बिहार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
बिहार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 14 अक्तूबर 2021

दशहरा के बाद ताकत झोंकने की तैयारी में दल

अविनाश श्रीवास्तव      

पटना। बिहार की दो विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर सभी दल दशहरा के बाद अपनी पूरी ताकत झोंकने की तैयारी में हैं। सभी दल दशहरा के बाद अपनी-अपनी रणनीति के साथ चुनावी समर में खम ठोकेंगे। ऐसे में देखा जाए तो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को जहां महागठबंधन में फूट पड़ने की आस है। वहीं प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी को अपने नेता लालू प्रसाद पर भरोसा है। वैसे, देखा जाए तो एनडीए और आरजेडी सहित सभी पार्टियां अपनी-अपनी जीत के दावे कर रही हैं।

इस चुनाव में सत्ताधारी गठबंधन एनडीए में जेडीयू के कोटे में दोनों सीटें कुशेश्वरस्थान और तारापुर गई हैं। जेडीयू ने इन दोनों सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं। इधर, आरजेडी और कांग्रेस इस चुनाव में अलग-अलग ताल ठोंक रहे हैं। जबकि एलजेपी (रामविलास) ने भी अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं। जिससे मुकबला दिलचस्प होने की उम्मीद है।
बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनंद कहते हैं कि पिछले साल हुए चुनाव में दोनों सीटों पर जेडीयू के प्रत्याशी विजयी हुए थे और इस उपचुनाव में भी वही परिणाम होगा। उन्होंने एनडीए की जीत का दावा करते हुए कहा, विधानसभा उपचुनाव में निश्चित तौर पर एनडीए जीतने की स्थिति में है। महागठबांन का सवाल है तो दोनों पार्टियां कांग्रेस और आरजेडी अलग हो चुकी हैं। लालू के चुनाव प्रचार में आने से प्रभाव के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद को प्रचार में आने के पहले अदालत से आदेश लेना चाहिए। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि आरजेडी कभी भी उपचुनाव को लेकर लालू प्रसाद के स्वास्थ्य पर दांव नहीं लगाएगी। अभी उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस की स्थिति तो पहले से ही खराब चल रही है। इधर, जेडीयू के प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री नीरज कुमार भी कहते हैं कि विपक्ष पहले से ही हार स्वीकार कर चुका है। उन्होंने आरजेडी और उस के नेता लालू प्रसाद पर कटाक्ष करते हुए कहा, सुनने में आ रहा है कि जो पंचायत चुनाव भी नहीं लड़ सकते उन्हें प्रचार के लिए बुलाया जा रहा है। तेजस्वी यादव को अपने राजनीतिक पुरूषार्थ पर भरोसा नहीं। वे अनुकंपा की बुनियाद पर राजनीति में हैं। अब बिहार की जनता ऐसे लोगों को नहीं जीताएगी।

बिहार के राजनीतिक गलियारों में इस उपचुनाव को लेकर चर्चा है कि प्रचार के लिए लालू प्रसाद आने वाले हैं। हालांकि, अब तक इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। इधर, आरजेडी के स्टार प्रचारकों की सूची में भी लालू प्रसाद पहले नंबर पर हैं। ऐसे में कहा जा रहा है कि इस उपचुनाव में लालू प्रसाद प्रचार के लिए जरूर आएंगे।
इस बीच, आरजेडी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि विधानसभा के दो सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। दोनों सीटों पर यदि लालू प्रसाद चुनाव प्रचार के लिए आएंगे तो उसका कोई मुकाबला नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद यहां के लोगों के दिल में बसते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में भी राज्य के मतदाताओं ने आरजेडी को सबसे बड़ी पार्टी बनाई थी और इस उपचुनाव में भी आरजेडी विजयी होगी।

मंदिर के प्रधान पुजारी की गोली मारकर हत्या की

अविनाश श्रीवास्तव      

दरभंगा। बिहार में दरभंगा जिले के विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र में अपराधियों ने गुरूवार की सुबह कुलदेवी कंकाली मां मंदिर के प्रधान पुजारी की गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं भाग रहे अपराधियों में से एक को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला।

दरभंगा के वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम ने यहां बताया कि आज अहले सुबह रामबाग मुहल्ला स्थित कंकाली मंदिर के पुजारी राजीव कुमार झा उर्फ अंटू की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है। वही पुजारी के साथ सोए एक अन्य भक्त चिरंजीव झा उर्फ शंभू गोली लगने से घायल हो गया। उन्होंने बताया कि घायल शंभू झा का इलाज शहर के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। घटना से आक्रोशित लोगों ने भाग रहे तीन अपराधियों को पकड़ लिया और उन्हें पीट पीटकर घायल कर दिया।

