शुक्रवार, 26 अगस्त 2022

भूपेंद्र से मुलाकात कर बधाई व शुभकामनाएं दीं: मावी 

भूपेंद्र से मुलाकात कर बधाई व शुभकामनाएं दीं: मावी 


ईश्वर मावी ने दी भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष को बधाई

चौधरी भूपेंद्र सिंह जी के नेतृत्व में नए कीर्तिमान स्थापित करेगी भाजपा: अंशु सूरज मावी

ईश्वर मावी 

नई दिल्ली/लखनऊ। भाजपा नेता ईश्वर मावी ने अपने दर्जनों समर्थको के साथ दिल्ली पहुंच कर भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदरणीय चौधरी भूपेंद्र सिंह से मुलाकात कर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दीं। भाजपा नेता ईश्वर मावी ने बताया कि चौधरी भूपेंद्र सिंह जी के प्रदेश अध्यक्ष बनने से कार्यकर्ताओं में जोश और उत्साह का माहौल है भाजपा का आम कार्यकर्ता भी अपने आप को सम्मानित महसूस कर रहा है।

जिला पंचायत सदस्य अंशु सूरज मावी ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में भाजपा प्रदेश में नए कीर्तिमान स्थापित करेगी। भाजपा नेता ईश्वर मावी के साथ जिला पंचायत सदस्य अंशु सूरज मावी, जितेंद्र भाटी, गौरव धामा, नितिन शर्मा, आकाश मुखिया, रवि कुमार व धर्मेंद्र सभासद सहित दर्जनों कार्यकर्ताओं ने भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को बधाई दी।

खाने में जला हुआ भोजन, पीने का शुद्ध पानी नहीं

खाने में जला हुआ भोजन, पीने का शुद्ध पानी नहीं 

अविनाश श्रीवास्तव 

चक्की। प्रखंड के लक्ष्मण डेरा उत्कर्मित मध्य विद्यालय में पहुंची बी.पी.आर.ओ गीता और प्रमुख कमलेश कुमार रजक, जहां उनसे जले हुए भोजन के मामलें में जांच करने पहुंची, बच्चों ने जला हुआ भोजन दिखाया और कहा, कि यही हमें खाने के लिए दिया जाता है। बच्चों ने कहा, कि ना तो हमें कोई अभी तक पोषाहार का कोई अनुदान मिला है और ना ही यहाँ का विधि व्यवस्था ठीक-ठाक है। स्कूल में शौचालय भी एकदम गंदा है। जिससे, कि हम बच्चे वहां नहीं जाते हैं और मैन्यू के अनुसार हमें भोजन भी नहीं दिया जाता है और ना ही हमें विज्ञान और संस्कृत पढ़ाया जाता है। क्लासरूम में बैठने की व्यवस्था नहीं है। साल में एक बार हमें फल दिया गया था, तथा स्कूल प्रभारी आभा देवी से पूछा गया, तो इस बारे में आपका क्या कहना है, तो उन्होंने पत्रकारों पर कार्रवाई करने की बात कही और कहा, कि मैं कोई ऐसे वैसे घर की नहीं।

जब मुझे ऊपर से फंड मिलता ही नहीं, तो मैं खर्च कहां से करूं। यह तो मैं अपने पैसों से करती हूं, जाइए जहां कहना है, कह दीजिए। बच्चों को 5 साल से स्कॉलरशिप भी नहीं मिला है। स्कूल में बच्चे पढ़ते नहीं सब घूमते ही रहते हैं। इस बारे में जब घर के गार्जियन जाते हैं, तो उनसे भी गुस्से में ही बात करती हैं। स्कूल प्रभारी आभा देवी इस बारे में आवा देवी से पूछा गया, कि आप इतना गुस्सा क्यों करती हैं, तो उन्होंने कहा कि यह मेरा स्वभाव है और यह बदलेगा नहीं। यहां तक कि बच्चों ने कहा कि यहां पर पीने के लिए शुद्ध पानी भी नहीं, हमें दूसरों के घर नल पर पानी पीना पड़ता है।

खेलकूद प्रतियोगिता के विजित खिलाड़ियों का प्रतिभाग 

खेलकूद प्रतियोगिता के विजित खिलाड़ियों का प्रतिभाग 

हरिशंकर त्रिपाठी 

देवरिया। शुक्रवार काे युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल देवरिया द्वारा जनपद स्तरीय दो दिवसीय ग्रामीण खेलकूद प्रतियोगिता रवींद्र किशोर शाही स्टेडियम में संपन्न हुई। जनपद स्तरीय प्रतियोगिता में सभी विकास खंडों में आयोजित खंडस्तरीय ग्रामीण खेलकूद प्रतियोगिता के विजित खिलाड़ियों ने प्रतिभाग किया। जनपद स्तरीय प्रतियोगिता में वॉलीबॉल, कबड्डी,भारोत्तोलन, कुश्ती और 100 मीटर ,200मीटर, 400 मीटर,800 मीटर,1500 मीटर,3000 मीटर दौड़,लंबी कूद, शॉटपुट प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ।
समापन कार्यकम के मुख्य अतिथि उपाध्यक्ष युवा कल्याण परिषद विभ्राट चंद्र कौशिक जी ने खिलाड़ियों को पुरस्कार वितरण कर प्रोत्साहित किया।

