तेलांगना लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
तेलांगना लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 17 सितंबर 2021

तेलांगना कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने माफी मांगीं

हैदराबाद। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ अपनी कथित अपमानजनक टिप्पणी को लेकर तेलांगना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने उनसे माफी मांग ली है। तेलंगाना कांग्रेस चीफ ने पिछले दिनों अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता को गधा कहा था और उन्हें पार्टी से निकाले जाने की बात कही थी। इस मामले के बाद कांग्रेस नेता की अपमानजनक टिप्पणी को लेकर कांग्रेस के कुछ नेताओं ने नाराजगी जताई थी। इसके बाद तेलंगाना कांग्रेस चीफ ने शशि थरूर से माफी मांग ली है।
मलकागिरी से सांसद एवं तेलंगाना कांग्रेस के चीफ सांसद रेवंथ रेड्डी ने पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर को गधा बताते हुए उन्हें पार्टी से निकाले जाने की बात कही थी। इसके बाद कांग्रेस चीफ की इस कथित अपमानजनक टिप्पणी की मीडिया रिपोर्टों को लेकर जब कांग्रेस के नेताओं ने नाराजगी जताई तो उसके बाद रेवंथ रेड्डी ने शशि थरूर से माफी मांग ली है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर को फोन करते हुए माफी मांगने वाले मलकागिरी के सांसद रेवंथ रेड्डी ने ट्वीट किया है कि मैंने शशि थरूर जी से बातचीत कर यह बताया है कि मैं अपनी टिप्पणी वापस लेता हूं और दोहराता हूं कि मैं अपने वरिष्ठ सहयोगी को सर्वाेच्च सम्मान देता हूं। उन्होंने कांग्रेस नेता शशि थरूर को उनके शब्दों से पहुंची किसी भी तरह की ठेस के लिए खेद व्यक्त किया है।

रविवार, 12 सितंबर 2021

'मेडिसिन द स्काई’ प्रोजेक्ट तेलंगाना में शुरू किया

हैदराबाद। मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ प्रोजेक्ट तेलंगाना में शुरू किया गया। इस दौरान केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी वहां मौजूद रहे। सिंधिया ने कहा कि इस प्रोजेक्ट के तहत ड्रोन का इस्तेमाल करते हुए दवाओं और वैक्सीन की डिलीवरी की जाएगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फिलहाल पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर तेलंगाना के 16 ग्रीन जोन में इसे शुरू किया गया है। बाद में डेटा के आधार पूरे देश में इसे शुरू किया जाएगा।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तेलंगाना के 16 ग्रीन जोन में ‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई है। तीन महीने बाद इसके डेटा का एनालिसिस किया जाएगा। इसके बाद उड्डयन मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, आइटी मंत्रालय, राज्य सरकार और केंद्र सरकार मिलकर पूरे देश के लिए मॉडल तैयार करेगी। सिंधिया ने इस दौरान कहा कि आज का दिन बेहद क्रांतिकारी है। न सिर्फ तेलंगाना के लिए बल्कि पूरे देश के लिए। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में ड्रोन पॉलिसी तैयार और लागू की गई है। उन्होंने आगे कहा कि इंटरैक्टिव एयरोस्पेस मैप तैयार किया जा रहा है। इस मैप और राज्यों की सहायता से विभिन्न जोन का चिन्हीकरण किया जा रहा है।
गौरतलब है कि ‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ प्रोजेक्ट वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम, नीति आयोग और हेल्थनेट ग्लोबल के जरिए तेलंगाना में शुरू किया गया है। यह प्रोजेक्ट एक प्रयोग के तौर पर शुरू किया गया था। इसके तहत विकराबाद जिले में चिन्हित एयरस्पेस पर ड्रोन के जरिए वैक्सीन की डिलीवरी की जा रही है। वहीं इस दौरान तेलंगाना के आईटी और उद्योग मंत्री रामा राव ने केंद्रीय मंत्री से हैदराबाद के बेगमपट हवाई अड्डे पर एविएशन यूनिवर्सिटी स्थापित करने की भी मांग की।
इस मौके पर सिंधिया ने कहा कि एनडीए सरकार ने नई ड्रोन पॉलिसी में कई छूट दी हैं। इसके चलते देश में अब ड्रोन की उड़ान में काफी आसानी हो रही है। उन्होंने बताया कि पहले ड्रोन ऑपरेट करने के लिए 25 फॉर्म भरने पड़ते थे। लेकिन अब केवल पांच फॉर्म भरना पड़ता है। सिर्फ इतना ही नहीं, पहले 72 तरह की फीस भरनी पड़ती थी, लेकिन अब इन फीस की संख्या केवल चार रह गई है। गौरतलब है कि ग्रीन जोन में ड्रोन उड़ाने के लिए किसी तरह की परमिशन की जरूरत नहीं होती है। वहीं येलो जोन के लिए परमिशन जरूरी है, जबकि रेड जोन में ड्रोन की उड़ान पूरी तरह से प्रतिबंधित है।