बुधवार, 13 अक्तूबर 2021

150 वर्ष पुराने मंदिर में 501 कलश स्थापित किएं

अविनाश श्रीवास्तव        
मोतिहारी। पूर्वी चंपारण के मोतिहारी स्थित मीना बाजार में 150 वर्ष पुराने मंदिर में 501 कलश स्थापित कर माता भगवती की आराधना की जा रही है। यह बात मोतिहारी सहित पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।
श्रद्धालु भक्त विभिन्न स्थानों से आकर इस कलश पूजा व माता भगवती की आराधना को देख रहे हैं। बताया जाता है कि इस अति पुराने मंदिर का निर्माण मीना बाजार के व्यवसायियों ने कराया था। यहां पूजारी के रूप में रहकर एक दानी बाबा भगवान की पूजा अर्चना करते थे। इस मंदिर में लगभग 45 देवी-देवताओं की मूर्ति स्थापित है।
30 वर्षों से चल रही कलश स्थापना की परंपरा : बताया जाता है कि इस मंदिर में लगभग 30 वर्षों से कलश स्थापना की परंपरा चल रही है। मंदिर निर्माण काल समय मंदिर की व्यवस्था उतना सुदृढ नहीं था, तो मोतिहारी के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मलकौनिया गांव निवासी श्री केदारनाथ सिंह ने मंदिर के जीर्णोद्धार का संकल्प लिया तथा यहां के व्यवसायियों के सहयोग से इस मंदिर का जीर्णोद्धार शुरू किया। अभी इस मंदिर परिसर में लगभग 45 देवी-देवताओं की मूर्ति प्रतिष्ठित है। मंदिर में माता वैष्णो देवी दरबार एवं नवदुर्गा की अलग-अलग प्रतिमा है।
एक कलश से शुरू होकर 501 कलश तक का सफर : मंदिर में चैत नवरात्र व शारदीय नवरात्र पूजा में कलश स्थापित करने की शुरुआत 30 वर्ष पहले एक कलश स्थापित कर शुरू की गई। इसके बाद कलश स्थापना की परंपरा लगातार बनी रही। साथ हीं धीरे-धीरे कलश की संख्या भी बढ़ती चली गई। पहले एक से बढ़कर कलश की संख्या पांच पर पहुंची। पांच के बाद 11 कलश की स्थापना की गई।
इसके बाद यह सफर 11, 21, 51, 101, 151, 201, 251, 301, 350, 501 कलश तक पहुंच गई है तथा इस वर्ष इस मंदिर में 501 कलश की स्थापना की गई है। इस मंदिर की व्यवस्था में केदारनाथ सिंह, आराधना सम्राट संजय कुमार रमण, प्रकाश सिंह, समीर कुमार पिंटू, पं. प्रमोद कु0 मिश्रा सहित जितने बहुत सारे लोग भी जुडें हुए हैं, उनकी स्थिति हर दृष्टि से अच्छी है तथा उन लोगों की चांदी कट रही है। 

नेता तेजस्‍वी ने आरजेडी नेताओं की मीटिंग बुलाई

अविनाश श्रीवास्तव     

पटना। बिहार में विधानसभा की दो सीटों कुशेश्वरस्थान और तारापुर सीट पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने मंगलवार को आरजेडी नेताओं की हाईलेवल मीटिंग बुलाई है। यह बैठक बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के सरकारी आवास 10 सर्कुलर रोड पर बुलाई गई है।

बताया जा रहा है कि यह बैठक दोपहर करीब दो बजे से शुरू होगी। बैठक में तेजस्वी यादव, प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह के अलावा राबड़ी देवी और पार्टी के और भी अनुभवी नेता शामिल हो सकते हैं। इस बैठक में 2020 बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी की ओर से उतरे सभी प्रत्याशियों और पूर्व विधायकों को मौजूद रहने को कहा गया है। पार्टी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में इस बात पर चर्चा होगी कि कैसे उपचुनाव में आरजेडी के प्रत्याशी को दोनों सीटों पर जीत दिलाई जा सके।

मंगलवार, 12 अक्तूबर 2021

बिहार के सबसे बड़े घोटाले का खुलासा किया: अमित

अविनाश श्रीवास्तव       

पटना। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अमित खरे ने बिहार के सबसे बड़े घोटाले का खुलासा कर देश की सियासत में तूफान ला दिया था। चाइबासा के उपायुक्त के रूप में अमित खरे ने पशुपालन विभाग में वित्तीय अनियमितता का मामला पकड़ा था और एक बड़े घोटाले की आशंका व्यक्त की थी। इस समाचार को सबसे पहले प्रभात खबर ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। 1985 बैच के अमित खरे चाइबासा के अलावा पटना, दरभंगा के जिलाधिकारी रहे और उन्होंने बिहार में मेडिकल और इंजीनियरिंग की परीक्षा कंबाइंड करा कर मेधा घोटाला को रोका था। 1993-94 में उन्होंने पश्चिम सिंहभूम जिले के तत्कालीन उपायुक्त रहते हुए चाईबासा कोषागार से 34 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध निकासी को उजागर किया था और इसकी प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया था।

