सोमवार, 31 अगस्त 2020

पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच झड़प

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाक में 15 जून को गलवान घाटी से टकराव के बाद तेजी से कार्रवाई करते हुए, भारतीय नौसेना ने दक्षिण चीन सागर में अपने अग्रणी युद्धपोत को तैनात कर दिया है। दोनों पक्षों के बीच वार्ता के दौरान चीन ने इस कदम पर आपत्ति दर्ज कराई है। चीनी इस क्षेत्र में भारतीय नौसेना के पोतों की उपस्थिति पर आपत्ति जताता रहा है, जहां उसने कृत्रिम द्वीपों और सैन्य उपस्थिति के माध्यम से 2009 से अब तक अपनी उपस्थिति में काफी विस्तार किया है।             


पेंगोंग झील के पास चीन ने की घुसपैठ

नई दिल्ली। चीन के सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में एक बार फिर नापाक हरकत करते हुए दोनों देशों के बीच बनी सहमति का उल्लंघन कर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की है जिसका भारतीय सैनिकों ने करारा जवाब दिया और विफल कर दिया है। रक्षा मंत्रालय ने आज एक बयान जारी कर बताया कि पूर्वी लद्दाख में पिछले तीन महीने से भी अधिक समय से चले आ रहे गतिरोध के बीच चीनी सैनिकों ने 29 और 30 अगस्त की रात को पेगांग झील के दक्षिणी किनारे पर भड़काऊ हरकत की और यथास्थिति बदलने की कोशिश की।


बयान में कहा गया है कि भारतीय सैनिकों ने चीन की नापाक हरकत को पहले ही भांप लिया और इसका करारा जवाब देते हुए इस कोशिश को विफल कर दिया। चीनी सैनिकों की यह हरकत दोनों देशों के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर पर बातचीत में बनी सहमति का उल्लंघन है।                 


देशों को अपने जाल में फंसाने में जूटा 'चीन'

वाशिंगटन डीसी/ बीजिंग। अमेरिका-चीन के बीच जारी व्यापारिक और राजनयिक तनाव के बीच एक बड़ी खबर है।चीन इस साल के आखिर तक यूरोपीय संघ के साथ निवेश समझौते को लागू कर  सकता है, जिसके लिए जारी बातचीत अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। दोनों तरफ के जानकार इस मामले में लंबे समय से सौदेबाजी कर रहे थे, जो इस साल के अंत तक अंजाम तक पहुंच जाएगी।


चीनी विदेश मंत्री ने दी जानकारी
यूरोपीय देशों की यात्रा पर निकले चीन के विदेश मंत्री वांग यि ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने पेरिस में अपनी यात्रा के दौरान कहा कि चीन और यूरोपीय संघ के बीच चल रही बातचीत इस साल के आखिर तक अंजाम तक पहुंच जाएगी।उनका ये बयान अमेरिका-चीन में जारी राजनयिक तनातनी के बीच आया है।             


ब्राजील में मृतकों की संख्या 120,828

ब्रासीलिया। ब्राजील में पिछले 24 घंटा में कोरोना वायरस से 366 और मरीजों की मौत के साथ मृतकों की संख्या 120828 पहुंच गयी है। बाजील सरकार ने इसकी जानकारी दी।
स्वास्थ मंत्रालय ने कहा कि देश में 16158 नए मामले सामने आए हैं जिससे यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 3862311 हो गयी है। ब्राजील में हाल के दिनों में कोरोना से मरने वालों की संख्या में कमी आयी है लेकिन यहां संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है।
ब्राजील अमेरिका के बाद दूसरा ऐसा देश है जहां कोरोना का सर्वाधिक प्रभाव है। आबादी के हिसाब से ब्राजील के सबसे बड़े राज्य साओ पाउलो में कोरोना के 803404 मामले सामने आए हैं और 29978 मरीजों की मौत हुई है।             


पाकिस्तान में 265 नए मामले हुए

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में रविवार को कोविड-19 के 265 नए मामले सामने आए हैं। जिससे देश में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,95,636 हो गई है। यह जानकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने दी है। मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में महामारी से चार और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 6,288 हो गई।


मंत्रालय के अनुसार देश में अभी तक कुल 2,80,547 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 601 की हालत नाजुक है। पाकिस्तान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 8,801 है।               


ग्राम पंचायत सशक्तिकरण के लिए बैठक

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
शौर्य शक्ति फाउंडेशन ने जिले मे ग्राम पंचायतों को सशक्त बनाने के लिए पंचायत राज्य मंत्री से आँन लाईन की मिंटिंग


हापुड़। जनपद में ग्राम पंचायतों के सशक्तिकरण व युवाओ के नेतृत्व में ग्राम पंचायतों को मजबूत बनाने व ग्रामो मे विकास आदि के संबंध में शौर्य शक्ति फाउंडेशन के संस्थापक आशुतोष शर्मा ने ग्राम पंचायत राज मंत्री से ऑनलाइन मीटिंग की आशुतोष शर्मा ने ग्राम पंचायत राज्यमंत्री मंत्री से युवाओं को ग्रामों की नेतृत्व करने की और ग्राम पंचायतों को मजबूत और सशक्त करने के लिए कहा आशुतोष शर्मा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र मे चहुंमुखी विकास आदि व नई-नई योजना का क्रियान्वित करने व बेरोजगार को रोजगार के अवसर प्रदान करने का मौका दिया जाए। ग्राम की पढ़ी-लिखी बेटियों को भी रोजगार मिले इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए शौर्य शक्ति फाउंडेशन के संस्थापक आशुतोष शर्मा ने पंचायत राज मंत्री से ऑनलाइन मीटिंग की।             


राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर चमकेगा 'मेरठ'

देश के पर्यटन मानचित्र पर चमकेगा मेरठ : सुनील भराला।


मेरठ। पुरातात्विक दृष्टि से महत्वपूर्ण मेरठ जल्दी ही देश के पर्यटन मानचित्र पर चमकेगा। इसके साथ दे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दूसरे महत्वपूर्ण स्थल भी विकसित किए जाएंगे। 
यह आश्वासन सोमवार को दिल्ली में उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुनील भरल को केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने भेंट के दौरान दिया। 
उत्तर प्रदेश के दर्जा राज्यमंत्री सुनील भराला ने सोमवार को दिल्ली में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल से मुलाकात की और एक मांगपत्र सौंपा। सुनील भराला ने केंद्रीय मंत्री से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ऐतिहासिक महत्व के बारे में बताया। बागपत में भगवान परशुराम द्वारा स्थापित पूरा महादेव मंदिर है। सिनोली गांव में वैदिक सभ्यता के अवशेष मिल चुके है। इसी तरह से मेरठ जिला भी महाभारत कालीन है और यहां हस्तिनापुर नगरी भी है। इस स्थलों को विकसित करने की जरूरत है। 
 सुनील भराला ने बताया कि मेरठ में किला परीक्षितगढ़ की स्थापना अभिमन्यु के पुत्र परीक्षित ने की थी। इन सभी स्थलों को श्रीकृष्ण सर्किट से जोड़ने की आवश्यकता है। 
 केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अगले वर्ष कर बजट में इन स्थलों को विकसित किया जाएगा। सुनील भराला ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश को जल्दी ही विकसित किया जाएगा।                 


परीक्षाओं को लेकर अखिलेश ने कसा तंज

अखिलेश ने जेईई-नीट परीक्षा को लेकर फिर कसा तंज, कहा ‘याद रहे पलटे हुए अंगूठे सत्ता भी पलट देते हैं।


लखनऊ। कोरोना काल में जेईई, नीट परीक्षा को लेकर चल रहा विवाद अभी शांत नहीं हुआ है। विपक्षी दल इस मामले में लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। इस बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने परीक्षा के आयोजन को लेकर सरकार पर फिर निशाना साधा है।
अखिलेश ने सोमवार को ट्वीट किया कि जिस प्रकार देशभर के परीक्षार्थियों ने अपनी ‘नापसंदगी’ दर्शाकर अपना रोष दर्ज किया है, उसने साफ कर दिया है कि चिंतित युवा और अभिभावक भी चाहते हैं कि सत्ताधारी अपना दंभ त्यागकर परिवारवालों की मांग सुनें। अखिलेश ने कहा कि याद रहे पलटे हुए अंगूठे सत्ता भी पलट देते हैं। ये जनतंत्र है, मनतंत्र नहीं।
दरअसल रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मन की बात’ को यूट्यूब पर पसंद करने वाले लोगों की संख्या से अधिक संख्या नापसंद करने वाले लोगों की देखी गई। इसी को लेकर विपक्ष निशाना साध रहा है। 
अखिलेश इससे पहले भी इस मामले पर सवाल उठाते रहे हैं। वह कह चुके हैं कि जेईई, नीट की परीक्षा कराने पर आमादा भाजपा बताए कि इस परीक्षा के बाद किस तारीख से संस्थानों को खोलेगी, कब चयन की प्रक्रिया पूरी होगी, कब से क्लासेज शुरू होंगी। जब ये तय ही नहीं है तो सरकार किसके दबाव में ये हड़बड़ी कर रही है? अखिलेश इस सम्बन्ध में परीक्षार्थियों और अभिभावकों के समर्थन तथा परीक्षाओं व भाजपा के खिलाफ एक खुला पत्र भी लिख चुके हैं।
वहीं विपक्ष के सवालों को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कि प्रदेश सरकार नीट तथा जेईई परीक्षाओं के आयोजन का समर्थन करती है। विगत 9 अगस्त को राज्य में बीएड की प्रवेश परीक्षा सम्पन्न हुई, जिसमें लगभग पांच लाख अभ्यर्थी थे। इस परीक्षा में कहीं से संक्रमण की कोई समस्या संज्ञान में नहीं आयी। इसी प्रकार लोक सेवा आयोग, उत्तर प्रदेश की परीक्षा भी सम्पन्न कराई गई है। 
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी कहा कि विपक्ष मुद्दा विहीन है और उसे बच्चों के भविष्य का ख्याल नहीं है। ये लोग बच्चों का एक साल बर्बाद करने के पीछे पड़े हैं, इनको भगवान ही सद्बुद्धि दे। उन्होंने कहा कि कई परीक्षाएं सम्पन्न हुई हैं। चुनौती है, पर उससे उभरेंगे।               


मुंबई 'एयरपोर्ट' में 74 फ़ीसदी हिस्सेदारी

मुंबई एयरपोर्ट में अब अडाणी समूह की 74 फीसद हिस्सेदारी, अधिग्रहण के लिए हुआ करार।
नई दिल्ली। अडाणी समूह मुंबई हवाईअड्डे में जीवीके समूह की हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगा। अरबपति उद्योगपति गौतम अडाणी की अगुवाई वाले समूह ने सोमवार को कहा कि इस अधिग्रहण के बाद मुंबई हवाईअड्डे में उसकी कुल हिस्सेदारी बढ़कर 74 प्रतिशत हो जाएगी। इसके साथ ही समूह देश का का सबसे बड़ा निजी हवाईअड्डा परिचालक हो जाएगा। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा गया है कि अडाणी समूह की प्रमुख होल्डिंग कंपनी अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लि. (एएएचएल) ने मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लि. (मायल) में जीवीके एयरपोर्ट डेवलपर्स लि. (एडीएल) के ऋण के अधिग्रहण के लिए करार किया है। इस ऋण को इक्विटी में बदला जाएगा। इससे अडाणी समूह के पास मायल में जीवीके समूह की पूरी 50.5 प्रतिशत हिस्सेदारी आ जाएगी। इसके अलावा अडाणी समूह मायल में अल्पांश शेयरधारकों एयरपोर्ट्स कंपनी ऑफ साउथ अफ्रीका (एसीएसए) तथा बिडवेस्ट की 23.5 प्रतिशत हिस्सेदारी का अधिग्रहण भी करेगा। अडाणी समूह ने कहा कि वह मायल में एसीएसए तथा बिडवेस्ट की 23.5 प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए भी कदम उठाएगा। इसके लिए उसे भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) की मंजूरी मिल चुकी है। समूह ने कहा, ”जीवीके एडीएल के अधिग्रहण के बाद वह आवश्यक परंपरागत और नियामकीय मंजूरियां हासिल करने के लिए कदम उठाएगा, जिससे मायल में वह नियंत्रक हिस्सेदारी का अधिग्रहण कर सके।
जीवीके ने सहयोग की सहमति दी
जीवीके ने शेयर बाजारों को अलग से भेजी सूचना में कहा है कि उसने अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लि. के साथ सहयोग की सहमति दी है। इसके तहत अडाणी समूह की कंपनी गोल्डमैन सैश की अगुवाई वाले गठजोड़ तथा एचडीएफसी सहित विभिन्न ऋणदाताओं से ऋण का अधिग्रहण करेगी। इस ऋण को परस्पर सहमति वाली शर्तों के तहत इक्विटी में बदला जाएगा।
कितने में हुआ सौदा, खुलासा नहीं दोनों कंपनियों ने इस सौदे के वित्तीय पक्ष का खुलासा नहीं किया है। अडाणी समूह ने कहा कि वह मायल में निवेश करेगा और साथ ही नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के लिए वित्त का प्रबंध करने में भी मदद करेगा जिससे इसका निर्माण शुरू हो सके। मायल की हवाईअड्डे में 74 प्रतिशत हिस्सेदारी है। जीवीके के संस्थापक एवं चेयरमैन जीवीके रेड्डी ने कहा, ”कोविड-19 महामारी से विमानन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इस महामारी से यह क्षेत्र कई साल पीछे चला गया है। इससे मायल की वित्तीय स्थिति भी प्रभावित हुई है। रेड्डी ने कहा, ”इन परिस्थतियों में मायल की वित्तीय स्थिति में सुधार तथा नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के लिए वित्त का प्रबंध करने को जल्द से जल्द वित्तीय रूप से मजबूत निवेशक लाने की जरूरत थी। यह परियोजना राष्ट्रीय महत्व की है। अडाणी समूह ने मार्च, 2019 में साउथ अफ्रीकन कंपनी, बिडवेस्ट की 13.5 प्रतिशत हिस्सेदारी का 1,248 करोड़ रुपये में अधिग्रहण करने की सहमति दी थी, लेकिन जीवीके समूह ने पहले इनकार के अधिकार का हवाला देते हुए इस सौदे को रोक दिया था। हालांकि, जीवीके बिड सर्विसेज डिविजन मॉरीशस (बिडवेस्ट) की हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए और पैसा नहीं ला पाई और यह मामला अदालत में चला गया। वित्तीय दिक्कतों की वजह से जीवीके समूह अब अपनी हिस्सेदारी अडाणी समूह को बेचने के लिए सहमत हुआ है। उसका मुंबई हवाईअड्डे में जीवीके समूह की हिस्सेदारी खरीदने और नियंत्रण हासिल करने का करार हो गया है। बंदरगाहों के बाद अब अडाणी समूह हवाईअड्डा क्षेत्र पर बड़ा दांव लगा रहा है। उसे विमानपत्तन प्राधिकरण-निर्मित छह गैर-महानगर हवाईअड्डों…लखनऊ, जयपुर, गुवाहाटी, अहमदबाद, तिरुवनंतपुरम और मेंगलूर के परिचालन का अधिकार मिल चुका है। अब समूह देश के दूसरे सबसे व्यस्त हवाईअड्डे के परिचालन का अधिकार हासिल करने जा रहा है।
कर्ज के बोझ से दबा जीवीके समूह
एसीएसए के पास मायल की 10 प्रतिशत हिस्सेदारी है। शेष 26 प्रतिशत हिस्सेदारी भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के पास है। पिछले साल अक्टूबर में कर्ज के बोझ से दबे जीवीके समूह ने जीवीके एयरपोर्ट होल्डिंग्स में अपनी 79 प्रतिशत हिस्सेदारी अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी (एडीआईए) तथा कनाडा की पब्लिक सेक्टर पेंशन (पीएसपी) इन्वेस्टमेंट्स और सार्वजनिक क्षेत्र के राष्ट्रीय निवेश एवं संरचना कोष (एनआईआईएफ) को 7,614 करोड़ रुपये में बेचने के लिए करार किया था। इस राशि का इस्तेमाल जीवीके समूह को अपनी होल्डिंग कंपनियों का कर्ज चुकाने के लिए करना था। जीवीके ने कहा कि उसने एडीआईए, एनआईआईएफ तथा पीएसपी को सूचित कर दिया है कि इस सौदे से संबंधित दस्तावेज को रद्द किया जाता है। अब यह प्रभावी और क्रियान्वयन योग्य नहीं रह गया है।
अडाणी ग्रुप की कंपनियों के शेयर में उछाल इस बीच, अडाणी समूह द्वारा मुंबई हवाईअड्डे में जीवीके की हिस्सेदारी का अधिग्रहण करने की घोषणा से समूह की कंपनियों के शेयरों में सोमवार को कारोबार के दौरान 7.6 प्रतिशत का उछाल आया। बीएसई में अडाणी ग्रीन एनर्जी का शेयर 7.65 प्रतिशत चढ़ गया, वहीं अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन (एपीसेज) का शेयर 5.24 प्रतिशत के लाभ में था। अडाणी पावर का शेयर भी 4.97 प्रतिशत की बढ़त में कारोबार कर रहा था। समूह की अन्य कंपनियों के शेयर भी लाभ में चल रहे थे।           


