शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2022

यूक्रेनी राष्ट्रपति ने रूस से 'युद्धविराम' की अपील की

यूक्रेनी राष्ट्रपति ने रूस से 'युद्धविराम' की अपील की   

अखिलेश पांडेय      

कीव/मास्को। यूक्रेन पर रूसी सेना के हमले के दूसरे दिन शुक्रवार को राजधानी कीव में हुए कई हमलों के बाद राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने रूस से तुरंत युद्धविराम की अपील की। यूक्रेनी अधिकारियों के हवाले से बताया गया कि राजधानी पर रूसी सेना ने कई मिसाइलें दागीं। इस जोरदार हमले में कम से कम एक इमारत को नुकसान पहुंचा और मीडिया रिपोर्टों में बताया गया कि इस हमले में तीन लोग जख्मी हो गये। जेलेंस्की ने देश को दिये संदेश में रूस से युद्धविराम की अपील की। उन्होंने पश्चिमी देशों से भी रूसी हमले को रोकने के लिए और कदम उठाये जाने की गुहार लगाई है। कीव में तड़के चार बजे हुए हमलों की पुष्टि करते हुए कहा कि कीव की ओर रूसी सेना के बढ़ने के दौरान पोजिंयाकी क्षेत्र में धमाके हुए।

बीबीसी के रिपोर्टर ने ट्वीट किया “ कीव में दो छोटे धमाकों की आवाज सुनी गयी, फिलहाल यह बताना तो संभव नहीं है कि इसका क्या मतलब हैं ? लकिन अफवाह है कि रूसी सेना राजधानी में घुस गयी है। यूक्रेनी सेना की ओर से जारी बयान में बताया गया कि राजधानी कीव के बाहरी इलाकों दिमेर और इवांकीव में यूक्रेनी सेना रूसी सेना से माेर्चा ले रही है और यहां पर बड़ी संख्या में रूस की बख्तरबंद गाडियों का जमावड़ा है। यूक्रेनी सैन्य बलों के आधिकारिक फेसबुक पेज पर कहा गया “ राजधानी के पश्चिमोत्तम इलाके में घुसी रूसी सेना का मुकाबला किया जा रहा है। इससे पहले रूसी सेना को राजधानी में घुसने से रोकने के लिए यूक्रेन की सेना ने तेतरिव नदी पर बने पुल को खुद ही ध्वस्त कर दिया था। राजधानी के बाहरी इलाके में हवाई क्षेत्र में रूसी सेना के साथ अब भी मुकाबला किया जा रहा है।

धर्म निभाएंगे, सिंबल से चुनाव होगें या नहीं: चौटाला

धर्म निभाएंगे, सिंबल से चुनाव होगें या नहीं: चौटाला 

राणा ओबरॉय      
चंडीगढ़। हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि जजपा-भाजपा पहले भी निकाय चुनाव साथ लड़े थे और अब आगे भी साथ ही लड़ेंगे। जजपा निकाय चुनाव अपने सिंबल पर लड़ेगी या नहीं, इसको लेकर कमेटी का गठन किया गया है। वे गठबंधन का धर्म निभाएंगे। दुष्यंत चौटाला ने शुक्रवार को हरियाणा के जींद में विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया।
अधिकारियों तथा विधायकों के साथ मीटिंग कर जिले में चल रहे विकास कार्यों पर भी बात की। निकाय चुनावों पर उन्होंने कहा कि पहले भी गठबंधन सरकार ने सात निकाय पर चुनाव लड़ा था, जिसमें तीन पर जजपा व चार पर भाजपा के चेयरमैन उम्मीदवार थे। उन्होंने बताया कि निकाय चुनाव को लेकर जजपा ने कल एक मीटिंग की है। जिसमें डिस्ट्रिक्ट प्रधान से चर्चा कर एक कौर कमेटी का गठन किया गया है। पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह, डॉ. केसी बांगड तथा राजेंद्र लितानी मिलकर भाजपा के अध्यक्ष तथा चुनाव कौर कमेटी से चर्चा करेंगे। 
जिसके बाद गठबंधन सरकार निर्णय लेगी कि चुनाव सिंबल पर लड़ना है या नहीं ? क्योंकि पिछली बार भी दोनों पार्टियों के बीच यह निर्णय लिया गया था कि कार्पोरेशन और कमेटियों में चुनाव सिंबल पर लडा जाएगा। दोनों कमेटियों की बातचीत के बाद जो भी निर्णय आएगा, वो माना जाएगा।

सपा प्रत्याशी ने प्रचार के अंतिम दिन ताकत झौंकी

सपा प्रत्याशी ने प्रचार के अंतिम दिन ताकत झौंकी

बृजेश केसरवानी          
प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के शहर दक्षिणी प्रत्याशी रईस चन्द्र शुक्ला के समर्थन मे चुनाव प्रचार के अंतिम दिन हज़ारों संख्या मे मोटरसाइकिल सवार लाल टोपी और सपाई झण्डे मे लैस सपा नेता एवं समर्थकों ने सड़कों व गलियों मे भ्रमण कर अंतिम समय पर ताकत का ऐहसास कराया। 
वहीं, करैली के करामत चौकी तीराहे पर महानगर सचिव मो.तहज़ीब अली के संयोजन मे विशाल जनसभा मे पूर्व सासंद सलीम शेरवानी ,पूर्व विधायक हाजी परवेज़ अहमद ,महानगर अध्यक्ष सै.इफ्तेखार हुसैन ,पूर्व नगर अध्यक्ष अब्दुल सलमान ,वरिष्ठ सपा नेता विनोद चन्द्र द्वबे ,पूर्व नगर अध्यक्ष मुश्ताक़ काज़मी ,बब्बन द्वबे, हाजी सलामत उल्ला ,वरिष्ठ सपा नेत्रि सबीहा मोहानी आदि नेताओं ने भाजपा पर प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी की बखिया उधेड़ी।

कौशाम्बी: कांग्रेस प्रत्याशी ने मंझनपुर में भ्रमण किया

कौशाम्बी: कांग्रेस प्रत्याशी ने मंझनपुर में भ्रमण किया    

गणेश साहू       
कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के अंतिम दिन मंझनपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी अरुण विद्यार्थी ने सैकड़ों समर्थकों के साथ मंझनपुर नगर में भ्रमण किया एवं कांग्रेस की स्टार प्रचारक पंखुड़ी पाठक ने भी मतदाताओं से मुलाकात कर कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने की अपील की है। 
मतदाताओं से कांग्रेस की नीतियों को बताया एवं कांग्रेस द्वारा घोषणा-पत्र को मतदाताओं को दिया। सैकड़ों समर्थकों के साथ शुक्रवार को कांग्रेस प्रत्याशी अरुण विद्यार्थी ने मंझनपुर चौराहा नेहरू नगर नेता नगर चकरनगर चमनगंज सहित विभिन्न मोहल्लों में भ्रमण किया। इस दौरान तमाम कांग्रेस नेता युवा कार्यकर्ताओं और महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है।

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 90 नए मामलें मिलें

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 90 नए मामलें मिलें   

पंकज कपूर           

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण का प्रकोप धीरे-धीरे कम हो रहा है। लेकिन मौतों का सिलसिला जारी है। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के कुल 90 नये मामले सामने आए है। वही, प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1 कोरोना संक्रमित मरीज की उपचार के दौरान मौत हुई है।

शुक्रवार को उत्तराखंड स्टेट कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के कुल 90 नए मामले सामने आए है। जबकि राज्य में 106 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए वहीं सिनर्जी अस्पताल देहरादून में भर्ती 01 कोरोना संक्रमित मरीज की मौत भी हुई। वही, दैनिक पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो 01.07 फ़ीसदी पर पहुंच गई है।

