गुरुवार, 24 मार्च 2022

अनुदानित मदरसों में 'राष्ट्रगान' का गायन अनिवार्य

अनुदानित मदरसों में 'राष्ट्रगान' का गायन अनिवार्य   

संदीप मिश्र       
लखनऊ। उत्तर प्रदेश, मदरसा शिक्षा परिषद ने सभी अनुदानित और गैर-अनुदानित मदरसों में नए सत्र से राष्ट्रगान का गायन अनिवार्य कर दिया है। हर मदरसे को कक्षाएं शुरू करने से पहले अन्य दुआओं के साथ राष्ट्रगान शिक्षकों और छात्रों को एक साथ गाना होगा। परिषद ने गुरुवार को अपनी बैठक में मुंशी-मौलवी, आलिम, कामिल और फाजिल की परीक्षाएं 14 मई से 27 मई के बीच कराने का भी निर्णय लिया। 20 मई के बाद माध्यमिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में गर्मी की छुट्टियों और उत्तर प्रदेश बोर्ड की उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन की वजह कॉलेजों के खाली न होने पर मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं राज्य अनुदानित मदरसों और आलिया स्तर के स्थायी मान्यता प्राप्त मदरसों में कराई जाएगी। 
परीक्षा की शुचिता बनाए रखने के लिए हर परीक्षा कक्ष में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। यह निर्णय गुरुवार मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष इफ्तिखार अहमद जावेद की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया।
बैठक में तय किया गया कि मदरसा बोर्ड में अब छह प्रश्नपत्रों की परीक्षा होगी। इसमें बेसिक शिक्षा की तर्ज पर कक्षा 1 से 8 तक के पाठ्यक्रम में दीनियात के अलावा हिन्दी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान के प्रश्न पत्र होंगे। इसी तरह सेकेंडरी (मुंशी-मौलवी) में अरबी-फारसी साहित्य के साथ दीनियात शामिल करते हुए एक विषय रखा जाएगा। बाकी हिन्दी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान के प्रश्न पत्र अलग होंगे। 
बैठक में तय किया गया कि मदरसों में घटती छात्र संख्या के चलते जिन अनुदानित मदरसों में छात्रों की संख्या से शिक्ष्ज्ञक के पद अधिक सृजित हैं वहां के शिक्षक जिन मदरसों में शिक्षक कम हैं वहां समायोजित के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा। बैठक में मदरसा शिक्षकों के पुत्र-पुत्रियों के अंग्रेजी शिक्षा ग्रहण करने की जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्वे कराने का निर्णय लिया गया। बैठक में तय किया गया कि मदरसों में छात्र पंजीकरण ऑनलाइन कराया जाएगा और आधार बेस्ड उपस्थिति प्रणाली विकसित करते हुए अगले सत्र से लागू की जाएगी। मदरसा शिक्षकों की ससमय उपस्थिति के लिए मदरसों में बायोमैट्रिक उपस्थिति प्रणाली लागू की जाएगी। शिक्षण में गुणवत्ता बढ़ाने और भाई-भतीजावाद रोकने के लिए शिक्षक पात्रता की तर्ज पर मदरसा शिक्षक पात्रता परीक्षा एमटीईटी लागू होगी। इस संबंध में रजिस्ट्रार को विस्तृत प्रस्ताव शासन को भेजने का निर्देश दिया गया। इस निर्णय के बाद मदरसों में रिक्त होने वाले शिक्षक पदों के लिए वही अर्ह माने जाएंगे जो एमटीईटी उत्तीर्ण होंगे। बैठक में बोर्ड के सदस्य कमर अली, तनवीर रिजवी, डॉ. इमरान अहमद, असद हुसैन, वित्त एवं लेखाधिकारी अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय आशीष आनन्द और बोर्ड के रजिस्ट्रार शेषनाथ पाण्डेय उपस्थित थे।

खेल: धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी छोड़ी

खेल: धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी छोड़ी    

मोमीन मलिक         

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को बड़ा फेरबदल देखने को मिला है‌। महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी छोड़ दी है। उनकी जगह ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को कमान सौंपी गई है‌।चेन्नई टीम ने इस बार जडेजा और धोनी समेत 4 खिलाड़ियों को रिटेन किया था। जडेजा को फ्रेंचाइजी ने 16 करोड़ रुपए में रिटेन किया था‌। जबकि धोनी को इस सीजन के लिए 12 करोड़ रुपए में ही रिटेन किया। इससे यह शुरुआत में ही अंदाजा लग गया था कि जडेजा को कप्तान बनाया जा सकता है‌‌। उनके अलावा मोईन अली को 8 करोड़ और ऋतुराज गायकवाड़ को 6 करोड़ रुपए में रिटेन किया था।

33 साल के जडेजा 2012 से चेन्नई टीम के साथ बने हुए हैं। वह सीएसके टीम के तीसरे कप्तान होंगे। आईपीएल के पहले सीजन यानी 2008 से ही महेंद्र सिंह धोनी ही टीम की कमान संभाल रहे थे‌‌। धोनी ने 213 मैच में कप्तानी करते हुए टीम को 130 मैच में जीत दिलाई है। बीच में सुरेश रैना ने भी 6 मैचों में कप्तानी की है। जिसमें से टीम ने सिर्फ 2 ही मैच जीते थे। 40 साल के धोनी 2008 में लीग की स्थापना के बाद से सीएसके के कप्तान रहे हैं और यह उनका आखिरी आईपीएल हो सकता है। वह पहले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं।


उदयन सभागार में 'डीएलआरसी' की बैठक सम्पन्न

उदयन सभागार में 'डीएलआरसी' की बैठक सम्पन्न     

सुशील केसरवानी                 
कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार की अध्यक्षता में सम्राट उदयन सभागार में जिला स्तरीय समीक्षा समिति (डीएलआरसी) की बैठक सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने सभी बैंको के अधिकारियों से कहा कि विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत सभी ऋण आवेदन जो स्वीकृत हो गये हैं, उन सभी को निस्तारित करना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही उन्होने विभागीय अधिकारियों को भी स्वीकृत ऋण आवेदनों पर विशेष ध्यान देते हुए निस्तारित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने लम्बित ऋण आवेदनों को 02-03 दिनों में निस्तारित करने के निर्देश दिये। 
उन्होंने बैंको के अधिकारियों से कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जायें। बैठक में बताया गया कि स्वयं सहायता समूह के खातों को खोलने में बैंको द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। जिस पर जिलाधिकारी ने लापरवाही बरतने वाले बैंकों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिये जिलाधिकारी ने विभिन्न योजनाओं-किसान क्रेडिट कार्ड, मत्स्य पालन किसान क्रेडिट कार्ड, पशु पालन किसान क्रेडिट कार्ड, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद योजना सहित आदि योजनाओं के अन्तर्गत प्राप्त ऋण आवेदनों पर अब तक की गयी कार्यवाही की विस्तृत समीक्षा करते हुए ऋण आवेदनों को निस्तारित करने के निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि कोई भी ऋण आवेदन लम्बित न होने पाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी, एलडीएम सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

