ओडिशा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ओडिशा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 31 मार्च 2024

एक सांसद, दो विधायकों का एक साथ इस्तीफा

एक सांसद, दो विधायकों का एक साथ इस्तीफा

अखिलेश पांडेय 
भुवनेश्वर। ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) को एक बड़ा झटका देते हुए एक सांसद सहित पार्टी के तीन नेताओं ने शनिवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। केंद्रपाड़ा लोकसभा सीट से पार्टी सांसद अनुभव मोहंती ने आज अपना इस्तीफा पार्टी अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को भेजकर उनसे तुरंत इसे स्वीकार करने का अनुरोध किया है। मोहंती लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी छोड़ने वाले बीजद के दूसरे सांसद हैं। इससे पहले बीजद के पुराने नेता कटक लोकसभा सीट से छह बार के सांसद भर्तृहरि महताब ने पार्टी मामलों की कार्यप्रणाली की आलोचना करते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। महताब पहले ही भाजपा में शामिल हो चुके हैं और उन्हें कटक लोकसभा सीट से भाजपा द्वारा मैदान में उतारे जाने की संभावना है। क्योंकि बीजद में नये राजनीतिक खिलाड़ी और हाल ही में बीजद में शामिल हुये संतरूप मिश्रा को कटक लोकसभा सीट के लिए पार्टी के उम्मीदवार के रूप में नामित किया है। मोहंती के अलावा बीजद के दो पूर्व विधायक प्रियदर्शी मिश्रा और अभिनेता से नेता बने आकाश दास नायक ने भी शनिवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। 
2014 के विधानसभा चुनावों में भुवनेश्वर उत्तर विधानसभा सीट से राज्य विधानसभा के लिए चुने गए थे लेकिन 2019 में उन्हें पार्टी ने विधानसभा चुनावों में टिकट से वंचित कर दिया था। वह आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी के टिकट के भी दावेदार थे। बीजद से इस्तीफा देने के तुरंत बाद प्रियदर्शी मिश्रा पार्टी अध्यक्ष मनमोहन सामल और भाजपा सांसद अपराजिता सारंगी और पार्टी के ओडिशा प्रभारी विजयपाल सिंह तोमर की उपस्थिति में यहां पार्टी कार्यालय में भाजपा में शामिल हो गए। इसी तरह बीजद के पूर्व विधायक आकाशदास नायक जो 2014 के विधानसभा चुनावों में कोरेई निर्वाचन क्षेत्र से राज्य विधानसभा के लिए चुने गए थे, लेकिन 2019 के विधानसभा चुनावों में पार्टी के टिकट से इनकार कर दिया गया था। उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र में लोगों के हितों को ध्यान में रखने की बात कहते हुये पार्टी छोड़ दी।  राजनीतिक पंडितों का अनुमान है कि आने वाले दिनों में बीजद के कई मौजूदा विधायकों और पूर्व विधायकों के भी पार्टी छोड़ने की आशंका है। क्योंकि पार्टी ने अभी तक छह लोकसभा सीटों और 75 विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों की घोषणा नहीं की है। राज्य में लोकसभा और विधानसभा चुनावों से पहले ही बीजद के दो मौजूदा सांसदों, कई पूर्व सांसदों और लगभग एक दर्जन मौजूदा और पूर्व विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बीजद के जिन नेताओं ने पार्टी छोड़ी है उनमें से ज्यादातर का यही आरोप है कि पार्टी में उनकी अनदेखी की जा रही है। दिग्गज कांग्रेस नेता एवं पूर्व विधायक चिरंजीब बिस्वाल ने 2024 चुनाव से पहले शनिवार को कांग्रेस छोड़ दी। ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष को लिखे पत्र में बिस्वाल ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी भविष्य की रणनीति तय नहीं की है।

बुधवार, 22 नवंबर 2023

उठक-बैठक लगाने से बहाल हुए छात्र की मौत

उठक-बैठक लगाने से बहाल हुए छात्र की मौत 

इकबाल अंसारी 
भुवनेश्वर। दोस्तों के साथ स्कूल की छत पर जाने की सजा के तौर पर टीचर द्वारा उठक-बैठक लगवाने से बहाल हुए छात्र की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है। पुलिस का कहना है कि चौथी के छात्र की मौत के कारणों का पता लगाया जा रहा है। बुधवार को उड़ीसा के जाजपुर जिले के ओरली गांव के रहने वाले चौथी कक्षा के छात्र की इलाज के दौरान मौत हो गई है।  छात्र के पिता नित्यानंद सेठी 
ने आरोप लगाया है कि 21 नवंबर की दोपहर को उनका बेटा सूर्य नारायण अपने तीन दोस्तों के साथ नोडल स्कूल की छत पर चढ़ गया था। टीचर को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने बच्चों को दी गई सजा के रूप में उनसे 20 बार उठक बैठक लगवाई। आरोप है कि इस दौरान चौथी कक्षा का छात्र दो बार लड़खड़ाकर नीचे गिर गया था। हालत बिगड़ने पर बालक को पहले मधुबन अस्पताल में ले जाया गया था, जहां से उसे कटक के मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया था। लेकिन बुधवार की सवेरे चिकित्सकों द्वारा बालक को मृत घोषित कर दिया गया है। 
हालांकि बालक की मौत के सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन मृतक बालक के परिवार के लोगों का आरोप है कि उनके बच्चे की मौत टीचर द्वारा लगवाई गई उठक-बैठक की वजह से हुई है।

