सोमवार, 21 जून 2021

अमेरिका में तबाही, ‘क्लाउडेट’ तूफान मजबूत हुआ

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के अलबामा प्रांत में तबाही मचाने के बाद उत्तरी एवं दक्षिणी कैरोलिना के तट की ओर बढ़ रहा ‘क्लाउडेट’ तूफान सोमवार तड़के फिर मजबूत हो गया और इसके फिर से उष्णकटिबंधीय तूफान में बदलने की आशंका है। इससे पहले इस तूफान के कारण शनिवार को हुए हादसों में 13 लोगों की मौत हो गयी थी और इसकी वजह से अचानक आई बाढ़ के कारण कई घर नष्ट हो गए थे। हादसे में मारे गए लोगों में वैन में सवार आठ बच्चे भी शामिल हैं। अलबामा प्रांत की बटलर काउंटी के कोरोनर वेन गारलॉक ने बताया कि शनिवार को मोंटगोमरी के दक्षिण की ओर करीब 55 किलोमीटर दूर ‘इंटरस्टेट’ 65 पर कई वाहन आपस में टकरा गए। जिसके कारण नौ बच्चों समेत 10 लोगों की मौत हो गयी। यह हादसा संभवत: सड़कों पर फिसलन के कारण हुआ। इस हादसे में एक वैन में सवार आठ बच्चों की मौत हो गयी। जिनकी उम्र चार से 17 वर्ष के बीच बताई जा रही है। यह वैन अलबामा शेरिफ एसोसिएशन द्वारा संचालित एक आश्रय स्थल की थी।

इसके अलावा एक अन्य वाहन में एक व्यक्ति और उसकी नौ महीने की बच्ची की मौत हो गयी। इस हादसे में कई लोग घायल भी हुए हैं। इस बीच, टस्कलोसा शहर में एक मकान पर एक पेड़ गिरने से 24 वर्षीय एक व्यक्ति और तीन वर्षीय एक बच्चे की मौत हो गई। तूफान के कारण मिसीसिपी खाड़ी तटीय क्षेत्र में 30 सेंटीमीटर तक बारिश हुई। ‘डब्ल्यूबीआरसी-टीवी’ ने अपनी खबर में बताया कि बर्मिंघम में एक व्यक्ति की तलाश की जा रही है। ऐसा माना जा रहा है कि वह व्यक्ति अचानक आई बाढ़ के दौरान पानी में गिर गया था। तूफान की वजह से हुई मूसलाधार बारिश के चलते उत्तरी जॉर्जिया, दक्षिण कैरोलिना के अधिकतर हिस्सों, उत्तरी कैरोलिना तट और दक्षिणपूर्व अलबामा के कुछ हिस्सों और फ्लोरिडा पैनहैंडल में रविवार को अचानक बाढ़ आ गयी। राष्ट्रीय तूफान केंद्र ने परामर्श जारी करके कहा कि सोमवार की शुरुआत में, क्लाउडेट के कारण अधिकतम 35 मील प्रति घंटे (55 किलोमीटर प्रति घंटे) की रफ्तार से निरंतर हवाएं चलीं। पूर्वी उत्तरी कैरोलिना के ऊपर सोमवार सुबह बने एक दबाव के एक उष्णकटिबंधीय तूफान में बदलने का अनुमान जताया गया था। क्लाउडेट इसके बाद अटलांटिक महासागर की ओर बढ़ेगा और फिर मंगलवार को नोवा स्कोटिया की ओर बढ़ेगा।

दिल्ली में सोमवार को कोरोना के 89 नए मामलें मिलें

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को कोविड-19 के 89 नए मामले दर्ज किए गए। जो इस साल अब तक के सबसे कम मामले है। वहीं संक्रमण से 11 लोगों ने दम तोड़ा है और संक्रमण दर भी घटकर 0.16 प्रतिशत हो गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने इस बारे में आंकड़ा साझा किया है। इस साल 16 फरवरी को कोविड-19 के सबसे कम 94 मामले आए थे।

जिसके बाद यह पहली बार है। जब कोविड-19 के रोजाना के मामले घटकर 100 से कम 89 हो गये हैं। रविवार को 124 नए मामले आये थे और सात मरीजों की मौत हुई थी तथा संक्रमण दर 0.17 प्रतिशत थी। दिल्ली में शनिवार को संक्रमण से सात लोगों की मौत हुई थी और 135 नए मामले आए थे। जो एक अप्रैल के बाद से सबसे कम है। वहीं, संक्रमण दर 0.18 प्रतिशत थी।


अमरनाथ यात्रा को रद्द करने का फैसला: वायरस

अकांशु उपाध्याय              

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रा की तैयारी कर रहे बर्फानी बाबा के भक्तों के लिए एक बुरी खबर है। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंकाओं को देखते हुए अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा इस वर्ष भी अमरनाथ यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया है। हालांकि, श्रद्धालु ऑनलाइन बाबा बर्फानी के दर्शन कर पाएंगे। बता दें कि 2020 में भी कोरोना संक्रमण के कारण अमरनाथ यात्रा को रद्द किया गया था।

श्राइन बोर्ड की ओर से कहा गया है। इस यात्रा में देश भर के विभिन्न हिस्सों से श्रद्धालु शामिल होंगे। ऐसे में कोरोना संक्रमण के फैलने का खतरा हो सकता है। वर्तमान में जो स्थितियां हैं। उसको देखते हुए श्रद्धालु घर पर ही सुरक्षित रहें ये जरूरी है। बोर्ड की ओर से यह भी कहा गया है कि हर साल की तरह सभी पारंपरिक रस्में पहले की तरह पूरी की जाएंगी। अमरनाथ श्राइन बोर्ड करोड़ों श्रद्धालुओं की भावनाएं समझता है और इसका ध्यान रखते हुए बोर्ड ने सुबह और शाम की आरती के लाइव दर्शन का इंतजाम करने का भी निर्णय लिया है। हर रोज दोनों आरती के लाइव दर्शन की व्यवस्था की जाएगी।

गाजियाबाद में साप्ताहिक बाजार लगाने की अनुमति

अश्वनी उपाध्याय           

गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण के कारण पिछले कई महीनों से बेरोजगार साप्ताहिक पैठ बाज़ार विक्रेताओं के लिए एक अच्छी खबर है। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने हाकर्स जाइंट एक्शन कमेटी के साथ हुई एक मीटिंग के बाद गाज़ियाबाद में साप्ताहिक बाज़ार लगाने की अनुमति दे दी है। 

आज (21 जून ) को जारी एक आदेश के अनुसार पैठ विक्रेताओं को बाज़ार में कोविड19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। इसके साथ ही बाज़ार में दो गज़ की दूरी, मास्क पहनने और साफ-सफाई आदि की ज़िम्मेदारी भी पैठ विक्रेताओं की होगी।

कोरोना: गाजियाबाद में 5 मरीजों को डिस्चार्ज किया

अश्वनी उपाध्याय           

गाज़ियाबाद। जिलें में 2 नए मरीज मिले और 5 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। जिले में एक भी मरीज की मौत दर्ज नहीं की गई और 80 सक्रिय संक्रमित हैं। बुलेटिन के अनुसार, जनपद में अब तक 54,961 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। जबकि संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 461 है।

गौतमबुद्ध नगर जिले में 17 नए मरीज मिले और 33 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। जिले में 121 सक्रिय संक्रमित हैं। बुलेटिन के अनुसार, जनपद में अब तक 62,415 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। जबकि संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 466 है।

मेरठ जिले में 12 नए मरीज मिले और 8 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। जिले में 187 सक्रिय संक्रमित हैं। बुलेटिन के अनुसार जनपद में अब तक 68,198 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। जबकि संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 889 है।

नोएडा: गंगाजल प्लांट की पानी सप्लाई को बंद किया

विजय भाटी         

गौतमबुद्ध नगर। पहाड़ों में हो रही बरसात के कारण गंग नहर में भारी मात्रा में सिल्ट आ जाने के कारण सिद्धार्थ विहार व प्रताप विहार स्थित गंगाजल प्लांट की पानी सप्लाई को बंद कर दिया गया है। हालांकि, फिलहाल प्लांट में जमा पानी की आपूर्ति की जा रही है। किन्तु, सोमवार शाम से नोएडा और ट्रांस हिंडन में गंगाजल की आपूर्ति प्रभावित हो सकती है। ट्रांस हिंडन में नलकूप से जीडीए व नगर निगम सिर्फ सुबह के वक्त ही पानी की आपूर्ति करेगा।