डीएम की अध्यक्षता, मजिस्ट्रेट-व्यवस्थापकों की बैठक

डीएम की अध्यक्षता, मजिस्ट्रेट-व्यवस्थापकों की बैठक  

हरिशंकर त्रिपाठी                 

देवरिया। बृहस्पतिवार को माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर-प्रदेश प्रयागराज द्वारा आयोजित हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं नकल विहीन एवं शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन की अध्यक्षता में समस्त केंद्रों के सेक्टर मजिस्ट्रेेट, स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं केंद्र व्यवस्थापकों की बैठक टाउन हॉल सभागार में आयोजित हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने अधिकारियों को परीक्षा के दौरान उनके दायित्व के साथ कई महत्त्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा की शुचिता को प्रभावित करने वाले नकल माफियाओं के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।
जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में 218 विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। हाई स्कूल में 67,802 विद्यार्थी तथा इंटरमीडिएट की परीक्षा में 56,751 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा की शुचिता को बनाए रखने के लिए तीन सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, 5 जोनल मजिस्ट्रेट तथा 27 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। 9 परीक्षा केंद्रों को संवेदनशील तथा 4 परीक्षा केंद्रों को अतिसंवेदनशील श्रेणी में चिन्हित किया गया है। एलआईयू, पुलिस बल, सेक्टर मजिस्ट्रेट प्रथम एवं द्वितीय पाली में प्रतिदिन निरीक्षण करेंगे और उसकी आख्या कंट्रोल रूम तथा जिलाधिकारी को उपलब्ध कराएंगे।
परीक्षा कक्ष में वॉइस रिकॉर्डर के साथ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिसकी निगरानी विद्यालय में स्थापित कंट्रोल रूम से की जाएगी। परीक्षा केंद्र पर किसी भी तरह की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस एवं मोबाइल को लाने की अनुमति नहीं होगी। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रश्न पत्र परीक्षा केंद्र पर डबल लॉक अलमारी में सुरक्षित रखें गए हैं। डबल लॉक को स्टैटिक मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में केंद्र व्यवस्थापक एवं बाह्य केंद्र व्यवस्थापक द्वारा खोला तथा बंद किया जाएगा। जिस अलमारी को प्रश्न पत्रों हेतु डबल लॉक अलमारी बनाया गया है। उसमें प्रश्न पत्र के अतिरिक्त कोई अन्य सामग्री नहीं रखी जाएगी। परीक्षा से पूर्व प्रश्न पत्र के प्रकटन की दशा में संबंधित स्टैटिक मजिस्ट्रेट, केंद्र व्यवस्थापक एवं बाह्य केंद्र व्यवस्थापक को उत्तरदायी माना जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि नकल विहीन परीक्षा संपन्न कराने की जिम्मेदारी स्टैटिक मजिस्ट्रेट, केंद्र व्यवस्थापक और बाह्य केंद्र व्यवस्थापक की है।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, एडीएम (वित्त एवं राजस्व) नागेंद्र कुमार सिंह, मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम गुँजन द्विवेदी, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, एसडीएम रुद्रपुर, डीआईओएस देवेंद्र कुमार गुप्ता, बीएसए सन्तोष कुमार राय सहित विभिन्न अधिकारी, सेक्टर मजिस्ट्रेटगण व केंद्र व्यवस्थापकगण मौजूद थे।

डीएम खत्री ने जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाई

डीएम खत्री ने जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाई  

बृजेश केसरवानी                        
प्रयागराज। विश्व क्षय रोग दिवस पर स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में जागरूकता रैली, हस्ताक्षर अभियान व पोषाहार वितरण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। क्षय रोग जागरूकता रैली को जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही कलेक्ट्रेट परिसर स्थित संगम सभागार में 40 टीबी संक्रमित मरीजों को पोषाहार वितरित किया गया। 
रैली जिलाधिकारी कार्यालय से होते हुए जिला क्षय रोग कार्यालय तक गयी। रैली को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने जनपद को टीबी मुक्त बनाने के लिए जनसमुदाय से अपील की। उन्होने कहा कि टीबी एक ऐसी बीमारी है।
जिसके प्रति लोगों का जागरूक होना बहुत जरूरी है। टीबी के लक्षण दिखाई देने पर घबराएँ न बल्कि नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जांच कराएं। टीबी के मरीज का उपचार समय पर जरूरी है। एक टीबी मरीज 10 से 15 स्वस्थ लोगों को संक्रमित कर सकता है। सरकार टीबी मरीजों का इलाज व दवाओं से लेकर जांच निःशुल्क मुहैया कराती है। कलेक्ट्रेट स्थित संगम सभागार में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नानक सरन, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. एके तिवारी व एडीएम सिटी मदनदीप के नेतृत्व में टीबी मरीजों के लिए पोषाहार वितरण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। टीबी मरीजों को संबोधित करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नानक सरन ने कहा कि टीबी उन्मूलन के लक्ष्य को जल्द से जल्द प्राप्त करने के उद्देश्य से विभाग छः माह तक हर टीबी मरीज को प्रत्येक माह पौष्टिक आहार (पोषाहार) वितरित करेगा। टीबी संक्रमित मरीज पोषाहार व नियमित दवा के सेवन से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर टीबी को हराएंगे। पोषाहार में मरीजों को मूँगफली, भुना चना, गुड, सत्तू, तिल/गज़क, हौर्लिक्स प्रतिमाह एक-एक किलो प्रदान किया जाएगा। 
पोषाहार वितरण हेतु जनपद के सभी ब्लॉकों के बीडीओ को मरीजों की सूची भेजी गई है। बीडीओ के माध्यम से सीएचसी, पीएचसी में प्रत्येक माह पोषाहार का वितरण किया जाएगा। शहरी क्षेत्र के टीबी मरीजों को राज्य क्षय रोग चिकित्सालय तेलियरगंज में पोषाहार वितरित किया जाएगा। 

यूके: यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने का फैसला

यूके: यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने का फैसला      

पंकज कपूर                            
देहरादून। शपथ लेने के एक दिन बाद ही उत्तराखंड के नवनिर्वाचित सीएम पुष्कर सिंह धामी ने एक बड़ा ऐलान करते हुए कि हमने उत्तराखंड राज्य में समान नागरिक संहिता, अर्थात यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने का फैसला लिया है। उन्होंने बताया कि राज्य मंत्रिमंडल ने इस फैसले पर अपनी सहमति जताई है। 
अब इस मामले पर बहुत जल्द विशेषज्ञों की एक टीम गठित की जाएगी और राज्य भर में यूनिफॉर्म सिविल कोडलागू किया जाएगा। आपको बता दें कि देशभर में उत्तराखंड पहला ऐसा राज्य है। जो यूनिफॉर्म सिविल कोड को लागू करने जा रहा है।

शक्तिकांत ने 'आरबीआईएच' का उद्घाटन किया

शक्तिकांत ने 'आरबीआईएच' का उद्घाटन किया 

इकबाल अंसारी           

बेंगलुरु भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बृहस्पतिवार को बेंगलुरु में 100 करोड़ रुपये के शुरुआती अंशदान से तैयार रिजर्व बैंक इनोवेशन हब (आरबीआईएच) का उद्घाटन किया। आरबीआई ने एक बयान में कहा कि आरबीआईएच की स्थापना देश में वित्तीय नवाचार को प्रोत्साहन देने के इरादे से की गई है।इस नवाचार केंद्र के जरिये वित्तीय सेवाओं एवं उत्पादों तक निम्न-आय समूह की पहुंच को बढ़ावा देने वाली पारिस्थितिकी बनाने की कोशिश की जाएगी।

केंद्रीय बैंक ने कहा कि भारत में वित्तीय क्षेत्र तक विश्वस्तरीय नवाचार लाने के साथ ही वित्तीय समावेशन की दिशा में भी यह केंद्र काम करेगा। इसके जरिये बैंकिंग एवं वित्तीय सेवा क्षेत्र, स्टार्टअप पारिस्थितिकी, नियामकों और अकादमिक जगत को एक मंच पर लाने की कोशिश की जाएगी। रिजर्व बैंक ने कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा आठ की कंपनी के तौर पर आरबीआईएच का गठन किया है। इसके लिए शुरुआती तौर पर 100 करोड़ रुपये की पूंजी लगाई गई है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट में पेश नहीं हुईं अभिनेत्री कंगना

