रविवार, 17 दिसंबर 2023

“अवांछित यौन आतंक” का शिकार बनाईं महिला

“अवांछित यौन आतंक” का शिकार बनाईं महिला
सुनील श्रीवास्तव 
वाशिंगटन डीसी। पुरी दुनिया में बेरोजगारी का ऐसा आलम है कि नौकरी पाने के लिए इंसान कुछ भी करने को तैयार है। वहीं, नौकरी लगाने के नाम पर शोषण के भी कई मामले सामने आ चुके हैं। ऐसा ही एक मामला अमेरिका से सामने आया है, जहां एक कंपनी के सीईओ ने महिला कर्मचारी से नौकरी देने के नाम पर ऐसा कॉन्ट्रैक्ट पर साइन करवाया है, जिसे जानकर आप भी शर्म से पानी-पानी हो जाएंगे।
मिली जानकारी के अनुसार महिला ने एक टेक कंपनी में नौकरी के लिए आवेदन किया था। कंपनी महिला को नौकरी देने के लिए तैयार हो गई, लेकिन इसके लिए महिला से एक कॉन्ट्रैक्टर साइन कराया गया। इस कॉन्ट्रैक्ट में स्पष्ट लिखा हुआ था कि सीईओ का मन सेक्स करने के लिए करेगा, महिला कर्मचारी मना नहीं करेगी। इस घटना को लेकर महिला ने टेक कंपनी के सीईओ के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।
महिला कर्मचारी जेन डो ने बताया कि उसे मजबूर करके कॉन्ट्रेक्ट पर साइन करवाए गए, फिर कंपनी के सीईओ ने उसे कथित तौर पर वर्षों तक “अवांछित यौन आतंक” का शिकार बनाया, जिसमें “विभिन्न तरीकों से उसे शारीरिक पीड़ा पहुंचाना, उस पर पेशाब करना और नियमित रूप से उसके शरीर में विदेशी वस्तुओं को घुसाना” शामिल था। महिला ने बताया कि जेन डो के मुकदमे के अनुसार लैंग ने उससे नौ पेज के एक अनुबंध पर हस्ताक्षर करावाए, जिसमें कहा गया था कि जब भी उसे सेक्स की आवश्यक्ता हो तो उसे हमेशा यौन संबंध बनाने के लिए मौजूद रहना होगाऔर उसे कभी भी सेक्स से इनकार नहीं करना होगा।
महिला ने बताया कि अनुबंध में लिखा था- “जब भी वह अपने मालिक को पहली बार अकेले में देखती है, तो उसे घुटने टेककर पूछना होता है कि क्या वह उसके लिए कुछ कर सकती है।” दावा किया गया है कि अनुबंध में एक शर्त यह भी है कि उसे अपना वजन 130 से 155 पाउंड (58 से 70 किलोग्राम) के बीच बनाए रखना होगा। इसके अलावा, सहायक को क्रोधित, उदास या निराश हुए बिना लैंग द्वारा दी गई कोई भी सज़ा भुगतनी होगी।

