शनिवार, 22 अक्तूबर 2022

धनतेरस एवं दीपावली पर्व की बधाई व शुभकामनाएं 

धनतेरस एवं दीपावली पर्व की बधाई व शुभकामनाएं 


गृहमंत्री साहू ने प्रदेशवासियों को धनतेरस एवं दीपावली पर्व की दी शुभकामनाएं

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने प्रदेशवासियों को धनतेरस एवं दीपावली पर्व की अग्रिम बधाई व शुभकामनाएं दी हैं। धनतेरस पर्व की बधाई देते हुए अपने संदेश में गृहमंत्री साहू ने कहा कि भगवान धन्वंतरि की कृपा से सभी प्रदेशवासियों का जीवन स्वस्थ और खुशहाल रहे एवं आप सभी का जीवन सुख-समृद्धि और वैभव से परिपूर्ण हो। 

गृहमंत्री साहू ने दीपो के पावन पर्व दीपावली पर प्रदेश के प्रत्येक नागरिक के जीवन में सुख, शांति एवं समृद्धि की कामना की हैं। अपने बधाई सन्देश में उन्होंने कहा कि दीपावली का पावन पर्व हमारी सभ्यता और संस्कृति की अलौकिकता का प्रतीक है। हम सभी भारतीय इस पर्व को हर्ष-उल्लास के साथ मनाते है। दीपावली का यह पावन पर्व हम सभी के जीवन को प्रकाशमय करे, यही मेरी कामना है।

राजनीति: बसपा को चुनाव लड़ने के लिए चुना 

राजनीति: बसपा को चुनाव लड़ने के लिए चुना 

अकांशु उपाध्याय/संदीप मिश्र/अमित शर्मा 

नई दिल्ली/लखनऊ/लुधियाना। उत्तराधिकार में निर्वाचित बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने सदस्यों की समीक्षा की। राज्य की स्थिति के लिए राज्य के पूर्वात्‍व में बैठने की स्थिति में आने के साथ ही वैस्‍व वैभव के मामले में भी अस्तित्‍व में प्रभावित होगा। चुनाव लड़ने के लिए चुनाव लड़ने के बाद उन्हें चुनाव लड़ने के लिए चुना गया। पार्टी की ओर से जारी किए गए कार्यक्रम की स्थिति में सुरक्षा में सुधार हुआ है और सर्वसमाज में पार्टी के जनाधार को तेज से युवा स्थिति और स्थिति के लिए दिशा-निर्देश। यह भी कहा गया है कि असफल होने के बाद भी 'अच्छे' कार्य 'अच्छे', जनता का अनुभव खराब होगा। यह उचित नीति है, सावधान रहना चाहिए।

उप्र में शामिल होने के लिए उपयुक्त बैटरी के साथ बैठने के लिए उपयुक्त बैटरी के साथ चलने वाली बैटरी के साथ चलने के लिए बैटरी के साथ चलने वाली बैटरी के बारे में विस्तृत जानकारी देने के लिए। इस तरह के नियंत्रण को नियंत्रित करने के लिए यह आवश्यक है कि ये नियंत्रित होने के लिए नियंत्रित किया जाए। खतरनाक घटनाओं को अंजाम देने के लिए अलर्ट जारी किया गया है। निश्चित होगा इसी तरह, इस तरह की स्थिति में यथावत रखा गया है। सुनिश्चित करने के लिए सुनिश्चित करें।

रोडवेज कर्मियों को महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की सौगात 

रोडवेज कर्मियों को महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की सौगात 

पंकज कपूर 

देहरादून। परिवहन निगम की ओर से लिए गए कई बड़े फैसलों के अंतर्गत रोडवेज कर्मियों को दीपावली पर महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की सौगात दी गई है। रोडवेज कर्मियों के महंगाई भत्ते में 3 फ़ीसदी की बढ़ोतरी करने से उनकी बल्ले बल्ले हो गई है। उत्तराखंड परिवहन निगम के निदेशक मंडल की 32 वी बोर्ड बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं। बोर्ड अध्यक्ष आनंद वर्धन की अध्यक्षता में निगम मुख्यालय पर हुई बैठक में सचिव परिवहन विभाग उत्तराखंड शासन के अतिरिक्त अन्य निदेशक उत्तराखंड परिवहन निगम बोर्ड के लोग मौजूद रहे।

निदेशक मंडल द्वारा बैठक में लिए गए पहले निर्णय के तहत निगम की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति के संबंध में अवगत कराते हुए आय एवं व्यय के खर्च की जानकारी देते हुए बताया गया कि इस साल के सितंबर महीने तक निगम को कुल 16 करोड़ 90 लाख रुपए का लाभ हुआ है। बोर्ड बैठक में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के माध्यम से निगम को अपने रिटेल पंप लगाए जाने की भी सहमति प्रदान की गई। इस दौरान उत्तराखंड परिवहन निगम के कार्मिकों के लिए महंगाई भत्ते में 0.3 प्रतिशत की वृद्धि कर महंगाई भत्ता 34ः प्रतिशत किए जाने का निर्णय लिया गया।

3580 करोड़ की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास 

3580 करोड़ की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को गुजरात के जूनागढ़ में लगभग 3580 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया। जूनागढ़ में इन परियोजनाओं में तटीय राजमार्गों में सुधार के साथ-साथ मिसिंग लिंक का निर्माण, दो जलापूर्ति परियोजनाएं और कृषि उत्पादों के भंडारण के लिए एक गोदाम परिसर का निर्माण शामिल है। प्रधानमंत्री ने कृष्ण रुक्मणी मंदिर, माधवपुर के समग्र विकास और सीवेज और जल आपूर्ति परियोजनाओं और पोरबंदर फिशरी हार्बर में रखरखाव की परियोजना का भी शिलान्यास किया। गिर सोमनाथ में, प्रधानमंत्री ने दो परियोजनाओं की आधारशिला रखी, जिसमें माधवाड़ में एक मछली पकड़ने के बंदरगाह का विकास शामिल है।

