शनिवार, 19 फ़रवरी 2022

16 जनपद, 59 विधानसभा सीट, 627 प्रत्याशी

16 जनपद, 59 विधानसभा सीट, 627 प्रत्याशी 
हरिओम उपाध्याय     
लखनऊ। विधानसभा चुनावों में तीसरे दुआर के मतदान हेतु चुनाव प्रचार थम गया है। आज रविवार को प्रदेश के 16 जनपदों की 59 विधानसभा सीटो पर चुनाव लड़ रहे कुल 627 प्रत्याशियों जिनमे से 100 करोडपति है के मुस्तकबिल का फैसला 2 करोड़ से ज्यादा आवाम ईवीएम में कैद कर देगी। जम्हूरियत का सबसे बड़ा त्यौहार इन 16 जनपदों में कल है। तीसरे चरण में मुख्य रूप से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, प्रदेश के मंत्री सतीश महाना, नीलिमा कटियार, राम नरेश अग्निहोत्री, पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव व रामवीर उपाध्याय की किस्मत का फैसला होगा।
बताते चले कि तीसरे चरण में हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, इटावा, कासगंज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, कन्नौज, औरैया, कानपुर नगर, कानपुर देहात, जालौन, झांसी, ललितपुर, हमीरपुर व महोबा जिले जनपद में चुनाव है। इस चुनाव हेतु चुनाव आयोग पूरी तरीके से तैयार है। आज शनिवार को पोलिंग पार्टियां रवाना हों रही है। तीसरे चरण में 2.15 करोड़ मतदाता 627  उम्मीदवारों के मुकद्दर के मुस्तकबिल का फैसला करेंगे। इन उम्मीदवारों में 100 करोडपति भी है।इस चरण के लिए 15553 मतदान केंद्र और 25741 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। तीसरे चरण में सबसे अधिक 15-15 प्रत्याशी एटा, ललितपुर की मेहरौनी और महोबा सीट पर हैं। जबकि सबसे कम मात्र तीन प्रत्याशी मैनपुरी की करहल सीट पर हैं। यहां सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मुकाबला केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल और बसपा के कुलदीप नारायण से है। शुक्रवार शाम को प्रचार थमने से पहले सत्तारूढ़ भाजपा व मुख्य विपक्षी दल सपा समेत सभी दलों ने अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए पूरी ताकत लगा दी। सीएम योगी ने मैनपुरी के करहल तथा कानपुर में पार्टी उम्मीदवारों के समर्थन में सभाएं व रोड शो किया। दूसरी तरफ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जालौन व कानपुर में पार्टी उम्मीदवारों के लिए वोट मांगे।
इसके अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, सपा के शिवपाल सिंह यादव समेत बसपा व कांग्रेस के  अन्य नेता भी तीसरे चरण के चुनाव वाले क्षेत्रों में डटे रहे। प्रचार बंद होने के बाद प्रत्याशी व उनके समर्थक जनसंपर्क करके वोटरों को लुभाने की कवायद में जुटे हैं। विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में समाजवादी पार्टी ने सबसे अधिक 52 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जिनकी संपत्ति 1 करोड़ रुपये से अधिक है, जबकि भाजपा 48 उम्मीदवारों के साथ दूसरे स्थान पर है। उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच एंड एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार बहुजन समाज पार्टी ने ऐसे 46 उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि कांग्रेस ने 29 और आम आदमी पार्टी ने 18 करोड़पति को मैदान में उतारा है।

रिपोर्ट के अनुसार, 20 फरवरी को चुनाव लड़ने वाले 627 उम्मीदवारों में से 623 उम्मीदवारों के स्वयंभू हलफनामों का विश्लेषण किया है। रिपोर्ट में पाया गया कि तीसरे चरण के विधानसभा चुनाव के लिए कुल मिलाकर 245 (या 39 प्रतिशत) उम्मीदवार करोड़पति हैं। रिपोर्ट में पाया गया कि तीसरे चरण के विधानसभा चुनाव के लिए कुल मिलाकर 245 उम्मीदवार करोड़पति हैं। मैदान में सबसे अमीर उम्मीदवार सपा के यशपाल सिंह यादव हैं, जिनकी संपत्ति 70 करोड़ रुपये से अधिक है। वह झांसी की बबीना सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इनके बाद कानपुर के किदवाई नगर सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी अजय कपूर के पास 69 करोड़ की संपत्ति है। एटा के जलेसर सीट से चुनाव लड़ रहे दो निर्दलीय उम्मीदवारों राजाबाबू और राहुल प्रताप सिंह ने अपनी संपत्ति शून्य घोषित की है।

सपा ने बदला प्रत्याशी, बसपा का भी पर्चा खारिज

सपा ने बदला प्रत्याशी, बसपा का भी पर्चा खारिज    

शहनवाज अहमद    

गाजीपुर। सपा द्वारा प्रत्याशी बदलने के कारण सिबगतुल्लाह अंसारी का नामांकन पत्र ख़ारिज हो गया है। वही इसी कारण से बसपा प्रत्याशी के तौर पर उतरे रुदल का भी पर्चा खारिज हुआ है। इसके अलावा 10 और लोगों के पर्चे जांच के दौरान खारिज कर दिए गए हैं। इनमें से ज्यादातर निर्दल हैं। जांच के बाद 97 लोगों के पर्चे वैध पाए गए हैं।मुहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी ने सुहेब अंसारी उर्फ मन्नू को प्रत्याशी घोषित कर दिया था, जिसके चलते सिबगतुल्लाह अंसारी का नामांकन रद्द कर दिया गया। 

इसी तरह जखनिया में बसपा के प्रत्याशी रूदल कुमार का पर्चा खारिज हुआ है। यहां भी बहुजन समाज पार्टी ने अंतिम समय में विजय कुमार को अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दिया।जनपद की सात विधानसभा सीटों के लिए नामांकन के आखिरी दिन बृहस्पतिवार तक 109 प्रत्याशियों ने नामांकन किया था। शुक्रवार को जांच के दौरान कुल 12 प्रत्याशियों के नामांकन पत्र को खारिज कर दिया गया। अब 97 प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं। शनिवार और सोमवार नाम वापसी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

145 नामांकन पत्र, 69 निरस्त, 76 वैधः वाराणसी

145 नामांकन पत्र, 69 निरस्त, 76 वैधः वाराणसी
ए जावेद    
वाराणसी। विधान सबह चुनावों में वारणसी की कुल 8 सीटो पर नामांकन पत्रों की जाँच मुकम्मल कर लिया गया है। कुल 8 विधानसभा में 145 प्रत्याशियों ने नामांकन किया था। इन प्रत्याशियों के नामांकन के बाद पर्चे की जाँच में 69 पर्चे नियमानुसार न रहने पर निरस्त कर दिए गए है। अधिकतर ख़ारिज पर्चे शपथपत्र समय से उपलब्ध न करवाए जाने के कारण खारिज हुवे है। ख़ारिज होने वाले पर्चो में पिंडरा विधानसभा से 13, अजगरा (सु) से छह, शिवपुर से 17, रोहनिया से सात, उत्तरी से सात निरस्त, दक्षिणी सात निरस्त, कैंट से आठ तथा सेवापुरी से 04 निरस्त हुवे है। इस प्रकार से कुल 145 नामांकन पत्रों में से 69 निरस्त एवं 76 नामांकन पत्र वैध एवं विधि मान्य पाए गए।
कलेक्ट्रेट में प्रेक्षकों की मौजूदगी में करीब चार घंटे से ज्यादा चली जांच में 76 नामांकन पत्र वैध एवं विधि मान्य पाए गए हैं। सबसे ज्यादा शिवपुर में 17 नामांकन पत्र अवैध मिले। अधिसूचना के अनुसार, 21 फरवरी को नाम वापसी का मौका होगा। इसके बाद प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिए जाएंगे। फिलहाल नामांकन पत्रों की जांच के बाद आठों विधानसभा क्षेत्र में प्रत्येक बूथ पर एक ही ईवीएम से मतदान होना तय हो गया है। कुल 145 प्रत्याशियों ने आठ विधानसभा क्षेत्रों के लिए नामांकन किया था। अब विभिन्न विधानसभा में वैध पाए जाने वाले प्रत्याशियों की लिस्ट पूरी इस प्रकार है:

शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र

  • रविंद्र जायसवाल – भाजपा
  • अशफाक अहमद डब्लू – सपा
  • गुलेराना तबस्सुम – कांग्रेस
  • श्याम प्रकाश – बसपा
  • डॉ. आशीष कुमार जायसवाल – आम आदमी पार्टी
  • मोनू राय – बहादुर आदमी पार्टी
  • हरीश मिश्रा – ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन
  • आसिफ इकबाल – निर्दलीय
  • रोहनी जायसवाल – निर्दलीय

शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र

  • नीलकंठ तिवारी – भाजपा
  • मुदिता कपूर – कांग्रेस
  • कामेश्वर नाथ दीक्षित “किशन” – सपा
  • दिनेश कसौधन – बसपा
  • अजीत सिंह – आम आदमी पार्टी
  • अर्पण पाठक – लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास)
  • परवेज कादिर खां – इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुस्लिमीन,
  • बच्चे लाल – बहादुर आदमी पार्टी
  • वीरेंद्र कुमार – आजाद समाज पार्टी (कांशीराम)
  • शिव प्रसाद गुप्ता – राइट टू रिकॉल पार्टी
  • सुभाष चंद्र – राष्ट्रीय भागीदारी पार्टी
  • अभिलाषा दीक्षित – निर्दलीय
  • रेयाजुद्दीन उर्फ़ नाटे – निर्दलीय

कैंटोंमेंट विधानसभा क्षेत्र

  • सौरभ श्रीवास्तव – भाजपा
  • राजेश कुमार मिश्र –  कांग्रेस
  • पूजा यादव – सपा
  • कौशिक कुमार पांडेय – बसपा
  • नीलम वर्मा – बहादुर आदमी पार्टी
  • राकेश पांडेय – आप
  • शेख अंबर – राष्ट्रीय जनतांत्रिक भारत विकास पार्टी
  • श्रीकांत आर्या – बहुजन मुक्ति पार्टी
  • संतोष कुमार मौर्य – जन अधिकार पार्टी
  • शाहिद चौधरी – निर्दलीय

पिंडरा विधानसभा क्षेत्र

  • डॉ0 अवधेश सिंह – भाजपा
  • अजय राय – कांग्रेस
  • बाबू लाल – बसपा
  • अमरनाथ सिंह – आप
  • राजेश कुमार सिंह – अपना दल क
  • श्रीप्रकाश – निर्दलीय

अजगरा विधानसभा क्षेत्र

  • त्रिभुवन राम – भाजपा
  • रघुनाथ –  बसपा
  • हेमा देवी –  कांग्रेस
  • बागेश्वर – सर्वजन सनातन पार्टी
  • राजपति बनवासी –   राष्ट्रीय विकास मंच पार्टी
  • विद्या देवी – बहुजन मुक्ति पार्टी
  • सत्यप्रकाश – आप
  • सीताराम – जन अधिकार पार्टी
  • सुनील कुमार – सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी
  • अनूप कुमार – निर्दलीय
  • विद्या प्रकाश – निर्दलीय

