गुरुवार, 3 दिसंबर 2020

4 साल बाद फिर वापस आऊंगाः ट्रंप

मैं चार साल बाद फिर वापस आऊंगा वापस : डोनाल्ड ट्रंप


वाशिंगटन। तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव में हार के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने दावा किया है कि वे एक बार फिर वापसी करेंगे। जो बाइडेन के हाथों हारने वाले ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में एक क्रिसमस पार्टी के दौरान समर्थकों से ये बात कही। राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे साफ हो चुके हैं। ट्रम्प को 232 जबकि जो बाइडेन को 306 इलेक्टोरल वोट मिले हैं। ट्रम्प ने अब तक साफ तौर पर हार कबूल नहीं की है।


अमेरिकी मीडिया में पहले भी इस तरह की खबरें आई हैं कि ट्रम्प 2024 में फिर रिपब्लिकन पार्टी के प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट हो सकते हैं। हालांकि, ट्रम्प की उम्र इस मामले में रोढ़ा बन सकती है। बुधवार को व्हाइट हाउस में एक क्रिसमस पार्टी हुई। इसके होस्ट ट्रम्प ही थे। पार्टी में ट्रम्प के बेहद करीबी लोग ही शामिल हुए। मेहमानों से बातचीत के दौरान ट्रम्प ने कहा- व्हाइट हाउस में मेरे चार साल बेहद शानदार तरीके से गुजरे। मैं फिर चार साल के लिए यहां आना चाहता हूं। इस बार न सही। लेकिन, अगली बार यहां फिर आना चाहूंगा। इस पार्टी में रिपब्लिकन पार्टी के सीनियर लीडर्स भी शामिल हुए। हालांकि, मीडिया को एंट्री नहीं दी गई थी। लेकिन, ट्रम्प ने जो कुछ कहा वो बहुत जल्द लोगों तक पहुंच गया।


राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आए एक महीना हो चुका है। हालांकि, औपचारिक ऐलान बाकी है। लेकिन, इसके बावजूद ट्रम्प ने न तो अब तक स्पष्ट तौर पर हार मानी है और न ही बाइडेन को जीत की बधाई दी है। उनकी कैम्पेन टीम और वकीलों ने कई राज्यों में चुनावी धांधली के आरोपों में केस दर्ज कराए हैं। हालांकि, ये भी सच है कि हार के बाद सार्वजनिक तौर पर काफी कम नजर आए हैं। वे या तो गोल्फ खेलते नजर आए या फिर मीडिया से सिर्फ अपनी बात कहते दिखे।


अमेरिकी अटॉर्नी जनरल विलियम बार ने बुधवार को ट्रम्प के धांधली के आरोप खारिज कर दिए थे। बार ने कहा था- आज की तारीख में भी यही सच है कि चुनाव में बड़े पैमाने पर धांधली हुई। अगर ये नहीं हुई होती तो नतीजा कुछ और होता। अमेरिका में राष्ट्रपति बनने के लिए जो शर्तें हैं, उसमें ये साफ है कि कैंडिडेट की उम्र 35 साल से कम नहीं होनी चाहिए, लेकिन अधिकतम उम्र जैसी कोई शर्त नहीं है। ट्रम्प ने कैम्पेन के दौरान कई बार जो बाइडेन की उम्र पर सवाल उठाए। बाइडेन अभी 77 साल के हैं। 20 नवंबर को 78 के हो जाएंगे। ट्रम्प भी जीवन के 74 बसंत देख चुके हैं। 2024 में 78 के हो चुके होंगे। यानी अभी बाइडेन की जो उम्र है, अगले चुनाव के वक्त ट्रम्प की उतनी हो जाएगी।                                   


अमेरिकी राष्ट्रपति ने चीन को झटका दिया

वाशिंगटन डीसी/ बीजिंग। अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन ने चीन को बड़ा झटका दिया है जो कि यह मानकर चल रहा था कि बिडेन के आने के बाद सबकुछ सामान्य हो जाएगा। बिडेन ने कहा है कि वह चीन से कई आयातों पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा लगाए गए शुल्कों या ट्रम्प के शुरुआती व्यापार सौदों को तत्काल तोड़ने नहीं जा रहे हैं। बिडेन की रणनीति संयुक्त राज्य अमेरिका के भू-राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के साथ भविष्य की बातचीत में अपने लाभ को अधिकतम करने की है। न्यूयॉर्क टाइम्स के स्तंभकार थॉमस फ्रीडमैन से बात करते हुए, बिडेन ने कहा, 'मैं तत्काल कोई कदम नहीं उठाने जा रहा हूं, और टैरिफ पर भी यही बात लागू होती है'।             


इटलीः दादी ने कोरोना को 3 बार चखाई हार

रोम। इटली में 101 साल की एक ऐसी महिला हैं जिन्हें तीन बार कोरोना का संक्रमण हो चुका है। पिछले एक साल में उन्हें तीन बार संक्रमण हुआ लेकिन हर बार बीमारी को मात देते हुए स्वस्थ हो गईं। बड़ी बात ये है कि उम्र के दस दशक पार कर चुकी इस महिला ने स्पैनिश फ्लू और दूसरे विश्व युद्ध के खतरे के भी देखा है। महिला का नाम मारिया ओरसिंघर है। मारिया ओरसिंघर को 100 की उम्र में कोरोना होना और तीन बार उसे मात देना इटली के डॉक्टर्स को परेशान करता रहा है। जब देश-दुनिया में कोरोना से मृतकों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है और इसमें बुजुर्गों की संख्या अच्छी खासी है, ऐसे में ओरसिंघर का उदाहरण बुजुर्गों को प्रेरित करता है कि वे किसी भी बीमारी से लड़ सकते हैं और उसके खिलाफ जीत हासिल कर सकते हैं।               


ब्रिटेन के पीएम गणतंत्र पर होगें मुख्य अतिथि

भारतीय गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि हो सकते हैं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन


नई दिल्ली। भारत के गणतंत्र दिवस 26 जनवरी पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन मुख्य अतिथि हो सकते हैं। चर्चा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक औपचारिक बातचीत में उन्हें भारत आने का निमंत्रण दिया है। हालांकि अभी इसकी पुष्टि होना बाकी है। इस बारे में ब्रिटिश हाई कमीशन के प्रवक्ता से इस बारे में पूछा तो उन्होंने कहा अभी इसे लेकर पुष्टि नहीं कर सकते, लेकिन ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भारत आने के इच्छुक हैं। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन पहले भी भारत आने की इच्छा जता चुके हैं और कई बार भारतीय संस्कृति की तारीफ भी कर चुके हैं। जब जॉनसन को कोरोना हुआ था तो प्रधानमंत्री मोदी ने फोन पर उनका हालचाल जाना था। कोरोना के खिलाफ दोनों ही देश बहुत मजबूती से लड़ रहे हैं। ब्रिटेन में फाइजर और बायोएनटेक की कोरोना वायरस वैक्सीन को मंजूरी दे दी गई है। भारत में भी बहुत जल्द इसके मंजूरी के आसार हैं।                                   


विवादित द्वीप पर रूस ने तैनात की मिसाइलें

मॉस्‍को। रूस ने जापान के संवेदनशील मगर रणनीतिक रूप से अहम द्वीप पर अपना नया एडवांस्‍ड मिसाइल सिस्‍टम तैनात कर दिया है। इस घटना के बाद से रूस के बीच तनाव बढ़ गया है। जापान, रूस के इस चौंकाने वाले सैन्‍य कदम से खासा नाराज है। रूस ने जापान के उत्‍तर-पूर्व में आने वाले होकाईदो में इस मिसाइल सिस्‍टम को तैनात किया है। यह जगह रूस के पूर्वी क्षेत्र के तहत आने वाले कमछतका के करीब है। रूसी रक्षा मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि रूस ने अपना एडवांस्‍ड और नया मिसाइल सिस्‍टम एस-300 यहां पर तैनात किया है।             


देश के टॉप 5 आईपीएस, दिलों पर है राज

ये हैं देश के टॉप-5 ईमानदार IPS, जो आम लोगों के दिलों पर करते हैं राज, पढ़ें


नई दिल्ली। देश के टॉप -5 ईमानदार आईपीएस, जो आम लोगों के दिलों पर राज करत हैं। इन 5 अफसरों ने अपने काम के जरिए लोगों के दिलों में जगह बनाई है। इन लोगों ने मुश्किल से मुश्किल घड़ी में अपनी ड्यूटी निभाई है और ये किसी के दबाव में नहीं आते है।
ऐसे अफसरों को लिस्ट बहुत लंबी है जिन्होंने अपने काम प्रति ईमानदारी और निष्ठा दिखाई है। लेकिन हम सिर्फ इन पांच आईपीएस अफसरों की बात करेंगे।
असम के लोग संजुक्ता पराशर को लेडी सिंघम भी कहते हैं। संजुक्ता ने जेएनयू से पीएचडी की है। साल 2006 में उन्होंने यूपीएससी में 85 रैंक हासिल कर अपने आईपीएस बनने का सपना साकार किया। संजुक्ता ने बोडो उग्रवादियों के खिलाफ चलाए गए आॅपरेशन में प्रमुख भूमिका निभाई थी। संजुक्ता ने 2015 में असम के जोरहाट जिले को एसपी के तौर पर लगातार असम के जंगलों में एके-47 थामे सीआरपीएफ के जवानों और कामंडो को लीड करती रहीं।
अप्रैल में उनकी टीम ने सेना पर हमला करने वाले उग्रवादियों को दबोचा था, साथ ही उन उग्रवादियों को भी पकड़ा को जंगल का इस्तेमाल छुपने के लिए करते थे। ऐसी जगह पर आॅपरेशन करना बहुत मुश्किल होता है जहां पर मौसम का भरोसा नहीं रहता है। यह इलाका बेहद दुर्गम है।
नदी और जंगली जानवरों को खतरा हमेशा सामने रहता है। लोकल लोग उग्रवादियों को पुलिस के बारे में सूचना देते रहते है। उनके नेतृत्व में 16 उग्रवादियों को मार गिराया गया और 64 को गिरफ्तार कर भरी मात्रा में गोला बारूद भी जब्त किया गया। आईपीएस रूपा मुदगिल अखबारों की हेडलाइन्स बनने से बचती है लेकिन अपने साहसी कारनामों के कारण वह हमेशा सुर्खियों में बनी रहती हैं। ब्यूरोक्रेट्स की दुनिया में कुछ ही लोग ऐसे होते है जो अलग हटकर कुछ काम करने की हिम्मत जुटा पाते है। रूपा मुदगिल उन कुछ लोग में से एक हैं।
रूपा मुदगिल अपनी निडरता और बेकबकी के लिए जानी जाती है। उन्होंने देश के जैल सिस्टम में व्याप्त भ्रष्टाचार का उजागर किया था। रूपा ने एआईएडीएमके कि नेता वीके शशि कला को जेल में मिल रही वीआईपी ट्रीटमेंट के खिलाफ आवाज उठाई थी। उस वक्त शशिकला बैंगलुरू के प्रपन्ना अग्रहार सेंट्रल जेल में बंद थीं।
बिहार कैडर के आईपीएस शिवदीप वामनराव लांडे 2006 के आईपीएस आॅफिसर है। यह अपनी दिलेरी के लिए काफी मशहूर हैं। इन्होंने पटना में रहते हुए अपराधियो पर लगाम कसने के लिए नए नए आइडियास पर काम किया। जैसे, लांडे ने मगध महिला कॉलेज और पटना वूमेंस कॉलेज की लड़कियों को अपना फोन नंबर दे दिया था और कहा था कि जब भी कोई मनचला फोन करे तो उनके नंबर पर उस कॉल को डायवर्ट कर दें।
यूपी कैडर की श्रेष्ठा ठाकुर ने साबित किया है वह आयरन लेडी हैं। साल 2017 में उनका एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें उन्होंने बुलंदशहर के बतौर डीएसपी बीजेपी कार्यकर्ताओं को क्लास लगाई थी। बीजेपी कार्यकर्ता बिना गाड़ी के पेपर, नंबर प्लेट और हेलमेट के गाड़ी चला रहे थे।
उन पर जुर्माना लगाया तो वह धौंस दिखाने। लोगों से घिरे होने के बावजूद श्रेष्ठा उनकी धमकियों और भभकियों से डरी नहीं। उन्होंने पांच बीजेपी कार्यकर्ताओं को जेल भेजा। इसके 15 दिन बाद उनका ट्रांसफर हो गया। उन्होंने कविताई अंदाज में फेसबुक पर लिखा जहां भी जाएंगे, रोशनी लुटाएंगे, किसी चिराग का अपना मकां नहीं होता है।                    