जब इस मामले की जांच शुरू हुई तो पशुओं के चारा मद में 950 करोड़ का घोटाला उजागर हुआ। सरकारी खजाने की इस चोरी में बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र और अन्य ताकतवर लोगों पर आरोप पत्र दाखिल हुआ। इस घोटाले के कारण लालू प्रसाद को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा और जेल की सजा हुई। इस पूरे प्रकरण में अमित खरे की भूमिका बेहद अहम रही। इस वजह से उन्हें कुछ दिनों तक तत्कालीन शासन का कोपभाजन भी बनना पड़ा था, लेकिन वे अपने कर्तव्य पथ पर अडिग रहे। उनकी पत्नी निधि खरे फिलहाल केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय में अपर सचिव के पद पर तैनात हैं।

सोमवार, 11 अक्तूबर 2021

पटना की सड़कों पर ताकत दिखाने की कोशिश की

अविनाश श्रीवास्तव          

पटना। लालू परिवार और राजद में किनारे कर दिए गए तेजप्रताप यादव ने जनशक्ति यात्रा के बहाने आज पटना की सड़कों पर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की।उन्होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती के अवसर पर अपने नवगठित छात्र जनशक्ति परिषद के कार्यकर्ताओं के साथ मार्च निकाला। इसके पहले उन्‍होंने कहा कि जो छात्र शक्ति से टकराएगा। उसका नाश हो जाएगा। उन्होंने सबसे पहले पटना के गांधी मैदान पहुंचकर लोकनायक जयप्रकाश नारायण की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। इसके बाद तेजप्रताप नंगे पांव ही जेपी आवास चरखा समिति समिति पहुंचकर जेपी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

इसके बाद उन्होंने जेपी के बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लेते हुए कहा कि जिस तरह हमारे पिता ने छात्र आन्दोलन में जेपी का साथ दिया था। हम भी उनके साथ ही खडे़ हैं। बिहार में हम शिक्षा, रोजगार के मुद्दे पर छात्रों को एकजुट कर काम करेंगे। इस दौरान तेजप्रताप यादव अकेले नहीं रहे बल्कि इस दौरान उनके पार्टी के कई लोग उनके साथ मौजूद थे। वहीं, पार्टी से नाराज चल रहे तेजप्रताप इस बार इतने गुस्‍से में हैं कि झगड़ा सुलझाने में शायद अपनी मां राबड़ी देवी का भी हस्‍तक्षेप नहीं चाहते हैं। कल दिल्ली से पटना लौटीं राबड़ी देवी उनके आवास पर पहुंची थीं। लेकिन तेजप्रताप ने उनसे मुलाकात नहीं की। यात्रा पर निकलने के दौरान तेजप्रताप अपनी मां राबड़ी देवी के आवास के ठीक सामने से गुजरे, लेकिन मां से नहीं मिले।

हालांकि, यात्रा शुरू करने से पहले तेजप्रताप अपनी मां राबड़ी देवी से मिलने उनके घर जाने वाले थे। वे अपने आवास से निकलकर राबड़ी देवी के सरकारी आवास के तरफ गए भी। लेकिन मां से मिले बगैर ही वह अपनी जनशक्ति यात्रा पर निकल गए। तेजप्रताप की इस यात्रा को कुछ दिन पहले उनके भाई तेजस्वी यादव से हुए मनमुटाव और राजद में उनकी नजरंदाजगी से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

इसके पहले मीडिया से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में तेजप्रताप ने कहा कि जिनको हमारी काबलियत से जलन होती है वे ही सवाल उठाते हैं। मां दुर्गा उनको सद्बुद्धि दे। पार्टी के बारे में पूछे जाने पर कहा कि छात्र और जनता ही मेरी पार्टी है। उन्होंने कहा कि देश एक बार फिर से बुरे दौर से गुजर रहा है। चारो तरफ अराजकता फैली हुई है, छात्रों के साथ अन्याय हो रहा है।

मैं अपनी इस यात्रा के माध्यम से सरकार को जगाने का प्रयास कर रहा हूं। तेजप्रताप ने कहा कि जेपी जयंती से अच्छा मौका नहीं मिलता इसलिए भ्रष्टाचार, अशिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाओं में गिरावट के खिलाफ मैंने क्रांति का आगाज करने का निर्णय लिया है। इसका नाम एलपी मूवमेंट रखा गया। तेजप्रताप ने लालू प्रसाद यादव के आने के सवाल पर कहा कि पिताजी पटना आएंगे तो साथ में ही रहेंगे और जो चाटुकार हैं। वो खुद साइड हो जाएंगे। राबड़ी देवी से मुलाकात के सवाल पर उन्होंने कहा कि जल्द ही वे अपनी मां से मुलाकात करेंगे, उनसे आशीर्वाद लेने जाएंगे।

