शुक्रवार, 8 मार्च 2024

जयशंकर ने निक्केई फोरम में हिस्सा लिया

जयशंकर ने निक्केई फोरम में हिस्सा लिया         

अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/टोक्यो। जापान के दौरे पर गए विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने शुक्रवार को भारत-जापान साझेदारी पर आयोजित निक्केई फोरम में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने दोनों देशों के बीच मजबूत संबंधों पर जोर दिया।

फोरम को संबोधित करते हुए जयशंकर ने कहा दुनिया बदल रही है, कई क्षेत्र बदल रहे हैं। इंडो-पैसिफिक क्षेत्र अब बदलने लगा है। भारत और जापान भी अपनी गति से आगे बढ़ रहे हैं। मुझे लगता है कि हमारे संबंधों में दुनिया के कई मुद्दों के समाधान निहित है।

इसके अलावा उन्होंने स्वतंत्र और खुले इंडो-पैसिफिक को सुनिश्चित करने के लिए आपसी सहयोग पर ध्यान केंद्रित करने पर जोर दिया। जयशंकर ने ‘क्वाड’ को एक साझा हित का मंच बताया, जिसमें भारत और जापान के अलावा अमेरिका तथा ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इस मंच पर ऊर्जा एवं प्रौद्योगिकी मुद्दों पर विमर्श के अलावा परमाणु ऊर्जा पर भी स्पष्ट रूप से चर्चा होनी चाहिए।

जयशंकर जापान की विदेश मंत्री योको कामिकावा के साथ 16वीं भारत-जापान विदेश मंत्री स्तर की रणनीतिक वार्ता में भाग लेने के लिए 7-8 मार्च को टोक्यो की यात्रा पर थे। उन्होंने अपनी समकक्ष के साथ उभरती प्रौद्योगिकियों सहित विस्तार के नए और महत्वाकांक्षी क्षेत्रों पर चर्चा की। इसके अलावा विदेश मंत्री ने टोक्यो में जापान के पूर्व प्रधानमंत्री स्‍वर्गीय शिन्‍जो आबे की पत्‍नी अकी आबे से मुलाकात की और भारत-जापान संबंधों के विकास में शिन्जो के बहुमूल्‍य योगदान को याद किया।

उन्होंने यहां गुरुवार को ‘रायसीना गोलमेज सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए वैश्विक संगठन में सुधार की आवश्यकता को रेखांकित किया। जयशंकर ने कहा संयुक्त राष्ट्र में सुधार बहुत महत्वपूर्ण है। जी4 समूह के साथी सदस्यों के रूप में, भारत और जापान संयुक्त राष्ट्र संरचनाओं को और अधिक समसामयिक बनाना चाहते हैं।

अच्छे खीरे की पहचान के तरीके, जानिए

अच्छे खीरे की पहचान के तरीके, जानिए 

सरस्वती उपाध्याय 
गर्मी के मौसम में शरीर को तरोताजा रखने के लिए बहुत जरूरी है कि आप अपनी डाइट में उन चीजों को शामिल करें, जो आपकी बॉडी को हाइड्रेटेड रखती हैं। खासतौर पर गर्मी के मौसम में आने वाले फल सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं।
मगर फलों के सेवन के साथ ही आपको इस बात का ख्‍याल रखना भी जरूरी है कि बाजार से आप जो फल खरीद रहे हैं वह खाने में स्‍वादिष्‍ट और सेहत के लिए अच्‍छा है भी या नहीं है। ऐसे ही फलों में खीरे का नाम भी आता है।
वैसे तो खीरा आपको हर मौसम में मिल जाएगा। मगर अच्‍छा और देसी खीरा केवल गर्मियों के मौसम में ही आता है। खासतौर पर मार्च से लेकर जून तक के महीनों में लू चलने के कारण अच्‍छे और मीठे खीरे की पैदावार बहुत होती है।
खीरा एक सस्‍ता फल होने के साथ ही स्‍वादिष्‍ट और सेहतमंद भी होता है। मगर इसे खरीदते वक्‍त यदि आप सावधानी नहीं बरतेंगे तो कड़वा, बेस्‍वाद और बीज वाला खीरा आप घर ले आएंगे। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि जब आप खीरा खरीदें तो किन बातों का विशेष रूप से ध्‍यान रखें।

खीरे के छिलके को देखें

बाजार में आपको खीरे की कई वैरायटी मिल जाएंगी। मगर यदि आप देसी खीरा खरीदना चाहती हैं तो आपको खीरे का छिलका देखना चाहिए। खीरे का छिलका अगर गहरा हरा और कहीं-कहीं से पीलापन लिए हुए है और उसमें दाने उभरे हुए हैं तो जान लें कि वह देसी खीरा है।आप इस तरह के खीरे को खरीद सकते हैं।

