बुधवार, 13 अप्रैल 2022

14 अप्रैल को मनाईं जाएगी अंबेडकर की जयंती

14 अप्रैल को मनाईं जाएगी अंबेडकर की जयंती  

सरस्वती उपाध्याय                  
हर साल 14 अप्रैल को भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाईं जाती है। भारत के पहले कानून मंत्री डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती को चिह्नित करते हुए, 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को भारत में समानता दिवस और ज्ञान दिवस के रूप में जाना जाता है। इस दिन ब्रिटिश कोलंबिया, कनाडा में 'अंबेडकर समानता दिवस' भी मनाया जाता है। डॉ. भीमराव आम्बेडकर यानी डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर का जन्म दिन 14 को 1891 को मध्य प्रदेश के महू में हुआ था।
डॉ. भीमराव रामजी अम्बेडकर को भारतीय संविधान के पिता के रूप में सम्मानित किया गया, क्योंकि उनकी अध्यक्षता में ही संविधान सभा ने दुनिया का सबसे लंबा लिखित संविधान तैयार किया गया था। अम्बेडकर जयंती को जातिगत भेदभाव और उत्पीड़न जैसी सामाजिक बुराइयों से लड़ने में न्यायविद के समर्पण को याद करने के लिए भी मनाया जाता है। उन्होंने जाति व्यवस्था का कड़ा विरोध किया और इसे समाज से मिटाने का प्रयास किया।
वह हमेशा उत्पीड़ितों के साथ एकजुटता से खड़े रहे और महिलाओं, मजदूरों और अछूतों के जीवन के उत्थान के लिए काम किया। एक प्रखर समाज सुधारक, अर्थशास्त्री और प्रभावशाली वक्ता होने के साथ-साथ, डॉ. अम्बेडकर राजनीति विज्ञान, कानून और अर्थशास्त्र जैसे विभिन्न विषयों के विद्वान भी थे।
उन्होंने एक ऐसे भारत की कल्पना की जहां सभी नागरिकों को कानून के तहत समान माना जाए। उन्होंने ब्रिटिश शासन से भारत की आजादी के लिए अभियान चलाया।

357 पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी: डीटीसी

357 पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी: डीटीसी    

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। डीटीसी दिल्ली में सरकारी नौकरी के मौकों का इंतजार कर रहे उम्मीदवारों के लिए खुशखबरी। दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) ने 357 पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है। निगम द्वारा जारी नोटिस के अनुसार, असिस्टेंट फोरमैन (रिपेयर एण्ड मेंटेनेंस) के 112 पदों, असिस्टेंट फिटर (रिपेयर एण्ड मेंटेनेंस) के 175 पदों और असिस्टेंट इलेक्ट्रिशियन (रिपेयर एण्ड मेंटेनेंस) के 70 पदों पर भर्ती की जानी है।
उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए विज्ञापित पदों के लिए दिल्ली परिवहन निगम द्वारा संविदा के आधार पर भर्ती की जानी है। संविदा की अवधि आरंभ में एक वर्ष होगी। हालांकि, इसे डीटीसी की आवश्यकता और उम्मीदवार के कार्य-प्रदर्शन के आधार पर आगे भी बढ़ाया जा सकता है।
डीटीसी भर्ती के लिए आवेदन के इच्छुक व योग्य उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट, dtc.delhi.gov.in पर उपलब्ध कराए जाने वाले ऑनलाइन अप्लीकेशन फॉर्म के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे। आवेदन की प्रक्रिया 18 अप्रैल 2022 से शुरू होगी और उम्मीदवार 4 मई 2022 तक अपना अप्लीकेशन सबमिट कर पाएंगे।

संक्रमण: स्वास्थ्य मंत्री ने हालात की समीक्षा की

संक्रमण: स्वास्थ्य मंत्री ने हालात की समीक्षा की    

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। देश के कुछ राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में फिर बढ़ोत्तरी देखी जा रही है। इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने अपने मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हालात की समीक्षा की है। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे संक्रमण की स्थिति पर नजर रखें। नए वैरिएंट की वजह से जो मामले सामने आ रहे हैं, उनकी निगरानी प्रक्रिया को और चुस्त-दुरुस्त करें।
मंडाविया ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे कोरोना के इलाज में काम आने वाली दवाओं और चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता पर भी निगाह रखें। उनमें किसी तरह की कमी न आने दें। हालांकि उन्होंने कोरोना-ओमिक्रॉन के एक्सई वैरिएंट के कारण किसी तरह से चिंतित होने की जरूरत अभी नहीं मानी है। लेकिन सावधानी बरतने के लिए जरूर चेताया है। उनके मुताबिक अभी दुनिया से कोरोना महामारी गई नहीं है। इसलिए सार्वजनिक स्थलों पर मास्क लगाने, आपस की दूरी बरतने जैसे ऐहतियाती कदम सभी को उठाते रहने चाहिए।
गौरतलब है कि अभी 12 अप्रैल को देश में कोरोना के 796 नए मामले दर्ज किए गए थे। इन मामलों में बढ़ोत्तरी का सिलसिला एक हफ्ते से जारी है। गुजरात, मुंबई समेत कुछ राज्यों में एक्सई वैरिएंट के मामले सामने आने की भी खबरें आई हैं। केरल, दिल्ली, महाराष्ट्र, हरियाणा और मिजोरम में नए मामलों में सबसे अधिक बढ़त देखी जा रही है। इसलिए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने इन सभी राज्यों को चिट्‌ठी लिखकर अतिरिक्त सतर्कता बरतने के लिए कहा है।
उधर, भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में मीडिया प्रतिनिधियों से मंडाविया ने कहा कि देश में 12 साल से कम के बच्चों को कब से टीका लगेगा, यह विशेषज्ञ तय करेंगे। रही बात कोरोना टीके की तो इसकी कीमतें अभी और नीचे आ सकती हैं। क्योंकि जल्दी की अधिक संख्या में कंपनियां अपने-अपने टीकों की प्रतिस्पर्धी कीमतों के साथ सामने आएंगी।

10वीं-12वीं के 'टर्म 2' परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड

10वीं-12वीं के 'टर्म 2' परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड  

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई (CBSE) की ओर से कक्षा 10वीं और 12वीं के टर्म 2 परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए हैं। सीबीएसई कक्षा 10 और 12 के प्रवेश पत्र स्कूलों द्वारा बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbse.gov.in से ऑनलाइन डाउनलोड किए जा सकते हैं।
बता दें कि 10वीं की टर्म 2 परीक्षाएं 26 अप्रैल से 24 मई तक आयोजित की जाएंगी, जबकि सीबीएसई 12वीं की टर्म 2 परीक्षाएं 26 अप्रैल से 15 जून तक जारी रहेंगी। परीक्षाएं 2 घंटे की अवधि के लिए आयोजित की जाएंगी।
आधिकारिक वेबसाइट cbse.gov.in पर जाएं।
स्होमपेज पर, ‘एडमिट कार्ड/सेंटर मटीरियल फॉर एग्जामिनेशन 2021-2022’ लिंक पर क्ल्कि करें।
लॉगिन करने के लिए अपना यूजर आईडी, पासवर्ड और सिक्‍योरिटी पिन दर्ज करें।
आपका सीबीएसई टर्म 2 एडमिट कार्ड स्क्रीन पर आ जाएगा। एडमिट कार्ड डाउनलोड करें और इसका प्रिंट आउट ले लें।

