। इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो अभी तक इन पदों के लिए अप्लाई नहीं किए हैं, वे UPSESSB की आधिकारिक वेबसाइट upsessb.org और upsessb.pariksha.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।
इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Agencies.aspx?uTVe3S4xVOs1PaOekpDaJg पर क्लिक करके इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।साथ ही इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Online_App/Notifications.aspx के जरिए भी आधिकारिक नोटिफिकेशन देख सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत कुल 4153 रिक्त पदों को भरा जाएगा।
महत्वपूर्ण तिथियां

UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की शुरुआत तिथि- 09 जून 2022
UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 03 जुलाई 2022

रिक्ति विवरण

कुल पदों की संख्या- 4153

ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर – 3529

टीजीटी पुरुष – 3213
टीजीटी महिला – 326

पोस्ट ग्रेजुएट टीचर- 624
PGT पुरुष – 549
PGT Fमहिला – 75

योग्यता मानदंड
TGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही बी.एड (4 वर्षीय एकीकृत डिग्री के लिए) की डिग्री भी होनी चाहिए।
PGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए।
आयुसीमा
न्यूनतम – 21 वर्ष
अधिकतम – कोई आयु सीमा नहीं।

यूपी: बड़े पैमाने पर कई जिलों के कप्तानों के तबादलें

यूपी: बड़े पैमाने पर कई जिलों के कप्तानों के तबादलें 

हरिओम उपाध्याय        
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश शासन ने शनिवार को बड़े पैमाने पर कई जिलों के कप्तानों के तबादलें कर दिए हैं। जिन जिलों के पुलिस अधीक्षक बदले गए हैं। उनमें मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, मथुरा, गोरखपुर, गोंडा, अयोध्या, प्रयागराज के साथ-साथ गाजीपुर, बिजनौर, मिर्जापुर, कासगंज और अमेठी हैं।
शैलेश कुमार पांडे को अयोध्या से प्रयागराज, अजय कुमार को प्रयागराज से सीबीसीआईडी लखनऊ, रोहन बोत्रे को कासगंज से गाजीपुर, प्रशांत वर्मा को कन्नौज से अयोध्या, सहारनपुर के एसएससी आकाश तोमर को गोंडा का एसपी बनाया गया है। गाज़ीपुर के एसपी राम बदन सिंह को नोएडा कमिश्नरेट में तैनाती दी गई है। राजेश कुमार श्रीवास्तव कन्नौज के नए एसपी होंगे। गोरखपुर के एसएसपी विपिन टाडा सहारनपुर के नए एसपी होंगे। मथुरा के एसपी गौरव ग्रोवर गोरखपुर के एसएसपी होंगे। मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव को मथुरा का एसपी बनाया गया है। अमरोहा के एसएसपी विनीत जायसवाल को मुजफ्फरनगर का एसपी बनाया गया है।
अमेठी के एसपी दिनेश सिंगर बिजनौर के एसपी होंगे। इलामारन जी को अमेठी का एसपी बनाया गया है। संतोष कुमार मिश्र गोंडा से मिर्जापुर एसपी के रूप में स्थानांतरित किए गए है। बीबी जीडीएस मूर्ति को कानपुर पुलिस कमिश्नर से कासगंज का एसपी बनाया गया है। आदित्य लाग्हे वाराणसी से अमरोहा के एसपी बनाए गए हैं।
मिर्जापुर के एसपी अजय कुमार सिंह वाराणसी में पीएसी के सेक्टर डीआईजी होंगे। बिजनौर के एसपी धर्मवीर को पीएसी स्थानांतरित किया गया है। कानपुर पुलिस कमिश्नरेट में तैनात एसपी संजीव त्यागी को अयोध्या में इंटेलिजेंस का एसपी बनाया गया है। डॉ भीमराव आंबेडकर पुलिस अकादमी मुरादाबाद में तैनात एसपी विजय ढुल को कानपुर कमिश्नरेट में डीसीपी के पद पर देहाती दी गई है। सीबीसीआईडी में एसपी राहुल राज को लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट में डीसीपी बनाया गया है।

'स्वदेशी मानव रहित' विमान की सफल उड़ान, इतिहास

'स्वदेशी मानव रहित' विमान की सफल उड़ान, इतिहास

नई दिल्ली/बेंगलुरु। डिफेंस रिसर्च एंड डवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (डीआरडीओ) ने शनिवार को अपने पहले 'स्वदेशी मानव रहित' विमान की सफल उड़ान से इतिहास रच दिया। कर्नाटक ने चित्रदुर्ग में पूरी तरह से ऑटोनॉमस प्लेन ने सटीकता के साथ उड़ान पूरी की और परफैक्ट तरीके से जमीन पर लैण्ड हुआ। डीआरडीओ के इस मिशन को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आत्मनिर्भर बनने की दिशा में भारत का एक अहम कदम बताया है। आधिकारिक बयान के अनुसार, यह उड़ान भविष्य के मानवरहित विमानों के विकास की दिशा में महत्वपूर्ण तकनीकियों को साबित करने के मामले में एक बड़ी कामयाबी मिली है।

