बिहार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
बिहार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 25 अप्रैल 2024

पटना: होटल में आग लगने से 6 लोगों की मौत

पटना: होटल में आग लगने से 6 लोगों की मौत 

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार की राजधानी पटना में गुरुवार को रेलवे स्टेशन के पास स्थित पाल होटल में भीषण आग लग गई। इस घटना में 6 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में महिलाएं और पुरुष दोनों शामिल हैं। सभी बाहरी बताए जा रहे हैं। एक दर्जन से ज्यादा लोगों को घायल अवस्था में पीएमसीएच में भर्ती कराया गया। जिनमें से कई की हालत काफी गंभीर थी। कई 80 से 90 प्रतिशत तक जल गए हैं। इमरजेंसी में उनका इलाज किया जा रहा है। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। आग के शिकार होटल और अन्य इमारतों में सर्च अभियान जारी है।
मृतकों और घायलों की संख्या के बारे में आधिकारिक बयान भी सामने आए हैं। पटना के सिटी एसपी सेंट्रल ने बताया कि पांच लोगों की इस अग्निकांड में जलकर मौत हुई है। 18 लोगों को जली और घायल अवस्था में पीएमसीएच ले जाया गया जिनमें से 12 को फौरन आईसीयू में भर्ती किया गया। इनमें से तीन की हालत बेहद नाजुक पाई गई।
जब आग लगी तब होटल में कई लोग मौजूद थे। डीजी फायर शोभा अहोतकर ने बताया कि सूचना मिलते ही कुछ मिनट के अंदर दमकल की कई गाड़ियां मौके पर पहुंच कर आग बुझाने में जुट गईं। 51 दमकल की मदद से दो घंटों की कड़ी मशक्कत से आग पर कंट्रोल किया गया। होटल और पास की बिल्डिंग से 45 लोगों को निकाला गया। आग लगने से इलाके में अफरातफरी मच गई। बताया जा रहा है कि गैस सिलेंडर में लीक की वजह से आग लगी। आग पर का काबू कर लिया गया है। लेकिन, फायर फाइटिंग टीम जले लोगों की अभी तालाश में जुटी है।

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

वार्ड में आग, 30 से अधिक घर जलकर राख हुए

वार्ड में आग, 30 से अधिक घर जलकर राख हुए 

अविनाश श्रीवास्तव 
बेगूसराय। बिहार के बेगूसराय जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जहां जिले के डंडारी थाना क्षेत्र के तेतरी वार्ड नंबर 15 में भीषण आग लगने से 30 से अधिक घर जलकर राख हो गए। बीती रात हुई इस घटना के बाद लोगों का सब कुछ उगड़ गया। इस घटना में आधा दर्जन बकरी सहित लाखों के गेहूं और भूषा साहित अन्य सामान जलकर राख हो गए है। वहीं, घटना के बाद काफी देर तक अफरा तफरी का माहौल बना रहा। लोग जैसे तैसे आग पर काबू पाने का प्रयास करते रहे। बाद में दमकल की गाड़ियों ने आकर आग पर काबू पाया। इस घटना से गांव में मातम पसरा हुआ है। बताता जा रहा कि जले हुए सभी घर खपरैल, ऐस्बेस्इटस ओर फूस के बने हुए थे। आग लगने के बाद मौके पर भगदड़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गईं थी। लोग जैसे तैसे घर से निकलकर अपनी जान बचाने के लिए भागने लगे। बताया जा रहा कि एक घर में अचानक से आग लग गई। जिसके बाद देखते ही देखते आग ने विकराल रुप ले लिया। ऐसी चर्चा है कि बिजली की एक चिंगारी से यह आग लगी है, पर इसकी कोई पुष्टि नहीं कर रहा है। इस संबंध में ग्रामीण माज़ो महतो ने बताया कि घटना के वक्त वो लोग बांध पर थे। इस बीच घर के पास आग लग गई। जब तक लोग दौड़ कर आते तब तक आग बेकाबू हो गई। इस घटना में भारी नुकसान हुआ है। वहीं, घटना के संबंध में मुखिया आदित्य राज वर्मा ने बताया कि आग लगी कि इस घटना में 30 से 40 परिवार प्रभावित हुए है। उन्होंने बताया कि सबसे पहले एक झोपड़ी नुमा घर के ऊपर आग लग गई थी, जिसके बाद आग ने विकराल रूप ले लिया ओर एक के बाद एक कर 30 घरों को अपनी चपेट में ले लिया। उन्होंने बताया कि बिजली की एक चिंगारी से आग लगने की बात ग्रामीण बता रहें है, पर किसी ने देखा नहीं है।

शुक्रवार, 16 फ़रवरी 2024

सीएम नीतीश के लिए आरजेडी का दरवाजा खुला है

सीएम नीतीश के लिए आरजेडी का दरवाजा खुला है 

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लाल यादव एवं तेजस्वी यादव ने कहा है कि जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए राष्ट्रीय जनता दल का दरवाजा हमेशा खुला हुआ है। शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री एवं जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार के लिए उनकी पार्टी का दरवाजा खुला ही रहता है। वैशाली के जंदाहा जाने से पहले 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर मीडिया कर्मियों से बातचीत में लाल यादव ने कहा है कि नीतीश कुमार यदि उनके पास वापस लौटते हैं तो उनका हृदय से स्वागत है। क्योंकि नीतीश के लिए राजद के दरवाजे हमेशा खुले रहते हैं। उन्होंने कहा है कि वह जब आएंगे तब देखेंगे। जनता दल यूनाइटेड के इस खुला ऑफर के बाद लालू के ताजा बयान से यह साफ हो गया है कि राष्ट्रीय जनता दल नीतीश कुमार अथवा जनता दल यूनाइटेड पर हमला करने की बजाय उन्हें महागठबंधन में दोबारा से वापस लेने लाने की रणनीति पर काम कर रही है।