कौशिक ने कहा कि देश की प्रतिभा गावों में बसती है और माननीय मुख्यमंत्री योगी जी के नेतृत्व में युवा कल्याण विभाग ऐसी ही प्रतिभाओं को मौका देने के लिये काम कर रहा है ।
समापन कार्यकम के विशिष्ट अतिथि मुख्य विकास अधिकारी रवीन्द्र कुमार ने भी खिलाड़ियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। मुख्य विकास अधिकारी ने खिलाड़ियों को आशीर्वाद दिया कि खिलाड़ी ओलंपिक, कॉमनवेल्थ,एशियन और अन्य विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं में मेडल जीते एवम जनपद ,राज्य व देश का नाम रोशन करे।
कबड्डी (पुरुष) प्रतियोगिता में देसही देवरिया ने रामपुर कारखाना को हराकर तथा बालिका वर्ग में गौरी बाजार ने रामपुर कारखाना को हराकर विजेता बने।

वॉलीबाल पुरुष वर्ग में देवरिया सदर ने रुद्रपुर को हराया तथा महिला वर्ग में गौरी बाजार विकास खंड विजित रहा। कुश्ती प्रतियोगिता पुरुष वर्ग 53 किग्रा में नमो पटेल (तरकुलवा) 57 किग्रा में सन्नी भारद्वाज(गौरी बाजार) ,61 किग्रा में विशाल यादव(रुद्रपुर),65 किग्रा में आनंद यादव (बैतालपुर),70 किग्रा में रामध्यान यादव (बैतालपुर) प्रथम स्थान पर रहे। कुश्ती प्रतियोगिता के महिला वर्ग में 50 किग्रा में खुशी गोंड(पथरदेवा) ,53 किग्रा में सलोनी सिंह(गौरी बाजार),55 किग्रा में तान्या पांडे ( देसही देवरिया),57 किग्रा में नैना सिंह (पथरदेवा),59 किग्रा में रूपाली गुप्ता (पथरदेवा) प्रथम स्थान प्राप्त किया। 800 मीटर दौड़ पुरुष वर्ग में पुनीत यादव(देसही देवरिया) महिला वर्ग में इंदु कुमारी (बनकटा) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 400 मीटर दौड़ पुरुष वर्ग में संदीप प्रसाद (भाटपार रानी) तथा महिला वर्ग में सपना राजभर (बनकटा) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 200 मीटर दौड़ पुरुष वर्ग में अरुण गोंड (देवरिया सदर) तथा महिला वर्ग में सीमा निषाद( गौरी बाजार) विजित रहे। 100 मीटर दौड़ पुरुष वर्ग में आदर्श कुमार सिंह (रामपुर कारखाना) तथा महिला वर्ग में सीमा निषाद(गौरी बाजार) विजयी रहे। 1500 मीटर दौड़ पुरुष वर्ग में अंगद पासवान(रामपुर कारखाना)। 3000 मीटर दौड़ में संदीप यादव (देवरिया सदर)विजेता बने।

भारोतोल्लन पुरुष 55 किग्रा में नवाजिस,61किग्रा में प्रियांशु जायसवाल,67 किग्रा में अमित शर्मा, 73 किग्रा में दीपेंद्र गोंड ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। महिला वर्ग भारोतोल्लन 49किग्रा में प्रसिद्धि यादव,55किग्रा में प्रज्ञा तिवारी,59किग्रा में सृष्टि त्रिपाठी विजेता रही। लंबी कूद पुरुष वर्ग में संदीप प्रसाद(भाटपार रानी) तथा महिला वर्ग में प्रिया निषाद ( गौरी बाजार) विजित रहे। शॉटपुट पुरुष वर्ग में शिवम जायसवाल (रामपुर कारखाना) विजेता बने। सभी विजित खिलाड़ी जनपद के बाद मंडल ,जोन एवं राज्य स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में प्रतिभाग करेंगे। समापन कार्यकम में जिला युवा कल्याण अधिकारी नीतीश राय, सहायक अभियंता लघु सिंचाई पंकज राय, वरिष्ठ भाजपा नेता श्याम बहादुर सिंह,प्रेम शंकर तिवारी,धर्मशील तिवारी,क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी संतोष कुमार, दीपक गुप्ता वसुधा पांडेय, कुंवर यादव एवं अन्य मौजूद रहे।

फारूक को नमाज के लिए आवास से निकलने हेतु रोका

फारूक को नमाज के लिए आवास से निकलने हेतु रोका 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर जम्मू-कश्मीर के मुख्य मौलवी एवं हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक को पुलिस ने शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए उनके आवास से निकलने से रोक दिया। जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद मीरवाइज के पुराने शहर के बीचों-बीच स्थित ऐतिहासिक जामिया मस्जिद में पहले शुक्रवार काे संबोधन करने की उम्मीद थी।

मीरवाइज मंजिल ने एक ट्वीट में कहा,“मीरवाइज उमर फारूक को भारतीय सुरक्षा बलों के एक दल द्वारा अपना आवास छोड़ने से रोक दिया गया है। राज्यपाल के ‘स्वतंत्र’ होने की घोषणा करने के एक हफ्ते बाद ही वह आज जामिया मस्जिद में शुक्रवार का संबोधन करने जा रहे थे।”
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने ठीक एक सप्ताह पहले मीरवाइज को आजाद व्यक्ति कहा था।
प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि मीरवाइज को पुलिस ने श्रीनगर में उनके नगीन आवास से गिरफ्तार किया और उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने दिया गया। 
मीरवाइज ने पुलिस को बताया कि जम्मू-कश्मीर के सर्वोच्च अधिकारी उपराज्यपाल ने दावा किया है कि वह एक स्वतंत्र व्यक्ति हैं, तो उन्हें जामिया मस्जिद में जुमे की नमाज अदा करने से क्यों रोका जा रहा है।

