बुधवार, 18 मार्च 2020

भारत बनाएगा कोरोना नाशक दवा

नई दिल्ली। कोरोना से निजात पाने के लिए स्वास्थ मंत्रालय ने खास कदम उठाए है। डीसीजीआई से जांच की मंजूरी के बाद स्विस फर्म रोशे डायग्नोस्टिक्स नाम की कंपनी देश में इस संक्रमण की जांच करने वाली पहली निजी फर्म बन गई है। सरकार ने हाल ही में निजी डायग्नोस्टिक केंद्रों को भी जांच करने की अनुमति देने की बात कही हैं।


साथ ही केंद्र सरकार एक अन्य निजी डायग्नोस्टिक फर्म ‘बायोम्रीक्स’ को भी लाइसेंस देने पर विचार कर रही है। क्योकिं इस फर्म ने कोरोना वायरस संक्रमण की जांच करने की अनुमति मांगी है। बता दे कि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी क्षेत्र के डायग्नोस्टिक केंद्रों के लिए मंगलवार को दिशा-निर्देश जारी किए और उनसे यह जांच मुफ्त करने का अनुरोध किया है।


फिलीपींस में फंसे 1500 भारतीय छात्र

फिलीपींस। कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में दहशत का माहौल बना हुआ है। अब तक दुनिया भर में 7000 से ज्यादा लोगों की जान कोरोना की वजह से जा चुकी है। वहीं, फिलीपींस में 1500 भारतीय छात्रों के फंसे होने की जानकारी आ रही है। नितिन भाकल नाम के भारतीय मेडिकल स्टूडेंट ने ज़ी मीडिया से संपर्क कर बताया है कि पूरे फिलीपींस में तकरीबन 1500 मेडिकल स्टूडेंट लॉक डाउन की वजह से फंस गए हैं। फिलीपींस सरकार ने इन्हें 72 घंटों में देश छोड़ने के आदेश दिए हैं लेकिन भारत से हवाई सेवाएं बंद होने की वजह से ये लोग अब फिलीपींस में ही फंसे हुए हैं। जानकारी के अनुसार, फंसे हुए छात्रों में तकरीबन 200 छात्र राजस्थान से हैं और उनमें भी 50 छात्र नागौर जिले के बताए जा रहे हैं। पूरे फिलीपींस में लॉकडाउन के बाद कर्फ्यू की स्थिति बनी हुई है। बाजार पूरी तरह से बंद हैं। लोगों को अपने घरों में रहने की हिदायत दी गई है, जिसकी वजह से यह छात्र भी फंस गए हैं और इनके पास खाने-पीने का सामान भी नहीं है। मेडिकल स्टूडेंट्स भारत सरकार से उनकी सहायता करने और एयर लिफ्ट की अपील कर रहे हैं। फिलीपींस में फंसे हुए कुछ लोग मलेशिया चले गए थे लेकिन ये लोग वहीं पर फंस गए, जिनको सरकार ने बुलाने की व्यवस्था का आश्वासन दिया है। लेकिन फिलीपींस में फंसे छात्रों के लिए सरकार की तरफ से अब तक कोई बयान नहीं आया है। ऐसे में यह सभी मेडिकल छात्र घबराए हुए हैं और सरकार से मदद की अपील कर रहे हैं।


राज्यसभा सदस्यों को दी शुभकामनाएं

राणा ओबराय

मुख्यमंत्री मनोहरलाल को हरियाणा से निर्वाचित 2 राज्यसभा सदस्य की दी अपनी शुभकामनाएं

चण्डीगढ़। हरियाणा से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार दुष्यंत कुमार गौतम तथा रामचंद्र जांगड़ा को निर्विरोध राज्यसभा सांसद निर्वाचित होने पर हार्दिक शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा मुझे पूर्ण विश्वास है, कि आपका कार्यकाल प्रदेश के विकास में सहायक होगा एवं प्रदेश की आवाज़ सदन में और सशक्त होगी।


विकास, विश्वास, सुशासन के तीन साल

तीन साल में हम प्रदेश में विकास, सुशासन और विश्वास का महौल बनाने में सफल रहे


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और प्रेरणा से यह सब मुमकिन हो सका


कोरोना वायरस के दुष्प्रभाव को देखते हुए दिहाड़ी मजदूरों के भरण पोषण की व्यवस्था सरकार करेगी


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि तीन साल पहले, भाजपा नेतृत्व ने भरोसा कर मुझे सबसे बड़े प्रदेश की सत्ता की कमान सौंपी थी। उस समय के हालात किसी से छिपे नहीं हैं। कानून-व्यवस्था नाम की चीज थी ही नहीं। विकास बेपटरी हो चुका था। संवैधानिक संस्थाओं से लोगों का भरोसा उठ चुका था। हालात चुनौतीपूर्ण थे। उन चुनौतियों को हमने अवसर में बदला। आज हम प्रदेश में विकास, विश्वास और सुशासन का माहौल कायम करने में कामयाब रहे। हर क्षेत्र में हमनें विकास के नये मानक बनाए हैं।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर यहां लोकभवन में पत्रकारवार्ता की। इस दौरान योगी ने कहा कि यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कुशल मार्गदर्शन एवं प्रेरणा से संभव हो पाया। इसमें केंद्रीय संसदीय टीम, प्रदेश भाजपा के संगठन, सहयोगी मंत्रीगण, अन्य जनप्रतिनिधियों का भी पूरा सहयोग रहा।


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सबकी मदद से ही पिछले साल प्रयागराज में भव्य और दिव्य कुंभ का आयोजन किया गया। किसानों की ऋण माफी, प्रधानमंत्री आवास, शौचालय, उज्जवला, आयुष्मान भारत, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेंहू और धान की रिकॉर्ड खरीद और भुगतान, गन्ना मूल्य का रिकॉर्ड भुगतान, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, निवेश, शिक्षा एवं स्वास्थ्य, सड़कों का संजाल और एयर कनेक्टिविटी आदि के क्षेत्रों में कीर्तिमान बनाया है।


संगठित अपराधों पर लगा प्रभावी अंकुश


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ‘’परित्राणाय साधूना विनाशाय च दुष्कृताम’’ को सूत्र बनाकर हमारी सरकार कार्य कर रही है। जिसका परिणाम है कि तीन वर्ष में प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ। 2016 के सापेक्ष 2019 में संगठित अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगा है। डकैती के मामले में 59.70 प्रतिशत, लूट के मामले में 47.09 प्रतिशत, हत्या के मामले में 21.71 प्रतिशत, बलवा में 27.20 प्रतिशत, अपहरण के मामले में 37.74 प्रतिशत और बलात्कार के मामले में 17.90 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने कहा कि पुलिस के आधुनिकीकरण की दिशा में हमारी सरकार ने काफी काम किया है। 1.37 लाख पुलिस कर्मियों की भर्ती की गई है। पुलिस व फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी बनाने की दिशा में कार्यवाही आगे बढ़ाई गई है। हम हर रेंज में साइबर थाना और फॉरेंसिक लैब बनाने जा रहे हैं।


सभी 75 जिलों को मिल रही है बिजली


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में 30 लाख गरीबों को आवास दिया गया। स्वच्छ भारत मिशन नारी गरिमा की रक्षा के साथ-साथ प्रत्येक नागरिक के जीवन में व्यापक परिवर्रत लाने वाला है। इस योजना के तहत 2 करोड़ 61 लाख परिवारों को व्यक्तिगत शौचालय दिया गया। 2017 के पहले प्रदेश के 4-5 जनपदों को बिजली मिलती थी। आज हमारी सरकार सभी 75 जनपदों को बिना भेदभाव के बिजली दे रही है। सौभाग्य योजना के तहत 1 करोड़ 24 लाख से ज्यादा परिवारों को नि:शुल्क कनेक्शन दिया गया है। 1 लाख 67 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाई गई। सब स्टेशन बनाए गए, फीडर सप्रेशन की कार्रवाई को आगे बढ़ाया गया। 


30 नये मेडिकल कॉलेज बनाने जा रहे हैं


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना और मुख्यमंत्री जन आरोग्य के तहत प्रदेश में 5 लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा कवर दिया जा रहा है। प्रदेश के अंदर एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस को हर जनपद तक पहुंचाया गया है। 1947 से 2016 तक प्रदेश में कुल 12 मेडिकल कॉलेज बने थे। हमारी सरकार 30 नये मेडिकल कॉलेज बनाने जा रही है। दो नये एम्स में ओपीडी शुरू हो गई है। प्रदेश के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर मुख्यमंत्री आरोग्य मेला के माध्यम से अंतिम पायदन पर बैठे हुए व्यक्ति को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिया जा रहा है।


ओडीओपी अभिनव योजना


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) अभिनव योजना है। इसके माध्यम से 28 प्रतिशत निर्यात बढ़ा है। इस योजना को राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है। इस बार के यूनियन बजट में इस बात का आह्वान किया गया है कि उत्तर प्रदेश की एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) देश के सभी राज्यों में लागू करना चाहिए।


केंद्र की योजनाओं में उत्तर प्रदेश नं. 1 पर


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 2017 के पहले देश के अंदर केंद्र की योजनाओं में उत्तर प्रदेश की गिनती कहीं नहीं होती थी, हमारी सरकार के टीम वर्क का परिणाम है कि आज उत्तर प्रदेश देश में नंबर एक पर है। इसमें प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत, स्वच्छ भारत मिशन, सौभाग्य योजना, उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना शामिल हैं।


किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में कर रहे हैं कार्य


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 1 करोड़ 87 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ मिल रहा है। 36 हजार करोड़ रुपये से 86 लाख किसानों की कर्ज माफी की गई। किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में हमारी सरकार लगातार कार्य कर रही है। 2010 से गन्ना मूल्य बकाया था। हमारी सरकार ने 92 हजार करोड़ से अधिक गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। पिछली सरकारों ने 29 चीनी मिलें बंद कर दी थीं। जब हम आए तो प्रदेश में 116 मिली थीं, आज हम 121 चीनी मिलें चल रहा रहे हैं। गन्ने से इथेनॉल बनाने की प्रक्रिया में आगे बढ़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश गन्ना व चीनी उत्पादन के साथ इथेनॉल में भी अग्रणी होगा। उन्होंने कहा कि 46 वर्षों से लंबित बाण सागर परियोजना को हमारी सरकार ने पूर्ण कराया है। सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना, मध्य गंगा राष्ट्रीय परियोजना और अर्जुन सहायक परियोजना जैसी डेढ़ दर्जन से ज्यादा सिंचाई परियोजनाएं दशकों से लंबित पड़ी हुई थीं। हमारी सरकार ने इसमें कुछ परियोजनाओं को पूर्ण कर लिया है, बाकी बची परियोजनाओं को अगले वित्तीय वर्ष तक पूर्ण कर लेंगे, 25 लाख हेक्टयेर अतिरिक्त भूमि को सिंचन की क्षमता उपलब्ध कराएगी।


