शुक्रवार, 27 नवंबर 2020

'गूगल पे' से लेन-देन पर लगेगा शुल्‍क 

गूगल पे पर पैसा भेजने पर लगेगा शुल्‍क 


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्‍ली। गूगल ने स्पष्ट किया कि भारत में उसके पेमेंट प्लेटफार्म के जरिए पैसा ट्रांसफर करने पर किसी शुल्‍क का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी। कंपनी ने बुधवार को कहा कि भारतीय उपयोगकर्ताओं को कोई शुल्क नहीं देना होगा। ये शुल्‍क अमेरिका में स्थित उसके उपयोगकर्ताओं के लिए है। पिछले हफ्ते गूगल ने घोषणा की थी। कि अगले साल एंड्राइड और आईओएस पर नए गूगल पे ऐप की पेशकश करेगी जिसके बाद उपयोगकर्ता बेव ब्राउजर के जरिए सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। एक रिपोर्ट्स में कहा गया था। कि गूगल पे इंस्टैंट मनी ट्रांसफर पर भी शुल्‍क जोड़ेगा। गूगल के प्रवक्‍ता ने कहा कि ये शुल्क खासतौर से अमेरिका के लिए है। ये शुल्‍क भारत में गूगल पे या गूगल पे फॉर बिजनेस ऐप पर लागू नहीं होता। गूगल पे के भारत में सितम्‍बर 2019 तक कुल 6.7 करोड़ उपयोगकर्ता थे। इसके जरिए वार्षिक आधार पर कुल 110 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान हुआ। उल्‍लेखनीय है कि गूगल पे फॉर बिजनेस ने जून 2020 में 3 मिलियन से ज्यादा विक्रेताओं का ऐलान किया था। ये कंपनी भारत में भुगतान के तरीकों के तौर पर यूपीआई और टोकनाइज्ड डेबिट और क्रेडिट कार्ड को सपोर्ट करता है। गूगल पे का मुकाबला भारत में पेटीएम वॉलमार्ट के स्वामित्व वाले फोन पे और अमेजन पे के साथ है।                                   


इजराइल: स्मृति में पट्टिका का अनावरण

जेरूसलम। यहूदी केंद्र चबाड ने 26/11 मुंबई आतंकी हमलों में मारे गए छह यहूदियों की स्मृति में इजरायल के दक्षिणी तटीय शहर ईलात में अपने प्रार्थना गृह में एक पट्टिका का अनावरण किया। नरसंहार के दोषियों को सजा दिए जाने की मांग की। रैव हेच और इजराइल में भारतीय दूतावास में प्रथम सचिव रोहित ने प्रार्थना गृह के अंदर एक दीवार पर पट्टिका का अनावरण किया।                              


चीन पर अधिक आक्रामक होगी अमेरिकी नीति

वॉशिंगटन डीसी। अमेरिका की नई सरकार ने साफ कर दिया है कि चीन को लेकर उसकी रणनीति पहले से ज्यादा आक्रामक होगी और बीजिंग की चुनौतियों से निपटने के लिए वह भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेगी। निर्वाचित अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन द्वारा अपनी टीम में शामिल किए गए एंटनी ब्लिंकेन ने चीन को स्पष्ट चेतावनी दी। ब्लिंकेन ने कहा कि भारत और अमेरिका विस्तारवादी चीन के रूप में एक समान चुनौती का सामना कर रहे हैं। लिहाजा, इस मुद्दे पर नई दिल्ली को अमेरिका का एक अहम साझेदार होना चाहिए। ब्लिंकेन का यह बयान ऐसे समय आया है जब भारत और चीन सीमा विवाद में उलझे हुए हैं। बता दें कि जो बाइडन ने ब्लिंकेन को विदेश मंत्री बनाया है और सीनेट की विदेश संबंध समिति की मंजूरी के बाद ब्लिंकेन माइक पोम्पिओ का स्थान लेंगे।                                 


मतदान किया तो व्हाइट हाउस छोड़ दूंगाः ट्रंप

ट्रंप बोले- सहयोगी एलेक्ट्रॉल्स ने बाइडेन के लिए किया मतदान तो छोड़ दूंगा व्हाइट हाउस-


वाशिंगटन डीसी। अमेरिका में हाल ही में राष्ट्रपति चुनाव हारने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि यदि उनके सहयोगी एलेक्ट्रोलस जो बाइडेन के पक्ष में वोट कर देंगे तो वह व्हाइट हाउस छोड़ देंगे। ट्रंप से गुरुवार देर शाम को जब यह पूछा गया कि अगर उनके सहयोगी एलेक्ट्रोलस जो बाइडेन के पक्ष में मतदान करेंगे तो क्या वह व्हाइट हाउस छोड़ देंगे तो उन्होंने कहा आप जानते है। कि ऐसी स्थिति में मैं निश्चित रूप से व्हाइट हाउस छोड़ दूंगा। सत्ता हस्तांतरण के लिए जिम्मेदार संघीय एजेंसी जीएसए की प्रमुख ने कहा था। कि वह बाइडन को व्हाइट हाउस में आने के लिए जरूरी संसाधन मुहैया कराएंगी जिसके बाद ट्रंप का यह बयान आया है। ट्रंप ने हालांकि इस बात पर भी जोर दिया कि वह लड़ाई जारी रखेंगे और जीत हासिल करेंगे। अमेरिका में तीन नवम्बर को हुए चुनाव में राष्ट्रपति पद के लिए बाइडन और उप राष्ट्रपति पद के लिए कमला हैरिस को विजेता घोषित किया गया है।
ट्रंप के अभियान दल ने चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी एवं धोखाधड़ी के कई मुकदमे दर्ज कराए हैं। जिनमें से कई को अदालतें खारिज भी कर चुकी है। जनरल सर्विस एडमिनिस्ट्रेटर (जीएसए) एमिली मर्फी द्वारा नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन को पत्र लिख कर ट्रंप प्रशासन के आधिकारिक तौर पर सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए तैयार होने की जानकारी देने के कुछ घंटों बाद ट्रंप ने इस संबंध में ट्वीट किया। ट्रंप ने ट्वीट किया मैं जीएसए की एमिली मर्फी का देश के प्रति उनके समर्पण और निष्ठा के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। उनको परेशान किया गया धमकाया गया और गालियां दी गई और मैं नहीं चाहता कि यह उनके उनके परिवार या जीएसए के किसी भी कर्मचारी के साथ हो। हमारी लड़ाई जारी रहेगी और मुझे विश्वास है। कि हम जीतेंगे। निवर्तमान राष्ट्रपति ने कहा हमारे देश के हित में मैं एमिली और उनके दल को प्रारंभिक प्रोटोकॉल के संबंध में जो किया जाना चाहिए उसे करने का सुझाव देता हूं और मैंने अपनी टीम से भी यही कहा है।                                         


जर्मनी में जल्द हाइड्रोजन से चलेंगे 'रेल इंजन'

जर्मनी में जल्द हाइड्रोजन से चलेंगे रेल इंजन, कार्बन उत्सर्जन घटाने की कोशिश 


बर्लिन। जर्मनी में जल्द हाइड्रोजन से चलेंगे रेल इंजन, कार्बन उत्सर्जन घटाने की कोशिश। जर्मनी में आने वाले दिनों में रेल इंजन हाइड्रोजन से चलेंगे। जर्मन रेल कंपनी डॉयचे बानऔर सीमेंस मोबिलिटी ने हाइड्रोजन से चलने वाली रेल इंजन को विकसित करने का फैसला किया है। दोनों कंपनी आने वाले दिनों में पर्यावरण की रक्षा के लिए स्थानीय रूट पर डीजल इंजन को हटाना चाहती हैं। कार्बन उत्सर्जन घटाने की कोशिश
दोनों कंपनियों ने उम्मीद जताई है। कि 2024 में इस तकनीक से चलने वाली ट्रेन और फिलिंग स्टेशन का परीक्षा शुरू हो जाएगा। यह फिलिंग स्टेशन 15 मिनट में हाइड्रोजन ट्रेन को यात्रा के लिए तैयार कर देगा। इन ट्रेनों की गति पारंपरिक डीजल इंजन से चलने वाली ट्रेन जितनी ही होगी। हाइड्रोजन से चलने वाली ट्रेन इंजन सेल हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के बीच बैटरी की मदद से हुई प्रतिक्रिया के जरिए बिजली पैदा करते हैं। इस प्रतिक्रिया में बिजली के अलावा केवल भाप और पानी ही बाकी बचता है। ट्रनों को इसी बिजली की मदद से चला जाता है। डॉयचे बान बोर्ड की सदस्यता साबीना जेशके का कहना है। हम ट्रेनों में डीजल ट्रेन जितनी ही जल्दी ईधन भर सकेंगे। यह सच्चाई है। और इससे पता चलता है। कि पर्यावरण के इतिहास से बेहतर परिवहन संभव है।
देश में 1,300 डीजल इंजन हटाए जाएंगे
जर्मन रेल कंपनी 2050 तक कार्बन उत्सर्जन को शून्य करना चाहती हैं। इसका मतलब है। कि मौजूदा 1,300 डीजल इंजनों को हटाना होगा। जेशके ने कहा हम जीवाश्म ईंधन का उपयोग शून्य के स्तर पर लाना चाहते हैं। उसके बाद हम एक भी पारंपारिक डीजल इंजन नहीं चलाएंगे। जर्मन रेल नेटवर्क के करीब 39 फीसदी हिस्से में पटरी के ऊपर बिजली की तारे नहीं है। करीब 39 फीसदी हिस्से में पटरी के ऊपर बिजली के तार नहीं हैं। ऐसे रूट पर रेल चलाने के लिए ट्रेनों के इंजन में ही डीजल जैसा इंजन भरना होता है। जर्मनी के ट्यूबिंगन इलाके में परीक्षण के लिए करीब 600 किलोमीटर लंबी रेल मार्ग पर एक साल तक ऊर्जा से चलने वाली रेल चलाने का फैसला किया गया है। सीमेंस की यह ट्रेन एक साल में करीब 330 टन कार्बन डाइऑक्साइड गैस का उत्सर्जन रोकेगी।


                                     


सरकारः किसानों को एंट्री की इजाजत मिलीं

नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले “दिल्ली चलो” मार्च निकाल रहे किसानों को आखिरकार दिल्ली में प्रवेश की इजाजत मिल ही गई है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने पुष्टि करते हुए बताया कि किसानों को राजधानी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में निरंकारी समागम मैदान पर प्रदर्शन करने की इजाजत दे दी गई है। उधर क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने भी कहा है कि हमें दिल्ली में दाखिल होने की अनुमति मिली हुई है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने उन्हें दिल्ली के बुराड़ी में एक स्थान पर प्रदर्शन करने की अनुमति दी थी।                                        


पुलिस की लापरवाही बना जाम का कारण

एक तरफ रेलवे अधिकारियों की लापरवाही दूसरी तक यातायात पुलिस की घोर लापरवाही जाम का भना कारण


