मंगलवार, 30 अप्रैल 2019

मोदी के बयान पर भड़की ममता, कहा-बेशर्म प्रधानमंत्री

 मोदी के बयान पर भड़कीं ममता, कहा- बेशर्म प्रधानमंत्री


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार किया है। ममता बनर्जी ने टीएमसी के 40 विधायकों के संपर्क में रहने वाले पीएम मोदी के बयान का हवाला देते हुए पीएम मोदी को बेशर्म कहा है। ममता बनर्जी ने कहा कि टीएमसी के लोग पैसे की ताकत से बिकने वाले नहीं हैं। ममता ने मोदी को नसीहत देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री पहले दिल्ली को संभालें, फिर बंगाल को देखें।ममता ने कहा कि मेरी पार्टी में सभी समर्पित हैं और अपना खून तक बहाने के लिए तैयार हैं। मेरे विधायकों को पैसों की ताकत से नहीं खरीदा जा सकता है। ममता ने कहा कि पीएम मोदी की उम्मीदवारी रद्द कर देनी चाहिए क्योंकि उन्होंने लोगों को खरीदने की बात कर संविधान का उल्लंघन किया है। बंगाल के लोग कभी भी बीजेपी को स्वीकार नहीं करेंगे। ममता इतने पर ही नहीं रुकीं। उन्होंने बीजेपी को दंगाइयों की पार्टी करार दिया।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक दिन पहले ही पश्चिम बंगाल के श्रीरामपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि दीदी आपकी जमीन खिसक चुकी है और देख लेना, 23 मई को जब नतीजे आएंगे तो आपके विधायक भी आपको छोड़कर भाग जाएंगे. पीएम मोदी ने कहा था कि आज भी आपके 40 विधायक मेरे संपर्क में हैं!


universalexpress.page


बस्ती में होगा मुख्यमंत्री का आगमन

बस्ती मे आज होगा मुख्यमंत्री का आगमन 


अपने जनप्रिय सांसद हरीश के पक्ष में भरेंगे हुँकार, मौजूदा विकास बनाम अन्य सांसद विकास पर रहेगा फ़ोकस


नगर बाज़ार के जनता इंटर कॉलेज में करेंगे एक जनसभा,


बस्ती ! बीजेपी प्रत्याशी हरीश द्विवेदी के पक्ष में जनसभा को करेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संबोधित,
आज12:30 बजे दोपहर तक सीएम के पहुंचने का है कार्यक्रम,
प्रेस ब्रीफ भी कर सकते है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,
अपने जनपद में 50 मिनट के कार्यक्रम में सांसद हरीश द्विवेदी के विरोधियों पर अबतक के हुए सांसद बनाम मौजूदा सांसद हरीश द्वारा कराये गये विकास कार्यो की करवाएंगे तुलना,
जिसके बाद सन्तकबीरनगर के लिए प्रस्थान करेंगे मुख्यमंत्री,
सीएम योगी आदित्यनाथ का आगमन होगा 1 बजकर 40 मिनट पर संतकबीरनगर में तय,
भाजपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद के पक्ष में जनसभा को सम्बोधित,
संतकबीरनगर के हैसर बाजार के मानसिंह गांव के बाग करेगे चुनावी जनसभा को सम्बोधित,
बीजेपी प्रत्याशी प्रवीण निषाद को विजयी बनाने की करेंगे अपील।


नरेन्द्र पंडित
universalexpress.page


सत्ता भोगने के लिए राजनीति नहीं करते हैं :राजनाथ

 


सत्ता भोगने के लिए राजनीति नहीं करते हैं :राजनाथ


गृहमंत्री माननीय राजनाथ सिंह के साथ लोनी विधायक ने किया चुनाव प्रचार, कहा सशक्त और अखण्ड भारत के लिए फिर बनाइये मोदी सरकार



लखनऊ ! लखनऊ में चुनाव प्रचार अपने चरम पर हैं। लखनऊ से भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी व केंद्रीय गृह मंत्री माननीय राजनाथ सिंह ने लखनऊ में खाटू श्याम जी का आशीर्वाद लेकर लोगों से भारी संख्या में भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील की। इस दौरान लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर भी मौजूद रहें। माननीय राजनाथ सिंह ने विभिन्न क्षेत्रों में लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर व कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ धुआंधार चुनाव प्रचार किया। माननीय राजनाथ सिंह जी ने कहा कि केवल सरकार बनाकर सत्ता का सुख भोगने के लिए हम लोग राजनीति नहीं करते हैं, बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करते हैं। 2014 में नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद हमारा देश तेजी से आगे बढ़ा है। भारत को ही नही बल्कि सारी दुनिया के लोगों को इस बात एहसास है कि भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। विश्व की जानी मानी एजेन्सियों ने यह स्वीकार किया है। 2014 में जब हमने सत्ता संभाली थी तो हमारी आर्थिक स्थिति 11वें नम्बर पर थी अब आज हम छठे नंबर पर आ गए हैं। शीघ्र ही 5वें नंबर पर आ जाएंगे और 2030 तक विकसित देश की श्रेणी में आ जाएंगे। पिछले 65 वर्षों में जो नहीं हो सका वह पिछले 5 वर्षों में नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में हमने कर दिखाया।वहीं विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने जनसमुदाय से माननीय राजनाथ सिंह जी को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील करते हुए कहा कि जनता के आशीर्वाद से लखनऊ में फिर एक बार माननीय राजनाथ सिंह जी रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज करेंगे क्योंकि इस बार माननीय राजनाथ जी को सभी वर्गो, सभी धर्म का वोट मिल रहा है और लखनऊ में माननीय राजनाथ सिंह जी भारी वोटों से जीतकर रिकॉर्ड कायम करेंगे। माननीय जी ने लखनऊ को भारत रत्न अटल बिहारी जी के पदचिन्हों पर चलकर उनकी विरासत को बड़ी खूबसूरती से आगे बढ़ाया है। यूपी की राजधानी में मेट्रो से लेकर रेलवे और सड़कों, फ्लाईओवर का जाल बिछाकर राजनाथ जी ने माननीय अटल जी के सपनों को साकार किया है। गृहमंत्री के पद की गरिमा बढ़ाते हुए पूरे विश्व में भारत की धाक बढ़ाई है। आज पड़ोसी देश भारत की तरफ आंख उठाकर देखने की हिम्मत तक नहीं कर पा रहे हैं। इस दौरान विधायक नंदकिशोर गुर्जर के साथ भाजपा नेता यतेंद्र नागर, किसान मोर्चा उपाध्यक्ष सत्यप्रकाश निठोरा, विनय चौधरी सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


universalexpress.page


चुनाव आयोग से मोदी को मिली क्लीन चिट

चुनाव आयोग से मोदी को मिली क्लीन चिट


आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट मिल गई है। चुनाव आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट दी है। चुनाव आयोग के अनुसार पीएम मोदी ने आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया है।


कांग्रेस ने आयोग से पीएम मोदी की शिकायत की थी। चुनाव आयोग ने कहा, '1 अप्रैल को महाराष्ट्र के वर्धा में पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण में आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन की शिकायत के संबंध में आयोग का विचार है कि इस मामले में किसी तरह का उल्लंघन नहीं हुआ।'


इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को निर्वाचन आयोग को नोटिस जारी किया था। दरअसल, कांग्रेस ने याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट से आदर्श आचार संहिता का कथित उल्लंघन करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए आयोग को निर्देश देने का आग्रह किया था।


universalexpress.page


आजम पर लगा दूसरी बार बैन

आजम पर दूसरी बार लगा बैन


रामपुर !समाजवादी पार्टी नेता आजम खान को एक और झटका लगा है। चुनाव आयोग ने एक बार फिर से उनके चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए आजम खान को बुधवार सुबह 6 बजे से शुरू होने वाले चुनाव प्रचार के लिए 48 घंटे के लिए रोक दिया है। इससे पहले उन पर 3 दिन के लिए रोक लगी थी।आजम खान पर चुनाव आयोग के अधिकारियों के खिलाफ भड़काऊ बयान देने और सांप्रदायिक टिप्पणियां करने के मामले में पाबंदी लगी है। आयोग का मानना है कि आज़म खान ने अपने सार्वजनिक भाषणों में जिला चुनाव मशीनरी के खिलाफ और धार्मिक तर्ज पर अत्यधिक भड़काऊ भाषण दिया है, जिसमें चुनावों को ध्रुवीकरण करने की प्रवृत्ति है, जो केवल उस क्षेत्र तक ही सीमित नहीं है जहां बयान दिया गया है, बल्कि इस डिजिटल युग में सूचना के तेजी से प्रसार के कारण अन्य भागों में भी इसकी पहुंच है।


आजम खान ने इससे पहले भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया था, जिसके लिए उन्हें 72 घंटे तक प्रचार करने से रोक दिया गया था। रामपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए खान ने जयाप्रदा का नाम लिए बगैर कहा, 'उसने आप लोगों का 10 वर्षों तक प्रतिनिधित्व किया। रामपुर, उत्तर प्रदेश और भारत के लोगों को उसकी असलियत समझने में 17 साल लग गए लेकिन मैं 17 दिनों के भीतर समझ गया कि वह खाकी अंडरवियर पहनती है।' रामपुर में 23 अप्रैल को मतदान हो गया।universalexpress.page


निगेहबान बड़े बेईमान

कबिरा खड़ा बाजार में,
मांगे सबका न्याय !
बेली संस्कृत पाठशाला रायबरेली की हत्या
भाग-2
निगहबान ! बड़े बेईमान !
रायबरेली !भाग-1में अवगत कराया जा चुका है कि बेली संस्कृत पाठशाला की लगभग 500 करोड़ की 12 बीघा भूमि पर रायबरेली के शिक्षा व भू- माफिया रमेश बहादुर सिंह प्रबंधक एसजेएस द्वारा जालसाजी व धोखाधड़ी से कब्जा करके सन् 1906 में अंग्रेज कलेक्टर सर बेली डंक्शन द्वारा स्थापित व सन् 1952 से लगातार राज्यानुदानित बेली संस्कृत पाठशाला रायबरेली को बन्द कराकर उसकी भूमि एवं भवन पर अवैधानिक कब्जा करके उसपर एसजेएस पब्लिक स्कूल चलाया जा रहा है, जिसकी शिकायत पाजा फाउन्डेशन के महासचिव ने मा0 मुख्यमंत्री जी से की थी। संदर्भ संख्या-एम-1/आरपीओ 63247590 द्वारा जिलाधिकारी रायबरेली को जांच व कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था तथा उन्होंने जांच आदेश संख्या 535 दिनांक 23.01.2019 पुलिस अधीक्षक रायबरेली को जारी करके 7 दिनों में जांच एवं कार्यवाही करके शिकायतकर्ता व कार्यालय को अवगत कराने का निर्देश दिया था, जिसकी जांच सीओ सिटी गोपीनाथ सोनी कर रहे थे, किन्तु 4 महीने से अधिक हो गया है, भ्रष्टाचार की दलदल में नाक तक डूबे गोपीनाथ सोनी ने अद्यतन न जांच की और न कोई कार्यवाही, जबकि उनके द्वारा मांगे गए साक्ष्य दिनांक 29.01.2019 को 215 पृष्ठीय साक्ष्य दिये जा चुके हैं। इसके पूर्व उप शिक्षा निदेशक उ0प्र0 ने पत्रांक/नियोजन/7838-47/ 84-85 दि0-01.08.84 जारी करके स्पष्ट आदेश दिया था कि बेली संस्कृत पाठशाला को राज्यानुदान दिया जाता है। संस्कृत पाठशाला के भवन में अन्य कोई विद्यालय संचालित नहीं किया जा सकता है। पाठशाला भवन में संचालित स्वामी जानकी शरण मेमो0 पब्लिक स्कूल को हटाने व आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए गए थे, जिन्हें भी दबाकर कोई कार्यवाही नही की गई। संज्ञान में आया है कि रायबरेली में अखबारी गुंडा के रूप में चर्चित हिन्दुस्तान अखबार के पत्रकार एवं मीडिया मैनेजर गौरव अवस्थी उर्फ़ आशीष अवस्थी पाठशाला की सम्पत्ति भूमि व भवन में रमेश बहादुर सिंह से अपना हिस्सा तय करके अखबारी ताकत के बल पर जांच अधिकारी को मोटी रिश्वत दिलाकर जांच को दबवा दिया है तथा रमेश बहादुर सिंह के एसजेएस पब्लिक स्कूल केलौली के उद्घाटन समारोह में उक्त जांच अधिकारी को सम्मानित व उपकृत भी कराया है। उक्त फोटो नीचे पोस्ट है। आश्चर्य तो यह है कि इसी फोटो में इस रिश्वत खोर व महाभ्रष्ट पत्रकार गौरव अवस्थी एवं शिक्षा व भू-माफिया के साथ डा0 राजेश कुमार प्रजापति एडीएम एफआर अपनी समाजसेवी पत्नी व बेटे के साथ खड़े हैं, जो प्रशासनिक सेवा आचरण नियमावली के विपरीत है, साथ ही जांच को दबवाने की साजिश़ में सहयोग किया है, जिसकी शिकायत जिलाधिकारी महोदय से करके न्याय हित में जांच अधिकारी बदलने का अनुरोध पाजा फाउन्डेशन द्वारा किया गया है। सबसे बढ़ा ज्वलंत प्रश्न यह है कि अखबार की साधारण सी नौकरी करने वाले और किराये की कोठरी से जिन्दगी शुरू करने वाले गौरव अवस्थी के पास करोड़ों की अकूत संपत्ति कहां से आई, रियल एस्टेट के करोड़ों के कारोबार में लगी इनकी डारेक्टर पत्नी की नव महाबली इन्फ्राटेक कं0 की 10लाख की कैपिटल पूंजी कहां से आयी ? इसका विवरण अगले भाग में लिखा जाएगा।
विप्लव गायन गाना होगा,
सुख स्वर्ग तुम्हें लाना होगा ।
अपने ही पौरुष के बल पर,
जर्जर आंहो के क्रन्दन में।
विद्रोह करो, संघर्ष करो, बलिदान करो,
निर्माण करो ----
देहि यही वर मोहि शिवा,
शुभ करमन से कबहूं न टरूं ।
बृजेन्द्र  शरण श्रीवास्तव "गाँधी"
universalexpress.page


पंजाब कांग्रेस नेता द्वारा ठगी का मामला

पंजाब कांग्रेस अल्पसंखयक प्रकोष्ठ में नेता द्वारा ठगी का मामला ?
पंजाब कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ गुमराह करने वाले फ़र्ज़ी नेता होशियार रहे - नरूला


