मंगलवार, 19 जनवरी 2021

नगर निगम कार्यकारिणी का उपाध्यक्ष बनाया गया

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। भाजपा पार्षद अभिषेक चौधरी को नगर निगम कार्यकारिणी का उपाध्यक्ष चुना गया है। कार्यकारिणी उपाध्यक्ष के चुनाव मे कांग्रेस और बसपा को झटका लगा है। भाजपा के अभिषेक चौधरी सर्वाधिक 8 वोट पाकर विजयी घोषित किए गए। जबकि बसपा के हिमांशु चौधरी को सिर्फ 4 वोट मिले। नगर निगम कार्यकारिणी में कुल 12 सदस्य हैं। इनमें से 8 भाजपा, 2 बसपा और 2 कांग्रेस के सदस्य हैं। नगर निगम सभागार में सोमवार को महापौर आशा शर्मा की अध्यक्षता में कार्यकारिणी चुनाव कराया गया। उपाध्यक्ष पद पर पार्षदों में सहमति नहीं बनने पर चुनाव पूरी प्रक्रिया के तहत शुरू किया गया। म्युनिसिपल कमिश्नर महेंद्र सिंह तंवर, पार्षद अनिल स्वामी, भाजपा महानगराध्यक्ष संजीव शर्मा, पार्षद सुनील यादव, पप्पू पहलवान, मनोज चौधरी, यशपाल पहलवान, अजय शर्मा, अमित डबास, सुरेंद्र कुमार, हिमांशु चौधरी, हेमलता शर्मा, श्रीभगवान अग्रवाल, दिलशाद मलिक, हरबीर सिंह, मीनल रानी, जाकिर अली सैफी के अलावा अपर नगर आयुक्त आरएन पांडेय, प्रमोद कुमार, लेखाधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन, उद्यान प्रभारी डॉ. अनुज कुमार सिंह आदि की मौजूदगी में चुनाव कराया गया। सदन सचिव प्रमोद कुमार एवं चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन ने चुनाव प्रक्रिया पूरी कराई। सुबह 11 बजे नामांकन पत्र लिया गया। साढ़े 11 से दोपहर 12 बजे तक नामांकन पत्र भरकर जमा किए गए। चुनाव में भाजपा के अभिषेक चौधरी को 8 वोट मिले। बसपा प्रत्याशी हिमांशु चौधरी को 4 वोट मिले। भाजपा ने 3-4 दिन पहले कार्यकारिणी सदस्य यशपाल पहलवान, श्री भगवान शर्मा एवं अभिषेक चौधरी के नाम पर गहन मंथन किया था। लेकिन अंत समय में भाजपा ने अभिषेक चौधरी को उम्मीदवार घोषित किया। कांग्रेस के जाकिर अली को 4 वोट मिले। दूसरे चरण में नगर निगम कार्यकारिणी बैठक में वित्तीय वर्ष-2020-21 के बजट पर चर्चा की गई। मूल और पूरक बजट पेश किया गया। कार्यकारिणी सदस्यों की सहमति के बाद महापौर ने बजट पास कर दिया। नगर निगम के लेखाधिकारी अरूण कुमार मिश्रा ने पूरक बजट पेश किया। पुनरीक्षित बजट 31 दिसंबर तक के डाटा के साथ पेश किया गया।

विभागीय कार्यालय-विद्यालयों का औचक निरीक्षण

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। उप-जिलाधिकारी (सदर) देवेंद्र पाल सिंह ने गाज़ियाबाद के 3 सरकारी विद्यालयों और बेसिक शिक्षा विभाग के ऑफिस का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने स्कूलों में उपस्थिति रजिस्टर चेक कर शिक्षकों को डयूटी पर उपस्थित रहने के निर्देश दिए। स्कूल में शिक्षकों से लेकर अधिकारी नहीं मिले। एसडीएम ने मौके पर फोन के जरिए सभी अधिकारियों की लोकेशन मंगाई। एसडीएम देवेंद्र पाल सिंह सबसे पहले प्राथमिक विद्यालय कविनगर पहुंचे। इसके बाद बेसिक शिक्षा विभाग के नगर क्षेत्र कार्यालय और रजापुर-2 के कंपोजिट विद्यालय का निरीक्षण किया। एसडीएम ने स्कूलों में शिक्षकों व अधिकारी-कर्मचारियों का उपस्थिति रजिस्टर चेक किया। रजिस्टर में सभी की उपस्थिति मिली। उन्होंने स्कूल में शिक्षकों को उपस्थित होने और बच्चों की पढ़ाई को लेकर गंभीरता से कोर्स पूरा कराने के निर्देश दिए। स्कूल में कर्मचारियों को समय से कार्यालय में उपस्थित रहने और क्षेत्र में जाने पर उसकी जानकारी रजिस्टर में दर्ज करने के भी निर्देश दिए। एडीएम सदर देवेंद्र पाल सिंह ने रात में नगर निगम द्वारा बेआसरा नागरिकों के लिए बनाए गए शेल्टर होम में निरीक्षण किया। अर्थला स्थित शेल्टर होम में निरीक्षण के दौरान एसडीएम ने मौके पर कोरोना से बचाव के लिए मास्क, सैनेटाइजर और हाथ धोने के लिए साबुन आदि रखने के निर्देश दिए। एसडीएम सदर को अर्थला शेल्टर होम में रात में ठहरे 12 लोग मिले। शेल्टर होम में कंबल, गद्दे, बेडशीट व तख्त पर्याप्त मिले। वहीं, शेल्टर होम में साफ-सफाई और पानी आदि की व्यवस्था पुख्ता रखने के लिए मौके पर कर्मचारियों को निर्देश दिए गए।

कौशाम्बी: सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया

कौशाम्बी। शासन की मंशा के अनुरूप जन समस्याओं के त्वरित निस्तारण हेतु जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह की अध्यक्षता में तहसील मंझनपुर में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जन शिकायतों का निस्तारण समयबद्धता एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से हो। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदाशीनता क्षम्य नहीं होगी। उन्होेने कहा कि जन समस्याओं का गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्धता के साथ निस्तारण शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले बिन्दुओं में से एक है। उन्होने कहा कि शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण ढंग से कर दिए जाने पर शिकायतकर्ता को बार-बार उसी शिकायत के लिए इधर उधर नहीं भटकना पड़ेगा। सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर कुल 65 शिकायती प्रार्थना पत्र दर्ज कराये गयेे। जिनमे से 13 शिकायती प्रार्थना पत्रों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया। शेष प्रार्थना पत्रों के निस्तारण के लिये जिलाधिकारी ने सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि मंगलवार को ही अपने विभागों से सम्बन्धित शिकायती प्रार्थना पत्रों को प्राप्त करते हुए उनकों निर्धारित समय सीमा में गुणवत्तापूर्ण ढंग से निस्तारित करें।  
सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर प्रार्थी कमलाकांत निवासी ग्राम ओसा करारी का खतौनी में नाम दर्ज न होने की शिकायत किये जाने पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी मंझनपुर को जांचोपरान्त खतौनी में नाम दर्ज कराये जाने का निर्देश दिया है। प्रार्थी महेन्द्र प्रताप सिंह पुत्र स्व. गुलाब सिंह निवासी ग्राम देवाना के द्वारा ग्रामसभा के ही राजेन्द्र प्रसाद के द्वारा ग्रामसभा की भूमि पर अवैध कब्जा किये जाने की शिकायत किये जाने पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को गठित टीम द्वारा जांच कराकर अवैध कब्जा को हटवाये जाने का निर्देश दिया है। तहसील दिवस के अवसर पर तहसील परिसर में स्वास्थ्य विभाग, दिब्यांगजन कल्याण विभाग, समाज कल्याण विभाग, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि सहित अन्य विभागों के द्वारा योजनाओं के संबंध में स्टॉल लगाये गये। जिसमें योजनाओं से संबंधित लाभार्थियों के द्वारा दिये गये आवेदन पत्र पर तत्काल कार्रवाई करते हुए निस्तारित करने का निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिया है। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को लाभार्थियों के आवेदन पत्रों पर तत्काल कार्रवाई करते हुए पात्र लाभार्थियों को योजनाओं से लाभान्वित कराये जाने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री अभिनन्दन, मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. पीएन चतुर्वेदी, उप जिलाधिकारी मंझनपुर राजेश चन्द्रा, तहसीलदार मंझनपुर सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।
सुशील केसरवानी 

संसद: लोकसभा का सत्र 15 फरवरी तक चलेगा

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। लोकसभा का बजट सत्र 29 जनवरी से 15 फरवरी तक चलेगा। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने मंगलवार को कहा है कि संसद संत्र के पहले चरण के अंदर 12 बैठक होंगी, दूसरा चरण 8 मार्च से 8 अप्रैल तक होगा जिसमें 21 बैठक होंगी। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि सदन सबके सहयोग से चले। लोकसभा स्पीकर ने कहा है कि संसद की कैंटीन में खाने पर मिलने वाली सब्सिडी को पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कैंटीन इससे जुड़े वित्तीय पहलुओं के बारे में कोई जानकारी नहीं दी। उन्होंने बताया कि सांसदों और अन्य लोगों को मिलने वाली सब्सिडी पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। आपको बता दें कि लोकसभा की बिजनेस एडवाइजरी कमेटी में सभी दलों के सदस्यों ने एक राय बनाते हुए इसे खत्म करने पर सहमति जताई थी। अब कैंटीन में मिलने वाला खाना तय दाम पर ही मिलेगा।

दैनिक हिन्दुस्तान के अनुसार हर साल संसद की कैंटीन को सालाना करीब 17 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जा रही थी। 2017-18 में एक आरटीआई में संसद की रेट लिस्ट सामने आई थी जिसके मुताबिक, संसद की कैंटीन में चिकन करी 50 रुपए में और वेज थाली 35 रुपए में परोसी जाती है। वहीं थ्री कोर्स लंच की कीमत करीब 106 रुपए है। इतना ही नहीं साउथ इंडियन फूड में प्लेन डोसा सांसदों को मात्र 12 रुपए में मिलता है। लोकसभा अध्यक्ष ने बजट सत्र की तैयारियों के बारे में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि उत्तर रेलवे के बजाय अब आईटीडीसी संसद की कैंटीनों का संचालन करेगा। उन्होंने कहा कि संसद सत्र शुरू होने से पहले सभी सांसदों से कोविड-19 जांच कराने का अनुरोध किया जाएगा। बिरला ने कहा कि सांसदों के आवास के निकट भी उनके आरटी-पीसीआर कोविड-19 परीक्षण किए जाने के प्रबंध किए गए हैं। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र, राज्यों द्वारा निर्धारित की गई टीकाकरण अभियान नीति सांसदों पर भी लागू होगी। उन्होंने कहा कि संसद परिसर में 27-28 जनवरी को आरटी-पीसीआर जांच की जाएगी, सांसदों के परिवार, कर्मचारियों की आरटी-पीसीआर जांच के भी प्रबंध किए गए हैं। बिरला ने कहा कि 29 जनवरी से शुरू होने वाले संसद सत्र के दौरान राज्यसभा की कार्यवाही सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक होगी और लोकसभा की कार्यवाही शाम चार से रात आठ बजे तक होगी।उन्होंने कहा कि संसद सत्र के दौरान पूर्व निर्धारित एक घंटे के प्रश्नकाल की अनुमति रहेगी।