लिवर को समय पर डिटॉक्स करना बेहद जरूरी

लिवर को समय पर डिटॉक्स करना बेहद जरूरी
सरस्वती उपाध्याय 
ठंड में जब शरीर जाम होने लगता है तो लिवर का फंक्शन में स्लो हो जाता है। जिससे तकलीफ बढ़ सकती है। पेट में कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। इसलिए खान-पान पर विशेष ध्यान देना जरूरी है। बहुत ज्यादा जंक फू़ड, ऑयली खाना और मसालेदार खाने से सेहत तो बिगड़ती ही है साथ ही लिवर पर भी इसका असर पड़ता है।लिवर के फंक्शन को ठीक रखने के लिए समय समय पर इसे डिटॉक्स करना बेहद्द जरुरी होता है। इससे आप लिवर संबंधी तकलीफों को दूर कर सकते हैं और आपका शरीर भी डिटॉक्स होता है। पेट दर्द, कब्ज, अपच, लिवर सम्बन्धी बीमारियां हैं। इन बीमारियों को दूर करने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय करते हैं। आज हम आपको एक ऐसा ड्रिंक बता रहे हैं जो लिवर को डिटॉक्स करता है। जानिए इसे घर पर कैसे तैयार करें?
लिवर को डिटॉक्स करता है ये वॉटर
आपको इस डिटॉक्स वॉटर को तैयार करने के लिए 1 लीटर पानी लेना है। इसके लिए 1 ग्रीन एप्पल चाहिए। थोड़े से चिया सीड्स और पुदीना के पत्ते, थोड़े तुलसी के पत्ते आपको चाहिेए।
कैसे बनाएं डिटॉक्स वॉटर
किसी बर्तन में 1 लीटर फिल्टर वाला पीना ले लें।
इसमें तुलसी की 5 पत्तियां और पुदीना की 10 पत्तियों को हल्का कूट कर डाल दें।
ग्रीन एप्पल को धोकर साफ कर लें और छोटे टुकड़े करके पानी में डाल दें।
पानी में आपको करीब 1 चम्मच चिया सीड्स डालने होंगे।
सारी चीजों को अच्छी तरह से मिक्स कर लें और इसे करीब 1 घंटे के लिए छोड़ दें।
अब आप इस पानी को को दिनभर में जब जी चाहे पी सकते हैं। वैसे सुबह के वक्त ये पानी ज्यादा असरदार साबित होता है।
डिटॉक्स वॉटर के फायदे
अगर आप डेली 1 गिलास डिटॉक्स वॉटर पीते हैं तो इससे कब्ज की समस्या दूर हो जाएगी।
डिटॉरक्स वॉटर पीने से यूरिन संबंधी परेशानियां कम होने लगती हैं, इसलिए आप रोजाना 1 गिलास डिटॉक्स वॉटर जरूर पिएं।
पेट से जुडी तकलीफें होने पर ये पानी कमाल का काम करता है। इससे पेट में जमा सारी गंदगी साफ हो जाती है।
डिटॉक्स वाटर पीन से पेट अच्छी तरह से क्लीन हो जाता है और पेट की समस्याएं कम हो जाती हैं।
डिटॉक्स वॉटर स्किन और बालों को भी शाइनी बनाता है। ग्लोइंग स्किन पाने के लिए रोजाना डिटॉक्स वॉटर जरूर पिएं।

परिजनों को मुआवजा नहीं, लापरवाही का नमूना

परिजनों को मुआवजा नहीं, लापरवाही का नमूना
अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि प्रावधान के बावजूद सीतामढ़ी औऱ दरभंगा जिला में जहरीली शराब से मरने वालों के परिजनों को मुआवजा नहीं देना लालफीताशाही का नमूना है।
सिन्हा ने कहा कि कुछ माह पूर्व उन दोनों जिलों में जहरीली शराब से लोगों की मौत हुई थी। सीतामढ़ी जिला में मृतकों में अधिकांश यादव औऱ मंडल समाज के थे।प्रशासन ने बिना पोस्टमार्टम रात में ही लाशों को जबर्दस्ती जलवा दिया। घरवालों पर दवाब बनाकर उन मृतकों के बीमारी से मरने की बात की। छपरा में बिना पोस्टमार्टम मृतकों के परिजनों को मुआवजा दिया गया। फिर सीतामढ़ी औऱ दरभंगा में भेदभाव क्यों किया जा रहा है?
सिन्हा ने कहा कि दरभंगा में डी एम सी एच में शराब पार्टी राज्य में शराब बंदी की विफलता का नमूना है। अधिकांश शासन प्रशासन के अधिकारियों औऱ उनके मातहत कार्यालयों में शराब सेवन दिनचर्या बन गई है। इन्हीं लोगों को शराब बंदी सफल बनाने का जिम्मा भी सौंपा गया है। राज्य में इस साल अभी तक जप्त 4 लाख लीटर शराब यह साबित करता है कि शराब बंदी विफल हो गई। शराब की निर्बाध सप्लाई डिलीवरी चैन दिन प्रतिदिन मजबूत हो रही है। 20000 करोड़ से अधिक का अवैध वार्षिक व्यापार फल फूल रहा है।
सिन्हा ने कहा कि 1 अप्रैल 2024 को शराब बंदी की आठवीं सालगिरह होगी। भाजपा ने इन्हें विपक्ष में रहते हुए भी शराब बंदी पर पूर्ण समर्थन दिया था। हमने आगाह भी किया था कि सख्ती और मजबूती से लागू की जाय। पर अभी तक शराब माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई, सम्पत्ति जप्ती औऱ दण्डात्मक अभियान के अभाव के कारण ये तरक्की कर रहे हैं और शासन प्रशासन को अवैध कमाई से हिस्सा दे रहे हैं। इनकी सम्पत्ति जप्त हो औऱ मददगार को भी जेल के भीतर किया जाय। मुख्यमंत्री अधिकारियों की रैंडम ब्लड टेस्ट कराएं। गुनाहगार सामने आ जाएंगे। साथ ही अपराधी और माफिया पर लगाम लगाने के लिए सरकार को शराब बंदी की सख्ती से समीक्षा करनी चाहिए।