सीएम पर मुकदमा चलाने की मंजूरी से इनकार, खारिज 

सीएम पर मुकदमा चलाने की मंजूरी से इनकार, खारिज 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने 2007 के हेट स्पीच मामलें में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर मुकदमा चलाने की मंजूरी से इनकार और याचिका खारिज कर दी। भारत के चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस हिमा कोहली और जस्टिस सीटी रविकुमार की पीठ ने फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा, उपरोक्त परिस्थितियों में, हमें नहीं लगता कि मंजूरी देने से संबंधित कानूनी सवालों में जाना आवश्यक है। नतीजतन, अपील खारिज की जाती है। कानून का सवाल खुला छोड़ा जाता है।

याचिकाकर्ता परवेज परवाज ने आरोप लगाया कि योगी आदित्यनाथ ने 27 जनवरी, 2007 को गोरखपुर में आयोजित एक बैठक में “दू युवा वाहिनी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुस्लिम विरोधी अभद्र टिप्पणी की थी। उन्होंने 3 मई, 2017 को यूपी सरकार द्वारा लिए गए निर्णय, जिसमें मामले में आरोपी पर मुकदमा चलाने और मामले में दायर क्लोजर रिपोर्ट को मंजूरी देने से इंकार कर दिया गया था, उसे भी चुनौती दी थी। उन्होंने पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, जिसने 22 फरवरी, 2018 को याचिका खारिज कर दी थी, जिसके बाद उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष विशेष अनुमति याचिका दायर की थी। पिछली सुनवाई में एडवोकेट अय्युबी ने कहा था कि जहां तक ​​डीएफआर का संबंध है, जांच एजेंसी ने स्पष्ट रूप से संकेत दिया था कि अपराध शाखा ने धारा 143, 153, 153 ए, 295 ए और 505 आईपीसी के तहत अपराध बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि अपराध का पता लगा लिया गया है और पांचों आरोपियों को नामजद कर दिया गया है। एडवोकेट अयूबी के अनुसार, इसे विधि विभाग द्वारा अस्वीकार किया जा रहा था। उत्तर प्रदेश राज्य की ओर से सीनियर एड़वोकेट मुकुल रोहतगी ने कहा था कि सीएसएफएल ने कहा था कि विचाराधीन सीडी, जिसमें कथित अभद्र भाषा की रिकॉर्डिंग है, छेड़छाड़ की गई है।

लोकप्रिय नेताओं की सूची में मोदी को शीर्ष स्‍थान प्राप्‍त

लोकप्रिय नेताओं की सूची में मोदी को शीर्ष स्‍थान प्राप्‍त 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेताओं की सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शीर्ष स्‍थान प्राप्‍त हुआ है। एक सर्वे के अनुसार उन्‍हें इसमें 75 पीसी रेटिंग मिली है। पीएम मोदी की लोकप्रियता किसी भी देश के किसी भी नेता से बहुत अधिक और वह रैंकिंग में लगातार शीर्ष पर बने हुए हैं। अमेरिका स्थित मॉर्निंग कंसल्ट के हालिया सर्वेक्षण में पाया गया है कि नरेंद्र मोदी शीर्ष स्थान पर काबिज हैं और वैश्विक नेता रैंकिंग में भारी अंतर से हावी हैं।

जब लोकप्रियता चार्ट की बात आती है, तो कोई भी नेता भारतीय प्रधान मंत्री के करीब नहीं आता है। 75% अनुमोदन रेटिंग के साथ, वह भारत की वयस्क आबादी के लिए सबसे लोकप्रिय वैश्विक नेता बने हुए हैं। अमेरिका स्थित ग्लोबल लीडर अप्रूवल ट्रैकर द्वारा किए गए 22 काउंटी लीडर्स सर्वे में से नरेंद्र मोदी को 75% की अप्रूवल रेटिंग प्राप्त है, जो किसी भी नेता द्वारा बेजोड़ उपलब्धि है। यहां तक ​​कि निकटतम प्रतिद्वंद्वी लोपेज़ ओब्रेडोर, मेक्सिको के राष्ट्रपति कम से कम 12% से अधिक के अंतर के साथ अलग हैं। लेटेस्‍ट रेटिंग 17 अगस्त – 23 अगस्त की अवधि से एकत्र किए गए आंकड़ों पर आधारित हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, कनाडा के राष्ट्रपति जस्टिन ट्रूडो जैसे अन्य नेता लगभग पीएम मोदी की लोकप्रियता के लिए जिम्मेदार हैं। जो बिडेन की अप्रूवल रेटिंग 41%, जस्टिन ट्रूडो की 39% और मैक्रॉन की सिर्फ 34% अप्रूवल रेटिंग है। पिछले कुछ वर्षों में सबसे विश्वसनीय सर्वेक्षण एजेंसी मॉर्निंग कंसल्ट ने नरेंद्र मोदी को अपने चार्ट में सबसे ऊपर रखा है। वैश्विक चुनौतियों के बावजूद दुनिया ने कोविड -19 महामारी, वर्तमान रूस-यूक्रेन युद्ध और तेल की कीमतों पर इसके व्यापक प्रभाव सहित देखा, पीएम मोदी वयस्क आबादी की पहली पसंद बने हुए हैं। हालांकि लोकप्रियता का प्रतिशत कुछ हद तक डगमगाया, लेकिन नंबर वन की स्थिति लगभग स्थिर बनी हुई है।

