सोमवार, 13 जुलाई 2020

लाटरीः सैकड़ो लोगों कै साथ ठगी

अतुल त्यागी, सचिन सिंह
सैकडों लोगों से लाटरी के नाम पर की थी ठगी


हापुड़। शहर के सैकड़ों लोगों से लाटरी के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले कारोबारी भाईयों को पुलिस ने गैंगस्टर में गिरफ्तार किया है।जिससे पीड़ित लोगों की थानें पर भीड़ लग गई। हापुड़ के कसेरठ बाजार में स्टील का कारोबार करने वाला स्टील व्यापारी रजनीश अग्रवाल ने काफी समय पहले लोगों के करोड़ों रुपये हड़प लिए थे और हाथ खड़े कर दिए थे। बाद में दबाव पड़ने पर फरार हो गया था। पुलिस ने मामलें में तीन भाईयों के.के.अग्रवाल, रजनीश अग्रवाल व अग्रवाल को गैंगस्टर में निरुद्ध किया था। कोतवाल सुबोध सक्सेना ने बताया कि घोटालेंबाज भाईयों को गैंगस्टर में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है। उल्लेखनीय हैं कि श्रीनगर निवासी के.के.अग्रवाल विघुत विभाग में बाबू था और विभाग ने उस पर ग्रामीणों के नलकूप घोटालें में 20 करोड़ की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी और के.के. अग्रवाल ने विभाग के अधिकारियों पर 250 करोड़ के घोटालें की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। बाद में मामलें में तत्कालीन एमडी अवनीश अवस्थी की संस्तुति पर विभाग से बर्खास्त कर दिया गया था। तीनों भाईयों की गिरफ्तारी का पता चलते ही पीड़ित लोगों की थानें में भीड़ लग गई।             


 


योजनाएं और सेवाओं की दी जानकारी

अकेले नहीं है आप, प्राधिकरण है आपके साथ, हर परिस्थिति में थामे रखें अपने बड़े बुजुर्गों हाथः जगत सिंह    


रतन सिंह चौहान
होडल पलवल। हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पंचकुला के निर्देशन में जिला विधिक सेवाएँ प्राधिकरण के तत्वावधान में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एंव चेयरमेन श्री चंद्रशेखर व मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एंव सचिव श्री पीयूष शर्मा के मार्गदर्शन में रविवार को आॅनलाइन जागरूकता कार्यक्रम का संचालन पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत द्वारा किया गया।                                         


आनलाइन कार्यक्रम के संचालन में पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत ने श्रोता पैनल अधिवक्ताओं व पैराविधिक स्वयं सेवकों को वरिष्ठ नागरिकों के लिए कानूनी सेवाएं नालसा योजना, 2016 व माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण पोषण तथा कल्याण अधिनियम, 2007, विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम, 1987, मौलिक कर्तव्यों, कोविड - 19 कोरोना महामारी संक्रमण से बचाव के विशेष उपायों के बारे में जागरूक किया।  उन्होंने माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण-पोषण तथा कल्याण अधिनियम, 2007 के बारे बताया कि अधिनियम के अंतर्गत माता-पिता, दादी-दादा व  वरिष्ठ नागरिक जिनकी उम्र 60 वर्ष या उससे अधिक हो और जो भारत के नागरिक हों, वे भरण पोषण प्राप्त करने के हकदार हैं, वे नाबालिग संतान को छोडकर, एक या एक से अधिक संतानों पर भरण-पोषण का दावा दायर कर सकते हैं। वरिष्ठ नागरिक, हस्तांतरित सम्पत्ति को वापस ले सकता है। वरिष्ठ नागरिक का परित्याग करना एक कानूनी अपराध है। वरिष्ठ नागरिक हमारे समाज के पथप्रदर्शक हैं। वरिष्ठ नागरिकों ने शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आर्थिक तरह की विभिन्न चुनौतियों का सामना किया है, चुनौतियों से समाज को उभारा है। उन्होंने समाज को अच्छे संस्कार और तजुर्बे प्रदान किये हैं, जिनकी बदौलत समाज को एक बेहतर दिशा मिली है। लेकिन आधुनिकीकरण और पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव में और उनकी बीमारी या शारीरिक दुर्बलता के कारण बडे बुजुर्गों के सम्मान में कमी आई है और उनके प्रति समाज में अपराध में बहुत वृद्धि हुई है। उनकी उपेक्षा को देखते हुए और वरिष्ठ नागरिकों के लिए जारी विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए नालसा योजना को लागू किया गया । नालसा योजना के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिकों की पहचान करके उनको हक दिलवाना है। वरिष्ठ नागरिक मुफ़्त कानूनी सहायता, भरण-पोषण पाने, विचाराधीन मामलों में प्राथमिकता, बुढापा सम्मान पेंशन सहित विभिन्न सरकारी योजनाओं को सुलभता के साथ पाने के हकदार हैं। माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों ने अपने बच्चों को जन्म से ही उच्च संस्कार के साथ-साथ बच्चों के लिए हर बुरे वक्त को सहन करके पालन पोषण किया है इसलिए आज हमारी भी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि एक बच्चे की तरह ही बडे बुजुर्गों की देखभाल रखें। बीमारी और असमर्थता के कारण बुजुर्गों की उपेक्षा ना करें। उन्हें भी स्वतंत्रता के आधार पर सम्मानजनक जीने और अपना हक पाने का संवैधानिक अधिकार प्राप्त हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि आज कोरोना संक्रमण बहुत फैल रहा है, इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा मास्क का प्रयोग करके सामजिक दूरी को कायम रखना होगा। आज हमें सरकार के सभी नियमों का पालन करके, एक सच्चे और अच्छे नागरिक होने का फर्ज निभाना है। ये हमारे लिए परीक्षा की घडी है, हमें राष्ट्रीय सेवा के लिए आगे आना ही होगा। कार्यक्रम के माध्यम से पैनल अधिवक्ता ने विभिन्न सवालों और सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान की और विभिन्न तथ्यों पर विचार-विमर्श भी किया।‌ ऑनलाइन कार्यक्रम में पैनल अधिवक्तागण ओमप्रकाश सैनी, महेश शर्मा, श्रीमती कमलेश तेवतिया तथा नरेन्द्र कुमार, रामकुमार शास्त्री, चंद्रपाल, किशोर कुमार  पैराविधिक स्वयं सेवकों व विनोद तेवतिया ने विशेष रूप से भाग लिया।


कांवड़ियोंं के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध

धारा 144 के तहत कांवडिय़ों के आने-जाने पर लगाया पूर्णत: प्रतिबंध।             


रतन सिंह चौहान
होडल पलवल। जिलाधीश नरेश नरवाल ने कोरोना वायरस के संक्रमण को मध्यनजर रखते हुए सरकार द्वारा कांवड यात्रा-2020 को प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया गया है। इसलिए जिले में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत पलवल जिले व जिला की सीमाओं से आने वाले अन्य जिलों के कांवडिय़ों के हरिद्वार आने-जाने पर महाशिवरात्रि तक पूर्णत: प्रतिबंध लगाया जाता है। इसके साथ-साथ पुलिस अधीक्षक  व सम्बन्धित थाना प्रभारी अपने-अपने नियंत्रण क्षेत्र में निगरानी में निगरानी सुनिश्चित करेंगे। यदि कोई व्यक्ति इन आदेशों की अवहेलना का दोषी पाया जाता है तो वह आईपीसी की धारा 188 के तहत दंड का भागी होगा।


जनहितः सैनिटाइजर का दायरा बढ़ाया

कोरोनावायरस पाज़िटिव केस बढ़ने के बाद प्रशासन आया हरकत में, गलियों को किया सैनिटाइजर।


रतन सिंह चौहान
होडल। आर एस योगा संस्थान के सामने वाली गली में एक युवक कोरोना संक्रमित हो गया है। पाज़िटिव युवक के मकान पर प्रशासन द्वारा सावधान रहने का बोर्ड चस्पा कर गली में सैनिटाइजर किया गया है। आए दिन कोरोनावायरस  पाज़िटिव के मामले बढ़ने के बावजूद जनता सोशल डिस्टेंन्सिंग वह मास्क की अनिवार्यता को अपनाने पर सजगता नहीं बरत रहे हैं। प्रशासन भी उक्त मामले में खानापूर्ति कर रही है। दो चार लोगों के चालान काटने के बाद मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है। रविवार को पूरा बाजार बंद तो किया जाता है लेकिन शहर को सैनिटाइजर नहीं किया जाता है। जबकि शहर में फिर से कोरोनावायरस पाज़िटिव केस के मामलों में इजाफा हो रहा है। सोशल डिस्टेंन्सिंग का पालन भी आम नागरिकों द्वारा नहीं किया जा रहा है। रविवार को उक्त गली में कोरोनावायरस पाज़िटिव केस सामने आने के बाद गली को सोमवार को सैनिटाइजर किया गया है। नगर परिषद कार्यालय शहर को सैनिटाइजर करने के नाम पर रविवार को पूरा बाजार बंद करने की आदेश तो जारी करते हैं लेकिन शहर को सैनिटाइजर नहीं किया जाता।
कोरोना पाज़िटिव केस के बढ़ते मामलों से आम नागरिकों में दहशत का माहौल है। प्रशासन को लोगों की सुरक्षा को लेकर गंभीर होने की जरूरत है। सख्ती के साथ सोशल डिस्टेंन्सिंग और मास्क लगाने की प्रक्रिया को अमलीजामा पहनाने में मुस्तैदी दिखाए।           


एयरपोर्टः भूमि अधिग्रहण की सूचना जारी

अकांशु उपाध्याय


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने जेवर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा परियोजना से प्रभावित लगभग 3,600 लोगों को स्थानांतरित करने के लिए 48 हेक्टेयर भूमि के अधिग्रहण की अधिसूचना जारी कर दी है। यह कदम हवाई अड्डे के निर्माण में तेजी लाने के लिए किया गया है।


यह अधिसूचना 11 जुलाई को भूमि अधिग्रहण अधिनियम की धारा 19 (1) के तहत जारी किया गया, जिसमें ग्रीनफील्ड परियोजना से प्रभावित लोगों को मुआवजा देने का भी जिक्र है। इस हवाई अड्डे को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में रहने वाले लोगों के लिए नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (आईजीआई) हवाई अड्डे के विकल्प के रूप में देखा जाता है।यह अधिसूचना नागरिक उड्डयन के विशेष सचिव सुरेंद्र सिंह द्वारा जारी की गई थी, जो कि ग्राम जेवर बांगर में 48.097 हेक्टेयर भूमि के अधिग्रहण से संबंधित है। इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 13 अप्रैल को प्रारंभिक अधिसूचना जारी की थी, जिसमें प्रभावित किसानों के पुनर्वास के लिए भूमि की पहचान का सुझाव दिया गया था।


साल 2018 में जेवर में भूमि अधिग्रहण को लेकर किसानों की आपत्ति के बाद हलचल पैदा हो गई थी। दरअसल किसान मुआवजे की राशि के बजाय आरक्षण की मांग कर रहे थे। तत्कालीन यमुना एक्सप्रेसवे और औद्योगिक विकास प्राधिकरण (वाईईआईडीए) के अध्यक्ष, प्रभात कुमार ने कहा था कि अगर किसानों ने नियम और शर्तो को स्वीकार नहीं किया तो परियोजना को खत्म करना पड़ सकता है।


इसके बाद किसानों को यमुना एक्सप्रेसवे के साथ, जेवर में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की परियोजना के लिए अधिग्रहण की जाने वाली कृषि भूमि के लिए 2,300 रुपये से 2,500 रुपये प्रति वर्ग मीटर की दर की पेशकश की गई थी। अब राज्य सरकार को इस अधिसूचना को दो समाचार पत्रों के अलावा स्टेट गजेट में प्रकाशित कराना होगा, जिनमें से एक स्थानीय भाषा में होगा। साथ ही जिला मजिस्ट्रेट, पंचायत और शहरी स्थानीय निकाय के माध्यम से भी अधिसूचना को स्थानीय भाषा में भी प्रसारित किया जाएगा।             


एयरटेल-वोडाफोन के प्रीमियम प्लान ब्लॉक

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। दूरसंचार नियामक ट्राई ने भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के ऐसे प्लान ब्लॉक कर दिये हैं जिससे ग्राहकों के साथ भेदभाव की आशंका जतायी जा रही है। ट्राई के सूत्रों ने कहा कि इन प्लान में उपभोक्ता को ज्यादा डेटा स्पीड और प्रायरटी सेवाओं का ऑफर दिया जा रहा था। ट्राई ने एयरटेल के प्लेटिनम और वोडाफोन आइडिया के रेडेक्स प्रीमियम प्लान को ब्लॉक कर दिया है।