मान्यता कक्षा 5 तक पढ़ाई 12वीं तक, कार्रवाई की

मान्यता कक्षा 5 तक पढ़ाई 12वीं तक, कार्रवाई की 
संदीप मिश्र   
बरेली। शिक्षा अधिकारी ने बताया उनके पास कुछ स्कूलों की शिकायतें आ रही थी। कुछ स्कूलों ने कक्षा पांच तक की मान्यता कर रखी है। वह इंटर तक के छात्रों को पढ़ा रहे हैं। जांच करने पर उन्होंने पाया रामकृष्ण परमहंस बाल विद्यालय मुगलपुर विकासखंड मझगवां कक्षा 5 की मान्यता लेकर कक्षा 12 तक की उच्च कक्षाओं का संचालन कर रहे थे।
वहीं रघुवीर प्रसाद उपाध्याय स्मारक शिक्षण संस्थान अनुरुद्धपुर मझगवां कक्षा 5 की मान्यता लेकर 12 तक उच्च कक्षाओं का संचालन किया जा रहा था। एकता आदर्श समाज पब्लिक स्कूल बीबनी मझगवां कक्षा 5 की मान्यता लेकर कक्षा 12 तक उच्च कक्षाओं का संचालन किया जा रहा था।
एसपी सिंह सरस्वती विद्या मंदिर शिवनगर और सरस्वती ज्ञान मंदिर शिवमंदिर बरा सिरसा, सरस्वती विद्या मंदिर रामानंद मिश्रा आवास, डीएस स्कूल के पास राजपुर कला में इन स्कूल में किसी भी प्रकार की मान्यता नहीं है। इन सभी के खिलाफ अलीगंज थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस जांच में जुटी है।

शव लेकर आरोपी के घर जा कर हंगामा किया

शव लेकर आरोपी के घर जा कर हंगामा किया
अनिल कुमार 
बदायूं। जनपद में युवक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि फाइनेंस कंपनी संचालक ने युवक के जमा किए गए रुपए देने से इंकार कर दिया, इसी कारण उसने आत्महत्या की है। परिवार के लोग शव लेकर आरोपी के घर जा पहुंचे और हंगामा किया। इस दौरान पुलिस भी पहुंच गई, जबकि आरोपी ने घर का दरवाजा भीतर से बंद कर लिया और बाहर नहीं आया।
थाना सिविल लाइंस क्षेत्र के मीरा सराय गांव निवासी पप्पू (42) ने शहर के चित्रांशनगर में रहने वाले डीके मौर्य नाम के व्यक्ति की फाइनेंस में अपनी रकम जमा की थी। आरोप है कि कुछ समय पहले पप्पू की जमीन भी अपने नाम करा ली थी, जबकि रुपए के नाम पर कभी पांच हजार तो कभी 10 हजार रुपए देकर टरका देता था। पिछले दिनों पप्पू की तबीयत खराब होने पर परिजन उसे अलीगढ़ ले गए थे। इस बीच आरोपी से रुपए मांगे तो उसने इंकार कर दिया।
शनिवार को परिवार वाले पप्पू को घर ले आए। यहां शाम को उसकी मौत हो गई। इससे आक्रोशित परिजन शव लेकर आसपास इलाके की भीड़ के साथ फाइनेंस संचालक के दरवाजे पर आ धमके और शव वहीं रखकर हंगामा शुरू कर दिया। मामले की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने समझाने की काफी कोशिश की लेकिन भीड़ नहीं मानी। पप्पू की बेटी ने बताया कि उनके पिता के लाखों रुपये आरोपी फाइनेंस संचालक डकारे बैठा है। कई अन्य लोगों की रकम भी दबाए हुए है।
पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया
अब उसके पिता ने आत्महत्या कर ली है और घर पर इतने रुपए भी नहीं कि उनका अंतिम संस्कार किया जा सके। ऐसे में कम से कम अब तो आरोपी को रुपए देना चाहिए। इधर, आरोपी ने भीड़ देख घर का दरवाजा भीतर से बंद कर लिया। भीड़ ने दरवाजा खुलवाने की काफी कोशिश की, लेकिन नतीजा नहीं निकला। पुलिस भी घटनास्थल पर जा पहुंची और लोगों की बात सुनकर उन्हें समझाने की कोशिश में लगी रही। देर रात एसडीएम सदर सुखलाल प्रसाद वर्मा के समझाने पर लोग माने और पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए कब्जे में ले लिया। वहीं आरोपी को भी हिरासत में ले लिया गया।

