सोमवार, 11 मई 2020

'राष्ट्रपति' ने कहा, वैज्ञानिकों पर गर्व

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे वैज्ञानिकों की प्रशंसा की है। राष्ट्रपति ने कहा कि वे देश को गौरवान्वित और आत्मनिर्भर बना रहे हैं। राष्ट्रपति ने सोमवार को राजस्थान के पोखरण में 1998 के परमाणु परीक्षणों की वर्षगांठ के अवसर पर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर लोगों को शुभकामनाएं दीं।


कोविंद ने ट्वीट कर कहा, हम विज्ञान और प्रौद्योगिकी को समावेशी विकास के प्रमुख उपकरणों के रूप में मान्यता देते हैं। हमारे वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई के अग्रिम मोर्चे पर हैं। इस अवसर पर हम राष्ट्र को आत्मनिर्भर बनाने में वैज्ञानिक समुदाय के अतुलनीय योगदान का जश्न मनाते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोमवार को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर उन लोगों की प्रशंसा की, जो कोरोना वायरस को हराने के लिए अनुसंधान में सबसे आगे हैं। उन्होंने 1998 में पोखरण परीक्षण करने वाले देश के वैज्ञानिकों की असाधारण उपलब्धि को भी याद किया। मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर हमारा देश उन सभी को सलाम करता है, जो दूसरों के जीवन में सकारात्मक अंतर लाने के लिए प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहे हैं। हम 1998 में इस दिन अपने वैज्ञानिकों की असाधारण उपलब्धि को याद करते हैं। यह भारत के इतिहास में एक उल्लेखनीय क्षण था।


प्रधानमंत्री ने कहा, आज दुनिया को कोविड-19 से मुक्त बनाने के प्रयासों में प्रौद्योगिकी कई तरह से मदद कर रही है। मैं कोरोना वायरस को हराने के तरीकों पर अनुसंधान करने वाले सभी लोगों को सलाम करता हूं। मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि मानव जाति एक स्वस्थ और बेहतर ग्रह बनाने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करेगी। विदेश मंत्रालय के सहयोग से 17 अप्रैल, 2020 को रायपुर स्थित अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान (एम्मस) के जरिए दक्षिण एशियाई देशों के चिकित्साकर्मियों को कोविड-19 के खतरे, इससे बचने के उपाय और चिकित्सा को लेकर एक चार सत्रीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। पाकिस्तान व मालदीव के अलावा अन्य सभी देशों ने इसमें हिस्सा लिया और आगे भी इस तरह का कार्यक्रम चलाने पर सहमित बनी। वैसे मालदीव ने भी तकनीकी वजह से हिस्सा नहीं लिया। सार्क के अन्य देशों ने आयोजन को काफी लाभप्रद बताया। विदेश मंत्रालय के सहयोग से सार्क देशों के लिए वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया था। इसका प्रस्ताव पीएम नरेंद्र मोदी की तरफ से सार्क देशों के प्रमुखों की बैठक में किया गया था। अभी जबकि अधिकांश सार्क देशों में यह महामारी ने भयंकर रूप लेना शुरु कर दिया है तो इस प्रशिक्षण को सभी देशों ने काफी उपयोगी बताया है।


मशहूर इतिहासकार की हुई मौत

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में कोरोना संक्रमण की वजह से मशहूर इतिहासकार की मौत हो गई है। 68 साल के वासुदेवन की रविवार तड़के महानगर के एक निजी अस्पताल में मौत हुई। वासुदेवन यूरोपीय और रूसी इतिहास के साथ ही भारत-रूस संबंधों के विशेषज्ञ थे। कोलकाता विश्वविद्यालय में प्रोफ़ेसर रहे वासुदेवन ने केंब्रिज विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन से पीएचडी तक की पढ़ाई की थी। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया,“वासुदेवन को चार मई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अगले दिन उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉज़िटिव आई थी। शनिवार रात को उनको दो बार दिल का दौरा पड़ा था। वासुदेवन कलकत्ता विश्वविद्यालय में चाइना सेंटर के निदेशक थे। उससे पहले वे मौलाना अबुल कलाम आज़ाद इंस्टीट्यूट ऑफ़ एशियन स्टडीज के निदेशक रहे थे। वे वर्ष 2011 से 2014 के बीट इंडियन काउंसिल ऑफ़ हिस्टोरिकल रिसर्च के सदस्य भी रहे। राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत तमाम हस्तियों ने वासुदेवन के निधन पर शोक जताया है।


सालों के बाद वैज्ञानिकों ने ढूंढ़े 2 चंद्रमा

नई दिल्ली। चंदा मामा की कहानी सुनकर बड़े होते हुए क्या हमने कभी सोचा था कि ये इकलौता चंद्रमा नहीं। लगभग 50 से ज्यादा सालों तक रिसर्च के बाद आखिरकार वैज्ञानिकों को धरती के पास दो अतिरिक्त चंद्रमा दिखे। हालांकि ये बात और है कि वे पूरी तरह से धूल से अटे हुए हैं और आम लोगों को दिखाई नहीं दे सकते।


ये स्टडी सबसे पहले सितंबर 2018 को एक साइंस जर्नल में आई, जिसमें वैज्ञानिकों ने दावा किया कि धरती के पास कुल तीन चंद्रमा हैं। यूरोपियन देश हंगरी की राजधानी बुदापेस्ट की सबसे पुरानी और महत्वपूर्ण यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों की टीम लंबे समय से इसपर शोध में लगी हुई थी। दरअसल धरती से लगभग 250,000 मील की दूरी पर कुछ रहस्यमयी बादल दिखे। ये दूरी उतनी ही है, जितनी दूरी चंद्रमा की है।इन्हीं रहस्यमयी बादलों पर शोध में ये नतीजे दिखे।


मेलबोर्नः लॉकडाउन का विरोध, अरेस्ट

मेलबोर्न में लॉकडाउन के विरोध में प्रदर्शन


सिडनी। ऑस्ट्रेलिया में लॉकडाउन के विरोध में एक प्रदर्शन हुआ जिसके बाद पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया। विक्टोरिया प्रदेश की राजधानी मेलबोर्न में लगभग 150 लोगों ने प्रदेश के संसद भवन के बाहर धरना दिया।


पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों पर लॉकडाउन नियम तोड़ने के लिए 1,600 ऑस्ट्रेलियन डॉलर यानी लगभग 80,000 रूपए तक का जुर्माना लग सकता है। मेलबोर्न में प्रदर्शनः ऑस्ट्रेलिया में चरणबद्ध तरीक़े से लॉकडाउन में ढील दी जा रही है और योजना है कि जुलाई तक देश की अर्थव्यवस्था कोविड मुक्त कर लिया जाएगा। मगर मेलबोर्न में एक कसाईख़ाने से जुड़े मामले संक्रमण में तेज़ी आने के बाद विक्टोरिया सरकार ने ढील देने की प्रक्रिया को धीमा कर दिया है। रविवार को मेलबोर्न में हुए प्रदर्शन से पहले अमरीका, ब्राज़ील और कई अन्य देशों में लोगों ने पाबंदियों को नकारते हुए सड़कों पर आकर प्रदर्शन किए हैं।


ब्रिटेनः नंबर का नाटक खेल रही 'सरकार'

ब्रिटेन में जनता के साथ नंबर का नाटक खेल रही है सरकार'
ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैन्कॉक की एक दैनिक ब्रीफ़िंग


लंदन। केम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के एक प्रतिष्ठित सांख्यिकीविद् ने बीबीसी से कहा है कि ब्रिटेन में सरकार जनता को सही सूचना देने की जगह नंबर का नाटक खेल रही है। डेविड स्पीजलहाल्टर ने सरकार की दैनिक ब्रीफ़िंग की आलोचना की और कहा कि ऐसा लगता है कि ये ब्रीफ़िंग प्रधानमंत्री कार्यालय की सूचना देने वाली टीम की तैयारी से होती है ना कि विशेषज्ञों से। उन्होंने कहा,"मैं केवल ये चाहता हूँ कि ये आँकड़े ऐसे लोग तैयार करते और पेश करते जिन्हें इसकी ताक़त और कमियों का पता होता और जो दर्शकों का थोड़ा सम्मान करते।


नेपाल में भी जारी है वायरस संक्रमण

काठमांंडू/ बर्लिन। नेपाल में आज सुबह कोरोना वायरस (COVID-19)के 10 नए केस सामने आए हैं।  देश में अब तक 120 मामले सामने आ गए हैं। समाचार एजेंसी रायटर्स के अनुसार जर्मनी में सोमवार को कोरोना वायरस (COVID-19)के 357 नए मामले सामने आए और 22 मौत हो गई है। देश में अब तक 1,69,575 केस सामने आ गए हैं और 7,417 लोगों की मौत हो गई है।


ब्राजील में कोरोना वायरस (COVID-19) के 1,60,000 से ज्यादा मामले सामने आ गए हैं। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार यहां अब तक 11,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।  61,000 लोग ठीक हो गए हैं।