रविवार, 28 जनवरी 2024

नीतीश ने नौवीं बार सीएम के तौर पर शपथ ली

नीतीश ने नौवीं बार सीएम के तौर पर शपथ ली 

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने रिकॉर्ड नौवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर रविवार को शपथ ली। यहां राजभवन में राज्यपाल राजेंद्र आर्लेकर ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी। कुमार के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं विजय कुमार सिन्हा, सम्राट चौधरी एवं प्रेम कुमार और जद (यू) के विजेंद्र यादव एवं श्रवण कुमार ने भी मंत्रिपद की शपथ ली।
इसके अलावा एचएएम के संतोष कुमार सुमन, सुमित कुमार सिंह (निर्दलीय) ने नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली नयी सरकार में मंत्रिपद की शपथ ली। कुमार ने दिन में यह कहते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था कि बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन और विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन में उनके लिए ‘चीजें ठीक नहीं चल रही हैं।’
इसी के साथ उन्होंने भाजपा के सहयोग से नयी सरकार बनाने का दावा पेश किया था। लगभग डेढ़ साल पहले उन्होंने भाजपा से नाता तोड़ लिया था।

शनिवार, 27 जनवरी 2024

आज सीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं नीतीश

आज सीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं नीतीश    

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार दोपहर को अपना इस्तीफा दे सकते हैं और सूत्रों का कहना है कि वह रविवार को आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले सकते हैं।

सबसे बड़ा सवाल जो पूछा जा रहा है। वह यह है कि नीतीश कुमार को इंडिया ब्लॉक से एनडीए में आने के लिए किसने प्रेरित किया और इसका सरल उत्तर है। अयोध्या में राम मंदिर की प्रतिष्ठा और जिस तरह से इसने भाजपा और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में लहर पैदा की है देश में। सूत्रों ने कहा कि नीतीश कुमार इंडिया ब्लॉक में असुरक्षित महसूस कर रहे थे, क्योंकि प्रशांत किशोर समेत कई राजनीतिक विशेषज्ञों ने कहा था कि अगर जेडी-यू विपक्षी गठबंधन में रहेगा, तो उसे बिहार में पांच सीटें भी नहीं मिलेंगी।

प्रशांत किशोर ने दावा किया था कि अगर जेडीयू पांच से ज्यादा सीटें जीतेगी, तो वह देश के सामने माफी मांगेंगे। साथ ही नीतीश कुमार को लगता है कि इंडिया ब्लॉक में उनका भविष्य उज्ज्वल नहीं दिख रहा है। उन्होंने इंडिया ब्लॉक के गठन का नेतृत्व किया, लेकिन गठबंधन के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बनने में असफल रहे।

चूंकि इंडिया ब्लॉक के कई नेता नीतीश कुमार के पक्ष में नहीं थे, इसलिए उन्होंने उन्हें नजरअंदाज कर दिया। बेंगलुरु में दूसरी बैठक में यह बात साफ दिखी, जब नीतीश कुमार प्रेस ब्रीफिंग में शामिल हुए बिना ही पटना लौट आये। मुंबई में तीसरी बैठक में भी उन्हें नजरअंदाज किया गया।

रविवार, 17 दिसंबर 2023

परिजनों को मुआवजा नहीं, लापरवाही का नमूना

परिजनों को मुआवजा नहीं, लापरवाही का नमूना
अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि प्रावधान के बावजूद सीतामढ़ी औऱ दरभंगा जिला में जहरीली शराब से मरने वालों के परिजनों को मुआवजा नहीं देना लालफीताशाही का नमूना है।
सिन्हा ने कहा कि कुछ माह पूर्व उन दोनों जिलों में जहरीली शराब से लोगों की मौत हुई थी। सीतामढ़ी जिला में मृतकों में अधिकांश यादव औऱ मंडल समाज के थे।प्रशासन ने बिना पोस्टमार्टम रात में ही लाशों को जबर्दस्ती जलवा दिया। घरवालों पर दवाब बनाकर उन मृतकों के बीमारी से मरने की बात की। छपरा में बिना पोस्टमार्टम मृतकों के परिजनों को मुआवजा दिया गया। फिर सीतामढ़ी औऱ दरभंगा में भेदभाव क्यों किया जा रहा है?
सिन्हा ने कहा कि दरभंगा में डी एम सी एच में शराब पार्टी राज्य में शराब बंदी की विफलता का नमूना है। अधिकांश शासन प्रशासन के अधिकारियों औऱ उनके मातहत कार्यालयों में शराब सेवन दिनचर्या बन गई है। इन्हीं लोगों को शराब बंदी सफल बनाने का जिम्मा भी सौंपा गया है। राज्य में इस साल अभी तक जप्त 4 लाख लीटर शराब यह साबित करता है कि शराब बंदी विफल हो गई। शराब की निर्बाध सप्लाई डिलीवरी चैन दिन प्रतिदिन मजबूत हो रही है। 20000 करोड़ से अधिक का अवैध वार्षिक व्यापार फल फूल रहा है।
सिन्हा ने कहा कि 1 अप्रैल 2024 को शराब बंदी की आठवीं सालगिरह होगी। भाजपा ने इन्हें विपक्ष में रहते हुए भी शराब बंदी पर पूर्ण समर्थन दिया था। हमने आगाह भी किया था कि सख्ती और मजबूती से लागू की जाय। पर अभी तक शराब माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई, सम्पत्ति जप्ती औऱ दण्डात्मक अभियान के अभाव के कारण ये तरक्की कर रहे हैं और शासन प्रशासन को अवैध कमाई से हिस्सा दे रहे हैं। इनकी सम्पत्ति जप्त हो औऱ मददगार को भी जेल के भीतर किया जाय। मुख्यमंत्री अधिकारियों की रैंडम ब्लड टेस्ट कराएं। गुनाहगार सामने आ जाएंगे। साथ ही अपराधी और माफिया पर लगाम लगाने के लिए सरकार को शराब बंदी की सख्ती से समीक्षा करनी चाहिए।