मंदिर निर्माण में भाजपा की नहीं कोर्ट की भूमिका है

मंदिर निर्माण में भाजपा की नहीं कोर्ट की भूमिका है
सौरव सिंघल
देवबंद। सपा के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल यादव ने आज यहां कहा कि अयोध्या के श्री राम मंदिर निर्माण में बीजेपी की कोई भूमिका नहीं है, मंदिर का निर्माण कोर्ट के आदेश पर किया जा रहा है। सहारनपुर जाते हुए देवबंद में स्टेट हाईवे स्थित वरिष्ठ सपा नेता राव कारी साजिद के कार्यालय पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल यादव का कार्यकर्ताओं ने फूलमालाओं से जोरदार स्वागत किया। 
इस दौरान शिवपाल यादव ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुड़ने का आह्वान किया। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में शिवपाल यादव ने भाजपा पर अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का क्रेडिट लेने का आरोप लगाते हुए कहा कि मंदिर का निर्माण सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर किया जा रहा है, मंदिर निर्माण में बीजेपी की कोई भूमिका नहीं है। उन्होंने कहा कि सपा को 22 जनवरी के कार्यक्रम को लेकर कोई निमंत्रण नहीं मिला। बीजेपी भगवान राम के सहारे राजनीति करती है। मथुरा विवाद पर सपा के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल यादव ने कहा कि जो भी कोर्ट का निर्णय होगा वह सर्वमान्य होगा। उन्होंने कहा कि दिसंबर माह गुजर जाने के बावजूद भी किसानों का गन्ना मूल्य घोषित नहीं किया गया, भाजपा पूरे देश में युवाओं को रोजगार नहीं दे पाई, सभी संवैधानिक उपक्रमों पर भाजपा ने असंवैधानिक कब्जा किया हुआ है। 
उन्होंने कहा कि भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए इंडिया गठबंधन बना है। दो दिवसीय दौरे पर सपा के राष्ट्रीय सचिव और शिवपाल यादव सहारनपुर पहुंचे है। शिवपाल यादव ने कहा कि गठबंधन के पास प्रधानमंत्री पद के लिए कई चेहरे हैं। समय आने पर सीटों पर भी तालमेल हो जाएगा। भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए इंडिया गठबंधन बनाया गया है। इस दौरान शिवपाल यादव ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और संगठन की मजबूती पर बल दिया। इस दौरान पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर, पूर्व मंत्री सरफराज खान, जिलाध्यक्ष चौधरी अब्दुल वाहिद और राव कारी साजिद सहित बड़ी संख्या सपा नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

भाकियू जिलाध्यक्ष को स्मृति चिन्ह सम्मान दिया

भाकियू जिलाध्यक्ष को स्मृति चिन्ह सम्मान दिया 
भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। भारतीय किसान यूनियन जिलाध्यक्ष योगेश शर्मा को भारत माता का स्मृति चिन्ह देकर हमारा परिवार सेवा संस्थान, सामाजिक संस्था ने सम्मानित किया।
हमारा परिवार सेवा संस्थान मुजफ्फरनगर के प्रदेश महासचिव अमित अग्रवाल उर्फ बंटी किनौनी एवं जिलाध्यक्ष मनोज सौदाई एडवोकेट के नेतृत्व मे दो दर्जन कार्यकर्ताओ ने किसानो के लिए संघर्षरत रहने वाले भारतीय किसान यूनियन के मजबूत स्तंभ यशस्वी जिलाध्यक्ष योगेश शर्मा को भारत माता का स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। 
इस अवसर पर भारतीय किसान से लम्बे समय से जुड़े अमित अग्रवाल उर्फ बंटी किनौनी को जिलाध्यक्ष योगेश शर्मा ने टोपी पहनाकर भारतीय किसान यूनियन में मजबूती से कार्य करने के लिए प्रेरित किया। जिलाध्यक्ष योगेश शर्मा ने सभी साथियों से आह्वान किया कि भारतीय किसान यूनियन हमेशा से किसान , गरीब , मजलूम , व्यापारी सभी के हकों की आवाज उठाता आया है। भारतीय किसान यूनियन सभी धर्म जाति के लोगो का सम्मान करता है। सम्मानित करने वालो में अंग्रैजपाल सिघलं, नरेश नन्दन बाल्मीकि, अरविन्द कूकड़ा , राहुल शर्मा , रमन मित्तल, अमरपाल प्रजापति, अमित मित्तल, निशांत कुमार, मोनू सैनी , परविन्द्र कुमार , विशाल सिघलं, दीपक वर्मा , लालसिंह , सोरभ , सुनिल आदि उपस्थित रहे।

