सोमवार, 7 अगस्त 2023

नशें के इंजेक्शन देकर, 25 दिन तक दुष्कर्म किया

नशें के इंजेक्शन देकर, 25 दिन तक दुष्कर्म किया   

श्रीराम मौर्य   
हरिद्वार। उत्तराखंड के हरिद्वार जनपद अंतर्गत रुड़की से शर्मसार करने वाली वारदात सामने आई है यहां गाजियाबाद की महिला को नशीले इंजेक्शन देकर उसके साथ 25 दिनों तक दुष्कर्म किया गया। इस मामले में फरार आरोपीयों की तलाश पुलिस कर रही है। जानकारी के मुताबिक गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के गणेशपुर में गाजियाबाद निवासी महिला शनिवार की रात को बेहोशी की हालत में मिली थी।
पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया और इलाज के दौरान महिला ने बताया कि कावड़ यात्रा के दौरान जुलाई में करीब 25 दिन पहले वह हरिद्वार आई थी और रुड़की रोडवेज बस स्टैंड पर वह मोबाइल रिचार्ज करने के लिए खड़ी थी। तभी वहां पर एक युवक उससे मिला था जो कि मुस्लिम था। युवक उसे बहाना बनाकर रेलवे स्टेशन रोड पर किराये के कमरे पर ले गया।
युवक ने महिला पर गलत काम करने के लिए दबाव बनाया। जब महिला ने इस बात का विरोध किया और वहां से भागने की कोशिश की तो युवक ने उसे नशे का इंजेक्शन देकर बेहोश कर दिया। इसके बाद उसे इसी तरह नशे में रख कर 25 दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा।
इतने दिनों तक युवक उसे नशे के इंजेक्शन दे रहा था। इस काम में युवक के साथ उसकी पत्नी भी शामिल थी। पीड़िता के अनुसार जब उसे होश आया तो वह किसी तरह जान बचाकर वहां से भाग निकली। महिला की आपबीती जानने के बाद जब पुलिस ने युवक के कमरे में छापा मारा तो वहां ताला लटका हुआ था। पुलिस आरोपी युवक की तलाश कर रही है। पुलिस की सूचना के बाद पीड़िता का पति भी रुड़की पहुंच गया है। महिला द्वारा मामले में तहरीर देने के बाद उसका मेडिकल कराया गया और अब पुलिस आरोपित दंपति की तलाश कर रही है। इधर मामला महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल के संज्ञान में आने पर अध्यक्ष ने रविवार रात 9.40 बजे पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार और एसएसपी हरिद्वार से वार्ता करते हुए मामले में त्वरित कार्यवाही करने पीड़िता की प्राथमिकी दर्ज करने और आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिए है।
उन्होंने कहा कि मामला बहुत ही संवेदनशील है और शर्मनाक है। 
जिस पर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार का कहना है कि पुलिस जल्द से जल्द कार्यवाही करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लेगी। फिलहाल पीड़िता की प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। और पीड़िता का पति अस्पताल में मौजूद है और पीड़िता का उपचार चल रहा है।