कौशाम्बी। जिले के सबसे व्यस्त कस्बा भरवारी नगर में सड़क जाम की समस्या लाइलाज बन चुकी है। जिसका खामियाजा नगर वासियों के साथ साथ बाहरी लोगों को भी झेलना पड़ रहा है। बार-बार लोगों ने जाम के झाम से निजात दिलाने की मांग प्रशासन के साथ जनप्रतिनिधि से की जिस पर गौरा रोड का वनवे कर दिया गया और जाम से निजात दिलाने के लिए यातायात पुलिस और होमगार्ड की ड्यूटी भी रेलवे फाटक पर लगाई गई। लेकिन यातायात पुलिस और ड्यूटी पर लगे होमगार्ड के जवान विक्रम टेंपो अप्पे बस आदि वाहनों से अवैध वसूली तक सीमित है। जिससे भरवारी कस्बे का जाम लाइलाज बन चुका है और इस जाम के चलते जहां जनता परेशान हो रही है. वही जाम का खामियाजा बीमार वृद्धजन भी उठा रहे हैं। यदि भरवारी कस्बे के इस जाम में किसी बीमार व्यक्ति का वाहन फंस गया तो उसका अस्पताल पहुंचना संभव होगा या नहीं यह भगवान भरोसे पर हो जाता है। पूर्व जिलाधिकारी ने भरवारी कस्बे के गौरा रोड को वनवे घोषित कर दिया था लेकिन यातायात पुलिस पूर्व जिलाधिकारी के आदेश का पालन नहीं करा पा रही है जो जाम का प्रमुख कारण है। वही भरवारी रेलवे के अधिकारियों ने भी इस जाम को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई है। रेलवे लाइन पर लगे फाटक को रेलवे अधिकारियों ने नीचे कर दिया है। पहले इस फाटक से बाइक साइकिल वाले फाटक के नीचे से झुक कर निकल जाते थे जिससे जाम कम लगता था लेकिन फाटक को नीचे कर दिए जाने के बाद अब बाइक और साइकिल वालों को फाटक से निकलने में दिक्कत होती है।जिससे वह भी बंद फाटक पर खड़े हो जाते हैं। वही रेलवे फाटक के दोनों तरफ विक्रम टेंपो बस ट्रके खड़ी हो जाती है।जिससे जाम बढ़ जाता है। वही रेलवे फाटक के आसपास विक्रम टेंपो प्राइवेट बस वाले वाहनों को खड़ी कर सवारियां भरते हैं जिससे रेलवे फाटक खुलने के बाद भी जाम में फंसे वाहनों को निकलने के लिए रास्ता नहीं मिल पाता है और फाटक खुलने के बाद 20 मीटर का रेलवे फाटक पार करने में घण्टो का समय लग जाता है। एक तरफ रेलवे अधिकारियों की लापरवाही दूसरी तरफ यातायात पुलिस की घोर लापरवाही जाम का कारण बन चुकी है। नगर वासियों ने भरवारी कस्बे के जाम को समाप्त करने के लिए कई बार जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से मांग की है। लेकिन आम जनता की आवाज पर कार्यवाही नहीं की गई है। जिससे जाम की समस्या लाइलाज बनी हुई है।


राजू सक्सेना


घिनौनीं हरकत पर उतरी सरकार, इस्तीफा दे

किसान विरोधी मजदूर विरोधी सरकार घिनौनी हरकतों पर उतारा बहुजन समाज के एमपी एमएलए को इस्तीफा दो


मेरठ। किसान विरोधी मजदूर विरोधी जनता विरोधी बीजेपी सरकार घिनौनी हरकतों पर उतारू हो चुकी है और मनमर्जी से जनता के विरुद्ध फैसले ले रही है। बहुजन समाज के एम पी एम एल ए का इस्तीफा का जमीर गिर चुका है। अन्यथा सरकार चलाने लायक बीजेपी के लोग ना काबिले बर्दाश्त है। आज समस्त देश भुखमरी की कगार पर है। चारों ओर से बेरोजगार हो चुका है और लोग कंगले होने लगे हैं। बीजेपी सरकार क्या चाहती है। आखिर किसानों पर इस ठंड में ऐसे अत्याचार करना कहां का इंसाफ है। बीजेपी सरकार इतनी नीचता पर उतर आई है और अपनी मनमर्जी कर रही है। बहुजन मुक्ति पार्टी के आने पर सब बदले लिए जाएंगे। बहुजन मुक्ति पार्टी के पश्चिमांचल महासचिव एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे ने अपने वक्तव्य में कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी के केंद्र की सरकार और इसके सहयोगी दलों की सरकारें चारों ओर से जनता विरोधी साबित हो रही है। जनता के हक में कोई फैसले नहीं लिए जा रहे हैं जनता को लूटने पर लगी हुई है। जनता का सहयोग नहीं किया जा रहा है और अब बात सर से उतरने लगी है किसानों के विरुद्ध अध्यादेश लाकर कोई अच्छा कदम नहीं उठाया। आज किसान आंदोलन कर रहा है तो उस पर आंसू गैस के गोले पानी की बौछारें चारों तरफ से पुलिस फोर्स पल लाठियां बरसाई जा रही हैं। यह कहां का इंसाफ है जनता की किसानों की जमीन हड़पने पर लगी है। आज चारों ओर निजी करण कर दिया गया। सरकार क्या करेगी? सरकारी तंत्र को निजी करण में बदलाव लाकर सरकार लोकतंत्र खत्म कर रही है और आज जब किसान जाग रहे हैं तो इनसे बर्दाश्त नहीं रहा है और किसानों पर अत्याचार किए जा रहे हैं। उधर कोरोना में गरीब मजदूरों पर अत्याचार किए गए और केवल हिंदू मुस्लिम की राजनीति कर लोगों को मरवाया जाता है। आपस में भिड़ जाता है जबकि मूलनिवासी लोग इस बात को आज समझने लगे हैं। बहुजन मुक्ति पार्टी यह काम कर रही है। मुस्लिम कोई बाहर के नहीं है यह भी हमारे मूल निवासी हैं। फर्क इतना है कि वह पाखंडवाद छोड़कर समानता मसा वाद के धर्म में पहुंच गए सिख हो इसाई हो जैन हो लिंगायत हो या अन्य कोई धर्म हिंदुत्व की विचारधारा को छोड़कर अन्य धर्मों को कुबूल कर लिया वह भी तो हमारे मूल निवासी सब खूनी डी एन ए के भाई हैं। लेकिन बीजेपी आरएसएस के मंसूबे बहुत गलत चल रहे हैं और लोगों को भड़काया जा रहा है। लेकिन बहुजन मुक्ति पार्टी ऐसा कभी नहीं होने देगी और किसानों के हक में मजदूरों के हक में हमेशा से लड़ती आ रही है और आगे भी लड़ाई जारी रहेगी कभी झुकेगी नहीं 15 परसेंट विदेशियों ने इन 85 परसेंट मूल निवासियों को बहला-फुसलाकर इन से पैसे हड़प कर अपनी सरकार बना कर बैठी है, जबकि वह पैसा भी तो सब मूल निवासियों का है लेकिन मूल निवासियों को ही आपस में लड़ वाया जा रहा है। अब जागो मेरे मूलनिवासी भारतीय साथियों दोस्तों जागो।


हरियाणाः अधिकारियों का स्थानांतरण व नियुक्ति

राणा ऑबराय


चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने दो एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश जारी किए हैं। जींद के अतिरिक्त उपायुक्त और क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए), जींद के सचिव सत्येंद्र दुहन को पलवल का अतिरिक्त उपायुक्त और क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए), पलवल का सचिव लगाया गया है।
उत्कर्ष सोसाइटी की प्रशासनिक अधिकारी, जिला परिषद, पंचकूला की मुख्य कार्यकारी अधिकारी और जिला ग्रामीण विकास एजेंसी, पंचकूला की मुख्य कार्यकारी अधिकारी निशु सिंघल को उनके वर्तमान कार्यभार के अलावा क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए), पंचकूला के सचिव का कार्यभार सौंपा गया है।                                     


ठंड में गरीबों को कंबल बांटने निकले जिलाध्यक्ष

रात की ठिठुरती ठंड में गरीबो को राहत के लिए कंबल बांटने निकले सपा जिला अध्यक्ष युवजनसभा


गरीबो के लिए बने चन्द्रजीत यादव मसीहा


कौशाम्बी। समाजवादी पार्टी के युवजन सभा के जिला अध्यक्ष चन्द्रजीत यादव का एक और सराहनीय कार्य देखने को मिला है। प्रयागराज के सड़को पर ठंड से ठिठुर रहे गरीबो को देखते हुए चन्द्रजीत यादव उनके लिए बने मिशाल तत्काल मार्केट से कम्बल मंगा कर उन गरीबो को अपने हाथों से ढका ठिठुरते हाथों में आए, कंबल तो हाथ जोड़ कर मुंह से निकली दुआएं।
उत्तरप्रदेश में लाखों बेघर लोग कड़कड़ाती ठंड में सड़कों पर ही सोते है और उन बेसहारा लोगो के पास ठंड से बचने के लिए कोई गर्म कपड़े भी नही होते। उन्हें सर्दी से बचाने के प्रयास में समाजवादी पार्टी के युवजनसभा जिलाध्यक्ष चन्द्रजीत यादव जुट गए है, जो जरूरत मंद बेसहारा लोगो को संबलपुर जाने का कार्य किया यहाँ धमार्थ कार्य वो खुद वा अपने परिवार के वा मित्रो के साथ करते है। इन गरीब बेसहारा असहाय लोगो के लिए चंदजीत यादव बन गए है। फरिश्ता कंम्बल पाकर गरीबो के खिल उठे चेहरे।


गणेश साहू                     


'दिल्ली सरकार' ने ठुकराई पुलिस की मांग

किसान मार्च: केजरीवाल सरकार ने ठुकराई पुलिस की मांग,स्टेडियम नही बनेंगे अस्थाई जेल


कौशांबी। दिल्ली पुलिस को अरविंद केजरीवाल सरकार से झटका लगा है। दिल्ली सरकार ने पुलिस की 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने की मांग को नकार दिया है। दिल्ली पुलिस ने किसानों के प्रदर्शन के कारण अस्थाई जेल की मांग की थी। दिल्ली सरकार की ओर से कहा गया है कि किसानों की मांग जायज है, ऐसे में उन्हें जेल में डालना ठीक नहीं है। दिल्ली सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन की ओर से एक बयान जारी किया गया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि किसानों की मांग जायज है और उनका प्रदर्शन अहिंसक तरीके से हो रहा है। शुक्रवार सुबह ही किसान बड़ी संख्या में दिल्ली बॉर्डर पर आ गए थे, जिसके बाद पुलिस ने तैयारी शुरू की थी।       