इस साल जनता के लिए खुल जाएगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम तेजी से चल रहा है। इस साल के आखिर तक उसे खोल देंगे। अगले वर्ष के अंत तक बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर काम शुरू हो जाएगा। गंगा एक्सप्रेस वे पर काम चल रहा है। यह तीनों एक्सप्रेस-वे यूपी की अर्थव्यवस्था को नई दिशा देंगे।


अक्षम लोगों तक सरकारी कर्मी पहुंचाएंगे राशन


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में सुधार हुआ है। 80 हजार से अधिक दुकानों पर ई-पॉश मशीनें लगाई गई हैं। राशन पोर्टेबिलिटी की सुविधा दी जा रही है। अभी 14 करोड़ यूनिट लोगों तक खाद्यान्न पहुंच रहा है। अंत्योदय परिवारों में अक्षम लोगों तक सरकारी कर्मी राशन पहुंचाएंगे। 


शिक्षा के क्षेत्र में हुआ व्यापक बदलाव


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में भी व्यापक बदलाव हुआ है। 50 लाख बच्चे बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में बढ़े हैं। 92 हजार स्कूलों का कायाकल्प हुआ है। माध्यमिक शिक्षा में आजादी के बाद जितने शासकीय इंटर कॉलेज नहीं बने थे, 3 साल में 193 कॉलेज बने हैं। पूरे प्रदेश में नकल विहीन परीक्षा हुई है। उच्च शिक्षा में भी प्रदेश ने नई छलांग लगाई है। प्रदेश में पहले 27 निजी विश्वविद्यालय थे। हमारी सरकार एक साथ 28 निजी विश्वविद्यालय बनाने के साथ ही 8 नए राज्य विश्वविद्यालय बना रही है। उन्होंने कहा कि स्किल डेवलपमेंट के सेंटर उद्योग से जुड़ेंगे। पॉलिटेक्निक व इंजीनियरिंग कॉलेज के युवाओं को अनिवार्य रूप से उद्यम से जोड़ेंगे। मुख्यमंत्री अप्रेंटिस योजना के तहत युवाओं को 2500 रुपये प्रति माह देंगे। पहले साल में 1 लाख युवाओं का लक्ष्य रखा गया है। युवा हब के लिए 1200 करोड़ रुपये की धनराशि पहले ही जारी की जा चुकी है।


33 लाख लोगों को मिला रोजगार


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रथम एवं द्वितीय ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी व अन्य माध्यमों से लगभग तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश आने से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से 33 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिला है। इसके साथ ही तीन लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। जिनको लेकर कोई शिकायत सामने नहीं आई है।


1 लाख से अधिक गरीब कन्याओं का कराया विवाह


सीएम योगी ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत इस बार के बजट में इसके लिए 1200 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। इसके तहत प्रदेश की बेटियों को 15 हजार रुपये दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत निर्धन परिवारों की 1 लाख से अधिक गरीब कन्याओं का विवाह कराया जा चुका है। महिलाओं एवं बेटियों की सुरक्षा देने के लिए बनाए गए एंटी रोमियो स्क्वॉएड कार्य कर रही है।


पर्यटन क्षेत्र का हुआ विकास


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि डिफेंस एक्सपो व नेशनल यूथ फेस्टिवल जैसे आयोजन से प्रदेश को नई पहचान मिली है। हमारी सरकार ने दीपोत्सव, देव दीपावली, बरसाना की होली और नवरात्रि के कार्यक्रमों को नई ऊंचाई दी है। इससे पर्यटन के क्षेत्र में विकास हुआ है और अधिक से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने में सफलता मिली है।


कोरोना वायरस को लेकर चलाए जा रहे हैं जागरुकता कार्यक्रम


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता, उपाय व बचाव के दृष्टिगत युद्ध स्तर पर कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसके कारण सभी सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं। स्थगित कार्यक्रमों को अप्रैल के प्रथम सप्ताह में लेकर जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के दुष्प्रभाव को देखते हुए दिहाड़ी मजदूरों और रोज कामने-खाने वाले लोगों के भरण पोषण की व्यवस्था सरकार करेगी।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कराई थर्मल स्क्रीनिंग


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड पेश करने से पहले कोरोना वायरस के ऐहतियातन थर्मल स्क्रीनिंग कराई। इसके साथ ही दोनों डिप्टी सीएम, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने भी थर्मल स्क्रीनिंग कराई। योगी सरकार ने इस मौके पर 'सुशासन के 3 वर्ष' नाम की पुस्तक का विमोचन भी किया। 


पत्रकार वार्ता में दोनों डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, संगठन मंत्री सुनील बंसल, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव आरके तिवारी, डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश अवस्थी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, निदेशक सूचना शिशिर, तीनों सूचना सलाहकार समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।


पीड़ित किसानों को डीएम का आश्वासन

अकाशुं उपाध्याय


गाजियाबाद। हाल ही में हुई बिन मौसम बारिश और ओलावृष्टि की वजह से गाजियाबाद में किसानों का बड़ा नुकसान हुआ है। किसानों की फसलें बर्बाद हो गई हैं। जिससे किसानों के घर में चूल्हा तक नहीं चल पा रहा है। ऐसे में किसानों ने जिला प्रशासन से मदद मांगी है। किसानों का कहना है कि मदद नहीं मिलने पर किसान भुखमरी की कगार पर आ जाएगा। वहीं गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे ने कहा है कि किसानों के नुकसान का आकलन किया जा रहा है। और किसानों को बीमा और अन्य सहायता देने की तैयारी की जा रही है।


किसानों ने की डीएम से मुलाकातः बिन मौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि से परेशान किसानों ने गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे से मुलाकात की और अपना दर्द बताया।किसानों ने कहा कि कुछ किसान तो ऐसे हैं, जिनका पूरा वर्ष फसल पर ही टिका होता है। लेकिन फसल खराब होने से उनके लिए बड़ा संकट खड़ा हो गया है। हाल यह है की परिवार की रोजी-रोटी चलाना काफी मुश्किल हो जाएगा।



डीएम ने दिया आश्वासनः गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे ने किसानों को आश्वासन दिया है। और कहा है कि किसानों की तकलीफ को जल्द दूर कर दिया जाएगा। सरकार तक उनकी बात भी पहुंचाई गई है। और हर संभव प्रयास किया जा रहा है। तहसील स्तर पर फसलों का आकलन किया जा रहा है। साथ ही किसानों से भी कहा गया है कि ऐसी कोई खराब फसल की जानकारी उनके पास है,तो तुरंत जिला प्रशासन को बताएं। जिससे कोई भी किसान आर्थिक सहायता से दूर ना रहे।


किसानों में जागी नई उम्मीदः डीएम के आश्वासन के बाद किसानों में नई उम्मीद जागी है। और किसानों ने थोड़ी बहुत राहत की सांस ली है।हालांकि किसान अभी भी इस बात से डरे हुए हैं कि कहीं बिन मौसम ओले दोबारा ना पड़ जाए। जिससे बची कुची फसल भी खराब ना हो जाए। इससे आम लोगों को भी नुकसान होगा। क्योंकि फसल खराब होने से गेहूं और अन्य फसलों से पैदा होने वाला अनाज संकट के इस दौर में आम लोगों तक भी महंगा पहुंचेगा।


भाजपा का दावा 36,70 पर है पेट्रोल

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में संपन्न जीएसटी कौंसिल की बैठक में पेट्रोल व डीजल के दाम पर एक झटके में 3 रूपए बड़ा दिए है। जिसका असर साफ़ तौर पर मध्यमवर्गीय परिवार पर पड़ेगा। देश में पहले से ही महंगाई की मार झेल रही जनता के लिए यह बहुत हानिकारक साबित हो रहा है।


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘दुनिया भर में कच्चे तेल के दाम घट चुके हैं मगर हिंदुस्तान में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे है। कच्चे तेल के दाम में गिरावट का फायदा आम लोगों को क्यों नहीं मिल रहा है? क्यों आम लोगो को महंगाई की मार झेलनी पड़ रही है?’


प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को पुराने दिन याद दिलाते हुए कहा कि ‘दिल्ली-मुंबई में 36 रु में पेट्रोल बेचने का दावा करने वाले भाजपा नेताओं ने किस कम्पनी का टेप मुंह पर लगाया है जो पेट्रोल के दाम 70 पार होने पर भी चुप है।’


अमेरिका में 60 दिन निशुल्क इंटरनेट

नई दिल्ली। कोरोना से बचने के लिए दुनिया भर के देशों द्वारा हर संभव कोशिश की जा रही है। इस दौरान अमेरिका ने अपने नागरिकों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए अनूठी स्कीम शुरू की है।


अमेरिका में लोगों को कोरोना के कहर से बचाने के लिए एक अनूठा कदम उठाया गया है। अमेरिका में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कॉमकास्ट ने 60 दिनों के लिए फ्री वाईफाई देने का ऐलान किया है। ये कदम कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते उठाया गया है, जिससे कि लोगों को अपनों से जुड़े रहने में किसी तरह की परेशानी ना हो। साइबर सर्विस प्रोवाइडर कंपनी कॉमकास्ट के मुताबिक फ्री वाईफाई को पूरे देश में वाई फाई हाटस्पाट के ज़रिये लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है। दरअसल, सरकार लोगों को घर में रहने के लिए कह रही है। लोग घर से काम कर रहे हैं। ऐसे में उनको मुफ्त इंटरनेट मिलने से अपना वक्त गुजारने में और भी आसानी रहेगी।


यूपी हाईकोर्ट-बेंच तीन दिन बंद रहेंगी

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। कोरोना वायरस के बढ़ते हुए खतरे को देखकर, प्रयागराज हाईकोर्ट ने 3 दिनों का अवकाश घोषित किया है। 19,20 और 21 मार्च को प्रयागराज हाईकोर्ट, लखनऊ बेंच में कोई कार्य नहीं होगा। इन 3 दिनों में किसी भी प्रकार की कोई सुनवाई नहीं की जाएगी। हाईकोर्ट के प्रवक्ता के द्वारा न्यायालय परिसर में आवश्यक संसाधनों के अभाव को ध्यान में रखकर अवकाश घोषित किया गया है। साफ-सफाई और सैनिटाइजर के उपयोग लिए जनता से आग्रह किया है। न्यायालय परिसर में उचित व्यवस्थाओं का अभाव प्रतीत किया जा रहा था। जिसमें संसाधनों का अभाव भी सम्मिलित है। इन्हीं कारणों को ध्यान में रखते हुए संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए यह कदम उठाया गया है। अवकाश के चलते  होने वाली कार्रवाई को 1, 2 जून और 4 अप्रैल में किया जाएगा।