तेजप्रताप ने पदयात्रा में शामिल होने का न्‍योता तेजस्‍वी यादव को भी दिया था। उन्‍होंने कहा वो अपने अर्जुन (तेजस्वी यादव) को भी बुला रहे हैं। वे आएं, उनका इंतजार होगा। लेकिन तेजस्वी यादव ने इसमें भाग लेना उचित नही समझा। यहां बता दें कि राजद की बैठकों और कार्यक्रमों में अब तेजप्रताप को बुलाया तक नहीं जा रहा हैं। कुछ दिनों से राजद के प्रदेश कार्यालय में भी जाना उन्‍होंने छोड़ दिया है।

राजद के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष शिवानंद तिवारी ने कह दिया था कि तेज प्रताप ने खुद ही अपना रास्‍ता पार्टी से अलग चुन लिया है। उन्‍हें पार्टी का चुनाव चिह्न इस्‍तेमाल करने से मना किया गया है और यह बात उन्‍होंने खुद ही स्‍वीकार की है। इससे पहले राजद के प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह ने 'तेज प्रताप कौन है' कहकर खलबली मचा दी थी।

रविवार, 10 अक्तूबर 2021

बिहार: 1 दिन में 4,69,730 व्यक्तियों को टीका दिया

अविनाश श्रीवास्तव        

पटना। अभियान के तहत एक दिन में 4,69,730 व्यक्तियों को कोरोना टीका दिया गया। इसे मिलाकर राज्य में अब तक कुल 6,02,30,322 व्यक्तियों को कोरोना टीका दिया जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि शनिवार को राज्य में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा छह करोड़ के पार हो गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के प्रयास और माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दिशा-निर्देश में इस कार्य को पूरा किया गया। जो राज्य के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।

इस कार्य को पूरा करने के लिए 15 हजार टीका केंद्र कार्यशील रहा एवं पचास हजार से अधिक स्वास्थ्य और टीका कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई। बता दें कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने यह लक्ष्य निर्धारित किया था।मंगल पांडेय ने कहा कि यह कार्य पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश में कोरोना का टीका मुफ्त उपलब्ध कराने से संभव हो पाया है। इसके लिए राज्यवासियों की ओर से माननीय प्रधानमंत्री का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि अगर जनता का सहयोग बना रहा, तो दिसंबर तक राज्य आठ करोड़ से अधिक कोरोना का डोज लगाने में भी हम सफल होगा। इसके लिए लोगों के पूर्ण सहयोग की आवश्यकता पड़ेगी।

विधानसभा सीट उपचुनाव के लिए नामांकन किया

अविनाश श्रीवास्तव       

पटना। तेज प्रताप यादव का आशीर्वाद प्राप्त करके संजय कुमार ने तारापुर विधानसभा सीट उपचुनाव के लिए अपना नामांकन कर दिया। मगर दो दिन के अंदर ही तेजस्वी ने बड़ा खेल कर दिया। तेजस्वी ने शनिवार शाम संजय कुमार को अपने आवास पर बुलाया और उनसे मुलाकात की। जिसके बाद उन्होंने अपना नामांकन वापस लेने का ऐलान कर दिया और आरजेडी में भी शामिल हो गए।

तारापुर सीट से अपना नामांकन वापस लेने के संजय कुमार के फैसले पर तेज प्रताप यादव ने ट्वीट कर कर अपनी प्रतिक्रिया दी और कहा कि संजय कुमार के तारापुर से नामांकन करने या अब अपना नामांकन वापस लेने के इस पूरे मामले में उनका कोई लेना देना नहीं है। इस पूरे मामले में अपना नाम घसीटे जाने को लेकर तेज प्रताप ने तेजस्वी यादव के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव पर हमला बोला।

फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनों को चलाने का ऐलान किया

अविनाश श्रीवास्तव        
पटना। बिहार में छठ और दिवाली त्योहार का बड़ा महत्व है। इन त्योहारों के दौरान यात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुए भारतीय रेलवे ने नई दिल्ली और आनंद विहार स्टेशन से बिहार के मुजफ्फरपुर,दरभंगा, बरौनी, सहरसा और जयनगर स्टेशनों के लिए फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनों को चलाने का ऐलान किया है। इन स्पेशल ट्रेनों में सभी कोच आरक्षित श्रेणी के होंगे और इनमें यात्रा करने वाले यात्रियों को कोविड-19 के नियमों का पालन करना होगा,इन ट्रेनों का परिचालन 11 अक्टूबर से 20 नवंबर तक किया जाएगा।इन सभी ट्रेनों में 09 स्लीपर कोच, जनरल के 09 कोच और एसएलआर के 02 कोच सहित कुल 20 कोच होंगे।
दिल्ली से वैष्णो देवी दर्शन के लिए भी स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है।

शनिवार, 9 अक्तूबर 2021

उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली देने का निर्णय लिया

अविनाश श्रीवास्तव     

पटना। बिहार में बिजली संकट पर ऊर्जा सचिव संजीव हंस ने बताया कि बिहार में बिजली कंपनियों के द्वारा अपना उत्पादन नहीं किया जाता। बल्कि केंद्रीय बिजली उत्पादन संस्थानों के द्वारा उत्पादित बिजली खरीद कर उपभोक्ताओं को दी जाती है। बाजार में वर्तमान कोयला संकट के कारण महंगी दर पर बिजली मिल रही है। बाजार से महंगी बिजली खरीदकर भी उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली देने का निर्णय लिया गया है। ऊर्जा मंत्रालय के मुताबिक कोयले पर आधारित बिजली उत्पादन केंद्रों में कोयले का स्टॉक बहुत कम हो चुका है।