बिजली दरों में बढ़ोत्तरी को लेकर कृषि मंत्री का बयान

बिजली दरों में बढ़ोत्तरी को लेकर कृषि मंत्री का बयान   

दुष्यंत टीकम            
बिलासपुर। बिजली दरों में बढ़ोत्तरी को लेकर कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने बिजली दरों में राज्य नियामक आयोग द्वारा की गई बढ़ोत्तरी के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ रहे है। इसके अलावा भारत सरकार कोयला दे नहीं रही है। स्वभाविक है कि मंहगाई बढ़ेगी तो बिजली की दरों में भी बढ़ोत्तरी होगी। इसके लिए सीधे तौर पर केंद्र सरकार दोषी है।
कृषि मंत्री रवींद्र चौबे ने छत्तीसगढ़ भवन में मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि आने वाले समय प्रदेश में केमिकल फर्टिलाइजर का संकट होने की बात कही है। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश में किसानों की संख्या बढ़ी है‌।
इस वजह से धान का रकबा बढ़ा है। बीजेपी के समय मे 52 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा जाता था, जबकि कांग्रेस के शासन में 98 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी हुई है। ये बाते इशारा करती है कि खेती का रकबा बढ़ने से केमिकल फर्टिलाइजर की जरूरत होगी। ऐसे में आनेवाले समय मे केमिकल फर्टिलाइजर का संकट पैदा होगा।रविन्द्र चौबे ने कहा कि कृषि के क्षेत्र में जब हम विकास करेंगे तभी प्रदेश का विकास होगा। उन्होंने कहा कि बिलासपुर और सरगुजा संभाग के किसानों को उन्नत खेती की जानकारी देने के मकसद से कृषि मेले का आयोजन किया जा रहा है। बिलासपुर संभाग की सभी जमीनें फर्टिलाइजड जमीनें हैं। मुंगेली जिले में काली मिट्टी है, जो खेती के लिहाज से सबसे उत्पादक धरती है, वैसी उत्पादक धरती प्रदेश में कही नहीं है।

ग्रामीण इलाकों में बिजली नहीं दें रहीं गठबंधन सरकार

ग्रामीण इलाकों में बिजली नहीं दें रहीं गठबंधन सरकार 

राणा ओबरॉय 
चंडीगढ़। इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने कहा है कि प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा-जजपा) गठबंधन सरकार गहराए बिजली संकट में ग्रामीण इलाकों में बिजली नहीं दें रहीं है। भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीतियों के कारण ही यह संकट देखने को मिल रहा है।
गौरतलब है कि पिछले एक सप्ताह से तापमान में आए उछाल के चलते बिजली की खपत बढ़ी है। लेकिन सरकार बिजली का उत्पादन बढ़ाने की बजाय हाथ पर हाथ धरे बैठी है। उन्होंने आज यहां जारी बयान में कहा कि भाजपा सरकार के कुप्रबंधन के कारण हिसार स्थित खेदड़ थर्मल प्लांट, पानीपत थर्मल प्लांट और झाड़ली के पावर प्लांट की तीन यूनिटें बंद पड़ी हैं।
इस समय प्रदेश में बिजली की मांग 7600 मेगावाट से भी अधिक पहुंच गई है जिसके मुकाबले आपूर्ति सिर्फ छह हजार मेगावाट ही हो रही है। गांवों में 10 से 12 घंटे तक बिजली गुल हो रही है, जिससे ग्रामीणों का जीना दूभर हो गया है। शहरों में दो से चार घंटे तक के बिजली आपूर्ति नहीं हो पा रही है।
उन्होंने कहा कि गेहूं की कटाई के बाद धान और नरमा-कपास की बिजाई के लिए बिजली की मांग बढ़ेगी। किसानों को फसल की बुआई के समय सरकार को बिजली का पहले से ही प्रबंध करना चाहिए। उन्होंने कहा कि समय से पहले भीषण गर्मी पड़ने की वजह से अबकी बार प्रति एकड़ पांच क्विंटल गेहूं की पैदावार कम हुई है।
जिस कारण किसान को लगभग 10 हजार रुपए प्रति एकड़ का नुकसान हुआ है। इसलिए सरकार किसानों को 500 रुपए प्रति क्विंटल बोनस देना सुनिश्चित करे। इसके अलावा खेतों के ऊपर से गुजर रही बिजली की तारों के कारण शॉर्ट सर्किट होने से फसल में लगी आग से हुए नुकसान का सरकार मुआवजा दे। किसानों के जितने भी ट्यूबवैल के कनेक्शन लंबित पड़े हैं उनको तुरंत जारी करे और मोटर खरीदने की शर्तों को वापस ले, ताकि किसान अपनी मर्जी से मोटर खरीद सके।

