महाराष्ट्र लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
महाराष्ट्र लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, 23 जनवरी 2023

महिला का अधिकार, गर्भपात कराना या नहीं ?

महिला का अधिकार, गर्भपात कराना या नहीं ?

कविता गर्ग 

मुंबई। बंबई हाई कोर्ट ने 32 सप्ताह की गर्भवती एक महिला को भ्रूण में गंभीर विसंगतियों का पता लगने के बाद गर्भपात की अनुमति देते हुए कहा है कि महिला को यह तय करने का अधिकार है कि वह गर्भावस्था को जारी रखना चाहती है या नहीं ? न्यायमूर्ति गौतम पटेल और न्यायमूर्ति एस जी दिगे की खंडपीठ ने 20 जनवरी के अपने आदेश में चिकित्सकीय बोर्ड की इस राय को मानने से इनकार कर दिया कि भले ही भ्रूण में गंभीर विसंगतियां हैं, लेकिन गर्भपात नहीं कराया जाना चाहिए, क्योंकि इस मामले में गर्भावस्था का अंतिम चरण है। 

आदेश के प्रति सोमवार को उपलब्ध कराई गई। सोनोग्राफी के बाद पता चला था कि भ्रूण में गंभीर विसंगतियां हैं और शिशु शारीरिक एवं मानसिक अक्षमताओं के साथ पैदा होगा, जिसके बाद महिला ने अपना गर्भपात कराने के लिए उच्च न्यायालय से अनुमति मांगी थी। अदालत ने अपने आदेश में कहा, भ्रूण में गंभीर विसंगतियों के मद्देनजर गर्भधारण की अवधि मायने नहीं रखती। याचिकाकर्ता ने सोच-समझकर फैसला किया है। यह आसान निर्णय नहीं है, लेकिन यह फैसला उसका (याचिकाकर्ता का), केवल उसका है। यह चयन करने का अधिकार केवल याचिकाकर्ता को है। यह चिकित्सकीय बोर्ड का अधिकार नहीं है।

अदालत ने कहा कि केवल देर हो जाने के आधार पर गर्भपात की अनुमति देने से इनकार करना न केवल होने वाले शिशु के लिए कष्टकारी होगा, बल्कि उस भावी मां के लिए भी कष्टदायक होगा, और इसकी वजह से कारण मातृत्व का हर सकारात्मक पहलू छिन जाएगा। अदालत ने कहा, कानून को बिना सोचे समझे लागू करने के लिए महिला के अधिकारों से कभी समझौता नहीं किया जाना चाहिए।

पीठ ने कहा कि चिकित्सकीय बोर्ड ने दंपति की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति पर गौर नहीं किया। उसने कहा, बोर्ड वास्तव में केवल एक चीज करता है, क्योंकि देर हो गई, इसलिए अनुमति नहीं दी जा सकती। यह पूरी तरह गलत है, जैसा कि हमने पाया है। पीठ ने यह भी कहा कि भ्रूण में विसंगतियों और उनके स्तर का पता भी बाद में चला।

शुक्रवार, 13 जनवरी 2023

'ऑनलाइन बुकिंग' सेवा देने वाली कंपनी को फटकार

'ऑनलाइन बुकिंग' सेवा देने वाली कंपनी को फटकार

कविता गर्ग 

मुंबई/पुणे। बम्बई उच्च न्यायालय ने महाराष्ट्र सरकार से लाइसेंस प्राप्त किए बिना संचालन करने के लिए पुणे स्थित एक बाइक, टैक्सी की आनलाइन बुकिंग सेवा देने वाली कंपनी को शुक्रवार को फटकार लगाई और सेवाओं को तुरंत निलंबित करने का निर्देश दिया। न्यायमूर्ति गौतम पटेल और न्यायमूर्ति एस जी दिगे की खंडपीठ ने रोपेन ट्रांसपोर्टेशन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड (रेपिडो) को चेतावनी दी कि वह या तो अपनी बाइक टैक्सी सेवाओं को तुरंत निलंबित कर दे या अदालत को राज्य के प्राधिकारियों को निर्देश जारी करने होंगे कि कंपनी को कोई लाइसेंस जारी नहीं किया जाए।