बुधवार, 11 अक्तूबर 2023

पति की हत्या कर शव के साथ 3 दिन बिताए

पति की हत्या कर शव के साथ 3 दिन बिताए

इकबाल अंसारी 
क्योंझर। ओडिशा के क्योंझर जिले में एक महिला ने पारिवारिक विवाद को लेकर कथित तौर पर अपने पति की हत्या कर दी और अपने घर में शव के साथ तीन दिन बिताए। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक यह कथित हत्या रविवार रात क्योंझर शहर थाने के अंतर्गत कोडिपासा गांव में हुई लेकिन यह मामला बुधवार को तब सामने आया जब स्थानीय लोगों से सूचना मिलने के बाद पुलिस उनके गांव पहुंची।
 क्योंझर शहर थाने के प्रभारी निरीक्षक सुनील कर के मुताबिक इस घटना के सिलसिले में सुनीता जुआंगा को गिरफ्तार किया गया है और उसके पति के शव को बरामद कर लिया गया है। 
सुनील कर ने बताया कि आदिवासी महिला सुनीत पिछले तीन दिन से अपने चार बच्चों के साथ घर में पति की लाश के साथ रह रही थी। उन्होंने बताया कि सुनीता ने कबूल किया है कि उसने लोहे की किसी चीज से पीट-पीटकर अपने पति तुरा की हत्या कर दी। पुलिस अधिकारी के मुताबिक तुरा को शराब पीने की आदत थी और वह अक्सर अपनी पत्नी से मारपीट करता था और गाली-गलौज करता था। पुलिस ने इस सिलसिले में हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सोमवार, 31 जुलाई 2023

टूरिस्ट के लिए किसी स्वर्ग से कम नहीं उड़ीसा

टूरिस्ट के लिए किसी स्वर्ग से कम नहीं उड़ीसा

सरस्वती उपाध्याय   
भुवनेश्वर। टूरिस्ट के लिए ओडिशा किसी स्वर्ग से कम नहीं है। भव्य मंदिरों, संग्रहालयों और मठ, समुद्र तट, जंगल और हरी−भरी पहाडि़यों के अलावा यहां पर कुछ बेहतरीन झीलें है। ओडिशा की झीलें प्राकृतिक और मानव र्निमित दोनों हैं और स्थानीय और पर्यटकों दोनों के लिए दर्शनीय स्थल हैं। आपको हम बतातेे है ओडिशा की कुछ खूबसूरत झीलों के बारे में।
चिल्का झील- घूमने के लिए चिल्का झील सबसे बड़ी और ओडिशा की सबसे लोकप्रिय झीलों में से एक है। भारत में सबसे बड़ी खारे पानी की झील है और दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी है। हर तरफ हरे भरे जंगलों से घिरा, चिल्का झील पर्यटकों को बर्ड वॉंचिंग, पिकनिक, बोटिंग और मछली पकड़ने के लिए बेहतरीन है। चिल्का झील झील की यात्रा के लिए नवंबर से मार्च सही समय है क्योंकि साइबेरिया से बहुत से प्रवासी पक्षी यहां आते हैं।
अंसुपा झील
महानदी नदी के किनारे पर स्थित है और सारनदा हिल्स और बिष्णुपुर हिल्स से घिरा हुआ है, अंसुपा झील में अपार प्राकृतिक सुंदरता और विदेशी वनस्पति और जीव हैं। यह तैरते, जलमग्न और उभरते हुए जलीय पौधों और कई जलीय जीवों का घर है। यह झील न केवल वनस्पति विज्ञानियों और प्राणीविदों को आकर्षित करती है, बल्कि इसकी समृद्ध जैव विविधता भी बेहद लोकप्रिय है। आप यहां पर एक बस झील के किनारे बैठकर, शांत वातावरण का आनंद ले सकता है।
पाटा झील
छतरपुर शहर के पास स्थित, पाटा झील ओडिशा में मीठे पानी की झीलों में से एक है, जो साल भर पर्यटकों (Tourism) द्वारा घूमती है। खूबसूरत परिवेश से लेकर अपनी स्फूर्तिदायक ताजगी के लिए, पाटा झील काफी सुंदर जगह है और स्थानीय लोगों और पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल है।
भुवनेश्वर का कांजिया झील।
कंजिया झील- यदि आप भुवनेश्वर में हैं, तो कांजिया झील को अपनी सूची में जरूर रखें। शहर के बाहरी इलाके में स्थित, यह झील 66 हेक्टेयर क्षेत्र में फैली हुई है और इसे प्रमुख जल स्रोत माना जाता है। वनस्पतियों और जीवों की समृद्ध जैव विविधता इसे ओडिशा की एक महत्वपूर्ण झील बनाती है। नंदन कानन जूलॉजिकल पार्क से जाने या वापस आते समय लोग आम तौर पर इस झील का दौरा करते हैं।
अपर जोंक- यह जोंक नदी के पास पटोरा गांव में स्थित है। यह झील ओडिशा की लोकप्रिय झीलों में से एक है। चारों ओर से पहाडि़यों और जंगलों से घिरी इस झील की प्राकृतिक सुंदरता उत्कृष्ट है और यहाँ आने वाली ठंडी हवा हर आगंतुक के मन और आत्मा को तरोताजा कर देती है।

सोमवार, 26 जून 2023

आमने सामने बस की टक्कर, 12 लोगों की मौत

आमने सामने बस की टक्कर, 12 लोगों की मौत   

इकबाल अंसारी  

भुवनेश्वर। ओडिशा में गंजम के जिले के दिगपांडी के निकट खेमुंडी कॉलेज के पास रविवार आधी रात को ओएसआरटीसी बस और एक निजी बस की आमने-सामने की टक्कर में कम से कम 12 यात्रियों की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए। मृतकों में छह पुरुष, चार महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। सभी घायलों को बरहामपुर के एमकेसीजी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गंजम जिला कलेक्टर दिब्या ज्योति परिदा ने कहा “गंभीर रूप से घायल यात्री को एससीबी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। मरीजों के इलाज के लिए यहां सभी व्यवस्थाएं की गई हैं।” 

यह दुर्घटना तब हुई जब एक बारात लेकर जा रही निजी बस बेरहामपुर से खांडादेउली गांव लौट रही थी, तभी गदारी से भुवनेश्वर जा रही ओएसआरटीसी बस से उसकी टक्कर हो गई। दिगपहांडी पुलिस और फायर ब्रिगेड कर्मियों ने घायलों को बचाया और अस्पताल पहुंचाया। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सोमवार को प्रत्येक मृतक के निकटतम परिजन को मुख्यमंत्री राहत कोष से तीन लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की और मौतों पर गहरा दुख व्यक्त किया। श्री पटनायक ने अधिकारियों को सभी घायलों को मुफ्त इलाज प्रदान करने का निर्देश दिया और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