अगस्त-सितंबर तक होगा कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव

अगस्त-सितंबर तक होगा कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव   

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के तेवर बदल रहे हैं। संगठनात्मक चुनाव के लिए नई तकनीक का सहारा लिया। पार्टी सदस्यता अभियान के पारंपरिक तरीके को अब ऐप के माध्यम से ई-सदस्यता में बदल दिया गया है। अब उसी माध्यम से सदस्यों के बीच एक ऑनलाइन चुनाव आयोजित करने की योजना भी बनाई जा रही है। अगस्त-सितंबर तक अगले कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव होना है। उससे पहले चुनावी कॉलेजियम का गठन किया जाना है। इसके लिए कांग्रेस पार्टी ई-वोटिंग का सहारा लेने पर विचार कर रही है। इस कॉलेजियम में एआईसीसी और पीसीसी के मेंबर शामिल होंगे।
50 से अधिक सदस्य एआईसीसी सदस्य और पीसीसी प्रतिनिधि बनने के लिए चुनाव लड़ने के पात्र होंगे। लगभग आठ से नौ हजार पार्टी पदाधिकारियों के द्वारा तीन लाख से अधिक नामांकनकर्ताओं के इस पात्रता मानदंड को पूरा करने की उम्मीद है।
यूपी को छोड़कर बाकी जगहों पर सदस्यता अभियान 15 अप्रैल को समाप्त होगा। कांग्रेस को इस बात की उम्मीद है कि छह करोड़ से अधिक पार्टी मेंबर हो जाएंगे।
इस अभियान की निगरानी मधुसूदन मिस्त्री के नेतृत्व वाली केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण कर रहा है। प्रवीण चक्रवर्ती के नेतृत्व वाले एआईसीसी डेटा एनालिटिकल विभाग के समन्वय में प्रदेश रिटर्निंग ऑफिसर (पीआरओ) और पार्टी नामांकनकर्ताओं के माध्यम से इसे अंजाम दिया जा रहा है। यह भी पता चला है कि ई-सदस्यता के साथ-साथ पेपर प्रारूप में एकत्र की गई सदस्यता को हाल ही में डिजिटल स्वरूपों में परिवर्तित करने का निर्णय लिया गया है।
राहुल गांधी ने आंतरिक रूप से इस ई-ड्राइव को कांग्रेस संगठन का एक्स-रे के रूप में वर्णित किया है। आयोजकों का कहना है कि सत्यापित डिजिटल सदस्यता से फर्जी सदस्यता से छुटकारा मिलेगा। कांग्रेस सदस्यता अभियान और आगामी संगठनात्मक चुनाव इस बार पार्टी के परिवर्तन चाहने वालों की पार्टी अध्यक्ष पद और सीडब्ल्यूसी सहित निष्पक्ष संगठनात्मक चुनावों की मांग के कारण विशेष रुचि जगाते हैं।
आयोजकों का कहना है कि एक नए एंड्रॉइड “कांग्रेस सदस्यता ऐप” के माध्यम से यह ड्राइव, केवल स्वीकृत कांग्रेस पार्टी के नेताओं, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के लिए उपलब्ध है। केवल स्वीकृत नामांकनकर्ता ही सदस्यता के लिए घर-घर जाते हैं। एक फुलप्रूफ, सत्यापित और सख्त डिजिटल सदस्यता कार्यक्रम “मिस्ड कॉल” पद्धति के माध्यम से सदस्यता स्वीकार नहीं करता है।

पिछले वर्षों की तुलना, गर्मियों की शुरुआत अधिक हुईं

पिछले वर्षों की तुलना, गर्मियों की शुरुआत अधिक हुईं    

अकांशु उपाध्याय              

नई दिल्ली। इस साल शुरुआती और लंबे समय तक लू चलने के कारण राष्ट्रीय राजधानी में पिछले वर्षों की तुलना में गर्मियों की शुरुआत अधिक हुई है। अधिकतम तापमान लगातार सामान्य से ऊपर बना हुआ है और दिल्ली में 29 मार्च से ही लू की स्थिति बनने लगी थी। रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल महीने के शुरुआती 11 दिनों में से पांच दिनों तक राष्ट्रीय राजधानी में हीट वेव चलती रही। इसकी तुलना में अप्रैल 2021 और 2020 में ऐसा कोई दिन नहीं था, जब इतनी गर्मी महसूस की गई हो। अप्रैल 2019 और 2018 में केवल एक ऐसा दिन दर्ज किया गया, जब हीट वेव का असर था।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, इस साल अप्रैल की पहली छमाही में दर्ज किया गया उच्चतम अधिकतम तापमान पिछले 72 वर्षों में 1 से 15 अप्रैल का उच्चतम अधिकतम तापमान है। इस साल अब तक, सफदरजंग मौसम वेधशाला में 11 अप्रैल को सबसे अधिक अधिकतम तापमान 42.6 डिग्री दर्ज किया गया था। यह 1951 से 2021 तक 1 से 15 अप्रैल के उच्चतम अधिकतम तापमान के पहले के रिकॉर्ड को पार कर गया। अप्रैल 2010 में 12 और 13 तारीख को 41.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आईएमडी के वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने कहा कि शहर में लगभग 50 दिनों में बारिश नहीं हुई है। सफदरजंग में मार्च के महीने में सामान्य वर्षा 15.9 मिमी होती है। इस बार मार्च में दिल्ली में बारिश नहीं हुई। अप्रैल के लिए सामान्य वर्षा 19.7 मिमी है और दिल्ली में इस महीने अभी तक बारिश नहीं हुई है। शहर में पिछली बार 25 फरवरी को बारिश हुई थी। उन्होंने बताया कि इस तरह एक लंबा सूखा स्पेल गर्मी की लहर का एक असामान्य पैटर्न है। यह एक लंबा समय था जो 8 से 11 अप्रैल तक चरम पर था।

आईएमडी वैज्ञानिक के साथी देवी ने कहा कि उत्तर पश्चिम भारत के लिए वर्ष के इस समय वर्षा लाने वाला मुख्य मौसम सिस्टम पश्चिमी विक्षोभ है। पश्चिमी विक्षोभ ऐसे तूफान हैं, जो भूमध्यसागरीय क्षेत्र में उत्पन्न होते हैं और भारत के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में वर्षा लाते हैं। देवी ने बताया कि अगर आपके पास बारिश देने वाली कोई सिस्टम नहीं है, आकाश साफ है तो निर्बाध सौर विकिरण तापमान को उच्च रखता है और हम हीट वेव महसूस करते हैं। मौसम विज्ञानी देवी के मुताबिक, पिछले साल एक के बाद एक कई पश्चिमी विक्षोभ आए, लेकिन इस साल पश्चिमी विक्षोभ की गतिविधि दुर्लभ और कमजोर है। अगर है भी, तो यह उत्तर की ओर बढ़ रहा है और उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित नहीं कर रहा है। जेनामनी ने बताया कि मार्च में ऐसे पांच सिस्टम थे, लेकिन वे हवाओं, नमी या बादलों के मामले में उत्तर पश्चिमी क्षेत्र को प्रभावित किए बिना हिमालय के उत्तर में चले गए और यह प्रवृत्ति जारी रही है।

एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित करने के लिए तैयार है और 13 और 14 अप्रैल को इस क्षेत्र में अलग-अलग वर्षा ला सकता है। पंजाब, उत्तर पश्चिमी राजस्थान और उत्तरी हरियाणा में भी अलग-अलग वर्षा होने की संभावना है, लेकिन दिल्ली के लिए बारिश का अनुमान नहीं है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक यह पश्चिमी विक्षोभ भी कमजोर है, लेकिन बादल अस्थायी रूप से तापमान को नीचे लाने में मदद कर सकते हैं। दिल्ली में 13 से 15 अप्रैल को आसमान में बादल छाए रहने से हल्की राहत का मतलब है कि अधिकतम तापमान 39 डिग्री के आसपास गिर सकता है जबकि 16 अप्रैल से फिर तापमान बढ़ेगा।

निर्धन का कल्याण, सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता

निर्धन का कल्याण, सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता 

अकांशु उपाध्याय           

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि निर्धन का कल्याण, सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है और कोरोना महामारी के दौरान भी यह सरकार का संकल्प रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना ने देशवासियों को आश्वस्त किया है कि सरकार हर मुसीबत में उनके साथ खड़ी है। 
प्रधानमंत्री ने बुधवार को ट्वीट किया, “ गरीबों का कल्याण ही हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। कोरोना महामारी के दौर में भी हम इसे लेकर प्रतिबद्ध रहे। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना ने देशवासियों को आश्वस्त किया है कि सरकार हर मुसीबत में उनके साथ खड़ी है।