पीठ ने कहा कि लाइसेंस के अभाव में कंपनी अनियमित तरीके से अपनी सेवाएं नहीं चला सकती। रोपेन ट्रांसपोर्टेशन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड ने 29 दिसंबर, 2022 को राज्य सरकार द्वारा बाइक टैक्सी की आनलाइन बुकिंग सेवा देने वाली कंपनी को लाइसेंस देने से इनकार करने संबंधी एक पत्र जारी करने के खिलाफ अदालत का रुख किया था। राज्य सरकार ने अपने पत्र में कहा था कि बाइक टैक्सी के लाइसेंस के संबंध में राज्य की कोई नीति नहीं है और कोई किराया संरचना के संबंध में भी कोई नीति नहीं है।

कंपनी ने 20 जनवरी तक अपनी सेवाओं को निलंबित करने का आश्वासन दिया, जब अदालत मामले की आगे की सुनवाई करेगी। महाधिवक्ता बीरेंद्र सराफ ने अदालत से कहा था कि कंपनी की याचिका पर तभी सुनवाई होनी चाहिए जब वे अपनी सेवाएं बंद कर दें। उन्होंने कहा, "वे अवैध रूप से सेवाएं चलाते हुए इस अदालत में नहीं आ सकते।" सराफ ने कहा कि सरकार ने इस मुद्दे का अध्ययन करने और बाइक टैक्सी के लिए दिशानिर्देश तैयार करने के लिए एक समिति का गठन किया है। महाधिवक्ता सराफ ने कहा, "हम उन संस्थाओं के खिलाफ निषेधाज्ञा जारी करने और अभियोजन शुरू करने की प्रक्रिया में हैं, जो बिना लाइसेंस के बाइक टैक्सी चला रहे हैं।"

मंगलवार, 10 जनवरी 2023

एक बार फिर गिरावट के साथ बंद हुए शेयर बाजार 

एक बार फिर गिरावट के साथ बंद हुए शेयर बाजार 

कविता गर्ग 

मुंबई। ग्लोबल बाजारों से मिले-जुले रुख के बीच भारतीय शेयर बाजार मंगलवार 10 जनवरी को एक बार फिर गिरावट के साथ बंद हुए। आईटी और बैंकिंग शेयरों में आज खासतौर से बिकवाली देखने को मिली। बीएसई का 30 शेयरों वाला सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) 631.83 अंक या 1.04% गिरकर 60,115.48 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला सूचकांक निफ्टी (Nifty) 176.35 अंक या 0.97% लुढ़ककर 17,924.85 के स्तर पर बंद हुआ। मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स भी आज करीब 0.5 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं निफ्टी बैंक में 1 फीसदी की गिरावट देखी गई है।

इस गिरावट के चलते शेयर बाजार के निवेशकों को आज करीब 2 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। निवेशकों को ₹2 लाख करोड़ का नुकसान BSE में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन मंगलवार 10 जनवरी को घटकर 280.89 लाख करोड़ रुपये पर आ गया, जो इसके पिछले कारोबारी दिन यानी सोमवार 9 जनवरी को 282.99 लाख करोड़ रुपये पर था। इस तरह BSE में लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैप में आज करीब 2.10 लाख करोड़ रुपये की भारी गिरावट आई है। सेंसेक्स के इन 5 शेयरों में आज रही सबसे अधिक तेजी सेंसेक्स के 30 में से सिर्फ 9 शेयर ही आज बढ़त के साथ बंद हुए।

