शनिवार, 10 जून 2023

14,239 अध्यापकों की सेवाएं नियमित, मंजूरी 

14,239 अध्यापकों की सेवाएं नियमित, मंजूरी 

अमित शर्मा 

चंडीगढ़/मानसा। शिक्षा के क्षेत्र में एक और बड़ा लोक हितैषी फैसला लेते हुए पंजाब मंत्रिमंडल ने 14,239 अध्यापकों की सेवाएं नियमित करने की मंजूरी दे दी है। इनमें 6337 वे अध्यापक भी नियमित हुए हैं, जिनको राज्य के इतिहास में पहली बार तजुर्बे में राहत दी गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि मंत्रिमंडल ने 14,239 अध्यापकों की सेवाएं रेगुलर करने का फ़ैसला किया है, जो 10 साल की नौकरी पूरी कर चुके हैं या किसी कारण नौकरी में अंतर (गैप) डाल कर 10 साल की रेगुलर सेवा निभा चुके हैं।

इन 14239 अध्यापकों में से 7902 अध्यापकों ने नौकरी का 10 साल या इससे अधिक का समय पूरा किया है जबकि 6337 अध्यापक वे हैं जिनका अपरिहार्य स्थिति के कारण रेगुलर सेवा में गैप पड़ गया था। इन अध्यापकों को सरकार की नीति के मुताबिक रेगुलर वेतन, भत्ते और छुट्टियां मिलेंगी।मंत्रिमंडल ने पैरा-मेडिकल स्टाफ के 1445 पद सृजन करने के साथ-साथ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में हाऊस डॉक्टरों के 485 पद सृजन करने की भी मंजूरी दे दी है। इस कदम का उद्देश्य लोगों को उनके घर पर मानक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना है। इससे योग्य डॉक्टरों और पैरा-मैडीकल स्टाफ के लिए नौकरियों के नये मौके पैदा होंगे।

आम लोगों के साथ होती ठगी रोकने के लिए धोखेबाज़ वित्तीय संस्थाओं पर शिकंज़ा कसते हुए मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में पंजाब मंत्रीमंडल ने आज ‘दा पंजाब बैनिंग ऑफ अनरेग्यूलेटिड डिपॉज़ट स्कीम रूल्ज-2023’ तैयार करने के लिए हरी झंडी दे दी है। मंत्रिमंडल का यह मानना है कि बीते समय में मुल्क में वित्तीय संस्थाओं की संख्या काफी बढ़ी है, जो निवेशकों को ठगने की नीयत से अधिक ब्याज दरों या इनामों की पेशकश के द्वारा या ग़ैर-व्यावहारिक या व्यापारिक तौर पर खरा न उतरने वाले वादों के साथ लोगों को ख़ासकर मध्यम वर्ग और गरीब वर्ग के साथ धोखा करती हैं।

यहाँ तक कि ऐसी वित्तीय संस्थाएं लोगों की जमा पूँजी के विरुद्ध मियाद पूरी होने पर वापस पैसा देने या ब्याज अदा करने या कोई अन्य सेवा प्रदान करने से जानबूझ कर आनाकानी करती हैं और लोगों के साथ धोखा करती हैं। इसलिए राज्य में उपयुक्त कानून लाने की ज़रूरत महसूस की गई जिससे वित्तीय संस्थाओं में निवेश करने वाले लोगों के हित सुरक्षित रखे जा सकें।

मंत्रिमंडल ने साल 2021-22 से 2025-26 के समय के लिए छठे वित्त कमीशन की सिफारिशों को स्वीकृत कर लिया जिनमें कुल कर राजस्व का 3.5 प्रतिशत हिस्सा स्थानीय संस्थाओं और पंचायती राज संस्थाओं को देने की व्यवस्था शामिल है। आबकारी ड्यूटी और नीलामी के पैसों के हिस्से का वितरण, स्थानीय संस्थाओं को प्रोफेशनल टेक्स के साथ समान वितरण के फार्मूले, शहरी स्थानीय संस्थाओं और पंचायती राज संस्थाओं के बीच उपरोक्त आपसी वितरण बारे सिफारिशों को भी मंत्रिमंडल द्वारा स्वीकार किया गया।