मानसून सत्र समय पर शुरू होगाः बिरला

उम्मीद है मॉनसून सत्र समय पर शुरू होगाः ओम बिरला
ओम बिरला


नई दिल्ली। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने उम्मीद जताई है कि मॉनसून सत्र समय पर शुरू हो सकेगा। स्पीकर बिरला ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा,"कोविड-19 संकट के बावजूद, मैं आशावान हूँ कि सत्र समय पर आरंभ हो सकेगा। हालाँकि ये तब की परिस्थितियों पर निर्भर करेगा। मॉनसून सत्र आम तौर पर जून के अंतिम सप्ताह या जुलाई के पहले सप्ताह में शुरू होता है। पिछले वर्ष ये सत्र 20 जून से 7 अगस्त तक चला था।


10 राज्य में 1 भी संक्रमण नहींः हर्षवर्धन

ब्रजेश मिश्र


नई दिल्ली। डॉ. हर्षवर्धन केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के उस बयान से असहमति जताई है जिसमें उन्होंने कहा था कि आयुष की कुछ दवाओं का ट्रायल कोरोना वायरस से लड़ रहे हाईरिस्क वर्कर्स पर किया जाएगा।


पिछले 24 घंटों में 10 राज्यों में एक भी नया संक्रमण नहींः हर्षवर्धन


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि पिछले 24 घंटों में 10 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। इनमें से चार राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में अब तक एक. भी व्यक्ति संक्रमित नहीं हुआ है। दिल्ली में एक कोविड केयर सेंटर का दौरा करने पहुँचे स्वास्थ्य मंत्री ने पत्रकारों को ये जानकारी दी।


रॉकेट का उपरी हिस्सा फता, नुकसान

मास्को। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी के रॉकेट का ऊपरी हिस्सा अंतरिक्ष में फट गया है। अब इससे निकलने वाला कचरा पृथ्वी की कक्षा में फैल गया है। हिंद महासागर के ऊपर रूसी रॉकेट टूटा और उसके 65 टुकड़े पृथ्वी के ऊपर घूम रहे सैटेलाइट्स के लिए खतरा बनकर मंडरा रहे है। ये टुकड़े सैटेलाइट्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं।


हिंद महासागर के ऊपर स्पेस में फटा रूसी रॉकेट, टुकड़ों से सैटेलाइट्स को खतरा


रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रॉसकॉसमॉस के अनुसार रूस के इस रॉकेट का नाम है फ्रीगेट-एसबी (Fregate-SB) जिसने 2011 में रूसी सैटेलाइट स्पेक्टर-आर (Spektr-R) को अंतरिक्ष में स्थापित किया था। यह रूस का जासूसी सैटेलाइट था। लेकिन इसने पिछले साल काम करना बंद कर दिया था। रॉसकॉसमॉस ने बताया कि 8 मई को भारतीय समयानुसार सुबह 10.30 से 11.30 बजे के बीच हिंद महासागर के ऊपर कहीं पर रॉकेट टूटा है। अब उसका कचरा धरती की कक्षा में तैर रहा है। रूसी एजेंसी ये पता कर रही है कि कितने हिस्सों में रॉकेट का अगला हिस्सा टूटा है।


वहीं, अमेरिका का यूएस18 स्पेस कंट्रोल स्क्वाड्रन ने कहा है कि उसने उस रॉकेट के टूटने के बाद 65 टुकड़े देखे हैं जो धरती के ऊपर चक्कर लगा रहे सैटेलाइट्स के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। ये लोग इन 65 टुकड़ों की दिशा और गति आदि को ट्रैक कर रहे हैं।


अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा और यूरोपियन स्पेस एजेंसी ईएसए भी रूस के इस रॉकेट के कचरे को ट्रैक कर रही है। ताकि उनके सैटेलाइट्स को कोई खतरा न हो। अगर हो तो वो अपने सैटेलाइट्स की दिशा बदल सकें। यूरोपियन स्पेस एजेंसी ईएसए अगले पांच सालों में अंतरिक्ष के कचरे से अपने सैटेलाइट्स को बचाने की तकनीक पर 3271 करोड़ रुपए खर्च करने की योजना बना रही है। इनमें से एक मिशन ऐसा भी है जो सैटेलाइट्स अब काम नहीं करते उन्हें खींचकर सुदूर अंतरिक्ष में भेज देना या कक्षा से अलग कर देना है।


भारत में आयगा 1 और वायरस, तबाही

आसमान से आएगा वायरस: धरती में मचेगी तबाही, कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक


अमेरिका की अंतरिक्ष रिसर्च एजेंसी और वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि दूसरे ग्रहों से लाए गए नमूने पृथ्वी पर किसी नए वायरस का खतरा बढ़ा सकते हैं। 


नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने दुनियाभर में तो त्राही-त्राही मचा दी है, लेकिन अब दूसरों अन्य ग्रहों में जीवन की खोज में लगे वैज्ञानिकों को भी डर सता रहा है। अमेरिका की अंतरिक्ष रिसर्च एजेंसी और वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि दूसरे ग्रहों से लाए गए नमूने पृथ्वी पर किसी नए वायरस का खतरा बढ़ा सकते हैं। साथ ही विशेषज्ञों ने मंगल ग्रह से पृथ्वी पर लाए जाने वाले नमूनों को लेकर भी सावधान किया है।


खतरनाक वायरस को दावतः ऐसे में स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर स्कॉट हबार्ड ने कहा, ‘मंगल ग्रह से लाए गए मिट्टी के नमूने पृथ्वी पर किसी नए खतरनाक वायरस को दावत दे सकते हैं। इसलिए मंगल ग्रह से लौटते वक्त ‘प्लानैटरी प्रोटेक्शन’ को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है।’


आगे प्रोफेसर स्कॉट हबार्ड ने कहा, ‘मेरी राय में मंगल ग्रह की चट्टानें जो लाखों साल पुरानी हैं उनमें जरूर एक सक्रिय जीवन सूत्र होगा जो पृथ्वी को संक्रमित कर सकता है। सैंपल आने के बाद इसे क्वारनटीन किया जाना चाहिए, जब तक ये साबित न हो जाए कि इसमें इबोला वायरस जैसा कोई खतरा नहीं है।’ एस्ट्रोनॉट्स को भी क्वारनटीनः बाद में उन्होंने कहा कि दूसरे ग्रहों से धरती पर नमूने लेकर लौटने वाले एस्ट्रोनॉट्स को भी क्वारनटीन किया जाना चाहिए। जैसा कि चांद पर भेजे गए पहले अपोलो मिशन के बाद किया गया था। अंतरिक्ष यात्रियों के अलावा अंतरिक्ष यानों के लिए भी प्रोटोकॉल होना चाहिए।


वहीं मिशन पर गए रॉकेट्स और तमाम उपकरणों को कैमिकल क्लीनिंग प्रोसेस में रखा जाना चाहिए। साथ ही ये सभी चीजें हाई हीट पर रखी जानी चाहिए। 2030 तक मंगल पर मिशन भेजने का जिक्रः जानकारी के लिए बता दें कि बीते वर्ष ही नासा के प्रशासनिक अधिकारी जिम ब्राइडनस्टाइन ने साल 2024 तक चांद और 2030 तक मंगल पर मिशन भेजने का जिक्र किया था। साथ ही कई वैज्ञानिक लाल ग्रह के नमूनों को पृथ्वी के लिए खतरा नहीं मानते हैं, हालांकि इस तर्क को आज तक कोई वैज्ञानिक साबित नहीं कर पाया है। फिलहाल नासा के साथ रूस और चीन भी मंगल ग्रह पर मिशन भेजने की तैयारी कर रहे हैं। चीन और अमेरिका सन् 2030 से लेकर 2032 के बीच मंगल पर मिशन भेजने के बारे में सोच रहे हैं।


दावाः राशन कार्ड और मास्क का वितरण

गाजियाबाद सांसद और केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह के जन्मदिन पर सफाई अभियान चलाकर लोगों में दवा ; राशन कार्ड और मास्क का वितरण किया गया


गाजियाबाद।10 मई को केंद्रीय मंत्री और गाजियाबाद से सांसद जनरल वीके सिंह का जन्मदिन मनाया जाता है  इस अवसर पर द हेल्पिंग हैंड संस्था के अध्यक्ष और भाजपा नेता विजेंद्र   त्यागी तथा पार्टी कार्यकर्ताओं  ने लोनी विधानसभा के कई इलाकों में जैसे राम विहार राम श्री राम कॉलोनी महल कॉलोनी ज्योति विहार निर्मला कोई आज इलाकों में साफ सफाई अभियान चलाकर लोगों को राशन कार्ड मास्क और दवाई का वितरण किया गया लोगों को होम्योपैथिक दवा लगभग 500 परिवारों में वितरण किया गया जिससे उनकी इम्यूनिटी सिस्टम ठीक रहे। जरूरतमंद लोगों ने राशन कार्ड मास्क तथा दवाई पाकर कहा कि इस समय चीजों की हमें सख्त आवश्यकता थी इस समय के माहौल में चीजें हमारे लिए रामबाण के समान है कुछ बुजुर्ग लोगों ने आग्रह करके विजेंद्र त्यागी को गणेश जी की प्रतिमा तथा फूल माला देकर अपना आभार जताया और कहा कि हम सभी प्रवासी कालोनियों का आशीर्वाद सदा आपके साथ है। इस अवसर पर प्रमुख रूप से उपस्थित व्यक्तियों में अश्वनी चौधरी उर्फ काले प्रधान हर्ष शर्मा कवि जय भगवान शर्मा डॉक्टर उमा शर्मा रजनीश ठाकुर सोनू झा रामअवतार ठाकुर आदि कार्यकर्ता थे।