उल्लेखनीय है कि सस्ती दरों पर तेज डेटा स्पीड देने को लेकर टेलीकॉम कंपनियों के बीच गलाकट प्रतिस्पर्धा के कारण राजस्व में आयी कमी को दूर करने के लिए कंपनियां इस प्लान पेश कर रही है जिसमें ग्राहकों को बेहतर और प्राथमिकता वाली सेवायें देने का वादा किया रहा है।


सूत्रों ने कहा कि इस तरह के प्लान से ग्राहकों को सेवायें प्रदान करने के नियमों का उल्लघन हो रहा है और ऐसे ग्राहकों की सेवायें प्रभावित हो सकती है जो इन प्लान से बाहर हैं। एयरटेल ने गत छह जुलाई को इस प्लान की घोषणा की थी जिसमें 499 रुपये में तेज डेटा स्पीड देने और ग्राहक को प्राथमिकता के आधार पर सेवायें देने का वायदा किया गया है।                   


बाजपुर में 3 दिन कंप्लीट लॉक डाउन

सतनाम मेहरा की रिपोर्ट 

बाजपुर। उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों के चलते काशीपुर के बाद अब बाजपुर में भी संपूर्ण लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है। कोरोना वायरस का कहर इस वक्त देश और दुनिया में चल रहा है। सबसे ज्यादा बुरा हाल महाराष्ट्र और मुंबई का है दरअसल उत्तराखंड में भी इस का कहर लगातार जारी है। आपको बता दें कि उत्तराखंड में भी लगातार दिन कोरोना से मरीजों की तादाद बढ़ रही है। हालांकि कोरोना से स्वस्थ होकर अपने घरों को वापस लौट रहे हैं।

बाजपुर में तीन दिन का संपूर्ण लॉकडाउन लगेगा जो आज रात 12 बजे से अगले तीन दिन तक लागू रहेगा। इससे पहले जिल के ही काशीपुर में चार दिन का संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है। संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सामग्री की दुकानें खुली रहेंगी। बता दें कि रविवार को ऊधमसिंह नगर जिले में 40 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए।              

कल्याण सिंह सीबीआई कोर्ट में पेश

लखनऊ। अयोध्या में विवादित ढांचा गिराये जाने के मामले में सोमवार को आरोपित पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह और धर्म सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष दुबे सीबीआई की विशेष अदालत में पेश हुए। इस दौरान कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किये गये।
अदालत ने करीब एक हजार सवालों की सूची बनाई है, जिनके जवाब उन्हें देने होंगे। अयोध्या ढांचा गिराये जाने के मामले में कुल 49 लोगों को आरोपित बनाया गया था। इसमें से 32 लोगों के बयान दर्ज हो रहे हैं। मीडिया के भारी जमावड़े के कारण पुलिस ने कोर्ट परिसर के दरवाजे बंद कर दिए हैं। कोर्ट पहुंचे धर्म सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष दुबे ने कहा कि ढांचा ढहाने में उनका हाथ नहीं है। लेकिन उनकी हमेशा ये चाहत रही की वहां पर एक भव्य राम मंदिर बने और इसके लिए वह काम करते रहेंगे।


अयोध्या ढांचा विध्वंस मामले में 6 दिसंबर 1992 को थाना राम जन्मभूमि में एफआइआर दर्ज कराई गई थी। इस मामले में सीबीआइ ने जांच करते हुए 49 आरोपितों के खिलाफ विशेष अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया था। वहीं, आरोपितों में से 17 की मौत हो चुकी है। सभी गवाहों के बयान के बाद अभियुक्तों को अपनी सफाई पेश करने का अवसर दिया जाएगा। इसके बाद सीबीआई और अभियुक्तों के वकीलों के बीच बहस होगी। उसके बाद अदालत अपना फैसला सुनाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने 8 मई को विशेष अदालत को 31 अगस्त तक केस की सुनवाई पूरी करने का निर्देश दिया था।


6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों ने अयोध्या में बाबरी में विवादित मस्जिद के ढांचे को गिरा दिया था। इसमें भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, अशोक सिंघल, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा सहित अन्य नेताओं के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है।             


बेटियों के अपराधियों को नहीं छोडूंगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कानून व्यवस्था संबंधी बैठक ली


राय राम जी शरण


भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बेटियों के विरुद्ध अपराध करने वाले पूरी मानवता के दुश्मन है, मैं उन्हें छोडूंगा नहीं। अपराधों में संलग्न सफेदपोशो को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। भोपाल में नाबालिग बेटियों के साथ अपराध करने वाला जघन्य अपराधी है, जहां कहीं भी हो से ढूंढ कर उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाए। प्रदेश में अभियान चलाकर आदतन अपराधियों, माफियाओं, अतिक्रमणकारियों, अवैध शराब का कारोबार करने वालों, चिटफंड धोखेबाजों के विरुद्ध कार्रवाई करें।


मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में गृह मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव ग्रह श्री एस एन मिश्रा, एडीजी इंटेलिजेंस सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


आरोपी प्यारे मियां का शासकीय आवास एवं अधिमान्यता निरस्त करें


मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि भोपाल में बेटियों के विरुद्ध अपराध के आरोपी प्यारे मियां को आवंटित शासकीय आवास एवं उसको पत्रकार के रूप में दी गई अधिमान्यता तुरंत निरस्त की जाए।


कोरोना में अच्छे कार्य के पुलिस की सराहना


मुख्यमंत्री चौहान ने कोरना के दौरान अच्छा कार्य करने के लिए प्रदेश की पुलिस की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में जिस तरह हमारे पुलिस बल ने रात दिन एक कर जनता सेवा की है, वह प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के मौके पर श्रेष्ठ कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। ग्रह मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा ने निर्देश दिए कि ऐसे व्यक्ति जो चिटफंड चलाकर जनता के साथ धोखाधड़ी करते हैं उनके विरुद्ध कैंप लगाकर कर सार्वजनिक रूप से कारवाई की जाए, जिससे कि ऐसा कार्य करने वालों के मन में डर बैठे। किसी को भी जनता के साथ धोखाधड़ी नहीं करने दी जाएगी। मुख्य सचिव श्री बैंस ने निर्देश दिए कि प्रदेश में आदतन अपराधियों, माफियाओं, सफेदपोश व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई करते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि उनके विरुद्ध हर एंगल से कार्रवाई होनी चाहिए। ऐसे व्यक्ति किसी भी प्रकार का अवैध लाभ लेने में नहीं चूकते।


हत्या, बलवा में बढ़ोतरी, लूट, बलात्कार में कमी


प्रदेश में गत 3 महीनों में हुए अपराधों की जानकारी देते हुए पुलिस महानिदेशक श्री जौहरी ने बताया कि इस अवधि में प्रदेश में हत्या एवं बलवा के मामलों में बढ़ोतरी हुई है वहीं लूट एवं बलात्कार के मामलों में कमी आई है। आगामी समय में प्रदेश में अभियान चलाकर अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। आगामी 15 जुलाई से 15 अगस्त तक प्रदेश में वाहन चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा।            


अपने दम पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

केपी सिंह


लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला करती रहती हैं। उत्तर प्रदेश से जुड़े मामलों पर ट्वीट कर योगी सरकार को घेरने में प्रियंका गांधी भी पीछे नहीं हैं। अब उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में प्रियंका गांधी पार्टी का चेहरा होंगी।


मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी का चेहरा होंगी। इसके अलावा, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि कांग्रेस किसी भी राजनीतिक दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी, लेकिन जनता, लोकतंत्र, युवाओं, किसानों, गरीबों, दलितों, शोषितों और वंचितों के साथ गठबंधन होगा।


अजय कुमार लल्लू ने कहा कि उत्तर प्रदेश उनकी धरती है। वह (प्रियंका गांधी) इसी जगह पर रहती हैं। उन्हें और उनके परिवार को यूपी की मिट्टी और यूपी के लाखों लोग पसंद हैं। वह करोड़ों लोगों के दिलों में बसती है। निस्संदेह, उनके नेतृत्व में पार्टी यूपी विधानसभा चुनाव लड़ेगी। प्रियंका गांधी हमारी पार्टी का चेहरा होंगी। उन्होंने कहा कि पार्टी लोगों की आवाज बनेगी और जनता हमें आशीर्वाद देगी।              


भूकंप ने किया नुकसान, ली गई जानें

अकाशुं उपाध्याय


काठमांडू। नेपाल में रविवार को भारी बारिश के बाद भूस्खलन से कम से कम दस और लोगों की मौत हो गई, जिसके परिणामस्वरूप पिछले तीन दिनों में भूस्खलन के कारण कुल 54 मौतें हुईं। नेपाल के 19 जिले पिछले तीन दिनों से भारी बारिश के कारण भूस्खलन और बाढ़ से प्रभावित हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, रविवार को मायागड़ी में सात, जाजरकोट में दो और सिंधुपालचौक में एक व्यक्ति की मौत हो गई।


गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले 72 घंटों में देश के विभिन्न हिस्सों में भूस्खलन के कारण 54 लोगों की मौत हो गई है और 39 लापता हैं। करीब 40 लोग घायल भी हुए हैं। देश के पूर्वी संखुवासभा जिले में भारी बारिश के कारण आठ घर बह गए और लगभग 11 लोग लापता हैं। नेपाल सरकार ने राहत और बचाव कार्यों के लिए सेना और पुलिस की तैनाती की है।           


'दुबे' योगी सरकार के गले की फांस

केपी सिंह


लखनऊ। विकास दुबे प्रकरण में सरकार की खोखली कार्रवाइयां उजागर हो गई। विकास दुबे ने कुछ ही दशकों में मामूली हैसियत से अरबों रूपये की संपत्ति जुटा ली थी। जबकि उसका अपराध क्षेत्र भी बहुत व्यापक नहीं था। विकास दुबे का गुर्गा जय वाजपेयी 6-7 साल पहले 4000 रूपये की नौकरी में गुजारा करता था लेकिन इतने कम समय में उसकी गिनती भी कानपुर के बड़े रईसों में विकास दुबे के करिश्में के बदौलत होने लगी थी। विकास दुबे और उसके जय वाजपेयी जैसे पलेतों का कारोबार अभी बदस्तूर चलता रहता अगर उसने थोक में पुलिस कर्मियों को शहीद न किया होता।


सच बात यह है कि न जाने कितने विकास दुबे पड़े हैं जो हर शहर और महानगर में गलत कार्य करके करोड़पति और अरबपति बन चुके हैं। अपराध और काले धन की इस समानान्तर व्यवस्था को तोड़ने में सरकार और प्रशासन की दिलचस्पी न तो कभी रही है और न है। अगर सरकार समय रहते इन्हें कानून के शिकंजे में जकड़ने के लिए तत्पर हो जाये तो न तो पुलिस कर्मियों को शहीद करके माफिया सरकार की नाक काट सकते हैं और न ही सरकार के लिए आम जनता जो कि कपोतव्रती है, को अंधाधुंध टैक्स के कुल्हाड़े से हलाल करने की जरूरत पड़ सकती है।



पहले की सरकारें अपराधियों की सरपरस्ती में खुले आम लगी रहती थी क्योंकि शार्ट कट में चुनाव जीतना और अपनी कई पुस्तों के लिए शाही बंदोबस्त करना उन्हें चलाने वाले सूरमाओं ने अपना मकसद बना रखा था पर वर्तमान केन्द्र और राज्य सरकार के कमांडर तो अलग फितरत के लोग लगते हैं जिन्हें न खुद जायदाद बनाना है और न ही अपने खानदानियों को सत्ता कैश कराने की छूट देना गवारा है। फिर ये लोग गलत काम करने वालों पर कृपालु क्यों हैं यह एक रहस्य है।