नगर निगम कार्यकारिणी का उपाध्यक्ष बनाया गया

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। भाजपा पार्षद अभिषेक चौधरी को नगर निगम कार्यकारिणी का उपाध्यक्ष चुना गया है। कार्यकारिणी उपाध्यक्ष के चुनाव मे कांग्रेस और बसपा को झटका लगा है। भाजपा के अभिषेक चौधरी सर्वाधिक 8 वोट पाकर विजयी घोषित किए गए। जबकि बसपा के हिमांशु चौधरी को सिर्फ 4 वोट मिले। नगर निगम कार्यकारिणी में कुल 12 सदस्य हैं। इनमें से 8 भाजपा, 2 बसपा और 2 कांग्रेस के सदस्य हैं। नगर निगम सभागार में सोमवार को महापौर आशा शर्मा की अध्यक्षता में कार्यकारिणी चुनाव कराया गया। उपाध्यक्ष पद पर पार्षदों में सहमति नहीं बनने पर चुनाव पूरी प्रक्रिया के तहत शुरू किया गया। म्युनिसिपल कमिश्नर महेंद्र सिंह तंवर, पार्षद अनिल स्वामी, भाजपा महानगराध्यक्ष संजीव शर्मा, पार्षद सुनील यादव, पप्पू पहलवान, मनोज चौधरी, यशपाल पहलवान, अजय शर्मा, अमित डबास, सुरेंद्र कुमार, हिमांशु चौधरी, हेमलता शर्मा, श्रीभगवान अग्रवाल, दिलशाद मलिक, हरबीर सिंह, मीनल रानी, जाकिर अली सैफी के अलावा अपर नगर आयुक्त आरएन पांडेय, प्रमोद कुमार, लेखाधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन, उद्यान प्रभारी डॉ. अनुज कुमार सिंह आदि की मौजूदगी में चुनाव कराया गया। सदन सचिव प्रमोद कुमार एवं चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन ने चुनाव प्रक्रिया पूरी कराई। सुबह 11 बजे नामांकन पत्र लिया गया। साढ़े 11 से दोपहर 12 बजे तक नामांकन पत्र भरकर जमा किए गए। चुनाव में भाजपा के अभिषेक चौधरी को 8 वोट मिले। बसपा प्रत्याशी हिमांशु चौधरी को 4 वोट मिले। भाजपा ने 3-4 दिन पहले कार्यकारिणी सदस्य यशपाल पहलवान, श्री भगवान शर्मा एवं अभिषेक चौधरी के नाम पर गहन मंथन किया था। लेकिन अंत समय में भाजपा ने अभिषेक चौधरी को उम्मीदवार घोषित किया। कांग्रेस के जाकिर अली को 4 वोट मिले। दूसरे चरण में नगर निगम कार्यकारिणी बैठक में वित्तीय वर्ष-2020-21 के बजट पर चर्चा की गई। मूल और पूरक बजट पेश किया गया। कार्यकारिणी सदस्यों की सहमति के बाद महापौर ने बजट पास कर दिया। नगर निगम के लेखाधिकारी अरूण कुमार मिश्रा ने पूरक बजट पेश किया। पुनरीक्षित बजट 31 दिसंबर तक के डाटा के साथ पेश किया गया।

नगर निगम कार्यकारिणी का उपाध्यक्ष बनाया गया

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। भाजपा पार्षद अभिषेक चौधरी को नगर निगम कार्यकारिणी का उपाध्यक्ष चुना गया है। कार्यकारिणी उपाध्यक्ष के चुनाव मे कांग्रेस और बसपा को झटका लगा है। भाजपा के अभिषेक चौधरी सर्वाधिक 8 वोट पाकर विजयी घोषित किए गए। जबकि बसपा के हिमांशु चौधरी को सिर्फ 4 वोट मिले। नगर निगम कार्यकारिणी में कुल 12 सदस्य हैं। इनमें से 8 भाजपा, 2 बसपा और 2 कांग्रेस के सदस्य हैं। नगर निगम सभागार में सोमवार को महापौर आशा शर्मा की अध्यक्षता में कार्यकारिणी चुनाव कराया गया। उपाध्यक्ष पद पर पार्षदों में सहमति नहीं बनने पर चुनाव पूरी प्रक्रिया के तहत शुरू किया गया। म्युनिसिपल कमिश्नर महेंद्र सिंह तंवर, पार्षद अनिल स्वामी, भाजपा महानगराध्यक्ष संजीव शर्मा, पार्षद सुनील यादव, पप्पू पहलवान, मनोज चौधरी, यशपाल पहलवान, अजय शर्मा, अमित डबास, सुरेंद्र कुमार, हिमांशु चौधरी, हेमलता शर्मा, श्रीभगवान अग्रवाल, दिलशाद मलिक, हरबीर सिंह, मीनल रानी, जाकिर अली सैफी के अलावा अपर नगर आयुक्त आरएन पांडेय, प्रमोद कुमार, लेखाधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन, उद्यान प्रभारी डॉ. अनुज कुमार सिंह आदि की मौजूदगी में चुनाव कराया गया। सदन सचिव प्रमोद कुमार एवं चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन ने चुनाव प्रक्रिया पूरी कराई। सुबह 11 बजे नामांकन पत्र लिया गया। साढ़े 11 से दोपहर 12 बजे तक नामांकन पत्र भरकर जमा किए गए। चुनाव में भाजपा के अभिषेक चौधरी को 8 वोट मिले। बसपा प्रत्याशी हिमांशु चौधरी को 4 वोट मिले। भाजपा ने 3-4 दिन पहले कार्यकारिणी सदस्य यशपाल पहलवान, श्री भगवान शर्मा एवं अभिषेक चौधरी के नाम पर गहन मंथन किया था। लेकिन अंत समय में भाजपा ने अभिषेक चौधरी को उम्मीदवार घोषित किया। कांग्रेस के जाकिर अली को 4 वोट मिले। दूसरे चरण में नगर निगम कार्यकारिणी बैठक में वित्तीय वर्ष-2020-21 के बजट पर चर्चा की गई। मूल और पूरक बजट पेश किया गया। कार्यकारिणी सदस्यों की सहमति के बाद महापौर ने बजट पास कर दिया। नगर निगम के लेखाधिकारी अरूण कुमार मिश्रा ने पूरक बजट पेश किया। पुनरीक्षित बजट 31 दिसंबर तक के डाटा के साथ पेश किया गया।

आज: जर्जर सड़क-क्षतिग्रस्त नालियों का पुनर्निर्माण

अश्वनी उपाध्याय    

गाजियाबाद। ट्रांस हिंडन क्षेत्र के प्रह्लाद गढ़ी की माता मंदिर वाली गली में बरसों से जर्जर सड़क और क्षतिग्रस्त हुई पड़ी नालियों का पुनर्निर्माण आखिरकार शुरू हो ही गया। इस कार्य के लिए वार्ड 36 के निगम पार्षद अरविंद चौधरी चिन्टू ने अपनी पार्षद निधि से 17 लाख रुपए इस योजना के पास कराया। इस प्रोजेक्ट में इंटरलॉकिंग टाईल्स द्वारा सड़कों का निर्माण होगा। साथ ही गलियों की नालियों का भी निर्माण होगा, ताकि बरसात में जलभराव की स्तिथि उत्पन न हो। इस कार्य का शिलान्यास निगम पार्षद अरविंद चौधरी चिन्टू ने स्थानीय निवासियों संग किया। निगम पार्षद ने कहा कि इस दशकों से जर्जर अवस्था में पड़े सड़क और नाली का निर्माण आखिर शुरू हो गया। इससे गाँव प्रह्लाद गढ़ी में रहने वाले सैंकड़ों लोगों को लाभ मिलेगा और इससे जलभराव की समस्या भी खत्म हो जाएगी। वही इस शिलान्यास समारोह में समाजसेवी डॉक्टर प्रवीण कुमार, प्रेमपाल, सुपरवाइजर अजीत, नीरज जाटव, सचिन राघव, तिलोकचंद, प्रिंस जाटव, रविंदर व फैजल आदि उपस्थित रहे।

कैबिनेट मंत्री के पिता को 'श्रद्धांजलि' अर्पित की

भानु प्रताप उपाध्याय
शामली। हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश मंत्री ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ कैबिनेट मंत्री के आवास पर पहुंचकर उनके पिता को श्रद्धा सुमन श्रद्धांजलि अर्पित की। हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश मंत्री नागेंद्र प्रताप सिंह तोमर के नेतृत्व में सुनील कुमार सिंह प्रधानाचार्य डी एन इंटर कॉलेज मेरठ, अशोक सिंह पूर्व प्रधान दखोड़ी, बिट्टू कुमार जिला प्रभारी, चौधरी रविंदर सिंह  कॉलखंडे जिला संयोजक ,अरविंद कौशिक जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सुधीर कुमार राणा जिला उपाध्यक्ष, मनोज रोहिल्ला नगर अध्यक्ष, आदि पदाधिकारियों के साथ कैबिनेट मंत्री माननीय सुरेश राणा के आवास पर थाना भवन पहुंचे और उनके स्वर्गीय पिता को शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धा सुमन श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दुख की घड़ी में नागेंद्र प्रताप सिंह तोमर मंत्री हिंदू युवा वाहिनी उत्तर प्रदेश ने कहा हिंदू युवा वाहिनी परिवार माननीय सुरेश राणा के पूजनीय पिताजी के स्वर्गवास होने पर श्रद्धा सुमन श्रद्धांजलि अर्पित करता है और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना करता है। दिवंगत आत्मा को मोक्ष प्रदान करते हुए अपने श्री चरणों में स्थान दें। क्योंकि माननीय सुरेश राणा कैबिनेट मंत्री के पूजनीय पिता श्री मृदुभाषी, मिलनसार, व धार्मिक विचारों वाले व्यक्ति थे। उनके स्वर्गवास होने से शोकाकुल परिवार को जो क्षति पहुंची है। उसे कभी पूरा नहीं किया जा सकता और दुख की इस घड़ी में आशीष निरवाल, प्रदीप निरवाल, अमित गर्ग, अनुराग गोयल, पंकज गुप्ता, उपेंद्र  द्विवेदी, राजेश गुप्ता, महेश गोयल, अमरीश शर्मा, भानु प्रताप उपाध्याय, डॉ राजेंद्र बालियान, मांगेराम नामदेव ,गौरव  ठाकुर, आदि ने कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा के पूजनीय पिताश्री के स्वर्गवास होने पर शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।

पुलिस पदाधिकारियों-सदस्यों को किया सम्मानित

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। कोविड़ -19 की महामारी के दौरान जन सेवा, पुलिस प्रशासन का सहयोग एवं जन भ्रांतियों के स्वयं सेवकों द्वारा क्यूआरटी टीमों के माध्यम से किए गये सहयोग के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा आयोजित सम्मान समारोह के प्रथम चरण में नगर के समस्त थानों के पदाधिकारियों व सदस्यों को माघ मेला रिजर्व पोलिस लाइन सभागार में पुलिस अधीक्षक (अपराध) आशुतोष मिश्रा एवं भूतपूर्व कमिश्नर आरव एसव वर्मा के द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। समारोह का संचालन संगठन सचिव सतीष चन्द्र मिश्रा के द्वारा किया गया। सचिव संतोष कुमार श्रीवास्तव ने सभी को धन्यवाद देते हुए माघ मेला 2021 को सफल बनाने का आहवाहन किया। समारोह में लक्ष्मी कांत मिश्रा, भावना त्रिपाठी, कुलदीप धर, अशोक सिंह, पीपी सिंह, रामराज सिंह, राजेश कुमार, अनंत अग्रवाल, विशाल श्रीवास्तव, संदीप सोनी, प्रशान्त सिंह आदि ने विशेष सहयोग दिया।

पुलिस ने डकैती के मुकदमे में अपराधी को दबोचा

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। थाना करैली की पुलिस ने डकैती के मुकदमे में वांछित चल रहे अपराधी को दबोचा। पुलिस के अनुशार आरोपी लगभग एक वर्ष से फरार चल रहा था।जो मुखबीर की खास सुचना पर आज अब्दुल बारी मस्जिद के पास ऐ हिरासत में लिया गया। आज दिनांक 19-01-2021को डीआईजी एसएसपी प्रयागराज सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी के निर्देश पर एसपी नगर दिनेश कुमार सिंह व सीओ प्रथम के निर्देशन में अपराध एवं वांछित अपराधियो के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान में मामूर थानाध्यक्ष करैली बृजेश सिंह उ.नि कौशेलन्द्र बहादुर सिंह उ.नि शेर सिंह यादव कास्टेबल योगेश कुमार कास्टेबल धर्मेन्द्र कुमार द्वारा संदिग्ध ब्यक्तियों की चेकिंग कर रह रहे थे।

114 प्रत्याशियों की हार-जीत मतपेटियों में बंद

 बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जिला अधिवक्ता संघ चुनाव के लिए सोमवार को हुए मतदान में कड़ाके की ठंड के बावजूद वकीलों ने जमकर मतदान किया। संघ की 18 सदस्यीय कार्यकारिणी के लिए 4048 सदस्यों में 2930 मतदाताओं ने किया। मतदान का आंकड़ा करीब 72 प्रतिशत रहा। चुनाव मैदान में कुल 114 प्रत्याशी हैं।जिनके भाग्य मतपेटियों में बंद हो गए हैं। मतगणना मंगलवार सुबह नौ बजे से कलेक्ट्रेट स्थित संगम सभागार में होगी। देर शाम तक परिणाम आ जाने की उम्मीद है। मतदान के दौरान अव्यवस्था के चलते एल्डर कमेटी के सदस्य सहित मतदान में सहयोग कर रहे लगभग 70 अधिवक्ता मतदान करने से वंचित रह गए।  मतदान लगभग साढ़े चार बजे समाप्त करने की घोषणा की गई और मत पेटिका कड़ी सुरक्षा में कोषागार स्थित स्ट्रांग रूम में रखी गई है।