शिवपुर विधानसभा क्षेत्र

  • अनिल राजभर –  भाजपा
  • गिरीश – कांग्रेस
  • रवि मौर्य – बसपा
  • अरविंद राजभर – सुभासपा
  • उषा – आम जनता पार्टी (इंडिया)
  • मनोज कुमार मौर्य – जन अधिकार पार्टी

रोहनिया विधानसभा क्षेत्र

  • अरुण – बसपा
  • राजेश्वर प्रसाद सिंह – कांग्रेस
  • अभय – अपना दल क
  • अमित पूरी – अपना भारतीय सनातन पार्टी
  • उर्मिला देवी – बहुजन मुक्ति पार्टी
  • पल्लवी – आप
  • सुनील – अपना दल (एस)
  • सुशील – जनता दल (यू)
  • संजीव – पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया (डेमोक्रेटिक)
  • राजन कुमार सिंह – निर्दलीय

सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र

  • नील रतन सिंह – भाजपा
  • सुरेंद्र सिंह पटेल – सपा
  • अंजू – कांग्रेस
  • अरविंद कुमार त्रिपाठी – बसपा
  • कैलाश – आप
  • गुरु प्रसाद सिंह – लोकबंधु पार्टी
  • जयप्रकाश – इंसाफवादी पार्टी
  • सुरेंद्र – जन अधिकार पार्टी
  • संतोष – मौलिक अधिकार पार्टी
  • मनोज कुमार चौबे – निर्दलीय
  • सुनील पटेल – निर्दलीय

बिजली खपत कम करने के लिए आरडब्ल्यूए सख्त

बिजली खपत कम करने के लिए आरडब्ल्यूए सख्त

अश्वनी उपाध्याय      
गाजियाबाद। राकेश मार्ग स्थित गुलमोहर एन्क्लेव में जब से नए आरडब्लूए का गठन हुआ है तभी से सोसायटी में कुछ न कुछ बेहतर करने का काम लगातार जारी है। इसी क्रम में आरडब्लूए ने बिजली खपत को कम करने के लिए पूरी सोसायटी में एलईडी बल्ब व ट्यूबलाइट लगवाई हैं। 
बता दें कि गुलमोहर एन्क्लेव में प्रकाश व्यवस्था के लिए लिफ्ट, पार्किंग की जगह, पार्क व फ्लैटों के कॉरिडोर में बल्ब लगे हुए थे जो बिजली की कायदा खपत करते थे और सोसायटी का बिजली भी इससे प्रभावित होता था। वहीं आरडब्लूए ने बिजली बचाने के निर्णय लेते हुए सोसायटी की सभी 31 लिफ्टों में एलईडी बल्ब, कॉरिडोर, पार्किंग व पार्कों में ट्यूबलाइट लगवाई हैं। 

अध्यक्ष मनवीर चौधरी व सचिव विनम्र जैन ने बताया कि सोसायटी के बिजली के बिल को कम करने के लिए व बिजली की खपत को कंट्रोल करने के लिए सभी जगह एलईडी बल्ब लगवाए गए हैं जिससे प्रकाश व्यवस्था भी सही रहेगी और बिल भी कम होगा। इसके साथ ही आरडब्लूए ने सोसायटी के सभी लोगों से भी बिजली बचाने में सहयोग की अपील की है।

कीर्तिमान टूटे ना, 1 भी वोट छूटे ना, जय श्रीराम

कीर्तिमान टूटे ना, 1 भी वोट छूटे ना, जय श्रीराम  

संदीप मिश्र     
लखनऊ। यूपी विधनसभा चुनाव के दो चरण संपन्न हो गए हैं, वहीं 20 फरवरी यानी कि कल तीसरे चरण का चुनाव होना हैं। इस बीच बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में वोट डालने की अपील की है। इतना ही नहीं, कंगना रनौत ने कहा है कि योगी सरकार को वापस लाना है।

कंगना रनौत कहा कि, 'हम सब जानते है, की उत्तर प्रदेश में चुनाव चल रहे है और इस चुनावी कुरुक्षेत्र में हमारा एकमात्र हथियार वोट है। याद रखें हमें अपनी चहेती योगी सरकार को फिर से वापस लाना है। इसलिए भर-भर के वोट दे और जब भी जाए तो अकेले नहीं, बल्कि 3 से 4 लोगों को साथ ले जाए। याद रखिये विजय का ये कीर्तिमान टूटे ना, एक भी वोट छुटे ना। जय श्रीराम।' बता दें कि कंगना द्वारा अपने इंस्टाग्राम पर इस वीडियो को पोस्ट करने के बाद यह वीडियो तेजी से वायरल हो रही है।

सपा नेता हसन का निधन, योगी ने शोक व्यक्त किया

सपा नेता हसन का निधन, योगी ने शोक व्यक्त किया    

संदीप मिश्रा    
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधान परिषद में नेता विरोधी दल के नेता अहमद हसन का आज डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया। विधान परिषद में नेता विरोधी दल अहमद हसन के निधन की सूचना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा शोक व्यक्त किया हैं। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

बता दें कि अहमद हसन 88 वर्ष के थे। वह सपा के कद्दावर नेता थे। सपा की सरकार में वह स्वास्थ्य व शिक्षा मंत्री भी रह चुके थे। विधान परिषद में नेता विरोधी दल अहमद हसन अंसारी 5 बार एमएलसी रह चुके हैं। मूलतः अंबेडकर नगर के रहने वाले थे अहमद हसन लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती थे। अहमद हसन का इलाज लोहिया संस्थान में चल रहा था, जहां उन्होंने आज उपचार के दौरान अंतिम सांस ली, हसन काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। 

आईपीएस धीरज और 2 अन्य भगोड़े घोषित, चोरी

आईपीएस धीरज और 2 अन्य भगोड़े घोषित, चोरी  
राणा ओबराय

गुरुग्राम। अपर जिला और सत्र न्यायाधीश अमित सहरावत ने शुक्रवार को करोड़ों की चोरी के मामले में फरार चल रहे निलंबित भारतीय पुलिस सेवा अधिकारी धीरज सेतिया, गैंगस्टर विकास लगरपुरिया और चेतन उर्फ बॉक्सर को भगोड़ा घोषित किया है। साथ ही स्थानीय पुलिस व डीसीपी हेडक्वार्टर को इस बारे में सूचित करने का आदेश भी दिए हैं। इस मामले में एसटीएफ से 2 मार्च को अगली सुनवाई के दौरान तीनों आरोपियों की प्रॉपर्टी का ब्योरा भी मांगा है। जिससे कि उनकी प्रॉपर्टी को अटैच करने की प्रक्रिया शुरू की जा सके। 
जिला और सत्र न्यायाधीश की अदालत में निलंबित आईपीएस अधिकारी धीरज सेतिया के वकील अजय वर्मा ने बचाव में कहा कि इस मामले की प्राथमिकी रद्द करने की याचिका पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में विचाराधीन है। इसलिए इस पर सुनवाई न की जाए। वकील के इस तर्क को नकारते हुए अदालत ने आदेश में लिखा है कि उनके पास हाईकोर्ट की ओर से स्थगन आदेश नहीं आया है। इस मामले में सरकारी वकील का पक्ष सुनने के बाद निलंबित आईपीएस अधिकारी धीरज सेतिया सहित तीनों को भगोड़ा घोषित करने के आदेश जारी कर दिए। 
जिला बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान कुलभूषण भारद्वाज ने धीरज सेतिया के साथ-साथ तत्कालीन पुलिस कमिश्नर पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा है कि बिना पुलिस कमिश्नर के आदेश पर कोई किसी को कैसे हिरासत में ले सकता है। इसीलिए आरोपी धीरज सेतिया ने करोड़ों की चोरी के मामले में किसी को भी नहीं पकड़ा था, जब इस मामले में एसटीएफ ने गंभीरता दिखाते हुए आरोपियों की धरपकड़ शुरू की तो परत दर परत खुलती चली गई। अदालत में एसटीएफ की ओर से कहा गया कि आरोपियों को भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया के चलते उनके घर पर अदालत का नोटिस भी चस्पा किया जा चुका है। एक अन्य आरोपी जोगिन्दर की 14 दिन की न्यायिक हिरासत बढ़ा दी है। जेल में बंद आरोपी डॉक्टर जीपी सिंह को भी अदालत में पेश किया गया था।
आपको बताते चलें कि पिछले साल 2 अगस्त को खेड़कीदौला थाना क्षेत्र में एक फ्लैट से करोड़ों की चोरी हुई थी। जिसकी रिपोर्ट 20 अगस्त 2021 को दर्ज की गई। इस मामले में आईपीएस अधिकारी धीरज सेतिया के संलिप्त होने के आरोपों के चलते सरकार ने एसआईटी को जांच सौंपी थी। एसटीएफ ने इस मामले की जांच में गुरुग्राम में तैनात डीसीपी साउथ धीरज सेतिया को दोषी माना है। उन्हें पूछताछ के लिए भी बुलाया गया था लेकिन वह एसटीएफ की जांच में शामिल नहीं हुए। इसी के बाद अदालत में भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। अब तक इस मामले में एसटीएफ की ओर से अभी तक 17 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

नाबालिग से गैंगरेप, शराब पिलाकर किया दुष्कर्म

नाबालिग से गैंगरेप, शराब पिलाकर किया दुष्कर्म  

दुष्यंत सिंह टीकम   

जांजगीर चाम्पा। जिले से नाबालिग से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मामले में मानव अधिकार प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष और उसके सहयोगी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मामला सिटी कोतवाली का है। पीड़िता के पिता ने सिटी कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई कि आरोपी ने उसकी नाबालिग पुत्री को प्रेम जाल में फंसा कर, बहला-फुसलाकर 14 फरवरी को बिलासपुर भगा के ले गया और अपने दोस्तों के साथ मिलकर लड़की को शराब पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया।

रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 366, 376,34 भादवी 4/6 पास्को एक्ट दर्ज कर लिया है। आरोपी दिलीप उर्फ डब्ल्यू जिसकी उम्र 22 वर्ष है जो कि दर्रा भाटा का रहने वाला है पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा।

बालिका से रेप, मां ने की मामला दबाने की कोशिश

बालिका से रेप, मां की मामला दबाने की कोशिश    

नरेश राघानी  

जोधपुर। शहर के रातानाडा थाना क्षेत्र में एक नाबालिग बालिका के साथ रेप का पेचीदा मामले सामने आया है। एक नामी ठेकेदार ने अपने घर काम करने वाली एक महिला के सहयोग से उसकी पंद्रह वर्षीय बेटी को अपनी हवस का शिकार बना डाला। ठेकेदार से उधार लिए गए चंद हजार रुपए के अहसान के बोझ तले दबी मां ने रेप के बाद मामले को दबाने का भरसक प्रयास किया। पीड़िता ने आखिरकार सच उगल दिया। अब पुलिस ने ठेकेदार को गिरफ्तार कर लिया है जबकि उसकी मां से पूछताछ की जा रही है।पुलिस ने बताया कि डिफेंस लैब के समीप रहने वाली एक महिला ने जनवरी में अपनी पंद्रह वर्षीय बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। महिला का कहना था कि कोई बहला-फुसला कर उसकी बेटी को भगा ले गया। पुलिस ने इस मामले में जांच की तो पता चला कि बालिका गुजरात में रहने वाली अपनी बहन के पास है। पुलिस टीम गुजरात पहुंची और शुक्रवार शाम को बालिका को वहां से लेकर यहां आई। बालिका से पूछताछ में अलग ही कहानी सामने आई।

