गुरुवार, 21 दिसंबर 2023

27 दिसंबर को प्रयागराज आएंगे 'सीएम' योगी

27 दिसंबर को प्रयागराज आएंगे 'सीएम' योगी 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 27 दिसंबर को प्रयागराज आ सकते हैं। हालांकि, उनके कार्यक्रम का प्रोटोकॉल अभी जारी नहीं है लेकिन उनका कार्यक्रम संभावित है। वह यहां माघ मेला क्षेत्र का निरीक्षण कर तैयारियों को परख सकते हैं। कुछ योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी कर सकते हैं। साथ ही महाकुंभ की तैयारियों को लेकर समीक्षा भी कर सकते हैं। परेड मैदान पर सीएम की सभा भी हो सकती है।
वह काशी तमिल संगमम के यात्रियों से भी मिल सकते हैं। मेला क्षेत्र के काली मार्ग पर गेट का निर्माण शुरू कर दिया गया है। बुधवार को पुलिस लाइन में अफसरों की एक बैठक भी हुई, जिसमें तैयारियों पर चर्चा की गई। बैठक में पुलिस आयुक्त विजय विश्वास पंत, मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत, मेलाधिकारी विजय किरन आनंद आदि मौजूद रहे। कमिश्नर के अनुसार कार्यक्रम अभी निर्धारित नहीं है। सीएम के आने की संभावनाओं को लेकर बैठक की गई थी।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 358 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 358 नए मामलें

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। देश में एक बार फिर कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। केरल में बीते 24 घंटे में कोरोना के 300 नए मामलें सामने आए हैं। साथ ही तीन कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। गुरुवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह आंकड़े जारी किए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, बीते 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 358 नए मामले सामने आए हैं, इनमें से 300 अकेले केरल में मिले हैं। इसके साथ ही राज्य में  कोरोना के कुल सक्रिय मामले बढ़कर 2,341 हो गए हैं। वहीं देश में कुल सक्रिय मामले बढ़कर 2669 हो गए हैं। 
केरल में कोरोना से मरने वालों का कुल आंकड़ा 72 हजार पार
केरल में कोरोना से तीन मरीजों की मौत हुई है, जिसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों का कुल आंकड़ा 72,059 हो गया है। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि केरल में कोरोना के मामले बढ़ने के बावजूद चिंता की कोई बात नहीं है और हमारा हेल्थ सिस्टम वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए तैयार है। बीते 24 घंटे में केरल में 211 कोरोना मरीज ठीक भी हुए हैं। इसके साथ ही देश में कोरोना संक्रमण को मात देकर स्वस्थ होने वाले लोगों की कुल संख्या 68,37,414 हो गई है। बीते 24 घंटे में कर्नाटक में दो और पंजाब में एक मरीज की कोरोना से मौत हुई है।

'घबराने की जरूरत नहीं'
देश में कोरोना के मामले बढ़ने के बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों को सलाह दी है कि वह घबराएं नहीं और राज्य सरकार पूरी तरह से हालात से निपटने के लिए तैयार है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री तानाजी सावंत ने बताया कि राज्य में भी कोरोना के नए सबवैरिएंट जेएन.1 से संक्रमित एक व्यक्ति मिला है। सावंत ने कहा कि राज्य का हेल्थ सिस्टम कोरोना के नए सबवैरिएंट से निपटने के लिए तैयार है और लोगों को घबराने के जरूरत नहीं है। 
सावंत ने अपील की है कि अगर लोगों में बीमारी के कोई लक्षण दिखें तो उन्हें डॉक्टर से सलाह लेकर जरूरी कदम उठाने चाहिए। साथ ही उन्होंने लोगों से कोरोना नियमों का पालन करने की भी अपील की। राज्य में लगातार जेनेटिक सीक्वेंसिंग की जा रही है। साथ ही लोगों से मास्क पहनने को कहा गया है। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 10 नए मरीज मिले हैं और राज्य में सक्रिय मामले बढ़कर 45 हो गए हैं। तमिलनाडु में बीते 24 घंटे में कोरोना के 12 नए मामले मिले हैं और कुल सक्रिय मामले 89 तक पहुंच गए हैं। कर्नाटक में 13 नए मामले मिले हैं और राज्य में कोरोना के सक्रिय मरीजों का कुल आंकड़ा 92 है।