आईपीएल सीजन: 14 लीग मैच खेलेंगी सभी 10 टीमें

आईपीएल सीजन: 14 लीग मैच खेलेंगी सभी 10 टीमें  


मोमीन मलिक         

नई दिल्ली। आईपीएल 2022 सीजन में सभी 10 टीमें 14 लीग मैच खेलेंगी। जिसमें प्रत्येक टीम पांच टीमों के खिलाफ दो और चार टीमों के खिलाफ एक-एक मैच खेलेगी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने शुक्रवार को एक विज्ञप्ति में इसकी पुष्टि की। वहीं, इस सीजन आईपीएल की दो सबसे सफल टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स अलग-अलग समूह में रहेंगी। मुंबई को जहां कोलकाता नाइट राइडर्स, राजस्थान रॉयल्स, दिल्ली कैपिटल्स और लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ ग्रुप ए में, वहीं चेन्नई को सनराइजर्स हैदराबाद, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु, पंजाब किंग्स और गुजरात टाइटंस के साथ ग्रुप बी में रखा गया है। बीसीसीआई की ओर से टीमों द्वारा आईपीएल खिताब जीत की संख्या और फाइनल खेलने की संख्या के मद्देनजर सीडिंग सिस्टम के आधार पर ग्रुप बनाए गए हैं। बीसीसीआई ने विज्ञप्ति में कहा कि आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने गुरुवार को हुई अपनी बैठक में आईपीएल 2022 सीजन के संबंध में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। इसके तहत हवाई यात्रा से बचने के लिए आईपीएल का 15वां संस्करण एक ही हब में बायो-बबल (जैव-सुरक्षित वातावरण) में खेला जाएगा। हवाई यात्रा को कोरोना संक्रमण के प्रसार के लिए एक बड़ा खतरा माना जाता है, जिससे खिलाड़ी और लीग/मैच प्रभावित होते हैं। 

बीसीसीआई की ओर सेे जारी विज्ञप्ति के मुताबिक पांच बार का आईपीएल मुंबई इंडियंस अपने ग्रुप की चार टीमों कोलकाता, राजस्थान, दिल्ली और सुपर जायंट्स के खिलाफ दो-दो मैचों के अलावा दूसरे ग्रुप की टीम चेन्नई के खिलाफ दो तथा हैदराबाद, बेंगलुरु, पंजाब और गुजरात के साथ एक-एक मैच खेलेगा। इसी तरह गत विजेता चेन्नई सुपर किंग्स अपने ग्रुप में हैदराबाद, बेंगलुरु, पंजाब और गुजरात के साथ दो-दो मैचों के अलावा मुंबई के साथ दो तथा कोलकाता, राजस्थान, दिल्ली और सुपर जायंट्स के खिलाफ एक-एक मैच खेलेगा। इसी तरह अन्य टीमें भी अपने 14 लीग मुकाबले खेलेंगी। बीसीसीआई ने सबसे ज्यादा खिताब जीतने वाली टीमों मुंबई और चेन्नई को दोनों समूहों की शीर्ष टीम बनाया है। 

उल्लेखनीय है कि टूर्नामेंट 26 मार्च से शुरू होगा और 29 मई को फाइनल खेला जाएगा। पूरा टूर्नामेंट महाराष्ट्र में आयोजित होगा, जिसमें मुंबई में 55 और पुणे में 15 मैच खेले जाएंगे। लीग चरण के लिए चार स्टेडियमों की पहचान की गई है। जिसमें वानखेड़े में 20, ब्रेबोर्न स्टेडियम में 15, डीवाई पाटिल स्टेडियम में 20 और अंत में गहुंजे में महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) के मैदान में 15 मैचों का आयोजन होगा। वहीं इस बार टूर्नामेंट दर्शकों की मौजूदगी में खेला जाएगा, जिसकी आईपीएल के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने भी पुष्टि की है। उन्होंने हालांकि, कहा है कि महाराष्ट्र सरकार की नीति के अनुसार दर्शकों को अनुमति दी जाएगी। 

असम के 3 दिवसीय दौरे पर गुवाहाटी पहुंचे 'राष्ट्रपति'

असम के 3 दिवसीय दौरे पर गुवाहाटी पहुंचे 'राष्ट्रपति'  

इकबाल अंसारी     

गुवाहाटी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद असम के तीन दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को गुवाहाटी पहुंचे। जहां वह अहोम सेनापति लाचित बोड़फुकन की 400वीं जयंती समारोह की शुरुआत करने सहित विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे। कोविंद, अपनी पत्नी और बेटी के साथ, गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भारतीय वायु सेना के एक विशेष विमान से आए। असम के राज्यपाल जगदीश मुखी, मुख्यमंत्री हेमंत बिस्व सरमा और वरिष्ठ अधिकारियों ने गर्मजोशी से उनकी अगवानी की। मुखी और सरमा ने असम में कोविंद का स्वागत करने पर ट्वीट किया और दोनों ने कहा कि राष्ट्रपति का स्वागत करना सम्मान की बात है। हवाई अड्डे से बाहर आते समय राष्ट्रपति ने अपने काफिले को रूकवाया और एक झलक पाने की प्रतीक्षा कर रहे सांस्कृतिक कलाकारों और आम लोगों का अभिवादन करने के लिए अपने बुलेट प्रूफ वाहन से उतर गए।

असम सरकार ने हवाई अड्डे के बाहर सड़क के किनारे राज्य के विभिन्न जनजातियों और समुदायों का प्रतिनिधित्व करने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की व्यवस्था की थी। कोविंद वहां से कामाख्या मंदिर गए और पूजा-अर्चना की। मुखी, सरमा और राज्य के अन्य मंत्री उनके साथ मंदिर के अंदर गए, जहां मीडिया का प्रवेश प्रतिबंधित था। राष्ट्रपति शाम को गुवाहाटी में अहोम सेनापति लाचित बोड़फुकन की वर्ष भर चलने वाली 400वीं जयंती समारोह का उद्घाटन करेंगे। वह श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र सभागार में असम के कामरूप जिले के दादरा में बनने वाले अलाबोई युद्ध स्मारक की आधारशिला भी रखेंगे।

रूसी सैन्य अभियान के खिलाफ विरोध, 20 गिरफ्तार

रूसी सैन्य अभियान के खिलाफ विरोध, 20 गिरफ्तार   

अखिलेश पांडेय    

मास्को। दक्षिणी रूस के नोवोसिबिर्स्क शहर में कानून प्रवर्तन सैनिकों ने यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियान के खिलाफ विरोध कर रहे 20 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया। क्षेत्रीय सरकार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। एक आधिकारिक बयान में बताया कि कानून प्रवर्तन एजेंसी ने गुरुवार को एक ‘संगठित सार्वजनिक कार्यक्रम’ के दौरान 20 प्रतिभागियों को हिरासत में लिया है और साथ ही उन सभी को चेतावनी भी दी।

बयान में बताया, इन कार्यों में भाग लेने वाले लोग समाज में अशांति फैलाते हैं और ऐसे समय में अस्वीकार्य है। इसमें शामिल होने वालों को मौजूदा कानून के अनुसार दंडित किया जाएगा। यूक्रेन में सैन्य अभियान के खिलाफ गुरुवार को रूस के बड़े शहरों में विरोध प्रदर्शन हुए।