सभा को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री ने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि दिवाली और धनतेरस के त्यौहार समय से पहले आ गए हैं और जूनागढ़ के लोगों के लिए नए साल के जश्न की तैयारी पहले से ही चल रही है। इस अवसर पर उपस्थित सभी लोगों का आभार व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने लोगों को उनके आशीर्वाद के लिए धन्यवाद दिया। प्रधानमंत्री ने उन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने पर प्रसन्नता व्यक्त की जो पहले के समय में राज्य के बजट से अधिक लागत की थीं। उन्होंने कहा कि यह सब गुजरात के लोगों के आशीर्वाद की वजह से संभव हुआ है।

प्रधानमंत्री ने जूनागढ़, गिर सोमनाथ और पोरबंदर वाले क्षेत्र को गुजरात की पर्यटन राजधानी बताया। उन्होंने कहा कि आज जिन परियोजनाओं की योजना बनाई जा रही है, उनसे रोजगार और स्वरोजगार के अपार अवसर पैदा होंगे। प्रधानमंत्री ने कहा, “आज मेरा सीना गर्व से फूला हुआ है।” उन्होंने इसका श्रेय गुजरात के लोगों और उनके आशीर्वाद को दिया। प्रधानमंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला कि जब उन्होंने केंद्र में जिम्मेदारियों को निभाने के लिए गुजरात को छोड़ दिया, इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल की टीम ने समान मूल्यों और परंपराओं के साथ गुजरात की देखभाल की। प्रधानमंत्री ने कहा, “आज, गुजरात तीव्र गति से विकास कर रहा है।”

उन्होंने सूखे और क्षेत्र से पलायन के कठिन समय को याद करते हुए कहा कि प्रकृति भी उन लोगों की मदद करती है जो समर्पण और प्रामाणिकता के साथ काम करते हैं क्योंकि पिछले दो दशकों में जलवायु प्रतिकूलता भी कम हुई है। प्रधानमंत्री ने कहा, “एक ओर लोगों के आशीर्वाद और दूसरी ओर प्रकृति के समर्थन से, लोगों की सेवा में अपना जीवन व्यतीत करना खुशी की बात है।” प्रधानमंत्री ने कहा कि मां नर्मदा दूर का तीर्थ है, लोगों की मेहनत से मां नर्मदा सौराष्ट्र के गांवों में अपना आशीर्वाद देने पहुंची हैं। प्रधानमंत्री ने पूर्ण समर्पण के साथ प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए जूनागढ़ के किसानों की सराहना की। प्रधानमंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला कि गुजरात में उगाए जाने वाले केसर आम का स्वाद दुनिया के हर हिस्से में पहुंच रहा है।

भारत के विशाल तटीय क्षेत्रों के बारे में चर्चा करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के समुद्र तट का एक बड़ा हिस्सा गुजरात से संबंधित है। पिछली सरकारों को याद करते हुए, जिन्होंने समुद्र को बोझ और उसकी ताजी हवा को जहर की तरह माना, मोदी ने कहा कि अब समय बदल गया है। “वही समुद्र जिन्हें प्रतिकूलता के रूप में माना जाता था, अब हमारे प्रयासों का लाभ मिल रहा है।” प्रधानमंत्री ने कहा कि कच्छ का रण जो मुसीबतों से घिरा था, अब गुजरात के विकास की ओर अग्रसर है। प्रधानमंत्री ने कहा कि 25 साल पहले उन्होंने गुजरात के विकास के लिए जो संकल्प लिया था, वह अब साकार हो गया है।

प्रधानमंत्री ने याद किया कि मुख्यमंत्री के रूप में, उन्होंने मछुआरा समुदाय के कल्याण, सुरक्षा, सुविधाओं और बुनियादी ढांचे के लिए सागर खेडू योजना शुरू की थी। इन प्रयासों से राज्य से मछली का निर्यात सात गुना बढ़ा। उन्होंने अपने मुख्यमंत्री के दिनों में एक जापानी प्रतिनिधिमंडल के साथ एक उदाहरण याद किया जब प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने मत्स्यपालन की पहल पर प्रस्तुति को रोकने के लिए कहा, क्योंकि वे स्क्रीन पर प्रसिद्ध सुरमाई मछली को देखकर खुद को नियंत्रित नहीं कर सके और उसका स्वाद लेने की इच्छा जताई। उन्होंने कहा कि सुरमाई मछली अब जापानी बाजार में प्रसिद्ध है और हर साल पर्याप्त मात्रा में निर्यात होता है। प्रधानमंत्री ने कहा, “डबल इंजन वाली सरकार ने विकास कार्यों में दोगुनी गति लाई है।” आज ही तीन फिशिंग हार्बर पर काम शुरू हो गया है

प्रधानमंत्री ने जानकारी दी कि पहली बार किसान, पशुपालक और सागर खेडू के मछुआरे किसान क्रेडिट कार्ड योजना की सेवाओं से जुड़े हैं और इसने बैंक से ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया को सरल बनाया है। मोदी ने कहा, “परिणामस्वरूप, 3.5 करोड़ लाभार्थी इसकी सेवाओं का लाभ उठा रहे हैं।” प्रधानमंत्री ने कहा कि इसने समाज के गरीबों और जरूरतमंदों को अपने और अपने परिवार के बेहतर भविष्य का निर्माण करने का अधिकार दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि उन लाभार्थियों के लिए ब्याज माफ किया जाएगा, जिन्होंने समय पर अपना ऋण चुकाया है। प्रधानमंत्री ने कहा, “किसान क्रेडिट कार्ड ने खासकर हमारे पशुपालन श्रमिकों और मछुआरा समुदाय के लिए जीवन को बहुत आसान बना दिया है।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “पिछले दो दशकों में, बंदरगाहों के जबरदस्त विकास ने गुजरात के लिए समृद्धि के द्वार खोल दिए हैं। इसने गुजरात के लिए नई संभावनाएं खोली हैं।” सागर माला योजना पर प्रकाश डालते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने न केवल बंदरगाहों का विकास करके बल्कि बंदरगाह के नेतृत्व वाले विकास को क्रियान्वित करके भारत के तटों पर बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की पहल की है। मोदी ने कहा, “तटों में गुजरात ने इस पर आधारित कई नई परियोजनाओं को देखा है।” उन्होंने कहा, “जूनागढ़ के अलावा, नया तटीय राजमार्ग पोरबंदर, जामनगर, देवभूमि द्वारका, मोरबी के कई जिलों से मध्य और दक्षिण गुजरात से गुजरने वाला है। जो गुजरात के पूरे समुद्र तट की कनेक्टिविटी को मजबूत करेगा।”