मुख्यमंत्री ने वित्त मंत्री बिक्रम केशरी अरुख और गंजम डीपीसीसी के अध्यक्ष बिक्रम पांडा को मौके पर पहुंचने और सभी सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया। विशेष राहत आयुक्त ने एक ट्वीट में गंजन प्रशासन की देखरेख में इलाज के लिए प्रत्येक घायल व्यक्ति को तीन लाख रुपये की सहायता की घोषणा की।

शनिवार, 10 जून 2023

हीराकुंड बांध स्थल पर स्थित रोपवे की सुरक्षा जांच 

हीराकुंड बांध स्थल पर स्थित रोपवे की सुरक्षा जांच 

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर/संबलपुर। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की एक टीम ने ओडिशा के संबलपुर जिले में हीराकुंड बांध स्थल पर स्थित रोपवे की सुरक्षा जांच की। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। संबलपुर नगर निगम (एसएमसी) के प्रवर्तन अधिकारी शुभंकर मोहंती ने बताया कि एसएमसी ने रोपवे के निरीक्षण के लिए एनडीआरएफ से संपर्क किया था, जिसके बाद बल की एक टीम ने हाल में रोपवे स्थल का दौरा किया।

निरीक्षण सालाना आयोजित किए जाते हैं और यह पहली बार है, जब एनडीआरएफ की 30 सदस्यीय टीम ने अपने कमांडर के साथ रोपवे का आकलन करने के लिए बांध स्थल का दौरा किया। टीम ने रोपवे की ऊंचाई, रस्सी, ट्रॉली, हुक सहित अन्य चीजों का निरीक्षण किया। इसके अलावा, उसने एक मॉक ड्रिल भी आयोजित की और रोपवे के कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया कि अगर कोई दुर्घटना होती है, तो कैसे प्रतिक्रिया दी जाए।

यह रोपवे जवाहर उद्यान को हीराकुंड बांध स्थल पर गांधी मीनार से जोड़ता है। जवाहर उद्यान हीराकुंड बांध के नीचे एक रमणीय उद्यान है। गांधी मीनार से विशाल हीराकुंड जलाशय और बांध का विहंगम दृश्य दिखता है। रोपवे सेवा का संचालन 2019 में शुरू हुआ था। एक ट्रॉली में चार व्यक्ति बैठ सकते हैं। मोहंती ने कहा, एनडीआरएफ की टीम ने सुरक्षा बढ़ाने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं। हम जल्द से जल्द इन सुझावों पर अमल करेंगे।

कोलकाता की कंपनी दामोदर रोपवे एंड इंफ्रा लिमिटेड (डीआरआईएल) ने 421 मीटर लंबे इस रोपवे का निर्माण किया था, जिसका संचालन संबलपुर नगर निगम करता है। रोपवे के रख-रखाव का जिम्मा दामोदर रोपवे को सौंपा गया है। 

शुक्रवार, 2 जून 2023

मालगाड़ी से टकराई ट्रेन, 179 लोग घायल

मालगाड़ी से टकराई ट्रेन, 179 लोग घायल

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर। ओडिशा के बालासोर जिले में एक यात्री ट्रेन मालगाड़ी से टकरा गई, जिसमें 179 लोग घायल हो गए। जहां कोरोमंडल एक्सप्रेस पटरी से उतरी थी, वहां बचाव दलों को दुर्घटनास्थल पर भेज दिया गया है। हादसा शाम करीब 7.20 बजे बहनगा बाजार स्टेशन के पास हुआ, जब ट्रेन कोलकाता के पास शालीमार स्टेशन से चेन्नई सेंट्रल स्टेशन जा रही थी।

एनडीटीवी अपडेट प्राप्त करेंसूचनाओं को चालू करें इस कहानी के विकसित होते ही अलर्ट प्राप्त करें। मौके पर मौजूद पीटीआई के एक रिपोर्टर ने कहा कि पटरी से उतरे डिब्बों के नीचे कई लोग फंसे हुए हैं और स्थानीय लोग उन्हें बचाने के लिए आपात सेवा कर्मियों की मदद कर रहे हैं, लेकिन अंधेरा अभियान में बाधा बन रहा है।

ओडिशा सरकार ने हेल्पलाइन नंबर 06782-262286 जारी किया है। रेलवे हेल्पलाइन 033-26382217 (हावड़ा), 8972073925 (खड़गपुर), 8249591559 (बालासोर) और 044- 25330952 (चेन्नई) हैं। मेडिकल कॉलेज और बालासोर एवं उसके आसपास के सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है। अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। हादसे में कितने लोग घायल हुए हैं, इसका तत्काल पता नहीं चल सका है। किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

दक्षिण पूर्व रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि दुर्घटना राहत ट्रेनों को घटनास्थल के लिए रवाना कर दिया गया है।अधिकारियों ने कहा कि हादसा शाम करीब 7.20 बजे बहानगा बाजार स्टेशन के पास हुआ, जब ट्रेन कोलकाता के पास शालीमार स्टेशन से चेन्नई सेंट्रल स्टेशन जा रही थी।अधिकारियों ने कहा कि कोरोमंडल एक्सप्रेस के चार डिब्बे शुक्रवार शाम ओडिशा के बालासोर जिले में एक मालगाड़ी से आमने-सामने की टक्कर के बाद पटरी से उतर गए।

शनिवार, 6 मई 2023

8 मई को हवा का कम दबाव बनने के आसार

8 मई को हवा का कम दबाव बनने के आसार

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर। दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर सोमवार (आठ मई) को हवा का कम दबाव बनने के आसार है। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को यह जानकारी दी। मौसम विभाग ने बताया कि दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी और उसके आस-पास इलाकों में शनिवार को स्थानीय समयानुसार करीब साढ़े आठ बजे मध्यम क्षोभमंडल स्तर पर चक्रवातीय परिसंचरण बना।