लड़की ने बताई अपने साथ हुए रेप की दास्तान-

पंद्रह वर्षीय पीड़िता ने पुलिस को बताया कि सितम्बर या अक्टूबर माह में उसकी मां ने डिफेंस लैब के निकट एक मकान, जहां उसकी मां काम करती थी, में खुद के स्थान पर काम करने भेजा। वहां जीके गुप्ता नाम के शख्स ने उसके साथ रेप किया। घर लौटने पर बालिका ने अपनी मां को इसकी जानकारी दी। इस पर मां ने उसे कहा कि वह स्नान कर ले और किसी के सामने इसका जिक्र नहीं करे। साथ ही बेटी के बोलने की आशंका से मां ने उसे घर में नजरबंद कर दिया। जनवरी माह में एक दिन मौका मिलने पर वह घर से भाग निकली और गुजरात में रहने वाली अपनी बहन के यहां पहुंच गई। बहन के विश्वास दिलाए जाने पर उसने अपने साथ हुए हादसे की जानकारी दी। पुलिस का कहना है कि बालिका की ओर से दी गई जानकारी की बेहद सावधानी से तस्दीक की गई। इसके बाद उसके बयान दर्ज कराए गए। साथ ही उसका मेडिकल कराया गया। रेप की पुष्टि होने के बाद आज पुलिस ने जीके गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार 58 वर्षीय गुप्ता एमईएस में नामी ठेकेदार है। उसके दो मकान है। एक डिफेंस लैब के पास और दूसरा उम्मेद हेरिटेज में। उसका परिवार उम्मेद हेरिटेज में रहता है। अभी बालिका सही बता नहीं पा रही है कि रेप कब हुआ। ऐसा माना जा रहा है कि यह सितम्बर या अक्टूबर की घटना है।

मां की भूमिका संदिग्ध- पुलिस इस मामले में पीड़िता की मां की भूमिका को संदिग्ध मान रही है। रेप होने के बाद पीड़िता ने अपनी मां को पूरी घटना बता दी, लेकिन उसने जानबूझ कर मामले को दबा दिया। साथ ही पीड़िता को घर में नजरबंद कर दिया। पूछताछ में सामने आया है कि पीड़िता की मां ने ठेकेदार से कुछ हजार रुपए उधार ले रखे है। मां ने ही बालिका को ठेकेदार के घर भेजा। उसे योजनाबद्ध तरीके से भेजा गया या असावधानीवश। इसकी जांच की जा रही है। मां से पूछताछ के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

'गूगल पे' की खास स्कीम, खाते में आएंगे 1 लाख

'गूगल पे' की खास स्कीम, खाते में आएंगे 1 लाख  

मोहम्मद रियाज  

नई दिल्ली। गूगल पे से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। अगर आप भी गूगल पे का इस्तेमाल करते हैं तो ये खबर आपके लिए ही है। गूगल पे अपने कस्टमर्स के लिए खास स्कीम लेकर आया है। इससे सीधे आपके खाते में एक लाख रुपये आ जाएंगे। डीएमआई फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड ने गूगल पे पर पर्सनल लोन प्रोडक्ट लॉन्च किया है।

कई बार आपको पैसे की आकस्मिक जरूरत पड़ जाती है और बैंकों से आपको बेहद ऊंची दरों पर पर्सनल लोन मिलता है। ऐसे में एक नया तरीका आया है जिसके जरिए आपको 1 लाख रुपये तक का लोन तुरंत मिल जाएगा। आप गूगल पे से तो परिचित होंगे, इसी से अब आपको 1 लाख रुपये तक का पर्सनल लोन मिल सकता है। यह जो 1 लाख का पर्सनल लोन मिल रहा है, यह डीएम फाईनेंस और जानी मानी पेमेंट कंपनी गूगल पे मिलकर दे रही है। अगर आप एक कम इंट्रेस्ट वाला लोन लेने की सोच रहे है, तो इस लोन को ले सकते है, क्यूंकि यह लोन आपको मार्केट में जो इंट्रेस्ट रेट चल रहा है, उससे कम में मिल जाता है।

इस लोन को लेने के लिए ग्राहक का गूगल पे पर कस्टमर होना जरूरी है और नया अकाउंट ना होकर उसी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होनी चाहिए, तभी ये लोन मिल पाएगा। हर शख्स को ये लोन मिल ही जाए ऐसा जरूरी नहीं, क्योंकि इसके लिए क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होना जरूरी है।डीएमआई फाइनेंस लिमिटेड की तरफ से प्री- क्वालिफाइड एलिजिबिल यूजर्स ये लोन ले पाएंगे और गूगल पे की तरफ से लोन की पेशकश होगी। पर्सनल लोन की इस सुविधा को 15,000 से अधिक पिन कोड के साथ लॉन्च किया जा रहा है। कस्टमर इस सर्विस के तहत अधिकतम 36 महीनों के लिए 1 लाख रुपये तक लोन ले सकते हैं।

कॉलेज परिसर-परेड ग्राउंड का निरीक्षण: प्रयागराज

कॉलेज परिसर-परेड ग्राउंड का निरीक्षण: प्रयागराज     

बृजेश केसरवानी        
प्रयागराज। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 चुनाव को सकुशल एवं निष्पक्ष सम्पन्न कराने के लिए पोलिंग पार्टी के रवानगी स्थलों मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालाॅजी (एमएनएनआईटी), नार्दन रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ प्रिंटिंग टेक्नाॅलाजी (एनआरआईपीटी), केपी इंटर कालेज परिसर एवं परेड ग्राउंड का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी सर्वप्रथम के.पी इण्टर कालेज पहुंचे।
जहां से विधानसभा इलाहाबाद उत्तरी, इलाहाबाद दक्षिणी एवं इलाहाबाद पश्चिमी की पोलिंग पार्टी रवाना होगी। 
वहां पर उन्होंने उप जिला निर्वाचन अधिकारी/एडीएम प्रशासन को साइनेज, बैठने के लिए पण्डाल, कुर्सी, पीने योग्य पानी, एलाउंस मेंट आदि की व्यवस्था कराये जाने के लिए निर्देश दिये है तथा नगर निगम को साफ-सफाई के अलावा जमीन को ड्रेसिंग आदि कराने के निर्देश दिये है तथा प्रत्येक पोलिंग स्थानों पर कंट्रोल रूम की स्थापना किये जाये। उन्होंने इसी क्रम में पोलिंग पार्टियों के रवानगी स्थल परेड ग्राउण्ड का स्थलीय निरीक्षण किया। जहां से कोरांव, बारा, करछना तथा मेजा, प्रतापपुर एवं हण्डिया विधानसभा के लिए पोलिंग पार्टी रवाना होगी।
वहां पर उन्होंने लाइट पीने योग्य पानी, गाड़ियों की पार्किंग तथा सुरक्षा के दृष्टिगत ईपीएम मशीनों के लिए शेड आदि बनाये जाने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिये है। इसी क्रम में उन्होंने एमएनएनआईटी का भी निरीक्षण किया। जहां से फाफामऊ एवं सोरांव विधानसभा के लिए पोलिंग पार्टी की रवानगी की जायेगी। उन्होंने वहां पर उन्होंने साफ-सफाई, पार्किंग, साइनेज आदि की व्यवस्थायें कराये जाने के निर्देश दिये है। तत्पश्चात एनआरआइ्र पी.टी कालेज का निरीक्षण किया। जहां से फूलपुर के लिए पोलिंग पार्टी की रवानगी होगी। वहां पर पानी, लाइट, साफ-सफाई तथा पार्किंग आदि तथा साइनेज लगवाये जाने के निर्देश दिये है। इस अवसर पर एडीएम प्रशासन/उप जिला निर्वांचन अधिकारी हर्ष देव पाण्डेय, एडीएम वित्त एवं राजस्व जगदम्बा सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट गौरव श्रीवास्तव सहित सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

शहर को साफ रखने में सहयोग, सम्मानित किया

शहर को साफ रखने में सहयोग, सम्मानित किया      

अश्वनी उपाध्याय        

गाज़ियाबाद। जिला नगर निगम ने नेहरू नगर थर्ड स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित भव्य समारोह में शहर को साफ रखने में सहयोग करने वाले नागरिकों और निगम कर्मचारियों को सम्मानित किया। इनमें स्वास्थ्य प्रहरियों सहित प्रतिष्ठानों, आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों, एनजीओ और अस्पतालों के प्रतिनिधि शामिल हैं। सभी को नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तवर ने स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मन्नित किया।

दरअसल, स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के अंतर्गत नगर निगम द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताएं कराई गई। जिसमें स्वच्छ रैंकिंग के अंतर्गत वॉल पेंटिंग, मुराल्स जिंगल, मेकिंग शार्ट वीडियो, पोस्टर मेकिंग, स्वच्छ वार्ड प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें आरडब्लूए, मार्केट एसोसिएशन, स्वच्छ स्कूल, हॉस्पिटल, होटल्स तथा गवर्नमेंट ऑफिस को लिया गया था। इस दौरान स्वच्छ टेक्नोलॉजी प्रतियोगिता व स्वच्छ चैंपियन को भी पुरस्कृत किया गया।

एसबीएम नोडल प्रभारी डॉ मिथिलेश ने बताया कि स्वच्छता में सहयोग करने वाले आरडब्ल्यूए पदाधिकारी, होटल अस्पताल के अलावा कराई गई प्रतियोगिता में अव्वल आने वाले प्रतियोगियों को भी सर्टिफिकेट तथा मोमेंटो देकर नगर आयुक्त द्वारा सम्मन्नित किया गया। साथ में गाजियाबाद के स्वच्छता ब्रांड एंबेसडर अंतर्राष्ट्रीय ताइक्वांडो प्लेयर अतुल राघव, अंतरराष्ट्रीय पर्वतारोही सागर कसाना, अंतरराष्ट्रीय शूटर शिवम त्यागी, सुप्रसिद्ध कथक नृत्य तपन राय मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित हुए।

यूपी सरकार ने नाइट कर्फ्यू हटाने का फैसला किया

यूपी सरकार ने नाइट कर्फ्यू हटाने का फैसला किया  

संदीप मिश्र        
लखनऊ। कोरोना वायरस के मामलों की गिरावट आने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार (गवर्नमेंट) ने नाइट कर्फ्यू को हटाने का फैसला किया है। अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से जारी यह आदेश शनिवार रात से ही प्रभावी हो जाएंगे। 
आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर में मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद, 9 जनवरी 2022 को रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा की गई थी। इसके बाद 13 फरवरी से नाइट कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लगाया गया था।

शिवाजी की 392वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित

शिवाजी की 392वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित   

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्रपति शिवाजी महाराज की 392वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए ‘महान महानायक’ और भारत का गौरव बताया। उन्होंने कहा, ‘मैं छत्रपति शिवाजी महाराज को उनकी जयंती पर नमन करता हूं। उनका उत्कृष्ट नेतृत्व और समाज कल्याण पर पीढ़ियों से लोगों को प्रेरणा देता रहा है। जब सच्चाई और न्याय के मूल्यों के लिए खड़े होने की बात आई तो वे अडिग थे। हम उनकी पूर्ति के लिए प्रतिबद्ध हैं।