पंजाब राज्य अनाज खरीद निगम लिमिटेड (पनग्रेन) की कार्यकुशलता को और बढ़ाने और राज्य में अनाज की खरीद को सुचारू बनाने के लिए मंत्रिमंडल ने पंजाब नागरिक आपूर्ति़ निगम लिमिटेड (पनसप) और पंजाब एग्रो फूडग्रेन्ज़ निगम लिमिटेड (पी.ए.एफ.सी.) का पनग्रेन में विलय करने के लिए हरी झंडी दे दी है। ज़िक्रयोग्य है कि पंजाब सरकार के खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग की एजेंसी पनग्रेन की तरफ से भारत सरकार के खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के तय नियमों और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर राज्य में गेहूं और धान की खरीद की जाती है। मंत्रिमंडल ने राज्य की जेलों में उम्र कैद काट रहे चार कैदियों की अग्रिम रिहाई की मांग का केस भेजने के लिए हरी झंडी दे दी है।

संविधान की धारा 163 के अंतर्गत मंत्रिमंडल की मंज़ूरी के बाद विशेष माफी/अग्रिम रिहाई वाले ये केस भारतीय संविधान की धारा 161 अधीन पंजाब के राज्यपाल को भेजे जाएंगे। मंत्रिमंडल ने जल आपूर्ति और स्वच्छता विभाग की साल 2020-21 और 2021-22 की सालाना प्रशासनिक रिपोर्टों को मंजूरी दे दी है। मंत्रिमंडल ने राज्य में आवारा पशुओं की समस्या पर काबू पाने के लिए नीति तैयार करने की मंजूरी दे दी है। इससे राज्य भर में इस समस्या से और अधिक कारगर ढंग से निपटने में मदद मिलेगी। यह नीति लोगों के बड़े हितों के मद्देनज़र इस समस्या की रोकथाम के लिए सभी पक्षों को जांचेगी।

देश के वर्तमान माहौल की तुलना 1977 से की

देश के वर्तमान माहौल की तुलना 1977 से की

अकांशु उपाध्याय/कविता गर्ग 

नई दिल्ली/मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पंवार ने देश के वर्तमान राजनीतिक माहौल की तुलना 1977 से करते हुए शनिवार को विश्वास जताया, कि इस बार विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ मिलकर चुनाव लड़ेंगे और देश में परिवर्तन आएगा।

पंवार ने राकांपा के 25वें वर्ष में प्रवेश करने के अवसर पर अपने संदेश में कहा, “ मुझे याद है कि 1977 में देश में ऐसी ही स्थिति थी। कोई एक नेता सामने नहीं था, लोगों ने बदलाव का मन बना लिया, चुनाव के वक्त देश में एक नया माहौल पैदा हो गया और जनता पार्टी की हुकूमत आयी थी। ” उन्होंने विपक्ष की एकता पर बल देते हुए कहा कि अगले लोकसभा चुनाव में अलग-अलग विचारधारा की पार्टियों को एक साझा कार्यक्रम पर आगे चलने की तैयारी रखकर हाथ मिलाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “ मुझे विश्वास है कि इस देश की जनता परिवर्तन के लिए इन सभी की मदद करेगी। ” राकांपा अध्यक्ष ने बिहार के मुख्यमंत्री एवं जनता दल (यूनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार की मेेजबानी में 23 जून को पटना में होने वाली बैठक का उल्लेख करते हुए कहा,“ हम सभी विपक्ष के लोग बिहार में मिलेंगे और एक कार्यक्रम तय करेंगे। ” पवार ने कहा कि एक साझे कार्यक्रम को विपक्षी दलों द्वारा देश की जनता के सामने रखा जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा देश में साम्प्रदायिकता और दहशत फैलाने की राजनीति कर रही है और ‘साम्प्रदायिक विचारों को महत्व देना, उनसे दहशत का माहौल पैदा करना, महिलाओं पर अत्याचार जैसी परिस्थिति का निर्माण करना ही उसका का काम रह गया है। ’ उन्होंने कहा, “ एक दिन ऐसा नहीं जाता कि देश के किसी न किसी कोने में महिलाओं पर अत्याचार, अल्पसंख्यक, दलित भाइयों पर अत्याचार नहीं होते।

