मंगलवार, 18 जून 2024

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

अखिलेश पांडेय 
ब्रुसेल्स। नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि चीन यूक्रेन के खिलाफ रूस के युद्ध का समर्थन कर रहा है और अगर चीन ने अपने तरीके नहीं बदले, तो उसे परिणाम भुगतना होगा।
जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि चीन रूस को युद्ध में समर्थन भी कर रहा है और यूरोपीय सहयोगियों के साथ संबंध बनाए रखने की भी कोशिश कर रहा है। 
स्टोल्टेनबर्ग ने वाशिंगटन की यात्रा के दौरान बीबीसी से बात करते हुए चीन की पोल खोली। नाटो के प्रमुख ने कहा कि चीन जो कर रहा है वह लंबे समय तक काम नहीं कर सकता। उनकी यह टिप्पणी तब आई है, जब रूस ने यूक्रेन के खिलाफ अपने युद्ध को समाप्त करने की कोई इच्छा नहीं जताई है। 
रूस के प्रति चीन के समर्थन के बारे में नाटो सदस्यों के संभावित कदमों के बारे में बात करते हुए स्टोल्टेनबर्ग ने कहा कि संभावित प्रतिबंधों के बारे में बातचीत चल रही है। उन्होंने कहा कि चीन रूस के साथ बहुत सारी तकनीकें साझा कर रहा है। वह माइक्रो-इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण बनाने में रूस का सहयोग कर रहा है, जो मिसाइलें, हथियार बनाने के लिए महत्वपूर्ण हैं। इन हथियारों का उपयोग रूस यूक्रेन के खिलाफ करता है। उन्होंने कहा कि अगर चीन अपना व्यवहार नहीं बदलता है, तो हमें किसी प्रकार की आर्थिक लागत पर विचार करना चाहिए। हालांकि रूस के समर्थन के कारण बीजिंग पहले से ही कुछ प्रतिबंधों के अधीन है। पिछले महीने, अमेरिका ने प्रतिबंधों की घोषणा की थी जो चीन और हांगकांग में स्थित लगभग 20 फर्मों लागू थे।
दूसरी तरफ चीन ने मॉस्को के साथ अपने व्यापार का बचाव करते हुए कहा है कि वह घातक हथियार नहीं बेच रहा है और कानूनों और नियमों के अनुसार दोहरे उपयोग वाली वस्तुओं के निर्यात को संभालता है।
नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग की ये टिप्पणी हाल ही में स्विट्जरलैंड में आयोजित शांति शिखर सम्मेलन के बाद आई है। इसमें दर्जनों देशों ने कीव का समर्थन करने की प्रतिबद्धता जताई थी। लेकिन रूस ने इसे समय की बर्बादी बताया और कहा कि वह शांति वार्ता के लिए तभी सहमत होगा, जब यूक्रेन अनिवार्य रूप से आत्मसमर्पण करेगा।

'जिला कौशल समिति' की बैठक संपन्न: डीएम

'जिला कौशल समिति' की बैठक संपन्न: डीएम 

प्रशिक्षण की गुणवत्ता को सुधारते हुए प्रशिक्षणार्थियों को अधिकाधिक संख्या में सेवायोजित कराने के निर्देश

कौशाम्बी। जिलाधिकारी राजेश कुमार राय की अध्यक्षता में कार्यालय कक्ष में उ0प्र0 कौशल विकास मिशन योजनान्तर्गत जिला कौशल विकास योजना (डी0एस0डी0पी0) तैयार किए जाने के लिए जिला कौशल समिति की बैठक संपन्न हुई।  
जिलाधिकारी ने कौशल विकास मिशन योजनान्तर्गत संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुये प्रशिक्षण की गुणवत्ता को सुधारते हुये प्रशिक्षणार्थियों को अधिकाधिक संख्या में सेवायोजित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित किया कि वित्तीय वर्ष 2024-25 मे प्रशिक्षण कार्यक्रम में ऐसे कोर्सों के चयन का सुझाव दिया जाएं, जिससे जनपद के युवाओं को अधिकाधिक संख्या में सेवायोजित कराया जा सकें इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ. रवि किशोर त्रिवेदी, जिला कौशल समिति के सदस्य एवं अनुबन्धित संस्थाओं के प्रशिक्षण प्रदाता उपस्थित रहें।
सुशील केसरवानी