स्कूल अभिभावकों पर डाल रहें 'दबाव'

गाजियाबाद। एक तरफ जहां सभी प्राइवेट स्कूल मिलकर अभिभावकों पर फीस देने का दबाव डाल रहे हैं, वही गाजियाबाद के एक छोटे से प्राइवेट स्कूल ने एक सार्थक पहल की है


प्रबंधन ने आठवीं तक के स्कूल में सभी बच्चों की 3 महीने की फीस माफ कर दी है। इस स्कूल में ढाई सौ बच्चे पढ़ते हैं और 25 के करीब टीचर है। स्कूल की प्रिंसिपल डॉ वीनू और स्कूल की मालकिन ममता चौधरी, दोनों का कहना है कि टीचर और स्टाफ को पूरी तनख्वाह दी जाएगी। इसकी भरपाई इनके b.ed कॉलेज में चल रहे काम से कर ली जाएगी। हालांकि स्कूल प्रिंसिपल का कहना है कि उनके इस फैसले के बाद आसपास के स्कूल के मालिक उन्हें परेशान कर रहे हैं। वे यह चाहते हैं कि इस फैसले को वापस ले लिया जाए। लेकिन ममता चौधरी का कहना है कि कोरोना (Corona) के इस कठिन घड़ी में अगर सब मिलकर लड़ेंगे तो जरूर सफलता मिलेगी। ऐसे में बच्चों से फीस ना लेना उनके अभिभावकों की मदद करने का एक छोटा सा तरीका ही है।


राजनीति के शिकार बनें अधिकारी, साजिश

घटिया राजनीति के शिकार अधिकारी, साजिश
अकांशु उपाध्याय 
गाजियाबाद। संपूर्ण भारतवर्ष में लॉक डाउन का तीसरा चरण चल रहा है। 49 दिन के लंबे लॉक डाउन में गरीब मजदूरों की समस्या बढ़ती ही जा रही है। जो दाने-दाने को मोहताज है, ऐसे लोगों के विकार का समाधान खोजने के बजाय राजनीति की अंगीठी सिलगाई जा रही है।
 उत्तर-प्रदेश की सबसे बड़ी नगर पालिका की अध्यक्ष श्रीमती रंजीता धामा अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा कर चुकी है। उन्होंने प्रशासन पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं। जिसके कारण लोनी क्षेत्र में राजनैतिक तनाव बढ़ता जा रहा है। जिसमें विधायक और पूर्व चेयरमैन मनोज धामा के बीच सियासी तनातनी की जानकारी आप सभी लोगों को भलीभांति हैं। लेकिन इसके विपरीत क्षेत्र में अधिकारियों के द्वारा सुनियोजित-प्रायोजित राजनीति की जा रही है। अधिकारियों ने जनता का सूझबूझ के साथ ध्रुवीकरण कर दिया है। एक तरफ एक जनप्रतिनिधि को विश्वास में लेकर क्षेत्रवाद की जड़ें जमाने का भी काम किया है, दूसरी तरफ चेयरमैन की उपेक्षा की अपेक्षा में जरूरतमंद लोगों की अनदेखी की जा रही है। उपजिला अधिकारी और अधिशासी अधिकारी के द्वारा निर्धारित नगरीय क्षेत्र में जरूरतमंदों के खिलाफ साजिश की गई है। क्षेत्र में सरकारी रसोइयों के संचालन और निर्धारण से यह स्पष्ट होता है। जनप्रतिनिधियों के बीच उपजे राजनीतिक द्वेष का यह विस्तार अधिकारियों की ही देन है। अधिकारी जनता के साथ किस कारण भेदभाव कर रहे हैं, इसका क्या कारण है ? यह तो अभी स्पष्ट नहीं है। किंतु अधिकारी इतने भोले भी नहीं है कि उन्हें किसी मामले की जानकारी ना हो। सब कुछ जानने के बाद क्षेत्रवाद का निर्माण करके संकट से ग्रस्त जनता के साथ असंवैधानिक कार्य किया गया है। साथ-साथ मजबूर जनता का स्पष्ट शोषण भी किया जा रहा है। भेदभाव को बढ़ावा देकर अपने अधिकारों का दुरुपयोग किया है। आप भी भली-भांति जानते हैं। नगर की जनता नगर में ही रहेगी। शायद आपका निर्धारित ठिकाना नहीं है। आज जनता की सेवा का महत्वपूर्ण अवसर आपको मिला है। जिसे कुंठित विचारों से आपने दोष पूर्ण कर दिया है। 
श्रीमती रंजीता धामा को इस्तीफा देने की कोई आवश्यकता नहीं है। घटिया राजनीति का शिकार बनने से बचना चाहिए। यह मामला केवल राजनीति तक सीमित नहीं है। नगर की जनता के प्रति आप के दायित्व का भी है। अपने अधिकारों की रक्षा करना और उनका उचित पालन करने की जरूरत है। इसके लिए संभव प्रयत्न करने में कोई कोताही नहीं बरतनी चाहिए। यह भी नहीं भूलना चाहिए कि शत्रु बड़ा प्रबल होता है। किंतु उसके निराकरण का कोई कारण अवश्य होता है। इसलिए संपूर्ण शक्ति से कर्म-क्षेत्र की रक्षा करनी चाहिए।


स्वास्थ्य केंद्रः लग रही है 'लंबी लाइन'

प्रवासियों की भारी भीड़ की सूचना पर पहुंची पुलिस


पैदल और विभिन्न साधनों से हजारों किलोमीटर दूर से आए प्रवासी


प्रवासियों में महिलाएं और छोटे-छोटे बच्चे भी


सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिदिन लग रही लंबी लाइन 


सुनील पुरी


फतेहपुर। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रवासियों की भारी भीड़ होने तथा सामाजिक दूरी का पालन करके खड़े ना होने की सूचना पुलिस पहुंची पुलिस के पहुंचते ही लोग सामाजिक पूरी का पालन करते हुए खड़े हो गए दूसरे प्रांतों से प्रवासियों का लगातार आना जारी है धीरे-धीरे प्रवासियों की संख्या बढ़ती जा रही है।


रविवार की दोपहर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रवासियों की भारी संख्या देखी गई युवाओं के साथ महिलाएं और उनके बच्चे भी भारी संख्या में मौजूद थे महिलाओं के लिए अलग लाइन लगाई गई थी जबकि युवकों के लिए अलग लाइन लगी थी यह प्रवासी हरियाणा अजमेर अहमदाबाद नागपुर गुजरात मुंबई वन नासिक से आए हुए थे यह लोग कई दिन पहले अपने स्थान से चले और हजारों किलोमीटर पैदल या तो छोटे-मोटे रास्ते में मिले साधनों से यहां तक पहुंचे हैं जिन का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया इसके बाद घरों में आइसोलेशन में रहने की हिदायत के साथ गांव घर को भेजा गया पिछले कई दिनों से लगातार प्रवासियों की संख्या बढ़ती जा रही है।


युवक से ठगी, थमाई कागज की गड्डी

इलाहाबाद बैंक आए युवक से साथ टप्पेबाजी
 कागज की गड्डी थमा पार किए 7500रुपए


सुनील पुरी


फतेहपुर। इलाहाबाद बैंक शाखा बिंदकी में रुपए जमा करने आए युवक के साथ दो टप्पेबाजों ठगी की और रुमाल में बंधी कागज की गड्डी थमा गए और साढ़े सात हजार की नकदी लेकर चंपत हो गए।


बिंदकी पुलिस ने सूचना पाकर भुक्तभोगी शैलेश कुमार अवस्थी पुत्र प्रकाश नारायण अवस्थी निवासी ग्राम महरहा थाना कल्याणपुर जिला फतेहपुर को साथ लेकर खजुवा मिस्सी तक भागदौड़ की लेकिन शैलेश अवस्थी किसी को भी पहचान नहीं पाया। टप्पे बाज पुलिस के हाथ नहीं लगे तब पुलिस में इलाहाबाद बैंक शाखा बिंदकी आकर सीसीटीवी फुटेज खंगाले जिसमें टप्पे बाजो की तस्वीर तो आई है लेकिन वह काफी धुंधली है।


इतनी कवायद करने के बाद भी बिंदकी पुलिस ने इस घटना की कोई एफ आई आर दर्ज नहीं की है और शैलेश कुमार को यह कहकर चलता कर दिया कि यदि टप्पे बाज दिखे तो वह पुलिस को सूचित करें। भुक्तभोगी शैलेश कुमार अवस्थी अस्पताल के पास रोते हुए मिला और अपनी आपबीती बताई। ज्ञात हो कि बिंदकी नगर में कई बैंकों शाखाओं के पास से इस तरह की टप्पे बाजी पहले भी कई बार की जा चुकी है लेकिन पुलिस ने आज तक किसी भी घटना का खुलासा नहीं किया है।


तेज-आंधी से गिरे विद्युत पोल, आपूर्ति ठप

तेज आंधी के चलते गिरे विद्युत पोल कई गांव की विद्युत आपूर्ति ठप


सुनील पुरी


फतेहपुर। रविवार की शाम को तेज आंधी तूफान और पानी के चलते कई जगह के विद्युत के पोल टूटकर गिर गए हैं। जिससे कई गांव की विद्युत आपूर्ति ठप हो गयी।