प्रधानमंत्री ने राज्य की माताओं और बहनों द्वारा किए गए जबरदस्त कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे एक सुरक्षा कवच बन गए हैं। पिछले 8 वर्षों में महिलाओं के नेतृत्व वाले विकास की दिशा में केंद्र सरकार के प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि माताओं और बहनों के जीवन को आसान बनाने के लिए हर स्तर पर उपाय सुनिश्चित किए गए हैं। प्रधानमंत्री ने महिलाओं के स्वास्थ्य और सम्मान में सुधार की ओर इशारा किया और इसका श्रेय स्वच्छ भारत अभियान के तहत करोड़ों शौचालयों के निर्माण को दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि उज्ज्वला योजना न केवल महिलाओं का समय बचा रही है, बल्कि उनके स्वास्थ्य के साथ-साथ पूरे परिवार के स्वास्थ्य में भी सुधार कर रही है। प्रधानमंत्री ने पिछली सरकारों के समय को याद किया, जो एक गांव में कुछ पानी के हैंडपंपों को वितरित करने के बाद धूमधाम से उत्सव मनाते थे। उन्होंने कहा, “आज आपका बेटा हर घर में पाइप से पानी पहुंचा रहा है।” प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के बारे में चर्चा करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि गर्भावस्था के दौरान माताओं को हजारों प्रकार की सहायता दी जा रही है, ताकि उन्हें पौष्टिक आहार मिल सके। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जो घर दे रही है, उनमें से ज्यादातर घर महिलाओं के नाम पर हैं। देश भर में 8 करोड़ से अधिक बहनें स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी हैं, जिनमें से लाखों गुजरात से हैं। इसी तरह मुद्रा योजना के तहत कई बहनें पहली बार उद्यमी बनी हैं।

देश के युवाओं पर जोर दिए जाने के बारे में बताते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 8 साल से हमने गुजरात समेत पूरे देश में युवाओं की क्षमता को बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं। शिक्षा से लेकर रोजगार और स्वरोजगार तक हर पहलू में नए अवसर पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है। आज सरकार उद्यमिता के हर कदम पर युवाओं की मदद कर रही है। प्रधानमंत्री ने डेफएक्सपो 2022 के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि वह दिन दूर नहीं जब गुजरात टैंकों का निर्माण करेगा। प्रधानमंत्री ने गांधीनगर में आज इसका उद्घाटन किया था।

प्रधानमंत्री ने शिक्षा के क्षेत्र में राज्य द्वारा की गई प्रगति पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, पिछले 8 वर्षों के दौरान देश में सैकड़ों विश्वविद्यालय खुले। गुजरात उच्च शिक्षा के कई गुणवत्तापूर्ण संस्थानों के उद्घाटन का गवाह बन रहा है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति गुजराती भाषा में नए अवसर ला रही है। इसी तरह, डिजिटल विकास गुजरात के युवाओं के लिए नए अवसर पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा, “डिजिटल इंडिया ने गुजरात के युवाओं को अपनी विभिन्न प्रतिभाओं को निखारने के नए अवसर दिए हैं, इससे रोजगार के नए अवसर पैदा हुए हैं। युवाओं की पहुंच बड़े बाजार तक है और यह सस्ते मेड इन इंडिया मोबाइल फोन और सस्ती डेटा सुविधाओं के कारण संभव हो रहा है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि बढ़ते बुनियादी ढांचे से पर्यटन को बड़े पैमाने पर बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में अब सबसे बड़े रोपवे में से एक ने काम करना शुरू कर दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कई वर्षों के बाद इस साल अप्रैल में केशोद हवाई अड्डे से फिर से उड़ानें शुरू हुई हैं। जब केशोद हवाई अड्डे को और विकसित किया जाएगा, जब यह एक कार्गो सुविधा तैयार हो जाएगी, तो हमारे फल, सब्जियां, मछली और अन्य उत्पादों को यहां से भेजना आसान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि केशोद हवाईअड्डे के विस्तार से देश और दुनिया को यहां ऐसे सभी स्थानों तक पहुंच मिलेगी, यहां के पर्यटन में और इजाफा होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश अंतरिक्ष, विज्ञान या खेल के क्षेत्र में राष्ट्रीय उपलब्धियों से खुश है, हालांकि, कुछ वर्गों द्वारा गुजरात और उसके लोगों की उपलब्धियों का राजनीतिकरण करने की बढ़ती प्रवृत्ति की आलोचना की। प्रधानमंत्री ने कहा, “कुछ राजनीतिक दलों ने गुजरात को गाली देना अपनी राजनीतिक विचारधारा बना ली है।” उन्होंने जोर देकर कहा कि हम गुजरातियों या देश के किसी भी राज्य के लोगों का अपमान कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमें ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की भावना और सरदार पटेल के सपनों को कमजोर नहीं होने देना चाहिए। उन्होंने निंदा को आशा में बदलने और विकास के माध्यम से झूठ का मुकाबला करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि गुजरात की एकता इसकी ताकत है। इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, सांसद राजेशभाई चुडासमा और रमेश धदुक और गुजरात सरकार के मंत्री ऋषिकेश पटेल और देवाभाई मालम उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री ने मिसिंग लिंक के निर्माण के साथ-साथ तटीय राजमार्गों के सुधार की परियोजना का शिलान्यास किया। इस परियोजना के पहले चरण में, 13 जिलों में कुल 270 किलोमीटर से अधिक लंबे राजमार्ग को कवर किया जाएगा। प्रधानमंत्री जूनागढ़ में दो जलापूर्ति परियोजनाओं और कृषि उत्पादों के भंडारण के लिए गोदाम परिसर के निर्माण की आधारशिला रखी। पोरबंदर में, प्रधानमंत्री ने कृष्ण रुक्मणी मंदिर, माधवपुर के समग्र विकास की आधारशिला रखी। उन्होंने पोरबंदर फिशरी हार्बर में सीवेज और जलापूर्ति परियोजनाओं और रखरखाव ड्रेजिंग की आधारशिला भी रखी। गिर सोमनाथ में, प्रधानमंत्री ने दो परियोजनाओं की आधारशिला रखी, जिसमें माधवाड़ में एक मछली पकड़ने के बंदरगाह का विकास करना शामिल है।

