बुधवार, 5 जनवरी 2022

दीक्षान्त समारोह का आयोजन, शपथ दिलाईं

दीक्षान्त समारोह का आयोजन, शपथ दिलाईं

हरिशंकर त्रिपाठी          देवरिया। रिजर्व पुलिस लाइन्स देवरिया मे विगत 6 माह से आधारभूत प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिला रिक्रूट आरक्षियो के दीक्षान्त परेड समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि माननीय कृषि मंत्री उ.प्र श्री सूर्य प्रताप शाही एवं पुलिस उप महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक देवरिया डॉ. श्रीपति मिश्र द्वारा परेड के निरीक्षण के उपरान्त सलामी लिया गया। मुख्य अतिथि महोदय द्वारा महिला रिकू्रट आरक्षियो का दीक्षान्त परेड समारोह मे उत्कृष्ट प्रर्दशन करने हेतु प्रशंसा किया गया। तत्पश्चात मुख्य अतिथि महोदय द्वारा समस्त महिला रिकू्रट आरक्षियो को निष्पक्ष, पूर्ण निष्ठा, पारदर्शिता एवं मनोयोग के साथ अपने दायित्वो के निर्वहन हेतु शपथ दिलाई गई।

मुख्य अतिथि माननीय कृषि मंत्री उ.प्र श्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा कहा गया कि आज दीक्षान्त परेड समारोह में महिला रिक्रूट आरक्षियों के शानदार प्रदर्शन से प्रसन्न तथा उत्साहित हूँ कि उनके द्वारा परेड के माध्यम से अनुशासन का परिचय दिया है तथा इसी प्रकार अपने आगे की नियुक्तियों पर भी अपने कर्तव्यों का ईमानदारी एवं जनता से मधुर व्यवहार स्थापित करते हुए अपने 06 माह के सिखलाई का अनुशासनात्मक परिचय देती रहेंगी। इन्हें भविष्य में कई चुनौतिया मिलेंगी जिन्हें इनके द्वारा स्वीकार करते करते हुए उन्हें निभाया जायेगा। समस्त रिक्रूट महिला आरक्षियों को अपने सम्बोधन में उनके द्वारा यह भी बताया गया कि अनुशासन किसी के डर से नहीं अपितु अपनी अन्तरआत्मा से अपने जीवन में लाना चाहिए तथा महिला रिक्रूट आरक्षियो के उज्जवल भविष्य की कामना किया गया एवं उन्हे अच्छे टर्न आउट मे रहकर एक अनुशासित एवं प्रशिक्षित बल का आदर्श प्रस्तुत करने तथा आम जनता के साथ सम्मानजनक, मृदुल, मर्योदोचित व्यवहार करने तथा पीङित की बात धैर्यपूर्वक सुनकर, उनकी मदद करने एवं अपराधियो के प्रति काठोर कार्यवाही कर अपने दायित्यो के निर्वहन हेतु कहा गया।

दीक्षान्त परेड समारोह मे जिलाधिकारी देवरिया श्री आशुतोष निरंजन एवं पुलिस उप महानिरीक्षक/अधीक्षक देवरिया डॉ. श्रीपति मिश्र द्वारा मुख्य अतिथि माननीय कृषि मंत्री उ.प्र श्री सूर्य प्रताप शाही को स्मृती चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि महोदय द्वारा इस अवसर पर इनडोर एवं आउटडोर दोनो मे उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर सर्वांग सर्वोत्तम महिला रि.आ प्रिती चौरसिया, इसके अतिरिक्त वाह्य कक्षीय प्रशिक्षण में प्रथम स्थान प्राप्त किया गया एवं इन्डोर में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली म.रि.आ अंजली यादव, तथा परेड कमाण्डर प्रथम म.रि.आ सुषमिता राय, द्वितीय कमाण्डर म.रि.आ श्रेया सिंह, तृतीय कमाण्डर म.रि.आ नेहा मार्य को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुमार सोनकर, क्षेत्राधिकारी भाटपार रानी श्री पंचमलाल, क्षेत्राधिकारी नगर श्री श्रीयश श्रिपाठी, क्षेत्राधिकारी रूद्रपुर श्री जिलाजीत, क्षेत्राधिकारी बरहज श्री देवानन्द, क्षेत्राधिकारी सलेमपुर श्री कपिलमुनि सिह एवं क्षेत्राधिकारी कार्यालय श्री विनय कुमार यादव, प्रतिसार निरीक्षक श्री पंकज सिंह, आरटीसी प्रभारी उ.नि श्री पतिराम, महिला रिकू्रट आरक्षियो के परिजन आदि उपस्थित थे।


सफलता को लेकर केबिनेट मंत्री की बैठक: यूपी
राजू सक्सेना          कौशाम्बी। भरवारी कस्बे के मोहन लाल गेस्ट हाउस में कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी ने आगामी होने वाली महारैली कानपुर में आगाज 8 जनवरी की सफलता को लेकर व्यापारियों के साथ बैठक की है। बैठक में उपस्थित व्यापारियों को वैश्य संघटन की रैली में संबोधित करते हुए कहा कि इस रैली की सफलता के लिए व्यापारी अपनी शक्ति प्रदर्शन को दर्शने के लिये कानपुर रैली पहुंचे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी मौजूद रहे। इस मौके पर बैठक को संबोधित करते हुए विधायक चायल संजय कुमार गुप्ता ने सभी व्यापारियों से कहा कि कानपुर महारैली में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुच कर व्यापारियों के इस रैली को सफल बनाएं।
गंगा प्रसाद काले पूर्व चेयरमैन के साथ चायल विधायक संजय गुप्ता ने कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल नन्दी को गदा भेट कर सम्मानित किया। उसके बाद आगाज 8 जनवरी को व्यापारी एकता के बैनर तले कानपुर में शक्ति प्रदर्शन की रूप रेखा तैयार की जानी है। इस रैली को सफल बनाने के लिए मंत्री सहित विधायक चायल एड़ी चोटी का जोर लगाने में कोई कोर कसर नही छोड़ना चाहते। वही, कैबिनेट मंत्री का कार्यक्रम एक बजकर तीस मिनट पर था। जो कि लगभग पांच घंटे विलम्ब से मोहन लाल गेस्ट हाउस पहुँचे।
इस मौके पर प्रवेश केशरवानी, जगदीश प्रसाद, शिवहरे उर्फ विधायक बब्बू अग्रवाल, अतिन कुमार, शिव बाबू उर्फ लाला श्याम, सुंदर केशरवानी, अरुण केशरवानी, कड़ा सुरेश अग्रहरी, किशन, राकेश अरोड़ा, गंगा प्रसाद केशरवानी आदि तमाम लोग मौजूद रहे।

14 तक बंद रहेंगे 10वीं कक्षा तक के स्कूल
अश्वनी उपाध्याय          गाज़ियाबाद। जिलें में सभी 10वीं कक्षा तक के स्कूल 6 जनवरी से 14 जनवरी तक बंद रहेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक प्रदीप कुमार द्विवेदी ने इस संबंध में एक आदेश जारी करते हुआ कहा कि शेष कक्षाओं का संचालन भी कोविड प्रोटोकॉल के तहत किया जाएगा। आपको बता दें कि जिलाधिकारी गाज़ियाबाद आर के सिंह ने स्कूलों में फिजिकल चलाने के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं। विद्यालय खोले जाने से पहले उन्हें पूरी तरह से सेनेटाइज्ड किया जाए तथा यह प्रक्रिया प्रतिदिन नियमित रूप से सुनिश्चित की जाए। विद्यालयों में सेनेटाइजर, हैंड वाश और थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। विद्यार्थियों को हैंड वाश /सेनेटाइज्ड कराने के पश्चात ही विद्यालय में प्रवेश दिया जाए। विद्यालय में प्रवेश के समय तथा छुट्टी के समय मुख्य द्वार पर सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। विद्यालय में आने एवं जाने के समय शारीरिक / सामाजिक दूरी के साथ ही कोविड 19 के प्रोटोकॉल/मानकों का पालन किया जाए। विद्यार्थियों को पंक्तिबद्ध करते समय तथा विद्यालय के अंदर भी कम से कम 6 फीट की शारीरिक दूरी का पालन किया जाए। विद्यालय में यदि एक से अधिक प्रवेश द्वार हों तो उनका उपयोग सुनिश्चित किया जाए। 