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी की

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी की   

अकांशु उपाध्याय          
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने बुधवार को पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी कर दी है। सरकारी तेल कंपनियों ने लोगों को राहत दी है। तेल कंपनियों की तरफ से बुधवार को सातवे दिन भी पेट्रोल और डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है‌। अप्रैल महीने में ये सातवा दिन है, जब पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ है‌। ऐसे में वाहन ईंधन  पेट्रोल-डीजल पर महंगाई की मार से परेशान लोगों को अब कीमतें स्थिर रहने से कुछ राहत मिली है।
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पेट्रोल 118.07 रुपये जबकि डीजल 101.09 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। वहीं, इंदौर में पेट्रोल 118.26 रुपये और डीजल 101.29 रुपये प्रति लीटर है। इसके अलावा बालाघाट में सबसे महंगा पेट्रोल और डीजल बिक रहा है। बालाघाट में एक लीटर डीजल 103.32 रुपये और पेट्रोल 120.48 रुपये प्रति लीटर है। भारतीय पेट्रोलियम विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOCL) के लेटेस्ट अपडेट के अनुसार, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 120.51 रुपये लीटर और डीजल 104.77 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। मुंबई के अलावा राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल का भाव 120 रुपये प्रति लीटर के पार है।
पेट्रोलियम विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOCL) ने हर रोज की तरह आज (बुधवार), 13 अप्रैल 2022 की सुबह 6 बजे अपडेट लेटेस्ट रेट के मुताबिक पेट्रोल पेट्रोल और डीजल  के दाम स्थिर हैं‌। बता दें कि अप्रैल महीने में लगातार सातवें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इससे पहले पिछले बुधवार (6 अप्रैल) को पेट्रोल-डीजल दोनों ही ईंधन के दामों में 80 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया गया था। हालांकि, 22 मार्च से अभी तक पेट्रोल-डीजल के दाम में 10 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की जा चुकी है।
पेट्रोल-डीजल  के भाव रोजाना बदलते हैं और सुबह 6 बजे अपडेट हो जाते हैं। पेट्रोल-डीजल का रोज़ का रेट आप SMS के जरिए भी जान सकते हैं। 9224992249 नंबर पर और बीपीसीएल (BPCL) के ग्राहक RSP लिख कर 9223112222 नंबर पर भेज जानकारी हासिल कर सकते हैं। वहीं, एचपीसीएल (HPCL) के ग्राहक HPPrice लिख कर 9222201122 नंबर पर भेजकर भाव पता कर सकते हैं।

सरकार को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश

सरकार को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश 

अकांशु उपाध्याय/ पंकज कपूर     

नई दिल्ली/देहरादून। उत्तराखंड के हरिद्वार में हेट स्पीच मामलें में सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई। कोर्ट ने राज्य सरकार को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश दिया है। अदालत ने सरकार को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने के लिए 22 अप्रैल तक का समय दिया है। सुनवाई के दौरान राज्य सरकार ने अदालत को बताया कि इस मामले में चार केस दर्ज किए जा चुके हैं।
याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस एएस ओका की बेंच को बताया कि 17 अप्रैल को हिमाचल प्रदेश में भी इसी तरह का कार्यक्रम होना है। सिब्बल ने कार्यक्रम पर रोक लगाने की मांग की है। उधर, शीर्ष अदालत ने कहा कि आवेदक राज्य में संबंधित अधिकारियों को घटना के बारे में सूचना देने के लिए स्वतंत्र है। सिब्बल ने अदालत को बताया था कि अलीगढ़ में एक धर्म संसद होनी है। अदालत ने इस पर कहा कि याचिकाकर्ता इस तरह की घटनाओं के बारे में स्थानीय अधिकारियों को सूचित कर सकते हैं।
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 12 जनवरी को एक याचिका पर सुनवाई करते हुए नोटिस जारी किया था। याचिका में हरिद्वार और दिल्ली में आयोजित दो कार्यक्रमों के दौरान कथित रूप से अभद्र टिप्पणी करने वालों के खिलाफ जांच और कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश देने की मांग की गई थी।
पत्रकार कुरबान अली, पटना हाईकोर्ट के पूर्व जज और वरिष्ठ वकील अंजना प्रकाश ने इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। याचिकाकर्ताओं ने मुस्लिम समुदाय के खिलाफ हेट स्पीच को लेकर एसआईटी को स्वतंत्र, विश्वसनीय और निष्पक्ष जांच का निर्देश देने की मांग की थी।
बुधवार को सुनवाई के दौरान उत्तराखंड की ओर से पेश वकील ने मामले में जवाबी हलफनामा दाखिल करने के लिए समय मांगा। उन्होंने कहा, ‘आज वापसी की तारीख है। हम राज्य के लिए हैं। हम जवाबी दाखिल करने के लिए कुछ समय मांग रहे हैं।’ उन्होंने अदालत को बताया, ‘हमने मामले में चार एफआईआर दर्ज की है, जिनें से तीन मामलों में चार्जशीट फाइल कर दी है। इस मामले में जल्द ही स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करेंगे। सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने उत्तराखंड के वकील को 22 अप्रैल तक स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है।
गौरतलब है कि हरिद्वार में बीते साल दिसंबर धर्म संसद का आयोजन हुआ था। इसमें हेट स्पीच के वीडियो काफी वायरल हुए थे। हरिद्वार पुलिस ने इस मामले में कुछ आरोपियों के खिलाफ केस भी दर्ज किया था।

विधानसभा सचिव सलमान ने पार्टी से इस्तीफा दिया

विधानसभा सचिव सलमान ने पार्टी से इस्तीफा दिया   

हरिओम उपाध्याय          
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के लम्भुआ सुल्तानपुर विधानसभा सचिव सलमान जावेद राईन ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया हैै। उन्होंने आजम खान के समर्थन में यह इस्तीफा दिया है। सलमान जावेद राईन ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर मुसलमानों के हक में न बोलने का आरोप लगाया हैै। उन्होंने कहा कि सपा नेताओं पर हो रही कार्रवाई पर अखिलेश यादव चुप है। आजम खान, नाहिद हसन और शहजील इस्लाम पर कार्रवाई हो रही है। इसके बाद भी सपा चुप है।सलमान जावेद ने यह इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को भेजा है। इस्तीफे में अखिलेश यादव पर कई आरोप लगाए गए हैं। जावेद राईन ने अपने इस्तीफे में लिखा कि मुसलमानों के साथ लगातार जुल्म हो रहे हैंं।
 इसके खिलाफ प्रदेश से लेकर जिले तक सता की मलाई खाने वाले समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी और नेता आवाज नहीं उठा रहे। आजम खां के पूरे परिवार को जेल में डाल दिया गया और नाहिद हसन को भी जेल भेजा गया। यहां तक शहजिल इस्लाम का पेट्रोल पंप गिरवा दिया गया, लेकिन अखिलेश यादव खामोश रहें. जो कायर नेता अपने विधायकों को लिए आवाज नहीं उठा सकता वह कार्यकर्ताओं के लिए क्या आवाज उठाएगा। इस इस्तीफे के सामने आने के बाद कई सवाल खड़े हो गए हैं। माना जा रहा है कि इसके बाद कई अन्य इस्तीफे भी सामने आ सकते हैंं। कुछ जानकार इसे बगावत की शुरूआत भी बता रहे हैं‌। उनका कहना है कि बीते दिनों जिस तरह से मुस्लिम नेताओं की सपा से नाराजगी सामने आई उसके बाद कई बड़े नेता भी पार्टी से किनारा कर सकते हैंं।

