रविवार, 14 मई 2023

मां प्रकृति ‌  'कविता'

मां प्रकृति ‌  'कविता'


मां के बारे में क्या लिखूं ? जिसने मुझे खुद लिखा है


वंदना गुप्ता

मां की एक दुआ जिंदगी बना देगी, 

खुद रोएगी मगर, तुम्हें हंसा देगी। 

कभी भूल कर भी ना मां को रुलाना, 

एक छोटी-सी गलती पूरा अर्थ हिला देगी। 

मां ने होती तो वफा कौन करेगा ?

ममता का हक भी कौन अदा करेगा ? 

रब हर एक मां को सलामत रखना, 

वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा ? 

आंख खोलो तो चेहरा मेरी मां का हो, 

आंख बंद हो तो सपना मेरी मां का हो। 

मैं मर भी जाऊं तो भी कोई गम नहीं, 

लेकिन कफन मिले तो दुपट्टा मेरी मां का हो। 

सब कुछ मिल जाता है दुनिया में,

मगर याद रखना कि बस मां-बाप नहीं मिलते।

मुरझा कर जो गिर गया एक बार डाली से, 

यह ऐसे फूल है, जो फिर नहीं खिलते।

मैं हार भी जाऊं तो मां मुस्कुराते हुए गले लगाती है, 

ना जाने इतनी मोहब्बत मां कैसे कर पाती है ?

मां की एक दुआ जिंदगी बना देती है, 

क्योंकि मां-मां होती है।

मां के बिना जीवन की उम्मीद नहीं की जा सकती,

अगर मां न होती तो हमारा अस्तित्व ही ना होता,

मां... प्रकृति भी है इस संसार की,

जिसका बेटा कोई अच्छा, कोई खोता।

इस दुनिया में मां दुनिया का 

सबसे आसान शब्द है,

मगर इस नाम में भगवान खुद वास करते है। 

मां शब्द छोटा जरूर है,

जिसके जरिए पूरे विश्व में गाय-भैंस घास करते हैं।

मां शब्द पूरी दुनिया पर भारी है,

इस नाम के ऊपर तो हर जगह मारामारी है।

जब नवजात शिशु इस दुनिया में आता है,

ना वो पानी पी सकता,

ना खाना खा पाता है।

सबसे ज्यादा खुशी नवजात की मां को होती है, 

उसके लिए तो उसकी हजारों औलादें भी,

एक लोटी दिखती है।

जैसे मानो की दुनिया की सबसे कीमती चीज उन्हें मिल गई हो,

मां अपने बच्चो के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहती है।

मनुष्य में ही नहीं,

हर प्रकार के जीव जंतु में यही होता है... मां का प्यार। 

अगर बच्चों पर आंच आने वाली होती है,

तो मां सबसे पहले आगे खड़ी होती है।

मां की जगह कोई नहीं ले सकता,

मां तो मां होती है।

चुनाव की मतगणना के दूसरे दिन मैनपुरी पहुंचे यादव 

चुनाव की मतगणना के दूसरे दिन मैनपुरी पहुंचे यादव 

संदीप मिश्र 

मैनपुरी। उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव की मतगणना के दूसरे दिन यानी रविवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव मैनपुरी पहुंचे। यहां सबसे पहले सपा प्रमुख पूर्व पैकफेड चेयरमैन तोताराम यादव के आवास पहुंचे। उनकी अनुज वधू के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की। उन्होंने परिवार को ढांढस बंधाया और हर कदम पर साथ खड़े रहने का आश्वासन दिया। इसके बाद बाद उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। मतगणना के दौरान घटी घटनाओं के बारे में जानकारी ली।मैंनपुरी नगर पालिका और बेबर नगर पंचायत के चुनाव परिणाम पर उन्होंने विस्तृत जानकारी ली। 