हिंयुवा की प्रदेश, महानगर टीम गठित

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। राष्ट्रीय हिंदू वाहिनी की प्रदेश टीम एवं प्रयागराज महानगर की टीम द्वारा माननीय राजेश केसरवानी को भारतीय जनता पार्टी महानगर मीडिया प्रभारी बनाए जाने पर प्रदेश मंत्री आयुष श्रीवास्तव के आवास पर उनका हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन किया गया।


कार्यक्रम में उपस्थित राष्ट्रीय हिंदू वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष सूर्यांश श्रीवास्तव  प्रदेश उपाध्यक्ष विकास केसरवानी, प्रदेश मंत्री आयुष श्रीवास्तव, प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी सूरज मिश्रा, प्रदेश महानगर उपाध्यक्ष यश महाजन, महानगर उपाध्यक्ष  तरुण केसरवानी, महानगर मंत्री आकाश अग्रवाल, महानगर महामंत्री अर्पित शर्मा, महानगर मीडिया प्रभारी, रचित यादव, महानगर कार्यसमिति सदस्य, राहुल यादव उपस्थित रहे।


सीएम को ओलावृष्टि क्षति से अवगत कराया

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, रिंकू सैनी रिपोर्टर, मुकेश सैनी रिपोर्टर


देहात ओलावृष्टि से जिले में हुए नुकसान के संदर्भ में मुख्यमंत्री को कराया अवगत 


हापुड़। सदर विधायक विजयपाल आढ़ती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर मुख्यमंत्री को जनपद हापुड़ में भारी वर्षा ओलावृष्टि की जानकारी दी। उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि जनपद के किसानों को इस प्राकृतिक आपदा के कारण अत्यधिक नुकसान हुआ है जिससे किसानों में काफी निराशा है उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि उनके द्वारा शीघ्र अति शीघ्र किसानों को मुआवजा राशि दिलाने हेतु उचित कार्रवाई की जाए ताकि किसानों का शासन प्रशासन पर विश्वास बना रहे। मुख्यमंत्री ने उनको आश्वासन दिया कि बहुत जल्द किसानों को मुआवजा दिला दिया जाएगा।


डीएमः सतर्क रहें, स्थिति पर नियंत्रण

अकाशुं उपाध्याय


गाजियाबाद। कोरोना वायरस जिस तरीके से महामारी का रूप लेता जा रहा है गाजियाबाद जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने बताया गाजियाबाद में स्थिति नियंत्रण में है लेकिन अभी तक 36 सैंपल यह गए थे जिनको जांच के लिए भेजा गया 30 सैंपल की नेगेटिव रिपोर्ट आई है और 2 सैंपल पॉजिटिव आए हैं जिसमें एक मरीज का इलाज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में चल रहा है और एक मरीज का इलाज गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल में चल रहा है बाकी के 4 लोग जो संदिग्ध हैं उनकी रिपोर्ट नहीं आई है लेकिन उनको भी आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है इसके साथ ही जिला अधिकारी महोदय ने आज धर्मगुरुओं के साथ भी अपने कार्यालय में बैठक की ओर करोना वायरस के बचाव को लेकर उनको बताया और अपने ही सभी धर्म के लोगों को कोरोना वायरस से बचाने के तरीके में प्रोटोकॉल के बारे में बताएं कोरोना वायरस सन्दीप एक महिला मरीजों की उपचार के दौरान अस्पताल से चली गई थी उसको दोबारा से अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।


एसएसपी की गाज से थर्राया जनपद

प्रयागराज। जिले के कप्‍तान सत्‍यार्थ अनिरुद़ध पंकज ने इंस्‍पेक्‍टर कैंट को सस्‍पेंड कर दिया है। इसके साथ ही दो दारोगाओं और तीन सिपाहियों को भी लाइन हाजिर कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि काम में लापरवाही पर कप्‍तान ने यह कार्रवाई की है। वहीं कप्‍तान की इस कार्रवाई से जिले भर के थानेदारों में खलबली मची है।


काम में लापरवाही पर कप्‍तान ने की कार्रवाईः एसएसपी सत्‍यार्थ अनिरुद़ध पंकज ने इंस्‍पेक्‍टर कैंट संजय द्विवेदी को काम में लापरवाही पर बुधवार को सस्‍पेंड कर दिया है। जबकि दो दारोगाओं और तीन सिपाहियों पर कप्‍तान का चाबुक चला है। कप्‍तान ने उनको लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं महकमें इस कार्रवाई को लेकर तरह तरह की चर्चा हो रही है। एक दिन पहले ही कैंट थाने के दो होमगार्डों को धन उगाही के मामले में गिरफ़तार किया गया था। इंस्‍पेक्‍टर कैंट की तहरीर पर दोनों होमगार्डों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। इसके बाद से ही कैंट थाने में बडे पैमाने पर पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के कयास लगाए जा रहे थे।


बृजेश केशरवानी


फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट सितंबर मे होगा

नई दिल्ली। खेल जगत में भी कोरोना ने कोहराम मचाया हुआ है, जिसका असर कई खेल आयोजनों पर भी पड़ रहा है। इसी कड़ी में प्रतिष्ठित फ्रेंच ओपन टेनिस भी जुड़ गया है।


फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट अब 20 सितंबर से 4 अक्टूबर तक खेला जाएगा। फ्रेंच टेनिस फेडरेशन ने कहा पूरी दुनिया कोविड -19 से जुड़े सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट से प्रभावित है। आयोजकों का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट को टाला जा रहा है। इससे पहले यह टूर्नामेंट 24 मई से 7 जून के बीच आयोजित होना था।


83 तेजस विमानों की खरीद को मंजूरी

नई दिल्ली। सरकार ने लड़ाकू विमानों की कमी से जूूझ रही वायु सेना के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए 83 स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान की खरीद को आज मंजूरी दे दी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई रक्षा खरीद परिषद की बैठक में इस खरीद के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। परिषद ने इसके अलावा 1300 करोड़ रूपये की लागत से देश में ही बने रक्षा उत्पादों की खरीद को भी हरी झंडी दिखायी।


परिषद ने बैठक में वायु सेना के लिए तेजस विमानों के 83 उन्नत संस्करण एमके 1 ए की खरीद के प्रस्ताव का अनुमोदन किया है। वायु सेना के लिए तेजस के मूल संस्करण के 40 विमानों की खरीद का आर्डर पहले ही दिया जा चुका है। हल्के लड़ाकू विमान तेजस का डिजायन रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के तहत आने वाली एयरक्राफ्ट डिवलपमेंट एजेन्सी ने किया है। देश में रक्षा क्षेत्र का प्रमुख उपक्रम हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल)इन विमानों को बना रहा है। इन विमानों से वायु सेना की ताकत बढ़ेगी और उसकी मारक क्षमता में भी इजाफा होगा। इसके अलावा सरकार के इस निर्णय से उसकी महत्वकांक्षी योजना मेक इन इंडिया को भी बल मिलेगा। परिषद ने तेजस विमान के साथ साथ वायु सेना के हाॅक एम के 32 विमानों के लिए देश में ही बने एरियल फ्यूज और ट्वीन डोम सिमुलेटर की खरीद को भी मंजूरी दी है। इनकी खरीद पर 1300 करोड़ रूपये की लागत आने की संभावना है।


विधायकों को बंधक नहीं बना सकते

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि विधायकों को बंधक बनाकर नहीं रखा जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के सामने विधायकों से मिलने का प्रस्ताव रखा गया था, जिसे अदालत ने ख़ारिज कर दिया। इसके साथ ही अदालत ने विधायकों से मिलने के लिए रजिस्टार जनरल को भी भेजने से मना कर दिया।


बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी की याचिका पर बुधवार को सुनवाई हुई। भाजपा ने याचिका दायर की है कि कोर्ट कमलनाथ सरकार को तत्काल बहुमत साबित करने का निर्देश दे। इस मामले में कल यानी गुरुवार को भी सुनवाई जारी रहेगी।


वन-विभाग ने छुड़ाए 26 जंगली तोते

देहरादून। वन विभाग की टीम ने देहरादून के प्रभात सिनेमा के साथ लगती कांवली रोड से जंगली तोतों का कारोबार करने वाले एक शख्स पर धावा बोल दिया। टीम के वाहन को देखते ही तोता तस्कर तो भाग निकला लेकिन उसके पिजरे में बंद कुल 26 तोतों को आजादी मिल गई। इनमें एक तोता विलुप्त प्रजाति का है।


मिली जानकारी के अनुसार वन विभाग की टीम ने आपसी सामंजस्य बनाते हुए कांवली रोड पर तोतों को बेच रहे एक शख्स का पकड़ने के लिए जाल बिछाया। लेकिन ऐन वक्त पर वह व्यक्ति टीम के वाहन को देखकर भाग खड़ा हुआ। वह अपने पीछे दो पिंजरे छोड गया। जिनमें से एक में गर्दन से चोंच तक लाल रंग वाला विलुप्त प्रजाति का प्लम हेडेड पैराकीट नाम से जाना जाता है भी बरामद हुआ। इसके अलावा दूसरे पिंजरे में 25 जंगली तोते रोज हेडेड पैराकीट भी बरामद हुए। टीम ने तस्कर को पकड़ने के काफी प्रयास किए लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी। टीम में वन्य प्राणी रेस्कयू टीम प्रभारी रवि जोशी, वन क्षेत्राधिकारी मालसी मोहन सिंह रावत व मालसी के वन दरोगा सुरेंद्र कुमार भी शामिल थे।


130 करोड़ के घोटाले की विजिलेंस जांच

130 करोड़ के घोटाले में सिंचाई विभाग के अध्यक्ष के खिलाफ विजिलेंस जांच


लखनऊ। सिंचाई विभाग में करीब 130 करोड़ रुपये के घपले के आरोपी सेवानिवृत्त विभागाध्यक्ष भूपेंद्र शर्मा के खिलाफ विजिलेंस को जांच सौंपी गई है। भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके आदेश दिए हैं।