लापरवाही से गाड़ी चलाई, महिला की मौत, सजा

लापरवाही से गाड़ी चलाई, महिला की मौत, सजा

अखिलेश पांडेय 
नई दिल्ली/सिंगापुर। सिंगापुर में एक भारतीय नागरिक को लापरवाही से गाड़ी चलाने के कारण 79 वर्षीय महिला की मौत के लिए 10 महीने जेल की सजा सुनाई गई है। द स्ट्रेट्स टाइम्स अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, लॉरी चालक 40 वर्षीय शिवलिंगम सुरेश को लापरवाही से गाड़ी चलाने का दोषी ठहराया गया। फरवरी में हुए इस हादसे में बर्नाडेट माह सुई हर की मौत हो गई थी। बर्नाडेट मरीन परेड में जब ज़ेबरा क्रॉसिंग पर चल रही थी, उसी समय एक वाहन ने उसे टक्कर मार दी। सिर में चोट लगने के कारण उसी दिन उसकी मौत हो गई।
सुरेश, जिसका गलत तरीके से गाड़ी चलाने का इतिहास है, को उसकी रिहाई के बाद आठ साल तक सभी श्रेणियों के ड्राइविंग लाइसेंस रखने या प्राप्त करने से अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा। उप लोक अभियोजक बेनेडिक्ट तेओंग ने अदालत को बताया कि सुरेश 28 फरवरी को सुबह लगभग 11.30 बजे मरीन टेरेस से मरीन क्रीसेंट की ओर अपनी लॉरी चला रहा था। उन्होंने कहा कि दुर्घटना के समय यातायात का प्रवाह हल्का था और सड़क की सतह नम थी और मौसम खराब था। अभियोजक ने अदालत को सूचित किया कि इसके बावजूद जब सुरेश नेगे एन प्राइमरी स्कूल के पास एक ज़ेबरा क्रॉसिंग के पास पहुंचा, तो उसने बर्नाडेट पर ध्यान नहीं दिया और उसे टक्‍कर मार दी। तेओंग ने कहा कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि लॉरी की संभावित यांत्रिक विफलता दुर्घटना का कारण बन सकती है या इसमें योगदान दे सकती है। बर्नाडेट को चांगी जनरल अस्पताल ले जाया गया, जहां एक स्कैन से पता चला कि उसे खोपड़ी में फ्रैक्चर और मस्तिष्क की सतह पर रक्तस्राव सहित कई चोटें लगी थीं। शाम करीब सात बजे उसे मृत घोषित कर दिया गया। सुरेश के ड्राइविंग अपराधों के इतिहास का हवाला देते हुए, जिसमें अविवेकपूर्ण ड्राइविंग और लाल बत्ती का अनुपालन करने में विफलता शामिल थी, टेओंग ने अदालत से उसे 10 से 11 महीने की जेल की सजा देने और आठ साल का ड्राइविंग प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया।
अपनी शमन याचिका के दौरान सुरेश, जिसके पास कोई वकील नहीं था, ने बुजुर्ग महिला की मौत पर अफसोस जताया और कहा कि वह भारत में अपने परिवार में एकमात्र कमाने वाला है। उसने कहा, “सिंगापुर में गाड़ी चलाकर अपने परिवार का भरण-पोषण करता हूं। परिवार मुझ पर निर्भर है और मैं इस नौकरी पर निर्भर हूं माननीय।” सुरेश का दो साल का एक बेटा है और उसकी पत्‍नी का एक हाथ दुर्घटना में कट चुका है। लापरवाही से वाहन चलाकर मौत का कारण बनने के लिए सुरेश को तीन साल जेल की सजा हो सकती है और उस पर 10,000 सिंगापुर डॉलर तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