संतलाल मौर्य                                         


दादा के सपना के लिए उड़न खटोला मंगाया

अतुल त्यागी 


हापुड़। जनपद के धौलाना में अपने दादा के साथ देखा गया सपना पूरा करने के लिए एक किसान का बेटा विवाह कर अपनी दुल्हन को उड़न-कखटोले (हेलीकॉप्टर) से घर लेकर पहुंचा। उड़नखटोले से आई दुल्हन को देखने के लिए स्थानीय लोगो की भीड़ एकत्र हो गयी। कोरोना काल में दूल्हा अनोखे तरिके से जब दुल्हन को हेलीकॉप्टर से लेकर पहुंचा तो गांव में चर्चा का विषय बना रहा। दरअसल आपको बता दे की हापुड़ के धौलाना क्षेत्र में कस्बा धौलाना के रहने वाले देवीसहाय नाम के व्यक्ति ने अपने पोते विकास के साथ एक सपना देखा था, की वो अपने पोते की बहु को हेलीकॉप्टर से बैठाकर लाये लेकिन पोते विकास की शादी होने से पहले ही दादा की किसी कारण मृत्यु हो गयी। जिसके बाद अपने मृतक दादा के साथ देखा गया सपना पूरा करने के लिए युवक विकास का रिश्ता मेरठ की ब्रह्मपुरी कलोनी की रहने वाली युवती पूजा से तय किया गया। जिसके बाद आज दूल्हा हेलीकॉप्टर से अपनी दुल्हन को लेने मेरठ पहुंच गया और फिर शादी कर दूल्हा विकास अपनी दुल्हन को हेलीकॉप्टर में बैठाकर हापुड़ के धौलाना में अपने घर ले आया। कोरोना काल में हेलीकॉप्टर में बैठकर आई दुल्हन को देखने के लिए स्थानीय लोग पहुंच गए और चर्चा का विषय बना रहा।


हापुड़ः विद्युत विभाग की टीम को मिली धमकी

अतुल त्यागी, प्रवीण कुमार 


सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल


चोरी से जलाई जा रही बिजली पर छापेमारी करने गई विधुत विभाग की टीम पर लगाने लगे एससी एक्ट व छेड़खानी आरोप


हापुड़। महिला व महिला का पति कई चैनलों में काम करने व राजनीति में मेरठ मंडल पद महामंत्री की देने लगे विधुत विभाग की टीम को धमकी। ये दोनों दंपति जनपद अमरोहा के थाना हसनपुर में भी कई लोगों पर आरोप लगा चुके हैं। गढ़मुक्तेश्वर की जेन गली में किराए पर रहते हैं। दोनों दंपति
विधुत विभाग के कर्मचारियों पर छेड़खानी का आरोप लगाने की दे रहे थे धमकी।


'पीएम' मोदी ने बाबा साहब को किया नमन

पीएम मोदी ने बाबा साहब को किया नमन, वन नेशन वन इलेक्शन’ को बताया देश की जरूरत


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। संविधान दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन को संबोधित किया अपने संबोधन में उन्होंने वन नेशन वन इलेक्शन की बात पर जोर दिया है। पीएम ने कहा कि एक देश एक चुनाव पर बहस बहुत जरूरी है। मोदी ने कहा वन नेशन वन इलेक्शन’ केवल विचार-विमर्श का मुद्दा नहीं है। बल्कि देश की भी जरूरत है। यह विकास कार्य को बाधित करता है। और आप सभी इसके बारे में जानते हैं। हमें इसके बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए।  पीएम ने कहा कि लोकसभा, विधानसभा और अन्य चुनावों के लिए केवल एक मतदाता सूची का उपयोग किया जाना चाहिए। हम इन सूचियों पर समय और पैसा क्यों बर्बाद कर रहे हैं। 
सरदार पटेल की प्रतिबद्धता को प्रणाम करने का दिन – पीएम
इससे पहले पीएम ने कहा कि मैं हर भारतीय नागरिक को संविधान दिवस की शुभकामना देता हूं। मैं संविधान बनाने में शामिल सभी सम्मानित व्यक्तियों को धन्यवाद देना चाहता हूं।
पीएम ने कहा कि आज डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद और बाबा साहेब अंबेडकर से लेकर संविधान सभा के सभी व्यक्तित्वों को भी नमन करने का दिन है। जिनके अथक प्रयासों से देश को संविधान मिला है। आज का दिन पूज्य बापू की प्रेरणा को, सरदार पटेल की प्रतिबद्धता को प्रणाम करने का दिन है।
26/11 पर पीएम मोदी ने क्या कहा
उन्होंने कहा कि आज की तारीख, देश पर सबसे बड़े आतंकी हमले के साथ जुड़ी हुई है। पाकिस्तान से आए आतंकियों ने मुंबई पर धावा बोल दिया था। इस हमले में अनेक लोगों की मृत्यु हुई थी। कई देशों के लोग मारे गए थे। मैं मुंबई हमले में मारे गए सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मुंबई हमले जैसी साजिशों को नाकाम कर रहे आतंक को एक छोटे से क्षेत्र में समेट देने वाले भारत की रक्षा में प्रतिपल जुटे हमारे सुरक्षाबलों का भी वंदन करता हूं। कहा कि पीठासीन अधिकारी के रूप में हमारे लोकतंत्र में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका है। 
आप सभी लोगों और राष्ट्र के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी हैं। आप कार्यकारी, न्यायपालिका और विधायिका के बीच समन्वय को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।                                             


दिलचस्प मैच में भिड़ेंगे 'भारत-ऑस्ट्रेलिया'

शुक्रवार को भिड़ेंगे भारत-ऑस्ट्रेलिया दिलचस्प होगा मैच, भारत के ये 11 खिलाड़ी दिखेंगे मैदान में, जानें कब शुरू होगा मैच


नई दिल्ली/ सिडनी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला आज सिडनी में खेला जाएगा। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने पिछले दौरे पर कंगारू टीम को वनडे सीरीज में 2-1 से शिकस्त दी थी। हालांकि उस समय बैन के चलते स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा नहीं थे। इन दोनों बल्लेबाजों की वापसी से मेजबान टीम काफी मजबूत दिख रही है। भारतीय समय के हिसाब से मैच सुबह 9.30 बजे शुरू होगा टॉस ऑस्ट्रेलिया ने जीत लिया है। और बैटिंग के फैसला किया है। दूसरी ओर टीम इंडिया को अपने ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा की कमी खलेगी। चोटिल रोहित शर्मा की गैर मौजूदगी से बल्लेबाजी क्रम पर असर जरूर पड़ेगा। इस सीरीज से ही स्टेडियमों में दर्शकों की वापसी होगा चूंकि क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने उपलब्ध सीटों के 50 प्रतिशत तक दर्शकों को प्रवेश की अनुमति दी है। बोर्ड के अनुसार टिकट बेचे जा चुके हैं।
8 महीने के बाद अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी टीम इंडिया
विराट कोहली की टीम ने आखिरी बार अंतरराष्ट्रीय मैच मार्च की शुरूआत में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। कोरोना महामारी के कारण लंबे समय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर रही टीम का सामना अब आस्ट्रेलिया जैसे धुरंधर से है। जिसे उसकी धरती पर हराना कतई आसान नहीं होगा। भारतीय टीम 1992 विश्व कप की नेवी ब्लू जर्सी में नजर आयेगी।
भारतीय बल्लेबाजों का सामना सर्वश्रेष्ठ तेज आक्रमण से होने जा रहा है। जबकि ऑस्ट्रेलिया के पास एडम जाम्पा के रूप में कुशल स्पिनर भी है। जिसने कई बार कोहली को परेशान किया है। लय में लौटे स्टीव स्मिथ रन मशीन डेविड वार्नर और उभरते सितारे मार्नस लाबुशेन की मौजूदगी में ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराने के लिये भारतीयों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।
भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन
शिखर धवन, मयंक अग्रवाल, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, केएल राहुल (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, यजुवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और नवदीप सैनी।
ऑस्ट्रेलिया की संभावित प्लेइंग इलेवल
आरोन फिंच (कप्तान), डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ, मार्कस लाबुशेन, मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), ग्लेन मैक्सवैल, एडम जंपा, मिशेल स्टॉर्क, पैट कमिंस और जोश हेजलवुड।                                       


राजस्थान के भीलवाड़ा में बिछीं ओलों की चादर

राजस्थान के भीलवाड़ा में बिछ गई ओले की चादर


जयपुर। पश्चिमी विक्षोभ का असर समाप्त होने के साथ ही अब प्रदेश में फिर कड़ाके की सर्दी का दौर शुरू होने वाला है। गुरुवार रात राजस्थान की राजधानी जयपुर सहित एक दर्जन से अधिक शहराें में जमकर बारिश हुई। बारिश के बाद चली जबरदस्त शीतलहर से एकाएक ठिठुरन बढ़ा गई। कई शहराें में दिन का तापमान 2 से 3 डिग्री तक लुढ़क गया। बूंदी सवाई माधाेपुर और चित्ताैडगढ़ में 17 मिमी तक बारिश हुई।
मौसम विभाग ने अगले तीन चार दिन शीतलहर चलने और कोहरा पड़ने की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को जयपुर, कोटा, भरतपुर और बीकानेर संभाग में हल्के से मध्यम दर्जे का कोहरा छाने के आसार हैं।
शहर में गुरुवार को वापस ठंड तेज हो गई। अधिकतम पारा 22 तथा न्यूनतम पारा 14.4 डिग्री रहा। बुधवार के मुकाबले गुरुवार को अधिकतम पारे में 4.7 डिग्री की गिरावट रही। मौसम विभाग डायरेक्टर आरएस शर्मा के अनुसार अजमेर सहित प्रदेश में 27 और 28 नवंबर को कहीं-कहीं पर हल्का कोहरा छाने की संभावना है।
बूंदी, स.माधाेपुर और चित्ताैडगढ़ में 17 मिमी तक बारिश हुई। वहीं जोधपुर में सुबह 11 बजे तक कोहरा छाया रहा। न्यूनतम तापमान 14.4 डिग्री रहा। मौसम विभाग ने 3-4 दिन शीतलहर की संभावना जताई है। इससे दिन और रात का तापमान 2 से 4 डिग्री गिर सकता है।
उल्लेखनीय है। कि पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण गत मंगलवार और बुधवार को प्रदेश में मौसम बदला हुआ रहा था। इन दो दिनों के दौरान राजधानी जयपुर समेत प्रदेश के कई जिलों में हल्की से लेकर तेज बारिश का दौर चला था।                                                   


महाराष्ट्र में सेक्स वर्कस को दिए जाएंगे ₹5,000

उद्धव सरकार का बड़ा ऐलान, महाराष्‍ट्र में सेक्‍स वर्कस को दिए जाएंगे 5,000 रुपये


मनोज सिंह ठाकुर


मुंबई। महाराष्‍ट्र सरकार ने कोरोना काल में सेक्‍स वर्कस के लिए बड़ा ऐलान किया है। महाराष्‍ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने गुरुवार को ऐलान किया कि महाराष्‍ट्र में सेक्‍स वर्कस को अक्टूबर से दिसंबर तक प्रति माह 5,000 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी।
इंडिया समाचार एक ऐसा न्यूज़ चैनल है। जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। इंडिया समाचार की शुरुआत 2017 से हुई है। इंडिया समाचार आपको नेट के जरिये देश-दुनिया क्राइम राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए इंडिया समाचार एक साझा मंच भी प्रदान करता है।                                