एस. ज़ेड. मलिक


लूधियाना ! पंजाब कांग्रेस के लूधियाना में पंजाब कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का एक व्यक्ति द्वारा अपने आपमो पंजाब अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का प्रभारी बता कर लोगों को कांग्रेस की सदस्यता एवं उच्च पद का लालसा दे कर ठगने का मामला सामने आया है , यह बातें पंजाब कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के एडवाइज़री बोर्ड के इंचार्ज एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष इंटक इम्पलाईज के श्री कुंवर ओंकार सिंह नरूला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस के ही एक कार्यकर्ता पर आरोप लगाते हुए सभी कांग्रेसियों को आगाह करते हुये कहा कि
तथाकथित कांग्रेसी नेता जो कि अल्पसंख्यक विभाग में कुछ समय के लिए पंजाब में ऑब्जर्वर नियुक्त किया गया था जो अपने आप को अब पंजाब कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग का प्रभारी बताते हुए दुष्प्रचार कर रहा है, जबकि पंजाब कांग्रेस की प्रभारी मैडम आशा कुमारी जी है और पंजाब प्रधान सुनील जाखड़ जी है और पंजाब अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन जनाब दिलबर मोहम्मद खान है पर इनकी जानकारी के बिना यह विशेष करके आजकल पंजाब और लुधियाना में अल्पसंख्यक विभाग के कार्यकर्ताओं से बिना किसी बड़ी ज़िम्मेवारी के स्थानीय छुटभैये नेताओं के साथ मिलकर कांग्रेस के सक्रिय कार्यकरताओं को यह कह कर गुमराह कर रहा है, कि मैं आपको पंजाब में चेयरमैनशिप और बोर्ड में मेंबर की जगह दिलवाऊंगा, इसके एवज़ में उनसे मोटी रकम वसूल कर रहा है और गरीब कार्यकर्ताओं को आर्थिक और मानसिक रूप से परेशान कर रहा है ।
श्री नरूला ने स्पष्ट करते हुये कहा कि उक्त तथाकथित नेता नफीस मलिक जो कभी ऑब्ज़रबर हुआ करता था अब वह अपने आप को सीनियर कांग्रेसी नेता मानता है, जबकि वह काम खुद छूट भैया नेताओं के साथ मिलकर कर रहा है और कांग्रेस पार्टी का भारी नुकसान कर रहा है। उन्होंने सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं तथा पंजाब कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग को आगाह किया की ऐसे छूट भैया नेताओं से अपनी दूरी बनाए रखें व कांग्रेस पार्टी के हित के लिए काम करते रहे ना कि ऐसे गलत नेताओं के लिए।
श्री नरूला पंजाब कांग्रेस के सभी कार्यकरताओं से आग्रह किया कि मिशन फतेह 2019 के लिए एक जुट होकर काम करें ताकि आने वाले समय में माननीय श्री राहुल गांधी जी को देश का प्रधानमंत्री बनाने में एक अहम भूमिका अदा की जा सके।universalexpress.page


क्रिकेट मसाला

 क्रिकेट मसाला


प्लेऑफ की उम्मीदों को जिंदा' रखने उतरेगा राजस्थान 


 जन्मदिन विशेष- रोहित शर्मा के ऐसे रिकॉर्ड जिन्हें तोड़ मुश्किल ही नहीं नामुमकिन 


फॉकनर ने दी सफाई, कहा- फोटो के गलत मायने निकाले, मैं नहीं हूं 'गे' 


धोनी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली ग्रुप से मांगा लेन-देन का ब्यौरा 


आयरलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ वनडे-टी-20 सीरीज के लिए इंग्लैंड टीम घोषित 


universalexpress.page


कांग्रेस सरकार के दबाव में प्रशासन ने करवाया मतदान


कांग्रेस सरकार के दबाव में प्रशासन ने करवाया मतदान



भाजपा करेगी चुनाव आयोग से शिकायत।
देवनानी, भागीरथ, सारस्वत और रावत ने केकड़ी से भी जीत का दावा किया।
सबसे कम अजमेर में मतदान हुआ।

 अजमेर! अजमेर संसदीय क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी भागीरथ चौधरी, पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी, देहात जिला अध्यक्ष बीपी सारस्वत और चुनाव संयोजक सुरेश सिंह रावत ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन किया। चारों भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि 29 अप्रैल को अजमेर जिला प्रशासन ने कांग्रेस सरकार के दबाव में मतदान करवाया है। इसलिए कई मतदान केन्द्रों पर गड़बड़ी की शिकायतें आई हैं। विधायक देवनानी ने अपने उत्तर और सुरेश रावत ने अपने पुष्कर विधानसभा क्षेत्रों के मतदान केन्द्रों के बारे में विस्तृत जानकारी दी और यह साबित किया कि प्रशासन ने कांग्रेस सरकार के दबाव में काम किया है। देवनानी ने कहा कि अब वे चुनाव आयोग को अजमेर प्रशासन की शिकायत करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार तो आती जाती रहती है। ऐसे में प्रशासन को निष्पाक्षता बरतनी चाहिए। जनप्रतिनिधियों ने जब मतदान के दौरान चुनाव अधिकारियों को शिकायत की तो अधिकारियों ने कोई कार्यवाही नहीं की। प्रशासन की लापरवाही की वजह से अनेक मतदाता मतदान से वंचित रह गए।
केकड़ी में जीत होगी:
भाजपा नेताओं ने दावा कि अजमेर संसदीय क्षेत्र के केकड़ी विधानसभा क्षेत्र से भी भाजपा की जीत होगी। उन्होंने कहा कि अजमेर ही नहीं बल्कि 29 अपै्रल को हुए 13 संसदीय क्षेत्रों में भी भाजपा के उम्मीदवार जीत दर्ज करवाएंगे। देवनानी का दावा रहा कि 23 मई को परिणाम वाले दिन कांग्रेस सरकार में जोरदार उथल पुथल होगी, क्योंकि जोधपुर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत भी चुनाव हार रहे हैं।
सबसे कम मतदान अजमेर में:
देहात जिला अध्यक्ष सारस्वत ने कहा कि 29 अप्रैल को जिन 13 संसदीय क्षेत्रों में मतदान हुआ उनमें सबसे कम मतदान अजमेर में हुआ है। सभी संसदीय क्षेत्रों में मतदान का प्रतिशत बढ़ा, लेकिन अजमेर में गिर गया। वर्ष 2014 में अजमेर में 68.69 प्रतिशत मतदान हुआ था, जबकि इस बार 67.14 प्रतिशत की मतदान हुआ। यानि 1.55 प्रतिशत मतदान कम रहा। इससे जाहिर होता है कि जिला प्रशासन ने मतदाता जागरुकता का जो अभियान चलाया वह पूरी तरह विफल रहा है। सारस्वत का कहना रहा कि मतदान केन्द्रों पर चुनाव आयोग के निर्देशों के मुताबिक सुविधाएं भी नहीं थी, जिनकी वजह से मतदान का प्रतिशत कम रहा। मतदान कर्मियों का व्यवहार भी मतदाताओं के प्रति अच्छा नहीं देखा गया। प्रशासन को जो इंतजाम करने चाहिए थी, वो नहीं किए गए।


एस.पी.मित्तलuniversalexpress.page


मोदी पर लगाया फाइल जलवाने का आरोप

 मोदी पर लगाया फाइलें जलवाने का आरोप


नई दिल्ली ! लोकसभा चुनाव के लिए चार चरणों का मतदान हो चुका है। इसी चुनावी हलचल के बीच राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला है। मंगलवार को राहुल ने शास्त्री भवन में आग लगने की खबर को शेयर करते आरोप लगाया कि वह आग मोदी के कहने पर लगाई गई है।


दरअसल, मंगलवार को दिल्ली स्थित शास्त्री भवन में आग लगने की खबर आई थी। बताया गया था कि आग बुझाने के लिए दमकल की 7 गाड़ियां मौके पर पहुंच चुकी हैं। आग से कितना नुकसान हुआ है इसकी जानकारी आने से पहले राहुल ने इसपर ट्वीट कर दिया। अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने लिखा, 'मोदी जी, आग लगाकर फाइलों को जलाने से आप बच नहीं सकते। आपके फैसले का दिन नजदीक आ रहा है।'


बता दें कि आग दोपहर को 3 बजे के करीब लगी थी। फिर दो घंटे बाद जानकारी आई कि आग पर काबू पा लिया गया है। फिलहाल यह साफ नहीं है कि राहुल गांधी यहां किन फाइलों का जिक्र करना चाहते हैं।universalexpress.page