बाजार में बिक रहें है प्लास्टिक के चावल

थोड़े से चावल को जलाए। अगर उन्हें जलाने पर प्लास्टिक की खुशबू आती है तो आप समझ सकते हैं कि यह प्लास्टिक के चावल है कि नहीं। आप चाहे तो चावल का पानी (माड़) को गाढ़ा कर उसे भी जलाकर देख सकते हैं। अगर चावल प्लास्टिक के है तो यह माड़ प्लास्टिक की तरह जलना शुरू हो जाएगा। एक बोतल में इन चावलों को दो से तीन दिन के लिए उबाल कर रख दें। अगर इन चावलों पर फंगस नहीं लगता तो इसका मतलब है कि आपके द्वारा खरीदे गये चावल प्लास्टिक के हैं। यदि चावलों में फंगस लग जाती है तो इसका मतलब चावल असली है। एक चम्मच चावल को एक गिलास पानी में डालें। कुछ देर बाद अगर चावल ऊपर तैरने लगे तो समझ जाएं कि चावल नकली है, क्योंकि प्लास्टिक कभी भी पानी में डूबता नहीं है।             


इंडियन ऑयल, 100 ऑक्टेन रेटेड पेट्रोल लॉन्च

नई दिल्ली। इंडियन ऑयल ने देश का पहला 100 ऑक्टेन रेटेड पेट्रोल लॉन्च किया है। XP100 के रूप में ब्रांडेड, प्रीमियम ग्रेड पेट्रोल शुरू में भारत भर के 10 शहरों में उपलब्ध होगा। दिल्ली में ईंधन की कीमत 160 रुपये प्रति लीटर है। वर्तमान में, भारत में बिकने वाले नियमित पेट्रोल की रेटिंग 91 ओकटाइन है। कंपनी के अनुसार इंडियन ऑयल का पेट्रोल 100 ऑक्टेन के साथ बनाया गया है, जो तेज त्वरण, महत्वपूर्ण इंजन प्रदर्शन को बढ़ावा देने, और बेहतर अस्थिरता, बेहतर ईंधन अर्थव्यवस्था और इंजन जीवन देने के लिए डिज़ाइन किया गया है।                       


सड़कों पर उतरे किसानों को मनाने का प्रयास

खेतों से सड़कों पर उतरे किसानों को मनाने का प्रयास जारी, केंद्रीय मंत्रियों ने की मुलाकात


नई दिल्ली। किसान संगठनों ने नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच चौथे दौर की वार्ता के लिए बृहस्पतिवार को तीन केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात की। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रेलवे, वाणिज्य एवं खाद्य मंत्री पीयूष गोयल और पंजाब से सांसद एवं वाणिज्य राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने राष्ट्रीय राजधानी स्थित विज्ञान भवन में 35 किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की।सरकार ने बताया कि वार्ता दोपहर को आरंभ हुई और सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत जारी है। नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों की चिंताओं पर गौर करने के लिए एक समिति गठित करने के सरकार के प्रस्ताव को किसान प्रतिनिधियों ने ठुकरा दिया था। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच एक दिसंबर को हुई बातचीत बेनतीजा रही थी। सरकार ने कानून निरस्त करने की मांग अस्वीकार कर दी थी और किसान संगठनों से कहा था कि वे हाल में लागू कानूनों संबंधी विशिष्ट मुद्दों को चिह्नित करें और बृहस्पतिवार को चर्चा के लिए दो दिसंबर तक उन्हें जमा करें। सरकार का कहना है कि सितंबर में लागू किए गए ये कानून बिचौलियों की भूमिका समाप्त करके और किसान को देश में कहीं भी फसल बेचने की अनुमति देकर कृषि क्षेत्र में बड़े सुधार करेंगे, लेकिन प्रदर्शनकारी किसानों को आशंका है कि नए कानून न्यूनतम समर्थन मूल्य और खरीदारी प्रणाली को समाप्त कर देंगे और मंडी प्रणाली को अप्रभावी बना देंगे। प्रदर्शनकारी किसानों ने बुधवार को मांग की कि केंद्र संसद का विशेष सत्र बुलाकर नए कानूनों को रद्द करे।               


कानपुर में युवक का अधजला शव बरामद

कानपुर में युवक का अधजला शव बरामद, हत्या की आशंका


कानपुर। कानपुर के घाटमपुर के साढ़ इलाके में आज एक अज्ञात युवक का जली अवस्था में क्षत विक्षत शव मिला। पुलिस ने शव की शिनाख्त का प्रयास किया लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। साढ़ इलाके के बारीगांव में आज किसान अपने खेतों पर जा रहे थे। इस दौरान रास्ते में पड़ने वाले महाविद्यालय के समीप ईंट भट्ठे पर कुछ कुत्ते तेजी से भौंक रहे थे शंका होने पर जब कुछ किसान करीब पहुंचे तो एक अज्ञात युवक का जला हुआ शव पड़ा देखा। शव से कुछ दूरी पर एक मोटरसाइकिल खड़ी मिली जिसके नंबर के आधार पर अब पुलिस शव की शिनाख्त करने में जुटी हुई है। पुलिस ने कहा कि मोटरसाइकिल के नंबर के आधार पर युवक की शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है। शव देखकर प्रतीत होता है कि हत्या के बाद उसे यहां लाकर फेंका गया है।                   


हिस्सों में कर्फ्यू नहीं लगाया जाएंः सरकार

कोविड-19: अदालत ने दिल्ली सरकार से पूछा क्या लगाया जाए नाइट कर्फ्यू?, सरकार ने दिया ये जवाब


नई दिल्ली। दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने बृहस्पतिवार को दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि कोविड-19 महामारी रोकथाम के लिए फिलहाल राष्ट्रीय राजधानी या इसके हिस्सों में कर्फ्यू नहीं लगाया जाएगा। दिल्ली सरकार ने न्यायमूर्ति हिमा कोहली और न्यायमूर्ति सुब्रह्मण्यम प्रसाद की पीठ को इस बारे में जानकारी दी।अदालत ने 26 नवंबर को पूछा था कि क्या कोविड-19 से निपटने के लिए शहर में रात में कर्फ्यू लगाया जा सकता है जैसा कि कई अन्य राज्यों ने किया है। दिल्ली सरकार ने अपनी स्थिति रिपोर्ट में बताया कि सरकार ने 31 दिसंबर तक मंजूरी दी जाने वाली गतिविधियों और प्रतिबंधित गतिविधियों के संबंध में पहले से जारी आदेशों की ही यथास्थिति बनाए रखने संबंधी आदेश जारी किए हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि इसलिए 31 दिसंबर तक किसी भी नई गतिविधि को मंजूरी नहीं दी जा सकती है। अदालत द्वारा जारी निर्देश और सलाह वकील राकेश मल्होत्रा की राष्ट्रीय राजधानी में जांच बढ़ाने और तेजी से परिणाम देने को लेकर दायर की गई एक याचिका की सुनवाई के दौरान यह बात हुई।             


ताज नगरी को पीएम मोदी ने दिया तोहफा

ताज नगरी को मोदी का तोहफा, सात दिसम्बर को करेंगे आगरा मेट्रो का शिलान्यास


लखनऊ। ताज नगरी आगरा में मेट्रो रेल परियोजना का शिलन्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सात दिसम्बर को करेंगे। प्रमुख सचिव आवास और नियोजन दीपक कुमार ने आज कहा कि अब जल्द काम शुरू होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सात दिसंबर को इस परियोजना का वर्चुअल शिलान्यास करेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कार्यक्रम से जुड़ेंगे। आवास विभाग एवं आगरा विकास प्राधिकरण की ओर से शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।
उन्होंने कहा कि प्रस्तावित डीपीआर के मुताबिक आगरा में मेट्रो का पहला कॉरिडोर ताज पूर्वी गेट से जामा मस्जिद तक तैयार होगा। इसमें छह स्टेशन होंगे। पीएसी ग्राउंड में प्रधानमंत्री के भाषण का लाइव प्रसारण किया जाएगा। ताजमहल पूर्वी गेट तक 14 किलोमीटर की पहली मेट्रो लाइन पर छह स्टेशनों का कॉरिडोर दिसंबर 2022 तक पूरा किया जाना है।             


चुनौतियों से निपटने को तैयार 'नौसेना'

किसी भी तरह की चुनौतियों से निपटने को नौसेना है पूरी तरह तैयार- एडमिरल करमबीर सिंह


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने बृहस्पतिवार को कहा कि नौसेना चीन समेत नौसैन्य क्षेत्र में कई तरह की चुनौतियों से अवगत है और उससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। नौसेना दिवस की पूर्व संध्या पर एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित हुए उन्होंने कहा कि हिंद महासागर क्षेत्र में किसी भी तरह के अतिक्रमण जैसी स्थिति में नौसेना के पास मानक संचालन प्रक्रिया है। नौसेना प्रमुख अप्रत्यक्ष तौर पर चीन से मिल रही चुनौतियों का हवाला दे रहे थे। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा की स्थितियों का हवाला देते हुए नौसेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय नौसेना का निगरानी विमान पी-81 और हेरोन ड्रॉन इस इलाके में तैनात हैं। उन्होंने कहा कि हम जो भी कर रहे हैं वह सेना और भारतीय वायु सेना के साथ करीबी समन्वय से कर रहे हैं। भारत और चीन के बीच पिछले करीब सात महीने से पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध चल रहा है और यह गतिरोध चीन के आक्रामक रवैये से पैदा हुआ है। एडमिरल सिंह ने देश के सामने मौजूद नौसैन्य क्षेत्र की चुनौतियों पर कहा कि भारतीय नौसना परीक्षा की घड़ियों में डटे रहने के लिए दृढ़ संकल्पित है। उन्होंने प्रस्तावित ‘मैरीटाइम थियेटर कमांड’ के बारे में बताते हुए कहा कि कार्य प्रगति पर है और इसका वास्तविक आकार कुछ समय के बाद सामने आएगा। नौसेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय नौसेना का ध्यान पानी के भीतर क्षमताओं को बढ़ाने पर केंद्रित है। तीसरे विमान वाहक पोत को शामिल करने पर उन्होंने कहा कि नौसेना अपनी जरूरतों के बारे में बेहद स्पष्ट है।             