केन्द्र सरकार के पास सीबीआई, आयकर, ईडी आदि तमाम सरंजाम है। अगर व्यवस्था बदलनी थी तो उसे रातोंरात कुबेर बने लोगों की कुंडली जांचने का अभियान चलाना चाहिए था। चुनाव के पहले तो सत्तारूढ़ पार्टी के नेता दम भरते थे कि देश में इतना काला धन है जो बरामद कर लिया जाये तो नये टैक्स लगाना तो दूर सरकारी खजाने में इतना माल आ जायेगा कि हर नागरिक के खाते में 15-15 लाख रूपये की रकम पहुंचायी जा सके। लेकिन जब पार्टी सरकार में आ गई तो कालाधन बाहर निकालने की जिम्मेदारी को लेकर उसने अपनी आंखे मूंद ली। इन मामलों में कार्रवाई करने वाले उसके विभाग केवल प्रतिद्वंदी पार्टियों के नेताओं के दमन तक अपने सरोकार समेटे हुए हैं। भाजपा के प्रति लोगों में इसी कारण मोह भंग हो रहा है जबकि उसके इकलौते बचे विश्वास के भी हश्र को देखने की परिणति लोगों की लोकतंत्र में अनास्था के रूप में सामने आ सकती है जो कि काफी खतरनाक होगा।


राज्य सरकार का भी यही आलम है। लोकायुक्त, एन्टीकरप्शन, भ्रष्टाचार निवारण संगठन, आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन आदि का लम्बा तामझाम उसने सफेद हाथी बनाकर रख छोड़ा है। विकास दुबे प्रकरण के बाद भी सरकार जागती नहीं दिखाई दे रही है जबकि उसे अपने इस भारी भरकम तंत्र को पहले से ही नव धनाढ़यों की जांच में लगा देना चाहिए था।             


बेलगाम भाजपा को जनता सबक सिखाएं

भाजपाई हो रहे बेलगाम जनता सिखाएगी सबक


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। शहर के बहादुर गंज मुहल्ले में प्रदेश के काबिना मंत्री द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उनके निवास स्थान के आसपास के घरों को भगवा रंग में रंग देने और पड़ोसियों के एतराज करने पर मंत्री के रिश्तेदारों, चहेतों द्वारा धमकी देने के मामले को विधान परिषद् में उठाया जाएगा।सपा के वरिष्ठ नेता और विधानपरिषद सदस्य मा बासुदेव यादव ने अपर पुलिस महानिदेशक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज को पत्र लिखकर मामले को गंभीरता से लेने को कहा है। उन्होने कहा है कि आगामी दिनों में शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में भी यह मामला उठाया जाएगा l आरोप लगाया कि भाजपाई बेलगाम हो गए हैं।
वहीं समाजववादी पार्टी ने हाईकोर्ट कैम्प कार्यालय पर बैठक कर उक्त कृत की निन्दा की।निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन ने बहादुरगंज में कैबिनेट मंत्री के आवास के आस पास के मकानों को भगवा रंग में रंगाए जाने पर आपत्ती जताते हुए कहा की भाजपाई गुण्डों के सहारे जबरन भगवाकरण कर रहे हैं।निर्वतमान महासचिव योगेश यादव ने जबरन मकानों के भगवारंग रोग़न को भाजपाईयों के पतन की ओर बढ़ने वाला क़दम बताते हुए इसकी कड़े शब्दों मे आलोचना की कहा भाजपा लोगों पर जबरन मकानों का रंग बदल कर धार्मिक उनमाद को पैदा कर रही है।
सपा के जिला प्रवक्ता दान बहादुर मधुर ने अपने बयान में कहा है कि लाकडाउन के दौरान एक जिम्मेदार कैबिनेट मंत्री द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कानून की धज्जियां उड़ाई गई l ऊपर से पड़ोसियों, मुहल्ले वालों के मना करने के बाद भी इनके रिश्तेदारों और चहेतों द्वारा पूरी गली को रंग रोगन कर दहशत का माहौल पैदा किया गया है l थाने में अपनी पीड़ा लेकर पहुंचे भुक्तभोगियों की तहरीर बदल कर मंत्री को बचाने का काम किया गया है, जिससे प्रशासन की मंशा पर सवाल खड़ा होता है lबैठक में सै०इफ्तेखार हुसैन,योगेश चन्द्र यादव,सै०मो०अस्करी,रविन्द्र यादव,मो०ग़ौस,विक्रम पटेल,मुशीर अहमद,वीरु पासी,काशान सिद्दीक़ी,अब्दुल ज़र्रार खान,मो०ज़ैद,एजाज़ खान,औन ज़ैदी आदि उपस्थित रहे।


कर्क राशि में प्रवेश करेंगे सूर्य

नई दिल्ली। आगामी 16 जुलाई, गुरुवार के दिन सूर्य कर्क में प्रवेश करेंगे। जैसे ही सूर्य का कर्क में गोचर होगा, तभी सम-सप्‍तम योग लग जाएगा। इस योग के होने का अर्थ है कि सूर्य कर्क में और शनि मकर राशि में होंगे। दोनों एक दूसरे के सातवें घर में गोचर करेंगे। इससे पहले सूर्य अब तक मिथुन राशि पर गोचर कर रहे थे। 16 जुलाई को एकादशी भी आ रही है। इसे कामिका एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। ज्‍योतिषियों का कहना है कि सम-सप्‍तम योग का सभी राशियों के जीवन पर प्रभाव पड़ेगा। 5 राशियां ऐसी हैं, जिन्‍हें संभलकर रहने की जरूरत है। इन राशियों में कर्क, सिंह, मीन, मिथुन और मकर राशि के नाम शामिल हैं। थोड़ी सी भी असावधानी परेशानी बढ़ा सकती है। अन्‍य राशियों के लिए मिला जुला असर रहेगा एवं कुछ राशियों के लिए अच्‍छे परिणाम मिलने के संकेत हैं। जानिये इस राशि परिवर्तन का क्‍या प्रभाव पड़ेगा।


इन 5 राशियों को संभलकर रहना होगा


कर्क – नौकरी करने वालों के लिए चिंताजनक समय आ रहा है। किसी भी विवाद में पड़ने से बचें। आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है। व्‍यर्थ के खर्चों पर नियंत्रण रखें। आपके व्‍यवहार के चलते आपके संबंध लोगों से बिगड़ सकते हैं। व्‍यापार एवं नौकरी में कोई बात परेशान कर सकती है।


सिंह – आपका कोई राज उजागर होने से मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बेहतर होगा कि आप अपनी योजनाओं को गुप्‍त रखें। घर में अशांति का वातावरण रहेगा। पैसों के लेन देन के समय सावधानी बरतें। नया निवेश करने से बचें और किसी को उधार देने से पहले सोचें।


मिथुन – इस राशि के लोगों को सेहत के प्रति जागरूक होने की जरूरत है। घर में बीमारियां आ सकती हैं। धन व्‍यय होगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। आपके शब्‍द आपकी परेशानी बढ़ा सकते हैं।


मीन – वर्ष 2020 के आरंभ से ही मीन राशि के लिए सामान्‍य समय रहा है लेकिन सम-सप्तक योग बनते ही आपकी कोई बड़ी हानि हो सकती है। आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है। खर्च और कर्ज बढ़ने की आशंका है। कोई हादसा हो सकता है। वाहन संभलकर चलाएं। परिवार के लोगों की सेहत को लेकर सजग रहें।


मकर – यदि इस समय आप कोई अहम फैसला लेने जा रहे हैं तो एक बार अच्‍छे से सोच लें। आपका गलत फैसला जीवन पर बुरा असर डाल सकता है। खर्च बढ़ेंगे और आर्थिक स्थिति कमजोर हो सकती है। बेहतर होगा आप अपने पास उपलब्‍ध चीजों का किफायत से इस्‍तेमाल करें।


समसप्तक योग से इन राशि के लोगों को लाभ की संभावना


मेष- इस राशि के चौथे भाव में सूर्य का गोचर हो रहा है, जो घर में सुख एवं समृद्धि का परिचायक है।


मीन – मीन राशि के लिए यह गोचर लाभदायक तो नहीं है लेकिन इससे हानि भी नहीं होगी। आर्थिक स्थिति में बहुत ज्‍यादा उतार-चढ़ाव नहीं आएगा।


वृषभ – इस राशि के लोगों का साहस बढ़ेगा। ख्‍याति बढ़ेगी। कार्यों में सफलता मिलेगी। गोचर काल के समय आप लक्ष्‍य पूरे करने के लिए अग्रसर होंगे। आय में बढ़ोतरी की भी अच्‍छी खबर सामने आ सकती है।


कन्‍या – कन्‍या राशि के 11वें भाव में सूर्य का गोचर होगा। इसका यह अर्थ है कि बहुत अच्‍छा समय आने वाला है। अगर आप किसी भी माध्‍यम से विदेशों से संबंधित कामकाज से जुड़े हैं तो आपको सफलता प्राप्‍त होगी। यदि आप प्राइवेट, कॉर्पोरेट कर्मचारी हैं तो आपको धन की प्राप्ति होने के प्रबल योग बन रहे हैं।


तुला – तुला राशि के लोगों के लिए बहुत सक्रियता भरा समय आ रहा है। आपमें प्रबंधन एवं नेतृत्‍व क्षमता विकसित होगी। अधूरे कार्य पूरे होंगे। लक्ष्‍यों की प्राप्ति होगी। नए कार्यों को आरंभ करने का यह बेहतर समय है। यदि आप सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहे हैं तो आपको सफलता मिल सकती है। प्रॉपर्टी से जुड़े कामों में सफलता के योग हैं।


इन राशियों के लिए मिला जुला रहेगा प्रभाव


वृश्‍चिक – वृश्चिक राशि के लोगों के लिए नो प्रॉफिट, नो लॉस की स्थिति है। आपकी राशि के दसवें भाव में सूर्य स्‍वामी होकर नवें भाव में गोचर करेंगे। यानी आपके काम अटक सकते हैं। यह गोचर लाभकारी नहीं होगा लेकिन समस्‍याएं बहुत ज्‍यादा नहीं होंगी।


धनु- इस राशि के अष्‍टम भाव में सूर्य का गोचर होगा। इसका अर्थ यह है कि आपके जीवन में अभी सब कुछ अनिश्‍चित रहने वाला है। ऐसे में आपको सावधान रहना चाहिये। ध्‍यान रखें किसी से कोई कर्ज ना लें। सेहत का विशेष ध्‍यान रखें।


कुंभ – कुंभ राशि के लिए यह गोचर ठीक रहेगा। आपके छठे भाव में सूर्य का गोचर होगा। यह शुभ फल देगा। हालांकि आपकी प्रतिस्‍पर्धा बढ़ सकती है लेकिन आपकी क्षमता भी बढ़ेगी। आप अच्‍छा प्रदर्शन कर सकेंगे। जो लोग नई नौकरी की तलाश में हैं, उन्‍हें सफलता मिल सकती है।


दोस्ती का बदतर सिला, ऐसा सलूक

अतुल त्यागी


मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के फाजलपुर गांव निवासी 20 वर्षीय युवक की उसी के चार दोस्तों ने कथित रूप से हत्या कर दी और अपराध छिपाने के लिए शव को टुकड़े-टुकड़े कर 40 फीट गहरे बोरवेल में डाल दिया। पुलिस अभी तक शव को बरामद नहीं कर सकी है।


नगर पुलिस अधीक्षक अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि शव बरामद करने के लिए विशेष मशीने मंगाई गईं हैं। उन्होंने बताया कि हत्या आरोपी चारों दोस्तों को कंकरखेड़ा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सिंह ने रविवार को घटना की जानकारी देते हुए बताया कि कंकरखेड़ा के अनूपनगर फाजलपुर निवासी रूपक उर्फ भूरी 25 जून को घर से गायब हो गया था। परिजनों की सूचना के आधार पर पुलिस ने उसके चार दोस्तों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की तो उन्होंने हत्या करने की बात कबूल कर ली। उन्होंने बताया कि आरोपियों ने पहले बताया कि शव को गांव के जगंल में गड्ढा खोदकर दबा दिया है। लेकिन अभियुक्तों को लेकर उस स्थान पर पहुंची पुलिस को शव नहीं मिला। नगर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जब दोबारा युवकों से कड़ाई से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि हत्या उपरान्त उन्होंने अपराध छिपाने के लिए शव के टुकड़े कर जिटोला गांव के जंगल में 40 फीट गहरे बोरवेल में डाल दिया था।


उधर, क्षेत्रीय थाना रोहटा के पुलिसी निरीक्षक उपेंद्र ने बताया कि बदले बयान के बाद पुलिस ने 40 फीट गहरे बोरवेल में कैमरा डाल जांच की तो उसमें कुछ कुछ संदिग्ध वस्तु दिखाई दी। उन्होंने बताया कि जेसीबी की मदद से बोरवेल के आसपास खुदाई की जा रही है। लगभग 25 से 30 फीट की खुदाई की जा चुकी है 40 फीट की खुदाई की जानी है। 40 फीट की खुदाई होने के बाद ही सही पता चलेगा।               