प्रयागराज: गूगल मीट के माध्यम से समीक्षा बैठक

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। प्रेम प्रकाश ने अपने कैंप कार्यालय पर गूगल मीट के माध्यम से विन्दुवार समीक्षा करते हुए पूर्व में दिए गए निर्देशों के क्रम में क्या कार्यवाही की गयी। उसके सम्बन्ध में  समीक्षा निम्न लिखित विदुओ पर किये।  महिला अपराध (थानावार/ सर्किलवार) अनसूचित जाति/जनजाति उत्पीडन संबंधित अपराध... थानावार लंबित विवेचना की समीक्षा क्षेत्राधिकारी के पास  लंबित  विवेचना एवं उन अभियोगो के वांछित अपराधियों के विरुद्ध की गई कार्यवाही समीक्षा की। आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश के स्तर से निर्गत परिपत्र संख्या 27/ 2020 के अनुपालन समीक्षा की। पुरस्कारघोषितअपराधियों के विरुद्ध कार्यवाही की समीक्षा की गई।
व कानून व्यवस्था एवं अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर प्रयागराज जोन के सभीसर्किल के क्षेत्राधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर निर्देशित किया गया।

वितरण कार्यक्रम का एनआईसी में किया प्रसारण

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मंगलवार को लखनऊ में आयोजित राजकीय माध्यमिक विद्यालय में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित प्रवक्ताओं/सहायक अध्यापकों के पदस्थापन एवं नियुक्ति पत्रों का आनलाइन वितरण किया गया। प्रयागराज में मुख्यमंत्री  के कार्यक्रम का वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से एनआईसी में सजीव प्रसारण किया गया। कार्यक्रम में सांसद इलाहाबाद श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी, सांसद फूलपुर श्रीमती केशरीदेवी पटेल, विधायक फूलपुर- प्रवीण कुमार पटेल, विधायक शहर उत्तरी श्री हर्षवर्धन वाजपेयी, विधायक कोरांव श्री राजमणि कौल एवं मुख्य विकास अधिकारी श्री आशीष कुमार, सचिव माध्यिक शिक्षा-श्री दिव्य कांत शुक्ल, जिला विधालय निरीक्षक श्री आर0एन0 विश्वकर्मा सहित चयनित लाभार्थीगण मौजूद रहे। जनपद में कुल 47  प्रवक्ताओं/सहायक अध्यापकों(एल0टी0गे्रड) का चयन हुआ है। जिनमें से आज उपस्थित 32 लोगों को नियुक्ति पत्र सांसदगण एवं  विधायकगणों के द्वारा चयनित लाभार्थिंयों को नियुक्ति पत्र का वितरण किया गया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. प्रभाकर त्रिपाठी द्वारा किया गया।

नकली शराब बनाने वालें का पर्दाफाश, 2 अरेस्ट

अतुल त्यागी 
हापुड़। नकली शराब से जनता की जान जाने की घटनाएं सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस हाई अलर्ट पर है। जिसके चलते हापुड़ जनपद की गढ़ मुक्तेश्वर पुलिस को नकली शराब बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने में बड़ी सफलता मिली है। दरअसल, जनपद में पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अपराधियों व बदमाशों की धरपकड़ के लिए सघन अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत मंगलवार को थाना गढ़मुक्तेश्वर पुलिस को मुखबिर से नकली शराब बनाने की जानकारी मिली। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने एनएच 09 के पास ग्राम सिखेड़ा से नकली शराब बनाने और तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर दिया। इस दौरान पुलिस ने  सिर्फ दो अभियुक्त कपिल और सुनील को दबोच लिया बल्कि उनके कब्जे से 216 बोतल नकली अंग्रेजी शराब ओल्ड मोंक, ट्रिपल एक्स रम तथा 223 बोतल देसी शराब एवं एक सेंट्रो कार बरामद की है। पुलिस के अनुसार अभियुक्तों ने बताया कि नकली शराब के कारोबार में उनके साथ फरीदाबाद और सोनीपत में रहने वाले दो अन्य साथी भी शामिल हैं। जो नकली रैपर छाप कर बोतलों पर चिपकाते हैं और उनमें नकली शराब भरकर असली शराब के रूप में बेचते हैं। पुलिस की यह बड़ी सफलता मानी जा रही है।

तीनों कृषि कानून खेती को बर्बाद कर देंगे: राहुल

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर मंगलवार को एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि तीनों कृषि कानून खेती को बर्बाद कर देंगे, मैं इनका विरोध करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि पूरा देश खिलाफ हो जाए, मैं फिर भी सही के लिए लड़ता रहूंगा। मैं नरेंद्र मोदी या बीजेपी से नहीं डरता हूं। राहुल गांधी ने दावा किया कि कृषि क्षेत्र पर तीन-चार पूंजीपतियों का एकाधिकार हो जाएगा जिसकी कीमत मध्यम वर्ग और युवाओं को चुकानी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार की कोशिशों के बावजूद किसान थकने वाले नहीं हैं क्योंकि ”वे प्रधानमंत्री से ज्यादा समझदार हैं।” राहुल गांधी ने ‘किसानों की पीड़ा’ पर ‘खेती का खून’ शीर्षक से एक पुस्तिका जारी की। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ”देश में एक त्रासदी पैदा हो रही है। सरकार इस त्रासदी को नजरअंदाज करना चाहती है और लोगों को गुमराह करना चाहती है। किसानों का संकट इस त्रासदी का एक हिस्सा मात्र है।” कांग्रेस नेता ने दावा किया, ”हवाई अड्डों, बुनियादी ढांचे, दूरसंचार, रिटेल और दूसरे क्षेत्र में हम देख रहे हैं कि बड़े पैमाने पर एकाधिकार स्थापित हो गया है। तीन-चार पूंजीपतियों का एकाधिकार है। ये तीन-चार लोग ही प्रधानमंत्री के करीबी हैं और उनकी मदद करते हैं।” उन्होंने आरोप लगाया कि कृषि क्षेत्र अब तक एकाधिकार से अछूता था, लेकिन अब इसे भी निशाना बनाया जा रहा है। ये तीनों कानूनों इसीलिए लाए गए हैं।राहुल गांधी ने कहा, ”नतीजा यह होगा कि तीन-चार लोग पूरे देश के मालिक बन जाएंगे। किसानों को उनकी उपज की वाजिब कीमत नहीं मिलेगी। बाद में मध्यम वर्ग को इसकी वो कीमत अदा करनी होगी, जिसकी उसने कल्पना भी नहीं की होगी।” उन्होंने आरोप लगाया, ”ये कानून सिर्फ किसानों पर हमला नहीं हैं, बल्कि मध्यम वर्ग और युवाओं पर हमला है। युवाओं से कहना चाहता हूं कि आपकी आजादी छीनी जा रही है।” कांग्रेस नेता के मुताबिक, पंजाब और हरियाणा के किसान इस देश के रक्षक हैं। वे कृषि क्षेत्र को कुछ लोगों के हाथ में जाने से रोकने के लिए लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा, ”सरकार को लगता है कि किसानों को थकाया जा सकता है और उनको बेवकूफ बनाया जा सकता है। किसान प्रधानमंत्री से ज्यादा होशियार हैं। समाधान एक ही होगा कि तीनों कानूनों को वापस लेना होगा।”

बागेश्वर में टीकाकरण कार्य सफलतापूर्वक शुरू

बागेश्वर। जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन का कार्य जिलाधिकारी विनीत कुमार के कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में आज तीसरे दिन का टीकाकरण कार्य सफलतापूर्वक शुरू किया गया। जिसमें सीएमओ कार्यालय में बनाये गए वैक्सिनेशन सेंटर में आज तीसरे दिन स्वास्थ कर्मचारियों एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का वैक्सीन टीकाकरण किया जा रहा है। जिसमें अब तक 26 लोगों द्वारा अपना पंजीकरण किया गया है, जिसमें से 15 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। जिला चिकित्सालय में बनाये गए वैक्सिनेशन सेंटर में 39 लोगों द्वारा पंजीकरण किया गया है जिसमें से 35 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।टीकाकरण के लिए स्वास्थ कर्मचारियों एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों में भारी उत्साह दिख रहा है जो टीकाकरण के लिए वेटिंग रूम में अपनी बारी का इंतजार कर रहे है। टीकाकरण के लिए जिला प्रशासन की ओर से सभी व्यवस्थायें चाकचौबंद की गयी है।

3 महीने से सफाई कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन

पंतनगर। विश्वविद्यालय में तीन महीने से सफाई कर्मचारियों का वेतन ना मिलने के कारण पाई पाई को तरस रहे सफाई कर्मचारी आज झाड़ुओं के साथ विवि के गेट पर जमा हुए और जोरदार नारेबाजी की। कुछ देर बाद विवि के कुलपति तेज प्रताप उनसे मिलने गेट पर आए और उनकी समस्या सुनीं। उन्होंने सफाई कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि आज शाम तक उन्हें उनका वेतन दे दिया जाएगा। इससे पूर्व कल कर्मचारियों के प्रतिनिधि और अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश चंद, प्रेमचंद, सुरेंद्र बाल्मीकि, मुनीश बाल्मीकि, सुनील बाल्मीकि, राजेश बाल्मीकि, महेश बाल्मीकि एवं विनोद बाल्मीकि समस्त कर्मचारियों ने निदेशक प्रशासन एवं अनुश्रवण से वार्ता की थी। जिसमें निदेशक प्रशासन एवं अनुश्रवण द्वारा तुरंत वेतन देने का आश्वाशन दिया गया, परन्तु आज सुबह जब कर्मचारियों ने देखा कि ठेकेदार द्वारा वेतन देने की कोई कारवाही नहीं की गई है। तो उन्होंने विवि के गेट पर ही नारेबाजी शुरू कर दी। आज सुबह लगभग साढ़े नौ बजे अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के बैनर तले पन्तनगर विश्वविद्यालय में कार्यरत सफाई कर्मचारियों ने शीघ्र वेतन दिए जाने की मांग को लेकर जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी। कर्मचारी अपने साथ झाड़ू भी लाए थे। उनका कहना था कि वेतन न मिलने के कारण उन्हें सामने आर्थिक परेशानी की वजह से परिवार का भरण पोषण करने में दिक्कत आ रही है। सफाई मज़दूर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुरेन्द्र तेश्वर ने विश्वविद्यालय के अधिकारियों कहा कि यदि इनको एक माह भी वेतन न मिले तो इनके घर का बजट बिगड़ जाता है लेकिन इन गरीबो की चिंता अधिकारियों को बिल्कुल नहीं है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि शीघ्र विश्वविद्यालय के सफाई कर्मियों को वेतन न मिला तो प्रदेश संगठन भी पन्तनगर शाखा के साथ आंदोलन में भागीदारी करने पर विवश होगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी।

तमिलनाडु: शांता का निधन, पीएम ने जताया शोक

चेन्नई। कैंसर इलाज के क्षेत्र में देश और दुनिया की जानी मानी विशेषज्ञ डॉ. वी शांता का आज मंगलवार (19 जनवरी) सुबह चेन्नई में निधन हो गया। डॉ. वी शांता 94 साल की थीं और शांता को सांस लेने में परेशानी थी इसके बाद उन्हें चेन्नई के अपोलो अस्पताल में ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। डॉ. वी शांता देश के उन डॉक्टरों में शामिल थीं जिन्होंने कैंसर के इलाज को आम आदमी के लिए सुलभ कराया, उन्होंने कैंसर के क्षेत्र में गहन रिसर्च किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉ वी शांता के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “डॉक्टर वी शांता को कैंसर रोगियों की देखभाल करने सुनिश्चित करने में उनके उत्कृष्ट प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। चेन्नई के अदयार में स्थित कैंसर संस्थान गरीबों और दलितों की सेवा करने में सबसे आगे है। मुझे 2018 में संस्थान की अपनी यात्रा याद है। डॉ. वी शांता के निधन से दुखी हूं, ओम शांति।” वहीं वित्त मंत्री डॉ निर्मला सीतारमण ने दुख जताते हुए कहा कि अदयार कैंसर संस्थान की चेयरपर्सन डॉ. वी शांता अब नहीं रहीं। हमेशा गरीबों और जरूरतमंदों की सेवा में वह आगे रहीं। वह अस्पताल परिसर के भीतर ही एक कमरे में रहती थीं, कैंसर रोगियों का इलाज उनका एकमात्र लक्ष्य होता था। वह एक संत समान थीं, अब हमारे बीच नहीं रहीं। उन्हें हाथ जोड़कर नमन। डॉ. शांता का जन्म 11 मार्च 1927 को चेन्नई में हुआ था। नेशनल गर्ल्स हाई स्कूल से प्राथमिक शिक्षा हासिल करने के बाद वह मेडिसीन के क्षेत्र में आईं और इसी क्षेत्र में जीवन पर्यन्त रहीं। उन्होंने 1940 में एमबीबीएस की डिग्री ली, 1952 में डीजीओ बनी फिर 1955 में गायनीकोलॉजी में एमडी की डिग्री हासिल कीं।