सुनवाई के दौरान कोर्ट में पेश नहीं हुईं अभिनेत्री कंगना   

कविता गर्ग          

मुंबई। अभिनेत्री कंगना रनौत और गीतकार जावेद अख्तर बीच चल रहे मानहानि केस पर पिछले कई दिनों से कोर्ट में सुनवाई हो रही है। लेकिन, कंगना इन सुनवाई के दौरान पेश हो नहीं हो रही है। बृहस्पतिवार को हुई सुनवाई के दौरान भी कंगना कोर्ट में पेश नहीं हुईं। इसे लेकर कोर्ट ने नाराजगी जताई और कंगना को खूब फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि कंगना अपने प्रोफेशनल काम में लगातार व्यस्त हैं।लेकिन उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि वह किसी मामले में आरोपी हैं‌।

कंगना रनौत ने हाल में अंधेरी मेट्रोपोल‍िटन मज‍िस्‍ट्रेट में याचिका दायर की थी कि उन्‍हें लेखक जावेद अख्‍तर के केस में पेश होने से परमानेंट र‍ियायत म‍िल जाए। लेकिन कोर्ट ने उनकी ये याचिका खारिज कर दी थी‌ कंगना कथित तौर पर इस मामले में केवल दो बार कोर्ट में पेश हुई हैं। एक बार जब मामले पर पहली बार सुनवाई हुई थी और दूसरी बार जब उन्होंने मजिस्ट्रेट के खिलाफ पक्षपात का आरोप लगाया था।

ईटाइम्स ने एक न्यूज पोर्टल के हवाले से बताया है, मजिस्ट्रेट आरआर खान ने कहा कि कंगना रनौत कथित तौर पर ‘इस मामले की सुनवाई के लिए अपनी शर्तों के अनुसार तय कर रही हैं।’ उनकी परमानेंट पेशी में छूट की याचिका को खारिज करते हुए, मजिस्ट्रेट ने कहा कि कंगना को कानून की स्थापित प्रक्रिया और अपने जमानत बांड के नियमों और शर्तों का पालन करना होगा। मजिस्ट्रेट आरआर खान ने आगे कहा कि वह एक सेलिब्रिटी हैं और उनके प्रोफेशनल कार्य हो सकते हैं।लेकिन वह यह नहीं भूल सकतीं कि वह इस मामले में एक आरोपी हैं। बता दें कि साल 2020 में, सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद कंगना रनौत ने एक इंटरव्यू जावेद अख्तर का नाम लेते हुए उन्हें ‘सुसाइड गैंग’ का हिस्सा बताया था, जो बॉलीवुड में उनके जैसे ‘आउटसाइडर’ को अपनी जिंदगी खत्म करने पर मजबूर करते हैं।

विनीत को निर्वाचित होने का प्रमाण-पत्र सौंपा: डीएम

विनीत को निर्वाचित होने का प्रमाण-पत्र सौंपा: डीएम  

संदीप मिश्र          
वाराणसी। विनीत सिंह, एक बार फिर से मिर्ज़ापुर-सोनभद्र एमएलसी सीट से चुनाव में निर्वाचित हुये है। भाजपा प्रत्याशी विनीत सिंह इस सीट पर निर्विरोध निर्वाचित हुये है। बृहस्पतिवार को जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने कलेक्ट्रेट सभागार में विनीत सिंह को निर्वाचित होने का प्रमाण-पत्र सौंपा। प्रमाण पत्र लेने के बाद विनीत सिंह ने इसे भगवान श्री राम और माता विंध्यवासिनी की कृपा बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा की नीतियों और कार्यों के चलते लोगों का जन समर्थन हासिल हो रहा है। मिर्जापुर-सोनभद्र क्षेत्र से विनीत सिंह 2010 में बसपा के समर्थन से एमएलसी चुने गए थे।
इससे पहले बुधवार को सपा प्रत्याशी रमेश सिंह यादव ने अपना पर्चा वापस ले लिया था। जिसके कारण विनीत सिंह के निर्विरोध होने का रास्ता साफ हो गया था। गुरुवार दोपहर नाम वापसी के अंतिम दिन तीन बजते ही विनीत सिंह को  निर्वाचित घोषित कर दिया गया।  मिर्जापुर सोनभद्र स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन में तीन प्रत्याशियों ने नामांकन किया था। जिसमें से एक प्रत्याशी प्रेमचंद का पर्चा तकनीकी कारणों से निरस्त कर दिया गया था।  एमएलसी चुनाव के नामांकन प्रक्रिया के अंतिम दिन भाजपा ने पूर्व एमएलसी विनीत सिंह को प्रत्याशी घोषित कर सबको चौंका दिया था। पूर्व एमएलसी विनीत सिंह ने जिला पंचायत चुनाव में मिर्जापुर के साथ ही सोनभद्र व चंदौली में अपने रसूख का इस्तेमाल भाजपा के लिए किया था।
मिर्जापुर की जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर लगातार तीन बार से श्याम नारायण सिंह उर्फ विनीत सिंह का कब्जा है। 2011 और 2016 में लगातार उनकी पत्नी प्रमिला सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए चुनाव लड़ीं और भारी मतों से विजयी रहीं। वहीं 2021 में हुए जिला पंचायत के चुनाव में उनके विश्वासपात्र राजू कन्नौजिया भारी मतों से जीते और अध्यक्ष बने।
विनीत सिंह वाराणसी के चोलापुर विकासखंड के गोला गांव के रहने वाले हैं। पिता शिवमूरत सिंह राजस्व विभाग में कर्मचारी थे। ये पांच भाइयों और चार बहनों में चौथे नंबर पर हैं। बड़े भाई त्रिभुवन सिंह चोलापुर से ब्लॉक प्रमुख रह चुके हैं। विनीत सिंह जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। विनीत सिंह कराटे में भी ब्लैक बेल्ट हैं। इन्होंने काशी विद्यापीठ से स्नातक किया है।

'यूपीपीएससी' में अलग-अलग पदों पर बंपर भर्ती

'यूपीपीएससी' में अलग-अलग पदों पर बंपर भर्ती     

संदीप मिश्र         

लखनऊ। उत्तर प्रदेश युवाओं के लिए सरकारी नौकरी पाने का एक सुनहरा अवसर आया है। दरअसल, उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग, 'यूपीपीएससी' में पुलिस उपाधीक्षक सहित अलग-अलग पदों पर बंपर भर्ती निकली है। जारी नोटिफिकेशन के अनुसार भर्ती कुल 250 पदों पर होनी है, जिसके लिए उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन तय की गई है। रिक्त पदों पर इच्छुक उम्मीदवार 16 अप्रैल तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। 

आप अधिक जानकारी के लिए https://uppsc.up.nic.in/View_Enclosure.aspx?ID=110&flag=H&FID=693 इस लिंक को क्लीक करें। 
आवेदक सबसे पहले यूपीपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
होम पेर पर दिखाई दे रहे संबंधित भर्ती से जुड़े लिंक पर क्लिक करें।
अब मांगी जा रही जानकारी को दर्ज कर के लॉगिन करें।
अब आईडी और पासवर्ड के माध्यम से लॉगिन कर के आवेदन पत्र को भरें।
अब आवेदन शुल्क जमा कर के सबमिट करें।
आगे की जरूरत के लिए आवेदन पत्र को डाउनलोड कर के इसका प्रिंट भी निकलवा लें।


छेड़छाड़-मारपीट के आरोपी को जमानत से इनकार

छेड़छाड़-मारपीट के आरोपी को जमानत से इनकार   

इकबाल अंसारी               
तिरुवनंतपुरम। केरल हाईकोर्ट ने छेड़छाड़ और मारपीट के आरोपी को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया। इसके साथ ही अदालत ने कहा कि " यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक पिता और किशोर बेटी भद्दी टिप्पणी सुने बिना सड़क पर एक साथ नहीं चल सकते।
केरल हाईकोर्ट ने कहा कि 14 साल की बेटी के खिलाफ भद्दी टिप्पणियों पर आपत्ति जताने पर आरोपी ने उसके पिता को हेलमेट से मारा, जिससे वह घायल हो गए। नाबालिग लड़की के पिता एक सेवानिवृत्त पुलिस उप-निरीक्षक हैं। अदालत इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि यह सब रुकना चाहिए।
सुनवाई के दौरान आरोपी ने दावा किया कि लड़की के पिता ने उस पर हमला किया था। इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि कोई भी अभिभावक अपने बच्चे के खिलाफ भद्दी टिप्पणी सुनेगा, तो उसकी यही प्रतिक्रिया होगी। हाईकोर्ट ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कहा कि आरोपों की प्रकृति को देखते हुए याचिकाकर्ता अग्रिम जमानत का हकदार नहीं है।
कोर्ट ने यह भी कहा कि अगर आरोपी जांच अधिकारी के सामने आत्मसमर्पण करता है, तो उसे उसी दिन न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा। तब मामले के गुण-दोष को ध्यान में रखते हुए बिना किसी अनुचित देरी के याचिकाकर्ता के आवेदन पर विचार किया जाएगा।