पीएम मोदी ने ताइवान के राष्ट्रपति से बातचीत की

पीएम मोदी ने ताइवान के राष्ट्रपति से बातचीत की

अखिलेश पांडेय 
ताइपे। नरेंद्र मोदी की लीडरशिप में देश में तीसरी बार एनडीए सरकार बनी। तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने ताइवान के राष्ट्रपति लाई चिंग ते से बातचीत की। लाई चिंग ते ने पीएम मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी। हालांकि, ताइवान और भारत के राष्ट्र प्रमुखों के बीच हुई बातचीत चीन को नागवार गुजरी है।

चीन ने ताइवान-भारत की दोस्ती पर जताई आपत्ति

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता माओ निंग ने पीएम मोदी और लाई चिंग ते के बीच बातचीत पर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा,"सबसे पहले ताइवान क्षेत्र में राष्ट्रपति जैसी कोई चीज (पद) नहीं है। वहीं, चीन ताइवान के अधिकारियों और चीन के साथ राजनयिक संबंध रखने वाले देशों के बीच सभी तरह का आधिकारिक बातचीत का विरोध करता है।"
हालांकि, चीन के इन बयानों पर ताइवान ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। ताइवान के उप विदेश मंत्री टीएन चुंग-क्वांग ने चीन के बयान की निंदा करते हुए कहा कि .मुझे लगता है कि मोदी जी और हमारे राष्ट्रपति नहीं डरेंगे।

धमकियों से दोस्ती नहीं होती: ताइवान

इसके पहले ताइवान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि दोनों नेताओं (लाई चिंग और मोदी) के बीच सौहार्दपूर्ण बातचीत पर चीन का प्रतिरोध बिल्कुल गलत है। धमकियों से दोस्तियां नहीं होती। ताइवान, भारत के साथ साझेदारी बढ़ाने को लेकर समर्पित है। ये संबंध परस्पर लाभ और साझा मूल्यों पर आधारित हैं।

तेजी से ताइवान-भारत साझेदारी आगे बढ़े: लाई चिंग-ते

ताइवान के राष्ट्रपति लाई चिंग-ते ने पीएम मोदी को बधाई देते हुए एक्स पर पोस्ट में कहा था, 'प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुनाव में जीत पर मेरी हार्दिक बधाई। हम तेजी से बढ़ती ताइवान-भारत साझेदारी को और आगे ले जाने एवं व्यापार, प्रौद्योगिकी व अन्य क्षेत्रों में अपने सहयोग का विस्तार करने को उत्सुक हैं, ताकि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति और समृद्धि के लिए योगदान दिया जा सके।'

'पीएम किसान योजना' की 17वीं किस्त जारी की

'पीएम किसान योजना' की 17वीं किस्त जारी की

संदीप मिश्र 
वाराणसी। तीसरी बार देश की सत्ता संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को वाराणसी के दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने वाराणसी में आयोजित एक किसान सम्मेलन में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 17वीं किस्त जारी की। जिसके तहत पीएम ने बटन दबाकर 9 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से किस्त के 2-2 हजार रुपए डिजिटल ट्रांसफर किए।
पीएम मोदी ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 20,000 करोड़ रुपये देशभर के किसानों के खाते में ट्रांसफर किए हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत 1 फरवरी 2019 को हुई थी, जिसके तहत अब तक 16 किस्तें किसानों के खाते में ट्रांसफर की जा चुकी है। इस योजना के तहत किसानों को हर साल तीन किस्तों में 6000 रुपये दिए जाते हैं। ये राशि सीधे किसानों के खाते में भेजी जाती है। केंद्र सरकार ने पीएम किसान योजना का लाभ उठाने के लिए ई-केवाईसी प्रक्रिया को अनिवार्य कर दिया है।
ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ मिलकर चलाई जा रही कृषि सखी योजना का उद्देश्य स्वयं सहायता समूहों की 90,000 महिलाओं को पैरा-एक्सटेंशन वर्कर कृषि श्रमिकों के रूप में प्रशिक्षित करना है, ताकि वे कृषक समुदाय की सहायता कर सकें और अतिरिक्त आय हासिल कर सकें।

ऐसे चेक करें पीएम किसान योजना का स्टेटस

1. पीएम किसान योजना की अधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।

2. इसके बाद ‘Know Your Status’ पर क्लिक करें।

3. फिर रजिस्ट्रेशन नंबर भरें।

4. इसके बाद स्क्रीन पर शो हो रहे कैप्चा को दर्ज करें।

5. सभी जानकारी को भरें और गेट डिटेल्स पर क्लिक करें।

6. अब आपको स्क्रीन पर स्टेटस शो होगा।

खाते में नहीं आए हैं पैसे, तो क्या करें ?