हनुमान को मंगल ग्रह का नियंत्रक कहा गया हैं

रायपुर। भगवान हनुमान का जन्म मंगलवार के दिन हुआ था। यही कारण है, कि हनुमान को मंगल ग्रह का नियंत्रक भी कहा गया है। हनुमान की पूजा अर्चना से व्यक्ति के सारे संकट दूर हो जाते हैं। साथ ही वे भक्त जो सच्चे मन से पाठ करता है। वह हमेशा हर आपदा से सुरक्षित रहता है। मंगलवार को हनुमान जी की पूजा करने से साहस, आत्मविश्वास और शक्ति का वरदान भी प्राप्त होता है। साथ ही मंगलवार के दिन व्रत और 100 बार हनुमान चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति को कर्जे से मुक्ति मिलती है।

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के लिए कसी कमर

रायपुर/ गुवाहाटी। असम विधानसभा चुनाव की तैयारी जोरो-शोरो से शुरू हो चुकी है। सभी पार्टियां अपनी तैयारियों में जुट गई है। विगत दिनों गृहमंत्री अमित शाह भी असम दौरे पर थे। कांग्रेस ने भी असम विधानसभा चुनाव के लिए अपनी कमर कस ली है। पार्टी ने सभी प्रमुख चेहरों को ग्राऊंड पर उतार दिया है। मंगलवार को विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर पूरे नॉर्थ ईस्ट के दूसरे दौर की महत्वपूर्ण बैठक शुरू हो चुकी है। इस बैठक में समन्वयक व छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मुकुल वासनिक, सकील अहमद खान, प्रभारी महासचिव जितेंद्र सिंह, प्रभारी सचिव विकास उपाध्याय, पृथ्वीराज साठे व असम कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन वोरा के साथ ही मेघालय, अरुणाचल, त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर और नागालैंड के सभी 7 प्रदेश अध्यक्ष एवं इन प्रदेशों के पूर्व मुख्यमंत्री सम्मिलित हैं।

भारत की ब्रिसबेन में हुई जीत, 2-1 से जीती सीरीज

भारत की ब्रिस्बेन में ऐतिहासिक जीत, 2-1 से जीती सीरीज

सिडनी। युवा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (91), टीम इंडिया की दीवार चेतेश्वर पुजारा (56) और प्रतिभाशाली विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत (नाबाद 89) की करिश्माई बल्लेबाजी से भारत ने ब्रिस्बेन के गाबा मैदान में ऑस्ट्रेलिया को चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के पांचवें दिन मंगलवार को तीन विकेट से हराकर नया इतिहास रच दिया। भारत ने पहली बार ब्रिस्बेन में टेस्ट जीत हासिल की और चार मैचों की सीरीज को 2-1 से जीत लिया। भारत को इस मुकाबले को जीतने के लिए 328 रन का लक्ष्य मिला था।
भारत ने सुबह जब बिना कोई विकेट खोए चार रन से अपनी पारी को आगे बढ़ाया तो किसी को उम्मीद नहीं थी कि भारत चौथी पारी में इतने मुश्किल लक्ष्य को हासिल कर लेगा। भारतीय बल्लेबाजों ने आखिर में करिश्मा कर दिखाया जिसका करोड़ों देशवासियों को इंतजार था। भारत ने 97 ओवर में सात विकेट पर 329 रन बनाकर ऐतिसाहिक जीत दर्ज की।
भारत की गाबा मैदान में सात टेस्ट मैचों में यह पहली जीत है। भारत ने इस मैदान पर अपने पिछले छह टेस्ट मैचों में पांच हारे थे और एक ड्रॉ खेला था। गाबा मैदान में भारत की ऐतिहासिक जीत के तीन बड़े हीरो रहे। शुभमन, पुजारा और पंत ने मैच के अंतिम दिन ऐसी बल्लेबाजी की जिसे लंबे समय तक याद रखा जाएगा।
शुभमन ने 146 गेंदों में आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से 91 रन की पारी खेली जिसने भारत को जीत का आधार दिया। पुजारा ने चट्टान की तरह एक छोर संभाल कर खेलते हुए 211 गेंदों में सात चौकों के सहारे 56 रन बनाए। पुजारा की इस पारी ने भी टीम इंडिया को मजबूती प्रदान की और पंत ने 138 गेंदों में नौ चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 89 रन बनाकर मुकाबले में भारत की जीत की मुहर लगा दी।
कप्तान अजिंक्या रहाणे ने 24, मयंक अग्रवाल ने नौ रन और वाशिंगटन सुंदर ने 29 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के के सहारे 22 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया अपनी पूरी ताकत के साथ गेंदबाजी करने के बावजूद टीम इंडिया के हौंसलों को नहीं डगमगा पाया और भारत ने 2-1 की जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया दौरा समाप्त किया। भारत ने इस दौरे में वनडे सीरीज 1-2 से गंवायी लेकिन फिर वापसी करते हुए टी-20 सीरीज 2-1 से और टेस्ट सीरीज 2-1 से जीत ली।

अपकमिंग फिल्म की शूटिंग में बिजी है आलिया

मुंबई। एक्ट्रेस आलिया भट्ट बीते काफी वक्त से अपनी अपकमिंग फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी की शूटिंग में बिजी हैं। हाल ही में फिल्म की शूटिंग के दौरान आलिया की तबीयत बिगड़ गई जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। हालांकि कुछ ही वक्त में जब वह बेहतर महसूस करने लगीं तो उन्हें डिसचार्ज कर दिया गया। फिक्र की कोई बात नहीं है। लेकिन आलिया को हॉस्पिटल ले जाया जाना उनकी सुरक्षा के लिहाज के किया गया। संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बन रही इस फिल्म के पोस्टर और फिल्म से आलिया का लुक पहले ही रिलीज किया जा चुका है और अब फैन्स को फिल्म के ट्रेलर का इंतजार है।

राजकुमार हिरानी की फिल्म में काम करेगी तापसी

राजकुमार हिरानी की फिल्म में शाहरुख के साथ काम करेंगी तापसी
 कविता गर्ग
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू राजकुमार हिरानी की फिल्म में शाहरुख खान के साथ काम करती नजर आ सकती हैं। बॉलीवुड में चर्चा है। कि शाहरुख खान ने एक फिल्म के लिए राजकुमार हिरानी से हाथ मिलाया है। कहा जा रहा है कि फिल्म इस साल के अंत में फ्लोर पर जाएगी।
इस फिल्म में शाहरुख खान के साथ तापसी पन्नू स्क्रीन स्पेस शेयर करती दिखाई देंगी। इस फिल्म से पहले तापसी पन्नू, शाहरुख खान की रेड चिलीज एंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी फिल्म ‘बदला’ में काम कर चुकी है। फिल्म में तापसी के साथ लीड रोल में अमिताभ बच्चन नजर आए थे। तापसी पन्नू इन दिनों रश्मि रॉकेट, हसीन दिलरुबा, शाबाश मिठू और लूप लापेटा जैसी फिल्मों में काम कर रही है।

मुंबई: एक्ट्रेस खुशी करने जा रही बॉलीवुड में डेब्यू

श्रीदेवी की बेटी खुशी कपूर करने जा रही हैं बॉलीवुड में डेब्यू, जानिए पूरी खबर
  कविता गर्ग
मुंबई। बॉलीवुड की दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी और फिल्मकार बोनी कपूर की छोटी बेटी खुशी कपूर बॉलीवुड में जल्द ही डेब्यू कर सकती हैं। बोनी कपूर और श्रीदेवी की बेटी जान्हवी कपूर ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत कर ली है। अब श्रीदेवी-बोनी कपूर की छोटी बेटी खुशी कपूर के बॉलीवुड में एंट्री को लेकर चर्चा हो रही है। खुशी पहले से ही सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव हैं। खुशी बहुत जल्द बॉलीवुड में कदम रखने जा रही हैं। बोनी कपूर से जब इस बारे में पूछा गया तब उन्होंने कहा कि ‘हां, खुशी भी ऐक्टिंग करना चाहती हैं और आप जल्द ही कोई अनाउंसमेंट सुन सकते हैं।’ बोनी कपूर ने स्पष्ट किया है। कि वह उन्हें ल़ॉन्च नहीं कर रहे। बोनी कपूर ने बताया कि वह खुशी को ल़ॉन्च नहीं कर रहे। उन्होंने कहा मेरे पास रिसोर्सेस हैं। लेकिन मैं चाहता हूं कि इन्हें कोई और ल़ॉन्च करे, वर्ना पक्षपात वाला रवैया आ जाता है। आप बतौर फिल्ममेकर इसे अफोर्ड नहीं कर सकते और न ही एक ऐक्टर के लिए यह अच्छा है।

ऑस्ट्रेलिया ओपन के लिए पहुंचे 2 खिलाड़ी संक्रमित

ऑस्ट्रेलिया ओपन के लिए पहुंचे दो खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव

सिडनी। साल के पहले ग्रैंडस्लैम ऑस्ट्रेलियाई ओपन के लिए यहां पहुंचे दो खिलाड़ी कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये। इन खिलाड़ियों के बारे में हालांकि कोई जानकारी नहीं दी गई है। वायरस से जुड़े नौ मामलों के कारण 72 खिलाड़ी यहां पहुंचने के बाद पहले से कड़े पृथकवास में है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार हालांकि ऐसा कोई संकेत नहीं दिया कि इस वायरस से प्रभावित होने वाले खिलाड़ियों की संख्या में कोई बढ़ोतरी हो सकती है। टेनिस ऑस्ट्रेलिया के प्रवक्ता ने कड़े पृथकवास में चल रहे है। 72 खिलाड़ियों की सूची प्रदान करने से इनकार कर दिया। कई खिलाड़ियों ने हालांकि सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से अपनी स्थिति के बारे में बताया। अगले महीने आठ फरवरी को शुरू होने वाले इस टूर्नामेंट के लिए 1200 से ज्यादा लोग यहां पहुंचे है। जिसमें खिलाड़ियों और कोचों के अलावा अधिकारी और मीडिया के लोग शामिल है। ये सभी 17 चार्टर्ड विमान से यहा पहुंचे हैं।

प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 15 की मौत

 फुटपाथ पर सो रहे प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 15 की मौत, पीएम मोदी ने की मुआवजे की घोषणा
सूरत। गुजरात के सूरत जिले में मंगलवार को सड़क किनारे सो रहे राजस्थान के 15 प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचल दिया और सभी की मौत हो गयी। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार यह दर्दनाक वाकया सूरत से करीब 60 किलोमीटर दूर कोसांबा गांव के पास हुआ। उन्होंने बताया कि गन्ने से भरे एक ट्रैक्टर से टक्कर के बाद ट्रक चालक वाहन से नियंत्रण खो बैठा। ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है।
सूरत की पुलिस अधीक्षक (एसपी) उषा राडा ने बताया कि ट्रक ने तड़के किम-मांडवी रोड के किनारे सो रहे मजदूरों को कुचल दिया। एसपी ने बताया कि ट्रक किम से मांडवी जा रहा था। दूसरी ओर से आ रहे गन्ने से लदे एक ट्रैक्टर से टक्कर के बाद ड्राइवर वाहन पर नियंत्रण खो बैठा।
उन्होंने बताया कि घटना में ट्रक के आगे की खिड़की का शीशा पूरी तरह चकनाचूर हो गया जिससे ड्राइवर देख नहीं पाया। टक्कर के प्रभाव से ट्रक सड़क के दूसरी ओर पहुंच गया और सड़क किनारे सो रहे मजदूर उसकी चपेट में आ गए। मारे गये सभी प्रवासी मजदूर राजस्थान से थे। ो निर्माण कार्य करते थे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हादसे में घायल हुए तीन लोगों का पास के अस्पताल में इलाज चल रहा है।
इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताते हुए प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक ट्वीट में कहा गया, ‘‘सूरत में ट्रक हादसे में हुई मौतें दुखद हैं। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर शोक जताया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने लिखा कि इस हादसे में मारे गए कई मजदूर राजस्थान के बांसवाड़ा से हैं।
वहीं केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने बताया कि वह अधिकारियों के संपर्क में हैं। शेखावत ने ट्वीट किया, ‘‘गुजरात में हुआ दर्दनाक सड़क हादसा दुःखद है। इसमें राजस्थान के निवासी भी मारे गए हैं। मृतकों व घायलों के परिजन की सुविधा हेतु लगातार अधिकारियों के संपर्क में हूं। गुजरात के मुख्यमंत्री जी से पर्याप्त सहायता देने का निवेदन है।