डिहाइड्रेशन से बचने के लिए खाएं ये फूड्स, जानिए

डिहाइड्रेशन से बचने के लिए खाएं ये फूड्स, जानिए    

सरस्वती उपाध्याय                 

बढ़ती गर्मियों में सबसे ज्यादा समस्या डिहाइड्रेशन की होती है। ऐसे में हर किसी को अपने स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा धान देने की आवश्यकता होती है। गर्मियों में हमें बड़ो से सलाह मिलती है कि अधिक से अधिक हाइड्रेटेड फूड्स खाने चाहिए। जिसमिने पानी की मात्रा ज्यादा हो। रोज कम से कम 8 गिलास पानी पीने की सलाह दी जाती है। गर्मियों में डिहाइड्रेशन से बचने के लिए आप इन्हे खाएं – तरबूज, टमाटर, खीरा, स्ट्रॉबेरी आदि जैसे फूड्स शामिल हैं। आइए जानें पानी (Water) से भरपूर फूड्स।

टमाटर में लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है। करी में इसका इस्तेमाल आमतौर से किया जाता है। टमाटर विटामिन-ए से भरपूर होता है। ये हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम को कम करता है। ये आंखों की रोशनी में सुधार करता है। ये त्वचा को हेल्दी बनाए रखने का काम करता है‌। खीरा पानी से भरपूर होता है‌‌। इसमें लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है। इसमें पोटैशियम होता है। ये हीटस्ट्रोक को रोक सकता है। खीरा मस्तिष्क के लिए भी फायदेमंद है‌। दरअसल खीरे में फिसेटिन नामक एक एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व होता है। ये मस्तिष्क के बेहतर कामकाज में मदद करता है।

वह कहावत है ना सेब में लगभग 80 प्रतिशत पानी होता है। ये विटामिन और मिनरल से भरपूर होता है। ये मेटाबॉलिज्म को तेज करता है। ये हृदय को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। ये एक बहुत ही स्वादिष्ट और गर्मी के मौसम में सबसे अधिक पसंद किए जाने फलों में एक है। तरबूज में 90 प्रतिशत पानी होता है। ये हीटस्ट्रोक से लड़ने में मदद करता है। ये इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है‌‌। ये फल हृदय रोगों को रोकने में भी मदद करता है।

मशरूम विटामिन-बी2 और डी जैसे पोषक तत्वों का एक अच्छा स्रोत है। इसमें लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है। आप नियमित रूप से इस सब्जी का सेवन कर सकते हैं। ये थकान को कम करने में मदद करती है। स्ट्रॉबेरी पानी से भरपूर होती है। इसमें लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है। ये फाइबर, विटामिन सी, फोलेट और मैंगनीज से भरपूर होती हैं‌। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। ये सभी पोषक तत्व डायबिटीज, कैंसर और हृदय संबंधी समस्याओं जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं।


भोली पंजाबन के रूप में भूमिका, तैयार हैं अभिनेत्री

भोली पंजाबन के रूप में भूमिका, तैयार हैं अभिनेत्री    

कविता गर्ग        

मुंबई। अभिनेत्री ऋचा चड्ढा 'फुकरे’ की तीसरी कड़ी में भोली पंजाबन के रूप में अपनी भूमिका को फिर से करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।‌‌ उनका कहना है कि यह चरित्र बहुत ही प्रतिष्ठित है। फ्रैंचाइजी के साथ अपने संबंध के बारे में, ऋचा चड्ढा कहती हैं कि भोली पंजाबन का चरित्र प्रतिष्ठित है। वह एक कच्ची और साहसी गैंगस्टर है, जो जानती है कि चीजों को अपने तरीके से कैसे करना है, और मुझे बड़े पर्दे पर उसे चित्रित करने में बहुत मजा आता है।

एक्सेल एंटरटेनमेंट द्वारा समर्थित और मृगदीप सिंह लांबा द्वारा निर्देशित, दिल्ली-सेट फिल्म श्रृंखला चार दोस्तों का अनुसरण करती है‌। जो आसानी से पैसा कमाने के लिए एक साथ आते हैं। दर्शकों की अजीबोगरीब हड्डी को गुदगुदाने और उन्हें दो बार मस्ती से भरे रोलर कोस्टर राइड पर ले जाने के बाद फ्रैंचाइजी एक कल्ट क्लासिक बन गई है। ‘फुकरे 3’ की शूटिंग इस समय दिल्ली में चल रही है।

योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना

योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना    

संदीप मिश्र                   

लखनऊ। भाजपा विधायक दल की बैठक में योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना गया। माना जा रहा है कि योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को ही राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं। योगी आदित्यनाथ का शपथग्रहण समारोह शुक्रवार को शाम 4 बजे इकाना स्टेडियम में होगा। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी शाम को राजभवन पहुंचकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के समक्ष 273 विधायकों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

भाजपा विधायक दल नेता चुनाव के पर्यवेक्षक एवं गृह मंत्री अमित शाह, सह पर्यवेक्षक रघुवर दास विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए लखनऊ पहुंचे। इस बैठक में भाजपा के नवनिर्वाचित विधायक और विधान परिषद सदस्य शामिल हुए। इसके अलावा गठबंधन में भाजपा के सहयोगी अपना दल और निषाद पार्टी के विधायक भी मौजूद रहे। साथ ही यूपी विधानसभा चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान, उत्तर प्रदेश के प्रभारी राधा मोहन सिंह, उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ डॉ. दिनेश शर्मा भी मौजूद रहे।

लोकभवन में विधायक दल की बैठक से पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी की प्रतिमा पर गृह मंत्री अमित शाह, कार्यवाहक मुख्यमंत्री आदित्यनाथ व अन्य नेताओं ने पुष्प अर्पित करे।उधर, 18वीं विधानसभा के अध्यक्ष पद के लिए भाजपा के कद्दावर नेता सूर्य प्रताप शाही, पूर्व संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना और उत्तराखंड की पूर्व राज्यपाल बेबीरानी मौर्य का नाम चर्चा में है। सूत्रों के मुताबिक भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का मानना है कि बेबीरानी राज्यपाल रह चुकी हैं, ऐसे में उन्हें मंत्री बनाने की जगह विधानसभा अध्यक्ष का संवैधानिक पद ही देना उचित होगा। भाजपा यूपी में विधानसभा चुनाव सीएम योगी के नेतृत्व में लड़ेगी। इसकी घोषणा सबसे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने ही की थी। राजधानी के डिफेंस एक्सपो मैदान में 29 अक्तूबर, 2021 को आयोजित पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन में शाह ने कहा था कि 2024 में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए 2022 में योगी को फिर से प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाना जरूरी है।