...भाजपा जब भी हुकूमत में आती है, छोटे वर्गों के हितों की रक्षा नहीं होती। आज किसानों की स्थिति गंभीर है, किसान भी कुछ न कुछ परिवर्तन चाहता है। ” राकांपा अध्यक्ष ने बेरोजगारी को देश की बड़ी समस्या बताया और कहा कि भाजपा ने अपने कोई वायदे नहीं पूरे किए, आज देश का हर नागरिक, किसान, नौजवान, महिला, आदिवासी और दलित जानता है कि यह हुकूमत उनके हित की रक्षा के लिए नहीं है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने गोवा, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में गलत तरीके अपनाकर सत्ता हासिल की। पवार का पार्टी कार्यकर्ताओं के नाम यह संबोधन उनके ट्विटर हैंडल पर भी जारी किया गया जिसमें उन्होंने 24 साल पहले मुम्बई के ऐतिहासिक शिवाजी पार्क में पार्टी की स्थापना की याद की और 24 साल के लंबे सफर में पार्टी को मजबूत करने के लिए खून-पसीना बहाने वाले अपने साथियों को याद किया और उनका आभार जताया।

वैज्ञानिकों ने अटलांटिस मैफिस पहाड़ में छेद किया

वैज्ञानिकों ने अटलांटिस मैफिस पहाड़ में छेद किया

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत 

वाशिंगटन डीसी। धरती के अंदर क्या है ? यह एक बड़ा रहस्य है। इसका खुलासा करने के लिए वैज्ञानिक नए-नए प्रयोग करते रहते हैं। ऐसे ही एक हैरान करने वाले प्रयोग के दौरान वैज्ञानिकों ने अटलांटिक महासागर में मौजूद अटलांटिस मैफिस पहाड़ में छेद किया। छेद भी एक किलोमीटर गहरा। JOIDES रेजोल्यूशन साइंटिफिक ड्रिलिंग वेसल ने इस प्रोजेक्ट को अंजाम दिया है।

ये पत्थर धरती की दूसरी परत मैंटल से निकाली गई है। वैज्ञानिकों ने अटलांटिक महासागर के अंदर मौजूद अटलांटिस मैफिस पहाड़ के ऊपर ड्रिलिंग वेसल तैनात किया। उसके बाद पहाड़ की नोक से उसके अंदर ड्रिलिंग करना शुरू किया। यह पहाड़ मिड-अटलांटिक रिज पर है। ड्रिलिंग करीब 4156 फीट तक की गई। यह धरती के अंदर किया गया सबसे गहरा छेद नहीं है। लेकिन यह भूगर्भीय जानकारी हासिल करने के लिए जरूरी है। क्योंकि मैंटल से किसी पत्थर को निकालना बेहद कठिन काम है। अटलांटिस मैफिस पहाड़ मैंटल के पत्थरों से बना है। इसलिए वहां तक जाना और उसपर खुदाई करना आसान था।

इस चट्टान का नाम है पेरिडोटाइट। वैज्ञानिकों का कहना हैं, कि यह एक बहुत बडी खोज हैं, जिससे हमें कई ऐतिहासिक गतिविधियों का पता लग सकता हैं। कुछ शोधकर्ताओं का यह मानना हैं कि आने वाली कई पीढ़ियों के लिए यह अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण डेटा देता रहेगा। वैज्ञानिक इसके जरिए धरती की कई चीजों का अध्ययन करना चाहते हैं। जैसे- चुंबकीय शक्ति, ग्रैविटी, टेक्टोनिक फ्लो, ज्वालामुखी आदि।