बता दें कि देश में 70 फीसदी बिजली उत्पादन कोयले  के द्वारा ही होता है। जानकारी के मुताबिक कुल 135 थर्मल पावर प्लांट्स में से 72 के पास कोयले का तीन दिन से भी कम का स्टॉक बचा हुआ है। जबकि 50 पावर प्लांट ऐसे है। जहां कोयले का चार से 10 दिन का स्टॉक है।

गुरुवार, 7 अक्तूबर 2021

कंपनियों ने घरेलू रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि की

अविनाश श्रीवास्तव      
पटना। सरकारी तेल एवं गैस कंपनियों ने घरेलू रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि कर दी हैं। घरेलू सिलेंडर 15 रुपये महंगा हो गया है। अब यह 998.00 रुपये में मिलेगा।  कंपोजिट सिलेंडर की कीमत भी 10 रुपये बढ़ा दी गई है। कामर्शियल उपभोक्ताओं को मामूली रूप से राहत भी मिली है। 
हालांकि यह ढाई से छह रुपये तक ही है। आम तौर पर माह के अंतिम दिन रसोई गैस की कीमतों में संशोधन होता है लेकिन इस माह एक सप्ताह के अंदर दो बार कीमतों में बदलाव किया गया है। एक अक्टूबर को घरेलू रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि नहीं हुई थी लेकिन कामर्शियल सिलेंडर महंगा हुआ था। नई दरें छह अक्टूबर से प्रभावी हो गई हैं। 

अधिसूचना: बिहार पुलिस को मिलें 40 नए डीएसपी

अविनाश श्रीवास्तव     

पटना। बिहार पुलिस को 40 नए पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) मिले हैं। इसमें 13 महिलाएं हैं। बिहार लोक सेवा आयोग की 64वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा के आधार पर इनकी नियुक्ति की गई है। बुधवार को गृह विभाग की आरक्षी शाखा ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी। निर्देश दिया गया है कि सभी अभ्यर्थियों को स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र, चल-अचल संपत्ति की विवरणी, पासपोर्ट साइज की दो तस्वीरों के साथ दहेज नहीं लेने और देने संबंधी घोषणा पत्र अनिवार्य रूप से देना है। 

गृह विभाग की अधिसूचना के मुताबिक जो नए पुलिस उपाधीक्षक मिले हैं। उनमें अजीत कुमार, राघवेंद्र मणि त्रिपाठी, दीपक कुमार, अनिकेत अमर, विशाल आंनद, सुशील कुमार, मो. आदिल बेलाल, ऋषभ शिव रंजन, राजन कुमार, नितीश कुमार, आशीष राज, विकास केशव, फैसल रजा, सुचित्रा कुमारी शामिल हैं। इनके अलावा अजीत कुमार, शैलेश प्रीतम, अवंतिका दिलीप कुमार, शाहनवाज अख्तर, चांदनी सुमन, विवेक दीप, सीमा देवी, अभिषेक कुमार, जया कुमारी, अभिजीत कौर, स्वीटी सिंह, नवनीत कुमार, प्रवीण कुमार, साक्षी राय, राहुल कुमार, आशुतोष कुमार, रीता सिन्हा, अमन, चंद्रभूषण, सुमित कुमार आर्य, आशुतोष रंजन, रेणु कुमारी, अनु कुमारी, स्वाति कृष्णा, कृति कमल, रजिया सुल्ताना की नियुक्ति भी की गई है। 

बुधवार, 6 अक्तूबर 2021

बिहार: पूर्व राज्यसभा सदस्य शिवानंद ने बयान दिया

अविनाश श्रीवास्तव        

पटना। राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्यसभा सदस्य शिवानंद ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे अब पार्टी में नहीँ हैं। उन्हें राजद से निष्कासित कर दिया गया है। पार्टी का सिंबल लालटेन इस्तेमाल करने से रोक दिया गया है।
कन्हैया कुमार के कांग्रेस में जाने को लेकर शिवानंद ने मजाक उड़ाया तथा कहा- कांग्रेस को बचाने की ऐतिहासिक जबाबदेही निभाने को वह कांग्रेस में गए हैं। कन्हैया को मेरी बधाई है। बिहार में उपचुनाव पर राजद-कांग्रेस में खींची तलवार पर शिवानंद तिवारी ने तंज कसा। कहा कि राज्य में पिछले विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की 70 सीटों पर कांग्रेस लड़ी, क्या हुआ ? उत्तरप्रदेश में कांग्रेस ने अखिलेश को डुबाया। बिहार, उत्तर प्रदेश, बंगाल, तामिलनाडु जैसे प्रदेश में कांग्रेस ड्राइविंग सीट चाहती है। सवाल यह है कि क्षेत्रीय पार्टिया कहाँ जाएंगी। उन्होंने कहा कि रामविलास के वारिस चिराग ही होंगे। असली लोजपा चिराग गुट है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि तेजप्रताप पार्टी में है कहां? उन्होंने नया संगठन भी बनाया है। वह पार्टी में नहीं है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह है कहां पार्टी में। वह तो अपने आप निष्कासित हो चुके हैं। उन्होंने जो संगठन बनाया है उसमें तो उन्होंने लालटेन का सिंबल लगाया था तो उनको पार्टी ने कह दिया कि आप इसे नहीं लगा सकते हैं। उन्होंने खुद कबूल किया है कि भाई हम को मना कर दिया गया है। यह तो मैसेज क्लियर है।