भगत सिंह की 33 फुट ऊंची प्रतिमा होगी स्थापित

भगत सिंह की 33 फुट ऊंची प्रतिमा होगी स्थापित       

अमित शर्मा             

चंडीगढ़। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्य की सरकारी नौकरियों की ए तथा बी श्रेणी में खिलाड़ियों के लिए तीन प्रतिशत कोटे को पुनः बहाल करवाया जाएगा और उचाना में शहीद-ए-आजम भगत सिंह की 33 फुट ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाएगी। डिप्टी सीएम आज शहीदी दिवस के उपलक्ष्य पर उचाना में आयोजित मैराथन दौड़ के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने मैराथन दौड़ में उमड़े विशाल जन समूह को संबोधित करते हुए कहा कि गांव नगूरां से बधाना तक बनी सड़क का नामकरण शहीद कैप्टन पवन कुमार के नाम से कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि शहीदों की बदौलत ही आज हम खुली हवा में सांस ले रहे हैं। राष्ट्र हमेशा इनका ऋणी रहेगी। उन्होंने मैराथन में अव्वल रहने वाले धावकों को सम्मानित करते हुए कहा कि युवाओं को नशाखोरी छोड़कर खेलों की ओर अपना रुझान बढ़ाना चाहिए, क्योंकि खेलों में करियर बनाने की अपार संभावनाएं मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की खेल नीति की बदौलत ही प्रदेश के अनेक खिलाड़ियों ने प्रदेश का नाम विश्व पटल पर गौरवान्वित करने का काम किया है। इस खेल नीति की बदौलत उत्कृष्ट खिलाड़ियों को अनेक विभागों में सरकारी पदों पर नौकरियां मिली हैंं। उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि वे शिक्षा के साथ-साथ खेलों में भी भाग लें।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित इस मैराथन दौड में हजारों की संख्या में बच्चों, युवा, बुजुर्गो तथा महिलाओं ने भाग लेकर यह साबित कर दिया है कि हरियाणा प्रदेश हर क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है।

श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जो युवा खेल, चिकित्सा, शिक्षा,अनुसंधान इत्यादि क्षेत्रों में आगे बढऩा चाहते हैं उनको राज्य सरकार की ओर से हर सम्भव सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा हर वर्ग के उत्थान के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की जा रही हैं। लोगों को इन योजनाओं का लाभ उठाकर अपने जीवन स्तर को लगातार ऊंचा उठाने का प्रयास करते रहना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की गरीब तबके के लोगों के उत्थान के लिए सरकार द्वारा विशेष फोकस किया जा रहा है। इसी उद्देश्य को लेकर प्रदेश भर में मुख्यमंत्री गरीब परिवार उत्थान योजना के तहत मेलों का आयोजन करवाया जा रहा है ताकि हर पात्र व्यक्ति को एक ही जगह पर सभी विभागों एवं बैंकों की सेवाएं मुहैया करवाकर लाभान्वित करवाया जा सके।

इससे पूर्व, आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में शहीदी दिवस पर उचाना विधानसभा क्षेत्र के गांव खटकड़ स्थित टोल प्लाजा से 12 किलोमीटर लंबी मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने मैराथन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और उन्होंने खुद भी मैराथन में दौडक़र धावकों का उत्साहवर्धन किया। श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री अनूप धानक तथा विधायक श्री अमरजीत ढांडा ने भी मैराथन में युवाओं के साथ दौड़ लगाई। मैराथन में युवाओं के साथ बच्चों, बुजुर्गों व  महिलाओं ने भी हिस्सा लिया। धावकों में मैराथन के प्रति अच्छा खासा उत्साह नजर आया। मैराथन का दृश्य उस समय और भी दर्शनीय बन गया जब हेलीकॉप्टर के माध्यम से धावकों पर पुष्प वर्षा लगातार होती रही। सबसे पहले उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने खटकड़ गांव स्थित शहीद-ए-आजम भगत सिंह की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

एक्ट्रेस पाटनी ने मिरर के सामने सेल्फी क्लिक की

एक्ट्रेस पाटनी ने मिरर के सामने सेल्फी क्लिक की  

कविता गर्ग        
मुंबई। बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस दिशा पाटनी हमेशा सुर्खियों में रहती है। उनकी कई ग्लैमरस तस्वीरे सोशल मीडिया में वायरल होती रहती है। एक बार फिर उनकी एक तस्वीर जमकर वायरल हो रही है। उन्होंने अपनी एक ऐसी फोटो पोस्ट कर दी है। जिसे देखकर फैंस मदहोश होने लगे हैं। कमेंट सेक्शन में आग लग गई है।
फोटो में दिशा पाटनी, ब्लैक कलर की ब्रा पहने हुए नजर आ रही हैं। 
उन्होंने मिरर के सामने, ऐसी सेल्फी क्लिक की है। जिसमें वह हद से ज्यादा हॉट लग रही हैं। तस्वीर में दिशा का चेहरा तो नहीं दिख रहा है। लेकिन उन्होने अपने टोन्ड फिगर को फ्लॉन्ट कर फैंस की धड़कनें बढ़ा दी हैं। उन्होंने अपनी इस सेल्फी को वॉशरूम में क्लिक की है। जो इंटरनेट पर जमकर तहलका मचा रही है।

जी-सोनी विलय सौदे का समर्थन करेगी इनवेस्को

जी-सोनी विलय सौदे का समर्थन करेगी इनवेस्को   

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। जी-एंटरटेनमेंट की सबसे बड़ी शेयरधारक इनवेस्को डेवलपिंग मार्केट्स फंड ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह जी-सोनी विलय सौदे का समर्थन करेगी। निवेश कंपनी ने जी लि. के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) पुनीत गोयनका को पद से हटाने को लेकर कंपनी के शेयरधारकों की आसाधारण बैठक (ईजीएम) बुलाने पर जोर नहीं देने का भी निर्णय किया है। कंपनी ने कहा कि वह जी और सोनी के विलय का समर्थन करेगी। क्योंकि यह सौदा जी के शेयरधारकों के हित में है। लेकिन साथ ही उसने कहा कि अगर इसे मौजूदा प्रस्ताव के अनुसार पूरा नहीं किया गया, तो इनवेस्को नये सिरे से ईजीएम बुलाने का अधिकार रखती है। बंबई उच्च न्यायालय द्वारा इनवेस्को के ईजीएम बुलाने के अधिकार को वैध ठहराने के दो दिन बाद निवेश कंपनी ने एक बयान में कहा कि जी ने सोनी के साथ विलय समझौते किया। हमने ईजीएम बुलाने और छह स्वतंत्र निदेशकों को शामिल करने की मंशा की घोषणा की थी।
साथ ही कहा कि हमारा मानना है कि यह सौदा मौजूदा स्वरूप में जी शेयरधारकों के लिये काफी अच्छा है। हमारा विचार है कि विलय के बाद, नई संयुक्त कंपनी के निदेशक मंडल (बोर्ड) का पुनर्गठन किया जाएगा। इसके जरिये कंपनी के कामकाज पर नजर रखने को बोर्ड को मजबूत बनाने का हमारा लक्ष्य पूरा हो जाएगा। इन चीजों को देखते हुए, हमने ईजीएम बुलाने की मांग को आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है।
 कंपनी ने ईजीएम बुलाने की मांग 11 सितंबर, 2021 को की थी। इनवेस्को ने कहा कि वह प्रस्तावित विलय पर नजर रखेगी। अगर विलय मौजूदा प्रस्ताव के अनुसार पूरा नहीं होता है, इनवेस्को ईजीएम बुलाने का अपना अधिकार रखती है।
उल्लेखनीय है कि पिछले साल सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एसपीएनआई) और जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (जी लि.) ने विलय को लेकर पक्के समझौतों पर हस्ताक्षर किये थे। उस समय इनवेस्को ने ओएफआई ग्लोबल चाइना फंड एलएलसी के साथ मिलकर सौदे का विरोध किया था। इन दोनों कंपनियों की जी लि. में 17.9 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