सेवानिवृत्त होने से 10 वर्ष पूर्व तक के इनके कार्यों की भी जांच होगी। भूपेंद्र शर्मा पर विभिन्न निर्माण व टेंडर में भ्रष्टाचार करने, शासकीय धन के दुरुपयोग और नियम विरुद्ध भुगतान समेत कई गंभीर आरोप हैं। वर्ष 2016 में हुई जांच में इन पर लगाए गए करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार के आरोप सही पाए गए थे। शासन के अधिकारियों ने कठोर कार्रवाई की संस्तुति की थी, पर उच्चस्तर से सिर्फ प्रतिकूल प्रविष्टि देकर इन्हें छोड़ दिया। इतना ही नहीं, इन्हें मुख्य अभियंता स्तर-1 और उसके बाद प्रमुख अभियंता व विभागाध्यक्ष के पद पर प्रोन्नति दे दी गई थी। शर्मा अगस्त 2017 से जून 2018 तक विभागाध्यक्ष रहे। वर्तमान सरकार में एक बार फिर तत्कालीन विशेष सचिव सुरेंद्र विक्रम ने भूपेंद्र शर्मा के खिलाफ जांच की। उन्होंने मामलों को अत्यधिक गंभीर बताते हुए अपनी रिपोर्ट में विजिलेंस से जांच कराने की संस्तुति की थी। इस पर मुख्यमंत्री ने रिटायरमेंट से 10 साल पहले तक इनके कार्यकाल में कराए गए सभी कार्यों की सतर्कता जांच करने के आदेश दिए हैं। भूपेंद्र शर्मा के समय में ललितपुर में भौरट बांध परियोजना में बड़े घपले हुए। बिना काम कराए ही 92 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। यही नहीं, चार हजार बोरी सीमेंट बिना प्रयोग के खुले में पड़ी रहने दीं। इससे यह जम गईं और सरकार को 25 लाख रुपये का नुकसान हुआ। इसके अलावा गंडक परियोजना में 35 करोड़ रुपये का घोटाला किया। शासन से जांच में आरोप सिद्ध पाए जाने के बावजूद शर्मा को बचाते हुए केवल परिनिंदा प्रविष्टि देकर छोड़ दिया गया। मुख्य अभियंता गंडक, गोरखपुर के पद पर रहते हुए भूपेंद्र शर्मा ने अनेक अनुबंध व कार्यों को बिना मानक करवाया। स्थानांतरण के बाद गोरखपुर में आवंटित सरकारी आवास खाली नहीं किया। लखनऊ में भी एक और आवास आवंटित करा लिया। सपा सरकार के दौरान शर्मा करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार में शामिल रहे हैं। यहां तक कि अवर अभियंताओं के स्थानांतरण तक में अनियमितताएं बरतीं। वाराणसी में वरुणा नदी के कार्य में गड़बडिय़ां करने के लिए मुख्य अभियंता स्तर-1 न बनने के बाद भी मुख्य अभियंता (विंध्याचल), स्तर -1, इलाहाबाद का कार्यभार दे दिया गया। वहां इन्होंने बिना अनुमति और अनुबंध के कार्य को प्रारंभ कर दिया। नियमानुसार पर्यावरण और सीडब्ल्यूसी की अनुमति भी नहीं लीं।


पतंजलि पर 75.08 करोड़ का जुर्माना

जीएसटी का फायदा न देने के मामले में पतंजलि पर लगा 75.08 करोड़ का जुर्माना


नई दिल्ली। जीएसटी की दरों में कमी का फायदा ग्राहकों को नहीं देने के आरोप में बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड पर जुर्माना लगाने की खबर आई है।


सूत्राकें के मुताबिक जीएसटी में कमी का फायदा ग्राहकों तक नहीं पहुंचाने और सामान का रेट ज्यादा लेने के लिए बाबा रामदेव के संरक्षण वाले पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड पर 75.08 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी ने यह जुर्माना लगाया है। एनएए ने कहा कि उसे यह सुनिश्चित करने का काम मिला है कि टैक्स में कटौती का फायदा ग्राहकों तक पहुंचे. डायरेक्टर जनरल ऑफ एंटी प्रॉफिटियरिंग को कहा गया है कि वह चार महीने के भीतर इस जुर्माने के अनुपालन की रिपोर्ट सबमिट करें। क्या है मामला - सूत्रों के मुताबिक सेंट्रल जीएसटी एक्ट का उल्लंघन करते हुए पतंजलि ने टैक्स में कटौती का फायदा ग्राहकों तक नहीं पहुंचाया। इसलिए एनएए ने पतंजलि को कारण बताओ नोटिस जारी किया है, इसमें कहा गया है कि जीएसटी दरों को 28 फीसदी से 18 फीसदी और फिर नवंबर 2017 में 18 से 12 फीसदी कर दिया गया, लेकिन पतंजलि ने अपने ग्राहकों को इसका फायदा नहीं दिया।


छोटा-बड़ा इमामबाड़ा, पिक्चर गैलरी बंद

लखनऊ। कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रशासन ने बड़ा व छोटा इमामबाड़ा और पिक्चर गैलरी को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। प्रशासन की कोशिश लोगों को एक जगह पर इकठ्ठ होने से रोकना है। जिसके मद्देनजर ये कदम उठाए जा रहे हैं। आदेश का उल्लंघन करने के लिए धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा, लोगों को बचाव के तरीके बताए जा रहे हैं साथ ही दहशत में न आने की सलाह दी जा रही है। इसी कड़ी में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर स्टॉल लगाया और लोगों को सैनेटाइजर बांटे। उन्होंने मशीन से खुद भी लोगों का टेस्ट लिया।


भारतीय सेना में लगी वायरस की सेंंध

नई दिल्ली। देश में बढ़ते मामलों के बीच कोरोना वायरस की सेंध भारतीय सेना में भी हो गई है। लद्दाख में तैनात एक सैनिक को कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है। यह सेना का पहला कोविड पॉजिटिव मामला है। कोविड19 पॉजिटिव पाए गए सैनिक के पिता बीते दिनों ईरान से तीर्थयात्रा कर लौटे थे।


इस दौरान छुट्टी पर गया यह सैनिक घर पर अपने पिता के संपर्क में आया। इस मामले में पहले पिता और फिर गैर अधिकारी रैंक का यह सैनिक कोविड पॉजिटिव पाए गए। एक दिन पहले टेस्ट के नतीजे आने के बाद उसे अस्पताल में आइसोलेशन में रखकर इलाज किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, बीमार सैनिक की पत्नी, बहन और अन्य परिवार जनों को भी क्वारंटीन किया गया है। महत्वपूर्ण है कि कोविड19 प्रभावित मुल्कों से सुरक्षित निकालकर लाए जा रहे नागरिकों के लिए देश के विभिन्न भागों में क्वारंटीन सुविधा बना रही भारतीय सेना ने अपने रैंक्स को भी इस खतरे के बारे में लगातार आगाह कर रही है। इस कड़ी में सेना की उत्तरी कमाने से लेकर पूर्वी कमान तक सभी इलाकों में जागरुक करने के लिए भी विशेष संचार अभियान चलाया जा रहा है। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर मेयर जुनैद अजीम मट्टू के आग्रह पर सेना 1000 लीटर स्टर्लाइजेशन कैमिकल भी उपलब्ध करा रही है। सेना की चिनार कोर के आग्रह पर भारतीय वायुसेना के एक डोर्नियर विमान कीटाणुमुक्त करने के काम आने वाला स्टर्लाइजेशन कैमिकल दिल्ली से लेकर जाएगा।


ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहा मास्क प्रयोग

कोरोना वायरस: ग्रामीण लोग वायरस से बचाव हेतु कर रहे मास्क का प्रयोग


कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए मास्क लगाएं युवा व बच्चें।


सीवान। कोरोना वायरस का खतरा भारत में तेजी से बढ़ने से सबको झकझोर कर रख दिया हैं। दिन पर दिन कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज की संख्या में वृद्धि हो रही हैं। ऐसे में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव बेहद जरुरी हैं। बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित वृद्ध लोग हो रहे हैं।


80 साल से ज्यादा उम्र के लोग जो इस वायरस का शिकार हुए हैं। कोरोना वायरस दुनिया के करीब 148 देशों में फैल चुका है। कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर में हुई और सबसे ज्यादा संक्रमण के शिकार चीन के लोग ही हुए हैं, लेकिन दूसरे देशों में भी इसका खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में कोरोना वायरस से बचाव के लिए मास्क का प्रयोग कर सकते हैं। मास्क का प्रयोग कचरा फेंकते, कोई गंदा कपड़ा अनजाने में छूते समय जरुर मास्क का इस्तेमाल करें। जब तक कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं कर लिया जाता है,  तब तक किसी भी वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए पानी की शुद्धता का ख्याल रखना जरूरी होता है। पीने का पानी साथ लेकर चलें। घर में भी पानी को उबाल कर इस्तेमाल करें। नहाने-धोने का पानी भी साफ होना चाहिए। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए साफ-सफाई का ध्यान रखना जरूरी है। कपड़े रोजाना साफ करें और उन्हें धूप में ठीक से सुखा कर प्रेस कर के पहनें। बाहर निकलने से पहले जूते पहनें और घर के अंदर जूता नहीं लाएं। बाहर से लौटने पर ठीक से हाथ-पैर और चेहरा साबुन से धोएं। घर में दिन में कम से कम दो बार फिनाइल डाल कर पोछा लगाएं और कोरोना वायरस से बचाव करें।


स्कूल में झगड़ा करने गए कई युवक

अतुल त्यागी जिला प्रभारी


थाना सिंभावली क्षेत्र में सीबीएसई स्कूल में हिम्मतपुर रोड पर सीबीएसई हाई स्कूल की परीक्षा दे रहे छात्रों को कुछ सात आठ मोटरसाइकिल पर 10-15 युवक झगड़ा करने पहुंचे। जिसकी भनक परिजनों व अध्यापक को लगी।


हापुड़। जिसकी सूचना थाना सिंभावली पुलिस को दी पुलिस को आता देख युवक अपनी बाइक लेकर मौके से हुए फरार  पुलिस ने बाइकों का काफी दूर तक किया। पीछा युवक भागने में हुए सफल सीबीएसई हाई स्कूल का लास्ट पेपर था छात्रों में पुराना विवाद बताया जा रहा है। सोचने वाली बात पुलिस से हमलावर निकले बचकर वह भी सिंभावली पुलिस से इस मामले को देखते हैं। तो लगता है कि हमलावर हेलिकॉप्टर में सवार थे और पुलिस पैदल।