अगर आपके खाते में पीएम किसान योजना की 17वीं किस्त नहीं आई है, तो आप पीएम किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर फार्मर कॉर्नर में हेल्प डेस्क पर जाकर समस्या का हल कर सकते हैं। हेल्प डेस्क पर क्लिक कर आप आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर या मोबाइल नंबर दर्ज करें।

एसएसपी ने 37 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर किए

एसएसपी ने 37 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर किए

सत्येंद्र पंवार 
मेरठ। लोकसभा चुनाव के बाद मेरठ के एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने 37 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है। एक साथ इतने पुलिसकर्मियों के लाइन हाजिर होने से महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। एसएसपी रोहित सजवाण ने बताया कि सभी पुलिसकर्मियों की सूची संबंधित सीओ के द्वारा दी गई थी। यह ऐसे पुलिसकर्मी है, जिनमें से किसी की वसूली तो किसी की कार्य के प्रति लापरवाही सामने आई थी। सभी को लाइन हाजिर करने के बाद विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं। साथ ही अन्य थानों से भी लापरवाह और वसूली करने वाले पुलिसकर्मियों की सूची बनवाई जा रही है।
एसएसपी रोहित सजवाण ने बताया कि किठौर से सिपाही योगेंद्र पंवार, विजेंद्र सोलंकी, प्रवीण यादव एवं खरखौदा से हेड कांस्टेबल विक्रम सिंह, महिला सिपाही सविता, मुंडाली से हेड कांस्टेबल ब्रह्मपाल और सिपाही गौरव, गंगानगर से हेड कांस्टेबल विद्दू अली खान, महिला सिपाही नीतू, सिपाही शील कुमार, इंचौली से सिपाही रोबिन, सीओ सदर देहात की पेशी से महिला हेड कांस्टेबल शीतल, सरधना से हेड कांस्टेबल अरुण तरार को लाइन हाजिर किया है।
इसके साथ ही सिपाही नवीन वशिष्ठ, सरूरपुर से हेड कांस्टेबल अरुण कुमार, नवीन पाठक, जानी से हेड कांस्टेबल हरिओम सिंह, अनीश, सिपाही दीपक कुमार, सिपाही मीनू कुमारी, लिसाड़ी गेट से सिपाही विपिन कुमार, अरुण कुमार, मोहित कुमार, देहली गेट से सिपाही अभिषेक कुमार, लोहियानगर से हेड कांस्टेबल राजीव मलिक, सिपाही रिंकू नागर, अभिमन्यू, सुनील कुमार, टीपीनगर से अनुज कुमार, लोकेंद्र पंवार, ब्रह्मपुरी से हेड कांस्टेबल अनुज कुमार, सिपाही जितेंद्र तालान, महिला सिपाही पूजा, परतापुर से सिपाही शफीक सैफी, सिपाही शिवम सिंह, महिला सिपाही आरती और हेड कांस्टेबल मुकेश गुर्जर को लाइन हाजिर कर दिया है।जल्दी ही अन्य पुलिसकर्मियों पर भी गाज गिरने की संभावना है।

कांग्रेस को 'हिंदुओं' पर भरोसा नहीं: आचार्य

कांग्रेस को 'हिंदुओं' पर भरोसा नहीं: आचार्य 

इकबाल अंसारी 
लखनऊ/गाजियाबाद। कांग्रेस नेता राहुल गांधी रायबरेली लोकसभा सीट अपने पास रखेंगे। उन्होंने वायनाड सीट छोड़ने का फैसला किया है। वायनाड से राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने जा रही हैं।
इस पूर्व कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम का कहना है कि प्रियंका गांधी कांग्रेस में सबसे लोकप्रिय चेहरा हैं। उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए था। उपचुनाव में लोकसभा का टिकट देकर प्रियंका गांधी का कद कम करने की कोशिश की जा रही है। फिर भी वह एक नई पारी की शुरुआत कर रही हैं, मेरी तरफ से उन्हें शुभकामनाएं।

कांग्रेस पर लगाया गंभीर आरोप

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को वायनाड से चुनाव लड़ाकर यह साबित कर दिया है कि कांग्रेस को हिंदुओं पर भरोसा नहीं है। अगर उन्होंने हिंदुओं पर भरोसा किया होता, तो उन्हें कहीं और से चुनाव लड़वाया जाता। 

शहजाद पूनावाला ने भी बोला कांग्रेस पर हमला

आचार्य प्रमोद कृष्णम ही नहीं, भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने भी वायनाड से प्रियंका गांधी को मैदान में उतारने के फैसले पर कांग्रेस पर हमला किया और कहा कि यह फैसला साबित करता है कि कांग्रेस एक पार्टी नहीं बल्कि एक "पारिवारिक व्यवसाय" है।