प्रताप विहार गंगाजल प्लांट के परियोजना अधिकारी शुभेंद्र चौधरी ने बताया कि गंग नहर से पानी प्लांट में नहीं आ रहा था। पहले से जो पानी था उसकी शनिवार और रविवार को आपूर्ति की गई। अब प्रताप विहार व सिद्धार्थ विहार प्लांट में पानी खत्म होने वाला है। सोमवार से नोएडा और ट्रांस हिंडन के इंदिरापुरम, वसुंधरा, वैशाली, कौशांबी डेल्टा कालोनी में गंगाजल की आपूर्ति बंद हो सकती है। पत्र लिखकर नगर निगम व जीडीए को इससे अवगत करा दिया गया है।

मृत्यु-जीवन: सांसें दिखतीं नहीं, लेकिन फिर भी हैं

राणा ओबराय      
नई दिल्ली। इन सांसों को देख रहें हो ? क्या ये सांसें दिखाई दे रही है ? नहीं, लेकिन है। ये जो सांसों के दो तार है, जो लगातार चल रहे हैं। इनको तुम रोक नहीं सकते एक सांस आ रही है तो एक सांस जा रही है। इनको समान रूप से चलाने वाला कोन है ? जब सांस ले रहे हो तो जीवन है और जब छोड़ रहे हो तो मृत्यु है। इन सांसों के आधार पर ही शरीर का वजन हैं। किसी का अस्सी किलो,किसी का सौ किलो, तो किसी का सात किलो उसे अपना वजन भारी नहीं लगता। लेकिन जब सो जाएं, या मर जाए तो उस आदमी को अकेला कोई नहीं उठा सकता। 
पर सांसों में इतनी पावर, शक्ति है कि, अकेले इतने शरीर का भार उठा रखा है। इसी की धोनी से वो ज्योति जल रही है। जो बिना घी तेल बाती के जल रही है। जहां सांस रूकी खेल खत्म इन सांसों के तार किसके हाथ में है ? कोन इनको चला रहा है? इन सांसों के तार, करतार के हाथ में है। वहीं परमात्मा इन सांसों को चला रहा है।

संक्रमण में योगा से निरोग रहने का मूलमंत्र समझाया

बृजेश केसरवानी      
प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के ओर से अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस पर नैनी मे प्रदेश सचिव अल्पसंख्यक सभा मो. शारिक़ के आवास पर योग गुरु मुंतज़िर रिज़वी की देख रेख मे योग दिवस पर कोरोना जैसे संक्रमण में योगा से निरोग रहने का मूलमंत्र समझाया गया। कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए शारीरिक दूरी के साथ पाँच-पाँच की संख्या मे लोगों ने योगा किया। सपा प्रवक्ता सै. मो. अस्करी के अनुसार पाँच वक़्त की नमाज़ भी योगा का बेहतरीन नमूना है। योगा को धार्मिक आधार पर नहीं देखना चाहिये सब को योगा करना चाहिये। मो. शारिक़ ने कहा, मुसलमान बरसों से पाँच वक़्त की नमाज़ मे शामिल अराकान के द्वारा प्रतिदिन प्राताकाल से योगा करता चला आ रहा है। 
वहीं कोरोना जैसी महामारी मे जहाँ गाईड लाईन के अनुसार हाँथ और मुँह को साफ रखने की बात कही जाहरही है तो नमाज़ से पहले होने वाले वज़ू भी इसी का हिस्सा है। जो नमाज़ से पहले हर मुसलमान फर्ज़ समझ कर करता है। योग गुरु मुंतज़िर रिज़वी ने बड़ी तल्लीनता के साथ विभिन्न प्रकार के योग से शरीर को मिलने वाले फायदे से अवगत कराया।

मुकदमे का खुलासा, वांछित आरोपी को अरेस्ट किया

बृजेश केसरवानी            
प्रयागराज। खीरी पुलिस ने थाना स्थानीय पर रविवार को चोरी के सम्बन्ध में पंजीकृत मुकदमे का खुलासा करते हुए वांछित आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में आरोपी के निशान देही पर उसके कब्जे से चोरी की खाद्य सामान बरामद कर खीरी पुलिस ने कागजी कोरम पूरा करते हुए उसे न्यायालय भेजा।
डीआईजी एसएसपी प्रयागराज सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी द्वारा वांंछित अपराधियो की गिरफ्तारी करने हेतु दिए गये निर्देश व आदेश के क्रम में एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित तथा सीओ मेजा डॉ. भीम कुमार गौतम के कुशल निर्देशन में खीरी प्रभारी थानाध्यक्ष मसीद खान ने थाने पर पंजीकृत मुकदमा 121/2021 धारा 457/380/411 के वांंछित आरोपी को ताबड़तोड़ दबिश देकर क्षेत्र से हिरासत में लिया।पुलिस के मुताबिक गहन पूछ तांछ में आरोपी देवानंद पुत्र रामा मुनी चौहान निवासी ग्राम कल्यानपुरी खीरी के कब्जे से दो बोरी चावल,दो कट्टी बोरी चना,एक बोरी सरसो तथा डेढ़ किलो घी का डिब्बा आदि सामान भी बरामद किया गया और आगे की विधीक कार्यवाही की गयी।

शामली: कोरोना का पालन करते हुए मनाया योग दिवस

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। हिंदू युवा वाहिनी जिला शामली परिवार ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कोविड-19 का पालन करते हुए मनाया। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हिंदू युवा वाहिनी जिला शामली के बिट्टू कुमार जिला प्रभारी, चौधरी रविंदर सिंह काल खंडे जिला संयोजक, सतपाल बंसल अरविंद कौशिक जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सुधीर राणा, अमित गर्ग, प्रदीप नीरवाल, अनुज गोयल जिला उपाध्यक्ष, वरुण वशिष्ठ जिला संगठन महामंत्री, विक्की कुमार जिला कोषाध्यक्ष, अनुराग गोयल जिला मंत्री, गौरव ठाकुर, आशीष निरवाल जिला आईटी संयोजक, लोकेश योगी जिला सह आईटी संयोजक, उपेंद्र द्विवेदी नगर संयोजक, मनोज रूहेला नगर अध्यक्ष, राजेश गुप्ता, अमरीश शर्मा, वरुण भारद्वाज, राजेंद्र सिंह बालियान, शिवदत्त शर्मा आदि ने उच्च पदाधिकारियों के निर्देश पर कोविड-19 का पालन करते हुए अपने ही घरों में योग्य करके अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया। 
इस अवसर पर बिट्टू कुमार, चौधरी रविंद्र सिंह कालखंडे, अरविंद कौशिक आदि पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से कहा व्यक्ति को रोजाना योग करना चाहिए। इससे शरीर निरोगा रहता है और अनेक बिमारी शरीर से समाप्त होती है और शरीर हल्का-फुल्का रहता है।

टीकाकरण अभियान में कार्यशाला का आयोजन किया

कौशाम्बी। सांसद विनोद सोनकर की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में विशेष संचारी रोग नियन्त्रण अभियान एवं कोविड टीकाकरण अभियान के सम्बन्ध में ग्राम प्रधानों के साथ कार्यशाला का आयोजन किया गया। बैठक में सांसद ने ग्राम प्रधानों को अभियान चलाकर लोगों के घर-घर जाकर कोविड टीकाकरण हेतु जागरूक करने का निर्देश दिया है। उन्होने सभी ग्राम प्रधानों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोविड टीकाकरण शत-प्रतिशत अनिवार्य है। यह टीकाकरण निःशुल्क है। इस टीके से लोग पूरी तरह सुरक्षित है। 
टीकाकरण के सम्बन्ध में फैलने वाली भ्रामक खबरों पर लोग ध्यान न दें उन्होंने कोविड महामारी की तीसरी लहर से बचाव हेतु ग्राम प्रधानों को अभियान चलाकर सभी लोगो का टीकाकरण करवाये जाने का निर्देश दिया है। सांसद ने संचारी रोग नियन्त्रण एवं बचाव हेतु जन जागरूकता अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी एवं अधिशासी अधिकारी नगर पंचायतों को नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाये जाने का भी निर्देश दिया है। उन्हेंने नालियों को ढकने, खुली नालियों की साफ-सफाई ठीक ढंग से कराये जाने एवं जल जमाव वाले स्थानों को चिन्हित कर वहां पर जल जमाव न होने देने हेतु आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। सासंद ने ग्राम प्रधानों को अपनी-अपनी ग्राम पंचायतां में फागिंग एवं कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होने सार्वजनिक शौचालयों को साफ सुथरा रखने एवं जलापूर्ति की समुचित व्यवस्था बनाये रखने का भी निर्देश दिया है।
उन्हेंने मलिन बस्तियों में विशेष अभियान चलाकर साफ-सफाई कराये जाने का निर्देश दिया है। विधायक सिराथू शीतला प्रसाद उर्फ पप्पू पटेल ने कहा कि कोरोना वैक्सिनेशन निःशुल्क है। सभी लोग टीकाकरण अवश्य करायें स्वास्थ्य विभाग द्वारा गांव-गांव में कैम्प लगाकर टीकाकरण किया जा रहा है। जहां पर लोग टीकाकरण करा सकते हैं। विधायक चायल संजय गुप्ता ने कहा कि ग्राम प्रधान घर-घर जाकर लोगों को कोरोना वैक्सिनेशन के बारे में जागरूक करें, यह वैक्सिनेशन निःशुल्क है। कोरोना महामारी की तीसरी लहर से बचाव हेतु वैक्सिनेशन आवश्यक है। जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने सांसद एवं विधायकगणों को आश्वस्त करते हुए कहा कि आपके द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी, भाजपा जिलाध्यक्षा अनीता त्रिपाठी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. पीएन चतुर्वेदी, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित अन्य अधिकारी गण एवं काफी संख्या में ग्राम प्रधान उपस्थित रहे।
सुशील केशरवानी 