इस मौके पर उन्होंने कार्यकर्ताओं को कई संदेश दिए। चुनाव में हुई हार पर मंथन के दौरान कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों द्वारा धांधली करने की बात कही गई। इस सपा मुखिया ने कहा कि प्रशासन के जो अफसर चुनाव में धांधली करवा रहे हैं, उनके नाम कार्यकर्ता अपने पास नोट कर लें। समय आने पर उन्हें माकूल जवाब दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में निकाय चुनाव में प्रशासन के माध्यम से भाजपा ने धांधली की है। इस पर सपा लगातार नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं को संयम बरतते हुए पैनी निगाह रखने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि जल्द ही वह मैनपुरी में एक कार्यक्रम रखेंगे। वह कार्यकर्ताओं के साथ बैठक भी करेंगे। यहां से वह एटा के लिए रवाना हो गए।

जनजातीय समुदायों के लोग बन रहें है अधिकारी 

जनजातीय समुदायों के लोग बन रहें है अधिकारी 

इकबाल अंसारी 

गांधीनगर/बनासकांठा। गुजरात की कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर ने दावा किया है कि वर्षों पहले अपना धर्म बदलकर ईसाई बनने वाले जनजातीय समुदायों के कई लोग अब भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी बन रहे हैं।

ठाकोर ने शनिवार को बनासकांठा जिले के भाभर गांव में वाल्मीकि समुदाय के जोड़ों के एक सामूहिक विवाह समारोह में ‘‘हिंदू धर्म को बचाने के लिए काम कर रहे धर्म गुरुओं से क्रांतिकारी कदम उठाने की’’ अपील की, ताकि हिंदुओं को धर्मांतरण करने से रोका जा सके। बहरहाल, इस समारोह के दौरान ठाकोर के साथ मंच पर मौजूद गुजरात विधानसभा के अध्यक्ष एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता शंकर चौधरी ने कहा कि आईएएस, आईपीएस अधिकारी बनने का लालच दिए जाने पर ईसाई धर्म अपनाने वाले जनजातीय लोगों को बाद में एहसास हो गया कि यह वादा झूठा है।

वाव विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक चुनी गईं ठाकोर ने समारोह में दावा किया, ‘‘जनजातीय क्षेत्रों के लोगों ने कई साल पहले ईसाई धर्म को अपना लिया था और आज वे आईएएस, आईपीएस, मामलातदार (राजस्व अधिकारी) और डीडीओ (जिला विकास अधिकारी) बन गए हैं। गुजरात में सरकारी नौकरी कर रहे अधिकतर लोग वे हैं, जो धर्म बदलकर ईसाई बने थे।’’

उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति समुदाय भी बौद्ध धर्म की ओर आकर्षित हो रहा है। ठाकोर ने कहा, ‘‘हिंदू धर्म को बचाने के लिए काम कर रहे धर्म गुरुओं और नेताओं से मेरा कहना है कि यदि हमने इन समुदायों के लिए क्रांतिकारी कदम नहीं उठाया, तो आने वाले समय में वे अन्य धर्मों को अपना लेंगे।’’ उन्होंने कहा कि यदि जनजातीय एवं दलित समुदायों के लोगों को सुरक्षा और सम्मान दिया जाए, तो वे धर्मांतरण के बारे में नहीं सोचेंगे।

बहरहाल, चौधरी ने कहा कि कुछ लोगों को यह लालच देकर धर्म परिवर्तन कराने के लिए राजी किया गया था कि उनके बच्चे आईएएस अधिकारी बनेंगे, ‘‘लेकिन धर्मांतरण करने वाले लोगों को पता चला कि उनके बेटे आईएएस, आईपीएस अधिकारी नहीं बने।’’ राज्य की भाजपा सरकार ने जून 2021 में गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) अधिनियम पारित किया था, जो विवाह के माध्यम से जबरन या धोखाधड़ी से धर्म परिवर्तन कराए जाने पर दंडित करता है।

गुजरात उच्च न्यायालय ने कुछ महीने बाद संशोधित अधिनियम की कुछ धाराओं पर रोक लगा दी। इसके बाद राज्य सरकार ने उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देते हुए उच्चतम न्यायालय का रुख किया था।