झुग्गी में भीषण आग, 1 झुलसा 3 जिंदा जलें

झुग्गी में भीषण आग, 1 झुलसा 3 जिंदा जलें
पंकज कपूर 
ऊना। बीती रात ऊना जिले के हरोली में एक झुग्गी में आग लगने से जहाँ पिता बुरी तरह झुलस गया, तो वहीँ  9 महीने के बेटे, पांच साल की बच्ची और मां की दर्दनाक मौत हो गई। आग में झुलसे व्यक्ति को प्राथमिक चिकित्सा दी गई और  उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे यहां से पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार, हरोली तहसील के बाथू के कोलिया नामक गांव में बीती रात करीब 12:30 बजे इस झुग्गी में  आग लगी। उस समय परिवार के चार सदस्य झुग्गी के अंदर सो रहे थे । जब तक कि ये लोग इस बारे में नहीं जान पाते तब तक झुग्गी आग की लपटों में घिर गई  । हालाँकि आग लगने के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।
जानकारी के मुताबिक , उत्तरप्रदेश का रहने वाला विजय शंकर का परिवार रोजाना की तरह रात को खाना खाने के बाद सो गया। आधी रात को इनकी झुग्गी में अचानक ही अज्ञात कारणों से आग भड़क उठी। गहरी नींद में सो रहे परिवार को विकराल आग ने अपनी चपेट में ले लिया। जिसमें दो मासूम बच्चों व महिला की दर्दनाक मौत हो गई। मामले की सूचना मिलते ही टाहलीवाल पुलिस मौके पर पहुंची और मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए क्षेत्रीय अस्पताल ऊना पहुंचाया। मृतकों में  सुमित्रा देवी (25) पत्नी विजय शंकर निवासी उत्तर प्रदेश हाल रिहायश बाथु और उसका  9 महीने का बेटा अंकित और  पांच  साल की एक अन्य मासूम बच्ची नैना शामिल हैं।

तिरंगा झंडा लाल चौक में लहराया जा सकता है

तिरंगा झंडा लाल चौक में लहराया जा सकता है
राणा ओबरॉय 
नई दिल्ली। अमित शाह के बयान को लेकर निसित प्रमाणिक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह जैसे सख्त निर्णय लेने वाले हों तो कोई भी फैसला लिया जा सकता है। अगर कश्मीर से अनुच्छेद 370 को उखाड़ फेंका जा सकता है और तिरंगा झंडा लाल चौक में लहराया जा सकता है तो फिर एक दिन आप सुबह उठकर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में भारतीय झंडे को लहराते हुए देख सकते हैं, कोई आश्चर्य नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि देश का नेतृत्व दो मजबूत लोग कर रहे हैं, जो देश के सम्मान और हित के लिए जरूरी काम कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को भारत का हिस्सा मानती है।
‘पीएम मोदी और अमित शाह जो कहते हैं वो करते जरूर हैं’
क्या लोकसभा चुनाव से पहले पीओके भारत में शामिल होगा के जवाब में बीजेपी नेता ने कहा कि वो मैं नहीं कह सकता। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री काम करने से पहले कुछ नहीं बोलते हैं। अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के 2 दिन पहले तक इसकी जानकारी नहीं थी। देश की सुरक्षा और सम्मान के लिए वे कुछ भी करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि पीओके पर अभी भी पाकिस्तान का कब्जा है, लेकिन यह भारत का हिस्सा है। हम इस पर दृढ़ता से विश्वास करते हैं। कश्मीर में सीट बंटवारे के मामले में हमने पीओके से सीटें रखी हैं और उम्मीदवारों को नामांकित किया है। मैं कहना चाहूंगा कि पीएम और गृह मंत्री जो कहते हैं, वो लागू करते हैं।
संसद में गृह मंत्री अमित शाह ने दिया था ये बयान
दरअसल, जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाना मोदी सरकार के सबसे मजबूत फैसलों में से एक माना जाता है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना ​​है कि इस अनुच्छेद के खत्म होने के बाद कश्मीर मुद्दे पर इस्लामाबाद को सीधा मैसेज गया है कि भारत पीओके को लेकर अपनी आगे रणनीति बनाएगा। अभी हाल ही में अमित शाह ने संसद में जम्मू-कश्मीर की सीटों को लेकर बात की थी। इसी दौरान उन्होंने कहा था कि पीओके के लिए विधानसभा की 24 सीटें रिजर्व रखी गई हैं। इस बयान के बाद अटकलें तेज हो गई हैं कि क्या मोदी सरकार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को जल्द हासिल करेगी?