सैनिक संस्था ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


राष्ट्रीय सैनिक संस्था ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि


हापुड़। महिला ब्रिगेड के जिला अध्यक्ष मोनिका त्यागी के पति प्रदीप त्यागी के निधन पर राष्ट्रीय सैनिक संस्था जिला ईकाई हापुड़ के तत्वावधान में हापुड़ महिला ब्रिगेड कीै जिला अध्यक्ष मोनिका त्यागी के पति प्रदीप त्यागी के निधन पर एक शोकसभा की गई। जिसमें दो मिनट का मौन रखकर भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई।
शोकसभा में राष्ट्रीय सैनिक संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष कर्नल टी पी त्यागी ने भी शोक संदेश पत्र भेज कर संवेदना व्यक्त करते हुए श्रद्धांजली दी गयी।
शोक सभा में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष चौधरी मनवीर सिंह पश्चिमी उत्तर प्रदेश की महिला ब्रिगेड की अध्यक्ष सुमन त्यागी जिला अध्यक्ष ज्ञानेंद्र त्यागी महिला ब्रिगेड किसी जिला प्रवक्ता डा० सरगम अग्रवाल जिला कोषाध्यक्ष पूनम शर्मा, जिला सचिव प्राची खुल्लर अनामिका चौधरी,मुकेश त्यागी आदि मौजूद रहे।                 


'भारत-रत्न' प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक

राणा ओबराय


हरियाणा के पूर्व सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र हुड्डा ने जताया भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक


चंडीगढ़। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक जताया है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा का कहना है कि प्रणब मुखर्जी का निधन देश के लिए बहुत बड़ी क्षति है। लंबे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने विभिन्न पदों पर रहकर देश की सेवा की। प्रणब दा ने राष्ट्र की अत्यंत समर्पण और प्रतिबद्धता के साथ सेवा की। देश उन्हें एक आदर्श राजनीतिज्ञ, कुशल प्रशासक, मार्गदर्शक और प्रेरणा स्रोत के तौर पर याद रखेगा। प्रणब मुखर्जी स्वतंत्रता सेनानी परिवार से आते थे। इसलिए उनके साथ हमारा शुरू से ही विशेष लगाव रहा। हमारी तीन पीढ़ियों स्व. चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा से लेकर दीपेंद्र सिंह हुड्डा तक को उनके साथ काम करने का सौभग्य प्राप्त हुआ। हुड्डा ने कहा कि उनके मुख्यमंत्री रहते हुए भी श्री मुखर्जी का सहयोग और आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ बना रहा। प्रणब दा का मिलनसार और सहयोगी स्वभाव सभी को प्रभावित करता था। आज उनके निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से प्रार्थना है कि वो उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें एवं परिवार को ये दुख सहने की शक्ति प्रदान करे। मेरी संवेदनाएं परिवार के साथ है।               


आइपीएस लॉबी और सरकार की हुई किरकिरी

राणा ओबराय


हरियाणा में बेटी बचाओ का अभियान चलाने वाली खट्टर सरकार यदि जांच के बाद SP का तबादला करती तो विपक्ष नही कर सकता था जांच की मांग


चंडीगढ़। हरियाणा के राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव और पूर्व एसपी आईपीएस अफसर सुलोचना गजराज में जो टकराव हुआ है इससे शायद आईपीएस लाबी औऱ सरकार दोनों की ही किरकरी हुई है! ऐसा विवाद हरियाणा में कोई पहली बार नहीं हुआ है। राज्यमंत्री ने पत्रकारों के सामने जो भड़ास निकाली औऱ जो वीडियो वायरल हुआ उसके आधार पर महिला अफसर ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज करवा दिया है। उल्लेखनीय है कि महिला आईपीएस अफसर आईएएस निखिल गजराज की पत्नी हैं यानी एक साथ आईपीएस और आईएएस संगठनों को नाराज कर लिया। इससे पहले हरियाणा सरकार से एक महिला आईएएस अफसर नाराज होकर इस्तीफा तक दे गयी थीं। जिसे कृष्ण पाल गुर्जर ने वापस करवाया। जनता के सामने अब यह नया विवाद सामने आ गया। विपक्ष भी हल्ला बोल रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और इनेलो विधायक अभय चौटाला कह रहे हैं कि इसकी गहराई से जांच होनी चाहिए। दूसरी ओर पूर्व मंत्री और नारनोल से सम्बंधित प्रो रामविलास शर्मा इस घटना को दुखद बता रहे हैं। लेकिन पक्ष मंत्री का ही ले रहे हैं। बेटी बचाओ का नारा देने वाली खट्टर सरकार ने भी तो बिना जांच करवाएं तुरंत प्रभाव से महिला आईपीएस का ही तबादला किया है? हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज जांच की बात कह रहे हैं। इस घटना से खट्टर सरकार -1 में मंत्री अनिल विज व फतेहाबाद की एसपी संगीता कालिया का विवाद हरियाणा की जनता में ताजा हो गया है। क्योंकि एसपी का तबादला करके मंत्री अनिल विज का मान सम्मान सुरक्षित रखा गया था। हरियाणा की खट्टर सरकार में बिना जांच के न महिला अफसर तब बची और न ही अब बची। दोनों मामलों में महिलाओं की बलि ली गयी। ऐसे मामलों की भारतवर्ष में एक लम्बी लिस्ट है तथा अनेको उदाहरण हैं।               


संस्था अध्यक्ष को सांसद ने किया सम्मानित

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष भाजपा सांसद ने मानव कल्याण चैरिटेबल फाउंडेशन अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी को किया सम्मानित


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। भाजपा सांसद दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष माननीय मनोज तिवारी ने मानव कल्याण चैरिटेबल फाउंडेशन संस्था के द्वारा जनहित में किए गए। उत्कृष्ट कार्यों को देखते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी और समस्त पदाधिकारियों के द्वारा कई वर्षों से लगातार मानव के कल्याण के लिए अपनी सेवा दिल्ली सहारनपुर रोड पर गड्ढा मुक्त अभियान चलाया 40 गरीब कन्याओं के विवाह कराया। पौधारोपण शिक्षा के लिए बच्चों को काफी पेंसिल बैग देकर पहुंचाया। स्कूल कोरोनावायरस वैश्विक महामारी में राशन मास्क सैनिटाइजर गरीब लोगों तक सहायता पहुंचा कर बहुत पुरुषार्थ का कार्य किया पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों को सहायता पहुंचाना या खतौली ट्रेन हादसे में घायलों को दवाई और उन्हें एंबुलेंस के द्वारा अस्पताल पहुंचाकर गरीबों के लिए आंखों का कैंप लगाकर अन्य सेवा देकर आम जनमानस की सेवा कर रहे हैं। इस संस्था को और सभी पदाधिकारियों को आज मनोज तिवारी के द्वारा सम्मान पत्र देते हुए संस्था अध्यक्ष को सम्मानित करते हैं। हमें बड़ी खुशी हो रही है। जोकि सरकार और जनप्रतिनिधियों का कार्य है और यह संस्था उन कार्यों को बहुत अच्छी तरह से उन लोगों तक अपनी सेवा दे रहे हैं। इसलिए बधाई के पात्र हैं और आशा करता हूं। आगे भी आप अपनी सेवा इसी तरह से निरंतर जारी रखेंगे और मैं आश्वस्त करता हूं। आपको संस्था को किसी भी सहायता की आवश्यकता होगी तो हम भी अपना सहयोग देकर संस्था और पदाधिकारियों  का उत्साह वर्धन करते हैं।             


लूट की योजना बनाते हुए, 2 शातिर गिरफ्तार

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


रात्रि गश्त के दौरान ईदगाह रोड से दो शातिर बदमाशों को लूट व चोरी की योजना बनाते हुए गिरफ्तार


शातिर बदमाशों को लूट व चोरी की योजना बनाते हुए गिरफ्तार


हापुड़। स्थानीय पुलिस ने रात्रि गश्त के दौरान ईदगाह रोड से दो शातिर बदमाशों को लूट व चोरी की योजना बनाते हुए गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से दो तमंचे व तीन कारतूस बरामद किए है। पुलिस ने आरोपियों के नाम मजीदपुरा हापुड़ का जान मौहम्मद उर्फ जानू तथा रफिक नगर हापुड़ का सलमान बताए है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि वे लूट की घटना को अंजाम देने के लिए एकत्र हुए थे।               


हापुड़ः फाइनल ईयर की परीक्षा देंगे छात्र

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


देगें फाईनल ईयर की परीक्षा, हजारों स्टूडेंट्स
हापुड़। आखिरकार काफी जदोजहद के बाद चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की परीक्षाएं कल (एक सितम्बर) से शुरू। जिसमें जनपद में हजारों स्टूडेंट्स सोशल डिस्टेडिंग का पालन करते हुए परीक्षाएं देगें। जिसके लिए सभी कॉलेजों ने परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी। मार्च माह से कोरोना की वजह से लाकडाऊन के चलते देशभर के सभी स्कूल, कालेज बंद रहें थे और सरकार ने फाईनल ईयर के स्टूडेंट्स को छोड़कर सभी कक्षाओं के स्टूडेंट्स को पास कर दिया था, परन्तु फाईनल ईयर की परीक्षा करवानें का निर्णय लिया गया।


चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय ने एक सितम्बर से नौ जिलों के सभी कालेजों के फाईनल ईयर के बच्चों की अंतिम वर्ष की परीक्षा एक सितम्बर से कोरोना के बीच कैरोना से बचाव के साथ शुरू करनें के आदेश दिए हैं। हापुड़ के एस एस वी डिग्री कालेज,एकेपी व चन्द्रमणि डिग्री कालेज ने तीन पालियों में होनें वाली परीक्षाओं की तैयारी शुरू कर दी हैं।
जनपद के एसएसवी पीजी कॉलेज को सात कॉलेजों का परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इसमें महाराजा अग्रसेन, आईएमआईआरटी, सरस्वती इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, ईस्ट वेस्ट एजुकेशन, एसएसवी पीजी, दयावती कॉलेज ऑफ लॉ, इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट इनफार्मेशन आदि कॉलेज शामिल हैं। एसएसवी कालेज प्रबंध समिति के सचिव सुरेश चंद संपादक ने बताया कि विश्वविद्यालय के निर्देशानुसार कालेज में कोरोना से बचाव के लिए सैनाटाइज करवाया गया हैं व सोशल डिस्टेडिंग का विशेष ध्यान रखा गया हैं तथा मॉस्क पहनकर आनें वालें स्टूडेंट्स को ही कालेज में एंट्री मिलेगी।             