गुरुवार, 29 जुलाई 2021

40 लाख खुराकों का आयात, फैसला निलंबित किया

हैदराबाद। भारत बायोटेक के कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन का प्रस्तावित क्लिनिकल ट्रायल और आपात इस्तेमाल अधिकार का अनुरोध निलंबित करने के बाद ब्राजील ने टीके की 40 लाख खुराकों का आयात करने का अपना फैसला निलंबित कर दिया है। ब्राजील की राष्ट्रीय स्वास्थ्य निगरानी एजेंसी एन्विजा द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, उसके कॉलेजिएट बोर्ड ने मंगलवार को कोवैक्सीन के आयात और वितरण के लिए असाधारण और अस्थायी अधिकार निलंबित कर दिया। इससे पहले भारत बायोटेक ने दक्षिण अमेरिका सरकार को अपने ब्राजीलियाई साझेदारों के साथ समझौता समाप्त करने की जानकारी दी थी।एन्विजा ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा, ”एन्विजा के कॉलेजों के बोर्ड ने सर्वसम्मति से मंगलवार को कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन के आयात और वितरण के लिए असाधारण और अस्थायी अधिकार निलंबित करने का फैसला किया।”
भारत बायोटेक ने ब्राजीलियाई बाजार के लिए अपने कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन को लेकर प्रेसिसा मेडिकामेन्टोस एंड एन्विक्सिया फार्मास्युटिकल्स एलएलसी के साथ हुए समझौता ज्ञापन को रद्द करने की 23 जुलाई को घोषणा की थी।ब्राजील सरकार के साथ टीकों की दस करोड़ खुराक की आपूर्ति के सौदे के विवाद में आने और ब्राजील में प्राधिकारियों द्वारा जांच शुरू करने के बाद यह समझौता खत्म किया गया।
एन्विजा ने कहा, ”यह कदम तब तक प्रभावी रहेगा जब तक हमें यह नयी सूचना नहीं मिल जाती कि आयात के अधिकार को बनाए रखने के फैसले की कानूनी तथा तकनीकी सुरक्षा बरकरार है।” भारत बायोटेक ने अपने ब्राजीलियाई साझेदारों के साथ समझौता समाप्त किए जाने की घोषणा करते हुए कहा था कि भारत बायोटेक कोवैक्सीन के लिए नियामक संबंधी मंजूरी की प्रक्रिया पूरी करने के लिए ब्राजीलियाई दवा नियामक संस्था एन्विजा के साथ काम करती रहेगी।

मंगलवार, 13 जुलाई 2021

50 से अधिक शहरों तक स्पुतनिक-वी उपलब्ध की

हैदराबाद। डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने स्पूतनिक-वी वैक्सीन के देशभर के 50 से अधिक शहरों तक पहुंच जाने की मंगलवार को घोषणा की। लैबोरेटरी की ओर से यहां जारी बयान के अनुसार स्पूतनिक वी वैक्सीन को भारत में 14 मई को लॉन्च किया गया था। आगामी हफ्तों में इसका वाणिज्यिक प्रसार मजबूत होता दिखेगा।