बिजली संयंत्र: कोयला आयात की प्रवृत्ति कम होगी

बिजली संयंत्र: कोयला आयात की प्रवृत्ति कम होगी    

सुनील श्रीवास्तव      

कीव /मास्को। यूक्रेन और रूस के बीच महायुद्ध से ऊर्जा के दाम वैश्विक स्तर पर बढ़े हैं। इससे बिजली संयंत्रों की कोयला आयात की प्रवृत्ति कम होगी। फलत: निजी उपयोग वाले बिजली संयंत्रों और इस्पात तथा एल्यूमीनियम जैसे उद्योगों के लिये सार्वजनिक क्षेत्र की कोल इंडिया से ईंधन की आपूर्ति पर और असर पड़ेगा। यह बात इंडियन कैप्टिव पावर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (आईसीपीपीए) ने कही है। संगठन के अनुसार वैश्विक स्तर पर ऊर्जा संसाधनों की बढ़ती कीमतों के बीच बिजली उत्पादक अपनी मांग को पूरा करने के लिए घरेलू कोयले की आपूर्ति को लेकर सरकार पर दबाव डालेंगे। इससे बिजली के अलावा दूसरे क्षेत्रों में ईंधन की आपूर्ति पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। आईसीपीपीए के महासचिव राजीव अग्रवाल ने रूस-यूक्रेन संकट के कारण वैश्विक स्तर पर ऊर्जा के दाम तेजी से बढ़े हैं।

इससे कोयला और कोक का आयात करने के रुख में कमी आएगी। इससे निजी उपयोग के लिये बिजली घर चलाने वाले के साथ-साथ उद्योगों के लिये ईंधन की आपूर्ति प्रभावित होगी। गौरतलब है कि एल्युमीनियम, सीमेंट, स्टील, स्पंज-आयरन, कागज, उर्वरक, रसायन, रेयान और उनके बिजली घर (सीपीपी) जैसे उद्योग ज्यादातर घरेलू कोयले पर निर्भर हैं। अग्रवाल ने कहा कि पिछले छह-सात महीनों से हमें कोयले की बहुत कम आपूर्ति हो रही है। अब इस संकट के कारण बिजली संयंत्रों की आयात की प्रवृत्ति कम होगी। इसके कारण उद्योग रेल मार्ग के जरिये अधिक से अधिक कोयला देने के लिए सरकार पर दबाव डालेंगे। इससे निजी उपयोग वाले बिजली घरों और उद्योगों के लिये आपूर्ति प्रभावित होगी या चीजें सामान्य होने में और विलम्ब होगा। गैर-बिजली क्षेत्रों को कोयले की आपूर्ति केवल आठ प्रतिशत ही है और अभी भी गैर-नियमित क्षेत्र ईंधन की कमी का सामना कर रहे हैं।

यूक्रेन में फंसे भारतीयों को बुखारेस्ट भेजने की योजना

यूक्रेन में फंसे भारतीयों को बुखारेस्ट भेजने की योजना  

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली/मास्को/कीव। रूस के आक्रमण के चलते एयर इंडिया यूक्रेन में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए अपनी दो उड़ानें शुक्रवार को रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट भेजने की योजना बना रहा है। वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जो भी भारतीय नागरिक सड़क मार्ग से यूक्रेन-रोमानिया सीमा पर पहुंच गये हैं, उन्हें भारत सरकार के अधिकारी बुखारेस्ट ले जायेंगे ताकि उन्हें एयर इंडिया की इन दो उड़ानों के जरिए स्वदेश लाया जा सके। बृहस्पतिवार को यूक्रेन प्रशासन ने यात्री विमानों के परिचालन के लिए अपने देश का वायु क्षेत्र बंद कर दिया था, इसलिए भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए ये उड़ानें बुखारेस्ट से संचालित की जा रही हैं। अधिकारियों ने बताया कि एअर इंडिया की दोनों ही उड़ानें शनिवार को बुखारेस्ट से रवाना होंगी।

हालांकि एयर इंडिया ने इस संबंध में टिप्पणी करने के लिए अनुरोध का कोई जवाब नहीं दिया। अधिकारियों का कहना है कि यूक्रेन में फिलहाल करीब 20,000 भारतीय फंसे हुए हैं। जिनमें ज्यादातर विद्यार्थी हैं। यूक्रेन की राजधानी कीव और रोमानिया की सीमा के बीच करीब 600 किलोमीटर का फासला है और सड़क मार्ग से यह दूरी तय करने में साढ़े आठ से 11 घंटे लगते हैं। यूक्रेन-रोमानिया सीमा से बुखारेस्ट करीब 500 किलोमीटर दूर है तथा सड़क मार्ग से उसे तय करने में करीब सात से नौ घंटे लगते हैं।

यूक्रेन को ‘अत्याचार से मुक्त’ करना चाहता हैं रूस

यूक्रेन को ‘अत्याचार से मुक्त’ करना चाहता हैं रूस   

सुनील श्रीवास्तव        

कीव/ मास्को। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा कि रूस यूक्रेन को ‘अत्याचार से मुक्त’ करना चाहता है।रूस-यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच रूसी विदेश मंत्री  ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि एक बार यूक्रेन की सेना ने लड़ना बंद कर दिया तो हम बातचीत के लिए तैयार हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रूस यूक्रेन को ‘अत्याचार से मुक्त’ करना भी चाहता है।

रूस-यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि एक बार यूक्रेन की सेना सरेंडर कर दे तो हम बातचीत के लिए तैयार हो जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रूस यूक्रेन को ‘अत्याचार से मुक्त’ करना भी चाहता है ताकि यूक्रेन के लोग अपना भविष्य निर्धारित कर पाएं। विदेश मंत्री ने कहा कि रूस ऐसी परस्थितियों में मौन नहीं रह सकता। हम यूक्रेन की सरकार को लोकतांत्रिक सरकार मानने का अभी कोई अवसर नहीं देखते।

‘दुनिया का सबसे छोटा’ एयर प्यूरीफायर लॉन्च किया

टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट बोर्ड के सचिव राजेश कुमार पाठक ने कहा कि नासो-95 समाज के लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है। इसका इस्तेमाल उम्र में छोटा-बड़ा कोई भी कर सकता है। एम्स के पूर्व निदेशक एमसी मिश्रा ने कहा कि वायु प्रदूषण वायरस से कहीं बड़ी समस्या है। फेफड़े का कैंसर, कैंसर का प्रमुख रूप है। नासो-95 मेट्रो सिटी में सांस की बीमारियों की समस्या को प्रभावी ढंग से दूर कर सकता है। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान, नासो-95 विशेष रूप से उन जगहों पर काम आ सकता है जहां पहचान के उद्देश्य से किसी को मास्क नीचे खींचना पड़ता है जैसे हवाई अड्डे और सुरक्षा जांच आदि।

बिजली गुल, जनता को बरगलाने का काम: सपा

बिजली गुल, जनता को बरगलाने का काम: सपा    

संदीप मिश्र            
बहराइच। जनपद के पयागपुर स्थित पैतौरा मोड़ पर आयोजित जनसभा में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की बिजली गुल हो चुकी है। भाजपा सरकार ने जनता को पांच किलो राशन देकर बरगलाने का काम किया है। हमारी सरकार बनते ही सांड के हमले में मृतक के परिजनों को पांच लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा। कोई पयागपुर के सपा प्रत्याशी मुकेश श्रीवास्तव के समर्थन में जनसभा संबोधित कर रहे थे। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सपा की सरकार बनते ही सांड के हमले में अगर किसी की मौत हो जाती है तो उसके परिजनों को पांच लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा। 22 लाख नौजवानों को रोजगार देने का काम करेंगे। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए 112 नंबर की गाड़ी को दोगुना अपग्रेड करेंगे।

बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए एंबुलेंस की सुविधा भी दोगुनी कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पांच साल तक अपनी सरकार में हम पांच साल लगातार पांच किलो राशन भी देंगे और इसके अलावा घी, तेल व दूध का पाउडर भी देंगे। उन्होंने पुरानी पेंशन बहाल किए जाने की बात दोहराई। अखिलेश यादव कहा कि प्रतिभाओं को निखारने के लिए स्टेडियम निर्माण कराया जाएगा। उच्च कोटि की चिकित्सा व्यवस्था के लिए अस्पतालों को सुदृढ़ किया जाएगा। असहायों को तीन गुना पेंशन दी जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों के उपज की एमएसपी पर खरीद की जाएगी। 15 दिन में गन्ने का भुगतान किया जाएगा। सपा के संकल्प पत्र के तहत 300 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी। अंत में अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी की बिजली गुल हो चुकी है, बीजेपी के लिए 440 वोल्ट का करंट फैला हुआ है। 10 मार्च को इनकी सरकार चली जाएगी।

रावल के साथ स्क्रीन साझा करने को तैयार अभिनेत्री

रावल के साथ स्क्रीन साझा करने को तैयार अभिनेत्री   

कविता गर्ग       

मुंबई। अभिनेत्री मानसी पारेख आगामी फिल्म डियर फादर में दिग्गज स्टार परेश रावल के साथ स्क्रीन साझा करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। मानसी ने खुलासा किया कि परेशजी ने मुझे कुछ समय पहले इस भूमिका की पेशकश की थी, लेकिन मैं हां नहीं कर सकी थी, क्योंकि मैं उस समय पहले से ही एक टेलीविजन शो और एक गुजराती नाटक कर रही थी। मैं तारीखों को लेकर परेशान थी। 

उन्होंने आगे कहा कि हालांकि, कुछ वर्षों के बाद, जब उन्होंने मुझे यह कहते हुए वापस बुलाया कि फिल्म आखिरकार बन रही है और मुझसे पूछा कि क्या मैं इसका हिस्सा बनना चाहती हूं, तो मैंने तुरंत हां कह दिया। मैं हमेशा से उनके साथ काम करना चाहती थी। मेरे लिए यह एक सपना सच होने जैसा है। यह एक बहुत ही गहन फिल्म है। डियर फादर 4 मार्च को रिलीज होने के लिए बिल्कुल तैयार है।

यूएसए: ट्रांसजेंडर पुरुष बेनेट ने बच्चे को जन्म दिया

यूएसए: ट्रांसजेंडर पुरुष बेनेट ने बच्चे को जन्म दिया   

अखिलेश पांडेय     

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के लॉस एंजिल्स के रहने वाले ट्रांसजेंडर पुरुष बेनेट कास्पर विलियम्स की इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है। सुनने में ये भले ही थोड़ा अजीब लगे, लेकिन ये पूरी तरह से सच है। अब उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में बच्चे को जन्म देने का पूरा किस्सा बताया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बेनेट (पहले महिला थीं), किशोर अवस्था तक तो नार्मल रहे, लेकिन जब वो करीब 20 साल के हुए तो उनके शरीर में काफी बदलाव शुरू हो गया। इसके बाद वो डॉक्टरों से मिले, जिस पर पता चला कि वो ट्रांसजेंडर हैं। इससे बेनेट परेशान और दुखी नहीं हुए, बल्कि अपने लिए एक पार्टनर की तलाश शुरू कर दी। 2017 में उनकी मुलाकात मलिक से हुई। कुछ दिनों में दोनों की दोस्ती प्यार में बदली और उन्होंने 2019 में शादी कर ली।

आम लोगों की तरह वो भी अपने परिवार को बढ़ाना चाहते थे, जिस वजह से उन्होंने बच्चे को जन्म देने का फैसला किया। बेनेट ने खुद की टेस्टोस्टेरोन हार्मोन थेरेपी करवाई। इससे ओवरी कार्य करने में सक्षम हो जाती है। डॉक्टरों के मुताबिक ओवरी शरीर का वही अंग है, जहां पर औरत को मां बना सकने वाले अंडे बनते हैं। अंडे वही, जो स्पर्म (शुक्राणु) के साथ मिलकर बच्चा बना सकते हैं। जब उन्होंने बच्चे को जन्म देने का फैसला किया तो उन्होंने इस थेरेपी को रोक दिया।

राष्ट्रीय राजमार्ग पर सफर करना अप्रैल से महंगा होगा

राष्ट्रीय राजमार्ग पर सफर करना अप्रैल से महंगा होगा    

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजमार्ग (हाईवे) और एक्सप्रेस-वे पर चलने वालों के लिए अप्रैल से सफर महंगा हो जाएगा। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने सड़क एवं परिवहन मंत्रालय से टोल बढ़ोतरी की सिफारिश की है। हालांकि अभी टोल दरें तय नहीं की गई हैं। लेकिन कम से कम 10 फीसदी की बढ़ोतरी टोल दरों में की जा सकती है। बढ़ी दरें मासिक पास धारकों पर भी लागू होंगी। उन पर भी 10 फीसदी बढ़ोतरी का अतिरिक्त भार पड़ेगा। 

गुरुग्राम में खेड़की दौला टोल पर दिल्ली-जयपुर हाईवे और गुरुग्राम-दिल्ली एक्सप्रेस वे, दोनों का संयुक्त टोल वसूला जाता है। इसके अलावा कुंडली-पलवल-मानेसर (केएमपी) और फरीदबाद रोड पर टोल वसूली होती है। तीनों की दरों में अंतर है। हाईवे की टोल दरें एनएचएआई की सिफारिश पर सड़क एवं परिवहन मंत्रालय तय करता है जबकि केएमपी एक्सप्रेस-वे की दरें हरियाणा राज्य औद्योगिक आधारभूत संरचना विकास निगम (एचएसआईआईडीसी) की ओर से तय की जाती हैं। बढ़ोतरी के पीछे कोरोना में लॉकडाउन का तर्क दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि कोरोना के कारण टोल प्लाजा को काफी नुकसान हुआ है, जिस कारण टोल वसूली का लक्ष्य हासिल नहीं हो पाया। अब जब सब सामान्य हो गया है, इसलिए बढ़ोतरी की जा रही है।

भारतीय मार्केट के ईवी सेगमेंट में टू-व्हीलर की एंट्री

होंडा हमारे मार्केट में बिजनेस टू बिजनेस प्रोडक्ट लॉन्च नहीं करने वाली, बल्कि कंपनी बैटरी स्वैपिंग तकनीक की जांच शुरू कर चुकी है। इसके लिए कंपनी ने होंडा पावर पैक एनर्जी इंडिया प्रा. लि. नाम की सब्सिडियरी कंपनी भी शुरू की है। ये कंपनी फिलहाल बेंगलुरु में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर का पायलेट रन टेस्ट कर रही है। बता दें कि बाउंस इलेक्ट्रिक ने सब्सक्रिप्शन के आधार पर बैटरी-स्वैपिंग मॉडल पेश किया है, इसके अलावा हीरो ने भी गोगोरो के साथ इसी काम के लिए साझेदारी की है। इससे साफ होता है कि बैटरी स्वैपिंग इलेक्ट्रिक वाहन चलाने के लिए किफायती और झंझट मुक्त विकल्प है। कयास लगाए जा रहे हैं कि होंडा ग्लोबल मार्केट वाले स्कूटर के बदले भारतीय स्पेसिफिकेशन वाले स्कूटर का इलेक्ट्रिक अवतार भारत में लॉन्च करने वाली है, ऐसे में बजाज चेतक, टीवीएस आईक्यूब इलेक्ट्रिक और आगामी सुजुकी बर्गमैन इलेक्ट्रिक का मुकाबला करने के लिए होंडा एक्टिवा इलेक्ट्रिक मार्केट में लाई जा सकती है।