वैज्ञानिक कहते आए थे कि अगर वो पृथ्वी के निचले हिस्से से चट्टान निकाल पाएं तो धरती के आकार, गुण और ठहराव का पता आसानी से चल सकता है। इससे हम भूकंपों के आने की वजह पता कर सकते हैं। अलग-अलग परतों की जानकारी हासिल कर सकते हैं। यह धरती के विज्ञान और पृथ्वी के अलग-अलग भागों को समझने में मदद करेगा।समुद्री भागों से निकाली गई चट्टानों की स्टडी से भूवैज्ञानिक घटनाओं को भी समझ सकते हैं। चट्टानों में छिपे धातुओं और खनिजों का भी इससे पता लगा सकते है। पृथ्वी के मैंटल से निकाले गए पेरिडोटाइट चट्टान के एक किलोमीटर का सिर्फ एक छोटा सा हिस्सा मिला है।

इस चट्टान में ओलिविन मिला है, जिसकी वजह से हाइड्रोजन चट्टानों के अंदर भरा-पड़ा होता है। इनकी बदौलत माइक्रोबियल जीवन को बढ़ावा मिलता है, यानी सूक्ष्मजीवन को।

मुस्लिम ने 'सनातन धर्म' अपनाने की गुहार लगाई 

मुस्लिम ने 'सनातन धर्म' अपनाने की गुहार लगाई 

संदीप मिश्र 

कानपुर। यूपी के कानपुर से एक अनोखा मामला सामने आया है। मुस्लिम युवक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से खुद के सनातन धर्म अपनाने की गुहार लगाई है। जुनैद का कहना है कि योगी, मुझे सनातन धर्म में शामिल करा दीजिए। इन पापियों से मुझे बचा लीजिए। दरअसल, जुनैद अपने घर में भगवान की प्रतिमाएं रखकर पूजा-पाठ करते हैं। इसके साथ ही भगवा वस्त्र पहनकर मंदिर जाते हैं।

बाबूपुरवा कोतवाली क्षेत्र स्थित खटिकाना में रहने वाली रानी बेगम अपने इकलौते बेटे जुनैद के साथ रहती हैं। रानी बेगम ने बताया कि जुनैद जब छोटा था, तो उसकी आंखों की रोशनी चली गई थी। रानी बेगम जुनैद को लेकर शोभन सरकार दर्शन के लिए जाने लगी थीं। शोभन सरकार जाने और वहां के दर्शन मात्र से जुनैद के आखों की रोशनी लौट आई थीं। इसके बाद रानी बेगम और जुनैद का सनातन धर्म के प्रति आस्था बढ़ गई। जुनैद घर में भगवान की मूर्तियां रखकर पूजापाठ करने लगा। इसके साथ ही भगवा वस्त्र धारण कर मंदिर में माथा टेकने लगे।

रानी बेगम ने बताया कि फतेहपुर के बिंदकी में रहने वाली अफरोज से 03 मार्च 2019 को निकाह हुआ था। अफरोज जब निकाह के बाद ससुराल आई, तो उसने पूजापाठ का विरोध करना शुरू कर दिया। सनातन धर्म के प्रति आपत्तिजनक बाते कहने लगी। जिसकी वजह से आए दिन विवाद होने लगे जुनैद ने सनातन धर्म के प्रति आस्था कम नहीं हुई। जुनैद की पत्नी अफरोज यह बात अपने मायके में बताई। जिसपर अफरोज की मां मुस्तकीमा, पिता मुइन अहमद, भाई मुसीर खान और मोहसिन विरोध में उतर आए।

जुनैद के ससुराल वाले पूजापाठ का विरोध करने लगे। जुनैद का अरोप है कि सास-ससुर और साले सनातन धर्म को लेकर आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। मां-बेटे को जान से मारने की धमकी देते हैं। इसके साथ घर आकर गाली-गलौच करते हैं। मेरी मां और मुझसे मारपीट करते हैं। तरह-तरह से प्रताड़ित करते हैं। हिंदूस्तान में रहकर भी हम लोग सनातन धर्म की पूजापाठ नहीं कर पा रहे हैं। ससुरालियों की प्रताड़ना से परेशान होकर बीते 09 फरवरी 2023 को मुख्यमंत्री से शिकायत की थी।

जुनैद ने बीते 08 जून 2023 को बाबूपुरवा कोतवाली में तहरीर दी थी। बाबू पुरवा पुलिस ने जुनैद की तहरीर पर आईपीसी की धारा 298, 504, 506 में मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, डीसीपी शिवाजी शुक्ला का कहना है कि ऐसा मामला सामने आया है। इसकी जांच कराई जा रही है।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 186 नए मामलें 