प्रियंका गांधी वायनाड से लड़ेंगी चुनाव

अभी हाल में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा था कि प्रियंका आगामी उपचुनाव में वायनाड से चुनाव लड़ेंगीं। इस पर प्रियंका गांधी ने कहा कि वह वायनाड का प्रतिनिधित्व करने में सक्षम और खुश हैं। उन्होंने कहा कि वह वायनाड के लोगों को अपने भाई की कमी महसूस नहीं होने देंगी। उन्होंने कहा कि "मैं कड़ी मेहनत करूंगी और सभी को खुश करने और एक अच्छा प्रतिनिधि बनने की पूरी कोशिश करूंगी। मेरा रायबरेली और अमेठी से बहुत पुराना रिश्ता है और इसे तोड़ा नहीं जा सकता। मैं रायबरेली में अपने भाई की भी मदद करूंगी। 

दो सीट से जीते हैं राहुल गांधी

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गांधी ने रायबरेली और वायनाड दोनों लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। राहुल गांधी ने रायबरेली लोकसभा सीट 3.90 लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीती, जबकि उन्होंने वायनाड सीट 3.64 लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीती।

वृक्षारोपण की तैयारियों के संबंध में बैठक आयोजित

वृक्षारोपण की तैयारियों के संबंध में बैठक आयोजित 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार एवं प्रभागीय वनाधिकारी श्री अरविंद कुमार यादव की अध्यक्षता में मंगलवार को विकास भवन के सभागार में वृक्षारोपण की तैयारियों के संबंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने 30 जून से पूर्व लक्ष्य के सापेक्ष स्थलों का चयन, कार्ययोजना व अन्य कार्यों को पूरा करने के लिए निर्देशित किया है। उन्होंने वृक्षारोपण के लिए सही स्थल का चुनाव करने के लिए कहा है। उन्होंने सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को गड्ढ़े खुदायी का कार्य निर्धारित समय सीमा में पूरा कराये जाने के लिए कहा है।
मुख्य विकास अधिकारी ने सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को वृक्षारोपण के सम्बंध में सभी आवश्यक तैयारियां समय से पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए है। उन्होंने सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि सभी विभाग जो अभी तक गड्ढ़ा खुदाई की सूचना नहीं दिए है, वे तत्काल सूचना उपलब्ध करा दें साथ ही साथ उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि जो भी विभाग अभी तक वृक्षारोपण के सम्बंध में पौधों की डिमांड नहीं भेजी है, वे भी तत्काल पौधों की डिमांड प्रभागीय वनाधिकारी को भेज दें। उन्होंने कार्य में तेजी लाने के लिए प्रत्येक विभाग को एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने के लिए कहा है।
मुख्य विकास अधिकारी ने गौशालाओं, विद्यालयों सहित अन्य सभी सार्वजनिक स्थलों में अनिवार्य रूप से वृक्षारोपण कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि गड्ढ़ो की खोदायी की रैण्डम जांच भी की जायेगी। वृक्षारोपण अभियान कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने तटबंधों, कटान वाले क्षेत्रों, नहर की पटरियों पर भी अनिवार्य रूप से वृक्षारोपण कराये जाने के लिए कहा है। बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी अरविंद कुमार यादव ने वृक्षारोपण की तैयारियों एवं पौधों की उपलब्धता के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि जो भी विभाग अभी तक अपनी डिमांड नहीं भेजे है, वे तत्काल अपनी डिमांण्ड उपलब्ध करा दें, जिससे कि समय से एवं मांग के अनुसार उनकों पौधे उपलब्ध कराये जा सके। इसी क्रम में मुख्य विकास अधिकारी ने जिला गंगा समिति/जिला वृक्षारोपण समिति एवं जिला पर्यावरण समिति की बैठक करते हुए गंगा नदी की साफ-सफाई, नालों की टैपिंग, पर्यावरण प्लान को अपग्रेड किये जाने से सम्बंधित कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने टैप्ड एवं अनटैप्ड नालों की समीक्षा करते हुए अनटैप्ड नालों को शीघ्र टैप्ड करने के निर्देश दिए है। इस अवसर पर परियोजना निदेशक ए0के0 मौर्या, जिला विकास अधिकारी भोलानाथ कनौजिया सहित अन्य सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-242, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. बुधवार, जून 19, 2024

3. शक-1945, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 43 डी.सै., अधिकतम- 27+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...