राजद के अंदर तेजस्वी-तेजप्रताप में मचे घमासान के सवाल पर शिवानंद तिवारी ने चौंकाने वाला खुलासा किया। विवाद के सवाल पर शिवानंद तिवारी ने बताया कि तेजप्रताप यादव को पार्टी के बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। शिवानंद तिवारी ने खुलासा किया की तेजप्रताप यादव को पार्टी के आधिकारिक चिन्ह लालटेन के इस्तेमाल की भी मनाही कर दी गई है।

बिहार: पासवान पर सनसनीखेज आरोप लगाया

अविनाश श्रीवास्तव       

मुज्जफरपुर। मुज़फ़्फ़रपुर जिला पुलिस बल की एक महिला सिपाही ने टाउन थाना में तैनात एएसआई जितेंद्र पासवान पर गम्भीर और सनसनीखेज आरोप लगाया है। पीड़िता ने राष्ट्रीय महिला आयोग, दिल्ली, अध्यक्ष राज्य महिला आयोग, बिहार पटना और वरीय पुलिस अधीक्षक को आवेदन देकर इसकी शिकायत की है। इसमें एएसआई पर शादी का झांसा देकर तीन साल तक यौन शोषण करने का आरोप लगाया है।

बताया की तीन साल पूर्व वह कांटी थाना में सशत्र बल में तैनात थी। उसी दौरान एएसआई भी मुंशी के पद पर कार्यरत थे। कांटी थाना में दोनों की पहचान हुई थी। इसके बाद एएसआई की गलत नज़र उस पर पड़ी। उसने सिपाही का पीछा करना शुरू कर दिया। बेवजह दबाव डालकर उसे परेशान करने लगा। इसके बाद पीड़िता ने एमआईटी के समीप किराये पर कमरा लेकर रहना शुरू कर दिया। यहां भी एएसआई ने पीछा किया। अचानक से कमरे पर आया और उसे कुछ सुंघा कर अचेत कर दिया। इसके बाद उसके साथ दुष्कर्म करने लगा। जब पीड़िता ने विरोध किया तो उसकी मांग में सिंदूर डाल दिया और कहने लगा की मैं अविवाहित हूँ, तुमसे शादी करूँगा। जब वह अचेत हुई तभी उसने अश्लील तस्वीर भी खींच लिया और वीडियो भी बना लिया था। इसके बाद लगातार उसके साथ सम्बन्ध बनाता रहा।

मंगलवार, 5 अक्तूबर 2021

अनियंत्रित होकर ट्रक से टकराईं कार, 3 की मौंत

अविनाश श्रीवास्तव                             
कटिहार। बिहार में कटिहार जिले के कोढ़ा थाना क्षेत्र में मंगलवार तड़के ट्रक और कार के बीच हुयी टक्कर में तीन लोगों की मौत हो गयी तथा एक अन्य घायल हो गया। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि कार पर सवार लोग जा रहे थे तभी फुलवरिया गांव के समीप राष्ट्रीय उच्चपथ 31 पर कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकरा गयी।
इस दुर्घटना में कार पर सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूत्रों ने बताया कि मृतकों की पहचान राम प्रसाद, सुनील कुमार और विकास कुमार के रूप में की गयी है। शवों को पोस्टमॉर्टम के लिये कटिहार सदर अस्पताल भेज दिया गया है।

रविवार, 3 अक्तूबर 2021

प्रताप यादव ने बिहार न आने को लेकर बयान दिया

अविनाश श्रीवास्तव       

पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने अपने पिता के बिहार न आने को लेकर सनसनीखेज बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि चार-पांच लोगों ने मिलकर उनके पिता को दिल्‍ली में बंधक बना रखा है और उन्‍हें बिहार नहीं आने दिया जा रहा है।