नोएडाः टेस्ट से बच रहींं मुस्लिम महिलाएं

विजय भाटी। गौतम बुद्ध नगर जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। गौतम बुद्ध नगर जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण का पता लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से लगातार रैपिड टेस्ट शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। यह शिविर गौतम बुद्ध नगर जिले के कस्बों, शहर और ग्रामीण इलाकों में लगाए जा रहे हैं। इस शिविर के दौरान स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग के अधिकारी वहां से जाने वाले राहगीरों को रोक-रोक कर कोरोना वायरस की जांच कर रहे हैं। लेकिन, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग के लिए इस समय सबसे बड़ी समस्या गौतम बुद्ध नगर जिले की मुस्लिम महिलाएं बनी हुई हैं। गौतम बुद्ध नगर जिले की अधिकांश मुस्लिम महिलाएं कोरोना वायरस की जांच कराने से इंकार कर रही हैं।


स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, गौतम बुद्ध नगर जिले के सभी चिकित्सकों द्वारा कोरोना वायरस की जांच के लिए रैपि़ड टेस्ट शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। इस रैपिड टेस्ट शिविर के दौरान पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा वहां से गुजरने वाले राहगीरों को रोक कर उनकी कोरोना वायरस की जांच करायी जा रही है। इस दौरान वहां से गुजरने वाली मुस्लिम महिलाओं द्वारा कोरोना वायरस की जांच कराने के लिए पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को साफ इंकार कर दिया जा रहा है। जबकि अन्य लोगों द्वारा कोरोना वायरस की जांच कराने के लिए काफी उत्सुकता देखी जा रही है।


कार्यवाहक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नेपाल सिंह ने बताया कि इस समय उत्तर प्रदेश में महामारी अधिनियम और आपदा प्रबंधन अधिनियम लागू है। इन दोनों अधिनियम के तहत कोई भी व्यक्ति संक्रामक बीमारी की जांच और इलाज से इनकार नहीं कर सकता है। अगर कोई संक्रमित व्यक्ति को छुपाने का भी प्रयास करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।             


नगर निगम के हवाले करेगा जीडीए

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। वर्षों से गाज़ियाबाद नगर निगम और विकास प्राधिकरण की उपेक्षा का शिकार रहे राजनगर एक्सटेंशन में रहने वाले हजारों फ्लैट मालिकों के लिए एक अच्छी खबर है।  गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण ने राजनगर एक्सटेंशन को नगर निगम के हवाले करने की कवायद शुरू कर दी है।  सूत्रों के अनुसार प्राधिकरण ने इसके लिए नगर आयुक्त को एक पत्र भेजा है।


हिंडन के करीब बसे राजनगर एक्सटेंशन में 45 से ज्यादा ग्रुप हाउसिंग सोसायटी हैं। जिनमें 35 हजार फ्लैट हैं। करीब 21 हजार फ्लैटों में परिवार रहने लगे। यह कॉलोनी नूरनगर गाँव की भूमि पर बसी है जो पहले से नगर निगम के सिटी ज़ोन का हिस्सा रहा है। इस कॉलोनी को गाज़ियाबाद के कुछ प्रमुख बिल्डरों ने मिलकर बनाया और विकास शुल्क के बदले जीडीए ने यहाँ सड़क, नाले, सीवर और एसटीपी जैसी मूलबूत सुविधाएं विकसित की हैं।  जीडीए के अधिकारियों का कहना है की नगर निगम को कॉलोनी हैंडओवर में अभी कम से कम 6 महीनों का समय लग सकता है।  


आपको बता दें कि अभी हाल ही में नगर निगम ने राज नगर एक्सटेंशन के निवासियों को  हाउस टैक्स के बिल भेजने शुरू कर दिए थे जिसका स्थानीय नागरिक विरोध कर रहे हैं।  नगर निगम के अधीन आने के बाद उम्मीद की जा रही है कि शहर के बाकी इलाकों कि तरह यहाँ की सोसायटियों से डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन शुरू हो जाएगा। सड़क, नाले और सीवर की व्यवस्था नियमित रहेगी। अभी यहां सोसायटियों का कूड़ा निस्तारण आरडब्ल्यूए और बिल्डर को कराना होता है। बाहरी क्षेत्र की सफाई जीडीए शॉर्ट टर्म टेंडर के जरिए कराता है।                 


कर्ज से परेशान दंपत्ति ने की आत्महत्या

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। देश के विभिन्न राज्यों में सामूहिक और परिवारिक आत्महत्याओं का सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है। इसके पीछे मूल रूप से आर्थिक समस्याओं को ही पाया गया है। ज्यादातर मामलों में आर्थिक समस्याओं के कारण इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। यह घटनाओं का सिलसिला अभी रुकने का नाम नहीं ले रहा है। जनपद गाजियाबाद स्थित साहिबाबाद के अर्थला गाँव में आज सुबह एक पति-पत्नी ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली।  बताया जा रहा है कि दंपति बढ़ते कर्ज के चलते पिछले काफी समय से परेशान था। पुलिस ने मौके पर पहुँचकर जांच शुरू कर दी है और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।


पुलिस सूत्रों के अनुसार मंगल (50 वर्ष) और शीला (45 वर्ष) पिछले काफी समय से अर्थला में रह रहे थे और कर्जा न चुका पाने के कारण अवसाद में चल रहे थे।            


व्यापारियों को डीएम आदेश की प्रतीक्षा

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। जनपद में भी बाज़ार 5 दिन खुलेंगे या पहले ही की तरह ऑड-ईवन वाली प्रक्रिया जारी रहेगी? यह एक ऐसा सवाल है जिसके जवाब में जिले का हर व्यापारी जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय की ओर मुंह ताके बैठा है। लेकिन सोमवार दोपहर 1 बजे तक जिलाधिकारी कार्यालय से कोई स्पष्ट आदेश नहीं आए हैं। आखिरकार साहिबाबाद के शालीमार गार्डन में दुकानदारों के सब्र का बांध टूट गया और वे जिलाधिकारी के सुस्त रवैये के विरोध में प्रदर्शन पर उतार आए।  व्यापारियों ने गाज़ियाबाद प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी और पुलिस पर भी लगाया दुकानदारों के उत्पीड़न का आरोप लगाया।


आपको बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा स्पष्ट आदेश न होने की वजह से गाज़ियाबाद में अधिकतर जगहों पर पुलिसकर्मी डंडे के बल पर दुकानें बंद करा रहे हैं जिससे व्यापारी वर्ग में जिला पुलिस और प्रशासन के प्रति खासा रोष व्याप्त है।


गाजियाबादः 2 मृतक गायब, 7 का जिक्र नहीं

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार रविवार को गाज़ियाबाद में 142 नए संक्रमितों की पहचान हुई है जबकि 25 मरीजों को संक्रमण से मुक्त होने के बाद अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिया गया है। जिले में अब सक्रिय संक्रमितों की संख्या अब 1322 हो गई है जिनमें से 62 की मौत हो गई है।


गायब हुए 2 मृतक, जिक्र नहीं है 7 मौतों का


स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी सूचना के अनुसार 9 जुलाई को गाज़ियाबाद में कोरोना संक्रमण से हुई मौतों की संख्या 64 थी जो अब घटकर 62 रह गई है।  स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि 2 गैर जिलों के मृतकों को भी गाज़ियाबाद के रेकॉर्ड में शामिल कर लिया गया था। इस गलती को अब सुधार लिया गया है।


पिछले पाँच दिनों में गाज़ियाबाद में कोरोना वायरस के चलते 7 मौतें हुईं हैं लेकिन आश्चर्य की बात है कि यह संख्या राज्य सरकार की सूची में शामिल नहीं है।  रविवार को ही मैक्स वैशाली में एक संक्रमित महिला की मौत हो गई लेकिन स्वास्थ्य विभाग इसकी पुष्टि करने से इनकार कर रहा है।  


दिखावे के लिए हो रहा सैनिटाइजेशन


जिला अग्निशमन विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार रविवार को 211 स्थानों पर सैनिटाइजेशन किया गया जबकि जिले के ज़्यादातर हिस्सों में रहने वाले लोगों का कहना है कि उनके यहाँ कब और कहाँ सैनिटाइजेशन हुआ किसी को पता नहीं। वहीं सैनिटाइजेशन में इस्तेमाल किए जा रहे रसायनों की गुणवत्ता पर भी प्रश्न उठने आरंभ हो गए हैं।  ट्रांस हिंडन क्षेत्र और कवि नगर क्षेत्र के पार्षदों का कहना है कि नगर निगम द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे सैनिटाइज़रों की क्वालिटी हर दिन गिरती जा रही है।


विक्रम को खोज नहीं पाई गाजियाबाद पुलिस

विक्रम त्यागी को क्यों नहीं तलाश पाई गाजियाबाद पुलिस: गौरव शर्मा महानगर अध्यक्ष


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा युवा टीम, उत्तर प्रदेश गाजियाबाद के महानगर अध्यक्ष गौरव शर्मा ने 15 दिन से लापता बिल्डर को तलाशने की मांग पुलिस से की है। उन्होंने कहा कि जब लाँकडाउन है और पुलिस की चैकिंग सब जगह चल रही है तब बिल्डर विक्रम त्यागी की कार मुजफ्फरनगर कैसे पहुंच गई। गौरव शर्मा ने कहा कि 26 जून से लापता विक्रम त्यागी को पुलिस अभी तक नही तलाश सकी है। यह एक बेहद गंभीर मामला है। राजनगर एक्सटेंशन मे रहने वाले बिल्डर विक्रम त्यागी 26 जून को रहस्यमयी परिस्थितियों में लापता हो गए थे। उनके परिजन भी उन्हें सब जगह तलाश चुके है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा युवा टीम पूरी तरह से पीडित परिवार के साथ है और मांग करते है कि जल्द से जल्द लापता विक्रम त्यागी को तलाशा जाए।              


सोशल डिस्टेंस के साथ शिव-दर्शन

हरिओम उपाध्याय


लखनऊ। सावन के दूसरे सोमवार में कोरोनावायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी मंदिरों में सोशल डिंस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान शिव का दर्शन-पूजन किया गया। राज्य के वाराणसी प्रयागराज, लखनऊ और बाराबंकी के साथ अन्य शहरों समेत ग्रामीण क्षेत्रों में भी भक्त भगवान शिव की आराधना में लीन हैं। लखनऊ के डालीगंज के मनकामेशवर मंदिर में लोगों ने मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भोलेनाथ के दर्शन किए। लोगों ने दर्शन करने के साथ-साथ मेगास्टार अमिताभ बच्चन व उनके पूरे परिवार के कोरोना से मुक्त होने की भी कामना की।


लॉकडाउन खुलने के बाद 5:30 बजे से ही मंदिर के बाहर महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग कतारें लगने लगी थीं। दूसरे सोमवार को भोलेनाथ पर जलाभिषेक करने के लिए दो पाइप अरघा लगाए गए जिससे लोगों ने जलाभिषेक किया। इससे पूर्व महंत देव्या गिरि ने भोलेनाथ की आरती और श्रृंगार किया। इसके बाद दर्शन के लिए पट खोले गए।


इस बार सावन में कांवड़ यात्रा प्रतिबंधित होने के बाद भी लोग बड़ी संख्या में प्रदेश के विख्यात शिव मंदिरों में दर्शन करने पहुंचे हैं। वाराणसी में सावन के दूसरे सोमवार पर श्रीकाशी विश्वनाथ के दर्शन को भक्त उमड़ पड़े। मंदिर के चारों तरफ लम्बी-लम्बी कतार लग गईं। पुलिस तथा मंदिर प्रशासन की देखरेख में लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान शिव का दर्शन और पूजन की।


प्रयागराज में भी यही स्थिति रही। यहां भी पूरे नियम-कायदों के साथ लोगों ने भगवान के दर्शन किए। कोरोना संक्रमण को देखते हुए शिवालयों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। हर मंदिर के गेट पर सैनिटाइजर व थर्मल स्क्रीनिंग का प्रबंध किया गया है। मास्क लगाने वाले श्रद्घालु को ही मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। लखनऊ में मनकामेश्वर, गंगोली शिवालय, शिव कचहरी शिवालय, पंचमुखी, शिवालयों में भक्तों की सुरक्षा का विशेष प्रबंध किया गया है। बाराबंकी के कैलाश आश्रम मंदिर, नागेश्वर नाथ मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कर श्रद्घालुओं ने भगवान का जलाभिषेक किया।             