यह सामरिक रक्षा प्रौद्योगिकियों में आत्म निर्भरता की दिशा में भी एक महत्वपूर्ण कदम है। बयान में कहा गया है कि इस मानवरहित प्लेन को वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान (एडीई) बेंगलुरू की ओर से डिजाइन और विकसित किया गया है जो डीआरडीओ की एक प्रमुख रिसर्च लैब है। यह विमान एक छोटे टर्बोफैन इंजन द्वारा ऑपरेट होता है। विमान के लिए उपयोग किए जाने वाले एयरफ्रेम, अंडर कैरिज और फ्लाइट कंट्रोल स्वदेशी तौर पर विकसित है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस उपलब्धि पर डीआरडीओ को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि यह मानव रहित विमानों की दिशा में एक बड़ी उपलब्धि है और इससे सेना में आत्मनिर्भर भारत का मार्ग भी प्रशस्त होगा।

रूसी मिसाइल हमलों में 1 बच्चे सहित 21 लोगों की मौंत

रूसी मिसाइल हमलों में 1 बच्चे सहित 21 लोगों की मौंत

सुनील श्रीवास्तव 

मॉस्को/कीव। यूक्रेन के दक्षिणी ओडेसा क्षेत्र में शनिवार की रात रूसी मिसाइल हमलों में एक बच्चे सहित कम से कम 21 लोगों की मौंत हो गई। जबकि छह बच्चों समेत 38 अन्य घायल हो गये। प्रांतीय आपातकालीन सेवा डीएसएनएस ने कहा कि सेरहिवका गांव में नौ मंजिला इमारत में एक मिसाइल के टकराने से 16 लोग मारे गये। वहीं हॉलिडे रिजॉर्ट पर अलग-अलग हमले में एक बच्चे समेत पांच लोगों की मौत हो गयीयूक्रेनी अधिकारियों के मुताबिक काला सागर के ऊपर रूसी युद्धक विमानों से तीन मिसाइलें दागी गयी है।

रूस ने पिछले कुछ दिनों में यूक्रेन के शहरों पर दर्जनों मिसाइलें दागी हैं। रूसी सरकार के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने हालांकि इससे इंकार किया है कि हमले नागरिकों को लक्ष्य कर किये जा रहे हैं।

तालिबान का फिर से उभरना, प्रतिक्रियावादी घटना नहीं

तालिबान का फिर से उभरना, प्रतिक्रियावादी घटना नहीं

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने शुक्रवार को कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान का फिर से उभरना, कोई प्रतिक्रियावादी घटना नहीं है। आंबेकर ने यहां एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में यह बात कही। वरिष्ठ पत्रकार अरुण आनंद द्वारा लिखित दो पुस्तकें - 'द तालिबान- वॉर एंड रिलिजन इन अफगानिस्तान' और 'द फॉरगॉटन हिस्ट्री ऑफ इंडिया' यहां कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में लॉन्च की गईं।
उन्होंने कहा कि भारत में पीएफआई, हमास, आईएसआईएस जैसे संगठनों के रूप में कई देशों में ऐसी घटनाएं हो रही हैं।
उन्होंने कहा, इन घटनाओं को किसी ने नहीं भड़काया है, अगर किसी को ऐसा लगता है तो फिर से सोचने की जरूरत है।
अंबेकर ने रेखांकित किया, हर किसी को तालिबान के उदय के प्रकरणों को जानने की जरूरत है, उनकी मानसिकता और विचारधारा सभी को पता होनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि तालिबान से जुड़े मुद्दों को समझना महत्वपूर्ण है। क्योंकि यह हमारे पड़ोस में हो रहा है।
उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं को केवल राजनीतिक नहीं कहा जा सकता।
उन्होंने कहा, जिस देश को आजादी मिलने के बाद विभाजन के आघात का सामना करना पड़ा और उसके नागरिक तालिबान के फिर से उभरने को कभी भी नजरअंदाज नहीं कर सकते। यह पता लगाने के लिए मूल स्थान पर जाने की जरूरत है कि क्या हमारे देश से कोई लिंक जुड़ा हुआ है ?
उन्होंने कहा, हमें यह जानने की जरूरत है कि क्या इन दिनों देश भर में हो रही घटनाएं ऐसी विचारधारा से जुड़ी हुई हैं.. क्या ऐसी विचारधाराएं हमारे देश में प्रवेश कर रही हैं या ऐसी घटनाओं का समर्थन करने वाले कोई संगठन उस विचारधारा से जुड़े हुए हैं? हम सभी को यह जानने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, हमें इसे ढकने से कुछ नहीं मिलेगा। हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते।
स्वतंत्रता संग्राम के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग स्वतंत्रता आंदोलन को अपनी विचारधारा के अनुसार और राजनीतिक उद्देश्य के लिए देखते हैं, वह स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान है। उन्होंने कहा, इतिहास में आईएनए के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया गया है, यहां तक कि आजादी के बाद के दौर में आरएसएस पर भी ज्यादा ध्यान नहीं जाता है, लेकिन इतिहास को दबाया नहीं जा सकता।
नई पीढ़ी को विनायक दामोदर सावरकर, सुभाष चंद्र बोस, बिरसा मुंडा के बारे में जानने की जरूरत है जो देश की एकता को मजबूत करेगा। नई पीढ़ी को पता होना चाहिए कि पहला संवैधानिक संशोधन क्यों किया गया था। उन्हें पता होना चाहिए कि भारत क्यों और कैसे विभाजित किया गया था। ताकि भविष्य में इसे दोबारा नहीं दोहराया जा सके।