कुमाऊं मंडल में कांग्रेस की नई कमेटी का गठन

गुरदेव सिंह विर्क बने उत्तराखंड प्रदेश किसान कांग्रेस कमेटी के कुमाऊं मंडल उपाध्यक्ष।
सितारगंज।  उत्तराखंड प्रदेश किसान कांग्रेस कमेटी ने कार्यकारिणी का विस्तार करते हुए गुरदेव सिंह विर्क को उत्तराखंड प्रदेश किसान कांग्रेस कमेटी में कुमाऊं मंडल उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी है। इस दौरान उत्तराखंड प्रदेश किसान कांग्रेस कमेटी के नवनियुक्त कुमाऊं मंडल उपाध्यक्ष गुरुदेव सिंह विर्क ने कहा कि उत्तराखंड प्रदेश किसान कांग्रेस कमेटी के लिए वह पूरी ईमानदारी, निष्ठा और लगन से कार्य करते रहेंगे। साथ ही कहा कि किसान कांग्रेस के साथ ही उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी को और अधिक मजबूती प्रदान करने के लिए क्षेत्र में पूरी तरह सक्रिय रहकर कार्य करते रहेंगे।

लगातार दूसरे दिन पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी

फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें नई कीमतें
रोशन कुमार  
नई दिल्ली। देश में पेट्रोल और डीजल के दाम मंगलवार को लगातार दूसरे दिन बढ़े और दिल्ली में इसकी कीमत पहली बार 85 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गई। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल आज 25 पैसे महँगा होकर 85.20 रुपये प्रति लीटर हो गया।
मुंबई में यह 24 पैसे महँगा होकर 91.80 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुँच गया। चेन्नई में 22 पैसे चढ़कर 87.85 रुपये और कोलकाता में 24 पैसे चढ़कर 86.63 रुपये प्रति लीटर के भाव बिका। चारों महानगरों में इसकी कीमत रिकॉर्ड स्तर पर है। डीजल की कीमत दिल्ली में 25 पैसे बढ़कर 75.38 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गयी जो 30 जुलाई 2020 के बाद का रिकॉर्ड स्तर है। मुंबई में डीजल 26 पैसे चेन्नई में 24 पैसे और कोलकाता में 25 पैसे महँगा हुआ। एक लीटर डीजल मुंबई में 82.13 रुपये, चेन्नई में 80.67 रुपये और कोलकाता में 78.97 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया जो तीनों महानगरों में अब तक का रिकॉर्ड उच्च भाव है।

टीम ने पिछड़ने के बाद चिली को 4-2 से हराया

भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम ने पिछड़ने के बाद चिली को 4-2 से हराया
सैंटियागो। भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम ने पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए आखिरी नौ मिनट में तीन गोल कर यहां चिली को 4-2 से शिकस्त दी। भारत की जीत में गगनदीप (51वें और 59वें मिनट) के दो गोल के अलावा मुमताज (21वें मिनट) और संगीता कुमारी (53वें मिनट) का योगदान रहा। चिली के लिए अमंडा मर्टिनेज (चौथे मिनट) डोमिंगा लुडेर्स (41वें मिनट) ने भी एक-एक गोल किया। चिली को मार्टिनेज के मैच के चौथे मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोलकर बढ़त दिला दी। भारतीय टीम ने भी जवाबी हमला जारी रखा जिसे 21वें मिनट में पहजी सफलता मिली। मुम्ताज ने शानदार मैदानी गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। इसके बाद मध्यांतर तक दोनों टीमें गोल करने में नाकाम रही। तीसरे क्वार्टर में चिली ने आक्रामक रूख अपनाया और 31वें मिनट में टीम को पेनल्टी कार्नर मिला। भारतीय टीम ने हालांकि बढ़त लेने की उनकी कोशिश को नाकाम कर दिया। मैच के 41 मिनट में हालांकि डोमिंगा ने चिली की बढ़त को 2-1 कर दी। भारतीय टीम ने हालांकि आखिरी क्वार्टर में शानदार खेल का प्रदर्शन कर मैच को अपने नाम कर लिया।

सात माह बाद वायरस के सबसे कम नए मामले

भारत में सात माह बाद कोरोना वायरस के सबसे कम 10,064 नए मामले
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। भारत में बीते सात महीने से अधिक समय में कोरोना वायरस के एक दिन में सबसे कम 10,064 नए मामले सामने आए, जिसके साथ संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,05,81,837 पर पहुंच गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक मंगलवार को संक्रमण मुक्त होने वाले लोगों की कुल संख्या 1,02,28,753 हो गई।
मंत्रालय द्वारा जारी सुबह आठ बजे के अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में 137 लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 1,52,556 पर पहुंच गई। संक्रमण से एक दिन में मरने वालों की संख्या भी बीते करीब आठ महीने में सबसे कम है। इसमें बताया गया कि संक्रमणमुक्त होने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ी है। और यह 1,02,28,753 है। इसके साथ ठीक होने वालों की राष्ट्रीय दर 96.66 फीसदी हो गई है। वहीं, संक्रमण से मृत्यु दर 1.44 फीसदी है। देश में कोविड-19 का इलाज करा रहे लोगों की संख्या तीन लाख से कम बनी हुई है। वर्तमान में 2,00,528 संक्रमितों का इलाज चल रहा है जो संक्रमण के कुल मामलों का 1.90 फीसदी है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी।
वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख के पार, 28 सितम्बर को 60 लाख के पार, 11 अक्टूबर को 70 लाख से अधिक, 29 अक्टूबर को 80 लाख से अधिक और 20 नवम्बर को 90 लाख से अधिक हो गए थे। कुल मामले 19 दिसम्बर को एक करोड़ से अधिक हो गए थे।
भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में 18 जनवरी तक कुल 18,78,02,827 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई। उनमें से 7,09,791नमूनों की जांच सोमवार को की गई। जिन 137 लोगों की संक्रमण के कारण मौत हुई उनमें से 35 महाराष्ट्र से, 17 केरल से, 10 पश्चिम बंगाल से, नौ कर्नाटक से, आठ-आठ संक्रमित दिल्ली और तमिलनाडु से हैं।
अब तक देश में कुल 1,52,556 लोगों की मौत हुई है जिनमें से 50,473 महाराष्ट्र से, 12,272 तमिलनाडु से, 12,175 कर्नाटक से, 10,754 दिल्ली से, 10,063 पश्चिम बंगाल से, 8,580 उत्तर प्रदेश से, 7,141 आंध्र प्रदेश से और 5,509 मृतक पंजाब से हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की मौत हुई, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं। मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का आईसीएमआर के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है।

दुनिया: संक्रमण से 20.39 लाख से अधिक मौत

विश्व में कोरोना संक्रमण से 20.39 लाख से अधिक लोगाें की मौत
वाशिंगटन/रियो डि जेनेरो/नई दिल्ली। विश्व में जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा और अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 20 लाख 39 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि साढ़े नौ करोड़ से अधिक लोग इससे प्रभावित हुए हैं।
अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक विश्व के 191 देशों में कोरोना वायरस से अभी तक 20 लाख 39 हजार 239 लोगों की मौत हो चुकी है और नौ करोड़ 55 लाख 30 हजार 563 लोग संक्रमित हुए हैं तथा पांच करोड़ 25 लाख 97 हजार 341 इस महामारी के संक्रमण से निजात पा चुके हैं। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 2.40 करोड़ के पार हो चुकी है है, जबकि करीब 3.98 लाख से अधिक मरीजों की मौत हुई है। भारत में संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ पांच लाख 81 हजार 837 तक पहुंच गया है। कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या एक करोड़ दो लाख 28 हजार 753 हो गयी है जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,52,556 तक पहुंच गया है । ब्राजील में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 85.11 लाख के पार हो गयी है। जबकि इस महामारी से 2.10 लाख से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 35.52 लाख से अधिक हो गयी है। जबकि 65,059 लोगों की मौत हो गई है।
ब्रिटेन में 34.43 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। और 90,031 लोगों की मौत हुई है। फ्रांस में करीब 29.72 लाख से अधिक लोग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं। और 70,826 मरीजों की मौत हाे चुकी है। तुर्की में कोविड-19 से अब तक करीब 23.93 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। तथा 24,161 लाेग काल के गाल में समा गए हैं। इटली में अब तक 23.90 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं और 82,554 लोगों की मौत हो चुकी है।
स्पेन में इस महामारी से अब तक 23.36 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं। तथा 53,7694 लोगों की मौत हुई है। जर्मनी में इस वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 20.59 लाख के पार पहुंच गयी है। तथा 47,263 लोगों की मौत हुई है। कोलंबिया में इस जानलेवा वायरस से अब तक 19.23 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। तथा 49,004 लोगों ने जान गंवाई है। अर्जेंटीना में कोविड-19 से 18.07 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। तथा 45,832 लोगों की मौत हो चुकी है।
मेक्सिको में कोरोना से करीब 16.41 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 1,40,704 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। पोलैंड में संक्रमण के करीब 14.39 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। तथा 33,407 लोगों की मौत हो गई है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना से संक्रमित के मामले करीब 13.47 लाख तक पहुंच गयी है। और तथा 37,449 लोग काल के गाल में समा गए हैं। ईरान में इस महामारी से अब तक करीब 13.36 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा 56,886 लोगों की मौत हो गई है।
यूक्रेन में 12.01 लाख से ज्यादा लाेग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं। जबकि 21,847 लोगों की मौत हो चुकी है। पेरू में इस वायरस से अब तक 10.60 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। और 38,770 लोगों की मौत हो चुकी है। नीदरलैंड में कोरोना से 9.30 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। तथा 13,157 लोगों की मौत हुई है। इंडोनेशिया में कोरोना से 9.17 लाख से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं। और मृतकों का आंकड़ा 26,282 तक पहुंच गया है।
चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 8.91 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। तथा 14,449 लोगों की मौत हुई है। कनाडा में अब तक 7.19 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि 18,130 लोगों की मौत हुई है। रोमानिया में कोरोना से 6.95 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 17,271 लोगाें की मौत हो चुकी है। बेल्जियम में 6.78 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 20,435 लोगाें की मौत हो चुकी है। चिली में कोविड-19 से 6.73 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं तथा 17,547 लोगों ने जान गंवाई है।
इराक में संक्रमितों की संख्या 6.09 लाख के पार हो गई है। और मृतकों का आंकड़ा 12,953 तक पहुंच गया है। इजरायल ने संक्रमितों के मामले में पुर्तगाल को पीछे छोड़ दिया है और यहां इस महामारी से 5.58 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। और 4,044 लोगों की जान जा चुकी है। बंगलादेश में कोरोना में 5.28 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। जबकि 7,992 लोगों की मौत हो चुकी हैं। स्वीडन में इस महामारी से 5.23 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। तथा 10,323 लोगों की मौत हुई है।
पाकिस्तान में कोरोना से अब तक करीब 5.21 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 11,055 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलीपींस में 5.02 लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं तथा 9,909 लोगों की मौत हो चुकी है। स्विट्ज़रलैंड में इस महामारी से करीब पांच लाख लोग प्रभावित हुए हैं। और 8,792 लोगों की मौत हो चुकी है।
मोरक्को में इस महामारी से 4.60 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 7,977 लोगों की जान जा चुकी है। ऑस्ट्रिया में कोरोना से 3.94 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। जबकि 7,122 लोगों की मौत हो चुकी हैं। सऊदी अरब में कोरोना से करीब 3.74 लाख लोग संक्रमित हुए हैं। जबकि 6,329 लोगों की मौत हो चुकी हैं। कोरोना वायरस से इक्वाडोर में 14,322, बोलीविया में 9,680, मिस्र में 8,638, ग्वाटेमाला में 5,278 तथा चीन में 4,798 लोगों की मौत हो चुकी है।

ऐलान: जीत के बाद बीसीसीआई ने खोला खजाना

नई दिल्ली/ सिडनी। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारतीय क्रिकेट टीम को आस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 से जीत के साथ बोर्डर-गावस्कर ट्राफी बरकरार रखने के लिये पांच करोड़ रुपये बोनस देने की घोषणा की। भारत ने चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के आखिरी दिन 328 रन का लक्ष्य हासिल करके ब्रिसबेन के गाबा में पिछले 32 साल से चली आ रही आस्ट्रेलियाई बादशाहत खत्म की। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने इसके तुरंत बाद ट्वीट करके भारतीय टीम को बधाई दी और बोनस की घोषणा की। गांगुली ने ट्वीट किया, ”उल्लेखनीय जीत। आस्ट्रेलिया जाकर इस तरह से टेस्ट श्रृंखला में जीत दर्ज करना भारतीय क्रिकेट के इतिहास में हमेशा याद रखी जाएगी। बीसीसीआई ने भारतीय टीम के लिये पांच करोड़ रुपये बोनस की घोषणा की है। यह जीत किसी भी संख्या से बढ़कर है। टीम का प्रत्येक सदस्य बधाई का पात्र है।”