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण 

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण 

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। नौसेना की अग्रिम पंक्ति की मिसाइल विध्वंसक आईएनएस मोरमुगाओ से एक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मिसाइल परीक्षण ने समुद्र में नौसेना की शक्ति को प्रदर्शित किया है।

नौसेना के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘नई निर्देशित मिसाइल विध्वंसक, आईएनएस मोरमुगाओ ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के अपने प्रथम परीक्षण के दौरान सफलतापूर्वक लक्ष्य को भेदा।’’ अधिकारी ने कहा, ‘‘स्वदेश विकसित जहाज और उसकी हथियार प्रणाली आत्मनिर्भरता का तथा समुद्र में नौसेना की शक्ति का एक और शानदार उदाहरण है।’’

मिसाइल परीक्षण के स्थान के बारे में अभी जानकारी नहीं मिल पाई है। ब्रह्मोस एयरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड भारत-रूस का एक संयुक्त उद्यम है, जो सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल निर्मित करता है। यह मिसाइल, पनडुब्बी, जहाज और विमान या जमीनी ‘प्लेटफॉर्म’ से दागी जा सकती है। 

उम्मीद: शिवकुमार का समर्थन करेंगे सिद्दारमैया

उम्मीद: शिवकुमार का समर्थन करेंगे सिद्दारमैया

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु/तुमकुरु। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की शानदार जीत के बाद मुख्यमंत्री पद की दावेदारी के बीच पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने रविवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दारमैया उनका समर्थन करेंगे। श्री शिवकुमार ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में यह दावा किया।

अपने दावे को लेकर तर्क देते हुए उन्होंने कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में पार्टी को जिताने की चुनौती लिए जाने के दौरान शीर्ष नेता पीछे हट गए थे, तब वह आगे आये और इसकी जिम्मेदारी ली। उन्होंने कहा, “ इससे पहले कि मैं पार्टी की जिम्मेदारी लेता, दिनेश गुंडुराव साहब और सिद्दारमैया साहब - दोनों ने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया कि यह उनके हाथ से बाहर है।

इसके बाद सोनिया गांधी ने मुझे बुलाया और यह जिम्मेदारी दी।” उन्होंने कहा “ सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे और अन्य नेताओं ने जेल में मुझसे मुलाकात की और मुझे ताकत दी। मैंने अपने लिए कुछ नहीं किया। मैंने इसे पार्टी के लिए किया है। दिन-रात मैंने कड़ी मेहनत की है और सभी को अपने साथ लिया। सभी ने सहयोग किया तथा इसी कड़ी मेहनत के कारण हम सत्ता पाने में कामयाब रहे।”

उन्होंने कहा, “ इससे पहले 2018 में मुझे मंत्री नहीं बनाया गया था, लेकिन मैंने अच्छा व्यवहार किया। मैंने तब सिद्दारमैया के लिए काम किया और मैं अपने लिए उनसे भी उम्मीद करता हूं।” शिवकुमार ने हालांकि स्पष्ट किया कि उनके और सिद्दारमैया के बीच कोई मतभेद नहीं है। उन्होंने कहा, “कुछ लोग कहते हैं कि मेरे और उनके बीच मतभेद हैं, लेकिन मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि हमारे बीच कोई मतभेद नहीं है।”

इस बीच मुख्यमंत्री के अन्य दावेदार सिद्दारमैया अपने पक्ष में विधायकों से समर्थन जुटा रहे हैं। वह उन कई विधायकों के साथ कांग्रेस नेता बैराथी सुरेश के कार्यालय में बैठक कर रहे हैँ , जो उनके समर्थक बताये जा रहे हैं। इससे पहले पूर्व मंत्री प्रियांक खड़गे, एमबी पाटिल, जमीर अहमद खान और अन्य ने सिद्दारमैया से मुलाकात की। एक सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता सैयद नसीर हुसैन ने कहा कि मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा दो-तीन दिन में कर दी जायेगी। उन्होंने कहा, “हम भी जल्द से जल्द कैबिनेट के गठन की तैयारी कर रहे हैं।” 