23-24 अक्टूबर को काली दिवाली मनाएंगे कर्मचारी

23-24 अक्टूबर को काली दिवाली मनाएंगे कर्मचारी 

नरेश राघानी 

श्रीगंगानगर। राजस्थान में राज्य सरकार द्वारा कोविड महासंक्रमण के दौरान सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में अस्थाई रूप से नियुक्त किए गए कोविड स्वास्थ्य कर्मियों (सीएचए) को इस वर्ष 31 मार्च को अचानक सेवा मुक्त कर दिए जाने के खिलाफ आंदोलन कर रहे यह कर्मचारी 23 और 24 अक्टूबर को जयपुर में शहीद स्मारक स्थल पर काली दिवाली मनाएंगे। सीएचए संघर्ष समिति के सह संयोजक सुखदीप सिंह अटवाल ने बताया कि राज्य सरकार में उनको सेवा बहाल करने की मांग को अभी तक स्वीकार नहीं किया है।

विगत 22 सितंबर को राज्य मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के आश्वासन पर आंदोलन स्थगित किया गया था। प्रताप सिंह खाचरियावास ने आश्वस्त किया था कि राज्य सरकार उनकी मांग के प्रति संवेदनशील और गंभीर है। इसका जल्दी ही उचित और सम्मानजनक हल निकाला जाएगा। श्री अटवाल ने कहा कि इस आश्वासन को भी आज पूरा एक महीना हो गया।

बीते एक महीने के दौरान संघर्ष समिति के शिष्टमंडल ने चार बार खाचरियावास से मुलाकात की है।आश्वासनों के सिवाय सेवा बहाली होती नहीं रही। जब तक प्रदेश के सभी कर्मियों को राज्य सरकार बहाल करने के आदेश जारी नहीं करती,तब तक संघर्ष जारी रहेगा।उन्होंने बताया कि 23 और 24 अक्टूबर को शहीद स्मारक स्थल जयपुर में काली दिवाली मनाने के लिए प्रदेश भर से काफी संख्या में सी एच ए कर्मचारी शामिल होंगे।

किसान डिग्री कॉलेज में अशफाक का जन्मदिन मनाया 

किसान डिग्री कॉलेज में अशफाक का जन्मदिन मनाया 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। शामली के किसान डिग्री कॉलेज में शनिवार को अशफाक उल्ला खान का जन्मदिन मनाया गया। कॉलेज प्राचार्य ने दीप प्रज्वलित कर उनको नमन किया। छात्र-छात्राओं ने उनकी तस्वीर पर पुष्प अर्पित करते हुए दीप प्रज्वलित किया। छात्र और छात्राओं को उनके बारे में बताया गया। किसान डिग्री कालेज में आज अशफाक उल्ला खान की जयंती मनाई गई। जहां सबसे पहले कालेज की प्राचार्य ने उनको फोटो पुष्प अर्पित करते हुए उन्होंने वीर शहीद अशफाक उल्ला खान के जीवन शैली के बारे में बताया और प्रोफेसर ने बच्चो को उनकी वीर गाथा के हर पहलू पर व्याख्यान किया।

प्रोफेसर ने बताया कि हमें जीवन में हमेशा उनके पग चिन्हों पर चलना चाहिए। देश और देश वासियों के लिए उन्होंने काम किया है। प्रोफेसर ने विचार गोश्ठी में अपने अपने विचार रखे और बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। अशफाक उल्ला खान का जन्मदिन मनाया गया।

ये लोग रहे मौजूद...
इस कार्यक्रम का संचालन डॉ. चारु गोयल, कुमारी गायत्री, डॉ, रानी मिश्रा, सौरभ कुमार पाण्डेय आदि मौजूद रहे।

भाजपा ने अजान के लिए लाउड का अनुभव किया

भाजपा ने अजान के लिए लाउड का अनुभव किया

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरू। कर्नाटक की भारतीय जनता पार्टी (जगत) ने राज्य में 10 हजार से अधिक लोगों को अजान के लिए लाउड का अनुभव किया है। दैवीय आपदा के समय प्रभावित होने के कारण यह प्रभावित होने के कारण प्रभावित होने के कारण प्रभावित होने के कारण प्रभावित होने के कारण प्रभावित होता है। 

मस.टीएच समेत समेत सभी सभी सभी स को को कुल कुल कुल 17,850 ल50 भुगतान के लिए भुगतान करना होगा। इसी तरह की स्थिति में आने के बाद ही उन्होंने डॉक्टर से इसी तरह की शिकायत की थी।

9-10 लोगों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार का मामला

9-10 लोगों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार का मामला

चाईबासा। झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिला मुख्यालय चाईबासा में हवाई अड्डे के पास एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवती के साथ लगभग दस लोगों द्वारा कथित तौर पर गैंगरेप किए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने बताया कि युवती द्वारा 9-10 अज्ञात लोगों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज कराया गया है। उन्होंने कहा कि युवती की चिकित्सिकीय जांच कराई गई जिसमें बलात्कार की पुष्टि होने के बाद अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

पीड़िता झींकपानी की रहने वाली है और बेंगलुरु में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है तथा वर्तमान में वह चाईबासा शहर के कमरहातु में किराये का मकान लेकर रह रही थी, जहां से वह वर्क फ्रॉम होम माध्यम से अपना काम कर रही थी। पुलिस ने दर्ज मामले के आधार पर कहा कि बृहस्पतिवार की शाम युवती अपने एक दोस्त के साथ हवाई अड्डे की तरफ घूमने गई थी जहां वे स्कूटी खड़ी कर आपस में बात कर रहे थे कि तभी 9-10 अज्ञात युवक वहां आ धमके और युवक के साथ मारपीट कर उसका मोबाइल तथा नकदी छीन ली तथा युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