आसाराम के बेटे नारायण को उम्र कैद की सजा

आसाराम के बेटे नारायण को उम्रकैद की सजा


गुजरात के सूरत में स्थित सेशंस अदालत ने मंगलवार को दुष्कर्म मामले में दोषी आसाराम के बेटे नारायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई है। बता दें कि अदालत ने शुक्रवार 26 अप्रैल को सूरत की रहने वाली दो बहनों के साथ दुष्कर्म के आरोप में नारायण साईं को दोषी करार दिया था। इस मामले में अदालत ने दोषी को सजा सुनाने के लिए आज का दिन तय किया था।


ये मामला करीब ग्यारह साल पुराना है। सूरत की रहने वाली दो बहनों ने उसके और उसके पिता के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई थी। एक बहन ने साईं पर 2002 और 2005 के बीच सूरत के आश्रम में रहने पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया था। पीड़िता की बड़ी बहन ने अहमदाबाद में 1997 और 2006 में आश्रम में रहने के दौरान आसाराम पर यौन शोषण का आरोप लगाया था।


दोनों बहनों ने साईं और आसाराम के खिलाफ कथित शोषण की अलग-अलग शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने आसाराम और उसके बेटे के खिलाफ दुष्कर्म, यौन शोषण और अवैध तरीके से बंधक बनाकर रखना और अन्य अपराध के तहत मामला दर्ज किया था। इस मामले में पुलिस ने साईं के चार साथियों को भी गिरफ्तार किया था।


universalexpress.page


हाई कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

हाई कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका


इंदौर! इंदौर के एमआईजी थाने में एक कोर्ट कर्मचारी पंकज वैष्णव द्वारा लगाई गई फांसी मामले में आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण के आरोपी बनाए गए टीआई एमए सैयद की जमानत का आवेदन खारिज कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजने के आदेश दिए।


सोमवार को टीआई सैयद द्वारा हाई कोर्ट के निर्देश खुद कोर्ट में पेश हुए
मृतक पंकज की माँ फुलकुंवर बाई की ओर से एडवोकेट धर्मेंद्र गुर्जर व गगन बजाड़ ने जमानत पर आपत्ति ली। एडवोकेट गुर्जर ने बताया कि तर्को के आधार पर कोर्ट ने आरोपी टीआई का जमानत आवेदन खारिज कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजने के आदेश दिए।
बाइट -धर्मेंद्र गुर्जर अधिवक्ता


कोर्ट कर्मचारी पंकज वैष्णव द्वारा एमआईजी थाने में करीब सवा तीन साल पहले 20 दिसंबर 2015 को फांसी लगाने की घटना हुई थी। इस मामले में पुलिस द्वारा एम आई थाने के तत्कालीन टीआई सैयद व तीन पुलिसकर्मियों धारा 306 (आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करना) व अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर कुछ दिन पहले चालान कोर्ट में पेश किया गया था। वही न्याय मिलने के बाद मृतक की माता ने सभी को मिठाई खिलाई हलाकि उन्होंने कहाँ की अभी पूरी तरह से न्याय नहीं मिला है हलाकि सीआईडी जाँच से संतुष्ट नहीं है मृतक की माँ हाली में गाँधीनगत ठाने में हुई एक और आदमी की मौत पर कहाँ की वह की महिला टीआई ने उनपर केस वापिस लेने का दबाव बनाया है universalexpress.page
बाइट-फूलकुमारी मृतक की माँ


मोदी की उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की

मोदी की उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की


नई दिल्ली ! ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शिकायत की है और उनकी उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की है। टीएमसी के 40 विधायकों के सम्पर्क में होने का दावा करने वाले पीएम के बयान पर तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग को पत्र लिखा है। शिकायत में पीएम मोदी के पार्टी के विधायक तोड़ने वाले बयान पर टीएमसी ने चुनाव आयोग को संज्ञान लेने को कहा है।


कल प्रधानमंत्री मोदी ने हुगली जिले के श्रीरामपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि टीएमसी के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं। इसके बाद कल ही टीएमसी ने इस पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि पीएम मोदी हॉर्स ट्रेडिंग कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने प्रधानमंत्री पर खरीद-फरोख्त करने के आरोप लगाते हुए कहा था कि वो चुनाव आयोग से इसे लेकर शिकायत करेंगे।


राष्ट्रीय राजधानी में तृणमूल ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि मोदी के भाषण में ''आसन्न खरीद-फरोख्त'' के संकेत हैं और पार्टी ने ऐसे ''भड़काऊ और अलोकतांत्रिक'' बयानों के लिये चुनाव आयोग से उनकी उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की है। चुनाव आयोग को लिखे पत्र में तृणमूल ने प्रधानमंत्री के इस ''निराधार, अनुचित और अवैध'' चुनाव प्रचार एवं भाषण के खिलाफ ''सख्त कार्रवाई'' की मांग की।universalexpress.page


 


फानी के 3 मई तक तक से टकराने की संभावना

फानी के 3 मई तक तट से टकराने की सम्भावना


भुवनेश्वर! दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान फानी का प्रभाव चक्रवाती तूफान तितली से भी अधिक हो सकता है। इसे लेकर भुवनेश्वर स्थित क्षेत्रीय मौसम विभाग की तरफ से मंगलवार को सूचना जारी की गई है।


मौसम विभाग के क्षेत्रीय निदेशक एच.आर.विश्वास ने कहा है कि चक्रवाती तूफान फानी आज सुबह सीवीयर साइक्लोन वेरी सिवियर साइक्लोन का रूप धारण कर चुका है। वर्तमान समय में यह मछिलीपटनम से 760 किमी. की दूरी पर है। इसके प्रभाव से ओडिशा में भारी बारिश होगी। उन्होंने कहा है कि तटीय ओडिशा के सभी जिलों में 2 मई से बारिश शुरू हो जाएगी। 3 एवं 4 मई को तटीय ओडिशा के सभी जिलों में बारिश होगी। बंदरगाहों में 2 नंबर खतरे का निशान लगा दिया गया है।


चक्रवाती तूफान फानी से निपटने के संदर्भ में विशेष राहत आयुक्त विष्णुपद सेठी ने कहा है कि आगामी 3 मई तक चक्रवाती तूफान फानी ओडिशा तट से टकरा सकता है। ऐसे में तटीय जिलों के जिलाधीशों को सतर्क रहने को कहा गया है। ओड्राफ, एनडीआरएफ तथा दमकल वाहिनी कर्मचारियों को पहले से ही वहां पर भेज दिया जाएगा। प्रभावित होने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पर स्थानान्तरित किया जाएगा।universalexpress.page


 


शिक्षकों के वेतन का भुगतान न होने पर धरना

 शिक्षकों के वेतन का भुगतान ना होने पर धरना


बागपत। बागपत के समस्त वित्तीय अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलो मे कार्य रत शिक्षको व क्रमचारियो को मार्च माह का वेतन भुगतान कराने हेतु। भुगतान न होने पर छ म ई को धरना प्रदर्शन के सन्दर्भ मे!
मार्च माह के वेतन का भुगतान न होने पर जो शिक्षक संघ ओर उसके नेता लेखा कार्यालय व जिलाविधालय कार्यालय जनपद बागपत पर ताला लगाने का दम भर रहे थे ये तो अप्रैल माह के भी दो दिन शेष रह गए न मार्च के वेतन का भुगतान हुआ न लेखा व जिला विधालय निरीक्षक कार्यालय पर ताले लगे। अब मै आप सभी को भरोसा दिलाता हूं की यदी मार्च व अप्रैल माह के वेतन का भुगतान पॉच म ई तक न हुआ तो छ म ई को जिला विधालय नीरिक्षक व लेखा अधिकारी बागपत कार्यालय पर धरना दूंगा। धरने को सफल बनाने मे संख्या बल का बडा महत्व होता है। इसलिए आप सभी से आव्हान की संघो की गुट बाजी से उपर उठ कर अपने इस न्याय संगत हक की लडाई मे मेरा होसला अफजाई करने हेतू बारह बजे सोमर छ म ई को जिला विधालय निरीक्षक कार्यालय पर बडी संख्या मे पहुंचे धन्यवाद।


जितेन्द्र तोमर जिला प्रभारी उ प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ बागपत
 गोपीचंद सैनी, बागपत!