प्रेमिका को टैंकर के सामने दिया धक्का, मौत

प्रेमिका को टैंकर के सामने दिया धक्का, मौत   

इकबाल अंसारी
हैदराबाद। हैदराबाद से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। शहर के बाहरी इलाके बाचुपल्ली में एक महिला (सेल्स गर्ल) को उसी के प्रेमी ने पानी के टैंकर के सामने धक्का दे दिया, जिससे महिला की मौके पर ही मौत हो गई। मृतका की पहचान कामारेड्डी जिले की मूल निवासी प्रमीला (23) के रूप मेें हुई है। महिला बाचुपल्ली के एक शोरूम में सेल्स गर्ल के रूप में काम करती थी। पुलिस के अनुसार, महिला पिछले साल अपने पति की मृत्यु के बाद नौकरी के लिए हैदराबाद आ गई थी और बौरामपेट के इंदिराम्मा कॉलोनी में तीन अन्य महिलाओं के साथ रह रही थी। 
प्रमीला की दोस्ती तिरूपति नाइक (25) के साथ हो गई। कामारेड्डी जिले का ही रहने वाला युवक हैदराबाद में कार ड्राइवर के तौर पर काम करता है। बाचुपल्ली में रविवार को हुई इस घटना में बताया जा रहा है कि प्रमीला (मृतका) के प्रेमी ने किसी अन्‍य महिला से सगाई कर ली थी जिससे परेशान हाेेेकर प्रमीला अपने प्रेमी से मिलने के लिए गई थी। तिरूपति नाइक ने शुरू में दावा किया था कि यह एक दुर्घटना थी। लेकिन पुलिस की जांच के बाद सच्चाई सामने आ गई। 
जानकारी मुताबिक महिला उस पर शादी करने का दबाव डाल रही थी और अपने माता-पिता को सूचित करने की धमकी देती थी। रविवार को प्रमीला ने अपने प्रेमी को मिलने के लिए कहा। तिरूपति अपने एक दोस्त के साथ मोटरसाइकिल से बाचुपल्ली मुख्य मार्ग पर पहुंचा। प्रमीला और तिरूपति के बीच तीखी बहस और मारपीट हुई, तभी प्रेमी ने पास से गुजर रहे एक पानी के टैंकर के नीचे उसे धक्का दे दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस की पूछताछ में तिरुपति ने बताया कि उसने अपनी प्रेमिका को टैंकर के नीचे धक्का दिया था। बच्चुपल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कर्म का फल 'अध्यात्म'

कर्म का फल       'अध्यात्म'

सरस्वती उपाध्याय 
एक बार भगवान शिव और माता पार्वती एक मंदिर के पास से गुज़र रहे थे। माता पार्वती की नज़र एक पति-पत्नि के जोड़े पर पड़ती है, जो मंदिर से दर्शन कर के आ रहे थे। उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। उन की हालत देखकर माता पार्वती भगवान शिव से कहती है," प्रभु आप इन दोनो पर कृपा क्यों नहीं करते। "
भगवान शिव कहते हैं, " मैंने तो बहुत बार कोशिश की परंतु यह अपने कर्मों के कारण उस का फल नहीं भोग पाते।
माँ पार्वती कहती है, " आप एक बार मेरे कहने पर इन पर कृपा कर दो।
भगवान शिव माता पार्वती की बात मान जाते है और कहा कि , " मैंने इन के 100 कदमों की दूरी पर सोने के सिक्के रख दिए है. जब वह वहां तक पहुँचेगे तो देख सकेंगे।" माता पार्वती प्रभु का कथन सुनकर सोचती है कि अब इन दोनों को अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता।
अभी वह पति -पत्नी 10 कदम ही चले होते हैं कि पीछे से सुंदर भजन की आवाज आती है। मुड़कर देखते हैं तो एक अंधे पति -पत्नी का जोड़ा भजन गा रहे होते हैं। वे दोनों रुककर उन्हें देखने लगते हैं और उनके चले जाने के बाद दोनों कहते हैं, " पति अंधा सो अंधा पर उसकी पत्नी भी अंधी।"
यह कहकर उस का पति उस अंधे व्यक्ति की तरह भजन गाता हुआ उस की नकल करते हुए आगे चलने लगता है। उस की पत्नी उस से कहती है कि ,"अगर उन की नकल ही करनी है तो क्यों ना हम भी उनकी ही तरह आँखें बंद करकर भजन गुनगुनाएं ।" और वह दोनों ऐसा ही करते हैं।
जहाँ पर भगवान शिव ने सिक्के रखे होते हैं वह रास्ता दोनों पति- पत्नी आँखे बंद कर के निकल जाते हैं। 
यह सब देख माँ पार्वती कहती है, " प्रभु आप ठीक ही कहते थे। यह अपने कर्मों के कारण ही इस हालत में है।"
भगवान शिव बताते हैं कि यह पति- पत्नी अपनी श्रद्धा से मंदिर नहीं आते थे। अपने पड़ोस के पति -पत्नी की नकल करके मंदिर आते थे। 
इस लिए हमें किसी की नकल करने से बचना चाहिए। क्या पता हमारी यह आदत ही हमारी तरक्की के रास्ते में रूकावट हो। क्योंकि जीवन एक परीक्षा है और  जिसमें बहुत से लोग असफल हो जाते हैं जिसका कारण दूसरों की नकल करना है। इसलिए दूसरों की नकल करने से बचें, क्योंकि जीवन की परीक्षा में हर एक का पेपर अलग अलग होता है।