ट्रंप ने यूरोप व ब्राजील से यात्रा प्रतिबंध हटाए

ट्रंप ने यूरोप और ब्राजील पर से यात्रा प्रतिबंध हटाए
वाशिंगटन। अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश जारी करते हुए यूरापीय देशों और ब्राजील पर से यात्रा प्रतिबंध हटा दिए हैं। ट्रंप प्रशासन ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर यह प्रतिबंध लगाए थे। ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश में कहा कि वह यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, आयरलैंड गणराज्य और ब्राजील पर लागू प्रतिबंधों को हटा रहे हैं।
वहीं चीन और ईरान पर प्रतिबंध जारी रहेंगे। उन्होंने कहा कि रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केन्द्र (सीडीसी) के 12 जनवरी को विदेश से आने वाले सभी यात्रियों के कोविड-19 ना होने की पुष्टि वाली रिपोर्ट या संक्रमण मुक्त होने के दस्तावेजों को पेश करने के निर्देश के बाद इस संबंध में निर्णय किया गया। ट्रंप ने कहा कि यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, आयरलैंड और ब्राजील 12 जनवरी 2021 को जारी किए गए सीडीसी के आदेश के क्रियान्वयन में सहयोग करेगा और यह सुनिश्चित करेंगे कि जांच रिपोर्ट सटीक हों। उन्होंने कहा कि चीन और ईरान के बारे में हालांकि यह नहीं कहा जा सकता।
ट्रंप ने कहा कि अपने क्षेत्रों में वैश्विक महामारी से निपटने के तरीके, पारदर्शिता की कमी और अभी तक वायरस के खिलाफ लड़ाई में उनका अमेरिका के साथ पूरी तरह से सहयोग ना करना, इस बात को लेकर संदेह उत्पन्न करता है कि वे सीडीसी के 12 जनवरी 2021 के आदेश के क्रियान्वयन में सहयोग करेंगे। इस बीच, व्हाइट हाउस की नवनिर्वाचित जेन पाकी ने इस फैसले की आलोचना की है।
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘वैश्विक महामारी की स्थिति के बदतर होने और दुनिया भर में अधिक संक्रामक ‘वेरिएंट’ सामने आने के कारण, यह अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर प्रतिबंध हटाने का समय नहीं है। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन प्रशासन ने हालांकि कड़े यात्रा प्रतिबंध लागू करने के संकेत दिए हैं।
पाकी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘चिकित्सक दल के सुझाव के अनुसार, प्रशासन का 26 जनवरी को यात्रा प्रतिबंध हटाने का कोई इरादा नहीं है। बल्कि, हम कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा के दौरान जन स्वास्थ्य उपायों को और कड़ा करेंगे।

मेलानिया ने की विदाई संबोधन में शांति की अपील

मेलानिया ट्रंप ने विदाई संबोधन में किया शांति बनाए रखने का आह्वान
वाशिंगटन। अमेरिका की निवर्तमान प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प ने अपने विदाई संबोधन में कोरोनो वायरस महामारी से लड़ने के लिए सभी प्रयासों के लिए देश को धन्यवाद दिया और देश के नागरिकों से हिंसा न करते हुए शांति बनाए रखने का आग्रह किया।
मेलानिया ने व्हाइट हाउस में सोमवार को यहां जारी अपने विदाई संदेश में कहा पिछले चार साल अविस्मरणीय रहे हैं। डोनाल्ड और मैंने व्हाइट हाउस में अपना समय व्यतीत किया। मैं उन सभी लोगों के बारे में सोचती हूं जिन्होंने मेरे दिल में घर कर लिया और उनके प्रेम, देशभक्ति और दृढ़ संकल्प की अविश्वसनीय कहानियों को साथ जा रहे हैं। उन्होंने अमेरिकी नागरिकों से आग्रह किया है कि वे महामारी से अपने आप को बचायें। उन्होंने कहा, “दुनिया में कोविड-19 महामारी का सामना जारी है, मैं सभी नर्सों, डॉक्टरों, स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों, विनिर्माण श्रमिकों, ट्रक ड्राइवरों, और कई अन्य लोगों का धन्यवाद करती हूं जिन्होंने लोगों की जान बचाने के लिए निरंतर कार्यरत रहे। अमेरिका में बुधवार को नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन को सत्ता का हस्तांतरण किया जाएगा। वहीं अमेरिकी उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस को निर्वतमान उपराष्ट्रपति पेंस के उत्तराधिकारी के रूप में शपथ दिलाई जाएगी।

कोरोना: सऊदी अरब ने दो वैक्सीनो को मंजूरी दी

सउदी अरब ने एस्ट्राजेनेका और मॉडर्ना वैक्सीन को दी मंजूरी
दोहा। सउदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय ने ब्रिटेन की स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनेका और अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना के वैक्सीन को देश में कोरोना को खिलाफ उपयोग करने की मंजूरी दे दी। मंत्रालय ने ट्विटर पर यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बयान में कहा सउदी अरब ने फाइजर और बायोएनटेक द्वारा विकसित एस्ट्राजेनेका और मॉडर्ना वैक्सीन को उपयोग में लाने के लिए मंजूरी दे दी है।
मंत्रालय ने कहा पहले से ही एक विशेष आवेदन के माध्यम से देश में टीकाकरण के लिए 20 लाख से अधिक लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं। देश में 17 दिसम्बर से कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण शुरू हुआ है। स्वास्थ्य मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार इस महामारी के शुरू होने के बाद से अभी तक 3,65,000 लोग संक्रमित हुए है। जिसमें से 3,56,848 लोग ठीक हो गए है। और 6,329 मरीज इस जानलेवा वायरस का शिकार बन चुके हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत पर टीम को दी बधाई

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिसबेन में खेले गये चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में तीन विकेट की शानदार जीत के लिए बधाई दी। भारत ने श्रृंखला 2-1 से जीतकर बोर्डर-गावस्कर ट्राफी अपने नाम बरकरार रखी। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”ऑस्टेलिया में भारतीय टीम की सफलता से हम सभी बहुत उत्साहित हैं। पूरे मैच के दौरान उनका प्रदर्शन ऊर्जा और जुनून से लबरेज रहा। उनकी इच्छाशक्ति, दृढ़ता और संकल्प उत्कृष्ट रहा। टीम इंडिया को बधाई। भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं।” भारत ने आज चौथे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में आस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हराकर श्रृंखला 2-1 से जीतकर बोर्डर-गावस्कर ट्राफी अपने पास बरकरार रखी। भारत के सामने 328 रन का लक्ष्य था जो उसने सात विकेट खोकर हासिल किया। भारत की तरफ से शुभमन गिल ने 91, ऋषभ पंत ने नाबाद 89 और चेतेश्वर पुजारा ने 56 रन बनाये। आस्ट्रेलिया की गाबा मैदान पर पिछले 32 वर्षों में यह पहली हार है जबकि भारत ने यहां अपनी पहली जीत दर्ज की।

भारतीय सीमा में गांव बसाया, चिंता जाहिर की

कांग्रेस ने भारतीय सीमा में चीन के गांव बसाने पर जताई गहरी चिंता, कहा- देश का सम्मान बचाए सरकार
हरिओम उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस ने अरुणाचल प्रदेश में चीन के गांव बसाने की खबर पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए इसे राष्ट्र के सम्मान पर चोट बताया और कहा कि सरकार को सख्त कार्रवाई कर देश का सम्मान बचाना चाहिए।
कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना से जुड़ी एक खबर को पोस्ट करते हुए ट्वीट किया मैं देश को झुकने नहीं दूंगा।
पार्टी के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इस खबर को पोस्ट करने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया, “मोदी जी का ”56 इंच” का सीना कहां है।
खबर में कहा गया है चीन ने अरुणाचल प्रदेश में भारतीय सीमा में साढ़े चार किलोमीटर के भीतर एक गांव बसाया है।

पीएम मोदी सोमनाथ मंदिर न्यास के अध्यक्ष नियुक्त

अरविन्द तिवारी 

गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुजरात में गिर-सोमनाथ जिले के प्रभास पाटन में विश्व प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर का प्रबंधन संभालने वाले न्यास नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। वे इस पद पर आसीन होने वाले दूसरे प्रधानमंत्री हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के बाद मोदी दूसरे ऐसे प्रधानमंत्री हैं। जिन्हें इस मंदिर न्यास का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। न्यास के रिकार्ड के अनुसार मोदी न्यास के आठवें अध्यक्ष बने हैं। गृहमंत्री अमित शाह ने सोमनाथ मंदिर के नये अध्यक्ष हेतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा था। प्रधानमंत्री मोदी ने जिम्मेदारी संभालते हुये सोमनाथ ट्रस्ट टीम के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने उम्मीद जतायी है कि सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के आधारभूत संसाधनों सहित श्रद्धालुओं की सुविधाओं का तेजी से विकास होगा। बता दें यह मंदिर बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। पीएम मोदी जहाँ न्यास के अध्यक्ष बने हैं वहीं अन्य सदस्यों में भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी , केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह , संस्कृत के रिटायर्ड प्रोफेसर जे०डी० परमार , गुजरात के पूर्व मुख्य सचिव प्रवीण लाहेरी और व्यापारी हर्षवर्द्धन नेवतिया 06 लोग ट्रस्टी बनाये गये हैं। ट्रस्ट मंडल में 08 सदस्यों की जगह है जिसमें फिलहाल दो जगह खाली है। इसमें एक केंद्र सरकार और एक राज्य सरकार का पद है। न्यासी भावी योजना पर चर्चा करने के लिये ट्रस्‍ट की आगामी बैठक सितंबर 2021 में होगी जिसमें 02 नये ट्रस्‍टी चुने जायेंगे। पिछले साल अक्टूबर में न्यास के निवर्तमान अध्यक्ष गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल के निधन के बाद सोमनाथ मंदिर न्यास के अध्यक्ष का पद रिक्त था. पटेल 16 सालों तक (2004-2020) इस न्यास के अध्यक्ष रहे थे. न्यास के रिकार्ड के अनुसार देसाई ने 1967 से 1995 तक न्यास के अध्यक्ष के रूप में अपनी सेवा दी थी। बता दें कि सोमनाथ ट्रस्ट की पहली बैठक अक्टूबर 1949 में हुई जिसमें नवानगर के जाम साहब दिग्विजय सिंह को अध्यक्ष चुना गया था।