शनिवार, 16 दिसंबर 2023

पुलिस भर्ती, 6 लाख 51 हजार आवेदन मिलें

पुलिस भर्ती, 6 लाख 51 हजार आवेदन मिलें
अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार पुलिस एसआई भर्ती परीक्षा का आयोजन राज्य भर में निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर 17 दिसंबर 2023 को किया जाएगा। परीक्षा का आयोजन बिहार पुलिस सबोर्डिनेट सर्विस कमीशन की ओर से किया जाएगा। बिहार पुलिस में एसआई के कुल 1275 पदों पर भर्तियों के लिए परीक्षा का आयोजन दो पालियों में किया जाएगा। एडमिट कार्ड पहले ही जारी किया जा चुका है। जिन अभ्यर्थियों ने अभी तक परीक्षा प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं किया है। वह आधिकारिक वेबसाइट bpssc.bih.nic.in के जरिए हाॅल टिकट डाउनलोड कर सकते हैं।
बता दें कि पहली पाली में परीक्षा का आयोजन सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली में दोपहर 2.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एग्जाम में 6 लाख 61 हजार से अधिक कैंडिडेट्स शामिल होंगे।
और जानें
इतने समय बाद नहीं होगी एंट्री
कमीशन की ओर से जारी दिशा-निर्देश के अनुसार एग्जाम शुरू होने के 30 मिनट पहले परीक्षा केंद्र का गेट बंद कर दिया जाएगा। गेट बंद होने के बाद किसी भी अभ्यर्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। ऐसे में कैंडिडेट निर्धारित समय पर ही एग्जाम सेंटर पर पहुंचे नहीं तो परीक्षा छूट जाएगी। प्रारंभिक परीक्षा में कुल 200 नंबरों के 100 सवाल पूछे जाएंगे। परीक्षा का समय दो घंटे निर्धारित किया गया है। परीक्षा संबंधी अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी जारी गाइडलाइंस को चेक कर सकते हैं।
इसे ले जाना है अनिवार्य
हाॅल टिकट के साथ परीक्षार्थियों को एक वैध फोटो आईडी जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड या वोटर आईडी लेकर जाना होगा। एडमिट कार्ड से फोटो आईडी की पहचान की जाएगी और फिर अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
इन पर है प्रतिबंध
परीक्षा केंद्र में मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आदि चीजें लेकर जानें पर प्रतिबंध लगाया गया है। अगर से चीजें किसी भी अभ्यर्थी के पास से बरामद होती हैं, तो उसे तुरंत परीक्षा केंद्र से बाहर कर दिया जाएगा।

शुक्रवार, 15 दिसंबर 2023

सीएम ने 'गंगा जल आपूर्ति' योजना का उद्घाटन किया

सीएम ने 'गंगा जल आपूर्ति' योजना का उद्घाटन किया

अविनाश श्रीवास्तव 
नवादा/पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को नवादा जिले के कादिरगंज के पौरा गांव में महत्वाकांक्षी गंगा जल आपूर्ति योजना (जीडब्ल्यूएसएस) का उद्घाटन किया। पटना जिले के मोकामा में हाथीदह से पाइपलाइन के माध्यम से राजगीर (नालंदा), गया और नवादा जैसे पानी की कमी वाले स्थानों पर स्वच्छ और सुरक्षित पेयजल की आपूर्ति करने के लिए "जल जीवन हरियाली अभियान" के तहत जीडब्ल्यूएसएस की परिकल्पना की गई थी।
मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार यह परियोजना गंगा जल की आपूर्ति करके नवादा में पीने के पानी की मांग को पूरा करेगी। अब शहरवासियों को उनके घरों तक पवित्र गंगाजल मिलेगा। जिले के विभिन्न संस्थानों, अस्पतालों, स्कूलों और होटलों को भी गंगा जल उपलब्ध कराया जाएगा। कुमार ने पिछले साल गया और राजगीर में जीडब्ल्यूएसएस के पहले चरण का उद्घाटन किया था।
बयान में कहा गया है, “परियोजना के माध्यम नवादा में प्रत्येक घर में प्रत्येक व्यक्ति के लिए प्रतिदिन 135 लीटर शुद्ध एवं पेय गंगा जल की आपूर्ति की जाएगी।" राज्य के इन तीन शहरों में गंगाजल पहुंचाने के लिए लगाई गई पाइपलाइन की कुल लंबाई 190.90 किलोमीटर है। उद्घाटन के अवसर पर उपस्थित अन्य लोगों में राज्य के मंत्री संजय कुमार झा और समीर कुमार महासेठ और जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद शामिल थे।
जीडब्ल्यूएसएस के पहले चरण को मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड द्वारा निष्पादित किया गया था। कुमार की अध्यक्षता में दिसंबर 2019 में गया में आयोजित मंत्रिमंडल की विशेष बैठक में इस योजना को मंजूरी दी गई थी।