शिक्षकों के वेतन का भुगतान न होने पर धरना

 शिक्षकों के वेतन का भुगतान ना होने पर धरना


बागपत। बागपत के समस्त वित्तीय अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलो मे कार्य रत शिक्षको व क्रमचारियो को मार्च माह का वेतन भुगतान कराने हेतु। भुगतान न होने पर छ म ई को धरना प्रदर्शन के सन्दर्भ मे!
मार्च माह के वेतन का भुगतान न होने पर जो शिक्षक संघ ओर उसके नेता लेखा कार्यालय व जिलाविधालय कार्यालय जनपद बागपत पर ताला लगाने का दम भर रहे थे ये तो अप्रैल माह के भी दो दिन शेष रह गए न मार्च के वेतन का भुगतान हुआ न लेखा व जिला विधालय निरीक्षक कार्यालय पर ताले लगे। अब मै आप सभी को भरोसा दिलाता हूं की यदी मार्च व अप्रैल माह के वेतन का भुगतान पॉच म ई तक न हुआ तो छ म ई को जिला विधालय नीरिक्षक व लेखा अधिकारी बागपत कार्यालय पर धरना दूंगा। धरने को सफल बनाने मे संख्या बल का बडा महत्व होता है। इसलिए आप सभी से आव्हान की संघो की गुट बाजी से उपर उठ कर अपने इस न्याय संगत हक की लडाई मे मेरा होसला अफजाई करने हेतू बारह बजे सोमर छ म ई को जिला विधालय निरीक्षक कार्यालय पर बडी संख्या मे पहुंचे धन्यवाद।


जितेन्द्र तोमर जिला प्रभारी उ प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ बागपत
 गोपीचंद सैनी, बागपत!


1140 सरकारी स्कूल हो जाएंगे बंद?

1140 सरकारी स्कूल हो जाएंगे बंद?
बिहार में 1140 सरकारी स्कूल बंद होने की कगार पर हैं और सरकार कभी भी इनके अस्तित्व को खत्म करने का निर्णय ले सकती है। यह सिर्फ 1140 स्कूलों का मामला नहीं है बल्कि भविष्य का भयावह संकेत है कि चीजें किस दिशा में जा रही हैं।


शिक्षा का अधिकार अधिनियम कहता है कि किसी भी सरकारी प्राइमरी स्कूल में कम से कम 40 बच्चे नामांकित होने चाहिये। इनमें से बहुत सारे ऐसे स्कूल हैं जिनमें नामांकन शून्य हो चुका है और बाकी स्कूलों में भी 10-20 बच्चे बच गए हैं। तो, इन्हें बंद करना सरकार की संवैधानिक विवशता होगी।


बीबीसी की रिपोर्ट बताती है कि इनमें से अधिकतर स्कूल सघन आवासीय इलाकों में हैं किन्तु एक-एक कर इनमें नामांकित बच्चों का पलायन प्राइवेट स्कूलों में हो गया।
नतीजा, ये अब वीरान हैं। दिन ब दिन यह वीरानी अन्य सरकारी प्राइमरी स्कूलों में भी बढ़ती जा रही है।


यह होना ही था। सरकारी स्कूल एक-एक कर खत्म होते जा रहे हैं और उनकी कब्रों पर प्राइवेट स्कूलों की इमारतें बुलंद होती जा रही हैं।
धारणाएं बनती गई कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती और जिन अभिभावकों को अपने बच्चों के भविष्य की चिंता है उन्हें प्राइवेट स्कूलों की शरण में जाना चाहिये। तो...जिन अभिभावकों के पास थोड़ा भी पैसा है, वे अपना पेट काट कर, अन्य जरूरतों को नजरअंदाज कर प्राइवेट स्कूलों की मोटी फीस भरने को विवश हुए।


यह संविधान की उस धारा का मजाक बन जाना है जिसमें कहा गया है कि 6 से 14 वर्ष के बच्चों को मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा देने की जिम्मेदारी राज्य की है। संविधान अपनी जगह, यहां स्थिति यह है कि अपने बच्चों के भविष्य के प्रति चिंतित अभिभावक अपनी आमदनी का बड़ा हिस्सा उनकी फीस, यूनिफार्म, किताबें आदि पर खर्च करने को विवश हैं। जाहिर है, छोटी आमदनी वाले लोगों के लिये यह और गरीब बन जाना है।


नामांकन के अभाव में सरकारी स्कूलों को बंद करने का सिलसिला राजस्थान से शुरु हुआ, जिसकी आग मध्य प्रदेश आदि राज्यों से होते हुए बिहार तक भी पहुंच चुकी है।

एक साजिश...जो 1990 के दशक में शुरू हुई थी, तीसरे दशक तक आते-आते निर्णायक रूप से सफल होती दिख रही है।


नवउदारवादी व्यवस्थाएं राज्य कोष से निर्धनों पर होने वाले कल्याण कारी व्यय में कटौती करने की हर संभव कोशिशें करती है। अब जब...सरकारी स्कूल एक-एक कर बंद होते जा रहे हैं तो इन पर होने वाले व्यय में भी कमी आती जाएगी। यही तो चाहती हैं व्यवस्थाएं।


कारपोरेट संचालित मीडिया की भी इसमें बड़ी भूमिका है जिसने सरकारी स्कूल के शिक्षकों को अयोग्य ठहराने में कोई कसर नहीं छोड़ी। हजारों शिक्षकों में से कुछेक की अयोग्यता का इतना ढिंढोरा पीटा जाता है कि पूरा शिक्षक समुदाय संदेह के घेरे में आता दिखने लगता है। पब्लिक परसेप्शन का अपना महत्व और प्रभाव है जो सरकारी शिक्षकों के खिलाफ गया।


हमने अभी तक टीवी में ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं देखी है कि कोई रिपोर्टर किसी प्राइवेट स्कूल में जाकर वहां के शिक्षकों की योग्यता की जांच कर रहा हो, वहां की स्थितियों के खोखलेपन को उजागर कर रहा हो।


सरकारी स्कूलों का बंद होते जाना और उनकी कब्र पर निजी स्कूलों का पनपते जाना सभ्यता की कैसी पतन गाथा लिख रहा है, यह समझने की जरूरत है।


शिक्षकों के पद की मर्यादा में ह्रास इसका एक बड़ा साइड इफेक्ट होगा जो अधिकांश निजी स्कूलों में शोषण के शिकार हैं। सरकारी स्कूलों के शिक्षकों की अपनी गरिमा है, अपने अधिकार हैं, उनकी नौकरी में स्थायित्व है, उन्हें सम्मानजनक वेतन मिलता है। जिन्हें सम्मानजनक वेतन नहीं मिलता वे अपनी लड़ाई लड़ने के लिये स्वतंत्र हैं और कोई भी सरकार इस लड़ाई के लिये उनको दंडित नहीं कर सकती।


लेकिन...निजी स्कूलों में? क्या उनके शिक्षक अपने कम वेतन या बहुआयामी शोषण के खिलाफ आवाज उठा सकते हैं? अगले ही दिन बददिमाग मालिक, जो खुद को स्कूल का 'डायरेक्टर' बता अपना कारोबार चलाता है, आवाज उठाने वाले शिक्षक को बाहर का रास्ता दिखा देगा। शिक्षक के साथ हुए इस अन्याय की कहीं कोई सुनवाई नहीं होगी, न होती है।


तो...बहुत सारे युवा, जो पढ़-लिख कर शिक्षण के पेशे में आना चाहते हैं, अब अपने भविष्य को लेकर शंकित होंगे। सरकारी शिक्षकों के पद धीरे-धीरे घटते जाएंगे और उनकी जगह निजी स्कूलों में शिक्षकों के की मांग बढ़ती जाएगी।