तेज रफ्तार कैंटर ने मिनी ट्रक को मारी टक्कर, मौंत

अतुल त्यागी        
हापुड़। पिलखुवा के नेशनल हाईवे पर तेज रफ्तार कैंटर ने एक मिनी ट्रक को टक्कर मार दी। मिनी ट्रक में सवार करीब एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए और एक व्यक्ति की मौके पर मौंत हो गई। आपको बता दें पूरा मामला पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के नेशनल हाईवे का है। जहां बृजघाट से आ रहे मिनी ट्रक में सवार लोग बारिश पड़ने के कारण पुल के ऊपर मिनी ट्रक को रोककर उस पर तिरपाल ढकने लगे। जिससे बारिश से बचा जा सके। 
इतनी ही देर में गढ़ की तरफ से तेज रफ्तार से आ रहे कैंटर ने मिनी ट्रक में टक्कर मार दी। जिससे मिनी ट्रक में सवार करीब 1 दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए और एक व्यक्ति की मौके पर मौंत हो गई घायलों को पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अस्पताल में भर्ती कराया है। पिलखुवा कोतवाली प्रभारी निरीक्षक सुबोध कुमार सक्सेना ने बताया कि सभी लोग गढ़ से आ रहे थे सभी लोग नोएडा के रहने वाले हैं और गढ़ से वापस नोएडा जा रहे थे कि तभी पिलखुवा के हाईवे पर यह सड़क हादसा हो गया। अस्पताल में घायलों का उपचार कराया जा रहा है। मृतक व्यक्ति के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

देश में वोट देने का अधिकार खत्म होना चाहिए: गिरी

बृजेश केसरवानी        

प्रयागराज। साधु संतो की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने योगी सरकार जनसंख्या नियंत्रण के लिए तैयार किए जा रहे कानूनी मसौदे का पुरजोर समर्थन करते हुए कहा कि दो से अधिक बच्चे पैदा करने वाले व्यक्ति को देश में वोट देने का अधिकार खत्म होना चाहिए। परिषद के अध्यक्ष महंत गिरि ने सोमवार को कहा कि साधु संत पहले से ही ये मांग करते आए हैं कि देश में लगातार बढ़ रही जनसंख्या पर नियंत्रण होना चाहिए। जनसंख्या वृद्धि को कानून लाकर रोका नहीं गया तो आने वाले दिनों में बड़ा जनसंख्या विस्फोट हो सकता है। 

जनसंख्या नियंत्रण कानून के तहत यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि सभी समुदाय को जनसंख्या नियंत्रण पर ध्यान देना चाहिए। जनसंख्या नियंत्रण से आने वाली अनेकों समस्याओं से निजात मिलेगी। महंत नरेंद्र गिरी ने कहा है कि दो से ज्यादा बच्चे पैदा करने वाले व्यक्ति को भारत में वोट देने का अधिकार खत्म कर देना चाहिए और सरकार से मिलने वाली सुविधाओं से वंचित किया जाना चाहिए। ऐसे लोगों का वोटर कार्ड और आधार भी नहीं बनना चाहिए। इसके साथ ही साथ ऐसे लोगों को सरकार से मिलने वाली सुविधाओं से भी वंचित किया जाना चाहिए।

14.81 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त राशन वितरण

हरिओम उपाध्याय              
लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से तीन महीने तक 14.81 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त राशन वितरण रविवार से शुरू हो गया। प्रदेश सरकार 80 हजार कोटेदारों के माध्‍यम से गरीब व बेसहारा लोगों को राशन वितरण कर रही है। वहीं, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना तहत जो लाभार्थियों को राशन वितरण किया जा रहा है। वह भी पूर्व की तरह जारी रहेगा। ऐसे में इतने विशाल स्तर पर निःशुल्क राशन वितरण का यह अपनी तरह का सबसे बड़ा अभियान है। मुख्‍यमंत्री ने कोविड प्रोटोकाल के तहत सरकारी राशन की दुकानों से टोकन सिस्‍टम के तहत राशन वितरित किए जाने के निर्देश दिए हैं। 
बता दें कि राज्‍य सरकार की ओर से अंत्योदय और पात्र गृहस्थी राशन कार्डधारकों को 30 जून तक राशन दिया जाएगा। इसके अलावा जुलाई और अगस्त में भी मुफ्त राशन दिया जाएगा। वहीं, अंत्योदय कार्डधारकों को न्यूनतम दर पर तीन किलो चीनी भी दी जाएगी। अन्त्योदय कार्डधारकों को 35 किलो राशन (20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल) और पात्र गृहस्थी राशन कार्डों से सम्बद्ध यूनिटों पर पांच किलो राशन प्रति यूनिट (तीन किलो गेहूं और दो किलो चावल) दिया जाएगा। वहीं, ‘प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना’ के तहत भी नवम्बर तक राशन लाभार्थियों को मुफ्त दिया जाएगा। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि अन्त्योदय राशन कार्डधारक 1 करोड़ 30 लाख 07 हजार 969 और पात्र गृहस्थी राशन कार्डधारक 13करोड़ 41 लाख 77 हजार 983 मिलाकर कुल लगभग 14.81 करोड़ लाभार्थियों को राशन वितरण किया जाना है। इस योजना से दिहाड़ी मजूदर, पटरी दुकानदार, व ठेला लगाने वाले सैकड़ों लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। 
इसके अलावा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रदेश में जो राशन वितरण किया जा रहा है। वह पहले की तरह जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि कोविड प्रोटोकाल के तहत उचित दर की दुकानों पर राशन वितरण के दौरान टोकन सिस्‍टम लागू किया जाएगा। इसमें दुकान पर एक समय में पांच उपभोक्‍ता ही मौजूद रहेंगे। सोशल डिस्‍टेंसिंग बनाए रखने के लिए दो उपभोक्‍ताओं के बीच दो गज की दूरी रखी जाएगी। वहीं, ई पॉस से वितरण के दौरान दुकानों पर सेनीटाइजर, साबुन व पानी अनिवार्य रूप से रखना होगा। इसके उपयोग के बाद ही उपभोक्‍ता ई पॉस मशीन का प्रयोग करेगा।

