सोमवार, 22 जून 2020

साधना के लिए परम श्रेष्ठ, गुप्त नवरात्रि

आदिकाल से ही नवरात्रि को सनातन धर्म का सबसे पवित्र और शक्ति दायक पर्व माना गया है। एक वर्ष में चार नवरात्रि दो गुप्त और दो सामन्य कहे गए हैं। गुप्त नवरात्रि आषाढ़ शुक्ल प्रतिपदा और वर्षा ऋतु के मध्य आरंभ होता है। यह नवरात्रि गुप्त साधनाओं के लिए परम श्रेष्ठ कहा गया है। इस समय की गई साधना जन्मकुंडली के समस्त दोषों को दूर करने वाली तथा चारों पुरुषार्थ धर्म, अर्थ, काम और कोक्ष को देने वाली होती है। इसका सबसे महत्वपूर्ण समय रात्रि 12 बजे से सूर्योदय तक अधिक प्रभावशाली बताया गया है। गुप्त नवरात्रि का संबंध सूर्य संक्रांतियों से निगम शास्त्र में संपूर्ण विश्व की रचना का आधार सूर्य को माना गया है। ‘सूर्य रश्मितो जीवो भी जायते’ अर्थात- सूर्य की किरणों से ही जीव की उत्पत्ति हुई अतः सूर्य ही जगतपिता है। आषाढ़ के शुक्ल पक्ष के नवरात्रि में सूर्य का निवास ‘अनाहत चक्र’ में होता है जिससे इसका वर्ण अरुण होता है। यही अरुण वर्ण शक्ति का प्रतीक है। इसके बारह दल बारह राशियों के प्रतीक बताए गए हैं। सूर्य की संक्रांतियों के अनुसार ही नवरात्रि पर्व माना गया है जैसे, गुप्त नवरात्रि आषाढ़ संक्रांति और मकर संक्रांति के मध्य पढ़ते हैं यह सायन संक्रांति के नवरात्रि हैं जिनमें मकर संक्रांति उत्तरायण और कर्क संक्रांति दक्षिणायन की होती है।  बाकी दो गुप्त नवरात्रि के अतिरिक्त सामान्य नवरात्रि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा और आश्विन शुक्ल प्रतिपदा से आरंभ होता है। इसी तरह यह गुप्त नवरात्रि आषाढ़ शुक्ल प्रतिपदा और वर्षा ऋतु के मध्य आरंभ होता है वर्षा ऋतु के मध्य पढ़ने वाला यह नवरात्रि गुप्त साधनाओं के लिए परम श्रेष्ठ कहा गया है। सूर्य की आषाढ़ संक्रांति के मध्य सभी देवता आषाढ़ शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तक शक्ति की आराधना करते हैं। दसवें दिन पारण करके एकादशी के दिन सभी देवता शयन करने चले जाते हैं। यही आषाढ़ शुक्ल एकादशी देवशयनी एकादशी के नाम से जानी जाती है। चार माह के  शयन के बाद कार्तिक शुक्ल एकादशी को फिर देव जागते हैं जिसे हरिप्रबोधिनी एकादशी कहते हैं। गुप्त नवरात्रि का संबंध सूर्य संक्रांतियों से इन चार माह में देवताओं के शयन के परिणाम स्वरुप आग्नेय एवं ऐन्द्रप्राण की शक्ति कम हो जाती है और आप्यप्राण यानी आसुरी शक्तियों का बोलबाला रहता है। इन आसुरी शक्तियों का प्रभाव कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी तक रहता है जिसे आप नरक चतुर्दशी भी कहते हैं।


यही दरिद्रता की देवी नृऋती की अंतिम अवधि है। इनके दुष्प्रभाव से बचने के लिए गुप्त नवरात्रि में शक्ति आराधना का अति महत्व हैं। इनके कोप से दैवी आपदा, पुत्र संतान और वैधव्य की आशंका रहती है। इस गुप्त नवरात्रि में दुख के मूल कारण रूद्र, वरुण और नृऋती की आराधना से एक दैविक और भौतिक त्रिबिध तापों से मुक्ति मिलती है। तांत्रिक जगत में इस नवरात्रि का अधिक महत्व होता है क्योंकि, देवताओं के शयनकाल के समय आसुरी शक्तियों की साधना करने वालों को अपनी मंजिल तक पहुंचना आसान रहता है। सामान्य जन इसमें मंत्र जाप और पूजा पाठ करके अपनी शक्तियों को बढ़ाकर इन चार दुखों के देवताओं के प्रकोप से बचे रहते हैं। गुप्त नवरात्रि के मध्य ‘माँ आदि शक्ति का महामंत्र ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे’ का प्रतिदिन जप करने से समस्त कष्टों से मुक्ति मिलती है।


भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबी योगी सरकार




भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबी योगी सरकार- अरुण विद्यार्थी

जिला मुख्यालय में पहुंचकर कांग्रेसियों ने सौंपा राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन

कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने “पोल-खोल”अभियान की शुरुआत की है। जो सरकार के द्वारा यूपी में 69000 शिक्षक भर्ती घोटाला, पशुधन घोटाला किया है जो आम जनमानस के खिलाफ है। उक्त बातें जिला अध्यक्ष अरुण विद्यार्थी ने  सोमवार को राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी को सौंपते हुए कही। इस मौके पर बोलते हुए पार्टी के प्रदेश सचिव व प्रभारी विवेकानंद पाठक ने कहा कि शिक्षक भर्ती घोटाले में पार्टी के एक नेता का सम्मिलित होना और उसका जेल जाना यह साबित करता है कि पार्टी के कई बड़े चेहरे भी इस काले कारनामे में शामिल हैं।

यही नहीं पशुधन घोटाला भी सरकार की भ्रष्टाचार को साबित करता है जहां विधानसभा में बैठकर फर्जी तरीके से लोगों को लूटा गया है। इस मौके पर बोलते हुए कौशाम्बी कांग्रेस जिला अध्यक्ष  विद्यार्थी ने कहा कि भ्रष्टाचार के इन तमाम मुद्दों पर एक आंदोलन चलाना है।

इस मौके पर प्रमुख रूप से शाहिद सिद्दीकी,  तलत तजीम, बरसाती लाल पंडा, आशीष कुमार मिश्रा पप्पू, वेद प्रकाश सत्यार्थी, रजनीश पांडे, शमीम आलम, फैसल अली, मोहम्मद खालिद, अनिल पांडे, जितेंद्र शर्मा, विनोद चौधरी, मथुरा दुबे, असगर मदनी, युनुस अंसारी, आबिदा बेगम, भारत गौतम, राजकुमार, चितानी लाल दिवाकर, सरदार हुसैन रिजवी, फूलचंद पासी, योगेंद्र सिंह, राजेंद्र मिश्रा, संतोष पटेल, इब्ने अली, अली अहमद, प्रदीप सक्सेना, अली अहमद, राजेंद्र प्रसाद, इज़हार अब्बास, आबिदा बेगम, गुलाब कली,  शांति देवी, पूजा सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद रहें।

राजकुमार




 








 

सेना को 500 करोड़ के हथियार लेने का हक


  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सीडीएस बिपिन रावत, सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया और नौसेना प्रमुख करमबीर सिंह से बात की

  • करीब 6 हफ्ते से भारत और चीन के बीच लद्दाख में तनाव चल रहा है, 15 जून की रात चीन और भारत के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, इसमें 20 जवान शहीद हो गए थे


नई दिल्ली। गलवान घाटी में चीन की सेना से हिंसक झड़प के बाद सरकार ने सेना का हौसला बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं। सेना को 500 करोड़ तक के हथियार खरीदने के अधिकार दिए गए हैं। इसके अलावा सेना ने नियमों में बदलाव करते हुए लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर असाधारण परिस्थितियों में जवानों को हथियारों के इस्तेमाल की भी इजाजत दे दी गई है।


न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि नियमों में बदलाव के तहत फील्ड कमांडरों को यह अधिकार दिया गया है कि वे विशेष परिस्थितियों में अपने जवानों को हथियारों के इस्तेमाल की इजाजत दे सकते हैं।


दरअसल, गलवान में हुई झड़प के दौरान भारतीय जवानों ने इसलिए हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया था, क्योंकि 1996 और 2005 में हुए समझौते में ऐसा ना करने पर चीन और भारत में सहमति बनी थी। दोनों देशों में इस बात पर भी समझौता हुआ था कि उनकी सेनाएं एलएसी के 2 किलोमीटर के दायरे में विस्फोटकों और हथियारों का इस्तेमाल नहीं करेंगी।



इसे भी पढ़े   जिलों में किराना सहित आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए ई-पास की अनुमति!!


रक्षा मंत्री ने सीडीएस और तीनों सेनाओं के प्रमुखों से बैठक कीकहा- सख्ती से निपटें


केंद्र ने अब आर्म्ड फोर्सेज को पूरी छूट दे दी है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि सेनाओं को धरती, आसमान और समुद्री इलाके में चीन की किसी भी तरह की घुसपैठ को रोकने के लिए सख्त रवैया अख्तियार करने के लिए कहा गया है।


रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत समेत सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे, एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और नौसेना प्रमुख करमबीर सिंह से बात की। इसी में उन्होंने सेनाओं को लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए।


15 जून की रात को गलवान में हुई थी दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प 
करीब 6 हफ्ते से भारत और चीन के बीच लद्दाख में तनाव चल रहा है। 15 जून की रात चीन और भारत के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी। चीन के सैनिकों ने कंटीले तार वाले डंडों से भारतीय जवानों पर हमला किया था, जिसमें 20 जवान शहीद हो गए। भारत ने भी चीन के 40 से ज्यादा सैनिकों के मारे जाने की बात कही है, लेकिन चीन ने अब तक अपने मारे गए सैनिकों की संख्या नहीं बताई है।



इसे भी पढ़े   Sushant Singh Rajput के निधन पर उर्मिला मातोंडकर ने कहा परिवारवाद शासित इस उद्योग में.....


भारत ने कहा- गलवान घाटी पर चीन के दावे मंजूर नहीं



  • भारत सरकार का कहना है कि गलवान घाटी पर चीन के दावे मंजूर नहीं हैं। ये चीन के खुद के पहले के रुख के उलट हैं। गलवान पर स्थिति लंबे समय से साफहै। एलएसी से पूरी तरह वाकिफ हैं और इसका पालन करते हैं। भारत ने कभी एलएसी पार नहीं की। भारतीय सैनिक इस क्षेत्र में लंबे समय से गश्त कर रहे हैं। सभी निर्माण भारत की हद के अंदर ही हैं। भारत के नक्शे में सीमा स्पष्ट है। 60 साल में 43 हजार वर्ग किमी क्षेत्र पर अतिक्रमण के बारे में देश जानता है। सरकार एलएसी में एकतरफा परिवर्तन की इजाजत नहीं देगी।

  • उधर, चीन लगातार गलवान घाटी को अपनी सीमा में बता रहा है। उसका कहना है कि गलवान घाटी चीन का हिस्सा है और एलएससीसे हमारी तरफ है। भारतीय सैनिक यहां पर जबरन रोड और ब्रिज बना रहे हैं।


दिल्ली में आतंकी घुसपैठ की कोशिश

नई दिल्ली । वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण से राजधानी पहले से ही परेशान हैं। वहीं, इसका फायदा उठाकर आतंकी दिल्ली में घुसपैठ की कोशिश में लगे हुए हैं। ताजा खुफिया इनपुट में जानकारी मिली है कि कश्मीर से चार से पांच की संख्या में आतंकी राजधानी में घुसने की फिराक में हैं। इसकी सूचना के बाद दिल्ली की सुरक्षा को हाइ अलर्ट पर कर दिया गया है। जगह-जगह पर वाहनों की गहन जांच की जा रही है। दिल्ली पुलिस सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियां सतर्कता के साथ छानबीन में जुट गई है।


आतंकियों का एक समूह वारदात के लिए कश्मीर से दिल्ली में घुसने की कोशिश में


पुलिस सूत्रों के मुताबिक खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली थी कि आतंकियों का एक समूह वारदात के लिए कश्मीर से दिल्ली में घुसने की कोशिश में हैं। चार से पांच की संख्या में अातंकी जम्मू-कश्मीर से ट्रक में सवार होकर दिल्ली पहुंच सकते हैं। यह भी कहा गया कि ट्रकों की जांच-पड़ताल तेज होने पर दहशतगर्द बस, कार अथवा टैक्सी का भी प्रयोग कर सकते हैं।


बढ़ी शहर की सुरक्षाः इसकी जानकारी के बाद से ही पुलिस ने दिल्ली की सुरक्षा को हाई अलर्ट पर कर दिया है। इसके तहत जम्मू से दिल्ली अाने वाले ट्रक सहित तमाम वाहनों पर पुलिस सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियों कड़ी नजर रखनी शुरू कर दी है।


सीमावर्ती इलाकों में पुलिस बरत रही विशेष चौकसी


जम्मू-कश्मीर से दिल्ली आने वाले रास्ते में जहां नाकों पर वाहनों की गहन जांच की जा रही है। वहीं, जगह-जगह बैरिकेड लगाकर पुलिसकर्मी संदिग्ध वाहनों को रोककर उसकी तलाशी ले रहे हैं। सीमावर्ती इलाकों में पुलिस विशेष चौकसी बरत रही है, ताकि संदिग्ध को अंजाम से पहले दबोचा जा सके। वहीं, राजधानी के कुछ इलाकों सहित बंद पड़े होटल अौर गेस्ट हाउस पर भी नजर रखी जा रही है। पुलिसकर्मियों की प्रमुख बस अड्डे व रेलवे स्टेशनों पर तैनाती कर दी गई है।सभी जिला के डीसीपी, स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच को इस सूचना के बाद सर्तक रहने को कहा गया है।


संतोष शर्मा की रिपोर्ट


5 हजार करोड़ के चीनी प्रोजेक्ट पर रोक

महाराष्ट्र सरकार ने चीन के 5 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट पर लगाई रोक