सुरक्षा मानकों का सख्ती से पालन सुनिश्चित, आदेश 

सुरक्षा मानकों का सख्ती से पालन सुनिश्चित, आदेश 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने नोएडा में नियमों को ताक पर रखकर बनाई गई बहुमंजिला आवासीय इमारत ट्विन टावर को उच्चतम न्यायालय के आदेश पर गिराये जाने के दौरान सुरक्षा मानकों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने का आदेश दिया है। योगी ने 28 अगस्त को ट्विन टावर गिराने की तैयारियों को लेकर शुक्रवार को समीक्षा की। समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि 28 अगस्त को आसपास के आवासीय परिसरों को सुबह के समय पूरी सावधानी के साथ खाली करा लिया जाये।स्थानीय प्रशासन 28 अगस्त को दोपहर 02:30 बजे ट्विन टावर गिराये जाने से पहले इसके पड़ोस में स्थित एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज सोसाइटी को सुबह खाली करा देगा। इस दौरान ट्विन टॉवर के चारों ओर की सड़कों पर यातायात आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। इतना ही नहीं नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे भी ध्वस्तीकरण के समय आधा घंटे तक बंद रहेगा। बैठक में बताया गया कि ट्विन टॉवर को गिराने के लिये दोनों टावर में 9600 सुराख करके 3700 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री भरी गई है।

गौरतलब है कि भवन निर्माता कंपनी सुपरटेक द्वारा ट्विन टावर के निर्माण अनियमितता के दोषी पाये गये नोएडा विकास प्राधिकरण के अधिकारी, कर्मचारी, बिल्डर और आर्किटेक्ट सहित अब तक 26 के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है। इस मामले में मुख्यमंत्री के निर्देश पर जांच कराई गयी थी। इस मामले में इमारत को गिराये जाने का उच्चतम न्यायालय से आदेश आने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने डेढ़ दशक पुराने इस मामले की गहन जांच कराई। जांच में नोएडा विकास प्राधिकरण के कर्मचारियों और बिल्डर की मिलीभगत की बात साबित हुई है।

ज्ञात हो कि वर्ष 2004 से 2006 के बीच मेसर्स सुपरटेक कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को नोएडा विकास प्राधिकरण द्वारा भूखंड संख्या जीएच 04, सेक्टर 93ए में 54,820 वर्ग मीटर भूमि आवंटित की गई। इस भूमि पर अलग-अलग समय पर प्राधिकरण द्वारा मानचित्र स्वीकृत किए गए। स्वीकृत मानचित्र के मुताबिक कुल 17 टावर बनाये जाने थे। जिनमें कुल 660 आवासीय यूनिट की स्वीकृति दी गई थी। इनमें 15 टावर 15-15 मंजिल के तथा 02 टावर 30 व 32 मंजिल के हैं।

उच्चतम न्यायालय ने 31 अगस्त 2021 को 17 टावरों में से ट्विन टॉवर के बीच में आवश्यक न्यूनतम खुला क्षेत्र नहीं होने तथा पूर्व आवंटियों से सहमति नहीं लिए जाने के कारण इसे 03 माह में ध्वस्त करने के आदेश दिये। ध्वस्तीकरण पर खर्च होने वाली पूरी धनराशि सुपरटेक लिमिटेड द्वारा वहन की जाएगी। चयनित एजेंसी की अपील पर उच्चतम न्यायालय ने ध्वस्तीकरण के लिए समय सीमा को बढ़ाकर 28 अगस्त कर दिया है।

बोम्मई को आरएसएस के हाथों की ‘कठपुतली’ बताया 

बोम्मई को आरएसएस के हाथों की ‘कठपुतली’ बताया 

इकबाल अंसारी 

मैसुर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्दरमैया ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के हाथों की ‘कठपुतली’ बताते हुए एक ‘अक्षम’ व्यक्ति करार दिया है। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दरमैया ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मौजूदा सरकार ‘गैरकानूनी’ है क्योंकि यह राज्य के लोगों द्वारा वैध रूप से नहीं चुनी गई थी बल्कि भाजपा के ‘ऑपरेशन कमल’ के माध्यम से सत्ता में आई थी।

सिद्दरमैया ने कहा, ‘‘हमारे पास एक अक्षम मुख्यमंत्री हैं, जो आरएसएस के हाथों की कठपुतली बन गये हैं। राज्य में कोई सरकार नहीं है और कोई शासन नहीं है, जैसा कि मंत्री मधुस्वामी ने खुद कहा है।’’ हाल ही में टेलीफोन पर बातचीत के दौरान मधुस्वामी की कथित टिप्पणी कि ‘सरकार काम नहीं कर रही है, हम किसी तरह से सरकार चला रहे हैं’ लीक होने के बाद वायरल हो गई थी, जिसके परिणामस्वरूप सरकार को काफी शर्मिंदगी उठानी पड़ी थी।

कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्दारमैया ने यहां मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए राज्य ठेकेदार संघ द्वारा सरकार के खिलाफ 40 प्रतिशत कमीशन लेने के आरोप के संदर्भ में कहा कि जब कोई आरोप लगे हैं तो जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘हम जिस चीज की मांग कर रहे हैं, जैसा कि लोगों और ठेकेदारों के संघ की मांग है, सरकार पर इन आरोपों की न्यायिक जांच होनी चाहिए, इसका आदेश दिया जाना चाहिए और सच्चाई सामने आनी चाहिए।’’ कांग्रेस विधायक दल के नेता ने कहा, ‘‘ एक जिम्मेदार सरकार होने के नाते, यह उसका कर्तव्य है कि आरोप लगाने वालों की मांग के अनुसार न्यायिक आयोग से इसकी जांच करवाएं, अगर सरकार अड़ी रही तो हम जनता के सामने यह मुद्दा उठाएंगे और फिर लोग सत्तारूढ़ भाजपा को सबक सिखाएंगे।’’