खीरा में कितना कसाव है देखें

खीरा लेते वक्‍त यह भी देखें कि वह मुलायम तो नहीं है। मुलायम खीरे अंदर से अधिक बीज वाले और गले हुए हो सकते हैं। दरअसल, जब खीरा जरूरत से ज्‍यादा पक जाता है तो वह इस तरह का हो जाता है। आपको सख्‍त खीरा ही चुनना चाहिए, इसके लिए आप खीरा लेने से पहले उसे दबा कर देखें।

खीरे का आकार देखना भी है जरूरी

बाजार में छोटे, बड़े, मोटे और टेढ़े-मेढ़े कई आकार के खीरे आपको मिल जाएंगे। मगर बेस्‍ट होगा कि आप साइज में छोटे खीरे खरीदें। इसके साथ ही खीरा न बहुत अधिक पतला होना चाहिए और न बहुत अधिक मोटा होना चाहिए। अधिक बड़े और मोटे आकार के खीरे में अधिक बीज निकल सकते हैं और बहुत अधिक पतला खीरा कच्‍चा और कड़वा हो सकता है।

न खरीदें इस तरह का खीरा

खीरा अगर कटा हुआ है और बहुत अधिक मुड़ा हुआ है तो ऐसे खीरे भी नहीं खरीदने चाहिए। इसके साथ ही खीरे में उभरी हुई हरी रेखाएं नजर आ रही हों तो जान लें कि वह देसी खीरा नहीं है।

10 मई को खुलेंगे 'केदारनाथ' धाम के कपाट

10 मई को खुलेंगे 'केदारनाथ' धाम के कपाट 

पंकज कपूर 
देहरादून। उत्तराखंड के चार धामों में एक केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि का ऐलान हो गया है। बताया जा रहा है कि 10 मई को बाबा के कपाट सुबह सात बजे भक्तों के लिए खोल दिए जाएंगे। केदारनाथ के रावल भीमाशंकर के मार्गदर्शन में धाम के कपाट खोलने की तिथि घोषित की गई है। विश्वप्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग श्री केदारनाथ धाम के कपाट इस वर्ष शुक्रवार10 मई को प्रात: 7 बजे खुलेंगे। भगवान केदार नाथ की पंचमुखी भोग मूर्ति 5 मई को पंचकेदार गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में भैरव नाथ जी की पूजा होगी। पंचमुखी डोली 6 मई श्री केदारनाथ धाम के लिए प्रस्थान करेगी विभिन्न पड़ावों से होकर 9 मई शाम को केदारनाथ धाम पहुंचेगी। आज पंचकेदार गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष अजेंद्र अजय की उपस्थिति में आयोजित धार्मिक समारोह में कपाट खुलने की तिथि तय हुई।

सभी शिवालयों पर आस्था का सैलाब उमड़ा

सभी शिवालयों पर आस्था का सैलाब उमड़ा

पंकज कपूर 
बागेश्वर। आज महाशिवरात्रि है। महाशिवरात्रि के अवसर पर बागेश्वर के सभी शिवालयों पर आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा है। सुबह से ही शिवालयों में भक्तों की भीड़ देखने को मिल रही है। बागेश्वर के बागनाथ धाम में भक्तों ने पूजा अर्चना की। सुबह से ही मंदिर भक्तों से गुलजार रहे और श्रद्धालुओं ने भगवान शिव से सुख, समृद्धि और सौभाग्य का आशीर्वाद मांगा।
बागनाथ धाम में पूजा अर्चना के लिए भक्तों को लाइन लगाकर अपनी-अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा। मंदिर परिसर में पुरोहितों ने भक्तों की पूजा संपन्न कराई।
महाशिवरात्रि पर जिले के कपकोट, कांडा, दुग नाकुरी, काफलीगैर, गरुड़ तहसीलों में भी माहौल शिवमय रहा है। भक्तों ने शिव मंदिरों में जाकर भगवान शंकर का जलाभिषेक किया। विधिवत पूजा अर्चना कर भगवान से सुुख और सौभाग्य का आशीर्वाद मांगा। मंदिरों में पूजा अर्चना से पुरोहितों के चेहरों पर भी रौनक रही। ग्रामीण क्षेत्रों के मंदिरों में भजन कीर्तन भी आयोजित किए गए।