फर्जी शिक्षक को 5 साल का सश्रम कारावास, जुर्माना

फर्जी शिक्षक को 5 साल का सश्रम कारावास, जुर्माना


दुष्यंत टीकम        

धमतरी। धमतरी जिले में एक फर्जी शिक्षाकर्मी की काली करतूत सामने आई है। खेल व अनुभव प्रमाण पत्र में गड़बड़ी के दोषी शिक्षक चंद्रकांत साहू को जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने पांच साल का सश्रम कारावास और 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना नहीं देने पर तीन माह अतिरिक्त सजा भुगतना पड़ेगा।

वर्ष 2007 में धमतरी जिले के जनपद पंचायत मगरलोड में शिक्षाकर्मियों की भर्ती हुई थी। जनपद से जारी चयन सूची में ग्राम किरवई, थाना राजिम, जिला रायपुर निवासी चंद्रकांत साहू की नियुक्ति शासकीय प्राथमिक शाला परसट्टी में हुई। उन्होंने भर्ती के समय जो खेल व अनुभव प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया था। वह फर्जी था। थाना मगरलोड में इसकी शिकायत कृष्ण कुमार साहू ने की थी। शिकायत पर जांच के बादआरोपित शिक्षक चंद्रकांत साहू के खिलाफ मगरलोड थाना में मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश धमतरी केएल चरयाणी ने सभी पक्षों को सुनने के बाद शिक्षक साहू को दोषी मानते हुए पांच वर्ष सश्रम कारावास और 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।

पीएचडी: मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने आवेदन आमंत्रित कियें

पीएचडी: मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने आवेदन आमंत्रित कियें 

संदीप मिश्र       
अलीगढ़।‌‌ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने पीएचडी प्रवेश परीक्षा सत्र 2021-22 के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये है। बिना बिलम्ब शुल्क के आवेदन करने की आखिरी तिथि 07 मई 2022 है। वहीं 300/- बिलम्ब शुल्क सहित आवेदन करने की आखिरी तिथि 14 मई 2022 राखी गयी है। अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है की ऑनलाइन आवेदन करने के लिए एएमयू की आधिकारिक वेबसाइट http://www.amucontrollerexams.com पर जा कर पीएचडी एडमिशन सम्बंधि अधिक जानकारी प्राप्त करें।
बिना बिलम्ब शुल्क के अभ्यर्थी 13 अप्रैल से 07 मई 2022 तक आवेदन कर सकते है। वहीं विलम्ब शुल्क 300/- रु के साथ अभ्यर्थी 8 मई से 14 मई तक आवेदन कर सकते है।
एएमयू पीएचडी प्रवेश 2022 के लिए आवेदन करने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से अनुसंधान के प्रस्तावित क्षेत्र में मास्टर डिग्री या समकक्ष आवश्यक है। उपरोक्त योग्यता कम से कम 55% कुल अंकों (आरक्षित श्रेणियों के लिए 50%) के साथ उत्तीर्ण होनी चाहिए।
पीएचडी में उम्मीदवारों का चयन कार्यक्रम एक प्रवेश परीक्षा के माध्यम से बनाया जाएगा जिसमें (1) एक लिखित परीक्षा और (2) एक प्रस्तुति-सह-साक्षात्कार (उन लोगों के लिए जो लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं और प्रस्तुति-सह-साक्षात्कार के लिए शॉर्ट-लिस्टेड हैं।
यूजीसी / सीएसआईआर / डीबीटी / आईसीएमआर / आईसीएआर / आईआईटी द्वारा आयोजित परीक्षा या किसी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय वित्त पोषण एजेंसी द्वारा पिछले तीन वर्षों के भीतर आयोजित किसी अन्य परीक्षा के माध्यम से नेट / जेआरएफ या गेट (केवल विज्ञान स्ट्रीम के लिए) उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को माना जाएग। लिखित परीक्षा में उपस्थित हुए बिना आवश्यक न्यूनतम 50% अंक प्राप्त किए हैं। हालांकि, ऐसे उम्मीदवारों के पास सुधार करने के लिए लिखित परीक्षा में बैठने का विकल्प होगा, ऐसे में लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों में से अधिक अंक या लिखित परीक्षा में शामिल हुए बिना न्यूनतम 50% अंकों की गणना की जाएगी।

अप्रैल में मारुति की 3 कारों पर बंपर डिस्काउंट

अप्रैल में मारुति की 3 कारों पर बंपर डिस्काउंट    

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की 3 कारों पर अप्रैल में बंपर डिस्काउंट मिल रहा है। इसमें Ignis, Ciaz और S-Cross शामिल हैं। जानें किस कार पर आप कितने रुपये बचा सकते हैं।
Ignis पर बचेंगे 33,000 तक।
मारुति सुजुकी की नेक्सा डीलरशिप पर मिलने वाली गाड़ियों पर अप्रैल में भारी डिस्काउंट मिल रहा है। इसमें Maruti Ignis पर ग्राहक 33,000 रुपये तक बचा सकते हैं। मैनुअल ट्रांसमिशन वाले मॉडल पर 20,000 रुपये का कैश डिस्काउंट मिलेगा। इसके अलावा Ignis के सभी मॉडल पर 10,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस और 3,000 रुपये का कॉरपोरेट डिस्काउंट मिल रहा है।
Maruti Ignis के ऑटोमेटिक वर्जन पर कंपनी की ओर से कोई कैश डिस्काउंट नहीं मिल रहा है। ऐसे में एक्सचेंज बोनस और कॉरपोरेट डिस्काउंट के तौर पर इस गाड़ी को खरीदने पर अप्रैल में 13,000 रुपये की बचत होगी।
मारुति की सेडान गाड़ी Maruti Ciaz पर कैश डिस्काउंट तो नहीं है, लेकिन कंपनी इस पर 25,000 रुपये तक का एक्सचेंज बोनस दे रही है। वहीं 5,000 रुपये का कॉरपोरेट डिस्काउंट भी मिल रहा है।
कंपनी Maruti S-Cross के Zeta ट्रिम पर भी अप्रैल में भारी डिस्काउंट दे रही है। इस पर 17,000 रुपये तक का कैश डिस्काउंट मिल रहा है। जबकि 25,000 रुपये तक का एक्सचेंज बोनस और 5,000 रुपये का कॉरपोरेट डिस्काउंट भी इस पर मिल रहा है।
S-Cross के Zeta ट्रिम के अलावा बाकी मॉडल पर अप्रैल में 12,000 रुपये तक का कैश डिस्काउंट मिलेगा। साथ ही एक्सचेंज बोनस और कॉरपोरेट डिस्काउंट भी मिल रहा है।