बयान के अनुसार भारत में वैक्सीन का न तो आसान वाणिज्यिक लॉन्च रोकी गई है और न ही इससे जुड़े अन्य कार्य रोके गये हैं। स्पूतिनक वी काे शुरुआत में हैदराबाद में लाॅन्च किया गया था जिसका तेजी से विस्तार करते हुए अब तक इसे मुम्बई, नवी मुम्बई, कोलकाता, दिल्ली एनसीआर, चेन्नई, मिरयालगुडा, विजयवाडा, बड्डी, कोल्हापुर, कोच्चि, रायपुर, चंडीगढ़, पुणे, नागपुर, नासिक, कोयम्बटूर, रांची, जयपुर, लखनऊ, पटना, भुवनेश्वर, गुवाहाटी, तिरुवनंतपुरम, अहमदाबाद, राजकोट, पलक्कड, इलाहाबाद, दिमापुर, कोहिमा, इन्दौर, भोपाल, सूरत, कटक, धारवाड, इरनाकुलम, रतलाम, फरीदाबाद, श्रीनगर, गांधीनगर, वडोदरा, गुलबर्गा, मदुरै, गुन्टूर, कन्नूर, जबलपुर, जालंधर, कानपुर और मैसूरु तक पहुंचा दिया गया है।

बयान के अनुसार डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज ने वैक्सीन उपलब्धता के लिए देश भर के कई बड़े अस्पतालों के साझेदारी की है। इन अस्पतालों में लोगों को सफलतापूर्वक वैक्सीन लगायी जा रही है।

शुक्रवार, 9 जुलाई 2021

48 घंटे तक के लिए बंद रहेंगी सभी सरकारी वेबसाइट

हैदराबाद। तेलंगाना राज्य की सभी सरकारी वेबसाइट आज रात 8 बजे से अगले 48 घंटे तक के लिए बंद रहेंगी। सरकारी वेबसाइट को सुचारु रूप से चलाने के लिए नया यूपीएस को स्थापित किया जा रहा है। 
आईटी विभाग ने बयान जारी कर बताया कि लंबे समय से तेलंगाना सरकार और जनता के लिए सेवाओं को बिना किसी रुकावट के जारी रखने के लिए नई उन्नत का यूपीएस स्थापित करने का प्रयास हो रहा था। इस नए यूपीएस को स्थापित करने के लिए शुक्रवार 09 जुलाई को रात 8 से लेकर रविवार, 11 जुलाई को रात 9 बजे तक राज्य की सभी सरकारी वेबसाइट बंद रहेंगी।
राज्य सरकार के आईटी निदेशक जायेश रंजन के अनुसार राज्य डेटा केंद्र का वर्तमान यूपीएस पुराना हो गया है। 
वर्तमान पावर बैकअप तंत्र बिजली की विफलताओं या लंबे समय तक टिकने में असमर्थ रहे है। ऐसे में राज्य सरकार ने तेलंगाना राज्य डेटा सेंटर (एसडीसी) के लिए एक उन्नत पावर बैकअप सिस्टम स्थापित कर रहा है। 

मंगलवार, 11 मई 2021

तेलांगना में 12 मई से लॉकडाउन लगाने का फैसला

हैदराबाद। तेलांगना सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मंगलवार को राज्य में 12 मई से लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार राज्य मंत्रिमंडल ने 12 मई (बुधवार) सुबह 10 बजे से अगले 10 दिनों के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। विज्ञप्ति के अनुसार, ”हालांकि सुबह छह बजे से सुबह 10 बजे तक सभी दैनिक गतिविधियों में छूट रहेगी।” सोमवार को तेलंगाना में कोविड-19 से संक्रमण का आंकड़ा बढ़कर करीब 50 हजार हो गया और 4,826 नए मामले आये। जबकि संक्रमण से 35 और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 2,771 हो गयी। विज्ञप्ति में कहा गया है कि मंत्रिमंडल ने कोविड-19 रोधी टीका खरीदने के लिए वैश्विक कंपनियों को भी आमंत्रित करने का फैसला किया है।