एम्स हॉस्पिटल में लगी आग, कोई हताहत नहीं

एम्स हॉस्पिटल में लगी आग, कोई हताहत नहीं   

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित एम्स के एंडोस्कोपी रूम में सोमवार को भीषण आग लग गई। आग लगने की जानकारी लगते ही अस्पताल परिसर में अफरा-तफरी मच गई। ताजा जानकारी के मुताबिक, एम्स में आग पर काबू पा लिया गया है। एंडोस्कोपी रूम से सभी मरीज सुरक्षित निकाल लिए गए हैं। आग बुझाने के बाद अग्निशमन विभाग की गाड़ियां वापस लौट रही हैं। अभी एहतियात के तौर पर कुछ देर के लिए एम्स परिसर के अंदर प्रवेश बंद किया गया है।
आग एक स्टोर रूम में लगी थी। फिलहाल पूरी घटना में कोई घायल नहीं हुआ या मौत नहीं है। अग्निशमन विभाग के अधिकारी वेदपाल शिकारा ने बताया कि जहां आग लगी थी वह एक स्टोर था। इसके चलते किसी मरीज के साथ कोई अनहोनी नहीं हुई है।
इससे पहले दिल्ली अग्निशमन सेवा के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को यहां एम्स के इमरजेंसी वार्ड के पास आग लग गई। आग लगने की सूचना सुबह करीब 11.54 बजे मिली, जिसके बाद दमकल गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। आग ओल्ड ओपीडी की दूसरी मंजिल पर इमरजेंसी वार्ड के ऊपर स्थित एंडोस्कोपी रूम में लगी थी।
एम्स में अब तक जारी नहीं हुआ सीटी व MRI जांच का ऑनलाइन डैशबोर्ड
एम्स में सीटी स्कैन और एमआरआइ जांच का रिकार्ड सार्वजनिक करने के लिए अब तक ऑनलाइन डैशबोर्ड जारी नहीं हो पाया। इस वजह से आनलाइन डैशबोर्ड जारी करने के एम्स निदेशक के आदेश पर नौ माह बाद भी अमल नहीं हो पाया है और यह मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।
इस मामले पर एम्स प्रशासन कुछ बोलने भी तैयार नहीं है। फिलहाल स्थिति यह है कि सीटी स्कैन व एमआरआइ जांच की सुविधा 24 घंटे होने के बावजूद भी जांच की वेटिंग की समस्या दूर नहीं हुई। एम्स में सीटी स्कैन व एमआरआइ जांच में वेटिंग एक बड़ी समस्या है। इससे एम्स के कामकाज पर भी सवाल उठाए जाते रहे हैं।

बच्चों की जान बचाने सियार के साथ लड़ी मां

बच्चों की जान बचाने सियार के साथ लड़ी मां  

सरस्वती उपाध्याय  
सोशल मीडिया पर अक्सर मां और बच्चों के कई वीडियो होते रहते हैं। जिसमें मां का अपने बच्चे के लिए अद्भुत प्यार नजर आता है। इन दिनों एक ऐसी जांबाज मां का वीडियो वायरल हो रहा है जो अपने बच्चे को बचाने के लिए जंगली सियार से लड़ गई। हम बात कर रहे हैं एक हिरण की, जो अपने छोटे से बच्चे को बचाने के लिए मैदान में कूद गई और किस तरीके से उसने सियार को खदेड़ा ये देखने लायक है।
बता दें ट्विटर पर Massimo नाम से बने पेज पर वाइल्डलाइफ का ये वीडियो शेयर किया गया है। इस वीडियो में एक जानवर किस तरीके से अपने बच्चे को शिकार होने से बचाता है ये देखा जा सकता है। दरअसल, एक जंगली सियार छोटे से हिरण को देखकर उसका शिकार करने के लिए लपक पड़ता है, लेकिन जैसे ही ये सब हिरण की मां देखती है तो उसे बचाने के लिए वहां पहुंच जाती है और सियार से भिड़ जाती है। 47 सेकंड के इस वीडियो में आप खुद देख सकते हैं कि, कितने जांबाज तरीके से इस हिरण ने जंगली सियार को वहां से खदेड़ दिया और अपने बच्चे का शिकार होने से बचा लिया। 
बता दें सोशल मीडिया पर सियार और हिरण की लड़ाई का ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को देखकर नेटिजंस भी इस हिरण की दिलेरी को सलाम कर रहे हैं और कह रहे हैं कि ऐसा एक मां ही कर सकती है। दरअसल, जंगली सियार या coyote अपने शिकार के लिए जाना जाता है और कभी अपने शिकार को जाने नहीं देता, लेकिन इस हिरण के आगे उसे भी घुटने टेकने पड़े और हिरण के बच्चे को छोड़ना पड़ा।