वहीं, पीएम मोदी ने कल मध्य रेलवे के ठाणे-दिवा खंड पर दो अतिरिक्त रेल लाइनों (पांचवीं और छठी) का उद्घाटन करने और नई उपनगरीय ट्रेनों को हरी झंडी दिखाने के बाद भी शिवाजी को नमन किया। मैं भारत के गौरव, भारत की पहचान और उसकी संस्कृति के रक्षक को सलाम करता हूं जो एक महान महानायक थे। वहीं, गोवा के सीएम प्रमोद सावंत और अन्य लोगों ने छत्रपति शिवाजी महाराज को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी। महाराष्ट्र में इसे ‘छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती’ के रूप में मनाया जाता है और इसे राज्य में सार्वजनिक अवकाश भी माना जाता है। महाराष्ट्र के लोग इस दिन को बहुत गर्व के साथ मनाते हैं और कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों, जुलूसों का आयोजन करते हैं। इस वर्ष हम उनकी 392वीं जयंती मना रहे हैं। आइये जानते हैं शिवाजी के बारे में कुछ खास बातें और इस दिन से जुड़ी बुनियादी जानकारियां जो आपके काम आएंगी।

छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती की शुरुआत महात्मा फुले ने की थी। उन्होंने रायगढ़ में शिवाजी महाराज के मकबरे की पहचान की। यह दिन सबसे पहले पुणे में मनाया गया था। मराठा राजा की जयंती मनाने की परंपरा प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक द्वारा जारी रखी गई थी। उन्होंने लोगों के बीच शिवाजी के योगदान पर प्रकाश डाला। शिवाजी जयंती महाराष्ट्र में राजकीय अवकाश है। यह बहुत धूमधाम और भव्यता के साथ मनाया जाता है। मराठों के समृद्ध और विविध सांस्कृतिक इतिहास को भी इस दिन मनाया जाता है। बच्चे उनकी विरासत का सम्मान करने के लिए शिवाजी के रूप में तैयार होते हैं। भोजन और अन्य मिठाइयाँ भी परोसी जाती हैं और बहुत उत्साह के साथ आनंद लिया जाता है। भारत के सबसे बहादुर और सबसे प्रगतिशील शासकों में से एक, छत्रपति शिवाजी महाराज मराठा साम्राज्य के संस्थापक थे। 19 फरवरी, 1630 को जन्मे शिवाजी प्रमुख रईसों के वंशज थे।

व्यू वन्स फीचर यूजर्स ने पंसद किया: व्हाट्सएप

व्यू वन्स फीचर यूजर्स ने पंसद किया: व्हाट्सएप    

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। व्हाट्सएप ने हाल ही में व्यू वन्स फीचर जारी किया था। जिसमें स्नैपचैट की तरह यूजर किसी भी तस्वीर या वीडियो को इस तरह शेयर कर सकता है कि वो सामने वाले को केवल एक बार दिखे। जिसके बाद वो गायब हो जाए। फोटो या वीडियो शेयर करते समय वहां दिए ‘1’ के ऑप्शन को सिलेक्ट करके आप इस फीचर को यूज कर सकते हैं।

2021 में जारी किये गए व्हाट्सएप के इस फीचर को यूजर्स ने सबसे ज्यादा पसंद किया है। इस फीचर की मदद से यूएसबी टाइप-सी केबल की मदद से अपने चैट्स को एक फोन से दूसरे फोन में भेज सकते हैं। ये ऑप्शन आपको व्हाट्सएप की सेटिंग्स में मिल जाएगा।

गैस-रिसाव की वजह से 3 मजदूरों की मौंत, 4 गंभीर

गैस-रिसाव की वजह से 3 मजदूरों की मौंत, 4 गंभीर  

मिनाक्षी लोढी    

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर स्टील संयंत्र (डीएसपी) के स्टील पिघलाने वाले कारखाने में गैस-रिसाव की वजह से तीन मजदूरों की दम घुटने से मौत हो गई। वहीं, चार और मजदूरों की स्‍थ‍िति गंभीर बनी हुई है। जिन्‍हें पास के ही अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। डीएसपी के एक प्रवक्ता ने कहा कि दुर्घटना की जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया है। वहीं अस्पताल में भर्ती अन्य मजदूरों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

इधर, घटना की जानकारी मिलते ही प्लांट के उच्चाधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं। हादसे में मारे गए मजदूरों के परिजनों को घटना के संबंध में सूचित कर दिया गया है। इंडिया टीवी की खबर के मुताबिक बताया जा रहा है कि दोपहर में प्लांट में मजदूर काम कर रहे थे। इस दौरान प्लांट में कार्बन मोनोऑक्साइड का रिसाव हो गया जिससे प्लांट में काम करने वाले 7 अस्थाई मजदूर बेहोश होकर गिर पड़े। इसके बाद मजदूरों के अन्य साथियों ने मजदूरों को अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में पहुंचने के बाद डॉक्टरों ने 3 मजूदरों को मृत घोषित कर दिया।

गैस रिसाव के बाद सीआईएसएफ और दमकल अधिकारियों को इसकी जानकारी दी गई। हालांकि, स्टील प्लांट के अधिकारियों की ओर से इस घटना के संदर्भ में अभी कोई बयान नहीं दिया आया है। गैस रिसाव के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। फैक्ट्री के अधिकारी गैस रिसाव के कारणों की जांच कर रहे हैं। इससे पहले करीब 8 महीने पहले पश्चिम बंगाल के बर्नपुर में सरकारी सेल कंपनी के आईआईएससीओ इस्पात संयंत्र में रखरखाव कार्य के दौरान जहरीली गैस से दम घुटने से दो श्रमिकों की मौत हो गई थी। अधिकारियों ने बताया था कि करीब बैटरी नंबर 11 के सल्फर टैंक की सफाई के दौरान अनुबंधित श्रमिकों बबन सरकार एवं सुमन विश्वास की जहरीली गैस से दम घुटने से मौत हो गई। उन्होंने बताया था कि संयंत्र के कर्मी सुरक्षा आवरण में अंदर गए और फिर दोनों को बाहर निकाला गया। आईआईएससीओ अस्पताल ले जाने पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। दोनों स्थानीय थे। सेल के एक अधिकारी ने बताया कि इस घटना के बाद संयंत्र में काम नहीं चल रहा है। विस्तृत जांच के लिए एक जांच समिति बनाई गई है। इस घटना के बाद इंटक ने प्रदर्शन किया। इंटक नेता हरजीत सिंह ने कहा कि प्रबंधन को इस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को समुचित मुआवजा देना होगा।

झटका: एलआईसी की पॉलिसी बिक्री में भारी कमी

नई दिल्ली। देश का सबसे बड़ा आईपीओ आने वाला है। एक हालिया रिपोर्ट की मानें तो भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) 11 मार्च को इसे पेश कर सकती है। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया कि 11 मार्च को यह एंकर निवेशकों के लिए खुलेगा। जबकि अन्य निवेशकों के लिए इस दो दिन बाद खोला जाएगा। इसमें कहा गया कि मार्च के पहले सप्ताह में इसे नियामकीय मंजूरी मिल सकती है। एक ओर जहां आईपीओ लॉन्च की तैयारी हो रही है। वहीं, दूसरी ओर कंपनी को एक तगड़ा झटका लगा है। दरअसल, एलआईसी पॉलिसी बिक्री में भारी कमी दर्ज की गई है। एलआईसी की ओर से बाजार नियामक सेबी को सौंपे गए दस्तावेजों के मुताबिक, एलआईसी की पॉलिसी बिक्री में भी भारी कमी आई है। 

व्यक्तिगत और समूह पॉलिसियां की बिक्री वित्त वर्ष 2018-19 के 7.5 करोड़ से 16.76 फीसदी घटकर वित्त वर्ष 2019-20 में 6.24 करोड़ पर आ गई। वहीं, वित्त वर्ष 2020-21 में इसमें 15.84 की गिरावट आई और यह आंकड़ा 5.25 करोड़ रह गया। कंपनी की ओर से साझा की गई जानकारी के अनुसार, लॉकडाउन के चलते 2019-20 की चौथी तिमाही में व्यक्तिगत पॉलिसियों की बिक्री 22.66 फीसदी घटकर 63.5 लाख रह गई। जो एक साल पहले समान अवधि में 82.1 लाख थी। 2020-21 और 2021-22 की पहली तिमाहियों में यह क्रमश: 46.20 फीसदी घटकर 19.1 लाख और फिर 34.93 फीसदी घटकर 23.1 लाख रह गई। पॉलिसी बिक्री में आई कमी से जहां कंपनी को नुकसान हुआ।

वहीं दूसरी ओर कोरोना काल में मृत्यू बीमा के लिए किए जाने वाले भुगतान के मामले में बीमा कंपनी पर लगातार आर्थिक बोझ बढ़ा है। एक रिपोर्ट में कहा गया कि कोविड-19 महामारी की वजह से कंपनी की व्यक्तिगत और समूह पॉलिसियों की कुल संख्या में गिरावट आई है। जबकि, मृत्यु के बीमा दावों में तेज बढ़ोतरी हुई है। इसके अनुसार, वित्त वर्ष 2019, 2020 और 2021 के लिए  मृत्यु बीमा दावों के लिए क्रमशः 17,128.84 करोड़ रुपये, 17,527.98 करोड़ रुपये और 23,926.89 करोड़ रुपये का भुगतान भी किया गया है। वहीं, 30 सितंबर, 2021 को समाप्त हुए छह महीनों के लिए 21,734.15 करोड़ रुपये भुगतान किया गया। आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) लाने की तैयारियों में जुटी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी पर आयकर विभाग का करीब 75,000 करोड़ रुपये बकाया है। खास बात है कि भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) टैक्स की देनदारियां चुकाने के लिए अपने फंड का इस्तेमाल नहीं करना चाहती है। आईपीओ के लिए बाजार नियामक सेबी के पास पेश किए गए दस्तावेजों के मुताबिक, एलआईसी पर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर के 74,894.6 करोड़ रुपये के कुल 63 मामले चल रहे हैं। इनमें बीमा कंपनी पर प्रत्यक्ष कर के 37 मामलों में 72,762.3 करोड़ और 26 अप्रत्यक्ष कर मामलों में 2,132.3 करोड़ रुपये बकाया है, जिनकी वसूली होनी है।

बता दें कि एलआईसी की ओर से साझा की गई जानकारी के मुताबिक, उसके पास सितंबर 2021 तक पॉलिसीधारकों के 21,500 करोड़ रुपये ऐसे हैं जो लावारिस पड़े हैं। यानी इनके लिए कोई दावा करने वाला नहीं है। इसका मतलब या तो इन पॉलिसीधारकों की मौत हो गई या फिर इनके बारे में उनके परिवार को पता नहीं है। मार्च 2021 तक 18,495 करोड़ रुपये और 2020 मार्च तक यह रकम 16,052 करोड़ रुपये थी जो मार्च 2019 तक 13,842 करोड़ रुपये थी। एलआईसी का ये आईपीओ अब तक सबसे बड़ा आईपीओ होगा। सेबी में सौंपे गए डीआरएपी के अनुसार, एलआईसी का इश्यू पूरी तरह ऑफर फॉर सेल होगा। इसमें सरकार अपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी के अंतर्गत 31.6 करोड़ शेयर जारी करेगी। 