जातिवाद दीमक हैं तो भाषावाद जहर होता है

गरियाबंद। हम भारतीय है, एक ऐसा शब्द हैं। जिसे सभी भारतीय बड़ी शान से कह कर गर्व से अपना सर ऊँचा करके फुले नहीं समाते और बार बार अपनी आज़ादी का एहसास पाते है तथा सारी दनिया भी कहीं ना कहीं किसी न किसी बिंदु पर हमारे सामने और हमारी सहमती में हाथ उठाने पर मजबूर होती है। और क्यों न हो हम विश्व में एक मजबूत हश्ती के रूप में उभर कर सामने आयें है। आज से कई दसक पूर्व इस सोने के धरती के उन पुत्र (बलिदानियों) ने अपनी प्राणों को अपने मां रूपी धरती के नाम न्योछावर कर बचाते हुए भारत रूपी उपहार को हमारे हाथों में देने से पहले इसमें कोई कसर नहीं छोड़ी की उनका देश कहीं से भी किसी भी परिस्थिति में किसी के दबाव में रहे उनका तो शायद सिर्फ एक ही सपना था की उनका भारत पूर्ण रूप से आजाद होकर अनेको समस्यायों को तार-तार करते हुए शक्तिशाली और सम्रद्धशाली होने के साथ साथ एक पूर्ण विकसित रास्ट्र बनकर पुरे विश्व के सामने एक ऐसा मजबूत माहशक्ति बनकर खड़ा हो। जिसके सामने सभी नतमस्तक होने पर मजबूर हो। उन महारथियों के सपनो को सजीव करने के लिए हम हिन्दुस्तानियों ने भरपूर कोसिस भी किया लेकिन साथ ही साथ जातिवाद और भाषावाद रूपी बीमारी को भी जन्म देते रहे जो आज दीमक के रूप में दिखती हैं। बहुत सी जटिल समस्याओं पर वार कर उन पर जीत दर्ज करते हुए यहाँ तक पहुचे है हम,पर सब कुछ पाने और करने के बावजूद यहाँ पर कुछ समस्याए ऐसी हैं जो प्रश्न बनकर बार बार परेशान करती हैं – आखिर क्या है ये समस्याएँ? कहाँ से पैदा होती हैं ये ? कौन बढ़ावा देता है इन्हें ? ये कुछ ऐसे महत्वपूर्ण प्रश्न हैं जिन पर आज विचार करना अति आवश्यक है क्योकि ये हमारे इस सोने से देश के लिए दीमक का काम करती नज़र आ रहीं हैं! अब सोचने वाली बात तो ये है की ये सभी समस्याए बारिश के साथ तो आती नहीं या फिर किसी के द्वारा बरदान में तो दी नहीं जाती और अगर ऐसा नहीं होता तो फिर ये पैदा कहाँ से होती हैं। शायद गंभीर विचार करने पर इसका जबाब हमें खुद बा खुद मिल जाय और इसके जिम्मेदार भी शायद हम सभी स्वयं खुद ही नज़र आने लगे,जी हाँ यह तो साफ है की हमारे ही द्वारा की गई छोटी बड़ी गलतियना भविष्य में एक खतरनाक जहर रूपी समस्या बनकर हमारे ही सामने खड़ी हो जाती हैं और फिर हम सब स्वयं ही उसे एक दुसरे पर थोपते फिरते हैं।ऐसे में यहाँ पर कुछ ऐसी जटिल समस्याओं को उदाहरण के रूप में पेश करना चाहूँगा जो आज वक्याई में जहर का रूप धारण कर चुकी हैं जैसे – ये आतंकवाद, प्रदुषण या फिर आज पुरे भारत को झकझोर देने वाली मंहगाई और अगर कुछ इनसे बचा तो फिर ये “वाद”(भाषावाद और जातिवाद) यह तो वह दीमक दीखता है जो अकेले ही हरे भरे पेंड को खोखला कर देता है!
जी हाँ मै आपका ध्यान उसी दीमक (वाद से समस्या) पर केन्द्रित करना चाहता हूँ जो इस हरे भरे भारत रूपी पेंड को अंदर से खोखला करता नज़र आता है, शायद यह दीमक हमारे अन्दर के सदभाव,एकता और अखंडता के सपने को खंडित करने का सपना लेकर हमारे बिच कदम जमा कर अपने बाल्यावस्था को त्यागते हुए अपनी किशोरवास्ता की ओर कदम बढ़ाता दिख रहा है जैसे इसने ठान ली हो उन महा बलिदानियों के सपनो को चूर-चूर करने की जिन्होंने अपने जान को न्योछावर करते हुए एक पूर्ण विक्सित रास्ट्र बनाने का सपना हमारे हाथों एवं जिम्मे किया था और शायद उन्होंने ने भी कभी यह नहीं सोचा होगा की उनके सपनो के रास्ते में कभी कोई ऐसी समस्या आकर खड़ी होगी जिसे हम सब ने मिलकर स्वयं ही पैदा किया है। जरा सोचिये उन महारथियों ने अपने हाथों को जलाते हुए जले हाथों से सम्भालकर ये भारत रूपी उपहार हमारे बिच सुरक्षित रखने के लिए दिया और हमने क्या किया?हम कितने स्वार्थी बनते चले गए की अपने चंद स्वार्थ को पाने के लिए इस शक्तिशाली टावर और विशाल समुद्र रूपी भारत को विभिन्न झेत्रों में बढ़ाने की बजाय स्वर्थानुसार बाटने पर ही तुले हुए हैं। अरे उन महारथियों ने तो सभी भाषाओँ,सभी धर्मो और सभी जातियों को एक मानने वाले भारत का ऐलान किया था और शायद ऐसा मानते और घोषदा करते हुए अपने आप को कितना गौरवान्वित महशुश किया होगा की उनका भारत अनेकता में एकता का उदाहरन है। लेकिन अब जरा सोचिये की हमने क्या किया?आज इस जातिवाद रूपी पौधे को इस कदर शिचतें जक रहे हैं जिससे विभिन्न जातियों के बिच एक खाई रूपी दुरी का निर्माण होता जा रहा है।जाती के आधार पर हम अपने बिच दूरियों को बढ़ाते जा रहे हैं।आज देखा जा सकता है की किसी भी चुनाव में एक छोटी सी सफलता और जनता के लोकप्रियता को पाने के लिए कितना आसानी से जातियों और झेत्रो को बाँटने जैसा घिनौना कम कर अपने ही देश के विकास में बाधा उत्पन्न किया जा रहा है और इसमें ये “भाषावाद” इस दीमक ने तो शायद हमारे अपने बीच एक लम्बी खाई बनाने का संकल्प ही ले लिया हो यह आसानी से देखा जा सकता है की किस तरह आज हम अपने बीच भाषावाद जैसी बीमारी को बढ़ाते जा रहे हैं आज अपने ही देश में नागरिकों का एक दुसरे प्रदेश/ज़गह पर जाकर रहना या बसना शायद गुनाह ही होता जा रहा है हम अपने ही देश में दुसरे जगह के नागरिकों जो अपने ही भारत रूपी परिवार के अपने हैं पर आक्रमण करते घबराते नहीं! तो फिर अगर ऐसे में ऑस्ट्रेलिया में या अन्य देशों में भारतियों पर हमले होतें हैं तो यह कैसे गलत हो सकता है? जब हम स्वयं अपने आपस में लड़ रहे है और फिर किसी विदेश के विदेश मंत्री का यह वक्तब्य की “उसका शहर ही अकेला शहर नहीं जहाँ यह होता है,मुंबई और दिल्ली में भी यही होता है” तो शायद हमें अपने गिरेबान में झाकने का एक संकेत है! जी हाँ बिलकुल, शायद हम हम यह भूल चुके हैं की हम उस भारत के सपूत तथा उस भारत रूपी समुद्र में जीने के साथ साथ तैरते हैं जो अनेको धर्मो,जातियों ,और भाषाओँ रूपी समुद्री जीवों को सदभाव रूपी पानी में एक साथ सजोये हुए अपने लहरों से हमेसा आसमान के उचाईयों को झुते हुए विश्व में एक मजबूत शक्ति बनकर उभरा है ! और शायद यह हमारा कर्तब्य ही नहीं अधिकार भी है की हम इस भारत रूपी मकान के राज्यों रूपी सभी कमरों में विभिन्न प्रकार के जातियों ,धर्मो ,और भाषावों रूपी पारिवारिक सदस्यों के बीच सदभाव तथा प्रेम और इज्जत भरे ब्य्वहारों के साथ रहना सीखें, आज हमें इन विभिन्न झेत्रिय भाषाओँ का भरपूर सम्मान करने के साथ झेत्र्वाद और भाषावाद को हमेशा के लिए ख़त्म करना होगा तथा अनेको जातिओं का सम्मान करने के साथ साथ एक खाई रूपी दीमक को मारना होगा अगर हम अपने भारत को और मजबूत बनाना चाहतें हैं तो आज इन विभिन्न विषयों पर विचार करना अति आवश्यक नज़र आ रहा है क्योकि यह आज की स्वतंत्रता और यह आज का सम्पूर्ण विकास की स्थिति बहुत मुश्किलें का सामना करके पाया है हमलोगों ने जिस पर आज कई महत्वपूर्ण देशों के साथ साथ पुरे विश्व की निगाहे टिकी हैं और शायद ऐसा करने के लिए सबको मजबूर भी किया है।शायद हमे अपनी स्थिति को विभिन्न झेत्रों में और मजबूत करने के साथ-साथ आपस के सदभाव को बढाकर एक दूसरों के प्रति सहयोग और इज्जत के भाव अपने अंदर पैदा ही करना ही होगा ताकि भविष्य में हमारी स्थिति इतनी मजबूत हो सके की अन्य देश हमारे अपने इस शक्तिशाली भारत रूपी टावर को इज्ज़त से देखने के लिए तथा इस पर कुछ भी टिप्पड़ी करने से पहले एक बार सोचने पर मजबूर हों,और यह तभी संभव है। जब हम सभी एक हैं और हमे एक होना ही पड़ेगा अपने इस सुंदर से देश को और मजबूत बनाने तथा उन महाबलिदानी शक्तियों के सपनो को साकार करने के लिए! तो आईये दृढ संकल्प लेने के साथ साथ एक कोशिश करके देखें क्योंकि हम एक भारतीय हैं, और यह हमारा कर्तब्य होने के साथ साथ पूर्ण अधिकार भी...

महारष्ट्र पंचायत चुनाव में लहराया शिवसेना का भगवा

मुंबई। बीते शुक्रवार को महाराष्ट्र की 12,000 से ज्यादा ग्राम पंचायत सीटों के लिए मतदान हुआ था और सोमवार सुबह मतगणना शुरू हुई। पंचायत चुनाव 2021 का रिजल्ट घोषित होने के बाद शिवसेना महाराष्ट्र में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। बता दें कि महाराष्ट्र पंचायत चुनाव 2021 में शिवसेना ने 3,000 से ज्यादा सीटें जीती हैं| बीजेपी दूसरे नंबर पर रही। इसके अलावा शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी तीसरे नंबर है।गौरतलब है कि इस चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन भी ठीक रहा| हालांकि राज ठाकरे की पार्टी मनसे केवल 36 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई। इसके अलावा 2344 निर्दलीय उम्मीदवार जीते| अब तक कुल 12,711 में से 12,348 सीटों के रिजल्ट घोषित हो चुके हैं। महाराष्ट्र पंचायत चुनाव में शिवसेना ने 3113, बीजेपी ने 2632, एनसीपी ने 2400, कांग्रेस ने 1823, मनसे ने 36 और निर्दलीय उम्मीदवारों ने 2344 सीटों पर जीत दर्ज की। इस बीच महाराष्ट्र पंचायत चुनाव 2021 के रिजल्ट को लेकर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए बीजेपी पर तंज कसा। सामना में लिखा गया कि बीजेपी को अब समझ जाना चाहिए कि उनके साथी सीबीआई, ईडी और आईटी डिपार्टमेंट उन्हें राजनीतिक जीत नहीं दिला सकते।

अहमदाबाद-सूरत में मेट्रो परियोजनाओं की शुरुआत

गांधीनगर। उक्त बातें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अहमदाबाद और सूरत मेट्रो परियोजना के शुभारंभ के अवसर पर कही। पीएम मोदी ने आगे कहा कि सरकार देश के दो बड़े व्यापारिक केंद्रों अहमदाबाद और सूरत में मेट्रो को जोड़ने और दोनों शहरोंं की कनेक्टिविटी को मजबूत करने का काम करेगी। आज 17,000 करोड़ से भी ज्यादा के इंफ्रास्ट्रक्चर का काम शुरू होना इस बात का गवाह है कि कोरोना काल में भी नये इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण को लेकर देश के प्रयास लगातार बढ़ रहे हैं। पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत आत्मविश्वास के साथ फैसले ले रहा है और उन पर तेजी से अमल भी कर रहा है। आज भारत सिर्फ बड़ा ही नही कर रहा बल्कि बेहतर भी कर रहा है। कोरोना के विरूद्ध दुनियाँ का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भी भारत में ही हुआ है। उन्होंने कहा कि साल 2014 से पहले के 10-12 वर्षों में सिर्फ 225 किमी मेट्रो लाइन ऑपरेशनल हुई थी , जबकि बीते 06 सालों में 450 किमी से ज्यादा मेट्रो नेटवर्क चालू हो चुका है। जनसंख्या के लिहाज से आज एक तरफ देश का आठवांँ बड़ा शहर है, लेकिन सबसे तेजी से विकसित करने वाला सूरत  दुनियाँ के चार शहरों में शामिल है। दुनियाँ के हर 10 हीरों में से 09 सूरत में तराशे जाते हैं , आज सूरत देश का दूसरा सबसे स्वच्छ शहर है। सूरत दुनियाँ का सबसे तेज गति से विकसित होता शहर है , इसमें देश के कोने कोने से आये भारतीयों का भी योगदान है। हममें से अधिकांश ने वो दौर देखा है जब गुजरात के गांवों तक ट्रेन और टैंकरो से पानी पहुंँचाना पड़ता था। अब गुजरात के हर गांव तक पानी पहुंँच चुका है। इतना ही नहीं अब क़रीब 80 प्रतिशत घरों में नल से जल पहुंँच रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि इन परियोजनाओं से देश के प्रमुख व्‍यापारिक केंद्रों अहमदाबाद और सूरत को आज बड़ा महत्‍वपूर्ण उपहार मिला है , इससे इन शहरों में यातायात और बेहतर हो जायेगा। उन्होंने कहा कि देश में बस, मेट्रो और रेल प्रणालियों को आपस में जोड़कर अत्‍याधुनिक परिवहन ढांचे का निर्माण किया जा रहा है , अब ये एक दूसरे की पूरक होंगी। वहीं केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि अहमदाबाद मेट्रो फेज-1 का कार्य जोर-शोर से चल रहा है, जून 2022 में जब देश स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांँठ मना रहा होगा ये काम पूरा हो जायेगा। अहमदाबाद मेट्रो रेल प्रोजेक्ट फेज-II कुल 28.25 किमी लंबाई वाले अहमदाबाद मेट्रो रेल प्रोजेक्ट फेज II में दो कॉरिडोर हैं। पहला कॉरिडोर 22.8 किमी लंबा है जो मोटेरा स्टेडियम से महात्मा मंदिर तक है। यह कारिडोर पूरी तरह एलिवेटेड होगा जिसमें अत्याधुनिक 20 मेट्रो स्टेशन होंगे। इसके साथ ही भविष्य में सरदार वल्लभ भाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को जोड़ने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुये कोटेश्वर रोड पर इंटरचेंज की सुविधा उपलब्ध रहेगी। दूसरा कॉरिडोर 5.4 किमी लंबा है ओर यह जीएनएलयू से गिफ्ट सिटी तक है। इसमें 02 एलिवेटेड स्टेशन होंगे और जीएनएलयू स्टेशन पर इंटरचेंज सुविधा उपलब्ध रहेगी , इस कारिडोर के लिये साबरमती नदी पर पुल भी बनाया जायेगा। परियोजना को पूरा होने में 5,384 करोड़ रुपये का खर्च आयेगा।