रविवार की शाम को आधी तूफान और पानी ने ऐसी तबाही की लोगों के मकान की टीन के साथ साथ विद्युत पोल गिर गए जिससे बिन्दकी क्षेत्र के फरीद पुर, खिदिरपुर,बसन्ती खेड़ा, भवनी पुर,अमेना, जबरापुर,घरही खेड़ा, गुलाब पुर,छीछा,कोरवा,कमरापुर,डहेरिया, लमहिचा,दौलत बाद,सहित कई गांव की विद्युत आपूर्ति ठप हो गयी हैं विद्युत विभाग के अवर अभियंता प्रमोद कुमार ने बताया कि संविदा कर्मी के साथ सभी कर्मचारी लगे हुये है जहाँ के पोल टूट के गिर गये है वहाँ तत्काल पोल लाकर लगाये जा रहे हैं जल्द ही आपूर्ति ठीक कर चलु कराई जायेगी।


29 वर्ष पुराने मामलें में मिली जमानत

राणा ओबराय

पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेेध सिंह सैनी को 29 वर्ष पुराने मामले में मिली जमानत

मोहाली। 29 वर्ष एक पुराने आईएएस के बेटे बलवंत सिंह मुल्तानी के अगवा मामले में केस दर्ज होने के बाद मुश्किल में चल रहे पंजाब पुलिस के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी को सोमवार को मोहाली जिला अदालत से जमानत मिल गई है। इसके साथ ही उनकी गिरफ्तार पर रोक लग गई है। दरअसल, गत शुक्रवार को उनके ऊपर अपहरण का केस दर्ज होने के बाद उन्होंने अदालत में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दी थी। सुनवाई पूरी होने के बाद अदालत की तरफ से सोमवार तक के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया गया है। गौरतलब है कि शनिवार को एडिशनल सेशन जज की अदालत में पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी की तरफ से दायर की गई याचिका पर सुनवाई करीब 3 घंटे चली। इस दौरान सैनी के वकीलों ने कहा कि यह केस गलत तरीके से दायर किया गया है, जो कि कहीं स्टैंड नहीं करता है। इस केस को पहले ही सुप्रीम कोर्ट खारिज कर चुका है।
यह है मामला घटना वर्ष 1991 की है, जब सुमेध सिंह सैनी चंडीगढ़ के एसएसपी थे। उन पर एक आतंकी हमला हुआ था। इसमें सैनी का तो बचाव हो गया था लेकिन उनकी सुरक्षा में तैनात 4 जवानों की मौत हो गई थी। फिर आरोप लगा कि चंडीगढ़ की पुलिस ने सैनी के इशारे पर मोहाली से बलवंत सिंह को जबरन उठा लिया था। इसके बाद वह कभी घर नहीं लौटा। बलवंत सिंह मुल्तानी के भाई पलविंदर सिंह मुल्तानी और उनके परिवार ने इस मामले में काफी लंबी जंग लड़ी। आखिरकार पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के दिशा-निर्देश पर एक प्राथमिक जांच की गई। इसके बाद सीबीआई की ओर से दो जुलाई 2008 को मामला दर्ज किया गया था।


सेंसेक्स 9369.90 अंक के स्तर पर खुला

गोपीचंद


मुंबई। सप्ताह के पहले कारोबारी दिन यानी सोमवार को शेयर बाजार की शुरुआत हरे निशान पर हुई। सुबह 9.17 बजे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 1.40 फीसदी की बढ़त के साथ 441.51 अंक ऊपर 32084.21 के स्तर पर था। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.28 फीसदी की तेजी के साथ 118.40 अंक ऊपर 9369.90 के स्तर पर खुला। 


2.15 PM - बीएसई का सेंसेक्स 86.30 अंक बढ़कर 31729 पर पहुंच गया है। वहीं निफ्टी 37.55 अंक ऊपर 9289.05 के स्तर पर है।
1.25 PM - 303.13 अंक (0.96 फीसदी) ऊपर सेंसेक्स 31945.83 के स्तर पर है। निफ्टी की बात करें, तो 93.30 अंक (1.01 फीसदी) ऊपर यह 9344.80 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।
12.04 PM - सेंसेक्स में 212.95 अंकों का उछाल देखा गया और यह 31855.65 पर पहुंच गया है। वहीं निफ्टी 73.55 अंक ऊपर 9325.05 के स्तर पर है।
11.35 AM - शेयर बाजार में थोड़ी बिकवाली देखी गई। बीएसई का सेंसेक्स 2251.47 अंक (0.79 फीसदी) ऊपर 31894.17 पर और निफ्टी 74.60 अंक (0.81 फीसदी) ऊपर 9326.10 के स्तर पर है।
10.40 AM - सेंसेक्स 1.29 फीसदी यानी 409.04 अंक ऊपर 32051.74 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं निफ्टी 1.29 फीसदी यानी 119.30 अंकों के उछाल के साथ 9370.80 के स्तर पर है।


आम का पेड़ गिरा, महिला की दर्दनाक मौत

आम का पेड़ गिर जाने से महिला की मौके पर दर्दनाक मौत


परिजनों में मचा हड़कंप रो-रोकर हुए बेहाल


सुनील पुरी


फतेहपुर। तेज आंधी तूफान के चलते अचानक आम का पेड़ गिर जाने से उसके नीचे खड़ी एक महिला की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई महिला की मौत होते ही परिजनों में हड़कंप मच गया परिजन रो-रोकर बेहाल हो रहे थे।


जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के खुरमाबाद गांव निवासिनी बिटोला देवी देवी उम्र 45 वर्ष पत्नी वासुदेव सविता तेज आंधी तूफान के चलते गांव के समीप ही एक आम के पेड़ के नीचे खड़ी हो गई तभी तेज आंधी के चलते आम का पेड़ गिर गया जिससे उसमें दबकर महिला की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई महिला की मौत होते ही परिजनों में हड़कंप मच गया परिजन रो-रोकर बेहाल हो रहे थे महिला के परिजनों ने बताया घर से किसी काम से महिला गई थी ।तभी तेज आंधी तूफान आई तो एक आम के पेड़ के नीचे खड़ी हो गए आम का पेड़ गिर जाने से उसमें दबकर मौत हो गई हालांकि उन्हें निजी वाहन से लाकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया लेकिन चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया।


सभी की सहायता हो रही हैः अवनीश

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी का बयान


लखनऊ।1 लाख बेड की व्यवस्था हो रही। मेडिकल कॉलेज प्रधानाचार्यों को निर्देश। ट्रेन से यूपी वापस आ रहे श्रमिक। क्वारेंटाइन सेंटर की सीएम ने की समीक्षा। भोजन और राशन सामग्री दे रहे।15 दिन की राशन सामग्री देने के निर्देश। सबसे ज्यादा लोग यूपी आ रहे।184 ट्रेन यूपी आ चुकी हैं। 2.20 लाख से ज्यादा श्रमिक आ चुके। आज 55 ट्रेनों से 70 हजार लोग आएंगे। एक-एक श्रमिक की जानकारी रख रहे। बसों से गंतव्य तक पहुंचाए जाएंगे। कोई भी श्रमिक पैदल न आएं। श्रमिकों से सम्मानजनक व्यवहार हो। श्रमिकों, कामगारों के कौशल की जानकारी ली। 20 लाख लोगों को रोजगार देंगे। श्रमिकों को 1 हजार रुपए भी देंगे। 32-33 लाख लोगों को 1-1 हजार दिए। 22 ट्रेन लखनऊ, 28 ट्रेन गोरखपुर आई। कोई भी पैदल न आए, परेशान न हो। निगरानी समितियां नजर रखें। जानकारी न देने वालों पर नजर रखें। कानपुर, आगरा, मेरठ के लिए विशेष निर्देश।


बृजेश केशरवानी


विश्व में 277,000 मृतक, 40 लाख केस

दुनिया भर में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या 40 लाख पहुँची


अमरीका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के जुटाए आँकड़ों के अनुसार सारी दुनिया में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 40 लाख तक पहुँच गई है।


कोरोना संक्रमण से मारे गए लोगों की संख्या 277,000 हो गई है। इनमें एक तिहाई संक्रमण के मामले अमरीका से हैं। मारे गए कुल लोगों में से एक चौथाई लोगों की मौत अमरीका में हुई है। जानकारों ने चेतावनी दी है संक्रमित रोगियों की संख्या कहीं ज़्यादा होगी क्योंकि कई देशों में टेस्ट कम होने से सही आँकड़े सामने नहीं आ रहे। नीचे दिए गए ग्राफ़ मे देखा जा सकता है कि मार्च के बाद से संक्रमण के मामलों में काफ़ी तेज़ी आई है।