परंतु, कितने प्रतिशत निजी स्कूल हैं जो अपने शिक्षकों को परिवार चलाने लायक वेतन देते हैं? अधिकतर स्कूलों में शिक्षकों को बहुत कम वेतन मिलता है और सरकार की कोई नियामक एजेंसी इस शोषण की खोज-खबर नहीं लेती। 80 प्रतिशत निजी स्कूल तो ऐसे हैं जिनमें शिक्षक आते-जाते रहते हैं। उनकी नौकरी का कोई स्थायित्व नहीं।


सरकारी स्कूल बंद होते जाएंगे तो सरकारी शिक्षकों के पद खत्म होते जाएंगे। ये पद उन निजी स्कूलों में शिफ्ट होते जाएंगे जो शिक्षकों को न उचित वेतन देंगे, न सम्मान, न अधिकार। इस तरह, शिक्षण एक घटिया नौकरी में शुमार होगा।


जो समाज अपने शिक्षकों को शोषित होने को अभिशप्त छोड़ देगा वह सांस्कृतिक रूप से पतित होता जाएगा। कुछ तो कारण है कि अमेरिका, यूरोप, जापान, साउथ कोरिया आदि विकसित देशों में स्कूली शिक्षा सरकार के अंतर्गत ही है और वहां के शिक्षकों का वेतन अत्यंत सम्मानजनक है।


हम एक पतनोन्मुख संस्कृति हैं जो नवउदारवाद के नकारात्मक प्रभावों से अपनी स्कूली शिक्षा और अपने शिक्षकों को नहीं बचा पा रहे। जिन बच्चों को मुफ्त में पढ़ना था, जिन्हें मुफ्त में किताबें और यूनिफार्म मिलनी थीं, उन्हें हमने संस्था के प्रति संदेह से भर दिया और वे अब इसे छोड़ कर भाग रहे हैं। उनके गरीब अभिभावक उनकी ऊंची फीस, महंगी किताबें और यूनिफार्म की व्यवस्था में हलकान हो रहे हैं।


 


ड्रग्स के आरोप में वाडिया को 2 साल की सजा

ड्रग्स  के आरोप में वाडिया को 2 साल की सजा


भारतीय कारोबारी और आईपीएल की टीम किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के सह-मालिक नेस वाडिया को जापान की एक कोर्ट ने ड्रग्स रखने के आरोप में 2 साल की सजा सुनाई है। नेस को इस साल मार्च में उत्तरी जापानी द्वीप होक्काइडो के न्यू चिटोज़ हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद से उन्हें अज्ञात जगह पर नजरबंद रखा गया था। वाडिया की पैंट की जेब में करीब 25 ग्राम कैनेबिस रेज़िन पाई गई।


एनएचके के एक स्थानीय होक्काइडो स्टेशन की रिपोर्ट में कहा गया है कि नेस वाडिया की जेब में ड्रग्स होने की पुष्टि स्निफर डॉग ने की। 47 साल के नेस वाडिया, ग्रुप के चेयरमैन नुस्ली वाडिया के सबसे बड़े बेटे हैं, जो कि फोर्ब्स के अनुसार, करीब 7 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ भारत के सबसे अमीर कारोबारियों में शामिल हैं।


नेस, वाडिया समूह की सभी यूनिट्स के निदेशक हैं। इसी समूह को 1736 में ईस्ट इंडिया कंपनी के लिए जहाज बनाने का मसौदा मिला था। अब वाडिया समूह बिस्किट कंपनी ब्रिटेनिया और बजट एयरलाइन गो-एयर के कारोबार में भी शामिल हैं। इसके सूचीबद्ध संस्थाओं का कुल बाजार मूल्य 131 अरब डॉलर है। साप्पोरो की अदालत में नेस वाडिया ने यह स्वीकार किया कि यह दवा उनके निजी इस्तेमाल के लिए है।universalexpress.page


 


लखनऊ में राजनाथ के लिए कर रहे भाजपाई अपील

लखनऊ! स्वर्ण जयंती पार्क,सेक्टर 25 इंद्रिरा नगर लखनऊ में लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी राजनाथ सिंह के समर्थन में नीरज सिंह ने पार्क मे घूम रहे एवम व्यायाम कर रहे लोगो से मिलकर वोट मांगे एवम सभी से अपील की आने वाली 6 तारिक को कमल के निशान पर बटन दबाकर भारी से भारी मतों से भाजपा को विजयी बनाए ओर फिर एक बार मोदी सरकार बनाए प्रचार करने मे लखनऊ के युवा मोर्चा के कार्यकर्ता ,पार्षद सरदार सिंह भाटी,रवि भाटी प्रदेश मन्त्री,कालीचरन पहलवान,पुर्व डिप्टी मेयर राजेश्वर प्रशाद,दीपक ठाकुर रामकुमार नागर,राकेश शर्मा,मनोज भड़ाना,सोमनाथ चौहान,करम्वीर पण्डित,आदी भाजपा कार्यकर्ताओ ने पार्क मे मॉर्निंग वाकर्स वालों से भेंट एवं क्षेत्र भ्रमण करके जनसम्पर्क किया luniversalexpress.page


बीजेपी नेता ने अधिकारी को दी धमकी, मेरी हिट लिस्ट में हो

बीजेपी नेता ने अधिकारी को दी धमकी, मेरी हिट लिस्ट में हो


 कानपुर! कानपुर में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के वोटिंग के दौरान एक बीजेपी नेता पुलिस अधिकारी को धमकाते हुए कैमरे में कैद हुआ है। सुरेश अवस्थी नामक बीजेपी नेता पुलिस अधिकारी को धमकाते नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं, सुरेश पुलिस वाले को कहते हैं कि वह उनके हिटलिस्ट में हैं और वह वोटिंग के बाद उन्हें देख लेंगे। बीजेपी नेता की ये धमकी और बदतमीजी कैमरे में कैद हो गई और अब उसका वीडियो भी वायरल हो रहा है।


सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में बीजेपी नेता को सर्किल ऑफिसर को धमकाते हुए सुना जा सकता है। वीडियो में बीजेपी नेता सुरेश अवस्थी पुलिस वाले से बहस करते दिख रहे हैं और पुलिस उन्हें बार-बार समझाने की कोशिश करती है। वीडियो में सर्किल अधिकारी को बीजेपी नेता कहते हैं 'मैं तुम्हें कल देख लूंगा, तुम मेरे हिट लिस्ट में हो।


इतना ही नहीं, अवस्थी अधिकारी को धमकी देते हुए भी सुना जा सकता है, जिसमें वह अधिकारी को आंख मिलाकर बात न करने की चेतावनी देता है। वब कहते हैं कि तुम मेरी तरफ मत देख, तुम मेरी आंख की तरफ मत देख। तू मेरी हिट लिस्ट में है, कल के बाद मैं तुम्हें बताऊंगा। हालांकि, इसके बाद सर्किल अधिकारी कहते हैं कि जो करना हो कर लेना !