एसडीएम की अनूठी एवं कारगर पहल

एसडीएम की अनूठी एवं कारगर पहल 
अकाशुं उपाध्याय 
गाजियाबाद। विश्व के 151 देशों में कोरोना वायरस लोगों के जीवन से खेल रहा है, लोग भयभीत और हताश जीवन जी रहे हैं। वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। जिससे बचाव ही एकमात्र सुरक्षा है। कई देशों के विशेषज्ञ इसके उपचार के लिए गहनाध्ययन कर रहे हैं। लेकिन अभी तक इसमें सफलता नहीं मिली है। कई देशों के हालात चिंताजनक बने हुए हैं। वही हमारे देश में भी वायरस का कम खौफ नहीं है। सार्वजनिक स्थान, स्कूल-कॉलेज, शॉपिंग मॉल और कॉन्प्लेक्स के साथ-साथ राज्यों में सामूहिक अवकाश घोषित किया जा रहा है। इसके विपरीत बचाव को प्राथमिक आधार बनाने वाले उप जिला अधिकारी चर्चा का केंद्र बने हुए हैं। 
गौरतलब हो गाजियाबाद स्थित तहसील लोनी में कार्यरत उप जिला अधिकारी खालिद अंजुम की पहल को अनूठा बताया जा रहा है। वहीं इसके कारगर होने की बात भी कही जा रही है। उप जिलाधिकारी के आदेश अनुसार तहसील एवं नगर पालिका कार्यालय आने वाले सभी लोग बाहर जूते-चप्पल उतारकर ही कार्यालय में प्रवेश कर रहे हैं। यह तरीका कितना कारगर सिद्ध होगा ? यह तो ठीक-ठीक नहीं कहा जा सकता है। लेकिन यह बात तय है कि संक्रमण का एक कारण गंदगी है। जूते चप्पल ज्यादातर गंदगी के नजदीक रहते हैं। इस सच्चाई से मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है। इसे एक बड़ा कारण मानते हुए यह अनूठी पहल की गई है। एसडीएम खालिद अंजुम ने प्रशासनिक कार्रवाई से परहेज करने के बजाय, बचाव के तरीके को प्राथमिकता देना उचित समझा। यह उनकी कर्तव्यनिष्ठा और बुद्धिमता का परिचायक है। जिससे जनता में जागरूकता बनी रहेगी। साथ-साथ उन्होंने क्षेत्र की जनता से अपील भी की है कि अपने घर, व्यवसाय आदि स्थानों पर संक्रमण को रोकने के लिए गंदगी को चिन्हित करें और उसका दायरा सीमित करें।


तीन साल बेमिसाल, रहे सब हलकान

प्रदेश में हावी है अफसरशाही, भाजपा निभा सकती है सिर्फ विपक्ष की भूमिका 


जनप्रतिनिधि एक भी बड़ा काम गिनाएं


रुद्रपुर।  पूर्व मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तिलकराज बेहड़ ने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार के तीन साल बेमिसाल नहीं, बल्कि जनता को बेहाल करने वाले तीन साल रहे हैं। जनता इन तीन सालों में हलकान रही है। अपनी खोखली उपलब्धियों का ढिंढोरा पीटने वाले सरकार के प्रतिनिधियों को शर्म आनी चाहिए कि प्रदेश की जनता महंगाई, बेरोजगारी, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क और भ्रष्टाचार आदि मुद्दों पर त्राहि त्राहि कर रही है।


श्री बेहड़ ने पत्रकार वार्ता करके कहा कि भाजपा के राज में प्रदेश के अन्नदाता किसान की हालत बद से बदतर हो चली है। प्रदेश भर में कर्ज के बोझ तले दबे किसान आत्महत्या को मजबूर है। भाजपा ने अपने दृष्टि पत्र में वादा करने के बावजूद किसानों का ऋण माफ नहीं किया। गन्ना किसानों के भुगतान वर्षों बाद भी लंबित हैं। कृषि विकास दर घट कर दो प्रतिशत से भी नीचे आ गई है। श्री बेहड़ ने कहा कि भाजपा ने युवाओं के साथ भी धोखा किया है। युवाओं को भ्रमित कर उनके वोट लेने वाली भाजपा के शासनकाल में बेरोजगारी दर भारत के इतिहास में सबसे भयावह दौर में पहुंच चुकी है। पहाड़ों से पलायन आज भी जारी है, वहीं नोट बंदी और जीएसटी के कारण उद्योग व व्यापार मंद पडऩे के चलते हजारों लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। प्रदेश में विकास की राह देखते जनता की आंखें पथरा गई हैं। समझ नहीं आता के सड़क में गड्ढें हैं या गड्ढों में सड़क।   


श्री बेहड़ ने कहा कि प्रदेश में जीरो टोलरेंस का सरकारी दावा हवा हवाई साबित हुआ है क्योंकि यह सरकार स्वयं भ्रष्टाचार में लिप्त है। एनएच 74 घोटाले में जेल गए अधिकारियों को इसी सरकार ने बहाल किया। प्रदेश में एनआरएचएम घोटाला, छात्रवृत्ति घोटाला, सिडकुल घोटाला इस सरकार की असल मंशा साबित करते हैं। प्रदेश में ट्रांसफर को अवैध कमाई का जरिया बना दिया गया है। बौर जलाशय के उच्चीकरण में भी करोड़ों का गोल माल किया गया है। फारेस्ट गार्ड भरती घोटाला, प्रदेश में हावी नकल माफिया, तीन साल में लोकायुक्त न बन पाना यह दिखाता है कि इस सरकार की कथनी और करनी बिलकुल अलग है। इसके अलावा राज्य में अफसरशाही निरंकुश हो चली है। जनता अपने कामों के लिए दर दर भटक रही है और राज्य कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर हैं।  


श्री बेहड़ ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार व दुष्कर्म के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। खुद भाजपा के संगठन महामंत्री मी टू में लिप्त पाए गए। भाजपा शासनकाल में मातृशक्ति हाशिये पर व महिला सशक्तिकरण का नारा धूल चाट रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था पूर्ण रूप से चौपट हो चुकी है। शिक्षा की बदहाली पर उच्च न्यायालय ने भी राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। शिक्षा सूचकांक के अनुसार अब राज्य दसवें स्थान से फिसल कर देश 14 वें पर आ गया है। राज्य में शिक्षकों की कमी लगातार बनी हुई है। गरीब परिवारों को शिक्षा के अधिकार से वंचित किया जा रहा है और छात्रवृत्ति में भी कमी की जा रही है। सरकार की मंशा इसी से पता लगती है की प्रदेश में शराब सस्ती की गई और मोबाइल वैन चला कर घर घर शराब पहुंचाने का प्रबंध किया गया। कहा जा सकता है के राज्य सरकार भू और खनन माफिया ही नहीं बल्कि शराब माफियाओं के हाथ की भी कठपुतली है। यहीं नहीं बल्कि राज्य सरकार ने रोडवेज किराये तथा बिजली और पानी के दामों में भी बेतहाशा वृद्धि कर गरीब जनता की कमर तोडऩे का काम किया है।  श्री बेहड़ ने कहा कि भाजपा सरकार ने खाद्यान्न में एपील कार्ड धारकों के लिए गेहूं नौ रुपये किलो और चावल 15 रुपये किलो दाम बढऩे के साथ इनकी मात्र भी घटाई और मिट्टी के तेल व राशन की चीनी की आपूर्ति पूरी तरह बंद कर दी। हालत यह है कि डिपो से सस्ता राशन ही गायब है। श्री बेहड़ ने कहा कि लगता है प्रदेश में जिला विकास प्राधिकरणों का गठन जनता को परेशान करने के लिए किया गया है। गरीब व्यक्ति अपने जीवन भर की कमाई से अपने घर का निर्माण करना चाहता है, लेकिन नियमों की जटिलता के कारण यह काम अब उसके लिए असंभव सा हो गया है। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में जनता का जबरदस्त उत्पीडऩ हो रहा है। यह सभी प्राधिकरण राज्य सरकार की लूट का अड्डा बन चुके हैं।        


श्री बेहड़ ने कहा की सबसे बड़ी विडंबना तो स्वास्थ्य विभाग के साथ है, जिसकी जिम्मेदारी स्वयं मुख्यमंत्री संभाल रहे हैं। हालात इस कदर खराब हैं कि कई घटनाओं में माताओं बहनों को शौचालय में प्रसव करने को मजबूर होना पड़ा है। समय पर एम्बुलेंस न मिलना, दवाइयों का टोटा, उपचार में देरी, डाक्टरों की कमी अब आम बात हो चली है। पिछले साल स्वास्थ्य क्षेत्र में 2200 करोड़ का बजट होने के बावजूद स्वास्थ्य सेवाओं में रत्ती भर भी सुधार नहीं हुआ है। अटल आयुष्मान योजना की हालात ये है कि निजी अस्पताल इन कार्डों को स्वीकार ही नहीं करते और इस योजना की आड़ में भी कई घोटाले सामने आ चुके हैं। श्री बेहड़ ने कहा कि अब समय आ गया है कि जनविरोधी सरकार के खिलाफ  सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष किया जाए और इनकी असलियत जनता के सामने लाई जाए।


शाहीन बागः संक्रमण हो जाए, नहीं हटेंगे

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खतरे और दिल्ली सरकार द्वारा दी गई सलाह के बावजूद शाहीन बाग में मंगलवार को करीब 500 से अधिक महिलाएं धरनास्थल पर एक दूसरे से सटकर बैठी हुई नजर आईं। प्रदर्शन स्थल पर मौजूद इन महिलाओं का कहना है कि उनके स्वास्थ्य की जिम्मेदारी सरकार की है। खास बात यह रही कि प्रदर्शन स्थल पर न तो महिलाओं के लिए हाथ धोने की कोई व्यवस्था है न ही इस दौरान किसी ने अपना मुंह ढका है और न ही कोरोना वायरस से बचने का कोई और इंतजाम यहां किया गया है।


प्रदर्शन में मौजूद सोफिया ने कहा, “हमें कोरोना वायरस और सीएए एवं एनआरसी दोनों से ही लड़ना है। इस लड़ाई में हमारे लिए कोरोना वायरस से ज्यादा खतरनाक एनआरसी और सीएए है। इसलिए सीएए के खिलाफ हमारी यह लड़ाई लड़ाई जारी रहेगी। बीमार होने के डर से हम अपने आंदोलन को छोड़कर घर नहीं बैठ सकते।”


प्रदर्शन में मौजूद रुखसत ने प्रदर्शनकारी महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा, “दिल्ली सरकार ने दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर मोहल्ला क्लीनिक खोले हैं। सरकार को अगर हमारी इतनी ही चिंता है, तो शाहीन बाग में भी धरनास्थल के पास एक मोहल्ला क्लीनिक खोल दे।” कोरोना वायरस को लेकर दी जा रही चेतावनी के बावजूद यहां शाहीनबाग में मंगलवार (17 मार्च) को सैकड़ों प्रदर्शनकारी एक दूसरे से सटकर कर बैठे रहे। इस दौरान उन्होंने जमकर नारेबाजी भी की। प्रदर्शनकारियों ने बिना साबुन से हाथ धोए दोपहर का भोजन भी यही धरनास्थल पर किया।
54 वर्षीय नूरजहां ने कहा, “अगर सरकार को हमारी इतनी ही चिंता है तो क्यों नहीं कानून को वापस ले लेती है। अगर सीएए का कानून वापस हो जाए, तो हम आज ही इस सड़क को साफ करके अपने घरों को लौट जाएंगे, लेकिन कानून वापस न होने की शक्ल में हम यहां से नहीं हटेंगे, फिर बेशक हम लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण ही क्यों न हो जाए।”
प्रदर्शनकारी महिलाओं ने कहा, “हमें अपने आंदोलन के लिए सब कुर्बानियां मंजूर हैं। प्रदर्शन के दौरान हमने कई समस्याएं बर्दाश्त की हैं। हमने सर्दी सहन की, अब गर्मी आएगी, हम बर्दाश्त करेंगे। बारिश और सर्द रातों में भी हम यहां डटे रहें। कोरोना वायरस का खतरा भी हमें मंजूर है। तब तक यह लड़ाई मंजूर है, जब तक देश के हुक्मरान हमारी बात नहीं सुनते।”