एसबीआई बीमा को 334 करोड़ का लाभ

नई दिल्ली। एसबीआई जनरल इंश्योरेंस का शुद्ध लाभ 31 मार्च को समाप्त। वित्त वर्ष 2019-20 में 23 प्रतिशत बढ़कर 412 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी को 334 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने एक बयान में कहा कि समीक्षावधि में उसका अंडरराइटिंग लाभ 23 प्रतिशत घटकर 61 करोड़ रुपये रहा जो पिछले वित्त वर्ष में 79 करोड़ रुपये था। किसी बीमा कंपनी का अंडरराइटिंग लाभ, उसके द्वारा जमा किए गए प्रीमिमय और उसके दावा निपटानों पर व्यय राशि का अंतर होता है। समीक्षावधि में कंपनी का सकल अनुमानित प्रीमियम (जीडब्लयूपी) 6,840 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 4,717 करोड़ रुपये था। कंपनी के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पुशान महापात्रा ने कहा कि 2019-20 में हमारी वृद्धि स्थिर रही है। हमने 45 प्रतिशत की दर से वृद्धि की जबकि साधारण बीमा उद्योग की वृद्धि दर 2019-20 में 12 प्रतिशत रही।


राज्य में निवेश के लिए अनुकूल माहौल

बेंगलुरु। कर्नाटक सरकार कोविड-19 महामारी के बाद चीन से बाहर निकलने वाली कंपनियों को राज्य में निवेश के लिए अनुकूल माहौल देगी। राज्य के भारी और मध्यम उद्योग मंत्री जगदीश शेट्टार ने कहा कि सरकार की योजना एक कार्यसमिति बनाने की है, जिसके अध्यक्ष मुख्य सचिव टी एम विजय भास्कर होंगे। यह समिति राज्य में इस तरह के निवेश को आकर्षित करने का काम करेगी। शेट्टार ने पीटीआई-भाषा से कहा कि इस प्रस्ताव को मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा की मंजूरी के लिए भेजा गया है। उन्होंने कहा कि यह कार्यसमिति इस संबंध में एक परामर्श समिति से सुझाव लेगी। परामर्श समिति में प्रमुख उद्योगपतियों के साथ-साथ और राज्य में काम कर रहे विभिन्न देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। हाल में शेट्टार ने इंफोसिस लिमिटेड के सह-संस्थापक और गैर-कार्यकारी चेयरमैन नंदन नीलेकणि, बायोकॉन लिमिटेड की कार्यकारी चेयरपर्सन किरण मजूमदार शॉ और स्टार्टअप तथा नव उद्यमों को पूंजी देने वाली कंपनी एक्सिलर वेंचर्स के चेयरमैन सेनापति गोपालकृष्णन से इस संबंध में बातचीत की है। इसके अलावा वह भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई), फेडरेशन ऑफ कर्नाटक चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, बेंगलुरू चैंबर ऑफ कॉमर्स और कर्नाटक लघु स्तर उद्योग संघ के प्रतिनिधियों से भी बातचीत कर चुके हैं।


1 गाड़ी में 1700 यात्रियों को भेजेगा रेलवे

नई दिल्ली। लॉकडाउन के दौरान अधिक से अधिक प्रवासियों को घर पहुंचाने के प्रयास में रेलवे ने अब ‘श्रमिक विशेष’ गाड़ियों में 1200 की जगह 1700 यात्रियों को भेजने का निर्णय किया है और तीन स्थानों पर इन ट्रेनों का ठहराव होगा । रेलवे की ओर से जारी आदेश में, रेलवे जोनों को संबंधित राज्यों में गंतव्य के अलावा तीन जगहों पर गाड़ियों के ठहराव के लिये कहा गया है । राज्य सरकारों के आग्रह पर यह निर्णय किया गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि ट्रेन में यात्रियों को ले जाने की क्षमता उसमें मौजूद शयनयान कोच के सीटों की संख्या के बराबर होनी चाहिये। रेलवे के इस आदेश से एक दिन पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सभी राज्यों से उदारतापूर्वक मंजूरी देने की अपील की थी, मंत्री की अपील खास तौर से उन राज्यों के लिये थी, जिन्होंने बहुत कम ट्रेनों की अनुमति दी थी । प्रवासी श्रमिकों के लिये ट्रेनों को मंजूरी देने के मामले पर गृह सचिव की मुख्य स​चिवों के साथ रविवार को हुयी वीडियो कांफ्रेंस में भी चर्चा हुयी थी । इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने भी पश्चिम बंगाल सरकार से इन ट्रेनों को तत्काल मंजूरी दिये जाने की अपील की थी । श्रमिक विशेष गाड़ियों में 24 डब्बे हैं और प्रत्येक डब्बे में 72 यात्रियों को ले जाने की क्षमता है। सामाजिक मेल जोल से दूरी के प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये वर्तमान में प्रत्येक डब्बे में 54 यात्रियों को लेकर ले जाया जा रहा है । भरतीय रेल ने एक मई से अब तक 468 ट्रेनों के माध्यम से पांच लाख से अधिक यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया है ।


कर्नाटक में बड़ा संक्रमण, मामले 558

बेंगलुरु। कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के 10 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 858 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार दोपहर में जारी बुलेटिन में बताया, ‘‘ कल शाम से आज दोपहर तक कुल 10 नए मामले सामने आए हैं… अब तक राज्य में 858 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें 31 लोगों की मौत हो चुकी है और 422 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।’’ राज्य के 10 नए मामलों में से तीन दावणगेरे से सामने आए हैं। वहीं बिदर और बगलकोट से दो-दो जबकि कलबुर्गी, शिग्गावी और विजयपुरा से एक-एक मामले हैं। इनमें से ज्यादातर मामले पहले से ही संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वालों के हैं जबकि एक-एक मामला मुंबई और अहमदाबाद की यात्रा से जुड़ा है। एक व्यक्ति के संपर्क का पता लगाया जा रहा है। संक्रमितों में से सात पुरुष हैं और तीन महिलाएं हैं।


तेलंगना के लिए तकनीकी मंच तैयार

नई दिल्ली/अमरावती। सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों के संगठन नासकॉम के कोविड-19 कार्यबल ने तेलंगाना सरकार के लिए एक तकनीकी मंच तैयार किया है। यह मंच राज्य सरकार को लॉकडाउन (बंद) के प्रबंधन में सोच-समझकर निर्णय लेने या चरणबद्ध तरीके से उसमें छूट देने में मदद करेगा। नासकॉम ने सोमवार को एक बयान में कहा कि तेलंगाना सरकार के साथ मिलकर यह मंच बनाया गया है। यह मंच बंद के दौरान उद्योगों के लगातार पुनरोद्धार और उसके लिए सोच-समझकर फैसले लेने में मदद करेगा। साथ ही राज्य भर में चरणबद्ध तरीके से उद्योगों को दोबारा खोलने में भी मदद करेगा। यह एक खुला प्रौद्योगिकी मंच है जो एक साथ कई समाधानों पर काम करता है। यह 30 से ज्यादा सरकारी और सार्वजनिक डेटाबेस पर पहुंच के साथ एक बार में 100 ज्यादा डैशबोर्ड पर काम की सहूलियत देता है। यह केंद्र और राज्य सरकारों को कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए आंकड़ों पर आधारित सोच-विचार कर निर्णय लेने में मदद देने वाला मंच है। नासकॉम कार्यबल में शामिल इंटेल इंडिया की कंट्री प्रमुख और इंटेल के डेटा केंद्र की समूह उपाध्यक्ष निवृत्ति राय ने कहा कि नासकॉम कार्यबल के भागीदार के तौर पर हमने देश के लिए एक प्रौद्योगिकी आधारित ‘पैनडेमिक रिस्पांस’ मंच तैयार किया है।


अमेरिका में फंसे 118 लोगों को वापस लाएं

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये जारी लॉकडाउन के कारण अमेरिका में फंसे भारत के 118 लोगों को केंद्र सरकार के ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत सोमवार को यहां राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लाया गया । हवाई अड्डा सूत्रों ने बताया कि एयर इंडिया की उड़ान संख्या एआई 1617 से इन यात्रियों को अमेरिका के सान फ्रांसिस्को से मुंबई होकर यहां लाया गया । उन्होंने बताया कि संयुक्त अरब अमीरात के अबुधाबी से भारतीयों का एक और जत्था आज रात यहां आयेगा । ये यात्री एयर इंडिया की उड़ान संख्या एआई 1920 से यहां आयेंगे जिसके सोमवार रात साढ़े नौ बजे यहां पहुंचने की संभावना है। सूत्रों ने बताया कि हवाई अड्डे के रास्तों को सैनिटाइज किया गया है और सामाजिक मेल जोल से दूरी बनाये रखने के नियमों के पालन की भी व्यवस्था की गयी है । उन्होंने बताया कि यात्रियों एवं चालक दल के सदस्यों को एक बार में 20 से 25 की संख्या में विमान से बाहर निकाला गया । उन्होंने बताया कि सभी यात्रियों एवं चालक दल के सदस्यों की थर्मल स्क्रीनिंग की गयी ।