175 आईएएस अधिकारियों ने राष्ट्रपति से मुलाकात की 

175 आईएएस अधिकारियों ने राष्ट्रपति से मुलाकात की 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। वर्तमान में विभिन्न केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों में सहायक सचिवों के रूप में पदस्थ 2020 बैच के 175 आईएएस अधिकारियों के एक समूह ने राष्ट्रपति भवन में भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से मुलाकात की। अधिकारियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि भारत को ज्ञान, आपूर्ति-श्रृंखला, नवाचार, प्रौद्योगिकी-विकास और विभिन्न अन्य क्षेत्रों के वैश्विक केंद्र के रूप में उभारने में सिविल सेवकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि भारत को सामाजिक रूप से समावेशी और पर्यावरणीय रूप से सतत विकास के क्षेत्रों में नेतृत्व की अपनी स्थिति को मजबूत करना होगा।

इस तथ्य की ओर इशारा करते हुए कि 2047 तक, 2020 बैच के अधिकारी सबसे वरिष्ठ निर्णय लेने वाले अधिकारी होंगे, राष्ट्रपति ने कहा कि जोश और गर्व के साथ काम करके, वे यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि 2047 का भारत अधिक समृद्ध, मजबूत और खुशहाल हो।  उन्होंने कहा कि 2047 के भारत को आकार देने के लिए उन्हें आधुनिक दृष्टिकोण और सेवा भावना के साथ काम करना होगा। उन्होंने कहा कि मिशन कर्मयोगी सिविल सेवकों को उनके दृष्टिकोण में अधिक आधुनिक, गतिशील और संवेदनशील बनाने की एक प्रमुख पहल है।

राष्ट्रपति ने कहा कि बुनियादी ढांचे में जबरदस्त वृद्धि के साथ, देश के दूरदराज के हिस्सों तक पहुंचना आसान हो गया है। उन्होंने कहा कि सिविल सेवकों से अपेक्षा की जाती है कि वे अपने क्षेत्र के अंतिम व्यक्ति या सबसे वंचित व्यक्ति तक पहुंचें और उनके जीवन स्तर में सुधार करें। वे उन लोगों के लिए अवसरों के द्वार खोल सकते हैं जिन्हें कल्याणकारी योजनाओं या विकास कार्यक्रमों की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी भी कल्याणकारी पहल को वास्तव में तभी सफल माना जा सकता है, जब उसका लाभ हमारे समाज के सबसे निचले तबके के गरीबों, दलितों और अन्य लोगों तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि सिविल सेवकों को ऐसे वंचित लोगों तक पहुंचने का प्रयास करना चाहिए। वंचित लोगों की मदद के लिए उन तक पहुंचने में उन्हें परेशानी नहीं होनी चाहिए।

द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि लोक सेवकों को जन सेवा के प्रति समर्पण, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति और करुणा, सत्यनिष्ठा और आचरण के उच्चतम मानकों को बनाए रखने और निष्पक्षता और वस्तुनिष्ठता के सिद्धांतों का पालन करना चाहिए। उनसे उम्मीद की जाती है कि वे पंचायती राज संस्थाओं, प्रशासन, अनुसूचित क्षेत्रों और जनजातियों के संबंध में  संवैधानिक प्रावधानों को लेकर खासतौर से सजग और सक्रिय रहें और इसके अलावा छठी अनुसूची में उल्लिखित पूर्वोत्तर के जनजातिय इलाकों में प्रशासन के प्रावधानों के प्रति भी जागरूक रहें।

मुर्मू ने कहा कि लोक सेवकों में मानव विकास सूचकांक की दृष्टि से अपने क्षेत्र को ‘अव्वल’ बनाने का जोश होना चाहिए और उन्हें वंचितों के जीवन को पूरी तरह से बदलने में गर्व महसूस करना चाहिए। उन्हें उन लोगों के प्रति संवेदनशील होना चाहिए जिनकी सेवा करने के लिए वे कर्तव्यबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि “वसुधैव कुटुम्बकम” महान भारतीय लोकाचार का हिस्सा है जिसका तात्पर्य है संपूर्ण विश्व एक बड़ा परिवार है। उन्होंने कहा कि  अखिल भारतीय सेवाओं से संबंधित सिविल सेवकों के लोकाचार का अभिन्न अंग होना चाहिए- “भारतमेव कुटुम्बकम”- पूरा भारत मेरा परिवार है।

ऐलान: कश्मीर जाकर अपनी पार्टी बनाएंगे, आजाद 

ऐलान: कश्मीर जाकर अपनी पार्टी बनाएंगे, आजाद 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। केंद्र सरकार में मंत्री रहने के साथ-साथ जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री रहे गुलाम नबी आजाद ने कांगेस छोड़ने के बाद ऐलान करते हुए कहा है, कि वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं, बल्कि कश्मीर जाकर अपनी पार्टी बनाएंगे। शुक्रवार को कांग्रेस के विभिन्न पदों के साथ-साथ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने वाले गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि कांग्रेस के भीतर मौजूद मेरे विरोधियों ने मेरे संबंध में यह अफवाह फैला रखी है कि मैं भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने जा रहा हूं। उन्होंने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बजाय जम्मू कश्मीर जा रहा हूं और वहां जाकर अब अपनी पार्टी बना लूंगा।

उधर नेशनल कांफ्रेंस के मुखिया फारुख अब्दुल्ला ने गुलाम नबी आजाद के कांग्रेस से दिये गये इस्तीफे को लेकर व्यक्त की गई अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि उन्हें पहले की तरह निश्चित रूप से कांग्रेस में सम्मान नहीं मिल रहा होगा। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के समय से गुलाम नबी आजाद डिनर कैबिनेट के सदस्य रहे हैं। आज भी वह सोनिया गांधी के करीबी थे। उनके इस्तीफे पर मुझे अफसोस है।