कई बार स्पर्श की जाने वाली सतहों जैसे, स्टियरिंग, दरवाजों के हैंडल, चाभी आदि को नियमित रूप से सेनेटाइज़ किया जाए। पंक्तियों को व्यवस्थित करने के लिए पर्याप्त दूरी के साथ निश्चित मार्किंग की जाए। यदि विद्यार्थी स्कूल बसों से विद्यालय आते हैं तो स्कूली वाहनों को आंतरिक तथा बाह्य दोनों ओर से दिन भर में नियमित रूप से सोडियम हाईपोक्लोराइट विलयन/स्प्रे का उपयोग करते हुए कम से कम दो बार सेनेटाइज़ किया जाए।स्कूल बस के ड्राइवर एवं कंडक्टर द्वारा हर समय विशेषक उनके लिए निर्धारित स्थानों पर शारीरिक दूरी का अनुपालन किया जाए। उनके द्वारा बस में विद्यार्थियों के मध्य शारीरिक। सामाजिक दूरी सुनिश्चित की जाए तथा कोविड19 प्रोटोकॉल का अक्षरशः पालन किया जाए। सभी शिक्षकों, विद्यार्थियों तथा विद्यालय के अन्य कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने हेतु दिशा निर्देश निर्गत के जाएँ। विद्यार्थियों को कक्षा में 6 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। विद्यालयों में प्रार्थना सभा, सांस्कृतिक आयोजन, खेल आधारित गतिविधियां, वार्षिक उत्सव, प्रदर्शनी का आयोजन कोविड19 का पालन करते हुए किया जाए। विद्यार्थियों को उनके माता-पिता/अभिभावकों की लिखित सहमति  के उपरांत ही पठन-पाठन हेतु विद्यालय बुलाया जाए। 

विद्यालय में उपस्थित हेतु लचीला रुख अपनाया जाए तथा किसी विद्यार्थी को विद्यालय आने के लिए बाध्य न किया जाए।घर से अध्ययन करने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन क्लास की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। कोविड19 के फैलाव तथा उससे बचाव के उपायों के लिए समस्त विद्यार्थियों को जागरूक किया जाए। ऐसे सभी कर्मचारी जो उच्च जोखिम वाले हैं। जैसे वृद्ध कर्मचारी, गर्भवती कर्मचारी तथा वे कर्मचारी जिन्हें स्वास्थ्य कारणों से अतिरिक्त सतर्कता की आवश्यकता है, उन्हें ऐसे कार्यों में न संलग्न किया जाए। जिनमें विद्यार्थियों का सीधा संपर्क होता हो। विद्यालयों में खेल, संगीत, नृत्य तथा अन्य प्रदर्शन कलाओं की कक्षाओं में सामूहिक गतिविधियों का आयोजन तभी किया जाए, जबकि शारीरिक दूरी तथा स्वास्थ्य सुरक्षा मानकों का पालन करना संभव हो। विद्यालय में किसी छात्र, शिक्षक, एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी को बुखार, खांसी, जुखाम इत्यादि से संबन्धित लक्षण दिखाई देते हैं तो उनको चिकित्सीय परामर्श के साथ घर सुरक्षित पहुँचने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

मुंबई: कोरोना के 15,166 नए मामलें दर्ज किए

मुंबई: कोरोना के 15,166 नए मामलें दर्ज किए 

कविता गर्ग         मुंबई। मुंबई में बुधवार को कोरोना वायरस के 15,166 नए केस दर्ज किए गए हैं। फिल्म नगरी में अब पॉजिटिविटी रेट 25 फीसदी पर पहुंच गया है। मुंबई में फिलहाल 87 प्रतिशत मामले बिना लक्षण वाले हैं। पिछले 24 घंटे में 3 संक्रमितों की मौत भी दर्ज की गई है। फिलहाल शहर में एक्टिव केस की संख्या 61,923 हो गई है।

आपको बता दें कि मंगलवार के मुक़ाबले मुंबई में करीब 5 हजार ज्यादा केस दर्ज किए गए हैं। शहर में मंगलवार को कोरोना वायरस के 10,890 केस सामने आए थे। वहीं, मुंबई और इसके उपनगर में सार्वजनिक बसों का परिचालन करने वाली बृह्नमुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई (बेस्ट) सेवा के पिछले कुछ दिनों में 66 कर्मी और अधिकारी संक्रमित पाए गए हैं।

उत्तराखंड: नाइट कर्फ्यू की अवधि 2 घंटे बढ़ाईं

पंकज कपूर          देहरादून। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने राज्य में लागू नाइट कर्फ्यू की अवधि दो घंटे बढ़ा दी है। अब रात्रि 10 से सुबह 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा। कैबिनेट में हुए निर्णय के बाद शासन ने इसके साथ ही कोविड से संबंधित दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए। 

अन्य राज्यों से उत्तराखंड आने के लिए कोविड वैक्सीनेशन की दोनो डोज का प्रमाण-पत्र अथवा कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य की गई है। इससे पहले रात 11:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक का समय नाइट कर्फ्यू को लेकर था। 

सभी फ्रेंचाइजियों को दिशा-निर्देश जारी, तैयारियां

सभी फ्रेंचाइजियों को दिशा-निर्देश जारी, तैयारियां

मोमीन मलिक            नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग का मेगा ऑक्शन 12 और 13 फरवरी को बेंगलुरु में होने वाला है। लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बीसीसीआई के लिए इसे संपन्न कराना काफी मुश्किल होगा। लगातार बढ़ते कोविड केस और पाबंदियों को ध्यान में रखते हुए हो सकता है कि बोर्ड इस मेगा ऑक्शन की तारीख और जगह को बदल दे। आजतक से बीसीसीआई के करीबी सूत्र ने कहा, 'हम स्थिति पर करीब से नजर रख रहे हैं और उसी के अनुसार काम करेंगे। हमने आईपीएल की तारीख और जगह को अंतिम रूप दे दिया है, जो अभी भी नहीं बदला है। लेकिन अगर उस इवेंट के करीब स्थिति खराब हो जाती है तो हम सरकार के दिशा-निर्देशों के आधार पर एक कॉल ले सकते हैं।

वहीं, प्लान बी के बारे में पूछे जाने पर सूत्र ने जानकारी दी कि बोर्ड सरकारी दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए अपनी सभी तैयारियां करेगा। दूसरी ओर बोर्ड भी इसे सुरक्षित माहौल में कराने की योजना पर काम कर रहा है। इस बार बीसीसीआई नहीं चाहता कि टूर्नामेंट में कोई रुकावट आए और इसलिए उसने सभी फ्रेंचाइजियों को इसके लिए योजना बनाने के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

ओषधीय गुणों से भरपूर हैं हरी मिर्च, जानिए

सरस्वती उपाध्याय           हरी मिर्च का उपयोग हम सभी भोजन को स्वादिष्ट और तीखा बनाने के के लिए करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हरी मिर्च में औषधीय गुण भी होते हैं। हरी मिर्च के औषधीय गुणों के कारण बढ़ती है। बुधवार के महामारी के दौर में अपनी खूबसूरती के साथ सेहत का ध्यान रखना भी जरूरी है। ऐसे में जानें हरी मिर्च खाने के किस तरह के कमाल के फायदे मिलते हैं और हरी मिर्च कितनी मात्रा में खाना सही है। वर्तमान समय को देखा जाए तो हर किसी को शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने की जरूरत है, क्योंकि यह महामारी का समय है। ऐसे में हर मर्ज की एक दवा के रूप में हरी मिर्च का सेवन किया जा सकता है।

कितनी मात्रा में खाएं हरी मिर्च: हरी मिर्च खाने के अनेक फायदे हैं। लेकिन जरूरत से ज्यादा हीर मिर्च खाना सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। एक्सपर्ट के अनुसार वैसे तो ज्यादातर लोगों को हरी मिर्च खाने से कोई नुकसान नहीं होता है। फिर भी जिन्हें बर्निंग सेंसेशन की समस्या है, उन्हें मिर्च कम खानी चाहिए। डाइटीशियन के अनुसार सामान्य व्यक्ति को दिनभर में 3-4 हरी मिर्च ही खानी चाहिए। इससे ज्यादा हरी मिर्च खाने से सेहत को नुकसान हो सकता है।रोटी के आटे को गूंथते वक्त उसमें हरी मिर्च को बारीक काट कर मिला लें और उससे बनी रोटी खाएं। सलाद खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है हम सभी जानते हैं ऐसे में आप सलाद में मिक्स करके हरी मिर्च आसानी से खा सकते हैं। दही में हरी मिर्च को मिक्स करके खाना बहुत स्वादिष्ट होता है। यदि आप किसी भी तरह से चबा कर हरी मिर्च को नहीं खाना चाहते तो छोटे टुकड़े करके आसानी से पानी की मदद से उसे निगल सकते हैं। इस तरीके से हरी मिर्च के सेवन न करें: बहुत से लोग हरी मिर्च का दाल, सब्जी आदि में छौंक लगाते और खाते हैं। इससे आपके खाने में स्वाद तो आ जाता है, मगर हरी मिर्च में मौजूद पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं। आप कभी-कभी स्वाद के लिए ऐसा कर सकतें हैं, मगर हरी मिर्च का फायदा लेने के लिए आपको कच्ची हरी मिर्च का सेवन करना आवश्यक है।