12 क्षेत्रों में फ्लाइट सर्विस के लिए मंजूरी मिली

12 क्षेत्रों में फ्लाइट सर्विस के लिए मंजूरी मिली 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। देश में डोमेस्टिक एयर कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए गुवाहाटी स्थित जेटविंग्स एयरवेज को पूर्वोत्तर, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और बिहार में 12 क्षेत्रों में फ्लाइट सर्विस के लिए मंजूरी मिल गई है।
'इंडियन एविएशन सेक्टर में उड़े देश का आम नागरिक' की थीम पर नई रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम उड़ान के तहत पाकयोंग, गुवाहाटी, कूच बिहार, कुशीनगर, गया, बरेली, कानपुर और आगरा के प्रमुख एयरपोर्ट को जोड़ेगा।
बता दें कि बरेली शहर के एयर कनेक्टिविटी से इन प्रमुख शहरों से जुड़ने पर जनपदवासियों समेत आस-पास के जिलों के लोगों को काफी लाभ मिल सकता है। जिसका बिजनेस समेत अन्य तमाम क्षेत्रों से जुड़े लोगों का काफी आराम मिल सकेगा। इसके लिए गुवाहाटी स्थित जेटविंग्स एयरवेज के हेडऑफिस को रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम उड़ान के तहत निर्धारित कम्यूटर एयर ट्रांसपोर्ट सर्विस संचालित करने की मंजूरी दे दी गई है।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से रोकने में मददगार है 'साग'

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से रोकने में मददगार है 'साग'

सरस्वती उपाध्याय 
दिल की बीमारियां जो आजकल तेजी से बढ़ रही हैं। इसके पीछे एक बड़ा कारण है। कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना जो कि खराब डाइट के कारण आम होता जा रहा है। दरअसल, अनहेल्दी फैट से भरपूर फूड्स का सेवन शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित करता है। इसकी वजह से होता ये है कि दिल को पूरे शरीर में ब्लड पंप करने में प्रेशर महसूस होता है जिस वजह से हाई बीपी की समस्या होती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए जरूरी है कि आप शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से रोकें और इस काम में ये साग आपके लिए मददगार हो सकता है। कैसे, जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

हाई कोलेस्ट्रॉल में बथुआ

हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को बथुआ जरूर खाना चाहिए। दरअसल, बथुआ की पत्तियों में फाइबर और रफेज की अच्छी मात्रा होती है जो कि कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद कर सकता है। ये असल में आपके शरीर में जाकर गर्मी बढ़ाती है और बैड फैट लिपिड्स को पिघलाने में मदद कर सकती है। एक तरह से समझें तो इसका रफेज आपकी धमनियों के लिए स्क्रब की तरह काम करता है और कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं ये दिल के लिए भी फायदेमंद है।
बथुआ साग में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो हृदय रोग से जुड़ी पुरानी सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। ये विटामिन ए, सी और के से भरपूर होने के कारण, बथुआ की पत्तियां दिल के लिए फायदेमंद है। इन पत्तियों में मैग्नीशियम और पोटेशियम भी होता है, जो धमनियों की दीवारों को स्वस्थ रखने के साथ दिल के काम काज को बेहतर बनाते हैं।

हाई कोलेस्ट्रॉल में कैसे खाएं बथुआ

हाई कोलेस्ट्रॉल में आप बथुआ को कई प्रकार से खा सकते हैं। लेकिन, सबसे कारगर तरीका ये है कि बथुआ को उबाल लें और फिर इसमें थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर दरदरा पीस लें और इसका चौखा जैसा बनाकर या रायता बनाकर खाएं। ध्यान रखें कि इसमें तेल और मसाले आदि की मिलावट न करें।

एलपीजी गैस-सिलेंडर की कीमतों में ₹100 की छूट

एलपीजी गैस-सिलेंडर की कीमतों में ₹100 की छूट

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर नारी शक्ति को बधाई दी और इस अवसर पर एलपीजी गैस-सिलेंडर की कीमतों में 100 रुपये की छूट की घोषणा की।
मोदी ने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘महिला दिवस के अवसर पर आज हमने एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 100 रुपये की छूट का बड़ा फैसला किया है।’’ उन्होंने कहा कि इससे नारी शक्ति का जीवन आसान होने के साथ ही करोड़ों परिवारों का आर्थिक बोझ भी कम होगा।
उन्होंने कहा, ‘‘यह कदम पर्यावरण संरक्षण में भी मददगार बनेगा, जिससे पूरे परिवार का स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा।’’ इससे पहले, मोदी ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं को बधाई दी, उनकी ताकत, साहस और दृढ़ता को सलाम किया और विभिन्न क्षेत्रों में उनकी उपलब्धियों की सराहना की।
उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सरकार शिक्षा, उद्यमिता, कृषि, प्रौद्योगिकी और अन्य क्षेत्रों में पहल के माध्यम से महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह पिछले दशक में हमारी उपलब्धियों में भी परिलक्षित होता है।’

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-140, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. शनिवार, मार्च 09, 2024

3. शक-1945, पौष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 07:13, सूर्यास्त: 06:52।

5. न्‍यूनतम तापमान- 16 डी.सै., अधिकतम- 23+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...