फीसदी की तेजी देखने को मिली। इसके बाद पावर ग्रिड (Power Grid), टाटा स्टील (Tata Steel), इंडसइंड बैंक (Indusind Bank) और हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) में सबसे अधिक तेजी रही और ये करीब 0.78% से लेकर 1.39% की उछाल के साथ बंद हुए। सेंसेक्स के ये 5 शेयर आज सबसे अधिक लुढ़के वहीं सेंसेक्स के 21 शेयर आज गिरावट के साथ बंद हुए हैं। इसमें भी भारती एयरटेल (Bharti Airtel) में 2.92% की सबसे अधिक गिरावट देखने को मिली।

इसके अलावा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), अल्ट्राटेक सीमेंट (UltraTech Cement) और बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) भी 1.51 फीसदी से लेकर 2.03 फीसदी तक की गिरावट के साथ बंद हुए। होने वाले शेयरों की संख्या अधिक रही। एक्सचेंज पर आज कुल 3,654 शेयरों में कारोबार देखने को मिला।इसमें से 1,429 शेयर आज बढ़त के साथ बंद हुए। वहीं 2,078 शेयरों में गिरावट देखी गई। जबकि 147 शेयर बिना किसी उतार-चढ़ाव के सपाट बंद हुए।

शुक्रवार, 30 दिसंबर 2022

गिरावट के साथ बंद हुए 'सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी'

गिरावट के साथ बंद हुए 'सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी'

कविता गर्ग 

मुंबई। इस वर्ष के अंतिम कारोबारी दिवस पर घरेलू शेयर बाजारों में ऊंचे स्तर पर बिकवाली का जोर रहने से शुक्रवार को दोनों प्रमुख सूचकांक...बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी गिरावट के साथ बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों वाला मानक सूचकांक सेंसेक्स 293.14 अंक यानी 0.48 प्रतिशत नुकसान के साथ 60,840.74 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह एक समय 258.8 अंक चढ़कर 61,392.68 अंक तक पहुंच गया था लेकिन बिकवाली होने से इसने सारी बढ़त गंवा दी। इसी तरह एनएसई का सूचकांक निफ्टी भी 85.70 अंक यानी 0.47 प्रतिशत गिरकर 18,105.30 अंक पर बंद हुआ। यह वर्ष 2022 का अंतिम कारोबारी दिन था।

वर्ष 2021 के बंद भाव की तुलना में इस साल सेंसेक्स 2,586.92 अंक यानी 4.44 प्रतिशत की बढ़त पर रहा है जबकि निफ्टी में 751.25 अंक यानी 4.32 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है। सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से शुक्रवार को आईसीआईसीआई बैंक, भारती एयरटेल, एचडीएफसी, आईटीसी, नेस्ले, लार्सन एंड टुब्रो, एशियन पेंट्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, पावरग्रिड और इंडसइंड बैंक को खासा नुकसान उठाना पड़ा।

दूसरी तरफ, बजाज फिनसर्व, टाइटन, बजाज फाइनेंस, टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, विप्रो, कोटक महिंद्रा बैंक, टेक महिंद्रा, रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारतीय स्टेट बैंक के शेयर बढ़त हासिल करने में सफल रहे। एशिया के अन्य बाजारों में टोक्यो, शंघाई और हांगकांग के सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए। यूरोप के शेयर बाजार शुरुआती कारोबार में गिरावट के साथ कारोबार कर रहे थे। अमेरिकी शेयर बाजार बृहस्पतिवार को बढ़त के साथ बंद हुए थे। अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.14 प्रतिशत के नुकसान के साथ 83.34 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।

इस बीच, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने भारतीय बाजारों से निकासी की है। उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक बृहस्पतिवार को एफआईआई ने 572.78 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध बिकवाली की।

सोमवार, 26 दिसंबर 2022

मुंबई: 60,566.42 अंक पर बंद हुआ 'सेंसेक्स'

मुंबई: 60,566.42 अंक पर बंद हुआ 'सेंसेक्स'