नोएडा में 1904 वाहनों का चालान काटा

विजय भाटी


गौतमबुद्धनगर। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस की महामारी को फैलने से रोकने के लिए गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में जारी धारा-144 व लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में रविवार को पुलिस ने 24 मामले दर्ज किए और 64 आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी पंकज कुमार ने बताया, “रविवार को गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा धारा-144 और लॉकडाउन का अनुपालन कराने के लिए जगह-जगह तलाशी की जा रही है। इस दौरान 4512 वाहनों की पुलिस द्वारा चेक किया गया, जिसमें से 1904 वाहनों का चालान काटा गया, जबकि 22 वाहनों को सीज किया गया। 170250 रुपये पुलिस ने शमन शुल्क के रूप में वसूले हैं।”


उन्होंने बताया, “धारा 144 सीआरपीसी के उल्लंघन में धारा 188 के तहत कुल 24 लोगों पर मामले दर्ज किए गए और 64 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। जिले में 200 चेकिंग बिंदुओं पर 24 घंटे बैरियर लगाकर पुलिस द्वारा चेकिंग भी की जा रही है। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए गौतमबुद्धनगर में शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक का प्रतिबंध घोषित किया गया है।”                       


सीएम आवास पर 107 विधायक मौजूद

प्रशांत कुमार


जयपुर/नई दिल्ली। राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच सीएम आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म हो गई। इसके बाद बसों में सवार हो कर कांग्रेस विधायक सीएम आवास से निकल चुके हैं। इससे पहले समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार सीएम अशोक गहलोत के मीडिया सलाहकार ने जानकारी दी कि बैठक में 107 विधायक मौजूद रहे। जानकारी के अनुसार यह बैठक तय समय से लगभग तीन घंटे देरी से शुरू हुई। इससे पहले समाचार एजेंसी पीटीआइ ने जानकारी दी थी कि बैठक शुरू होने से एक घंटे पहले दोपहर करीब साढ़े 12 बजे तक लगभग 100 विधायक मुख्यमंत्री के आवास पर पहुंचे थे। इस बैठक में पायलट के करीबी माने जाने वाले कुछ विधायक नहीं पहुंचे थे। समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार ये विधायक जी आर खटाना, हरीश मीणा, रमेश मीणा, विश्वेंद्र सिंह, वेद प्रकाश, मुकेश भाकर और रामनिवास गवरिया हैं।


गौरतलब है कि पार्टी पहले ही दावा कर चुकी है कि उसके पास 109 विधायकों का समर्थन है। पार्टी ने उप मुख्यमंत्री और पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष सचिन पायलट के दावे को खारिज कर दिया है कि सरकार के पास बहुमत नहीं है। बता दें कि पार्टी ने इस बैठक को लेकर व्हिप जारी किया है। राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने जानकारी दी थी कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में बगैर किसी सूचना के न शामिल होने वाले विधायकों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।


गाइडलाइन के तहत मनाएंं 'ईद-उल-अजा'

लोगो के ज़हन मे लगातार ये सवाल उठ रहा था कि कुर्बानी होगी या नही -सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन का पालन करते हुवे हरसाल की तरह इस साल भी कुर्बानी होगी।


● सफाई और सोशल डिस्टेंस क़ा रखें ख़ास ख्याल


● कुर्बानी की जगह पर भीड़ कतई न लगाए


● मास्क सभी लोग आवश्य पहने


शावेज़ आलम


कानपुर । शहरकाज़ी आलम रज़ा नूरी के नेतृत्व में आज रज़वी रोड स्थित अकबर आज़म हाल में बक़रीद में होनी वाली क़ुर्बानी को लेके एक मीटिंग की गई जिसमें कानपुर व आस-पास के ज़िलों के उलमाओं ने शिरकत की।
शहरकाज़ी आलम रज़ा नूरी ने बक़रीद की गाइडलाइन जारी करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंस कायम करते हुए लोग क़ुर्बानी करें अपने गली मोहल्लों में साफ सफ़ाई का विशेष ध्यान रखें क़ुर्बानी में किसी भी तरह की गन्दगी न होने दे। मास्क अवश्य पहने,क़ुर्बानी की खाल अगर न बिके तो उसको ज़मीन में दफना दे क़ुर्बानी खुले में न करे जहाँ क़ुर्बानी हो वहाँ पे पर्दा आदि ज़रूर लगा दे।


जानवरों की फ़ोटो शोसल मीडिया पे कतई न डाले


कुछ ना समझ लोग कुर्बानी का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर देते हैं। कभी कभी ये देखने क़ो मिल जाता हैं इसी क़ो मद्देनजर रखते हुए शहरक़ाज़ी ने सभी से अपील की ऐसा न करें और न किसी क़ो ऐसा करने दे। जहाँ क़ुर्बानी हो वहां पे और कहीं पर भी भीड़ न लगाए क़ुर्बानी के बाद न उपयोग होने वाली कोई भी चीज़ सड़क पे न फेके स्वच्छ्ता का विशेष ध्यान रखते हुए नगर निगम द्वारा रखे गए कन्टेनर में ही कूड़ा आदि डालें। शहरकाजी आलम रज़ा नूरी व आये हुए तमाम उलमाओं ने कहा* ये शहर, मुल्क हमारा है और इसे साफ़ स्वच्छ रखना भी हमारी ज़िम्मेदारी है।साफ़ सफ़ाई से हम बीमारियों से बचेंगे कोरोना को हराने में मदद मिलेगी।


खौफः नगर पंचायत में मिले 15 मरीज

नगर पंचायत में मचा हाहाकार एक दिन में 15 मरीज कोरोना संक्रमित


नगर में संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 41 जिसमें एक की हुई मौत ,11 इलाज से  हुए स्वस्थ


अझुवा कौशाम्बी। वैश्विक महामारी केविड -19 ने नगर कस्बा अझुवा प्रदेश देश सहित पूरे विश्व मे हाहाकार मचा रखा है वही नगर पंचायत अझुवा में भी बीती कल की तारीख में 15 कोरोना संक्रमित मरीज मिले जिन्हें मेडिकल और अझुवा चौकी पुलिस प्रशासन ने एम्बुलेंस के माध्यम से स्तर-1 और कुछ मरीजों को स्तर-2 में भर्ती करवाया गया समाचार लेखन तक  नगर पंचायत अझुवा में इलाज से ठीक हुए मरीजों की संख्या भी 11 हो गयी है। रात 12 बजे उठाये गए संक्रमित मरीजों के परिजनों और नगर के वाशिंदों में भय का माहौल व्याप्त है। रविवार को लैब से आई रिपोर्ट में 15 लोग संक्रमित मरीज निकले ये सभी मरीज  3 से4 परिवारों के ही हैं और ये सभी पहले से संक्रमितों के संपर्क में आये थे खास बात यह है कि यह सभी खास इलाके के खास वर्ग व्यापारी वर्ग ही हैं अधिकाधिक संक्रमित  मरीज वार्ड  2,8,9 ,10 12, से ही मिले हैं।


हलांकि नगर पंचायत के जिम्मेदार अपने कर्मचारियों के द्वारा पूर्ण रूप से साफ सफाई सैनिटाइजेसन का विशेष  रूप से 31 जुलाई तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंर्तगत विशेष अभियान चलाया जा रहा जिसमे नगर के नाली में जमे पानी ,गंदगी को साफ करने  ,लार्वा खत्म करने के लिए कीटनाशक दवाओं ,चूना पावडर में क्लोरीन का इस्तेमाल व सैनिटाइज का कार्य भी चल रहा है।


सन्तलाल मौर्य 


अघोषित बिजली कटौती के विरुद्ध ज्ञापन

बिजली की अघोषित कटौती न रुकी तो सड़क पर उतरेंगे समर्थ किसान पार्टी के कार्यकर्ता


उपजिलाधिकारी सिराथू राजेश श्रीवास्तव को  ज्ञापन सौंपते समर्थक किसान पार्टी के नेता अजय सोनी


कौशाम्बी। समर्थ किसान पार्टी ने सिराथू क्षेत्र की अघोषित बिजली कटौती को लेकर सड़क पर उतरने की आवाज बुलन्द की है। पार्टी नेता अजय सोनी ने इस संबंध में सिराथू तहसील में कार्यकर्ताओं के साथ प्रदर्शन किया और माननीय मुख्यमंत्री को संबोधित सिराथू उपजिलाधिकारी को एक ज्ञापन दिया। 


दिए गए ज्ञापन में बताया कि इस समय किसानों के धान रोपाई का समय है। सरकार ने किसानों को दिन के समय सिंचाई किए जाने हेतु अलग से कृषि फीडर बनवाया है परन्तु बिजली विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से सिराथू क्षेत्र के तमाम गांवो में दिन के समय अक्सर बिजली गायब रहती है जिससे किसानों को धान की रोपाई में दिक्कत हो रही है। साथ ही आम जनता को भी भीषण गर्मी से जूझना पड़ रहा है और लोग चिड़चिड़े एवं बीमार पड़ रहे हैं। ऐसे में रोस्टर के मुताबिक 18 घंटे विद्युत आपूर्ति की जानी चाहिए।


 इसके अलावा करारी माइनर नहर में तत्काल पानी छोड़े जाने की मांग करते हुए अजय सोनी ने कहा कि इस समय किसानों को धान रोपाई के लिए करारी माइनर सुखी होने के कारण पानी नहीं मिल रहा है। जिससे किसान परेशान है। अजय सोनी ने तत्काल प्रभाव से करारी माइनर नहर में टेल तक पानी छोड़े जाने की मांग की। साथ प्राइवेट वाहन चालकों द्वारा यात्री किराया वसूलने में की जा रही मनमानी तत्काल रोकने की मांग करते हुए अजय सोनी ने कहा कि प्राइवेट वाहन चालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूलते हैं और मनमाना किराया न देने पर मारपीट करने पर उतारू हो जाते हैं। इस सबंध में तत्काल समुचित कार्यवाही होनी चाहिए।


 इसी के साथ अजय सोनी ने प्रदेश सरकार से मांग किया कि लॉक डाउन के चलते भुखमरी के शिकार हो रहे वित्त विहीन विद्यालयों के शिक्षकों एवं कर्मचारियों को सरकार तत्काल समुचित मानदेय प्रदान करे ताकि उनका एवं उनके परिवार का भी जीवन यापन हो सके। केंद्र सरकार द्वारा डीजल, पेट्रोल के दामों में की गई बढ़ोत्तरी को तत्काल प्रभाव से वापस लेने की मांग करते हुए अजय सोनी ने कहा कि पेट्रो पदार्थों के मूल्य वृद्धि से महंगाई अपने चरम पर है और किसान, गरीब, आम आदमी परेशान है।


उपजिलाधिकारी सिराथू राजेश श्रीवास्तव ने इस अवसर पर तत्काल विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश जारी करने एवं करारी माइनर नहर में तत्काल पानी छोड़े जाने की बात कही। साथ ही यात्री किराया वसूलने में की जा रही मनमानी को रोकने के लिए समुचित कार्यवाही सुनिश्चित करने की भी बात कही। इस दौरान सत्येन्द्र तिवारी, धीरेन्द्र दुबे, अंकित सिंह, दिलीप तिवारी, नरेश कुमार आदि मौजूद रहे।


रामप्रसाद गुप्ता 


भू माफियाओं के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई

सरकारी भूमि से अतिक्रमण हटाने व भू- माफियाओं के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की जाएगी- आदित्य प्रजापति 
सुदेश शर्मा