बुधवार, 29 नवंबर 2023

पीएम जहां भी जाते हैं, 'अपशकुन' लेकर आते हैं

पीएम जहां भी जाते हैं, 'अपशकुन' लेकर आते हैं 

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार के सरकार के एक मंत्री ने बुधवार को यह टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जहां भी जाते हैं, अपने साथ "अपशकुन" लेकर आते हैं और उन्हें शुभ अवसरों से दूर रहने के लिए कहा जाना चाहिए। राज्य के मंत्री और जद (यू) के वरिष्ठ नेता श्रवण कुमार ने यहां पत्रकारों के सवालों के जवाब में यह विवादित टिप्पणी की।
संवाददाताओं ने उनसे कुछ भाजपा नेताओं के इन आरोपों के बारे में पूछा था कि बिहार सरकार उत्तरकाशी की सुरंग में फंसे राज्य के श्रमिकों की मदद करने में विफल रही है। उन्होंने कहा, ''हमारी सरकार पर इस तरह का आरोप लगाना गलत है।" मंत्री ने दावा किया, "हम राज्य के लोगों की दशा के प्रति संवेदनशील हैं, चाहे वे देश के अन्य हिस्सों में हों या विदेश में भी।
हमारे अधिकारी संबंधित अधिकारियों के संपर्क में थे और जो भी आवश्यक था वह कर रहे थे।" उन्होंने कहा, "जहां तक भाजपा का सवाल है, जब भी चीजें सही होती हैं तो उसे उनका श्रेय लेने और कोई समस्या होने पर जिम्मेदारी से बचने की आदत हो गई है।" जदयू नेता ने यह भी कहा, “इसका उदाहरण हालिया क्रिकेट विश्व कप था।
अगर भारत जीत जाता तो पूरी भाजपा मशीनरी चिल्ला रही होती कि प्रधानमंत्री की मौजूदगी के कारण ही टीम को जीत मिली। मुझे लगता है कि अब जब हम हार गए हैं तो प्रधानमंत्री को इसका भी दोष स्वीकार कर लेना चाहिए।" उन्होंने कहा, “सनातन धर्म के अच्छे जानकार कुछ लोगों ने एक बार मुझसे कहा था कि नरेन्द्र मोदी जहां भी जाते हैं, अपने साथ "अपशकुन" लेकर आते हैं।
इसलिए, मेरे विचार से यदि भाजपा चीजों को गलत होने से बचाना चाहती है तो उन्हें शुभ समारोहों में शामिल होने से बचने के लिए कहना चाहिए।" इस बीच, जब बिहार भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी से श्रवण कुमार की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया मांगी गई, तो उन्होंने कहा, “जद (यू) को यह एहसास होना चाहिए कि प्रधानमंत्री "इंडिया" गठबंधन के लिए अशुभ हैं और उनकी हार सुनिश्चित करेंगे।”
हार के बाद भारतीय टीम को सांत्वना देने के लिए ड्रेसिंग रूम में गए मोदी के हाव-भाव का जिक्र करते हुए चौधरी ने कहा, “जब भी हालात कठिन होते हैं, हमारे प्रधानमंत्री अपने लोगों के साथ खड़े होते हैं, चाहे वह हाल की घटना हो या कुछ समय पहले असफल हुआ चंद्रयान मिशन हो।”

सोमवार, 27 नवंबर 2023

सरकार के आरक्षण के दायरे में वृद्धि, चुनौती

सरकार के आरक्षण के दायरे में वृद्धि, चुनौती 

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार में नीतीश सरकार के आरक्षण के दायरे में वृद्धि करने के फैसले को पटना हाई कोर्ट में चुनौती दी गई है। बताते चलें कि, बिहार विधानमंडल ने हाल ही में एक संशोधन के जरिए पिछड़ा वर्ग, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षण को मौजूदा 50% से बढ़ाकर 65% कर दिया था।
पटना उच्च न्यायालय में इस फैसले को लेकर एक जनहित याचिका (PIL) दायर की गई है। मामले से जुड़े उच्च न्यायालय के एक सूत्र के अनुसार, याचिका की प्रति सूचीबद्ध करने से पहले महाधिवक्ता के कार्यालय को भेज दी गई है।
याचिका में बिहार आरक्षण (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों के लिए) (संशोधन) अधिनियम, 2023 और बिहार (शैक्षिक संस्थानों में प्रवेश में) आरक्षण (संशोधन) अधिनियम, 2023 की संवैधानिक वैधता को चुनौती दी गई है।
याचिकाकर्ता ने इन अधिनियमों पर रोक लगाने की भी मांग की है। राज्य में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों के लिए आरक्षण 50 से बढ़ाकर 65 फीसदी कर दिया गया है। वहीं ईडब्ल्यूएस कोटा को यथावत 10 फीसदी रखा गया है। इस तरह बिहार में आरक्षण का दायरा 50 से बढ़कर 75 फीसदी पहुंच गया है।
बिहार राज्य विधानमंडल ने 10 नवंबर को इस संशोधन को पारित किया, और 18 नवंबर को इसे राज्यपाल की मंजूरी मिल गई। इसके बाद बिहार सरकार ने 21 नवंबर को राज्य में आरक्षण का दायरा 50 से बढ़ाकर 65 फीसदी करने के संबंध में एक गजट नोटिफिकेशन जारी किया।
याचिका में यह तर्क दिया गया है कि यह संशोधन राज्य द्वारा आयोजित जाति सर्वेक्षण से प्राप्त आनुपातिक आरक्षण पर आधारित है। इस सर्वेक्षण के अनुसार बिहार राज्य में पिछड़े वर्गों (एससी, एसटी, ओबीसी और ईबीसी) की जनसंख्या 63।13% थी।
याचिकाकर्ता ने तर्क दिया है कि संविधान के अनुच्छेद 16 (4) के अनुसार आरक्षण इन वर्गों (एससी, एसटी, ओबीसी) के आनुपातिक प्रतिनिधित्व के बजाय सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्ग के प्रतिनिधित्व पर आधारित होना चाहिए।
याचिका में कहा गया है, ‘इसलिए, बिहार सरकार का यह अधिनियम भारतीय संविधान के अनुच्छेद 16 (1) और अनुच्छेद 15(1) का उल्लंघन है। अनुच्छेद 16 (1) राज्य के तहत किसी भी कार्यालय में रोजगार या नियुक्ति से संबंधित मामलों में सभी नागरिकों के लिए समानता का अवसर प्रदान करता है। अनुच्छेद 15(1) किसी भी प्रकार के भेदभाव पर रोक लगाता है’।