मंगलवार, 4 मई 2021

एशियाई शेरों में 2 के संक्रमित होने की पुष्टि की

हैदराबाद। नेहरू जूलॉजिकल पार्क (एनज़ेडपी) में आठ एशियाई शेरों के सार्स-कोव 2 वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो गई है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार इन शेरों के नमूनों (नाक, गले और श्वसन तंत्र से एकत्र किए गए) को चिड़ियाघर प्रशासन ने 24 अप्रैल को सेलुलर और आणविक जीव विज्ञान केंद्र और लुप्तप्राय प्रजातियों के संरक्षण के लिए प्रयोगशाला (सीसीएमबी-एलएसीलोएनईएस) के साथ साझा किया था। इन सभी में सांस की परेशानी के लक्षण दिखाई दिए थे।सीसीएमबी-एलएसीलोएनईएस ने आज अपनी रिपोर्ट में कहा है कि ये आठ एशियाई शेर सार्स-कोव 2 वायरस से संक्रमित हैं। लेकिन राहत की बात यह है कि ये शेर अच्छी तरह से स्वस्थ हो रहे हैं और नमूनों के विश्लेषण से पता चला है कि उन्हें किसी भी प्रकार के गंभीर वायरस के स्वरूप से संक्रमण नहीं हुआ है।

मंगलवार, 20 अप्रैल 2021

तेलांगना में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू की घोषणा

मनोज सिंह ठाकुर           
हैदराबाद। कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए तेलंगाना सरकार ने मंगलवार को राज्य में 30 अप्रैल तक रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने की घोषणा की। ये प्रतिबंध 20 अप्रैल से लागू होंगे। राज्य में कोविड-19 को नियंत्रित करने के विभिन्न उपायों की समीक्षा की गई है।मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने एक आदेश में कहा कि कोविड​​-19 के प्रसार को रोकने के लिए एक अतिरिक्त उपाय के तहत 30 अप्रैल 2021 तक रात नौ बजे से सुगह पांच बजे तक राज्य में रात्रि कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है। राज्य में अभी 42,853 लोगों का इलाज चल रहा है।मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को भी सोमवार को वायरस से संक्रमित पाया गया। कर्फ्यू के दौरान अस्पतालों, जांच प्रयोगशालाओं, दवा दुकानों को छोड़कर सभी कार्यालय, फर्म, दुकानें, प्रतिष्ठान, रेस्तरां आदि रात के आठ बजे बंद हो जाएंगे और मीडिया, ई-कॉमर्स डिलीवरी और पेट्रोल पंप जैसी अन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को भी छूट रहेगी।
सरकारी अधिकारियों, चिकित्सा कर्मियों और हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आने-जाने वाले लोगों को छोड़कर रात्रि नौ बजे से सभी लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। आदेश में कहा गया कि अंतर-राज्यीय और राज्य के भीतर आवश्यक और गैर-आवश्यक वस्तुओं के परिवहन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा और इस तरह की आवाजाही के लिए कोई अलग से अनुमति या पास की आवश्यकता नहीं होगी। इसके अलावा ऑटो और टैक्सियों सहित सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को रात्रि कर्फ्यू के दौरान आवाजाही की अनुमति होगी।