कविता गर्ग 

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में पिछले चार दिन से जारी गिरावट पर सोमवार को विराम लगा और वैश्विक बाजारों में मजबूत रुख के साथ बीएसई सेंसेक्स में 721 अंक से अधिक की तेजी आई। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 721.13 अंक यानी 1.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 60,566.42 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 988.49 अंक तक चढ़ गया था। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 207.80 अंक यानी 1.17 प्रतिशत की तेजी के साथ 18,014.60 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के शेयरों में भारतीय स्टेट बैंक, इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, टाटा स्टील, आईटीसी, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट, एनटीपीसी और टाटा मोटर्स प्रमुख रूप से लाभ में रहे। दूसरी तरफ, नुकसान में रहने वाले शेयरों में नेस्ले इंडिया, कोटक महिंद्रा बैंक, भारती एयरटेल, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और हिंदुस्तान यूनिलीवर शामिल हैं।

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्की और चीन का शंघाई कंपोजिट लाभ में रहे। अमेरिकी शेयर बाजार शुक्रवार को बढ़त में रहे थे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 3.63 प्रतिशत चढ़कर 83.92 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 706.84 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।

गुरुवार, 22 दिसंबर 2022

मुंबई: लगातार तीसरे दिन भी सहमा रहा शेयर बाजार 

मुंबई: लगातार तीसरे दिन भी सहमा रहा शेयर बाजार 

कविता गर्ग 

मुंबई। वैश्विक बाजार की तेजी के बावजूद देश में कोरोना की आहट से सहमे निवेशकों की चौतरफा बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार आज लगातार तीसरे दिन भी सहमा रहा। देश में ओमीक्रॉन के वेरिएंट बीएफ7 के मामले मिलने से निवेशकों की निवेश धाराणा पर असर पड़ा है। इससे बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 241.02 अंक यानी 0.39 प्रतिशत लुढ़ककर डेढ़ माह के निचले स्तर 61 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 60826.22 अंक पर रहा। इससे पूर्व यह 10 नवंबर को 60613.70 अंक पर रहा था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 71.75 अंक अर्थात 0.39 प्रतिशत गिरकर 18127.35 अंक पर आ गया।

दिग्गज कंपनियों की तरह बीएसई का मिडकैप 0.77 प्रतिशत उतरकर 25,285.23 अंक और स्मॉलकैप 1.83 प्रतिशत टूटकर 28,421.52 अंक पर रहा। इस दौरान बीएसई में कुल 3652 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 2790 में बिकवाली जबकि 767 में लिवाली हुई वहीं 95 में कोई बदलाव नहीं हुआ। इसी तरह एनएसई में 41 कंपनियों में गिरावट जबकि शेष नौ में तेजी रही। बीएसई के 18 समूह बिकवाली के दबाव में रहे। 

इस दौरान कमोडिटीज 0.90, सीडी 1.10, ऊर्जा 0.76, एफएमसीजी 0.70, वित्तीय सेवाएं 0.59, इंडस्ट्रियल्स 1.78, दूरसंचार 0.98, यूटिलिटीज 1.60, ऑटो 1.05, कैपिटल गुड्स 1.57, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 0.78, धातु 1.15, तेल एवं गैस 0.86, पावर 1.49 और रियल्टी समूह के शेयर 1.33 प्रतिशत गिर गए। चीन के शंघाई कंपोजिट की 0.46 प्रतिशत की गिरावट को छोड़कर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तेजी का रुख रहा। इस दौरान ब्रिटेन का एफटीएसई 0.46, जर्मनी का डैक्स 0.05, जापान का निक्केई 0.46 और हांगकांग का हैंगसेंग 2.71 प्रतिशत की उछाल पर रहा। 