आसान किस्त योजना में भरे बिजली बिल

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


विद्युत वितरण खंड गढमुक्तेश्वर के सभी सम्मानित उपभोक्ताओं को सूचित किया जाता है अति महत्वपूर्ण संदेश


हापुड़। विद्युत वितरण खंड गढमुक्तेश्वर के सभी सम्मानित उपभोक्ताओं को सूचित किया जाता है कि यदि आपने आसान क़िस्त योजना में अपने घर के या ट्यूबवैल के बिजली बिल पर सरचार्ज में छूट लेकर जुलाई व अगस्त माह की किस्तें नही जमा की तो आज ही हमारे किसी भी कैश काउंटर अथवा जनसुविधा केंद्र पर जमा करा दे। आज 31 अगस्त 2020 अंतिम तारीख है। जमा ना करने पर आपका माफ किया सरचार्ज बिल में आज ही ऑटोमैटिक जुड़ जाएगा और आपको सारा बिल 1 सिंतबर 2020 ही को जमा करना पड़ेगा। जमा नही करने पर विच्छेदन कर बकाया वसूली हेतु वैधानिक कार्यवाही की जा सकती है।
अतः आज ही अपनी किस्तें जमा कराये। हम इस मैसेज को सभी तक पहुचाने की आपसे अनुरोध करते है। अभी कर दो तो मेरे सभी सम्मानित उपभोक्ताओं का फायदा हो जाएगा।


बढतः निजी अस्पतालों में पहुंचा कोरोना

 निजी अस्पतालों में पहुंचा कोरोना, डॉक्टर समेत 29 पॉजिटिव-


कुलदीप


सहारनपुर। जिले में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब कोरोना वायरस ने निजी अस्पतालों में भी दस्तक दे दी है। सहारनपुर के तीन बड़े निजी अस्पतालों में एक डॉक्टर समेत 29 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 3583 तक पहुंच गई है।
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, कोरोना पॉजिटिव मरीजों में निजी अस्पतालों के अलावा शारदा नगर, नुमाइश कैम्प, बेहट रोड, देवबंद, नागल, सरसावा, नकुड़ आदि क्षेत्रों के रहने वाले हैं। कई लोगों में कोरोना के हल्के लक्षण दिखाई दिए हैं, इन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया है। अन्य मरीजों को कोविड अस्पताल भेज दिया गया है। 2030 कोरोना पॉजिटिव स्वस्थ होकर अपने घर लौट आए हैं। अब 1553 कोरोना के एक्टिव केस हैं।                       


अलर्टः यूपी में तेजी से फैल रहा है संक्रमण

लखनऊ। यूपी में रविवार को 6233 संक्रमित मरीज मिले हैं। यह प्रदेश में अब तक के सबसे ज्यादा संक्रमित हैं। पहली बार आंकड़ा छह हजार पार कर गया है। अब तक 2,25, 632 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। रविवार को 67 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। इस तरह मृत्यु दर 1.51 फीसदी है। 1,67,543 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। इसलिए रिकवरी रेट 74.25 फीसदी है।


लखनऊ में सबसे ज्यादा मरीज,कानपुर में सबसे ज्यादा 11 मौतें
प्रदेश में लखनऊ सबसे ज्यादा संक्रमण वाला जिला बनता जा रहा है। यहां 999 नए केस पाए गए हैं। रविवार को लखनऊ में 8मौतें हुईं हैं जबकि प्रदेश भर में सबसे ज्यादा 11 मौतें कानपुर में हुई हैं।


प्रयागराज में 8 और गोरखपुर में चार मौते हुई हैं।


अगस्त में पॉजिटिविटी दर 4.7 फीसदी
प्रदेश में अगस्त में पॉजिटिविटी दर 4.7 फीसदी रही है। इस महीने सबसे ज्यादा कानपुर नगर, लखनऊ, गोरखपुर, महाराजगंज, देवरिया और कुशीनगर सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रही। सबसे कम बागपत, महोबा, हाथरस, संभल और हमीरपुर में रही। इस समय 70 फीसदी पुरुष और 30 फीसदी महिलाएं संक्रमित हैं।
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि इस समय 54,666 सक्रिय मामलों में 50 फीसदी से ज्यादा 27,364 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। अब तक 97506 मरीज होम आइसोलेशन सुविधा का फायदा उठा चुके हैं। निजी अस्पतालों में शुल्क देकर 2463 मरीज और एल-1 प्लस की सुविधा वाले होटलों में 256 मरीज भर्ती हैं। पिछले 24 घंटों में 1,39,454 टेस्टिंग हुई है। अब तक 54,90,354 टेस्टिंग हो चुकी हैं। प्रदेश में अब तक 62,809 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित हो चुकी हैं। इसके तहत 7 लाख से अधिक लोगों             


सोना-चांदी की कीमतों में फिर आई तेजी

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख के चलते भारतीय बाजारों में आज सोने और चांदी की कीमतों में तेजी दर्ज की गई। एमसीएक्स पर, अक्तूबर का सोना वायदा 0.3 फीसदी बढ़कर 51,600 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। चांदी की बात करें, तो एमसीएक्स पर सितंबर का चांदी वायदा दो फीसदी बढ़कर 67,350 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया। 


पिछले सत्र में सोने में 500 रुपये प्रति 10 ग्राम की वृद्धि हुई थी, जबकि चांदी में लगभग 1,000 रुपये प्रति किलोग्राम की वृद्धि हुई थी। भारत में सोने की कीमतें सात अगस्त को 56,200 रुपये के रिकॉर्ड स्तर पर थी और तब से वैश्विक दरों में उतार-चढ़ाव के साथ कीमतें अस्थिर रही हैं।

वैश्विक बाजारों में इतना है दाम वैश्विक बाजारों में, आज कमजोर अमेरिकी डॉलर के कारण सोने की कीमतें दो सप्ताह की उच्च स्तर पर पहुंच गई। शुरुआती कारोबार में 1,976 डॉलर (जो कि 19 अगस्त के बाद का उच्चतम स्तर है) की बढ़ोतरी के बाद हाजिर सोना 0.4 फीसदी बढ़कर 1,971.68 डॉलर प्रति औंस हो गया। अमेरिकी सोना वायदा 0.4 फीसदी बढ़कर 1,982.50 डॉलर हो गया। डॉलर सूचकांक 0.2 फीसदी गिर गया।

 

अन्य कीमती धातुओं में, चांदी 1.7 फीसदी बढ़कर 27.94 डॉलर प्रति औंस हो गई जबकि प्लैटिनम 0.4 फीसदी बढ़कर 935.06 डॉलर हो गया।

 

वैश्विक बाजारों में इस साल अब तक सोने की कीमतें लगभग 30 फीसदी बढ़ गई हैं। निवेशकों को उम्मीद है कि सरकारें और केंद्रीय बैंकों की नीतियां लंबी अवधि के लिए सकारात्मक रहेंगी क्योंकि दुनिया में कोरोना वायरस मामले रविवार को 250 लाख से अधिक हो गए।

 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना की छठी किस्त शुरू

एक ओर जहां देश में सोने की कीमतें बढ़ रही है, वहीं केंद्र सरकार ने जनता को सस्ती दरों पर सोना खरीदने का मौका दिया है। निवेशक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना के तहत बाजार मूल्य से काफी कम दाम में सोना खरीद सकते हैं। यह योजना सिर्फ पांच दिन के लिए है। इसलिए अगर आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो देर ना करें।

 

सस्ते में सोना खरीदने का पहला दिन आज

योजना के तहत निवेश करने की अवधि 31 अगस्त 2020 यानी आज से शुरू हो गई है और चार सितंबर 2020 को इसका आखिरी दिन है। सरकार की ओर से योजना में निवेश के लिए पांच दिन तक का समय दिया गया है। सरकार की ओर से गोल्ड बॉन्ड में निवेश के लिए यह वित्त वर्ष 2020-21 की छठी श्रृंखला है। पहली श्रृंखला 20 अप्रैल 2020 से शुरू होकर 24 अप्रैल 2020 को समाप्त हुई थी।             


राजस्थान में भारी बारिश का अलर्ट जारी

जयपुर। राजस्थान में (IMD) मौसम विभाग द्वारा भारी बारिश की संभावनाओं को देखते हुए पुनः अलर्ट घोषित किया गया है। मानसून की बारिश का दौर जारी है। इस बारिश ने कई जिलों को तो बाढ़ के रुप में बदल दिया। कुछ जिलों में हल्की बरसात भी हुई है। जिससे इन जिलों में बिजाई का काम भी शुरु हो गया है। बरसात से नदी नाले भी उफान पर है। बासंवाड़ा, उदयपुर जिलों में इससे काफी नुकसान हुआ है। बारिश से माही बांध के सभी गेट को पहले ही खोला जा चुका है। मौसम विभाग ने सोमवार को भी प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बारिश की संभावना जताई है। विभाग ने 10 जिलों में येलो अलर्ट (Yellow Alert) और 3 जिलों में ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी किया है। राजधानी जयपुर में आज सुबह से काली घटाओं का दौर जारी है। रविवार रात को भी कुछ इलाकेां में जोरदार बारिश हुई।


इन 10 जिलों में रहेगा येलो अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी राजस्थान के 10 जिलों में बारिश का दौर जारी रहेगा। मौसम विभाग ने इन जिलों में येलो अलर्ट जारी करते हुए तेज मेघगर्जन के साथ बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग के अनुसार, अजमेर, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ, डूंगरपुर, झालावाड़, प्रतापगढ, राजसमंद और सिरोही जिले में भारी बारिश हो सकती है।


11.6 मिलियन का सौदा अधिग्रहित किया

सिडनी। ऑस्ट्रेलियाई डॉलर 11.6 मिलियन से अधिक लेनदेन के लिए निश्चित समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। बढ़ती वैश्विक पदचिह्न के साथ हैदराबाद से इंजीनियरिंग और डिजिटल प्रौद्योगिकी समाधान फर्म इंफोटेक एंटरप्राइजेज ऑस्ट्रेलियाई कंसल्टिंग फर्म IG पार्टनर्स को ऑस्ट्रेलियाई डॉलर 11.6 मिलियन से अधिक नकद सौदे पर अधिग्रहित कर रहा है।



Cyient ने सोमवार को कहा कि एक निश्चित समझौते के तहत पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी Cyient ऑस्ट्रेलिया का अधिग्रहण किया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया में खनन, तेल और गैस, रेल, दूरसंचार और उपयोगिता उद्योगों के लिए एक समाधान प्रदाता के रूप में साइंट की बढ़ती उपस्थिति के बीच, अधिग्रहण से ऊर्जा और खनन उद्योग में अपनी डिजिटल क्षमताओं को मजबूत करने की उम्मीद है। कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंज को फाइलिंग में कहा, “अधिग्रहण के लिए तर्क वैश्विक खनन की बड़ी कंपनियों के साथ निर्णय निर्माताओं तक पहुंच बना रहा है, साइएंट की खनन रणनीति में तेजी और डिजिटल रूपांतरण नेता के रूप में स्थिति को मजबूत कर रहा है।”


अधिग्रहण की लागत पर, Cyient ने कहा कि यह नकद मुक्त और ऋण मुक्त आधार पर ऑस्ट्रेलियाई डॉलर 11.6 मिलियन (लगभग on 62.52 करोड़) के अपफ्रंट भुगतान के लिए होगा और भविष्य के प्रदर्शन के आधार पर बाहरी कमाई करेगा।


2012 में स्थापित एक प्रौद्योगिकी परामर्श, मेलबोर्न-मुख्यालय आईजी पार्टनर्स संगठनात्मक बाधा को दूर करने या काम करने के प्रभावी तरीकों को एम्बेड करके संगठनों को अपनी रणनीति देने में सक्षम है। ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, सिंगापुर और चिली में इसकी मौजूदगी है। वित्त वर्ष 2015 में कंसल्टेंसी के पास ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का राजस्व 14.8 मिलियन था।


साइबर ने कहा कि आईजी पार्टनर्स के ग्राहकों में कई फॉर्च्यून 500 कंपनियों सहित बड़े खनन खिलाड़ी शामिल हैं। इसके सभी प्रमुख प्रबंधन कर्मी Cyient स्वामित्व के तहत व्यवसाय के साथ रहेंगे। IG पार्टनर्स लगभग 40 कर्मचारियों और सलाहकारों को नियुक्त करता है।


ऑस्ट्रेलिया के विदेशी निवेश समीक्षा बोर्ड (एफआईआरबी) से अनुमोदन के अधीन लेनदेन के पूरा होने में छह महीने लगने की उम्मीद है।


साइएंट के एमडी और सीईओ कृष्ण बोडानापु ने कहा कि खनन उद्योग डिजिटल प्रौद्योगिकियों के अभिसरण के साथ बदल रहा है। Cyient की डिजिटल निष्पादन क्षमताओं और IGP की सलाहकार विशेषज्ञता का तालमेल उद्योग के लिए एक अद्वितीय मूल्य प्रस्ताव तैयार करेगा।


उन्होंने एक बयान में कहा, “यह अधिग्रहण ऑस्ट्रेलिया में हमारे पदचिह्न को भी जोड़ता है, जो हमारे भविष्य के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है।”


आईजी पार्टनर्स के संस्थापक और प्रबंध साझेदार हरमन क्लेनहंस ने कहा, “हमारी टीम साइवर द्वारा फर्म के प्रस्तावित अधिग्रहण का दोनों व्यवसायों के लिए परिवर्तनकारी क्षण के रूप में स्वागत करती है।”           