कोरोना संक्रमण की दर में तेजी से गिरावट दर्ज की

हरिओम उपाध्याय                 
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के यूपी मॉडल से उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेश में तेजी से घटते कोरोना संक्रमण के मामले ट्रिपल टी, टीकाकरण और उचित रणनीति का सकारात्मक परिणाम है। प्रदेश में योगी सरकार द्वारा समय पर लिए गए सफल निर्णय से आज प्रदेश के 74 जिलों में 200 से कम एक्टिव केस दर्ज किए गए हैं। वहीं, 55 जिले ऐसे हैं, जहां कुल एक्टिव केस डबल डिजिट में ही दर्ज किए जा रहे हैं। प्रदेश के अब ज्यादातर जिलों में संक्रमण के नए मामले नहीं मिल रहे, तो कई जिले ऐसे हैं। जहां नए केस इकाई में आ रहे हैं। 
पिछले 24 घंटों में प्रदेश में महज 251 कोरोना के नए मामले सामने आए। इस अवधि में 561 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए। प्रदेश में पिछले 24 घंटों में दो लाख 63 हजार 769 सैम्पल की जांच की गई। अब तक पांच करोड़ 52 लाख 64 हजार 533 कोविड की जांच की जा चुकी हैं। प्रदेश की टेस्ट पॉजिटिविटी दर लगातार एक फीसदी से कम बनी हुई है। प्रदेश में पॉजिटिविटी दर 0.1 प्रतिशत और रिकवरी रेट 98.4 प्रतिशत दर्ज किया गया। जो प्रदेशवासियों के लिए एक सुखद खबर है। 
प्रदेश में कोरोना के मामलों में गिरावट होने और लगातन संक्रमण के प्रसार में कमी होने पर सोमवार से योगी सरकार कोरोना कर्फ्यू में छूट देने जा रही है। इस विषय में शासन द्वारा तय गाइडलाइन का सभी जिलों में कड़ाई से अनुपालन हो इसके लिए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। राज्य सकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ परामर्श समिति ने कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर अध्ययन रिपोर्ट तैयार कर ली है। विशेषज्ञों की रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के सभी जिलों में आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश सीएम ने दिए। उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिए कि तीसरी लहर की आशंका के अनुसार प्रदेशवासियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए सभी ठोस कदम समय से उठाए। 
प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में पीडियाट्रिक आईसीयू और नियोनेटल आईसीयू की स्थापना की जा रही है। बीते दिन सीएम के निर्देशानुसार बेड की संख्या में विस्तार करते हुए 100 बेड और बढ़ाए गए हैं। प्रत्येक मेडिकल कॉलेजों में न्यूनतम 100 बेड बढ़ाने की कार्यवाही की जा  रही है। जिला अस्पतालों और सीएचसी को भी इसी तर्ज पर सुविधायुक्त किया जा रहा है। सीएम ने पीकू और नीकू स्थापना की यह कार्यवाही इसी माह पूर्ण करने के आदेश देते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री को इस संबंध में निरीक्षण कर अगले दो दिवस के भीतर अपनी आकलन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। 

यूपी: सोमवार से मॉल-होटल और रेस्त्रां गुलजार होंगे

अश्वनी उपाध्याय                  
गाजियाबाद। करीब पौने दो माह के लॉकडाउन के बाद सोमवार से मॉल-होटल और रेस्त्रां गुलजार होंगे। कोरोना प्रोटोकॉल एवं शासन के गाइडलाइन के अनुसार 50 फीसदी क्षमता के साथ ये सभी खुलेंगे। मॉल-रेस्त्रां में साफ-सफाई से लेकर सैनेटाइजेशन की तैयारी शुरू कर दी गई है। बिना मॉस्क और तापमान मापे अंदर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। कोरोना की दूसरी लहर फैलने के बाद करीब पौने दो माह से मॉल, होटल रेस्त्रां आदि बंद कर दिए गए थे। मॉल के अलावा होटलों और रेस्टोरेंटों में बैठकर नाश्ता और खाना खाने पर रोक थी। संक्रमण को बढ़ते देख 30 अप्रैल के बाद से जनपद में संपूर्ण लॉकडाउन लागू होने से पूर्ण रुप से तालाबंदी हो गई। कुछ रेस्टोरेंटो से होम डिलीवरी की सिर्फ छूट दी गई थी। बीते 15 जून को उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 21 जून से 50 फीसदी क्षमता के साथ मॉल-होटल-रेस्त्रां को छूट देने के आदेश दिए थे। 
इसके बाद जनपद में इस क्षेत्र के कारोबारियों ने शनिवार से तैयारी शुरू कर दी है।
आरडीसी के कृष्णा सागर होटल-रेस्टोरेंट के प्रबंधक अमित शर्मा ने बताया कि शनिवार को साफ-सफाई और फर्नीचर आदि की सफाई की गई। पुराने खराब सामानों को फेंक दिया गया। रविवार को विशेष सफाई के साथ सैनेटाइजेशन किया जाएगा। कुर्सियों और मेज को दूरी के साथ लगवाया जाएगा। ताकि खाने या नाश्ता करने वाले ग्राहकों को कुछ अंतराल पर बैठाया जा सके।
प्रवेश गेट पर सैनेटाइजर और मॉस्क के बाद ही सभी को प्रवेश दिया जाएगा। कविनगर के तुषार होटल के मालिक तुषार मक्कर का कहना है कि होटल में सफाई और सेनेटाइजेशन का काम रविवार को पूरा कर लिया जाएगा। जिला प्रशासन के गाइडलाइन का इंतजार किया जा रहा है। गाइडलाइन का पालन करते हुए ही होटल संचालित कराया जाएगा। 
उधर, टीएचए में एक दर्जन से अधिक मॉल है। वहीं, रेस्टोरेंट भी अधिक तादाद में है। वैशाली सेक्टर-तीन के महागुन मॉल के प्रबंधक फैसल खां ने बताया कि प्रशासन के कोरोना गाइडलाइन का इंतजार किया जा रहा है। गाइडलाइन के अनुसार ही 21 जून से पंचास फीसदी क्षमता और कोरोना संक्रमण के बचाव के उपायों के साथ मॉल खोले जाएंगे। मॉल के प्रवेश द्वार पर सैनेटाइजेशन और थर्मल स्क्रीनिंग के बाद प्रवेश दिया जाएगा। सुरक्षा कर्मियों से सामाजिक दूरी के पालन कराने पर नजर रहेगी। बगैर मास्क पहने लोगों को अंदर प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

मेट्रो ने महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की: डीएमआरसी

अकांशु उपाध्याय                      
नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो रेल कॉपोर्रेशन (डीएमआरसी) ने कुछ महीनों में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के चलते सामने आईं अनेक बाधाओं के बावजूद अपने चौथे चरण कॉरिडोर का निमार्ण कार्य जारी रखा है और कुछ महत्वपूर्ण उपलब्धियां भी हासिल की हैं। अप्रैल 2021 में लॉकडाउन लगने से पहले डीएमआरसी की साइटों पर मजदूरों की संख्या 4000 से अधिक थी। तथापि लॉकडाउन के बाद अनेक मजदूर इन साइटों से अपने मूल निवास स्थलों को चले गए। इसके अतिरिक्त अनेक मजदूर जो पहले होली के त्यौहार के लिए चले गए थे वे भी वापस नहीं लौटे। इससे कार्यस्थलों पर मजदूरों की संख्या धीरे-धीरे घटकर लगभग 2500 रह गई।
डीएमआरसी ने रुके रह गए अपने मजदूरों की न केवल डाक्टरी और आवास इत्यादि संबंधी देखभाल की बल्कि अपने चौथे चरण के निमार्ण कार्य में कुछ महत्वपूर्ण उपलब्धियां भी हासिल कीं। इस अवधि के दौरान सरकार द्वारा समय-समय पर जारी कोविड संबंधी सभी दिशानिर्देशों का भी सख्ती से पालन किया गया है। कोविड संबंधी प्रतिबंध समाप्त होने के बाद डीएमआरसी की साइटों पर उपलब्ध श्रमशक्ति में अब क्रमिक बढ़ोतरी हुई है। जनकपुरी पश्चिम - आर के आश्रम मार्ग कॉरिडोर पर जनकपुरी पश्चिम और कृष्णा पार्क एक्सटेंशन के बीच सुरंगों के कार्य के लिए डीएमआरसी ने चौथे चरण के पहले भूमिगत सेक्शन में इस अवधि के दौरान कई महत्वपूर्ण लक्ष्य हासिल किए हैं। इन महीनों में डीएमआरसी ने 2.8 किलोमीटर लंबी दोहरी सुरंगों में से एक सुरंग में 500 मीटर की टनलिंग का कार्य पूरा कर लिया है। 
दिल्ली मेट्रो ने कास्टिंग यार्ड में टनल के 50 प्रतिशत से अधिक सेगमेंट का कार्य भी पूरा कर लिया है। इस खंड पर पहली दोहरी सुरंगों के इस वर्ष सितंबर से पहले तक पूरा होने की उम्मीद है। इसी खंड पर डीएमआरसी ने पिछले महीने मुकरबा चौक पर इसी चरण के सबसे पहले टी-गर्डर का निमार्ण करके एक अन्य बड़ी उपलब्धि हासिल की है। ये टी-गर्डर प्री-टेंशन्ड हैं और इनकी कास्टिंग मुंडका स्थित कास्टिंग यार्ड में की जाती है। कास्टिंग के बाद इन गर्डरों को साइट पर लाया जाता है और 400 मी.टन क्षमता वाली दो विशालकाय क्रेनों की मदद से इन्हें लांच किया जाता है। इनमें प्रत्येक गर्डर की लंबाई 37 मीटर है तथा भार लगभग 90 मी.टन है। जिन खंबों पर पहला गर्डर रखा गया है उनकी ऊंचाई भूमितल से लगभग 18 मीटर है। 
इसके अतिरिक्त लांचर की लोड टैस्टिंग मजलिस पार्क में की गई है और लांचर के साथ यू-गर्डर की लांचिग मजलिस पार्क से मुकरबा चौक के इसी खंड पर शुरु की जाएगी। मजलिस पार्क-मौजपुर कॉरिडोर पर भी श्रमशक्ति की कमी के बावजूद कार्य में निरंतर प्रगति हुई है। यू-गर्डरों, टी-गर्डरों की कास्टिंग, यू-गर्डर का इरेक्शन, स्टेशनों व वायाडक्ट स्थलों पर पीयर कैप्स बनाने का कार्य भी जारी रहा है। इसी कॉरिडोर के अंतर्गत यमुना नदी पर सिगनेचर ब्रिज के समीप दिल्ली मेट्रो के पांचवे पुल का निमार्ण भी किया जा रहा है। यह कॉरिडोर महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके पूरा होने से पिंक लाइन पर कनेक्टिविटी का संपूर्ण रिंग पूरा हो जाएगा।
तुगलकाबाद-एयरोसिटी कॉरिडोर पर पंचशील पार्क स्थित कास्टिंग यार्ड पर बड़ी-बड़ी क्रेनें खड़ी करने के साथ साथ समस्त आवश्यक उपकरण इंस्टाल कर लिए गए हैं। यू-गर्डरों और खंबों की कास्टिंग का कार्य भी जारी है। 
अप्रैल और मई 2021 में डीएमआरसी के चौथे चरण के भूमिगत सेक्शनों के लिए चार प्रमुख सिविल टेंडर भी जारी किए गए थे। यह चारों सेक्शन जाइका के माध्यम से प्राप्त ऋण से वित्तपोषित होंगे। तीन टेंडर एयरोसिटी-तुगलकाबाद कॉरिडोर के हैं। जबकि एक टेंडर जनकपुरी पश्चिम - आर के आश्रम मार्ग कॉरिडोर से संबद्ध है। सभी टेंडर प्रोसेसिंग के विभिन्न चरणों में है। देश में कोविड-19 के मामलों में हुए सुधार के चलते आने वाले दिनों में निमार्ण कार्य में और तेजी संभव हो सकेगी। साइटों पर मजदूरों के लिए टीकाकरण कैंप लगाए गए हैं तथा और कैंप लगाए जाने की संभावना है। 
मजदूरों के बीच टीकाकरण से होने वाले लाभ के बारे में जागरुकता उत्पन्न करने के लिए एक अभियान भी चलाया जा चुका है। हालिया दिनों में डीएमआरसी अपने चौथे चरण के विस्तार के एक भाग के रूप में प्राथमिकता वाले तीन कॉरिडोरों पर 65 कि.मी. नई लाइनों के निमार्ण में लगी है। इन कॉरिडोरों के वर्ष 2०25 तक पूरा होने की संभावना है। हालांकि कोविड के हालात को देखते हुए कार्य पूरा किए जाने के लिए लक्ष्यों की तदनुसार समीक्षा की जाएगी।