सोमवार, 20 नवंबर 2023

एक ही परिवार के 6 लोगों पर गोलियां बरसाई

एक ही परिवार के 6 लोगों पर गोलियां बरसाई

अविनाश श्रीवास्तव 
लखीसराय। बिहार के लखीसराय जिले में छठ पूजा के समापन पर बड़ी वारदात हुई है। यहां बेखौफ अपराधियों ने एक परिवार पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। इसमें 6 लोगों को गोली लगी है।घायलों में दो महिला और 4 पुरुष हैं। घायलों को आनन-फानन में इलाज के लिए निकट के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से 2 लोगों की अस्पताल में मौत हो गई।
घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी अस्पताल पहुंच गई। पुलिस ने लोगों के पूछताछ कर जांच शुरू कर दी है। घायलों का इलाज चल रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक, घटना लखीसराय जिले के कबैया थाना क्षेत्र के पंजाबी मोहल्ले की है। बताया जाता है कि छठ पर अर्घ्य देकर एक परिवार के सदस्य अपने घर लौट रहे थे।
अभी वे सभी घर के पास पहुंचे ही थे कि कुछ अपराधियों ने उनके ऊपर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। फायरिंग क्यों की गई, इसकी जानकारी खबर लिखे जाने तक सामने नहीं आई है।
फायरिंग में गोली लगने से 6 लोग घायल हो गए। सभी घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक व्यक्ति के सिर में गोली लगी है। फिलहाल सूचना मिलते ही कबैया थाना पुलिस सदर अस्पताल पहुंच कर तफ्तीश में जुट गई है। मामले की जांच जारी है। इधर घटना के बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है।

गुरुवार, 16 नवंबर 2023

विशेष: आज से छठ महापर्व की शुरुआत

विशेष: आज से छठ महापर्व की शुरुआत

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। छठ पूजा में भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि एकमात्र सूर्य ही अकेले ऐसे देवता हैं, जो प्रत्यक्ष रूप से नित्य हमें दर्शन देते हैं।इसी वजह से सूर्यदेव की पूजा भी विशेष फलदायी होती है। इस बार शुक्रवार 17 नवंबर से छठ महापर्व की शुरुआत होने जा रही है।
पटना के मशहूर पंडित शशिभूषण पांडे ने बताया कि अपने लक्ष्य तक पहुंचना और निष्काम भाव से लोकहित का कर्म करना ही सूर्यदेव का स्वभाव है। प्रत्येक जीव को ऊर्जा और ऊष्मा देकर जीवन को संभव बनाने वाले सूर्यदेव को छठ महापर्व में अर्घ्य देकर लोग कृतज्ञता प्रकट करते हैं।
पटना सिटी के छोटी नगला स्थित श्री शीतला माता मंदिर के प्रधान पुजारी और पंडित शशिभूषण पांडे ने बताया कि चार दिवसीय इस छठ महापर्व के तीसरे दिन यानी रविवार 19 नवंबर की शाम को डूबते हुए सूर्यदेव को अर्घ्य दिया जाएगा। श्रद्धालु घाट पर जाने से पहले बांस की टोकरी में पूजा की सामग्री, मौसमी फल, ठेकुआ, कसार, गन्ना आदि सामान सजाते हैं। इसके बाद घर से नंगे पैर घाट पर पहुंचते हैं।

रविवार, 22 अक्तूबर 2023

बिहार के कई जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए

बिहार के कई जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए 

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार की राजधानी पटना समेत कई जिलों में रविवार की सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। 
मौसम विभाग के अनुसार सुबह 7.25 बजे पटना, बगहा, सीवान, गोपालगंज और छपरा में भूकंप के झटके महसूस हुए। भूकंप के झटके करीब तीन से चार सेकंड तक महसूस किए गए। 
झटके महसूस होने के बाद लोग अपने घरों से बाहर निकल गए। भूकंप का केंद्र नेपाल के काठमांडू में बताया जा रहा है। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.3 मापी गई है।