तेज रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा 'धूमकेतु'

तेज रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा 'धूमकेतु' 

अखिलेश पांडेय       
वॉशिंगटन डीसी। अब तक का सबसे बड़ा धूमकेतु 35,405 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है। इस कॉमेट का द्रव्यमान करीब 500 ट्रिलियन टन है। इसका बर्फीला नाभिक 128 किमी चौड़ा है, जो अन्य ज्ञात धूमकेतुओं के केंद्रों से 50 गुना बड़ा है। लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। क्योंकि अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का मानना है कि यह सूर्य से करीब 1.60 अरब किमी से अधिक नजदीक नहीं आएगा।
इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक C/2014 UN271 नाम का धूमकेतु पहली बार नवंबर 2010 में एक दशक से अधिक समय पहले देखा गया था। उस समय यह सूर्य से 4.82 अरब किमी की दूरी पर था। सौर मंडल के किनारे से अपने केंद्र की ओर यात्रा कर रहा था। इसका द्रव्यमान अन्य धूमकेतुओं की तुलना में 100,000 गुना बड़ा है। 
जो आमतौर पर सूर्य के करीब पाए जाते हैं।
पृथ्वी और अंतरिक्ष में टेलिस्कोप का इस्तेमाल करने वाले वैज्ञानिक तभी से इसकी निगरानी कर रहे हैं। उनका मानना है कि 2031 में इसकी यात्रा हमसे शनि जितनी दूर स्थित एक बिंदू पर खत्म होगी। इस पर नजर रखने वाले वैज्ञानिक जानते थे कि यह विशाल कॉमेट है, लेकिन इसके विशालकाय आकार का हालिया अनुमान हबल स्पेस टेलिस्कोप द्वारा ली गई तस्वीरों से लगा है।
कॉमेट के आकार का पता लगाना बेहद मुश्किल होता है, क्योंकि इसके चारों ओर धूल के ढेर सारे कण होते हैं जिसके चलते इसे देख पाना बेहद मुश्किल होता है। लेकिन, कॉमेट के केंद्र में चमकीले बिंदु को गौर से देखने पर और कंप्यूटर मॉडल्स का इस्तेमाल करके वैज्ञानिकों ने इसका पता लगाया। यह कॉमेट अरबों साल पुराना है और हमारे सौर मंडल के शुरुआती दिनों का अवशेष है।

आप में शामिल हुए 'भाजपा' के 3 वरिष्ठ नेता

आप में शामिल हुए 'भाजपा' के 3 वरिष्ठ नेता     

इकबाल अंसारी         
शिमला। हिमाचल प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक वरिष्ठ नेता बुधवार को यहां आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल हो गए और उन्होंने कहा कि वह भगवा पार्टी की नीति से ‘तंग’ आ गए थे। भाजपा के अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य हर्मेल धीमान आप के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में अपने समर्थकों के साथ पार्टी में शामिल हो गए। धीमान के साथ हिमाचल प्रदेश से भाजपा के दो अन्य नेता देवराज और जगदीश पंवार भी आप में शामिल हो गए हैं। 

आप के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश से भाजपा के और नेता जल्द ही अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली पार्टी में शामिल होने के लिए तैयार हैं।

जैन ने पत्रकारों से कहा, ‘‘धीमान, हिमाचल प्रदेश में जाना-पहचाना चेहरा हैं। भाजपा की नीति से तंग आकर वह आज आम आदमी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। वह पिछले 30 वर्षों से भाजपा से सक्रिय रूप से जुड़े रहे और भाजपा के एससी मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य के तौर पर काम कर रहे थे।’’

उन्होंने कहा कि धीमान इससे पहले भाजपा की हिमाचल प्रदेश ईकाई के एससी मोर्चा के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

जैन ने कहा कि देवराज हिमाचल प्रदेश में भाजपा के दो बार मंडल अध्यक्ष रह चुके हैं जबकि पवार दो बार प्रधान (गांव के प्रमुख) रह चुके हैं और उन्होंने पर्वतीय राज्य में मंडल विकास परिषद तथा जिला परिषद के सदस्य के तौर पर भी काम किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा से कम से कम 1,000 लोग जल्द ही आम आदमी पार्टी में शामिल होंगे। मैं इस संबंध में जल्द ही कसौली जाऊंगा।’’

जैन हिमाचल प्रदेश में आप के राजनीतिक मामलों के प्रभारी है। हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत में चुनाव होंगे।

आप में शामिल होने के बाद धीमान ने पत्रकारों से कहा, ‘‘आज मैं आम आदमी पार्टी में शामिल हो रहा हूं क्योंकि मैं भाजपा की नीति से तंग आ गया हूं। मैं इस पार्टी में इसलिए शामिल हुआ हूं क्योंकि मैं अरविंद केजरीवाल के काम और विचारधारा से प्रभावित हूं।’’

आप ने सोमवार को अपनी हिमाचल प्रदेश कार्यकारी समिति को भंग कर दिया था और ऐलान किया था कि वह पार्टी के प्रदेश ईकाई के शीर्ष पदाधिकारियों और भाजपा के कुछ अन्य नेताओं के दल बदलने के बाद, ‘‘जल्द’’ ही इसका पुनर्गठन करेगी।

पिछले सप्ताह आप के हिमाचल प्रदेश के अध्यक्ष अनूप केसरी, महासचिव (संगठन) सतीश ठाकुर और ऊना जिले के प्रमुख इकबाल सिंह भाजपा के अध्यक्ष जे पी नड्डा और केंद्रीय मंत्री तथा हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर की मौजूदगी में यहां भाजपा में शामिल हो गए थे।

ठाकुर ने आप की महिला ईकाई की प्रमुख ममता ठाकुर समेत कुछ और नेताओं के भाजपा में शामिल होने के बाद सोमवार को आप पर निशाना साधते हुए कहा था कि केजरीवाल के लिए हिमाचल प्रदेश में अपनी पार्टी का संगठन बचाना मुश्किल हो गया है।