हरी मिर्च खाने के फायदे: हरी मिर्च विटामिन-सी का बहुत ही अच्छा स्रोम है. विटामिन-सी त्वचा और बालों दोनों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके सेवन से त्वचा और बालों में चमक आती है। विटामिन-सी के साथ ही हरी मिर्च में विटामिन-ई, विटामिन-डी , विटामिन-बी और आयरन भी होता है। हरी मिर्च खाने से शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट ठीक होता है यानी हरी मिर्च के सेवन से वजन घटाने में भी मदद मिलती है। खाने को पचाने और पेट को साफ करने में भी हरी मिर्च फायदेमंद होती है। हालांकि कब्ज या फिर बर्निंग सेंसेशन की समस्या है तो ऐसे लोगों को मिर्च का सेवन बहुत ही कम मात्रा में करने की सलाह दी जाती है। हरी मिर्च का सेवन करने से हीमोग्लोबिन भी बढ़ता है। डाइटीशियन के अनुसार, अगर शरीर में हीमोग्लोबिन कम है तो त्वचा का रंग अपने आप ही डार्क हो जाता है। ऐसे में हरी मिर्च का सेवन फायदेमंद होता है। त्वचा में बनने वाला मेलेनिन, जो रंग को डार्क करता है, वह भी हरी मिर्च के सेवन से कम बनता है। इससे त्वचा में निखार आता है।

शैलाब की बूंद 'संपादकीय'

शैलाब की बूंद   'संपादकीय'
ससवार गिरा करते है जंग-ए-मैदान में,
वो क्या गिरेंगे जो पहले ही घुटनों के बल हैं।
एक बूंद शैलाब लाने के लिए प्रयाप्त होती हैं। यह एक फिर प्रमाणित हुआ, आपने यह सब प्रतीत किया, आप सभी इसके साक्षी भी हैं। भारत सरकार की किसान विरोधी नीति के विरुद्ध पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश का किसान समुदाय लामबंद हो गया। 
दमनकारी नीतियों के कारण किसान नेता और पश्चिम उत्तर प्रदेश के धरनारत किसानों का नेतृत्व करने वाले राकेश टिकैत पर ज्यादती के बाद पीडा की बूंद आंखों से बह गई। किसान आंदोलन को रोकने के लिए पुलिस और कानून प्रवर्तन के द्वारा वाटर कैनन व आसुगैस का उपयोग किया गया। जिसके कारण जन आक्रोश बढ गया और आंदोलन देखते ही देखते क्रांति का रुप धारण करने लगा। 26 नवंबर 2021 को राष्ट्रव्यापी आंदोलन में मिडिया रिपोर्ट के अनुसार 25 करोड़ लोगों ने हिस्सा लिया। कई लाख लोग राष्ट्रीय राजधानी की सीमा पर एकत्रित हुए। पांच सौ से अधिक संगठन इस आंदोलन मे शरीक थे।
भारत सरकार दमनकारी नीतियों का पर्दापण स्पष्ट तो हुआ, साथ में धरनारत किसानों का शैलाब आ गया। शैलाब के बढते वेग की गति से उदगम भावी परिणाम के मात्र अनुमान से केंद्र सरकार की नींव हिल गई। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नेतृत्व की देखरेख करनेवाले प्रधानमंत्री ने अपने बनाए गये कानून को वाफिस करने की घोषणा यदि मात्र औपचारिकता ही है, तो भी सरकार घुटनों के बल आ गई।
पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव निकट है, किसान एवं पिछड़ा वर्ग भाजपा से अलगाव की तरफ बढ़ रहा हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।
राधेश्याम  'निर्भयपुत्र'

अभिनेत्री दीपिका का 36वां जन्मदिन, पोस्ट वायरल

अभिनेत्री दीपिका का 36वां जन्मदिन, पोस्ट वायरल
कविता गर्ग 
मुबंई। बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण का बुधवार को जन्मदिन हैं। एक्टर्स की सोशल मीडिया पर अच्छी फैन फॉलोइंग हैं। उनका कोई भी पोस्ट सोशल मीडिया पर आते ही वायरल हो जाता है। दीपिका बॉलीवुड की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं। अभिनेत्री के जन्मदिन के खास मौके पर उनकी लाइफस्टाइल के बारे में जानते हैं। दीपिका पादुकोण नेशनल लेवल की बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। मॉडलिंग के दिनों में दीपिका बहुत ज्यादा पतली थी। एक्ट्रेस ने अपनी फिटनेस रूटीन को भी बदला है। 
बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण बुधवार को 36 साल की हो गई। जिससे उनको ट्रांसफॉर्मेंशन में बहुत मदद मिली है। 
लाख रुपये दीपिका ने स्ट्रगल के दौरान अपनी बॉडी पर खूब काम किया है। एक्ट्रेस मॉडलिंग के समय में बहुत सारे फोटोशूट करवाती थी। इस फोटो में भी अदाकारा कातिलाना पोज दे रही हैं। मॉडलिंग के साथ ही दीपिका पादुकोण ने फिल्मों में एंट्री की। एक्ट्रेस ने 'ओम शांति ओम' से नहीं बल्कि कन्नड़ फिल्म से डेब्यू किया था। इस फिल्म में दीपिका का लुक उनकी मॉडलिंग के समय से बिल्कुल अलग था। जबकि एक्ट्रेस 'ओम शांति ओम' में बेहद खूबसूरत लग रही थीं। दीपिका फिल्मों के अलावा विज्ञापन, ब्रांड प्रमोशन- एंडोर्समेंट, पर्सनल इवेंस्टमेंट और सोशल मीडिया से कमाई करती हैं। एक्ट्रेस को महंगी गाड़ियों को शौक है।उनके पास मर्सिडज बेंज, रेंज रोवर और बीएमडब्ल्यू जैसी गाड़िया हैं। एक्ट्रेस खुद को फिट रखने के लिए जिम में घंटों पसीना बहाती है।

एक्ट्रेस उर्फी ने नई रील शेयर की, फैंस को चौकाया
कविता गर्ग             
मुबंई। टीवी एक्ट्रेस और बिगबॉस की एक्स कंटेस्टेंट उर्फी जावेद ने अपनी नई रील शेयर कर फिर फैंस को चौका दिया है। उर्फी इस रील में अपनी ब्लैक ड्रेस को फ्लॉन्ट करती नजर आ रही हैं। लेकिन इस ड्रेस पर भी लोगों ने उर्फी का मजाक उड़ाकर उन्हें ट्रोल किया है। हमेशा की तरह कुछ फैंस को उर्फी की तारीफ कर रहे हैं तो कुछ उर्फी को ट्रोल। हर बार की तरह उर्फी फिर एक बार ट्रोल्स के निशाने पर आ गई हैं। इस रील में उर्फी ने बैकलेस ड्रेस पहनी हुई है, जिसको लेकर एक यूजर ने कमेंट करते हुए कहा इनके पास कपड़ों की इतनी कमी है। वहीं दूसरे ने कमेंट किया उर्फी इतनी हॉट हैं कि सर्दी छू कर भी नहीं निकलती। दूसरे ने ट्रोल करते हुए लिखा लगता है पीछे का कपड़ा पोछे का कपड़ा बना लिया। ट्रोल्स के बीच कई सारे फैंस ऐसे भी हैं जो उर्फी की इस रील पर हार्ट इमोजी शेयर कर रहे हैं। 
उर्फी कितनी भी अच्छी ड्रेसेज में तस्वीरें शेयर कर लें, लेकिन अब लोगों को उन्हें ट्रोल करने की आदत हो गई है। हालांकि ट्रोलर्स को लेकर उर्फी का कहना हैं कि उन्हें इन सभी चीजों से कोई फर्क नहीं पड़ता। उर्फी यह तक कहती हैं कि उन्हें लड़का ऐसा चाहिए जो उन्हें कपड़ो को लेकर रोक टोक न करे। फिलहाल उर्फी बस अपने कपड़ो को लेकर ही चर्चा में रहती हैं, उनके पास कोई प्रोजेक्ट नहीं हैं।