नूंह में ध्वस्तिकरण अभियान को हाईकोर्ट ने रोका

नूंह में ध्वस्तिकरण अभियान को हाईकोर्ट ने रोका

नरेश राघानी 
गुरुग्राम/चंडीगढ़। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के आदेश के बाद हरियाणा के नूंह में ध्वस्तीकरण अभियान को सोमवार को रोक दिया गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। नूंह में पिछले सप्ताह सांप्रदायिक हिंसा हुई थी। 
उच्च न्यायालय ने हरियाणा सरकार को नूंह में ध्वस्तीकरण अभियान को रोकने का निर्देश दिया, जहां जिला प्रशासन ‘‘अवैध’’ इमारतें ढहा रहा था। 
अधिकारियों ने बताया कि पिछले सप्ताह जब विश्व हिंदू परिषद के जुलूस पर भीड़ ने पथराव किया था तब दंगाइयों ने इनमें से कुछ इमारतों का इस्तेमाल किया था। न्यायाधीश जी एस संधावालिया की अदालत ने ध्वस्तीकरण अभियान पर स्वत: संज्ञान लिया और राज्य सरकार को कार्रवाई रोकने के निर्देश दिए।

राहुल के लिए दुल्हन ने हां की, लोगों ने दी प्रतिक्रिया

राहुल के लिए दुल्हन ने हां की, लोगों ने दी प्रतिक्रिया    

सुनील श्रीवास्तव    
नई दिल्ली। मीडिया पर किसी ना किसी वजह से छाई रहती हैं। वो अपनी बोल्ड और सिजलिंग अदाओं के साथ-साथ बेबाकी के लिए भी जानी जाती हैं। उनके कारनामे और बड़े बयान अक्सर लोगों का ध्यान खींच ही लेते हैं। ऐसे में अब उन्होंने राहुल गांधी की शादी को लेकर बड़ा बयान दे दिया है।
कांग्रेस नेता इन दिनों अपनी शादी की खबरों को लेकर मीडिया में छाए हुए हैं। हाल ही में सोनिया गांधी से एक किसान महिला ने पूछा था कि वो उनकी शादी कब कराएंगी? तो इस पर उन्होंने जवाब दिया था कि वो ही लड़की खोज दें तो करा देंगी। अब शर्लिन चोपड़ा ने उनसे शादी के लिए हां कर दिया है।
जी हां, आपने बिल्कुल सही सुना। शर्लिन चोपड़ा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें उनसे सवाल किया जाता है कि वो राहुल गांधी से शादी करना चाहेंगी? इस पर वो बेबाकी से जवाब भी देती हैं और कहती हैं कि ‘हां क्यों नहीं।’ लेकिन वो इस दौरान एक शर्त भी रख देतती हैं और कहती हैं कि वो चाहेंगी कि शादी के बाद उनका सरनेम चोपड़ा ही रहे। इसे ना बदला जाए। एक्ट्रेस के इस स्टेटमेंट के बाद वीडियो पर लोगों के कमेंट्स की बौछार ही लग गई। लोगों ने खूब रिएक्शन्स दिए हैं।
अगर शर्लिन चोपड़ा के राहुल गांधी से शादी वाले वीडियो पर लोगों की प्रतिक्रिया की बात की जाए तो एक ने लिखा, ‘ऐसे लोगों को वो अपनी नौकरानी ना रखें।’ दूसरे ने लिखा, ‘राहुल गांधी को अपनी जिंदगी बर्बाद नहीं करना इससे शादी करके।’ तीसरे ने लिखा, ‘राखी सावंत वाला नशा इसने भी किया है।
’ चौथे ने लिखा, ‘आप तो कर लेगीं आंटी लेकिन वो नहीं करेंगे कुंवारा ज्यादा पसंद करेंगे।’ इसके अलावा एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘तुमसे तो कभी नहीं करेंगे।’ इसी तरह से लोग शर्लिन के वीडियो पर कमेंट्स कर रहे हैं। उनके बयान वाला वीडियो सोशल मीडिया पर छाया हुआ है।