अधिकारियों ने कहा कि पीड़िता और उसका दोस्त घटना के बाद मुफस्सिल थाने पहुंचे और घटना की जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

25 साल पहले बनवाया गया 'मकान' डॉक्टर को बेचा

25 साल पहले बनवाया गया 'मकान' डॉक्टर को बेचा

अकांशु उपाध्याय/संदीप मिश्र 

नई दिल्ली/कानपुर। अधिवक्ता के तौर पर प्रैक्टिस करते हुए पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा महानगर में 25 साल पहले बनवाया गया मकान डॉक्टर दंपत्ति को बेच दिया है। पावर ऑफ अटॉर्नी के माध्यम से मकान की रजिस्ट्री भी हो गई है। पूर्व राष्ट्रपति का मकान खरीदने वाले डाक्टर दंपत्ति अब रजिस्ट्री होने के बाद अत्यंत प्रसन्न हैं। दरअसल पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तकरीबन 25 साल पहले कानपुर के दयानंद विहार में अपना मकान बनवाया था। उस समय पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अधिवक्ता के तौर पर प्रैक्टिस करते थे।

अभी तक घर उन्हीं के नाम पर चल रहे इस मकान की उन्होंने पावर ऑफ अटार्नी कर रखी थी। पूर्व राष्ट्रपति के इस आवास में अब चिकित्सक दंपत्ति श्रीति बाला एवं डॉ शरद कटियार अपने परिवार के साथ रहेंगे। पावर ऑफ अटॉर्नी के माध्यम से कानपुर में हुई मकान की रजिस्ट्री के बाद मकान खरीदने वाले दंपत्ति अत्यंत खुश नजर आ रहे हैं। पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस मकान की पावर ऑफ अटॉर्नी आनंद कुमार के नाम पर कर रखी थी।

सामाजिक जाति श्रेणी सूची में 15 और वर्ग शामिल

सामाजिक जाति श्रेणी सूची में 15 और वर्ग शामिल

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर सरकार ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए 15 अन्य वर्गों को सामाजिक जाति सूची में शामिल करके सूची का विस्तार किया है। एक अधिसूचना में जम्मू-कश्मीर सरकार ने अपनी सामाजिक जाति श्रेणी सूची में 15 और वर्गों को शामिल किया है। केन्द्रशासित प्रदेश के आरक्षण नियमों के तहत, सरकारी नौकरियों में सामाजिक जातियों को चार प्रतिशत आरक्षण दिया जाता है।

जिन नयी श्रेणियों को इसके दायरे में शामिल किया गया है, उनमें वाघे (चोपन), घिरथ/भाटी/चांग समुदाय, जाट समुदाय, सैनी समुदाय, मरकबांस/पोनीवालास, सोची समुदाय, ईसाई बिरादरी (हिंदू वाल्मीकि से परिवर्तित), सुनार/स्वर्णकार तेली (पहले से मौजूद मुस्लिम तेली के साथ हिंदू तेली), पेरना / कौरो (कौरव), बोजरू/डेकाउंट/दुबदाबे ब्राह्मण गोर्कन, गोरखा, पश्चिमी पाकिस्तानी शरणार्थी (अनुसूचित जाति को छोड़कर) और आचार्य हैं। इसमें मौजूदा सामाजिक जातियों के नामों को हटाकर उनमें कुछ संशोधन भी किए गए हैं।

अधिसूचना के अनुसार कुम्हारों, जूता मरम्मत करने वालों (मशीनों की सहायता के बिना काम करने वाले), बंगी खाक्रोब (स्वीपर), नाई, धोबी और अनुसूचित जाति को छोड़कर क्रमशः कुम्हार, मोची, बंगी खाक्रोब, हज्जाम अतराय, धोबी और डूम्स काे शामिल किया गया है। जम्मू-कश्मीर सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़ा वर्ग आयोग की सिफारिशों पर सामाजिक जाति सूची को फिर से तैयार किया गया है, जिसे 2020 में जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा गठित किया गया था। उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश, जी डी शर्मा तीन सदस्यीय पैनल के प्रमुख सदस्य हैं।

27 अक्टूबर को नीतीश की खाल उधेड़ देंगे: राजभर

27 अक्टूबर को नीतीश की खाल उधेड़ देंगे: राजभर

संदीप मिश्र/अविनाश श्रीवास्तव 

बलिया/पटना। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने विवादित बयान दिया है। उनके इस बयान का वीडियो भी वायरल है। उन्होंने कहा कि अगर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने जातिगत जनगणना कराने का फैसला नहीं किया, तो वो 27 अक्टूबर को उनकी खाल उधेड़ देंगे। सावधान रथ यात्रा निकाल रहे राजभर ने नीतीश के बारे में कहा कि पहले बीजेपी के साथ वो सरकार चला रहे थे। तब कहते थे कि जातिगत जनगणना कराने में सहयोगी बीजेपी बाधा बन रही है। अब तो बीजेपी साथ नहीं है। आरजेडी के साथ हैं, तो जातिगत जनगणना कराने का फैसला क्यों नहीं कर रहे हैं?