मस्जिद निर्माण के लिए ट्रस्ट ने मांगा दान

अयोध्या। सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा गठित मस्जिद ट्रस्ट ने बड़े पैमाने पर लोगों से दान लेने के लिए बैंक डिटेल्स जारी कर दी हैं। ट्रस्ट बाबरी मस्जिद के एवज में धनीपुर गांव में मिली 5 एकड़ जमीन पर मस्जिद के अलावा गैर-मुस्लिमों के लिए अस्पताल, सामुदायिक रसोई और पुस्तकालय का भी निर्माण कर रहा है। इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन नाम के इस ट्रस्ट ने दान प्राप्त करने के लिए दो प्रमुख निजी बैंकों में दो करंट अकाउंट खोले हैं। ट्रस्ट के सचिव अतहर हुसैन ने कहा, “हम धनीपुर परिसर को सांप्रदायिक सद्भाव का अनूठा उदाहरण और चिकित्सा, शिक्षण और प्रार्थना का केंद्र बनाने के लिए सभी समुदायों से दान स्वीकार करेंगे। हमने दान प्राप्त करने के लिए वेबसाइट और पोर्टल बनाने का फैसला किया है क्योंकि दान देने के इच्छुक लोग लगातार हमसे संपर्क कर रहे हैं।”


उन्होंने आगे कहा, “हम सरकार से भी वित्तीय सहायता कीउम्मीद करते हैं। बल्कि असम के एक सांसद अब्दुल खालिक ने हमें दान देने की पेशकश की है। हमें मुसलमानों और हिंदुओं के भी संदेश मिल रहे हैं, जो मस्जिद और अन्य सुविधाओं के लिए धन देना चाहते हैं।”


वहीं राम मंदिर निर्माण की देखरेख करने वाले श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट ने पहले ही मंदिर निर्माण के लिए दान लेने के लिए बैंक खाते खोल लिए हैं। बता दें कि इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन का गठन नौ सदस्यों के साथ किया गया था। अभी इसमें छह सदस्य और जोड़े जाएंगे। यह ट्रस्ट मस्जिद के निर्माण और अयोध्या में कॉम्प्लेक्स की देखरेख करेगा।           


आगरा में शव मिलने से फैली सनसनी

आगरा। उत्तर प्रदेश में आगरा के एत्माद्दौला क्षेत्र में सोमवार सुबह एक ही परिवार के तीन लोगों के अधजले शव मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि क्षेत्र के नगला किशनलाल इलाके में पति, पत्नी और बेटे के शव घर में मिले हैं। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और मामले की छानबीन की जा रही है।


उन्होंने बताया कि तीनों के शव एक ही कमरे में जली हुई हालत में मिले हैं। मृतकों में रघुवीर (55), पत्नी मीरा (50) और 22 वर्षीय बेटा बबलू शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक रघुवीर परचून की दुकान चलाते थे और रविवार शाम को ही ससुराल से लौटकर आए थे। सूत्रों ने बताया कि स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव बाहर निकाले।

मृतक बबलू और मीरा के हाथ बंधे हुए थे, जबकि रघुवीर के गले में फंदा पड़ा हुआ था। सूचना पर एडीजी अजय आनंद, आईजी के सतीश गणेश और एसएसपी बबलू कुमार टीम के साथ मौके पर पहुंचे। एडीजी अजय आनंद ने कहा कि तीनों की हत्या की गई है। हत्या के शव जलाए गए हैं। हत्या क्यों और किसने की पता लगाने की कोशिश की जा रही है।


पुलिस ने 3 शातिर चोरों को किया गिरफ्तार

नैनीताल। कोतवाली पुलिस ने सौर ऊर्जा पैनल- बैटरी चोरी का खुलासा कर तीन शातिर चोरों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। आरोपियों के पास चोरी की तीन बैटरी , तीन सौर ऊर्जा पैनल एवं तीन बैटरी बाक्स बरामद हुए है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक विगत 28 अगस्त की रात नगर पंचायत बारात घर से अज्ञात चोरों ने 3 सौर ऊर्जा पैनल एवं बैटरी चोरी कर ली थी। सुबह जानकारी होने पर नगर पंचायत लालकुआं के लाइनमैन रमेश कुमार ने मामले की सूचना कोतवाली लालकुआं पुलिस को दी।


हरियाणाः भर्ती में बड़े घोटाले की आशंका

राणा ऑबरॉय


चंडीगढ़। हरियाणा में लॉक डाउन के दौरान होमगार्ड की भर्ती पर सवाल उठने लगे हैं। विभाग की तऱफ से इस भर्ती पर पाबंदी लगाई है लेकिन बावजूद इसके प्रदेश में स्वीकृत 14,025 पदों पर पुराने होमगार्डों को हटाकर नये भर्ती करने का खेल जारी रहा। अब इसको लेकर जांच के आदेश दिये गए हैं। बताया जा रहा है कि प3देश में एक साल में सैंकड़ों की संख्या में नये होमगार्ड भर्ती किये गए हैं। मामला कैबिनेट मंत्री अनिल विज के पास पहुंचने के बाद अब गृह सचिव को पूरी रिपोर्ट देने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने हर जिले में हुई भर्ती का रिकॉर्ड तलब किया है। हरियाणा होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन की तरफ से प्रदेश में होमगार्ड भर्ती में धांधली की शिकायत गृहमंत्री अनिल विज को दी है। जिसके बाद इस भर्ती में फर्जीवाड़े का अंदेशा जताया जा रहा है। इतना ही नहीं इस भर्ती की जांच में कई अधिकारी भी लपेटे में आ सकते हैं। इस वक्त सबसे ज्यादा होम गार्ड हिसार और यमुनानगर में लगे हुए हैं। सूत्रों का कहना है कि 2016 में तत्कालीन डीजी के सेल्वराज ने नई भर्ती पर पाबंदी लगाई थी। एसोसिएशन ने शिकायत में कहा कि अनेक होम गार्ड ऐसे हैं, जिन्हें अधिकारियों के केवल मौखिक आदेशों से अचानक हटा दिया गया। उन्हें कोई सूचना तक नहीं दी गई।             


पूर्व 'राष्ट्रपति' की स्थिति में आई गिरावट

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की चिकित्सा हालत आर्मी हॉस्पिटल (रिसर्च एंड रेफरेंस) ने कहा कि कल से गिरावट आई है और वह गहरे कोमा में है और वेंटिलेटर सपोर्ट पर है। दिल्ली छावनी सोमवार को। 
“कल से माननीय श्री प्रणब मुखर्जी की चिकित्सा स्थिति में गिरावट देखी जा रही है। वह अपने फेफड़ों के संक्रमण के कारण सेप्टिक सदमे में है और विशेषज्ञों की टीम द्वारा प्रबंधित किया जा रहा है। वह गहरे कोमा में और वेंटीलेटर समर्थन पर जारी है। “अस्पताल ने एक बयान में कहा। 
पूर्व राष्ट्रपति ने इसके लिए सकारात्मक परीक्षण किया था COVID-19 और 10 अगस्त को आर्मी हॉस्पिटल (R & R) में मस्तिष्क के थक्के के लिए सर्जरी की गई।                   


एससी से पुनर्विचार का अनुरोध किया

नई दिल्ली। देशभर के करीब 122 लॉ स्टूडेंट्स को लिखा है मुख्य न्यायाधीश भारत के (CJI) एसए बोबडे और अन्य न्यायाधीश उच्चतम न्यायालय वरिष्ठ वकील पर फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए प्रशांत भूषण में निंदा अदालत का मामला। 
सुप्रीम कोर्ट ने इस महीने की शुरुआत में भूषण को अपने ट्वीट्स पर अदालत की अवमानना ​​का दोषी ठहराया था और सजा की मात्रा पर अपना आदेश सुरक्षित रखा था। शीर्ष अदालत सोमवार को सजा सुनाने वाली है। 
पत्र में, कानून के छात्रों ने अवमानना ​​मामले में वकील भूषण के खिलाफ सजा पर पुनर्विचार करने के लिए सीजेआई और अन्य न्यायाधीशों को एक भावनात्मक अपील की। 
“न्यायपालिका को जनता के विश्वास की बहाली के द्वारा आलोचना के लिए जवाब देना चाहिए। न्यायपालिका को अपना मामला बदलकर आलोचना का जवाब देना चाहिए। न्यायपालिका को अदालत की अवमानना ​​के लिए आरोप नहीं लगाना चाहिए जब आलोचना पीड़ा से उठती है और न्याय के लिए प्यार करती है, एक से। पत्र में कहा गया है कि उसी न्याय की गहराई में रहने वाला व्यक्ति दूसरों के लिए प्रार्थना करता है। 
कानून के छात्रों ने कहा कि उन्होंने पारदर्शिता, जवाबदेही, पर्यावरण संरक्षण के लिए लड़ने वाली अदालतों में भूषण को देखा है, मानवाधिकार और वर्षों से भ्रष्टाचार के खिलाफ है। 
हमारे भ्रातृत्व और राष्ट्र-निर्माण में उनका योगदान निस्संदेह कानूनी बिरादरी में सभी द्वारा पोषित है, खुले पत्र ने कहा। 
उन्होंने कहा कि दो ट्वीट, जिस पर भूषण को अवमानना ​​का दोषी ठहराया गया था, ने आवाजहीन और हाशिए के समुदाय के लिए पीड़ा व्यक्त की है। पत्र में कहा गया है कि ये ट्वीट अदालत की पवित्रता को चोट नहीं पहुंचाते क्योंकि यह न्याय के प्रति न्यायाधीशों के दृष्टिकोण पर निर्भर करता है। 
“मुझे एहसास है कि ऋषि मौन के साथ, एसिड भाषण के शाफ्ट: प्रतिरोध करना कितना मुश्किल है, और, यह तर्क के प्रलोभन के आगे झुकना कितना उचित है, जहां कांटा नहीं, गुलाब, विजय। अवमानना ​​अधिकार क्षेत्र में, मौन है। हमारी शक्ति व्यापक है और हम अभियोजक और न्यायाधीश हैं, “कानून के छात्रों ने पत्र में कहा, सेवानिवृत्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति वीके अय्यर के एक फैसले के हवाले से। 
कानून के छात्रों ने आगे कहा कि न्यायाधीश की निष्पक्ष रूप से आलोचना करने के लिए, एक अपराध के रूप में, कोई अपराध नहीं बल्कि एक आवश्यक अधिकार है, जो दो बार लोकतंत्र में धन्य है। 
भूषण को इस महीने की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट द्वारा उनके दो ट्वीट्स के लिए अदालत की अवमानना ​​का दोषी ठहराया गया था, पहला 29 जून को पोस्ट किया गया था, जो एक उच्च अंत बाइक पर सीजेआई बोबडे की तस्वीर पर उनकी टिप्पणी / पोस्ट से संबंधित था। 
अपने दूसरे ट्वीट में, भूषण ने देश में मामलों की स्थिति के बीच अंतिम चार सीजेआई की भूमिका पर अपनी राय व्यक्त की। इस बीच, प्रशांत भूषण के खिलाफ कोर्ट केस की एक और अवमानना ​​भी सुप्रीम कोर्ट के सामने लंबित है।           


एमपी में बारिश के कारण 8 की मौत

नयी दिल्ली। महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश में रविवार को भारी बारिश के कारण कई नदियां उफान पर आ गईं जबकि ओडिशा के तटीय इलाकों के कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए। राष्ट्रीय राजधानी में अगले छह दिन तक हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने रविवार को अपने पूर्वानुमान में इसकी जानकारी दी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि व्यापक पैमाने पर बारिश का अनुमान नहीं है। साथ ही अगले छह दिन तक हल्की बारिश होने का अनुमान जताया गया है। दिल्ली में अगस्त में अब तक 236.5 मिमी बारिश दर्ज की गई है। राजधानी की तरह ही हरियाणा और पंजाब में भी रविवार को अधिकतम तापमान सामान्य सीमा के आसपास ही रहा। इस बीच, उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई जबकि 16 जिलों के कीब 600 गांव अब भी बाढ से प्रभावित हैं। प्रदेश में शारदा और सरयू नदी कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। उधर, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि दो दिनों से हो रही भारी बारिश से प्रदेश में 10 लोगों की मौत हुई है औरप्रदेश के बाढ़ प्रभावित 12 जिलों के 454 गाँवों से लगभग 11,000 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। हालांकि, आज प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश कुछ थम गई है। इस बीच, राजस्थान में पिछले 24 घंटों के दौरान पूर्वी इलाकों के अनेक स्थानों तथा पश्चिमी इलाकों के कुछ स्थानों पर मेघगर्जन के साथ हल्की से मध्यम दर्ज की बारिश दर्ज की गई| वागड़ अंचल के दोनों जिलों (बांसवाड़ा-डूंगरपुर) में शनिवार से लगातार हो रही बारिश के बाद माही बांध के सभी 16 गेट खोल दिये गये। मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान उदयपुर, सिरोही, डूंगरपुर, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, झालावाड़, बांसवाड़ा, भीलवाड़ा, अजमेर, जैसलमेर तथा बीकानेर जिलों में कहीं कहीं भारी से अति भारी बारिश दर्ज की गई। सर्वाधिक बारिश 360 मिलीमीटर डूंगरपुर के आसपुर में दर्ज की गई। गुजरात के विभिन्न हिस्सों में रविवार को भारी वर्षा होने से भरूच सहित कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। सरदार सरोवर बांध से पानी छोड़े जाने के चलते भरूच में नर्मदा नदी के किनारे के क्षेत्रों में पानी भर गया जिसके चलते वहां से 2,000 से अधिक लोगों को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना पड़ा। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्य एजेंसियों की टीमें भरूच में बचाव अभियानों में शामिल रहीं।भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार तक कई जिलों में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक बारिश के साथ भारी से बहुत भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। रविवार की सुबह से, पंचमहाल, राजकोट, बनासकांठा, वडोदरा, बोटाद, अहमदाबाद और कुछ अन्य जिलों में भारी बारिश हुई, जिससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया और कई नदियों और झीलों में पानी बढ़ गया। तटीय ओडिशा में कई गांव रविवार को महानदी के बाढ़ के पानी से घिर गए। कटक के पास मुंदाली बैराज से 10 लाख क्यूसेक पानी का प्रवाह होने से यह स्थिति पैदा हुई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। नदी में आयी बाढ़ से कटक जिले के बांकी क्षेत्र में गांवों में पानी भर गया और सड़क सम्पर्क प्रभावित हुआ। मुख्य सचिव ए के त्रिपाठी ने बताया कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक सोमवार को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे और स्थिति को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक करेंगे। त्रिपाठी ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार राहत एवं बचाव के लिए सभी इंतजाम कर लिये गए हैं और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त संख्या में एनडीआरएफ, ओडीआरएएफ और दमकल कर्मियों की टीमों को तैनात किया गया है। मुख्य सचिव ने कहा कि महानदी में उच्च स्तर का जलप्रवाह सोमवार तक जारी रहने की संभावना है। उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग के इंजीनियर केंद्रपाड़ा, पुरी, जगतसिंहपुर और कटक जिलों में स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। इस बीच मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले तीन दिनों के दौरान क्योंझर, मयूरभंज, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, रायगढ़ा, गजपति, मल्कानगिरि और जाजपुर जिलों सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तीव्रता की वर्षा होने का अनुमान जताया है।           