गूगल ने करीब 2,000 पर्सनल लोन ऐप ब्लॉक किए 

गूगल ने करीब 2,000 पर्सनल लोन ऐप ब्लॉक किए 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। गूगल ने भारत में अपने ऐप मार्केट प्लेस पर करीब 2,000 पर्सनल लोन ऐप ब्लॉक कर दिए हैं। गूगल के मुताबिक, ये ऐप उसकी नीतियों का उल्लंघन कर रहे थे‌‌। गूगल एशिया-पेसिफिक के सीनियर डायरेक्टर और ट्रस्ट एंड सेफ्टी हेड सैकत मित्रा ने कहा, प्ले स्टोर से बड़े पैमाने पर लोन ऐप हटाए गए हैं। मैं कह सकता हूं कि आधे से ज्यादा ऐसे ऐप अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं हैं। मित्रा ने कहा कि गूगल लंबे समय से कुछ संबंधित पक्षों के साथ काम कर रही थी। सरकारी एजेंसियां, मीडिया और यूजर रेफरल्स इनमें शामिल हैं।

इसके अलावा कंपनी ने प्ले स्टोर पर नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए अपना आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मैकेनिज्म लगा रखा है। इनसे जो चीजें सामने आईं, उन्हीं के आधार पर प्ले स्टोर से ऐप हटाए गए। मित्रा ने कहा कि बिजनेस के गलत तरीके अपनाने वाले ऐप्स को ब्लॉक करना भारत के मुकाबले इंडोनेशिया जैसे देशों में ज्यादा आसान है। वहां केवल सरकार से मान्यता प्राप्त ऐप लोन दे सकते हैं।

गूगल ने स्पष्ट किया है कि प्ले स्टोर पर जो ऐप ब्लॉक किए गए हैं, उनके बारे में अनिवार्य रूप से यह नहीं कहा जा सकता कि वे जरूरत से ज्यादा ब्याज दरें, ऊंची प्रोसेसिंग फीस और अपमानजनक शर्तों पर लोन देते थे। इन्हें हटाने के कंपनी के अपने मानदंड हैं। हालांकि ऑनलाइन लेंडिंग में इस तरह के ढेरों मसले सामने आए हैं, जिसके चलते सरकारी एजेंसियों और आरबीआई को नियम कड़े करने पड़े हैं। कंपनी ने यह भी कहा है कि उसने यह पता लगाने की कोशिश नहीं की है कि ब्लॉक किए गए ऐप के डेवलपरों का संबंध चीन से है या नहीं।

रिश्वतखोरी: जिला परिवहन अधिकारी सहित 3 अरेस्ट

रिश्वतखोरी: जिला परिवहन अधिकारी सहित 3 अरेस्ट 

नरेश राघानी 

जयपुर। भ्रष्‍टाचार निरोधक ब्‍यूरो की टीम ने रिश्वतखोरी के एक मामले में शुक्रवार को भरतपुर में जिला परिवहन अधिकारी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। ब्यूरो ने इसकी जानकारी दी। ब्‍यूरो की ओर से जारी बयान के अनुसार परिवादी से 37200 रुपये रिश्वत लेने के मामले में भरतपुर के जिला परिवहन अधिकारी दिलीप तिवारी, परिवहन कार्यालय के सहायक प्रशासनिक अधिकारी अनिल कुमार शर्मा एवं उनके कथित बिचौलिए कपिल शर्मा (निजी व्यक्ति) को गिरफ्तार किया गया है।

परिवादी द्वारा दी गयी शिकायत में कहा गया है कि वाहन के पंजीकरण कार्य के एवज में आरोपी त‍िवारी और शर्मा ने अपने बिचौलिये कपिल शर्मा के माध्यम से 37 हजार 200 रूपये की रिश्वत राशि मांग कर परेशान किया जा रहा है। ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार को कार्रवाई करते हुए कपिल शर्मा को परिवादी से 37 हजार 200 रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। प्रकरण में आरोपी अधिकारी दिलीप तिवारी एवं अनिल कुमार शर्मा को भी गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के निवास एवं अन्‍य ठिकानों की तलाशी ली जा रही है।

रक्षामंत्री ने तंजानियाई समकक्ष के साथ गहन वार्ता की

रक्षामंत्री ने तंजानियाई समकक्ष के साथ गहन वार्ता की 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को ‘सेना से सेना’ के स्तर पर द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ाने के लिए तंजानियाई समकक्ष स्टरगोमेना लॉरेंस टैक्स के साथ यहां गहन वार्ता की। यह कदम अफ्रीका से रणनीतिक संबंध और मजबूत बनाने के लिए भारत की व्यापक प्राथमिकता के अनुरूप है। अधिकारियों ने कहा कि वार्तालाप के दौरान दोनों रक्षा मंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के लिए रक्षा और औद्योगिक सहयोग के नये उपाय तलाशे। वार्ता के बाद सिंह ने कहा कि भारत और तंजानिया समान रणनीतिक क्षेत्र साझा करते हैं और नई दिल्ली अफ्रीकी राष्ट्र को ‘पश्चिमी हिंद महासागर के प्रमुख भागीदार’ के रूप में देखता है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘नयी दिल्ली में तंजानिया के रक्षा मंत्री डॉ. स्टरगोमेना लॉरेंस टैक्स के साथ लाभप्रद बैठक के दौरान भारत-तंजानिया रक्षा संबंधों की पूरी श्रृंखला की समीक्षा की गई क्योंकि भारत और तंजानिया समान रणनीतिक क्षेत्र साझा करते हैं। भारत तंजानिया को पश्चिमी हिंद महासागर के एक प्रमुख भागीदार के रूप में मानता है।’’ सिंह ने कहा कि दोनों देशों के बीच रक्षा और ‘सेना से सेना’ के स्तर पर सहयोग को बढ़ावा देने की अपार संभावनाएं हैं।