सोमवार, 4 सितंबर 2023

एलियन जैसे बच्चे को दिया जन्म, हैरतअंगेज

एलियन जैसे बच्चे को दिया जन्म, हैरतअंगेज  

अविनाश श्रीवास्तव 

पूर्णिया। बिहार के पूर्णिया से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। अमर प्रखंड में एक ऐसे बच्चे का जन्म हुआ है, जो बिल्कुल असामान्य है। बता दें देखने में ये एलियन की तरह है। डॉक्टर और नर्स इसे लेकर कह रहे हैं कि यह बच्चा एक खास बीमारी से ग्रसित है जो दो से तीन लाख बच्चों में एक बच्चे ही ऐसे जन्म लेते हैं। इस बच्चे का जन्म अमौर प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नॉर्मल डिलीवरी से हुआ है। लेकिन ये बच्चा देखने में बिल्कुल एलियन जैसा है। 

जैसे ही इसके बार में पता चला आसपास से हजारों लोग उसे देखने पहुंचने लगे। बच्चे की जो स्थिति है बच्चे का रंग बिल्कुल साफ उजला है। शरीर के चमड़े कई जगह से फटे हुए हैं और आंख बड़ी-बड़ी हैं। मुंह भी अन्य बच्चों की अपेक्षा बड़ा है। बता दें बच्चे 2 दिन पहले शनिवार को जन्म बच्चे का जन्म हुआ है।

इस मामले को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की नर्स अभिलाषा ने बताया 2 सितंबर शनिवार को चौका गांव के रहने वाले अशफाक अपनी पत्नी रुबेदा को लेकर अस्पताल में आए। रात के करीब 1:30 बजे बच्चे का जन्म हुआ । बच्चे का जन्म होते ही सभी लोग डर गए। बच्चे के मुंह से अजीब तरह की आवाज भी निकल रही थी। बच्चे की स्थिति नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने उसे रेफर कर दिया। वहीं इस मामले में सिविल सर्जन डॉक्टर अभय प्रकाश चौधरी ने कहा कि यह कंजेटाईनल एनोमौली नामक बीमारी है। यह जन्मजात होती है और यह क्यों होती है इसकी स्थिति अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है। ऐसे बच्चे अधिकतर मानसिक रूप से अस्वस्थ तो होते ही हैं दो से तीन लाख बच्चों में एक ऐसे बच्चे पैदा लेते हैं।

उधर बच्चों के पिता अशफाक और उनके घर वाले परेशान हैं कि बच्चे का इलाज कैसे कराएं। हम लोग तो गरीब हैं। घर का गुजारा भी बहुत मुश्किल से हो पता है। हम लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि हम लोग अब क्या करें।

रविवार, 3 सितंबर 2023

G 20: दिल्ली आने-जाने वालीं 200 ट्रेनें रद्द

G 20: दिल्ली आने-जाने वालीं 200 ट्रेनें रद्द

अविनाश श्रीवास्तव
पटना। दुनिया के राष्ट्राध्यक्षों के सबसे बड़े शिखर सम्मेलन के लिए दिल्ली को पूरी तरह से तैयार किया जा रहा है। वहीं इस बैठक के पूर्व सुरक्षा को लेकर भी सख्त इंतजाम किए गए हैं। अब इसी में रेलवे में दिल्ली आने-जाने वाली करीब 200 ट्रेनों को रद्द कर दिया है। G 20 के लिए रेलवे ने अलग अलग रूट की 200 ट्रेनों को रद्द किया है।
भारत वर्तमान में नौ और 10 सितंबर को जी20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा। इस सम्मेलन को लेकर दिल्ली में सजावट की जा रही है, वहीं यहां सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए है।  ऐसे में जिन लोगों को नौ से 11 सितंबर के बीच दिल्ली की यात्रा करनी है वो अपनी यात्रा को ध्यान से प्लान करें। ट्रेन की सुविधा देखने के बाद ही घर से यात्रा करने के लिए निकलें। 
उत्तर रेलवे के अनुसार नई दिल्ली में होने वाले जी20 शिखर सम्मेलन को देखते हुए 9, 10 और 11 सितंबर को 207 ट्रेनों को रद्द किया गया है। इसके अलावा 36 ट्रेनें ऐसी हैं जिन्हें रेलवे ने शॉर्ट टर्मिनेट और शॉर्ट ओरिजिनेट किया है। रेलवे ने जी20 बैठक के कारण इन ट्रेनों को नई दिल्ली से पहले ही टर्निमेट करने का फैसला किया है। यानी ये ट्रेनें गाजियाबाद, हजरत निजामुद्दीन, आदर्श नगर, ओखला साहिबाबाद जैसे स्टेशनों पर ही टर्मिनेट होंगी।

गुरुवार, 31 अगस्त 2023

प्यार में धर्म बदलकर खुशबू बनी 'फरीना'

प्यार में धर्म बदलकर खुशबू बनी 'फरीना' 