योगी सरकार ने जारी किए 'दिशा-निर्देश'

लखनऊ। केंद्र के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अनलॉक-4 से संबंधित दिशा-निर्देश रविवार देर जारी कर दिए। राज्य के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी की तरफ से जारी दिशानिर्देश में ज्यादातर बिंदु केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश के अनुरूप ही हैं। दिशानिर्देशों में कहा गया है कि अब निरुद्ध क्षेत्र (कंटेनमेंट जोन) के बाहर जिलाधिकारी स्थानीय स्तर पर किसी भी तरह का लॉकडाउन नहीं लगा सकेंगे। हालांकि हर शनिवार और रविवार को लागू होने वाली पाबंदियां जारी रहेंगी। दिशानिर्देशों के मुताबिक आगामी सात सितंबर से मेट्रो रेल को चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। इस सिलसिले में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) अलग से जारी की जाएगी। आगामी 21 सितंबर से सभी सामाजिक, अकादमिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों तथा अन्य सामूहिक गतिविधियों को शुरू करने की इजाजत होगी लेकिन इसमें अधिकतम 100 लोग ही हिस्सा ले सकेंगे। इस दौरान फेस मास्क का इस्तेमाल, सामाजिक दूरी का पालन करना और थर्मल स्कैनिंग, हाथ धोने तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था अनिवार्य होगी। इसके अलावा 21 सितंबर से शादी-विवाह संबंधी समारोह और अंतिम संस्कार में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। अभी तक इन मौकों पर क्रमशः 30 और 20 लोग ही शिरकत कर सकते थे। राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थानों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों, राष्ट्रीय कौशल विकास निगम तथा राज्य कौशल विकास अभियानों में या फिर राज्य सरकार अथवा केंद्र सरकार में पंजीकृत अल्पकालिक प्रशिक्षण केंद्रों में कौशल अथवा व्यावसायिक प्रशिक्षण की इजाजत होगी। राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय एवं विकास संस्थान, भारतीय उद्यमिता संस्थान, उद्यमिता विकास संस्थान, उत्तर प्रदेश और उनके प्रशिक्षण प्रदान करने वालों को भी अनुमति होगी। यह व्यवस्था 21 सितंबर से लागू होगी। इसके लिए संचालन प्रक्रिया केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जाएगें।             


गोवाः 6939 छात्रों के लिए केंद्र स्थापित

पणजी। केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गोवा के मुख्मयंत्री प्रमोद सावंत से मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा नीट तथा जेईई के आयोजन के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम करने का आग्रह किया है। मंत्री ने रविवार को एक ट्वीट में बताया कि राज्य ने 6,939 छात्रों के लिए 17 केन्द्रों की स्थापना की है। वैश्विक महामारी के कारण राज्य में विपक्षी दल कांग्रेस नीट और जेईई परीक्षा स्थगित करने की मांग कर चुकी है। निशंक ने ट्वीट किया, ‘‘ मैंने राज्य में नीट और जेईई परीक्षाएं आयोजित कराने को लेकर मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत से व्यापक चर्चा की।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ राज्य ने 6,939 छात्रों के लिए 17 केन्द्र स्थापित किए हैं। मैंने मुख्यमंत्री से इन केन्द्रों पर पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम करने की अपील की है। कांग्रेस से संबद्ध राष्ट्रीय छात्र संघ (एनएसयू) के तीन नेताओं को शनिवार को हिरासत में लिया गया था। वे जेईई और नीट परीक्षा को रद्द करने की मांग करते हुए पणजी के आजाद मैदान में भूख हड़ताल पर बैठ गए थे। गैर भाजपा शासित छह राज्यों के मंत्रियों ने नीट और जेईई की परीक्षाओं के आयोजन की अनुमति देने के उच्चतम न्यायालय के 17 अगस्त के आदेश पर पुनर्विचार के लिए शुक्रवार को शीर्ष अदालत में याचिका दायर की थी। उच्चतम न्यायालय ने 17 अगस्त को जेईई (मेन) और नीट परीक्षा को स्थगित करने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया था और कहा था कि छात्रों के बहुमूल्य शैक्षणिक वर्ष को बर्बाद नहीं किया जा सकता। न्यायालय ने कहा था कि जीवन चलते रहना चाहिए।               


दुबई की आज़मान मार्केट में लगी आग

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। दुबई में आज़मान की मार्केट में अचानक जबरदस्त आग लग गई। आज़मान की मार्केट में लगी आग के बाद उसके चारों ओर आवाजाही रोक दी गई है। बताया जा रहा है कि इस मार्केट में आग की लपटे तेजी से फ़ैल रही है। पूरा मार्केट काले धुएं की चपेट में है। आग कैसे लगी इसका अभी पता नहीं चल पाया है। दमकल की कई गाड़ियां मौके पर भेजी गई है। बताया जाता है कि अचानक लगी आग की चपेट में आने से कई लोग झुलस गए है। हालाँकि अभी अधिकृत रूप से जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं आई है।                                                       


मृतक संख्या-64, 469 संक्रमित-36 लाख

भारत में कोरोना मरीजों की आंकड़ा 36 लाख के पार।


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में रोजाना आने वाले कॉमेडी -19 के मामलों में तेजी का सिलसिला बरकरार है।सोमवार सुबह (रविवार सुबह 8 बजे से लेकर सोमवार सुबह 8 बजे तक)  स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार देश में कुल संक्रमितों की संख्या 36,21,245 हो चुकी है।पिछले 24 घंटों में नए मामले 78,512 सामने आए हैं वहीं 971 लोगों की मौत हुई है। जिसके बाद मृतकों की कुल संख्या 64,469 हो चुकी है। देश में इस वक्त कोरोना के 7,81,975 मामले एक्टिव हैं।पिछले 24 घंटों में 60,868 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। जबकि इस वायरस को अब तक कुल  27,74,801 लोग मात देने में कामयाब हो चुके हैं।
भारत में कुल संक्रमितों की संख्या 36 लाख के पार पहुंचने में 214 दिनों का वक्त लगा है।पहले लाख होने में 110 दिनों का वक्त लगा था। इसके बाद करीब 104 दिनों में करीब 35 लाख मामले सामने आ चुके हैं।
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राहत सिर्फ इस बात की है कि रिकवरी रेट में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।ताजा आंकड़ों में रिकवरी रेट 76.62 फीसदी नजर आ रहा है।वहीं डेथ रेट 2 प्रतिशत से नीचे बरकरार है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कोरोना वायरस डेथ रेट 1.78 फीसदी हो गई है।वहीं पॉजिटिविटी रेट 9.27 फीसदी हो गया है।
जानकारों के अनुसार देश में टेस्टों की संख्या में इजाफा के चलते ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। आईसीएमआर  के अनुसार पिछले 24 घंटों में 8,46,278 लोगों की जांच की गई है। जबकि अब तक कुल 4,23,07,914 लोगों का कोरोना सैंपल लिया जा चुका है।वहीं इन 24 घंटों में कर्नाटक में 106, तमिलनाडु में 94, आंध्र प्रदेश में 88 और उत्तर प्रदेश में 67 लोगों की मौत कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से हुई।             


सतर्कता बरतने की जरूरतः मायावती

लखनऊ। पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना के दुस्साहस पर चिंता जताते हुये बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मायावती ने सोमवार को कहा कि केन्द्र सरकार को पड़ोसी मुल्क की नापाक हरकत को ध्यान में रखते हुये और ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है। मायावती ने ट्वीट किया “चीनी सेना द्वारा एक बार फिर पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में दुस्साहस करने की खबर चौकाने वाली है, लेकिन संतोष की बात है कि भारतीय सेना ने इसका मुँहतोड़ जवाब दिया है। सरकार को आगे और भी ज्यादा सजग व सतर्क रहने की जरूरत है।”


गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने बयान जारी कर कहा है कि पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में चीनी सेना ने एक बार फिर यहां पर उकसाने की गतिविधि करते हुए यथास्थिति में बदलाव करने की कोशिश की है, उसकी इस कोशिश को भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया है।                        


प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त इलाज मिलेगा

राजस्थान: कोविड-19 के गंभीर मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों में मिलेगा मुफ्त में इलाज।


जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य में कोविड-19 के गंभीर रोगियों को जरूरत होने पर निजी अस्पतालों में भी मुफ्त में इलाज मिल सकेगा।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राजकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड की उचित व्यवस्थाएं की हैं। इसके बाद भी भविष्य में और बेड की आवश्यकता होने पर निजी अस्पतालों से सहयोग लिया जाए।उन्होंने कहा कि इसके लिए जिलाधिकारी निजी अस्पतालों में राज्य सरकार की निर्धारित दरों पर कोविड-19 के गंभीर रोगियों के निशुल्क इलाज की व्यवस्था कर सकेंगे।
गहलोत ने रविवार को कोरोनावायरस संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि संकट के इस समय में निजी अस्पताल अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए आईसीयू और ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि निजी अस्पताल बिना लक्षण वाले मरीजों को बिस्तर उपलब्ध कराने के लिए होटल संचालकों के साथ बातचीत कर अनुबंध करें ताकि गंभीर रोगियों के लिए अस्पताल में बिस्तर उपलब्ध रह सकें।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि राज्य में संभागीय स्तर पर मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों में उच्च प्रवाह ऑक्सीजन युक्त बिस्तर और आईसीयू बिस्तर की संख्या को अगले एक महीने में तीन से चार गुना तक बढ़ाया जाए।उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण की स्थिति को देखते हुए पुख्ता व्यवस्थाएं सुनिश्चित करना बेहद जरूरी है। उन्होंने जयपुर और कोटा में कोविड मरीजों की देखरेख के लिए 100 अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए।
गहलोत ने पिछले दिनों कोविड-19 के रोगियों की बढ़ी संख्या को देखते हुए अजमेर, अलवर, बीकानेर, जयपुर, जोधपुर, कोटा, पाली एवं झालावाड़ में निषिद्ध क्षेत्र की व्यवस्थाएं सुदृढ़ करने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि कोविड-19 के इस दौर में जरूरतमंद हर परिवार को खाद्य सुरक्षा प्रदान करने में राज्य सरकार कोई कमी नहीं रखेगी।गहलोत ने कहा कि हाल ही प्रदेश के कुछ सांसद और विधायक भी कोरोना संक्रमित हुए हैं। इसे देखते हुए सभी सांसद-विधायक एहतियात के तौर पर अपनी कोविड-19 जांच करवाएं, जिससे संक्रमण से बचा जा सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विवाह आयोजनों के साथ-साथ सभी सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, खेल और राजनीतिक आयोजनों में पूर्व की भांति 50 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी जाए।गहलोत ने अनलॉक-4 दिशानिर्देश के अनुरूप प्रदेश के लिए दिशानिर्देश जारी करने के संबंध में भी विस्तृत चर्चा की और जयपुर मेट्रो का संचालन समाजिक दूरी और अन्य स्वास्थ्य नियम के साथ शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए।               


निमोनिया से जारा में 25 गायों की मौत

बारिश जन्य निमोनिया से जारा में 25 गायों की मौत, पंचायत सचिव निलंबित।


कलेक्टर ने एसडीएम से तत्काल कराई जांच।
सरपंच, कोटवार और गौठान समिति को नोटिस।


रायपुर। कलेक्टर श्री सुनील कुमार जैन ने पलारी विकासखण्ड के ग्राम जारा में 25 गायों के आकस्मिक मौत सम्बन्धी सूचना को गंभीरता से लिया और तत्काल मामले की जांच एसडीएम बलौदाबाजार से कराई है। एसडीएम ने जारा पहुंचकर मौके पर ग्रामीणों के बीच मामले की जांच की और जिला प्रशासन को प्रतिवेदन प्रस्तुत किया है। जिसमें बारिश जन्य ठंड के कारण उत्पन्न निमोनिया से गायों की मौत होना पाया गया है। प्रथम दृष्टया पंचायत के सचिव विजय कुमार की लापरवाही सामने आने पर उसे तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। इसके साथ ही लापरवाही बरतने पर पंचायत के सरपंच, कोटवार, पटवारी, गौठान प्रबंधन समिति को कठोर कार्रवाई के लिए शो काज नोटिस जारी किया गया है।
    गौरतलब है कि पलारी विकासखण्ड के ग्राम जारा में पिछले 3-4 दिनों में हुई अतिवृष्टि के प्रभाव से 25 गायों की मौत हो गई। इसमें 7 गायों की मौत गौठान परिसर में और 18 की मौत ग्राम के धुररीखार अंचल में हुई है। गौठान में रखी गई 3 गायें 29 अगस्त को और 4 गायें आज 30 तारीख को मौत  हुई हैं। पशु चिकित्सा विभाग ने भी मौत के सम्बन्ध में जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत किया है। उनकी रिपोर्ट के अनुसार पिछले 3-4 दिनों से अंचल में हो रही लगातार बारिश के कारण ठंड से ग्रसित होकर निमोनिया के कारण गायों की मौत हुई है। मृत गायों को धुररीखार जारा में पशु चिकित्सा अधिकारियों और ग्रामीणों की मौजूदगी में दफना दिया गया है। जांच के दौरान तहसीलदार, जनपद पंचायत के सीईओ, थाना प्रभारी, सरपंच, गौठान प्रबंधन समिति के सदस्य एवं ग्रामीण जन उपस्थित थे।               