घुसपैठ की कोशिश को विफल किया, जेसीओ घायल 

घुसपैठ की कोशिश को विफल किया, जेसीओ घायल 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में रविवार सुबह नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश को विफल कर दिया, लेकिन इस दौरान एक जूनियर कमीशन अधिकारी (जेसीओ) घायल हो गया। रक्षा विभाग के अधिकारियों ने रविवार को बताया कि बारामूला जिले के उरी सेक्टर में गोलीबारी के दौरान जेसीओ को मामूली चोटें आईं।

अधिकारियों ने कहा कि सतर्क सैनिकों ने तड़के सेक्टर में संदिग्ध हलचल देखी और इसके बाद घुसपैठ की कोशिश को विफल कर दिया। अधिकारियों ने कहा, “आतंकवादियों और सैनिकों के बीच गोलीबारी हुई। गोलीबारी के बाद पाकिस्तानी ने घटना स्थल के ऊपर एक क्वाडकॉप्टर उड़ाने की कोशिश की, लेकिन भारतीय सैनिकों की ओर से गोलीबारी किए जाने पर वह तेजी से पीछे हट गया।”

उन्होंने कहा, "क्वाडकॉप्टर का मुद्दा निश्चित रूप से घुसपैठ की गतिविधियों के दौरान उचित सहायता प्रदान करने में आतंकवादियों और पाकिस्तानी सेना के बीच मिलीभगत को सामने लाता है।" इलाके में तलाशी अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि इस प्रयास को ऐसे समय में नाकाम कर दिया गया जब जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा तंत्र हाई अलर्ट पर है। क्योंकि श्रीनगर इस महीने के अंत में होने वाली जी-20 बैठक की मेजबानी कर रहा है। 

928 पुर्जों एवं उप-प्रणालियों की नई सूची को मंजूरी

928 पुर्जों एवं उप-प्रणालियों की नई सूची को मंजूरी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय ने उन 928 पुर्जों और उप-प्रणालियों की एक नई सूची को मंजूरी दी है, जिन्हें सिर्फ देश की ही कंपनियों से खरीदा जा सकेगा। मंत्रालय ने रविवार को कहा कि इस कदम का उद्देश्य रक्षा उत्पादन में 'आत्मनिर्भरता' को बढ़ावा देने के सरकार के समग्र उद्देश्य के अनुरूप है। यह चौथी ‘सकारात्मक स्वदेशीकरण’ सूची (पीआईएल) है, जिसमें ‘रिप्लेसमेंट यूनिट्स’, उप-प्रणालियां और विभिन्न सैन्य प्लेटफॉर्म, उपकरण और हथियारों में इस्तेमाल होने वाले पुर्जे शामिल हैं।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि रक्षा क्षेत्र में ‘आत्मनिर्भरता’ को बढ़ावा देने और रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के आयात को कम करने के लिए रक्षा मंत्रालय ने चौथी पीआईएल को मंजूरी दी है। बयान के अनुसार, सूची में 928 ‘लाइन रिप्लेसमेंट यूनिट्स’ (एलआरयू)/उपप्रणालियां और कल पुर्जे शामिल हैं जिसका आयात प्रतिस्थापन मूल्य 715 करोड़ रुपये है। रक्षा मंत्रालय ने वस्तुओं के आयात प्रतिबंध के लिए स्पष्ट समयसीमा निर्धारित की है, जो दिसंबर 2023 से लेकर दिसंबर 2028 तक हैं।

इससे पहले मंत्रालय ने दिसंबर 2021, मार्च 2022 और अगस्त 2022 में इसी तरह की तीन पीआईएल जारी की थी। बयान में कहा गया है कि इन सूचियों में शामिल 2500 से ज्यादा चीज़ें हैं जो पहले से स्वदेशी हैं और 1238 (351+107+780) वस्तुओं का निर्धारित समय सीमा के अंदर स्वदेशीकरण किया जाएगा। उसमें कहा गया है कि 1238 वस्तुओं में से 310 का स्वदेशीकरण किया जा चुका है।