राहुल पहुंचे संसद भवन, जिंदाबाद के नारे लगे

राहुल पहुंचे संसद भवन, जिंदाबाद के नारे लगे   

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष राहुल गांधी की सदस्यता बहाली करने और बीजेपी सांसद राम शंकर कठेरिया की सदस्यता करने को लेकर फैसला हुआ। कांग्रेस बीते दो दिनों से इस बात पर अड़ी हुई है कि राहुल का सदस्यता जल्द से जल्द होनी चाहिए थी।
इसी बीच सुप्रीम कोर्ट द्वारा शुक्रवार (4 अगस्त) को ‘मोदी’ उपनाम टिप्पणी मामले में उनकी सजा पर रोक लगाने के बाद लोकसभा सचिवालय ने वायनाड के सांसद राहुलगांधी की सदस्यता बहाल कर दी। मार्च 2023 में उन्हें निचले सदन से अयोग्य घोषित कर दिया गया।
मोदी सरनेम को लेकर की गई थी टिप्पणी
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता बहाल करने का मार्ग प्रशस्त करते हुए मोदी सरनेम को लेकर की गई टिप्पणी के संबंध में 2019 में उनके खिलाफ दर्ज मानहानि मामले में शुक्रवार को उनकी दोषसिद्धि पर रोक लगा दी। 53 वर्षीय गांधी लोकसभा में केरल की वायनाड सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे थे।
दोषसिद्धि पर यह रोक इस आधार पर लगाई गई कि गुजरात के सूरत की अदालत यह बताने में विफल रही कि दोषी ठहराए जाने पर राहुल गांधी अधिकतम दो साल की सजा के हकदार क्यों थे, जिसके कारण उन्हें संसद के निचले सदन से अयोग्य घोषित कर दिया गया।