परीक्षा ‘हैकिंग सॉल्विंग’ गिरोह का भंडाफोड़ किया

परीक्षा ‘हैकिंग सॉल्विंग’ गिरोह का भंडाफोड़ किया   
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने ऑनलाइन परीक्षा ‘हैकिंग सॉल्विंग’ गिरोह का भंडाफोड़ कर इस सिलसिले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आरोपियों में से एक राज तेवतिया की गिरफ्तारी पर हरियाणा में एक लाख रुपये का इनाम है और सीबीआई उसकी तलाश कर रही थी।
पुलिस ने बताया कि यह गिरोह विभिन्न परीक्षा पोर्टलों तक पहुंच बनाने के लिए रूसी हैकरों का भी इस्तेमाल करता था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी ‘रिमोट एक्सेस सॉफ्टवेयर’ डाउनलोड करते थे, जो सुरक्षा उपायों और प्रॉक्टर की पकड़ में नहीं आ पाता था। उन्होंने कहा कि कुल 15 लैपटॉप और नौ मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं। मामले में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।

महिला को नशीला पदार्थ पिलाकर दुष्कर्म किया
अमित शर्मा         पलवल हरियाणा के पलवल थाना क्षेत्र निवासी महिला को नशीला पदार्थ पिलाकर, उससे दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। बेहोशी की हालत में आरोपी ने वीडियो बनाकर उसे वायरल करने की धमकी देकर कई बार दुष्कर्म किया। तंग आकर पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 
जानकारी के अनुसार एक महिला ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि करीब 11 साल पहले पति से उसका तलाक हो गया था। तब से वह पलवल स्थित एक किराए के मकान में 11 वर्षीय बच्चे के साथ रहती है। यहां पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति ने उसके यहां आना-जाना शुरू दिया। एक दिन वह उसके घर आया और उसे कोल्डडिंक्स पीने को दी, जिसे पीने के बाद वह बेहोश हो गई। बेहोशी की हालत में उसने महिला से दुष्कर्म कर उसकी वीडियो बना ली। यही नहीं वीडियो वायरल करने की धमकी देकर वह बार-बार उससे दुष्कर्म करता रहा। तंग आकर उसने अपने घर वालों की मदद से पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने मामले में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।


102 रुपए सस्ता हुआ गैस-सिलेंडर, कटौती की

102 रुपए सस्ता हुआ गैस-सिलेंडर, कटौती की
अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। देश में नए साल के मौके पर कॉमर्शियल गैस-सिलेंडर की कीमत 102 रुपए सस्ता हुईं है। घरेलू गैस सिलेंडरों के दाम में किसी भी प्रकार की कटौती नहीं की गई है। लेकिन क्या आपको मालूम है कि आप महज 634 रुपये में एलपीजी गैस सिलेंडर खरीद सकते हैं। अगर आप यह सोच रहे हैं कि 14.2 किलोग्राम एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमतों में कटौती हुई है तो ऐसा नहीं है। हम बात कर रहे हैं कंपोजिट सिलेंडर की।
जिसमें गैस दिखती भी है और 14.2 किलो गैस वाले भारी भरकम सिलेंडर से हल्का भी है। दिल्ली में 10 किलोग्राम कंपोजिट गैस सिलेंडर 634 रुपये में खरीदा जा सकता है। वहीं, लखनऊ में कंपोजिट सिलेंडर के लिए 660 रुपये देने होंगे। बता दें कि 1 जनवरी 2022 को दिल्ली में कॉमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 102 घटकर 1998.5 हो गई हैं। बता दें, 31 दिसंबर तक 19 किलोग्राम वाले गैस सिलेंडर के लिए दिल्ली वालों को 2101 रुपये देने होते थे। जहां चेन्नई में अब 19 किलोग्राम एलपीजी सिलेंडर के लिए 2131 रुपये तो वही मुंबई में 1948.50 रुपये देने होंगे। नई कीमतें जारी होने के बाद कोलकाता में कॉमर्शियल गैस सिलेंडर अब 2076 रुपये में खरीदा जा सकता है।

अमेज़न पर क्विज का आयोजन, 40,000 का इनाम 
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। अमेजन आपको इनाम जीतने का मौका दे रहा है। अमेजन पर हर रोज ऐप क्विज का आयोजन किया जाता है। इसके सभी सवालों के सही जवाब देकर आप अमेजन पें में इनाम जीत सकते हैं। आज यानी 5 जनवरी को सभी पांच सवाल के सही जवाब देने पर आप लकी विनर हो सकते हैं। विनर बनने पर आपको 40,000 रुपये का इनाम दिया जाएगा। ये प्राइज आपके अमेजन पें बैलेंस में दिया जाएगा। इसमें एलिजिबल होने के लिए आपको 5 सवालों के जवाब देने होंगे। विनर का फैसला लकी ड्रॉ के जरिए किया जाता है। में सवाल जेनरल नॉलेज और करेंट अफेयर्स पर बेस्ड होते हैं। लिमिटेड ने हासिल किया कोल आपूर्ति का अहम करार आगे बढ़ने से पहले आपको बता दें कि ये ऐप ओनली क्विज है। 
इसमें भाग लेने के लिए आपको ऐप अपने फोन में डाउनलोड करना होगा। अमेजन ऐप एंड्रॉयड और आईफोन दोनों यूजर्स के लिए उपलब्ध है। ऐसे खेलें क्विज ऐप डाउनलोड हो जाने के बाद आप इसमें अपने अकाउंट से लॉगिन कर लें। इसके बाद ऐप में फन जोन सेक्शन में जाएं। इसे आप सर्च करके भी सीधे ओपन कर सकते हैं। फन जोन ओपन के बाद आपको तीसरे सेक्शन में रेड कलर का बैनर दिखेगा। इसमें आंसर और विन लिखा होगा। इस पर क्लिक करके आप क्विज खेल सकते हैं।

कोरोना की चपेट में आए पैरा-मेडिकल कर्मी, संक्रमण
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। देश की राजधानी द‍िल्‍ली में कोरोना संक्रमण के साथ ओम‍िक्रॉन वेर‍िएंट भी अब तेजी से फैल चुका है। वहीं, तीसरी लहर आने की संभावना के बीच इसकी चपेट में द‍िल्‍ली के अस्‍पतालों में काम कर रहे काफी संख्या में डॉक्टरों और पैरा-मेडिकल कर्मी तेजी से चपेट में आने लगे हैं। हालांकि इसके कारण राजधानी के स्वास्थ्य ढांचे के सामने बड़ा संकट खड़ा हो सकता है। देखें वीडियो दरअसल, इस मामले में स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि राजधानी में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के कम से कम 50 डॉक्टर, जबकि सफदरजंग अस्पताल के 26 डॉक्टर के कोरोना वायरस से संक्रमित हुए है। वहीं, एक अधिकारी ने कहा कि राम मनोहर लोहिया अस्पताल के 38 डॉक्टर सहित 45 स्वास्थ्य कर्मी बीते कई दिनों में कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। इस दौरान उनके संपर्क में आए अधिक स्वास्थ्य कर्मी भी अब आइसोलेट हो चुके हैं और इसका असर अब वहां इलाज कराने आ रहे लोगों पर पड़ने लगा है। 
बीजेपी नेता अय्यप्पन पिल्लई का निधन वहीं, सूत्रों के अनुसार उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा संचालित हिंदू राव अस्पताल  के कम से कम 20 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। वहीं, दिल्ली सरकार  द्वारा संचालित लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल की डिप्टी स्वास्थ्य अधीक्षक डॉ ऋतु सक्सेना ने कहा कि संस्थान के 7 डॉक्टर कोरोना संक्रमित हुए हैं, जिनमें से 3 लोगों को स्पेशल वार्ड में रखा गया है जबकि बाकी बचे हुए लोगों को घर पर होम क्वारंटीन किया गया है। बता दें कि दिल्ली सरकार के मुताबिक अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या और जिन्हें ऑक्सीजन एवं वेंटिलेटर सहायता की जरूरत है, उनकी संख्या काफी तेजी से बढ़ी है। 
ऐसे में 16 मई से सबसे ज्यादा हैं। वहीं, महामारी से शहर में और 3 लोगों की मौत हो गई है। फिलहाल मामलों में बढ़ोत्तरी होने से एम्स प्रशासन ने अपने कर्मचारियों की सर्दियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। गौरतलब है कि फेडरेशन ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ मनीष जांगरा ने कहा कि उन्होंने सरकार को स्वास्थ्य संकट की चेतावनी दी है। इसके लिए नीट-पीजी 2021 काउंसलिंग में तेजी लाने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि अस्पताल में दो-तिहाई कर्मियों के साथ संचालित हो रहे हैं और कोरोना की तीसरा लहर के चरम पर जाने पर स्थिति कंट्रोल से बाहर हो जाएगी।