किसानों से खरीद की गारंटी सुनिश्चित करने की मांग

हरिओम उपाध्याय                             
लखनऊ। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर किसानों के खरीद की गारंटी सुनिश्चित करने की मांग की है। मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में प्रियंका गांधी ने लिखा है कि प्रदेश के तमाम जिलों से मुझे लगातार सूचनाएं आ रहीं हैं कि गेहूं की खरीद में किसानों को बहुत परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। 1 अप्रैल से गेहूं की खरीद शुरू हुई लेकिन कोरोना माहमारी के चलते क्रय केंद्रों पर ताला लटकता रहा। जैसे ही किसानों गेहूं का क्रय केंद्रों पहुँचने लगा उसी समय खरीद को कम करके आधा कर दिया गया।
प्रियंका गांधी ने पत्र में लिखा है कि पंजाब और हरियाणा जैसे प्रदेशों में गेहूं की सरकारी ख़रीद कुल उत्पादन का 80-85% तक होती है।
जबकि उत्तरप्रदेश में 378 लाख मीट्रिक टन उत्पादित गेहूं के मात्र 14% हिस्से की सरकारी केंद्रों पर खरीद हुई है। बहुत सारे किसान अपना गेहूं नहीं बेच पाए हैं। अब क्रय केंद्रों पर किसानों के गेहूं खरीद में सरकारी फरमानों के चलते अफसर ना नुकूर कर रहे हैं। महासचिव प्रियंका गांधी ने पत्र में लिखा है कि मुख्यमंत्री ने कहा था कि हम अंतिम किसान तक गेहूं खरीद की सुविधा देंगे, लेकिन बहुत सारे गाँवों में क्रय केंद्र बंद हो गए हैं और किसानों को दूर मंडियों में जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। प्रदेश के कई हिस्सों में लगातार बारिश हो रही है, नमी के कारण गेहूं के सड़ने का खतरा है। इस स्थिति में किसान अपनी गाढ़ी पसीने की कमाई को औने पौने दाम पर बेचने को मजबूर होंगे। 
उन्होंने पत्र में लिखा है कि कोरोना महामारी और महंगाई के चलते किसानों की हालत पहले से ख़राब है, ऐसे में उनकी फसल की खरीद न हो पाने या औने-पौने दामों में गेहूँ बेचने के लिए मजबूर होने जैसी स्थिति किसानों की कमर तोड़ देगी। महासचिव प्रियंका गांधी ने मांग की है कि क्रय केंद्रों पर 15 जुलाई तक किसानों के गेहूं खरीद की गारंटी की जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री को लिखा है कि प्रत्येक क्रय केंद्र पर खरीद की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए ताकि किसानों को अपना अनाज बेचने के लिए भटकना न पड़े। महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा है कि कई जिलों से इस तरह की खबरें आ रहीं हैं कि एक किसान से एक बार में अधिकम 30 या 50 कुंतल गेहूं खरीदा जा रहा है। इससे किसान बहुत परेशान हैं। इसपर तत्काल प्रभाव से रोक लगाकर किसानों से अधिकतम खरीद की जाए।

मंहगाई के भाव, साग-सब्जियों को लोगों से दूर किया

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। लोगों को कोरोना संक्रमण की महामारी के साथ दो अन्य मोर्चे पर भी बुरी तरह से जूझना पड़ रहा है। राहत की आस में लगे लोगों का जहां रोजाना आवश्यक वस्तुओं के बढ रहे दामों ने करारा झटका दिया है। वही रोजाना बढ़ रहे डीजल पेट्रोल के आसमान छूते दामों ने माल ढुलाई भाड़े में वृद्धि से साग-सब्जियों को लोगों से दूर करना शुरू कर दिया है। 
मौजूदा समय में लोगों को कोरोना संक्रमण की महामारी के साथ कई अन्य मोर्चों पर भी दो-दो हाथ करने पड़ रहे हैं। 
डीजल पेट्रोल की कीमतों में रोजाना हो रही बेतहाशा बढ़ोतरी का सीधा असर घर की रसोई पर पड़ रहा है। डीजल के दामों में बढ़ोतरी होने से माल भाड़े की कीमतों में 20 से लेकर 30 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है। दिल्ली में प्याज और टमाटर की कीमतें एकदम से दोगुनी तक हो गई है। आसपास के इलाकों से आने वाली सब्जियां भी कीमतों के लिहाज से पीछे नहीं हैं। उनके दामों में भी 50 प्रतिशत तक का इजाफा हो गया है। खाद्य तेल 200 प्रति लीटर खरीदकर लोगों को खाना पड़ रहा है। वही दालों की कीमत 120 से लेकर 140 रूपये प्रति किलो तक पहुंचने से लोगों के घरों की रसोई का बजट बिगड़ गया है। 
एशिया की सबसे बड़ी फल और सब्जी मंडी आजादपुर में आलू की कीमत 4 से लेकर 16 रूपये प्रति किलो के बीच थी। खुदरा बाजार में यही आलू 15 से लेकर 20 रूपये प्रति किलो में बेचा जा रहा था। 1 महीने पहले आलू की यही कीमते लगभग आधी थी। इसी प्रकार प्याज की कीमतें शनिवार को साडे 12 प्रति किलो से लेकर साढे 27 रूपये प्रति किलो थी जो बाजार में 40 से लेकर 60 रूपये प्रति किलो तक बिक रही थी। प्याज की कीमतों में भी लगभग दोगुनी वृद्धि हुई है। व्यापारी इसे सीधे तौर पर डीजल की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी का असर बता रहे हैं। सब्जियों के अलावा रसोई की सबसे महत्वपूर्ण चीज खाद्य तेलों की कीमतों में भी रिकॉर्ड तोड़ बढ़ोतरी हुई है। 
सरसों के तेल की कीमत 200 रूपये प्रति लीटर है तो रिफाइंड तेल की कीमत भी 180 से लेकर 190 और 250 रूपये प्रति लीटर तक जा पहुंची है। दाल की कीमतें 90 और 100 रूपये प्रति किलो से बढ़कर 120 व 130 रूपये प्रति किलो पहुंच गई है। उल्लेखनीय है कि आज रविवार 20 जून को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 29 पैसे प्रति लीटर की बढ़त के साथ 97.22 रुपये प्रति लीटर हो गई है तो डीजल भी 28 पैसे प्रति लीटर की बढ़त के साथ 87.97 रुपये प्रति लीटर हो चुका है। देश के अनेक हिस्सों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा हो चुके हैं।