मुंबई। महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने चीन को आर्थिक मोर्चे पर करारा झटका दिया है। लद्दाख की गलवान घाटी में चीन द्वारा की गई दगाबाजी का जवाब देते हुए महाराष्ट्र सरकार ने चीन की तीन कंपनियों के प्रोजेक्ट पर फिलहाल विराम लगा दिया है। इन प्रोजेक्ट की लागत करीब 5 हजार करोड़ रुपये है।जिन प्रोजेक्ट पर रोक लगाई गई है, उसमें पुणे से सटे तालेगांव में इलेक्ट्रिक व्हीकल की बड़ी फैक्ट्री भी है। कहा जा रहा है कि ये करीब 3500 हजार करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट है। ये कंपनी 1000 करोड़ का निवेश करने वाली थी जिसमे 1500 लोगों को रोजगार मिलना था।हेंगली इंजीनियरिंग- इस कंपनी के साथ भी पुणे के तालेगांव में 250 करोड़ का निवेश करने का करार हुआ था जिससे 150 लोगों को रोजगार मिलने की संभावना थी।ग्रेट वॉल मोटर्स ऑटोमोबाइल- इस कंपनी ने सबसे ज्यादा निवेश करने का करार किया था। करीब 3770 करोड़ रुपये का निवेश होना था।बता दें कि ये सभी करार 15 जून को हुए थे। महाराष्ट्र सरकार ने पिछले दिनों 12 एमओयू पर साइन किए थे। सभी 3 चाइनीज कंपनियों के प्रोजेक्ट होल्ड पर डाल दिए गए हैं, जबकि 9 प्रोजेक्ट के काम फिलहाल जारी रहेंगे। इसमें दूसरे देशों की कंपनियां शामिल हैं। बता दें केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों से चीन के प्रोजेक्ट और आयात पर जानकारी मांगी थी।



गाजियाबाद में नए 56 संक्रमित मरीज

सरवन कुमार सिंह की रिपोर्ट


लखनऊ। प्रदेश के लिए राहत की बात है कि रविवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 626 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं जबकि उससे कम 596 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं।  अब तक कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 17 हजार 731 तक पहुंच गई है। रविवार को सबसे ज्यादा गाजियाबाद  में 56 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं।  रविवार को मौतें 21 हुई हैं। इस तरह कुल मौतें 550 हो गई हैं।


रविवार को सबसे ज्यादा मौतें तीन कानपुर नगर में हुई हैं। इसके बाद मेरठ, मुरादाबाद, गोरखपुर और इटावा में दो-दो मौत हुई हैं। गाजियाबाद, हापुड़, सिद्धार्थनगर, बिजनौर, मथुरा, मुजफ्फरनगर, रायबरेली, बदायूं, झांसी और फर्रुखाबाद में  एक-एक मौत हुई है। अब तक डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 10995  हो गई है।अब एक्टिव मामले 6186 रह गए हैं।


बीते 24 घंटों में 596 नए मामले कोरोना संक्रमित मरीजों के सामने आए हैं। इनमें आगरा एक, मेरठ 24, नोएडा 49 , लखनऊ 24, कानपुर नगर 36, ग़ाज़ियाबाद 56, सहारनपुर छह, फिरोजाबाद पांच,  मुरादाबाद 20, वाराणसी चार ,  जौनपुर दो, बस्ती 13, बाराबंकी 22,  अलीगढ़ 12, हापुड़ 17,  बुलंदशहर 18,सिद्धार्थ नगर 21, अयोध्या 15, गाजीपुर 21, अमेठी चार, बिजनौर तीन, प्रयागराज एक, संभल पांच, मथुरा तीन, सुलतानपुर दो, गोरखपुर तीन, मुजफ्फरनगर नौ, देवरिया एक, लखीमपुर आठ, गोंडा पांच, अमरोहा दो,  बरेली 20, इटावा आठ, हरदोई आठ,  महाराजगंज तीन, कन्नौज 17, पीलीभीत तीन, बलिया 10,  जालौन चार, सीतापुर दो,  बदायूं तीन , बलरामपुर एक,  भदोही आठ, मैनपुरी आठ, मिर्जापुर पांच,  फर्रुखाबाद सात, उन्नाव तीन, बागपत 18 ,औरैया पांच, श्रावस्ती एक,  एटा 12, बांदा एक, हाथरस 18, मऊ 10, चंदौली दो, शाहजहांपुर तीन, सोनभद्र दो और ललितपुर दो हैं।


अब तक 550 कोरोना मरीजों की हुई मौत
अब तक 550 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। इनमें सबसे ज्यादा मौतें आगरा में 79 हुई हैं।  इसके बाद मेरठ में 75 मौत हुई हैं। कानपुर नगर में 37 मौते हुई हैं। गाजियाबाद में 43 हुई हैं।  अलीगढ़  और फिरोजाबाद  में 20-20 हुई  हैं।  नोएडा व बुलंदशहर में 18-18 हुई हैं। मुरादाबाद में 17 मौत हुई हैं।  बस्ती, झांसी व लखनऊ में 12-12 मौत हुई हैं। वाराणसी व हापुड़ में 11-11 हुई हैं।  मथुरा व गोरखपुर 10-10 हुई  हैं।


सुरक्षा बलों की मुठभेड़ में 3 आतंकी मरे

एहसान अली के साथ संजीव कुमार की रिपोर्ट


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में रविवार को घेराबंदी और तलाश अभियान के दौरान सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए। पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर रेंज) विजय कुमार ने बताया कि इनमें से एक आतंकवादी इसी महीने कश्मीर घाटी में बीएसएफ के जवानों पर हमले की घटना में संलिप्त था। आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने श्रीनगर के निचले इलाके जूनिमार और जदिबल समेत कई जगहों पर घेराबंदी की तथा वहां से बाहर निकलने के सभी रास्ते बंद कर दिए। श्री कुमार ने कहा कि एक मकान में तीन आतंकवादी छिपे थे। हमें अपने सूत्रों से उनकी पहचान के बारे में पता चला और उनके परिजनों को बुलाया गया, जिन्होंने आतंकवादियों से समर्पण के लिए कहा। हमने उनको समर्पण के लिए अढ़ाई घंटे का समय दिया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। सुरक्षा बल के जवान उन मकानों की ओर बढ़े, तभी वहां छिपे आतंकवादियों ने  स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की। सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलियां चलाईं। दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी में तीन आतंकवादी मारे गए। इनमें दो आतंकवादी स्थानीय निवासी थे। इनसे हथियार भी बरामद हुए हैं।


पाक गोलीबारी में पांच नागरिक घायल


श्रीनगर। उत्तर कश्मीर के बारामूला में नियंत्रण रेखा के पास पिछले 24 घंटों के दौरान पाकिस्तानी सेना की ओर से संघर्ष विराम का उल्लंघन कर की गई गोलीबारी में कम से कम पांच नागरिक घायल हो गए हैं, जिनमें एक महिला और दो बच्चे भी शामिल हैं। पाकिस्तानी सेना ने रविवार सुबह छह बजकर 15 मिनट पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए पुंछ जिला के बालाकोट में छोटे हथियारों और मोर्टर से गोलाबारी की।


सोपोर में लश्कर के तीन सहयोगी अरेस्ट


बारामूला। उत्तर कश्मीर के सोपोर जिला में सुरक्षा बलों ने आंतकवादी संगठन लश्कर-ए-तोएबा (एलईटी) से जुड़े तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक पिस्तौल और अन्य हथियार बरामद किए हैं। एक पुलिस अधिकारी ने रविवार को  बताया कि आरोपियों के नाम शबीर अहमद मीर उर्फ मौलवी, मोहम्मद अब्बास मीर और फातिम नबी भट उर्फ डाक्टर हैं। सभी सोपोर निवासी हैं।


युवक ने प्रेमिका के साथ की आत्महत्या

रिपोर्ट योगेश एन मिश्रा


सूरत,  गुजरात। जिले के बारडोली तहसील के वराडगांव की सीमा में गन्ने के खेत के किनारे आम के पड़े के साथ रायमगांव के 24 वर्षीय युवक ने टीम्बा गांव की प्रेमिका के साथ आत्महत्या कर लिया। दुपट्टा से गले में फंदा लगानेवाले युवक की मौत हुई जबकि जूट की रस्सी टुटने से प्रेमिका बच गई। प्रेमिका को बेहोश हालत में सूरत की स्मीमेर अस्पताल में भर्ती किया गया है।
रायम गांव स्थित नवा फलिया में विशाल राजुभाई हलपति (उ.24) अपनी मां स्मिता और पिता राजू भंगडभाई हलपति के साथ रहते थे। विशाल हलपति को कामरेज तहसील के टीम्बा गांव में रहनेवाली सोनल राजुभाई राठौड़ के साथ पिछले दो-तीन महीने से प्रेम संबंध था। सोनल अपने भाई-बहन के साथ रहती है। पांच दिन पहले सोनल अपने घर से किसी को कुछ कहे बिना कहीं चली गई और भाई-बहन उसकी खोजबीन करने लगे। दूसरी तरफ रायमा गांव से विशाल हलपति 17 जून 2020 को किसी को कुछ कहे बिना घर से कहीं चला गया था। परिवारवाले लगातार 3 दिन से विशाल की खोजबीन कर रहे थे।
इस दौरान शुक्रवार की रात 8 बजे वराडगांव के राहुल नामक युवक ने सरपंच को सूचित किया कि नानजी नाथुभाई पटेल के गन्ने के खेत के पास आम के वृक्ष की डाली पर एक युवक ने फांसी लगा लिया है। इस संबंध में बारडोरी पुलिस को सूचित किया गया। जिससे पुलिस और गांववाले स्थल पर पहुंच गए। वहां देखा तो विशाल हलपति ओढ़णी से गले में फंदा लगी हालत में मिला और सोनल राठौड़ ने गले में फांसी लगाने के लिए जूट की रस्सी का प्रयोग की थी जो टुट जाने से बेहोश हालत में नीचे गिर गई। इस प्रकार इस प्रेम कहानी का करुण अंत आ गया।


सोनल राठौड़ को तुरंत बारडोली सरकारी दवाखाने ले जाने पर अधिक उपचार हेतु स्मीमेर अस्पताल में भर्ती किया गया है। घटना के संबंध में बारडोली पुलिस ने मृतक विशाल की मां रमिलाबेन की शिकायत लेकर दुर्घटना में मौत का अपराध दर्जकर आगे की कार्यवाही शुरु की है।


इंडिया में मरीजों की संख्या 4.25 लाख

नई दिल्ली। देश में लगातार बढ़ते मामलों के बीच संक्रमित मरीजों की संख्या 4.25 लाख के पार पहुंच गई है। हालांकि राहत की बात ये है कि इनमें से कुल 2 लाख 37 हजार 196 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। रोजाना करीब 15 हजार नए कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। बारिश का मौसम आ गया है, जिससे लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। हालांकि देश में रिकवरी रेट 55.77 फीसदी हो गया है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के 14 हजार 821 नए मरीज सामने आए है, जबकि 445 लोगों की मौत हुई है।


वही देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 4 लाख 25 हजार 282 मरीज है। इनमें से 1 लाख 74 हजार 387 एक्टिव मरीज है। राहत की बात यह है कि 2 लाख 37 हजार 196 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकि अब तक 13 हजार 699 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र से है। यहां 1 लाख 32 हजार 75 मरीज है। इसके बाद दिल्ली में 59 हजार 746, तमिलनाडू में 59 हजार 377, पश्चिम बंगाल में 13 हजार 945 संक्रमित मरीज है।


अमेरिका में आंकड़ा 23 लाख 56 हजार

वाशिंगटन। अमेरिका में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या सोमवार सुबह तक बढ़कर 23 लाख 56 हजार पार हो गई।कुल 1 लाख 22 हजार 247 लोगों की मौत हो चुकी है।हालांकि 9 लाख 79 हजार लोग ठीक भी हुए हैं। 12 लाख 54 हजार लोगों का अस्पतालों में अभी इलाज चल रहा है।अमेरिका में कुल 5 फीसदी कोरोना संक्रमित लोगों की मौत हुई है। जबकि 42 फीसदी लोग इस बीमारी ठीक हो चुके हैं।अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में सबसे ज्यादा 411,264 केस सामने आए हैं। सिर्फ न्यूयॉर्क में ही 31,215 लोग मारे गए हैं।इसके बाद कैलिफॉर्निया में 178,567 कोरोना मरीजों में से 5,518 लोगों की मौत हुई. इसके अलावा न्यू जर्सी, मैसाचुसेट्स, इलिनॉयस, फ्लोरिडा भी सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था ‘आश्चर्यजनक’ तरीके से अच्छा काम कर रही है और रोजगारों की संख्या के मामले में अमेरिका रिकॉर्ड बनते देख रहा है। ट्रंप ने कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर पूछे गए सवालों के जवाब में यह बात कही। अमेरिका में अप्रैल में बेरोजगारी दर 14.7 प्रतिशत थी, जो 1948 के बाद से सर्वाधिक थी। अब 25 लाख नए रोजगार बढ़ने के साथ मासिक दर मई में घटकर 13.3 प्रतिशत हो गई। अमेरिका में मार्च और अप्रैल में करीब 2.2 करोड़ लोगों की नौकरियां चली गईं, जब देश के अधिकतर हिस्सों में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लगा था। मई में कुछ कारोबार फिर से खुले और उन्होंने कर्मचारियों की भर्ती पुन: शुरू की।ट्रंप ने रोजगार की संख्या को अपने प्रशासन के अच्छे कामकाज की पुष्टि करार दिया।


उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘अमेरिकी अर्थव्यवस्था आश्चर्यजनक तरीके से अच्छा प्रदर्शन कर रही है। मैं कहूंगा कि जो संख्या सामने आ रही है वह रिकॉर्ड बनाने वाली है।


दुनिया में 90 लाख से ज्यादा संक्रमित

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में अब तक 90 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं इस संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा चार लाख 69 हजार के पार पहुंच गया है। हालांकि, इस वायरस ने सबसे ज्यादा तबाही अमेरिका में मचाई है। यहां इस महामारी से अब तक एक लाख 22 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गवां चुके हैं।


कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में पिछले 24 घंटे में 3338 से ज्यादा मौतें हुईं हैं। वहीं पिछले एक दिन में एक लाख 30 हजार से ज्यादा लोग संक्रमण का शिकार हुए हैं। हालांकि, एक अच्छी खबर यह है कि दिन-प्रतिदिन कोरोना से ठीक होने वाले मरीज़ों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। पूरी दुनिया में अब तक इस संक्रमण से 48 लाख 33 हजार 574 लोग ठीक हो चुके हैं। अमेरिका इस वक्त पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का एपिसेंटर बना हुआ है। इस संक्रमण से यहां अब तक 23 लाख 56 हजार 655 लोग संक्रमित हो चुके हैं। अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। पिछले एक दिन में यहां 26 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए हैं। वहीं लगभग 200 से ज्यादा लोगों की मौत भी हुई है। अमेरिका के बाद ब्राजील दूसरा देश हैं, जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 10 लाख के पार है। ब्राजील में इस महामारी से अब तक 50 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।


जगन्नाथ पुरी यात्रा को मिली हरी झंडी

नई दिल्ली। 23 जून से शुरू होने वाली ऐतिहासिक जगन्नाथपुरी रथयात्रा को लेकर शीर्ष अदालत ने हरी झंडी दिखा दी है. कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ यात्रा को इस साल भी निकालने की अनुमति दे दी है।आदेश में कहा गया है कि कुछ शर्तों के साथ केंद्र और राज्य सरकार इस रथयात्रा के लिए कोविड-19 के गाइडलाइंस के तहत इंतजाम करेंगी। कोर्ट ने कहा कि वो स्थिति को ओडिशा सरकार के ऊपर छोड़ रहा है। अगर यात्रा के चलते स्थिति हाथ से बाहर जाते हुए दिखती है, तो सरकार यात्रा पर रोक भी लगा सकती है। कोर्ट ने यह भी कहा कि कोलेरा और प्लेग के दौरान भी रथ यात्रा सीमित नियमों और श्रद्धालुओं के बीच हुई थी। मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस एस ए बोबडे की अध्यक्षता वाली तीन जजों वाली बेंच ने की। चीफ जस्टिस बोबडे ने कहा कि इस मामले में कोर्ट लोगों की सेहत के साथ समझौता नहीं कर सकता।
आपको बता दें कि 18 जून को इस मामले में हुई सुनवाई में आदेश दिया था कि जनस्वास्थ्य और नागरिकों की सुरक्षा के हित में पुरी में इस साल रथयात्रा की अनुमति नहीं दी जा सकती और ‘अगर यदि हम अनुमति देते हैं तो भगवान जगन्नाथ हमें क्षमा नहीं करेंगे। रथयात्रा 23 जून से शुरू होनी है और इसके बाद एक जुलाई को ‘बहुदा जात्रा’ (रथयात्रा की वापसी) शुरू होनी है। आदेश के एक दिन बाद कुछ लोगों ने न्यायालय में याचिका दायर कर आदेश को निरस्त करने और इसमें संशोधन का आग्रह किया था।


गाजियाबाद पुलिस के नए निर्देश जारी

गाजियाबाद पुलिस ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए एक बार फिर से कुछ निर्देश जारी किए हैं|

अकरम सैफी

गाजियाबाद। इसके तहत चार पहिया वाहन में ड्राइवर के अलावा दो व्यक्तियों को ही चलने की अनुमति है|अगर परिवार में बच्चे हैं|तो दो बच्चों तक अतिरिक्त अनुमति है|बाइक सवार व्यक्तियों को अकेले चलने की अनुमति है|यदि महिला सवारी पीछे बैठी है|तो उसे भी अनुमति होगी लेकिन बाइक सवार सभी लोगों को हेलमेट पहनना और सभी के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा|

वहीं थ्रीव्हीलर वाहन में ड्राइवर के अतिरिक्त दो व्यक्तियों को ही चलने की अनुमति है|वहीं दूसरी ओर एसएसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर कोविड19, अधिनियम ओर मोटर वाहन अधिनियम के तहत गाजियाबाद में बड़ी कार्रवाई करते हुए|2950,वाहनों के चालान किए गए|करीब,573300,रुपए वसूल किए गए हैं|वहीं बिना मास्क वाले,1622,व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए|162200 रुपए जुर्माना वसूला गया है| इसके साथ एसएसपी ने सभी एसएचओ और आलाधिकारियों को लाॅकडाउन का पूर्णरूपेण पालन कराने व उल्लंघन करने वाले व्यक्ति,वाहनों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश जारी किया है|

धरने पर पांडे ने गाली-गलौज कर भगाया

ममता जाटव व सन्नी मित्रा क्षेत्र अधिकारी कार्यालय में बैठे धरने पर राजकुमार पांडे ने गाली गलौज कर भगाया

 अकाशुं उपाध्याय

गाजियाबाद। भाजपा नेता व लोनी नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन मनोज धामा के द्वारा किए गए सन्नी मित्रा पर व उसकी चाची पर हमले के बाद बॉर्डर थाने में एससी एक्ट का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी गिरफ्तारी न होने की बात को लेकर धरने पर बैठे वही ममता जाटव मनोज धामा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लोनी क्षेत्र अधिकारी ऑफिस में धरने पर बैठे इस दौरान लोनी क्षेत्र अधिकारी राजकुमार पांडे द्वारा हमारे साथ गाली गलौज व बदतमीजी की गई गाजियाबाद अधिक्षक व वरिष्ठ अधिकारियों से विनती है कि मामले को संज्ञान में लें व ऐसे अधिकारी को जिससे महिलाओं से बात करने की तमीज ना हो कानूनी कार्रवाई की जाए।

धूप मे खड़ी कार, दो बच्चों की मौत हुई

मुरादाबाद में धूप में खड़ी कार कार में बंद 4 बच्चों में दो की जान गई

 

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक दुखद घटना 4 बच्चों ने गलती से खुद को कार में बंद कर लिया। इन बच्चों में दो कि दम घुटने से मौत हो गई, बाकी दो गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराए गए यह घटना मुरादाबाद जिले के मुंधा पांडे थाना अंतर्गत वीरपुर इलाके में हुई रविवार को इस परिवार ने दूसरी कार खरीदी थी।

सोमवार दोपहर बच्चों ने कार को अनलॉक कर दिया रिपोर्ट के अनुसार बच्चों ने अपने आप को कार के अंदर अनलॉक कर लिया काफी देर बाद परिवार ने बच्चों को ढूंढना शुरू कर दिया कुछ देर बाद कार में बच्चे पढ़े दिखाई दिए जिन्हें आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया अस्पताल में दो बच्चों को मृत घोषित कर दिया जबकि दो का इलाज चल रहा है। मृतक में मोह अल्ताफ 5 वर्ष जबकि  अब सर रजा 7 वर्ष है।  जबकि मोहम्मद आफताब 6 मोहम्मद शब्बीर 4 गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है।

राजस्थान में 24 रूटों पर बस संचालन

प्रदेश की लाइफ लाइन कहे जाने वाली रोडवेज बसों का संचालन हुआ शरू


कोरोना महामारी के चलते लॉक डाउन लगाया गया   


लेकिन अब अनलॉक कर दिया गया है   


जयपुर। अगर बात करे अजमेर की तो अब तक अजमेर से कुछ ही रूट ओर बसों का संचालन किया जा रहा था लेकिन आज से करीब 34 रूटों पर बसों का संचालन हो रहा है । अजमेर रोडवेज प्रबंधक अनिल पारीक ने जानकारी देते हुए बताया कि आज से अजमेर रोडवेज बस स्टैंड से 34 रूटों पर बसों का संचालन शुरू हो चुका है जो एक दिन में करीब 128  राउंड लगाए जाएंगे।  पहले आम दिनों में अजमेर के तीनों डिपो से करीब 30 लाख रुपये की आमदनी हुआ करती थी लेकिन इस समय सिर्फ 5 लाख रुपये ही हो रही है । आज से नए रूट पर बसों के  संचालन शुरू होने से आमदनी अब ओर होने लगेगी ।  बसों की कैपिसिटी के हिसाब से ही यात्रियों को बैठा रहे है ओर सभी यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है और मास्क ओर सेनिटाइजर किया जा रहा है उसके बाद ही बस स्टैंड परिसर में प्रवेश दिया जा रहा है


भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा पीएम का सपना

भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा पीएम का सपना "मनरेगा"

शौचालय आवास मनरेगा के तहत जमकर हुआ घोटाला

कलवारा गांव में जमकर हुआ भ्रस्टाचार, तस्वीरे कर रही बया

चित्रकूट(सुरेन्द्र सिंह कछवाह)। पूरा मामला उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जनपद के पहाड़ी ब्लाक के अंतर्गत आने वाली ग्राम सभा कलवारा गांव का है जहां सरकारी योजनाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई दरअसल इस ग्राम सभा में शौचालय आवास मनरेगा के तहत जमकर घोटाला हुआ इतना ही नहीं ग्रामसभा अंतर्गत आने वाले किसी भी छोटे बड़े कार्य को सिर्फ कागजों पर ही दर्शाया गया जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन से एक आध बार की लेकिन कोई कार्यवाही न होने से ग्रामीण मयूश हो गए।

पीएम का सपना है कि हर घर पर शौचालय का निर्माण हो हर व्यक्ति के पास अपना खुद का मकान हो गांव स्तर पर ही मनरेगा के तहत कार्य होता रहे जिससे मजदूर बाहर मजदूरी करने के लिए ना जाए लेकिन ग्राम सभा कलवारा की इन तस्वीरों से आप देख सकते हैं कि सरकारी योजनाओं को किस प्रकार से भ्रष्टाचार की भेंट पर चढ़ा दिया गया है। आधे अधूरे बने शौचालय और शौचालय के अंदर रखे हुए कंडों से आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि किस प्रकार से यहां विकास हुआl

 

ग्रामीणों का आरोप है कि ग्राम सभा में जितने भी कार्य आते हैं प्रधान व सचिव के द्वारा कमीशन खोरी के तहत कागजों पर ही निर्माण करा दिया जाता है आवास और शौचालय पर जब हम ग्रामीणों ने प्रधान व सचिव को कमीशन नहीं दिया तो सब कुछ अधूरा ही रह गया ।

लेकिन अधिकारियों के द्वारा न ही मनरेगा पर और न ही शौचालय पर किसी भी प्रकार की आजतक कोई जांच नही हुई है। जिससे भ्रस्टाचार चरम पर है।

आखिर कार भ्रस्टाचार अपनी जड़ें जमा ली और जनता हाथ मलती रही।

सचनीय बात यह है क्या सफेद नकाबपोश और नौकरशाहों के सह पर हो रहा है भ्रस्टाचार...?

रिपोर्ट-ठा0 सुरेन्द्र सिंह कछवाह 

 

पुलिस ने किया घटना में गिरोह का भंडाफोड़

अतुल त्यागी(मेरठ मंडल प्रभारी)

चोरी की घटना को अंजाम देने वाले गिरोह किया हापुड़ पुलिस ने भंडाफोड़

हापुड़। उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड के सिटी कोतवाली क्षेत्र के कोठी गेट स्थित बफर जॉन एरिया सिटी कोतवाली से 10 कदम की दूरी पर दो दिन पूर्व हुई खरबंदा गारमेंट्स शोरूम की दीवार काटकर चोरी का पुलिस ने आज  खुलासा कर दिया है। पुलिस ने चोरों के कब्जे से दुकान से चुराई  LCD व चार थैलों में भरे कीमती कपड़ों सहित तीन चोरों को  गिरफ्तार किया है। पकड़े गए तीनों शातिर चोरों पर जनपद के अलग अलग थानों में करीब 10 मुकदमे दर्ज। 

वीओ - आपको बता दें कि सिटी कोतवाली के कोठी गेट स्थित कोतवाली से महज 10 कदम की दूरी पर कपड़े के शोरूम में 2 दिन पूर्व हुई चोरी के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। कोतवाली से चंद कदम की दूरी पर हुई चोरी के बाद पुलिस की काफी फजीहत हुई। पुलिस ने इस मामले में आज तीन शातिर  चोरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन शातिर चोरों के कब्जे से चाकू व शटर तोड़ने के औजार सहित चोरी की हुई एल सी डी व कीमती कपड़े बरामद किये है। वहीं पुलिस ने बताया के तीनों शातिर चोरों पर जनपद के अलग अलग थानों में करीब 10 मुकदमे दर्ज हैं। पकड़े गए तोनों शितर चोर राहुल,अभिषेक व तरुण हापुड के ही रहने वाले है और काफी दिनों से ऐसी ही घटनाओं को अंजाम दे रहे थे।

 

बाईट - सर्वेश कुमार मिश्र (एएसपी हापुड़)

पुतला फूंका, चीन के विरोध में लगाए नारे

चीन के राष्ट्रपति का पुतला फूंका. लगाएं चीन के विरोध में जमकर नारे. कपिल पांचाल

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद/लोनी। भारतीय जनता पार्टी के दिनेश सिंघल जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में व प्रशांत कुमार मंडल अध्यक्ष के अध्यक्षता में मंडल मंत्री कपिल पांचाल मंडल मंत्री डॉ० रवीश शर्मा ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ चीन के राष्ट्रपति शी.जिनपिंग के पुतले को लेकर मैंन मंगल बाजार पूजा कॉलोनी से होकर पुस्ता चौकी चौराहे पर चीन के राष्ट्रपति शी.जिनपिंग का पुतला फूंकते हुवे चीन के खिलाफ प्रदर्शन करते हुवे चीन मुर्दाबाद के नारे लगाए एवं भाजपा कार्यकर्ताओं एवं युवाओं में काफी रोष नजर आया। भाजपा नेता कपिल पांचाल मंडल मंत्री डॉ रवीश शर्मा मंडल मंत्री ने कहा की जिस प्रकार चीन ने भारत के सैनिकों को धोखे से मारा है ऐसी हरकतो को बर्दाश नहीं किया जायेगा। इस समय भारत का एक-एक जवान भारतीय सेना के साथ खड़ा है। बहादुर जवान अपने देश की सिमा पर दिन रात रक्षा करते है तभी पूरा देश चैन की नींद शो पाता है देश का एक एक युवा भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी से निवेदन करते है हमारे सैनिकों द्वारा चीन को जल्द से जल्द घर में घुस कर मारने के आदेश पारित किए जाए। एवं चीनी समान का पूरी तरह से बहिष्कार करने की अपील करते हुए। भारत माता की जय.वदे मात्रम.हिन्दुस्तान जिंदाबाद.के नारे लगाते हुए वही शहीद सैनिको को भावपूर्ण श्रद्धाजलि दी व दो मिनट का मुलधारण किया।