क्रूजर-ट्रक की टक्कर 5 की मौत, 11 घायल

क्रूजर और ट्रक की भीषण टक्कर 5 की मौत 11घायल।


बहराइच। पयागपुर थाना अंतर्गत सुकईपुरवा चौराहा लालपुर के पास प्रातः लगभग 5:30 बजे बिहार के सिवान से पंजाब स्थित अंबाला जा रही फोर्स क्रूजर गाड़ी HR 37D 4630 बाईं ओर सड़क के किनारे खड़ी UP 42 BT 6190 ट्रक से टकरा गई जिसमें सवार 16 मजदूरों को गंभीर चोटें आई इनमें से 5 मजदूरों की मौत हो गई 2 की मौके पर तथा 3 की सीएचसी पयागपुर में उपचार के दौरान मृत्यु हो गयी मृतकों का नाम पता जितेंद्र गिरी पुत्र रघुनाथ निवासी लालगढ़ जनपद सिवान बिहार, पवन कुमार पुत्र राम चन्द्र निवासी सुलैहिया थाना कौड़िया जनपद गोंडा उत्तर प्रदेश, संजय प्रसाद पुत्र प्रभु प्रसाद निवासी बैरिया थाना सिधौलीया गोपालगंज बिहार, कंचन राम पुत्र जगदीश जगजीवन राम निवासी मेड़वार जामा बाजार सिवान बिहार, बसंत प्रसाद पुत्र सीताराम प्रसाद निवासी मेघवार थाना जामौ बाजार सिवान बिहार बताया जा रहा है। बाकी घायल व्यक्तियों मनजीत राम पुत्र चेतराम निवासी हरिहरपुर लालगढ़ बिहार, अखिलेश प्रसाद पुत्र जंगी लाल भगत हरिहरपुर पचरुखिया सिवान, रंजीत प्रसाद पुत्र प्रभु भगत निवासी भगतपुर सिवान बिहार, विकास कुमार पुत्र ओम प्रकाश चौरसिया निवासी हरिहरपुर लालगंज सिवान, छोटेलाल प्रसाद पुत्र गौरीशंकर निवासी बलरा थाना सिधौलीया गोपालगंज बिहार, दीपू राम पुत्र सुरेश राम हरिहरपुर लालगंज जीबी नगर सिवान, रामू कुमार पुत्र लल्लन चौरसिया निवासी उपरोक्त, सुमेश्वर साह पुत्र सुरेंद्र शाह निवासी उपरोक्त, रघुनाथ यादव पुत्र सज्जन यादव हरिहरपुर पचरुखिया जनपद सिवान, मनजीत राम पुत्र छतर राम निवासी उपरोक्त, विशाल कुमार पुत्र मुन्नीलाल निवासी मेवात जनपद सिवान बिहार को सीएचसी पयागपुर एवं जिला अस्पताल बहराइच इलाज हेतु भेजा गया है। सभी की उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच है।
मौके पर राहत एवं बचाव कार्य जारी है अपर पुलिस अधीक्षक नगर क्षेत्राधिकारी पयागपुर थानाध्यक्ष सहित पर्याप्त पुलिस बल मौजूद है तथा जिला अस्पताल में क्षेत्राधिकारी नगर सहित प्रभारी निरीक्षक नगर एवं अन्य पुलिस बल की देखरेख में इलाज जारी है। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बताया कि ट्रक को कब्जे में ले लिया गया है तथा मुकदमा पंजीकृत कर शवों को पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।            


मेरठ में 6 सितंबर तक ऑनलाइन परीक्षा

 ज्वाइंट एंटे्रंस एग्जाम 2020 की परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर तक ऑनलाइन होगी।


मेरठ। ज्वाइंट एंटे्रंस एग्जाम 2020 की परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर तक ऑनलाइन होगी। दो पालियों में हर दिन कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी। इसके लिए मेरठ में भी सेंटर बनाए गए हैं। जेईई मेन की परीक्षा साल में दो बार होती है। यह परीक्षा बीटेक, बीई, बीआर्क आदि कोर्स में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। जनवरी में इसकी परीक्षा हुई थी। दूसरी परीक्षा कोविड की वजह से टल गई थी। मेरठ में जेईई मेन में करीब 10 हजार अभ्यर्थी रजिस्टर्ड हैं। जिन अभ्यर्थियों ने एडमिट कार्ड डाउनलोड नहीं किया है। वे एनटीए की वेबसाइट से एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। जेईई एडवांस के लिए 11 से 16 सितंबर तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होंगे। 27 सितंबर को जेईई एडवांस की परीक्षा होगी। मेडिकल की नीट (राष्ट्रीय प्रवेश पात्रता परीक्षा) 13 सितंबर को है। नीट का सेंटर भी मेरठ में बनाया गया है। मेरठ में करीब 7 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे। नीट में बहुविकल्पीय आधारित आफमोड में परीक्षा होगी। जिसमें अभ्यर्थियों को कुल 180 प्रश्नों का उत्तर देना होगा। इसमें 90 प्रश्न जीव विज्ञान से 45 प्रश्न भौतिक विज्ञान और 45 प्रश्न रसायन विज्ञान से पूछे जाएंगे। परीक्षा में निगेटिव मार्किंग रहेगी।              


सेंटर खुलवाने के नाम पर ठगे ₹31 लाख

5 लाख बोलकर कॉल सेंटर खुलवाने के नाम पर ठगे 31 लाख रुपये।


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। पंचवटी निवासी सुंदन कुशवाहा से कॉल सेंटर खुलवाने के नाम पर एक युवक से 31 लाख रुपये की ठगी कर ली। पीड़ित ने कोर्ट में केस दर्ज कराने के लिए याचिका दायर की थी। नगर कोतवाली पुलिस कोर्ट के आदेश पर दस आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पंचवटी निवासी सुंदन कुशवाहा ने बताया कि जनवरी 2018 में अपूर्व नामक से उनकी मुलाकात फेसबुक पर हुई थी। अपूर्व ने शुरुआत में 5 लाख रुपये में कॉल सेंटर खुलवाने की बात कही थी। मगर धीरे धीरे कई प्रकार की फीस, कनेक्शन, प्रमाण पत्र आदि के नाम पर उससे करीब 31 लाख रुपये की ठगी कर ली। एसएचओ विष्णु कौशिक ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर मुख्य आरोपित अपूर्व मिश्रा, मयंक तिवारी, शुभम तिवारी, शफीक अहमद, आकाश अत्रे, पारस, उज्जवल, सुनील कुमार, दीपक मिश्रा और ऋतु कुमारी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।                 


देश में 'जनसंख्या नियंत्रण' कानून जरूरी

जनसंख्या नियंत्रण कानून देश के लिए बेहद जरूरी: राहुल प्रधान।


अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। वरिष्ठ समाजसेवी एवं भाजपा (किसान मोर्चा) राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य राहुल प्रधान ने जनसंख्या नियंत्रण कानून के मुद्दें पर केंद्र मंत्री और भाजपा के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह के हालिया बयानों का समर्थन करते हुए कहा कि जब तक जनसंख्या नियंत्रण कानून पास नहीं हो जाता तब इस देश की समस्याए खत्म होने वाली नहीं हैं।
उन्होंने जनसंख्या वृद्धि से उत्पन्न समस्याओं का जिक्र करते हुए स्पष्ट किया कि आने वाले 10 सालों में ना तो शुद्ध जल मिल पाएगा और ना ही रोजगार। क्योंकि, तब-तक देश पर जनसंख्या का बहुत भारी दबाव बढ़ जाएगा और ऐसे में इंसानी जीवन बिल्कुल कठिन हो जाएगा। प्रधान ने देश की पूर्वती सरकारों की गलत नीतियों को जनसंख्या वृद्धि के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि जनसंख्या वृद्धि मोदी के विकास कार्यो में सबसे बड़ा रोड़ा साबित हुआ हैं, वरना जिस तरीके से पीएम मोदी ने देश के चार मुखी विकास के लिए कार्यक्रम चलाया हैं।
वह अद्धत और अद्वितीय हैं, उन्होंने अल्प संख्या वाद दलित समुदाय के बीच इसके लिए जागरूकता अभियान की शुरुआत करने की सलाह देते हुए कहा कि गरीबी और अशिक्षा के कारण जिस तरीके से इन तबको में जनसंख्या बढी हैं, यह वाकई चिंता का विषय हैं और जरूरी हैं कि दलित एवं मुस्लिम भी इस बारे में जागरूक बने और इस पर सोचना शुरू कर दें ताकि देश को जनसंख्या विस्फोटक से बचने का प्रयतृ हो सकें।
यदि ऐसा नहीं हुआ तब वास्तव में भारत तबाह हो जाएगा। क्योंकि, हमारे यहां बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण प्रकृति संसाधनों का बुरी तरह से दोहन हो रहा हैं और एक दिन सब कुछ खत्म हो जाएगा और पूरा भारत बर्बाद हो जाएगा।             


2 बच्चों के मानक पर कर रहे हैंं विचार

उप्र में पंचायत चुनाव में दो बच्चों के मानक पर विचार कर रही योगी सरकार।


लखनऊ। योगी सरकार राज्य में पंचायत चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के लिए दो बच्चों का मानक और न्यूनतम शिक्षा आधार को शामिल करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। पंचायती राज के अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने कहा कि प्रस्ताव पर सक्रियता से विचार किया जा रहा है और जल्द ही यह औपचारिक रूप ले सकता है।                             


तेज रफ्तार ने छीनी 5 जिंदगी, 11 घायल

रफ्तार के कहर ने छीनी पांच जिंदगी, 11 घायल।


बहराइच। रफ्तार का कहर किसी न किसी के लिए काल बन कर सामने आता है। उत्तर प्रदेश के बहराइच जनपद में सोमवार तड़के तेज रफ्तार ट्रैवलर गाड़ी पीछे से ट्रक में जा घुसी। ट्रैवलर गाड़ी की रफ्तार इतनी तेज थी कि उसमें बैठे 5 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि इस हादसे में 11 लोग घायल हो गयी।  आपको बता दें कि घायल लोगों में से छह की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। सभी को आनन-फानन में जिला अस्पताल भर्ती करवाया गया है।
आपको बता दें कि ट्रैवलर वैन HR37D4630 बिहार से 15 सवारियों को लेकर अंबाला जा रही थी। सोमवार की भोर गोंडा बहराइच मार्ग पर पयागपुर थाना क्षेत्र के सुकाई पुरवा चौराहे के पास सड़क किनारे खड़े ट्रक में पीछे से भिड़ंत हो गई। हादसे में ट्रैवलर के परखच्चे उड़ गए ट्रैवलर पर सवार दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 13 लोग बुरी तरह घायल हो गए। घायलों को पहले पुलिस ने सीएससी पयागपुर पहुंचाया लेकिन यहां तीन और लोगों की मौत हो गई। भीषण सड़क हादसे में दूसरे ड्राइवर की मौत हो गई जबकि मुख्य ड्राइवर मौके से रफूचक्कर हो गया। आपको बता दें कि
इस हादसे में पांच लोगों की मौत हुई है। नाजुक हालत को देखते हुए घायलों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। 11 लोग घायल है।             


मामा ने अपनी 13 दिन की भांजी को दी मौत

महाराष्ट्र। महाभारत के कंस की याद दिलाने वाला एक मामला आया सामने, एक निर्दयी मामा ने अपनी 13 दिन की भांजी को मौत के घाट उतार दिया। मौत के पीछे की वजह जानकर आप भी चौक जाएंगे दरअसल 13 दिन की भांजी का गुनाह केवल इतना था कि उसे खूब रोना आ रहा था। भांजी का लगातार रोने से मामा को इतना नागवार गुजरा कि उसने उसके रोने से किसी तरह छुटकारा मिल जाए इस उद्देश्य से उसने अपनी भांजी को पानी के बैरल में डूबाकर बेरहमी से मार डाला। बता दें यह मामला महाराष्ट्र के लातूर का हैं जहां चाकुर तहसील के बद्रुक गांव में मामा ने वारदात को अंजाम दिया आरोपी मामा का नाम कृष्णा अंकुश शिंदे है उसकी बहन डिलिवरी के लिए अपने मायके आई हुई थी और उसने मायके में 13 दिन पहले एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया था। पुलिस के पूछताछ क दौरान हत्यारे मामा ने पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल किया।       