रुपया आठ पैसे की बढ़त के साथ 82.76 प्रति डॉलर पर 

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया बृहस्पतिवार को आठ पैसे की तेजी के साथ 82.76 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ। इस तेजी का कारण विदेशी बाजारों में डॉलर का कमजोर होना था। बाजार सूत्रों ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार में गिरावट से रुपये का लाभ सीमित रहा। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 82.78 के स्तर पर मजबूत खुला और कारोबार के अंत में यह आठ पैसे की तेजी दर्शाता 82.76 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। 

कारोबार के दौरान रुपये ने 82.64 के उच्चस्तर और 82.79 के निचले स्तर को छुआ। इससे पिछले कारोबारी सत्र में रुपया 14 पैसे की गिरावट के साथ 82.84 प्रति डॉलर के भाव पर बंद हुआ था। इस बीच, दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर की मजबूती को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.32 प्रतिशत घटकर 103.89 रह गया। वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 1.58 प्रतिशत बढ़कर 83.50 डॉलर प्रति बैरल हो गया।

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 241.02 अंक घटकर 60,826.22 अंक पर बंद हुआ। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे और उन्होंने बुधवार को 1,119 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।

मंगलवार, 20 दिसंबर 2022

एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा संबंधी से लेकर अन्य उपाय किए

एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा संबंधी से लेकर अन्य उपाय किए

कविता गर्ग 

मुंबई। महाराष्ट्र राज्य के सड़क विकास निगम के मुख्य अभियंता बीजी सालुंके ने कहा है कि हिंदू सम्राट बालासाहेब ठाकरे समृद्धि एक्सप्रेस-वे पर यात्रियों के लिए सुरक्षा संबंधी से लेकर अन्य कई उपाय किए गए हैं। मुख्य अभियंता द्वारा सोमवार देर रात जारी अपने आधिकारिक प्रेस बयान में यह जानकारी दी। आधिकारिक बयान में कहा कि राज्य में समृद्धि एक्सप्रेसवे पर दुर्घटना पीड़ितों की सहायता के लिए इंटरचेंज पर 21 सुसज्जित त्वरित प्रतिक्रिया वाहन और 15 एंबुलेंस तैनात किए गए हैं।

कोई भी व्यक्ति एंबुलेंस के लिए 108 नंबर पर संपर्क कर जा सकता है और इसके साथ-साथ नागपुर से शिरडी की ओर सात जगहों पर और शिरडी से नागपुर की तरफ छह जगहों पर पेट्रोल-डीजल पंप की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा, एक्सप्रेसवे पर शौचालय, खानपान सेवाएं और वाहनों की मामूली मरम्मत की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। बयान के अनुसार, टोल स्टेशनों पर भी शौचालय की सुविधा उपलब्ध है और यात्रियों की सुरक्षा के लिए राजमार्ग सुरक्षा पुलिस तैनात है और राज्य सुरक्षा निगम के 121 सुरक्षा गार्ड राजमार्ग सुरक्षा पुलिस की सहायता के लिए तैनात हैं।

आधिकारिक प्रेस बयान में बताया गया कि वाहनों की खराबी या दुर्घटना होने पर 24 घंटे हेल्पलाइन नंबर उपलब्ध है और 21 स्थानों पर नियंत्रण कक्ष हैं, जिसके माध्यम से सभी सुविधा प्रणालियों पर 24 घंटे कड़ी निगरानी रखी जाती है। सालुंके ने बताया कि समृद्धि एक्सप्रेसवे पर 16 स्थानों पर यात्री सुविधा शुरू करने की प्रक्रिया चल रही है और इसे जल्द ही उपलब्ध करा दिया जाएगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 दिसंबर को नागपुर से शिरडी प्रथम चरण एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया है। 

शनिवार, 10 दिसंबर 2022

28 को विधान भवन तक विरोध मार्च: प्रदेश इकाई 

28 को विधान भवन तक विरोध मार्च: प्रदेश इकाई 

कविता गर्ग 

नागपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) की विदर्भ प्रदेश इकाई केंद्र की निजीकरण की नीति और अन्य श्रम मुद्दों पर यहां 28 दिसंबर को विधान भवन तक विरोध मार्च निकालेगी। यह विरोध मार्च महाराष्ट्र विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान आयोजित किया जा रहा है।