पाक ने ठंडे बस्ते में डाले भारत के डोजियर

पाकिस्तान ने ठंडे बस्ते में डाले भारत के डोजियर, तमाम सुबूतों के बावजूद साजिशकर्ताओं पर नहीं कसा शिकंजा


नई दिल्ली/ इस्लामाबाद। मुंबई हमले के 12 वर्ष बीत जाने के बावजूद इसके दोषियों को सजा दिलाने के लिए पाकिस्तान में शुरू की गई कानूनी प्रक्रिया एक कदम भी आगे नहीं बढ़ पाई है। पाकिस्तानी हुक्मरानों ने हमले के तुरंत बाद भारत के आरोपों के मुताबिक जांच करने की जो कानूनी प्रक्रिया शुरू की थी। वह पिछले दो वर्षों से पूरी तरह से ठप है। भारत व अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से वादा करने के बावजूद पाकिस्तान की तरफ से हमले के साजिशकर्ताओं के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है।
पाकिस्तान ने ठंडे बस्ते में डाले डोजियर
इस संदर्भ में भारत की तरफ से सौंपे गए डोजियर को भी पाकिस्तान ठंडे बस्ते में डाल चुका है। जांच के लिए पाकिस्तान सरकार की तरफ से गठित आयोग की रिपोर्ट भी इस्लामाबाद स्थित आतंकरोधी अदालत में धूल फांक रही है। मुंबई हमले के दोषियों को पकड़ने व उन्हें सजा दिलाने पर भारत व पाकिस्तान के बीच पिछले पांच वर्षो में कोई बातचीत भी नहीं हुई है। दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैंकाक में वर्ष 2015 में हुई मुलाकात में अंतिम बार मुंबई हमले पर बातचीत हुई थी।
कानूनी प्रक्रिया हुई सुस्‍त
इसके कुछ ही महीने बाद भारत के पठानकोट सैन्य ठिकाने पर आतंकियों ने हमला किया था और उसके बाद रिश्ते बद से बदतर होते गए। भारत के साथ रिश्तों को बिगड़ते देख पाकिस्तान की अदालत में मुंबई हमले की साजिश रचने वालों के खिलाफ जो कानूनी प्रक्रिया चल रही थी। उसे भी सुस्त कर दिया गया। जनवरी 2019 में पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी ने कोर्ट को बताया कि उसे 19 गवाहों को खोजकर अदालत में पेश करने के लिए और वक्त चाहिए। उसके बाद से कोर्ट की कार्रवाई की कोई जानकारी नहीं है।
हाफिज सईद के गुनाह की अनदेखी
पहले पाकिस्तानी एजेंसियों ने बताया था। कि उन्होंने मुंबई हमले की साजिश रचने में शामिल सात दोषियों जकीउर रहमान लखवी, अब्दुल वाजिद, मजहर इकबाल, हमद अमीन शाहिद, शाहिद जमील रियाज, जमील अहमद और यूनिस अंजुम समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। वर्ष 2015 में लखवी को जमानत भी दे दी गई। एक दूसरे साजिशकर्ता हाफिज सईद को हाल ही में अन्य आतंकी वारदात से जुड़े मामले में 10 साल की सजा दी गई है। लेकिन मुंबई हमले में उसकी भूमिका को पाकिस्तान लगातार नजरअंदाज करता रहा है।
ठोस सबूतों को भी नकारा
पाकिस्तान की सीनाजोरी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है। कि मुंबई हमले में जिन पाकिस्तानी आतंकियों को भारतीय सैन्य जवानों ने मार गिराया था। उनके डीएनए से जुड़े डोजियर को लेकर भी बात आगे नहीं बढ़ी है। भारतीय गृह मंत्रालय की तरफ से 2009 में जो डोजियर सौंपा गया था। उसमें मारे गए सभी आतंकियों के डीएनए के नमूने थे। साथ ही जिंदा पकड़ा गया आतंकी अजमल कसाब का न्यायालय के समक्ष इकबालिया बयान व उसकी आवाज का नमूना भी शामिल था।
अब प्रक्रिया ठप
इसमें अमेरिकी जांच एजेंसी की तरफ से भारतीय जांच एजेंसियों को सौंपी गई कई अन्य महत्वपूर्ण जांच रिपोर्ट भी थी। तब पाकिस्तान ने इन रिपोर्टों को पुख्ता कहते हुए इन पर शीघ्रता से कार्रवाई करने की बात कही थी। लेकिन, बाद में उसकी एजेंसियों ने अपनी अदालत में इन सुबूतों को अधूरा करार दिया। भारत से नए सुबूत भी मांगे जाते रहे। हालांकि अब यह सारी प्रक्रिया ठप है।
फिर बनाया जाए अंतरराष्ट्रीय दबाव
मुंबई हमले के पाकिस्तान में छिपे साजिशकर्ताओं को सजा मिलने की अब एक ही सूरत है। कि वहां अंतरराष्ट्रीय दबाव में फिर से कानूनी प्रक्रिया शुरू की जाए। मुंबई हमले की 12वीं बरसी पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा है। कि वह भारत के साथ मिलकर मारे गए 166 निर्दोष लोगों को न्याय दिलाने के लिए आगे भी प्रयासरत रहेगा। फ्रांस, इजरायल समेत कई देशों ने गुरुवार को फिर कहा है। कि 26 नवंबर, 2008 को मुंबई पर हमला करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए।                       


वार्मिंग से निपटने के लिए 'क्लाइमेट इमरजेंसी'

ग्‍लोबल वार्मिंग से निपटने के लिए न्‍यूजीलैंड में होने वाला है क्‍लाइमेट इमरजेंसी


वेलिंग्टन। ग्लोबल वॉर्मिंग से निपटने के लिए न्‍यूजीलैंड के पीएम जैकिंडा अर्डर्न ने बड़ा फैसला लिया है। अर्डर्न सरकार ने क्‍लाइमेट इमरजेंसी करने का ऐलान किया है। सरकार अगले बुधवार को वहां के संसद में आपातकाल घोषित करने के लिए प्रस्‍ताव पारित करने वाली है। न्यूजीलैंड राज्य प्रसारक टीवीएनजेड के अनुसार पीएम अर्डर्न का कहा है। कि हमने हमेशा जलवायु परिवर्तन को एक बड़ा खतरा माना है। और यह कुछ ऐसा है। जिस पर हमें तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि दुर्भाग्य से हम पिछले कार्यकाल में संसद में जलवायु आपातकाल के आसपास एक गति को प्रगति करने में असमर्थ थे। लेकिन अब हम कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जीत हासिल करने के बाद हमारी पार्टी के लिए सबसे बड़ी चुनौती कोरोना वायरस से निपटना था। हम उससे पार आए और इसके लिए हमें पुरस्‍कृत भी किया गया। कहां-कहां लागू हो चुका है। क्‍लाइमेट इमरजेंसी दिसंबर 2016 को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में डेयरबिन शहर में आपातकाल लागू किया गया। एक मई 2019 को ब्रिटेन की संसद ने जलवायु आपातकाल घोषित किया। इस देश के एक दर्जन से अधिक शहर और कस्बे ऐसा पहले ही कर चुके हैं। जून 2019 में पोप फ्रांसिस ने वेटिकन सिटी में इमरजेंसी आपातकाल घोषित किया। आयरलैंड, पुर्तगाल, कनाडा, फ्रांस, अर्जेंटीना, स्पेन, आस्ट्रिया सहित कई देशों ने ऐसा उपबंध लागू कर दिया है। अक्टूबर, 2019 तक दुनिया के 1143 ऐसे प्रशासन प्रणाली या स्थानीय सरकारें हैं। जिन्होंने जलवायु आपातकाल को कालू कर दिया है। न्‍यूजीलैंड के तट पर मर गईं सैकड़ों व्‍हेल-डॉलफिन... न्यूजीलैंड में 25 नवंबर को दोपहर में 100 व्हेल और डॉलफिंस मृत मिलीं। ये समुद्री जीव न्यूजीलैंड के पूर्वी तटे 800 किलोमीटर दूर चाथम द्वीप के तट पर दिखाई पड़ी। ऐसा लगता है। कि इनमें से ज्यादातर मछलियां रविवार को तट पर आकर फंस गईं थीं। चाथम द्वीप से जानकारी मिलने में देरी हुई और उन्हें बचाने की कवायद शुरू करने से पहले इनकी मौत हो गई। न्यूजीलैंड के कंजरवेशन विभाग ने बताया कि कुल 97 पायलट व्हेल और बॉटलनोज डॉलफिंस मृत पाई गई हैं। कंजरवेशन विभाग की रेंजर जेमा वेल्श ने बताया कि चाथम द्वीप की दूर है। साथ ही यहां पर बिजली का आना-जाना लगा रहता है। इसिलए सही समय पर सूचना नहीं मिली। रेंजर्स और बचावकर्मी कई घंटे बाद मौके पर वैतांगी वेस्ट बीच पहुंचे जहां मछलियां मरी पड़ी थीं।                                     


टीसीएस के फाउंडर एफसी कोहली का निधन

टीसीएस के फाउंडर पद्मभूषण एफसी कोहली का निधन, कहे जाते थे आईटी इंडस्‍ट्री के पितामह


नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी आईटी सेवा कंपनी टाटा कंसल्टेन्सी सर्विसेज ( टीसीएस) के फाउंडर एफसी कोहली का 96 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्हें इंडियन आईटी इंडस्ट्री का जनक भी कहा जाता है। उन्‍हें उनके कार्यों के लिए पद्मभूषण से सम्‍मानित किया गया था। एफसी कोहली का पूरा नाम फकीर चंद्र कोहली था। उन्‍होंने ही 1991 में आईबीएम को टाटा-आईबीएम के हिस्से के रूप में भारत लाने के निर्णय में सक्रिय रूप से शामिल थे। यह भारत में हार्डवेयर मैन्युफैक्चरिंग के लिए ज्वाइंट वेंचर का हिस्सा था। सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री के जनक कहे जाने वाले एफसी कोहली ने भारत की प्रौद्योगिकी क्रांति का नेतृत्व किया और टीसीएस के पहले सीईओ के रूप में देश को 100 बिलियन डॉलर की आईटी इंडस्ट्री के निर्माण में मदद की।
एफसी कोहली ने बीए और बीएससी की शिक्षा सरकारी कॉलेज लाहौर (पंजाब विश्वविद्यालय के अंतर्गत) से ली। इसके बाद उन्होंने कनाडा के क्वीन्स विश्वविद्यालय से 1948 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग बीएससी ऑनर्स की डिग्री ली। इसके बाद कोहली ने 1950 में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एमएस भी किया।
विदेश में पढ़ाई खत्म करने के बाद कोहली 1951 में स्वदेश लौटे। 1951 में कोहली टाटा इलेक्ट्रिक कंपनियों में शामिल हो गए और सिस्टम ऑपरेशन को मैनेज करने के लिए लोड डिस्पैचिंग सिस्टम स्थापित करने में मदद की। साल 1969 में कोहली टीसीएस के जेनरल मैनेजर बने। इसके बाद, वह साल 1970 में कंपनी के निदेशक बने और बाद में उन्हें टीसीएस के पहले सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया।
पाकिस्‍तान ने दुनिया को दिया धोखा जेल में नहीं ठाठ से अपने घर में है। हाफिज सईद, वहीं से चला रहा आतंक की फैक्‍ट्री।                                             