वारंटी को पकड़ने गई पुलिस, हमला

राजस्थान- वारंटी को पकडऩे गई राजस्थान पुलिस पर वारंटी के परिजनों ने व ग्रामीणों ने किया जानलेवा हमला ।



अलवर। जिले के मांढण थानाधिकारी व हेड कांस्टेबल पर ग्रामीणों ने लाठी-डंडों से किया हमला। मांढण थाना क्षेत्र के रायसराणा गांव में पंजाब थानाधिकारी पुलिस जाब्ते के साथ वारंटी बदमाश को पकडऩे पहुंची। गांव में पहुंचते ही आरोपी के परिजनों व ग्राम वासियों ने पुलिस पर किया हमला, हमला होते ही पंजाब व राजस्थान पुलिस खेतों के रास्ते होते हुए अपनी जान बचाकर भागी। जानलेवा हमले में मांढण थानाधिकारी विक्रम सिंह और हेड कांस्टेबल अशोक यादव के सिर में आई है चोट आई । जबकि अन्य तीन पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें आई है । हमले के बाद दोनों को मांढण सीएचसी में भर्ती कराया गया, जहां दोनों के सिर में चोट आई है । पुलिस राज कार्य मे बाधा का मुकदमा करेगी दर्ज ।


एसओ का बुके देकर स्वागत किया

थाना लोनी बॉर्डर के नए प्रभारी का आम आदमी पार्टी की महिलाओं ने किया स्वागत


लोनी। नवनियुक्त थाना प्रभारी लोनी बॉर्डर का प्रभार संभालते ही आम आदमी पार्टी की महिला कार्यकत्रियों ने बुके देकर उनका स्वागत किया और उम्मीद की क्षेत्र में बढ़ते हुए अपराध पर लगाम लगाने में कामयाब रहेंगे।


आम आदमी पार्टी की जिला उपाध्यक्ष भावना बिष्ट ने लोनी सर्किल स्थित थाना बॉर्डर का ज्ञानेंद्र बौद्ध को चार्ज संभालते ही बुके देकर उनका स्वागत किया और इसी कड़ी में थाना प्रभारी से जिला उपाध्यक्ष ने क्षेत्र के कई ज्वलनशील मुद्दों पर भी बात की। वही नए थाना प्रभारी से उम्मीद जताई है कि क्षेत्र में बढ़ते हुए अपराध को रोकने में नए थाना प्रभारी पूर्ण रूप से कामयाब रहेंगे। ज्यादातर क्षेत्र में महिलाओं से संबंधित समस्याएं सामने रखी और कहा कि थानों चौकीयो के अंदर महिलाओं का सम्मान नहीं होता है। परेशान होकर वह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद के यहां जाकर कई बार न्याय की गुहार भी लगाती है। लेकिन अब हमें नए थाना प्रभारी के आने से यह उम्मीद है कि इस तरह की समस्याओं का निदान थाना लोनी बॉर्डर पर ही हो जाया करेगा। लोगों को गाजियाबाद जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। रूपा शेख आम आदमी पार्टी के नगर अध्यक्ष।


वन-विभाग की भूमि पर कब्जा, काटे पेड़

स्कूल प्रबंधन ने वन विभाग की भूमि पर कब्जा कर काटे हजारों पेड़


ब्लूमिंग किड्स पब्लिक स्कूल ने जीडीए की भूमि पर भी किया कब्जा प्रशासन अनभिज्ञ


आठवीं कक्षा की मान्यता होने के बाद भी चलाया जा रहा इंटर तक स्कूल


सचिन विशौरिया


गाजियाबाद। लोनी नगर पालिका क्षेत्र के लाल बाग कॉलोनी में स्थित ब्लूमिंग किड्स पब्लिक स्कूल प्रबंधन ने किया सरकारी भूमि पर कब्जा। वन विभाग की भूमि पर कब्जा करने के बाद हजारों पेड़ों को काटकर बनाया प्लेग्राउंड यहां आपको बता देंगे ब्लूमिंग किड्स पब्लिक स्कूल एक अनौथराइज स्कूल है। जिसकी मान्यता सरकार द्वारा आठवीं तक है और गैरकानूनी तरीके से 12वीं क्लास तक के बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। मौके पर भारतीय किसान यूनियन की शिकायत के बाद कानूनगो व पटवारी ने सरकारी भूमि की पैमाइश कर उप जिलाअधिकारी लोनी को जांच सौंपने की बात कही। कॉलोनी वासियों के द्वारा बताया जा रहाा है। किया सुबह स्कू्कूल प्रिंसिपल  को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था। लेकिन कुछ सांठगांठ होने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।


विधायक-सांसद पर रेप पीड़िता के आरोप

अकरम


गाजियाबाद। लोनी में पिछले कई सालों रेप पीड़िता इंसाफ के लिए चक्कर काट रही हैं। उन्होंने लोनी विधायक व गाजियाबाद सांसद पर आरोप लगाते हुए बताया कि लोनी नगर पालिका से भाजपा के पूर्व चेयरमैन मनोज धामा ने उन दोनों को खरीद लिया है। वह लोग उनकी मदद नहीं कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो के अनुसार पीड़ित महिला सरकार से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की नीतियों पर सवाल उठाते हुए नजर आए। वहीं इस मामले में जब बात की गई तो,लोनी विधायक ने बताया कि पीड़ित महिला उनके पास शिकायत लेकर आई थी। लेकिन विधायक ने पीड़ित महिला को कानून का सहारा लेने के लिए कहा उन्होंने बताया कि राजनीतिक स्तर पर या व्यक्तिगत स्तर पर इस मामले में कुछ नहीं हो सकता। क्योंकि यह मामला कोर्ट में चल रहा है तो आप अधिकारियों से ही मदद मांगे। जिसके बाद पीड़िता ने जिलाधिकारी गाजियाबाद को लिखित शिकायतें मामले से अवगत कराया।


यूपीः उपद्रवियों से वसूली के आदेश

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में लखनऊ को ह‍िंसा की आग में झोकने वाले 13 उपद्रवियों से 21.76 लाख रुपये की वसूली के लिए प्रशासन ने आरसी जारी कर दी है। जुर्माना जमा करने के लिए कोर्ट ने तीस दिन का समय दिया था, लेकिन निर्धारित वक्त में किसी ने जमा नहीं किया। 19 दिसंबर को राजधानी में विभिन्न संगठनों द्वारा बुलाए गए प्रदर्शन के दौरान जबर्दस्त ह‍िंसा और उपद्रव के दौरान राजधानी में करीब पांच करोड़ रुपये की संपत्ति को आग के हवाले कर दिया गया था। जांच और पुलिस द्वारा उपलब्ध कराए साक्ष्यों के आधार पर केवल हसनगंज थाना क्षेत्र के 20 उपद्रवियों को 13 फरवरी को रिकवरी का आदेश जारी हुआ था। इनमें से सात रिकवरी से बरी हो गए थे।


 
उपद्रवियों को तीस दिनों के भीतर संयुक्त या व्यक्तिगत रूप से जुर्माना जमा कराना था।एडीएम ट्रांसगोमती विश्वभूूषण मिश्र के मुताबिक उपद्रवियों से वसूली के लिए आरसी जारी कर दी गयी है। तहसीलदार द्वारा अब डिमांड नोट भेजकर 15 दिन का समय दिया जाएगा। इस दौरान प्रशासन वसूली के लिए घरों के बाहर डुग्गी भी पिटवा सकता है। अगर जुर्माना नहीं भरा तो संपति कुर्क कर जुर्माना वसूला जाएगा।धर्मवीर सिंह,ओसामा सिद्दीकी, मुहम्मद हासिम, मुहम्मद कलीम, मुख्तार अहमद, कलीम अहम, जाकिर, सलमान, मुबीन, वसीम, शाफीकुद्दीन, माहेनूर चौधरी, हफीजुरर्रहमा।जिला मजिस्ट्रेट अभिषेक प्रकाश के मुताबिक यह आदेश केवल हसनगंज थाना क्षेत्र के लिए है। अभी तीन अन्य थाना क्षेत्रों के कुल 57 उपद्रवियों से वसूली होनी है। अगर बाकियों से समय रहते जुर्माना नहीं जमा किया तो फिर प्रशासन इनकी भी आरसी काटेगा।


पंचायत ने कराई 'भाई-बहन' की शादी

कटिहार। प्रेम-प्रसंग में लोग इतने खो जाते हैं कि अपने रिश्ते का भी ख्याल नहीं रखते हैं ऐसी ही एक घटना सामने आई है, जिसने सबको हैरान कर दिया है। मामला कटिहार जिले का है, जहां भरी सभा में सबके सामने पंचायत ने भाई-बहन की शादी करा दी। बताया जा रहा है कि दोनों ना सिर्फ रिश्ते में भाई-बहन हैं, बल्कि नाबालिग भी हैं। घटना सामने आने के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। 

घटना कटिहार जिले के हसनगंज थाना इलाके की है। जहां कालीगंज गांव में प्रेम प्रसंग में घर से भागे नाबालिग प्रेमी जोड़े की शादी पंचायत ने करा दी। मुखिया और सरपंच ने पंचायत लगा कर सैकड़ों लोगों के बीच जबरन मांग में सिंदूर डलवाया। इस पूरी घटना का वीडियो सामने आया है। शादी का वीडियो सामने आने पर पुलिस प्रशासन हरकत में आई है।


इस शादी का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि एक स्थान पर काफी संख्या में जुटी भीड़ नाबालिग जोड़े की जबरन शादी करा रहे हैं। शादी में महिलाएं भी शामिल हैं जो लड़के से जबरन लड़की की मांग भरवा रही हैं और भीड़ के बीच दोनों की शादी करवा रही हैं। लड़के के पिता ने शंकर महतो ने पंचायत के लोगों पर आरोप लगाया है कि जबरन पंचायत से उठा कर शादी कर दी गई है, जबकि रिश्ते में दोनों भाई बहन लगते हैं। शादी का वीडियो सामने आने पर कटिहार अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने कहा कि वीडियो के माध्यम से जानकारी हमें भी मिली है। घटना की छानबीन की जा रही है। आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।