नक्सलियों ने दो यात्री बसों को आग के हवाले किया

नक्सलियों ने दो यात्री बसों को आग के हवाले किया 

दुष्यंत टीकम 
बीजापुर। बीजापुर जिले में नक्सलियों ने दो यात्री बसों को आग के हवाले कर दिया है। बस आवापल्ली से रायपुर के लिए निकली थी। इसी दौरान रास्ते में दुग्गईगुड़ा के नजदीक जंगल में नक्सलियों ने बस को रुकवाया, सभी यात्रियों को नीचे उतारा और डीजल टैंक फोड़कर आग लगा दी। वारदात की जानकारी मिलते ही जवानों को मौके के लिए निकाला गया है। घटना आवापल्ली थाना क्षेत्र की है।
जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों ने तिमापुर के नजदीक एक और बस में आग लगा दी है। बताया जा रहा है कि ग्रामीण वेशभूषा में पहुंचे नक्सलियों ने वारदात को अंजाम दिया है। इसके बाद सभी नक्सली जंगल की तरफ लौट गए हैं। इसकी जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली तो जवानों को मौके के लिए रवाना किया गया है। सभी यात्रियों को किसी दूसरी व्यवस्था से जिला मुख्यालय या फिर आवापल्ली ले जाने की तैयारी की जा रही है। पुलिस फोर्स इलाके में सर्च ऑपरेशन भी चला रही है।

22 से बारिश व बर्फबारी का पूर्वानुमान जारी

22 से बारिश व बर्फबारी का पूर्वानुमान जारी

पंकज कपूर 
देहरादून। मौसम विभाग ने उत्तराखंड में 22 दिसंबर से बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक डॉ विक्रम सिंह के मुताबिक 22 और 23 दिसंबर को पश्चिमी विक्षोभ का असर मौसम पर दिखाई देगा, जिसकी वजह से उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, बागेश्वर में हल्की बारिश होने की संभावना है, तो वहीं 23 दिसंबर को हरिद्वार,बागेश्वर, पिथौरागढ़, पौड़ी, देहरादून, टिहरी, रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी में बारिश की संभावना है। इसके साथ-साथ उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी का भी अनुमान है। जिसकी वजह से तापमान में भी भारी गिरावट हो सकती है।
मौसम विभाग के अनुसार, कुछ पर्वतीय जनपदों में 3000 मीटर से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है, जबकि निचले क्षेत्रों में बूंदाबांदी होने से तापमान में कमी आएगी। पारा गिरने के साथ ही मैदानी इलाकों में कोहरे की दस्तक से ठंड में इजाफा होगा। तराई भाबर क्षेत्र में अगले कुछ दिनों में तापमान 2 से 3 डिग्री सेल्सियस तक और गिर सकता है। रात का पारा गिरने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

प्रकरणों के निराकरण के लिए शिविर का आयोजन

प्रकरणों के निराकरण के लिए शिविर का आयोजन 

बाल अधिकारों के उल्लघन से सम्बन्धित प्रकरणों के निराकरण के लिए शिविर का किया गया आयोजन

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की खण्डपीठ द्वारा की गई जनसुनवाई