गौरतलब है कि इस स्कूटर को भारतीय ग्राहक बहुत पसंद करते हैं और इसकी इलेक्ट्रिक अवतार मार्केट में आते ही गेम चेंजर साबित हो सकता है। इसके अलावा भारत सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी से इसकी कीमत काफी गिर जाएगी और ये किफायती होगर ज्यादातर ग्राहकों के दायरे में आ सकेगा।

मुकेश की विशेष याचिका को एससी ने अनुमति दीं

मुकेश की विशेष याचिका को एससी ने अनुमति दीं    

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि किसी व्यक्ति को मृत कर्मचारी की दूसरी पत्नी की संतान होने के 'आधार' पर अनुकंपा की नौकरी में नियुक्ति से इनकार करना उसके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन एवं परिवार की गरिमा के खिलाफ होगा। न्यायमूर्ति यू यू ललित की अध्यक्षता वाली न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट और न्यायमूर्ति पी एस नरसिम्हा ने ऐसे ही एक मामले में पटना उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली मुकेश कुमार की विशेष याचिका को अनुमति दे दी। उच्च न्यायालय ने मृतक जगदीश हरिजन की दूसरी पत्नी के बेटे होने को आधार बताते हुए रेलवे में अनुकंपा नियुक्ति के मुकेश के दावे को खारिज कर दिया था। मुकेश ने उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी है। इस मामले में सर्वोच्च अदालत की तीन सदस्यीय खंडपीठ पीठ ने कहा, "इस तरह की नियुक्ति से इनकार करने की नीति भेदभावपूर्ण और संविधान के अनुच्छेद 16 (2) का उल्लंघन मानी जाएगी।

शीर्ष अदालत ने कहा कि अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने की नीति मृत कर्मचारी के बच्चों को 'वैध' और 'नाजायज' के रूप में वर्गीकृत नहीं कर सकती। वर्गीकृत करके और केवल वैध वंशज के अधिकार को मान्यता देकर (केवल वंश के आधार पर) किसी व्यक्ति के खिलाफ भेदभाव नहीं नहीं किया जा सकता। शीर्ष अदालत ने कहा "योजना और अनुकंपा नियुक्ति के नियम संविधान के अनुच्छेद 14 के जनादेश का उल्लंघन नहीं कर सकते हैं।" खंडपीठ ने 'भारत संघ बनाम वी के त्रिपाठी' (2019) के मामले में दिए गए अपने पिछले फैसले पर भरोसा किया। इस फैसले में यह माना गया था कि किसी कर्मचारी की दूसरी पत्नी के बच्चे को सिर्फ उसी (दूसरी पत्नी की संतान) आधार पर अनुकंपा नियुक्ति से वंचित नहीं किया जा सकता है।"

खंडपीठ ने कहा "एक बार जब कानून ने उन्हें (दूसरी शादी से पैदा हुए बच्चे) वैध मान लिया है तो उन्हें इस अनुकंपा की नीति के तहत विचार किए जाने से अलग करना असंभव होगा।" शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि अनुकंपा नियुक्ति अनुच्छेद 16 के तहत संवैधानिक गारंटी का अपवाद है, इसलिए अनुकंपा नियुक्ति की नीति संविधान के अनुच्छेद 14 और 16 के जनादेश के अनुरूप होनी चाहिए। अदालत ने कहा " किसी भी आधार पर भेदभाव नहीं करना चाहिए। दूसरी शादी से हुए संतान के मामले में 'वंश' को समझा जाना चाहिए। पारिवारिक उत्पत्ति में अनुकंपा नियुक्ति के दावेदार के माता-पिता के विवाह की वैधता और दावेदार की उनके बच्चे के रूप में वैधता शामिल है।

पुराने समय में लौट रहे, छूट पर विचारः मंत्रालय

पुराने समय में लौट रहे, छूट पर विचारः मंत्रालय    

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण में गिरावट और एक्टिव केस की घटती संख्या के बीच देश एक बार फिर अपने पुराने समय में वापस लौट रहा है। इसी कड़ी में गृह मंत्रालय अब अलग-अलग गतिविधियों में छूट देने पर विचार कर रहा है। मंत्रालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है और यह हिदायत दी है कि स्कूल, कॉलेज, रेस्टोरेंट, सिनेमा हॉल और जिम समेत कई व्यावसायिक गतिविधियों पर से प्रतिबंध को खतरे के आकलन के साथ हटा लिया जाए। गृह मंत्रालय द्वारा जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि देश में महामारी के बाद हालात सुधर रहे हैं। ऐसे में खतरे का आकलन करके आर्थिक गतिविधियों को खोलने की आवश्यकता है। जिन गतिविधियों को खोलने पर विचार किया जाना चाहिए, उनमें सामाजिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, त्योहार संबंधी सभाओं का आयोजन शामिल हैं।

इसके अलावा नाइट कर्फ्यू, पब्लिक ट्रांसपोर्ट के संचालन, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, सिनेमा हॉल, जिम, स्पा, रेस्टोरेंट और बार को भी खोला जा सकता है। प्रेस रिलीज में कहा गया है कि स्कूल, कॉलेज, कार्यालय और अन्य व्यावसायिक गतिविधियों को खोलने पर भी विचार किया जाए। हालांकि, इस बात का ध्यान रखा जाए कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन सही तरह से हो। मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाए रखने, हाथों की स्वच्छता और बंद स्थानों में वेंटिलेशन आदि कोविड प्रबंधन के नियमों को ठीक तरह से लागू किया जाए।
बता दें कि भारत में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से गिरावट दर्ज की जा रही है। आज देशभर से संक्रमण  के 13166 ने।

टेलर पति ने धारदार कैंची से पत्नी पर हमला किया

टेलर पति ने धारदार कैंची से पत्नी पर हमला किया  

दुष्यंत टीकम     

रायपुर। चरित्र शक में टेलर पति ने धारदार कैंची से पत्नी पर जानलेवा हमला कर दिया। जिसकी शिकायत राखी थाने में की गई है। आगे महिला ने पुलिस को बताया कि पति चरित्र पर संदेह कर मारपीट करता है। आये दिन शराब पीकर झगड़ा करता है। इस हरकत से परेशान होकर वो बेटी के सुसराल आई थी। जिसकी जानकारी पति को लगने पर नवा रायपुर पहुंच गया और घर ले जानें की जिद करने लगा। 

जब घर जानें विरोध किया तो मारपीट कर जान से मारने की धमकी दी। साथ ही पास रखे कपड़ा काटने की धारदार कैंची से हमला किया। प्रार्थियां की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ केस दर्ज किया है और जांच में जुट गई है।