अविनाश श्रीवास्तव 
मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के करजा धाना क्षेत्र के पकड़ी पकोही गांव की रहने वाली फरीना खातून को गांव के ही करन से प्यार हो गया। दोनों का प्यार परवान चढ़ा तो फरीना खातून और करन ने घर से भागकर शादी कर ली। फरीना ने करन की खातिर अपना धर्म बदला और खुशबू बनकर उसके साथ सात फेरे लिए। अब खुशबू के लिए मुश्किलें खड़ी हो गईं हैं। उसने कानून का सहारा लिया है और जान बचाने की गुहार लगाई है। खुशबू के परिजन अब करन और उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।
फरीना बनी खुशबू, लिए सात फेरे
मुस्लिम लड़की फरीना खातून ने धर्म परिवर्तन कर हिन्दू लड़के करन से शादी कर ली है। अब खुशबू बनी फरीना खातून को परिजन जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।.फरीना खातून यानी खुशबू की गलती ये है कि वह गांव के ही हिन्दू लड़के करन से बेपनाह मोहब्बत करती है। जब फरीना और करन, दोनों की मोहब्बत परवान चढ़ी तो दोनों ने शादी करने की ठानी लेकिन मुस्लिम होने की वजह से करन के परिजन फरीना को नहीं अपना रहे थे तो उसने प्यार के झुकना मुनासिब नहीं समझा।
मोहब्बत चढ़ी परवान, घर से भागी फरीना
फरीना घर छोड़कर करन के पास पहुंच गई और अपना धर्म परिवर्तन करा लिया। हिन्दू धर्म अपनाने के बाद फरीना खुशबू हो गई। फरीना उर्फ खुशबू और करन ने हिन्दू रीति-रिवाज से मंदिर में शादी कर ली। शादी की जानकारी मिलते ही फरीना के माता पिता ने करन पर फरीना का अपहरण करने का मामला दर्ज करा दिया। जब फरीना को इस बात का पता चला तो वह सीधे थाने पहुंची और फिर कोर्ट में अपना बयान दर्ज करवाया कि उसका अपहरण नहीं हुआ बल्कि अपनी मर्जी से उसने घर से भागकर करन के साथ सात फेरे लिए हैं।
कोर्ट में की फरियाद
कोर्ट में फरीना ने ये भी बताया कि उसने अपनी मर्जी से अपना धर्म परिवर्तन कराया है और हिन्दू रीति रिवाज के साथ करन से मंदिर में शादी की है। अब वो करन के साथ ही रहना चाहती और अपने ससुराल जाना चाहती है। हालांकि लड़की फरीना खातून उर्फ खुशबू को उसके परिजन के तरफ से जान मारने की धमकी मिल रही है। इसके लिए फरीना उर्फ खुशबू ने न्यायालय से जान की रक्षा की गुहार भी लगाई है।

बुधवार, 30 अगस्त 2023

रोहतास में भीषण हादसा, 7 लोगों की मौत

रोहतास में भीषण हादसा, 7 लोगों की मौत 

अविनाश श्रीवास्तव 
रोहतास। रोहतास जिले में भीषण सड़क हादसे में एक परिवार के सात लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि पांच लोग गंभीर हालत में है। घायलों को हायर सेंटर रेफर किया है। घटना थाना शिवसागर क्षेत्र से पखनारी के पास हुई। NH 2 पर आज बुधवार सुबह कंटेनर में पीछे से स्कॉर्पियो ने टक्कर मार दी। हादसा इतना भीषण था कि सात लोगों की दर्दनाक मौत मौके पर हो गई। घटना के बाद हाईवे पर जाम लग गया।
सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को अस्पताल भेजा। पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर स्कॉर्पियो में फंसी लोगों की लाशों को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस के मुताबिक, हाईवे किनारे खड़े कंटेनर में तेज रफ्तार स्कॉर्पियो ने टक्कर मार दी।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सड़क पर तेज गति से आ रही स्कॉर्पियो अचानक से अनियंत्रित हो गई और सीधे सड़क किनारे खड़े कंटेनर से जा टकराई। इस हादसे में पांच महिला, दो बच्चों सहित सात लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। सभी मृतक कैमूर जिला के सवार थाना के कुडारी गांव के निवासी थे। गाड़ी में सवार घायल अन्य पांच लोगों को सदर अस्पताल में भर्ती किया गया है। जाानकारी के मुताबिक स्कार्पियो सवार सभी लोग बोधगया से कैमूर लौट रहे थे और हादसे का शिकार हो गए। सभी मृतक और घायल एक ही परिवार के हैं। शिवसागर हादसा।
मृतकों में 50 वर्षीय अरविंद शर्मा, उनकी पत्नी, पुत्र आदित्य कुमार, रिया कुमारी के अलावा 15 वर्षीय चांदनी कुमारी, 18 साल की तारा कुमारी तथा 35 वर्ष की सोनी देवी की मौत हो गई। वहीं घायल नंदन प्रियदर्शी, रितु शर्मा, संदेश्वर शर्मा, दिव्या कुमारी तथा उपेंद्र शर्मा को सासाराम के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन घायलों की नाजुक स्थिति देखते हुए सभी को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। पुलिस सभी शवों को सासाराम के सदर अस्पताल लाई है, जहां पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