निराकरण करने को सरकार प्रतिबद्धः योगी

छोटे और मझोले उद्योगो की समस्यायों का निराकरण करने को सरकार प्रतिबद्ध- योगी


लखनऊ। एमएसएमई इकाइयों को आर्थिक रूप से मजबूत करने की संकल्पबद्धता का इजहार करते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश में हर प्रकार के उद्यमों की स्थापना को प्रोत्साहित करने के लिये नियम और व्यवस्था को आसान बना रही है। योगी ने अपने सरकारी आवास पर गुरूवार को लघु, छोटी तथा मध्यम उद्योग (एमएसएमई) की इकाइयों के संचालकों को ऋण प्रदान करते हुये कहा कि सरकार का प्रयास है कि विशेषकर छोटे और मझोले उद्योगो की समस्यायों का निराकरण किया जाये। केंद्र सरकार ने एमएसएमई को बढ़ावा देने के लिए तीन लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया है जिसका भरपूर इस्तेमाल कर सरकार उद्यमियों की समस्या को दूर कर रही है। इस योजना का लाभ सभी तबकों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि उद्यमियों को सरकार से मिल रहे ऋण का इस्तेमाल अपने उद्योग धंधे को बढाने के साथ रोजगार के अवसर पैदा करने के लिये करना चाहिये। आप सभी लोग अपने काम को आगे बढ़ाकर समय से लोन अदा करें और आगे बड़े लोन का लाभ लें। अपने कारीगरों को ट्रेनिंग भी दिलाएं। एमएसएमई विभाग सभी को ट्रेनिंग की सुविधा भी दे रहा है। कार्य विस्तार के साथ रोगजार के अवसर प्रदान करें।


योगी ने कहा कि प्रदेश में हर प्रकार के उद्यमों की स्थापना के लिए व्यवस्था को काफी सुगम किया गया है। अब सारी प्रक्रिया को पारदर्शी तथा समयबद्ध ढंग से संपन्न कराने के लिए सिंगल-विंडो पोर्टल तथा निवेश मित्र की सुविधा प्रदेश में प्रदान की जा रही है। उन्होंने कुछ उद्यमियों को ऋण वितरण पत्र और एक जिला एक उत्पाद योजना के प्रशिक्षणार्थियों को टूल किट वितरित की। इसके तहत कुल 3,54,825 इकाइयों को 10,390 करोड़ रुपये का ऋण उपलब्ध कराया गया। इसमें 3,24,911 नई एमएसएमई इकाइयों को 9,074 करोड़ रुपये और पहले से स्थापित 29,914 इकाइयों को आत्मनिर्भर भारत योजना में 1,316 करोड़ रुपये का लोन दिया गया।             


परिवारों को वित्तीय मदद देगी पंजाब सरकार

प्रदर्शनों के दौरान मारे गए दो किसानों के परिवारों को वित्तीय मदद देगी पंजाब सरकार


राणा ऑबराय


चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध के दौरान मारे गए। दो किसानों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपए की वित्तीय सहायता मुहैया कराने की बृहस्पतिवार को घोषणा की। मानसा जिले के बछोआना गांव के निवासी गुरजंत सिंह (60) की विरोध के दौरान दिल्ली के टिकरी बार्डर पर मौत हो गई थी और मोगा जिले के भिंडर खुर्द गांव के निवासी गुरबचन सिंह (80) की बुधवार को मोगा में प्रदर्शन के दौरान दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दोनों किसानों की मौत पर शोक व्यक्त किया है। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने दोनों किसानों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपए की सहायता मुहैया कराने की घोषणा की। पंजाब, हरियाणा और कई अन्य राज्यों के हजारों किसान तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।             


बल्लेबाज को दूध से मक्खी की तरह निकाला

इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट की बात हो और चर्चा बिना किसी विवाद या बवाल के खत्म हो जाए, ऐसा मुमकिन होता नहीं है। एक बार फिर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड सवालों के घेरे में है। सवाल पाकिस्तान के ही स्टार बल्लेबाज ने उठाए हैं। वो बल्लेबाज जिसे पीसीबी (PCB) ने दूध से मक्खी की तरह निकालकर फेंक दिया। वही बल्लेबाज जो 21 साल से देश की बल्लेबाजी का झंडा बुलंद रख रहा है और अपने विशाल करियर में राष्ट्रीय टीम समेत दुनियाभर की 44 टीमों की ओर से मैदान पर कदम रख चुका है। बात हो रही है पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर गंभीर सवाल खड़े करने वाले शोएब मलि की।               


नाश्ते में बनाएं गर्मा-गर्म मूली के पराठें

सर्दियों में अक्सर लोग सर्दी- जुकाम से परेशान रहते हैं। अगर आपकी भी सर्दियों में यही समस्या है तो परेशान रहने की जगह अपनी डाइट में मूली के परांठे का यह टेस्टी हेल्दी ऑप्शन शामिल करना बिल्कुल न भूलें। मूली का सेवन सर्दी-जुकाम से राहत देने के साथ मोटापे को भी दूर रखने में मदद करता है। तो देर किस बात की आइए जानते हैं। पंजाबी रसोई में कैसे बनाए जाते हैं, मूली के टेस्टी परांठे।                   


चीन में अप्रूवल से पहले शुरू कालाबाजारी

चीन में कोरोना वैक्सीन की अप्रूवल से पहले ही कालाबाजारी हुई शुरू


शंघाई। कोरोना का कहर अभी भी दुनिया में बरकार है। पूरे विश्व में कोरोना वायरस महामारी को खत्म करने के लिए वैक्सीन पर काम चल रहा है। विश्व के अलग-अलग देश अपने यहां बनी वैक्सीन की सफलता की घोषणा भी कर चुके हैं। लेकिन चीन में कोरोना वैक्सीन के अप्रूवल से पहले ही इसकी कालाबाजारी शुरू हो चुकी है।
अमेरिकी ट्रिप पर जाने से पहले चेंग कोरोना का टीका लगवाना चाहते हैं। ऐसा करने के लिए उन्होंने दक्षिणपूर्व चीन स्थित कोल्ड चेन लॉजिस्टिक्स में काम करने वाले दोस्त से कहा कि उन्हें कंपनी का कर्मचारी बताकर वैक्सीन दिलवा दे। बीजिंग के कारोबारी अब गुआंडोंग प्रांत जाना चाहते हैं और सिनोफार्म की एक ईकाई में उत्पादित किए जा रहे वैक्सीन के 2 डोज के लिए 91 डॉलर यानि करीब 6700 रुपए खर्च करने को तैयार हैं।                                         


पानी में नहीं, जमीन पर भी रहती है मछली

अक्सर आपने सुना होगा कि मछली जल की रानी होती है और जीवन उसका पानी होता है लेकिन आज इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं यहां मछलियां जमीन के ऊपर रहती हैं। वैज्ञानिकों ने मछली की एक ऐसी प्रजाति का पता लगाया है जो पानी नहीं बल्कि अब जमीन पर रहती है। यानी ये मछलियां जल की रानी नहीं रहीं।             


इजराइल में भंग हुई संसद, होंगे आम चुनाव

इजरायल में फिर भंग हुई संसद, होंगे आम चुनाव


जेरूसलम। इजरायल में भ्रष्टाचार के आरोपों को सामना कर रहे प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। इजरायल के सांसदों ने संसद भंग करने के प्रस्ताव को प्राथमिक वोट के जरिये पारित कर दिया। इसके साथ ही देश दो साल से भी कम समय में चौथी बार आम चुनाव के करीब पहुंच गया है। संसद भंग होने के साथ ही एक नेतन्याहू की सत्ताधारी लिकुड पार्टी और बेनी गेंतज की ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के बीच असंतुलित गठबंधन भी लगभग खत्म हो गया है।


नैसेट (इजरायल की संसद) भंग करने का प्रस्ताव विपक्ष की तरफ से पेश किया गया, जो सरकार में शामिल ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के सांसदों का भी समर्थन मिलने के कारण 120 सदस्यों वाले सदन में 61-54 के वोट के साथ पारित हो गया। अब इस प्रस्ताव को विधान समिति के सामने रखा जाएगा, जहां अगले सप्ताह तक इस पर फैसला होने की संभावना है। इस बीच गेंतज और नेतन्याहू के बीच आपसी मतभेदों को सुलझाने के लिए बातचीत जारी रखने की संभावना है। इस प्रस्ताव पर वोटिंग रक्षा मंत्री का पद संभाल रहे बेनी गेंतज के बयान के एक दिन बाद कराई गई है, जिसमें गेंतज ने कहा था कि उनकी ब्लू एंड व्हाइट पार्टी इस प्रस्ताव के समर्थन में वोट देगी।


समझौते के तहत जल्द प्रधानमंत्री पद संभालने के दावेदार गेंतज ने नेतन्याहू पर अपना राजनीतिक हित साधने के लिए लगातार बजट के मुद्दे पर जनता को मूर्ख बनाने का आरोप भी लगाया था। गेंतज ने आखिरी समय पर चुनाव से बचने का मौका भी नेतन्याहू को दिया है। उन्होंने दोनों पार्टियों के बीच हुए समझौते की शर्तों के मुताबिक दो वर्षीय बजट मंजूर करने की अपील नेतन्याहू से की है। उन्होंने कहा, यदि नेतन्याहू 23 दिसंबर तक बजट को मंजूरी दे देते हैं तो सबकुछ ठीक हो जाएगा।


बता दें कि इस्राइल को कोरोना वायरस महामारी रोकने के लिए मार्च से अब तक दो बार नेशनल लॉकडाउन घोषित करना पड़ा है, जिसके चलते देश में बेरोजगारों की संख्या 20 फीसदी हो गई है। हालांकि नेतन्याहू को अब भी देश में लोकप्रिय माना जा रहा है। एक चुनावी पोल में नेतन्याहू की लिकुड पार्टी के अगले चुनाव में भी देश की सबसे बड़ी पार्टी बनने की संभावना जताई गई थी, लेकिन उसकी सीटों की संख्या मौजूदा से घटने का इशारा भी किया था।


नेतन्याहू की लिकुड पार्टी और गेंतज की ब्लू एंड व्हाइट पार्टी ने सात महीने पहले कोरोना वायरस संकट के समय राष्ट्रीय एकता दिखाने के लिए आपस में गठबंधन कर सरकार बनाई थी। 36 मंत्रियों व 16 उपमंत्रियों की मौजूदगी के साथ यह इजरायल के इतिहास की सबसे बड़ी सरकार थी। इससे पहले दोनों नेता लगातार प्रधानमंत्री पद के लिए आमने-सामने लड़ रहे थे। लेकिन नेतन्याहू के नवंबर, 2021 में प्रधानमंत्री पद गेंतज को सौंप देने की शर्त पर दोनों में समझौता हुआ था। हालांकि समझौते के बाद भी दोनों दल किसी ने किसी मुद्दे पर आपस में टकराते रहे हैं।                                                                 


नष्ट हो गया दुनिया का सबसे बड़ा एंटीना

नष्ट हो गया दुनिया का सबसे बड़ा एंटीना, एलियन ग्रहों की देता था जानकारी


प्यूर्टो रिको। देर रात एक हादसे में दुनिया का सबसे ताकतवर एंटीना पूरी तरह से नष्ट हो गया यह पूरा एंटीना 450 फीट नीचे गिरकर टूट गया। इसके बाद दुनिया को एलियन ग्रहों और एस्टेरॉयड्स की खबरें देने वाली ऑब्जरवेटरी ने पूरी तरह काम करना बंद कर दिया है। एंटीना के ऊपर पूरा का पूरा एक टावर और बाकी केबल गिर पड़े इसकी वजह से डिश एंटीना जमीन पर गिर गया। पिछले महीने ही इसका एक केबल टूटने से एंटीना क्षतिग्रस्त हुआ था. बता दें कि इस एंटीना के ऊपर जेम्स बॉन्ड सीरीज की मूवी गोल्डन आई की शूटिंग भी हुई थी।


रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक प्यूर्टो रिको आर्सीबो ऑब्जरवेटरी में ये एंटीना लगा हुआ था।यह एंटीना अंतरिक्ष की गहराइयों से आने वाले खतरों जैसे एस्टेरॉयड्स, मीटियॉर्स और एलियन दुनिया आदि की जानकारी दुनिया भर के वैज्ञानिकों को देता था. इस ऑब्जरवेटरी का संचालन एना जी मेंडेज यूनिवर्सिटी, नेशनल साइंस फाउंडेशनऔर यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा मिलकर करते हैं। इस ऑब्जरवेटरी को बनने में तीन साल लगे. इसका निर्माण कार्य 1960 में शुरू हुआ था. जो 1963 में पूरा हुआ. इस ऑब्जरवेटरी के जो केबल टूटे हैं उन पर 5.44 लाख किलोग्राम वजन था।


इस ऑब्जरवेटरी में एक 1007 फीट तीन इंच व्यास का बड़ा गोलाकार एंटीना है। जो सुदूर अंतरिक्ष में होने वाली गतिविधियों को पकड़ता है। इसका मुख्य काम धरती की तरफ आ रही खगोलीय वस्तुओं के बारे में जानकारी देना है. 1007 फीट व्यास वाले एंटीना में 40 हजार एल्यूमिनियम के पैनल्स लगे हैं जो सिग्नल रिसीव करने में मदद करते हैं. इस एंटीना को आर्सीबो राडार कहते हैं। आर्सीबो ऑब्जरवेटरी को बनाने का आइडिया कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर विलियम ई गॉर्डन को आया था।


एंटीना के बीचो-बीच एक रिफलेक्टर है जो ब्रिज के जरिए लटका हुआ है। यहां ऐसे दो रिफलेक्टर्स है। पहला 365 फीट की ऊंचाई पर और दूसरा 265 फीट की ऊंचाई पर सभी रिफलेक्टर्स को तीन ऊंचे और मजबूत कॉन्क्रीट से बने टावर से बांधा गया है। बांधने के लिए 3.25 इंच मोटे स्टील के तारों का उपयोग किया गया है। ऑर्सीबो राडार यानी एंटीना कुल 20 एकड़ क्षेत्रफल में फैला है. इसकी गहराई 167 फीट है। इनमें से कुछ केबल टूट गए. जो केबल टूटे हैं उनपर 2.83 लाख किलोग्राम का वजन था। इसकी वजह से एंटीना के 100 फीट के हिस्से में छेद हो गया है। एल्यूमिनियम से बने एंटीना का बड़ा हिस्सा टूटकर जमीन पर गिर चुका है। आपको बता दें कि इस एंटीना की मदद से दुनिया भर के करीब 250 साइंटिस्ट अंतरिक्ष पर नजर रखते हैं।


आपको बता दें कि इस ऑब्जरवेटरी में जेम्स बॉन्ड सीरीज की मशहूर फिल्म गोल्डन आई का क्लाइमैक्स सीन फिल्माया गया था। इस फिल्म में पियर्स ब्रॉसनन जेम्स बॉन्ड का किरदार निभा रहे थे। इसके अलावा इस ऑब्जरवेटरी में कई फिल्में, वेबसीरीज और डॉक्यूमेंट्रीज बन चुकी हैं. इसके अलावा जोडी फॉस्टर की फिल्म कॉन्टैक्ट की शूटिंग भी यहीं हुई थी। मंगलवार की रात इसके सारे केबल टूट गए और यह डिश एंटीना पर गिर पड़े, जिसकी वजह से पूरा का पूरा डिश एंटीना क्षतिग्रस्त हो गया। एंटीना के ऊपर लटका हुआ ढांचा भी गिर गया। जिससे काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। ऑर्सीबो ऑब्जरवेटरी ने ट्वीट कर जानकारी दी कि विज्ञान की दुनिया के एक युग का अंत ऑर्सीबो टेलीस्कोप टूट गया लेकिन इससे किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।


एंटीना को जब बनाया गया था तब इसका मकसद रक्षा प्रणाली को मजबूत करना था. इसके जरिए प्यूर्टो रिको एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम को मजबूत करना चाहता था। बाद में इसका उपयोग वैज्ञानिक कार्यों के लिए किया जाने लगा इस एंटीना ने सिर्फ अंतरिक्ष से आने वाले खतरों की ही जानकारी नहीं दी है। बल्कि आसपास के देशों को कई प्राकृतिक आपदाओं की सूचनाएं भी मुहैया कराई हैं। इस एंटीना ने पिछले 50 सालों में कई चक्रवातों, भूकंपों और हरिकेन्स की जानकारियां भी दी हैं। अब साइंटिस्ट हैरान है कि करीब 900 टन का यह ढांचा कुछ ही केबल्स पर टिका है। इसे तत्काल रिपेयरिंग की जरूरत है। अगर जल्द ही इसकी मरम्मत नहीं की गई तो पूरा का पूरा ढांचा गिर सकता है। अगर यह ढांचा गिर गया तो इसे वापस बनाने में काफी समय लग जाएगा। साइंटिस्ट ने टूट-फूट का आकलन किया था तो पता चला कि करीब 89.46 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है अगले महीने तक नए केबल आने की उम्मीद है। लेकिन ऐसा हुआ नहीं ऑब्जरवेटरी के प्रमुख ने नेशनल साइंस फाउंडेशन से मरम्मत के लिए नुकसान हुए रकम की मांग की थी।                                    


मोदी का निर्विरोध राज्यसभा जाना निश्चित

सुशील मोदी का निर्विरोध राज्यसभा जाना तय, महागठबंधन ने नहीं उतारा प्रत्याशी


अविनाश श्रीवास्तव


पटना। सुशील कुमार मोदी राज्यसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे, लेकिन विपक्ष ने उन्हें वॉकआउट दे दिया। राज्यसभा चुनाव के नॉमिनेशन के पहले दिन सुशील मोदी ने, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में नामांकन भरा था। लेकिन, राजद ने महागठबंधन की ओर से सुशील कुमार मोदी के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने की घोषणा की है।


विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में करारी शिकस्त और बड़े उलटफेर की कोई संभावना नहीं देख महागठबंधन के किसी दल के किसी नेता ने राज्यसभा चुनाव में हार का सर्टिफिकेट लेने की हिम्मत नहीं दिखाई और मोदी निर्विरोध रह गए। अब चुनाव अधिकारी नामांकन का समय खत्म होने के बाद सुशील कुमार मोदी को राज्यसभा चुनाव में जीत का सर्टिफिकेट सौंप देंगे। राजद के प्रवक्ता चितरंजन गगन ने गुरुवार सुबह भास्कर से फोन पर बातचीत में कहा कि बिहार सुशील कुमार मोदी से मुक्ति चाहता है और महागठबंधन इस मुक्ति की राह में रोड़ा नहीं बनना चाहता, इसलिए राज्यसभा चुनाव में उनके खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने का फैसला लिया है।                                      


एक बार फिर खुला नौकरियों का पिटारा

हरिओम उपाध्याय


लखनऊ। यूपी में रहने वाले युवाओं के लिए एक बार फिर नौकरियों का पिटारा खुल चूका है। यहां के युवा इसका लाभ उठा सकते हैं तथा अपनी योग्यता के अनुसार ऑनलाइन के द्वारा आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी हैं।


1 .विभाग का नाम : गवर्नमेंट ऑफ़ उत्तर प्रदेश


पदों का नाम : अध्यापक, व्याख्याता, सह अध्यापक, विशेषज्ञ, चिकित्सा अधिकारी


पदों की संख्या : 22 पद।


योग्यता : उम्मीदवारों की योग्यता पदों के अनुसार निर्धारित हैं।                     


बुखार वाले आंदोलनकारियों का होगा टेस्ट

आंदोलन कर रहे तेज बुखार वाले किसानों का होगा कोरोना टेस्ट


राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। हरियाणा के सोनीपत जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे ऐसे किसानों की सूची तैयार कर उनकी कोविड-19 जांच कराएं जिन्हें तेज बुखार है। जिला उपायुक्त श्याम लाल पूनिया ने किसानों से अपील की कि वे अपनी कोविड-19 जांच अवश्य करवाएं। किसानों को खुद के व अन्य लोगों के स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। यदि कोई किसान कोरोना संक्रमित मिलता है तो उसे बेहतरीन इलाज सुविधा दी जाएगी। पूनिया बुधवार को अपने कार्यालय में अधिकारियों की विशेष समीक्षात्मक बैठक को संबोधित कर रहे थे।


हरियाणा के सोनीपत जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे ऐसे किसानों की सूची तैयार कर उनकी कोविड-19 जांच कराएं जिन्हें तेज बुखार है। जिला उपायुक्त श्याम लाल पूनिया ने किसानों से अपील की कि वे अपनी कोविड-19 जांच अवश्य करवाएं। किसानों को खुद के व अन्य लोगों के स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। यदि कोई किसान कोरोना संक्रमित मिलता है तो उसे बेहतरीन इलाज सुविधा दी जाएगी। पूनिया बुधवार को अपने कार्यालय में अधिकारियों की विशेष समीक्षात्मक बैठक को संबोधित कर रहे थे।


उन्होंने धरनारत किसानों को जरूरी सुविधाओं की समीक्षा करते हुए विशेष रूप से स्वास्थ्य जांच के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसान बड़ी संख्या में एक स्थान पर एकत्रित हुए हैं। ऐसे में उनकी स्वास्थ्य जांच लगातार जारी रखी जाए। साथ ही किसानों को कोविड-19 जांच के लिए भी तैयार करें। उन्होंने कहा कि किसानों को मास्क का वितरण भी नियमित रूप से करते हुए प्रयोग के लिए प्रोत्साहित करें।


धरनास्थल पर महिला किसान भी एकत्रित हुई हैं। ऐसे में महिलाओं को विशेष सुरक्षा व सुविधा प्रदान की जाए। इसके लिए उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम गठित करने के निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस नाको की भी गंभीरता से समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने धरनास्थल पर बिजली व पानी की आपूर्ति के साथ सफाई व्यवस्था की भी पड़ताल करते हुए जरूरी निर्देश दिए।


उपायुक्त ने ड्यूटी मजिस्ट्रेटों को निर्देश दिए कि वे पूर्ण कर्मठता व ईमानदारी से ड्यूटी निर्वहन करें। जिन्हें जो ड्यूटी दी गई है उसे पूरी करे। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा ने कानून एवं व्यवस्था को लेकर आवश्यक जानकारी दी। बैठक में नगर निगम के आयुक्त जगदीश शर्मा, आईएएस अधिकारी सलोनी शर्मा, एसडीएम विजय सिंह, नगराधीश उदय सिंह, नगर निगम के संयुक्त आयुक्त सुभाषचंद्र, सीएमओ डॉ. जेएस पूनिया आदि अधिकारीगण मौजूद थे।                             


एचडीएफसी की डिजिटल सेवा पर रोक लगी

आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक की डिजिटल सेवाओं पर लगाई रोक


नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने प्राइवेट क्षेत्र के बैंक एचडीएफसी को बड़ा झटका देते हुए बैंक सभी की डिजिटल सेवाओं पर रोक लगा दी है। RBI ने एक आदेश जारी करते हुए इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और पेमेंट यूटिलिटी सर्विस पर रोक लगा दी है। इसके अलावा केंद्रीय बैंक ने HDFC कस्टमर को नए क्रेटिड कार्ड जारी करने पर भी रोक लगाइ है। पिछले 2 साल में एचडीएफसी बैंक के ग्राहकों को डिजिटल सर्विस में कई बार दिक्कत आई है जिसकी वजह से केंद्रीय बैंक ने यह कदम उठाया है।


स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में बैंक ने बताया कि RBI ने आदेश दिया है। आदेश में आरबीआई ने कहा है कि हाल में बैंक की इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, पेमेंट यूटिलिटीज में लगातार ढेर सारी रुकावटें आती रही हैं। पिछले दो सालों से यह चल रहा है। हाल की घटना में 21 नवंबर को बैंक की इंटरनेट बैंकिंग और पेमेंट सिस्टम में गड़बड़ी पाई गई थी। यह गड़बड़ी प्राइमरी डाटा सेंटर में पावर फेल होने के कारण हुई थी। पिछले दो सालों में बैंक के लिए यह तीसरा बड़ा झटका लगा है। आरबीआई ने आदेश में बैंक को सलाह दी है कि वह फिलहाल अस्थाई यानी टेंपरेरी तौर पर डिजिटल बिजनेस से संबंधित सभी गतिविधियों की लांचिंग को रोक दे। एचडीएफसी बैंक अपने डिजिटल 2.0 को लांच करने की तैयारी कर रहा है। जिसमें ढेर सारे डिजिटल चैनल लांच होंगे। ऐसे में आरबीआई का यह आदेश बैंक के लिए बड़ा झटका है। इसके साथ ही अन्य सभी बिजनेस जनरेटिंग आईटी एप्लीकेशन को भी रोकने का आदेश दिया गया है। इसमें नए क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को सोर्सिंग करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है।


केंद्रीय बैंक आरबीआई ने आदेश में कहा है कि इसके अलावा बैंक का बोर्ड इस तरह की लैप्सेस की जांच करे और इसकी जवाबदेही भी तय करे। आरबीआई ने कहा है कि उपरोक्त कदम या नियम तभी हटाए जाएंगे जब उसे बैंक की ओर से संतुष्टि मिलेगी। यानी सभी चीजें सही होंगी।                           


छछूंदर का घर में आना होता है भाग्यशाली

छछूंदर सर्वभक्षी, खतरनाक और साहसी प्राणी है। चूहे और सांप को तो यह देखते ही चट कर जाती है। कुत्ते, लोमड़ी और अन्य जानवर भी इसे खाने की हिम्मत नहीं करते हैं। पक्षियों में सिर्फ एक उल्लू ही इसे खा सकता है लेकिन उसे खाते ही वह बीमार पड़ जाता है इसीलिए उल्लू भी इसे नहीं खाते हैं।छछूंदर को खाने से दूसरे जीव इसलिए डरते हैं कि उसके थूक की गिल्टियों में काले नाग के जैसा भयंकर विष पाया जाता है। इसके दांत लगते ही शिकार को कुछ सूझ नहीं पड़ता, मस्तिष्क में धुंध छा जाती है, सांस लेने में कष्ट होता है और इसके बाद उसे लकवा मार जाता है। छछूंदर लगातार अपने मुंह से बदबू छोड़ती रहती है जिसके कारण कोई भी खतरनाक जीव उसके पास नहीं फटकता है।               


झांसी: बहुजन जन-जागरण अभियान चलाया

बहुजन समाज के लोगों को जातियों की उंच-नीच की बीमारी से छुटकारा पाना


झाँसी। लक्ष्य की टीम ने बहुजन जनजागरण अभियान के तहत एक कैडर कैम्प का आयोजन झाँसी जनपद के गांव सेमरी में किया जिसमें लखनऊ से आईं लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या व राजकुमारी कौशल मुख्य वक्ता के रूप में शामिल हुईं।


बहुजन समाज एक विशाल समाज है उसके बावजूद उसकी सामाजिक व आर्थिक स्थिति हजारों वर्षों से दयनीय रही है इसके कई कारण हैं लेकिन मुख्य कारण उनकी हजारों जातियां हैं जिसमें उनके लोग अपनी जाति को ऊँचा व दूसरी जाति के लोगों को नीचा समझते हैं जो बहुजन समाज के भाईचारे की मजबूती में एक बहुत बड़ा रोड़ा है अर्थात यह जातिवाद एक मानसिक बीमारी है जो हजारों वर्षों से उनका पीछा ही नहीं छोड़ रही है और या यूँ कहें कि इन जातियों के लोग अपनी अपनी जातियों में मस्त हो गए और और अपनी दयनीय स्थिति में ही खुश हैं, जिसका फायदा मुट्ठी भर दूषित मानसिकता वाले लोग उठाते आए हैं, यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही।


लक्ष्य कमांडरों ने बहुजन समाज के लोगों से आवाहन करते हुए कहा कि अगर अपनी सामाजिक व आर्थिक स्थिति में सुधार चाहते हो तो जातियों की इस ऊंच नीच की बीमारी से छुटकारा पाना होगा और आपस में एक मजबूत भाईचारा बनाना होगा। गांव वासियों ने लक्ष्य कमांडरों के प्रयास की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि वो जिला झाँसी में लक्ष्य की टीम को मजबूत करेंगे और अपनी अपनी जातियों के कवच से बहार निकलकर समाज में भाईचारा बनायेगें।


इस कैडर कैम्प में लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, राजकुमारी कौशल, रूबी गौतम, रमाकांती यादव, आयुषी यादव, अभय यादव, नमन यादव, डॉ विनय यादव, पवन कुमार, मनोज कुमार निराला, पवन गुप्ता, शैलेन्द्र आर्या ने हिस्सा लिया तथा इस कैडर कैम्प का आयोजन इं प्रिंस यादव ने किया |                           


परिवार-दोस्तों के साथ जश्न मनाने की योजना

जिनेवा। क्रिसमस और नए साल जैसे समारोहों के लिए बस कुछ ही दिन बचे हैं, डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा, 'भले ही हम इस साल को सामान्य नहीं मना सकते, लेकिन ऐसा करने के लिए सुरक्षित होने पर अपने परिवार और दोस्तों के साथ जश्न मनाने की योजना बनाएं। कोविड-19 महामारी समाप्त हो जाएगी और हम सभी इसे समाप्त करने के खेल का एक हिस्सा हैं।' डब्ल्यूएचओ की स्थिति को दोहराते हुए उन्होंने कहा, 'मैं आपको आश्वस्त करना चाहूंगा कि डब्ल्यूएचओ की स्थिति बहुत स्पष्ट है। हमें इस वायरस की उत्पत्ति को जानना होगा, क्योंकि यह भविष्य के प्रकोप को रोकने में हमारी मदद कर सकता है।' उन्होंने आगे कहा कि पिछले हफ्ते दुनिया में कोरोना वायरस के नए मामलों में पहली बार गिरावट देखी गई, क्योंकि यूरोप में मामलों में कमी आई है।             


ड्रैगन को सबक सिखाने की तैयारी में अमेरिका

वाशिंगटन डीसी/ बीजिंग। टिनियन उत्तरी मारियाना द्वीप को द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका ने जापान से कब्‍जा लिया था। अब इस द्वीप पर अमेरिका प्राकृतिक आपदा या युद्ध के लिए सैनिक अड्डा बना रहा है। बताया जा रहा है कि चीन के करीब होने के कारण इस द्वीप पर अमेरिका ने अपने सैनिकों को उतारने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, DoD हवाई हमले और अन्य सुविधाओं को विकसित करने के लिए बातचीत कर रहा है। स्टार्स एंड स्ट्राइप्स की 2016 की रिपोर्ट में कहा गया है कि 12 टैंकर विमानों के समर्थन के लिए टीनियन एयरपोर्ट के बुनियादी ढांचे को अपग्रेड किया जाएगा। इसने आगे कहा कि नियमित अभ्यास एयरफील्ड में होगा।             


अमरोहाः छात्रा से गैंगरेप, मामला दर्ज किया

 डीवीएनए बीए की छात्रा से तीन युवक गन्ने के खेत में ले गए और उसके साथ गैंगरेप किया। 


अमरोहा। बीए की छात्रा से तीन युवक गन्ने के खेत में ले गए और उसके साथ गैंगरेप किया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की।


मामला अमरोहा के रजबपुर थाना क्षेत्र का है। जानकारी के अनुसार एक युवती का आरोप है कि कॉलेज आते जाते चांदनगर का युवक उसका पीछा किया करता था। चार जुलाई को वह अमरोहा जा रही थी। उसका आरोप है कि रास्ते में मिले चांदनगर का युवक व उसके दो साथी तमंचे के बल पर आतंकित कर उसे गन्ने के खेत में ले गए। तीनों ने उसके साथ गैंगरेप किया। इस दौरान उसके अश्लील फोटो भी खींच लिए।


आठ जुलाई को तीनों ने उसे अमरोहा बुलाया। धमकी दी कि नहीं आएगी तो फोटो वायरल कर देंगे। मजबूरी में वह उनके बताए स्थान पर चली गई। आरोपी ने बताया कि उसने उसके साथ शादी करने के कानूनी कागजात तैयार करा लिए हैं। कोर्ट के आदेश पर थाना पुलिस ने चांदनगर गांव निवासी कपिल देव, नीशू और राजू निवासी समंदपुर के खिलाफ गैंगरेप और जान से मारने की धमकी देने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है।                                         


यूपी बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियां शुरू की

बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियां शुरू, परीक्षा केंद्र बनाने के लिए मांगी गई जानकारी


लखनऊ। यूपी बोर्ड की परीक्षाओं की तैयारियां शुरू हो गई हैं। सेंटर के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू कर दिए हैं। इसमें मानकों की गलत जानकारी देने वाले स्कूल के प्रधानाचार्य और प्रबंधक पर कार्रवाई होगी। सेंटर बनाए जाने की सूची से भी बाहर कर दिया जाएगा।
स्कूलों का निरीक्षण कर टीम मानकों का सत्यापन करेगी। ऑनलाइन दी गई जानकारी गलत मिलती है तो टीम प्रधानाचार्य के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति करेगी। इस बार भी वॉइस रिकॉर्डिंग वाले सीसीटीवी कैमरे और 30 दिन तक रिकॉर्डिंग को सुरक्षित रखने वाली डीवीआर की व्यवस्था करनी होगी। स्कूलों की लोकेशन के लिए जियो टैगिंग होगी, जिसका मोबाइल एप परिषद की वेबसाइट पर अपलोड है।
प्रधानाचार्य अपने स्कूल परिसर से आईडी और पासवर्ड से लॉगिन करेंगे तो स्कूल की लोकेशन सीधे परिषद की वेबसाइट पर अपलोड हो जाएगी। आगरा के जिला विद्यालय निरीक्षक रविंद्र सिंह ने बताया कि बोर्ड परीक्षा में सेंटर के लिए मानकों की जानकारी वेबसाइट पर अपलोड कर दी है। डीआईओएस ने बताया कि मानक पूरे न करने वाले स्कूल सेंटर नहीं बनेंगे. इसके अलावा सामूहिक नकल कराने वाले, सचल दल से अभद्रता करने, स्कूल में हंगामा और उपद्रव करने वाले भी सेंटर नहीं बनाए जाएंगे।                                 