मुहर्रम पर सभी को पीएम ने दिया संदेश

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। मोहर्रम पर पीएम का संदेश, ‘शक्ति देती है इमाम हुसैन की समानता और निष्पक्षता’नरेंद्र मोदी ने इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए ट्वीट किया है।
इस्लामिक कैलेंडर का पहला महीना मोहर्रम होता है। इस महीने की 10वीं तारीख को अशुरा का दिन कहते हैं।इसी दिन पैगंबर मोहम्मद साहब के नवासे इमाम हुसैन और उनके 71 साथी शहीद हुए थे। इन शहीदों में सबसे छोटा शहीद 6 महीने के इमाम हुसैन के बेटे अली असगर थे. इस सभी को सिर्फ हक, इंसानियत और सच के रास्ते पर चलने की वजह से यजीद नाम के एक शासक द्वारा मार दिया गया था।इस वजह से मोहर्रम का पूरा महीना गम का महीना माना जाता है।
इमाम हुसैन की इस शहादत को आजतक कोई नहीं भुला पाया है।पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए एक ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, ''हम इमाम हुसैन (एएस) के बलिदान को याद करते हैं। उनके लिए, सच्चाई और न्याय के मूल्यों से ज्यादा महत्वपूर्ण कुछ नहीं था।समानता और निष्पक्षता पर उनका जोर उल्लेखनीय है और बहुतों को शक्ति देता है.''
गौरतलब है कि शिया और सुन्नी दोनों ही समुदाय मोहर्रम के गम में शामिल होते हैं। हालांकि, दोनों के बीच के मतभेदों की वजह से दोनों का इस गम में शामिल होने का तरीका भी काफी अलग है।शिया मुसलमान इस दिन जुलूस में हिस्सा लेते हैं और इमाम हुसैन के लिए ताजिया ले जाते हैं। शिया मुसलमानों में ये सिलसिला पूरे 2 महीने 8 दिनों तक चलता है।मुहर्रम का चांद दिखाई देने के बाद शिया महिलाएं और लड़कियां अपनी चूड़ियां तोड़ देती हैं. साथ ही वो श्रंगार की चीजों से भी 2 महीने 8 दिन के लिए दूरी बना लेती हैं।साथ ही 2 महीने 8 दिनों के लिए शिया मुसलमान किसी तरह की खुशी नहीं मनाते और न ही किसी दूसरे की खुशी में शामिल होते हैं।             


पूर्व राष्ट्रपति की हालत बिगड़ी, संक्रमण

प्रणब मुखर्जी की हालत बिगड़ी, फेफड़ों में संक्रमण के कारण हुआ सेप्टिक शॉक।


नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत रविवार के बाद से बिगड़ी है और वह अभी भी बेहोशी की हालत में वेंटीलेटर पर हैं। अस्पताल की ओर से बताया गया है कि उनके फेफड़ों में संक्रमण की वजह से वह सेप्टिक शॉक में हैं। मुखर्जी को गत 10 अगस्त को सेना के रिसर्च एंड रैफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
अस्पताल ने आज जारी मेडिकल बुलेटिन में कहा, “श्री मुखर्जी की हालत में रविवार के बाद से गिरावट दर्ज की गयी है। फेफड़े में संक्रमण के कारण उनके कुछ अन्य अंगों की कार्यप्रणाली भी प्रभावित हो रही है। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम उनकी स्थिति पर कड़ी नजर रखे हुए है। वह लगातार गहरी बेहोशी में और वेंटीलेटर पर हैं। ” पूर्व राष्ट्रपति के मस्तिष्क में जमे खून के थक्के को हटाने के लिए पिछले दिनों उनका ऑपरेशन किया गया था।               


बिहार में बाढ़ के कारण पूरी फसलें बर्बाद

बिहार में बाढ़ से खेतों में लगी पूरी फसल 105 प्रखंडों में बर्बाद , सरकारी मदद की आस किसानों को


पटना। बिहार में बाढ़ क्या आई, आधे दर्जन जिले के लोगों के रोज का निवाला ही छीन ले गई। 33 प्रतिशत फसल नुकसान वाले प्रखंडों की संख्या भले 234 प्रखंड हो, लेकिन 105 प्रखंड ऐसे हैं जहां किसानों को अनाज के लिए अब अगली फसल का ही इंतजार करना होगा। उनकी पूरी फसल बाढ़ में डूब गई है। ऐसे किसानों की निगाहें, अब सरकारी सहायता पर ही टिकी है। 
कुल खेती का 22 प्रतिशत फसल चौपट राज्य में इस बार खरीफ मौसम में 36.76 लाख हेक्टयर में खेती हुई है। धान की खेती 32.78 लाख हेक्टेयर और मक्के की 3.98 लाख हेक्टेयर में हुई। बाढ़ ने जिन फसलों को 33 प्रतिशत से अधिक नुकसान किया है उसका रकबा 7.53 लाख हेक्टेयर है। यानि कुल रकबे का लगभग 22 प्रतिशत भाग बाढ़ से प्रभावित हुआ। लेकिन, अगर प्रखंडों में हुई खेती के अनुसार गणना करें तो सौ से अधिक ऐसे प्रखंड है जहां की खेती पूरी तरह चौपट हो गई। 
कई जिलों में 90 प्रतिशत तक नुकसान आधा दर्जन जिले ऐसे हैं जहां जितनी खेती हुई उसकी 70 से 90 प्रतिशत तक फसल चौपट हो गई। दरभंगा जिले में जितने रकबे में धान और मक्का की खेती हुई, उसका 90 प्रतिशत भाग चौपट हो गया। मुजफ्फरपुर में 81 प्रतिशत तो खगड़िया में 74 प्रतिशत फसल नष्ट हो गई। इसके अलावा सहरसा, पूर्वी चम्पारण और पश्चिमी चम्पारण जिलों में भी नुकसान का प्रतिशत 60 से ऊपर है। 
लंबे समय तक टिकी बाढ़ 
राज्य में इस बार बाढ़ की अवधि काफी लंबी रही। धान की रोपनी खत्म होते ही आर्द्रा नक्षत्र से बाढ़ शुरू हो गई। अगस्त तक फसल खेतों में डूबी रही। ऐसे में पौधे भी छोटे थे और पानी भी ज्यादा दिन टिका, लिहाजा फसल को बचाना कठिन हो गया। 
खुशी ज्यादा दिन नहीं टिकी 
इस बार खरीफ की रोपनी समय पर हो गई थी। समय पर मानसून के आने के कारण किसानों ने खूब मेहनत की और धान के साथ मक्के की खेती भी बढ़े उत्साह से की। लेकिन उनकी यह खुशी ज्यादा दिन तक नहीं टिकी। अभी पूरी तरह धान की रोपनी हुई भी नहीं हुई कि बाढ़ ने दस्तक दे दी।   
बाढ़ प्रभावित जिले 
वैशाली, सारण, सीवान, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मधुबनी,  समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चम्पारण, कटिहार, शिवहर, भागलपुर, सीतामढ़ी, मधेपुरा, सहरसा, अररिया और पूर्णिया। 
आपदा प्रबंधन का प्रावधान
68 सौ रुपए प्रति हेक्टेयर असिंचित क्षेत्र में फसल नष्ट होने पर13 हजार 500 प्रति हेक्टेयर सिंचित क्षेत्र में फसल नष्ट होने पर 18 हजार प्रति हेक्टेयर पेरेनियल (सलाना) फसल में 
12 हजार 200 रुपए प्रति हेक्टेयर तीन फीट बालू जमा होने पर 39 हजार प्रति हेक्टेयर जमीन की व्यापक क्षति होने पर।               


गाजियाबाद में फिर पत्रकार पर हमला

गाजियाबाद मे एक बार फिर हुआ के टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार पर हमला, दी जान से मारने की धमकी।


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जनपद में एक बार फिर के टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार पर हुआ हमला गांव की बदहाली को कवरेज करने गए पत्रकार के साथ ग्राम प्रधान के बेटे ने मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। आपको बता दें के न्यूज़ चैनल के संवाददाता जयवीर मावी का आरोप है कि चैनल ने गांव की बदहाली को लेकर खबर कवरेज करने के लिए कहा था। जिसके बाद वो खबर कवरेज करने के लिए लोनी टीला शाहबाजपुर गांव पहुंचा, उसी दौरान वहां पर ग्राम प्रधान के बेटे के साथ उसके कुछ साथी पहुंचे और पत्रकार जयवीर मावी के साथ मारपीट करने लगे और जान से मारने की धमकी दे डाली। आपको बता दे कि इससे पहले भी खुद ग्राम प्रधान पत्रकार जयवीर मावी को फोन पर धमकी दे चुका है। अब पत्रकार ने अपनी जान का खतरा बताते हुए प्रशासन से सुरक्षा की मांग की है। वहीं इस तरह की लगातार घटनाएं सामने आने पर सवाल उठना लाजिमी हैं कि अभी कुछ दिन पहले ही पत्रकार विक्रम जोशी की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। प्रशासन पत्रकारों की सुरक्षा के लिए बदमाशों पर सख्त कार्रवाई क्यों नहीं करता हैं या फिर ऐसे ही एक के बाद एक पत्रकारों पर हमला होता रहेगा और उनकी जान जाती रहेगी।             


बैंगन की खेती, नस्ले, विधि और व्यापार

बैंगन की खेती अधिक ऊंचाई वाले स्थानों को छोड़कर भारत में लगभग सभी क्षेत्रों में प्रमुख सब्जी की फसल के रूप में की जाती है।


यह वर्ष में दो बार उगाया जाता है, अक्टूबर नवंबर तथा जुलाई अगस्त। पौष्टिकता की दृष्टि से इसे टमाटर के समकक्ष समझा जाता है। बैंगन की हरी पत्तियों में विटामिन ‘सी’ पाया गया है। इसके बीज क्षुधावर्द्धक होते हैं तथा पत्तियां मन्दाग्नि व कब्ज में फायदा पहुंचाती हैं।भूमि का चुनाव:- इसकी खेती अच्छे जल निकास युक्त सभी प्रकार की भूमि में की जा सकती है। बलुई दोमट से लेकर भारी मिट्टी जिसमें कार्बिनक पदार्थ की पर्याप्त मात्रा हो, उपयुक्त होती है। भूमि का पी.एच मान 5.5-6.0 की बीच होना चाहिए तथा इसमें सिंचाई का उचित प्रबंध होना आवश्यक है।


उन्नत किस्में:- बैंगन मुख्यतः बैंगनी, सफेद, हरे, गुलाबी एवं धारीदार रंग के होते हैं। आकार में गोलकार, अंडाकार, लंबे एवं नाशपाती के आकार के होते हैं। 


बागवानी एवं कृषि-वानिकी शोध कार्यक्रम, रांची में किये गये अनुसन्धान कार्यो के फलस्वरूप निम्नलिखित किस्में इस क्षेत्र के लिए विकसित की गई है:-


पंजाब बहार:- इस किस्म के पौधे की लंबाई 93 सैं.मी. होती है। इसके फल गोल, गहरे जामुनी रंग के और कम बीजों वाले होते हैं। इसकी औसतन पैदावार 190 क्विंटल प्रति एकड़ होती है।


पंजाब नंबर 8 :- यह किस्म दरमियाने कद की होती है। इसके फसल दरमियाने आकार के, गोल और हल्के जामुनी रंग के होते हैं। इसकी औसतन पैदावार 130 क्विंटल प्रति एकड़ होती है।
जमुनी जी ओ आई (एस 16):- यह किस्म पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की गई है और इसके फल लंबे और जामुनी रंग के होते हैं।


पंजाब बरसाती:- यह किस्म पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई है और यह किस्म फल छेदक को सहनेयोग्य है। इसके फल दरमियाने आकार के, लंबे और जामुनी रंग के होते हैं। इसकी औसतन पैदावार 140 क्विंटल प्रति एकड़ होती है।


पंजाब नीलम:- यह किस्म पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई है और इसके फल लंबे और जामुनी रंग के होते हैं। इसकी औसतन पैदावार 140 क्विंटल प्रति एकड़ होती है।


पूसा परपल लौंग:- यह जल्दी पकने वाली किस्म है, सर्दियों में यह 70-80 दिनों में और गर्मियों में यह 100-110 दिनों में पक जाती है। इस किस्म के बूटे दरमियाने कद के और फल लंबे और जामुनी रंग के होते हैं। इसकी औसतन पैदावार 130 क्विंटल प्रति एकड़ होती है।


पूसा परपल क्लसचर:- यह किस्म आई. सी. ए. आर. नई दिल्ली द्वारा बनाई गई है। यह दरमियाने समय की किस्म है। इसके फल गहरे जामुनी रंग और गुच्छे में होते हैं। यह किस्म झुलस रोग को सहने योग्य होती है।


पूसा हाइब्रिड 5 :- इस किस्म के फल लंबे और गहरे जामुनी रंग के होते है। यह किस्म 80-85 दिनों में पककर तैयार हो जाती है। इसकी औसतन पैदावार 204 क्विंटल प्रति एकड़ होती है।


अन्य किस्में


स्वर्ण शक्ति:- पैदावार की दृष्टि से उत्तम यह एक संकर किस्म है। इसके पौधों कि लंबाई लगभग 70-80 सेंटीमीटर होती है। फल लंबे चमकदार बैंगनी रंग के होते हैं। फल का औसतन भार 150-200 ग्रा. के बीच होता है। इस किस्म से 700-750 क्वि./हे. के मध्य औसत उपज प्राप्त होती है।


स्वर्ण श्री:- इस किस्म के पौधे 60-70 सेंटीमीटर लम्बे, अधिक शाखाओंयुक्त, चौड़ी पत्ती बाले होते हैं। फल अंडाकार मखनिया-सफेद रंग के मुलायम होते हैं। यह भुरता बनाने के लिए उपयुक्त किस्में है। भू-जनित जीवाणु मुरझा रोग के लिए सहिष्णु इस किस्म की पैदावार 550-600 क्वि./हे. तक होती है।


स्वर्ण मणि:- इसके पौधे 70-80 सेंटीमीटर लंबे एवं पत्तियां बैगनी रंग की होती है। फल 200-300 ग्राम वजन के गोल एवं गहरे बैंगनी रंग के होते हैं। यह भूमि से उत्पन्न जीवाणु मुरझा रोग के लिए सहिष्णु किस्म है। इसकी औसत उपज 600-650 क्वि./हे. तक होती है।