इस मौके पर डॉ रवीश शर्मा कपिल पांचाल राजीव पंडित विजय गोले आर्येन्द्र शर्मा रामचन्द्र चौहान सतीश कडेरा जयपाल चौहान शिवा चोरिसिया आर एन मौर्या गौरव पांचाल मयंक त्यागी कमल शास्त्री तरुण कश्यप हिमांशु गुप्ता योगेन्द्र कुमार लवीश कुमार बबलू सोनू कपिल सिसोदिया राधेश्याम इमरान खान काले खान कमल गुप्ता राजू कश्यप जितेन्द्र गिरी शिवम भारद्वाज राम प्रताप तिवारी आदि मौजूद रहे।

शिक्षक भर्तीः सरकारी नीति पर उठे सवाल

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)

हरेन्द्र (रिपोर्टर धौलाना)

स्लग - सरकार की नीतियों पर सवाल कर 69 हजार शिक्षक की भर्ती पर एसडीम को सौंपा ज्ञापन

हापुड़। उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ के सिटी कोतवाली क्षेत्र के एसडीएम कार्यालय पहुंच पूर्व विधायक गजराज सिंह के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने शहर कांग्रेस कमेटी हापुड़ के बैनर तले सदर एसडीएम को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। आपको बता दे कि सिटी कोतवाली क्षेत्र के नगरपालिका परिषद स्थित कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने एसडीएम कार्यालय पहुँचकर एसडीएम सत्य प्रकाश सिंह को ज्ञापन सौंपते हुए 69 हजार शिक्षक भर्ती में घोटाले को लेकर व पूर्ण रुप से सही तरीके से जांच कराने की मांग की है। वही पशुपालन विभाग में हुए घोटाले की जांच के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एसडीएम कार्यालय पर पहुंच एक ज्ञापन सौंपा है। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अभिषेक गोयल ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष प्रियंका गांधी ने 69 हजार शिक्षक भर्ती में हुए घोटाले को लेकर सही तरीके से मांग उठाते हुए कहा कि घोटाले बाजों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर पूर्ण रूप से कार्यवाही होनी चाहिए वही पशुपालन विभाग में हुये घोटाले की उच्च न्यायालय स्तरीय जांच की मांग की है।

लॉकडाउनः 62 दिन गरीब जला का चूल्हा

अकाशुं उपाध्याय

गाजियाबाद। लोनी क्षेत्र के सर्वसमाज से आये बडे -बुजुर्गों ने मनोज धामा का पगडी पहनाकर स्वागत किया तथा क्षेत्र के सर्वसमाज की तरफ से आभार प्रकट किया। 

इस अवसर पर सभी के दूारा मनोज धामा को फूल-माला पहनाकर एवं पगडी पहनाकर जोरदार स्वागत किया तथा कोरोना काल के संकटकाल मे जिस प्रकार से रात-दिन मनोज धामा ने जनसेवा का कार्य किया है उसके लिये मिठाई खिलाकर आभार प्रकट किया। आपको जानकारी देते चले कि कोरोना काल के दौरान लगातार 62 दिनों तक लोनी के पूर्व चैयरमैन मनोज धामा व वर्तमान नगरपालिका अध्यक्ष रंजीता धामा ने बिना किसी सरकारी सहायता के निजी धनराशि से लगातार 62 दिनों तक "गरीब का चूल्हा" अपनी रसोई से लोनी के एक बडे जरूरतमंद वर्ग तक दोनों समय का भोजन पंहुचाया । 

इस अवसर पर पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मनोज धामा ने सभी बडे -बुजुर्गों का उनके पैर छूकर आशीर्वाद लिया तथा सभी ने मनोज धामा के सर पर हाथ रखकर अपने दिल से आशीर्वाद दिया।  इस अवसर पर पंडित ओमप्रकाश शर्मा जी ने सभी को संबोधित करते हुये कहा कि मनोज धामा हमारी लोनी के सर्वसमाज की एक शान है जो कि हर सुख-दुख की घडी मे पिछले कई वर्षों से लगातार हर समय लोनी की जनता के साथ खडे रहते हैं हमे गर्व है कि मनोज धामा एक नि:संदेह सर्वसमाज के प्रिय नेता है जो कि हमेशा गरीब व जरूरतमंद व्यक्ति के साथ खडे रहते हैं लेकिन कुछ लोग लोनी मे मनोज धामा से राजनीतिक ईष्या रखने लगे हैं लेकिन लोनी की जनता सच को जानती है तथा संघर्ष करके स्वयं को लोनी का लाडला बनाने वाले मनोज धामा के साथ हमेशा एक अडिग दीवार की तरह उन लोगों के सामने खडी रहती है। 

कुछ लोग मनोज धामा को बदनाम करने का कार्य कर रहे हैं लेकिन हम सभी को मनोज धामा की कार्यशैली एवं व्यवहार को बहुत नजदीक से जानते हैं उन लोगों का षड्यंत्र कभी नहीं कामयाब नही होगा। 

और आने वाले समय मे लोनी की जनता ऐसे लोगों का बहिष्कार करेगी जो इस तरह के कार्यो मे लगे हुये हैं हम सभी का आशीर्वाद मनोज धामा के साथ हैं आने वाले समय मे मनोज धामा हमारी लोनी मे एक बडी राजनीति के वाहक होंगे। इस अवसर पर पंडित कलीराम शर्मा, रमेश शर्मा, देवेन्द्र भारद्वाज, सतीश शर्मा, रिछपाल चौधरी,हरबीर धामा, सुधीर चौधरी, संतराम सैनी,सुरेश क्श्यप, सुरेन्द्र कश्यप, ठाकुर देवेन्द्र सिंह, नरेन्द्र ठाकुर, राजीव त्यागी, अजयपाल त्यागी, ओमप्रकाश सैनी, जयभगवान पाल,मांगेराम वाल्मिकी, नन्दकिशोर कश्यप, शक्ति वाल्मिकी, सभासद सतपाल शर्मा, बबलू शर्मा, अमित तोमर, रूपेन्द्र चौधरी, राजीव शर्मा सहित सैकड़ों की संख्या मे सर्वसमाज के व्यक्ति उपस्थित रहे।

व्यक्ति द्वारा महिला की चाकू मारकर हत्या

थाना टीला मोड़ क्षेत्रांतर्गत तुलसी निकेतन में हुई महिला की हत्या का 20000/- का इनामी मुख्य अभियुक्त सहित दो अन्य शरणदाता गिरफ्तार

अब तक कुल 6 अभियुक्त गिरफ्तार

 

तुलसी निकेतन। विदित है कि  दिनांक  17/06/2020 की  शाम को चौकी तुलसी निकेतन थाना टीला मोड़ क्षेत्रांतर्गत  एक व्यक्ति द्वारा एक महिला की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। 

घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री कलानिधि नैथानी द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर के निर्देशन में दो टीमें क्षेत्राधिकारी नगर प्रथम व क्षेत्राधिकारी नगर चतुर्थ के नेतृत्व में गठित की गई थी साथ ही जनपद की क्राइम ब्रांच को भी अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु सक्रिय किया गया था । टीमों के अथक प्रयास से पूर्व में अभियुक्त का साथ देने वाले तीन अभियुक्त आसिक उर्फ आसिज,  सलमान उर्फ आलू व आमिर चौधरी को 18/06/2018 को गिरफ्तार कर जेल* भेजा जा चुका है तथा मुख्य अभियुक्त शेर खान उर्फ शेरू को आज टीमों के अथक प्रयास से थाना क्षेत्र से ही उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह अपना ठिकाना बदलने के लिए अपने भाई इमरान व बहनोई रिजवान के साथ हर्ष विहार से पंचशील कॉलोनी जा रहा था उक्त आरोपी को  संरक्षण देने व गिरफ्तारी से बचाने के लिए  बाधा उत्पन्न करने के आरोप में  अभियुक्त के भाई इमरान व बहनोई रिजवान को भी गिरफ्तार किया गया है। उक्त प्रकरण में अब तक  6 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है  , अभियुक्त की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त  चाकू भी बरामद किया गया है। उक्त हत्या की घटना के खुलासा व अभियुक्तों की गिरफ्तारी पर  एसएसपी द्वारा  पुलिस टीम को ₹20000/- का नकद इनाम*  घोषित किया गया है।

दो जिंदा कारतूस, चाकू नायाजाज बरामद

अकाशुं उपाध्याय

गाजियाबाद। थाना फेस-3 नोएडा की पुलिस द्वारा चार शातिर लूटेरे अपराधी गिरफ्तार जिनके कब्जे से लूटे गये 57 हजार 200 रूपये नकद एवं 28 मोबाईल फोन लूट/चोरी व दो अदद मो0सा0 घटनाओ में प्रयुक्त व एक अदद तमंचा 12 बोर मय 03 जिन्दा कारतूस 12 बोर व एक अदद तमंचा 315 बोर मय दो जिन्दा कारतूस 315 बोर व दो अदद चाकू नाजायज बरामद 


श्रीमान पुलिस आयुक्त महोदय जनपद गौतम बुद्ध नगर द्वारा चलाये जा रहे निरन्तर चलाये जा रहे तलाश वाछिंत चैकिंग अभियान एंव श्रीमान पुलिस उपायुक्त महोदय के कुशल निर्देशन व श्रीमान सहायक पुलिस आयुक्त के निकट परिवेक्षण में थाना फेस 3 नोएडा की पुलिस द्वारा दिनांक 22.06.2020 को दौराने चैकिंग पर्थला गोल चक्कर के पास से चार शातिर लूटेरे अपराधियो 1. सन्नी धामा पुत्र सूरज धामा निवासी ग्राम निवाली थाना कोतवाली बागपत जिला बागपत हाल पता ग्राम इलाबास थाना फेस 2 जनपद गौतमबुद्धनगर व सी 32 जनकपुरी साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद 2. सूरज शर्मा पुत्र श्रीमती निधी शर्मा निवासी म0न0 177 , गली नं. 8 , ए ब्लाक जनकपुरी साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद 3. अरूण कुमार पुत्र देवीराम निवासी डी 137 गगन बिहार थाना टीला मोड़ जनपद गाजियाबाद 4. सोनू उर्फ रितिक पुत्र अनिल कुमार राघव निवासी ग्राम रिवाड़ा थाना शिकारपुर जनपद बुलन्दशहर हाल पता गली नं. 6 रेलवे रोड दादरी थाना दादरी जनपद गौतमबुद्धनगर को समय करीब 09.00 बजे मय लूटे व चोरी गये माल के गिरफ्तार किया गया । जिनके कब्जे से एक अदद तमंचा 12 बोर मय 03 जिन्दा कारतूस 12 बोर व एक तमंचा 315 बोर मय 02 जिन्दा कारतूस 315 बोर व दो अदद चाकू नाजायज व 28 अदद मोबाईल लूटे/चोरी के व दो मोटर साइकिले लूट की घटनाओ में प्रयुक्त एवं लूट के 57 हजार 200 रूपये नकद बरामद हुये । जिनके सम्बन्ध में थाना हाजा पर मु0अ0स0 419/2020 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट , मु0अ0स0 420/2020 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट , मु0अ0स0 421/2020 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट व 422/2020 धारा 411/414 भादवि अभियुक्तगण उपरोक्त के विरुद्ध पंजीकृत किये गये । अभियुक्तगण शातिर किस्म के अपराधी लूटेरे है जो एनसीआर क्षेत्र व आस पास के क्षेत्रो में लूट व चोरी  की घटनाये कारित करते है । अभियुक्तगण को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है । गिरफ्तारी एंव बरामदगी का विस्तृत विवरण निम्नवत हैं ।

गिरफ्तार अभियुक्तो का विवरणः-

1. सन्नी धामा पुत्र सूरज धामा निवासी ग्राम निवाली थाना कोतवाली बागपत जिला बागपत हाल पता ग्राम इलाबास थाना फेस 2 जनपद गौतमबुद्धनगर व सी 32 जनकपुरी साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद 

2. सूरज शर्मा पुत्र श्रीमती निधी शर्मा निवासी म0न0 177 , गली नं. 8 , ए ब्लाक जनकपुरी साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद 

3. अरूण कुमार पुत्र देवीराम निवासी डी 137 गगन बिहार थाना टीला मोड़ जनपद गाजियाबाद 

4. सोनू उर्फ रितिक पुत्र अनिल कुमार राघव निवासी ग्राम रिवाड़ा थाना शिकारपुर जनपद बुलन्दशहर हाल पता गली नं. 6 रेलवे रोड दादरी थाना दादरी जनपद गौतमबुद्धनगर 

बरामदगी का विवरणः-

• एक अदद तमंचा 12 बोर मय 03 जिन्दा कारतूस 12 बोर 

• एक तमंचा 315 बोर मय 02 जिन्दा कारतूस 315 बोर 

• दो अदद चाकू नाजायज 

• 28 मोबाईल लूट/चोरी के

• दो अदद मो0सा0 KTM DUKE रंग ओरेन्ज व अपाचे रंग सफेद

• कुल 57 हजार 200 रूपये नकद

अभि0 सन्नी धामा उपरोक्त का आपराधिक इतिहास

1. मु0अ0सं0 971/19 धारा 392 भादवि थाना फेस 2 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

2. मु0अ0स0 962/19 धारा 392 भादवि फेस 2 जनपद गौतमबुद्धनगर

3. मु0अ0स0 965/19 धारा 147/148/149/332/342/353  भादवि थाना फेस 2 जनपद गौतमबुद्धनगर