मंदिर का मूल ढांचा व धार्मिक स्वरूप बदलने का आरोप

मंदिर का मूल ढांचा व धार्मिक स्वरूप बदलने का आरोप 

संदीप मिश्र 

वाराणसी। उत्तर-प्रदेश के वाराणसी में एक स्थानीय अदालत ने ज्ञानवापी मस्जिद की प्रबंध समिति के सदस्यों पर इस परिसर में स्थित काशी विश्वेश्वर मंदिर का मूल ढांचा एवं धार्मिक स्वरूप बदलने का आरोप लगाते हुए इनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने की मांग करने वाली अर्जी को खारिज कर दिया। वाराणसी के जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश ने गत जितेन्द्र सिंह द्वारा 27 जून काे दायर अर्जी को खारिज कर दिया। अदालत ने इस अर्जी को तथ्यों के आधार पर अपूर्ण बताते हुए खारिज कर दिया। इससे पहले एक और निचली अदालत द्वारा इस अर्जी को खारिज करने के फैसले को सही बताया।

गौरतलब है कि गत 14 जून को जिला अदालत में दायर इस अर्जी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का प्रबंधन संभाल रही अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमेटी के पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की गयी थी। अर्जी में दलील दी गयी है कि मस्जिद परिसर में स्थित काशी विश्वेश्वर मंदिर को मुगलों ने नष्ट कर दिया था। लेकिन मंदिर के मूल भाग को तहस नहस नहीं किया था, लेकिन कमेटी के सदस्यों ने इस मंदिर के मूल भाग का धार्मिक स्वरूप बदलने की काेशिश की है।

ईरान: भूकंप के तेज झटके महसूस, 6.1 तीव्रता मापी

ईरान: भूकंप के तेज झटके महसूस, 6.1 तीव्रता मापी

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत
तेहरान। ईरान में शनिवार सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। रेक्टर स्कैल पर इनकी तीव्रता 6.1 मापी गई। यूएई और चीन तक जलजला महसूस किया गया। ईरानी मीडिया के अनुसार, देश के दक्षिणी हिस्से में में शनिवार तड़के 6.1 तीव्रता के भूकंप से कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई। ईरान के खाड़ी तट पर होर्मोज़गन प्रांत में आपातकालीन प्रबंधन के प्रमुख महरदाद हसनज़ादेह ने बताया, 'आठ अन्य लोग घायल हो गए हैं।' ईरानी मीडिया ने भूकंप की तीव्रता 6.1 बताई, जबकि यूरोपीय भूमध्यसागरीय भूकंप केंद्र (ईएमएससी) ने कहा कि इसकी तीव्रता 6.0 थी। ईएमएससी ने कहा कि भूकंप 10 किमी (6.21 मील) की गहराई पर था।
संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के विभिन्न हिस्सों के निवासियों ने भी झटके महसूस किए। अच्छी बात यह है कि अब तक यूएई से किसी तरह की जनहानि की सूचना नहीं है। ईरान में राहत तथा बचाव कार्य जारी है। आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। समाचार एजेंसी ANI के अनुसार, चीन के झिंजियांग में आज तड़के करीब साढ़े तीन बजे 10 किमी की गहराई पर 4.3 तीव्रता का भूकंप आया। चीन से किसी नुकसान की खबर नहीं है।