इधर, दिल्ली से पटना लौटे तेजस्‍वी यादव ने तेजप्रताप के आरोप पर कहा है कि लालू यादव को बंधक बनाने का दावा उनके व्‍यक्तित्‍व से मैच नहीं करता है। तेजस्‍वी ने कहा कि जिसने आडवाणीजी को गिरफ्तार कराया, जो लंबे समय तक बिहार का मुख्‍यमंत्री रहा, उसके व्‍यक्तित्‍व से यह बात मैच नहीं करती कि कोई बंधक बना ले। बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को बिहार आए कई साल गुजर चुके हैं। चारा घोटाले में सजा सुनाए जाने के बाद वे रांची की जेल में लंबे समय तक बंद रहे और पिछले अप्रैल महीने में उन्‍हें जमानत मिली। जमानत के वक्‍त वे दिल्‍ली एम्‍स में अपना इलाज करा रहे थे। तब से वे लगातार दिल्‍ली में ही हैं। आखिरी बार वे अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी में पेरोल पर पटना आए थे।

शनिवार, 2 अक्तूबर 2021

कैबिनेट बैठक में बालू खनन को लेकर फैसला लिया

अविनाश श्रीवास्तव      

पटना। शुक्रवार को नीतीश कैबिनेट की बैठक में बालू खनन को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। बालू घाट बंदोबस्ती की अवधि का 31 मार्च 2022 तक के लिए विस्तार करने के फैसले पर मुहर लग गई है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में 18 एजेंडों पर मुहर लगी है।

शुक्रवार को नीतीश कैबिनेट की बैठक में बालू खनन को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। बालू घाट बंदोबस्ती की अवधि का 31 मार्च 2022 तक के लिए विस्तार करने के फैसले पर मुहर लग गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में 18 एजेंडों पर मुहर लगी है। कैबिनेट के फैसले के अनुसार बिहार के 8 जिले नवादा, अरवल, बांका, बेतिया, मधेपुरा, किशनगंज, वैशाली और बक्सर जिलों के पुराने बन्दोबस्ती की अवधि का विस्तार होगा. पटना, भोजपुर, रोहतास, सारण, औरंगाबाद, गया, जमुई और लखीसराय में बन्दोबस्ती छोड़ चुके एजेंसियों के जगह पर राज्य खनन निगम टेंडर जारी करेगा।

शुक्रवार, 1 अक्तूबर 2021

जान-माल के नुकसान की स्थिति पर नियंत्रण पाया

अविनाश श्रीवास्तव       

बेगूसराय। पीएनजीआरबी और अन्य वैधानिक निकायों के दिशानिर्देशों के अनुसार बरौनी रिफाइनरी में नियमित रूप से आपदा अभ्यास आयोजित किए जाते हैं। इस तरह के अभ्यास हर तिमाही में आयोजित किए जाते हैं।साथ ही रिफाइनरी की आपदा प्रबंधन क्षमता में औ सुधार करना है। 2021-22 की दूसरी तिमाही के लिए ऑनसाइट आपदा मॉक ड्रिल का आयोजन बरौनी रिफाइनरी में 30 सितंबर को लगभग 16.30 बजे टैंक 254 में फ्लैश फायर और टैंक की छत में आग लगने के परिदृश्य पर किया गया।

आग की सूचना मिलने पर, टैंक 254 के पास घटनास्थल पर दमकल की गाड़ियां पहुंचीं। स्थिति की गंभीरता का आंकलन करने के बाद ईआरडीएमपी (आपातकालीन प्रतिक्रिया और आपदा प्रबंधन योजना) को लागू किया गया था।
सीआईसी (मुख्य घटना नियंत्रक) द्वारा एसआईसी (साइट घटना नियंत्रक) के परामर्श से 16.40 बजे बड़ी आग के लिए सायरन बजाया गया और 16.49 बजे आपदा की घोषणा की गई तथा आपदा सायरन के माध्यम से सभी को इसकी सूचना दी गई।

ईआरडीएमपी के अनुसार आपातकालीन आपदा प्रबंधन तुरंत कार्रवाई में आ गया। बिना किसी जान-माल के नुकसान की स्थिति पर नियंत्रण पाया गया। आपातकालीन आपदा प्रबंधन घटना में बरौनी रिफाइनरी से अधिकारियों में मुख्य घटना नियंत्रक बीबी बरुआ, मुख्य महाप्रबंधक (परियोजना), सीआईसी के सलाहकार (रिफाइनरी संचालन) आरके झा, मुख्य महाप्रबन्धक (टीएस और एचएसई), साइट हादसा नियंत्रक मोहित रस्तोगी, उप महाप्रबंधक (उत्पादन) और अन्य आपदा समन्वयक, सीआईएसएफ टीम, अग्नि और सुरक्षा दल आदि शामिल थे।

एमए चौधरी, महाप्रबंधक (टीएस एंड एचएसई) ने साइट-घटना-नियंत्रक (एसआईसी) के साथ समग्र संचालन का समन्वय किया। उपरोक्त आपदा परिदृश्य को लगभग 17.40 बजे नियंत्रित किया गया। स्थिति का जायजा लेने के बाद ऑल-क्लियर घोषित करने वाला स्ट्रेट रन सायरन बजाया गया। डी-ब्रीफिंग सत्र आपदा नियंत्रण कक्ष में आयोजित किया गया और इसकी अध्यक्षता बरौनी रिफाइनरी, कार्यपालक निदेशक और रिफाइनरी प्रमुख सुश्री शुक्ला मिस्त्री ने की। डी-ब्रीफिंग सत्र बहुत संवादपूर्ण था।