दरभंगा हवाई अड्डे पर कार्य की अनुमति

दरभंगा। केंद्रीय नागर विमानन मंत्रालय ने भारतीय वायुसेना से दरभंगा हवाई अड्डे का काम दोबारा शुरू करने की अनुमति देने का आग्रह किया है । केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सेामवार को इसकी जानकारी दी । दरभंगा हवाई अड्डे का निर्माण एक सिविल एन्क्लेव के रूप में किया जा रहा है, जो नागरिक उड्डयन कार्यों के लिए आवंटित भारतीय वायुसेना के एयर बेस का हिस्सा है। नागरिक विमानन मंत्री ने ट्वीट किया, 'भारतीय वायुसेना से हवाई अड्डे के काम को शुरू करने का आग्रह किया गया है। एक बार हम काम शुरू करेंगे तो अक्टूबर 2020 तक तमाम काम पूरा हो जाना चाहिए ।' पुरी ने कहा, 'दरभंगा हवाई अड्डे पर काम लॉकडाउन के कारण अस्थायी रूप से रोकने के पहले तेजी से चल रहा था ।' भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है, इस संक्रमण से देश भर में 67 हजार 152 लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि इससे 2206 लोगों की मौत हो चुकी है । पुरी ने कहा, 'भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण अंतरिम सिविल एनक्लेव का निर्माण कर रहा है । इसके लिये भारतीय वायुसेना से जमीन पट्टे पर ली गयी है। इसमें एक टर्मिनल का निर्माण कराया जा रहा है जहां 150 यात्रियों की क्षमता होगी, जिसका 95 फीसदी काम पूरा हो चुका है।'


ओकीनावा कंपनी ने उत्पादन शुरू किया

भिवाड़ी। दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली कंपनी ओकिनावा ने 25 प्रतिशत कार्यबल के साथ उत्पादन फिर शुरू कर दिया है। कंपनी ने सोमवार को बताया कि उसके राजस्थान में भिवाड़ी संयंत्र और हरियाणा में गुरुग्राम स्थित कॉरपोरेट कार्यालय में कामकाज दोबारा शुरू हो गया है। ओकिनावा ने एक बयान में कहा कि साफ-सफाई और सुरक्षा मानकों का ख्याल रखते हुए उसके कार्यालय, संयंत्र और डीलरशिप नेटवर्क ने परिचालन दोबारा शुरू किया है। कंपनी ने अपने डीलरों से भी 25 प्रतिशत कार्यबल के साथ काम करने के लिए कहा है। संयंत्र से उत्पादों को बाहर निकालते समय उन्हें सैनेटाइज (कीटाणुमुक्त) किया जाएगा। वहीं डीलर के यहां पहुंचने पर इसकी पुनरावृत्ति होगी। कंपनी के प्रबंध निदेशक जीतेंदर शर्मा ने कहा कि सरकार के आर्थिक गतिविधियों के लिए राहत की घोषणा के साथ ही उत्पादन फिर शुरू करने का निर्णय किया गया।


बलिया जनपद में मिला पहला संक्रमित

बलिया। जिले में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण का पहला रोगी मिला। जिलाधिकारी एसपी शाही ने बताया कि अभी तक बलिया जनपद ग्रीन जोन में था। अहमदाबाद से ट्रेन के जरिए जौनपुर और फिर रोडवेज की बस से बलिया पहुंचे एक किशोर की रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई है। शाही ने बताया कि 16 वर्षीय किशोर को बलिया पहुंचने पर बेल्थरा रोड स्थित एक इंटर कॉलेज में पृथक रखा गया था। सात मई को उसका नमूना लिया गया, जिसकी रिपोर्ट सोमवार सुबह आई और उसमें संक्रमण की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया किशोर को कोविड देखभाल अस्पताल ले जाया जा रहा है। किशोर के साथ नौ अन्य व्यक्तियों के नूमने भी लिए गए थे लेकिन उनमें संक्रमण नहीं मिला है। जिलाधिकारी ने बताया कि किशोर के साथ पृथक केंद्र में रह रहे अन्य लोगों के नमूने लिए जा रहे हैं और उन्हें फिलहाल वहीं रखा गया है।


आसमानी बिजली गिरने से 2 की मौत

चित्रकूट। जिले में मऊ थाना के सुहेल गांव में बिजली गिरने से झुलसे दो नाबालिग लड़कों की मौत हो गयी जबकि दो अन्य की हालत गंभीर बनी हुई है। मऊ थाना के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) सुभाषचन्द्र चौरसिया ने बताया, "रविवार सुबह गांव के कुछ लोग अपने मवेशियों को यमुना नदी में पानी पिलाने जा रहे थे, तभी अचानक बारिश शुरू हो गयी और बिजली गिर गयी, जिससे झुलसकर शिवकुशल (15) और शिवराकेश (13) की मौके पर ही मौत हो गयी और रोहिणीदत्त (18) एवं जगन्नाथ (40) गंभीर रूप से झुलस गए हैं।" उन्होंने बताया, "ग्राम प्रधान की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों शव का पोस्टमॉर्टम करवाया और झुलसे लोगों को इलाज के लिए रामनगर के स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया।"


तीन लाख करोड के पैकेज की मांग

नई दिल्ली। केंद्रीय श्रमिक संगठन ट्रेड यूनियन कोआर्डिनेशन सेंटर (टीयूसीसी) ने सरकार से कोरोना वायरस महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए असंगठित क्षेत्र के मजदूरों और सूक्ष्म, लघु और मझोले (एमएसएमई) क्षेत्र के उद्यमों को तीन लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज दिए जाने की मांग की है। इस यूनियन ने इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है। इसमें कोरोना वायरस महामारी के चलते काम-धंधे पर लागू देशव्यापी प्रतिबंधों के इस दौर में रोजगार से वंचित हो गए अंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को राहत दिए जाने का मुद्दा उठाया गया है। टीयूसीसी ने एमएसएमई इकाइयों को भी राहत दिए जाने का तर्क दिया है ताकि देश में आर्थिक गतिविधियों में गति लाई जा सके। पत्र में कहा गया गया है कि टीयूसीसी असंगठित क्षेत्र के मजदूरों और एमएसएमई क्षेत्र की इकाइयों की मुश्किलें कम करने तथा अर्थव्यस्था को गति देने के लिए तीन लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की मांग करती है।


कोरोनाः गोवा सीएम ने दिए सख्त निर्देश

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने सोमवार को कहा कि कुछ स्थानीय लोग कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए जारी दिशा निर्देशों का उल्लंघन कर पड़ोसी राज्यों के लोगों को अवैध रूप से राज्य में लाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि ऐसे लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सावंत ने एक वीडियो संदेश जारी कर कहा कि राज्य में आने वाले लोगों की कोविड-19 की जांच किए जाने की जरूरत है और निर्देशों के अनुसार उन्हें पृथक-वास में रहना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा, “हमें ज्ञात हुआ है कि गोवा के कुछ लोग पड़ोसी राज्यों के लोगों को वैकल्पिक मार्ग से अवैध रूप से राज्य में ला रहे हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत यह दंडनीय अपराध है।” उन्होंने कहा कि इस प्रकार की अवैध गतिविधियों में लिप्त लोगों के विरुद्ध राज्य सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी। गोवा में वर्तमान में कोविड-19 का एक भी मरीज नहीं है इसलिए राज्य को ग्रीन जोन घोषित किया गया है। सावंत ने बताया कि विदेश में फंसे गोवा के दो हजार निवासी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद राज्य में लौट आए हैं।


उड़ीसा में 14 नए मामले, संक्रमित- 391

भुवनेश्वर। ओड़िशा में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 14 नए मामले सामने आये हैं जिनमें से अधिकतर वे लोग हैं जो सूरत से लौटे हैं और इसके साथ ही राज्य में कोविड—19 के मरीजों की संख्या बढ़ कर 391 हो गयी है। प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने इसकी जानकारी दी। विभाग से मिली जानकारी में कहा गया है कि प्रदेश के गंजम जिले में 12 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुयी है जबकि सुंदरगढ़ एवं केंद्रपाड़ा जिलों में एक एक मामला सामने आया है। विभाग के अधिकारी ने बताया कि गंजम जिले के जिन 12 लोगों में इस संक्रमण की पुष्टि हुयी है वे सभी हाल ही में गुजरात के सूरत से वापस लौटे हैं और उन्हें पृथक—वास में रखा गया है। केंद्रपाड़ा जिले में संक्रमित व्यक्ति भी सूरत से ही आया था।


राजस्थान में संक्रमण के 84 नए मामले

राजस्थान में वायरस संक्रमण के 84 नये मामले
जयपुर। राजस्थान में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण 84 नये मामले सामने आए जिससे राज्य में इस घातक वायरस के संक्रमितों की कुल संख्या 3,898 हो गयी है। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार सुबह नौ बजे तक उदयपुर में 40, जयपुर में 11, अजमेर में छह, चित्तौड़गढ़ में पांच, पाली में पांच, राजसमंद और जालौर में चार-चार तथा कोटा में तीन नये मामले सामने आए। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक कुल 108 मौत हो चुकी हैं। केवल जयपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा 57 हो गया है जबकि जोधपुर में 17 और कोटा में 10 रोगियों की मौत हो चुकी है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर मामलों में रोगी किसी न किसी अन्य गंभीर बीमारी से भी पीड़ित थे। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों में दो इतालवी नागरिकों के साथ-साथ 61 वे लोग भी हैं जिन्हें ईरान से लाकर जोधपुर और जैसलमेर में सेना के आरोग्य केंद्रों में ठहराया गया है। राज्यभर में 22 मार्च से लॉकडाउन है और अनेक थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा हुआ है।