इसके अलावा, आठ मई की सुबह को कुछ क्षेत्रों के ऊपर भी हवा का कम दबाव बनने का अनुमान जताया गया है और नौ मई के बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व के आसपास हवा का दबाव केंद्रित हो सकता है। आईएमडी ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के मध्य की ओर लगभग उत्तर की ओर बढ़ते हुए चक्रवाती तूफान में तीव्र होने के आसार हैं। इस बीच, मौसम अधिकारियों ने छोटे जहाजों, नावों, मछुआरों को अंडमान तट और बंगाल की मध्य खाड़ी सहित बंगाल की दक्षिण-पूर्व खाड़ी क्षेत्रों में सात मई से नौ मई तक समुद्र में नहीं उतरने की सलाह दी है।

उन्होंने बताया कि दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी और अंडमान के समुद्री क्षेत्रों में चक्रवातीय तूफान के अनुमान के कारण इस क्षेत्र में हवाओं की रफ्तार 40-50 किमी से बढ़कर 60 किमी तक पहुंच सकती है। इसके अलावा, अंडमान और निकोबार द्वीप तथा अंडमान के उत्तरी क्षेत्रों में आठ, नौ और 10 मई को चक्रवातीय हवाओं की रफ्तार 50-60 किमी से बढ़कर 70 किमी प्रति घंटा हो सकती है।

इसके अलावा, 10 मई को शुरुआत में 60-70 किमी तेज रफ्तार से हवाएं चलेंगी और उसके बाद यह बढ़कर 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं। मौसम विभाग ने बताया कि आठ से 12 मई के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप पर तूफानी हवाएं चलने और भारी बारिश होने का अनुमान जताया गया है। विभाग ने इस दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पर पर्यटको को तथा नावों को समुद्र में न उतरने की सलाह दी है। 

बुधवार, 19 अप्रैल 2023

ओडिशा: 14 जिलों में सामान्य जनजीवन प्रभावित 

ओडिशा: 14 जिलों में सामान्य जनजीवन प्रभावित 

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर। ओडिशा में हिंसा प्रभावित संबलपुर सहित 14 जिलों में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) द्वारा आहूत हड़ताल के कारण सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ। विहिप ने राज्य की सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) सरकार पर ‘‘हिंदू-विरोधी’’ रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए सुबह से शाम तक की हड़ताल का आह्वान किया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), बजरंग दल सहित संघ परिवार के अन्य घटक इसका समर्थन कर रहे हैं। संबलपुर में 12 और 14 अप्रैल को हुई हिंसा के बाद से शहर में कर्फ्यू लगा है और जिले में इंटरनेट सेवाएं भी निलंबित हैं। एक अधिकारी ने बताया कि हनुमान जयंती समारोह के दौरान बड़े पैमाने पर हिंसा के बाद 14 अप्रैल की आधी रात से संबलपुर शहर में लागू निषेधाज्ञा को आंशिक रूप से हटा दिया गया है।

हालांकि, इंटरनेट सेवाओं के निलंबन को बृहस्पतिवार सुबह 10 बजे तक और 24 घंटे के लिए बढ़ा दिया गया। संबलपुर में हड़ताल के दौरान वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहे और सड़कों पर इक्का-दुक्का वाहन ही नजर आए। हालांकि, अन्य जिलों में प्रदर्शनकारियों को सड़कों पर जाम लगाते और लोगों से अपनी दुकानें बंद करने का आग्रह करते देखा गया। हड़ताल में आपात सेवाओं को छूट दी गई है। पुलिस कर्मियों को महत्वपूर्ण चौराहों पर तैनात किया गया है, ताकि किसी भी अप्रिय घटना को रोका जा सके। संबलपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) तपन कुमार मोहंती ने बताया कि जिले में अभी तक किसी अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं है।

संबलपुर के अलावा, बारगढ़, देवगढ़, झारसुगुड़ा, सुंदरगढ़, बोलांगीर, कालाहांडी, सोनपुर, बौध, नुआपाड़ा, कोरापुट, नबरंगपुर, मल्कानगिरी और रायगढ़ जिलों में हड़ताल का असर दिखा। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने संबलपुर हिंसा के लिए ‘‘जिम्मेदार लोगों’’ के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। विहिप की ओडिशा इकाई के सचिव शुभ्रांशु शेखर ने कहा, ‘‘ दोषियों के खिलाफ 48 घंटे में कार्रवाई नहीं की गई तो हम पूरे राज्य में हड़ताल करेंगे।’’ भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख मनमोहन सामल ने आरोप लगाया कि पुलिस ने पक्षपातपूर्ण तरीके से काम किया। शरारती तत्वों को खुला छोड़ दिया, जबकि कुछ निर्दोष लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। इस बीच, संबलपुर जिला प्रशासन ने स्थिति के बेहतर होने के मद्देनजर कर्फ्यू में ढील दी है।

वहां 14 अप्रैल के बाद से हिंसा की कोई घटना नहीं हुई। संबलपुर की जिला अधिकारी अनन्या दास ने कहा, ‘‘ स्थिति बेहतर होने के मद्देनजर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक कर्फ्यू में ढील दी जाएगी।’’ हालांकि, राज्य सरकार ने संबलपुर जिले में इंटरनेट सेवाओं का निलंबन और 24 घंटे यानी बृहस्पतिवार सुबह 10 बजे तक के लिए बढ़ा दिया है। 

रविवार, 2 अप्रैल 2023

15 मई से शुरू होगी पहली 'अंतरराष्ट्रीय उड़ान' सेवा

15 मई से शुरू होगी पहली 'अंतरराष्ट्रीय उड़ान' सेवा

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर। भुवनेश्वर हवाई अड्डे पर 15 मई से पहली अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा शुरू होगी। इंडिगो दुबई तक सीधी विमान सेवा उपलब्ध कराएगी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शनिवार को उत्कल दिवस के मौके पर इस उड़ान के टिकट की बिक्री शुरू की।