बहिष्कृत मृत पिता को बेटियों ने कंधा दिया

बहिष्कृत मृत पिता को बेटियों ने कंधा दिया  

हकिमुददिन नासिर 
महासमुंद। छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले से मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। यहां के सालडबरी गांव में दो बेटियों ने मजबूरी में अपने पिता की अर्थी को कंधा देकर मुक्तिधाम पहुंचाया और इकलौते भाई के साथ मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार भी किया। हैरानी की बात यह है कि पूरा गांव और रिश्तेदार भी तमाशबीन बनकर मंजर को देखते रहें पर किसी ने साथ नहीं दिया। मजबूरी ऐसी की पूरे भरे बसे गांव में इनके लिए दाना पानी भी नहीं है। यह किसी हिन्दी फिल्म की कहानी नहीं बल्कि हकीकत है। ये कहानी उस गरीब परिवार की जो पिछले 1 साल से ग्राम बहिष्कार का दंश झेल रहा है।
‘राम नाम सत्य है’ बोलने वाली ये दोनों विवाहित महिलाएं सगी बहने हैं और मायके आकर पिता की अर्थी उठाकर मुक्तिधाम जा रही है। इन दोनों बहनों ने अपने भाई के साथ अपने पिता का अंतिम संस्कार भी किया। यह पूरा मामला महासमुंद जिले में बागबाहरा ब्लाक के ग्राम सालडबरी का है। पिछले साल अक्टूबर माह मे एक धार्मिक आयोजन के दौरान ग्राम के पटेल 75 वर्षीय हिरण साहू और उनके परिजनों का गांव मे दबंगों से विवाद हो गया। जिसके चलते उन्हे तत्काल जुर्माना नहीं भरने पर ग्राम बहिष्कार की सजा दे दी गई। गांव से बहिष्कृत होने के बाद उनका जीवन नरक बन गया। ये दुखद घटना की जानकारी मृतक के बेटे तामेश्वर साहू ने दी।
बहिष्कृत मृतक की पत्नी बीना साहू की पीड़ा बहुत गहरी है। लगभग 3 एकड़ की खेती में गरीबी से परिवार चलाने वाली इस बहिष्कृत महिला का कहना है कि जब पति के मृत्यु के बाद कोई भी वाला नहीं आया तब दूसरे गांवों से बेटियों को बुलाकर अर्थी को मुक्तिधाम पहुंचाया गया।
सालडबरी गांव के ग्रामीण इस मामले में मीडिया के सामने बोलने को तैयार नहीं हुए। लेकिन काफी प्रयास के बाद बहिष्कृत परिवार के पड़ोसी और रिश्तेदार का कहना है कि ग्राम वासियों ने बहिष्कार नहीं किया है।
इस पूरे मामले पर पुलिस का कहना है कि पीड़ित परिवार से थाने मे पूरी जानकारी ली गई है। इसमें आगे की कार्रवाई की जा रही है। ग्राम पंचायत खड़ादरहा के आश्रित गांव सालडबरी की आबादी लगभग 800 है। साहू एवं आदिवासी बहुल ग्राम सालडबरी में इस पीड़ित परिवार के अलावा एक अन्य साहू परिवार और 8 आदिवासी परिवार का भी ग्राम बहिष्कार किया गया है। यह मार्मिक मामला गांव में चलने वाले मौखिक तुगलगी फरमान का जीवंत प्रमाण है।

सामान भाई से खरीदें, भाईजान से नहीं: पोस्टर

सामान भाई से खरीदें, भाईजान से नहीं: पोस्टर

अश्वनी उपाध्याय
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के जिला गाजियाबाद में विवादित पोस्टर लगाए गए हैं। इन पोस्टरों पर लिखा है- 'सामान भाई से खरीदें, भाईजान से नहीं'। पोस्टरों पर निवेदक के रूप में समस्त हिन्दू समाज लिखा हुआ है। ये पोस्टर खासकर नंदग्राम थाना क्षेत्र में कई सार्वजनिक स्थानों पर लगाए गए हैं। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं विवादित पोस्टरों को पुलिस ने उतरवा दिया है।
गाजियाबाद पुलिस के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (सिटी) निपुण अग्रवाल ने बताया, 'रविवार रात नंदग्राम क्षेत्र में कुछ स्थानों पर विवादित पोस्टर लगने की सूचना मिली थी। पुलिस ने पहुंचकर इन्हें उतरवा दिया है। पुलिस की टीमें आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक कर रही हैं। पता लगाया जा रहा है कि पोस्टर लगाने वाले लोग कौन थे। उनके खिलाफ माहौल बिगाड़ने के आरोप में सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मीट कारोबारियों से दोबारा 5 लाख की डिमांड की