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि इस बारे में देरी क्यों हो रही है? अगर नीतीश ने जवाब नहीं दिया, तो 27 तारीख को उनकी खाल उधेड़ दूंगा। पटना के गांधी मैदान में नीतीश से हिसाब लिया जाएगा। राजभर ने ये भी कहा कि इतिहास गवाह रहा है कि बिना गठबंधन के बीजेपी आज तक बिहार में खुद के दम पर सरकार नहीं बना सकी है। राजभर ने कहा कि उनकी रथयात्रा से सारी पार्टियां डर रही हैं। इन दलों को डर है कि राजभर जनता को जगा न दें। उन्होंने इससे पहले दावा किया था कि वोट की ताकत के दम पर वो साल 2024 में दिल्ली में अपनी पार्टी का पीला झंडा जरूर लहराएंगे।

ओमप्रकाश राजभर 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी के साथ थे। वो योगी सरकार में मंत्री भी बने थे। बाद में सरकार से अलग हो गए। इस साल यूपी विधानसभा चुनाव में उन्होंने अखिलेश की सपा से गठबंधन किया था। उससे भी अलग हो चुके हैं। पिछले कुछ समय से ओमप्रकाश राजभर एक बार फिर बीजेपी के करीब आते दिख रहे थे। राष्ट्रपति चुनाव में भी उन्होंने एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने का ऐलान किया था।

‘रोजगार मेला’ के शुभारंभ कार्यक्रम में हिस्सा लिया

‘रोजगार मेला’ के शुभारंभ कार्यक्रम में हिस्सा लिया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 10 लाख कर्मियों के लिए भर्ती अभियान ‘रोजगार मेला’ के शुभारंभ कार्यक्रम में हिस्सा लिया। पहले चरण में चयनित 75,226 युवाओं को  नियुक्ति पत्र दिए गए। पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत की युवा शक्ति के लिए महत्वपूर्ण अवसर है, बीते 8 वर्षों में, देश में रोजगार और स्वरोजगार का, जो अभियान चल रहा है, आज उसमें एक और कड़ी जुड़ रही है, ये कड़ी है रोजगार मेले की। सभी देशवासियों को धनतेरस की बहुत-बहुत बधाई, भगवान धनवंतरी आपको खुश रखें और मां लक्ष्मी की कृपा आप सभी पर बनी रहे। मैं भगवान से यही प्रार्थना करता हूं। आज केंद्र सरकार 75 हजार युवाओं को नियुक्ति पत्र दे रही है।

आगे भी नियुक्ति पत्र सौंपे जाएंगे
पीएम मोदी ने कहा कि बीते 8 वर्षों में पहले भी लाखों युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए गए हैं। विकसित भारत के संकल्प की सिद्धि के लिए हम आत्मनिर्भर भारत के रास्ते पर चल रहे हैं। इसमें हमारे Innovators, Entrepreneurs, उद्यमियों, किसानों, Services और manufacturing से जुड़े साथियों की बड़ी भूमिका है। आने वाले महीनों में इसी तरह लाखों युवाओं को भारत सरकार द्वारा समय-समय पर नियुक्ति पत्र सौंपे जाएंगे।

भारत दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था
पीएम मोदी ने कहा कि आज अगर केंद्र सरकार के विभागों में इतनी तत्परता, इतनी Efficiency आई है, इसके पीछे 7-8 साल की कड़ी मेहनत है, कर्मयोगियों का विराट संकल्प है। आज भारत दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था है। 7-8 साल के भीतर हमने 10वें नंबर से 5वे नंबर तक की छलांग लगाई है। ये इसलिए संभव हो पा रहा है, क्योंकि बीते 8 वर्षों में हमने देश की अर्थव्यवस्था की उन कमियों को दूर किया है, जो रुकावटें पैदा करती थीं। ‘प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना’ के तहत देश के युवाओं को उद्योगों की जरूरतों के हिसाब से ट्रेनिंग देने का बहुत बड़ा अभियान चल रहा है। इसके तहत अभी तक सवा करोड़ से अधिक युवाओं को स्किल इंडिया अभियान की मदद से ट्रेन किया जा चुका है।

गांवों में बड़ी संख्या में रोजगार निर्माण
पीएम मोदी ने कहा कि गांवों में बड़ी संख्या में रोजगार निर्माण का एक और उदाहरण, हमारी खादी और ग्रामोद्योग है। देश में पहली बार खादी और ग्रामोद्योग, एक लाख करोड़ रुपए से अधिक का हो चुका है। इन वर्षों में खादी और ग्रामोद्योग में एक करोड़ से अधिक रोजगार बने हैं। इसमें भी बड़ी संख्या में हमारी बहनों की हिस्सेदारी है। स्टार्टअप इंडिया अभियान ने तो देश के युवाओं के सामर्थ्य को पूरी दुनिया में स्थापित कर दिया है।

भारत में फैक्ट्रियां बढ़ रही हैं
पीएम मोदी ने कहा कि स्टार्टअप इंडिया अभियान ने तो देश के युवाओं के सामर्थ्य को पूरी दुनिया में स्थापित कर दिया है। साल 2014 तक जहां देश में कुछ सौ ही स्टार्टअप थे, आज ये संख्या 80 हजार से अधिक हो चुकी है। भारत कई मायनों में आत्मनिर्भर बन रहा है। एक आयातक से भारत निर्यातक की भूमिका में आ रहा है। अनेक सेक्टर में भारत ग्लोबल हब बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा हैं। रोजगार के कई नए अवसर बन रहे हैं। आज गाड़ियों से लेकर मेट्रो कोच, ट्रेन के डिब्बे, डिफेंस के साजो-सामान तक अनेक सेक्टर में निर्यात तेजी से बढ़ रहा है। ये तभी हो रहा है क्योंकि भारत में फैक्ट्रियां बढ़ रही हैं और साथ ही काम करने वालों की संख्या बढ़ रही है।

रोजगार के लाखों अवसर बना रहे
पीएम मोदी ने कहा कि स्थानीय स्तर पर युवाओं के लिए रोजगार के लाखों अवसर बना रहे हैं। आधुनिक इंफ्रा के लिए, हो रहे ये सारे कार्य टूरिज्म सेक्टर को भी नई ऊर्जा दे रहे हैं। आस्था के, आध्यात्म के, ऐतिहासिक महत्व के स्थानों को भी देशभर में विकसित किया जा रहा है। ये सारे प्रयास रोजगार बना रहे हैं। भारत सरकार, इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का लक्ष्य लेकर चल रही है।
इतने बड़ पैमाने पर हो रहे विकास कार्य स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार के लाखों अवसर बना रहे हैं।