साउथ अफ्रीका को पहले वनडे में 8 विकेट से हराया

साउथ अफ्रीका को पहले वनडे में 8 विकेट से हराया
अखिलेश पांडेय 
जोहानिसबर्ग। भारत ने साउथ अफ्रीका को पहले वनडे में 8 विकेट से हरा दिया है। इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने 3 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है। मुकाबले में साउथ अफ्रीका ने भारत को 117 रनों का टारगेट दिया था, जिसे उसने 16.4 ओवरों में हासिल कर लिया।
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी साउथ अफ्रीका की शुरुआत काफी खराब रही और उसने पावरप्ले में ही अपने चार विकेट खो दिए। ये चारों विकेट अर्शदीप सिंह ने झटके। अर्शदीप सिंह ने अपने पहले ही ओवर में रीजा हेंड्रिक्स और रस्सी वैन डर डुसेन को बिना खाता खोले पवेलियन लौटा दिया। बाद में अर्शदीप ने दूसरे ओपनर टोनी डी जोरजी और हेनरिक क्लासेन को आउट कर दिया।
अर्शदीप सिंह के बाद आवेश खान का जलवा देखने को मिला और उन्होंने लगातार गेंदों पर कप्तान एडेन मार्करम और वियान मुल्डर को चलता करके अफ्रीकी टीम की हालत खराब कर दी। फिर आवेश ने खतरनाक बल्लेबाज डेविड मिलर और केशव महाराज को भी पवेलियन रवाना कर दिया। 73 रनों पर सात विकेट गिरने के बाद ऐसा लग रहा था कि साउथ अफ्रीका 100 रन भी नहीं बना पाएगा, लेकिन एंडिले फेहलुक्वायो ने कुछ बड़े शॉट्स लगाकर साउथ अफ्रीका को 116 रनों के स्कोर तक पहुंचाने में मदद की।
फेहलुक्वायो ने तीन चौके और दो सिक्स की मदद से 49 गेंदों पर 33 रन बनाए। वहीं टोनी डी जोरजी ने 28 रनों की पारी खेली, जिसमें दो चौके और इतने ही सिक्स शामिल रहे। भारत की ओर से अर्शदीप सिंह ने 10 ओवरों में 47 रन देकर पांच विकेट लिए। वहीं आवेश खान को चार, जबकि कुलदीप यादव को एक सफलता हासिल हुई।