4. मु0अ0स0 717/16 धारा 379 भादवि थाना कविनगर जनपद गाजियाबाद

5. मु0अ0स0 876/16 धारा 379/411/414/420 भादवि थाना कविनगर जनपद गाजियाबाद

6. मु0अ0स0 1758/19 धारा 414 भादवि थाना कविनगर जनपद गाजियाबाद

7. मु0अ0स0 1630/19 धारा 356 भादवि थाना कविनगर जनपद गाजियाबाद

8. मु0अ0स0 1118/15 धारा 379 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

9. मु0अ0स0 1125/15 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट व 41/102 सीआरपीसी व धारा 411/414 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

10. मु0अ0स0 1119/15 धारा 379 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

11. मु0अ0स0 3533/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

12. मु0अ0स0 2980/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

13. मु0अ0स0 3550/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

14. मु0अ0स0 2579/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

15. मु0अ0स0 2581/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

16. मु0अ0स0 1690/19 धारा 356 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

17. मु0अ0स0 374/2020 धारा 392/506 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

18. मु0अ0स0 419/2020 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

19. मु0अ0स0 423/2020 धारा 411/414 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

20. मु0अ0स0 482/2020 धारा 392/411 भादवि थाना सै0 20 जनपद गौतमबुद्धनगर

 

अभि0 सूरज शर्मा उपरोक्त का आपराधिक इतिहास

1. मु0अ0स0 374/2020 धारा 392/506 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

2. मु0अ0स0 420/2020 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

3. मु0अ0स0 423/2020 धारा 411/414 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

 

अभि0 अरूण कुमार उपरोक्त का आपराधिक इतिहास

1. मु0अ0स0 374/2020 धारा 392/506 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

2. मु0अ0स0 421/2020 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

3. मु0अ0स0 423/2020 धारा 411/414 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

 

अभि0 सोनू उर्फ रितिक उपरोक्त का आपराधिक इतिहास

1. मु0अ0स0 374/2020 धारा 392/506 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

2. मु0अ0स0 422/2020 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

3. मु0अ0स0 423/2020 धारा 411/414 भादवि थाना फेस 3 नोएडा जनपद गौतमबुद्धनगर

4. मु0अ0स0 482/2020 धारा 392/411 भादवि थाना सै0 20 जनपद गौतमबुद्धनगर

5. मु0अ0स0 1119/15 धारा 379 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

6. मु0अ0स0 3533/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

7. मु0अ0स0 2980/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

8. मु0अ0स0 3550/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

9. मु0अ0स0 2579/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

10. मु0अ0स0 2581/18 धारा 392 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

11. मु0अ0स0 1690/19 धारा 356 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

12. मु0अ0स0 003/2019 धारा 392/411 भादवि थाना इन्द्रापुरम जनपद गाजियाबाद

13. मु0अ0स0 1233/19 धारा 307 भादवि थाना इन्द्रापुरम जनपद गाजियाबाद

14. मु0अ0स0 224/2020 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

15. मु0अ0स0 227/2020 धारा 411/414 भादवि थाना साहिबाबाद जनपद गाजियाबाद

 

गिरफ्तार करने वाली टीम

• उ0नि0 श्री वरूण पवांर 

• उ0नि0 श्री सुमित कुमार

• उ0नि0/यू0टी0 उदित सिंह

• है0का0 584 कमलेश मिश्रा

• है0का0 724 राजेश

• है0का0 695 सुनील

• है0का0 670 जोगेन्द्र सिंह 

• का0 675 वरूण चौधरी

• का0 2616 मोहित

• का0 49 आशीष बालियान

• का0 1537 आशीष कुमार

• का0 2365 रवि सहरावत, थाना फेस-3 नोएडा गौतमबुध नगर।

कोरोना से बचने को मास्क का वितरण

ग्रामीणों को बरसात से बचने को छाता तो कोरोना से बचने को मास्क का हुआ वितरण

 

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। समाजवादी पार्टी अल्पसंख्यक सभा के निर्वतमान महानगर अध्यक्ष शाहिद प्रधान द्वारा ग्रामीण महिलाओं व पुरुषों को बरसात के मौसम में बचाव हेतू छाते का वितरण किया गया।सोशल डिस्टेन्स का पालन कराते हुए सभी को एक एक मास्क दिया गया और एक मीटर की दूरी बना कर तक़रीबन १५० महिला व पुरुषों को छाता बाँटा गया।छाता वितरण से पहले कार्यक्रम स्थल को सैनिटाईज़्ड किया गया और प्रत्येक महिला व पुरुषों के हाथों को सैनिटाईज़र से हाँथों को सैनिटिईज़्ड किया गया।शाहिद प्रधान ने कोरोना के बढ़ते प्रभाव से ग्रामीणों को सचेत रहने के लिए हमेशा साफ सफाई पर ध्यान देने और हमेशा मास्क लगाने के लिए प्रेरित किया।महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने बताया की शाहिद प्रधान द्वारा छाता और मास्क का वितरण पहले शहर के अतरसुईय्या स्थित रानी मण्डी से शुरु हुआ फिर ग्रामीण इलाक़ों में ज़रुरतमन्दों के बीच छाता वितरित किया गया।कार्यक्रम में घन्शयाम प्रजापति,गौरी शंकर भारतीय,नोखे लाल,ज़ामिन अब्बास,अब्दुल नईम,फरहत अब्बास,नफीस अन्सारी,सै०मोहसिन अब्बास,सूफी हसन,अजय भारतीय,कल्लो देवी,सुनीता देवी,शान्ति देवी,रामकली भारतीया,शैज़ी आदि शामिल रहे।

पटना में बदमाशों ने लूट को दिया अंजाम

पटना। बिहार में अपराधियों का खौफ कम नहीं हो रहा है। अब राजधानी पटना में बदमाशों ने बड़ी लूट को अंजाम दिया है। बदमाशों ने हथियारों का भय दिखाकर पंजाब नेशनल बैंक से 60 लाख रुपये लूट लिये। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। लूट की यह बड़ी घटना अनिसाबाद स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में हुई है। सूचना पाकर पुलिस आनन-फानन में घटनास्‍थल पर पहुंच गई है। इसके साथ ही एसएसपी उपेंद्र शर्मा भी मौके पर पहुंच गए हैं। 





जानकारी के अनुसार, पटना के अनीसाबाद स्थित पंजाब नेशनल बैंक से बदमाशों ने दिनदहाड़े 60 लाख की डकैती की कर ली। बताया जाता है कि बंदूक की नोक पर बदमाशों ने बैंक के गार्ड और कर्मियों को बंधक बनाकर घटना को अंजाम दिया है। इसके बाद बदमाश आसानी से फरार हो गये। मौके पर पुलिस पहुंचकर बैंककर्मियों से घटना की जानकारी ले रही है। खुद मौके पर एसएसपी उपेंद्र शर्मा भी पहुंचे हुए हैं।

1962 का नहीं 2020 का 'भारत' है


चीन पर गरजे रविशंकर प्रसाद, बोले- याद रखना.. यह 1962 का नहीं 2020 का भारत है


नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में लंबे समय से जारी तनातनी के बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि चीन को याद रखना चाहिए कि 2020 है, 1962 नहीं।उन्होंने कहा कि आज के भारत की अगुआई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे साहसी नेता के हाथ में है। भारत की तरफ आंख उठाने वाले उरी और बालाकोट में अपना हश्र देख चुके हैं।



रविशंकर प्रसाद ने हिमाचल जन संवाद वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि भारत शांतिपूर्ण तरीके से विवादों का हल चाहता है। लेकिन भारत की तरफ कोई आंख उठाकर नहीं देख सकता है। उन्होंने कहा, ‘आज का भारत 2020 का भारत है, 1962 का नहीं। आज भारत का नेतृत्व नरेंद्र मोदी जैसे साहसिक नेता के हाथ में है, काग्रेस के नेताओं के हाथ में नहीं। उल्लेखनीय है कि भारत को 1962 में चीन के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था। चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स ने पूर्वी लद्दाख में दोनों सेनाओं के बीच चल रही तनातनी के बीच भारत को 1962 के युद्ध की याद दिलाई थी। दोनों देशों के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर तनाव कम करने के लिए सैन्य स्तर पर कई बातचीत हो चुकी हैं। 6 जून को लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की वार्ता के बाद चीन के तेवर कुछ नरम पड़े हैं लेकिन अब भी वह पुरानी स्थिति में लौटने को तैयार नहीं है।


राहुल गांधी को जवाब

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार से चीन सीमा पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा था। इस पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी वही व्यक्ति हैं जिन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक के भी सबूत मांगे थे।


उन्होंने कहा कि चीन से मुद्दे पर ट्विटर पर सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को यह समझना चाहिए कि चीन जैसे अतंरराष्ट्रीय मसलों पर ट्विटर पर सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए। उन्होंने कहा, ‘ये वही राहुल गांधी हैं जिन्होंने बालाकोट एयरस्ट्राइक और 2016 में उड़ी हमले पर सवाल पूछे थे।’लेफ्टिनेंट जनरल नितिन कोहली, लेफ्टिनेंट जनरल आरएन सिंह और मेजर जनरल एम श्रीवास्तव समेत 9 पूर्व आर्मी अफसरों ने भी एक बयान जारी कर राहुल गांधी के बयानों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। इसमें कहा गया, ‘हम सीनियर आर्म्ड फोर्सेज वेटरंस के समूह के तौर पर गलत सोच से प्रभावित और गलत वक्त में दिए गए राहुल गांधी के बयानों और उनके ट्वीट्स की कड़ी निंदा करते हैं जिनके जरिए राहुल ने भारत-चीन सीमा विवाद से निपटने को लेकर हमारी सेना और सरकार पर सवाल उठाए हैं




कोरोना की दवा ₹130 की एक गोली


कोरोना के इलाज के लिए आई दवाई, 103 रुपये की है 1 गोली


मुंबई। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोविड-19 (Covid-19) से मामूली रूप से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर को फैबिफ्लू ब्रांड नाम से पेश किया है। कंपनी ने शनिवार को यह जानकारी दी। मुंबई की कंपनी ने शुक्रवार को कहा था कि उसे भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीजीसीआई) से इस दवा के निर्माण और मार्केटिंग की अनुमति मिल गई।



भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना मरीज

कंपनी ने कहा कि फैबिफ्लू कोविड-19 के इलाज के लिए फेविपिराविर दवा है, जिसे मंजूरी मिली है। ग्लेमार्क फार्मास्युटिल्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, ‘यह मंजूरी ऐसे समय मिली है जबकि भारत में कोरोना वायरस के मामले पहले की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ रहे हैं। इससे हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दबाव में है।’ उन्होंने उम्मीद जताई कि फैबिफ्लू जैसे प्रभावी इलाज की उपलब्धता से इस दबाव को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी।


कोरोना के हल्के पीड़ितों पर कारगर

सल्दान्हा ने कहा कि क्लिनिकल परीक्षणों में फैबिफ्लू ने कोरोना वायरस के हल्के संक्रमण से पीड़ित मरीजों पर काफी अच्छे नतीजे दिखाए। उन्होंने कहा कि इसके अलावा यह खाने वाली दवा है जो इलाज का एक सुविधाजनक विकल्प है।


उन्होंने कहा कि कंपनी सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी ताकि देशभर में मरीजों को यह दवा आसानी से उपलब्ध हो सके। यह दवा चिकित्सक की सलाह पर 103 रुपये प्रति टैबलेट के दाम पर मिलेगी।


ऐसी होगी खुराक

पहले दिन इसकी 1800 एमजी की दो खुराक लेनी होगी। उसके बाद 14 दिन तक 800 एमजी की दो खुराक लेनी होगी। ग्लेनमार्क फार्मा ने कहा कि मामूली संक्रमण वाले ऐसे मरीज जो मधुमेह या दिल की बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें भी यह दवा दी जा सकती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में शनिवार को कोरोना वायरस के एक दिन में रिकॉर्ड 14,516 मामले सामने आए। अब देश में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 3,95,048 हो गई है। यह महामारी अब तक 12,948 लोगों की जान ले चुकी है।



बॉर्डर पर चीनी एयरफोर्स की हरकत


लद्दाख बॉर्डर के पास चीनी एयरफोर्स की हरकत, फारवर्ड एयरबेसेज पर एयरक्राफ्ट तैनात


नई दिल्ली। लद्दाख में भारत-चीन बॉर्डर के पास चीनी एयरफोर्स की मूवमेंट में तेजी दिखी है। इसी के बाद, भारतीय वायुसेना (IAF) ने अपने फारवर्ड बेसेज पर एयरक्राफ्ट्स को मूव कराया है।



IAF चीफ एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने इस बात की जानकारी दी। वह एयरफोर्स एकैडमी, दुन्दिगल की कम्‍बाइंड ग्रैजुएशन डे परेड में हिस्‍सा लेने आए थे। उन्‍होंने कहा कि IAF को चीन के एयरबेसेज और LAC के पास उनके एयरक्राफ्ट्स (PLA Air Force Activity) की तैनाती की जानकारी है। सिंह ने कहा, “गर्मी के दिनों में नॉर्मल अभ्‍यास चलता रहता है। लेकिन इस वक्‍त, हमने सामान्‍य से ज्‍यादा विमानों की तैनाती देखी है। हमने जरूरी कदम उठाए हैं।”


चीन से जंग नहीं मगर इमर्जेंसी के लिए तैयार

IAF चीफ से जब पूछा गया कि भारत और चीन में जंग होगी या नहीं तो उन्‍होंने कहा, “नहीं, हम चीन के साथ युद्ध नहीं लड़ रहे। लेकिन हम किसी भी चुनौती का सामना करने को तैयार हैं। LAC पर हालात को शांतिपूर्ण ढंग से सुलझाने की सारी कोशिशें हो रही हैं।” गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प जिसमें कर्नल समेत भारत के 20 जवान मारे गए, पर IAF चीफ ने कहा कि ‘गलवान में हमारे बहादुरों के बलिदान को हम व्‍यर्थ नहीं जाने देंगे।’