जीवन की कीमत का आकलन करना असंभव हैं

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोविड-19 महामारी के कारण जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा देने में केंद्र द्वारा असमर्थता जताए जाने को लेकर सोमवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि यह सरकार की क्रूरता है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘जीवन की क़ीमत लगाना असंभव है। 
सरकारी मुआवज़ा सिर्फ़ एक छोटी सी सहायता होती है लेकिन मोदी सरकार यह भी करने को तैयार नहीं। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘कोविड महामारी में पहले इलाज की कमी, फिर झूठे आंकड़े और ऊपर से सरकार की यह  गौरतलब है। कि केंद्र ने उच्चतम न्यायालय में कहा है कि कोविड-19 से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को चार चार लाख रुपये का मुआवजा नहीं दिया जा सकता क्योंकि यह वित्तीय बोझ उठाना मुमकिन नहीं है और केंद्र तथा राज्य सरकारों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।

फैक्ट्री में लगीं आग, 6 लोगों के फंसे होने की आशंका

अकांशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। दिल्ली के उद्योग नगर में सोमवार को सुबह जूते की एक फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। जहां पांच से छह लोगों के फंसे होने की आशंका है। 
पुलिस उपायुक्त (बाहरी) परविंदर सिंह ने कहा कि उद्योग नगर में एक जूते की फैक्ट्री में आग लगने की जानकारी देने के लिए हमारे पास सुबह आठ बजकर 56 मिनट पर फोन आया। दमकल की 24 गाड़ियां और 15 अन्य वाहन मौके पर मौजूद हैं और आग पर काबू पाने का प्रयास जारी है।
पुलिस ने बताया कि परिसर में पांच से छह लोगों के फंसे होने की आशंका है। घटना में किसी के हताहत होने की अभी तक कोई खबर नहीं है। दिल्ली के दमकल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आग पर काबू पाने की कोशिश जारी है और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए मौके पर दो सीएटीएस एम्बुलेंस भी मौजूद हैं। आग लगने का कारण अभी पता नहीं चल पाया है।

नोएडा से चल रहें धर्मांतरण रैकेट का भंडाफोड़ किया

हरिओम उपाध्याय                  
लखनऊ। यूपी एटीएस ने नोएडा से चल रहे धर्मांतरण रैकेट का भंडाफोड़ किया है। यूपी पुलिस ने मोहम्मद उमर गौतम और काजी जहांगीर कासमी को इस रैकेट के लिए गिरफ्तार किया है। यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया, कि नौकरी पैसों का लालच देकर दो साल से धर्मांतरण का रैकेट चल रहा था।
कुछ फाइलों से विदेशी फंडिंग के सबूत भी मिले हैं। पुलिस के अनुसार नोएडा 117 सेक्टर के बच्चों का धर्मांतरण कराया गया है। आरोप है कि 1000 से ज्यादा लोगों का इन लोगों ने बीते 2 साल में धर्म परिवर्तन किया है। जिनमें नोएडा के मूक बाघिर 18 बच्चे भी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार ही है रैकेट नोएडा से चलाया जा रहा था।

24 घंटे में कोरोना के 53,256 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। भारत में 88 दिन बाद, 24 घंटे में कोविड-19 के सबसे कम 53,256 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण कुल मामले बढ़ कर 2,99,35,221 हो गए। उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 7,02,887 हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण से 1,422 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,88,135 हो गई। 
देश में 65 दिन बाद संक्रमण से मौत के इतने कम मामले सामने आए हैं। अभी 7,02,887 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 2.35 प्रतिशत है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर भी बढ़कर 96.36 प्रतिशत हो गई है। आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 39,24,07,782 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 13,88,699 नमूनों की जांच रविवार को की गई।
नमूनों के संक्रमित आने की दैनिक दर 3.83 प्रतिशत है, पिछले 14 दिन से यह पांच प्रतिशत से कम बनी है। नमूनों के संक्रमित आने की साप्ताहिक दर भी कम होकर 3.32 प्रतिशत हो गई है। संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या लगातार 39वें दिन संक्रमण के नए मामलों से अधिक रही।
देश में अभी तक कुल 2,88,44,199 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। कोविड-19 से मत्यु दर 1.30 प्रतिशत है। देश में अभी तक कुल 28,0036,898 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लग चुके हैं। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी।वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख के पार हो गए। देश में 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार और चार मई को दो करोड़ के पार चले गए थे।

कानूनों की वापसी पर अड़े किसान 6 माह तक डटें

अकांशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। कृषि कानूनों की वापसी पर अड़े किसान 6 महीने से ज्यादा वक्त से दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं और सरकार से उनकी हर बातचीत अब तक बेनतीजा ही रही है। ऐसे में कई बार किसानों को मनाने को कोशिश हुई लेकिन कानूनों की वापसी से कम कुछ भी प्रदर्शनकारी किसानों को मंजूर नहीं है। अब भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार को धमकी तक दे दी है।
राकेश टिकैत ने रविवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि अब सरकार का इलाज करना पड़ेगा ये माननी वाली नहीं है। उन्होंने इसके साथ ही किसानों से ट्रैक्टर तैयार रखने को कहा है ताकि फिर से दिल्ली कूच किया जा सके। टिकैत ने केंद्र सरकार को आंदोलन तेज करने की चेतावनी भी दे डाली है।संयुक्त किसान मोर्चा की अगुवाई में करीब 40 किसान संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं और इस प्रदर्शन को 26 जून को सात महीने पूरे होने जा रहे हैं। ऐसे में आंदोलन तेज होने की पूरी आशंका है। 26 जून को ही किसान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती की पुण्यतिथि भी है। 
किसान दिल्ली के गाज़ीपुर, टीकरी और सिंघू बॉर्डर पर 26 नंवबर से धरना दे रहे हैं। उनकी मांग है कि केंद्र सरकार तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करे और न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दे।
सरकार और किसान यूनियनों के बीच अब तक 11 दौर की बातचीत हो चुकी है। आखिरी बार बातचीत 22 जनवरी को हुई थी। 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद दोनों पक्षों के बीच बातचीत रुक गई थी। इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने भी 11 जनवरी 2021 को इन तीनों कृषि कानूनों के क्रियान्वयन को अगले आदेश तक के लिये स्थगित कर दिया था। साथ ही गतिरोध को दूर करने के लिये चार सदस्यीय कमेटी की नियुक्ति की थी।
हालांकि इस मुद्दे पर सरकार का रुख साफ है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लिये जाने से एक बार फिर इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि सरकार इन कानूनों के विभिन्न प्रावधानों को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों के साथ बातचीत फिर शुरू करने को तैयार है।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर शिविरों का आयोजन किया

हरिओम उपाध्याय                
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मंडल स्तर पर योग शिविरों का आयोजन किया। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने नागरिकों को बधाई दी। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से संयुक्त राष्ट्रसंघ ने भारत की इस प्राचीन विधा को अंतरराष्ट्रीय मान्यता दी है और तबसे यह पूरी दुनिया में मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘योग, भारतीय मनीषा द्वारा विश्व को प्रदान किया गया वह अमूल्य उपहार है जो शरीर और मन दोनों को स्वस्थ रखता है। 
आइए इस अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हम सभी योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाने का संकल्प लें।’भाजपा प्रवक्ता के अनुसार पार्टी ने प्रदेश के सभी 1918 मंडलों में योग शिविर का आयोजन किया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ में अपने आवास पर योग किया, वहीं प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने पार्टी के राज्य मुख्यालय पर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ योग-प्राणायाम किया। भाजपा के सांसद, विधायक, मंत्री, आयोग, निगम, बोर्ड के अध्यक्ष व सदस्यों सहित पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता विश्व योग दिवस पर योग शिविर में सुबह पहुंचे और योग किया।