यूक्रेन पर हमला नहीं, अभियान के तहत कार्रवाई हैं

यूक्रेन पर हमला नहीं, अभियान के तहत कार्रवाई हैं    

सुनील श्रीवास्तव    

कीव/ मास्को। रूस के यूक्रेन पर हमले तेज हो रहे हैं। यूक्रेन की राजधानी कीव में सायरन की आवाज सुनाई दे रही है। रूस का कहना है कि यह यूक्रेन पर हमला नहीं, बल्कि एक विशेष सैन्य अभियान के तहत कार्रवाही है। हमले यूक्रेन के कई इलाकों में सैन्य ठिकानों पर हो रहे हैं। भारतीयों का यूक्रेन से वापस आने का सिलसिला भी जारी है। इसी बीच भारतीय दूतावास ने भारतीयों के लिए दिशा-निर्देश जारी कर कहा है कि वे हमले के सायरन सुने तो पास के बॉम्ब शेलटर्स की तलाश गूगल मैप से करें। आइए जानते हैं कि बॉम्ब शेलटर्स क्या होते हैं।

बॉम्ब शेल्टर्स युद्ध की शब्दावली का शब्द है। सामान्य शब्दों में यह वह बंद जगह होती है। जिसे लोगों को बम और मिसाइल जैसे विस्फोटक हथियारों के प्रभाव से बचाने के लिए बनाया जाता है। यह सामान्यतया ऐसा कमरा या क्षेत्र होता है। जो अंडरग्राउंड होता है, इसे बम के प्रभावों से बचाने के लिए खास डिजाइन किया जाता है। जो हवाई हमले के दौरान एक शरण स्थल की तरह काम में लिया जाता है। औपचारिक बॉम्ब शेल्टर में कई विशेष सुविधाएं होती हैं जैसे पीने का पानी, पैकेट बंद भोजन, आपातकालीन दवाएं, बैटरी चलित रेडिया, आपात फ्लैश लाइट या टॉर्च, अतिरिक्त बैटरी, आदि ऐसी जगह पर कम से कम तीन दिन की जरूरतों के लिए इस तरह का सामान जमा करके रखा जाता है। लेकिन हर जगह या शहर में औपचारिक तौर पर बॉम्ब शेल्टर नहीं बनाए जाते हैं। शहर में कई ऐसी जगह भी होती हैं जो जरूरत पड़ने पर बॉम्ब शेल्टर का काम दे सकती हैं या बॉम्ब शेल्टर की तरह उपयोग में लाई जा सकती है। फिलहाल कीव के मैट्रो स्टेशन इसी काम के लिए उपयोग में लाए जा रहे हैं। इतना नहीं फ्लाई ओवर के नीचे के हिस्से वाले किनारे भी कई बार बॉम्ब शेल्टर की तरह काम आ जाते हैं।

जहां एक ओर रूसने यह आश्वसन दिया है कि उसकी सेना सैन्य ठिकानों पर ही हमला कर रही है नागरिकों और नागरिक ठिकानों पर नहीं। लेकिन यूक्रेन की जनता खतरा पहचान रही है। कीव के लोग शहर के अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन की शरण ले रहे हैं। यह मेट्रो नेटवर्क देश का सबसे पुराना और सबसे बड़ा अंडरग्राउंड नेटवर्क है जिसके सबसे सिस्टम पहले से ही बॉम्ब शेल्टर की तरह माने जाते हैं। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के रूसी टेलीविजन पर सैन्य अभियान की कार्रवाई का ऐलान करने के बाद रूस ने ऐलान किया है कि उसने यूक्रेन के एयर बेसेस और एयर डिफेंस सिस्टम नष्ट कर दिया है। मिसाइल कीव सहित कई शहरों पर भी दागी गईं। रूसी सेना कई दिशाओं से यूक्रेन में दाखिल हो चुकी हैं।

इससे पहले भारतीय दूतावास ने (भारतीय) लोगों से कहा  है कि अगर वे कीव की ओर आ रहे हैं तो वापस उसी शहर में लौट जाएं जहां से वे आ रहे हैं। मार्शल लॉ लागू होने के बाद कीव में बड़ी संख्या में लोग मैट्रो स्टेशन की ओर जा रहे हैं। यूक्रेन में करीब 18 हजार भारतीय हैं जिनमें अधिकांश छात्र  हैं। एयर इंडिया की एक उड़ान को यूक्रेन भेजा गया था, लेकिन यूक्रेन में व्यवसायिक उड़ानों के लिए हावई इलाकों को बंद करने की वजह से उसे लौटना पड़ा। भारतीय विदेश मंत्रालय अब यूक्रेन से भारतीयों को निकालने के लिए दूसरे विकल्पों पर काम कर रहा है। भारतीय दूतावास की मदद के लिए और भी लोग भेजे जा रहे हैं। मंत्रालय बहुत से भारतीय छात्रों से फोन के जरिए संपर्क में है। बताया जा रहा है कि फिलहाल भारतीय छात्र किसी तरह के संकट में नहीं हैं।

यूक्रेनी सरकार को 'खत्म' करना युद्ध का मकसद

यूक्रेनी सरकार को 'खत्म' करना युद्ध का मकसद  

सुनील श्रीवास्तव      

कीव/मास्को/वाशिंगटन डीसी। पेंटागन का मानना है कि रूस के आक्रमण को यूक्रेनी सरकार को 'खत्म' करने और नए नेतृत्व को स्थापित करने के लिए डिजाइन किया गया है। एक वरिष्ठ रक्षा अधिकारी एक्सियोस ने गुरुवार को संवाददाताओं से यह बात कही। अधिकारी ने कहा कि रूस का आक्रमण - वायु, भूमि और समुद्र - तीन स्तरों पर आगे बढ़ रहा है। जिनमें से एक का लक्ष्य राजधानी कीव है।

वाशिंगटन में यूक्रेन के राजदूत ने संवाददाताओं से कहा कि कीव के पास लड़ाई जारी है। लेकिन शहर फिलहाल सुरक्षित है। रूसी और यूक्रेनी सैनिकों ने शुक्रवार को कीव के पास एक हवाईअड्डे पर नियंत्रण के लिए लड़ाई लड़ी, रूसी सेना ने सीएनएन को बताया कि वे अब इसे नियंत्रित करते हैं। रूस उत्तर से बेलारूसी सीमा पर भी आक्रमण कर रहा है, जो अपने निकटतम बिंदु पर कीव से 100 मील से भी कम दूरी पर है। एक्सियोस ने बताया कि रक्षा अधिकारी ने कहा कि अब तक की सबसे भारी लड़ाई खार्किव में हुई है, जो पूर्व में रूस की सीमा के करीब 14 लाख की आबादी वाला शहर है। रूसी सेना भी दक्षिण से हमला कर रही है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा कि सबसे अधिक समस्याग्रस्त स्थिति क्रीमिया की है।

अपवर्जन क्षेत्र पर नियंत्रण, रूस से लड़ रहा यूक्रेन

अपवर्जन क्षेत्र पर नियंत्रण, रूस से लड़ रहा यूक्रेन      

सुनील श्रीवास्तव    

कीव/ मास्को/अंकारा। यूक्रेन की सेनाएं राजधानी कीव से 60 मील उत्तर में चेरनोबिल अपवर्जन क्षेत्र पर नियंत्रण के लिए रूसी सेना से लड़ रही हैं। इस आशंका के बीच कि लड़ाई परमाणु कचरा रखने वाली भंडारण सुविधाओं को नुकसान पहुंचा सकती है। जिससे समूचे यूरोप में विकिरण के बादल छा सकते हैं। यह जानकारी डेली मेल ने दी। यूक्रेन के आंतरिक मामलों के मंत्रालय के एक सलाहकार एंटोन गेराशचेंको ने कहा कि रूसी सेना क्षेत्र में प्रवेश कर गई और सीमा रक्षक इकाइयों के साथ 'जोरदार' लड़ रही थी।