अजयदीप चौहान


गांधी मैदान में मांझी दिखाएंगे ताकत

पटना। महागठबंधन में मचे घमासान के बीच पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने अपनी पार्टी के महत्वपूर्ण नेताओं के साथ आज बैठक की। बैठक में आरजेडी को लेकर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के नेताओं का गुस्सा अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने फूट पड़ा। हम के नेताओं ने मांझी को दो टूक कह दिया कि अब आरजेडी नेताओं की तरफ से की जा रही बयानबाजी काबिले बर्दाश्त नहीं है।


अपनी पार्टी के नेताओं का गुस्सा देखकर भी मांझी ने धैर्य से काम लिया है। जीतन राम मांझी ने अपनी पार्टी के नेताओं को कहा है कि आगामी 10 मई को पटना के गांधी मैदान में आयोजित होने वाले राजनीतिक कार्यकर्ता सम्मेलन की सफलता पर सभी अपना ध्यान लगाएं। पटना के गांधी मैदान में मार्च 10 मई को कार्यकर्ताओं का जुटान कर अपना शक्ति प्रदर्शन करने वाले हैं। आरजेडी की तरफ से की जा रही बयानबाजी को लेकर जीतन राम मांझी ने अपनी पार्टी के नेताओं के सामने यह साफ कर दिया है कि वाह स्वाभिमान से समझौता कर कोई गठबंधन नहीं चलाने वाले।


बिना परीक्षा आठवीं कक्षा तक होगें प्रमोट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना वायरस के कारण सभी शैक्षणिक संस्थाओं के साथ ही चल रही परीक्षाओं को बंद कर दिया है। अब सरकार ने निर्णय लिया है कि कक्षा आठवीं तक के छात्रों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा।


शिक्षा विभाग संभाल रहे उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा है कि यह निर्णय स्कूलों को बंद करने के मद्देनजर लिया गया है। शर्मा ने कहा, “छात्रों को उनके पूरे साल के प्रदर्शन के आधार पर प्रमोट किया जाएगा।”


राज्य सरकार ने 2020 के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं का जांचकार्य भी दो अप्रैल तक रोक दिया है। यह फैसला कोरोना वायरस के डर से शिक्षकों के जांच केंद्रों से दूर रहने के बाद आया है। जाहिर है जांचकार्य में देरी से हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं के नतीजे भी देरी से आएंगे।


चरण स्पर्श, गर्भगृह में प्रसाद पर रोक

चरण स्पर्श व गर्भगृह में प्रसाद चढ़ाने पर अनिश्चितकालीन पाबन्दी ।
विन्ध्याचल , मीरजापुर । कोरोना वायरस को लेकर जिलाधिकारी  ने विन्ध्य पण्डा समाज के पदाधिकारियों के  साथ बैठक की । विन्ध्याचल स्थित जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल  व पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने  पण्डा समाज के पदाधिकारियों संग बैठक की । बैठक का मुख्य उद्देश्य कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का था । माँ विन्ध्यवासिनी दरबार मे आने वाली दर्शनार्थियों की संभावित भीड़ को लेकर जिलाप्रशासन के माथे पर चिंता की लकीरें स्पष्ट रूप से देखी जा रही थी । बैठक में निर्णय लिया गया कि अनिश्चित काल के लिए दर्शनार्थियों को चरण स्पर्श व प्रसाद चढ़ाने पर पूर्ण रूप से पाबन्दी रहेगी । ऐसा निर्णय लेने का प्रमुख कारण दर्शनार्थियों की भीड़ को इकट्ठा न होने देना है । बैठक में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के अलावा नगर मजिस्ट्रेट जगदम्बा सिंह पटेल , पुलिस अधीक्षक नगर प्रकाश स्वरूप पाण्डेय , पण्डा समाज के अध्यक्ष पंकज द्विवेदी , मंत्री भानू पाठक , राजन पाठक , धर्मेद्र पांडेय , कोषाध्यक्ष तेजन गिरी परिषद सदस्य राज मिश्रा व विभूति मिश्रा इत्यादि लोग मौजूद रहे ।


वायरस को लेकर चीन-अमेरिका में तनाव

नई दिल्ली। कोरोनावायरस के कहर से पूरी दुनियाभर के लोग परेशान हैं। उधर अमेरिका और चीन इसको लेकर आपस में भिड़ गए हैं। दोनों देशों में तनाव चरम पर है।
कोरोना वायरस से एक तरफ पूरी दुनिया जूझ रही है। दूूूसरी तरफ अमेरिका और चीन के बीच कोरोना पर जुबानी जंग छिड़ गई है। कोरोना की शुुुरूआत और फैलने को लेेेकर आरोप-प्रत्यारोप में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी कूद पड़े हैं। उन्होंने मंगलवार को ट्वीट कर कोरोना को ‘चीनी वायरस’ बताया तो चीन ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई और अपना विरोध जताया। उधर, चीन ने अमेरिका के बयान की प्रतिक्रिया में गुस्सा होकर तीन अमेरिकी पत्रकारों को देश से निकाल दिया। इसे चीन की जवाबी कार्रवाई माना जा रहा है। अमेरिका और चीन कोरोनावायरस को लेकर एक दूसरे पर लगातार आरोप लगा रहे हैं। चीन की ताजा कार्रवाई से दोनों देशों के बीच रिश्ते और खराब हो सकते हैं।


ठंडे खाद्य पदार्थों से करें परहेज

नई दिल्ली। कोरोना के वायरस से बचने के लिए फिलहाल ठंडे खाद्य पदार्थों से परहेज करना फायदेमंद साबित हो सकता है। डॉक्टरों के अनुसार ठंडे खाद्य पदार्थों पर वायरस तेजी से पनपते और बढ़ते हैं। इसके अलावा इम्युनिटी पावर भी कमजोर होती है। डॉक्टरों के अनुसार इन दिनों गर्म पानी पीना ज्यादा फायदेमंद रहता है। आइसक्रीम जैसे ठंडे खाद्य पदार्थ नुकसान पहुंचा सकते हैं। दरअसल इनसे सीधा नुकसान तो नहीं है, लेकिन ये शरीर को कमजोर कर सकते हैं। इम्युनिटी कम होने से वायरस बहुत तेजी से हमला करते हैं, जिससे रोग तेजी से फैलता है। ठंडा और बासी खाना तेजी से वायरस को बढ़ाता है। कोरोना के खतरे को देखते हुए बैंक कैशियर भी चिंता में हैं। दरअसल उन्हें नोट गिनने होते हैं, जो अनगिनत हाथों से होकर गुजरे होते हैं। ऐसे में उन्हें डर सता रहा है कि इससे वायरस का अटैक न हो जाए। डॉक्टरों के अनुसार नोट गिनते वक्त थूक लगाना नुकसान कर सकता है। नोट गिनने के बाद हाथों को लगातार सैनेटाइज करते रहे और हाथों को चेहरे पर लगाने से बचें। कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतें, लेकिन अनावश्यक घबराएं नहीं। हल्की सर्दी-जुकाम होते ही कोरोना फोबिया से परेशान न हों। डॉक्टर से मिलें और उनकी सलाह के अनुसार दवा लें। खुद को तनावमुक्त रखकर कोरोना फोबिया से बचा जा सकता है। कोरोना से ज्यादा इन दिनों लोगों में कोरोना फोबिया का असर है। कोरोना के डर से लोग खौफ में हैं। हल्की सर्दी-जुकाम होते ही लोग अस्पतालों की तरफ दौड़ रहे हैं। इसमें मरीज किसी भी तरह की दिक्कत को कोरोना से जोड़कर खुद ही घबराने लगता है। मनोवैज्ञानिक डॉ. वीना कृष्णन के अनुसार लोग सुबह से शाम तक कोरोना के बारे में सुन रहे हैं। टीवी, अखबार से लेकर दफ्तरों में और दोस्तों के बीच तक इसकी चर्चा हो रही है। ऐसे में हल्के-फुल्के लक्षण पर भी लोग घबरा रहे हैं। सतर्क रहकर बचाव अच्छी बात है, लेकिन इसे दबाव के रूप में महसूस करना ठीक नहीं। डॉ. वीना कृष्णन के अनुसार कोरोना फोबिया से बचाव के लिए आवश्यक है कि दिमाग को दूसरे कामों में व्यस्त रखें। स्वास्थ्य में किसी तरह की दिक्कत हो तो डॉक्टर से मिलें। खुद को सामान्य बनाए रखने का प्रयास करें। सुबह-शाम व्यायाम कर खुद को तनावमुक्त रखने का प्रयास करें।


टीचर ने 11 छात्राओं से रेप किया

वानापार्थी। तेलंगाना से एक घ‍िनौनी वारदात सामने आई है, जिसमें टीचर पर 11 नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्‍कर्म का आरोप है। ये लड़कियां उसकी स्‍टूडेंट्स थीं, जिन्‍हें वह घर में ट्यूशन देता था। आरोपी एक प्राइवेट स्‍कूल का टीचर बताया जा रहा है। पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले में आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर दिया। उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है, जिसका खुलासा एक लड़की को ब्‍लीडिंग होने के बाद हुआ।


10 साल की लड़की की हालत से हुआ खुलासा 


घटना वानापार्थी जिले की बताई जाती है। बताया जाता है कि आरोपी टीचर ने साल 2018 से लेकर मासूम लड़कियों के साथ कई बार यह घिनौनी हरकत की। ये लड़कियां चौथी की स्‍टूडेंट बताई जा रही हैं। मामला का खुलासा तब हुआ, जब 10 साल की एक बच्‍ची को जब ब्‍लीडिंग शुरू हुआ तो उसने यह बात अपनी मां को बताई। बाद में जब उसे चिकित्‍सक के पास ले जाय गया और उससे पूछताछ हुई तो इसका खुलासा हुआ कि ट्यूशन टीचर ने किस तरह उसके साथ शर्मनाक हरकत की। उसकी उम्र 27 साल बताई जाती है।


कैदियों से भी नहीं होगी मुलाकात

कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव के चलते लिया फैसला


प्रमोद राही


लखनऊ। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते जेल प्रशासन नें बंदियों की मुलाकात 31 मार्च तक बंद कर दी है। हालांकि जरूरत पड़ने पर जेल प्रशासन और बंदी की सहमति पर एक व्यक्ति मिल सकता है।वरिष्ठ जेल अधीक्षक प्रेमनाथ पाण्डेय बताते हैं कि मौजूदा समय में करीब 3500 बंदी हैं। जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल समेत देश के विभिन्न राज्यों के हैं। मुलाकात घर में चार से पांच शिफ्ट में होने वाली मुलाकात में करीब 600 से अधिक लोग मिलते हैं। इस दौरान करीब आधा घंटे तक यह लोग एक साथ रहते हैं। जेल प्रशासन नें मुलाकात घर में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की आंशका के चलते 31 मार्च तक मुलाकात बंद करने का फैसला लिया है।श्री पाण्डेय बताते हैं कि बंदियों से विचार विमर्श और आम सहमति के बाद मंगलवार को मुलाकात रोके जाने पर फैसला लिया है। जेल में मास्क, हैंडवॉश, सेनेटाइजर और साबुन समेत अन्य जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। जेल आने वाले नए बंदियों को 31 मार्च तक हफ्ते में परिवार के किसी एक सदस्य को सिर्फ एक बार मिलने की छूट दी जाएगी। ताकि वह अपने बंदी को कपड़ा और कुछ खानपान का सामान आदि दे सके।