अखिलेश को मुसलमानों से नफरत करने वाला बताया

अखिलेश को मुसलमानों से नफरत करने वाला बताया 

संदीप मिश्र         
लखनऊ। समाजवादी पार्टी में आजम खान और शफीकुर्रहमान बर्क जैसे मुस्लिम नेताओं की नाराजगी के बीच इस्लामिक संगठन ऑल इंडिया तंजीम उलेमा-ए-इस्लाम ने भी अखिलेश यादव को मुसलमानों से नफरत करने वाला बताया है। सुन्नी मुसलमानों के धार्मिक संगठन के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन रजवी ने मुसलमानों को दूसरे विकल्पों पर विचार करने की नसीहत देते हुए कहा है कि मुलायम और अखिलेश की सपा में काफी फर्क है। अखिलेश यादव को दाढ़ी और टोपी वाले मुसलमानों से ना सिर्फ परहेज है, बल्कि नफरत है। उलेमा-ए-इस्लाम के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन रजवी ने इसको लेकर एक बयान भी जारी किया है। मौलाना ने बुधवार को एक टीवी चैनल से इस पर बातचीत की और आजम खान और शफीकुर्रहमान बर्क जैसे नेताओं को जल्द सपा छोड़ने की सलाह दी। मौलाना ने कहा कि हिन्दुस्तान में राजनीतिक हालात अब काफी बदल चुके हैं। इसलिए मुसलमानों को दोबारा सोचने की जरूरत है। उन्हें ना तो किसी पार्टी से अधिक जुड़ाव दिखाना चाहिए और ना ही किसी पार्टी का इतना विरोध करें कि बाद में इसका नुकसान उठाना पड़े।
मौलाना शहाबुद्दीन रजवी ने कहा कि मुलायम और अखिलेश की सपा में काफी फर्क आ चुका है। उन्होंने कहा, ”अखिलेश यादव ने मुसलमानों का चेहरा बनने से इनकार किया है। उनको अपने साथ रखने से इनकार कर दिया है। उन्हें दाढ़ी, कुर्ता और टोपी वाले मुसलमानों से परहेज है, बल्कि नफरत है। ऐसे में मुसलमानों को चाहिए कि जो वैकल्पिक पार्टियां हैं उन पर विचार करना चाहिए।
सपा में आजम खान और शफीकुर्रहमान बर्क जैसे नेताओं की नाराजगी को लेकर सवाल किए जाने पर रजवी ने कहा, ”आजम खान और बर्क आज कह रहे हैं कि अखिलेश मुसलमानों के हितैषी नहीं है। मैं तो 5 महीने से यह बात कह रहा हूं। चुनाव के दौरान भी यह बात कही थी। तब इन्हें समझ नहीं आ रहा था। आज समझ में आया है तो पहली फुर्सत में सपा छोड़ देनी चाहिए।

भाजपा पर एजेंडा चलाने का आरोप: दिग्विजय

भाजपा पर एजेंडा चलाने का आरोप: दिग्विजय   

मनोज सिंह ठाकुर            
भोपाल। कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ एक फर्जी फोटो सोशल मीडिया पर साझा करने के संबंध में एफआईआर दर्ज की गई है। इस संबंध में दिग्विजय सिंह ने बुधवार को भाजपा पर एजेंडा चलाने का आरोप लगाया है।
दरअसल, दिग्विजय सिंह ने बिहार की फोटो को खरगोन का बताकर प्रशासन को घेरने का प्रयास किया। जिसके बाद दिग्विजय सिंह की चौतरफा आलोचना हुआ। हालांकि कुछ देर बाद उन्होंने ट्वीट को डिलीट कर दिया।
खरगोन में रामनवमी के जुलूस के दौरान पथराव, कुछ वाहनों और घरों में आगजनी की घटनाओं के बाद पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया। इसके साथ ही शिवराज सरकार ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे।
मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा था कि दंगाईयों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। मध्य प्रदेश की धरती में दंगाईयों का कोई स्थान नहीं है और फिर खरगोन में आरोपियों के मकानों और दुकानों पर सरकारी बुलडोजर चलाया गया।
सरकारी कार्रवाई को लेकर दिग्विजय सिंह खफा हो गए और उन्होंने एक फोटो शेयर करते हुए खरगोन प्रशासन पर निशाना साधते हुए कहा था कि क्या खरगोन प्रशासन ने हथियारों को लेकर जुलूस निकालने की इजाजत दी थी। लेकिन उन्होंने जो फोटो साझा किया था वो मध्य प्रदेश का नहीं बल्कि बिहार का था। जिसके कुछ वक्त बाद उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया लेकिन वह काफी ज्यादा वायरल हो चुका था।

भारत में बुलेट ट्रैन चलाने की तैयारी, परियोजना

भारत में बुलेट ट्रैन चलाने की तैयारी, परियोजना   

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। भारत में जल्द ही बुलेट ट्रैन चलाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए जापान की अत्याधुनिक और हाईस्पीड शिंकानसेन ट्रेन को भारतीय परिस्थितियों के अनुकूल भारत के तापमान, धूल और भार के हिसाब से बदलाव किया जा रहा है। कॉरपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक सतीश अग्निहोत्री ने कहा कि बुलेट ट्रेन का सबसे पहला ट्रायल 2026 तक गुजरात के सूरत-बिलीमोरा खंड पर शुरू किया जाएगा। देश में पहली बुलेट ट्रेन मुंबई-अहमदाबाद के बीच दौड़ेगी। अग्निहोत्री ने बताया कि मुंबई-अहमदाबाद के बीच कुल 502 किलोमीटर लंबी हाई स्पीड कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है। इसमें से गुजरात राज्य के भीतर 352 किलोमीटर की पटरी बिछाई जानी है। इसके लिए 98.7 फीसदी भूमि अधिग्रहण का काम पूरा कर लिया गया है।
सूरत-नवसारी खंड पर बुलेट ट्रेन परियोजना के निर्माण कार्य का निरीक्षण करने के बाद सतीश अग्निहोत्री ने पत्रकारों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना का काम सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर किया जा रहा है। इस मौके पर जापान के राजदूत सातोसी सिजुकी भी मौजूद थे। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को प्रतिदिन परियोजना की कार्य प्रगति रिपोर्ट भेजी जाती है।
अग्निहोत्री ने एक सवाल के जवाब में दावा किया कि। सूरत-बिलीमोरा (48 किलोमीटर) खंड पर दिसंबर 2026 में बुलेट ट्रेन का ट्रायल शुरू हो जाएगा। अग्निहोत्री ने बताया कि बुलेट ट्रेन परियोजना में वर्तमान में 20 हजार लोग नौकरी कर रहे हैं। जल्द एक लाख लोग इस परियोजना में नौकरी करेंगे। उन्होंने बताया कि मेक इन इंडिया के तहत सभी परियोजनाओं के ठेके भारतीय कंपनियों को दिए गए हैं। नर्मदा ब्रिज, माही ब्रिज, ताप्ती ब्रिज व साबरमती ब्रिज पर वेल फाउंडेशन पर काम चल रहा है। इसके अलावा वापी-साबरमती तक सभी आठ बुलेट ट्रेन स्टेशनों पर निर्माण कार्य विभिन्न चरणों में हैं।
सतीश अग्निहोत्री ने बताया कि जापान की तकनीकी, रोलिंग स्टॉक व सिग्नल सिस्टम होने के कारण बुलेट ट्रेन कभी भी दुर्घटनाग्रस्त नहीं होगी। इस तकनीक को क्रैश एवॉयडेंस सिस्टम कहा जाता है।