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 186 नए मामलें 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 186 नए मामलें आए हैं और उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 2,501 रह गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार मृतक संख्या 5,31,888 पर बनी हुई है।

मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या 4.49 करोड़ (4,49,92,648) है और उपचाराधीन मरीजों की संख्या कुल संक्रमितों का 0.01 प्रतिशत है। स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, कोविड-19 से ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.81 प्रतिशत है।

बीमारी से स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 4,44,58,259 हो गई है, जबकि मृत्यु दर 1.18 प्रतिशत दर्ज की गई है। मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, देश में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से कोविड-19 रोधी टीके की अब तक 220.66 करोड़ खुराक दी जा चुकी हैं। 

हीराकुंड बांध स्थल पर स्थित रोपवे की सुरक्षा जांच 

हीराकुंड बांध स्थल पर स्थित रोपवे की सुरक्षा जांच 

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर/संबलपुर। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की एक टीम ने ओडिशा के संबलपुर जिले में हीराकुंड बांध स्थल पर स्थित रोपवे की सुरक्षा जांच की। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। संबलपुर नगर निगम (एसएमसी) के प्रवर्तन अधिकारी शुभंकर मोहंती ने बताया कि एसएमसी ने रोपवे के निरीक्षण के लिए एनडीआरएफ से संपर्क किया था, जिसके बाद बल की एक टीम ने हाल में रोपवे स्थल का दौरा किया।

निरीक्षण सालाना आयोजित किए जाते हैं और यह पहली बार है, जब एनडीआरएफ की 30 सदस्यीय टीम ने अपने कमांडर के साथ रोपवे का आकलन करने के लिए बांध स्थल का दौरा किया। टीम ने रोपवे की ऊंचाई, रस्सी, ट्रॉली, हुक सहित अन्य चीजों का निरीक्षण किया। इसके अलावा, उसने एक मॉक ड्रिल भी आयोजित की और रोपवे के कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया कि अगर कोई दुर्घटना होती है, तो कैसे प्रतिक्रिया दी जाए।

यह रोपवे जवाहर उद्यान को हीराकुंड बांध स्थल पर गांधी मीनार से जोड़ता है। जवाहर उद्यान हीराकुंड बांध के नीचे एक रमणीय उद्यान है। गांधी मीनार से विशाल हीराकुंड जलाशय और बांध का विहंगम दृश्य दिखता है। रोपवे सेवा का संचालन 2019 में शुरू हुआ था। एक ट्रॉली में चार व्यक्ति बैठ सकते हैं। मोहंती ने कहा, एनडीआरएफ की टीम ने सुरक्षा बढ़ाने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं। हम जल्द से जल्द इन सुझावों पर अमल करेंगे।

कोलकाता की कंपनी दामोदर रोपवे एंड इंफ्रा लिमिटेड (डीआरआईएल) ने 421 मीटर लंबे इस रोपवे का निर्माण किया था, जिसका संचालन संबलपुर नगर निगम करता है। रोपवे के रख-रखाव का जिम्मा दामोदर रोपवे को सौंपा गया है। 

तेल कंपनियों के आगामी तिमाही नतीजे अच्छे होंगे

तेल कंपनियों के आगामी तिमाही नतीजे अच्छे होंगे

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें स्थिर रहती हैं, तो तेल कंपनियां पेट्रोल और डीजल की कीमतें घटाने पर विचार करने की स्थिति में होंगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तेल कंपनियों के आगामी तिमाही नतीजे अच्छे होंगे। पुरी ने यहां भाजपा मुख्यालय पर पेट्रोल कीमतों पर विभिन्न सवालों के जवाब देते हुए हालांकि कहा कि वह इस मुद्दे पर कोई घोषणा करने की स्थिति में नहीं हैं। 