बीबीसी वर्ल्ड सर्विस को 41 लाख पाउंड की धनराशि

बीबीसी वर्ल्ड सर्विस को 41 लाख पाउंड की धनराशि   

सुनील श्रीवास्तव                  
लंदन। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने रूस का मुकाबला करने के प्रयासस्वरूप बीबीसी वर्ल्ड सर्विस को 41 लाख पाउंड की अतिरिक्त धनराशि देने की घोषणा की है। जानकारी के अनुसार, आधिकारिक सूत्रों ने कहा है, कि यह एक नए अहम सैन्य समर्थन पैकेज का हिस्सा है। जिसकी घोषणा प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन गुरुवार को ब्रसेल्स में नाटो और जी7 नेताओं की एक बैठक में करने वाले हैं।
ब्रिटेन में बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के यूक्रेनी और रूसी भाषा सेवाओं के समर्थन में यह धनराशि दी जा रही है ताकि यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियान और रूस की बर्बरता को लोगों को सामने लाने के लिए कंटेंट बनाया जा सके।
इसके अलावा, ब्रिटेन ने टैंक रोधी और अधिक विस्फोटक हथियारों सहित 6,000 मिसाइलें भी दी हैं। इतना ही नहीं, यूक्रेन की सेना के लिए आर्थिक सहायता के रूप में 2.5 लाख पाउंड भी दिया गया है, जिससे यूक्रेनी सैनिकों, विमानचालकों और पुलिस को तनख्वाह मिल सके और वहां की सेना अधिक गुणवत्ता वाले औजारों से लैस हो।
इस तरह से ब्रिटेन की तरफ से यूक्रेन को अब तक 10,000 से अधिक मिसाइलें दी जा चुकी हैं। यूक्रेन की इस संकट की घड़ी में मानवीय और आर्थिक सहायता के तहत ब्रिटेन अब तक सबसे अधिक 40 करोड़ पाउंड की सहायता दे चुका है।

गूगल की 'समाचार एग्रीगेटर सेवा' को अवरुद्ध किया

गूगल की 'समाचार एग्रीगेटर सेवा' को अवरुद्ध किया      

अखिलेश पांडेय            

मॉस्को रूस के संचार नियामक ने यह घोषणा की है कि उनके द्वारा अल्फाबेट इंक के गूगल की समाचार एग्रीगेटर सेवा को अवरुद्ध किया जा रहा है। अल-जजीरा ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। नियामक ने आरोप लगाया है कि गूगल यूजर्स को यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियान के बारे में झूठी खबरें बता रहा है। इससे पहले, यूट्यूब ने रूसी सरकार के मीडिया संस्थान आरटी सहित कई रूसी चैनलों को अपने वीडियो के साथ चलने वाले विज्ञापनों से पैसा कमाने पर रोक लगा दी थी, यानि कि इन्हें डिमॉनेटाइज कर दिया था। इसके अलावा, गूगल ने भी रूस में ऑनलाइन विज्ञापन बेचना बंद कर दिया था।

रूसी सेना को बदनाम करने वाली किसी भी घटना की रिपोर्ट को अवैध करार दिए जाने के एक नए रूसी कानून पारित होने के बाद रूस के राज्य मीडिया वॉचडॉग रोसकोम्नाडजोर ने रूस के अभियोजक जनरल के कार्यालय के अनुरोध पर यह कार्रवाई की है।

'एमसीडी' का चुनाव नहीं करा रहीं भाजपा: संजय

'एमसीडी' का चुनाव नहीं करा रहीं भाजपा: संजय   

अकांशु उपाध्याय          
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के सदस्य संजय सिंह ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के डर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) का चुनाव नहीं करा रही है। संजय सिंह ने सदन में रेल मंत्रालय के कामकाज पर चर्चा के दौरान कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार केजरीवाल के साथ एक मुख्यमंत्री की तरह वर्ताव नहीं कर रही है।
उन्हाेंने आरोप लगाया कि  केजरीवाल ने दिल्ली के बुजुर्गाें को अध्योध्या में रामलला का दर्शन कराने की व्यवस्था की लेकिन मुख्यमंत्री जब रेलवे स्टेशन पर गये तो अधिकारियों का व्यवहार उचित नहीं था। उन्होंने कहा कि कोरोना के नाम पर सरकार ने बुजुर्गाें को मिलने वाली रियायती टिकटों को समाप्त कर दिया जिसे तत्काल बहाल किये जाने की जरूरत है।

हिंसा, आत्मसमर्पण ना करने पर अरेस्ट किया जाएगा

हिंसा, आत्मसमर्पण ना करने पर अरेस्ट किया जाएगा

मिनाक्षी लोढी     

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को कहा कि रामपुरहाट हिंसा मामले के संदिग्धों के आत्मसमर्पण ना करने पर उन्हें ढूंढकर गिरफ्तार किया जाएगा और पुलिस यह सुनिश्चित करेेगी, उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले। बनर्जी ने बृहस्पतिवार को बोगतुई गांव का दौरा किया, जहां मंगलवार को आठ लोगों को कथित तौर पर जिंदा जलाकर मार दिया गया था। बनर्जी ने पीड़ित परिवार के सदस्यों को सरकारी नौकरी देने का वादा भी किया। उन्होंने कहा कि पुलिस यह सुनिश्चित करेगी कि रामपुरहाट हिंसा मामले के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले। अदालत के समक्ष एक कड़ा मामला दायर किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये देने और क्षतिग्रस्त मकानों के पुनर्निर्माण के लिए दो-दो लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे। साथ ही कहा कि पुलिस को पूरे बंगाल में अवैध आग्नेयास्त्रों और बमों के गुप्त जखीरों का पता लगाने का आदेश भी दिया गया है।
गौरतलब है कि बीरभूम जिले के रामपुरहाट कस्बे के पास बोगतुई गांव में मंगलवार को तड़के कुछ घरों में कथित तौर पर आग लगा देने से दो बच्चों सहित आठ लोगों की झुलसकर मौत हो गई थी। माना जा रहा है कि यह घटना सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के पंचायत अधिकारी की हत्या के प्रतिशोध स्वरूप हुई थी।

सपा नेता चपराना ने आप की सदस्यता ग्रहण की

सपा नेता चपराना ने आप की सदस्यता ग्रहण की   

विजय भाटी            
गौतमबुद्ध नगर। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के प्रदेश सचिव व सपा नेता सुमित चपराना ने आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है।
राज्यसभा सदस्य संजय सिंह और प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने लखनऊ स्थित प्रदेश कार्यालय पर सुमित चपराना को पार्टी की सदस्यता दिलाई है। 
मौके पर आप जिला अध्यक्ष भूपेंद्र जादौन, नोएडा विधानसभा से प्रत्याशी रहे पंकज अवाना भी मौजूद रहे।
गौतमबुद्ध नगर के रहने वाले सुमित चपराना ने बताया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जन कल्याण की नीति और कार्य से प्रभावित होकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। उनका कहना है हमारा सपना उत्तर प्रदेश के नागरिकों को मूलभूत सुविधाओं के साथ उनका अधिकार दिलाना है।

सीएम विजयन ने पीएम मोदी से मुलाकात की

सीएम विजयन ने पीएम मोदी से मुलाकात की 

इकबाल अंसारी      

नई दिल्ली/तिरुवनंतपुरम। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने गुरूवार को राष्ट्रीय राजधानी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। यह बैठक केरल सरकार की महत्वाकांक्षी सेमी-हाई स्पीड रेल परियोजना सिल्वरलाइन के खिलाफ विपक्षी दलों के भारी विरोध की पृष्ठभूमि में हुई है। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ट्वीट किया कि विजयन ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की है।

पीएमओ ने बैठक की तस्वीरें भी ट्वीट कीं। खबरों के मुताबिक , विजयन को केरल से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करनी थी, जिसमें सिल्वरलाइन परियोजना भी शामिल है। सिल्वरलाइन परियोजना को के-रेल परियोजना के रूप में भी जाना जाता है। यह केरल सरकार और रेल मंत्रालय का एक संयुक्त उद्यम है। केरल को परियोजना के लिए केंद्र सरकार की मंजूरी का इंतजार है।