पराक्रम दिवस के रूप में मनेगी नेता की 'जयंती'

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती इस बार पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी। इस बात की जानकारी संस्कृति मंत्रालय की ओर से दी गई है। वहीं सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मनाने के लिए केंद्र सरकार ने गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। इससे पहले सुभाष चंद्र बोस के 125 वीं जयंति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि नेता सुभाष चंद्र बोस की वीरता सर्वविदित है। नेताजी जैसे स्कॉलर, सोल्जर और स्टेट्समैन की 125वीं जयंती से जुड़े कार्यक्रमों की घोषणा हम जल्द करेंगे।

चाणक्य नीति: पशु-पक्षियों से सीखने चाहिए 5 गुण

आचार्य चाणक्य को महान अर्थशास्त्री और शिक्षाविद माना जाता है। नीति शास्त्र में चाणक्य ने जीवन से जुड़े अहम पहलु जैसे तरक्की, विवाह, कारोबार, सेहत और परिवार आदि के बारे में भी बात की है। चाणक्य ने जीवन को आसान बनाने के लिए कई नीतियां बताई हैं। कहते हैं कि इन नीतियों को जो अपनाते हैं, उन्हें जीवन में अपार सफलता हासिल होती है। सफलता के रास्ते को आसान बनाने के लिए चाणक्य ने नीति शास्त्र में पशु-पक्षियों से सीखे जाने वाले गुणों का भी जिक्र किया है। जानिए पशु-पक्षियों के किन गुणों को हर व्यक्ति को जीवन में अपनाना चाहिए। 1. बगुला- चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति को बगुले की तरह ही अपनी इंद्रियों पर संयम रखते हुए अपनी शक्ति या क्षमता के हिसाब से काम काम करना चाहिए। 2. मुर्गा- चाणक्य नीति के अनुसार, व्यक्ति को मुर्गे की तरह ही सूर्योदय से पहले उठना चाहिए। रण में पीछे न हटते हुए हटकर मुकाबला करना चाहिए। परिवार या प्रियजनों में मिल बांट कर खाना चाहिए। मुर्गे की तरह ही इंसान को अपने बल पर भोजन को प्राप्त करना चाहिए। 3. कौआ– चाणक्य कहते हैं कि इंसान को कौए की भांति हर वक्त सतर्क और सावधान रहना चाहिए। इसके साथ ही समय-समय पर अपने लिए चीजें भी जुटाना चाहिए।

4. श्वान- चाणक्य के अनुसार, हर इंसान को कुत्ते से स्वामी भक्ति का गुण सीखना चाहिए। इसके साथ ही श्वान निद्रा लेनी चाहिए, ताकि आहट मिलते ही आपकी आंख खुल जाए।

5. शेर- चाणक्य नीति के अनुसार, हर व्यक्ति को शेर की भांति कोई भी काम पूरी शक्ति या ताकत से करना चाहिए। जिस तरह से शेर अपने शिकार पर पूरी ताकत से हमला करता है, चाहे वह छोटा पशु या पक्षी ही क्यों न हो। उसी तरह से व्यक्ति को अपने काम में सफलता पाने के लिए अपनी पूरी शक्ति का इस्तेमाल करना चाहिए।

आओ फिर से दीप जलाएं 'कविता'

आओ फिर से दीप जलाएँ...
भरी दुपहरी में अंधियारा,
सूरज परछाई से हारा।
अंतरतम का नेह निचोड़ें...
बुझी हुई बाती सुलगाएँ,
आओ फिर से दीप जलाएँ।

हम पड़ाव को समझे मंज़िल,
लक्ष्य हुआ आंखों से ओझल।
वतर्मान के मोहजाल में...
आने वाला कल न भुलाएँ,
आओ फिर से दीप जलाएँ।

आहुति बाकी, यज्ञ अधूरा,
अपनों के विघ्नों ने घेरा।
अंतिम जय का वज़्र बनाने...
पुनः दधीचि हड्डियां गलाएँ,
आओ फिर से दीप जलाएँ।
शिवांशु 'निर्भयपुत्र'

ट्रैफिक सिग्नल में तीन रंगों का जानियें मतलब

बालोद। दोस्तो सिग्‍नल में लाल रंग का अपना एक खास महत्‍व है। लाल रंग की गति अन्‍य रंगों के मुकाबले सबसे तेज होती है। इस रंग को कितनी भी दूर से हम आसानी से देख सकते हैं। ट्रैफिक सिग्‍नल में लाल रंग का प्रयोग न केवल आपको रोकने के लिए किया जाता है बल्कि यह इस बात का भी संकेत देता है कि आपके आगे खतरा है। पिला रंग: दोस्तो पिला रंग आपको निर्देशित करता है आप तैयार हो जायें। ट्रैफिक सिग्‍नल पर जब पिले रंग की लाईट जलती है तो उसका मतलब यही होता है कि आप अपने वाहन के इंजन को स्‍टार्ट रखें और आप धीमे -धीमे आगे बढ़ सकते हैं। पिले रंग में आपको रुकना नहीं होता है लेकिन आप धीरे धीरे आगे बढ़ सकते है। हरा रंग: दोस्तो यह रंग खतरे के बिलकुल विपरीत होता है। जैसा कि लाल रंग का प्रयोग वाहनों को रोकने के लिए किया जाता है उसी प्रकार हरे रंग का प्रयोग वाहनों को आगे बढ़ने के लिए किया जाता है। हरे रंग का मतलब है कि रास्ता आपके लिए खाली है और आप आगे बढ़ सकते हैं। सावधान रहें सुरक्षित रहें।

बिग बॉस 14 में राखी के आने से एंटरटेनमेंट बढ़ा

मुंबई। ब‍िग बॉस 14 में राखी सावंत के आने से एंटरटेनमेंट बढ़ गया है। जहां एक ओर राखी का ड्रामा नजर आता है। वहीं वे शो में अभ‍िनव शुक्ला पर लट्टू भी नजर आती हैं। लेक‍िन शो में मस्ती-मजाक के बीच राखी सावंत ने अपनी शादीशुदा जिंदगी के कई राज से पर्दा भी उठाया है। सोमवार के एप‍िसोड में राखी ने एक और बड़ा खुलासा किया। राखी सोनाली फोगाट से अपने पति और जिंदगी के बारे में बात करती हैं। वे पति के बारे में बात करते हुए इमोशनल हो जाती हैं। इसी बीच राखी ने बताया क‍ि उन्होंने अपने एग्स फ्रीज करवा दिए हैं ताक‍ि आगे चलकर वे डोनर की मदद से मां बन सकती हैं। राखी कहती हैं- सालों हो गए, मेरी जिंदगी में अभी तक कोई नहीं आया। एक बॉयफ्रेंड था अभ‍िषेक। मैं अभ‍िनव और रुबीना के बीच में नहीं आना चाहती। उनकी जिंदगी खुशी से भरी रहे, बस मैं अभ‍िनव का एक कटोरी प्यार पाना चाहती हूं। मां बनने की बात पर राखी ने कहा- ''मैंने अपने एग्स संभाल कर रख लिए हैं।कोई सही डोनर मिल जाएगा तो मैं मां बन जाउंगी।सोनाली के साथ इस कन्वर्सेशन के बीच राखी इनडायरेक्टली अभ‍िनव के बारे में बात करते हुए कहती हैं ''इसकी पत्नी और फैमिली को बाहर जाकर पूछूंगी क‍ि अगर उन्हें कोई दिक्कत नहीं है तो डोनर बन जाए। फिर मैं मां बन सकती हूं।

आंदोलन पर बोले भूपेश, विरोध को दबाने का प्रयास

रायपुर। केंद्र सरकार के कृषि संबंधी कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन से जुड़े नेताओं को नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (हृढ्ढ्र) के नोटिस से केंद्र सरकार पर राजनीतिक हमला तेज हो गया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि जब भी कहीं विरोध होता है भाजपा उसे बदनाम करने की कोशिश करती है। लेकिन इस बार सामने किसान हैं, वे डरेंगे नहीं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश भाजपा के प्रस्तावित आंदोलन पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि क्चछ्वक्क की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी हंटर मार रही हैं, इसलिए यहां के भाजपा नेता आंदोलन कर रहे हैं। हकीकत यह है कि भाजपा के पास छत्तीसगढ़ में कोई मुद्दा नहीं बचा है। मुख्यमंत्री ने कहा, भाजपा प्रदेश के 60 लाख मीट्रिक टन चावल लेने के लिए आंदोलन करे तो अच्छा है। उन्होंने पूछा कि भाजपा नेताओं को बताना चाहिए कि क्या वे अपना धान खुली मंडियों में बेचना चाहते थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक बार फिर पुलवामा हमले को लेकर केन्द्र सरकार की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा से जुड़े इस महत्वपूर्ण मामले की जांच सिटिंग जज की देखरेख में होनी चाहिए। दरअसल सीएम भूपेश ने अर्णब गोस्वामी के चैट के सामने आने के मामले में कहा कि देश की सुरक्षा के लिए यह बेहद खतरनाक है। इतनी गोपनीय जानकारी किसी पत्रकार को कैसे हो गई? अगर यह सच है तो इस मामले की जांच होनी चाहिए। इस मामले में तो एनआईए औैर न्यायालय को स्वत: संज्ञान में लेकर कार्रवाई की जानी चाहिए।

सीएम पुरंदेश्वरी की सक्रियता से परेशान : भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह सिंह ने कहा कि पुरंदेश्वरी की सक्रियता से सीएम बघेल को तकलीफ हो रही है। प्रदेश में अगर किसानों को समस्याएं नहीं है, तो 255 से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या क्यों की है? किसानों को रूला-रूला कर धान खरीदी करने का क्या मतलब है? दूसरी ओर पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि पुरंदेश्वरी की सक्रियता से कांग्रेस परेशान हो उठी है। भाजपा लोकतांत्रिक पार्टी है। हमें दो साल विपक्ष में हुए हैं और हम जनता के साथ खड़े हैं। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि सीएम भूपेश बघेल को बोलने से पहले सोच लेना चाहिए कि वह क्या कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि आम लोगों को समझ जाना चाहिए कि मंडियां चालू रहेंगी, सपोर्ट प्राइज में फसल खरीदी जाएगी, केंद्र सरकार सब की मांगों को लेकर सहमत है। इस कानून के विरोध में हरियाणा-पंजाब के कुछ सीमित लोग ही हैं। बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार जो तीन कानून लाई है वह कांग्रेस भी लाना चाहती थी।

अयोध्या: श्रीराम मंदिर निर्माण की प्रतीक्षा समाप्त

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण की प्रतीक्षा अब समाप्त हो गई है। श्रीराम जन्मभूमि पर नींव की खोदाई के साथ ही रामलला का भव्य और दिव्य मंदिर निर्माण आरंभ हो गया है। जन्मभूमि के नीचे की मिट्टी जांच, भूमि के समतलीकरण और नींव की डिजाइन पर चर्चा की खबरें लगातार आ रही थी, लेकिन अब वहां नींव की खोदाई शुरू हो गई है। इसके साथ राममंदिर निर्माण की तिथि को लेकर लग रही अटकलों पर विराम लग गया। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने सोमवार को यह बात नई दिल्ली में सार्वजनिक की। एक न्यूज चैनल से वार्ता में उन्होंने यह भी बताया कि फरवरी से पत्थरों को लगाने का कार्य भी प्रारंभ हो जाएगा। तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि की सतह के नीचे की मिट्टी की जांच तीन बार कराई गई ताकि कोई चूक न होने पाए। विशेषज्ञों ने गंभीर मंथन के बाद नींव की श्रेष्ठतम डिजाइन तैयार की है। इस पर ट्रस्ट ने मुहर लगा दी है। अब इसी के अनुरूप नींव की खोदाई प्रारंभ हो गई है।फरवरी से 39 माह की अवधि में पूरा होगा निर्माण : श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने स्पष्ट किया कि फरवरी से 39 माह की अवधि में मंदिर का निर्माण पूरा किए जाने का लक्ष्य है। 39 माह में मंदिर निर्माण पूर्ण होने का लक्ष्य गत वर्ष पांच अगस्त से तय किया गया था, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर के लिए भूमि पूजन किया था।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...