उन्होंने कहा, “आगे चलकर देखेंगे कि क्या किया जा सकता है।” उन्होंने कहा कि सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने पिछली तिमाही में ‘ठीक’ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा, “उन्होंने कुछ घाटे की भरपाई कर ली है। उन्होंने अपनी कॉरपोरेट जिम्मेदारी बहुत अच्छी तरह निभाई है। हम जैसे आगे बढ़ेंगे, हम देखेंगे कि क्या किया जा सकता है।”

भाजपा नेता ने कहा कि नरेन्द्र मोदी की अगुआई वाली सरकार ने सुनिश्चित किया है कि 22 अप्रैल से तेल कीमतों में बढ़ोत्तरी न हो। उन्होंने कहा कि सरकार आगे भी सुनिश्चित करेगी कि ग्राहकों को परेशानी ना हो। पुरी ने विपक्ष पर ‘रेवड़ी राजनीति’ करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कोई सब कुछ ‘मुफ्त’ में देने की पेशकश कर सकता है, लेकिन ऐसे में मुफ्तखोरी की राजनीति खतरनाक क्षेत्र में प्रवेश कर जाती है। 

शिवसेना को प्रत्येक सीट के लिए रुलाएगी 'भाजपा'

शिवसेना को प्रत्येक सीट के लिए रुलाएगी 'भाजपा'

कविता गर्ग 

मुंबई। शिवसेना (यूबीटी) और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने शनिवार को कहा कि भाजपा एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना को प्रत्येक लोकसभा सीट के लिए रुलाएगी। शिंदे के बेटे श्रीकांत के प्रतिनिधित्व वाली कल्याण लोकसभा सीट पर सत्तारूढ़ गठबंधन में कलह के बीच महा विकास आघाड़ी (एमवीए) की यह टिप्पणी आई।

श्रीकांत शिंदे ने शुक्रवार को कहा था कि कुछ नेता अपनी स्वार्थी राजनीति के लिए डोंबिवली क्षेत्र (कल्याण लोकसभा सीट के तहत) में गठबंधन में बाधा पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं और वह सीट छोड़ने के लिए तैयार हैं क्योंकि उद्देश्य 2024 के लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ नरेन्द्र मोदी सरकार की वापसी सुनिश्चित करना है।

शिवसेना (यूबीटी) के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने कहा कि कल्याण-डोंबिवली क्षेत्र (अविभाजित) शिवसेना का गढ़ था और पार्टी वर्षों से वहां से जीत रही थी। राउत ने कहा, "वह सीट श्रीकांत शिंदे को दी गई थी, जिनका पार्टी से कोई संबंध नहीं था। उद्धव ठाकरे ने शिंदे के बेटे से बड़ा लाड़ प्यार किया था। उन्हें अपनी लड़ाई लड़ने दें। भाजपा उन्हें (शिंदे की अगुवाई वाली शिवसेना) हर एक सीट के लिए रुलाएगी।" राकांपा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कल्याण में शिंदे को धोखा देने और अंततः शिवसेना के सभी नेताओं को अपने चुनाव चिह्न कमल पर चुनाव लड़ने के लिए विवश करना है। पार्टी के प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा, "ऐसा लगता है कि कल्याण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे को धोखा देने की भाजपा की पूरी योजना है।

आखिरकार भाजपा शिंदे खेमे के अन्य सभी लोगों को अपने टिकट पर चुनाव लड़ने या स्थायी राजनीतिक अलगाव का सामना करने के लिए मजबूर करेगी।" शुक्रवार को, चीजों को शांत करने के प्रयास में, श्रीकांत शिंदे ने कहा था कि कल्याण के लिए "भाजपा-शिवसेना का वरिष्ठ नेतृत्व जो भी उम्मीदवार तय करेगा वह उसका समर्थन करेंगे" क्योंकि हर कोई "केंद्र में भाजपा-शिवसेना की सरकार बनाने की दिशा में काम कर रहा है"। श्रीकांत शिंदे 2014 से कल्याण से सांसद हैं। 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-240, (वर्ष-06)

2. रविवार, जून 11, 2023

3. शक-1944, आषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:40, सूर्यास्त: 06:45। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 40+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए  सरस्वती उपाध्याय  बेहद सुंदर और सुगंधित फूल 'गुलाब' गुणों की खान है और इसकी पं...