गाजियाबाद/मोदी नगर। प्रदेश एवं केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं को जैसे राष्ट्रीय ग्रामीण गार॔टी रोजगार योजना, वृद्धावस्था पेंशन योजना, विधवा पेंशन योजना, राशन वितरण प्रणाली योजना, सरकारी रोजगार एवं ऋण योजनाओं आदि का लाभ सही व्यक्ति तक पहुँचें यही हमारा प्रयास रहेगा , ये बातें मोदी नगर तहसील के नव नियुक्त उप जिलाधिकारी आदित्य प्रजापति ने सुरेश शर्मा से एक औपचारिक भेंट में बताया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग मेरठ- गाजियाबाद रोड पर मोदी नगर में लगने वाले जाम से आमजन को मुक्ति दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास किये जाएंगे ।
उप जिलाधिकारी आदित्य प्रजापति ने कहा कि राजस्व ग्रामों में ग्राम पंचायत, सार्वजनिक भूमि, सम्पत्ति से अतिक्रमण हटाने व भू- माफियाओं के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई करने की प्राथमिकता रहेगी उन्होंने कहा कि सरकारी व निजी सम्पत्तियों पर अवैध कब्जा करने की शिकायतें प्राप्त होती रहती हैं । इन प्रकरणों में समयबद्ध रूप से प्रभावी कार्रवाई न होने के कारण जहाँ एक ओर आमजन में प्रशासन के प्रति विश्वास में कमी आती है, वहीं भू- माफियाओं द्वारा अवैध कब्जा करने की प्रवृत्ति को बढ़ावा मिलता है । उन्होंने कहा कि सरकार का भी संकल्प है कि ग्राम पंचायत, सार्वजनिक भूमि, सम्पत्ति से अतिक्रमण हटा कर दबंगों और भू माफियाओं के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की जाये और दोषियों को सजा दिलायी जाये ।              


सुरक्षा कवच अभियान, मास्क वितरण

कन्या के नाम करण समारोह में सुरक्षा कवच अभियान के तहत सुरक्षा कवच (मास्क) वितरित कर जागरूक किया”- एक सुरक्षा कवच, एक जीवन बचाओ । 


रतन सिंह चौहान।
होडल पलवल। कॉविड़-19 महामारी के कारण लॉक डाउन के दौरान श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला (पलवल ) के कुलपति एवं हरियाणा स्कील डवलेपमेंट मिशन ने निदेशक श्री राज नेहरू ने हरियाणा सरकार के एक करोड़ मास्क मिशन से जुड़े एवं 20 लाख मास्क बनाने एवं वितरण  का निर्णय लिया । श्री विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी (एसवीएसयू ) दुधौला (पलवल ) हरियाणा और हरियाणा कौशल विकास मिशन पंचकुला के अंतर्गत सुरक्षा कवच अभियान (अभियान SAKHA)  में स्वयंसेवी सेवाओं द्वारा  सुरक्षा कवच (मास्क)  का बनाना  तथा वितरण किया  है । सुरक्षा कवच अभियान (अभियान SAKHA)  के अंतर्गत, डॉ ललित कुमार शर्मा डिप्टी रजिस्ट्रार,  श्री महेश भारद्वाज छात्र  (बी. वॉक ), श्री मनोज कुमार छात्र  (एम. वॉक) एसवीएसयू पलवल ने  कृष्णा कॉलोनी जिला पलवल में श्री  परवीन कुमार वेबसाइट व्यवस्थापक एसवीएसयू पलवल की कन्या 
उन्नति  के नाम करण समारोह  में भाग लिया और समाज को यह  संदेश दिया कि किसी भी परिस्थिति में - " जीवन चलने का नाम है ।“ नाम करण समारोह में सुरक्षा कवच स्वयंसेवकों ने जागरूक किया  है कि कोविड -19  महामारी का कोई इलाज नहीं है, केवल शारीरिक दूरी, हाथ, श्वसन स्वच्छता और मास्क का उपयोग संक्रमण से रोकथाम है एवं  रिश्तेदारों,  के निवासियों, मेहमानों को सुरक्षा कवच (मास्क) वितरित किये  है  और कन्या के नौनिहाल पक्ष निवासी नोएडा ( यूपी) को 101 सुरक्षा कवच प्रदान किए ।  नौनिहाल पक्ष निवासी नोएडा ( यूपी) के रिश्तेदारों, कृष्णा कॉलोनी के निवासियों, मेहमानों ने  इस पहल के लिए माननीय कुलपति  श्री राज नेहरू और डॉ ललित कुमार शर्मा डिप्टी रजिस्ट्रार श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला (पलवल ) को धन्यवाद दिया  और  सराहना की।             


तीसरी मंजिल पर लगी आग, पाया काबू

तीन मंजिला दुकान में लगी आग पर अग्निशमन विभाग ने पाया काबू

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। साहिबाबाद इलाके में सोमवार सुबह लगभग सात बजे श्याम पार्क एक्सटेंशन के मार्केट कॉम्प्लेक्स में स्थित संजय जैन की वुमेन्स हट नाम की कपड़ों की तीन मंजिला दुकान में आग लग गई। सूचना पर पहुंचे अग्निशमनकर्मियों ने दो फायर टेंडर का प्रयोग करते हुए आग बुझा दी।

मिली जानकारी के मुताबिक, इस आग की दुर्घटना में कोई जनहानि नहीं हुई।दमकल अधिकारियों के मुताबिक, आग लगने की सूचना पर पहुंचे कर्मचारियों ने सावधानी बरतते हुए अगल-बगल की सभी दुकानों को सुरक्षित बचा लिया गया। सिर्फ सटी हुई आर्टिफिशियल ज्वेलरी की दुकान के बाहरी हिस्से में आंशिक क्षति हुई है। वहीं, मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील सिंह ने बताया है कि कोई हताहत नहीं हुआ है। प्रथम दृष्टया लग रहा है कि शार्ट सर्किट से आग लगी है। बहरहाल आग की असली वजह का पता जांच के बाद ही चल सकेगा।

नर्मदा नदी की 3600 किमी परिक्रमा

ऋषिकेश। नदी जल स्वच्छता की अलख जगाने के लिए पैदल चलकर 108 दिनों में अकेले नर्मदा की 3600 किमी परिक्रमा करने वाली उत्तरप्रदेश के बदायूँ जिले की निवासी शिप्रा पाठक ने अध्यात्म नगरी ऋषिकेश में प्रवास के दौरान उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल से शिष्टाचार भेंट की।इस दौरान विधानसभाध्यक्ष ने शिप्रा पाठक के इस साहसिक एवं प्रेरणारूपी कार्य के लिए उन्हें सम्मानित भी किया।

विधानसभा अध्यक्ष के कैंप कार्यालय में भेंटवार्ता के दौरान शिप्रा पाठक ने श्री अग्रवाल को बताया कि यह परिक्रमा उन्होंने नवम्बर 2018 में प्रारम्भ की थी, जो फरवरी 2019 तक पूरी हो पाई। इसमें 108 दिनों का समय लगा।यह परिक्रमा उन्होंने मध्यप्रदेश के ओमकारेश्वर से प्रारम्भ की थी, जो महराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़ होते हुए वापस मध्यप्रदेश में आकर पूरी हुई। शिप्रा कहती हैं कि परिक्रमा के अपने कुछ नियम होते हैं। इसमें पैसा साथ में नहीं ले जा सकते, इसलिए भिक्षावृति पर ही रहना पड़ता है, जो भी चाहिए होता है तो वह मांगना ही पड़ता है।शिप्रा ने बताया कि इससे पहले भी कई धार्मिक स्थलों, कैलाश मानसरोवर, ब्रज की 84 कोस और अयोध्या में लगातार 24 घंटे होने वाली विशेष परिक्रमा भी की है।इसके अलावा मनकामेश्वर पर्वत पर 10 किमी. की परिक्रमा की है।

इस अवसर पर शिप्रा पाठक ने परिक्रमा के दौरान मिले अनुभवों को उनके द्वारा लिखी गई पुस्तक ‘रिवा’ विधानसभा अध्यक्ष को  भेंट की।वह कहती हैं कि रिवा नर्मदा जी का ही नाम है, जब यह बहुत तेजी से बहती हैं, जो उन-उन स्थानों पर इन्हें रिवा बुलाया जाता है। 

इस अवसर पर विधानसभाध्यक्ष ने उन्हें शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यदि लक्ष्य तय कर लिया जाए हर कठिन कार्य भी आसान हो जाता है। स्पीकर ने ख़ुशी जतायी कि  हमारी भावी पीढ़ी  धार्मिकता एवं संस्कृति की ओर अग्रसर हो रही है। उन्होंने कहा कि नदी जल की स्वच्छता के लिए के लिए नर्मदा  की पैदल परिक्रमा कर शिप्रा ने समाज के लिए एक मिसाल पेश की है।           

पायलट मामले में प्रियंका का हस्तक्षेप

संजय मेहरा


नई दिल्ली। राजस्थान में राजनीतिक संकट सुलझाने और नाराज सचिन पायलट को शांत कराने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हस्तक्षेप किया है।प्रियंका के करीबी सूत्रों ने कहा कि उन्होंने दो नेताओं से बात की है और ये नेता उनसे नियमित तौर पर बात करते हैं।


लेकिन सूत्रों ने कहा कि वे इस बात की पुष्टि या खंडन नहीं कर सकते कि प्रियंका गांधी ने पायलट से बात की है। प्रियंका के हस्तक्षेप के बाद पायलट के पोस्टर पीसीसी पर फिर से चिपकाए गए और उनके कहने पर ही रणदीप सुरजेवाला ने जयपुर से पायलट और उनके समर्थकों से वापस लौटने की जोरदार अपील की। कांग्रेस के राज्य प्रभारी अविनाश पांडे ने भी कहा कि वह बातचीत करना चाहते हैं, लेकिन सुबह उन्होंने कहा था कि अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।


सूत्रों ने कहा कि के.सी. वेणुगोपाल को पायलट से बात करने की जिम्मेदारी दी गई है, क्योंकि वेणुगोपाल संगठन महासचिव हैं और संप्रग 2 के दौरान पायलट के साथ केंद्रीय मंत्री रहे हैं।इस बीच, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठक में अपनी ताकत का प्रदर्शन किया, जहां लगभग 105 विधायक उनके साथ दिखाई दिए।


मुठभेड़ में जैश के दो आतंकी मार गिराए

जम्मू कश्मीर। जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में सोमवार सुबह से सुरक्षा बलों व आतंकियों के बीच मुठभेड हुई है। इस मुठभेड में सुरक्षाबलों को कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। मुठभेड़ की जगह से आतंकियों से दो एके-47 समेत कई हथियारों की बरामदगी भी की गई है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुरक्षाबलों ने अनंतनाग के श्रीगुफवाड़ा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की विशेष सूचना मिली थी। उसी के आधार पर कार्रवाई के दौरान मुठभेड़ शुरू हुई। आतंकवादी जिस स्थान पर छिपे हुए थे, वहां सुरक्षा बलों के पहुंचते ही भारी गोलीबारी के साथ मुठभेड़ शुरू हो गई।             


डिग्री कॉलेजों में ऑनलाइन प्रवेश-परीक्षा

शिमला।  हिमाचल प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा प्रारंभ हो गई है। 13 से 31 जुलाई तक प्रवेश प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। अगर कोई स्टूडेंट 31 जुलाई तक किन्हीं कारणों से दाखिले नहीं करवा सकेंगे तो उन्हें अगस्त में भी दाखिले दे दिए जाएंगे। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ अमरजीत शर्मा ने कहा है कि सभी कॉलेज प्रिंसिपलों को दाखिलों की प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यमों से ही पूरा करने को कहा गया है।अधिकांश कॉलेजों की वेबसाइट बनी हुई है। इससे दाखिले दिए जा सकते हैं। इसके अलावा स्टूडेंट (Students) को फोन के माध्यम से भी दाखिले करवाने की सुविधा मिलेगी। विशेष परिस्थितियों में अभिभावक स्वयं कॉलेज में आकर इस प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि फर्स्ट ईयर दाखिलो का 31 जुलाई तक पंजीकरण किया जाएगा। इन्हें कंफर्म बाद में किया जाएगा। फर्स्ट और सेकेंड ईयर के स्टूडेंट को अगली कक्षा में रोल ऑन आधार पर दाखिले देने को भी मंजूरी दे दी गई है। इसी तरह स्कूलों में भी जमा एक में आज से ऑनलाइन दाखिले शुरू हो गए हैं।


थर्मल स्कैनर, सैनिटाइजर का इंतजाम


फर्स्ट ईयर में दाखिलों को पहली अगस्त के बाद कंफर्म किया जाएगा। ऐसा सीबीएसई का बारहवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम अभी जारी नहीं होने के चलते किया गया है। जाहिर है कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया बेशक ऑनलाइन माध्यम से शुरु हुई है लेकिन, स्टाफ के आने के चलते सभी प्रिंसिपलों को थर्मल स्कैनर, सैनिटाइजर का इंतजाम करने को कहा है। इसके अलावा आने और जाने के लिए अलग-अलग रास्ते चुनने को कहा है। स्टाफ के बीच भी सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने के आदेश दिए गए हैं।