अमेरिका का 'परमाणु-बम' दागने का अभ्यास

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका ने अपने स्टील्थ तकनीकी वाले लड़ाकू विमान F-35A से परमाणु बम दागने का अभ्यास किया है। यूनाइटेड स्टेट्स एयर फोर्स (USAF) ने अपने लड़ाकू विमान से B61-12 परमाणु बम गिराने का एक वीडियो भी जारी किया है। इसी के बाद से अमेरिका का दुश्मन नंबर एक चीन दहशत में है। चीनी सेना की आधिकारिक वेबसाइट इंग्लिश चाइनामिल डॉट कॉम डॉट सीएन पर जारी एक लेख में ड्रैगन ने इस परीक्षण को लेकर गंभीर चिंता जताई है।                                 


धांधली नहीं हुई तो सपा की जीत निश्चित

अखिलेश बोले, एमएलसी चुनाव में अगर बिहार जैसी लूट न हुई तो सपा जीतेगी चुनाव


कन्नौज। एक कार्यक्रम में आए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादपूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि भाजपा सरकार में सिर्फ भ्रष्टाचार का विकास हुआ है। इसके अलावा यूपी में कोई विकास नहीं किया गया है, थानों में जमकर लूट हो रही है। किसानों की आय दोगुनी करने का दावा करने वाली बीजेपी सरकार में धान को लूट लिया गया है। किसान परेशान है और आम जनता पर महंगाई और बेरोजगारी की मार है। कहा, सरकार ऐसे कानून बनाए, जिससे किसान को धान की सही कीमत मिल सके और आय दोगुनी हो सके। युवाओं को नौकरी व रोजगार मिल सके,
अखिलेश यादव ने कहा, एमएलसी चुनाव में यदि बिहार जैसी लूट न हुई तो सपा चुनाव जीतेगी। लोकसभा के चुनाव में भी जबरदस्ती चुनाव जीता गया। रेड कार्ड जारी किए गए, लाठियां चलाई गईं। वह आगामी चुनाव में सपा गठबंधन की बात पर टाल गए।
फर्रुखाबाद रोड स्थित रिश्तेदार के त्रयोदशी संस्कार में बुधवार को शामिल होने आए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पत्रकारों से वार्ता में कहा कि कन्नौज का विकास पूरी तरह से रोक दिया गया है। बीजेपी ने यूपी का विकास भी रोका है, जिससे प्रदेश बेहद पीछे चला गया है। उन्होंने कहा कि इस बार छिबरामऊ में सबसे ज्यादा वोटों से सपा जीतेगी। कन्नौज की तीनों ही विधानसभा सीटों पर सपा का परचम लहराएगा। उन्होंने प्रदेश सरकार से हटाई गई मंत्री को लेकर भी टिप्पणी की लेकिन नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि अबतक एक्सप्रेस-वे का निर्माण भी पूरा नहीं हो पाया है।                                  


चीनी मिल में गन्ना किसानों ने किया हंगामा

 सिसवा IPL चीनी मिल में गन्ना किसानों ने किया हंगामा


सिसवा बाजार-महाराजगंज (डीवीएनए)। स्थानीय नगर स्थित आईपीएल चीनी मिल में आज गन्ना किसानों में जमकर हंगामा किया


सिसवा बाजार-महाराजगंज। स्थानीय नगर स्थित आईपीएल चीनी मिल में आज गन्ना किसानों में जमकर हंगामा किया, इसके बाद जिला गन्ना अधिकारी के आश्वासन पर समाप्त हुआ। बताया जाता है कि आज गुरुवार की सुबह आईपीएल चीनी मिल में गन्ना लेकर पहुंचे कुछ किसानों ने हंगामा किया, उनका आरोप था कि गन्ना पर्ची की जानकारी उन्हें समय से नहीं मिल पाई ऐसे में चीनी मिल द्वारा निर्धारित समय 7 दिन का है उसके गुजर जाने के बाद चीनी मिल गन्ना की तौल करने को तैयार नहीं है, इस मामले की जानकारी होते ही एमएलसी प्रतिनिधि व सभासद राजन विश्वकर्मा भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने जिला गन्ना अधिकारी से बात कर इस पूरे मामले की जानकारी दी, इसके बाद जिला गन्ना अधिकारी के आश्वासन पर किसान शांत हुए।
इस संदर्भ में जिला अधिकारी (डीसीओ) जगदीश चंद्र यादव ने यूपी अबतक को बताया कि किसानों की समस्या का हल कर दिया गया, चीनी मिल से बात कर किसानों के गन्ने की तौल कराने की बात कह दी गयी है। उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को गन्ना सप्लाई पर्ची की जानकारी कई तरीके से दी जाती है, एसएमएस द्वारा, इंटरनेट द्वारा व ई गन्ना एप डाउनलोड कर भी वह अपने गन्ना पर्ची सप्लाई की जानकारी ले सकते हैं, इसके अलावा चीनी मिल गेट, सोसाइटी व कांटो पर भी एक हार्ड कॉपी चस्पा जाती है, वहां से भी जानकारी ले सकते हैं।                               


क्राउन प्रिंस को ईरान का संदेश, हमला

तेहरान। ईरान ने अमेरिकी आक्रमण के मामले में संयुक्त अरब अमीरात पर सीधे हमले की धमकी दी है।ब्रिटिश मिडिल ईस्ट समाचार वेबसाइट मिडिल ईस्ट आई का दावा है कि ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फाखरीज़ादा की हत्या के बाद, ईरान ने मोहम्मद बिन जायद, अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सेना के उप-सर्वोच्च कमांडर पर आरोप लगाया है।मिडिल ईस्ट आई का कहना है कि हालांकि न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में, यह स्पष्ट हो गया है कि इजरायल की गुप्त सेवा मोसाद ने मोहसिन फखरीजादा की हत्या के लिए जिम्मेदारी का दावा किया है। लेकिन ईरान को डर है कि राष्ट्रपति ट्रम्प, जो जल्द ही संयुक्त राज्य अमेरिका में कदम रखेंगे, ईरान के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।               


गाजियाबादः नशे की जद में फंसता युवा वर्ग

आनंद भट्टाचार्य


गाजियाबाद। लोनी थाना अंतर्गत अशोक विहार चौकी क्षेत्र में अवैध रूप से अंग्रेजी-देसी शराब, गांजा व अफीम जैसे नशे का कारोबार पूरी तरह फलफूल रहा है। बीते दिनों नशे की लत के शिकार कई जिंदगियों ने मौत को गले लगा लिया । जहां कासिम विहार जैसी कालोनी नशे की मंडी के रूप में चर्चित है वही डर है कि अशोक विहार चौकी पुलिस की लापरवाही और उदासीनता के चलते यह कालोनी भी नशे के कारोबार के मामले में चर्चित ना हो जाए। इस कालोनी के किशोर एवम् युवा पीढ़ी अपने जीवन को समाप्त करने के लिए अग्रसर ना हो जाए। विश्वशनीय सूत्रों के मुताबिक अवैध शराब का कारोबार मुख्य रूप से अशोक विहार चौकी क्षेत्र के अमन गार्डन में किन्नरों की मस्जिद के पास, गढ़ी कटैया के पास कसाना फार्म हाउस वाले मार्ग पर कई ठिकानों पर, तथा गांव के अंदर भी अवैध शराब बेची जा रही है। दूसरी ओर चरस गांझे का कारोबार भी अमन गार्डन जैसी कालोनीयों में फ़ैल रहा है। अगर पुलिस प्रशासन ने स्वार्थ छोड़ कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो उन लाशों का जिम्मेदार कौन होगा जो जहरीले एवम् घातक मादक पदार्थों तथा तेज़ी पर फ़ैल रहे अन्य नशे के पदार्थों के सेवन से खाली प्लॉट एवम् नाली नालो में पड़ी मिला करेंगी।


गौरतलब है कि इस क्षेत्र में पहले भी ऐसी कई मौते हो चुकी हैं तथा उनकी लाश कहीं ना कहीं चौकी क्षेत्र में ही मिल चुकी हैं। पुलिस की उदारता के पीछे लापरवाही के साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों की अनदेखी से भी मना नहीं किया जा सकता है। छोटे-छोटे मामलों को लेकर स्थानीय विधायक धरने पर बैठ जाते हैं। जबकि यह मामला क्षेत्र के युवा वर्ग से जुड़ा हुआ है और युवा वर्ग नशे के आगोश में डूबने को तैयार है या प्रशासनिक लापरवाही के चलते उन्हें विवश कर दिया गया है। इस कारोबार से कई लोग अपना स्वार्थ सिद्ध कर रहे हैं। जिसके कारण यह अवैध मादक पदार्थों का व्यापार फल फूल रहा है।                                


लोनीः सफाई कर्मचारियों के पेट पर लात मारी

लोनी नगर पालिका परिषद के गुरुजी ग्रुप की मनमानी से पालिका के सफाई कर्मचारियों पर रोजी रोटी का संकट: श्रवण चन्देल


अंकित गोस्वामी


गाजियाबाद। लोनी नगर पालिका परिषद के गुरु जी ग्रुप ने आते ही अपनी मनमानी करते हुए 150 कर्मचारियों को बिना कोई नोटिस दिए काम से निकाल दिया है। जिससे उनकी रोजी-रोटी पर संकट आ गया है। जिसको किसी भी रूप स्वीकार नही किया जाएगा। जिसके चलते नगर अध्यक्ष उत्तर प्रदेशीय सफाई कर्मचारी संघ श्रवण चन्देल ने विरोध करते हुए नगर पालिका परिषद के मुख्य द्वार पर सैकड़ों सफाई कर्मचारियों के साथ धरना दिया। ताकि गरीब कर्मचारियों की आवाज शासन-प्रशासन तक पहुंच सके। इस धरने में हिंदू रक्षा दल ने भी अपना पूरा समर्थन किया है। उन्होंने भी सफाई कर्मचारियों का समर्थन करते हुए कहा कि जब तक निकाले गए कर्मचारियों की वापस जॉइनिंग नहीं होती है। वह इस लड़ाई में अपने दल के साथ पालिका कर्मचारियों के साथ खड़े रहेंगे। श्रवण चन्देल द्वारा निकाले गय कर्मचारियों की सूची अधिकारी को सौप दी है। इसपर सख्ती से ठोस कदम उठने की मांग की और भविष्य में मनमानी ढंग से कर्मचारियों को न हटाया जाए।                        


राष्ट्रपति ने समुदाय से लगाईं मदद की गुहार

राष्ट्रपति ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से लगाई मदद की गुहार 


बेरूत। लेबनान के राष्ट्रपति मिशेल औन ने आर्थिक संकट से गुजर रहे लेबनान की मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुहार लगाई है। फ्रांस की पहल पर आयोजित दूसरे ऑनलाइन सम्मेलन में राष्ट्रपति मिशेल औन ने कहा कि आर्थिक संकट से गुजर रहे लेबनान को बंदरगाह विस्फोट के बाद पुनरुद्धार के लिए किसी भी रूप में अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मदद की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा बिगड़ते संकट के बीच आपकी मदद सभी लेबनानी के लिए महत्वपूर्ण है। जहाँ भी हो आपकी मदद की आवश्यकता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह किस तरह से दी जायेगी और किस तंत्र का उपयोग किया जाएगा यह सब आपकी और संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में होगा। उन्होंने कहा यह याद रखना महत्वपूर्ण है। कि लेबनान की वर्तमान में आपातकालीन संकट और कोविड-19 महामारी से निपटने की योजना के लिए विश्व बैंक से 246 मिलियन डॉलर के ऋण को लेकर बातचीत चल रही है। इस सप्ताह के आखिर में इस पर बातचीत होने वाली है। हमें विश्व बैंक के निदेशक मंडल के प्रमुख से इस पर तत्काल स्वीकृति मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि सीरिया से बड़ी संख्या में लेबनान पहुंचे शरणार्थियों के लिए विशेष रूप से अंतरराष्ट्रीय मदद की आवश्यकता है।             