हत्याकांड: आरोपियों के संबंध भाजपा से, खुलासा

हत्याकांड: आरोपियों के संबंध भाजपा से, खुलासा

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। कांग्रेस ने कहा है, कि उदयपुर जघन्य हत्याकांड के आरोपियों के संबंध भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो नेताओं से होने का खुलासा हुआ है। इसलिए पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने शनिवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उदयपुर की विभत्स घटना के संदर्भ में कल एक मीडिया ग्रुप ने बेहद सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा है कि कन्हैयालाल की हत्या के मुख्य आरोपी रियाज़ अटारी के सम्बन्ध भाजपा नेता इरशाद चैनवाला एवं मोहम्मद ताहिर से है और उनके सम्बंधों की तस्वीरें जगजाहिर हैं।

उन्होंने कहा कि इसी खुलासे में यह बात भी सामने आई है कि रियाज़ अटारी अक्सर राजस्थान भाजपा के कद्दावर नेता एवं राज्य के पूर्व गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया के कार्यक्रमों में भाग लेता रहा है। रियाज़ की राजस्थान भाजपा अल्पसंख्यक इकाई की बैठकों में शामिल होने की तस्वीरें भी सामने आई है।

महाराष्ट्र से मुंबई को अलग करने की साजिश: राउत

महाराष्ट्र से मुंबई को अलग करने की साजिश: राउत 

कविता गर्ग 
मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता एवं सांसद संजय राउत ने शनिवार को कहा, कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री का पद देकर महाराष्ट्र से मुंबई को अलग करने की साजिश रच रही है और वह शिवसेना की ताकत को कमजाेर करना चाहती है। राउत ने शनिवार को यहां संवाददताओं से बातचीत में कहा कि शिवसेना और ठाकरे एक सिक्के के दो पहलू हैं तथा ठाकरे जहां हैं, वहां शिवसेना है।
उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा मुंबई को महाराष्ट्र से अलग करने और शिवसेना को हराने के लिए शिंदे के कंधे पर बंदूक रख कर चला रही है।राउत ने विश्वास व्यक्त किया कि शिवसेना का झंडा मुंबई में लहराता रहेगा। राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर बात करते हुए सांसद राउत ने कहा कि श्री फडणवीस के लिए अपने नाम के आगे उपमुख्यमंत्री लिखना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने कहा कि नयी राज्य सरकार को महाराष्ट्र और मुंबई दोनों के लिए बिना किसी राजनीतिक द्वेष के काम करना चाहिए।

भूस्खलन में 2 सुरक्षाकर्मियों सहित 7 लोगों की मौंत

भूस्खलन में 2 सुरक्षाकर्मियों सहित 7 लोगों की मौंत 

गीता गोवंडके/इकबाल अंसारी
इंफाल/मोरीगांव/दिसपुर। मणिपुर के नोनी जिले में एक रेलवे निर्माण स्थल पर भूस्खलन में दो सुरक्षाकर्मियों सहित असम के सात लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस हादसे में कम से कम 12 और कर्मचारी अब भी लापता हैं। पड़ोसी राज्य के तुपुल यार्ड रेलवे निर्माण शिविर में बुधवार रात भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है। जबकि 38 अन्य अभी भी लापता हैं।
मोरीगांव के उपायुक्त पी. आर. घरफालिया ने बताया कि जिले के चार लोगों के शव शुक्रवार को बरामद किए गए और उनकी पहचान की गई, जबकि एक की पहचान एक दिन पहले की गई थी। उन्होंने कहा, ‘‘अब तक मोरीगांव के पांच लोगों के भूस्खलन में मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है। 
इस जिले से उसी जगह पर काम कर रहे कई अन्य लोग अब भी लापता हैं।’’ असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने शुक्रवार को मोरीगांव जिले के 22 नामों की एक सूची साझा की थी जो रेलवे निर्माण स्थल पर लगे थे।
इनमें से पांच को बचा लिया गया, पांच की मौत की पुष्टि हो गई है और 12 अन्य का पता लगाया जाना बाकी है। भूस्खलन में मारे गए बजली जिले के रहने वाले सेना के जवान के पार्थिव शरीर को मणिपुर से विशेष विमान से राज्य लाया गया और उसके गांव ले जाया गया, जहां उनका अंतिम संस्कार किया गया।
असम के कैबिनेट मंत्री पीयूष हजारिका, जिन्हें सरमा ने दुर्घटनास्थल पर खोजबीन और बचाव कार्यों की देखरेख के लिए प्रतिनियुक्त किया था, शनिवार को तुपुल पहुंचे। हजारिका ने ट्वीट किया, ‘‘मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा के निर्देश पर मैंने मणिपुर के तुपुल में क्षेत्रीय सैन्य शिविर का दौरा किया, जो एक बड़े भूस्खलन से तबाह हो गया था।मैंने बचाव अभियान का भी जायजा लिया।’’ उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बचाव कार्यों में राज्य को हर संभव साजो-सामान मुहैया करा रही है। मंत्री ने कहा, ‘‘मैं इस आपदा से प्रभावित सभी लोगों के लिए प्रार्थना करता हूं और मैं मृतकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं।