1,000 से अधिक यूक्रेनी सेनाओं का आत्मसमर्पण

1,000 से अधिक यूक्रेनी सेनाओं का आत्मसमर्पण   

अखिलेश पांडेय 
कीव/मास्को। रूस के चेचन्या गणराज्य के नेता रमजान कादिरोव ने मारियुपोल में 1,000 से अधिक यूक्रेनी सेनाओं के आत्मसमर्पण किए जाने की जानकारी दी है।
 कादिरोव ने टेलीग्राम पर लिखा, 'यूक्रेनी सशस्त्र बलों के 1,000 से अधिक नौसैनिकों ने बुधवार को मारियुपोल में आत्मसमर्पण किया है। इनमें से सैकड़ों घायल हैं। यही उनकी तरफ से उठाया गया सही कदम है।
पूर्वी यूक्रेन के डोनेट्स्क और लुहान्सक को आजाद देश के तौर पर मान्यता देने के बाद यूक्रेनी सेना के द्वारा यहां लगातार किए जा रहे हमलों से सुरक्षा के मद्देनजर रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन में विशेष सैन्य अभियान की शुरुआत की थी।
इस हमले को लेकर रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि विशेष सैन्य अभियान का मकसद यूक्रेनी सैन्य बुनियादी ढांचे को निशाना बनाना है। यूक्रेन पर कब्जा जमाने का उनका कोई इरादा नहीं है।

'आदिपुरष' में काम के लिए उत्साहित है अभिनेत्री

'आदिपुरष' में काम के लिए उत्साहित है अभिनेत्री    

कविता गर्ग     
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री सोनल चौहान फिल्म आदिपुरष में काम करने को लेकर उत्साहित है।
बॉलीवुड निर्देशक ओम राउत इन दिनों फिल्म आदिपुरूष बना रहे हैं। इस फिल्म में प्रभास, सैफ अली खान और कृति सैनन की अहम भूमिका है। इस माइथोलॉजिक फिल्म में सोनल चौहान की भी इंट्री हो गयी है। यह फिल्म एक बार फिर रामायणा की कहानी को लोगों के समक्ष पेश करेगा।
सोनल चौहान ने कहा, "में बेहद उत्साहित हूं कि मैं फिल्म आदिपुरूष का हिस्सा हूं। मैंने अब तक जितनी भी फिल्में की हैं यह फिल्म उससे बहुत ही अलग है। मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शक इस मैग्नम ओपस अदिपुरुष को जरूर एंजॉय करेंगे।
गौरतलब है कि ओम राऊत द्वारा निर्देशित आदिपुरूष हिंदी और तेलुगु में रिलीज की जाएगी।

जूनियर इंस्ट्रक्टर रिक्रूटमेंट के पदों पर वैकेंसी

जूनियर इंस्ट्रक्टर रिक्रूटमेंट के पदों पर वैकेंसी  

नरेश राघानी           

जयपुर। सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (RSMSSB) ने जूनियर इंस्ट्रक्टर रिक्रूटमेंट (RSMSSB, Junior Instructor Recruitment 2022) के पदों पर वैकेंसी निकाली हैं। वो उम्मीदवार जो इन पदों के लिए आवेदन करने के योग्य हों, वो बताए गए प्रारूप में अप्लाई कर सकते हैं।

बता दें इस रिक्रूटमेंट ड्राइव के माध्यम से कुल 43 पद भरे जाएंगे। विस्तार से जानने और अप्लाई करने के लिए आरएसएमएसएसबी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जा सकते हैं आरएसएमएसएसबी के इन पदों पर भर्ती प्रक्रिया 12 अप्रैल से शुरू हो गई है और इनके लिए अप्लाई करने की अंतिम तारीख 27 अप्रैल 2022 है। आवेदन केवल ऑनलाइन होंगे। जिसके लिए इस वेबसाइट पर जाना होगा।

बता दें राजस्थान के इन जूनियर इंस्ट्रक्टर पदों के लिए वो कैंडिडेट्स अप्लाई कर सकते हैं जिन्होंने फिजिक्स, केमिस्ट्री या मैथ्स से 12वीं पास की हो। साथ ही उनके पास स्टेट बोर्ड के मान्यता प्राप्त तकनीकी संस्थान से इंजीनियरिंग में डिप्लोमा हो। इसके अलावा दो साल का वर्क एक्सपीरियंस भी जरूरी है। वहीं इन पदों पर आवेदन करने के लिए आयु सीमा 18 से 40 वर्ष रखी गई है। आरक्षित श्रेणी को ऊपरी आयु सीमा में छूट दी जाएगी। आरएसएमएसएसबी के इन पदों पर कैंडिडेट्स का सेलेक्शन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के माध्यम से होगा। परीक्षा की तारीखें कुछ समय में घोषित की जाएंगी। वहीं आवेदन शुल्क की बात करें तो  इन पदों के लिए आवेदन शुल्क इस प्रकार है। जनरल कैटेगरी, बीसी और ईबीसी के लिए शुल्क 450 रुपए है। जबकि एससी एससटी श्रेणी के लिए शुल्क 250 रुपए तय किया गया है।

बढ़ोतरी: 58910.74 अंकों पर खुला सेंसेक्स

बढ़ोतरी: 58910.74 अंकों पर खुला सेंसेक्स 

कविता गर्ग           

मुंबई। दबाव में चल रहे शेयर बाजार ने बुधवार को तेजी के साथ दिन की शुरुआत की। बीएसई का सेंसेक्स, जहां 334.37 अंकों की बढ़ोतरी के साथ 58910.74 अंकों पर खुला। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने 69.6 अंकों की बढ़त के साथ 17,599.90 अंकों पर दस्तक दी। हरे निशान के साथ खुले शेयर बाजार में मिडकैप और स्मॉलकैप में बढ़त दिखाई दी। बीएसई का मिडकैप 102.3 अंक बढ़कर 25,140.01 अंक पर और स्मॉलकैप 175.77 अंकों की बढ़त के साथ 29,617.44 अंक पर खुला। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स मंगलवार को 388.20 अंक लुढ़ककर 58576.37 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 144.65 अंक का गोता लगाकर 17530.30 अंक पर आ गया था।

दिग्गज कंपनियों को तरह बीते दिन बीएसई की छोटी और मझौली कंपनियों में भी बिकवाली हावी रही। मिडकैप 1.45 प्रतिशत गिरकर 25,037.71 अंक और स्मॉलकैप 1.47 प्रतिशत की गिरावट लेकर 29,441.67 अंक पर रहा था।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-187, (वर्ष-05)
2. बृहस्पतिवार, अप्रैल 14, 2022
3. शक-1984, चैत्र, शुक्ल-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2078। 
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 26 डी.सै., अधिकतम-39+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम  हरिशंकर त्रिपाठी  देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में दशहरा, ईद...