भारत: 24 घंटें में कोरोना के 58,097 नए मामलें
अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 58,097 नए मामले आए, 15,389 रिकवरी हुईं। और 534 लोगों की कोरोना से मौत हुई। कुल मामले: 35,018,358 सक्रिय मामले: 2,14,004 कुल रिकवरी। 3,43,21,803 कुल मौते। 4,82,551 कुल वैक्सीनेशन। 1,47,72,08,846 देश में फिर लटकी लॉकडाउन की तलवार देश में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। कोरोना वायरस के सबसे खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रोन ने देश के तमाम राज्यों को चिंता में डाल दिया है। दिल्ली समेत कई राज्यों में पाबंदियां बढ़ा दी गई हैं। दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगाया गया है। 
कई और राज्यों में भी जिस तरह कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, उसे लेकर लॉकडाउन के आसार बनते दिख रहे हैं। जानिए इन राज्यों का क्या हाल है।यहां कौन सी पाबंदियां लगाई गई है। गठबंधन ने की बड़ा चुनावी वादा, सरकार बनने पर युवाओं को मिलेगा 20 लाख तक का लोन दिल्ली वीकेंड कर्फ्यू लागू किया गया। शनिवार और रविवार को दिल्ली में कर्फ्यू रहेगा। जरूरी और इमरजेंसी जैसी सुविधाएं जारी रहेंगी। जरूरी सुविधाओं वाले दफ्तरों को छोड़कर सभी दफ्तर पूरी तरह से बंद। प्राइवेट दफ्तर केवल 50% कर्मचारियों की क्षमता से चलेंगे। मेट्रो और बसें पूरी क्षमता से चलेंगी, लेकिन बिना मास्क सफर की इजाजत नहीं।
'कोरोना' के मामलों को लेकर केंद्र सरकार सतर्क
अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार सतर्क हो गई है। इसी क्रम में राज्यों को कई अहम निर्देश दिए हैं। केंद्र ने राज्यों से कहा कि हल्के और बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए होटल में कोविड केयर सेंटर बनाए जाएं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव आरती आहूजा ने राज्यों को चिट्ठी लिखकर इस संबंध में जानकारी दी। पत्र में उन्होंने लिखा, ''हल्के या बिना लक्षण वाले कोरोना के मरीजों की देखभाल के लिए होटल के कमरों और अन्य सामान्य आवासों में कोरोना के सेंटर बनाएं और ऐसे सभी सेंटर डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों से कनेक्टेड हों। 
केंद्र ने राज्यों से कहा है कि केस बढ़ने की दशा में राज्य सरकारें मरीजों के अस्पताल में भर्ती करवाने की पूरी व्यवस्था हो। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव ने कहा कि मरीजों के लिए अस्पताल में बेड की कमी ना हो। उन्होंने कहा कि अस्थाई अस्पताल की व्यवस्था की जाए और हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया जाए। बता दें कि भारत में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं ऐसे में कुछ राज्यों में संक्रमण के मामलों के साथ-साथ मरीजों की भी संख्या में बढ़ोतरी हुई है जिसके कारण कई राज्यों ने सख्त कदम उठाएं हैं।

9 जनवरी तक बारिश व शीतलहर की संभावना: मौसम
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि उत्तर-पश्चिम भारत और मध्य भारत में 9 जनवरी तक बारिश होगी और उत्तर भारत में अगले 6-7 दिनों के दौरान शीतलहर की संभावना नहीं है। वहीं बुधवार को पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की-मध्यम वारिश या बर्फबारी होने की संभावना है और 6 जनवरी को छिटपुट बारिश या बर्फबारी हो सकती है।
आईएमडी ने कहा कि 6 जनवरी तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिम उत्तर प्रदेश में छिटपुट रूप से, कहीं हल्की या मध्यम बारिश होने की संभावना है।5 और 6 जनवरी को दक्षिण राजस्थान, गुजरात, पश्चिम मध्य प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश में छिटपुट वर्षा होने की संभावना है। बुधवार को पंजाब और हरियाणा और चंडीगढ़ में और 6 जनवरी को पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिम मध्य प्रदेश में ओलावृष्टि के साथ अलग-अलग गरज के साथ बारिश होने की संभावना है। पहाड़ी इलाकों में होगी बर्फबारी आईएमडी के अनुसार 7 से 9 जनवरी के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में व्यापक रूप से बर्फबारी बर्फबारी होने की संभावना है हालांकि उसके बाद इन क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी में कमी आएगी। इसी समय के दौरान जम्मू-कश्मीर-लद्दाख-गिलगित-बाल्टिस्तान-मुजफ्फराबाद और फिर 8 और 9 जनवरी को हिमाचल प्रदेश में बारिश और बर्फबारी होने के अनुमान भी लगाए गए हैं। वहीं मौसम विभाग की माने तो पंजाब, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिम मध्य प्रदेश और राजस्थान में 7 जनवरी को और पूर्वी मध्य प्रदेश में 7 और 8 जनवरी को ओलावृष्टि हो सकती है। इसके साथ ही अलग-अलग क्षेत्र में गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

सीजी में नाइट कर्फ्यू, व्यापारी संगठनों की बैठक

सीजी में नाइट कर्फ्यू, व्यापारी संगठनों की बैठक
दुष्यंत टीकम     
रायपुर। राजधानी रायपुर में एक बार फिर कोरोना बेकाबू हो गया है। हर दिन रिकॉड मरीज मिल रहे हैं। जिसके बाद 4 प्रतिशत से अधिक जिलों में नाइट कर्फ्यू का आदेश जारी किया है। आज रायपुर जिला कलेक्टर ने चैंबर, कैट समेत सभी व्यापारी संगठनों की बैठक बुलाई। 
जिला प्रशासन की महत्वपूर्ण बैठक में आज बड़े फैसले लिए जा सकते हैं। संभावना जताई जा रही है कि पहले की तरह ही दुकानों के खुलने और बंद होने के समय में बदलाव किया जा सकता हैं। कलेक्टर सौरभ कुमार ने दोपहर 12 बजे चैंबर, कैट समेत सभी व्यापारी संगठनों के साथ बैठक कर चर्चा करेंगे। बैठक के बाद प्रशासन कोरोना गाइडलाइन जारी करेगा।
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते छत्तीसगढ़ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने ऑनलाइन पढ़ाई शुरू करने का फैसला लिया है। बता दें कि राजधानी में संक्रमण दर 4 ​फीसदी से ज्यादा है। बता दें कि मंगलवार देर रात जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार रायपुर में 343 नए मरीज मिले। ​रायपुर में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 847 हो गई है।

तीसरी लहर के लिए प्रोटोकॉल जारी, अनुरोध 

दुष्यंत टीकम       रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना की तीसरी लहर के लिए भारत सरकार से प्रोटोकॉल जारी करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए परीक्षा कराने और सेंटरों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों पर किसी तरह की रोक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर से डरने की नहीं, सतर्क रहने की जरूरत है।राजनांदगांव में 24 घंटे के दौरान 14 डॉक्टरों सहित 42 नए संक्रमित मिले हैं। दो दिन में ही एक्टिव केस की संख्या 73 तक पहुंच गई है। एक दिन पहले ही पेंड्री मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल से इंटर्नशिप कर रहे दो डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसलिए इनके संपर्क में आए डॉक्टरों के सैंपल ली गई। मंगलवार को एंटीजन सैंपलिंग में जेआर और इंटर्नशिप वाले कुल 14 डॉक्टर संक्रमित पाए गए। कोरोना की तीसरी लहर ने छत्तीसगढ़ पुलिस और केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल के शिविरों में तगड़ी सेंध लगाई है। मंगलवार को नवा रायपुर में सीमा सुरक्षा बल 17वीं बटालियन के 6 जवानों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं बीजापुर के बोदली कैंप में रह रहे छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के 14 जवान भी कोरोना संक्रमण की वजह से बीमार हो गए हैं। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अब दूसरे राज्यों से आने वालों के लिए निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी गई है।