सेना को सब खबर है, पैट्रोलिंग बढ़ी

एयर चीफ मार्शल ने कहा कि ‘भरोसा रखिए, हमारी आर्म्‍ड फोर्सेज हालात संभालने में सक्षम हैं।’ हालांकि उन्‍होंने यह साफ नहीं किया कि क्‍या चीनी सेना ने LAC पार की है। भदौरिया ने कहा, “भारतीय सेना पर विश्‍वास रखिए। हमें पता चला है कि क्‍या हुआ है। हम प्रतिद्वंदी को कोई संदेश नहीं देना चाहते क्‍योंकि उसे हमारी क्षमता का अंदाजा है।” उन्‍होंने कहा कि लद्दाख में पैट्रोलिंग बढ़ा दी गई है।


सीधे यूनिट्स के साथ जुड़ेंगे नए ऑफिसर्स

परेड के दौरान, 123 ऑफिसर्स को राष्‍ट्रपति ने कमिशन दिया। इंडियन नेवी और कोस्‍ट गार्ड के 11 ऑफिसर्स के अलावा वियतनाम एयर फोर्स के दो अधिकारी भी पास आउट हुए। नए ऑफिसर्स से मुखातिब होकर IAF चीफ ने कहा‍ क‍ि वे सीधे अपनी यूनिट्स जाएंगे, कोई ब्रेक नहीं मिलेगा। उन्‍होंने कहा, “हमारे इलाके के सुरक्षा हालात के चलते हमारी आर्म्‍ड फोर्सेज को हर वक्‍त तैयार और सतर्क रहना होगा।”


तनाव सुझाने को भारत की यही डिमांड

भारत साफ कर चुका है कि चीन LAC पर उन जगहों से अपने कदम वापस खींचे जिसे लेकर दोनों देशों के मत अलग-अलग हैं। भारत अप्रैल से पहले वाली स्थिति चाहता है। बता दें कि पैंगोंग लेक में भी चीन ने तगड़ी घुसपैठ की है। झील के उत्‍तरी किनारे पर फिंगर 4 से 8 के बीच चीनियों ने डिफेंस स्‍ट्रक्‍चर्स और बंकर तक तैयार कर लिए हैं।



चीन का माइंडगेम, सीमा पर बाहुबली


 चीन का माइंडगेम, लद्दाख सीमा पर तैनात किया बाहुबली तोप


नई दिल्ली। लद्दाख में भारत और चीन के बीच जारी तनाव के बीच चीन के सरकारी मीडिया ग्‍लोबल टाइम्‍स ने भारत के खिलाफ मनोवैज्ञानिक जंग छेड़ दी है। पहाड़ों के ऊपर युद्दाभ्‍यास और टैंक के वीडियो जारी करने के बाद अ‍ब ग्‍लोबल टाइम्‍स ने अत्‍याधुनिक तोपों की ‘धमकी’ दी है। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने दावा किया कि चीन की सेना PLA ने भारत के साथ तनाव (India China Face Off) को देखते हुए अपनी सबसे आधुनिक तोप PCL-181 को लद्दाख सीमा पर तैनात किया गया है।



भारत से तनाव के बीच शामिल की तोप

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने दावा किया कि इस तोप को हाल ही में सेना में शामिल किया गया है। चीनी अखबार ने कहा कि पीएलए की 75वीं ग्रुप आर्मी के तहत आने वाली ब्रिगेड ने हाल ही में दक्षिणी सीमा पर आयोजित समारोह में कई नए हथियारों को शामिल किया है। अखबार ने कहा कि वीकल पर चलने वाली यह तोप 155 एमएम की है और इसे पहली बार 1 अक्‍टूबर 2019 को नैशनल डे पर सेना की परेड में शामिल किया गया था।


‘वजन में हल्‍की, पहाड़ों पर कारगर’

चीनी अखबार ने कहा कि इस तोप का वजन केवल 25 टन है। इससे यह स्‍वचालित होवित्‍जर तोप बेहद आसानी से लंबे समय के लिए ले जाई जा सकती है। इससे पहले इस तरह की तोपों का वजन 40 टन होता था। कम वजन के कारण के यह तो ऊंचाई वाले इलाकों में बढ़त दिला सकती है जहां पर ऑक्‍सीजन की मात्रा कम होती है। कम ऑक्‍सीजन होने की वजह से इंजन की क्षमता प्रभावित होती है।


डोकलाम में भी तैनात की थी यह तोप

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने दावा किया कि चीन की सेना ने वर्ष 2017 में डोकलाम विवाद के दौरान भी PCL-181 को तैनात किया था। इससे सीमा पर शांति की स्‍थापना में आसानी हुई। अखबार ने कहा कि भारत और चीन के बीच ताजा विवाद शुरू हो गया है।


चीनी व‍िदेश मंत्रालय की प्रवक्‍ता हुआ चुनयिंग ने बुधवार को कहा कि दोनों पक्षों ने आपसी सहमति के बाद तनाव कम करने के लिए कदम उठाए हैं। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा कि PCL-181 तोपों की तैनाती शनिवार को भारत-चीन के बीच सकारात्‍मक बातचीत से पहले की गई थी।


हुबेई प्रांत में चीनी सेना ने उतारे टैंक-तोप

चाइना सेंट्रल टेलीविजन ने कहा कि हुबेई प्रांत इस साल के शुरुआत में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित था लेकिन अब यहां संक्रमण पूरी तरह से नियंत्रण में आ गया है। इसलिए सैनिकों को यहां युद्धाभ्यास के लिए उतारा गया है।चीनी थलसेना के रविवार को किए गए युद्धाभ्यास में सैकड़ों बख्तरबंद वाहन, टैंक, तोप और मिसाइल ब्रिगेड को एक स्थान से दूसरे स्थान पर तैनात किया गया। चीनी सेना ने 1 जून को भी तिब्बत के ऊंचाई वाले इलाके में आधी रात के घने अंधेरे में युद्धाभ्यास किया था। चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की तिब्बत मिलिट्री कमांड ने सोमवार देर रात 4,700 मीटर की ऊंचाई पर सेना भेजी और कठिन हालात में अपनी क्षमता का परीक्षण किया था।



भारत में अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव


अमेरिका की रिपोर्ट में दावा, भारत में धर्म-जाति के नाम पर अल्पसंख्यकों के साथ होता है भेदभाव


 नई दिल्ली। अमेरिका की एक रिपोर्ट में (US Report on India) कहा गया है कि भारत में धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यकों के खिलाफ भेदभाव होता है और उन पर हमले किए जाते हैं। इन कथित हमलों को लेकर इस रिपोर्ट में चिंता व्यक्त की गई है। रिपोर्ट में अमेरिकी अधिकारियों (US Report on India) ने संविधान के अनुसार अल्पसंख्यकों को सुरक्षा दिए जाने की जरूरत पर जोर दिया है। भारत इससे पहले अमेरिका की धार्मिक स्वतंत्रता रिपोर्ट को यह कहकर खारिज कर चुका है कि एक विदेशी सरकार को देश के लोगों के संवैधानिक अधिकारों पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है।



अधिकारियों ने सालभर किया अनुभव

अमेरिका की कांग्रेस में समर्थन प्राप्त ‘2019 अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता रिपोर्ट’ को विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने रिलीज किया। इसमें दुनियाभर में धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन की घटनाओं का उल्लेख किया गया है। इस रिपोर्ट के भारत सेक्शन में कहा गया है कि अमेरिकी सरकार के अधिकारियों ने धार्मिक स्वतंत्रता के सम्मान की अहमियत और सहिष्णुता के प्रसार और सम्मान को सालभर देखा। सरकारी अधिकारियों, मीडिया, धार्मिक सौहार्द संगठनों और NGOs से बातचीत की।


अल्पसंख्यकों को संवैधानिक सुरक्षा देने की जरूरत

अमेरिकी अधिकारियों ने देश के धार्मिक अल्पसंख्यकों की वास्तविक चिंताओं को समझने, सांप्रदायिक विचारों की निंदा और अल्पसंख्यकों को संवैधानिक सुरक्षा दिए जाने की जरूरत समझी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले साल अक्टूबर में अमेरिकी अधिकारी ने सीनियर सरकारी अधाकिरयों से मीटिंग में धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा और भेदभाव को लेकर चिंता जताई थी। रिपोर्ट में पिछले साल अगस्त में जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने की घटना और दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) बनाए जाने का जिक्र भी किया गया है।


‘हिंदू बहुसंख्यक पार्टियों ने की बयानबाजी’

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारतीय जनता पार्टी समेत हिंदू बहुसंख्यक पार्टियों के कुछ अधिकारियों ने सार्वजनिक तौर पर या सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए अल्पसंख्यकों के खिलाफ बयान दिए। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है, ‘प्रशासन ‘गोरक्षा के नाम पर की गई हत्याओं, भीड़ की हिंसा और डराने-धमकाने वाले लोगों सजा देने में अकसर विफल हो जाते हैं। कुछ NGO के मुताबिक प्रशासन ने कई बार इन लोगों को सजा से बचाया है और पीड़ित के खिलाफ केस लगाए हैं।’



नेपाल ने कई गांवों को बताया अपना


उत्तराखंड के जिन गांवों को नेपाल बता रहा है अपना, उसने देश को दिए कई IAS, IPS


 नई दिल्ली। नेपाल के नए नक्शे (Nepal new map) को लेकर घमासान जारी है। नेपाल ने अपने नए नक्शे में उत्तराखंड के लिपुलेख (Lipulekh), कालापानी (Kalapani) और लिंपियाधुरा (Limpiyadhura) इलाके को अपना हिस्सा बताया है। नक्शे के अनुसार, उत्तराखंड के तीन गांव, गंजी, कुती और नबी वहां के आंतरिक हिस्से हैं।




उत्तराखंड के लिए ये गांव बेहद खास हैं, यहां ब्यूरोक्रेट्स की खेप है। इन तीन गांव में कुल आबादी 3,000 के करीब है, जिसमें आधा दर्जन आईपीएस और आईएसएस अधिकारी और इसके अलावा पीपीएस और पीसीएस अधिकारी हैं।


यूपी में तैनात है आईपीएस अधिकारी हेमंत कतियाल

इनमें 1997 बैच के आईपीएस अधिकारी संजय गुंजयाल भी हैं जो वर्तमान में आईजी कुंभ मेला हैं। इसके अलावा आईएएस अधिकारी विनोद गुंजयाल बिहार में तैनात हैं और 2011 बैच के आईपीएस अधिकारी हेमंत कतियाल उत्तर प्रदेश में तैनात हैं, वह भी इसी क्षेत्र से आते हैं।


आईपीएस विमला गुंजयाल भी हैं इसी गांव से

इनके अलावा इस इलाके से दूसरे अधिकारी भी हैं। विमला गुंजयाल 2004 बैच की राज्य पुलिस सर्विस अधिकारी हैं जिन्हें हाल ही में आईपीएस रैंक में प्रमोशन मिला है और उत्तराखंड पुलिस में डीआईजी हैं। विमला की तरह दूसरे एसपीएस अधिकारी धीरेंद्र सिंह गुंजयाल भी इसी इलाके से आते हैं। उन्हें भी 2016 में आईपीएस में प्रमोशन मिला है।


चमोली के डीएम रह चुके हैं अजय सिंह नाबियाल

इसी इलाके से पीसीएस अधिकारी अजय सिंह नाबियाल भी आते हैं जिन्हें आईएएस अधिकारी के रूप में प्रमोशन मिला और चमोली जिले के डीएम के साथ-साथ वह मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के वीसी और कुमाऊं रेंज के कमिश्नर भी रह चुके हैं। वे भी नबी गांव से हैं।


कैलाश मानसरोवर यात्रा में पड़ने वाला आखिरी गांव गुंजी

इस इलाके के महत्व के बारे में बात करते हुए संजय गुंजयाल ने बताया, ‘गुंजी एक मशहूर गांव है और तिब्बत के लोग कई साल से यहां की मंडी में सामान खरीदने आते हैं। गुंजी कैलाश मानसरोवर यात्रा के दौरान पड़ने वाला आखिरी गांव है और यहां के लोग पूरी तरह से देश को समर्पित हैं। गुंजी में ही एसएसबी और आईटीबीपी के कंपनी हेडक्वॉर्टर हैं और यहां एक सैन्य ठिकाना भी है।’


‘नेपाल कर रहा है गुमराह’

पिथौरागढ़ के गरभ्यांग गांव से आने वाले रिटायर्ड आईएएस अधिकारी डीएस गबरियाल बताते हैं, ‘पूरी बेल्ट में कई गांव हैं जैसे नपलचू, गरभ्यांग, नबी, कुती और गुंजी जिन्होंने देश को कई आईएएस, आईपीएस और आईएफएस अधिकारी दिए। यह बेल्ट हाई एजुकेशनल स्टैंडर्ड के लिए जानी जाती है।’ वह कहते हैं, ‘पिछले 30-40 सालों में कभी किसी तरह का सीमा विवाद नहीं हुआ। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और गुमराह करने जैसा है कि नेपाल इन तीनों गावों को अपना इलाका बता रहा है।’



लंगर चलाने वाले सिक्ख-संत को नोटिस


लंगर चलाने वाले सिक्ख डी एस बिंद्रा और संत युवराज को दिल्ली में दंगा भड़काने का नोटिस




-वर्तमान सरकार, व्यवस्था, देश की दिशा और दशा रसातल की ओर जा रही है : बिंद्रा


-हिंद आर्मी न्याय और सच के लिए करेगी संघर्ष : युवराज 


नई दिल्ली। “देश में लंगर लगाना, लोगों की सहायता करना और सच का साथ देना, जब अपराध की श्रेणी में रखकर नोटिस भेजा जाने लगे तो समझ लेना चाहिए कि लोकतंत्र लगभग समाप्ति की श्रेणी में है इसके बावजूद न मैं  डरने वाला हूं और न मैं झुकने वाला हूं। और अब मैदान में उतर कर संघर्ष करूंगा। जिस चाय से देश में शुरुआत हुई थी उसी को अब चाय की पत्ती बांटकर और लोगों को चाय पिला कर  हिंद आर्मी के हाथों समाप्त करूंगा।” उक्त विचार प्रस्तुत करते हुए डी एस बिंद्रा ने प्रेस वार्ता में कहा कि वर्तमान सरकार और व्यवस्था, देश की दिशा और दशा डगमगाते हुए  रसातल की ओर जा रही है। संत युवराज जिन्होंने शाहीन बाग में यज्ञ हवन किया उन्होंने प्रेस वार्ता में बताया कि उनको भी दंगे के आरोप का नोटिस भेजा गया है।