बयान में कहा गया है कि इसके अलावा, यह अकादमिक और अनुसंधान संस्थानों को शामिल करके घरेलू रक्षा उद्योग की डिजाइन क्षमताओं को बढ़ाएगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार स्वदेशीकरण और रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए 928 ‘लाइन रिप्लेसमेंट यूनिट्स’ (एलआरयू)/उपप्रणालियां और कल पुर्जे की चौथी पीआईएल को मंजूरी दी गई है।

सिंह ने कहा कि सूची में उन्नत सामग्री और पुर्जे शामिल हैं, जिनका आयात प्रतिस्थापन मूल्य 715 करोड़ रुपये है। मंत्रालय ने कहा कि रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम जल्द ही इन अधिसूचित वस्तुओं के लिए खरीद कार्रवाई शुरू करेंगे। सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में घरेलू रक्षा उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कई उपाय किए हैं। भारत वैश्विक स्तर पर हथियारों के सबसे बड़े आयातकों में से एक है। 

10वीं-12वीं कक्षा की परीक्षा के परिणाम घोषित 

10वीं-12वीं कक्षा की परीक्षा के परिणाम घोषित 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) ने 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा के परिणाम रविवार को घोषित कर दिए। दोनों में ही लड़कियों ने लड़कों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। सीआईएससीई के सचिव गेरी अराथून ने रविवार को कहा कि 10वीं कक्षा (आईसीएसई) की परीक्षा 63 विषयों में ली गई थी, जिनमें 21 भारतीय, 14 विदेशी और दो शास्त्रीय भाषाएं हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘12वीं कक्षा (आईएससी) परीक्षा 47 विषयों में ली गई, जिनमें 12 भारतीय भाषाएं, तीन विदेशी भाषाएं और एक शास्त्रीय भाषा है। सीआईएससीई के अनुसार, 10वीं कक्षा में नौ, जबकि 12वीं कक्षा में पांच विद्यार्थियों ने शीर्ष स्थान साझा किया है। घोषित परिणाम के अनुसार, 10वीं कक्षा में नौ विद्यार्थियों ने 99.80 प्रतिशत अंकों के साथ शीर्ष स्थान साझा किया है जिनमें रुशील कुमार, अनन्या कार्तिक, श्रेया उपाध्याय, अदवय सरदेसाई, यश मनीष भसीन, तनय सुशील शाह, हिया संघवी, अविशी सिंह और संबित मुखोपाध्याय हैं।

वहीं 12वीं कक्षा में, पांच विद्यार्थियों ने 99.75 प्रतिशत अंकों के साथ शीर्ष स्थान साझा किया है। वे रिया अग्रवाल, इस्पिता भट्टाचार्य, मोहम्मद आर्यन तारिक, शुभम कुमार अग्रवाल और मान्या गुप्ता हैं। 

प्रवीण सीबीआई के नए निदेशक नियुक्त किए 


प्रवीण सीबीआई के नए निदेशक नियुक्त किए 

सुनील श्रीवास्तव   

नई दिल्ली। कर्नाटक के डीजीपी प्रवीण सूद (IPS/1986/KN) को दो साल के लिए सीबीआई के नए निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। वह अपने दो साल के कार्यकाल के पूरा होने पर सुबोध कुमार जायसवाल (IPS/1985/MH) का स्थान लेंगे। सूद मार्च में तब सुर्खियों में आए थे जब कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार ने उन पर राज्य में भाजपा सरकार का साथ देने का आरोप लगाया था। शिवकुमार ने यह दावा करते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक की गिरफ्तारी की भी मांग की थी कि वह कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज कर रहे हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीबीआई की स्थापना के 60 साल पूरे होने के डायमंड जुबली प्रोग्राम में शामिल हुए थे। प्रधानमंत्री ने अपने 25 मिनट के संबोधन में सीबीआई के 6 दशक के सफर और आगे आने वाली चुनौतियों को लेकर बात की थी। उन्होंने सीबीआई से कहा था, 'आपको कहीं पर भी रुकने की जरूरत नहीं है। मैं जानता हूं आप जिनके खिलाफ एक्शन ले रहे हैं वे बेहद ताकतवर लोग हैं, बरसों तक वे सरकार और सिस्टम का हिस्सा रहे हैं।