मोदी के खिलाफ 101 प्रत्याशी मैदान में

 मोदी के खिलाफ 101 प्रत्याशी मैदान में 


वाराणसी ! वाराणसी संसदीय सीट से कुल 102 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया है। अंतिम दिन सोमवार को देररात 11.30 बजे तक पर्चा दाखिला चलता रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र होनेे के कारण ऐसे तमाम लोगों ने भी नामांकन किया, जिन्हें चुनाव के बहाने अलग संदेश देना है। इस प्रकार 101 उम्मीदवार मोदी को चुनौती देंगे।


बनारस संसदीय सीट पर नामांकन के अंतिम दिन सोमवार को 71 उम्मीदवारों ने पर्चे दाखिल किए। इस दौरान कलक्ट्रेट परिसर स्थित नामांकन स्थल रायफल क्लब के आसपास भारी गहमागमी रही। जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेन्द्र सिंह के मुताबिक बनारस संसदीय सीट से कुल 102 उम्मीदवारों ने अलग-अलग सेट में 199 नामांकन पत्र दाखिल किया है।


मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 2 मई को नाम वापसी के बाद तय होगा कि बनारस के रण में कितने उम्मीदवार होंगे। नामांकन करने वालों में प्रमुख रूप से कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय, सपा की शालिनी यादव, प्रख्यात हॉकी खिलाड़ी व पद्मश्री मो. शाहिद की बेटी हिना शाहिद शामिल रही। निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अतीक अहमद का पर्चा उनके भतीजे शहनवाज आलम ने दाखिल किया।universalexpress.page


 


चीनी मीडिया को मोदी से उम्मीद, बैठक की तैयारी

चीनी मीडिया को मोदी से उम्मीद, बैठक की तैयारी


चीनी अधिकारी और सरकारी थिंक टैंकों से जुड़े विशेषज्ञ अपनी प्राथमिकता नरेंद्र मोदी को बता रहे हैं। सरकार समर्थित अखबार ग्लोबल टाइम्स ने शिन्हुआ विश्वविद्यालय के रिसर्च फेलो लु यांग का एक लेख छापा है, जिसमें मोदी की वापसी की भविष्यवाणी की गई है। लु ने लिखा है, ''इस बात में कोई संदेह नहीं है कि मोदी की भारतीय जनता पार्टी संसद में सबसे बड़ा दल होगा।


मोदी का राजनीतिक कद अन्य प्रत्याशियों को पीछे छोड़ रहा है और भाजपा की वित्तीय और संगठन शक्ति विपक्ष से बहुत अधिक है। इससे साफ है कि मोदी को संभवत: एक और मौका मिल जाएगा।''जिनपिंग-मोदी के बीच अनौपचारिक बैठक की तैयारी शुरूचीन के कम्युनिस्ट नेताओं ने साफ कर दिया है कि लोकसभा चुनाव के बाद नरेंद्र मोदी की प्रधानमंत्री के तौर पर वापसी हो रही है।


चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने हाल ही में घोषणा की है कि उनकी सरकार चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और मोदी के बीच अगली 'अनौपचारिक मीटिंग' की तैयारी कर रही है, जो पिछले साल चीन के वुहान शहर में हुई मीटिंग की तर्ज पर होगी। इस बार यह भारत के किसी शहर में होने की उम्मीद है।


universalexpress.page


स्पाइस जेट का विमान दुर्घटनाग्रस्त ,लैंडिंग के दौरान हुआ हादसा

स्पाइस जेट का विमान दुर्घटनाग्रस्त,लैंडिंग के दौरान हुआ हादसा


शिरडी ! किफायती विमानन कंपनी स्पाइसजेट का एक विमान सोमवार को शिरडी एयरपोर्ट पर उतरते समय रनवे से फिसल गया। यह विमान B737-800 दिल्ली-शिरडी मार्ग पर सेवा देता है।रिपोर्ट के मुताबिक हादसा सोमवार दोपहर को हुआ है| हादसे में विमान का अगला पहिया टूट गया! हालांकि खैरियत ये रहा कि चालक दल और विमान में बैठे पैसेंजर्स को कोई चोट नहीं आई! हादसे के बाद यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है! स्पाइस जेट इस हादसे की जांच कर रहा है!universalexpress.page


बाड़मेर में मतदान के दौरान मारपीट-हंगामा

बाड़मेर में मतदान के दौरान मारपीट-हंगामा


बाड़मेर! लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 13 सीटों पर 67. 78 फीसदी मतदान हुआ! सबसे ज्यादा मतदान बाड़मेर में 73.15 प्रतिशत दर्ज किया गया! इसी लोकसभा क्षेत्र के अर्टी गांव में दो गुटों में मारपीट के बाद तनाव का माहौल हो गया? इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है! हालांकि चुनाव आयोग ने इसकी पुष्टी नहीं की है!  हालांकि मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने कहा है कि अजमेर और बाड़मेर में बैलेट यूनिट को क्षति पहुंचाई गई है और इसपर संबंधित के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा रही है!universalexpress.page


 


आतंकवाद मुक्त या युक्त देश चाहिए: योगी

आतंकवाद मुक्त या युक्त देश चाहिए: योगी



सन्दीप मिश्र


 


 रायबरेली! जनसभा को संबोधित करने लालगंज पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस व सपा-बसपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 55 साल की सरकार में सिर्फ भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा। उसका घोषणा पत्र भी देख कर लगता है कि कांग्रेस का हाथ भ्रष्टाचारियों के साथ है। मुख्यमंत्री भाजपा प्रत्याशी दिनेश प्रताप सिंह की जनसभा को संबोधित कर रहे थे। योगी ने कहा आप लोगों को आतंकवाद मुक्त भारत चाहिए या आतंकवाद युक्त,भारत चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस महत्मा गांधी के सपनो को साकार कर रही है। जो राहुल गांधी को अध्यक्ष बना दिया और राहुल गांधी जहां भी जाते हैं। कांग्रेस का एक पेड़ सूख जाता है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कांग्रेस बापू के सपने को साकार कर रही है जो उन्होंने कहा था कि देश को आजादी मिल गई है अब कांग्रेस को खत्म होना चाहिये।योगी आदित्यनाथ ने आज रायबरेली में भाजपा प्रत्याशी दिनेश प्रताप सिंह के लिए एक जनसभा को संबोधित करते हुये कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।उन्होंने कहा कि यदि देश को बचाना है तो कांग्रेस को खत्म करना होगा और महात्मा गांधी के सपनों को साकार करने के लिए राहुल गांधी ने ठान ली है वह जहां जाते हैं वहां कांग्रेस का लगाया हुआ पेड़ सूख जाता है। राहुल गांधी के ऊपर योगी का यह दंश सुनकर लोगों ने खूब तालियां बजाई
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि
कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में सेना के विशेषाधिकार हटने और कश्मीर से लेकर पूर्वोत्तर राज्यों में सेना को हटाने की बात कह रही है उन्होंने मौजूद जनता से पूछा क्या फैसला आप के हाथ में कि आपको भ्रष्टाचार मुक्त आतंकवाद मुक्त भारत चाहिए या इन सब से युक्त भारत चाहिए अगर मुक्त भारत चाहिए तो दिनेश प्रताप सिंह को जीत आइए और नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाइए
योगी के भाषण में कुंभ मेले का भी जिक्र हुआ उन्होंने विरोधियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जब हमने कुंभ का आयोजन किया और उसमें 24 करोड़ लोगों को ही आने की व्यवस्था की तक विपक्षियों ने कहा था कि इतने बड़े मेले के आयोजन में सुरक्षा की क्या व्यवस्था है हमने पहले ही चेतावनी दे रही थी कि यदि किसी को अपनी जान प्यारी नहीं है तभी वह कुंभ में कोई हरकत करने की कोशिश करेगा और कुंभ में दुनिया ने देखा किस स्वच्छता का पूरा ध्यान रखा गया था।मुख्यमंत्री योगी को सुनने के लिए लोगों की भारी भीड़ मौजूद थी। जनसभा में तिल रखने की भी जगह नही थी। योगी के आने पर प्रत्याशी दिनेश प्रताप सिंह के चेहरे में रौनक देखने को मिली उनका कहना है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री का मेरे लिए आना सौभाग्य की बात है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी जैसे महान लोगो के साथ देश बचाने में जिले की जनता उनका सहयोग कर रही है ।


आपकी राशि क्या कहती है?