गुरुवार, 25 मार्च 2021

डॉग का खौफ, चोर ने किस्तों में वापस किए पैसे

खम्मम। चोर के मन में स्निफर डॉग्स के द्वारा पकड़े जाने का इतना अधिक खौफ बैठ गया कि वो चोरी का पैसा वापस करने पर मजबूर हो गया। तेलंगाना के खम्मम मे एक अजीबो गरीब वाकया समने आया है। पुलिस ने चोरी की एक वारदात की जांच के दौरान स्निफर डॉग की मदद ली जिससे डरकर चोर ने चोरी किया हुआ पैसा वापस रख दिया। चोरी की घटना को पकड़ने में लगे स्निफर डॉग्स से खौफजदा चोर ने चोरी किए हुए कुल 1.7 लाख रुपये, दो किस्तों में वापस उसी घर के सामने रख दिए जहां उसने चोरी की घटना को अंजाम दिया था। ये अजीबोगरीब घटना खम्मम जिले के डब्बट्टा गांव में हुई है। जिससे आसपास के सभी लोग अचंभित हैं। किसान जी लच्छरम के घाट पर 17 मार्च के दिन चोरी की घटना हुई थी। इस दौरान चोर ने 1 लाख, 70 हजार रुपये चुरा लिए थे। जिसकी शिकायत मिलते ही पुलिस ने जांच शुरू कर दी थी। पुलिस ने चोर को दबोचने के लिए इस मामले में डॉग स्क्वाड की मदद ली थी। चोर के मन में स्निफर डॉग्स के द्वारा पकड़े जाने का इतना अधिक खौफ बैठ गया कि वो चोरी का पैसा वापस करने पर मजबूर हो गया।
जांच में स्निफर डॉग्स की एंट्री होने के बाद चोर 21 मार्च के दिन 1 लाख रुपये लावारिस हालत में घर के सामने रख गया। इसके अगले दिन, 22 मार्च को बकाया 70,000 रुपये भी घर के सामने ही मिल गए। हालांकि चोर की मुश्किलें अभी भी खत्म नहीं हुई हैं। क्योंकि करपल्ली पुलिस ने कहा है। कि चोर की गिरफ्तारी तक जांच जारी रहेगी. आपको बता दें कि स्निफर डॉग्स का उपयोग पुलिस बलों और सेना द्वारा अलग-अलग कामों के लिए किया जाता है। इनकी सूंघने की नायाब क्षमता के कारण ये डॉग्स, सुरक्षा बलों के लिए बम विस्फोट पकड़ने, चोरी पकड़ने आदि के काम में आते हैं। बीते दिनों कुछ एयरपोर्ट्स पर इनका उपयोग कोरोना के मरीजों को पहचानने के लिए किया गया था।

शनिवार, 19 दिसंबर 2020

हम शांति के पक्षधर, आत्मसम्मान के लिए लड़ेंगे

हम शांति चाहते हैं, लेकिन भारत के आत्म-सम्मान पर चोट बर्दाश्त नहीं करेंगे: राजनाथ सिंह

हैदराबाद। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि चीन के साथ सीमा विवाद से भारत जिस तरह से निपटा है। उसने साबित किया है, कि भारत कमजोर नहीं है और सीमा पर उल्लंघन आक्रामकता तथा किसी भी तरह की एकतरफा कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दे सकता है। इस गतिरोध को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच कई दौर की बातचीत भी हो चुकी है।
रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत विवादों के शांतिपूर्ण समाधान में विश्वास रखता है। लेकिन देश के आत्म-सम्मान को किसी भी तरह का नुकसान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हैदराबाद में डिंडीगुल वायुसैनिक अड्डे पर संयुक्त स्नातक परेड को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान चीन के रवैये ने उसके इरादों को जाहिर कर दिया।
उन्होंने कहा कि लेकिन हमने साबित किया है, कि भारत कमजोर नहीं है, यह नया भारत है। जो सीमा पर उल्लंघन आक्रामकता तथा किसी भी तरह की एकतरफा कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दे सकता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत को कई देशों का समर्थन मिला है। और उसकी सराहना भी हुई है। गतिरोध का हल निकालने के लिए कूटनीतिक एवं सैन्य स्तर पर हुई, कई दौर की वार्ता का जिक्र करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा, कि मैं दोहराना चाहता हूं, कि हम संघर्ष नहीं शांति चाहते हैं। लेकिन देश के आत्मसम्मान को किसी भी तरह का नुकसान हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि देश किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार है।
रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान सीमाओं पर छिटपुट संघर्षों को अंजाम दे रहा है। उन्होंने कहा कि चार युद्धों में भारत से पराजित होने के बावजूद पड़ोसी देश आतंकवाद के जरिए छद्म युद्ध छेड़ रहा है। लेकिन सैन्य बल और पुलिस आतंकवाद से प्रभावी ढंग से निपट रहे हैं। पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादियों के शिविरों पर भारत के हवाई हमलों का जिक्र करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत न केवल देश के भीतर आतंकवाद से प्रभावी ढंग से मुकाबला कर रहा है। बल्कि सीमाओं के बाहर जाकर भी कार्रवाई कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह दुनिया को भारत की सैन्य ताकत और आतंकवाद के खिलाफ भारत के मजबूत इरादों को दर्शाता है।

आईटीओ से लाल किले तक ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71वें जन्मदिन पर शुक्रवार को सामाजिक संगठनों ने राष्ट्रीय राजधानी में आईटीओ से ...