मीट कारोबारियों से दोबारा 5 लाख की डिमांड की  

संदीप मिश्र  
बरेली। सीबीगंज में मीट कारोबारियों से लाखों की उगाही के बाद दोबारा पैसों की डिमांड की गई है। जिसका विरोध करने पर आरोपियों ने मीट कारोबारियों की दुकानों का लाइसेंस निरस्त कराने और झूठे मुकदमे में जेल भेजने की धमकी दी है। आरोपियों ने खुद को भाजपा नेताओं का कार्यकर्ता बताया। आज पुलिस ऑफिस पहुंचकर पीड़ित मीट कारोबारियों ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई। 
कारोबारियों ने बताया कि वह सभी तिलियापुर सीबीगंज के रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि वहीं का रहने वाला रिजवान कुरेशी उर्फ मुंबई वाला पुत्र इकबाल कुरैशी और उसका साथी अख्तर रजा पुत्र आबिद खान निवासी परसाखेड़ा खुद को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा व महानगर मंत्री के करीबी और उनके कार्यकर्ता बताते हैं। आरोप है कि आरोपियों ने सभी मीट व्यापारियों से पुलिस और मीट की दुकानों का लाइसेंस निरस्त कराने का भय दिखाकर साढ़े तीन लाख रुपए की अवैध वसूली की। 
इसके बाद अब दोबारा फिर आरोपी पांच लाख रुपए की डिमांड कर रहे हैं। आरोपी धमकी दे रहे हैं कि सावन में मीट की दुकान खोलने पर वह उन पर मुकदमा लिखवा कर जेल भिजवा देंगे। इसके साथ ही दुकानों का लाइसेंस भी निरस्त करा दिया जाएगा। आरोप है कि इसके बाद से ही आरोपी उन्हें धमका रहे हैं। जिस वजह से सभी मीट कारोबारी दहशत में हैं। सुबह एसएसपी ऑफिस पहुंचकर मीट कारोबारियों ने मदद की गुहार लगाई।

हरियाणा: प्रॉपर्टी टैक्स भुगतान, छूट व समय बड़ा

हरियाणा: प्रॉपर्टी टैक्स भुगतान, छूट व समय बड़ा    

राजेश ओबरॉय  
चंडीगढ़। हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश के लाखों परिवारों को राहत देते हुए प्रॉपर्टी टैक्स भुगतान की समय अवधि को 15 प्रतिशत छूट के साथ आगामी 30 सितम्बर 2023 तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। हरियाणा स्थानीय निकाय विभाग द्वारा जारी आदेशानुसार यह 15 प्रतिशत की छूट केवल वर्तमान 2023-24 के बिलों के भुगतान पर लागू होगी लेकिन इसमें ब्याज राशि पर कोई छूट नहीं दी गई है। यानि ब्याज राशि पर 30 प्रतिशत छूट की पूर्व में जारी योजना को अब खत्म कर दिया है। 
31 जुलाई तक लागू की गई थी छूट
बता दें कि सरकार द्वारा पहले यह छूट की योजना 31 जुलाई तक लागू की गई थी। इसमें प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराने पर वर्तमान बिल में 10 प्रतिशत छूट और कुल बकाया ब्याज राशि एरियर पर 30 प्रतिशत छूट का प्रावधान था।
लेकिन प्रॉपर्टी आईडी सर्वे में व्यापक स्तर पर गड़बड़ी और हाउस टैक्स बिलों का समय पर वितरण नहीं होने के कारण प्रदेश के काफी संख्या में लोगों को पूर्व में जारी छूट की योजना का लाभ नहीं मिला। वहीं ऑल सेक्टर रेजिडेनटस वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने ब्याज दरों में छूट की योजना को दोबारा लागू करने की मांग की है। 
 प्रॉपर्टी सर्वे दोबारा करवाने की मांग
सेक्टर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने कहा कि प्रॉपर्टी आईडी में नाम, पता, प्लाट साइज आदि गलत दर्ज किया गया है। इसके अलावा सैक्टरों में बाटें जा रहे काफी बिलों में गारबेज यानि कचरा कलेक्शन चार्ज के नाम पर दो से तीन हजार रुपये की गलत राशि बिल में जोड़कर भेजी जा रही है। एचएसवीपी सेक्टरों में पुनः प्रॉपर्टी सर्वे करवाया जाए और सभी प्रकार की गड़बड़ियों को ठीक होने के बाद ही सेकटरों में बिल बांटे जाएं।