एक अधिकारी ने बताया कि इंडिगो सप्ताह में तीन दिन-सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को दुबई तक हवाई सेवा उपलब्ध कराएगी। उन्होंने बताया कि दुबई की पहली उड़ान के लिए दस हजार रुपये प्रति सीट किराया निर्धारित किया गया है। पटनायक ने कहा, विकास के लिए कनेक्टिविटी अहम है और यह हमारी सरकार की प्राथमिकता रही है। विमानन क्षेत्र के सबसे बड़े हब में से एक दुबई तक सीधी कनेक्टिविटी से दुनिया के विभिन्न हिस्सों के सफर का रास्ता खुलेगा।

इंडिगो के वैश्विक बिक्री के प्रमुख विनय मल्होत्रा ने कहा कि विमानन कंपनी किफायती दरों पर अंतरराष्ट्रीय कनेक्टिविटी का दायरा बढ़ाने में अग्रणी रही है। उन्होंने बताया कि दुबई के बाद भुवनेश्वर से सिंगापुर और बैंकॉक तक सीधी उड़ानों का भी संचालन किया जाएगा।

गुरुवार, 30 मार्च 2023

10 करोड़ टन कच्चे इस्पात उत्पादन का लक्ष्य पार 

10 करोड़ टन कच्चे इस्पात उत्पादन का लक्ष्य पार 

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर/राउरकेला। राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) की ‘स्टील मेल्टिंग शॉप’ (इस्पात गलाने की इकाई) ने 10 करोड़ टन कच्चे इस्पात उत्पादन का लक्ष्य पार कर लिया है।आरएसपी के प्रभारी निदेशक अतनु भौमिक ने अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ यहां का दौरा किया और इस उपलब्धि के लिए सामूहिक प्रयासों की सराहना की।

इस्पात संयंत्र की ओर से जारी विज्ञप्ति में भौमिक के हवाले से कहा गया, ‘‘स्टील मेल्टिंग शॉप के कर्मचारियों, अन्य संबद्ध इकाइयों के प्रयास से यह संभव हो सका।’’ 

सोमवार, 22 अगस्त 2022

ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति चिंताजनक 

ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति चिंताजनक 

विमलेश यादव 

भुवनेश्वर। उत्तरी ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति सोमवार को चिंताजनक बन गई। सुबर्णरेखा नदी उफान पर है और इसका पानी निचले इलाकों में घुस गया। इस वजह से 100 से ज्यादा गांवों के सैकड़ों लोग फंस गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में गहरे कम दबाव का क्षेत्र बनने के बाद भारी बारिश होने के कारण और झारखंड से बाढ़ का पानी छोड़े जाने के चलते उत्तर ओडिशा की सभी नदियां उफान पर हैं। उन्होंने बताया कि बालासोर और मयूरभंज जिलों के अधिकारियों ने लोगों को संवेदनशील इलाकों से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए रविवार को एक व्यापक अभियान शुरू किया, जो सोमवार को भी जारी रहा। 

अधिकारियों ने बताया कि सुबर्णरेखा नदी में रविवार शाम से जलस्तर काफी बढ़ गया जिससे कई निचले इलाकों में पानी भर गया है। अधिकारियों ने आशंका जताई है कि झारखंड में गलुदिह बैराज से और पानी छोड़े जाने के बाद बाढ़ की स्थिति और खराब हो सकती है। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) की रिपोर्ट के मुताबिक, जिले के राजघाट पर सुबर्णरेखा का जलस्तर सुबह नौ बजे 11.90 मीटर पर था जबकि खतरे का स्तर 10.36 मीटर है। अधिकारियों के मुताबिक, बालासोर जिला प्रशासन ने सोमवार दोपहर तक कम से कम 1.2 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का फैसला किया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने एक बुलेटिन में उत्तरी ओडिशा के जिलों में मंगलवार को भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने रविवार को विशेष राहत आयुक्त की शक्तियां बालासोर के कलेक्टर को दे दीं ताकि स्थानीय प्रशासन को और प्रभावी बनाया जा सके। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एक हेलीकॉप्टर भी तैनात किया गया है। इस बीच, विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने खुर्दा, पुरी, कटक, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, नयागढ़, बालासोर, भद्रक, क्योंझर और बौद्ध जिलों के कलेक्टरों को पत्र लिखकर बाढ़ में फंसी महिलाओं को निशुल्क सैनेटरी नेपकिन वितरित करने को कहा है। सरकार के अनुमान के मुताबिक, ओडिशा भारी बारिश के बाद पहले से ही महानदी नदी प्रणाली में मध्यम बाढ़ के प्रभाव से जूझ रहा है, जिस कारण सात लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। करीब पांच लाख लोग अब भी 763 गांवों में फंसे हुए हैं।

शुक्रवार, 8 जुलाई 2022

असिस्टेंट एग्रीकल्चर इंजीनियर पद पर भर्ती निकाली

असिस्टेंट एग्रीकल्चर इंजीनियर पद पर भर्ती निकाली

गीता गोवंडके 
भुवनेश्वर। एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री वाले व्यक्तियों के लिए सरकारी नौकरियां हैं। ओडिशा लोक सेवा आयोग ने असिस्टेंट एग्रीकल्चर इंजीनियर पद पर भर्ती निकाली है। यह भर्ती एग्रीकल्चर एंड फॉर्मर्स एंपावरमेंट डिपार्टमेंट, ओडिशा सरकार की मांग पर की जा रही है। ओडिशा लोक सेवा आयोग ने असिस्टेंट एग्रीकल्चर इंजीनियर पदों पर भर्ती निकाली है। भर्ती विज्ञापन के अनुसार, असिस्टेंट एग्रीकल्चर इंजीनियर की कु 102 वैकेंसी है।इस भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन OPSC की वेबसाइट opsc.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इस भर्ती के लिए आवेदन 12 जुलाई से शुरू होगा और 12 अगस्त तक चलेगा। यह भर्ती एग्रीकल्चर एंड फॉर्मर्स एंपावरमेंट डिपार्टमेंट, ओडिशा सरकार की मांग पर की जा रही है।
आयु सीमा की बात करें तो उम्मीदवारों की उम्र 1 जनवरी 2022 को कम से कम 21 साल और अधिकतम 38 साल होनी चाहिए। हालांकि आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट मिलेगी।
वैकेंसी डिटेल