सोमवार को कांकेर जिले के कन्हारगांव कैंप में रह रहे सशस्त्र सीमा बल के पांच जवानों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। वहीं सुकमा जिले के तिमेलवाड़ा कैंप में कोबरा 202 यूनिट के 38 जवान पॉजिटिव पाए गए थे। बताया जा रहा है, पॉजिटिव पाए गए अधिकतर जवान छुट्‌टी से वापस लौटे थे। संक्रमण की पुष्टि होने के बाद जवानों को उनके कैंप में ही आइसोलेट किया गया है। उनके संपर्क में आए जवानों की भी जांच की जा रही है। आशंका जताई जा रही है कि रायपुर से लेकर बस्तर के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में यह कोरोना विस्फोट सुरक्षा बलों के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकता है। कोरोना के इलाज के प्रिस्क्रिप्शन में इस बार अमेरिकी दवा मोलुनुपीरावीर टैबलेट शामिल की जा रही है। इस टैबलेट को ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने आपात स्थिति को देखते हुए मंजूरी दे दी है। दिसंबर में लांच हुई इस दवा के 10 हजार से ज्यादा डोज प्रदेश के दवा कारोबारियों को सप्लाई हुए हैं। एक मरीज के लिए 40 टैबलेट की डोज तय है। कंपनियों के हिसाब से इस पूरे डोज का रेट दो से ढाई हजार रुपए होगा। भारत में एक साथ 15 कंपनियां प्रोडक्शन कर रही हैं, इसलिए स्टॉक कम नहीं होगा। अभी भी सामान्य लक्षण वाले मरीजों को पैरासिटामॉल और कफ सिरप से ही इलाज किया जाएगा। मंगलवार को छत्तीसगढ़ में 35 हजार 705 नमूनों की जांच हुई। इस बीच 1059 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सबसे ज्यादा 343 केस रायपुर जिले में ही सामने आए हैं। बिलासपुर में 159, रायगढ़ में 141, दुर्ग में 89 मरीज मिले हैं। कोरिया जिले में 60 लोग पॉजिटिव आए हैं। इनमें से दो स्कूलों के 55 बच्चे और 3 शिक्षक भी हैं।

मंगलवार को छत्तीसगढ़ में कोरोना के 3 मरीजों की मौत हो गई। इनमें से 2 मौतें तो बिलासपुर में ही हुई है। एक मौत रायगढ़ में हुई है। इसमें दो मौतों की एकमात्र वजह कोरोना संक्रमण ही था। मरने वालों में से केवल एक मरीज को कोरोना के अलावा दूसरी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं भी थीं। इन तीन मौतों को मिलाकर प्रदेश भर में अब तक 13 हजार 604 लोगों की जान इस महामारी की वजह से जा चुकी है।महामारी की इस लहर की चपेट में बड़ी संख्या में डॉक्टर भी हो रहे हैं। रायपुर मेडिकल कॉलेज के पीजी हॉस्टल से कई डॉक्टर इसकी चपेट में आए हैं। गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज के एक डॉक्टर भी मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज के 14 डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रायपुर एम्स में दूसरी बीमारियों के इलाज के लिए आए कई मरीज पॉजिटिव भी मिले हैं।

कोरोना ने रायपुर के देवेंद्र नगर स्थित ऑफिसर्स कॉलोनी में भी दस्तक दी है। राज्य प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी पॉजिटिव आए हैं। अफसरों की कॉलोनी सूर्या अपार्टमेंट में भी कई लोग पॉजिटिव मिले हैं। राजकुमार कॉलेज परिसर में भी एक रहवासी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मंगलवार को मिले 1059 कोरोना मरीजों की वजह से प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 2977 हो गई है। एक दिन पहले ही प्रदेश में केवल 1942 सक्रिय मरीज थे। यह संख्या लगभग दुगुनी है। इस समय से अधिक 847 एक्टिव केस रायपुर में ही हैं। बिलासपुर में 519 और रायगढ़ में 494 मरीजों का इलाज चल रहा है। इस समय केवल कोण्डागांव और नारायणपुर जिले ही संक्रमण के प्रभाव से अछूते बच गए हैं। बेमतरा में भी मंगलवार को कोई नया मरीज नहीं मिला।

छत्तीसगढ़ में बदलेगा मौसम का मिजाज, ठंड बढ़ीं

दुष्यंत टीकम          रायपुर। छत्तीसगढ़ में एक बार फिर मौसम का मिजाज बदलेगा। 9 से 13 जनवरी तक प्रदेश में बारिश के आसार बन रहे हैं। मौसम विभाग की माने तो आज मौसम साफ रहेगा। लेकिन गुरुवार से बादल छा सकते हैं। बारिश के बाद एक बार फिर ठंड बढ़ सकती है। 

छत्तीसगढ़ में कोरोना ब्लास्ट - छग स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक प्रदेश में कल 1059 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान की गई थी. और वहीं 21 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/रिकवर्ड हुए। जिसमें सबसे ज्यादा मरीज रायपुर, रायगढ़, दुर्ग , कोरबा, जांजगीर-चाम्पा और बिलासपुर से है।

फिरोजपुर में होने वाली रैली रद्द, विरोध किया

अमित शर्मा        फिरोजपुर। पीएम मोदी की बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में होने वाली रैली रद्द हो गई है। किसानों ने हाईवे का जाम कर विरोध किया। जिसके कारण प्रधानममं‍त्री की रैली रद हो गई। पीएम अब दिल्ली वापस लौट रहे हैं। वहीं, केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने इस पूरे मामले पर पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है। किसानों ने गुरदासपुर नेशनल हाईवे को जाम कर विरोध किया। 

वहीं, मौजूद किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांगों को नहीं माना जाएगा। तब तक भाजपा की रैलियों का विरोध होता रहेगा। बता दें कि कृषि कानून रद्द होने के बाद पीएम मोदी का यह पंजाब का पहला दौरा था, जहां पीएम मोदी को राज्य को कुछ सौगात भी देनी थीं। लेकिन किसानों का गुस्सा शांत होता नजर नहीं आ रहा है।


पंजाब दौरे के दौरान पीएम की सुरक्षा में चूक: मंत्रालय
अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के दौरान सुरक्षा में बड़ी चूक हुई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि आज सुबह पीएम मोदी बठिंडा पहुंचे, जहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था। लेकिन बारिश और खराब विजिबिलिटी के चलते पीएम ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया। इसने बताया कि जब मौसम में सुधार नहीं हुआ, तो यह तय किया गया कि वह सड़क मार्ग से राष्ट्रीय शहीद स्मारक का दौरा करेंगे, जिसमें 2 घंटे से अधिक समय लगना था।  एयरपोर्ट पर लौटने के बाद पीएम मोदी ने वहां (पंजाब) के अधिकारियों से कहा, "अपने सीएम को धन्यवाद कहना कि मैं भटिंडा एयरपोर्ट तक जिंदा लौट पाया। यह जानकारी समाचार एजेंसी एएनआई ने दी है। 
गृह मंत्रालय ने कहा, डीजीपी पंजाब पुलिस द्वारा आवश्यक सुरक्षा प्रबंधों की आवश्यक पुष्टि की गई। इसके बाद प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से यात्रा करने के लिए आगे बढ़े। हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर दूर, जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो पाया गया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को ब्लॉक किया हुआ था। इसने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी को 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहना पड़ा। यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी। 2022 बयान के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही बता दिया गया था। प्रक्रिया के अनुसार उन्हें रसद, सुरक्षा के साथ-साथ आकस्मिक योजना तैयार रखने के लिए आवश्यक व्यवस्था करनी थी। इसने कहा कि साथ ही आकस्मिक योजना के मद्देनजर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग से किसी भी मूवमेंट को सुरक्षित करने और बंद करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था करनी थी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ, क्योंकि किसी भी तरह की तैनाती नहीं की गई थी। पर वापस जाने का निर्णय लिया गया। गृह मंत्रालय ने सुरक्षा में इस गंभीर चूक का संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। राज्य सरकार को भी इस चूक की जिम्मेदारी तय करने और सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है। गौरतलब है कि तेज बारिश की वजह से पीएम मोदी की फिरोजपुर रैली रद्द हो गई है। 
पीएम मोदी के तय कार्यक्रम के मुताबिक वो यहां रैली स्थल से 42,750 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास करने वाले थे। वहीं, फिरोजपुर रैली के दौरान केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने मंच से घोषणा की कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कुछ कारणों से रैली को संबोधित करने के लिए पंजाब के फिरोजपुर की अपनी निर्धारित यात्रा रद्द कर दी है।