दो बच्चों की मां ने भतीजे से शादी की, हद

दो बच्चों की मां ने भतीजे से शादी की, हद 

अविनाश श्रीवास्तव
मधुबनी। जिले में अजब प्रेम की गजब कहानी सामने आया है। दो बच्चे की मां ने गांव के ही दस वर्ष छोटे रिश्ते में भतीजा से शादी रचाई। मामला रहिका थाना के डुमरी गांव की है।
प्यार में पागल दो बच्चे की मां ने रिश्ते की भी परवाह नहीं की और गांव के ही एक युवक 26 वर्षीय सुजीत चौपाल को दिल दे बैठी और दोनों में लुका-छुपी का खेल शुरू हो गया। उम्र में 36 वर्षीय महिला की 26 साल के भतीजे से ग्रामीणों और पुलिस ने करायी शादी। रिश्ते में चाची और भतीजा दोनों एक-दूसरे से आए दिन छुप-छुपकर मिला करते थे। महिला की सास की माने तो युवक सुजीत दिन में महिला से आकर मिलता था। रात में सास के सोने के बाद युवक महिला के पास घर में जाता था।
ग्रामीणों की माने तो युवक को घर से रंगे हाथ महिला के साथ बंद पाया। घर से निकालकर पीटा जाने लगा तो दोनों ने शादी करने की बात बताई। दोनों की कहानी जब गांव वालों को पता चला तो गांव वालों ने पूरे मामले की जानकारी महिला के पति को दी। महिला का पति दिल्ली में काम कर रहा था। अपने पत्नी के बेवफाई की जानकारी मिलते ही पति तुरंत ही ट्रेन पकड़ गांव पहुंचा। पति गांव पहुंच अपनी पत्नी की बेवफाई की कहानी लोगों के मुंह से सुनने लगा। इतना ही नहीं, हद तो तब हो गई जब पंचायत में पत्नी ने अपने पति को पहचानने से इंकार कर दिया।
महिला मीना देवी बोलने लगी मैं शादी करूंगी उसी लड़के से, जिसके बाद पति दुखी पासवान ने भी फैसला किया कि अब यह महिला घर में नहीं रहेगी। वहीं धीरे-धीरे यह मामला पूरे गांव और आसपास के इलाकों में फैल गए जिसके बाद लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। मामले की इसकी सूचना रहिका थाना को दी गई। पुलिस पहुंचकर महिला और प्रेमी से पूछताछ कर उसके इच्छानुसार दोनों की शादी करा दी। महिला दो बच्चे की मां है, 10 साल और 6 साल का दो बेटे हैं। महिला को पति भी रखने के लिए तैयार नहीं हुआ ना ही मायके के परिजन ने स्वीकार किया। ऐसे में रहिका थाना ने दोनों प्रेमी युगल जोड़ी को कहीं और रहने के लिए कहा।

सोमवार, 21 अगस्त 2023

प्रेमी शादीशुदा 2 बच्चों का बाप निकला, धोखा

प्रेमी शादीशुदा 2 बच्चों का बाप निकला, धोखा 

अविनाश श्रीवास्तव 
दरभंगा। बिहार के दरभंगा में भी सीमा हैदर जैसी मिलती-जुलती कहानी देखने को मिली है। हलांकि, इस कहानी में थोड़ा अंतर यह है कि यहां प्रेमी पहले से ही शादीशुदा और दो बच्चों का बाप निकला। दरअसल, नेपाल की रहने वाली संगीता देवी ने प्रेमी गोविंद के लिए पहले पति को तलाक दे दिया। फिर गोविंद से शादी कर ली।
लेकिन उसे नहीं पता था कि गोविंद पहले से ही शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। गोविंद उसे काफी समय से इग्नोर कर रहा था। संगीता को पता नहीं लग रहा था कि आखिर गोविंद उसके साथ ऐसा क्यों कर रहा है। उसने गोविंद के असली घर का पता निकलवाया। फिर जब वह उसके घर पहुंची तो उसके होश उड़ गए। पता चला जिस गोविंद ने उससे शादी की है वह तो पहले से ही शादीशुदा है।
इसके कारण घर में काफी हंगामा हुआ। गोविंद ने संगीता के साथ-साथ पहली पत्नी को भी घर से निकाल दिया और खुद वहां से कहीं चला गया। क्या है पूरा मामला चलिए जानते हैं।

गुरुवार, 3 अगस्त 2023

नाबालिक लड़के-लड़की की सड़क पर पिटाई

नाबालिक लड़के-लड़की की सड़क पर पिटाई   

अविनाश श्रीवास्तव  
मोतिहारी। हम भले हीं 21 वीं सदी में पहुंच गए हों, हम चांद पर पैर भी रख चुके हैं, हम सभ्य समाज में रहने का दंभ भी भरते हों। लेकिन हमारे ही समाज में ऐसा मामला सामने आता है जहाँ शर्म को भी शर्मिदगी आ जाए। ताजा मामला मोतिहारी में कानून अपने हाथ में लेने और तालिबानी फैसले से जुड़ा हुआ है, जिसने सभ्य समाज पर दाग तो लगा ही दिया है।
मोतिहारी में तालिबानी सजा के एक मामले की आग अभी ठंड़ी भी नहीं हुई थी कि दूसरा वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में एक व्यक्ति भरी पंचायत में एक युवक पर डंडा बरसा रहा है, तो एक महिला एक युवती पर डंडा बरसा रही है। इसका किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।
सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो बंजरिया थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। वायरल वीडियो खूब ट्रोल भी हो रहा है। लोग सोशल मीडिया पर यह कहते नहीं थक रहे कि आदापुर का तालिबानी सजा का वायरल वीडियो का मामला अभी शांत भी नही हुआ था कि बंजरिया में कानून अपने हाथ मे लेने का वीडियो वायरल हो रहा है। क्षेत्र में वायरल वीडियो को लेकर कई तरह की चर्चाएं जोरों पर हैं।
वीडियो में साफ दिख रहा है कि भरी पंचायत में एक युवक और युवती को एक व्यक्ति और महिला डंडे से जमकर पीट रहे हैं। पीड़ित लड़का लड़की नाबालिक बताए जा रहे है। सोशल मीडिया पर कानून हाथ मे लेकर तालिबानी सजा देने की चर्चा जोरों पर है। लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो ने कई सवाल तो खड़े कर ही दिए हैं।

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नेशनल क्रश रश्मिका मंदाना सिर्फ साउथ सिनेमा का ही नहीं, अब ...