उम्मीद की किरण से आत्मबल ही स्रोत बना: पीएम

अकांशु उपाध्याय         

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान योग दुनिया के लिए ”उम्मीद की किरण” और इस मुश्किल समय में आत्मबल का स्रोत बना रहा। मोदी ने सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर अपने संबोधन में कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ मिलकर भारत ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अब दुनिया को ‘एम-योग’ ऐप की शक्ति मिलने जा रही है। जिस पर सामान्य नियमों पर आधारित योग प्रशिक्षण के कई वीडियो दुनिया की अलग-अलग भाषाओं में उपलब्ध होंगे। इससे ‘एक विश्व, एक स्वास्थ्य’ का लक्ष्य पूरा होगा। उन्होंने इस संदर्भ में कहा, ”जब भारत ने संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था, तो उसके पीछे यही भावना थी कि यह योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो।

आज इस दिशा में भारत ने संयुक्त राष्ट्र, विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है।” मोदी ने कहा, ” आज जब पूरा विश्व कोविड-19 वैश्विक महामारी का मुकाबला कर रहा है, तो योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है।” प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले दो वर्ष से दुनिया भर के देशों में और डेढ़ साल में भारत में भले ही बड़ा सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित नहीं हुआ हो। लेकिन योग दिवस के प्रति उत्साह कम नहीं हुआ है। 

दुनिया के अधिकांश देशों के लिए योग दिवस कोई उनका सदियों पुराना सांस्कृतिक पर्व नहीं है। इस मुश्किल समय में, इतनी परेशानी में लोग इसे भूल सकते थे, इसकी उपेक्षा कर सकते थे। लेकिन इसके विपरीत, लोगों में योग के प्रति उत्साह बढ़ा है, योग से प्रेम बढ़ा है। उन्होंने कहा, ”जब कोरोना वायरस के अदृश्य वायरस ने दुनिया में दस्तक दी थी, तब कोई भी देश, साधनों से, सामर्थ्य से और मानसिक अवस्था से, इसके लिए तैयार नहीं था।


कश्मीर: सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में बारामूला जिले के सोपोर इलाके में सुरक्षा बलों के साथ रात भर चली मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकवादियों में से एक वांछित आतंकवादी मुदस्सिर पंडित था और दूसरा आतंकवादी पाकिस्तान का रहने वाला था। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि यह मुठभेड़ उत्तर कश्मीर जिले के सोपोर के गुंड ब्राथ इलाके में रविवार रात शुरू हुई थी।

इलाके में मुदस्सिर पंडित समेत कम से कम तीन आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर सुरक्षा बलों ने यहां घेराबंदी करके तलाश अभियान चलाया था। उन्होंने कहा, ‘‘लश्कर-ए-तैयबा का कुख्यात आतंकवादी मुदस्सिर पंडित सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। वह तीन पुलिसकर्मियों, दो पार्षद और दो आम नागरिकों की हाल में की गई हत्या में शामिल था।’’

योग: उत्तराखंड के सीएम तीरथ ने योगाभ्यास किया

पंकज कपूर                       
देहरादून। देशभर के साथ ही देवभूमि उत्तरखंड के अलग-अलग हिस्सों में भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। आयुष और आयुष शिक्षा विभाग उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय में योगाभ्यास का आयोजन कर रहा है। जिसमें मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और वन मंत्री हरक सिंह रावत ने योगाभ्यास किया। इस दौरान सीएम रावत ने सभी को योग दिवस की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि भले ही हम कोरोना के कारण सामूहिक रूप से योगाभ्यास नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन लोग ऑनलाइन माध्यम से जुड़कर अपने घरों पर रहकर योग कर रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि उत्तराखंड की धरती से निकलकर ही योग देश और दुनिया में पहुंचा है।
आयुष मंत्रालय के स्लोगन, घर पर रहकर करें योग, परिवार के साथ करें योग। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुनील कुमार जोशी ने जन सामान्य से अनुरोध किया है कि वह अपने-अपने घरों में रहकर उपरोक्त लिंक से जुड़कर योगाभ्यास करें।
 

विश्व में कोरोना संक्रमित संख्या-17.84 करोड़ हुईं

वाशिंगटन डीसी/नई दिल्ली। विश्वभर में कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप जारी है और बीते एक दिन में तीन लाख चार हजार 416 लोग संक्रमित हुए है। जिसे मिलाकर अब तक 17.84 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हो चुके है तथा 38.64 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17 करोड़ 84 लाख 32 हजार 437 हो गयी है। जबकि 38 लाख 64 हजार 694 लोग इस महमारी से जान गंवा चुके हैं।
विश्व में महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना वायरस की रफ्तार थोड़ी धीमी पड़ी है। यहां संक्रमितों की कुल संख्या 3,35,41,889 हो गई है और छह लाख एक हजार 826 लोगों की इसके संक्रमण से मौत हो गई है। दुनिया में कोरोना संक्रमितों के मामले में भारत दूसरे और मृतकों के मामले में तीसरे स्थान पर काबिज है। देश में पिछले 24 घंटों में 53,256 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 2,99,35,221 हो गया। 
इस दौरान 78,190 और मरीजों के स्वस्थ होने के बाद इस महमारी को मात देने वालों की कुल संख्या बढ़कर 2,88,44,199 हो गई हैं। सक्रिय मामले 26,356 कम होकर 7,02,887 रह गये हैं। इसी अवधि में 1,422 मरीजों की जान जाने के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 3,88,135 हो गया है। ब्राजील संक्रमितों के मामले में अब तीसरे स्थान पर है। देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और अभी तक इससे 1,79,27,928 लोग प्रभावित हुए हैं जबकि पांच लाख से अधिक 5,01,825 मरीजों की मौत हो चुकी है। ब्राजील कोरोना से हुयीं मौतों के मामले में विश्व में दूसरे स्थान पर है। संक्रमण के मामले में फ्रांस चौथे स्थान पर है।
जहां कोरोना वायरस से अब तक 58.19 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 1,10,900 मरीजों की मौत हो चुकी है। तुर्की में कोरोना से प्रभावित संख्या 53.70 लाख से अधिक हो गयी है और 49,185 मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना संक्रमितों की संख्या 52.55 लाख से अधिक हो गई है और इसके संक्रमण से 1,27,206 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस फिर से तेजी से पांव पसार रहा है यहां प्रभावितों की कुल संख्या 46.46 लाख से अधिक हो गयी है और 1,28,240 लोगों की मौत हो चुकी है। मृतकों के मामले में ब्रिटेन पांचवें स्थान पर है। इस बीच इटली को पीछे छोड़ते हुए संक्रमण के मामले में अर्जेंटीना आगे निकल चुका है। 
अर्जेंटीना में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 42.68 लाख से अधिक हो गयी है तथा मृतकों की संख्या 89,043 तक पहुंच गयी है।इटली में कोरोना प्रभावितों की संख्या 42.52 लाख से अधिक हो गयी है और 1,27,270 मरीजों की जान जा चुकी है। कोलंबिया में कोरोना वायरस से 39.45 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 99,934 लोगों ने जान गंवाई है। स्पेन में इस महामारी से 37.57 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 80,652 लोगों की मौत हो चुकी है। जर्मनी में वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 37.30 लाख से अधिक हो गई है और 90,400 लोगों की मौत हो चुकी है।
इस बीच ईरान ने संक्रमण के मामले में पोलैंड को पीछे छोड़ दिया है और वहां संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30.95 लाख से ज्यादा हो गयी है तथा मृतकों का आंकड़ा 82,965 तक पहुंच गया है। पोलैंड में कोरोना से 28.78 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और इस महामारी से 74,828 लोग जान गंवा चुके हैं। मैक्सिको में कोरोना से 24.77 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यह देश मृतकों के मामले विश्व में चौथे स्थान पर है जहां अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 2,31,187 लोगों की मौत हो चुकी है।
यूक्रेन में संक्रमितों की संख्या 22.91 लाख से अधिक है और 54,171 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। पेरू में संक्रमितों की संख्या 20.26 लाख से अधिक हो गयी है, जबकि 1,90,202 लोगों की जान जा चुकी है। इंडोनेशिया में भी कोरोना संक्रमण के मामले 19.89 लाख के पार पहुंच गये हैं जबकि 54,662 लोगों की मौत हो चुकी है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस से 18.23 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 58,702 लोगों की मौत हो चुकी है।
नीदरलैंड में कोरोना से अब तक 17.06 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और यहां इस महामारी से 18,007 लोग जान गंवा चुके हैं। चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 16.66 लाख से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं और यहां इस महामारी से 30,280 लोग जान गंवा चुके हैं। महामारी के उद्गम स्थल वाले देश चीन में 1,03,543 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 4,846 लोगों की मौत हो चुकी है। पड़ोसी देश पाकिस्तान में अब तक कोरोना से 9.49 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 22,007 मरीजों की मौत हो चुकी है। अन्य पड़ोसी देश बंगलादेश में भी कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है जहां करीब 8.51 लाख लोग संक्रमित हुए हैं और 13,548 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा दुनिया के अन्य देशों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण से स्थिति खराब है।