कौशाम्बी। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की खण्डपीठ के द्वारा उदयन सभागार में बाल अधिकारों के उल्लघन से सम्बन्धित प्रकरणों के निराकरण के लिए शिविर का आयोजन किया गया। सदस्य, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग प्रीती भारद्वाज तथा सदस्य, राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग, उ0प्र0 श्रीमती निर्मला सिंह पटेल एवं ई0 अशोक कुमार यादव द्वारा जनसुनवाई की गई।
जनसुनवाई में लगभग-200 शिकायतकर्ताओं द्वारा शिकायत की गई, जिसमें-नया ऑगनबाड़ी केन्द्र बनाये जाने, ऑगनबाड़ी केन्द्र के शौचालय में दरवाजा लगाये जाने एवं पेयजल की व्यवस्था किये जाने, दिव्यांगता प्रमाण-पत्र एवं पेंशन आदि शिकायत सम्बन्धित है राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की खण्डपीठ द्वारा सम्बन्घित अधिकारियों को जनसुनवाई में प्राप्त सभी शिकायतों को एक सप्ताह के अन्दर निस्तारित कराने के निर्देश गये। सदस्य, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग प्रीती भारद्वाज ने जनसुनवाई के दौरान ऑगनबाड़ी से सम्बन्धित अधिकतर शिकायत पाये जाने पर नाराजगी प्रकट करते हुए निदेशक, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, उ0प्र0 से दूरभाष पर वार्ता कर शिकायतों के निस्तारण कराने के निर्देश दियें है।
गणेश साहू

मूली के पत्तों की सब्जी बनाकर खाएं, स्वादिष्ट

मूली के पत्तों की सब्जी बनाकर खाएं, स्वादिष्ट 

सरस्वती उपाध्याय 
“सर्दियों के मौसम में मूली की जबरदस्त आवक होती है। इसे सलाद के रूप में तो खाया ही जाता है, साथ ही इसकी सब्जी भी लाजवाब होती है। मूली पाचन के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है। साथ ही यह शरीर में पानी की कमी को भी पूरा करती है। इसले अलावा मूली के पत्तों के भी कई फायदे होते हैं।

आम तौर पर लोग मूली को तो खाते हैं। लेकिन इसके पत्तों को फेंक देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आप इनके पत्तों की सब्जी बनाकर भी खा सकते हैं, क्योंकि ये बहुत ही स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक होती है। यह बनाना काफी आसान है और ज्यादा वक्त भी नहीं लगता, तो चलिए जान लेते हैं, मूली के पत्तों की सब्जी बनाने की आसान विधि।

सामग्री

मूली पत्ते – 1/2 किलो
मूली – 2
प्याज – 2
लहसुन – 8-10 कलियां
लाल मिर्च पाउडर – 1/2 टी स्पून
धनिया पाउडर – 1 टी स्पून
हल्दी – 1/2 टी स्पून
मेथी दाना – 2 टी स्पून (वैकल्पिक)
राई – 1/2 टी स्पून
सौंफ – 1/2 टी स्पून
खड़ी लाल मिर्च – 5-6
तेल – जरूरत के मुताबिक
नमक – स्वादानुसार

विधि
सबसे पहले मूली के पत्ते लें और उन्हें अच्छे से धो लें। इसके बाद इन्हें बारीक काट लें। अब मूली लें और इन्हें भी छोटे-छोटे टुकड़ों में काटें.प्याज और लहसुन की कली के भी बारीक-बारीक टुकड़े कर लें। अब एक कड़ाही में 2 टेबल स्पून तेल डालकर गरम करें। तेल गरम होने के बाद इसमें जीरा, मेथीदाना, राई और सौंफ डालकर कुछ सैकंड भूनें और तड़का लगाएं। कुछ सैकंड तक भूनने के बाद इसमें अदरक-लहसुन का पेस्ट डालकर पकाएं। कुछ देर बाद बारीक कटा प्याज और लहसुन डालकर सेकें। इन्हें तब तक भूनना है, जब तक कि प्याज का रंग हल्का गुलाबी न हो जाए।

इसके बाद मसाले में कटी मूली डालें और फ्राई करें. इसके बाद लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर डालकर मिलाएं। अब मूली के पत्ते और स्वादानुसार नमक डालकर मिलाएं.अब कड़ाही ढक दें और सब्जी को 4-5 मिनट तक धीमी आंच पर पकने दें। जब मूली के पत्ते और मूली ठीक से नरम हो जाए तो गैस बंद कर दें।तैयार है मूली पत्तों की सब्जी। इसे लंच या डिनर किसी भी वक्त बना सकते हैं।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-62, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. शुक्रवार, दिसंबर 22, 2023

3. शक-1945, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम- 25+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...