 राशिफल 30 अप्रैल 2019


मेष---व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। कामकाज में वृद्धि के योग हैं। घर-बाहर सभी तरफ प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे।


वृष---कार्यस्थल पर परिवर्तन व सुधार हो सकता है। योजना फलीभूत होगी। मित्रों तथा रिश्तेदारों का सहयोग कर पाएंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नए कार्य मिलेंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे।


मिथुन----सत्संग का लाभ प्राप्त हो सकता है। पूजा-पाठ में मन लगेगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति लाभदायक रहेगी। घर-बाहर सभी तरफ सफलता प्राप्त होगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। बाहर जाने का कार्यक्रम बन सकता है। धन प्राप्ति सुगमता से होगी।


कर्क---क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि हो सकती है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। आय में वृद्धि हो सकती है, प्रयास करते रहें। कारोबार में अधिक ध्यान दें।


सिंह---कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भेंट व उपहार देना पड़ सकता है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। पारिवारिक चिंता रहेगी। प्रतिद्वंद्विता बढ़ेगी।


कन्या---स्थायी संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। नया कार्य प्रारंभ करने की योजना बनेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। विरोध होगा। व्यस्तता के चलते थकान रह सकती है। प्रमाद न करें।


तुला --रचनात्मक कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। संगीत इत्यादि में रुचि रहेगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। किसी पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बन सकता है। पठन-पाठन व लेखन इत्यादि के कार्य सफल रहेंगे। भावना में बहकर निर्णय न लें।


वृश्चिक----कोई बुरी सूचना मिल सकती है। नकारात्मकता रहेगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। सावधान रहें। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है। दूसरों के बहकावे में न आएं। सोच-समझकर निर्णय लें। व्यापार से लाभ होगा।


धनु----पहले की गई मेहनत का फल प्राप्त होगा। रुके कार्य पूरे होंगे। लाभ में वृद्धि होगी। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। प्रसन्नता बनी रहेगी। असहाय लोगों की मदद करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। सभी तरफ से सफलता मिलेगी। जल्दबाजी न करें।


मकर----आत्मसम्मान बना रहेगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। पारिवारिक आवश्यकताओं पर व्यय होगा। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। नौकरी में चैन रहेगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। उत्साह बना रहेगा।


कुंभ---नवीन वस्त्राभूषण पर व्यय होगा। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। मान-सम्मान मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। जल्दबाजी न करें।


मीन---फालतू खर्च अधिक हो सकता है। विवाद को बढ़ावा न दें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। पुराना रोग उभर सकता है। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। जल्दबाजी न करें।universalexpress.page


निर्णय लेने की दृढ़ता

निर्णय लेने की दृढ़ता


दृढ़ निश्चय से किए गए फैसले सभी नकारात्मक विचारों के बादलों को उड़ा देते हैं। हमारे जीवन में कई नकारात्मक परिस्थितियां आती हैं जिनके कारण हमें दुःख, पीड़ा और निराशा का अनुभव करते हैं। कभी कभी ऐसा भी समय आता है जब इन समस्याओं का समाधान करना दुर्गम लगता है और ऐसा महसूस होता है कि ये समस्याएं हमेशा ही बनी रहेगी।
हमें यह समझना आवश्यक है कि हर कोई समस्या या परिस्थिति जिसका हम सामना करते हैं वे उड़ते हुए बादल हैं जो जाने के लिए ही आते हैं। विघ्नों के बादल जो हमें चारों और से घेरते हैं वे कभी ना कभी छंट ही जाते हैं। जब यह बात समझ ली जाए कि कोई भी समस्या सदा काल के लिए नहीं रहती है तब ही उस समस्या का समाधान करने का दृढ़तापूर्वक निर्णय लिया जा सकता है। और तब ही हर परिस्थिति का सामना सरलता से किया जा सकता है। संदीप गुलाटीuniversalexpress.page


ऐतिहासिक धरोहर उपेक्षा की शिकार

ऐतिहासिक धरोहर उपेक्षा की शिकार


सहारनपुर! जब भी देश की शान ताजमहल का वाक्या कहीं पर शुरू होता है, जो दुनिया के अजूबों में से एक है, शाहजहां के बिना कभी पूरा नहीं होता। मुग़ल सम्राट शाहजहां, इस आलीशान और महान रचना के जन्मदाता एक महान सम्राट के रूप में प्रसिद्द थे। वे अपनी न्यायप्रियता और वैभवविलास के कारण अपने काल में बड़े लोकप्रिय रहे। लेकिन वे केवल इसके लिए ही नहीं जाने जाते थे, वे एक बहुत बड़े आशिक़ और शिकारी के तौर पर भी पहचाने जाते हैं, जिन्होंने अपनी प्रेमिका और पत्नी, मुमताज़ महल की याद में दुनिया की सबसे भव्य और खूबसूरत रचना का निर्माण करवाया, जो देश-विदेश में प्रेम के प्रतीक के रूप में सर्वाधिक लोकप्रिय है वहीं उन्होंने अपने शिकार के शौक के कारण देश में कई जगह शिकारगाहो का निर्माण कराया । इन्ही शिकारगाहो में एक शिकारगाह उत्तरप्रदेश के अंतिम जिले और लोकसभा सीट नम्बर एक सहारनपुर में उत्तरप्रदेश हरियाणा की सीमा पर हथनी कुंड बैराज से दो - तीन किलोमीटर उत्तर दिशा में बनी हुई हैं जो की पुरात्व विभाग की अनदेखी की वजह से उपेक्षित पड़ी है । युवा जागृति सेवा समिति अध्यक्ष अली अमजद के नेतृत्व में रिहान अली प्रदेश सचिव , महामंत्री प्यार हुसैन , विधानसभा सचिव अदनान मास्टर , एवं राकीम हरूफ आस मौहम्मद आशु ने दौरा कर यथा स्थिति को जाकर देखा । एक बेहतरीन सुशान्त और पर्यावरण के अनुकूल क्षेत्र में बनी ये शिकारगाह भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की लिस्ट में होने के बाद भी शराबियों , नशेड़ियों का अड्डा बनी हुई है । बादशाह शाहजहां जो कि हिंदुस्तान के तख्त पर 1628 में गद्दीनशीं होने के बाद 30 साल तक हुक्मरां रहे । शाहजहां ने अपने दौरे हुक्मरानी में हिंदुस्तान को बेहतरीन और शानदार इमारतो का तोहफा देकर विश्व के नक्से पर अलग मुकाम अता फरमाया , शाहजहां ने जहां यमुना किनारे ताजमहल (आगरा) , लाल किला (दिल्ली) , बनाया वहीं इसी यमुना नदी के किनारे इस शानदार इमारत का निर्माण कराया जो की अपने दिलकश अंदाज मजबूत निर्माण और अनोखे आर्किटेक्चर के कारण विश्व में अलग मुकाम बनाकर क्षेत्र का नाम अंतर्राष्ट्रीय लेवल पर चमका सकती हैं । युवा जागृति का एक डेलिगेशन जल्द ही इस ऐतिहासिक धरोहर के उचित रखरखाव और इसको पर्यटन स्थल घोषित किये जाने के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग से सम्पर्क करेगा । ऐसे ऐतिहासिक स्थल जो की आपके बेहट क्षेत्र में स्थित है और उपेक्षा के शिकार हैं उनकी जानकारी युवा जागृति श्रंखलाबध तरीक़े से आपके सामना लाता रहेगा , तो आप भी इस ऐतिहासिक धरोहर का दीदार करने एक बार अवश्य जाए , आपके पास भी कोई ऐतिहासिक महत्व की जानकारी हो तो उसे युवा जागृति से शेयर करें ताकि उसके लिए भी उचित प्रयास किया जा सके । युवा जागृति सेवा समिति के साथियों को स्पेशल शुक्रिया जिनमे अध्यक्ष अली अमजद पीर , रिहान अली , प्यार हुसैन , मास्टर अदनान शाहबुद्दीनपुर का योगदान सराहनीय रहा ।
लेखक : आस मौहम्मद आशु "


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...