संपत्ति लालसा में करती रहीं परिजनों की हत्याएं

संपत्ति लालसा में करती रहीं परिजनों की हत्याएं
दीपक राणा 
यह कहानी है जोलियम्मा उर्फ जॉली जोसेफ की। जॉली जोसेफ को उसके पड़ोसी एक परफेक्ट महिला मानते थे। वह कोझिकोड के प्रतिष्ठित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में ‘प्रोफेसर’ थी।
सब की मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहती थी। लेकिन उसकी असल कहानी कुछ और ही निकली जो बताती है कि जो दिखता है वह हमेशा सच नहीं होता। और तो और उसकी हकीकत कहीं ज्यादा घिनौनी और भरोसा तोड़ने वाली हो सकती है।
जॉली की सास का निधन एक रहस्यमयी बीमारी के चलते हुआ था। उसके तीन करीबी रिश्तेदारों ने दिल के दौरे की वजह से दम तोड़ा था और उसकी दो साल की भतीजी की दम घुटने से मौत हो गई थी। कई दिनों तक जॉली अपने घर पर किसी का साया होने की बात कहती रही थी। उसने अपने घर और पड़ोस में ऐसा मायाजाल बुना था कि सबको यही लगता था कि वह एनआईटी में प्रोफेसर है। लेकिन इन सबकी असलियत कुछ और थी।
अक्टूबर 2019 में पुलिस ने एक नई कहानी सुनाई। पुलिस की इस कहानी में किसी का साया होने का जिक्र नहीं था बल्कि जॉली ने इन सभी को एक-एक करके सायनाइड जहर देकर मारा था। जब तक पुलिस ने इन घटनाओं का पर्दाफाश नहीं किया था तब तक उसके पड़ोसियों को उस पर रत्ती भर भी शक नहीं था। पड़ोसियों को कभी भी किसी भी तरह की जरूरत होती थी तो जॉली जोसेफ उनकी मदद के लिए हमेशा हाजिर रहती थी।
शादी के पांच साल बाद शुरू हुआ मर्डर का सिलसिला
साल 1997 में जॉली ने रॉय थॉमस के साथ शादी की थी। इसके पांच साल बाद हत्याओं का सिलसिला शुरू हुआ जब साल 2002 में रॉय की 57 वर्षीय मां अन्नम्मा की रहस्यमयी परिस्थितियों में मौत हो गई। लेकिन वह पहले ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रही थी तो उनकी मौत पर किसी को कोई शक नहीं हुआ और न ही पोस्टमार्टम कराया गया। इसके बाद साल 2008 में रॉय के पिता टॉम थॉमस (66) की तबीयत अचानक बिगड़ गई।
उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित करते हुए मौत का कारण हार्ट अटैक बताया। टॉम ने अपनी वसीयत में संपत्ति रॉय और जोसेफ के नाम की थी। इसके तीन साल बाद रॉय थॉमस की मौत भी हो गई। लेकिन इस बार रॉय के चाचा मैथ्यू ने पोस्टमार्टम पर जोर दिया। पोस्टमार्टम में पता चला कि रॉय थॉमस की मौत सायनाइड के चलते हुई है। इसका आम तौर पर माइनिंग और ज्वैलरी बनाने में इस्तेमाल किया जाता है।
पुलिस ने इसे आत्महत्या बताया और मामला बंद कर दिया। लेकिन इसके बाद भी जॉली ने सबको रॉय की मौत का कारण हार्ट अटैक ही बताया। रॉय की मौत पर सवाल उठाने वाले मैथ्यू (67) की भी 2014 में मौत हो गई और जॉली ने इसका कारण भी सबको दिल का दौरा बताया। इसी साल रॉय के चचेरे भाई शाजी सखरियास की दो साल की बेटी की कुछ खाते समय दम घुटने से जान चली गई। फिर 2016 में शाजू की पत्नी सिली की भी मौत हो गई।
नई वसीयत सामने आने के बाद हुई शक की शुरुआत
जॉली पर शक की शुरुआत रॉय की मौत के बाद हुई थी जब वसीयत का एक नया वर्जन सामने आया था। इसमें पारिवारिक घर को जॉली के नाम करने की बात थी। रॉय के भाई रोजो थॉमस ने इसकी असलियत जानने की कोशिश शुरू की जिसमें पता चला कि जॉली असल में एनआईटी में काम ही नहीं करती थी। जब रोजो ने अपने परिवार को यह बात बताई तो सब उसी के खिलाफ हो गए। कोई भी उसकी बात मानने को तैयार नहीं हुआ।
2017 में जॉली ने शाजू के साथ ही दूसरी शादी की थी। 2019 में रोजो ने अपने सभी परिजनों की मौत पर शक जताते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। जांच में पुलिस ने चार अक्टूबर 2019 को सभी की कब्र खुदवाई थीं और इसमें पता चला था कि ये सभी मौत असल में हत्याएं थीं। मामले में जॉली के साथ उसके एक संबंधी एमएस मैथ्यू और एक सुनाव प्राजिकुमार को भी गिरफ्तार किया गया था जो सायनाइड सप्लाई करने के लिए जिम्मेदार थे।