सोने-चांदी की कीमत में आया उछाल

सोने-चांदी की कीमत में आया उछाल, जानिए आज क्या है भाव


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में बुधवार को एमसीएक्स में गोल्ड की कीमत 0.62 फीसदी यानी 305 रुपये बढ़ कर 49,252 रुपये पर पहुंच गई। वहीं चांदी की कीमत 0.77 फीसदी यानी 487 रुपये बढ़ कर 63,812 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई। मंगलवार को दिल्ली मार्केट में गोल्ड स्पॉट की कीमत 675 रुपये बढ़ कर 48,169 प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई। जबकि सिल्वर की कीमत 1280 रुपये बढ़ कर 62,496 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई। वहीं बृहस्पतिवार को अहमदाबाद के सर्राफा बाजार में स्पॉट गोल्ड की कीमत रही 48,973 रुपये प्रति दस ग्राम, गोल्ड फ्यूचर की कीमत 48,643 रुपये प्रति दस ग्राम हैं।                 


बिहार में 85 पुलिसकर्मी बर्खास्त किएंं

बड़ा एक्शन 85 पुलिसकर्मी बर्खास्त, 600 से ज्यादा पर हुई कार्रवाई, जानिए वजह


पटना। बिहार सरकार ने भ्रष्टाचार और लापरवाही बरतने के आरोप में 85 पुलिस कर्मियों को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। साथ ही 644 पुलिसकर्मियों पर कड़ी कार्रवाई भी की गई। जिन पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया गया है। उनके खिलाफ शराबबंदी कानून का उल्लंघन बालू खनन के भ्रष्टाचार में संलिप्त होने और भूमि विवाद जैसे मामलों में उगाही करने का साक्ष्य मिला था। पुलिस मुख्यालय ने दावा किया है। कि वो अपने पदाधिकारियों और कर्मियों की पेशेवर कुशलता में लापरवाही कर्तव्यहीनता और भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाती रही है। और पुलिस विभाग ने अपने 644 पुलिस अफसरों पर कार्रवाई की गई है।
इस साल यानी 2020 मे नवंबर महीने तक मुख्य रूप से शराबबंदी कानून के क्रियान्वयन में कोताही बालू के अवैध खनन और परिवहन में संलिप्तता भूमि विवाद संबंधी मामलों और भ्रष्टाचार एवं कर्तव्यहीनता जैसे मामलों में 644 पदाधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। जिन राजपत्रित अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई और विभागीय कार्यवाही संचालित की गई है। उनकी संख्या बिहार पुलिस मुख्यालय ने 38 बताई है। इनमें से भारतीय पुलिस सेवा के दो ऐसे पदाधिकारी हैं। जिनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई में बड़ी सजा दी गई है। जबकि चार पदाधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई संचालित है।
जिन राजपत्रित अधिकारियों और कर्मियों के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई और विभागीय कार्रवाई संचालित है। उनकी संख्या 606 बताई गई है। अभी तक कुल 85 पदाधिकारियों को सेवा से बर्खास्त करने के साथ ही 56 पदाधिकारियों को भी दंड दिया जा चुका है। साथ ही कई राजपत्रित अधिकारियों और कर्मियों के खिलाफ मामले विचाराधीन है। जिस पर त्वरित कार्रवाई की जा रही है।
पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और उसके कथित सदस्यों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 9 राज्यों में 26 स्थानों पर छापेमारी की है। जानकारी के मुताबिक ये छापे दिल्ली और उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा के मामलों के संबंध में हैं। पीएफआई पर दिल्ली हिंसा और यूपी में एंटी-सीएए प्रदर्शन के दौरान हिंसा का आरोप है। वित्तीय जांच एजेंसी की टीमें पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमए अब्दुल सलाम और मलप्पुरम में राष्ट्रीय सचिव नसरुद्दीन एलाराम के आवास पर मौजूद हैं। ईडी की कोच्चि टीम तिरुवनंतपुरम के पूनतुरा में पीएफआई नेता अशरफ मौलवी के आवास पर भी है।
इस टीम केरल में कोच्चि मल्लापुरम, त्रिवेंद्रम में पीएफआई सदस्यों से जुड़े परिसरों पर छापेमारी कर रही है। इसके अलावा तमिलनाडु में तेनकासी, मदुरै, चेन्नई में पश्चिम बंगाल में कोलकाता, मुर्शिदाबाद, कर्नाटक में बेंगलुरु दिल्ली में शाहीन बाग यूपी में लखनऊ, बाराबंकी बिहार में दरभंगा और पूर्णिया महाराष्ट्र में औरंगाबाद और राजस्थान में जयपुर पर छापेमारी जारी है। सूत्रों का कहना है। ईडी ने अपनी जांच के दौरान कई सबूत बरामद किए हैं। जिसमें पीएफआई को विदेशी स्रोतों से भारी धनराशि मिली थी। जिसे बाद में कथित तौर पर हिंसा के लिए इस्तेमाल किया गया था। एजेंसी ने पहले भी पीएफआई सदस्यों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच के संबंध में कई लोगों के बयान दर्ज किए थे।             


देश में मोटरसाइकिल चलाने के नियम बदलें

पूरे देश मे मोटरसाइकिल चलाने के बदल गए नियम जान ले वरना रद्द हो सकता है लाइसेंस


नई दिल्ली। सड़क परिवहन मंत्रालय ने देश में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए पीसीओ सटिफिकेट लेना अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए सरकार ने यूनिफॉर्म पीसीओ सर्टिफिकेट लागू करने का फैसला किया है। जो क्योंआर कोड के जरिए आएगा जिसमें गाड़ी की पूरी डिटेल्स होंगी जैसे रजिस्ट्रेशन नंबर मालिक का नाम, एमिशन लेवल वगैरह।
बीआईएस सर्टिफाइड हेलमेट पहनना जरूरी
सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने टू व्हीलर मालिकों के लिए बीआईएस के सर्टिफाइड हेलमेट पहनना जरूरी कर दिया है। सरकार का मनना है। कि ज्यादातर टू व्हीलर चलाने वाले सस्ते हेलमेट का प्रयोग करते हैं। जो दुर्घटना के समय चोट से बचाने के लिए काफी नही होते है। ऐसे में सड़क हादसे में टू व्हींलर चालक की मौत होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती हैं।
गाड़ियों के लिए नॉमिनी जरूरी
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 में संशोधन का प्रस्ताव रखा है। नए नियम के तहत वाहन का मालिक रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट में किसी एक व्यक्ति को नामिनी कर सकेगा गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के समय ही नॉमिनेशन सुविधा दिए जाने का प्रस्ताव है। इससे अगर गाड़ी के मालिक की मृत्यु हो जाती है। तो वाहन को उसके नॉमिनी को ट्रांसफर करने में मदद मिलेगी।           


बिजली का बिल नहीं भरते हैं तो सावधान

यूपी यदि आप भी हर महीने बिजली का बिल नही भरते है तो हो जाएं सावधान नही तो


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बिजली बिल जमा करने को लेकर कई सारी बाते सामने आ रही है। जिसके तहत बताया जा रहा है। कि यदि उत्तर प्रदेश में बिजली का बिल हर महीने जमा नही किया गया तो फिर उपभोगता का कनेक्शन भी कट सकता है। अब दस हजार या उससे अधिक का इंतजार बिजली विभाग नहीं करेगा। निर्धारित तिथि तक बिजलीकर्मी आप से बिल जमा करने का आग्रह करेंगे। अगर आप ने बिल ज्यादा होने पर पार्टमेंट भी करवा दिया तो कनेक्शन कटने से बचा रहेगा। इसके लिए मध्यांचल एमडी सूर्य पाल गंगवार ने राजधानी समेत सभी उन्नीस जिलों में दिए हैं। इसलिए यदि आप भी लंबे समय तक बिजली का बिल जमा नही करते हैं। तो अब ऐसा करने से जरूर बचें वरना इसके बदले आपको बड़ा हर्जाना चुकाना पड़ सकता है।             


सीएम भूपेश ने खाद्य मंत्री को लिखा पत्र

सीएम भूपेश बघेल ने केन्द्रीय खाद्य मंत्री को लिखा पत्र, उपार्जित धान का समय पर कस्टम मिलिंग हो


रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में खरीफ वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर उपार्जित किए जा रहे धान का समय पर कस्टम मिलिंग कराने के संबंध में केन्द्रीय खाद्य मंत्री श्री पीयूष गोयल को पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र में राज्य की कस्टम मिलिंग की क्षमता का उल्लेख करते हुए केन्द्रीय पूल के अंतर्गत भारतीय खाद्य निगम में 26 लाख मेट्रिक टन उसना चावल एवं 14 लाख मेट्रिक टन अरवा चावल उपार्जन की अनुमति देने का अनुरोध किया है।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने केन्द्रीय खाद्य मंत्री श्री पीयूष गोयल को लिखे पत्र में कहा है। कि भारतीय खाद्य निगम के द्वारा पूर्व खरीफ वर्षो 2016-17 एवं उसके पहले उसना के साथ-साथ अरवा चावल भी उपार्जित किया जाता रहा है। अत एफ.सी.आई. द्वारा राज्य की आवश्यकता से अतिशेष चावल उसना के साथ-साथ अरवा चावल के रूप में भी लिया जाना होगा ताकि डी.सी.पी. योजना अंतर्गत उपार्जित समस्त धान का समय पर निराकरण किया जा सके और धान के रख-रखाव में कोई क्षति न हो। मुख्यमंत्री ने पत्र में यह भी लिखा है। राज्य में स्थापित 400 उसना राईस मिलों की उसना मिलिंग क्षमता 5.68 लाख मेट्रिक टन प्रतिमाह और 1504 अरवा मिलों की अरवा मिलिंग क्षमता 18.83 लाख मेट्रिक टन प्रतिमाह है। इसे ध्यान में रखते हुए खरीफ वर्ष 2020-21 में भारतीय खाद्य निगम में 26 लाख मेट्रिक टन उसना चावल एवं 14 लाख मेट्रिक टन अरवा चावल उपार्जन की अनुमति दी जाए।
उल्लेखनीय है। कि छत्तीसगढ़ राज्य में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर उपार्जित किए जाने वाले धान के कस्टम मिलिंग उपरांत 60 लाख मेट्रिक टन चावल लेने की कार्ययोजना का अनुमोदन भारत सरकार द्वारा किया गया है। इसमें से भारतीय खाद्य निगम में केन्द्रीय पूल अंतर्गत अनुमानित सरप्लस 40 लाख मेट्रिक टन चावल उपार्जित किया जाएगा तथा शेष 20 लाख मेट्रिक टन (एन.एफ.एस.ए. अंतर्गत 15 लाख मेट्रिक टन अरवा व स्टेट पूल अंतर्गत 4.80 लाख मेट्रिक टन अरवा एवं 0.20 लाख मेट्रिक टन उसना) चावल राज्य में पीडीएस की आवश्यकता हेतु छत्तीसगढ़ स्टेट सिविल सप्लाईज कॉर्पोरेशन लिमिटेड में उपार्जित किया जाएगा।                 