 


सीतापुर जेल में बंद आजम को खतरा

सीतापुर। जिला जेल में बंद सपा सांसद आजम खां से मिलने आए नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि, उनकी (आजम खां) बैरक में सांप निकलते हैं। गंदगी इतनी है , आजम को कोरोना हो सकता है। जेल में उन्हें अब तक बी श्रेणी की सुविधाएं नहीं दी गई है। उनको तनहाई में रखा गया है।


 जो काम नहीं होना चाहिए, वो सब उनके साथ हो रहा है। आजम खां को जेल भेजने के सवाल पर उनका कहना था कि, मुसलमानों को डराने के लिए उन्हें (आजम खां) जेल भेजा गया है। उन्होंने ये भी कहा कि, जब से सरकार बनी है। मुस्लिम विरोधी काम ही किया जा रहा है। जबकि देश की आजादी में जितना हाथ हिंदुओं का था, उतना मुसलमानों का भी। सपा सांसद से पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप ने भी मुलाकात की। सरकार कोरोना वायरस के बारे में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, प्रदेश सरकार कोरोना से भी खराब है। हम लोगों में कोरोना का भय इसलिए नहीं है क्योंकि हम चौकन्ना हैं। और वैसे भी सरकार हम लोगों को पहले से ही चौंकाना शुरू कर दिया है। नेता प्रतिपक्ष ने विकास के नाम पर 300 से अधिक सीटें जीतने का दावा भी किया।


महाराष्ट्र में वायरस का ज्यादा प्रकोप

नई दिल्ली। भारत में घातक कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। अब तक देश में कोविड-19 पॉजिटिव के कुल मामले बढ़कर 147 हो गए हैं। बता दें कि इसके संक्रमण से देश में 3 मरीजों की मौत हुई है। वहीं कोरोना से संक्रमित मरीज सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में सामने आए हैं। यहां 42 मरीज कोरोना से पीड़ित बताए जा रहे है। मोदी सरकार ने कोरोना को राष्ट्रीय आपदा घोषित कर रखा है। कोरोना से मौत होने पर केंद्र ने 4 लाख का मुआवजा मृतक के परिजनों को देने का एलान किया है। पुणे के जिलाधिकारी नवल किशोर राम ने बताया कि पुणे में एक और व्यक्ति में पॉजिटिव कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। व्यक्ति फ्रांस और नीदरलैंड से यात्रा कर के आया था। पुणे में पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 18 और महाराष्ट्र में 42 पहुंच गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से 18 मार्च सुबह 9 बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड 19 संक्रमण के कुल 147 मामले हैं। इनमें से 122 भारतीय और 25 विदेशी नागरिक हैं। अभी तक 14 मरीज संक्रमण से रिकवर हो गए हैं। मंत्रालय के अनुसार, कोरोना के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र में 38 हैं। हालांकि, राज्य में स्थानीय प्रशासन ने बुधवार सुबह तक 42 मामलों की पुष्टि की है। 42वां केस पुणे से है। वहीं, मंत्रालय के अनुसार केरल में संक्रमित मरीजों की संख्या 25, यूपी में 15, कर्नाटक में 11 और दिल्ली में 9 मामले अभी तक सामने आए हैं।


सोने के दाम में उछाल, चांदी फिर लुढ़की

नई दिल्ली। शेयर बाजार भारी गिरावट के साथ मंदी की ओर बढ़ती जा रही है। ऐसे में अर्थव्यवस्था का असर दिल्ली के सर्राफा बाजार पर भी देखने को मिल रहा है। सुरक्षित निवेश के रूप में निवेशक सोने में काफी रूचि दिखा रहे है। इसके चलते बुधवार को बुलियन मार्केट में सोना 860 रुपये महंगा होकर 40746 रुपये प्रति 10 ग्राम पर खुला। वहीं चांदी 6445 रुपये प्रति किलो की गिरावट देखी गई। आज चांदी का 310 रुपये/किलो रेट में बदलाव होकर भाव 35455 रुपये/किलो हो गया है।


जरूरत पड़ी तो खुद बेंगलुरु जाऊगां

रायपुर। मध्यप्रदेश की कांग्रेसी सरकार के स्थायित्व की चाभी बन चुके सिंधिया समर्थित 22 बाग़ी विधायकों ने कर्नाटक के डीजीपी को पत्र लिखकर किसी भी कांग्रेसी नेता या सदस्य को मिलने की अनुमति नहीं देने का आग्रह किया हैं। संयुक्त हस्ताक्षर वाले पत्र में लिखा गया है-
“किसी भी कांग्रेसी नेता/सदस्य को उनसे मिलने की अनुमति न दी जाए। जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि उनके जीवन और सुरक्षा को कोई खतरा नहीं है”इधर इन विधायकों से मिलने की क़वायद में बैंगलुरु पहुँचे मध्य प्रदेश से राज्यसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह और उनके साथियों को लेकर यह जानकारी आई है कि पुलिस ने मुचलके पर छोड़ दिया है। इस प्रतिनिधिमंडल ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री से मुलाक़ात की भी कोशिश की पर उन्हें समय नहीं दिया गया।


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भोपाल में मीडिया से कहा है –
“पिछले 15 महीनों में हमने कई बार बहुमत साबित किया है। अगर कोई सड़क पर खड़ा होकर कहता है कि आपका बहुमत नहीं है तो भाजपा अविश्वास प्रस्ताव लाए।मुझे पता नहीं दिग्विजय सिंह क्या कर रहे हैं। अगर जरूरत पड़ी तो मैं भी बेंगलुरू जाऊंगा”


वैष्णौ मंदिर बंद, काशी आरती पर रोक

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। 10 और नए मामले सामने आने के बाद अब तक इससे 147 लोगों के संक्रमित होने की सूचना है जिसमें अलग-अलग राज्यों के लोग शामिल हैं। उप्र के गौतमबुद्ध नगर जिले के नोएडा व केंद्र शासित लद्दाख में दो-दो लोग और कोरोना वायरस से संक्रमित (पॉजिटिव) पाए गए हैं। मंगलवार को बंगाल में भी कोरोना से संक्रमित होने का पहला मामला सामने आया। वहीं कर्नाटक में भी एक 67 साल की महिला को कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया जिसके बाद राज्य में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 11 हो गई है। इस संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने सभी पर्यटक स्थलों, मंदिरों, दफ्तरों को बंद कर घर से काम करने के निर्देश जारी किए हैं वहीं मध्यप्रदेश व अन्य राज्यों में भी ऐसी हर जगह को बंद कर दिया गया है जहां भीड़ एकत्रित हो सकती है ।


कोरोना वायरस के चलते श्री माता वैष्णो देवी की यात्रा आज से बंद कर दी गई है। वहीं जम्मू-कश्मीर से आने और जाने वाली सभी अंतर्राज्यीय बसों के परिचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इससे पहले कल यानी कि मंगलवार को वैष्णो देवी धाम स्थित अर्द्धकुंवारी प्राकृतिक गुफा को बंद कर दिया गया था । वहीं श्रीनगर एनआईटी के बाद मंगलवार को जम्मू में आईआईटी और आईआईएम को बंद कर दिया गया ।  हॉस्टल खाली करवाकर छात्र-छात्राओं को घर भेजा जा रहा है । मुबारक मंडी डोगरा आर्ट-म्यूजियम और श्रीनगर एसपीएस म्यूजियम को 31 मार्च तक बंद किया गया है । इनकी शोध लाइब्रेरी भी बंद की गई है। सचिवालय में भी आम लोगों की आवाजाही रोक दी गई है । जम्मू और कठुआ में डीसी दफ्तर में आम लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है । कार्यालय के बाहर बॉक्स लगाकर लोगों की शिकायतों को लिया जा रहा है ।


 साहू आशीष


'भारत-पाक' परमाणु युद्ध होगा विनाशक

नई दिल्ली। अमेरिका की रटजर्स यूनिवर्सिटी- न्यू ब्रून्सविक के शोधकर्ताओं के आकलन पर आधारित एक अध्ययन में दावा किया गया है कि दोनों देशों के पास मौजूद परमाणु हथियारों का महज एक फीसदी हिस्सा भी 10 करोड़ लोगों की तत्काल जान ले सकता है। इसके अलावा वैश्विक स्तर पर आधुनिक इतिहास के सबसे बड़े खाद्यान्न संकट का कारण बन सकता है। इससे लोगों के खाने के लाले पड़ जाएंगे और करोड़ों लोगों की जान भूख के कारण चली जाएगी। अध्ययन में कहा गया कि दोनों के बीच परमाणु युद्ध के चलते वैश्विक स्तर पर तापमान में गिरावट के अलावा बेहद कम बारिश और सूरज की धूमिल रोशनी जैसे बुरे प्रभाव होगा।


इसका बड़ा असर फसलों के उत्पादन पर पड़ेगा। पहले साल में ही खाद्यान्न उत्पादन 12 फीसदी गिर जाएगा, जो किसी भी ऐतिहासिक सूखे के चलते हुई खाने की कमी से चार गुना ज्यादा बड़ा आंकड़ा होगा। यह असर करीब एक दशक तक पूरे विश्व के खाद्यान्न उत्पादन और व्यापार को प्रभावित करता रहेगा। शोधकर्ताओं का कहना है कि इसका असर 21वीं सदी के आखिर तक मानवजनित जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से कहीं ज्यादा होगा। उनका मानना है कि वैसे तो कृषि उत्पादकता पर वैश्विक तापमान में वृद्धि का व्यापक रूप से अध्ययन किया गया है, लेकिन तापमान में अचानक गिरावट के वैश्विक फसल वृद्धि पर प्रभाव की जानकारी फिलहाल बेहद कम स्तर पर है। इस अध्ययन में अपना योगदान देने वाले प्रोफेसर एलेन रोबोक ने कहा कि हमारे नतीजे से इस वजह को बल मिलता है कि परमाणु हथियारों का अवश्य ही सफाया किया जाना चाहिए, क्योंकि यदि वे बने रहे तो उनका इस्तेमाल किया जा सकता है और दुनिया के लिए इसके परिणाम त्रासद हो सकते हैं।


सर्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...