नंबर सेव किए बिना किसी से भी चैटिंग, व्हाट्सएप

नंबर सेव किए बिना किसी से भी चैटिंग, व्हाट्सएप    

सरस्वती उपाध्याय   
लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने एक नया फीचर पेश किया है जो उपयोगकर्ताओं को फोन नंबर खोजने और एड्रेस बुक में सेव किए बिना अज्ञात लोगों के साथ चैट शुरू करने की अनुमति देता है। बता दें कि यह फीचर एंड्रॉइड और iOS दोनों यूजर्स के लिए उपलब्ध है। इस नए फीचर से यूजर्स के लिए अनजान नंबरों से चैट करना आसान हो जाएगा।
WABetaInfo ने इसका स्क्रीनशॉट शेयर कर यूजर्स को नए फीचर के बारे में जानकारी दी है। साझा किए गए स्क्रीनशॉट के अनुसार, जब भी आप एप्लिकेशन में कोई अपरिचित फोन नंबर दर्ज करेंगे, तो व्हाट्सएप आपके संपर्कों से परे खोज करेगा। यह जांचने के लिए कि क्या यह सुविधा आपके व्हाट्सएप खाते के लिए उपलब्ध है, बस अपनी संपर्क सूची तक पहुंचें और एक फ़ोन नंबर ढूंढें।
WABetaInfo ने इसका स्क्रीनशॉट शेयर कर यूजर्स को नए फीचर के बारे में जानकारी दी है। साझा किए गए स्क्रीनशॉट के अनुसार, जब भी आप एप्लिकेशन में कोई अपरिचित फोन नंबर दर्ज करेंगे, तो व्हाट्सएप आपके संपर्कों से परे खोज करेगा। यह जांचने के लिए कि क्या यह सुविधा आपके व्हाट्सएप खाते के लिए उपलब्ध है, बस अपनी संपर्क सूची तक पहुंचें और एक फ़ोन नंबर ढूंढें।
iOS यूजर्स के लिए यह फीचर इस तरह काम करता है
iOS पर WhatsApp यूजर्स इन स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं. सबसे पहले, चैट सूची में, 'नई चैट प्रारंभ करें' बटन पर टैप करें, और फिर खोज बार में अज्ञात फ़ोन नंबर दर्ज करें। यदि वह व्यक्ति व्हाट्सएप पर है, तो आप उससे चैट कर सकेंगे।
प्राइवेसी फीचर की तरह काम करेगा
उपयोगकर्ता अक्सर अज्ञात फोन नंबरों से कॉल आने पर संपर्कों को अपनी पता सूची में सहेजते हैं ताकि वे अपने व्हाट्सएप प्रोफ़ाइल फ़ोटो की जांच करके उन्हें पहचान सकें, लेकिन बाद में वे इन संपर्कों को हटाना भूल सकते हैं। साथ ही, किसी अज्ञात संपर्क को सहेजने का मतलब है कि वे आपकी प्रोफ़ाइल फ़ोटो देखने में सक्षम हो सकते हैं। इसलिए किसी फ़ोन नंबर को संपर्क सूची में सहेजे बिना खोजना एक अतिरिक्त गोपनीयता उपाय माना जा सकता है और निश्चित रूप से मैसेजिंग उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण कदम माना जा सकता है।

गुरुग्राम में हालात सामान्य, धारा 144 हटाई गई

गुरुग्राम में हालात सामान्य, धारा 144 हटाई गई   

राजेश ओबरॉय    
गुरुग्राम। नूंह में हुई हिंसा के बाद गुरुग्राम में अब हालात समान्य होने लगे हैं। माहौल में सुधार के बाद जिलाधीश और डीसी निशांत कुमार यादव ने गुरुग्राम जिले में लागू धारा 144 को हटाने का आदेश दिया है। 31 जुलाई को नूंह में सांप्रदायिक बवाल के बाद गुरुग्राम तक हिंसा की लपटें पहुंच गईं और प्रशासन ने धारा 144 लगाने का आदेश दिया था।
नागरिकों को सलाह
सभी नागरिकों को सलाह दी गई है कि वे सावधानी बरतें और किसी भी संदिग्ध गतिविधि की सूचना तुरंत अधिकारियों को दें। डीसी ने कहा कि प्रशासन अपने निवासियों की सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है, और शांति भंग करने के किसी भी प्रयास या सांप्रदायिक सद्भाव को खतरे में डालने वाले कृत्यों से कानून की पूरी सख्ती से निपटा जाएगा।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-296, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. मंगलवार, अगस्त 8, 2023

3. शक-1944, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:19, सूर्यास्त: 07:07।

5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम- 37+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  1. अंक-128, (वर्ष-11) पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254 2. सोमवार, फरवरी 26, 2024 3. शक-1945, पौष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, व...