गला काटकर निर्मम हत्या के मामलें में जांच के निर्देश

गला काटकर निर्मम हत्या के मामलें में जांच के निर्देश

पंकज मिश्रा
अमरावती। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को अमरावती में एक 54 वर्षीय व्यक्ति की गला काटकर निर्मम हत्या के मामलें की जांच के निर्देश दिए हैं। गृह मंत्री के कार्यालय ने शनिवार को एक ट्वीट कर यह जानकारी दी। ट्वीट में कहा गया है कि गृह मंत्रालय ने महाराष्ट्र के अमरावती में गत 21 जून को उमेश कोल्हे की निर्मम हत्या से संबंधित मामलें की जांच एनआईए को सौंप दी है।
जांच एजेंसी से इस मामले में किसी संगठन की भूमिका या सम्बन्धित साजिश का अंतरराष्ट्रीय संबंध होने की गहराई से जांच करने को कहा गया है। रिपोर्टों के अनुसार कोल्हे कि गत 21 जून को रात को उस समय चाकू से निर्मम हत्या कर दी गई जब वह अपनी दुकान से घर लौट रहे थे। रिपोर्ट में कहा गया है कि सोशल मीडिया पर इस तरह की बात कही जा रही है कि उनकी हत्या भाजपा से निलंबित नेता नूपुर शर्मा के विवादास्पद पोस्ट का समर्थन करने के कारण की गई है।
अमरावती पुलिस ने इस सिलसिले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया है। रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि यह हत्या भी राजस्थान के उदयपुर हत्याकांड की तर्ज पर ही की गई है। उल्लेखनीय है कि उदयपुर हत्याकांड की जांच भी एनआईए को ही सौंपी गई है।

अलविदा: अभिनेता दास का 30 साल की उम्र में निधन

अलविदा: अभिनेता दास का 30 साल की उम्र में निधन

कविता गर्ग/इकबाल अंसारी
मुंबई/चेन्नई। अभिनेता किशोर दास ने महज 30 साल की उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह दिया। इस खबर के सामने आते ही उनके फैंस और करीबी काफी स्तब्ध है। बीते कई समय से लगातार मनोरंजन जगत से दुखद खबरें सामने आ रही हैं। इसी क्रम में शनिवार को मनोरंजन जगत से ऐसे ही एक दुख भरी खबर सुनने को मिली। दरअसल, इंडस्ट्री के मशहूर कलाकार किशोर दास का निधन हो गया है। जाने-माने असमिया अभिनेता के निधन से हर कोई सदमे में है। अभिनेता ने महज 30 साल की उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह दिया। इस खबर के सामने आते ही उनके फैंस और करीबी काफी स्तब्ध है।
अभिनेता ने शनिवार दो जुलाई को चेन्नई के एक अस्पताल में आखिरी सांस ली। जानकारी के मुताबिक वह लंबे समय से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे। इस बीमारी को हराने के लिए वह काफी समय से इलाज भी करा रहे थे, लेकिन लंबी लड़ाई के बाद आखिरकार शनिवार को वह जिंदगी से जंग हार गए। अभिनेता के निधन की खबर से मनोरंजन जगत में शोक की लहर दौड़ गई है।
रिपोर्ट के मुताबिक नेता किशोर दास चेन्नई से पहले गुवाहाटी में अपना इलाज करा रहे थे। लेकिन हालत में कोई भी सुधार ना होने की वजह से उन्हें चेन्नई रेफर कर दिया गया था। बता दें कि एक्टर को इसी साल मार्च में एडवांस ट्रीटमेंट के लिए चेन्नई भेजा गया था। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक कैंसर के अलावा किशोर कोरोना वायरस के भी शिकार थे। ऐसे में यह भी कहा जा रहा है कि उनकी मौत की वजह कोरोना जैसी खतरनाक महामारी है।
कैंसर के दौरान कोरोना होने की वजह से उनकी सेहत लगातार बिगड़ती चली गई, जिसकी वजह से उनका निधन हो गया। गौरतलब है कि असमिया अभिनेता किशोर दास एक मशहूर कलाकार थे, जिन्होंने कभी 300 म्यूजिक एल्बम में काम किया था। उनका गाना तुरूत तुरूत असमी इंडस्ट्री का नंबर वन गाना साबित हुआ था। फिल्मों और गानों के अलावा वह टीवी जगत में भी जाने-माने कलाकार थे। साथ ही उन्होंने कई शॉर्ट फिल्मों में भी अहम किरदार निभाए थे।