बीएमएस की विदर्भ प्रदेश इकाई ने दावा किया है कि महा मोर्चा में 20,000 कार्यकर्ता शामिल होंगे। बीएमएस के प्रचार प्रमुख सुरेश चौधरी ने एक विज्ञप्ति में कहा कि विदर्भ प्रदेश की अध्यक्ष शिल्पा देशपांडे, महासचिव गजानन गटलेवार और अन्य लोगों की मौजूदगी में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। विज्ञप्ति में कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा सार्वजनिक उद्यमों का बड़े पैमाने पर निजीकरण किया जा रहा है और ठेका श्रमिकों का शोषण किया जा रहा है।

शुक्रवार, 2 दिसंबर 2022

महाराष्ट्र में जीका वायरस से संक्रमित मिला एक व्यक्ति 

महाराष्ट्र में जीका वायरस से संक्रमित मिला एक व्यक्ति 

कविता गर्ग 

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे शहर में 67 वर्षीय एक व्यक्ति जीका वायरस से संक्रमित पाया गया, लेकिन अब वह इससे पूरी तरह उबर चुका है और उसमें इस रोग के कोई लक्षण नहीं हैं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया कि नासिक निवासी इस व्यक्ति को पिछले महीने संक्रमित पाया गया था, लेकिन इसके पहले उसने पड़ोसी राज्य गुजरात के सूरत शहर की यात्रा की थी। इसमें कहा गया है, ‘‘वह गत छह नवंबर को पुणे के बावधान इलाके में आया और बाद में सूरत चला गया।

वह 16 नवंबर को बुखार, कफ, जोड़ों में दर्द और थकावट के चलते इलाज के लिए जहांगीर अस्पताल पहुंचा। एक निजी प्रयोगशाला में 18 नवंबर को उसकी जांच कराई गई तो उसके जीका वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई।’’ पुणे स्थित राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान (एनआईवी) में की गई जांच में भी जीका वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई।

बयान में कहा गया कि जांच रिपोर्ट के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने पुणे शहर और बावधान इलाके में गहन सर्वेक्षण किया। इससे पहले, इस साल जुलाई में मुंबई के पास पालघर जिले में सात साल की एक बच्ची जीका वायरस से संक्रमित पाई गई थी। मलेरिया और डेंगू की तरह जीका वायरस भी एडीज मच्छर के काटने से फैलता है। इस वायरस की सबसे पहले पहचान अफ्रीकी देश युगांडा में 1947 में हुई थी।

बुधवार, 30 नवंबर 2022

63 हजार अंक के उच्चतम शिखर पर पहुंचा 'सेंसेक्स'

63 हजार अंक के उच्चतम शिखर पर पहुंचा 'सेंसेक्स'

कविता गर्ग 

मुंबई। अमेरिकी फेड रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल के होने वाले वक्तव्य में अर्थव्यवस्था को लेकर शुभ संकेत मिलने की उम्मीद में वैश्विक बाजार में आई तेजी से उत्साहित निवेशकों की अंतिम समय में हुई चौतरफा लिवाली की बदौलत सेंसेक्स बुधवार को पहली बार 63 हजार अंक के उच्चतम शिखर पर पहुंच गया। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 417.81 अंक अर्थात 0.67 प्रतिशत की उड़ान भरकर पहली बार 63 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 63099.65 अंक पर रहा। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 140.30 की तेजी लेकर अबतक के रिकॉर्ड 18758.35 अंक पर पहुंच गया। 