इंडस्ट्री व गरीबों के लिए कुछ ना करने का आरोप

इंडस्ट्री व गरीबों के लिए कुछ ना करने का आरोप 

अकांशु उपाध्याय          

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर बड़ा निशाना साधा है और पीएम मोदी पर कोविड पीड़ितों, इंडस्ट्री और गरीबों के लिए कुछ ना करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर बड़ा निशाना साधा है। उन्होंने कई मोर्चों पर एकसाथ मोदी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने की कोशिश की है।

राहुल गांधी ने कुछ देर पहले ही ट्वीट कर कोविड पीड़ितों के इलाज सहित उद्योगों की बदहाली के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। बता दें कि राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में सवाल-जवाब की शैली में लिखा है कि COVID पीड़ितों का इलाज मुफ़्त में करवाया। नहीं , ग़रीबों और श्रमिकों को न्यूनतम आय मिली। नहीं, छोटे उद्योगों को डूबने से बचाया। नहीं, प्रधानमंत्री को कोई ख्याल नहीं है।

राजनीति: सीएम भगवंत ने पीएम से मुलाकात की

राजनीति: सीएम भगवंत ने पीएम से मुलाकात की 


अमित शर्मा     

नई दिल्ली/चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बृहस्पतिवार को नई दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात की। पीएम के साथ बैठक के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करने की संभावना है। मान के मुख्‍यमंत्री बनने के बाद यह उनकी दोनों नेताओं से पहली मुलाकात है। मान की पीएम मोदी व अमित शाह से यह शिष्‍टाचार मुलाकात रही।

इस मुलाकात के बाद मान ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने मुझे जीत की बधाई दी। मुझे प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सुरक्षा पर मदद का भरोसा दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने दो साल तक हर एक साल 50,000 करोड़ का वितीय मदद देने की मांग की है। सीएम मान आज प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात करके रूरल डेवलपमेंट फंड के केन्द्र सरकार द्वारा रोके गए 1082 करोड़ रुपए सहित कई अन्य मुद्दे उठाएंगे। पीएम और केंद्रीय गृहमंत्री से मिलने के बाद भगवंत मान दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और आप के कन्‍वीनर अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करेंगे।

2 अप्रैल से शुरू होकर 11 तक रहेंगे चैत्र 'नवरात्रि'

2 अप्रैल से शुरू होकर 11 तक रहेंगे चैत्र 'नवरात्रि'    

सरस्वती उपाध्याय                
अप्रैल की 2 तारीख, शुक्रवार से चैत्र नवरात्रि शुरू हो जाएंगे। इन चैत्र नवरात्रि के इन 9 दिनों में मां दुर्गा के 9 अलग अलग रूपों की पूजा की जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल में 4 नवरात्रि आते हैं, जिनमें चैत्र नवरात्रि और शारदीय नवरात्रि का अधिक महत्व बताया गया है। इस बार चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल से शुरू होकर 11 अप्रैल तक रहेंगे।
नवरात्रि में कुछ कार्य करने की मनाही होती है। बताया जाता है कि अगर इन निम्न कार्यों को किया जाता है तो बदकिस्मत रास्ता पकड़ लेती है, जिससे जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। नवरात्रि के दौरान इन कार्यों को करने से बचना चाहिए‌।
जैसे.....।
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, किसी भी पवित्र समारोह या त्योहार के दौरान शराब के सेवन से पूरी तरह बचना चाहिए। चैत्र नवरात्रि देवी मां की आराधना के लिए सबसे पवित्र माने जाते हैं, इसलिए नवरात्रि पूजा के 9 दिनों के दौरान शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।
नवरात्रि के दौरान किसी से भी अशुभ या अपशब्द बोलने से बचना चाहिए। इसका कारण है कि नवरात्रि देवी की भक्ति और आराधना करने का समय होता है। अगर इस दौरान गलत शब्दों का प्रयोग करते हैं, तो देवी मां क्रोधित हो सकती हैं। इसलिए ऐसा करने से बचें।
नाखून काटना।
नवरात्रि के 9 दिनों के दौरान नाखून काटने की मनाही होती है। आपने देखा भी होगा कि कई लोग नवरात्रि शुरू होने के पहले ही नाखून काट लेते हैं, ताकि 9 दिनों में नाखून काटने की जरूरत न पड़े। कहा जाता है कि ऐसा करने से देवी क्रोधित हो जाती हैं और फिर उनके क्रोध का सामना करना पड़ता है। इसलिए ऐसा करने से बचें।
नवरात्रि के दौरान कटिंग और शेविंग कराने से बचें। कहा जाता है कि नवरात्रि के दौरान बाल कटवाने से भविष्‍य में सफल होने की संभावना कम हो जाती हैं। इसलिए 9 दिनों तक बाल और बियर्ड कटवाने से बचें।
नॉनवेज खाना।
9 दिनों में देवी दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा होती है। इन 9 दिनों तक देवी भक्त उपवास रखते हैं और देवी की पूजा करते हैं। इसलिए नवरात्रि के दौरान सभी प्रकार के नॉनवेज फूड खाने से बचना चाहिए।

डिजिटल संपत्ति पर 30 फीसदी दर से लगेगा टैक्स

डिजिटल संपत्ति पर 30 फीसदी दर से लगेगा टैक्स  

अखिलेश पांडेय      
वाशिंगटन डीसी/नई दिल्ली। क्रिप्टो करंसी में निवेश कर रातों-रात धनवान बनने का सपना देखनों वालों को बड़ा झटका लगने वाला है। बजट में क्रिप्टो या डिजिटल संपत्ति पर 30 फीसदी दर से टैक्स लगाने का प्रस्ताव था, जो अगले वित्त वर्ष से लागू हो जाएगा। इसके अलावा इस पर टीडीएस समेत अन्य कर भी लगेंगे। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे में टैक्स के ऊंचे बोझ से छोटे निवेशक क्रिप्टो से दूरी बना सकते हैं, जिनकी संख्या सबसे अधिक है। इसका असर तेजी से बढ़ रहे क्रिप्टो उद्योग पर भी पड़ेगा।
बजट में सरकार ने ऐलान किया था कि क्रिप्टो से होने वाले लाभ पर सबसे ऊंची दर 30 फीसदी टैक्स चुकाना होगा। साथ ही हर लेनदेन पर एक फीसदी टीडीएस भी लगेगा। इसके अलावा क्रिप्टो को जीएसटी के दायरे में लाने की भी तैयारी हो रही है। इसके मुकाबले शेयरों में निवेश टैक्स के पैमाने पर ज्यादा फायदेमंद है। शेयरों में मुनाफा पर केवल 10 से 15 फीसदी टैक्स लगता है।
उद्योग के अनुमान के अनुसार भारत में क्रिप्टो का बाजार एक लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। वहीं क्रिप्टो निवेशकों की संख्या 10 करोड़ से अधिक है दुनिया में सबसे ज्यादा है, लेकिन भारत में 80 फीसदी क्रिप्टो निवेशक 500 से दो हजार रुपये निवेश करने वाली श्रेणी हैं। अमेरिका 2.74 करोड़ क्रिप्टो निवेशकों के साथ दूसरे और रूस 1.74 करोड़ निवेशकों के साथ तीसरे स्थान पर है। जबकि नाइजीरिया 1.30 करोड़ निवेशकों के साथ चौथे स्थान पर है।
शेयरों में निवेश पर बाजार नियामक सेबी निगरानी करता है और कुछ गलत पाए जाने पर तुरंत कंपनियों पर कार्रवाई करता है। क्रिप्टो को कोई नियामक नहीं है। वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक गवर्नर भी कह चुके हैं कि क्रिप्टो को भारत में मान्यता नहीं है। ऐसे में यदि क्रिप्टो में निवेश डूबता है इसके लिए निवेशक खुद जिम्मेदार होंगे। केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) भी कह चुका है कि क्रिप्टो पर टैक्स लगाने का मतलब इसे कानूनी मुद्रा या संपत्ति न समझें।
निवेशकों की संख्या के मामले में भारत बहुत तेजी से अमेरिका को पीछे छोड़कर शीर्ष पर पहुंच गया है। इससे भारत में कई नए क्रिप्टो एक्सचेंज और इसके कारोबार से जुड़ी कंपनियां शुरू हुई हैं। उद्योग से जुड़े विशेषज्ञों का कहना है कि टैक्स की ऊंची दर से छोटे निवेशक क्रिप्टो से दूरी बनाते हैं तो इसका सीधा असर इस उद्योग पर पड़ेगा और उनके लिए आगे कारोबार चलाना मुश्किल हो सकता है। ऐसे में क्रिप्टो उद्योग ऊंचाई पर पहुंचने के पहले ही धड़ाम हो सकता है।