रिपोर्ट में कहा गया है, "अगर भंडारण सुविधाएं नष्ट हो जाती हैं, तो रेडियोधर्मी बादल यूक्रेन, बेलारूस और यूरोपीय संघ को कवर कर सकता है।" इस बीच, तुर्की ने बताया कि उसका एक जहाज ओडेसा के तट पर एक 'बम' की चपेट में आ गया है, जहां लड़ाई जारी है। तुर्की नाटो का सदस्य है, इस आशंका को रेखांकित करता है कि यूक्रेन में युद्ध जल्दी से अन्य देशों में चूस सकता है और यूरोप में एक चौतरफा संघर्ष को जन्म दे सकता है।डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, कीव के सैनिकों ने लगभग 15 मील दूर एक प्रमुख हवाई क्षेत्र पर नियंत्रण खो दिया। रूसी सेना ने इससे पहले दिन में लगभग दो दर्जन हमलावर हेलीकॉप्टरों से उस पर हमला किया था। माना जाता है कि उनमें से चार को मार गिराया गया। 

इमारत की 48वीं मंजिल, हवा में तख्त पर लोगः अजब

इमारत की 48वीं मंजिल, हवा में तख्त पर लोगः अजब       

सुनील श्रीवास्तव    

कुआलालंपुर। हर किसी के नसीब में डेस्क पर बैठ, एसी की ठंडी हवा लेते हुए काम करना नहीं है। कई लोगों को हर रोज पसीना बहाना पड़ता है। जिससे उनका घर चल सके। कुछ लोगों की नौकरियां तो इतनी खतरनाक होती हैं कि उसके बारे में अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता। इस बात का सबूत इन दिनों एक वायरल वीडियो में देखने को मिल रहा है, जो कुआलालंपुर का है। हाल ही में कुआलालंपुर का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जो बेहद चौंकाने वाला है। जिसमें इमारत का कांच साफ करने के लिए लोग झूलते हुए तख्त पर खड़े हुए हैं। अचानक बहुत तेज हवा चलने लगती है और उनका झूला तेजी से हिलने लगता है। ये समाचार बेहद डरावना है। क्योंकि कांच साफ करने वाले लोग कई फीट की ऊंचाई पर मौजूद हैं। झूला इतनी दूर-दूर तक हवा में उड़ रहा है कि वीडियो बनाने वाले लोग भी ये नजारा देखकर खौफ में हैं। झूला बार-बार इमारत से भी टकरा रहा है। आपको बता दें कि ये हादसा टीएस लॉ टावर के 48वीं मंजिल पर हो रहा है। कुआला लंपुर फायर एंड रेस्क्यू ऑपरेशन के कमांडर ने कहा कि कर्मचारियों को बचाने के लिए टीम तुरंत मौके पर पहुंच गई थी।

सोशल मीडिया पर लोगों ने दी प्रतिक्रिया।
सोशल मीडिया पर भी ये वीडियो काफी चर्चा में बना हुआ है लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। फेसबुक पर भी लोगों ने हैरानी जताई। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार जब बचाव दल वहां पहुंचा तो उन्होंने देखा कि कर्मियों ने अपने आप को खुद से ही खतरे से बचा लिया था। एक शख्स ने कहा कि मलेशिया का मौसम अब पहले की तरह नहीं रह गया है, सभी को ऐसे कामों को अंजाम देने से पहले मौसम के बारे में पता कर लेना चाहिए। हैरानी लोगों को इस बात की है कि झूले की एक रस्सी टूट भी गई मगर उसपर मौजूद सफाई कर्मियों ने हिम्मत नहीं हारी और बिना डरे खुद की जान बचाई।

'10वीं-12वीं टर्म 2' प्रैक्टिकल परीक्षा 2 से शुरू होगीं

'10वीं-12वीं टर्म 2' प्रैक्टिकल परीक्षा 2 से शुरू होगीं   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 10वीं-12वीं टर्म 2 प्रैक्टिकल परीक्षा 2 मार्च से शुरू हो रही है। परीक्षा से पहले बोर्ड ने गाइडलाइन जारी किया है। सीबीएसई 10वीं, 12वीं की प्रैक्टिकल परीक्षा आयोजित करने के लिए दिशा-निर्देश जारी करते हुए बोर्ड ने कहा कि स्कूलों को प्रैक्टिकल की तैयारी करते समय टर्म 1 और टर्म 2 के विभाजन को ध्यान में रखना होगा।सीबीएसई ने स्कूलों से 3 मार्च से ही प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट, इंटरनल असेसमेंट के अंक एक साथ अपलोड करने को कहा है। साथ ही ये भी कहा है कि स्कूल मार्क्स सही-सही अपलोड करें। क्योंकि एक बार अपलोड होने के बाद दोबारा सुधार नहीं किया जा सकता है।

कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए, सीबीएसई ने स्कूलों को भीड़भाड़ से बचने के लिए छात्रों के बैच को छात्रों के ग्रुप में विभाजित करने का सुझाव दिया। छात्रों का पहला समूह लैब में भाग ले सकता है जबकि दूसरा ग्रुप कलम और कागजी कार्य कर सकता है। सीबीएसई ने कहा कि कक्षा 10 के लिए बोर्ड द्वारा कोई बाहरी परीक्षक नियुक्त नहीं किया जाएगा। प्राइवेट उम्मीदवारों के संबंध में अलग से कोई व्यावहारिक परीक्षा नहीं होगी। हालांकि, कक्षा 12 के छात्रों के लिए सीबीएसई बाहरी परीक्षक की नियुक्ति करेगा। बोर्ड प्रैक्टिकल परीक्षाओं की निगरानी और परीक्षा के निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए स्कूलों में पर्यवेक्षक भी नियुक्त कर सकता है।

एक्ट्रेस मैककॉर्ड ने जंग खत्म करने की गुजारिश की

एक्ट्रेस मैककॉर्ड ने जंग खत्म करने की गुजारिश की     

अखिलेश पांडेय           

कीव/मास्को। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है। दुनियाभर के लोग सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक,  को खत्म करने की अपील कर रहे हैं। इस बीच अमेरिकी एक्ट्रेस और एक्टिविस्ट एनालिन मैककॉर्ड ने एक वीडियो जारी कर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को लेकर ऐसी बात कह दी कि वह सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गईं। 34 वर्षीय मैककॉर्ड ने यूक्रेन पर हमले के बाद राष्ट्रपति पुतिन के लिए वीडियो संदेश जारी किया। वीडियो में उन्होंने एक कविता पढ़कर रूसी राष्ट्रपति से रूस-यूक्रेन जंग खत्म करने की गुजारिश की। इस दौरान उन्होंने कहा- 'प्रिय राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, मुझे बहुत अफ़सोस है कि मैं तुम्हारी मां नहीं थी। अगर मैं तुम्हारी मां होती तो तुम्हें बहुत प्यार करती।

एक्ट्रेस मैककॉर्ड ने बताया कि पुतिन का जीवन कैसे अलग होता, अगर वह उनकी मां होतीं। वो कहती हैं- 'अगर मैं तुम्हारी मां होती तो दुनिया अच्छाई से भरी होती, इतनी हंसी और खुशी होती कि कुछ भी नुकसान नहीं होता। मैककॉर्ड आगे कहती हैं- 'अगर मैं तुम्हारी मां होती तो तुम्हें अन्याय, हिंसा, आतंक, अनिश्चितता से बचाने के लिए मर मिटती।
अमेरिकी एक्ट्रेस के इस 2 मिनट 20 सेकेंड के वीडियो पर हजारों की संख्या में यूजर्स ने रिएक्ट किया है। कई लोग एक्ट्रेस की कविता पर भड़क गए हैं। हालांकि, कुछ लोगों ने कविता की सराहना भी की है। एक यूजर ने लिखा- 'युद्ध के समय ऐसी कविताओं का कोई औचित्य नहीं है। वहीं दूसरे यूजर ने कहा- 'पहल अच्छी है।
कई यूजर्स ने कहा- 'ये युद्ध पुतिन ने शुरू किया है, अब समझाने से क्या फायदा। तो कई ने कहा- 'ये काल्पनिक परिस्थितियों के बारे में सोचने का सही समय नहीं है। एनालिन मैककॉर्ड के इस वीडियो पर यूजर्स की मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 13,166 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 13,166 नए मामलें    