इसी तरह बीएसई की दग्गज कंपनियों की तरह मझौली और छोटी कंपनियों के प्रति भी निवेशकों की निवेश धारणा मजबूत रही। इसकी बदौलत मिडकैप 1.06 प्रतिशत मजबूत होकर 25,950.89 अंक और स्मॉलकैप 0.61 प्रतिशत की छलांग लगाकर 29,519.61 अंक पर रहा। बीएसई के सभी 19 समूह तेजी पर रहे। सर्वाधिक मुनाफा यूटिलिटीज समूह के शेयरों ने कमाया। इसी तरह पावर 2.35, कमाेडिटीज 1.62, सीडी 1.25, ऊर्जा 0.76, एफएमसीजी 0.86, वित्तीय सेवाएं 0.57, इंडस्ट्रियल्स 0.84, दूरसंचार 1.44, ऑटो 1.74, कैपिटल गुड्स 0.62, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 0.68, धातु 1.96, तेल एवं गैस 0.83, रियल्टी 1.54 और टेक समूह के शेयर 0.39 प्रतिशत उछल गए। 

विश्लेषकों के अनुसार, अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवले की बैंक की दिसंबर की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक से पहले होने वाली बैठक में अर्थव्यवस्था को लेकर शुभ संकेत दिये जाने की उम्मीद में वैश्विक बाजार में तेजी आई, जिसका असर घरेलू शेयर बाजार में देखा जा रहा है। इस दौरान ब्रिटेन का एफटीएसई 0.45, जर्मनी का डैक्स, हांगकांग का हैंगसेंग 2.16 और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.05 प्रतिशत चढ़ गया जबकि जापान के निक्केई में 0.21 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। 

रुपया 34 पैसे बढ़कर 81.38 प्रति डॉलर पर

विदेशी बाजारों में डॉलर के कमजोर होने और घरेलू शेयर बाजारों में तेजी के बीच निवेशकों की जोखिम लेने की धारणा में सुधार से अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया बुधवार को 34 पैसे के सुधार के साथ 81.38 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 81.63 पर खुला। कारोबार के दौरान यह 81.38 के उच्चस्तर और 81.64 के निचले स्तर तक गया। अंत में रुपया 34 पैसे की तेजी के साथ 81.38 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपये का पिछला बंद भाव 81.72 प्रति डॉलर था। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक दिलीप परमार ने कहा कि जोखिम वाली आस्तियों की धारणा में सुधार, कच्चे तेल की कम कीमतें तथा विदेशी संस्थागत निवेशकों का निवेश बढ़ने के बाद पिछले 11 महीनों में भारतीय रुपये में पहली मासिक बढ़त दर्ज की गई।

परमार ने कहा कि यह महीने के अंत में 1.6 प्रतिशत ऊंचा बंद होने की ओर अग्रसर है जो अगस्त, 2021 के बाद से सबसे बड़ा लाभ होगा। इस बीच, दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर की कमजोरी या मजबूती को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.29 प्रतिशत की गिरावट के साथ 106.51 पर रह गया। वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 2.13 प्रतिशत बढ़कर 84.80 डॉलर प्रति बैरल हो गया।

दूसरी तिमाही के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी), अप्रैल-अक्टूबर के लिए राजकोषीय घाटे के आंकड़े और अक्टूबर के लिए बुनियादी उद्योगों के आंकड़े आज जारी किए जाने हैं। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 417.81 अंक बढ़कर 63,099.65 अंक पर बंद हुआ। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे और उन्होंने मंगलवार को 1,241.57 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर ख़रीदे।

शुक्रवार, 18 नवंबर 2022

48.91 अंक टूटकर 61,701.69 पर आया 'सेंसेक्स'

48.91 अंक टूटकर 61,701.69 पर आया 'सेंसेक्स'