रिपोर्ट के मुताबिक, इस हिसाब से कंपनी की एम्बेडेड वैल्यू 5.4 लाख करोड़ रुपये होगी। अमूमन किसी बीमा कंपनी का मार्केट कैप इस वैल्यू का चार गुना होता है। इस हिसाब से देखें तो एलआईसी की मार्केट वैल्यू 288 अरब डॉलर यानी करीब 22 लाख करोड़ रुपये होगी और एलआईसी देश की सबसे बड़ी मूल्यवान कंपनी बन जाएगी। समय पर प्रीमियम नहीं भरने के कारण या फिर अन्य किसी कारण से बहुत सारे लोगों की एलआईसी की पॉलिसी बंद हो जाती है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि पांच साल से जो पॉलिसी बंद पड़ी हैं। ऐसे मामले में कम चार्ज भरकर उसे फिर से चालू कराया जा सकता है। रिपोर्ट के अनुसार, ऐसे पॉलिसीधारक जिनकी पॉलिसी बंद हो चुकी है। वे भी रिजर्वेशन पोर्शन के जरिए आईपीओ के लिए आवेदन करने के पात्र हो सकते हैं। दस्तावेजों में कहा गया है कि ऐसे सभी पॉलिसीधारक आईपीओ के लिए रिजर्वेशन के तहत निवेश करने के हकदार हैं। जो मैच्योरिटी, सरेंडर या पॉलिसीहोल्डर की मृत्यु के चलते एलआईसी के रिकॉर्ड से बाहर नहीं हुए हैं।

'कमोडिटी' पर कई तरह की छूट का ऐलान: वित्तमंत्री

नई दिल्‍ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट में महिलाओं को तोहफा दिया है। बजट में सीतारमण ने कटे और पॉलिश डायमंड और रत्नों पर लगने वाली कस्टम ड्यूटी को 5% घटा दिया है। इसका मतलब है कि हीरे के गहने सस्ते होंगे। वहीं, नकली गहनों पर कस्टम ड्यूटी 400 रुपये प्रति किलो रहेगी। बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कमोडिटी पर कई तरह की छूट का ऐलान किया है। इसमें ज्वैलर्स को भी राहत दी गई है। कट एंड पॉलिश्ड डायमंड के लिए कस्टम ड्यूटी को 7.5 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया गया है। जेमस्टोन पर भी 7.5 फीसदी की कस्टम ड्यूटी लगती है।

ई-कॉमर्स के जरिए ज्वैलरी एक्सपोर्ट की सुविधा शुरू करने के लिए सरकार जून 2022 में सिम्प्लीफाइड रेग्युलेटर फ्रेमवर्क लेकर आएगी। सरकार के इस फैसले से जेम्स एंड ज्वैलरी इंडस्ट्री को बहुत बड़ी राहत मिलेगी। वित्त मंत्री ने बजट भाषण में कहा कि डायमंड आयात करने पर 5 फीसदी कस्टम ड्यूटी एक तरह से जीरो ड्यूटी ही है। बजट में 350 कृषि उत्‍पादों को भी छूट के दायरे में लाया गया है। इसमें केमिकल्स और ड्रग भी शामिल है।

वित्त मंत्री ने कहा कि कैपिटल गुड्स पर मिलने वाली छूट को धीरे-धीरे कम किया जाएगा। कैपिटल गुड्स पर शुरू कस्टम ड्यूटी 7.5 फीसदी होगी। देश में उत्‍पादन और विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए वर्तमान में दर्जनों पार्ट्स के आयात पर कस्टम ड्यूटी नहीं लगती है। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग को प्रमोट करने के लिए ड्यूटी में छूट की घोषणा की गई है। यह छूट पहनने वाली और सुनने वाली डिवाइस पर भी लागू होगी। मोबाइल फोन के पुर्जों पर भी कस्‍टम ड्यूटी से छूट दी गई है।

'हॉल ऑफ फेम' का ऐलान करेगा डबल्यूडबल्यूई

'हॉल ऑफ फेम' का ऐलान करेगा डबल्यूडबल्यूई    

अखिलेश पांडेय     

वाशिंगटन डीसी। डब्ल्यूडब्ल्यूई के फैन्स के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है। डब्ल्यूडब्ल्यूई द्वारा साल 2022 के लिए हॉल ऑफ फेम में शामिल होने के लिए  का नाम दिया जा सकता है। पिछले करीब तीन दशक से रेसलिंग की दुनिया पर राज़ करने वाले अंडरटेकर को ये बड़ा सम्मान मिलने जा रहा है। अप्रैल महीने में होने वाले रेसलमेनिया 38 से पहले डब्ल्यूडब्ल्यूई हॉल ऑफ फेम का ऐलान करेगा। तभी अंडरटेकर उर्फ मार्क कैलावे को इसमें शामिल किया जाएगा। डब्ल्यूडब्ल्यूई ने इसको लेकर बयान भी जारी कर दिया है कि साल 2022 के लिए अंडरटेकर ही पहले हॉल ऑफ फेम होंगे।

अंडरटेकर ने साल 1990 में डब्ल्यूडब्ल्यूई में डेब्यू किया था और पिछले 30 साल से वह लगातार इसका हिस्सा रहे हैं। 90's के दौर के लिए अंडरटेकर डब्ल्यूडब्ल्यूई के सबसे बड़े सुपरस्टार साबित हुए थे, जिन्होंने हर जगह अपना परचम लहराया। साल 2020 में अंडरटेकर ने अपना रिटायरमेंट अनाउंस किया था, उसी के बाद से वह रिंग में नहीं दिख रहे हैं। हालांकि, कुछ वक्त पहले अमेरिका में हुए डब्ल्यूडब्ल्यूई के लाइव इवेंट में वह दिखाई पड़े थे, लेकिन वहां भी अपनी वाइफ के समर्थन में पहुंचे थे।
अपने 30 साल के करियर में अंडरटेकर ने 7 वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किए हैं, साल 1991 में उन्होंने सर्वाइवर सीरीज़ जीती थी। जिसमें मेन इवेंट में हल्क होगान को मात दी थी। अंडरटेकर के लिए सबसे बेस्ट उनका औरा रहा, जो तीन दशक तक कायम रहा। यू-ट्यूब पर अंडरटेकर की एंट्री, कॉफिन से बाहर निकलना। इसके अलावा नॉकआउट पंच मारना काफी फेमस है, यही कारण है कि छोटी उम्र से लेकर बड़ी उम्र तक के डब्ल्यूडब्ल्यूई फैन्स अंडरटेकर के दीवाने रहे हैं। आपको बता दें कि अंडरटेकर का असली नाम मार्क विलियम कैलावे है, जो अमेरिका के टेक्सास के रहने वाले हैं। 56 साल के अंडरटेकर की वाइफ मिशेल मैक्कूल हैं, जो खुद इस वक्त डब्ल्यूडब्ल्यूई की हिस्सा हैं।

सीएम केजरीवाल ने 40 कवियों का अपमान किया

सीएम केजरीवाल ने 40 कवियों का अपमान किया   
अकांंशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कवि कुमार विश्वास की तकरार के बीच 40 कवियों ने सीएम को एक पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि केजरीवाल ने कवियों का अपमान किया है। इसलिए उन्हें बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए। इस पत्र में चालीस कवियों के नाम हैं।
जिनमें पद्मश्री से सम्मानित के डी नांबदूरी के अलावा दिनेश रघुवंशी, सुरेंद्र नारायण शर्मा 'जलज', नीरज भारद्वाज और गजेंद्र सोलंकी शामिल हैं। दरअसल, केजरीवाल ने कुमार विश्वास के संदर्भ में कवियों पर टिप्णपी की थी। कुमार विश्वास को गैर जिम्मेदार व्यक्ति बताते हुए उन्हें अविश्वसनीय बयान देने वाला बताया था।

कांग्रेस नेता पर गधा चोरी करने का आरोप लगाया

कांग्रेस नेता पर गधा चोरी करने का आरोप लगाया    

इकबाल अंसारी           
हैदराबाद। कांग्रेस नेता और नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष बालमूरी वेंकट नरसिंग राव को पुलिस ने ग‍िरफ्तार कर लिया है। बालमूरी वेंकट नरसिंग राव पर गधा चोरी करने का आरोप लगाया गया है। इसके साथ ही उन पर जानवरों के प्रति क्रूरता दिखाने, गैरकानूनी रूप से इकट्ठा होने और दंगा भड़काने का भी आरोप है। 
इस मामले में हैरान करने वाली बात यह है कि कांग्रेस नेता पर उसी गधे को चुराने का आरोप लगाया गया है, जिसका इस्तेमाल उन्होंने हाल ही में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में किया था। 
गिरफ्तार होने पर बालमूरी वेंकट नरसिंग राव ने मीडिया को बताया कि उसने किराया देकर गधा मंगवाया था जबकि पुलिस गधा चोरी का आरोप लगा रही है। फिलहाल बाकी छह आरोपियों की तलाश की जा रही है। तेलंगाना कांग्रेस के प्रमुख रेवंत रेड्डी ने कहा कि रात में छात्र नेता को गिरफ्तार करना गलत है।

लापरवाही, महामारी अभी खत्म नहीं हुई: डब्ल्यूएचओ

लापरवाही, महामारी अभी खत्म नहीं हुई: डब्ल्यूएचओ 

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। कोरोना महामारी के घटते संक्रमण को लेकर लोग फिर से लापरवाही बरतने लगे हैं। इस बीच डब्ल्यूएचओ ने आगाह किया है कि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेब्रेयेसस ने कहा है कि कोविड-19 के ज्यादा संक्रामक और ज्यादा खतरनाक वैरिएंट्स के उभरने के लिए स्थितियां आदर्श हैं। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि हम इस साल महामारी को खत्म कर सकते हैं।
डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेब्रेयेसस ने कहा कि ओमीक्रॉन वैरिएंट की कम गंभीरता को लेकर कई देशों में खतरनाक नैरेटिव चल रहा है कि महामारी खत्म हो गई। ऐसा सोचना नए वैरिएंट्स के उभरने के लिए आदर्श स्थितियां पैदा कर सकती हैं।
उन्होंने दो कारणों की ओर इशारा किया है जो कोविड-19 के नए वेरिएंट के उभरने के लिए एक आदर्श स्थिति को जन्म दे सकते हैं। उन्होंने इसके लिए कोरोना वैक्सीन की असमान पहुंच और कोरोना टेस्ट की कमी को बड़ी वजह बताया है। उन्होंने ओमिक्रॉन वेरिएंट की कम गंभीरता के बारे में कहा कि ओमिक्रॉन की प्रकृति को लेकर कई देशों में झूठी कथा चल रही है कि महामारी खत्म हो चुकी है।
डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने उन्होंने कहा कि राष्ट्रों को व्यापक रूप से रणनीतियों और उपकरणों का इस्तेमाल करने की आवश्यकता है। इसके तहत कम से कम 70 फीसदी आबादी को टीका लगाने का लक्ष्य, कोविड टेस्ट में तेजी लाना, अधिक वेरिएंट की तलाश करना और लगातार महामारी से संबंधित समस्याओं के समाधान ढूंढ़ना शामिल है।

बढोतरी: 41.72 फीसदी पर पहुंचीं 'क्रिप्टोकरेंसी'

बढोतरी: 41.72 फीसदी पर पहुंचीं 'क्रिप्टोकरेंसी'    