अर्णब को स्पष्ट बेल देने का निणर्य करेगा एससी

अर्नब गोस्वामी को अंतरिम बेल देने के कारणों को आज स्पष्ट करेगा सुप्रीम कोर्ट


नई दिल्ली। टेलीविजन पत्रकार अर्नब गोस्वामी को आत्महत्या के लिए उकसावे के वर्ष 2018 के एक मामले में अग्रिम जमानत देने एक पखवाड़े के बाद इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को विस्तार से कारण स्पष्ट करेगा। विगत 11 नवंबर को सर्वोच्च अदालत गोस्वामी को अंतरिम जमानत देते हुए कहा था। कि अगर उनकी निजी स्वतंत्रता को बाधित किया गया तो यह अन्याय होगा। जस्टिस डीवाइ चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली खंडपीठ शुक्रवार को अपने दिए फैसले पर सफाई देगी। ऐसा होना अपने आप में दुलर्भ है। जस्टिस चंद्रचूड़ ने 11 नवंबर को अर्नब गोस्वामी को जमानत मंजूर करते हुए इस बात पर चिंता जताई थी। कि राज्य सरकार कुछ लोगों को सिर्फ इस आधार पर कैसे निशाना बना सकती है। कि वह उसके आदर्शो या राय से सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वह इस मामले में वकीलों की राय बाद में लेंगे कि नागरिकों की आजादी की सुरक्षा किस तरह से हो। यह फैसला सुनाते हुए तब सर्वोच्च अदालत ने इस मामले में दो अन्य नीतीश सारदा और फिरोज मुहम्मद शेख को भी पचास-पचास हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दी थी। जमानत देते हुए जस्टिस ने कहा कि अगर राज्य सरकारें लोगों को निशाना बनाती हैं। तो उन्हें इस बात का अहसास होना चाहिए कि नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के लिए एक सर्वोच्च अदालत है। खंडपीठ ने अपने आदेश में कहा कि हम यह मानते हैं। कि हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता की अंतरिम जमानत की अर्जी खारिज करके गलत किया। इसलिए हम आदेश देते हैं। कि अर्नब मनोरंजन गोस्वामी फिरोज मुहम्मद शेख और नीतीश सारदा को अंतरिम जमानत पर तत्काल छोड़ दिया जाए। कोर्ट ने आरोपितों को भी निर्देशित किया कि वह केस की जांच में सहयोग करें।                                        


गुजरात के अस्पताल में आग, 6 की मौत

गुजरात राजकोट के एक कॉविड-19 अस्पताल में लगी भीषण आग, 6 की मौत


राजकोट। गुजरात के राजकोट जिले में गुरुवार (27 नवंबर) देर रात शिवानंद अस्पताल के आईसीयू वार्ड में आग लगी। इस भीषण हादसे में छह लोगों की मौत हो गई। शिवानंद अस्पताल एक कोविड-19 मरीजों के लिए अस्पताल है। आईसीयू वार्ड( आईसीयू) में जिस वक्त आग लगी, उसमें 11 मरीज भर्ती थे। जिसमें से आग लगने की वजह पांच की मौत हुई है। और वही एक अन्य मरीज की मौत हुई।
इंडिया टूडे में छपी रिपोर्ट के मुताबिक जिस वक्त शिवानंद अस्पताल में आग लगी हॉस्पिटल में उस वक्त 33 मरीज भर्ती थे। हादसे में मारे 6 लोग गए हैं। लेकिन भीषण आग होने की वजह से कई लोग झुलस गए हैं। मरीजों को घायल अवस्था में आनन-फानन में दूसरी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
हालांकि फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है। आग बुझाने के लिए मौके पर कई दमकल गाड़िया मौजूद हैं। स्थानीय अधिकारियों के पास यह विश्वास करने का पूख्ता सबूत है। कि सबसे पहले आग आईसीयू से शुरू हुआ था। अभी तक आग लगने के कारण का पता नहीं चल पाया है।
शुरुआती इनपुट बताते हैं। कि राजकोट के शिवानंद अस्पताल में आग लगने के दौरान कई मरीजों को गंभीर चोटें आईं। दमकल विभाग के मुताबिक आग के कारणों का पता लगाया जा रहा है। अधिकारियों ने कहा है। कि फिलहाल उनका पूरा ध्यान इस बात पर है। कि मरीजों को सही मेडिकस सुविधा मिले। उन्होंने कहा है। कि वह इस बात की जांच बाद में कराएंगे कि आखिर अस्पताल में देर रात आग कैसे लगी।                                 


बॉक्सिंग रिंग में मुक्के बरसा रहीं लड़कियां

बॉक्सिंग रिंग में मुक्के बरसा रहीं गाजा की लड़कियां


जेरुसलम। इस्राइल की नाकेबंदी चरमराती अर्थव्यवस्था और कोरोना महामारी के थपेड़ों के बीच गाजा पट्टी में लड़कियां बॉक्सिंग में हाथ आजमा रही हैं। पिछले दिनों गाजा पट्टी में पहली बार सिर्फ लड़कियों के लिए मुक्केबाजी की प्रतियोगिता का आयोजन हुआ जिनमें लड़कियों ने अपने अपने वजन के श्रेणियों के अनुसार हिस्सा लिया। एक अंधेरे में घंटी बजती है। और दो किशोरियां मोटे दस्ताने पहने रिंग में एक दूसरे के चक्कर लगाने लगती हैं। रिश्तेदारों और दोस्तों के प्रोत्साहन भरे शोरगुल के बीच वो एक दूसरे पर मुक्कों की बरसात शुरू कर देती हैं। ये इस फिलिस्तीनी एन्क्लेव का महिलाओं का पहला बॉक्सिंग टूर्नामेंट था। दोनों मुक्केबाजों में से एक 15 वर्षीय फराह अबू अल-कुसमान हैं। वो कहती हैं कि उन्होंने लंबे समय तक इंटरनेट पर बॉक्सिंग को देखा समझा और फिर परदे से रिंग में कूदने का फैसला लिया। उत्साह से भरी हुई फराह कहती हैं। कि मैं माइक टायसन और मोहम्मद अली जैसे मक्केबाजों को देखती थी। मुझे उन्हें लड़ते देखना बहुत अच्छा लगता है। वो बहुत ही अच्छी मुक्केबाजी करते हैं । और अक्सर अपने मैच के पहले राउंड में ही जीत जाते हैं। हैरानी की बात तो ये है। लोग कोरोना महामारी की परवाह न करते हुए ये मैच देखने पहुंचे। 20 साल की मुक्केबाज रीटा अबू रहमा कहती हैं। कि कई लोगों को लगता है। जो हम कर रहे हैं। वो गलत है। और हम नैतिक मूल्यों औ परंपरा का अनादर कर रहे हैं। लेकिन मेरे मेरे परिवार और मेरे दोस्तों के लिए सामान्य है। कुवैत की चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी लड़कियां...
महिला मुक्केबाजों के 35 साल की कोच ओसामा अयूब कहती हैं। कि महिलाओं के लिए एक बॉक्सिंग टूर्नामेंट का फिलिस्तीन में पहली बार आयोजन हो रहा है।यहां  45 प्रतियोगी थे। और इनमें से जो सबसे अच्छी होगी वो फरवरी में कुवैत में होने वाली एक चैंपियनशिप में फिलिस्तीनियों का प्रतिनिधित्व करेगी।                                      


हेदराबाद: तेलंगाना बीजेपी चीफ का पलटवार

तेलंगाना बीजेपी चीफ का पलटवार, 'अकबरुद्दीन ओवैसी के दादा का है पीवी घाट, हिम्मत है तो तोड़ कर दिखाओ'


हैदराबाद। ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉरपोरेशन चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी ( बीजेपी) और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेताओं के बीच जमकर जुबानी जंग हो रही है। इस बीच नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने अपने एक चुनावी सभा में कहा कि हुसैन सागर झील के तट पर बनीं पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और टीडीपी के संस्थापक एनटी रामाराव की ‘समाधियां’ (घाट) को हटा देना चाहिए। अकबरुद्दीन ओवैसी के इस बयान पर तेलंगाना बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद बंडी संजय कुमार भड़क गए हैं। उन्होंने पलटवार करते हुए कहा, क्या ये पीवी घाट और एनटीआर घाट दोनों उनके (अकबरुद्दीन ओवैसी) पिता या आपके दादा का है। क्या एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए बंडी संजय कुमार ने कहा मैंने सुना है। कि ओवैसी (अकबरुद्दीन ओवैसी) ने कहा, पीवी घाट और एनटीआर घाट को ध्वस्त किया जाना चाहिए। क्या ये आपके पिता या दादा के हैं? हिम्मत है। तो उन्हें ध्वस्त कर दो। तब से सिर्फ 2 घंटे में, बीजेपी नेता आपका दारुस्सलाम मुख्यालय) गिराने के लिए तैयार हैं।
हैदराबाद में 1 दिसंबर को होने वाले चुनाव से कुछ दिन पहले तेलंगाना बीजेपी चीफ बंडी संजय कुमार ने कथित तौर पर धमकी देते हुए कहा कि हैदराबाद के ओल्ड सिटी इलाके में घुसपैठियों’ पर सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे। उन्होंने दावा किया है। कि हैदराबाद के ओल्ड सिटी में रोहिंग्याओं और पाकिस्तानियों को कब्जा है। और अगर वो सत्ता में आते हैं। तो इन्हें हटाने के लिए पुराने शहर में सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे।
जिसका जवाब देते हुए चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था। कि अगर हैदराबाद के ओल्ड सिटी इलाके में रोहिंग्याओं और पाकिस्तानियों का कब्जा है। तो ऐसे 100 नामों के बारे में बीजेपी बताए। उन्होंने ये भी कहा था। कि अगर ‘घुसपैठियों’ का इन इलाकों पर कब्जा है। तो पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने अबतक इन्हें क्यों नहीं यहां से निकला, क्या वो दोनों सो रहे थे।                                   


भारत में कोरोना के मामले 93,09,787 हुए

भारत में कोविड-19 के मामले बढ़कर 93,09,787 हुए


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 43,082 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 93.09 लाख हो गए। जिनमें से 87,18,517 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। और संक्रमण से ठीक होने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 93.64 प्रतिशत हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में अभी तक कोविड-19 के 93,09,787 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 492 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,35,715 हो गई। देश में अभी 4,55,555 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है। आंकड़ों के अनुसार उपचाराधीन मरीजों की संख्या कुल मामलों की 4.89 प्रतिशत है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 26 नवम्बर तक 13,70,62,749 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई, जिनमें से 11,31,204 नमूनों का परीक्षण गुरूवार को ही किया गया।                                      


बायोटेक केंद्र का दौरा करेंगे 'पीएम' मोदी

मोदी कोविड-19 का टीका बना रहे बायोटेक के केंद्र का करेंगे दौरा, टीके के इस चरण को होगा ट्रायल


हैदराबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को कोविड-19 का टीका विकसित कर रही कम्पनी ‘भारत बायोटेक के केन्द्र का दौरा करेंगे। तेलंगाना के मुख्य सचिव सोमेश कुमार की ओर से गुरूवार रात जारी किए गए एक आधिकारिक ज्ञापन में कहा गया कि मोदी पुणे से दोपहर में भारतीय वायुसेना के विमान में हकीमपेट वायुसेना अड्डे पहुंचेंगे। वह सीधे जीनोम घाटी स्थित भारत बायोटेक केन्द्र जाएंगे और वहां का दौरा कर वायुसेना अड्डे लौट आएंगे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मोदी केन्द्र में करीब एक घंटे रुकेंगे। भारत बायोटेक द्वारा विकसित किए जा रहे कोविड-19 टीके का तीसरे चरण का होना बाकी है।                                                                 


सालों पुरानें कानून को खत्म करेगी सरकार

सीएम योगी का बड़ा फैसला, 100 साल पुराने नियम-कानून को खत्म करेगी यूपी सरकार


कानपुर। सीएम योगी का बड़ा फैसला, 100 साल पुराने नियम-कानून को खत्म करेगी यूपी सरकार। यूपी सरकार बरसों पुराने व अनुपयोगी कानून खत्म करने जा रही है। इसमें 100 साल पुराने नियम कानून शामिल हैं। इससे कारोबार करने वाले अपने उद्यमी अपना उद्योग जल्द लगा सकेंगे और उन्हें नियमों के जंजाल से मुक्ति मिलेगी। आम जनता को भी नियम-कानून कम होने से राहत मिलेगी। इसके लिए संबंधित विभाग अपने यहां इस तरह के मामलों की समीक्षा कर खुद ही बता रहें कि फलां कानून को  रखा जाए या खत्म किया जाए। या इन्हें दूसरे संबंधित अधिनियम में शामिल कर लिया जाए। यह सारी कवायद केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के निर्देश पर की जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह काम करने का जिम्मा औद्योगिक विकास विभाग को दिया है।
1920 का कानून भी बरकरार 
एक कानून है। यूपी रूल्स रेगुलेटिंग द ट्रांसपोर्ट टिंबर इन कुमाऊं सिविल डिवीजन -1920 इस कानून को बने सौ साल हो गए। 20 साल पहले तो कुमाऊं क्षेत्र समेत पूरा उत्तराखंड अलग राज्य बन गया। लेकिन वन विभाग का यह नियम अभी यूपी में बरकरार है। यही नहीं 82 साल पुराना एक और कानून है। यूपी रूल्स रेगुलेटिंग ट्रांजिट आफ टिंबर आन द रिवर गंगा एबब गढ़मुक्तेश्वर इन मेरठ डिस्ट्रिक एंड आन इटस ट्रिब्यूटेरिस इन इंडियन टेरिटेरी एबब ऋषिकेश- 1938। इसका नाम ही इतना लंबा है। और उपयोगिता कितनी है। यह सवाल अब सरकार के सामने है।
इन कानून की उपयोगिता की हो रही जांच परख 
इंडियन फारेस्ट यूपी रूल 1964, यूपी कलेक्शन एंड डिस्पोजल आफ डि्रफ्ट एंड स्टैंडर्ड वुड एण्ड टिंबर रूल्स, यूपी कंट्रोल आफ सप्लाई डिस्ट्रब्यूशन एंड मूवमेंट आफ फ्रूट प्लांटस आर्डर-1975, यूपी फारेस्ट टिंबर एंड ट्रांजिट आन यमुना, टन व पबर नदी रूल्स 1963, यूपी प्रोडयूस कंट्रोल ,यूपी प्रोविंसेस प्राइवेट फारेस्ट एक्ट।
आवश्यक वस्तुओं से जुड़े चार कानून होंगे एक
खाद्य एवं रसद विभाग में भी कई इसी तरह के एक्ट व नियमावली हैं। कई तो एक जैसे हैं। मसलन, यूपी इशेंसियल कॉमोडिटीज से जुड़े चार नियम हैं। इनको एक किया जा सकता है। यूपी शिड्यूल्ड कॉमोडिटीज से जुड़े चार आदेश हैं। इनको भी विलय किया जा सकता है। यूपी कैरोसीन कंट्रोल आर्डर 1962, यूपी सेल्स आफ मोटर स्पि्ट , डीजल आयल, एंड अल्कोहल टैक्सेशन एक्ट के तहत होने वाला काम कुछ विभाग दूसरे विभाग के जिम्मे है।  औद्योगिक विकास विभाग ने विभागों से पूछा था। कि नियम वर्तमान में लागू है। या नहीं।  क्या इसे खत्म किया जा सकता है।  या किसी अन्य कानून अधिनियम में विलय किया जा सकता है। एक दर्जन विभागों ने जवाब भेज दिया है। माना जा रहा है। कि करीब 50 से ज्यादा कानून खत्म हो जाएंगे।
केंद्र सरकार का निर्देश है। कि अनुपयोगी अधिनियम नियम कानून की समीक्षा कर उनको समाप्त किया जाए। नीति आयोग ने इस संबंध में गाइडलाइंस जारी की है। इसीलिए  उत्तर प्रदेश में इस तरह के अनपुयोगी व अप्रसांगिक एक्ट व नियमावली के संबंध में विभाग समीक्षा कर उसे खत्म करने के संबंध में संस्तुति दे रहे हैं। इस महत्वपूर्ण मामले पर जल्द प्रधानमंत्री कार्यालय भी समीक्षा बैठक करेगा।


एचसी ने नुकसान की भरपाई के लिए कहा

मनोज सिंह ठाकुर


मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोत के बंगले में तोड़फोड़ मामले में बीएमसी का नोटिस बॉम्बे हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया है। बीएमसी को इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा है कि बीएससी ने अधिकारों का दुरुपयोग किया है, साथ ही कोर्ट ने कंगना के बंगले में हुए नुकसान की जांच स्वतंत्र एजेंसी से कराए जाने का आदेश दिया है। नुकसान की भरपाई के लिए एजेंसी की रिपोर्ट पर फैसला हाईकोर्ट बाद में सुनाएगा।                                         


रायपुर: छेड़छाड़ के आरोप में प्रिंसिपल को जेल

रायपुर। राजधानी रायपुर से लगे आरंग के शासकीय अरुंधति देवी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की आदिवासी शिक्षिका ने विद्यालय के प्रिंसिपल पर छेडख़ानी करने का आरोप लगाते हुए आरंग थाने जाकर लिखित में शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने प्रिंसिपल बीएल वर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। आरंग थाना प्रभारी से मिली जानकारी के अनुसार पीडि़ता ने अपनी शिकायत में प्रिंसिपल पर आरोप लगाया है कि प्रिंसिपल विद्यालय में पदस्थ सभी महिला शिक्षिकाओं के साथ अभद्र व्यवहार और टिप्पणी करते हैं। 18 नवम्बर को प्रिंसिपल ने शिक्षिका को अपने चेंबर में बुलाया जहां उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की गई।                                       


शादियों के सीजन में फिर सस्ता हुआ सोना

नई दिल्ली। शादियों के सीजन में सोना-चांदी खरीदने वालों के लिए राहत भरी खबर है। सर्राफा बाजारों में आज एक बार फिर सोना-चांदी के भाव गिरे हैं। शुकवार को देशभर के सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोने का हाजिर भाव 165 रुपये प्रति दस ग्राम गिरकर 48807 रुपये पर आ गया है। वहीं चांदी का हाजिर भाव भी 420 रुपये नरम होकर 59840 रुपये प्रति किलो पर आ गया है। जबकि 22 कैरेट सोने के दाम में 151 रुपये की गिरावट दर्ज की जा रही है। आज 22 कैरेट सोना 44707 रुपये पर खुला। इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन द्वारा जारी इस रेट और आपके शहर के भाव में 500 से 1000 रुपये का अंतर आ सकता है।                                   


अस्पताल में बच्ची का शव नोंचते दिखा कुत्ता

लखनऊ। उत्तर-प्रदेश के संभल से मानवता को शर्मसार करने वाला एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में स्ट्रेचर पर रखे बच्ची के शव को कुत्ता नोंच-नोंचकर खाता दिख रहा है। सोशल मीडिया पर ये वीडियो जमकर वायरल हो रहा है और लोग जिला अस्पताल प्रशासन की संवेदनहीनता पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। उधर यूपी में प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी ये वीडियो ट्वीट किया गया है और शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदना जाहिर की गई है।उधर वीडियो वायरल होने के बाद संभल जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया।                                                 


देश में 65 लाख पेंशनभोगियों को बड़ी सौगात

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार ने नए साल से पहले देशभर के लाखों पेंशनर्स को बड़ी सौगात दी है। सरकार ने पेंशनर्स के लिए लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने की तारीख आगे बढ़ा दी है। देशभर के पेंशनर्स अब फरवरी 2021 तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकेंगे। सरकार के इस फैसले से देशभर के 65 लाख से ज्यादा पेंशनभोगियों को फायदा होगा। पेंशनभोगियों को हर साल 30 नवंबर तक लाइफ सर्टिफिकेट यानि अपने जीवित होने का सबूत देना होता है। इसे नहीं जमा करने पर पेंशन मिलना बंद हो जाता है। इस फैसले के बाद अब पेंशनर्स 1 नवंबर 2020 से 28 फरवरी 2021 के बीच अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकेंगे। इस दौरान पेंशनर्स को उनकी पेंशन बिना किसी रुकावट के मिलती रहेंगी।


किसान आंदोलनः दिल्ली मेट्रो के छह स्टेशन बंद

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो ने शुक्रवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा ‘दिल्ली चलो’ मार्च के मद्देनजर ग्रीन लाइन पर छह मेट्रो स्टेशनों पर निकास और प्रवेश द्वार बंद करने की घोषणा की। हरियाणा से दिल्ली को जोड़ने वाले मार्गों को बंद कर दिये जाने से राष्ट्रीय राजधानी में अहम रास्तों पर वाहनों का जाम लग गया।                                 


युवक ने 7 वर्षीय मासूम से किया दुष्कर्म








मुजफ्फरपुर। बारात आए युवक ने 7 साल के मासूम के साथ दुष्कर्म करने की वारदात को अंजाम दिया है। बच्ची की स्थिति गंभीर बनी हुई है। गंभीर स्थिति में बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने त्वरित करवाई करते हुए आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। घटना डुमरिया घाट थाना क्षेत्र की बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर जिला के पारू थाना क्षेत्र से डुमरिया घाट थाना क्षेत्र में बारात गुरुवार की रात्रि आई थी। ग्रामीणों के अनुसार द्वारपूजा के समय अचानक लाइन बंद हो गया। इतने में अंधेरा हो गया।अंधेरा का लाभ उठा युवक में बारात देखने गई 7 वर्षीय बच्ची को उठाकर बगल में ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। चीखने चिल्लाने की आवाज सुन ग्रामीण व परिजन पहुंचकर बच्ची को इलाज के लिए अस्पताल ले गए। परिजनों के अनुसार बच्ची की स्थिति गंभीर बनी हुई है।                                   