कहां हुई है युवाओं की भर्ती?
भारत सरकार के 38 मंत्रालयों या विभागों में इन युवाओं को नौकरी दी गई है। ग्रुप-ए और बी (गजट), ग्रुप-बी (नॉन-गजट) और ग्रुप-सी कैटेगरी के तहत अलग-अलग मंत्रालयों में इन युवाओं को नौकरी मिली है। केंद्रीय सशस्त्र बल कार्मिक, सब इंस्पेक्टर, कांस्टेबल, एलडीसी, स्टेनो, पीए, इनकम टैक्स इंस्पेक्टर, एमटीएस समेत अलग-अलग पोस्ट पर नियुक्ति हुई है।

किसने भर्ती की है?
भारत सरकार के अलग-अलग मंत्रालयों और विभागों ने खुद ही इन युवाओं की भर्ती की है। इसके अलावा, संघ लोक सेवा आयोग, कर्मचारी चयन आयोग और रेलवे भर्ती बोर्ड जैसी नियुक्ति एजेंसियों ने भी भर्ती के लिए नोटिफिकेशन निकालकर युवाओं को नौकरी दी है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने विभिन्न सरकारी विभागों और मंत्रालयों को अगले डेढ़ साल में मिशन मोड पर 10 लाख लोगों की भर्ती करने के लिए कहा था।

किसने क्या कहा ?
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा गुरुग्राम में रोजगार मेला कार्यक्रम में शामिल हुए और लाभार्थियों को नियुक्ति पत्र बांटे। आज भारत दुनिया की 5वीं बड़ी अर्थव्यवस्था बन गई है ये 10वें नंबर से 5वें नंबर तक आ गई है। ये कोई छोटी बात नहीं है। हमने 1 साल में निर्यात में 31% वृद्धि की है। आज भारत लेने वाला नहीं बल्कि देने वाला हो गया है।

रोज़गार मेला पर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि PM ने 10 लाख नौकरी उपलब्ध कराने का वादा किया था आज इसके पहले चरण में 75,000 युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए गए। सरकार के लगभग प्रत्येक विभाग में ये नियुक्तियां हुई हैं और प्रत्येक स्तर पर हुई हैं। मोदी जी जो कहते हैं वो करते हैं।

रोज़गार मेला पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आज पीएम ने ऐतिहासिक कार्यक्रम की शुरुआत की है- रोजगार मेले के आधार पर नियुक्ति पत्र वितरण समारोह। आजादी के अमृत महोत्सव पर 75000 देश के युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किए गए हैं ये पीएम मोदी के नेतृत्व में हुआ है।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने रोजगार मेला कार्यक्रम में हिस्सा लिया और लाभार्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए। जिन अंग्रेजों ने हमारे ऊपर 200 साल राज किया, हमने उन अंग्रेजों को कोविड के समय में दुनिया की 5वीं नंबर की अर्थव्यवस्था से हटाकर भारत को 5वें नंबर की अर्थव्यवस्था बनाने का काम किया है। ये बदलते भारत की तस्वीर है।

गांधीनगर में नवनियुक्त कर्मी जूही ने बताया कि सरकारी नौकरी मिलने के बाद मुझे बहुत खुशी हो रही है कि अब मैं केंद्र सरकार की कर्मचारी बन गई हूं। PM द्वारा रोजगार मेले के शुभारंभ पर नवनियुक्त कर्मी उर्वर्शी, गांधीनगर, गुजरात (तस्वीर-1) सरकारी नौकरी मिलने के बाद बहुत अच्छा लग रहा है।

एक्ट्रेस फर्नांडीज की अंतरिम जमानत की तारीख बढ़ी 

एक्ट्रेस फर्नांडीज की अंतरिम जमानत की तारीख बढ़ी 

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड की एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अंतरित जमानत की तारीख बढ़ा दी गई है। 10 नवंबर तक तारीख बढ़ाई गई है। यह फैसला पटियाला हाउस कोर्ट ने आज यानी शनिवार 22 नवंबर को जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए सुनाया।

वकील की वेशभूषा में कोर्ट पहुंची जैकलीन
पिछली बार की तरह इस बार भी जैकलीन फर्नांडीज वकील की वेशभूषा में कोर्ट पहुंची थीं। ईडी ने इसी साल 17 अगस्त को चार्जशीट दाखिल कर जैकलीन फार्नांडीज को मनी लॉड्रिंग मामले में आरोपी बनाया था। अदालत ने उन्हें समन भी भेजा था, जिसके बाद वकील ने उनकी जमानत पर याचिका दायर की थी।

ठग सुकेश चंद्रशेखर की सह आरोपी
ठग सुकेश चंद्रशेखर से जुड़ी 200 करोड़ के लॉन्ड्रिंग मामले में चल रही ईडी जांच में जैकलीन फर्नांडीज सह आरोपी हैं।

जियो ट्रू 5जी पावर्ड वाई-फाई की नाथद्वारा में शुरुआत

जियो ट्रू 5जी पावर्ड वाई-फाई की नाथद्वारा में शुरुआत 

नरेश राघानी 

राजसमंद। रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड (जियो) ने शनिवार को जियो ट्रू 5जी पावर्ड वाई फाई की राजस्थान की धार्मिक नगरी नाथद्वारा में शुरुआत की। शैक्षणिक संस्थानों, धार्मिक स्थानों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड, कमर्शियल हब जैसे स्थान जहां लोगों का जमावड़ा अधिक होता है वहां यह सर्विस दी जाएगी। जियो यूजर्स को यह नई वाई-फाई सर्विस, जियो वेलकम ऑफर अवधि के दौरान मुफ्त में मिलेगी। दूसरा नेटवर्क इस्तेमाल करने वाले भी जियो 5जी पावर्ड वाई फाई का सीमित इस्तेमाल कर सकेंगे, लेकिन अगर वे जियो 5जी पावर्ड वाई फाई की फुल सर्विस का उपयोग करना चाहते हैं तो उन्हें जियो का ग्राहक बनना होगा। दिलचस्प यह है कि जियो ट्रू 5जी वाई फाई से जुड़ने के लिए यह जरूरी नहीं कि ग्राहक के पास 5जी हैंडसेट हो। वह 4जी हैंडसेट से भी इस सर्विस से जुड़ सकता है।