अनारक्षित वर्ग- 72
एसईबीसी- 4
एससी- 8
एसटी- 18
असिस्टेंट एग्रीकल्चर इंजीनियर की कुल 102 वैकेंसी में से 3 पोस्ट एक्स सर्विसमैन के लिए आरक्षित हैं। जबकि चार पोस्ट दिव्यांग अभ्यर्थियों (40 फीसदी से अधिक स्थायी तौर पर दिव्यांग), 3 लोकोमोटर डिसएबिलिटी, 1 एचआई और 1 पोस्ट स्पोर्ट्स पर्सन के लिए आरक्षित है।


मंगलवार, 5 अक्तूबर 2021

ओडिशा: 45 वर्षीय 1 व्यक्ति की डूबने से मौंत हुईं

भुवनेश्वर। ओडिशा के संबलपुर में महानदी में 45 वर्षीय एक व्यक्ति तथा उसके बेटे की डूबने से मौत हो गई और उसकी बेटी अब भी लापता है। पुलिस ने मंगलवार को बताया कि घटना नगर थाना क्षेत्र में सोमवार शाम करीब साढ़े चार बजे हुई, जब मोहम्मद अल्ताफ, उनका बेटा मोहम्मद आफताब (15) और बेटी रुखसाना परवीन (13) नदी में नहाने गए थे।
उन्होंने बताया कि यह परिवार पेंशनपारा का रहने वाला था। बच्ची का पता लगाने के लिए अभियान जारी है। रुखसाना पानी के बहाव में बह गई थी, जिसके बाद अल्ताफ अपनी बेटी को बचाने की कोशिश में गहरे पानी में चले गए और बेटा आफताब भी उनके पीछे-पीछे नदी में चला गया।
इसके बाद सभी लापता हो गए। स्थानीय लोगों ने पुलिस तथा दमकल विभाग को घटना की जानकारी दी थी। पुलिस ने बताया कि स्थानीय मछुआरों ने आफताब का शव बरामद किया और दमकल कर्मियों ने अल्ताफ के शव को नदी से बाहर निकाला। रुखसाना की तलाश अब भी जारी है।

रविवार, 26 सितंबर 2021

संभावना: तट से टकरा सकता है 'गुलाब' चक्रवात

भुवनेश्वर। ‘गुलाब’ चक्रवात के प्रभाव से ओडिशा के दक्षिण एवं तटीय क्षेत्रों में रविवार सुबह वर्षा शुरू हो गई। इस चक्रवात के ओडिशा के गोपालपुर एवं आंध्रप्रदेश के कलिंगपटनम के बीच करीब आधी रात को तट से टकराने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी।
विभाग ने बताया कि ओडिशा में चार महीने में ‘गुलाब’ चक्रवात आने वाला यह दूसरा चक्रवात है। इसका केंद्र गोपालपुर के दक्षिणपूर्व में करीब 140 किलोमीटर की दूरी तथा कलिंगपटनम के पूर्व-उत्तर पूर्व में करीब 190 किलोमीटर की दूरी पर है। आईएमडी ने ‘लाल संदेश’ (बहुत अधिक वर्षा का संदेश) जारी करते हुए कहा कि आज रात इसके पश्चिम की ओर बढ़ने तथा उत्तरी आंध्रप्रदेश एवं दक्षिण ओडिशा तट को पार करने की संभावना है।

इस दौरान 75-85 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 95 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक तूफान चल सकता है। रविवार देर शाम यह प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। उसने बताया कि फिलहाल उसकी रफ्तार 18 किलोमीटर प्रति घंटा है। ओडिशा सरकार ने पहले ही बचाव एवं राहत कर्मियों एवं मशीनरी को तैयार कर लिया है एवं राज्य के दक्षिण हिस्से के सात चिह्नित जिलों में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया है।

विशेष राहत आयुक्त पी के जेना ने बताया कि ‘गुलाब’ चक्रवात को देखते हुए ओडिशा आपदा त्वरित कार्यबल की 42 टीमों, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के 24 दस्तों तथा अग्निशमन कर्मियों की 102 टीमों को गजपति, गंजाम, रायगढ़, कोरापुट, मलकानगिरि, नबरंगपुर और कंधमाल जिलों में भेजा गया है। जेना ने कहा कि गंजाम पर चक्रवात की सबसे अधिक मार पड़ने की आशंका है, इसलिए अकेले उस क्षेत्र में 15 बचाव दल भेजे गये हैं।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा अग्निशमन सेवा की 11 इकाइयों, ओड़िशा आपदा त्वरित कार्यबल के छह दलों तथा राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के आठ दलों को आपात स्थिति के लिए तैयार स्थिति में रखा गया है। अगले तीन दिन तक ओडिशा, पश्चिम बंगाल एवं आंध्रप्रदेश से सटे समुद्र में बहुत खराब स्थिति रहेगी। ऐसे में मछुआरों को बंगाल की खाड़ी एवं अंडमान सागर में नहीं जाने को कहा गया है।