अकांशु उपाध्याय          

नई दिल्ली। ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैपिटलाइजेशन पिछले 24 घंटों के दौरान 1.47 फीसदी की गिरावट के साथ 1.83 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंच गया है। जबकि, ट्रेडिंग वॉल्यूम 16.75 फीसदी की गिरावट के साथ 72.95 अरब डॉलर हो गया है। जहां डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस 24 घंटों की क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग वॉल्यूम के 12.29 फीसदी के साथ 8.97 अरब डॉलर पर रहा है। वहीं, स्टेबलकॉइन्स इसके 80.75 फीसदी के साथ 58.91 अरब डॉलर पर रहे हैं। बिटकॉइन की बाजार में मौजूदगी 0.06 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 41.72 फीसदी पर पहुंच गई है। 

मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन 40,208.63 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। रुपये की टर्म में, बिटकॉइन 1.31 फीसदी की गिरावट के साथ 33,84,999 रुपये पर ट्रेड कर रहा है। वहीं, कारडानो 1.33 फीसदी नीचे गिरकर 83.86 रुपये पर मौजूद है। और एवलांच की कीमतें 0.57 फीसदी गिरकर 7,285.7 रुपये पर पहुंच गईं हैं।

पोलकाडोट की बात करें, तो यह क्रिप्टोकरेंसी पिछले 24 घंटों के दौरान 1.74 फीसदी की गिरावट के साथ 1,508 रुपये पर ट्रेड कर रही है। दूसरी तरफ, लाइटकोन 2.63 फीसदी नीचे गिरकर 9,792.5 रुपये पर ट्रेड कर रहा है। इसके अलावा थेथर 0.09 फीसदी के उछाल के साथ 78.27 रुपये पर आ गया है। आपको बता दें कि सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी और रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 संसद के शीतकालीन सत्र में पेश करने के लिए लिस्ट किया था। इसे पहले बजट सत्र के लिए भी लिस्ट किया गया था, लेकिन इसे पेश नहीं किया जा सका था, क्योंकि सरकार ने इस पर दोबारा काम करने का फैसला लिया था। क्रिप्टोकरेंसी पिछले कुछ समय में निवेश के तौर पर लोगों के बीच एक लोकप्रिय विकल्प बनकर सामने आया है। खास तौर पर, बड़ी संख्या में युवा इसमें पैसा लगा रहे हैं।

पूर्व सीएम कैप्टन की पत्नी ने रोड शो में हिस्सा लिया

पूर्व सीएम कैप्टन की पत्नी ने रोड शो में हिस्सा लिया    

अमित शर्मा    

चंडीगढ़। पंजाब लोक कांग्रेस की संस्थापक और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी परनीत कौर ने भी रोड शो में हिस्सा लिया। परनीत कौर पटियाला से कांग्रेस सांसद हैं और वह अपने पति के लिए प्रचार कर रही हैं। परनीत कौर पहले ही कह चुकी हैं कि वह अपने पति के साथ हैं। लेकिन, कांग्रेस ने अब तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है।

जबकि पार्टी ने अपने तीन मौजूदा विधायकों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का रास्ता दिखाया है। कैप्टन द्वारा अलग पार्टी बनाने के बाद भी उन्होंने पार्टी नहीं छोड़ी। लेकिन उन्हें पार्टी की ओर से पति के पक्ष में प्रचार करने पर नोटिस दिया गया था। परनीत कौर ने इस तरह के किसी नोटिस से इनकार किया है।

डिपॉजिट: एसबीआई ने ब्‍याज दरों में बदलाव क‍िया

डिपॉजिट: एसबीआई ने ब्‍याज दरों में बदलाव क‍िया    

अकांशु उपाध्याय     

नई द‍िल्‍ली। अगर आपका खाता भी स्‍टेट बैंक ऑफ इंड‍िया में है तो यह खबर आपके काम की है। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंड‍िया ने अपने ग्राहकों के ल‍िए रिकरिंग डिपॉजिट पर म‍िलने वाले ब्‍याज दरों में बदलाव क‍िया है। बैंक की तरफ से लागू की गई नई दरें 15 फरवरी से प्रभावी हो गई हैं। बैंक की तरफ से बढ़ाई गई रिकरिंग डिपॉजिट की दरों का फायदा ऐसे ग्राहकों को म‍िलेगा, जिन्होंने रिकरिंग डिपॉजिट करा रखी है। आप सिर्फ 100 रुपये की न्यूनतम जमा राशि के साथ एसबीआई में रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट खोला जा सकता है। ये अकाउंट 12 महीने से लेकर 10 साल तक के लिए खोला जा सकता है।

आपको बता दें फिक्स्ड डिपॉजिट की तरह, रिकरिंग डिपॉजिट में भी सीन‍ियर स‍िटीजन को हर टर्म में अतिरिक्त ब्याज म‍िलता है। बदलाव के बाद 1 से 2 साल तक के ल‍िए आरडी करने पर ब्याज 5.1 प्रतिशत के ह‍िसाब से द‍िया जाएगा। दो से तीन साल के पीर‍ियड पर रिकरिंग डिपॉजिट बढ़ाकर 5.20 फीसदी हो गया है। तीन से पांच साल की अवधि के लिए यह 5.45 प्रत‍िशत है। 5 से 10 साल के लिए यद‍ि कोई र‍िकर‍िंग कराता है तो इस दर को बढ़ाकर 5.50 फीसदी कर दिया गया है।

समुद्र में तैरते शख्स को व्हाइट शार्क ने जिंदा निगला

समुद्र में तैरते शख्स को व्हाइट शार्क ने जिंदा निगला    

अखिलेश पांडेय       
सिडनी। यह हादसा सिडनी के एक बीच पर हुआ।स्थानीय मीडिया ने बताया कि 1963 के बाद यह शार्क का पहला घातक हमला था। वही, सोशल मीडिया पर एक खौफनाक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो को देखकर आपके भी रोंगटे खड़े हो जाएं। वीडियो में एक शख्स समुद्र में तैरता दिखाई देता है। इस दौरान एक व्हाइट शार्क आती है और शख्स पर अचानक हमला कर देती है। इसके बाद शार्क उस शख्स को जिंदा निगल जाती है। 
इस दौरान उसका दोस्त कैमरे में वीडियो रिकॉर्ड करता रह जाता है। वीडियो में आप इस खौफनाक मंजर को देख सकते हैं। देखा जा सकता है कि एक शख्स जोर-जोर से चीख रहा है और कह रहा है कि शार्क ने एक आदमी को जिंदा खा लिया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह दिल दहला देने वाली घटना ऑस्ट्रेलिया के सिडनी स्थित लिटिल बे बीच की है। इस घटना के सामने आने के बाद लोगों की रूह कांप गई है।

यूपी: तीसरे-चौथे चरण के मतदान की तारीखें नजदीक

यूपी: तीसरे-चौथे चरण के मतदान की तारीखें नजदीक   

संदीप मिश्र        

पीलीभीत। जैसे-जैसे उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में तीसरे और चौथे चरण के मतदान की तारीखें नजदीक आती जा रही हैं। ठीक उसी तरह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसी कड़ी में सीएम योगी ने पीलीभीत के पूरनपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि पहले अराजकता, सत्ता प्रायोजित दंगे, अपराध व अराजकता का तांडव होता था। कोई अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं करता था। 5 साल में भाजपा सरकार ने जो काम किया उससे न कोई दंगा-कर्फ्यू, न महिलाओं व व्यापारियों का उत्पीड़न हुआ।

मुख्यमंत्री याेगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाइयों बहनों मां गोमतीके उद्गम स्थल व यहां के किसानों के परिश्रम से उर्वरक धरती पीलीभीत में आपका स्वागत करता हूं। आज फिर से पूरनपुर के मतदाता भाइयों बहनों का आभार व्यक्त करने आया हूं। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले पूरनपुर और प्रदेश में क्या होता था यह किसी से छिपा नहीं है। कर्फ्यू का स्थान कांवड़ यात्रा ने ले लिया है। विकास के पथ पर हमारा पीलीभीत बढ़ रहा है। पीलीभीत को मेडिकल कालेज मिल रहा है तो दशकों पुराना सपना पूरा हो रहा है। विधायक बाबूराम पासवान के अनुरोध पर रामलला मैदान आपको दिया है। अगली बार इसका सुंदरीकरण और बेहतर करेंगे। पिछली सरकारों में अन्नदाता आत्महत्या करता, किसान भूख से मरता था, व्यापारी तबाह था, नौजवान बेरोजगार था।

इंजीनियर ने गूगल में 232 कमियां निकाली, इनाम

इंजीनियर ने गूगल में 232 कमियां निकाली, इनाम   

मनोज सिंह ठाकुर           

इंदौर। इंदौर का रहने वाला एक इंजीनियर लड़का इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब चर्चा में है। ऐसा इसलिए क्योंकि, इस इंजीनियर ने गूगल जैसे सर्च इंजन में 232 कमियां निकाली हैं। गूगल ने उसको इस काम के लिए 65 करोड़ रुपये का मोटा इनाम दिया है। अमन पांडे इंदौर के रहने वाले हैं। उन्होंने एनआईटी भोपाल से बीटेक में ग्रेजुएशन की थी। इसी के साथ वे मोबाइल ऐप डेवलपमेंट, जावा और प्रोडक्ट को डेवलप करने में एक्सपर्ट हैं। भारत के इस लड़के ने गूगल के एंड्रॉयड में 232 खामियां निकाली हैं।

ये कोई छोटी-मोटी बात नहीं है, गूगल हमेशा से अपनी सिक्योरिटी और तकनीकी सूविधाओं के लिए जाना जाता है। ऐसे में भारत के इस लड़के ने गूगल में 232 कमियां निकल कर मानों की गूगल को अपनी तरफ से फेल कर दिया है। अमन पांडे साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर और बी बॉक्स में बग्समिरोर के फाउंडर और सीईओ हैं। अमन 2019 से गूगल की कमियों को खोज रहे हैं और गूगल को रिपोर्ट भी कर रहे हैं।बता दें की वह अब तक 280 से ज्यादा गूगल की वैलिड कमियों को ढूंढ चुके हैं। गूगल ने अमन पांडे को पिछले साल यानी 2021 में अपने वल्नेरेबिलिटी रिवॉर्ड प्रोग्राम में टॉप रिसर्चर घोषित करके 65 करोड़ रुपये का मोटा इनाम दिया है।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 22,270 नए मामलें

वहीं, देश में अब एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 2 लाख 53 हजार 739 हो गई है. वहीं, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 11 हजार 230 हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक 4 करोड़ 20 लाख 37 हजार 536 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।

गला घोंटकर हत्या, पानी की टंकी में मिला शव

गला घोंटकर हत्या, पानी की टंकी में मिला शव      

दुष्यंत टीकम      

रायपुर। तिल्दा इलाके में एक महिला की गला घोंटकर हत्या के बाद शव को सूने में फेंक दिया। वारदात के बाद हत्यारे मौके से फरार हो गए। पुलिस मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश ले रही है। तिल्दा पुलिस जल्द मामले का खुलासा करेगी। सुबह कुंती बाई साहू उम्र 50 वर्ष का शव पानी टंकी में मिला था। मृतका खपरीकला गांव की रहने वाली थी। महिला राइस मिल में हमाली का काम करती थी। हत्या के बाद गले में ही गमछा छोड़कर हत्यारे निकले हैं।