यूपी माध्यमिक शिक्षा परिषद ने फाॅर्मूला जारी किया

हरिओम उपाध्याय                  
लखनऊ। कोरोना के कारण हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा रद्द करने के बाद रिजल्ट को लेकर माथापच्ची शुरू हो गई है। हाल ही में सीबीएसई ने विद्यार्थियों को पास करने का अपना फाॅर्मूला जारी किया था। अब उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने भी अपना फाॅर्मूला जारी कर दिया है। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी दी है। इसमें उन्होंने बताया है कि अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला की अध्यक्षता में गठित कमेटी द्वारा तैयार ड्राफ्ट को 20 जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने प्रस्तुत किया गया था।
जिसे उनकी मंजूरी के बाद सार्वजनिक कर दिया गया है। उप मुख्यमंत्री ने मूल्यांकन मानदंड जारी करते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के परीक्षाफल के मूल्यांकन के लिए तय किए गए फॉर्मूला के अनुसार, कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा के मूल्यांकन के लिए 10वीं कक्षा, 11वीं कक्षा और 12वीं के अंक जोड़े जाएंगे। इस योजना के तहत हाईस्कूल परीक्षा में मिले अंको का 50 फीसदी, कक्षा 11 के वार्षिक/अर्धवार्षिक परीक्षा के 40 फीसदी अंक और कक्षा 12वीं में हुई प्री-बोर्ड परीक्षाओं के प्राप्तांकों के 10 फीसदी अंक जोड़े जाएंगे।उप मुख्यमंत्री ने बताया है कि हाईस्कूल परीक्षा का जो परिणाम जारी होगा, उसमें कक्षा नौ का 50 फीसद और 10वीं में हुई प्री बोर्ड परीक्षा के 50 फीसद अंक जोड़े जाएंगे।

अंतरराष्ट्रीय योग विद्या में चीन ने भारत को पछाड़ा

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली/ बीजिंग। स्वदेशी कार्यकर्ता भले ही चीन के उत्पादों का विरोध कर रहे हो। मगर भारतीय योग विद्या को चीन ने गले लगा कर भारत को पीछे कर दिया है। पहले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के बाद से वहां अब तक 50 भारत-योग विद्यालय और अमेरिका में पहला योग विश्वविद्यालय भी खुल गया है। 100 से ज्यादा देशों में कई योग केंद्र, सर्टिफिकेट कोर्स भी चला रहे हैं। जबकि भारत में मोरारजी देसाई के नाम पर योग विश्वविद्यालय खुलना था, इस बार के अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्वविद्यालय का फीता नहीं काट पाएंगे। 
योग की दयनीय स्थिति तब है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस क्षेत्र को खुली छूट दी हुई है।प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के दौरान चीन के लोगों में भारतीय योग के प्रति काफी झुकाव देखा गया था क्योंकि दुनिया में भारत के बाद सबसे ज्यादा चीनी नागरिकों ने ही योग दिवस में हिस्सा लिया था। सन 2015 में चीन में अपने योग शिक्षक बनाने का फैसला लिया गया और यून्नान शहर में पहला योग कालेज खोला गया जिसका नाम भारत-चीन योग विद्यालय है। 
इसके बाद वहां पर एक-एक करके अब तक 50 विद्यालय खुल चुके हैं जिनमें पोस्ट ग्रेजुएट स्तर की योग विद्या दी जाती है। चीन में 3 वर्ष के लिए पीजी कोर्स की पढ़ाई होती है जिसमें वहां के छात्रों को एक वर्ष के लिए भारत आना पड़ता है जो विभिन्न योग विद्यालयों मेइंटर्नशिप जैसी पढ़ाई करते हैं। इसी तरह अमेरिका में भी लास एंजिल्स शहर में स्वामी विवेकानंद योग विश्वविद्यालय खोला गया है जिसमें वहां की सरकार ने 50 लाख डॉलर खर्च किए थे। यहां भी पोस्ट ग्रेजुएट एवं पीएचडी की डिग्री दी जाती है। भारत में पहला योग विश्वविद्यालय बेंगलुरु में सन 2002 में स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान के नाम से खोला था। जिसके कुलाधिपति डॉ एच आर नागेंद्र हैं अमेरिकी योग विश्वविद्यालय का चेयरमैन भी डॉ नागेंद्र को बनाया गया है।
इस विश्वविद्यालय का नाम स्वामी विवेकानंद के नाम से अमेरिका ने इसलिए रखा है क्योंकि वन 1893 में स्वामी विवेकानंद ने शिकागो में जो ऐतिहासिक उद्बोधन दिया था उसमें अध्यात्म और योग का भी काफी उल्लेख किया था। सरकारी स्तर पर भारत में योग को पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही बढ़ावा दिया और उन्हीं की पहल पर संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का ऐलान किया था।
मगर यहां योग की हालत यह है कि देश की राजधानी दिल्ली में मोरारजी देसाई के नाम पर एक योग विश्वविद्यालय कई वर्षों से प्रस्तावित है मगर दो-तीन मंत्रालयों के बीच मामला फंसा हुआ है। अभी यह मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान के नाम से इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय के अधीन चल रहा है। सभी राज्यों के विश्वविद्यालयों से कहा गया था की डिग्री कॉलेजों में योग विज्ञान की पढ़ाई को अनिवार्य किया जाए एवं उनके विभाग खोले जाएं। लेकिन अभी 5 फीसद काम भी नहीं हुआ है। योग आयुष मंत्रालय व उसकी पढ़ाई शिक्षा मंत्रालय के अधीन है।

चयनित टीम में रेलवे के 4 खिलाड़ियों का चयन किया

टोक्यो/ अहमदाबाद। टोक्यो में इस वर्ष 23 जुलाई से आयोजित होने वाले ओलंपिक की हॉकी स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चयनित टीम में पश्चिम रेलवे के चार खिलाड़ियों का चयन किया गया है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा यहां जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पश्चिम रेलवे के लिए यह गर्व का विषय है। टोक्यो ओलंपिक में खेलने जा रही पुरुष और महिला भारतीय हॉकी टीमों में पश्चिम रेलवे के दो महिला और दो पुरुष हॉकी खिलाड़ी दल का हिस्सा होंगे। महाप्रबंधक आलोक कंसल ने इन खिलाड़ियों को बधाई दी और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए उनका उत्साहवर्धन किया। 
उल्लेखनीय है कि दीप ग्रेस एक्का और नवनीत कौर टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने जा रही जो भारतीय महिला हॉकी टीम का हिस्सा हैं, जबकि अमित रोहिदास और नीलकांत शर्मा पुरुष हॉकी टीम का हिस्सा हैं। चार खिलाड़ियों में से तीन पश्चिम रेलवे के मुंबई डिवीजन के टिकट चेकिंग कैडर से संबंधित हैं, जबकि सुश्री एक्का मुंबई सेंट्रल में कार्यालय अधीक्षक के पद पर कार्यरत हैं। दीप ग्रेस एक्का और नवनीत कौर ने इससे पहले 2016 में आयोजित रियो ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। वे जकार्ता में आयोजित 2018 – एशियाई खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम की सदस्य भी थीं। 
अमित रोहिदास 2018 – एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के सदस्य थे। अमित रोहिदास और नीलकांत शर्मा 2019 में भुवनेश्वर में आयोजित आईएचएफ हॉकी विश्व कप में रजत पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के भी सदस्य थे। जहां एक ओर पश्चिम रेलवे ने हमेशा अपने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है तो वही दूसरी ओर पश्चिम रेलवे के खिलाड़िओं ने हमेशा अपने प्रदर्शन और उपलब्धियों से संबंधित क्षेत्रों में अपना एक अलग स्थान बनाया है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन
सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि श्रीमती शिक्षा पत्नी तीरथ पाल निवासी विजय विहार, लोनी गाजियाबाद के द्वारा गलत आचरण के कारण अपने पुत्र मोनू एवं पुत्रवधू मंजू से सभी प्रकार के संबंध विच्छेद कर लिए हैं। भविष्य में इनके द्वारा किसी भी कृत्य से कोई संबंध नहीं है। किसी भी प्रकार के कृत्य के लिए स्वयं जिम्मेदार होंगे। इनसे भविष्य में मेरा किसी प्रकार का कोई लेन-देन अथवा संबंध नहीं है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-310 (साल-02)
2. मंगलवार, जून 22, 2021
3. शक-1984, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:42, सूर्यास्त 07:16।
5. न्‍यूनतम तापमान -20 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.।
बरसात की संभावना
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने शुक्रवार को एक मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया। जिसके तहत सहयोगी देशों को कनेक्टिवि...