सीबीएसई ने 12वीं के परिणाम घोषित किया

नई दिल्ली ।  केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने  12वीं कक्षा की परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं।

12वीं के छात्र-छात्राएं सीबीएसई की ऑफिशल वेबसाइट cbseresults.nic.in पर जाकर अपने परीक्षा परिणाम देख सकते हैं। 

परीक्षा परिणाम देखने के लिए छात्र-छात्राओं को अपने रोल नंबर के साथ डेट ऑफ बर्थ फिल करनी होगी ।

परीक्षा परिणाम ऐसे देखें-परिणाम देखने के लिए वेबसाइट cbseresults.nic.in पर जाना होगा।

CBSE 10वीं व 12वीं Result 2020 का विकल्प दिखने पर क्लिक करना होगा।
इसके बाद छात्र-छात्राओं को अपना रोल नंबर, जन्मतिथि, स्कूल नंबर और केंद्र नंबर दर्ज करना होगा।

सबमिट बटन पर क्लिक करते ही परिणाम स्क्रीन पर होगा। छात्र अपने रिजल्ट को डाउनलोड भी कर सकेंगे, आप चाहें तो परिणाम का प्रिंट भी निकाल सकेंगे।              

लटका मिला भाजपा विधायक का शव

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बीजेपी विधायक हत्या की खबर सामने आ रही है। यहां उत्तर दिनाजपुर में हेमताबाद से भाजपा विधायक देवेंद्र नाथ रॉय का शव फांसी के फंदे पर लटकता मिला है। बीजेपी ने इसके पीछे ममता सरकार का हाथ होना बताया है। वहीं कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हत्या कर शव को फांसी के फंदे पर लटकाया गया है।

सीएम ममता पर हत्या का आरोप लगाते हुए भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने सीबीआई जांच की मांग की है। बता दें कि मृतक देवेंद्र नाथ रॉय पहले माकपा की टिकट पर विधायक बने थे। इसके बाद 2019 में उन्‍होंने भाजपा ज्‍वाइन की थी। वे वर्तमान में हेमताबाद से भाजपा विधायक थे।

राहुल सिन्हा ने मीडिया से कहा कि तृणमूल कांग्रेस इस हत्या के पीछे है और उसने इसे आत्महत्या जैसा बना दिया है। मैं पश्चिम बंगाल के सीएम से अनुरोध करता हूं कि हत्या के पीछे की सच्चाई का पता लगाने के लिए सीबीआई जांच का आदेश दें।            

पर्यटन उद्योग को लगा बड़ा झटका

 नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से पर्यटन उद्योग को तगड़ा झटका लगा है। दुनिया ठहर गई है और लोग अपने शहर के पर्यटन स्थलों को घूमने से भी कतराने लगे हैं। डिज्नीलैंड की सैरः बच्चों व बड़ों, सभी के पसंदीदा कैलिफोर्निया स्थित डिज्नीलैंड को भी 12 मार्च को सैर-सपाटे के लिए बंद कर दिया गया था। हालांकि, अब जब हर देश में लॉकडाउन के नियमों में ढील दी जानी शुरू हो गई है तो डिज्नीलैंड को भी आम लोगों के लिए खोल दिया गया है। इसकी जानकारी मिली है डैम पार्क के ट्वीट से कैलिफोर्निया के स्थानीय प्रशासन ने डिज्नीलैंड घूमने आने वालों के लिए नई गाइडलाइंस जारी की हैं।           


सरकार आंंकड़े रोकने पर जुटीः लल्लू

आत्माराम त्रिपाठी


लखनऊ‌। उत्तर प्रदेश में लगातार बड़ रहे अपराधों को रोक पाने मे अक्षम योगी सरकार अब पीआर और छल के सहारे आंकड़ों को छिपाने और तोड़ मरोड़ कर पेश करने में जुटी है।यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने आज जारी एक बयान में कहा कि प्रदेश में अपराधियों का खौफ इस कदर बढ़ रहा है कि महिला युवा पीसीएस अधिकारी को जान देने पर मजबूर होना पड़ा है, और घटना में नामजद लोग भाजपा के नेता हैं। प्रयागराज में एक ही परिवार के चार लोगों की नृशंस हत्या के मामले में पुलिस अंधेरे में हाथ पांव मार रही है। इसी प्रयाग में जनवरी में हुयी जघन्य हत्या की वारदात के बारे में कुछ पता नहीं चल सका है।


अजय कुमार लल्लू ने कहा कि योगी सरकार अपराधियों को नहीं बल्कि राजनैतिक विरोधियों को निपटाने में जुटी है। यूपी कांग्रेस के युवा नेता शहनवाज आलम से लेकर अनस रहमान तक की गिरफ्तारी फर्जी आरोपों में की गयी है। कानून व्यवस्था को सुधारने का दावा करने वाली योगी सरकार लाखों का जुर्माना वसूलने के नाम पर रिक्शाचालक को गिरफ्तार कर अपनी पीठ ठोंक रही है। उन्होंने कहा कि कि कानपुर कांड के अपराधी विकास दुबे को मुडभेड़ में मार दिया पर उसे व प्रदेश में कई विकास पैदा करने वाले सफेदपोश नेताओं व अधिकारियों पर कारवाई के नाम पर सरकार चुप्पी मार कर बैठ गयी है। गृह विभाग से लेकर पुलिस के बड़े अधिकारी हर रोज विकास पैदा कर रहे हैं और उन्हें संरक्षण दे रहे हैं और राज खुलने के डर से मरवा दे रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा का अपराधों के आंकड़ों को छिपा कर और तोड़ मरोड़ कर योगी सरकार जनता के भरमाना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जल्द ही बीते तीन सालों के अपराधों का ब्यौरा जनता के बीच लाएगी और भाजपा सरकार व अपराधियों की दुराभिसंधि को उजागर करेगी। कानपुर के बिकरु हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग करते हुए लल्लू ने कहा कि आखिर सरकार किस बात से डर रही है। कांग्रेस 1989 से उत्तर प्रदेश की सत्ता से बाहर, विकास में गिरावट : एक सवाल के जवाब में लल्लू ने कहा कि कांग्रेस राज्य की जनता को प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से प्रभावित करने वाले मुद्दे लगातार उठा रही है। हम अपनी आवाज लगातार मजबूत कर रहे हैं। विभिन्न मुद्दों पर कांग्रेस जनता की आवाज बन रही है। कांग्रेस 1989 से उत्तर प्रदेश की सत्ता से बाहर है और तभी से राज्य के विकास में काफी अधिक गिरावट आयी है। चीनी मीलों के लिए जाना जाता UP, बंद हो रही मीलें: लल्लूः लल्लू ने कहा कि कांग्रेस शासन के समय यूपी उद्योगों, लघु उद्योगों और चीनी मिलों के लिए जाना जाता था, लेकिन अब बड़ी संख्या में चीनी मिले बंद हो रही हैं। जिलों के पारंपरिक उद्योगों की हालत खराब है, चाहे वह फिरोजाबाद का कांच उद्योग हो, अलीगढ़ के ताले हों, कानपुर का चर्म उद्योग हो, मुरादाबाद का पीतल हो या भदोही का कालीन। राज्य के बुनकरों की स्थिति भी काफी खराब है। जमीनी स्तर पर सरकार की परियोजना कार्यान्वित नहीं: लल्लूः उन्होंने कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस ‘‘विकसित यूपी, समृद्ध यूपी’’ बनाने का प्रयास करेगी। राज्य सरकार के ‘‘एक जिला एक उत्पाद’’ कार्यक्रम के बारे में पूछने पर लल्लू ने कहा कि यह सिर्फ एक बहाना है। राज्य सरकार निवेशक सम्मेलन आयोजित कर रही है, लेकिन जमीनी स्तर पर एक भी परियोजना कार्यान्वित नहीं हुई।         


गोधन न्याय योजना को लेकर क्रियान्वयन

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज यहां उनके निवास कार्यालय में गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन को लेकर की जा रही तैयारियों की समीक्षा की गई। इस अवसर पर क़ृषि मंत्री रविन्द्र चौबे , मुख्य सचिव आर पी मंडल, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम. गीता, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी,नगरीय प्रशासन विभाग की सचिव अलरमेल मंगई डी., मुख्यमंत्री के ग्रामीण विकास सलाहकार प्रदीप शर्मा, सहकारिता विभाग के सचिव आर प्रसन्ना और मुख्यमंत्री सचिवालय में उप सचिव सौम्या चौरसिया उपस्थित थी।             


बढ़ते संक्रमण पर 'गृहमंत्री' को घेरा

नई दल्ली। देश में कोरोना मामलों की संख्या नौ लाख के आंकड़े को छूने वाली है, ऐसे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को इस महामारी को संभालने के तरीकों को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। राहुल ने ट्विटर पर एक ग्राफ साझा किया, जिसमें पूरी दुनिया में कोरोना के मामले में बढ़ोतरी का आंकड़ा दिया हुआ है। इसमें साफ देखा जा सकता है कि देश कोरोन के प्रतिदिन के आंकड़ों में काफी बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने इस ग्राफ के साथ संलग्न अपने ट्वीट में कहा, “कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत अच्छी स्थिति में?” राहुल ने यह बयान गृहमंत्री अमित शाह के कोरोना को लेकर दिए बयान के एक दिन बाद दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि देश कोरोना वायरस से लड़ाई में अच्छी स्थिति में हैं।उल्लेखनीय है कि सोमवार को कोरोना के एक दिवसीय आंकड़ों में अबतक की सबसे बड़ी बढ़ोतरी दर्ज की गई। बीते 24 घंटें में कोरोना के 28,701 मामले सामने आए और 500 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही देश में कोरोना के मामले 8,78,254 हो गए और कुल मौतों की संख्या 23,174 तक पहुंच गई है।             


राजू


मंदिर में शिव दर्शन करने को उमड़ी भीड़

रघु यादव मस्तूरी 


मल्हार। मल्हार के पातालेश्वर मंदिर में दुसरे सोमवार को शिव भक्तों की संख्या शिव दर्शन करने को बड़े ही उत्साह पूर्वक पहुंचे। यहां पर भगवान शंकर भू-गर्भ में विराजमान हैं और मनोरथपूर्ण करने वाले माने जाते हैं। महाशिवरात्रि के अवसर पर यहां पर भव्य मेला भी लगता है। एतिहासिक स्थल के तौर पर मल्हार काफी प्रचलित है। मंदिर के प्रति लोगों की आस्था समय के साथ बढ़ती जा रही है। पातालेश्वर महादेव भू-गर्भ में विराजमान हैं और इस मंदिर में 108 कोण बने हुए है।पुरातत्व विभाग मंदिर का संरक्षण कर रहा है। पातालेश्वर महादेव को केदारेश्वर भी कहते हैं। काले चमकीले पत्थर की गौमुखी आकृति की शिवलिंग है। एसी मान्यता है कि भगवान शंकर की जलहरी में चढ़ाया जाने वाला जल पाताल लोक तक पहुंचता है। इसलिए इसे पातालेश्वर कहा गया है। मंदिर में गंगा, यमुना नदी की प्रतिमा के साथ ही शिव, पार्वती, गणेश, नंदी के बेजोड़ अंकन हैं। सोमराज ने कराया मंदिर का निर्माणः पातालेश्वर मंदिर का निर्माण कल्चुरी राजाओं ने कराया था। मंदिर का निर्माण दसवीं से 13वीं सदी के समय में हुआ था। सोमराज नामक ब्राह्मण ने मंदिर का निर्माण कराया था। एेसा मंदिर है, जिसमें 108 कोण बने हुए हैं। मंदिर भू तल में स्थित है। भगवान शिव की प्रतिमा भी गोमुखी है और भू-गर्भ में है। सालों से लग रहा शिवरात्रि मेलाः महाशिवरात्रि के अवसर पर पातालेश्वर मंदिर परिसर में भव्य मेले का आयोजन सालों से किया जा रहा है। यह मेला 15 दिनों का होता है। यहां पर प्रदेश के अलग-अलग जगहों से व्यापारी आते हैं। मनोरंजन के लिए टॉकीज, जादू, मौत का कुंआ, सर्कस भी यहां पर आते हैं। मंदिर तक पहुंचने का मार्गः शहर से लगभग 32 किलोमीटर की दूरी पर तहसील मस्तूरी के अंतर्गत नगर पंचायत मल्हार में पातालेश्वर महादेव का एेतिहासिक मंदिर है। मंदिर तक सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। सिटी बस या प्राइवेट वाहन से भी पहुंचा जा सकता है।           