लॉक स्क्रीन में सबसे बड़ा बदलाव किया: एप्पल

लॉक स्क्रीन में सबसे बड़ा बदलाव किया: एप्पल
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। एपल अपने यूजर के लिए एक नया बदलाव लेकर आया है, ये बदलाव ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़ा है। दरअसल एपल ने WWDC 2022 इवेंट में अपने ऑपरेटिंग सिस्टम का नया अपडेट iOS 16 पेश किया है। बता दें नए अपडेट में एपल ने सबसे बड़ा बदलाव लॉक स्क्रीन में किया है। लॉक स्क्रीन पर यूजर्स को मल्टी लेयर्ड कस्टमाइजेशन ऑप्शन मिलेगा। खबर है कि iOS 16 को आईफोन 14 के साथ सितंबर में रिलीज किया जाएगा। iOS 16 आईफोन 7 के बाद वाले वर्जन में अपडेट होगा। नए अपडेट में क्या कुछ नया होगा ये जानने से पहले हम एक्सपर्ट से समझते हैं iOS 16 कितना अलग है।
दरअसल WWDC 2022 इवेंट में पेश किए iOS 16 के फीचर को लेकर टेक गुरु अभिषेक तैलंग ने बताया कि यह एपल iOS 16 मच अवैटेड रिवैम्प है। iOS 16 के आने से अब कस्टमाइजेशन को लेकर होने वाली शिकायतें कुछ हद तक दूर हो जाएंगी। आईफोन पर यूजर्स लॉक स्क्रीन में ढ़ेरों बदलाव कर सकते हैं, जिससे फोन पहले से अलग दिखेगा। वहीं उन्होंने बताया फोकस फीचर को लेकर सवाल उठ रहे थे कि यह वर्क लाइफ बैलेंस पूरी तरह से बिगाड़ देते हैं।
इस बार एपल ने फोकस विजिट ऐप में सुधार किया है। कार प्ले में भी कुछ बदलाव किए हैं। इसे इलेक्ट्रिक कारों में यूज होने वाले गैजेट के हिसाब से बनाए गए हैं। इससे इलेक्ट्रिक कारों के फीचर्स को ज्यादा स्मार्ट तरीके से मैनेज कर पाएंगे। एंड्रॉयड के कस्टमाइजेशन फीचर पर प्राइवेसी से खिलवाड़ करने के आरोप लगते रहे हैं, लेकिन एपल ने कस्टमाइजेशन फीचर के साथ प्राइवेसी का भी ख्याल रखा है। एंड्रॉयड फोन में बहुत पहले से फॉन्ट और वॉलपेपर कस्टमाइजेशन के फीचर आने लगे थे, लेकिन जो आईफोन यूज करते थे उनके लिए इस तरह की सहूलियत अभी तक नहीं थी। iOS 16 में क्या नया अपडेट मिलेगा चलिए अब उसके बारे में जानते हैं।
सेंट टेक्स्ट मैसेज को एडिट कर पाएंगे।
अब एपल ने अपने मैसेजिंग ऐप में तीन मेजर फीचर्स को ऐड किया है। जिससे यूजर्स आईमैसेज को एडिट या रीकॉल कर सकेंगे। इसके अलावा वो टेक्स्ट को स्नूज भी कर सकते हैं, ताकि उसे बाद में हैंडल किया जा सके।
बाय नाउ एंड पे लेटर फीचर भी मिलेगा
अब एपल पे में बाय नाउ पे लेटर का फीचर भी मिलेगा। इसमें शॉपिंग किए गए अमाउंट को 4 इंस्टॉलमेंट में बांट दिया जाएगा जिसे 6 हफ्ते के भीतर बिना किसी इंटरेस्ट रेट के पे कर सकते हैं।
अब वीडियो में भी काम करेगा लाइव टेक्स्ट
नए अपडेट में लाइव टेक्स्ट को भी अपडेट किया गया है। अब ये वीडियो में भी काम करेगा। इससे वीडियो को पॉज करके उससे टेक्स्ट को कॉपी भी कर पाएंगे। इसके अलावा फोटो से किसी आइटम को लिफ्ट आउट किया जा सकता है। कंपनी इसमें होटल रूम के डिजिटल डोर की शेयर करने का भी ऑप्शन दे रही है।
बता दें ऐपल मैप एपल मैप सपोर्ट को फ्रांस, न्यूजीलैंड समेत 11 देशों में बढ़ाया गया है। नए अपडेट में 15 स्टॉप को एक बार में ऐड किया जा सकेगा।