दंगों के आरोपी खालिद की जमानत याचिका खारिज

दंगों के आरोपी खालिद की जमानत याचिका खारिज  

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्‍ली। देश की राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुए दंगों के आरोपी उमर खालिद की जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी। फिलहाल वह जेल में बंद है। पुलिस ने यूपीपीए के तहत उसे गिरफ्तार किया है।
कड़कड़डूमा कोर्ट ने दिल्‍ली दंगों के मामले में जेल में बंद जेएनयू के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद की जमानत अर्जी खारिज कर दी। पुलिस ने उसे यूपीपीए के तहत गिरफ्तार किया था। दिल्ली पुलिस ने उसे दंगों का मुख्य साजिशकर्ता बताते हुए पकड़ा था।
पुलिस ने चार्जशीट में बताया था कि उमर खालिद कई व्‍हाट्सएप ग्रुप का हिस्सा था। व्‍हाट्सएप ग्रुप के जरिए हिंसा की साजिश रची गई। उमर ने लोगों को हिंसा के लिए भड़काया था। अमेरिका के तत्‍कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दिल्ली दौरे के दौरान भी उमर ने लोगों को सड़कों पर आने के लिए कहा था, ताकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि खराब हो सके।

मराठी भाषा का इस्तेमाल अनिवार्य, मंजूरी प्रदान की

मराठी भाषा का इस्तेमाल अनिवार्य, मंजूरी प्रदान की   

कविता गर्ग     
मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा ने राज्य सरकार द्वारा स्थापित नगर निकायों और निगमों समेत स्थानीय प्राधिकारियों के आधिकारिक कामकाज में मराठी भाषा के इस्तेमाल को अनिवार्य बनाने वाले विधेयक को बृहस्पतिवार को सर्वसम्मति से मंजूरी प्रदान की। 
राज्य के मंत्री सुभाष देसाई ने कहा कि महाराष्ट्र राजभाषा अधिनियम, 1964 के कारण इस विधेयक को पेश करना आवश्यक था। क्योंकि उसमें स्थानीय अधिकारियों के लिए अपने आधिकारिक कार्यों में मराठी का उपयोग करना अनिवार्य नहीं था।
 अधिकारियों के उदाहरणों का भी हवाला दिया। देसाई ने कहा कि हमने उस गलती को दूर करने का प्रयास किया है। साथ ही कहा कि कोई भी (स्थानीय) प्राधिकरण, चाहे वह राज्य सरकार या केंद्र सरकार या (राज्य द्वारा संचालित) निगमों द्वारा स्थापित हो, उसे जनता के साथ संवाद करते समय तथा कार्यों में भी मराठी का उपयोग करना होगा।
मंत्री ने यह भी कहा कि विदेशी राजदूतों के साथ संवाद करने जैसे कुछ सरकारी कार्यों के लिए स्थानीय अधिकारियों को अंग्रेजी या हिंदी के उपयोग की अनुमति दी गई है। इससे पहले भाजपा विधायक योगेश सागर ने विधेयक पर पनी बात रखते हुए पूछा कि चुनाव नजदीक आते देख ”मराठी के प्रति प्रेम” क्यों उमड़ पड़ा है। वह आगामी स्थानीय निकाय चुनावों का जिक्र कर रहे थे, जिसमें बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) चुनाव भी शामिल है।
सागर ने विधेयक का समर्थन किया और कहा कि सभी कामकाज मराठी में होने चाहिए। देसाई ने उन पर पलटवार करते हुए कहा कि इस मुद्दे को राजनीति से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। मंत्री ने कहा कि क्या हमें अपने कर्तव्यों का निर्वहन सिर्फ इसलिए नहीं करना चाहिए क्योंकि चुनाव नजदीक हैं। विधेयक लाना हमारा अधिकार है। चुनाव होते रहेंगे।

24 घंटे में कोरोना के 1 हजार, 1938 नए मामलें

24 घंटे में कोरोना के 1 हजार, 1938 नए मामलें  

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली।‌ देश में जानलेवा कोरोना वायरस महामारी के नए मामलों में बृहस्पतिवार को भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के एक हजार, 1938 नए मामलें सामने आए हैं और 67 लोगों की मौंत हो गई। जानिए देश में कोरोना की ताजा स्थिति क्या है ?
राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों की 182 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी हैं। कल 31 लाख 81 हजार 809 डोज़ दी गईं, जिसके बाद अबतक वैक्सीन की 182 करोड़ 23 लाख 30 हजार 356 डोज़ दी जा चुकी हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, स्वास्थ्यकर्मियों, कोरोना योद्धाओं और 60 साल से ज्यादा आयु वाले अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों को 2 करोड़ से ज्यादा (2,21,21,816) एहतियाती टीके लगाए गए हैं। देश में कोविड रोधी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 से शुरू हुआ और पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। वहीं, कोरोना योद्धाओं के लिए टीकाकरण अभियान दो फरवरी से शुरू हुआ था।

बंदियों से जेल में जाकर मुलाकात कर सकेंगे परिवार

बंदियों से जेल में जाकर मुलाकात कर सकेंगे परिवार   

संदीप मिश्र         
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना मामलों में गिरावट के बाद सरकार धीरे-धीरे छूट दे रही है। इस बीच जिला कारागार में बंद कैदी और बंदियों के परिवार के लिए अच्छी खबर है। अब वह उनसे जेल में जाकर मुलाकात कर सकेंगे। शासन ने कोविड प्रोटोकॉल के साथ मुलाकात कराने का आदेश दे दिया है।
कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राज्य सरकार ने जेल कैदियों को उनके परिजनों से मुलाकात पर प्रतिबंध लगा दिया था। लेकिन कोरोना के मामलों में आ रही कमी को देखते हुए सरकार ने लगे प्रतिबंध को हटा दिया है। प्रतिबंध के कारण जेल कैदी होली में अपने परिजनों से मुलाकात नहीं कर पाए थे। प्रयागराज जिले के नैनी जेल के वरिष्ठ अधीक्षक पीएन पांडे ने कहा कि सरकार ने कुछ शर्तों के साथ जेल में बंद कैदियों को उनके परिजनों से मुलाकात करने की अनुमति दे दी है।
आदेश के अनुसार, कैदी सप्ताह में केवल एक बार किसी परिजन से मिल सकते हैं। कैदी से मिलने वाले व्यक्ति को डबल डोज वैक्सीनेशन के प्रमाणपत्र के अलावा 72 घंटे के भीतर का RTPCR जांच की नेगेटिव रिपोर्ट होना जरूरी है। इसके बाद हैंड सैनिटाइजर से सैनिटाइज करते रहें और फेस मास्क लगाएं रहे। साथ ही जेल में प्रवेश करते समय थर्मल स्क्रीनिंग की जाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए। नैनी जेल के वरिष्ठ अधीक्षक पीएन पांडे ने कहा कि कैदी को उसके बैरक में जाने से पहले उसे सैनिटाइज किया जाएगा।  कौशांबी जेल के अधीक्षक राकेश सिंह ने कहा कि आदेश मिलने के बाद सभी इंतजाम कर लिए गए हैं और जेल में कैदी को परिजन से अनुमति देते समय सभी नियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-167, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, मार्च 25, 2022
3. शक-1984, चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम-34+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...