लखनऊ में अरबों टिड्डियों का समूह पहुंचा

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रविवार को अरबों की संख्या में टिड्डियों का समूह पहुंचा। ऐसे में काकोरी होते हुए पुराने लखनऊ के आस-पास इलाकों में किसानों की फसलों का काफी नुकसान हुआ। वहीं दुबग्गा के आस-पास के इलाकों में भी लाखों की संख्या में टिड्डी दल दिखाई दिए।
बता दें कि किसान अपनी फसलों को टिड्डियों से बचाने या भगाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। रविवार पुराने लखनऊ के इमामबाड़ा, खदरा, चौक, नक्कास में अरबों की  संख्या में टिड्डियां दिखाई दी। लोग टिड्डियों के दल को देख कर परेशान हो गए। वहीं किसानों की परेशानियों को देखते हुए प्रशासन ने कमर कस ली। पुलिस ने बाइक में लगे हूटर बजाते हुए शहर में निकले और फायर ब्रिगेट की गाड़ियों से पानी की फुहार से टिड्डियों को भगाया लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया की ध्वनि यंत्र यानि पीआरवी 112 पुलिस बाइक, डीजे, पटाके के माध्यम से टिड्डियों को भगाने का काम किया जा रहा है जिससे टिड्डी दल रुके नहीं आगे निकलता जाएं।     


शाशंक तिवारी


'विधानसभा-कार्यलय' तक पहुंचा संक्रमण

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा परिसर में फैला कोरोना संक्रमण, विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के कार्यालय तक पहुंचा कोरोना संक्रमण।


विधानसभा अध्यक्ष के विशेष कार्यधिकारी पंकज मिश्रा कोरोना पॉजिटिव। विधानसभा अध्यक्ष के विशेष कार्य अधिकारी पंकज मिश्रा को पीजीआई में कराया गया भर्ती।विधानसभा अध्यक्ष के निजी सहायक अजय प्रताप सिंह भी पॉजिटिव। विधानसभा अध्यक्ष के निजी सहायक को लोहिया संस्थान में कराया गया भर्ती। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की रिपोर्ट आई नेगेटिव। चिकित्सकों ने विधानसभा अध्यक्ष को कोरेंटिन होने के लिए कहा।     


शाशंक तिवारी       


लॉकडाउनः अतिावश्यक सेवा-बैंक खुलें















अंबिकापुर । कोविड संक्रमण के बढ़ते रुप और हर दिन उसके मरीज़ों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए समस्त व्यापारिक संगठन, जनप्रतिनिधियों और नागरिकों की संयुक्त माँग पर दो दिवसीय लॉकडॉउन को प्रशासन ने स्वीकार लिया है। यह लॉकडॉउन मंगलवार और बुधवार को लगातार दो दिन रहेगा। लेकिन यह कंपलीट लॉकडॉउन को आप बेबी वर्जन कह सकते हैं। वजह यह है कि सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठान और गतिविधियाँ बंद रहेंगी जिनमें किराना और सब्ज़ी बाज़ार भी शामिल है, लेकिन बैंक पोस्टऑफिस समेत सभी शासकीय कार्यालय खुले रहेंगे।सभी अत्यावश्यक सेवाएं जारी रहेंगी।





















कोरोना की मिली वैक्सीन, ट्रायल सफल

कोरोना वैक्‍सीन के सभी ट्रायल सफल


मास्को। विश्वविद्यालय का दावा है कि कोरोना वैक्‍सीन के सभी ट्रायल सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। बताया जा रहा है कि यदि रूस का यह दावा सच साबित हुए तो यह दुनिया का पहला कोरोना वायरस वैक्‍सीन होगा। हालांकि, कोरोना वैक्सीन बनाने की राह में भारत ने एक कदम आगे बढ़ा लिया है और वैक्सीन का जानवरों पर ट्रायल पूरा कर लिया है और जल्द ही मनुष्यों पर भी ट्रायल शुरू किया जाएगा। वहीं अमेरिका समेत दुनिया के तमाम विकसित राष्ट्र कोरोना पर वैक्‍सीन तैयार करने में जुटे हुए हैं। जल्‍द ही बाजार में होगी उपलब्‍ध
सेचनोव यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल पैरासिटोलॉजी, ट्रॉपिकल एंड वेक्टर-बॉर्न डिजीज के निदेशक अलेक्जेंडर लुकाशेव ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से वैक्सीन के सभी पहलुओं की जांच कर ली गई है। अब यह वैक्सीन कब तक लोगों तक पहुंचेगी, यह तो नहीं पता, लेकिन अलेक्जेंडर लुकाशेव ने कहा कि यह जल्द ही बाजार में उपलब्ध हो जाएगी। वदिम तरासोव के मुताबिक, एक महामारी की स्थिति में सेचेनोव विश्वविद्यालय ने न केवल एक शैक्षणिक संस्थान के रूप में बल्कि एक वैज्ञानिक और तकनीकी अनुसंधान केंद्र के रूप में भी काम किया, जो ड्रग्स जैसे महत्वपूर्ण और जटिल उत्पादों का निर्माण करने में सक्षम है। हमने इस वैक्सीन के साथ काम किया, जो कि प्रीक्लिनिकल स्टडीज और प्रोटोकॉल डेवलपमेंट के साथ शुरू हुआ था और वर्तमान में क्लिनिकल परीक्षण चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवकों के पहले समूह को बुधवार को और दूसरे को 20 जुलाई को छुट्टी दे दी जाएगी। रूस में कोरोना के एक दिन में रिकॉर्ड 6615 मामले
दूसरी ओर, रूस में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (कोविड 19) संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 6615 मामले सामने आए हैं। कोरोना वायरस रिस्पांस सेंटर के मुताबिक नए मामले 83 क्षेत्रों से आए हैं और इनमें 1491 मरीजों को कोरोना के लक्षण नहीं है। इन मामलों के साथ देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 7,27,162 हो गई है। दुनिया भर में कोरोना की महामारी से प्रभावित देशों की सूची में रूस चौथे स्थान पर हैं। यहां इस बीमारी से अब तक 11,188 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।                       


वायरस से बचने के लिए 'सावधान'

बिजिंग। चीन के वुहान से फैले जानलेवा वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। इंसान से इंसान से फैलने वाले इस वायरस से बचने के लिए सभी देश अपने स्तर प्रयास कर रहे हैं। फिलहाल इससे बचने के लिए सभी लोग एहतियात बरत रहे हैं। साथ सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल रख रहे हैं। यूएस के बाद ब्राजील सबसे ज्यादा संक्रमित देश है। यहां पर संक्रमितों की संख्या 18 लाख 39 हजार के पार पहुंच गई है वहीं मरनेवालों की संख्या 71 हजार 469 तक पहुंच गई है। तीसरे नंबर संक्रमित देश है। भारत के बाद रुस , पेरु, चिली, मेक्सिको, यूके और साउथ अफ्रीका सबसे ज्यादा संक्रमित देश है।


अखिलेश पांडेय   


पुडुचेरी में संक्रमित संख्या-1418 हुई

पुडुचेरी। पुडुचेरी कोरोना वायरस की संख्या अबतक 1,418 पहुंच गई है। पुडुचेरी स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी किए आंकड़ो के मुताबिक, राज्य में कुल संक्रिय मामले 661 है वहीं मरनेवालों की संख्या 18 पहुंच गई है। जारी किए  इसके अलावा 739 मरीज ठीक हो गए हैं। केंद्र शासित प्रदेश में प्रत्येक दिन संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ रहा है। इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना से परेशान है। देश की बात करें तो यहां पर संक्रमितों का आंकड़ा 8 लाख 49 हजार के पार पहुंच गई है वहीं मरनेवालों की संख्या 22 हजार के पार पहुंच गई है। प्रत्येक दिन यह आंकड़ा बढ़ रहा है। देश में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली सबसे ज्यादा संक्रमित राज्य है। इसके साथ ही देश में जिस गति से आंकड़े बढ़ रहे हैं उसकी तेजी से टेस्टिंग भी हो रही है। देश में 1 करोड़ 27 लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट भी चुके हैं। दुनिया में भारत तीसरे नंबर पर सबसे ज्यादा संक्रमित देश है। वही अमेरिका पहला सबसे ज्यादा संक्रमित देश है।           


यमन में हमलें से 10 नागरिकों की मौत

साना। यमन में हवाई हमले में 10 नागरिकों की मौत हो गई है। हज्जाह प्रांत मे रविवार को एक घर पर सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन के हवाई हमले में 10 नागरिकों की मौत हो गई है। एएनआइ न्यूज एजेंसी के हवाले से हाउती टेलीविजन ने यह रिपोर्ट दी। टेलिवजिन ने बताया कि वाशह जिले में एक घर के मलबे में से दो घायल लोगों को  निकाला गया है।  पांच साल से अधिक समय से यमन राष्ट्रपति अब्दराबुह मंसूर हादी और हाउती विद्रोहियों के नेतृत्व में सरकारी बलों के बीच एक सशस्त्र संघर्ष में उलझा हुआ है। सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन के समर्थन के बावजूद सरकारी सेना उत्तर में हाउती नियंत्रित क्षेत्रों पर पर अधिकार नहीं कर पाई है।           


हमलें में ड्रोन-मिसाइलों का हुआ इस्तेमाल

रियाद। सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन को हवाई हमलों के लिए व्यापक अंतरराष्ट्रीय आलोचना भी लगातार सामना करना पड़ रहा है, स्कूलों, अस्पतालों और शादी पार्टियों सहित गैर-सैन्य लक्ष्यों पर भी सऊदी की तरफ से हमले हो चुके हैं। सऊदी अरब पर हमला करने के लिए हाउथी ने ड्रोन और मिसाइलों का इस्तेमाल करता रहा है। 


कोरोना काल में हुआ हमलाः बता दें कि कोरोना काल में यह हमला हुआ है। पहले ही पूरी दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है। पूरी दुनिया में इस वायरस कि रोकथाम के लिए सभी देश अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं। दुनिया में इस वायरस से सबसे ज्यादा अमेरिका प्रभावित है। इसके बाद इस वायरस से ब्राजील, भारत, रुस और सबसे ज्यादा संक्रमित देश है। फिलहाल इस वायरस से निजात पाने के लिए प्रत्येक देश अपन स्तर पर प्रयास कर रहे हैं। वहीं सभी देश इस वायरस से बचने लिए वैक्सीन बनाने में जुटे हैं वही रूस का दावा कि उन्होंने कोरोना वैक्सीन की पहला मानव ट्रायल कर लिया है।           


कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने मारी बाजी

कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने मारी बाजी, सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा सभी परीक्षण रहे सफल

मास्‍को। कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने बाजी मार ली है। रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा है कि उसने कोरोना वायरस के लिए वैक्‍सीन तैयार कर लिया है। विश्वविद्यालय का कहना है कि वैक्‍सीन के सभी परीक्षणों को सफलतापूर्वक संपन्‍न कर लिया गया है। अगर यह दावा सच निकला तो यह कोरोना वायरस की पहली वैक्‍सीन होगी। इसके साथ ही दुनिया को कोरोना वायरस की काट भी रूस ने खोज निकाला है। हालांकि, अमेरिका समेत दुनिया के तमाम विकसित मुल्‍क कोरोना पर वैक्‍सीन तैयार करने में जुटे हैं। कई तो ट्रायल के स्‍तर पर असफल भी हो चुके हैं, लेकिन रूस ने पहली वैक्‍सीन को सफल करार देकर बाजी मार ली है।18 जून को टीके का शुरू हुआ था ​​परीक्षणः इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव ने कहा कि विश्वविद्यालय ने 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके के ​​परीक्षण शुरू किया था। तारासोव ने कहा कि सेचेनोव विश्वविद्यालय ने कोरोनोवायरस के खिलाफ दुनिया के पहले टीके के स्वयं सेवकों पर सफलतापूर्वक परीक्षण पूरा कर लिया है।             


मोहम्मद अबदुल्ला


ड्रोन हमले को 'गलती' के रूप में स्वीकार किया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के एक शीर्ष सैन्य कमांडर ने काबुल हवाईअड्डे पर पिछले महीने हुए आत्मघाती धमाके के कुछ दिनों बाद ‘आईएसआईएस-के’के आतंकवा...