राजीव भवन में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक

राजीव भवन में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक
दुष्यंत टीकम 
रायपुर। प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी की बैठक ली गई। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मौजूदगी में राजीव भवन में यह बैठक हुई। चर्चा है कि इस बैठक के दौरान संगठन के कामों से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कुछ खास खुश नजर नहीं आए। उन्होंने समीक्षा के दौरान कुछ खामियां दूर करने के निर्देश भी दिए गए।दरअसल पिछली बैठकों में तय एजेंडा लागू न किए जाने की वजह से भूपेश बघेल के नाराज होने की चर्चा है। इस बैठक में राजस्थान में हुए कांग्रेस के चिंतन शिविर में तय की गई बातों के लागू किए जाने पर भी फोकस रहा। कांग्रेस के दिग्गजों ने आने वाले 2023 चुनावों के मद्देनजर भी पार्टी की सक्रियता को और बढ़ाने पर जोर दिया।9 अगस्त को पूरे छत्तीसगढ़ में विधानसभा स्तरीय 75 किमी की पदयात्रा निकाली जाएगी। इस दौरान केंद्र सरकार की नाकामियां गिनवाई जाएंगी और प्रदेश सरकार की उपलब्धि का प्रचार होगा।
आजादी के अमृत महोत्सव के समापन अवसर राजधानी रायपुर में 15 अगस्त को प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम के आयोजन पर सहमति बनी।2 अक्टूबर से प्रस्तावित भारत जोड़ो यात्रा छत्तीसगढ़ से गुजरे इसका आग्रह AICC से किया जाएगा।जिला, ब्लाक एवं अग्रिम संगठनों के मासिक बैठक की समीक्षा।संगठन के रिक्त पदों पर नियुक्ति।प्रदेश के समस्त जिला में निर्माणाधीन राजीव भवन की प्रगति पर चर्चा ।बूथ कमेटियों के गठन पर चर्चा की गयी।इस बैठक में बैठक में प्रदेश कांग्रेस कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्षगण -गुरु सिंह होरा, प्रतिमा चंद्राकर, अरुण सिंघानिया, अंबिका मरकाम, चुन्नीलाल साहू, पी.आर. खुंटे जैसे नेता शामिल हुए।

भाजपा अपनी पीठ खुद थपथपा रही है: यशपाल

भाजपा अपनी पीठ खुद थपथपा रही है: यशपाल
पंकज मिश्रा 

काशीपुर। नेता प्रतिपक्ष ने कहा देश को तोड़ने की साजिश की जा रही है। कांग्रेस कमजोर नहीं है। जब-जब कांग्रेस आई है देश मजबूत हुआ है, हमें एकजुट होने की आवश्यकता है। उन्होंने भाजपा के सौ दिन के कार्यकाल को निराशाजनक और दृष्टिहीन बताया। कहा भाजपा सरकार अपनी पीठ खुद थपथपा रही है। नवचेतना भवन में स्वागत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यकर्ताओं ने नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य गर्मजोशी से स्वागत किया। आर्य ने कहा देश में लोकतंत्र नाम की चीज नहीं है। जिस तरह प्रदेशों में चुनी हुई सरकारों को गिराया जा रहा है, वह लोकतंत्र के लिये अच्छा संकेत नहीं है। कहा काशीपुर का स्वर्णिम काल रहा है। कहा नौ अगस्त से 15 अगस्त में पूरे देश में पदयात्रा के माध्यम से जनता से संवाद करेंगे। जिसमें कांग्रेस की विचाराधारा संकल्प, नीतियों को जनता के बीच में ले जाया जाएगा। कहा 100 दिन में भाजपा सरकार असफल रही है। इन सौ दिनों में कोई भी कार्ययोजना, एजेंडा और विकास योजना को लागू नहीं किया जा सका है। यहां पूर्व सांसद केसी सिंह बाबा, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री हरेंद्र सिंह लाडी, मनोज जोशी, संदीप सहगल, मुक्ता सिंह, हरीश कुमार सिंह, उमेशजोशी, प्रभात साहनी, विमल गुड़िया रहे।
इससे पहले जसपुर में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा भाजपा देश को बांटने का काम कर रही है। कांग्रेस वर्तमान हालात को देखते हुए 15 अगस्त तक प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में भारत जोड़ो कार्यक्रम चलायेगी। शुक्रवार को देहरादून से काशीपुर जाते हुए विधायक आदेश चौहान के निवास पर पहुंचे नेता प्रतिपक्ष आर्य का विधायक और कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। उन्होंने चयन आयोग पर सवाल उठाते हुए कहा ब्लैक लिस्ट एजेंसी परीक्षाएं करा रही हैं। कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक जनहित के मुद्दों के लिये लड़ाई लड़ती रहेगी। विधानसभा में कांग्रेस के 19 विधायक ही सरकार के लिये भारी हैं। कहा कॉमन सिविल कोड, भू कानून बनाने की घोषणा करना कोई उपलब्धि नहीं है। उन्होंने विधायक चौहान की कार्यशैली की प्रशंसा की।