स्वर्ण श्यामलीभू:- जनित जीवाणु मुरझा रोग प्रतिरोधी इस अगेती किस्म के फल बड़े आकार के गोल, हरे रंग के होते हैं। फलों के ऊपर सफेद रंग के धारियां होती है। इसकी पत्तियां एवं फलवृंतों पर कांटे होते हैं। रोपाई के 35-40 दिन बाद फलों की तुड़ाई प्रारंभ हो जाती है। इसके व्यजंन बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं। इसकी लोकप्रियता छोटानागपुर के पठारी क्षेत्रों में अधिक है। इसकी उपज क्षमता 600-650 क्वि./हे. तक होती है। इस प्रतिभाक्षेत्र में उग्र रूप में पाए जाने वाले जीवाणु मुरझा रोग के लिए यह एक प्रतिरोधी किस्म है। इसके फल बड़े आकार के लंबे चमकदार बैंगनी रंग के होते है। इसके फलों की बाजार में बहुत मांग है। किस्मं की उपज क्षमता 600-650 क्वि./हे. के बीच होती है।


बैंगन की बीज की बुआई, खाद एवं उर्वरक।


पौधे तैयार करना


पौधशाला की तैयारी:- पौधशाला में लगने वाली बीमारियों एवं कीटों के नियंत्रण हेतु पौधशाला की मिट्टी को सूर्य के प्रकाश से उपचारित करते हैं। इसके लिए 5-15 अप्रैल के बीच 3*1 मी. आकार की 20-30 सेंटीमीटर ऊँची क्यारियां बनाते हैं। प्रति क्यारी 20-25 कि. ग्रा. सड़ी हुई गोबर की खाद तथा 1.2 कि.ग्रा. करंज कि खली क्यारी में डालकर अच्छी तरह मिलाते हैं। तत्पश्चात क्यारियों की अच्छी तरह सिंचाई करके इन्हें पारदर्शी प्लास्टिक कि चादर से ढंक कर मिट्टी से दबा दिया जाता है। इस क्रिया से क्यारी से हवा एवं भाप बाहर नहीं निकलती और 40-50 दिन में मिट्टी में रोगजनक कवकों एवं हानिकारक कीटों कि उग्रता कम हो जाती है। एक हेक्टेयर क्षेत्र में रोपाई के लिए ऐसी 20-25 क्यारियों की आवश्यकता होती है।


बीज की बुआई:- बैगन कि शरदकालीन फसल के लिए जुलाई-अगस्त में, ग्रीष्मकालीन फसल के लिए जनवरी-फरवरी में एवं वर्षाकालीन फसल के लिए अप्रैल में बीजों की बुआई की जानी चाहिए। एक हेक्टेयर खेत में बैगन की रोपाई के लिए समान्य किस्मों का 250-300 ग्रा. एवं संकर किस्मों का 200-250 ग्रा. बीज पर्याप्त होता है।


पौधशाला में बुआई से पहले बीज को उपचारित करें। बुआई 5 सेंटीमीटर की दूरी पर बनी लाइनों में करें। बीज से बीज की दुरी एवं बीज की गहराई 0.5-1.0 सेंटीमीटर के बीच रखें। बीज को बुआई के बाद सौरीकृत मिट्टी से ढकें । पौधशाला को अधिक वर्षा एवं कीटों के प्रभाव से बचाने के लिए नाइलोन की जाली लगायें।


खाद एवं उर्वरक:- अच्छी पैदावार के लिए 200-250 क्वि./हे. की दर से सड़ी हुई गोबर की खाद का प्रयोग करना चाहिए। इसके अतिरिक्त फसल में नत्रजन (260-325 कि.ग्रा. यूरिया), फॉस्फोरस, पोटाश, उचित मात्रा में मिलाएं।


बैगन की संकर किस्मों के लिए अपेक्षाकृत अधिक पोषण कि आवश्यकता होती है। 


पौध रोपण:- बुआई के 21 से 25 दिन पश्चात पौधे रोपने के लिए तैयार हो जाते हैं। बैंगन की शरदकालीन फसल के लिए जुलाई-अगस्त में, ग्रीष्मकालीन फसल के लिए जनवरी-फरवरी में एवं वर्षाकालीन फसल के लिए अप्रैल-मई में रोपाई की जानी चाहिए।


रोपाई शाम के समय करें, एवं इसके बाद हल्की सिंचाई करनी चाहिए। इससे पौधों की जड़ों का मिट्टी के साथ सम्पर्क स्थापति हो जाता है। बाद में मौसम के सिंचाई की जा सकती है। फसल की समय-समय पर निदाई-गुड़ाई करनी आवश्यक होती है।


तुड़ाई:- बैंगन के फलों की मुलायम अवस्था में तुड़ाई करनी चाहिए। तुड़ाई में देरी करने से फल सख्त व बदरंग हो जाते हैं साथ ही उनमें बीज का विकास हो जाता है, जिससे बाजार में उत्पाद का उचित मूल्य नहीं मिलता।


कीट एवं रोग नियंत्रण।


तना एवं फल बेधक:- यह कीट फसल को बहुत  नुकसान पहुंचाता है। इसके पिल्लू  शीर्ष पर पत्ती के जुड़े होने के स्थान पर छेद बनाकर घुस जाते हैं,तथा उसे अंदर से खाते हैं ।


फसल में फेरोमोन पाश लगाकर इस कीट के प्रभाव को कम किया जा सकत है। फलों पर कीट पर प्रकोप दिखाई देने पर नीम के बीच के रस का 4% की दर से घोल बनाकर 15 दिनों पर प्रयोग करें।


जैसिड्स:- ये कीट पत्तियों की सतह से लगकर रस चूसते हैं। जिसके फलस्वरूप पत्तियां पीली पर जाती हैं और पौधे कमजोर हो जाते हैं।  


एपीलेकना बीटल:- ये कीट पौधों की प्रारंभिक अवस्था में बहतु हानि पहुंचाते हैं। ये पत्तियों को खार छलनी सदृश बना देते हैं। अधिक प्रकोप की दशा में पूरी फसल बर्बाद हो जाती है। इनकी रोकथाम के लिए कार्बराइल (2.0 ग्रा./ली.) अथवा पडान (1.0 ग्रा. ली.) का 10 दिन के अंतर पर प्रयोग करें।              


देश में 78 हजार से अधिक नए मामले

नई दिल्ली। देश में लगातार दूसरे दिन भी कोरोना संक्रमण के 78 हजार से अधिक नए मामले सामने आए जिससे संक्रमितों की संख्या 35.21 लाख के पार पहुंच गई हालांकि राहत की बात यह है कि स्वस्थ होने वालाें की संख्या में बढ़ोतरी हुई है जिससे सक्रिय मामले महज 21.59 प्रतिशत रह गए हैं।केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 78,512 नए मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 36,21,245 हो गया। इसी अवधि में 60,867 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिससे कोरोना से मुक्ति पाने वालों की संख्या 27,74,801 हो गयी है। स्वस्थ होने वालों की तुलना में संक्रमण के नये मामले अधिक होने से सक्रिय मामले 16,673 बढ़कर 7,81,975 हो गये हैं।


देश के 971 और संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या 64,469 हाे गयी। देश में सक्रिय मामले 21.59 प्रतिशत और रोगमुक्त होने वालों की दर 76.63 प्रतिशत है जबकि मृतकों की दर 1.78 प्रतिशत है। कोरोना से सबसे गंभीर रूप से प्रभावित महाराष्ट्र में सक्रिय मामलों की संख्या 8422 बढ़कर 1,93,889 हो गयी तथा 296 लोगों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 24,399 हो गया। इस दौरान 7690 लोग संक्रमणमुक्त हुए जिससे स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 5,62,401 हो गयी।


देश में सर्वाधिक सक्रिय मामले इसी राज्य में हैं। दक्षिणी राज्यों में आंध्र प्रदेश में इस दौरान मरीजाें की संख्या 1,448 बढ़ने से सक्रिय मामले 99,129 हो गये। राज्य में अब तक 3884 लोगों की मौत हुई है, वहीं कुल 3,21,754 लोग संक्रमणमुक्त हुए हैं। कर्नाटक में पिछले 24 घंटों के दौरान मरीजों की संख्या में 1645 की वृद्धि हुई है और यहां अब 88,110 सक्रिय मामले हैं। राज्य में मरने वालों का आंकड़ा 5589 पर पहुंच गया है तथा अब तक 2,42,229 लोग स्वस्थ हुए हैं।


तमिलनाडु में सक्रिय मामलों की संख्या 52,721 हो गयी है तथा 7231 लोगाें की मौत हुई है। वहीं राज्य में अब तक 3,62,133 लोग संक्रमणमुक्त हुए हैं। आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में भी इस दौरान 1306 मरीजों की वृद्धि हुई है जिससे सक्रिय मामले 54,666 हो गये हैं तथा इस महामारी से 3423 लोगों की मौत हुई है जबकि 1,67,543 मरीज ठीक हुए हैं। तेलंगाना में कोरोना के 31,299 सक्रिय मामले हैं और 827 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 92,837 लोग इस महामारी से ठीक हुए है।                       


सीएम नीतीश ने खुद को आइसोलेट किया

रायपुर। प्रदेश मे कोरोना का संक्रमण दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी और उनके पूरे परिवार की कोरोना रिपोर्ट पॉजेटिव आयी थी, अब मुख्यमंत्री के OSD की कोरोना रिपोर्ट पॉजेटिव आ गयी है। OSD के साथ-साथ मुख्यमंत्री के PSO की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजेटिव आयी है। मुख्यमंत्री के करीबियों के पॉजेटिव होने के बाद प्रशासनिक गलियारों में हड़कंप मच गया है। इधर मुख्यमंत्री ने अब खुद को क्वारंटीन कर लिया है।


खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है कि वो चार दिन के लिए खुद को आइसोलेट कर रहे हैं।मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर बताया है कि उनके ओएसडी और पीएसओ की रिपोर्ट कोरोना पॉजेटिव आयी है। हालांकि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की रिपोर्ट कोरोना निगेटिव है। लेकिन एहितियातन उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने प्रदेशवासियों को सतर्क रहने की सलाह दी है।                


संगीत के साथ ऑपरेशन की इजाजत मिली

मनोज सिंह ठाकुर


पटना। कहा जाता है कि अच्छा संगीत मनुष्य को आत्मिक शांति प्रदान करता है। इसका जीवन में खासा महत्व है। यह भी कहा जाता है कि संगीत के सुरों से तनाव को कम करने में मदद मिलती है। पटना के इंदिरा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल सांइस आईजीआईएमएस के हद्य रोग संस्थान में अब ओपन हार्ट की सर्जरी कराने वाले मरीजों को संगीत की सुविधा के साथ ऑपरेशन की इजाजत दी गई है। यह भी बताया जा है कि अब मरीजों को बेहोश करने की जरुरत नहीं पड़ेगी, बल्कि डॉक्टर और मरीज एक दूसरे से लगातार बातचीत कर सकेंगे। इस दौरान मरीज अपनी पंसद के संगीत में भजन से लेकर फ्यूजन तक का आनंद ले सकेंगे। इतना ही नहीं किसी तरह की तकलीफ होने पर मरीज डॉक्टर से अपने दर्द को भी सांझा कर सकेंगे। प्रसार भारती न्यूज सर्विस-पीबीएनएस के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक आईजीआईएमएस में यह सुविधा बहाल कर दी गई है। इसमें पहले चरण में पांच मरीजों को चुना गया है। जिन्हें पहले से सांस की कोई बीमारी नहीं है। बिहार में पहली बार किसी सरकारी संस्थान ने इस तरह की सुविधा प्रदान की गई है। यह भी बताया जा रहा है कि कोरोना संक्रमित मरीजों को भी म्यूजिक थेरेपी देकर उनका तनाव कम किया जायेगा। म्यूजिक थेरेपी का यह शोध ईरान के मजांदरन यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेस ने किया था, जिसे यूएस के जर्नल ने प्रकाशित किया। अमेरिका के नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन ने इस शोध को प्रकाशित किया। इस शोध ने पाया गया था कि संगीत सुनने से मरीज का दर्द कम हो जाता है। इस रिसर्च में ओपन हार्ट सर्जरी के बाद मरीज को संगीत सुनने की सलाह भी गई थी। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ के साथ किए गए शोध में 60 मरीजों पर अध्ययन किया गया। इसमें 56 महिलाएं थी, जिन्होंने कहा कि संगीत सुनने से सर्जरी के दौरान उन्हें दर्द कम हुआ शोध में यह भी खुलासा हुआ कि इन मरीजों को सर्जरी के बाद भी दर्द कम महसूस हुआ। इसमें वैज्ञानिकों ने रोगियों को आईसीयू में एमपी3 प्लयेर व हेडफोन लगाकर संगीत सुनने की सलाह दी थी। यह शोध ईरान के मजांदरन यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेस ने किया था, जिसे यूएस के जर्नल ने प्रकाशित किया था।


इस संदर्भ में आखिल भारतीय आयुर्वेदिक संस्थान दिल्ली- एम्स की रेमोटोलोजी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉक्टर उमा कुमार कहती हैं कि संगीत का प्रभाव स्वास्थ पर पड़ता है और कानों में संगीत की ध्वनि सीधे मस्तिष्क को भी प्रभावित करता है। उनके मुताबिक कान के माध्यम से संगीत मस्तिष्क के जिस भाग में जाता है, वहां बहुत असर डालता हैं, इससे कुछ न्यूरो केमिकल रिलीज होते हैं | उनके मुताबिक यह एक प्रकार का सकारात्मक हरमोन्स रिलीज करता है, जिससे सोचने समझने की ताकत बढ़ती है। यह बहुत प्रभाव डालते हैं रक्तचाप को कम करते हैं।                 


आखिरी थ्रो में भाला फेंककर स्वर्ण पदक जीता: नीरज

लिस्बन। स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने अपने अंतर्राष्ट्रीय सत्र की शुरुआत सिटी ऑफ लिस्बन एथलेटिक्स मीट में गुरूवार को 83.18 मीटर की थ्र...