कैलिफोर्निया में दूसरी बार मेयर बनें सिंह संधू

कैलिफोर्निया में दूसरी बार मेयर बनें सिंह संधू 
इकबाल अंसारी
कैलिफोर्निया/जालंधर। जालंधर के परगट सिंह संधू अमेरिका के कैलिफोर्निया के गाल्ट शहर में लगातार दूसरी बार मेयर बने हैं। संधू मूल रूप से लांबड़ा के गांव के बशेशरपुर के रहने वाले हैं और लंबे समय से अमेरिका के कैलिफोर्निया में रह रहे हैं। परगट सिंह ने पहली बार दिसंबर 2019 में गाल्ट सिटी का मेयर नियुक्त किया गया था। उन्होंने कभी हार का मुंह नहीं देखा। 
परगट सिंह संधू के परिवार ने बताया कि वह दूसरी बार भी सभी पार्षदो ने मेयर पद से नवाजा। उनके मेयर बनने पर ग्रामीणों और क्षेत्रवासियों में खुशी का माहौल है। परगट सिंह ने अपनी पढ़ाई जालंधर के लायलपुर खालसा कॉलेज से की है। साथ ही वह स्थानीय खेलों और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी अपना अहम योगदान देते थे। जिसके बाद वह आगे की पढ़ाई के लिए विदेश चले गए थे। विदेश में पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने कड़ी मेहनत के बाद अमेरिका की नागरिकता प्राप्त की। वह वहां की राजनीति में काफी सक्रिय हो गए थे। उनके पिछले कार्यकाल के दौरान लोगों ने उनके कामकाज को सराहा। उसकी की बदौलत संधू ने दोबारा जीत हासिल की है।

स्वर्वेद मंदिर कार्यक्रम में शामिल होंगे पीएम मोदी

स्वर्वेद मंदिर कार्यक्रम में शामिल होंगे पीएम मोदी 
अकाशुं उपाध्याय 
नई दिल्ली/वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय दौरे पर आज वाराणसी पहुंच गए है। वाराणसी एयरपोर्ट पर सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन ने प्रधानमंत्री की अगवानी किया। प्रधानमंत्री वाराणसी एयरपोर्ट पर कुछ देर रुकने के पश्चात अपने पहले कार्यक्रम विकसित भारत संकल्प यात्रा में शामिल होने के लिए कटिंग मेमोरियल ग्राउंड के लिए रवाना हो गए। तीन राज्यों में प्रचंड जीत के बाद काशी में प्रथम आगमन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एयरपोर्ट से लेकर कटिंग मेमोरियल ग्राउंड तक भव्य स्वागत किया गया।
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कटिंग मेमोरियल ग्राउंड में लगे विकसित भारत संकल्प यात्रा के स्टॉल का अवलोकन कर लाभार्थियों से बात करेंगे। वही पीएम विकसित भारत संकल्प यात्रा के पश्चात देर शाम नमो घाट पर आयोजित काशी -तमिल संगमम कार्यक्रम का उद्घाटन करने के लिए पहुंचेंगे। वही करीब 2 घंटे तक कार्यक्रम में शामिल होने के पश्चात रात्रि विश्राम के लिए डीएलडब्ल्यू गेस्ट हाउस के लिए रवाना होंगे।
वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार 18 दिसंबर को वाराणसी के उमरहां में बने स्वर्वेद मंदिर के कार्यक्रम में शामिल होंगे। जहां पीएम मंदिर परिसर का अवलोकन कर वहां आए संत, महात्मा और अनुयायियों को संबोधित करेंगे। मंदिर के पश्चात पीएम मोदी वाराणसी के सेवापुरी विधानसभा में जनसभा में पहुंचे। जनसभा स्थल पर खिलाड़ियों से वार्ता और कुछ स्टॉल का अवलोकन के बाद मंच पर जाएंगे। पीएम मोदी जनसभा स्थल से पूर्वांचल को 19 हजार करोड़ से अधिक की परियोजनाओं की सौगात देंगे। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाराणसी दौरा काफी अहम होने वाला है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-58, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. सोमवार, दिसंबर 18, 2023

3. शक-1945, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-पंचमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'भाजपा' ने दस साल में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ाई

'भाजपा' ने दस साल में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ाई संदीप मिश्र  लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार न...