तालिबानी अंदाज में हत्या, अलवर के बाजार बंद

तालिबानी अंदाज में हत्या, अलवर के बाजार बंद 
नरेश राघानी 
अलवर। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की तालिबानी अंदाज में की गई हत्या के विरोध में सर्व समाज और व्यापारियों की ओर से शनिवार को अलवर बंद किया गया। अलवर बंद को सफल बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं ने शहर में शांतिपूर्ण बाजार बंद आह्वान किया। बंद को देखते हुए पुलिस और जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी की है। पुलिस और जिला प्रशासन ने इससे पहले अलवर शहर में फ्लैग मार्च निकालकर शांति और सद्भाव बनाए रखने का संदेश दिया।
भाजपा के जिला अध्यक्ष संजय नरूका ने बताया कि जिस तरह उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की बर्बरता पूर्वक हत्या की गई है उसे पूरा राजस्थान ही नहीं पूरा देश उद्धेलित है। उन्होंने आरोप लगाया कि गंगा जमुना संस्कृति की दुहाई देने वाले वह लोग कौन हैं और बाहर निकालने का काम भाजपा कर रही है। उन लोगों को चिन्हित करने का प्रयास किया जा रहा है जो ऐसे अपराधों को बढ़ावा देते हैं। उन्होंने सरकार से मांग की कि जिस तरह कन्हैया पर वार किया गया है उसी तरह अपराधियों को चौराहे पर हलाली कर ऐसी मानसिकता पर प्रहार करना होगा।
पूर्व मंत्री हेमसिंह भड़ाना ने बताया कि सर्व समाज एवं व्यापारियों ने विरोध स्वरूप अलवर बंद किया है और अलवर बंद की पूरी तरह शांतिपूर्ण तरीके से मॉनिटरिंग की जा रही है और यह बंद इस घटना के विरोध स्वरूप किया गया है। इधर पुलिस प्रशासन अलवर बंद के दौरान अभय कमांड सेंटर के 350 सीसी टीवी कैमरों के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष निगरानी रखी जा रही है बंद को देखते हुए अलवर शहर में 500 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और सभी थाना क्षेत्रों की गश्त व्यवस्था को भी मजबूत किया गया है।
इस बंद को देखते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है कि बंद के दौरान बिजली सप्लाई को बंद नहीं किया जाए जिससे अभय कमांड सेंटर के सीसीटीवी कैमरों से ऑनलाइन सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जा सके।

राहुल के नकली वीडियो प्रसारित, कार्रवाई निश्चित

राहुल के नकली वीडियो प्रसारित, कार्रवाई निश्चित
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नकली वीडियो प्रसारित करने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं और टेलीविजन चैनलों के एंकरों के खिलाफ कार्रवाई होगी और उन्हें देश की विभिन्न अदालतों के चक्कर लगाने पड़ेंगे। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता पवन खेड़ा ने शनिवार को कहा कि जिन भाजपा नेताओं ने और टेलीविजन चैनलों के एंकरों ने यह काम किया है उन्हें अदालतों का चक्कर काटने और देश के विभिन्न शहरों का भ्रमण करने को तैयार रहना चाहिए।
खेड़ा ने ट्वीट किया, “वह तमाम भाजपा नेता जिन्होंने राहुल गांधी का फ़ेक वीडियो प्रसारित किया, वे देश के विभिन्न अदालतों के चक्कर लगाने को तैयार रहें। उन्हें कई शहरों की अदालतों के चक्कर लगाने होंगे और जिस ऐंकर और चैनल ने यह झूठ फैलाया है, वह भी एक कठोर क़ानूनी कार्यवाही के लिए तैयार हो जाए।


पुडुचेरी में समर्थन मांगने पहुंची, राष्ट्रपति प्रत्याशी

पुडुचेरी में समर्थन मांगने पहुंची, राष्ट्रपति प्रत्याशी

इकबाल अंसारी
पुड्डुचेरी। केंद्र में सत्तारुढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू शनिवार को केंद्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी में आगामी राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन मांगने पहुंचीं। राज्य में सत्तारूढ़ एनआर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री एन रंगासामी और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वी समीनाथन ने मुर्मू के शहर में उतरते ही उनका स्वागत किया।
इसके बाद वह एक होटल पहुंचीं और एक बैठक को संबोधित किया। बैठक में एन आर कांग्रेस और भाजपा के मंत्रियों एवं विधायकों के अलावा अन्नाद्रमुक के नेता भी शामिल हुए। श्रीमती मुर्मू के साथ केंद्रीय मंत्री एल मुरुगन और वी मुरलीधरन भी थे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-267, (वर्ष-05)
2. रविवार, जुलाई 3, 2022
3. शक-1944, आषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 30 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...