व्हाइट हाउस में हुआ वैदिक शांति पाठ

राष्ट्रीय प्रार्थना दिवस के मौके पर व्हाइट हाउस में वैदिक शांति पाठ
वाशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रीय प्रार्थना दिवस के मौके पर व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में एक हिंदू पुजारी ने पवित्र वैदिक शांति पाठ कराया। यह शांति पाठ कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से प्रभावित हर व्यक्ति के स्वास्थ्य, सुरक्षा और कुशलता के लिए किया गया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आमंत्रण पर, न्यू जर्सी के बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर के पुजारी हरीश ब्रह्मभट्ट इस मौके पर प्रार्थना करने के लिए मौजूद अन्य धर्मों के नेताओं के साथ शामिल हुए।


किम जोंग ने शी जिनपिंग की प्रशंसा की

उत्तर कोरियाई नेता ने महामारी पर नियंत्रण के लिए शी जिनपिंग की प्रशंसा की
सियोल। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को नियंत्रण में लाने में सफलता के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की प्रशंसा करते हुए उन्हें एक निजी संदेश भेजा है।उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया में यह खबर तब आई है जब दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसी ने आकलन किया कि इस महामारी से पहले से ही जर्जर उत्तर कोरिया की अर्थव्यवस्था और बदतर हो गई है।
कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने बताया कि किम ने संदेश में शी को बधाई देते हुए इस अभूतपूर्व वैश्विक महामारी के खिलाफ युद्ध जीतने के लिए उनकी अत्यधिक प्रशंसा की।


सैन्य अभ्यास में 19 की मौत, 15 घायल

तेहरान। ओमान की खाड़ी में सैन्य अभ्यास के दौरान ईरानी नौसेना के पोत पर दुर्घटनावश उसकी अपनी ही एक मिसाइल गिरने से 19 नौसेनिकों की मौत हो गई और 15 अन्य घायल हुए हैं। ईरान की सेना ने यह जानकारी दी। सरकारी टेलीविजन की खबर के अनुसार घटना रविवार को जसक के बंदरगाह के पास हुई सैन्य अभ्यास के दौरान मिसाइल हेंडिजन-क्लास सपोर्ट पोत कोणार्क पर जा गिरी। सरकारी समाचार एजेंसी ‘आरएनए’ की खबर के अनुसार एक स्थानीय अस्पताल में 12 नौसेनिकों को भर्ती कराया गया है और अन्य तीन को मामूली चोटे आई हैं।


सरकारी टेलीविजन के अनुसार कोणार्क निशाने के काफी पास था। कोणार्क दूसरे पोतों के लिए निशानों को समुद्र में स्थापित कर रहा था। उसने कहा कि मिसाइल दुर्घटनावश पोत पर गिर गई।


ब्रिटेन में हो सकती है 7 लाख की मौत

लंदन। कोरोना वायरस महामारी की वजह से ब्रिटेन में सात लाख लोगों की मौत हो सकती है। यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल के अध्ययन के अनुसार ब्रिटेन में सात लाख लोग इस जानलेवा वायरस से जान गंवा सकते हैं। यह संख्या द्वितीय विश्व युद्ध में हुई मौतों से भी ज्यादा है। यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल के अध्ययन में कहा गया है कि मंदी, गरीबी और लापरवाही की स्थिति में यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है। शोधकर्ताओं का अनुमान है कि बिना वैक्सीन के ब्रिटेन को कोविड-19 को हराने के लिए 2024 तक सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मजबूर होना पड़ सकता है। 


शोधकर्ताओं ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से मंदी भी आ सकती है। ऐसे में कोरोना वायरस, खराब स्वास्थ्य प्रणाली और गरीबी की वजह से पांच साल में 6.75 लाख लोगों की मौत हो सकती है। यूनिवर्सिटी में रिस्क मैनेजमेंट के प्रोफेसर फिलिप थॉमस ने कहा कि लॉकडाउन से धीरे-धीरे बाहर आने की नीति तभी प्रभावी है जब हम संक्रमण की दर एक से नीचे रखने में कामयाब होंगे। मंदी की स्थिति में गरीबी से भी उतनी ही मौतें होंगी, जितनी कोरोना से।


छूट के साथ, 1 जून तक लॉक डाउन

बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन में एक जून तक बढ़ाया लॉकडाउन
लंदन। ब्रिटेन में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों और मृतकों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। बोरिस ने देश में लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के साथ-साथ नई रूपरेखा भी तैयार की है।


प्रधानमंत्री ने रविवार को देश में लगे लॉकडाउन को एक जून तक बढ़ाने का फैसला किया, साथ ही सार्वजनिक स्थानों को खोलने के लिए जुलाई के पहले हफ्ते की समयसीमा रखी। हालांकि बोरिस ने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के मद्देनजर कई महत्वपूर्ण फैसले लिए। उन्होंने कहा कि जो लोग घर से काम कर सकते हैं वो करें लेकिन जिन्हें बाहर जाकर काम करने की जरुरत है, वे बाहर निकलकर काम कर सकते हैं।


बोरिस ने साथ ही लोगों से कहा कि वे नजदीकी पार्कों और घर के बाहर में अपने परिवार के साथ व्यायाम कर सकते हैं, खेल भी सकते हैं, जिन्हें किसी दूसरी जगह जाना, वे अपनी गाड़ी से जा सकते हैं। हालांकि इस दौरान मास्क लगाना सभी के लिए अनिवार्य होगा। जॉनसन ने साफ संकेत दिया है कि अगर मामले बढ़े तो पाबंदियां बढ़ाई जा सकती हैं।


जॉनसन ने कुछ छूट के साथ दिशानिर्देश जारी किये हैं।


कानूनों में संशोधन का विरोध किया

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लॉकडाउन के बीच कुछ राज्यों द्वारा श्रम कानूनों में संशोधन किये जाने का विरोध करते हुए कहा है कि इस समय देश कोरोना से लड़ रहा है और किसी को श्रमिकों के मूल अधिकारों को रौंदने की इज़ाज़त नही दी जा सकती है।


राहुल गांधी ने कहा कि महामारी से लड़ाई के दौरान कुछ राज्यों में मज़दूरों के अधिकारों में कटौती कर उनका शोषण करने और उनकी आवाज़ दबाने की कोशिश हो रही है। यह मूलभूत सिद्धांतो का हनन है और इससे समझौता नही किया जा सकता है। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया , “अनेक राज्यों द्वारा श्रम कानूनों में संशोधन किया जा रहा है। हम कोरोना के खिलाफ मिलकर संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन यह मानवाधिकारों को रौंदने, असुरक्षित कार्यस्थलों की अनुमति, श्रमिकों के शोषण और उनकी आवाज दबाने का बहाना नहीं हो सकता। इन मूलभूत सिद्धांतों पर कोई समझौता नहीं हो सकता।


महाकाल की नगरी औसत से ज्यादा मौत

महाकाल की नगरी उज्जैन में कोरोना मृत्युदर राष्ट्रीय औसत से काफी ज्यादा


उज्जैन। भगवान शिव के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग और अन्य धार्मिक स्थलों के चलते मशहूर उज्जैन में रविवार सुबह की स्थिति में कोरोना के मरीजों की मृत्यु दर करीब 19 प्रतिशत दर्ज की गई। यह मृत्यु दर 3.35 प्रतिशत के राष्ट्रीय औसत के साढ़े पांच गुने से भी ज्यादा है।


आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, उज्जैन जिले में रविवार सुबह तक कोविड-19 के कुल 237 मरीज मिले हैं। इनमें शामिल एक पुलिस निरीक्षक और एक भाजपा पार्षद समेत 45 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 94 लोगों को संक्रमणमुक्त होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है।


उज्जैन में एक भी सरकारी चिकित्सा महाविद्यालय नहीं है और कोविड-19 मरीजों के इलाज का भार निजी क्षेत्र के आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के 750 बिस्तरों वाले अस्पताल पर है। इसके अलावा, पड़ोसी शहर इंदौर के एक निजी अस्पताल में भी उज्जैन के गंभीर मरीजों के लिये 100 बिस्तर आरक्षित किये गए हैं।


संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि जारी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच 25 मार्च से देश भर में लागू लॉकडाउन के तीसरे चरण का आज आठवां दिन है। वहीं, संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि भी जारी है। भारत में इस बीमारी से अब तक 2206 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 67152 हो गई  है। एक्टिव कोरोना केस 44029 हैं। इसमें 20916 मरीज ठीक/डिस्चार्ज भी हुए हैं। इन सबके बीच कोरोना लॉकडाउन की वजह से खाड़ी देशों और दुनिया के विभिन्न हिस्सों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भारत सरकार द्वारा वंदे भारत मिशन’ की शुरुआत भी हो गई है। अमेरिका से सैन फ्रैंसिस्को से भी एक स्पेशल फ्लाइट सोमवार तड़के 225 भारतीयों को लेकर मुंबई पहुंची। तमाम खबरों के ताजा अपडेट और कोरोना वायरस और लॉकडाउन की हर अपडेट के लिए इस के साथ बने रहें।


इंदौर में मृतकों की संख्या-89

इंदौर में मृतकों की संख्या 89 हुई, अब तक 1858 लोग संक्रमित


इंदौर। देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में इस महामारी से दो और मरीजों की मौत की पुष्टि की गई है। इसके साथ ही, जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 89 पर पहुंच गई है।


पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 78 और मरीज मिलने के बाद जिले में इस वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 1,858 हो गई है।


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जाडिया ने रविवार को बताया कि कोविड-19 से संक्रमित 85 वर्षीय महिला और 69 वर्षीय पुरुष ने पिछले दो दिन के दौरान यहां एक निजी अस्पताल में आखिरी सांस ली। उन्होंने बताया कि दोनों मरीज नजदीकी कस्बे महू के रहने वाले थे और उच्च रक्तचाप व अन्य बीमारियों से पहले ही जूझ रहे थे।


जितेंद्र पॉजिटिव, पूरा परिवार क्वारंटाइन

पूर्व विधायक जीतेंद्र डागा कोरोना पॉजिटिव, पूरे परिवार को किया गया क्वारंटीन 


भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पूर्व विधायक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके पूरे परिवार को क्वारंटीन किया गया है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार पूर्व विधायक ने लॉकडाउन के दौरान कई ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा किया है। इसके अलावा वे कई कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से भी मिले हैं। 


ये भी बताया जा रहा है कि डागा के परिवार के कुछ सदस्यों को हल्की सर्दी और खांसी की शिकायत है। रिपोर्ट आने के बाद डागा को चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 


वहीं एयरपोर्ट के नजदीक उनके निवास स्थान के तीन किलोमीटर इलाके को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया गया है। इस इलाके में बैरिकेटिंग की जा रही है। शाम तक कुछ और सैंपल की रिपोर्ट आने की उम्मीद है। इससे राजधानी में मरीजों की संख्या में और इजाफा होने का अनुमान है।


मृतक-2206 संक्रमित संख्या हुई-67152

भारत। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से सोमवार को सुबह जारी हुए हैं। स्वास्थ्य-सचिव का भी ये ही कहना हैं। आंकड़ों के अनुसार देशभर में कोविड-19 से अब तक 67152 लोग संक्रमित हुए हैं तथा इस महामारी से अब तक 2206 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 20917 लोग इसके संक्रमण से पूरी तरह ठीक हाे चुके हैं।


महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली और तमिलनाडु में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप काफी तेजी से बढ़ रहा है। इन चारों राज्यों में इसके संक्रमण के कुल 44492 मामले दर्ज किए गए हैं तथा 1445 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।


कहीं पर तेजी से बड़ा, कहीं घटा संक्रमण

नई दिल्ली। वैश्विक महामारी बन चुके कोरोनो वायरस का प्रकोप लगातार जारी है। 212 देशों में पिछले 24 घंटे में 88,987 नए कोरोना के मामले सामने आए और मरने वाले लोगों की संख्या में 4,248 का इजाफा हो गया। दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 41 लाख पार कर गई है। वहीं दुनिया के करीब 73 फीसदी कोरोना के मामले सिर्फ दस देशों से आए हैं। इन देशों में कोरोना पीड़ितों की संख्या करीब 29 लाख है। तो आइए जानते है दुनिया में कहां कितने केस और कहां कितनी मौतें हुई है।


अमेरिका में 80 हजार लोग मरे :
अमेरिका में कोरोना से अब तक 80 हजार से ज्यादा लोगों ने जान गंवाई ही। मिली जानकारी के अनुसार यहां अब तक 80,351 लोगों की मौत हुई है और संक्रमितों की संख्या 13,53,534 हो गई है। न्यूयॉर्क में सबसे ज्यादा 3,43,409 मामले आए हैं जबकि 26,771 मरीजों की मौत हुई है। न्यू जर्सी में 1,38,579 संक्रमितों में से 9,255 लोगों को जान गंवानी पड़ी। मैसाचुसेट्स, इलिनोइस, कैलिफोर्निया और पेंसिल्वेनिया में मरीजों की संख्या 50 हजार से ज्यादा है। ब्राजील में 730 और लोगों की मौत से मृतको की संख्या 10,739 हो गई है, जबकि संक्रमितों की संख्या 1,56,862 हो गई है। 61,685 मरीज ठीक हुए हैं, जो कुल संक्रमितों का लगभग 40 प्रतिशत है।
ब्रिटेन में गंभीर स्थिति :
ब्रिटेन की बात करें तो यह कोरोना से होने वाली मौत के मामले में इटली और स्पेन से आगे निकलकर अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। ब्रिटेन में कोरोना से अब तक 31,587 लोग जान गंवा चुके हैं। उधर, अफ्रीका में भी हालात खतरनाक होते जा रहे हैं। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक संक्रमण से यदि सख्ती के साथ नहीं निपटा गया तो अफ्रीका में 83 हजार से 1.90 लाख लोग तक मारे जा सकते हैं, जबकि संक्रमण की संख्या 2.9 करोड़ से 4.4 करोड़ तक पहुंच सकती हैं।
 
जर्मनी में लगातार बढ़ रहे हैं संक्रमण
जर्मनी में 24 घंटे में संक्रमितों के 1,209 नए मामले सामने आए हैं। इससे एक दिन पहले देश में 1,284 नए मामले सामने आए थे और 123 लोगों की मौत हुई थी। अब तक 1.41 लाख से ज्यादा मरीज ठीक हो गए हैं। यहां संक्रमितों की संख्या 1,70,588 पहुंच गई है। वहीं, मरने वालों की संख्या 7,510 हो गई है।
पाकिस्तान में एक दिन में कोरोना के 1,991 नए केस :
पाकिस्तान में एक दिन में कोरोना के 1,991 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 29,465 हो गई है। यह एक दिन में संक्रमण के सर्वाधिक मामले हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी। अब तक संक्रमण से 639 लोग मरे हैं। 8,023 लोग ठीक भी हो चुके हैं। पाकिस्तान में एक महीने से लगे लॉक डाउन की पाबंदियां धीरे-धीरे कम की जा रही हैं। लॉक डाउन हटाने का पहला चरण शनिवार को शुरु कर दिया गया। सरकार ने अधिकांश व्यवसायों को सुबह से शाम पांच बजे तक खोलने की घोषणा कर दी।
रूस में फ्रांस से भी अधिक हुए पॉजिटिव :
रूस संक्रमण के मामले में जर्मनी व फ्रांस को पीछे छोड़ पांचवें नंबर पर आ गया है। रूस में लगातार छठे दिन 10,000 से ज्यादा संक्रमित मिले हैं। यहां 24 घंटे में 10,699 लोग संक्रमित मिले। देश में संक्रमण के मामले 1,87,859 हो गए हैं।
ऑस्ट्रेलिया के छह प्रांत हुए कोरोना मुक्त :
ऑस्ट्रेलिया के आठ में से छह प्रांतों और क्षेत्रों में कोरोना वायरस के संक्रमण का नया मामला नहीं आया है और ये प्रांत कोरोना मुक्त हैं। स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने यह जानकारी दी। उन्होंने रविवार को बताया कि ऑस्ट्रेलिया में रविवार रात विक्टोरिया प्रांत में 10 और न्यू साउथ वेल्स में कोरोना संक्रमण के दो नए मामले सामने आए जबकि वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया, साउथ ऑस्ट्रेलिया, क्वींसलैंड, तस्मानिया, ऑस्ट्रेलियन कैपिटल टेरिटरी और नॉदर्न टेरिटरी में कोई मामला नहीं है। उन्होंने कहा कि महामारी की रोकथाम में सफलता के लिए यहां के लोग बधाई के पात्र हैं, लेकिन यात्रा पर गए लोगों की वापसी के बाद ऐसी संभावना भी नहीं है कि नए मामले सामने नहीं आएंगे।
10 देशों में एक लाख से ज्यादा केस :
जर्मनी, रूस, ब्राजील समेत दस देश ऐसे हैं, जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या एक लाख के पार हो गई है। इन दस देशों में कुल 29 लाख 31 हजार केस हैं। अमेरिका के अलावा रूस और ब्राजील में भी कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं। पांच देश (अमेरिका, स्पेन, इटली, फ्रांस, ब्रिटेन) ऐसे हैं, जहां 25 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में मौतों का आंकड़ा 79 हजार के करीब पहुंच गया है। चीन टॉप-10 संक्रमित देशों की लिस्ट से बाहर हो चुका है।


ऐसा कोई कर्ज नहीं देता एसबीआई

नई दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने साफ किया है कि वे अपने योनो प्लेटफॉर्म के जरिए किसी तरह का आपातकालीन कर्ज नहीं दे रहे हैं। बैंक ने उन रिपोर्ट्स को गलत बताया जिनके मुताबिक योनो 45 मिनट में 5 लाख रुपये तक का कर्ज 10.5 फीसदी ब्याज पर दे रहा है और जिसकी किस्त छह माह बाद शुरू होगी।


बैंक ने कहा कि, योनो के माध्यम से एसबीआई इमरजेंसी लोन योजना के बारे में व्यापक रूप से खबरें चल रही हैं। हम स्पष्ट करना चाहेंगे कि एसबीआई इस तरह का कोई कर्ज नहीं दे रहा है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 12, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-275 (साल-01)
2. मंगलवार, मई 12, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, कृष्ण-पक्ष, तिथि- चतुर्थी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:50,सूर्यास्त 07:02।


5. न्‍यूनतम तापमान 22+ डी.सै.,अधिकतम-35+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...