इस सेवा की शुरुआत के साथ ही नाथद्वारा और चेन्नई में जियो की ट्रू 5जी सर्विस भी शुरू हो गई हैं। हाल ही में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और वाराणसी में भी 5जी सर्विस लॉन्च की गई थी। जल्द ही दूसरे शहरों में भी जियो 5जी सर्विस शुरू हो सके और ट्रू 5जी हैंडसेट की उपलब्धता बढ़े इसके लिए जियो की टीमें चौबीसों घंटे काम कर रही हैं।

देशवासियों को दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए आकाश अंबानी ने कहा, भगवान श्रीनाथ जी कृपा से आज नाथद्वारा में जियो ट्रू 5जी की सर्विस के साथ 5जी पॉवर्ड वाईफाई सेवा का शुभारंभ हो रहा है। हम मानते हैं कि 5जी सबके लिए है, इसलिए हमारी कोशिश है कि दिल्ली, मुंबई, कोलकत्ता और वाराणसी की तरह देश के कोने कोने तक जियो की ट्रू 5जी सर्विस जल्द चालू हो। श्रीनाथ जी के आशीर्वाद से नाथद्वारा और चेन्नई भी आज से जियो ट्रू 5जी सिटी बन गए हैं। नाथद्वारा राजस्थान का पहला शहर है जहां किसी भी ऑपरेटर ने 5जी सेवाओं की शुरूआत की है। कंपनी ने हालांकि कमर्शियल लॉन्च की घोषणा अभी नहीं की है। वहीं कंपनी के 5जी सर्विस मैप पर दक्षिण भारत का चेन्नई शहर भी आ गया है।

बता दें कि 5 अक्टूबर को जियो ने दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, वाराणसी से 5G सेवाओं की देश में शुरुआत की थी। जियो चेयरमैन बनने के बाद आकाश अंबानी का यह पहला बड़ा लॉन्चिंग कार्यक्रम रहा। इससे पहले अंबानी दंपती ने श्रीनाथजी मंदिर में राज भोग झांकी के दर्शन कर तिलकायत पुत्र विशाल बावा का आशीर्वाद लिया। श्रीनाथजी अंबानी परिवार के कुल देवता हैं। श्रीनाथजी मंदिर के मोती महल परिसर में लॉन्चिंग कार्यक्रम रखा गया था। यह कार्यक्रम 10.30 बजे से 12 बजे तक चला।

बताया जा रहा है कि सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार 5जी की नाथद्वारा में शुरुआत करने के लिए मोती महल व गोशाला सहिज करीब 20 टावर लगाए गए हैं, जहां से हाईस्पीड इंटरनेट सेवा आमजन तक पहुंचेगी। 2015 में भी जियो कंपनी की 4जी सर्विस शुरू करने से पहले रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने यहां दर्शन किए थे।

टेलीकॉम कंपनी जियो के 4जी की सफलता के बाद राजस्थान के श्रीनाथजी मंदिर से शनिवार को धनतेरस पर मंदिर के मोती महल से 5जी सेवा की शुरू कर दिया। एक माह पूर्व नाथद्वारा श्रीनाथजी दर्शन करने आए मुकेश अम्बानी ने श्रीजी के दर से 5जी की सेवा शुरू करने की बात कही थी।

जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी शनिवार को मुंबई एयरपोर्ट से सुबह 8 बजे निकले। 9 बजे उदयपुर एयरपोर्ट पहुंचे। सवा नौ बजे उदयपुर से बॉय रोड नाथद्वारा के लिए निकले। ढाई घंटे नाथद्वारा रुकने के बाद आकाश अंबानी साढ़े बारह बजे नाथद्वारा से उदयपुर के लिए निकलेंगे। उदयपुर से पुनः मुंबई के लिए रवाना हो जाएंगे।

मारपीट: 250 दलित परिवारों ने बौद्ध धर्म अपनाया 

मारपीट: 250 दलित परिवारों ने बौद्ध धर्म अपनाया 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान के बारां जिले के भूलोन गांव के सवर्ण समाज के युवकों की मारपीट से आहत 250 दलित परिवारों ने हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लिया है। इन सभी ने अपने घरों से देवी-देवताओं की मूर्तियां और तस्वीरों को नदी में विसर्जित कर दिया। वहीं, बालमुकंद बैरवा ने चेतावनी दी कि अगर मुख्य आरोपी को जल्द गिरफ्तार नहीं किया गया तो छबड़ा एसडीएम कार्यालय र प्रदर्शन किया जाएगा।

उन्होंने राज्य में कानून व्यवस्था चौपट होने और दलितों पर अत्याचार के मामले बढ़ने के आरोप लगाए। इन परिवारों ने राज्य सरकार के खिलाफ भी आक्रोश जताया और आरोप लगाया कि 15 दिन पहले मां दुर्गा की आरती करने को लोकर सवर्णों ने दलित दो युवकों के साथ मारपीट की थी। इस समाज के लोगों ने राष्ट्रपति से लेकर जिला प्रशासन तक न्याय की गुहार लगाई, लेकिन मारपीट के आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। यह मामला छबड़ा क्षेत्र के गांव का है।

महासभा युवा मोर्चा के अध्यक्ष बालमुकंद बैरवा ने बताया कि भूलोन गांव में पांच अक्टूबर को दलित समुदाय के युवकों राजेंद्र और रामहेत ऐरवाल ने मां दुर्गा की आरती का आयोजन किया और इन युवकों से राहुल शर्मा और लालचंद लोधा ने मारपीट की थी। आरोप लगाया कि इसे लेकर पुलिस प्रशासन, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से न्याय की गुहार लगाई, लेकिन जब कहीं से कोई कार्रवाई नहीं हुई तो समाज के लोगों ने सामूहिक रूप से धर्म परिवर्तन का फैसला लिया। शुक्रवार को गांव में आक्रोश रैली निकालने के बाद देवी-देवताओं की प्रतिमाओं व तस्वीरों का नदी में विसर्जन कर दिया

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-378, (वर्ष-05)

2. रविवार, अक्टूबर 23, 2022

3. शक-1944, कार्तिक, कृष्ण-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:18, सूर्यास्त: 06:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...