सोमवार, 23 अगस्त 2021

चार महीने तक बंद रहने के बाद खुल रहा है जगन्नाथ

पुरी। स्थित प्रसिद्ध श्री जगन्नाथ मंदिर करीब चार महीने तक बंद रहने के बाद सोमवार को खुल रहा है। इससे एक दिन पहले, रविवार को पुलिस ने श्रद्धालुओं से अपील की थी कि वे मंदिर जाने के अपने अनुभव को पुलिस के साथ साझा करें। पुलिस सूत्रों ने बताया कि श्रद्धालु मंदिर में पुलिस सेवा को अपने अनुभवों के बारे में बता सकते हैं। इसके लिए उन्हें एक फॉर्म भरना होगा।
वे ऑनलाइन ‘क्यूआर कोड’ के जरिए भी रिस्पॉन्स दे सकते हैं। पुरी पुलिस ने ट्वीट किया, ‘हमारी अपील है कि अपने अनुभव हमारे साथ साझा कीजिए ताकि श्रद्धालुओं के लिए मंदिर में दर्शन के अनुभव को और बेहतर एवं सुगम बनाया जा सके.’ कोविड-19 वैश्विक महामारी की दूसरी लहर के कारण 12वीं सदी के इस मंदिर को जनता के लिए 24 अप्रैल को बंद कर दिया गया था।
वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या कोविड रिपोर्ट जरूरी
श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने से पहले फुल वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या कोविड टेस्ट रिपोर्ट दिखानी होगी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मंदिर को फिर से खोलने से पहले बल और अधिकारियों की डिटेल्ड ब्रीफिंग की गई है। कोरोना दिशानिर्देशों के मुताबिक, सोमवार से शुक्रवार सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक सभी भक्तों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति होगी। जबकि सफाई के लिए शनिवार और रविवार को मंदिर बंद रखा जाएगा।

शनिवार, 7 अगस्त 2021

ऊर्जा विभाग की 9 ऑनलाइन सेवाओं की शुरुआत

भुवनेश्वर। ओडिशा में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शुक्रवार को ऊर्जा विभाग की नौ ऑनलाइन सेवाओं की शुरुआत की।। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ये सेवाएं राज्य की इलेक्ट्रीसिटी के अलावा इंडस्ट्रीयल, कॉमर्शियल प्रतिष्ठानों के लिए फायदेमंद होंगी।उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य डिजिटल परिवर्तन के माध्यम से लोगों को सशक्त बनाना है। लोगों को परेशानी मुक्त सेवाएं देना हमेशा मेरी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। नए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के साथ, बिजली कर्मचारी और ठेकेदार जैसे विद्युत कार्यबल अब अनुदान और अपने लाइसेंस की नई शुरूआत के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। विद्युत लाइसेंसिंग, सुरक्षा निरीक्षण और परीक्षण जैसी ऑनलाइन सेवाओं को शामिल करने से उद्योगों को बहुत सुविधा होगी।पारदर्शिता और प्रामाणिकता सुनिश्चित करने के लिए आवेदकों द्वारा डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित ई-प्रमाण पत्र डाउनलोड किए जा सकते हैं।
 उंगलियों पर सेवाओं का समय पर वितरण इन ऑनलाइन सेवाओं का सार होगा, उन्होंने कहा, जो सेवाएं अब ऑनलाइन उपलब्ध हैं। उनमें विद्युत कार्यों की स्वीकृति, विद्युत कार्यों का सामान्य निरीक्षण, आपातकालीन निरीक्षण, और रिपोर्ट जारी करना, विद्युत उपकरणों का परीक्षण, वर्कमैन परमिट, पर्यवेक्षक लाइसेंस, विशिष्ट परियोजनाओं के लिए अस्थायी परियोजना लाइसेंस और चार्टर्ड शामिल हैं।
वहीं ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले के तलचुआ और भद्रक जिले में कनाली को जोड़ने वाली 110 करोड़ रुपये की पोतघाट परियोजना , धामरा नदी पर बनेगी। इसके बनने से सड़क मार्ग से जो दूरी तय करने में यात्रियों को अभी छह घंटे लगते हैं उस में जलमार्ग से महज एक घंटा लगेगा। बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी थी।
मंत्रालय ने कहा कि आरओपीएएक्स (रोल-ऑन / रोल-ऑफ पैसेंजर) जेटी परियोजना से धामरा नदी के आसपास स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे और तलचुआ से धामरा तक की सड़क मार्ग की 200 किमी की दूरी को कम कर देगा।
भारत के भले ही किसी कोने में आप रह रहे हों, जनता से रिश्ता वेबसाइट पर आपके राज्य की हर छोटी-बड़ी खबर मिलेगी। राजनीति, खेल, चुनाव, बिजनेस, सिनेमा, इस प्लैटफॉर्म पर बस एक क्लिक करते ही हमेशा पाएं ताजा खबरें। उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल समेत देश के बाकी राज्यों और शहरों की कोई जानकारी हो, हम आपको देते हैं। सियासी रण हो या बजट का मौसम, कहां चल रहा क्या सियासी दांव-पेच, आपके गांव में किसकी सरकार, हर अपडेट यहां आपको मिलेंगे। तो फिर अपने राज्य की हर हलचल के लिए जुड़े रहिए जनता से रिश्ता के साथ।
गोवा सरकार ने राज्य में आने वाले लोगों के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट या पूर्ण टीकाकरण सर्टिफिकेट (टीके की दोनों खुराक लेने का) अनिवार्य कर दिया।
पणजी: गोवा सरकार ने राज्य में आने वाले लोगों के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट या पूर्ण टीकाकरण सर्टिफिकेट (टीके की दोनों खुराक लेने का) अनिवार्य कर दिया। यह निर्णय आने वाले त्योहारों को देखते हुए लिया गया है। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि राज्य में कोविड-19 पॉजिटिविटी रेट 2 फीसदी से कम है। 
सीएम प्रमोद सावंत ने पणजी में कहा कि "राज्य में नए कोविड -19 मामलों की पॉजिटिविटी रेट 1.8 से 2% है। निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट या पूर्ण टीकाकरण सर्टिफिकेट गोवा विजिट के लिए अनिवार्य है। आगामी त्योहारों को ध्यान में रखते हुए हम नई एसओपी जारी करेंगे।
गोवा में कोरोना से हो चुकी हैं 3 हजार से ज्यादा मौतें
गोवा ने शुक्रवार को कोरोना के 97 नए मामले दर्ज किए, जिससे मामलों की संख्या बढ़कर 1 लाख 71 हजार 705 हो गई. कम से कम 133 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी गई, जिससे ठीक होने की संख्या 1 लाख 67 हजार 556 हो गई। राज्य में कोरोना से एक मौत भी हुई जिसके बाद मौतों की कुल संख्या 3157 हो गई। गोवा में अभी 992 एक्टिव केस हैं। कोविड मैनेजमेंट पर राज्य सरकार की एक्सपर्ट कमेटी के सदस्य डॉ शेखर साल्कर ने कहा है कि केवल टीकाकरण ही महामारी से होने वाली मौतों को रोक सकता है।
दूसरी लहर में राज्य में 2 हजार लोगों की गई जान
सीएम सावंत ने कहा कि राज्य में संक्रमण से मरने वाले 3 हजार लोगों में से 2 हजार की मौत दूसरी लहर में हुई। केवल 11 लोगों की मौत टीकाकरण के बाद हुई है, जिन्हें दूसरी गंभीर बीमारी भी थी। टीकाकरण से 95.5 फीसदी मौतों को रोका जा सकता है। सावंत ने कहा कि "आगे तीसरी लहर आती है तो हम उससे लड़ सकते हैं और मौतों को रोक सकते हैं। मौतें रोकना महत्वपूर्ण हैं। हमें इस बात पर ध्यान देना होगा कि हम लोगों को कैसे बचा सकते हैं, इसके लिए डॉक्टर से जल्दी परामर्श लेना और भर्ती होना होगा।