पुलिस के मुताबिक- 50 से 55 वर्षीय खपरी कला निवासी कुंती बाई साहू नाम की महिला का शव सिनोधा गांव के नर्सरी की पानी टंकी में मिला है। मृतिका सुरेश राइस मिल में काम करती थी। वह अकेले रहती थी। जिस जगह इसका शव मिला है उसी इलाके से वह आना जाना करती थी। मृतिका कुंती का पीएम कराया गया है। उसकी गला दबाकर हत्या की गई है। हत्या का केस दर्ज कर जांच कर रहे हैं। इस मामले में अभी कोई क्लू नहीं मिल पाया है।

'सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट' परियोजना को रोकने की मांग

'सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट' परियोजना को रोकने की मांग   

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। सनावद नगर का सत्तर फीसदी गंदा पानी गंदे नालों के माध्यम से जीवनदायिनी नर्मदा नदी में मिल रहा है। 6 साल पहले संरक्षित नर्मदा जल के लिए प्रस्तावित सनावद सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट परियोजना का 2018 में शिलान्यास तो हुआ, लेकिन विगत 4 सालों में कागजी प्रक्रिया में रहते उस पर मैदानी काम प्रारंभ नहीं हो सका है। जहां जानकारी में जल्द ही सीवेज के पानी को साफ करने की प्रक्रिया में (वेट वेल एवं प्रायमरी ट्रीटमेंट यूनिट आदि) निर्माण के लिए भूमि पूजन की तैयारी की जा रही है। वही खबर है, इस बार मंडी बोर्ड की भुमि पर बिना सक्षम अनुमति ट्रीटमेंट प्लांट का कार्य भारतीय किसान संघ के विरोध पर है। जो योजना निर्माण की एक बार फिर असमंजसता को लेकर है।

फिलहाल कृषि मंडी बोर्ड एंव नगरपालिका का पक्ष सामने नहीं आया है। दरअसल, भारतीय किसान संघ द्वारा तहसीलदार शिवराम कनाशे एवं नायब तहसीलदार कृष्णा पटेल को एक ज्ञापन दिया गया है। जिसमें कृषि उपज मंडी की भूमि पर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट कार्य को रोकने की मांग की गई है। ज्ञापन अनुसार कृषि उपज मंडी सनावद के खरगोन रोड स्थित मंडी प्रांगण में नगर पालिका द्वारा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट नल-जल योजना का निर्माण कार्य शुरू किया जा रहा है। जो कृषि उपज मंडी समिति सनावद एवं कृषि विपणन बोर्ड की बिना अनुमति के हो रहा है। सीजन में जगह कम होने होने से अधिक संख्या में वाहन और बैलगाड़ी आने पर किसानों को अपने वाहन लगाने एवं उपज मंडी में लाने में परेशानी होगी। वही पटवारी हल्का नंबर 42 में कई शासकीय भूमि है वहां पर भी ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण किया जा सकता है।

इस तरह बिना अनुमति के मंडी प्रांगण में शुरू होने वाले नल जल योजना के काम को रोके जाने की मांग की गई है। ऐसा ना होने पर भारतीय किसान संघ को विरोध मे आंदोलन करना पड़ेगा। संघ के रेवाराम भायड़िया अनुसार जब किसानों के लिए उक्त भूमि दी गई है। तो कृषि विपणन बोर्ड से इस बात की स्वीकृति लेना चाहिए थी। लेकिन, नगर पालिका द्वारा ऐसा नहीं करते हुए भूमि पूजन की तैयारी की जा रही है। इस संबंध में जिलाधीश से मिलकर भी उन्हें किसानों की समस्या से अवगत कराया जाएगा। इस दौरान केवल राम चौधरी, जबर सिंह पवार, हरनाम सिंह, नाना जी बिरला, जितेंद्र किराड़े सहित किसान भी मौजूद थे।

चुनाव: अखिलेश को घेरने की कोशिशों में भाजपा

चुनाव: अखिलेश को घेरने की कोशिशों में भाजपा    

संदीप मिश्र      
इटावा। समाजवादी पार्टी के मजबूत किले के तौर पर माने जाने वाले मैनपुरी के करहल में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को घेरने की कोशिशों मेंं भारतीय जनता पार्टी जोर-शोर से लगी है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि अपने पिता मुलायम सिंह यादव के राजनीतिक गुरु नत्थू सिंह यादव की सीट से पहली दफा विधानसभा चुनाव लड़ रहे अखिलेश यादव की मजबूत घेराबंदी भाजपा की सपा के खिलाफ मनोवैज्ञानिक बढ़त लेने की रणनीति का एक अहम हिस्सा हो सकता है। 20 फरवरी को तीसरे चरण के मतदान में इस सीट का फैसला मतदाता करेंगे। यादव लैंड में अखिलेश के चुनावी रण में उतरने के ऐलान के साथ माना जा रहा था कि भाजपा इस सीट पर औपचारिकता निभाने के लिये कमजोर प्रत्याशी उतार कर सपा अध्यक्ष को आसान जीत का मौका दे देगी। 
मगर कयासों के विपरीत भाजपा ने जातीय समीकरणों को ध्यान में रखते हुये अपने कद्दावर केन्द्रीय राज्य मंत्री एसपी सिंह बघेल को टिकट थमा कर आक्रामक रवैये का संकेत दे दिया था। इतना ही नहीं करहल में राजनीति के चाणक्य कहे जाने गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ समेत अन्य नेताओं ने ताबड़तोड़ जनसभा कर सपा मुखिया को करहल में प्रचार करने के लिये लौटने पर विवश किया। जानकारों के मुताबिक इस सीट का मिजाज ऐसा नहीं माना जा है, कि सपा के मुकाबले भाजपा को कामयाबी मिलती दिख रही हो मगर भाजपा की आक्रामक नीति के चलते अखिलेश के लिये वोट मांगने उनके पिता एवं पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव को करहल की धरती पर उतरना पड़ा। यहां दिलचस्प है कि करहल के जरिये देश के प्रतिष्ठित यादव परिवार को अपनी एकता दिखाने का भी अवसर मिला जो भाजपा की पेशानी में बल डालने वाला हो सकता है। राजनीति से विरत रहकर खेती किसानी में मन लगाने वाले अखिलेश के चाचा अभय राम यादव, पीएसपीएल के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव,सपा के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव के अलावा भाई धर्मेंद्र यादव और तेज प्रताप यादव समेत सैकड़ो प्रमुख लोग अखिलेश के लिए एक मंच पर खड़े नजर आये। परिवार का हर सदस्य चाहता है कि अखिलेश रिकॉर्ड मतों से करहल विधानसभा सीट से जीत करके पहली दफा विधानसभा में पहुंचे लेकिन भाजपा की मजबूत घेराबंदी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि चुनाव प्रचार के आख़िरी दिन खुद मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ भाजपा उम्मीदवार एसपी सिंह बघेल के लिए वोट मांगने उतरे और मुलायम परिवार पर गंभीर आरोप लगाकर अखिलेश को घेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। भाजपा उम्मीदवार केंद्रीय राज्य मंत्री एसपी सिंह बघेल पर हुए कथित हमले के बाद भाजपा के तेवर और तल्ख हुये है। 
मगर सपा के नेता मानते हैं कि एसपी सिंह बघेल ने खुद पर हमला करवा कर सपा को बदनाम करने और जनता से सहानुभूति लेने की कोशिश की है। जब बघेल को केंद्रीय स्तर की सुरक्षा मिली हुई है तो आखिरकार ऐसे में उनके ऊपर हमला कैसे संभव है। करहल में यादव मतदाताओं की बहुतयात होने के बावजूद बघेल को जातीय समीकरण के आधार पर अपनी जीत का पूरा भरोसा है। उनका कहना है कि करहल विधानसभा सीट का जातीय समीकरण ऐसा है। जिसके आधार पर उनकी जीत को कोई नही रोक रहा है। योगी को यकीन है कि करहल से अखिलेश यादव किसी भी सूरत में नहीं जीत सकते हैं।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने तो कह दिया कि करहल सीट से हारने के बाद अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी समाप्त पार्टी में तब्दील हो जाएगी। अमित शाह समाजवादियों को अपराधियों का संरक्षक और अपराधियों का मददगार बता कर के अखिलेश यादव को घेरने की बात कह कर के एसपी सिंह बघेल के लिए वोट मांगते हुए दिखाई दिए हैं। इस सीट पर सबसे ज्यादा असर तो अखिलेश यादव के चाचा पीएसपीएल के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव के उनको अपना नेता मान करके उत्तर प्रदेश का एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनाने की बात से पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। शिवपाल के समर्थक कभी अखिलेश से नाराज हुआ करते थे, वह आज की तारीख में समाजवादी झंडा उठाकर के अखिलेश की बड़ी जीत के लिए तत्पर हो गए हैं। प्रो.रामगोपाल यादव मतदान से पहले से अखिलेश यादव की जीत को सुनश्चिति करते हुए बताते हैं कि पता नहीं क्या सोच कर के भाजपा के सभी नेता करहल विधानसभा सीट पर राजनीति कर रहे हैं।

इस सीट से अखिलेश की रिकॉर्ड मतों से जीत होगी जो 10 मार्च को नतीजे के तौर पर हर किसी को दिखाई देगी। करहल विधानसभा क्षेत्र मुलायम के राजनीतिक गुरु चौधरी नत्थू सिंह यादव का गृह क्षेत्र है। नत्थू सिंह ने 1967 में जसवंतनगर की विधानसभा सीट मुुलायम सिंह यादव को सौंप दी थी। पहली बार मुलायम सिंह यादव यहीं से विधानसभा पहुंचे। राजनीतिक विश्लेषक उदयभान सिंह यादव ने कहा कि इटावा से मैनपुरी तक समाजवादियों का गढ़ माना जाता है । इलाके में मुलायम सिंह के परिवार की गहरी पैठ दिखती है और बीजेपी का कोई नामलेवा नजर नहीं आता। करहल में कुल तीन लाख 71 हजार वोट है जिनमे यादव एक लाख 44 हज़ार, शाक्य 35 हजार, क्षत्रिय 25 हजार, लोधी 11 हजार, मुस्लिम 14 हजार, ब्राह्मण 14 हजार, जाटव 34 हजार है। करहल सीट सपा के गठन से ही उसका गढ़ रही है। तीन दशक से पार्टी का सीट पर कब्जा है। यहां 38 फीसदी यादव हैं। करहल विधानसभा में साल 2017 में कुल 49.57 फीसदी वोट पड़े थे। सपा के सोबरन सिंह यादव को यहां 1 लाख 4 हजार 221 वोट मिले थे। वहीं बीजेपी की रमा शाक्य को 65 हजार 816 लोगों ने मतदान किया था। तीसरे नंबर पर बीएसपी के दलवीर रहे, जन्हिें 29 हजार 676 वोट मिले।

'पीएम' मोदी ने 100 किसान ड्रोन का उद्घाटन किया

'पीएम' मोदी ने 100 किसान ड्रोन का उद्घाटन किया    

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किसानों की मदद करने के उद्देश्य से एक विशेष अभियान के तहत भारत के विभिन्न शहरों और कस्बों में खेतों में कीटनाशकों का छिड़काव करने के लिए 100 किसान ड्रोन का उद्घाटन किया। उद्घाटन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पहले ड्रोन के नाम से लगता था कि यह सेना से जुड़ी कोई व्यवस्था है या दुश्मनों से मुकाबला करने के उपयोग में काम आने वाली चीजें हैं। 