वास्तविक घटना के मामले में बेहतर नियंत्रण के लिए सामने आए अनुभवों और कमियों पर विस्तार से चर्चा की गई। कोविड-19 सावधानियों के साथ आपदा ड्रिल आयोजित की गई। सुश्री मिस्त्री ने ड्रिल को उपयोगी बनाने के लिए ड्रिल से जुड़े सभी सक्रिय समूहों / टीमों की सराहना की और उन्हें धन्यवाद दिया। इस आशय की जानकारी अंकिता श्रीवास्तव, प्रबंधक (सीसी) ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी।

बिहार: पुत्र ने अपनी मां का गला रेतकर हत्या की

अविनाश श्रीवास्तव         
बेगुसराय। नावकोठी में गुरुवार को मां-बेटा के पवित्र रिश्ता को उस समय कलंकित कर दिया। जब पुत्र ने अपनी मां की हत्या गला रेतकर दिया। घटना नावकोठी वार्ड नंबर 2 की है। बताया जाता है कि कौशल्या देवी का अपने पुत्र से भूमि को लेकर लंबे अर्से से विवाद चल रहा था। मात्र 12 धूर जमीन को लेकर पुत्र ने हत्या की घटना को अंजाम देकर घर में ताला लगाकर फरार हो गया।

शुक्रवार को सुबह में पड़ोसियों ने बूढ़ी को देर तक नहीं देखा तो उन्हें अनहोनी की आशंका हुई। बगल के दीवार पर चढ़कर कुछ लोगों ने कारण जानने का प्रयास किया तो देखा कि वह खून से लथपथ जमीन पर पड़ी हुई थी। इसकी सूचना लोगों ने नावकोठी पुलिस को दी।जानकारी मिलते ही पुलिस अवर निरीक्षक खामश चौधरी व सहायक अवर निरीक्षक अनिल कुमार मिश्रा घटनास्थल पर पहुंचे और दरवाजे का ताला को तोड़वाकर घर के अंदर प्रवेश किया। पुलिस ने बताया कि मृतका के गले पर धारदार हथियार का निशान है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में ही इस बूढ़ी के नाम से जमीन थी।

उसमें से किसी को 12 धूर जमीन रजिस्ट्री कर दी थी। इसी बात को लेकर बेटे दामोदर दास से अक्सर झगड़ा होता रहता था। घटना के दिन पुत्र दामोदर दास तथा उसका नाती करण को गांव में देखा गया। घटना के बाद दामोदर दास तथा करण फरार बताया गया। आशंका व्यक्त की जा रही है कि दामोदर दास तथा करण ने ही धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बेगूसराय भेज दिया है। थानाध्यक्ष राजीव रंजन कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट व अनुसंधान के बाद ही मामले का खुलासा होगा।

गुरुवार, 30 सितंबर 2021

चुनाव में बायोमैट्रिक सिस्टम पूरी तरह से फेल हुआ

अविनाश श्रीवास्तव      

पटना। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के अंतर्गत जिले में हो रहे प्रथम चरण के चुनाव में ही बायोमैट्रिक सिस्टम लगभग पूरी तरह से फेल हो गया है। हालांकि मतदान के लिए पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में उत्साह देखा जा रहा है। जो उनकी बूथों पर लंबी-लंबी कतारों से परिलक्षित भी हो रहा है। इधर, मतदान कराने को लेकर अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक मुस्तैद दिख रहे हैं। सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था भी की गई है।

प्रखंड विकास पदाधिकारी सह निर्वाची पदाधिकारी पीरो मानेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि बायोमैट्रिक सिस्टम बहुत स्लो काम कर रहा है। जिसके कारण मतदान की गति काफी धीमी हो गई है। इसको लेकर बूथों पर कतार बद्ध वोटरों में आक्रोश ही पैदा हो रहा था। जिसके बाद वोटर पहचान-पत्र, आधार कार्ड के आधार पर वोटिंग कराया जा रहा है।

डीएम व एसपी ने कई बूथों पर पहुंच कर मतदान का जायजा लिया। अब तक किसी तरह की अप्रिय घटना एवं मतदान में रुकावट को लेकर कोई सूचना प्राप्त नहीं है। ईवीएम में कही-कहीं कुछ खराबी की सूचना के बाद तुरंत उसे विशेषज्ञों द्वारा ठीक किया गया। सुबह के 7 बजे से ही बूथों पर वोटर आने शुरू हो गए।

यूके: कोरोना एक्टिव केसों की संख्या-30,927 हुईं

यूके: कोरोना एक्टिव केसों की संख्या-30,927 हुईं पंकज कपूर            देहरादून।  राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 7 संक्रमितों की मौत ह...