शुक्रवार, 30 जुलाई 2021

समुद्र तट पर झोपड़ियां बनाने को रोकने की मांग की

भुवनेश्वर। पुरी और कोणार्क के तटों पर छोटे-छोटे कमरे (कुटिया) बनाने की ओडिशा सरकार की योजना का विरोध कर रहे करीब 50 अलग-अलग संगठनों के साथ खड़े हो गए हैं। इन स्थानों पर पर्यटकों को शराब उपलब्ध कराए जाने की योजना है।
ओडिशा आबकारी नीति, 2021 के तहत प्रस्तावित समुद्र तट पर बनाई जानी वाली कुटियाओं में शराब परोसी जाएगी। पुरी के स्थानीय निवासियों सहित बड़ी संख्या में लोगों ने सरकार की योजना पर चिंता व्यक्त की है और समुद्र तट पर झोपड़ियां बनाने संबंधी निविदा को तत्काल रोकने की मांग की है।
शंकराचार्य ने राज्य सरकार के ऐसे कदम पर निराशा जाहिर करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि श्री जगन्नाथ धाम पुरी आध्यात्मिक एवं धार्मिक चिंतन-मनन की जगह है। किसी भी परिस्थिति में, शराब और अन्य किसी भी तरह के मादक पदार्थों को पुरी के तट पर अनुमति नहीं मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा मांग की है कि पुरी समुद्र तट पर तीन किलोमीटर तक की जगह भजन, कीर्तन और आरती की जगह होनी चाहिए। पुरी तट में सरकार का यह प्रस्ताव स्वीकार्य नहीं है। इस बीच, सामाजिक संगठनों के एक प्रतिनिधिमंडल ने पुरी के जिलाधिकारी समर्थ वर्मा के साथ मुलाकात की और पुरी जिले में पर्यटन विकास के नाम पर तटों पर ‘कुटिया’ योजना को वापस लेने की मांग की।
कई महिला कार्यकर्ताओं ने भी राज्य की योजना पर चिंता जताई है और दावा किया है कि इससे ओडिशा में महिलाओं के खिलाफ अपराध को बढ़ावा मिलेगा। वर्मा ने संवाददाताओं को कहा, “हम इस संबंध में कोई भी फैसला लेने से पहले विभिन्न पहलुओं पर विचार करेंगे। यह अभी प्रस्ताव के चरण में ही है। इससे पहले, समुद्र तट पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए, ओडिशा पर्यटन विकास निगम (ओटीडीसी) के माध्यम से राज्य सरकार ने शुरू में पुरी से कोणार्क तक समुद्र तट के किनारे कुटिया स्थापित करने के लिए बोलियां आमंत्रित की थी।

बुधवार, 28 जुलाई 2021

उड़ीसा में करोड़ों की ठगी, आरोपी गिरफ्तार किया

भुवनेश्वर। उड़ीसा में करोड़ों की ठगी करने वाले को बरेली में गिरफ्तार कर लिया गया है। उड़ीसा एसटीएफ की टीम ने बरेली पुलिस की मदद से आरोपी को होटल रेडिसन से पकड़ा।सूत्रों के मुताबिक आरोपी पुलिस से बचने के लिए दिल्ली से भागकर बरेली आया था। ठगी करने वाले का नाम दिलीप जैन बताया जा रहा है जोकि उड़ीसा निवासी है। दिलीप जैन ने 2016 में चिटफंड कंपनी बनाकर करोड़ों की ठगी के कारनामे को अंजाम दिया था।

मंगलवार, 27 जुलाई 2021

24 घंटे में कोरोना के 1,629 नए मामलें सामने आएं

भुवनेश्वर। राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1 हजार 629 नये मामले सामने आये हैं। राज्य के सूचना व जनसंपर्क विभाग ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। इसके साथ राज्य में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 9 लाख 70 हजार 814 हो गई है। अभीतक राज्य में  9 लाख 47 हजार 381 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या-17 हजार 746 है।विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार नये मामलों में से 939 संगरोध से हैं। जबकि 690 स्थानीय संपर्क में आकर संक्रमित हुए हैं। आज संक्रमित पाये गये लोग कुल 30 जिलों से हैं। इनमें खोर्धा जिले में सर्वाधिक  532 कोरोना संक्रमित पाये गये हैं।

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नेशनल क्रश रश्मिका मंदाना सिर्फ साउथ सिनेमा का ही नहीं, अब ...