डांसरों की कार नहर में गिरी, 7 की मौत

तिलक समारोह में जा रही डांसरों की कार नहर में गिरी, 3 महिलाओं समेत 4 की मौत ड्राइवर फरार


पटना। बिहार के अरवल जिले में बुधवार की रात एक कार के नहर में गिर जाने से कार पर सवार तीन नर्तकियों सहित चार लोगों की मौत हो गई। इस घटना में एक अन्य नर्तकी घायल हो गई है। जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तीनों नर्तकी लक्ष्मी सुप्रिया मनीषा ओडिशा की रहने वाली बताई जाती है। घटना के बाद से कार चालक फरार है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।
अरवल के थाना प्रभारी शंभु प्रसाद ने गुरुवार को बताया कि एक थियेटर में काम करने वाले कलाकार बुधवार की रात एक कार पर सवार होकर पटना किसी तिलक समारोह में कार्यक्रम प्रस्तुत करने जा रहे थे। इसी दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 139 पर प्रसादी इंगलिश गांव के समीप कार से चालक का नियंत्रण हट गया कार सड़क के किनारे नहर में जा गिरी।
उन्होंने बताया कि इस घटना में तीन नर्तकी (डांसर) सहित चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों की पहचान लक्ष्मी कुमारी (25 वर्ष), सुप्रिया कुमारी (27 वर्ष) मनीषा कुमारी (26 वर्ष) लक्की कुमार (32 वर्ष) के रूप में हुई है। इस घटना में एक नर्तकी गंभीर रूप से घायल हुई है। जिसे पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल इलाज के लिए भेज दिया गया है।               


मसाला किंग तांगेवाले से बने 'अरबपति'

मसाला किंग महाशय धर्मपाल गुलाटी, तांगेवाले से बने अरबपति, पढ़े सफलता की पूरी कहानी


नई दिल्ली। मसाला किंग कहे जाने वाले एमडीएच ग्रुप के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का निधन हो गया है। 98 वर्षीय महाशय धर्मपाल बीमारी के चलते पिछले कई दिनों से दिल्ली के माता चन्नन हॉस्पिटल में एडमिट थे। महाशय धर्मपाल ऐसे शख्स हैं। जो बंटवारे के बाद भारत आए तांगा चलाकर जीवन यापन शुरू किया और मसालों के शहंशाह बन गए। उन्हें पद्मभूषण से भी सम्मानित किया गया। सियालकोट में जन्म महाशय धर्मपाल का जन्म 27 मार्च, 1923 को सियालकोट ( जो अब पाकिस्तान में है।) में हुआ था। साल 1933 में, उन्होंने 5वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी करने से पहले ही स्कूल छोड़ दी थी। साल 1937 में, उन्होंने अपने पिता की मदद से व्यापार शुरू किया और उसके बाद साबुन, बढ़ई, कपड़ा, हार्डवेयर, चावल का व्यापार किया।
हालांकि वो लंबे वक्त ये काम नहीं कर सके और उन्होंने अपने पिता के साथ व्यापार शुरू कर दिया. उन्होंने अपने पिता की महेशियां दी हट्टी के नाम की दुकान में काम करना शुरू कर दिया। इसे देगी मिर्च वाले के नाम से जाना जाता था। 1500 रुपये लेकर दिल्ली आये भारत-पाकिस्तान विभाजन के बाद वे दिल्ली आ गए और 27 सितंबर 1947 को उनके पास केवल 1500 रुपये थे। इस पैसों से उन्होंने 650 रुपये में एक तांगा खरीदा और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से कुतुब रोड के बीच तांगा चलाया।
जल्द ही उनके परिवार के पास इतनी संपत्ति जमा हो गई कि दिल्ली के करोल बाग स्थित अजमल खां रोड पर मसाले की एक दुकान खोली जा सके। इस दुकान से ही वह लगातार आगे बढ़ते गये। आज उनकी भारत और दुबई में मसाले की 18 फैक्ट्रियां हैं। इन फैक्ट्रियों में तैयार एमडीएच मसाले दुनियाभर में पहुंचते हैं। एमडीएच के 62 प्रॉडक्ट्स हैं। कंपनी उत्तरी भारत के 80 प्रतिशत बाजार पर कब्जे का दावा करती है। सामाजिक काम में आगे व्यापार के साथ ही उन्होंने कई ऐसे काम भी किए हैं। जो समाज के लिए काफी मददगार साबित हुए। इसमें अस्पताल स्कूल आदि बनवाना आदि शामिल है। उन्होंने अभी तक कई स्कूल और विद्यालय खोले हैं। वे अभी तक 20 से ज्यादा स्कूल खोल चुके हैं।
खुद करते थे। कंपनी के ऐड इस दुकान से मसाले का कारोबार धीरे-धीरे इतना फैलता गया कि धर्मपाल गुलाटी अपने उत्पादों का ऐड खुद ही करते थे। अक्सर उन्हें टीवी पर अपने मसालों के बारे में बताते देखा जाता है। उन्हें दुनिया का सबसे उम्रदराज ऐड स्टार माना जाता था। कैसे तांगेवाले से अरबपति बने 'मसालों के शहंशाह धर्मपाल गुलाटी धर्मपाल गुलाटी ने कहा था। तांगे का काम छोड़कर पूरे परिवार ने फिर से मसाले का काम शुरू किया। हल्दी मिर्च का काम किया. फिर अजमल रोड पर एक दुकान नौ फूट बाइ चौदह फुट की खोली। उसपर मैंने महाशियां दी हट्टी सियालकोट वाले रजिस्टर्ड लिखी। दुकान में किराने का सामान भी रखता था। बिक्री तेजी से बढ़ी। मैंने उस समय विज्ञापन दिया। 
धर्मपाल गुलाटी आगे कहते हैं। मैंने फिर पंजाबी बाग में दुकान ली। उसके बाद खारी बावली में दुकान बनाई। ऐसे ही कारोबार बढ़ता गया। मैं दूसरे जगह मसाला पिसवाता था। लेकिन वहां एक दिन मसाला पीसने वाले ने हल्दी में चना डालकर मिलावट शुरू कर दी। मैंने इसकी शिकायत भी की। वह नहीं माना। लेकिन इमानदारी मेरा सिद्धांत रहा मैंने खुद मसाले की फैक्ट्री खोली। काम काफी तेजी से बढ़ रहा था। मैंने फिर राजस्थान में एक फैक्ट्री लगाई। फिर दुबई और लंदन में काम शुरू किया। पंजाब में कई एजेंसी बनाई।           


इजराइल को सबसे आधुनिक युद्धपोत मिला

नई दिल्ली। ईरान के लिए अब बड़ी मुश्किलें सामने खड़ी होती दिख रही हैं। इजरायल को सबसे आधुनिक एडवांस युद्धपोत मिल गया है। इजरायल में इसे जर्मनी से मंगवाया है। जर्मनी में इस युद्धपोत को शील्ड कहते है। हालाकिं मौजूदा हालातों को देखते हुए इजरायल और ईरान के बीच तनातनी बनी हुई है। ईरान के टॉप न्यूक्लियर साइंटिस्ट की हत्या के बाद ईरान और इजरायल में काफी खींचा-तानी चल रही है। वहीं भूमध्यसागर के तेल के कुओं को लेकर भी दोनों देशों के बीच काफी झंझट होते दिखाई दे रहे है। जर्मनी से आया इजरायल का यह शील्ड यानी युद्धपोत 'द सार-6 कॉर्वेट' श्रेणी का है।


भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज समाप्त हुई

नई दिल्ली/ सिडनी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन दिवसीय वनडे सीरीज समाप्त हो गयी है। वनडे सीरीज पर ऑस्ट्रेलिया ने 2—1 से कब्जा कर लिया। हालांकि, तीसरे वनडे सीरीज में भारत ने जीत दर्ज की। सीरीज का आखिरी मैच बुधवार को कैनबरा में खेला गया, जिसमें भारत ने 13 रनों से जीत दर्ज की। तीसरे वनडे मैच में ​रविंद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या ने मिलकर छठे विकेट के लिए 150 रनों की अटूट साझेदारी कर भारत का स्कोर 302 रनों तक पहुंचाया थे। इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को 289 रनों पर समेट कर इस दौरे पर भारत को पहली जीत दिलाई।               


ट्वीट को लेकर बैकफुट पर ऑस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया और चीन के बीच एक ग्राफिक ट्वीट को लेकर राजनयिक वाकयुद्ध ऑस्ट्रेलिया बैकफुट पर नजर आ रहा है। आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मोरिसन के सुलह करने वाले स्वरों के बाद वृहस्पतिवार को अंतत: यह विवाद शांत होता प्रतीत हुआ। मॉरिसन ने कहा, ''मेरा और मेरी सरकार का रुख रचनात्मक बातचीत करना है।'' दरअसल चीन ऑस्ट्रेलिया का सबसे बड़ा व्यापार साझेदार है। मॉरिसन ने कहा, ''चीन के साथ संबंध दोनों देशों के लिए लाभकारी हैं।'' उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने ट्वीट और वीचैट पर संदेश को लेकर अपने विचार स्पष्ट कर दिए हैं।               


भारत-चीन के सैनिकों की झड़प, साजिश

नई दिल्ली/ बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। भारत और चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख में गलवान घाटी पर हुई हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों के बीच के रिश्ते तनावपूर्ण हो गए। एलएसी पर भी संघर्ष पूर्ण स्थिति बन गयी। इस मामले में अमेरिका भारत के समर्थन में खुल कर खड़ा है। वहीं अब अमेरिका के एक शीर्ष आयोग ने वहां की संसद में इस बाबत एक रिपोर्ट दी, जिसमे दावा किया गया कि चीन ने प्लान बनाकर गलवान घाटी में हिंसक झड़प को अंजाम दिया।


गलवान घाटी पर भारत-चीन के सैनिकों की हिंसक झड़प एक साजिश


दरअसल, अमेरिका लगातार चीन पर पड़ोसी देशों के खिलाफ आक्रमक अभियान चलाने का आरोप लगा रहा है। भारत के साथ चीन के विवाद पर भी अमेरिका ने शुरू से अपना पक्ष स्पष्ट रखा, वहीं अब एक वरिष्ठ अमेरिकी आयोग ने यूएस की संसद में चीन पर एक रिपोर्ट दी, जिसमे कहा गया कि चीन जानबूझ कर अपने पड़ोसी देशों को उकसा रहा है और आक्रामक अभियानों को तेज कर रहा है।             


दुनिया में कहीं भी 2 घंटे में पहुंचेंगे 'चीन'

बीजिंग। चीन की तरफ से ध्वनि की गति से करीब 16 गुणा तेज चलने वाले हाइपरसोनिक जेट इंजन तैयार करने का दावा किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह इंजन किसी विमान में लगा दिया जाए तो वह दुनिया में कहीं भी 2 घंटे में पहुंच सकता है।साउथ टाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक रिपोर्ट को अनुसार, चीन ने इस नए जेट इंजन को नाम दिया है। शोधकर्ता का कहना है कि परंपरागत रनवे ने उड़ान भरने वाले विमानों में भी इस इंजन को फिट किया जा सकता है। गौरतलब है कि ध्वनि की रफ्तार 1234.8 km/h घंटे होती है। बीजिंग की एक सुरंग में इसका जेट इंजन का परीक्षण किया गया। परीक्षण के दौरान जेट इंजन सुरंग में हासिल की जा सकने वाली अधिकतम रफ्तार तक पहुंचने में सफल रहा।           


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...