चुनाव: हाइब्रिड प्रचार की तैयारी कर रहीं 'भाजपा'
अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के बढ़ते संक्रमण के बीच पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा हाइब्रिड प्रचार की तैयारी कर रही है। इसके तहत वर्चुअल और परंपरागत दोनों तरह से प्रचार किए जाएंगे। चुनाव तिथियों की घोषणा के बाद पार्टी विधिवत रूप से अपना प्रचार कार्यक्रम तैयार करेगी। वर्चुअल रैलियों को पार्टी ‘मन की बात’ की तरह जगह-जगह लोगों को इकट्ठा कर अपने प्रमुख नेताओं के भाषणों के ऑडियो-वीडियो को चलाएगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री समेत भाजपा के बड़े नेताओं ने चुनाव तिथियों की घोषणा के पहले ही विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी कार्यक्रमों के जरिये चुनाव वाले सभी पांचों राज्यों में व्यापक कार्यक्रम किए हैं। इनमें सभाएं एवं अन्य सम्मेलन शामिल रहे हैं। इससे पार्टी के प्रचार अभियान का एक दौर पूरा हो गया है। अब मुख्य चुनाव प्रचार अभियान की तैयारी शुरू हो गई है। पार्टी का यह अभियान भी मेगास्टार पर होगा, जिसमें उसके सभी बड़े नेताओं के साथ राज्यों के प्रमुख नेता भी उतरेंगे। भाजपा इसके पहले के चुनाव में भी पार्टी वर्चुअल माध्यम से रैलियां कर चुकी है।
हर विधानसभा क्षेत्र के हर गांव में ‘मन की बात’ की तरह कार्यक्रम किए जाएंगे। इसके अलावा मोबाइल पर भी लिंक के जरिये यह भाषण उपलब्ध रहेंगे। व्हाट्सएप ग्रुप, फेसबुक और ट्विटर के जरिये भी इन भाषणों को लोगों तक पहुंचाया जाएगा। हालांकि, पार्टी की पारंपरिक रैलियों की भी पूरी तैयारी हो चुकी है, लेकिन यह इस बात पर निर्भर करेगा कि कोरोना संक्रमण की स्थिति क्या रहती है।
इस लिहाज से अगले दस दिन काफी महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। इन दिनों में कोरोना वायरस की बढ़ती रफ्तार का अध्ययन किया जा रहा है। उसके खतरे को भी देखा जा रहा है। पार्टी के एक प्रमुख नेता ने कहा है कि इस मामले में वह चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे। जैसे भी दिशा-निर्देश आएंगे उसी के अनुसार भावी कार्यक्रम तय किए जाएंगे।
श्रीलंका ने भारत के साथ तेल टैंक का समझौता किया

अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। चीन के कर्जजाल से कंगाल श्रीलंका ने ड्रैगन को बड़ा झटका देते हुए भारत के साथ त्रिंकोमाली तेल टैंक का समझौता किया है। भारत और श्रीलंका संयुक्‍त रूप से त्रिकोमाली तेल टैंक परिसर का निर्माण करेंगे। रणनीतिक ल‍िहाज से बेहद अहम इस समझौते के तहत त्रिंको पेट्रोलियम टर्मिनल लिमिटेड सीलोन पेट्रोलियम कार्पोरेशन और इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के साथ मिलकर 61 तेल टैंक विकसित करेंगे। भारत के तमिलनाडु राज्‍य से बेहद करीब बन रहे इन तेल टैंक का सबसे पहले सपना पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने देखा था।

श्रीलंका की गोटाबाया राजपक्षे सरकार की कैबिनेट ने त्रिंकोमाली तेल टैंक प्रॉजेक्‍ट को भारत के साथ मिलकर बनाने को मंजूरी दे दी है। इस डील के बारे में सबसे पहले 29 अक्‍टूबर 1987 को हुए भारत-श्रीलंका समझौते में जिक्र किया गया था। इसमें कहा गया था कि इस टैंक को संयुक्‍त रूप से दोनों देश विकसित करेंगे लेकिन 35 साल बीत जाने के बाद भी यह समझौता लटका हुआ था। उस समय राजीव गांधी और श्रीलंका के तत्‍कालीन राष्‍ट्रपति जे आर जयवर्द्धने के बीच पत्रों का आदान प्रदान भी हुआ था। श्रीलंका में चल रहे गृहयुद्ध की वजह से यह समझौता करीब 15 साल तक ठंडे बस्‍ते में पड़ा रहा। इसके बाद 2002 में नार्वे की मध्‍यस्‍थता में गृहयुद्ध समाप्‍त हुआ। फिर ऐसी खबरें आईं कि अमेरिका श्रीलंका के त्रिंकोमाली बंदरगाह को नौसैनिक अड्डा बनाना चाहता है ताकि अफगानिस्‍तान में रसद को आसानी से पहुंचाई जा सके। इसके बाद भारतीय उच्‍चायुक्‍त ने त्रिंकोमाली का दौरा किया था। यह तेल टैंक द्वितीय विश्‍वयुद्ध के समय के पहले का है जहां 10 लाख टन तेल रखा जा सकता है।

इस तेल टैंक स्‍टोरेज के पास ही त्रिंकोमाली बंदरगाह है। त्रिंकोमाली चेन्‍नई का सबसे करीबी बंदरगाह है। चीन श्रीलंका के इस इलाके पर लंबे समय से नजरे गड़ाए हुए था। श्रीलंका ने यह समझौता ऐसे समय पर किया है जब श्रीलंका में वित्तीय और मानवीय संकट गहरा गया है। चीन के कर्जजाल की वजह से महंगाई रेकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई है, खाद्य पदार्थों की कीमत में बेतहाशा तेजी आई है और सरकारी खजाना तेजी से खाली हो रहा है। इससे आशंका जताई जा रही है कि श्रीलंका इस साल दिवालिया हो सकता है। श्रीलंका की यह हालत कैसे हुई? इसके कई कारण हैं। कोरोना संकट के कारण देश का टूरिज्म सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हुआ। साथ ही सरकारी खर्च में बढ़ोतरी और टैक्स में कटौती ने हालात को और बदतर बना दिया। ऊपर से चीन के कर्ज को चुकाते-चुकाते श्रीलंका की कमर टूट गई। देश में विदेशी मुद्रा भंडार एक दशक के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया। सरकार को घरेलू लोन और विदेशी बॉन्ड्स का भुगतान करने के लिए पैसा छापना पड़ रहा है।


उम्मीदवारों की मांग, परीक्षा स्थगित की जाए
अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। जनवरी, 2022 से शुरू होने वाली है। लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यूपीएससी परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों ने सरकार से मांग की है कि परीक्षा को स्थगित कर दिया जाए। क्योंकि ऐसी स्थति में परीक्षा केंद्र जाना और परीक्षा देना दोनों ही संभव नहीं है। सोशल मीडिया पर लगातार मांग के बाद उम्मीदवारों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दिल्ली हाईकोर्ट में इस मामले में याचिका दायर की गई है और परीक्षा को स्थगित   करने की मांग की गई है। इस मामले पर दिल्ली हाईकोर्ट की सुनवाई 6 जनवरी यानी कल होगी।
कोरोना के कारण परीक्षा को लेकर उम्मीदवारों की मांग है कि सुरक्षा के नजरिए इस परीक्षा को स्थगित कर देना चाहिए। सोशल मीडिया पर स्टूडेंट्स लगातार मांग कर रहे हैं। उम्मीदवार अपनी-अपनी परेशानी बता रहे हैं। परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवारों का कहना है कि एग्जाम के लिए दूसरे शहरों में परीक्षा केंद्रों की यात्रा करनी पड़ती है। ऐसे में किसी परिवहन सुविधा न मिलने के कारण परीक्षा में कई तरह की दिक्कत आ सकती है। UPSC सिविल सेवा मेन्स 2021 स्थगित है या नहीं, यह कल सुनवाई के बाद ही पता चलेगा।
7 जनवरी से परीक्षा शुरू।
याचिकाकर्ताओं का कहना है कि यूपीएससी मेन्स 2022 परीक्षा के अधिकांश केंद्र मेट्रो शहरों में स्थित हैं जो घनी आबादी वाले हैं। इससे उनके संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है और कई उम्मीदवारों के लिए यह परीक्षा आखिरी प्रयास भी होता है। इसलिए, वे ओमिक्रोन के कारण इसे खोना नहीं चाहते हैं और इसे स्थगित करने की मांग कर रहे हैं। यूपीएससी सीएसई मेन 7, 8, 9, 15 और 16 जनवरी को आयोजित किया जाएगा। यूपीएससी मेन्स में कुल नौ पेपर होंगे, जिनमें से दो क्वालिफाइंग (ए और बी) के लिए हैं और सात अन्य योग्यता के लिए हैं।
संघ लोक सेवा आयोग, ने सिविल सेवा मेन्स परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया था। हालांकि आयोग की तरफ से किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। लेकिन उम्मीदवार लगातार ये मांग कर रहे हैं।