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 13,166 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,28,94,345 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,34,235 रह गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में 302 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 5,13,226 हो गई। देश में अभी 1,34,235 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 0.31 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 14,124 की कमी दर्ज की गई। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 98.49 प्रतिशत हो गई है। उल्लेखनीय है कि देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी।

संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ के पार हो गए थे। पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ के पार और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी। इस साल 26 जनवरी को मामले चार करोड़ के पार पहुंच गए।

कारोबार: सूचकांक सेंसेक्स में 2 प्रतिशत की तेजी

कारोबार: सूचकांक सेंसेक्स में 2 प्रतिशत की तेजी   

कविता गर्ग     

मुंबई। रूस-यूक्रेन संघर्ष के दीर्घकालिक जोखिमों के बीच एशियाई बाजारों में तेजी के चलते घरेलू शेयर बाजारों के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में शुक्रवार को शुरुआती कारोबार के दौरान दो प्रतिशत की तेजी हुई। इस दौरान बीएसई सेंसेक्स 1,140.58 अंक या 2.09 प्रतिशत चढ़कर 55,670.49 पर और एनएसई निफ्टी 344.10 अंक या 2.12 प्रतिशत बढ़कर 16,592.05 पर कारोबार कर रहा था। सेंसेक्स में इंडसइंड बैंक, टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व और एसबीआई बढ़त दर्ज करने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल थे। इससे पहले बृहस्पतिवार को सेंसेक्स में 2,700 अंक से अधिक की गिरावट हुई थी, जो लगभग दो वर्षों में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। इस दौरान निफ्टी 815 अंक टूटा।

इस गिरावट के चलते निवेशकों की 13 लाख करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति डूब गई। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक यूक्रेन संकट से घबराए विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 6,448.24 करोड़ रुपये के शेयर बेचे थें। इसबीच ब्रेंट क्रूड वायदा दो फीसदी की तेजी के साथ 101.20 डॉलर प्रति बैरल पर था।

रूस के हमले में 137 नागरिक एवं सैन्य कर्मी मरे

रूस के हमले में 137 नागरिक एवं सैन्य कर्मी मरे     

सुनील श्रीवास्तव    

कीव/मास्को। यूक्रेन पर रूस के हमले के एक दिन बाद शुक्रवार को राजधानी कीव में धमाकों की कई आवाजें सुनी गयीं। रूसी सैनिकों ने दूसरे दिन भी हमले जारी रखे हैं। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा  कि रूस के हमले में अभी तक 137 नागरिक और सैन्य कर्मी मारे गए हैं। शहरों और सैन्य ठिकानों पर हवाई हमलों के बाद, रूसी सैन्य इकाइयां यूक्रेन के सबसे बड़े शहर कीव की ओर आगे बढ़ी।

अमेरिकी अधिकारियों को संदेह है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन की सरकार को बेदखल करके अपना शासन स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं। यूक्रेन के खिलाफ बड़े सैन्य अभियान की घोषणा करते हुए पुतिन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा एवं प्रतिबंधों को नजरंदाज किया और अन्य देशों को चेतावनी दी कि रूसी कार्रवाई में किसी प्रकार के हस्तक्षेप के प्रयास के ”ऐसे परिणाम होंगे, जो उन्होंने कभी नहीं देखे होंगे।

इंडोनेशिया में 6.2 तीव्रता का तेज भूकंप, झटके

इंडोनेशिया में 6.2 तीव्रता का तेज भूकंप, झटके    

अखिलेश पांडेय             

जकार्ता। इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप के तटीय इलाकों में शुक्रवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप के कारण लोग घबराकर अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक भूकंप से जान-माल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग के मुताबिक रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.2 मापी गई। भूकंप का केंद्र पश्चिम सुमात्रा प्रांत के पहाड़ी शहर बुकिटिंग्गी के उत्तर-उत्तर पश्चिम में 66 किलोमीटर दूर 12 किलोमीटर की गहराई पर था। इंडोनेशिया की मौसम एवं जलवायु विज्ञान और भूभौतिकीय एजेंसी की प्रमुख द्विकोरिता कर्णावती ने कहा कि भूकंप के कारण सुनामी का कोई खतरा नहीं है, लेकिन उन्होंने भूकंप के बाद और झटकों की चेतावनी दी है।

टेलीविज़न रिपोर्ट में पश्चिमी सुमात्रा प्रांत की राजधानी पडांग में सड़कों पर घबराए हुए लोगों को दिखाया गया। गौरतलब है कि जनवरी 2021 में इंडोनेशिया के पश्चिम सुलावेसी प्रांत में आए 6.2 तीव्रता के भूकंप के कारण कम से कम 105 लोगों की मौत हो गयी थी जबकि करीब 6500 लोग घायल हो गए थे।

'को-लोकेशन’ मामलें में अधिकारी को अरेस्ट किया

'को-लोकेशन’ मामलें में अधिकारी को अरेस्ट किया    

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में ‘को-लोकेशन’ मामले में एनएसई के पूर्व अधिकारी आनंद सुब्रमण्यम को गिरफ्तार किया है। सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि सीबीआई ने सुब्रमण्यम से चेन्नई में कई दिनों की पूछताछ के बाद गुरुवार देर रात उसे गिरफ्तार किया।आरोप है कि एनएसई में कुछ ब्रोकरों को सर्वर ऐसक जगह लगाने की सहूलियत दी गई जहां से उनके कंप्यूटर को एनएसई के अनलाइन कारोबार की सूचना सेकेंड के कुछ हिस्से पहले पहुंच जाती थी।

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) का आरोप है कि तय कायदे-कानून को ताक पर रखकर सुब्रमण्यम को एनएसई समूह का परिचालन अधिकारी तथा एक्सचेंज की सीईओ चित्रा रामकृष्ण का मुख्य रणनीतिक सलाहकार नियुक्त किया गया था। एनएसई की पूर्व अधिकारी रामकृष्ण और अन्य पर सुब्रमण्यम की नियुक्ति में अनियमितताओं के आरोप हैं।

शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर

शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर    

इकबाल अंसारी       

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में शुक्रवार को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। वहीं, दो आंतकियों के मारे जाने की सूचना भी है। पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, दक्षिण कश्मीर में शोपियां जिले के अमशीपोरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने वहां घेराबंदी की और तलाशी अभियान शुरू किया।

आतंकवादियों द्वारा सुरक्षाबलों पर गोलीबारी करने के परिणामस्वरूप यह तलाशी अभियान एक मुठभेड़ में तब्दील हो गया और जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। पुलिस अधिकारी के अनुसार, मुठभेड़ अभी जारी है और इस संबंध में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-140, (वर्ष-05)
2. शनिवार, फरवरी 26, 2022
3. शक-1984, फाल्गुन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दसवीं, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 13 डी.सै., अधिकतम-22+ डी सै.। बर्फबारी, उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...