राजस्थान: 2 पक्षों के बीच खूनी संघर्ष हुआ

धौलपुर। राजस्थान के धौलपुर जिले में दो गुटों के बीच खूनी जंग देखने को मिली। इस लड़ाई में एक पक्ष ने फायरिंग की जिसमें दो लोग घायल हुए। यह मामला जिले के बाड़ी सदर थाना क्षेत्र के गांव कछपुरा का है। बताया जा रहा है कि जमीनी विवाद के चलते यह खूनी जंग हुई। घायलों को जिले के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।                                       


'एलपीजी' सिलेंडर पर मिल रहा ऑफर

नई दिल्ली। वैसे तो आप हर महीने गैस सिलेंडर बुक करते हैं, लेकिन अगर आपसे कोई पूछे कि गैस बुकिंग पर आपको कोई एक्स्ट्रा बेनीफिट मिलता है तो आपका जवाब होगा नहीं। आज भी आपको गैस की बुकिंग पर कैशबैक मिलता है। आज हम आपको बतायेंगे कि किस तरह से गैस सिलेंडर बुक कराये, जिससे आप कैशबैक का लाभ उठा सकते हैं। अमेजन पे के जरिये एलपीजी कंपनी इंडेन से लेकर भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड बीपीसीएल और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड एचपीसीएल के HP गैस के सिलिंडर की बुकिंग करा सकते हैं। इस पर आपको 50 रुपये कैशबैक मिल रहा है।                               


एक्ट्रेस तारा ने दिखाया अपना बोल्ड अंदाज

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस तारा सुतारिया ने ब्वॉयफ्रेंड आदर जैन के साथ मालदीव में अपना 25वां जन्मदिन सेलिब्रेट किया था। इस वेकेशन की कई तस्वीरें सामने आ चुकी हैं। अब तारा ने सोशल मीडिया पर अपनी एक फोटो पोस्ट की है जो जमकर वायरल हो रही है। तस्वीर में तारा बोल्ड अंदाज में नजर आ रही है। तारा ने अपनी इस फोटो को इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है। तस्वीर में वह व्हाइट बिकिनी पहने समंदर किनारे पोज देती नजर आ रही हैं। उनका हॉट और ग्लैमरस अंदाज फैन्स को बहुत पसंद आ रहा है।                               


आपके किचन तक पहुंचेगा विदेशी 'आलू-प्याज'

हर घर की रसोई में सबसे पहले आलू और प्याज सबसे ज्यादा पाया जाता है और हर घर में सबसे इस्तेमाल किए जाने वाला आलू और प्याज की खपत देश में लगातार बढ़ रही है। ऐसे में इस वक्त देश में आलू और प्याज की पैदावार कम होने के कारण आलू और प्याज के रेट में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। लगातार बढ़ रहे आलू और प्याज के दाम को लेकर केंद्र सरकार खासी चिंतित दिखाई दे रही है। ऐसे में केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है और अन्य देशों से आलू और प्याज भारी मात्रा में हमारे देश में मंगाने का फैसला लिया है। इस वक्त अधिकतर मंडियों में आलू और प्याज 50 से ₹60 किलो बिक रहा है। हालांकि कहीं 5 से ₹10 की बढ़ोतरी और कहीं कमी देखी जा रही है। लेकिन अधिकतर मंडियों में आलू और प्याज की कीमतें लगातार आसमान छू रही है जो आलू और प्याज 10 रूपये और ₹20 रूपये किलो बिका करता था, वही आज 60 रुपए तक पहुंच गया है।                           


सफेद कद्दू की बुआई, सिंचाई एवं पैदावार

सफेद कद्दू , पेठा कद्दू या सिझकुम्हरा ये कद्दू की ही एक प्रजाति है। ये बेलों पर फलती है। आपने आगरा के पेठे का नाम तो सुना हीं होगा, इसे चखने का मौका भी मिला होगा। आगरे का पेठा भारत के साथ पूरी दुनिया भर में मशहूर है


अतः इसकी मांग भारत के साथ दुनियाँ के विभिन्न देशों में है। यह हलके रंग का होता है, तथा लंबे और गोल आकार में पाया जाता है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर पेठा बनाने में किया जाता है। इस फल के ऊपर हलके सफेद रंग की पाउडर जैसी परत चढ़ी होती है, जिसे छूने से हाथों में सफेद चुना जैसा लग जाता है। इसका उपयोग पेठा, बड़ी(अदौरी) तथा सब्जी में भी किया जाता है। यह भारतीय फसल है, इसकी खेती मुख्यरूप से उत्तर-प्रदेश में की जाती है। वहाँ के किसान इसे जुए की फसल मानते हैं। अच्छी कीमत मिल गई तो 1 बीघे में ही बहुत अच्छी कमाई हो जाती है। अन्यथा नुकसान का भी खतरा बना रहता है।


जलवायु और भूमि:- अच्छी फसल के लिए तापमान 18 से 30 डिग्री सेंटीग्रेट के साथ शीतोष्ण और समशीतोष्ण जलवायु उत्तम मानी जाती है। अधिक या कम तापमान इसके पैदावार प्रभावित कर सकता है, लेकिन इसे उगाए जाने में कोई समस्या नहीं है। इस फसल को जल निकास वाली जीवांश युक्त हर प्रकार वाली मिट्टी पे उगाया जा सकता है। दोमट और बलुई मिट्टी उपयुक्त है, पी एच मान 5.5-7 उत्तम है।


खेत की तैयारी:- इस फसल को उगाने के लिए पहली जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से की जानी चाहिए। इसके बाद 3-4 जुताई आवश्यक है, जो कल्टीवेटर से करें। देशी हल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। मिट्टी को भुरभुरी बनाने के बाद पाटा लगाकर खेत को समतल बना लें।


सफेद कद्दू(पेठे) की बुआईसिंचाई एवं पैदावार


खेत की तैयारी:- इस फसल को उगाने के लिए पहली जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से की जानी चाहिए। इसके बाद 3-4 जुताई आवश्यक है, जो कल्टीवेटर से करें। देशी हल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। मिट्टी को भुरभुरी बनाने के बाद पाटा लगाकर खेत को समतल बना लें।


बुआई:- अगर किसान अगैती खेती करना चाहता है तो खेत खाली होते ही गहरी जुताई करा दे। एक गहरी जुताई के पश्चात किसान 15 मई तक खेत की पलेवा कर दें। पानी लगाने के बाद खेत 5 दिनों के अंदर 20 मई तक पेठा की बुआई कर दे। दो-दो हाथ की दूरी पर निशान बना लेते हैं जिससे लाइन टेढ़ी न हो। इसी दूरी पर लम्बाई और चौड़ाई के अंतर पर गोबर की खाद का घुरवा बनाते हैं, जिसमे कुम्हड़े के सात से आठ बीज रोप देते हैं, अगर बाद में तीन चार पौधे छोड़कर बचे उसे उखाड़ कर फेंक दिया जाता हैं। ध्यान रखें की लाइन सीधी रहे।


सिंचाई:– बुआई के एक सप्ताह बाद पहला पानी और पहले पानी के 15 दिन बाद दूसरा पानी लगाते हैं। बारिश हो गयी तो फिर पानी लगाने की जरूरत नहीं रहती।


रोग और कीट रोकथाम:- इस फसल में फफूंदी जनित रोग अधिक लगते हैं। इससे बचने के लिए 2 gm बविस्टिन या कैप्टान 1 लीटर पानी में घोलकर 10-15 दिनों के अंतराल पर छिड़कते रहना चाहिए। कद्दू की फसल को अन्य रोग से बचाने के लिए एंडोसल्फान 25 ई सी 1.5 लीटर पानी में घोलकर प्रति हेक्टेयर 700-800 लिटर पानी में घोलकर 10-15 दिनों के अंतराल पर दें।


तुड़ाई और पैदावार:- यदि आप सब्जी के लिए खेती करते है, तो ज्यादा पकने ना दे और महीने में दो तुड़ाई कर के बाजार ले जाए, पेठा के लिए थोड़ा पकना जरूरी है। उचित विधि के अनुसार खेती करने के बाद कद्दू की पैदावार 275 -350 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होनी चाहिए, जिससे किसान अच्छी लाभ कमा सकतें हैं।                   


कानूनों को रद्दी की टोकरी में फैक देगेंः कांग्रेस

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा है, कि केंद्र की सत्ता में आने पर हाल में पारित किसान विरोधी तीनों कानूनों को फाड़ कर रद्दी की टोकरी में डाल देंगे। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शुक्रवार को कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने वादा किया है, कि कांग्रेस जब केंद्र की सत्ता सम्भालेगी तो वह सबसे पहले किसान विरोधी इन तीनों कानूनों को खत्म करेगी।                                     


11 दिसंबर को इशांत टेस्ट सीरीज से बाहर

नई दिल्ली। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की फिटनेस पर फैसला 11 दिसम्बर को उनके अगले फिटनेस टेस्ट के बाद लिया जाएगा। जबकि तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्टों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से बाहर हो गए हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने गुरूवार रात को जारी एक बयान में रोहित और इशांत की फिटनेस पर ताजा जानकारी देते हुए बताया कि रोहित बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में रिहैबिलिटेशन से गुजर रहे हैं और उनका अगला आकलन 11 दिसम्बर को किया जाएगा।                               


हाई कोर्ट ने लालू की जमानत सुनवाई टाली

अविनाश श्रीवास्तव


रांची। इस वक्त की बड़ी खबर रांची से आ रही है। हाईकोर्ट ने चारा घोटाला केस में लालू प्रसाद को जमानत की सुनवाई टल गई है। अब अगली सुनवाई 11 दिसंबर को होगी। सुनवााई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से चल रही थी। लालू की ओर से वकील प्रभात कुमार और दिल्ली से कपिल सिब्बल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े हुए थे। इस केस की सुनवाई अपरेश सिंह ही अदालत में हो रही थी। प्रभात कुमार ने कहा कि बेल रिजेक्ट नहीं हुआ है, लोअर कोर्ट के रिकार्ड देखा जाएगा। सीबीआई ने लोअर कोर्ट का रिकॉर्ड देखने का हाईकोर्ट से आग्रह किया था। आधी सजा पूरा करने पर हमलोग जमानत मांगी है उस पर 11 दिसंबर को सुनवाई होगी।


9 अक्टूबर को चाईबासा केस में मिली थी जमानत


9 अक्टूबर को चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद को चाईबासा ट्रेजरी केस में लालू प्रसाद को जमानत मिल गई थी। लालू प्रसाद के वकील ने कहा था कि 30 माह लालू प्रसाद जेल में रह चुके हैं। सीबीआई के काउंटर फाइल देर से जमा करने के कारण 6 नवंबर को जमानत पर सुनवाई नहीं हो पाई। पहले 9 नवंबर को सुनवाई होने वाली थी, लेकिन अर्जेंट मेंशन करते हुए 6 नवंबर को ही सुनवाई के लिए लालू के वकील ने अपील की थी। लेकिन सीबीआई ने इसका विरोध किया था।