उन्होंने विश्वास जताया कि आने वाले दशकों में भारत-तंजानिया साझेदारी बढ़ेगी, जिससे द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक ऊंचाई मिलेगी। पिछले कुछ वर्षों से भारत, अफ्रीका महाद्वीप के साथ रक्षा और सुरक्षा क्षेत्रों सहित समग्र सहयोग के विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अफ्रीका में भारत का कुल निवेश 70 अरब अमेरिकी डॉलर है, जबकि इसने महाद्वीप के लिए 12.26 अरब अमेरिकी डॉलर की कर्ज सुविधा (लाइन ऑफ क्रेडिट्स) का विस्तार किया है।

'एनआईए' के कार्यालय भवन का उद्घाटन करेंगे, शाह

'एनआईए' के कार्यालय भवन का उद्घाटन करेंगे, शाह 

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को रायपुर में राष्ट्रीय अन्वेषण एजेंसी (एनआईए) के कार्यालय भवन का उद्घाटन करेंगे। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि शाह शनिवार को दोपहर करीब दो बजे स्वामी विवेकानंद हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे और एनआईए भवन का उद्घाटन करने के लिए नवा रायपुर के सेक्टर-24 के लिए रवाना होंगे।

बाद में, शाह पंडित दीनदयाल उपाध्याय सभागार में ‘मोदी एट 20: ड्रीम्स मीटिंग डिलीवरी’ विषय पर एक सेमिनार में भाग लेंगे। शाम सात बजकर 20 मिनट पर दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले वह यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं की बैठक की अध्यक्षता करेंगे। कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। सुकमा और बीजापुर जिलों की सीमा पर नक्सली हमले में 22 सुरक्षाकर्मियों के मारे जाने के बाद शाह ने पिछली बार अप्रैल 2021 में छत्तीसगढ़ का दौरा किया था।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आजाद ने पार्टी से इस्तीफा दिया

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आजाद ने पार्टी से इस्तीफा दिया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। वो काफी लंबे समय से पार्टी की नीतियों को लेकर नाराज चल रहे थे। कांग्रेस अध्यक्ष को भेजे पांच पृष्ठ के त्यागपत्र में आजाद ने कहा कि वह  भारी मन से यह कदम उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा से पहले ‘कांग्रेस जोड़ो यात्रा’ निकाली जानी चाहिए थी।आजाद ने कहा कि पार्टी में किसी भी स्तर पर चुनाव संपन्न नहीं हुए। गुलाम नबी ने कहा कि कांग्रेस लड़ने की अपनी इच्छाशक्ति और क्षमता खो चुकी है।

आजाद ने सोनिया को लिखे पत्र में कहा कि एआईसीसी के चुने हुए पदाधिकारियों को एआईसीसी का संचालन करने वाले छोटे समूह द्वारा तैयार की गई सूचियों पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया गया। पार्टी के साथ बड़े पैमाने पर धोखे के लिए नेतृत्व पूरी तरह से जिम्मेदार है। उन्होंने लिखा है कि कांग्रेस में हालात अब ऐसी स्थिति पर पहुंच गए है, जहां से वापस नहीं आया जा सकता। पार्टी की कमजोरियों पर ध्यान दिलाने के लिए पत्र लिखने वाले 23 नेताओं को अपशब्द कहे गए, उन्हें अपमानित किया गया, नीचा दिखाया गया।


कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे गए गुलाम नबी आजाद के इस्तीफे के पत्र में लिखा है, “बड़े अफसोस और बेहद भावुक दिल के साथ मैंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अपना आधा सदी पुराना नाता तोड़ने का फैसला किया है।” गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर बड़ा हमला बोला है, उन्होंने पत्र में लिखा है कि राहुल गांधी के अध्यक्ष (2013) बनने के बाद पुरानी कांग्रेस को खत्म कर दिया गया, जिसके कारण धीरे-धीरे पार्टी के जमीनी नेता दूर हो गए। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी को सलाह दी है कि इस समय कांग्रेस को भारत जोड़ो यात्रा से ज्यादा कांग्रेस जोड़ो यात्रा की आवश्यकता है। इससे पहले गुलाम नबी आजाद ने उस समय चौंकाया था जब उन्होंने जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस की प्रचार समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। हैरानी की बात ये है कि कुछ घंटे पहले ही उन्हें यह पद दिया गया था।

स्टार सोनाली का अंतिम संस्कार, बेटी ने मुखाग्नि दी

स्टार सोनाली का अंतिम संस्कार, बेटी ने मुखाग्नि दी

राणा ओबरॉय 

चंडीगढ़। हरियाणा की बीजेपी नेता और टिक टॉक स्टार सोनाली फोगाट की मौंत पर पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। गोवा पुलिस ने दावा किया है कि सोनाली फोगाट को जबरदस्ती ड्रग पिलाया गया था। गोवा के आईजी ओमवीर सिंह बिश्नोई ने कहा कि सोनाली के पोस्टमार्टम के बाद हमने पूरे मामले की जांच शुरू की है।