डी एस बिंद्रा ने पत्रकारों को अपने खिलाफ दंगा भड़काने के नोटिस को दिखाते हुए बताया कि लगभग आधा दर्जन से ज्यादा धाराओं को लगा कर उन्हें नोटिस भेजा गया है। और आरोप लगाया गया है कि लंगर लगाकर भीड़ जुटाई और दंगे के लिए उकसाया गया। जबकि चांद बाग से उनका कोई लेना देना नहीं था। लंगर छका ने का भला कोई वास्ता हो सकता है। इन सारी हरकतों से मैं डरने- झुकने वाला नहीं हूं। चाहे मुझ पर कितनी ही धाराएं और एफआईआर दर्ज हो जाएं। जनसेवा और लंगर लगाने का काम करता रहा हूं और आगे भी करता रहूंगा।

 

संत युवराज ने पत्रकारों को बताया कि उनको भी दंगा भड़काने के आरोप का नोटिस भेजा गया है जबकि उन्होंने शाहीन बाग में हवन किया था। देश की सत्ता और वर्तमान व्यवस्था पर अनेक आरोप जड़ते हुए युवराज ने कहा कि वह लोगों और देश के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। वर्तमान सत्ता कुछ नहीं है, धोखा दे रही है, हर एक व्यक्ति को परेशान कर रही है, सांप्रदायिकता फैलाई जा रही है। लेकिन अब इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा उन्होंने कहा हम हिंद आर्मी के तहत संघर्ष करके देश की न्यायपालिका कार्यपालिका और भ्रष्ट व्यवस्था को स्वच्छ और ठीक करेंगे। वर्तमान सरकार के अत्याचारों की सजा जनता ही नहीं पूरा देश भुगत रहा है जिसके चलते आज कई देश भारत पर हमलावर होकर उसे घेर रहे हैं। युवराज ने आरएसएस के लोगों को जेल में डालने की मांग की। आज की प्रेस वार्ता में डी एस बिंद्रा और संत युवराज ने संयुक्त रूप से वर्तमान सरकार, मोदी की व्यवस्था की तीव्र आलोचना करते हुए कहा कि अब देश में दलित, मुसलमान, पिछड़े और सच्चे देशभक्तों को एक हो जाना चाहिए एवं सच और न्याय के लिए मैदान में उतर आना चाहिए। इसी के लिए हिंद आर्मी अब मैदान में आ चुकी है।


एंटीबॉडी से बना ली कोरोना की दवा


अमेरिकी कंपनी ने ठीक हो चुके मरीज के एंटीबॉडी से बना ली कोरोना की दवा, इंसानों पर ट्रायल शुरू


नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही दुनिया के लिए एक अच्‍छी खबर है। अमेरिका की एली लिली कंपनी (Eli Lilly and Company) ने घोषणा की कि उसने कोविड-19 से ठीक हो चुके एक मरीज के खून के नमूने से दवा (Covid 19 Medicine) बनाई है।




इस दवा अब इंसानों पर परीक्षण शुरू हो गया है। अमेरिकी दवा कंपनी ने कहा कि कोरोना मरीज को दुनिया की पहली एंटीबॉडी से तैयार दवा का डोज दिया गया है। इस दवा (Covid 19 Medicine) को ‘LY-CoV555’नाम दिया गया है। इसे लिली और अब सेल्‍लेरा बायोलॉजी कंपनी ने मिलकर तैयार किया है। इससे पहले मार्च महीने में लिली कंपनी सेल्‍लेरा के साथ एंटीबॉडी से कोरोना वायरस के खात्‍मे के लिए दवा तैयार करने का करार किया था। कंपनी ने अपने बयान में कहा कि पहले चरण के अध्‍ययन में दवा की सेफ्टी और उसे हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों के सहन करने की क्षमता का पता लगाया जाएगा। कंपनी ने कहा कि अगर ट्रायल सफल रहा तो जल्‍द ही बाजार में उतार दिया जाएगा। कंपनी ने कोरोना से ठीक हो चुके मरीज से ब्‍लड सेंपल लेने के मात्र तीन महीने के अंदर इस दवा को तैयार किया है। LY-CoV555 पहली ऐसी दवा है जिसे कोरोना वायरस के खात्‍मे के लिए डिजाइन किया गया है। इस दवा के जरिए कोरोना वायरस के स्पाइक प्रोटीन की संरचना को निष्क्रिय किया जा सकता है।


LY-CoV555 दवा से कोरोना वायरस शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं तक नहीं पहुंच पाएगा और ना ही नुकसान पहुंचा पाएगा। कंपनी ने बताया कि अमेरिका में कोरोना वायरस से ठीक हुए पहले मरीज के खून के नमूने से एंटीबॉडी ली गई थी। मरीज को फेफड़ों से जुड़ी तकलीफ थी। उसी के आधार पर एंटीबॉडी से दवा को तैयार किया गया है। कंपनी को उम्मीद है कि इस दवा के जरिए कोरोना से बीमार लोगों का प्रभावी इलाज हो सकेगा। इस दौरान अध्ययन में पता चला है कि दवा से कोरोना वायरस के स्पाइक प्रोटीन और उसकी सतह पर बुरा असर पड़ता है। बता दें कि कोरोना वायरस से अब तक दुनिया में 3,88,256 लोग मारे गए हैं और 65,86,149 लोग संक्रमित हैं।



जाँच किट भ्रष्टाचार मे मंत्री हुआ अरेस्ट

जिम्बाब्वे।  जिम्बाब्वे में कोरोना वायरस टेस्ट किट की खरीदारी को लेकर स्वास्थ्य मंत्री को गिरफ्तार कर लिया गया। स्वास्थ्य मंत्री ओबादिआह मोयो पर आरोप है कि उन्होंने कोरोना वायरस टेस्ट किट और अन्य उपकरणों के लिए 456 करोड़ रुपये की डील में घोटाला किया। हालांकि, शुक्रवार को गिरफ्तार किए जाने के बाद शनिवार को एक अदालत ने स्वास्थ्य मंत्री ओबादिआह को जमानत दे दी। जांचकर्ताओं ने स्वास्थ्य मंत्री को जमानत दिए जाने का विरोध नहीं किया। हालांकि, दोषी साबित होने पर उन्हें 15 साल की जेल की सजा हो सकती है।


जिम्बाब्वे के स्वास्थ्य मंत्री ओबादिआह पर अपने पद का दुरुपयोग करने का भी आरोप है। रॉयटर्स के मुताबिक, ओबादिआह पर कंपनियों के साथ की गई डील में भ्रष्टाचार का आरोप है। प्रॉसिक्यूटर्स का कहना है कि अवैध रूप से इन कंपनियों के साथ करार किया गया। बाद में जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति ने संबंधित कंपनियों के साथ करार रद्द कर दिया था। पिछले हफ्ते संयुक्त अरब अमीरात की कंपनी Drax International के एक स्थानीय प्रतिनिधि को भी गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि, कंपनी ने भ्रष्टाचार के आरोपों से इनकार किया है। जिम्बाब्वे में अब तक कोरोना के 480 से अधिक मामले सामने आए हैं। वहीं, पड़ोसी देश साउथ अफ्रीका में कोरोना के 97 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं।


योग बनेगा पाठ्यक्रम का हिस्साः निशंक

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने योग को स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्‍सा बनाने की प्रक्रिया को तेज करने के लिए आनलाइन योग क्विज प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। इसका आयोजन राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद-एनसीईआरटी द्वारा किया जा रहा है और यह देशभर के छठी से 12वीं तक की कक्षाओं के सभी विद्यार्थियों के लिए खुली है।


इस अवसर पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक ने कहा कि प्रतियोगिता का उद्देश्य बच्चों में योग के बारे में जागरूकता पैदा करना और उन्‍हें योगाभ्यास के बारे में प्रामाणिक स्रोतों से विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए प्रेरित करना है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता से बच्चों में अच्छी आदतों और स्वस्थ जीवनशैली के विकास में मदद मिलेगी। मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि प्रतियोगिता में दिव्यांग विद्यार्थियों की भागीदारी बढ़ाने के लिए उनकी विशेष आवश्यकताओं का ध्यान रखा गया है। प्रतियोगिता में प्रश्न बहु-विकल्प वाले प्रश्‍न पूछे जाएंगे जो हिंदी तथा अंग्रेजी में होंगे। प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त करने वाले एक सौ बच्चों को प्रमाणपत्र प्रदान किए जाएंगे। आनलाइन प्रतियोगिता आज से एक महीने के लिए खुली रहेगी और बीस जुलाई को सम्पन्न होगी।


चीन के खिलाफ राष्ट्र हो एकजुटः सिंह

नई दिल्‍ली। पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार से चीन को जवाब देने की अपील की है। लद्दाख सीमा विवाद में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए। यही समय है जब पूरे राष्ट्र को एकजुट होना है और संगठित होकर इस दुस्साहस का जवाब देना चाहिए।


पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा, ’15-16 जून को गलवान वैली में भारत के 20 साहसी जवानों ने सर्वोच्च कुर्बानी दी। देश के इन सपूतों ने अंतिम सांस तक देश की रक्षा की। इस सर्वोच्च त्याग के लिए हम इन साहसी सैनिकों व उनके परिवारों के कृतज्ञ हैं, लेकिन उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए।’


सेना को छूट-इमरजेंसी फंड और सख्त विदेश नीति, गलवान के बाद भारत ने उठाए ये कदम


पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि आज हम इतिहास के नाजुक मोड़ पर खड़े हैं। हमारी सरकार के निर्णय और सरकार के कदम तय करेंगे कि भविष्य की पीढ़ियां हमारा आकलन कैसे करें। जो देश का नेतृत्व कर रहे हैं, उनके कंधों पर कर्तव्य का गहन दातित्व है। हमारे प्रजातंत्र में यह दायित्व प्रधानमंत्री का है।’ पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि, ‘प्रधानमंत्री को अपने शब्दों और ऐलानों द्वारा देश की सुरक्षा एवं समारिक व भूभागीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान होना चाहिए। चीन ने अप्रैल से लेकर आजतक गलवान घाटी और पैंगॉन्ग त्सो लेक में अनेकों बार जबरन घुसपैठ की है।’


गलवान विवाद: चीन से निपटने को सेना को खुली छूट, लेकिन शांति के लिए जारी रहेगी बातचीत


घुसपैठ पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि हम न तो उनकी धमकियों व दबाव के सामने झुकेंगे और न ही अपनी भूभागीय अखंडता से कोई समझौता स्वीकार करेंगे। प्रधानमंत्री को अपने बयान से उनके षड्यंत्रकारी रूख को बल नहीं देना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सरकार के सभी अंग इस खतरे का सामना करने व स्थित को और ज्यादा गंभीर होने से रोकने के लिए परस्पर सहमति से काम करें। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि यही समय है जब पूरे राष्ट्र को एकजुट होना है और संगठित होकर इस दुस्साहस का जवाब देना है। हम सरकार को आगाह करेंगे कि भ्रामक प्रचार कभी भी कूटनीति और मजबूत नेतृ्त्व का विकल्प नहीं हो सकता। पिछलग्गू सहयोगियों द्वारा प्रचारित झूठ के आडंबर से सच्चाई को नहीं दबाया जा सकता।


सीमा पर नेपाली सैनिक तैनात, लगाए कैंप


भारत से सटी सीमा पर नेपाल ने तैनात की सेना, चीनी टेंटों की मदद से बनाए होल्डिंग कैंप


नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के बीच नेपाल ने भारत से सटी सीमा पर सेना तैनात करते हुए होल्डिंग कैंप बना दिए हैं। हालांकि नेपाल का कहना है कि यह होल्डिंग कैंप नेपालियों की स्वास्थ्य जांच के लिए बनाए गए हैं। इन कैंपों में प्रवासी मजदूरों को रखा जाएगा। नेपाली ने कपिलवस्तु जिले के कृष्णानगर (बढ़नी) व मर्यादपुर (खुनुवा) सीमा पर प्रवासी मजदूरों के लिए होल्डिंग कैंप बनाए है। यह कैंप कृष्णानगर नगर पालिका के सेमरा स्थित उद्योग वाणिज्य संघ, यशोधरा गांव पालिका, मर्यादपुर (खुनुवा) के सुठौली स्थित पशुपति शिक्षा मन्दिर में बनाया गया है।



कैंपों में सैनिक तैनात


कृष्णानगर (बढ़नी) सीमा पर नेपाली सेना के मेजर के नेतृत्व में 50 तथा मर्यादपुर (खुनुवा) सीमा पर 20 सैनिकों की तैनाती की गई है। नो मेंस लैंड व नेपाल प्रवेश के मुख्य गेट पर सेना हेल्थ डेस्क बनाकर भारत से नेपाल जाने वाले नेपालियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर होल्डिंग कैंप में ठहरा रही है। इसके साथ ही भारत से जाने वाले लोगों का यात्रा विवरण सहित उनका नाम-पता लिखवाया जाएगा।


चीनी टेंट से बनाया होल्डिंग कैंप


नेपाली सेना ने कृष्णानगर व मर्यादपुर सीमा पर प्रवासी मजदूरों को रोकने के नाम पर जो होल्डिंग कैम्प बनाया है, वह चीनी टेंट से बना है। उस पर चीनी भाषा लिखी हुई है। इसे लेकर सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों में संशय का माहौल बना हुआ है। सीमा पर सेना परिचालन व होल्डिंग कैम्प बनाने की पहल को लोग भारत-नेपाल के बीच उठे सीमा विवाद के रूप में देख रहे हैं। कृष्णानगर नगरपालिका के मेयर रजत प्रताप शाह कहते हैं कि सरकार ने कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए यह निर्णय देर में लिया है। एक माह से रोजाना हजारों की संख्या में नेपाली वापस आ रहे थे। इसकी जरूरत तब थी। फिलहाल दर्जनों नेपालियों को होल्डिंग कैंप में रखा गया है। इनके खाने-पीने की व्यवस्था नगरपालिका की ओर से की जा रही हैं। दीर्घ नारायण पौडेल, सीडीओ, कपिलवस्तु का कहना है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए बॉर्डर पर आर्मी परिचालित की गई है, जो स्थिति को संभालने, कम्युनिटी संक्रमण से बचने, होल्डिंग सेंटर में कार्य करेगी।