बीामारी का दिया है हवाला


लालू प्रसाद ने अपनी जमानत याचिका में अपनी बीमारी के बारे में भी बताया था। याचिका में बताया गया था कि वह करीब 15 बीमारी ग्रसित है। उनका इलाज कई सालों से रांची के रिम्स में हो रहा है। उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता है। इसलिए उनको जमानत दे दी जाए. जमानत के लिए लालू ने 4 जुलाई को हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। बता दें कि लालू प्रसाद ने 23 दिसंबर 2017 से चारा घोटाले मामले में जेल में बंद हैं, दुमका, देवघर और चाईबासा मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने सजा सुनाई है। देवघर और चाईबासा केस में उनको जमानत मिल चुकी है, लेकिन दुमका मामले में उन्हें जमानत नहीं मिली है। चार मामलों में सीबीआई कोर्ट ने उन्हें सजा सुना दी है। पांचवा मामला डोरंडा कोषागार से संबंधित है और इसकी सुनवाई अभी सीबीआई कोर्ट में चल रही है।


CBI की दलील


लालू की याचिका पर कोर्ट ने सीबीआई से जवाब मांगा था। जिसके बाद सीबीआई ने अपना पक्ष रख था। सीबीआई ने कहा था कि लालू यादव ने दुमका कोषागार से घोटाले के मामले में अब तक आधी सजा नहीं काटी है। लिहाजा उन्हें इस आधार पर जमानत नहीं दिया जा सकता। सीबीआई ने अपने जवाब में सीआरपीसी की धारा 427 का भी जिक्र किया है। CRPC की धारा 427 के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को अलग अलग मामलों में सजा मिलती है तो एक सजा पूरी होने के बाद दूसरी सजा शुरू होगी। अगर कोर्ट ने सारी सजा के साथ चलने का आदेश दिया हो तभी वे साथ साथ गिनी जायेंगी। सीबीआई इस आधार पर लालू की जमानत का विरोध कर रही है। सीबीआई ने अपने जवाब में कहा है कि लालू प्रसाद को चार मामले में अलग-अलग सजा हुई है। उन्हें सजा सुनाने वाली कोर्ट ने सभी सजा को एक साथ चलाने का निर्देश नहीं दिया है। ऐसे में ये नहीं माना जा सकता है कि लालू यादव चारों मामले की सजा साथ साथ काट रहे हैं। उन्हें एक सजा पूरी करने के बाद दूसरे मामले में मिली सजा को पूरा करना होगा।                      


धोनी के नए अंदाज ने लूटीं महफिल

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इन दिनों अपनी फैमिली के साथ दुबई में हैं। धोनी की वाइफ साक्षी का बर्थडे पिछले हफ्ते थे और इस खास मौके को यादगार बनाने के लिए धोनी दुबई गए। कैप्टन कूल इसी साल 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। इसके अलावा इंडियन प्रीमियर लीग भी खत्म हो चुका है तो माही को फुर्सत ही फुर्सत है। आईपीएल खत्म होने के बाद धोनी वापस रांची लौटे थे लेकिन कुछ दिनों के अंदर ही वापस चले गए। दुबई से धोनी का एक डांस वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह जमकर थिरक रहे है।                             


भीषण चक्रवात में हजारों पेड़ टूटे, तीन की मौत

भीषण चक्रवाती तूफान निवार पुडुचेरी के पास समुद्र तट पर गुरुवार को पहुंच गया है। जिसके चलते हुई भारी बारिश के कारण तमिलनाडु में तीन लोगों की मौत हो गई और 1,000 से अधिक पेड़ उखड़ गए।


चेन्नई। भीषण चक्रवाती तूफान निवार गुरुवार को पुडुचेरी के पास समुद्र तट पर पहुंच गया। वहीं इस वजह से हुई भारी बारिश के कारण तमिलनाडु में तीन लोगों की मौत हो गयी और 1,000 से अधिक पेड़ उखड़ गए। साथ ही कई निचले इलाकों में पानी भर गया।


इसके बाद निवार कमजोर होकर चक्रवाती तूफान में और उसके बाद और गहरे कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो गया। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अधिकारियों के अनुसार यह दोपहर में 1430 बजे तिरुपति से पश्चिम दक्षिण-पश्चिम में केंद्रित था। आईएमडी के अनुसार, अगले छह घंटों में यह कम दबाव के क्षेत्र में बदल जाएगा।


केन्द्र की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया- अमित शाह


इस तूफान के कारण तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी बारिश हुई जिससे बड़ी संख्या में पेड़ उखड़ गए। वहीं निचले इलाकों में पानी भर गया। केन्द्रीय मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, ‘‘हम तमिलनाडु और पुडुचेरी में चक्रवात निवार की स्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए हैं। तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की और उन्हें केन्द्र की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। एनडीआरएफ के दल लोगों की मदद के लिए पहले ही मौके पर मौजूद हैं।’ अधिकारियों ने बताया कि तमिलनाडु में तीन लोगों की मौत हो गयी और 1,086 पेड़ उखड़ गए। उन सभी पेड़ों को हटा दिया गया है।


कई पेड़ बिजली के तारों पर और वाहनों पर भी गिर गए. चेन्नई में, कई इलाकों में नागरिकों ने इंटरनेट सेवाओं के बाधित होने की शिकायत की। पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने कुडलूर का दौरा किया और वहां नुकसान का जायजा लिया। पानी भरे इलाकों में बचाव कर्मियों ने नावों का उपयोग कर लोगों तक खाना पहुंचाया वहीं कुछ लोग रिश्तेदारों के यहां चले गए।


स्थगित राज्य परिवहन बस सेवाएं फिर शुरू हो गयीं


शहरी इलाकों में नगर निकाय के कार्यकर्ताओं ने जमा हो गए पानी को बाहर निकाला। अधिकारियों ने बताया कि हाल के वर्षों में बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने से पानी को बाहर निकालने में काफी मदद मिली। हवाई अड्डे, मेट्रोरेल और बसों का संचालन गुरुवार को फिर से शुरू हो गया। कई जिलों में 24 नवंबर से ही स्थगित राज्य परिवहन बस सेवाएं दोपहर में फिर शुरू हो गयीं।


29 नवंबर से एक बार फिर भारी बारिश होने की आशंका
तमिलनाडु में गुरुवार को आए चक्रवाती तूफान निवार के बाद 29 नवंबर से एक बार फिर भारी बारिश होने की आशंका है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) कहा कि 29 नवंबर से बंगाल की खाड़ी में एक नया, कम दबाव का क्षेत्र बनने की आशंका है। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि 29 नवंबर से बन रहे कम दबाव के क्षेत्र से तमिलनाडु में भारी बारिश हो सकती है। उन्होंने कहा, हालांकि यह देखने की जरूरत है कि क्या कम दबाव का क्षेत्र और गहरा होकर चक्रवात में तो नहीं बदलेगा। कम दबाव का क्षेत्र चक्रवात बनने का पहला चरण है।


सीरीज के साथ रेडमी ने लॉन्च की 'स्मार्टवॉच'

नई दिल्ली। चीनी स्मार्टफ़ोन एक्सएओमआई के तहत आने वाला ब्रांड रेडमी ने पहली बार स्मार्टवॉच लॉन्च किया है। रेडमी ने इस स्मार्ट वॉच को रेडडी नोट 9 5G सीरीज़ के साथ ही लॉन्च किया है। रेडमी स्मार्ट वॉच का का डायल स्क्वॉयर शेप का है और इसमें कई तरह के फिटनेस फीचर्स भी दिए गए है। ये स्मार्ट वॉच बजट कैटिगरी की है और इसमें एनएफसी का सपोर्ट दिया गया है।                         


एमपीः पटाखों के शोर से हुईं तीन की मौत

भोपाल। मध्‍य-प्रदेश के रतलाम में हुए ट्र‍िपल मर्डर की गुत्‍थ‍ियां धीरे-धीरे सुलझने लगी हैं। पुलिस की जांच में यह माना जा रहा है ये हत्याएं लूट या चोरी की नीयत से नहीं की गई हैं। इसका दूसरा अर्थ यह भी है कि यह हत्याकाण्ड कहीं न कहीं आपसी रंजिश के कारण हुआ है। गोली भी इतनी सटीक तरीके से मारी गई है कि एक गोली में एक की मौत हो गई। इससे पुलिस को लग रहा है कि हत्‍यारे प्रोफेशनल किलर हैं।                   


बंगालः ममता बनर्जी को लगा बड़ा झटका

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले ममता सरकार को बड़ा झटका लगा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खास माने जाने वाले तृणमूल कांग्रेस के ताकतवर नेता शुभेंदु अधिकारी ने नाराजगी की खबरों के बीच परिवहन मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इससे टीएमसी से उनकी बगावत की अटकलों को मजबूती मिली है। इससे एक दिन पहले ही उन्होंने हुगली रिवर ब्रिज कमीशन चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया था। हालांकि, अभी तक उन्होंने पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया है।                            



पलवलः दादी-पोती समेत 3 लोग की मौत

पलवल। जनपद में शादी समारोह से लौटते समय हुई दो सड़क दुर्घटनाओं में दादा-पोती सहित तीन लोगों की मौत हो गई और वहीं तीन लोग घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए फरीदाबाद के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस ने शिकायतों के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं पोस्टमार्टम के बाद तीनों शव परिजनों को सौंप दिए। पहली घटना पलवल-मोहना रोड पर गांव अलावलपुर के नजदीक हुई। चांदहट थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रामचंद्र जाखड़ ने बताया कि गांव कटेसरा निवासी गिर्राज अपने परिवार के साथ कुसलीपुर में आयोजित शादी समारोह से कार से वापस लौट रहे थे।             


टक्कर लगने से किसान की मौत, विरोध

नई दिल्ली। कृषि कानून के विरोध में दिल्ली जा रहे किसानों में एक किसान की सड़क हादसे में मौत हो गई। हादसा भिवानी जिले के मुंढाल गांव के पास बैरियर पर हुआ। एक ट्रक ने दिल्ली कूच कर रही किसानों की ट्रैक्टर ट्राली को पीछे से टक्कर मार दी। जिससे ट्रैक्टर में सवार 45 वर्षीय धन्ना सिह नामक किसान की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक किसान धन्ना सिंह पंजाब के खयाली चेहला वाली गांव जिला मानसा थाना चनीर निवासी है।             


पुलिस मुठभेड़ में 1 लाख का इनामी मारा गया

वाराणसी। जैतपुरा थाना क्षेत्र के सरैयां इलाके में गुरुवार की रात पुलिस मुठभेड़ में एक लाख रुपये का इनामी रौशन गुप्ता उर्फ किट्टू मारा गया। उसे सिर में गोली लगी। इस दौरान क्राइम ब्रांच के दारोगा विनय तिवारी व एक सिपाही जितेंद्र सिंह भी हाथ में गोली लगने से घायल हो गए जबकि एक लाख का इनामी मनीष सिंह उर्फ सोनू अंधेरे में भाग निकला। घायल पुलिसकर्मियों को मलदहिया क्षेत्र स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।             


जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...