आईटीआर जमा करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई

आईटीआर जमा करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई

सुनील श्रीवास्तव   

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने करदाताओं के लिए साल 2022-23 का आईटीआर फाइल करने की आखिरी तारीख का ऐलान कर दिया है। विभाग ने आईटीआर से जुड़े कुछ फॉर्म भी जारी किए हैं। सालाना 3 लाख रुपये से ज्यादा कमाने वालों को ITR फाइल करना चाहिए.कॉरपोरेट कंपनियां भी समय से पहले फॉर्म-16 जारी कर रही हैं ताकि अपने कर्मचारियों को समय पर आईटीआर फाइल करने में मदद मिल सके।

अभी करदाता वित्त वर्ष 2022-23 में हुई आय का रिटर्न दाखिल करेंगे। इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करके आप सरकार के सामने अपने निवेश और कमाई की घोषणा करते हैं। इस बार इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2023 तय की गई है। ऐसे में करदाताओं को आईटीआर से जुड़े सभी दस्तावेज जमा करने शुरू कर देने चाहिए।

(1) इंडिविजुअल टैक्सपेयर्स, HUF, AOP, BOI या जिनकी अकाउंट बुक्स को ऑडिट करने की जरूरत नहीं है, उनके लिए रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2023 है।

(2) जिन कारोबारियों के अकाउंट ऑफ एकाउंट को ऑडिट करने की जरूरत है, उनके लिए आईटीआर फाइल करने की आखिरी तारीख 31 अक्टूबर 2023 है। 

(3) अंतरराष्ट्रीय लेनदेन या कुछ घरेलू लेनदेन वाले व्यवसायों के लिए रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2023 है।

(4) रिवाइज्ड आईटीआर और डेफर्ड रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2023 तय की गई है।

आईटीआर विलंब शुल्क और जुर्माना

यदि करदाता निर्धारित अंतिम तिथि के बाद अपना रिटर्न दाखिल करते हैं, तो उन्हें धारा 234ए के तहत भुगतान न किए गए कर की राशि पर 1 प्रतिशत प्रति माह की दर से ब्याज का भुगतान करना होगा। वहीं, धारा 234एफ के तहत, करदाताओं को देय तिथि चूकने पर 5,000 रुपये विलंब शुल्क के रूप में देने होते हैं। वहीं, अगर करदाताओं की कुल आय 5 लाख रुपये से कम है तो यह लेट फीस 1000 रुपये देनी होगी।

किसानों पर आतंकी हमला, 33 लोगों की मौत

किसानों पर आतंकी हमला, 33 लोगों की मौत


अखिलेश पांडेय   

बुर्किना फासो। पश्चिमी अफ्रीकी देश बुर्किना फासो के बोउकल डु मौहौन क्षेत्र में शनिवार को किसानों पर हमलावरों ने हमला किया। इस हमले में 33 लोगों की मौत हो गई। इस बात की जानकारी बोउकल डु मौहौन क्षेत्र के गवर्नर ने दी। इस साल मार्च महीने बाद से पश्चिमी बौकल डु मौहौन क्षेत्र के कुछ हिस्सों आपातकाल की स्थिति बनी हुई है।

बुर्किना फासो के बोउकल डु मौहौन क्षेत्र में सरकार जिहादी हमलों का मुकाबला कर रही हैं। वहीं चेरिबा विभाग के Youlou गांव में भी गुरुवार 11 मई की शाम लगभग 5:00 बजे आतंकवादी हमले को अंजाम दिया गया। इस बात की जानकारी मौहौन प्रांत गवर्नर बाबो पियरे बासिंगा ने दी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-213, (वर्ष-06)

2. सोमवार, मई 15, 2023

3. शक-1944, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 25 डी.सै., अधिकतम- 41+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'  सरस्वती उपाध्याय  चिलचिलाती गर्मी के मौसम में सभी को ठंडा रहने के लिए शरीर को ठंडक ...