राजकीय संरक्षण गृह में 7 बालिका गर्भवती

कानपुर। उत्तरप्रदेश में कानपुर जिले के स्वरूप नगर क्षेत्र में स्थित राजकीय बाल संरक्षण गृह (बालिका) की 56 संवासिनी और एक सुरक्षाकर्मी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। यहां मिली संवासिनियों में 7 गर्भवती हैं जिनमें 5 कोरोना पॉजिटिव हैं।


 इस घटना को लेकर देर रात बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में मंडलायुक्त डॉ. सुधीर एम. बोबड़े की मौजूदगी में जिलाधिकारी ब्रह्मदेवराम तिवारी ने बताया कि राजकीय बाल संरक्षण गृह (बालिका) में कुल 57 कोविड संक्रमित पाए गए। इनमें गर्भवती 7 संवासिनियों में 2 की रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि 5 कोरोना से ग्रसित हैं। पांचों संक्रमित आगरा, एटा, कन्नौज फिरोजाबाद एवं कानपुर के बाल कल्याण समिति से संदर्भित करने के पश्चात यहां रह रही थीं। ये पांचों प्रवेश के समय से ही गर्भवती थीं।


नाबालिग बेटी से दुष्कर्म, आरोपी अरेस्ट

नाबालिग बेटी से दुष्कर्म की खबर से सदमे में गई पिता की जान, आरोपी गिरफ्तार

 

कोरबा। कटघोरा पुलिस ने नाबालिग के साथ सिलसिलेवार तरीके से दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के आरोप में एक विवाहित युवक को गिरफ्तार किया है। पीड़ित नाबालिग के मुताबिक आरोपी उसे बहला फुसलाकर अक्सर सुनसान खेतों की ओर ले जाया करता था और उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देता था। आरोपी ने कई बार घर पर भी सूनेपन का फायदा उठाकर उसे अपनी हवस का शिकार बनाया था. नाबालिग के साथ हुए इस अनाचार का खुलासा उस समय हुआ जब वह गर्भवती हो गई। फिलहाल पीड़िता कोरबा के बाल कल्याण समिति की अभिरक्षा में है। चिकित्सकों की देखरेख में उसका इलाज जारी है। बयान व शिनाख्त के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सदमे में पिता की भी मौतपीड़िता एक मजदूर परिवार से है।तीन भाई बहन व अपने पिता के साथ वह कटघोरा थाना क्षेत्र में निवास करती है। दो साल पहले उसकी मां का निधन हो चुका है। पिता व भाई रोजी मजदूरी करते है जबकि नाबालिग खुद घरों में झाड़ू-पोछा कर जीवन यापन कर रही थी. इस पूरे मामले का खुलासा करीब एक माह पहले उस समय हुआ, जब उसकी तबियत एकाएक बिगड़ने लगी. उसके पिता ने जब बेटी से कड़ाई से पूछताछ की तब मालूम हुआ कि वह पांच माह की गर्भवती है। महज 16 वर्षीय बेटी के गर्भवती होने की बात सुनकर पिता सदमें में आ गए और उनकी मौत हो गई।

बाल कल्याण समिति ने दिखाई  गंभीरता

इस पूरे मामले में कोरबा बाल कल्याण समिति की प्रमुख मधु पांडेय ने संवेदनशीलता दिखाते हुए थाना प्रभारी से चर्चा की और पीड़ित नाबालिग की तुरंत काउंसलिंग कराई गई. जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ और आरोपी का नाम भी उजागर हुआ। जिसके बाद आरोपी को उसके घर से दबोच लिया गया. कड़ाई से हुई पूछताछ के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे ज्यूडिशियल कस्टडी में जेल भेज दिया गया।

डॉक्टर्स की सलाह पर बच्ची पर फैसला

बाल कल्याण समिति की प्रमुख मधु पांडेय ने बताया है कि बच्ची का इलाज जारी है। चिकित्सकों की सलाह के बाद आगे फैसला लिया जाएगा। उनका मानना है कि उनकी पहली प्राथमिकता बच्ची को सुरक्षित रखना ही है। इसके लिए वह डॉक्टर्स से सतत सम्पर्क में है। चूंकि बच्ची के पेरेंट्स का निधन हो चुका है, लिहाजा वह आगे उनके देखरेख की समुचित व्यवस्था करेंगी।

सीबीएसई कर रहा भारी दबाव का सामाना

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई मौजूदा समय में दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं रद्द करने को लेकर भारी दबाव का सामना कर रहा है। दरअसल, कुछ पेरेंट्स ने कोरोना वायरस के बढ़ते मालों को देखते हुए परीक्षाएं रद्द करने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। जिसके बाद कोर्ट ने भी सीबीएसई से इस बारे में जवाब मांगा है। माना जा रहा है कि बोर्ड इन परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला ले सकता है।लेकिन बात सिर्फ इतनी ही नहीं है, बल्कि परीक्षाएं रद्द करने का असर इंजीनियरिंग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं पर भी पड़ना तय है।


सीबीएसई बोर्ड एग्जाम रद्द हुए तो प्रवेश परीक्षाओं का टलना भी तय


दरअसल, सीबीएसई (CBSE) और आईसीएसई बोर्ड (ICSE Board) की स्थगित परीक्षाओं को लेकर बनी असमंजस की स्थिति के बाद अब केंद्रीय शिक्षक पात्रता यानी सीटीईटी एग्जाम (CTET Exam), जेईई मेंस (JEE Mains) और नीट (NEET) पर भी गतिरोध बनता नजर आ रहा है। ये सभी परीक्षाएं जुलाई में ही कराई जानी है। ऐसे में अगर 1 से 15 जुलाई तक प्रस्तावित सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द की जाती हैं तो इन प्रवेश परीक्षाओं का टलना भी लगभग तय हो जाएगा।


कोरोना वायरस का संक्रमण रोकना आसान नहीं होगाः देश के लाखों स्टूडेंट्स सीटीईटी, जेईई मेंस और नीट जैसी प्रवेश परीक्षाओं में हिस्सा लेते हैं.।देश के अलग-अलग हिस्सों में इन परीक्षाओं के केंद्र बनाए जाते हैं। ऐसे में परीक्षार्थियों को कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आने से रोकना कम बड़ी चुनौती नहीं है।ऐसे में जबकि जुलाई में जेईई मेंस के बाद 23 अगस्त को जेईई एडवांस एग्जाम भी प्रस्तावित हैं तो इसके आयोजन को लेकर भी संकट के बादल मंडराते दिख रहे हैं।


पेट्रोल-डीजल के मूल्य में 16वीं वृद्धि

ई दिल्ली।  पेट्रोल  और डीजल की कीमतों में सोमवार को एक बार बढ़ोतरी की गई है। ईंधन के दाम में यह लगातार 16वीं वृद्धि है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में आज 33 पैसे और डीजल के भाव में 58 पैसे की बढ़ोतरी की गई है। जिसके बाद एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको 79.56 रुपये और डीज़ल के लिए 78.85 रुपये चुकाने होंगे।


दिल्ली में पेट्रोल की कीमत रविवार को 79.23 रुपये प्रति लीटर थी। 33 पैसे की बढ़ोतरी के बाद आज की कीमत 79.56 रुपये प्रति लीटर हो गई है। वहीं, डीजल की कीमत रविवार को 78.27 रुपये थी। 58 पैसे की बढ़ोतरी के बाद आज की कीमत 78.85 रुपये प्रति लीटर हो गई है।


तेल की बढ़ती कीमतों पर विरोध जताते हुए कुछ दिनों पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को चिट्ठी लिखी थी। कांग्रेस अध्यक्ष ने तेल की बढ़ी हुई कीमतों को वापस लेने की मांग की थी। उन्होंने अपनी चिट्ठी में लिखा था कि कोरोनावायरस (Coronavirus) संकट से जूझ रहे देश के लिए यह फैसला असंवेदनशील है। सोनिया गांधी ने लिखा कि सरकार लोगों को फायदा पहुंचाने का कोई काम नहीं कर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा, ‘मैं मार्च से शुरू हुए इस कठिन के समय के बीच सरकार ने पूरी तरह से एक असंवेदनशील निर्णय लेते हुए पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ाने का फैसला किया है। सरकार को 2.6 लाख करोड़ रुपये कमाने के लिए पेट्रोल-डीजल की एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने की किसी ने गलत सलाह दी है।’


रक्षा मंत्री रूस के लिए रवाना हुए


  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीन दिन के दौरे पर रूस गए, वे मॉस्को में 75वें विक्ट्री परेड डे में शामिल होंगे

  • रक्षा मंत्री की यह यात्रा भारत-चीन के बीच हुई हिंसा के 6 दिन बाद शुरू हो रही है


नई दिल्ली। भारत-चीन तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सोमवार को तीन दिन के दौरे पर रूस रवाना हुए। इस दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा को लेकर और रणनीतिक साझेदारी पर चर्चा होने की उम्मीद है। साथ ही भारत एस-400 ट्रायम्फ एंटी मिसाइल सिस्टम की डिलीवरी में तेजी लाने के लिए रूस पर दबाव डाल सकता है। राजनाथ का यह दौरा चीन और भारत के बीच हुई हिंसक झड़प के 6 दिन बाद हो रहा है। 15 जून को हुई झड़प में गलवान घाटी में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। रवाना होने से पहले रक्षा मंत्री ने ट्वीट किया- रूस की यात्रा के दौरान भारत-रूस के बीच रक्षा और रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने को लेकर बातचीत होगी। मैं मॉस्को में 75वें विक्ट्री परेड डे में भी शामिल होऊंगा। राजनाथ सिंह के साथ रक्षा सचिव अजय कुमार भी गए हैं।


भारत-चीन सीमा पर तनाव, हिंसक-झड़प

लद्दाख। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद से तनाव बना हुआ है। भारत-चीन सीमा पर तनाव और हिंसक झड़प को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा था कि न वहां कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है।


पीएम मोदी के इस बयान पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार सवाल उठा रहे हैं। रविवार को राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रधानमंत्री ने कहा- ना कोई देश में घुसा, ना ही हमारी जमीन पर किसी ने कब्जा किया।लेकिन सैटेलाइट फोटो साफ दिखाती हैं कि चीन ने पैंगोंग झील के पास भारत माता की पावन धरती पर कब्जा कर लिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने इस ट्वीट के साथ आजतक का वीडियो भी शेयर किया है।


भारत का 1962 से ज्यादा बुरा हाल होगा

लद्दाख। गलवान घाटी में हिंसक झड़प के बाद भारत ने एक्चुअल लाइन ऑफ कंट्रोल (LAC) पर सख्ती बढ़ा दी, जिसके बाद चीन गीदड़भभकी पर उतर आया है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने धमकी भरे लहजे में लिखा है कि भारत जानता है कि चीन के साथ जंग नहीं की जा सकती है, क्योंकि नई दिल्ली को पता है कि अब अगर युद्ध हुआ तो उसका हाल 1962 की लड़ाई से भी बुरा हाल होगा।


ग्लोबल टाइम्स ने एक चीनी विश्लेषक के हवाले से लिखा कि गलवान घाटी में सीमा संघर्ष के बाद भारत के भीतर चीन के खिलाफ राष्ट्रवाद और शत्रुता तेजी से बढ़ रही है। जबकि चीनी विश्लेषकों और भारत के अंदर भी कुछ लोगों ने चेतावनी दी थी कि नई दिल्ली को घर में राष्ट्रवाद को शांत करना चाहिए।


ग्लोबल टाइम्स में रविवार को प्रकाशित रिपोर्ट में एक चीनी विश्लेषक ने कहा कि अगर नए सिरे से फिर युद्ध होता है तो चीन के साथ 1962 के सीमा विवाद के बाद भारत और अधिक अपमानित होगा, यदि वह घर में चीन विरोधी भावना को नियंत्रित नहीं कर सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा था कि उनकी सरकार ने सशस्त्र बलों को कोई भी आवश्यक एक्शन लेने की पूरी आज़ादी दी है। हालांकि पीएम मोदी तनाव को कम करने की कोशिश करते हुए भी दिखाई दिए। बता दें कि एक हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे, जबकि गलवान घाटी में वास्तविक सीमा रेखा पर चीनी पक्ष के 70 से अधिक सैनिक घायल हो गए थे। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से ग्लोबल टाइम्स ने लिखा कि लद्दाख में गलवान घाटी में झड़प पर पीएम मोदी ने कहा है, “किसी ने भी हमारी सीमा में घुसपैठ नहीं की है, न ही अब वहां कोई है, और न ही हमारे पोस्ट पर कब्जा किया गया है।”


चीनी पर्यवेक्षकों ने कहा कि मोदी राष्ट्रवादियों और कट्टरपंथियों से बातचीत करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वह समझते हैं कि उनका देश चीन के साथ और संघर्ष नहीं कर सकता है। इसलिए वह तनाव को शांत करने का प्रयास कर रहे हैं। शंघाई स्थित फुडन विश्वविद्यालय के दक्षिण एशियाई अध्ययन केंद्र के प्रोफेसर लिन मिनवांग ने रविवार को ग्लोबल टाइम्स से कहा कि पीएम मोदी के बयान से सीमा पर तनाव को कम करने में बड़ी मदद मिलेगी। क्योंकि पीएम के तौर पर उन्होंने चीन पर निशाना साधने वाले कट्टरपंथियों को दरकिनार कर दिया है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जून 23, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-315 (साल-01)
2. मंगलवार, जूूून 23, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि- तीज, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:31,सूर्यास्त 07:28।


5. न्‍यूनतम तापमान 29+ डी.सै.,अधिकतम-41+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...