लेकिन अब यह 21वीं सदी की आधुनिक कृषि व्यवस्था की दिशा में एक नया अध्याय है। मुझे विश्वास है कि यह शुरुआत न केवल ड्रोन सेक्टर के विकास में मील का पत्थर साबित होगी। पीएम ने आगे कहा, ‘मुझे बताया गया है कि गरुड़ एयरोस्पेस ने अगले 2 सालों में 1 लाख मेड इन इंडिया ड्रोन बनाने का लक्ष्य रखा है। इससे युवाओं के लिए नए रोजगार और नए अवसर पैदा होंगे।

रूस: टिक-टॉक ने 'समाचार एजेंसी' को ब्लॉक किया

रूस: टिक-टॉक ने 'समाचार एजेंसी' को ब्लॉक किया   

अखिलेश पांडेय     

मॉस्को। टिक-टॉक एप ने रूस की सरकारी समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती के अकाउंट को ब्लॉक कर दिया है। इससे पहले टिक-टॉक ने रूस की डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक डेनिस पुशिलिन पार्टी प्रमुख के वीडियो को डिलीट कर दिया था। सोशल नेटवर्क ने पुशिलिन के उस वीडियो को डिलीट कर दिया, जिसमें डोनबास में तनाव बढ़ने पर रूस के रोस्तोव क्षेत्र से डीपीआर नागरिकों को निकालने की आवश्यकता के बारे में बात कही गयी थी। इस वीडियो को 12 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा था।

इसके तुरंत बाद, आरआईए नोवोस्ती के खाते को नेटवर्किंग साइट के नियमों के उल्लंघन के आरोप में बंद कर दिया गया, हालांकि टिक-टॉक की ओर से यह नहीं बताया गया कि आरआईए ने किन नियमों का उल्लंघन किया है। आरआईए का टिक-टॉक अकाउंट अभी भी उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है, लेकिन समाचार एजेंसी अब वहां वीडियो पोस्ट नहीं कर सकती है। आरआईए नोवोस्ती इस तरह के कदम को अस्वीकार्य मानती है और इसके खिलाफ अपील करेगी।

अभिनेत्री आलिया ने 'गंगूबाई' का पोस्टर शेयर किया

अभिनेत्री आलिया ने 'गंगूबाई' का पोस्टर शेयर किया 

कविता गर्ग     

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट ने अपनी आने वाली फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी का पोस्टर शेयर किया है। संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनीं फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी में आलिया भट्ठ की मुख्य भूमिका है। इस फिल्म में आलिया ,गंगूबाई काठियावाड़ी' की भूमिका में नजर आयेगी। आलिया ने फिल्म से अपना यह नया पोस्टर सोशल मीडिया पर फैंस के साथ शेयर किया है। आलिया ने कैप्शन में उन्होंने लिखा है, “लिख देना कल अखबार में, आ रही है गंगु...एक हफ्ते में।

गौरतलब है कि फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ मुंबई के कमाठीपुरा के एक वेश्यालय की मैडम गंगूबाई कोठेवाली के जीवन से प्रेरित है और हुसैन जैदी की किताब 'माफिया क्वींस ऑफ मुंबई' के एक अध्याय पर आधारित है। फिल्म 'गंगूबाई काठियावाड़ी' 25 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज होने के लिए पूरी तरह तैयार है। इस फिल्म में अजय देवगन विशेष भूमिका में नजर आयेंगे।

फोटोशूट में व्यस्त मां, पानी में डूबकर बेटे की मौत

फोटोशूट में व्यस्त मां, पानी में डूबकर बेटे की मौत     

सुनील श्रीवास्तव    

बैंकॉक। मौत को लेकर विभिन्न प्रकार के मामले सामने आते रहते हैं। छोटी-छोटी गलतियां का भारी नुकसान झेलना पड़ा जाता है। ऐसा ही एक मामला थाईलैंड से सामने आया है कि बच्चें को स्वीमिंग पूल के पास खड़ा कर अपने महिला फोटोशूट कराने में इतनी व्यस्त हो गई कि उसने अपने बेटे को खो दिया। प्राप्त समाचार के अनुसार थाईलैंड के पटाया शहर में एक परिवार पार्टी कर रहा था, जिसमें बहुत सारे गेस्ट पहुंचे थे। इसी दौरान एक महिला मॉडल स्विमिंग पूल के निकट फोटोशूट कराने में व्यस्त थी। 

इसी दौरान उनके पीछे एक मासूम बच्चा एक विला स्विमिंग पूल में डूब रहा था लेकिन महिला को सिर्फ फोटोशूट कराने में व्यस्त थी, उसे इतना भी नहीं पता था कि उसके पीछे क्या हो रहा है। बच्चों को डूबता हुए वहां पर मौजूदा किसी व्यक्ति ने देखा तो उसने भागकर बच्चा को वहां से उठा लिया, जिसके बाद बच्चे के तबियत खराब होता देख उसके उपचार के लिये उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया लेकिन उसकी उपचार के दौरान ही मौत हो गई। जब महिला को इसका पता चला तो महिला चिल्लाने लगी और कहने लगी कि उसका दिल टूट या है। अब वह जीना नही चाहती है। महिला ने कहा कि वह अपने बच्चे को वापस लाने के लिये गॉड से प्रार्थना करती रही लेकिन उसकी जान नहीं बच पाई है। बताया जा रहा है कि महिला का पति फोटोग्राफर है और इसने ही यह पार्टी रखी थी और अपने रिलेटिव लोगों को भी बुलाया था लेकिन यह खुशी मातम में तब्दील हो गई।

107वें दिन 'पेट्रोल-डीजल' की कीमत में ठहराव

107वें दिन 'पेट्रोल-डीजल' की कीमत में ठहराव  
अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमत 93 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर पहुंचने के बावजूद घरेलू स्तर पर शनिवार को लगातार 107वें दिन भी पेट्रोल और डीजल के दाम में टिकाव रहा।
केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमशः पांच और 10 रुपये घटाने की घोषणा के बाद 04 नवंबर 2021 को ईंधन की कीमतों में तेजी से कमी आई थी। इसके बाद राज्य सरकार के मूल्य वर्धित कर (वैट) कम करने के फैसले के बाद राजधानी दिल्ली में भी वैट को कम करने का निर्णय लिया गया। इसके बाद राजधानी में 02 दिसंबर 2021 को पेट्रोल लगभग आठ रुपये सस्ता हुआ था। डीजल की भी कीमतें हालांकि जस की तस बनी रहीं।
केंद्र द्वारा उत्पाद शुल्क में कटौती के बाद अधिकांश राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों ने भी पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित कर (वैट) कम कर दिया था, जिससे आम आदमी को काफी राहत मिली थी।
पेट्रोल-डीजल के मूल्यों की नित्य प्रतिदिन समीक्षा होती है और उसके आधार पर प्रतिदिन सुबह छह बजे से नयी कीमतें लागू की जाती हैं।

रिलायंस जियो का प्लान, डेटा की कोई लिमिट नहीं

रिलायंस जियो का प्लान, डेटा की कोई लिमिट नहीं   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। रिलायंस जियो ने टैरिफ हाईक के बाद अपने रिचार्ज प्लान में कई बदलाव किए हैं। यूजर्स को खुश रखने के लिए जियो ने एक ऐसा प्लान पेश किया हुआ है। जिसमें आप बिना लिमिट के इंटरनेट यूज कर सकते हैं और कॉल पर बात कर सकते हैं। अगर आप भी अपनी मर्ज़ी से डेटा का यूज करना चाहते हैं तो जियो का ये प्लान आपके लिए बेस्ट रहेगा। रिलायंस जियो के इस प्लान में आप एक दिन में कितना भी डेटा इस्तेमाल कर सकते हैं। यानी, हर दिन यूज किए जाने वाले डेटा की कोई लिमिट नहीं है। साथ ही, यह जियो का इकलौता ऐसा प्लान है। जिसमें यूजर्स को एक महीने यानी पूरे 30 दिन की वैलिडिटी मिलती है। जियो के इस प्लान की कीमत 300 रुपये से कम है तो आइए जानते हैं कि जियो के इस प्लान में और क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

जियो के 296 रुपये वाले इस प्लान में किसी भी नेटवर्क पर फ्री कॉलिंग का फायदा मिलता है। यानी, आप अनलिमिटेड कॉल कर सकते हैं। रिलायंस जियो का यह प्लान जियो के फ्रीडम प्लान्स कैटेगरी में आता है। जियो के इस प्लान में 25GB डेटा मिलता है। खास बात यह है कि इस डेटा में से आप हर दिन कितना भी डेटा इस्तेमाल कर सकते हैं। यानी, हर दिन खर्च किए जाने वाले डेटा की कोई लिमिट नहीं है। नो डेली डेटा लिमिट वाला भी यह जियो का अकेला प्लान है।

'इंटरनेशनल ओलंपिक' की मेजबानी करेगा भारत

'इंटरनेशनल ओलंपिक' की मेजबानी करेगा भारत    

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्‍ली। भारतीय खेल जगत के लिए एक बड़ी खबर आ रही है। भारत 40 साल बाद इंटरनेशनल ओलंपिक समिति की मेजबानी करेगा। भारत ने चीन के बीजिंग में चल रहे इंटरनेशनल ओलंपिक समिति के 139वें सत्र में शनिवार को 40 साल बाद इसकी मेजबानी के लिए बोली जीत ली है। भारत के पहले व्‍यक्तिगत ओलंपिक गोल्‍ड मेडलिस्‍ट अभिनव बिंद्रा, आईओसी सदस्‍य नीता अंबानी, भारतीय ओलंपिक संघ के अध्‍यक्ष नरिंदर बत्रा, युवा मामलों और खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने 139वें सत्र में आईओसी सदस्‍य को प्रेजेंटेशन दी। भारत में दूसरी बार आईओसी सेशन होगा। इससे पहले 1983 में नई दिल्‍ली में सेशन का आयोजन हुआ था। अगस्त 2019 में आईओसी की समिति जिओ वर्ल्ड सेंटर को देखने आई थी और काफी प्रभावित हुई थी। इसके अगले साल 4 मार्च 2022 को तय हो गया था कि सत्र की मेजबानी मुंबई करेगा।

आईओसी सत्र आईओसी के सदस्‍यों की जनरल मीटिंग है। यह आईओसी का सर्वोच्‍च हिस्‍सा है और इसके फैसले अंतिम होते हैं। एक साधारण सत्र का आयोजन साल में एक बार होता है। जबकि असाधारण सत्र को प्रेसिडेंट या फिर कम से कम एक तिहाई सदस्‍यों के लिखित अनुरोध पर बुलाया जा सकता है। आईओसी में वोटिंग अधिकार के साथ कुल 101 सदस्‍य है। इसके अलावा 45 मानद सादस्‍य और एक सम्‍मान सदस्‍य है, जिन्‍हें वोट देने का अधिकार नहीं है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-134, (वर्ष-05)
2. रविवार, फरवरी 20, 2022
3. शक-1984, फाल्गुन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:01, सूर्यास्त: 06:09।
5. न्‍यूनतम तापमान- 13 डी.सै., अधिकतम-26+ डी सै.।  बर्फबारी व शीतलहर की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, (प्रधान संपादक) राधेश्याम व शिवांशु, (सहायक संपादक) श्रीराम व सरस्वती के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
10.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालयः डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम  हरिशंकर त्रिपाठी  देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में दशहरा, ईद...