पंचतत्व में विलीन हुईं सोनाली फोगाट...
भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट का अंतिम संस्कार हो गया है। उनकी बेटी यशोधरा ने उन्हें मुखाग्नि दी। उनके शव को भाजपा के झंडे में लपेटा गया है। यशोधरा ने भी अर्थी को कंधा दिया। वहीं मां के शव को देख यशोधरा फूट फूटकर रोने लगी जिसके बाद वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं।

जबरन कुछ पिलाया गया...
आईजी ओमवीर सिंह बिश्नोई ने कहा कि सोनाली फोगाट के भाई की शिकायत के बाद हमने हत्या का मुकदमा दर्ज किया था और हमने सभी के बयान लिए और उन जगहों का दौरा किया जहां वे गए थे, आरोपियों को पूछताछ के लिए बुलाया गया, पूछताछ में हमने पाया कि सोनाली फोगाट को जबरदस्ती कोई न कोई पदार्थ दिया गया था।

ड्रग पीने के बाद बिगड़ी थी सोनाली का हालत...
गोवा पुलिस के आईजी ओमवीर सिंह ने कहा कि सोनाली फोगाट को जबरदस्ती ड्रग पिलाया गया, जिसके बाद उसकी हालत बिगड़ गई, सुबह 4:30 बजे जब वह कंट्रोल में नहीं थी तो आरोपी उसे शौचालय में ले गया, 2 घंटे तक उन्होंने क्या किया? इसका आरोपियों ने जवाब नहीं दिया, हमने सारे सीसीटीवी फुटेज देखे और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आईजी ओमवीर सिंह ने कहा कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है और उन्हें फॉरेंसिक टीम के साथ मौका-ए-वारदात में ले जाया जा रहा है, हमें लगता है कि जो ड्रग उन्हें जबरदस्ती पिलाया गया था, उससे ही उनकी मौत हुई है, उस पार्टी में दो और लड़कियां भी थीं, जिनकी पहचान कर ली गई है और उन्हें भी पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है।

पार्टी के साथ बड़े पैमाने पर ‘धोखा’ करने का आरोप

पार्टी के साथ बड़े पैमाने पर ‘धोखा’ करने का आरोप 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने पाटी की प्राथमिक सदस्यता सहित सभी पदों से गुलाम नबी आजाद के इस्तीफा देने को ‘दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद’ करार देते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि आजाद ने पार्टी को धोखा दिया और उनका रिमोट कंट्रोल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास है। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने आजाद पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि ‘जीएनए’ (गुलाम नबी आजाद) का डीएनए ‘मोदी-मय’ हो गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री ने ऐसे समय पर यह कदम उठाया जब कांग्रेस महंगाई, बेरोजगारी और ध्रुवीकरण के खिलाफ लड़ रही है तथा त्यागपत्र में कही गई बातें तथ्यपरक नहीं हैं, इसका समय भी ठीक नहीं है।

पार्टी सूत्रों का यह भी कहना है कि गुलाम नबी आजाद ने राहुल गांधी से ‘निजी खुन्नस’ और राज्यसभा में न भेजे जाने के कारण त्यागपत्र में ‘अनर्गल बातें’ की हैं। कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा ने कहा, ‘‘गुलाम नबी आजाद और इन जैसे लोगों को समझ लेना चाहिए कि पार्टी के कार्यकर्ता क्या चाहते हैं… यह व्यक्ति पांच पृष्ठों के पत्र में डेढ़ पृष्ठ तक यह लिखते हैं कि वह किन-किन पदों पर रहे और फिर लिखते हैं उन्होंने नि:स्वार्थ सेवा की।’’ उन्होंने दावा किया कि राज्यसभा न भेजे जाने के कारण आजाद तड़पने लगे। खेड़ा ने आरोप लगाया, ‘‘पार्टी को कमजोर करने में इन्हीं लोगों का तो योगदान रहा है। आप लोगों की वजह से पार्टी कमजोर हुई… पार्टी का कार्यकर्ता इस धोखे को जानता है। कार्यकर्ता यह भी जानता है कि जो व्यक्ति इस समय धोखा दे रहा है उसका रिमोट कंट्रोल नरेंद्र मोदी के हाथ में है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आजाद और मोदी के प्रेम को हमने खुद देखा है। यह प्रेम संसद में भी दिखा था। उस प्रेम की आज परिणति हुई है… देश का कार्यकर्ता इस व्यक्ति को माफ नहीं करेगा।’’

राहुल गांधी के अध्यादेश की प्रति फाड़ने का आजाद द्वारा अपने त्यागपत्र में उल्लेख किए जाने पर खेड़ा ने कहा, ‘‘आजाद उस वक्त क्यों नहीं बोले? उस वक्त पद था, इसलिए नहीं बोले। मतलब यह है कि आप स्वार्थी हैं। पद है तो नहीं बोलेंगे और जब पद नहीं है तो बोलेंगे।’’ गुलाम नबी आजाद ने शुक्रवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता समेत सभी पदों से इस्तीफा दे दिया तथा नेतृत्व पर आंतरिक चुनाव के नाम पर पार्टी के साथ बड़े पैमाने पर ‘धोखा’ करने का आरोप लगाया। आजाद के इस्तीफे को, पहले से ही समस्याओं का सामना कर रही कांग्रेस पार्टी पर एक और आघात माना जा रहा है । पूर्व में कई बड़े नेता पार्टी छोड़ चुके हैं जिसमें कपिल सिब्बल, अश्विनी कुमार आदि शामिल हैं।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-322, (वर्ष-05)

2. शनिवार, अगस्त 27, 2022

3.शक-1944, भाद्रपद, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अमावस्या, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 05:51, सूर्यास्त: 06:56। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। उत्तरभारत में बरसात की संभावना। 

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक कासहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27,प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...