चीन ने अपनी सैन्‍य ताकत में इजाफा किया, बदलाव

चीन ने अपनी सैन्‍य ताकत में इजाफा किया, बदलाव
सुनील श्रीवास्तव      
बीजिंग। चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफ‍िंग के सत्ता में रहते हुए चीनी सेना के अंदर बड़ा बदलाव आया है। यह दुनिया की अधिक सक्षम और विश्व स्तरीय आधुनिक सेना बनी है। चीन ने अपनी सैन्‍य ताकत में इतना इजाफा कर लिशया है कि वह अमेरिका की भी नहीं सुन रहा है। वह अमेरिका को एक तरह से खुली चुनौती दे रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर अपने किन हथियारों के बल पर चीन इतराता है। क्‍या उसकी सैन्‍य क्षमता इतनी बढ़ गई है कि वह अमेरिका जैसे महाशक्तिशाली देश को चुनौती दे सके। आइए जानते हैं कि आखिर चीन के पास कौन-कौन से खतरनाक हथियार हैं, ज‍िससे अमेरिका भी घबड़ाता है।हाल में चीनी राष्‍ट्रपति चिनफ‍िंग ने कहा था कि उन्‍होंने सेना को आधुनिक बनाया है। चीनी राष्‍ट्रपति ने कहा कि युद्ध लड़ने और जीतने के लिए उन्‍होंने एक ताकतवर सेना तैयार की है। सात वर्ष पूर्व चीनी सेना में पीएलए राकेट फोर्स की स्‍थापना हुई थी। इस सेना ने पहली बार वर्ष 2015 सैन्‍य परेड में प्रदर्शन किया था। इस सेना ने पांच माडल प्रदर्शित किए थे, जिनमें नए और पुराने दोनों तरह के माडल थे। 
इसमें परंपरागत राकेट से लेकर परमाणु मिसाइल तक शामिल थे।इसमें नई जनरेशन की डागफेंग डीएफ-31एजी इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल शामिल है। इसकी मारक क्षमता 10,000 किलोमीटर तक है। इसके अलावा मध्‍यम दूरी की मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल डीएफ-21डी भी है। इस मिसाइल को कैरियर किलर भी कहा जाता है। गत वर्ष चीनी सेना की परेड के दौरान करीब 16 डीएफ-31एजी मिसाइल को दिखाया था। इस मिसाइल को डीएफ-31ए का विकसित रूप माना जाता है।इस दौरान चीन ने अपने नए डिफेंस मिसाइल का भी प्रदर्शन किया था। इसमें एचक्‍यू-9बी और एक्‍यू-22 मिसाइल शामिल थीं। एचक्‍यू-9बी जमीन से हवा में मार करने में सक्षम है। एचक्‍यू-22 विमान और क्रूज मिसाइलों को रोकने में काम आता है। एचक्‍यू-9बी मोबाइल एयर डिफेंस सिस्‍टम एचक्‍यू-9 का विकसित रूप है। चीन ने इसे विवादित दक्षिण चीन सागर में तैनात किया गया है।
 चीन अपने जे-16 विमान पर भी इतराता है। पिछले वर्ष जे-16 फाइटर जेट को पहली बार पेश किया था। यह जे-11बी तकनीक पर विकसित किया गया है। यह कहा जाता है कि यह सुखोई-30 एमकेके का ही संशोधित रूप है। जे-16 दो सीटों वाला फाइटर विमान है। इस विमान में दो इंजन हैं। यह हवा से हवा में और हवा से पानी पर भी मार करने में सक्षम हैं। इस विमान को नौसेना के लिए तैयार किया गया है। जंग के दौरान जे-16 की जबरदस्‍त क्षमता है। इसमें लगा रडार दुनिया का सबसे बेहतरीन रडार है। चीन का फाइटर जेट जे-20 चौथी जेनरेशन का फाइटर है। जे-20 फाइटर विमान लंबी दूरी तक मार करने में सक्षम है।पिछले वर्ष चीन ने अपने अत्याधुनिक इलैक्ट्रानिक युद्ध उपकरणों को दुनिया के सामने दिखाया था। चीन ने पहली बार अपनी सूचना तंत्र की क्षमता को सार्वजनिक तौर पर प्रदर्शित किया। इस दौरान जंग के मैदान में दुश्मनों के रडार को नकाम करने वाले 16 इलेक्ट्रानिक उपकरणों को प्रदर्शित किया गया था। इसके अलावा दो इलेक्ट्रानिक टोही वाहन भी प्रदर्शित किए गए थे। ये दोनों ही दुश्मनों के सिस्टम को पहले ही रोकने और उसे अक्षम बनाने की क्षमता रखते हैं।
चीनी सेना के आधुनिकीकरण के साथ ही ड्रैगन इस मामले में अमरीका के करीब पहुंचता जा रहा है। इन हथियारों को देखकर लगता है कि पीएलए ने 1927 में नानचांग में अपने उदय से लेकर अब तक में काफी दूरी तय कर ली है। हालांकि यह सत्‍य है कि ज्‍यादातर हथियारों की वास्तविक लड़ाई में आजमाया जाना बाकी है।

जनरल मोटर्स का 90 साल से चला रहा दबदबा खत्म
अखिलेश पांडेय        
वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी की दिग्गज ऑटो कंपनी जनरल मोटर्स का 90 साल से चला आ रहा दबदबा अब खत्म हो गया है। जनरल मोटर्स अब अमेरिका की सबसे ज्यादा कारें बेचने वाली कंपनी नहीं रह गई है। जापान की कंपनी टोयोटा ने उससे यह ताज छीन लिया है। टोयोटा ने पिछले साल अमेरिकी बाजार में 23 लाख से ज्यादा गाड़ियां बेची। उसने पिछले साल जनरल मोटर्स से पांच फीसदी यानी 114,000 ज्यादा गाड़ियां बेची।जनरल मोटर्स ने पिछले साल करीब 22 लाख गाड़ियां बेची जबकि 2020 में कंपनी ने 25 लाख गाड़ियां बेची थी। कंपनी का कहना है कि उसकी बिक्री में 13 फीसदी कमी आई है। 
सेमीकंडक्टर चिप की कमी से उसका उत्पादन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। जनरल मोटर्स का मुख्यालय डेट्रायट में है और अमेरिकी बाजार में सबसे ज्यादा कारें बेचना का तमगा 1931 से इसी कंपनी के पास था। हालांकि कंपनी का कहना है कि वह अपना ताज वापस पाने के लिए हरसंभव कोशिश करेगी।
एनालिस्ट्स का कहना है कि 2020 की तुलना में 2021 में अमेरिकी बाजार में नई कारों की बिक्री में दो फीसदी की बढ़ोतरी हुई। लेकिन यह प्री-कोविड लेवल से काफी कम है। कंपनियों को सप्लाई चेन की समस्याओं से गुजरना पड़ा रहा है। इससे कीमतों में भी तेजी आई है। लेकिन दूसरी ऑटो कंपनियों की तुलना में टोयोटा पर चिप की कमी का ज्यादा असर नहीं हुआ। इसकी वजह यह थी कि कंपनी ने 2011 में आए भूकंप और सूनामी के बाद चिप का भंडार बनाने का फैसला किया था।लेकिन महामारी शुरू होने से पहले ही अमेरिकी की टॉप कार कंपनियां बिक्री के मामले में इंटरनेशनल कंपनियों से पिछड़ने लगी थीं। कभी अमेरिकी में कारों की कुल बिक्री में फोर्ड, जनरल मोटर्स और क्रिसलर की 90 फीसदी हिस्सेदारी थी। 2008 तक देश में बिकने वाली आधी कारें इन्हीं कंपनियों की होती थी लेकिन अब यह स्थिति बदल गई है। टोयोटा की कैमरी पिछले 20 साल से अमेरिका में सबसे ज्यादा बिकने वाली पैसेंजर कार बनी हुई है जबकि बेस्ट सेलिंग एसयूवी का तमगा पिछले पांच साल से उसकी गाड़ी Rav4 के पास है। 2005 तक टोयोटा अमेरिकी बाजार में चौथे नंबर पर थी। लेकिन 2021 आते-आते यह स्थिति बदल गई। अब जीएम, फोर्ड और क्रिसलर की हिस्सेदारी घटकर 38 फीसदी रह गई है। अगर इसमें टेस्ला को भी शामिल कर लिया जाए तो यह 40 फीसदी पहुंचती है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-79, (वर्ष-05)
2. ब्रहस्पतिवार, जनवरी 6, 2021
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:10, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 8 डी.सै., अधिकतम-23+ डी.सै.।  बर्फबारी व शीतलहर के साथ मैदानी क्षेत्रों में कहीं- कहीं तेज बारिश की संभावना।
कउ.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवाशुं के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

फाउंडेशन द्वारा बच्चों के साथ 'अमृत महोत्सव' मनाया

फाउंडेशन द्वारा बच्चों के साथ 'अमृत महोत्सव' मनाया  जे.एस.वी. किड्स एकेडमी में सारथी वेलफेयर फाउंडेशन ने मनाया अमृत महो...