कविता गर्ग 

मुंबई। एशियाई बाजारों में तेजी के बीच घरेलू शेयर बाजार में दोनों ही मानक सूचकांकों ने शुक्रवार को सकारात्मक शुरुआत की। लेकिन शुरुआती लाभ जल्द ही गवां भी दिया। इस दौरान 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 179.28 अंक चढ़कर 61,929.88 पर था। दूसरी ओर व्यापक एनएसई निफ्टी 50.7 अंक की बढ़त के साथ 18,394.60 पर आ गया। हालांकि बाद में दोनों ही मानक सूचकांकों ने शुरुआती लाभ गवां दिया और नुकसान में कारोबार करने लगे। इस दौरान बीएसई सेंसेक्स 48.91 अंक टूटकर 61,701.69 पर आ गया। वहीं निफ्टी 20.25 अंक की गिरावट के साथ 18,323.65 अंक पर था। 

सेंसेक्स में एशियन पेंट्स, एक्सिस बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, इंफोसिस, लार्सन एंड टूब्रो और भारतीय स्टेट बैंक लाभ पाने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल थे। दूसरी ओर, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति, टाइटन, टेक महिंद्रा और भारती एयरटेल नुकसान में रहे। अन्य एशियाई बाजारों में सियोल, तोक्यो और हांगकांग के बाजार लाभ में कारोबार कर रहे थे जबकि शंघाई के बाजार नुकसान में रहे। अमेरिकी बाजार भी बृहस्पतिवार को गिरावट के साथ बंद हुए। पिछले सत्र में, तीस शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 230.12 अंक या 0.37 प्रतिशत टूटकर 61,750.60 पर बंद हुआ था। 

दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 65.75 अंक या 0.36 प्रतिशत की गिरावट के साथ 18,343.90 पर बंद हुआ था। इसबीच अंतरराष्ट्रीय तेल सूचकांक ब्रेंट क्रूड 0.71 फीसदी की तेजी के साथ 90.42 डॉलर प्रति बैरल पर था। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रूप से 618.37 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। 

शुरुआती कारोबार में रुपया 10 पैसे मजबूत 
विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर के कमजोर होने और भारतीय बाजारों में विदेशी पूंजी की आवक के बीच रुपया शुक्रवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले शुरुआती कारोबार में 10 पैसे मजबूत होकर 81.54 के भाव पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 81.59 के भाव पर खुला और थोड़ी ही देर में यह और तेजी के साथ 81.54 के स्तर तक भी पहुंच गया। 

इस तरह पिछले बंद भाव के मुकाबले रुपये में 10 पैसे की मजबूती दर्ज की गई। पिछले कारोबारी दिवस पर रुपया 38 पैसे टूटकर 81.64 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। इस बीच छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में अमेरिकी डॉलर की मजबूती को परखने वाला डॉलर सूचकांक 0.17 प्रतिशत गिरकर 106.51 पर पहुंच गया। 

अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.61 प्रतिशत की बढ़त के साथ 90.33 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक विदेशी निवेशकों ने बृहस्पतिवार को भारतीय बाजारों में 618.37 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध खरीदारी की थी। 

गुरुवार, 27 अक्तूबर 2022

रासायनिक कारखाने में आग, 3 की मौंत, 12 जख्मी 

रासायनिक कारखाने में आग, 3 की मौंत, 12 जख्मी 

कविता गर्ग 

मुंबई‌। महाराष्ट्र में पालघर जिला के बोईसर इलाके में एक रासायनिक कारखाने में भीषण आग लगने से तीन लोगों की मौंत हो गई और 12 अन्य जख्मी हो गए। बोईसर फायर ब्रिगेड ने कहा, "फैक्ट्री में बॉयलर फटने से आग लग गई। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद दमकल की सात गाड़ियां मौके पर पहुंच गई हैं और आग बुझाने का काम जारी है। कई लोगों के फंसे होने की आशंका है।" घायलों को बोईसर के शिंदे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

राम नाम सत्य है, अर्थी पर रखा शख्स उठ खड़ा हुआ

राम नाम सत्य है, अर्थी पर रखा शख्स उठ खड़ा हुआ

कविता गर्ग 

मुंबई। महाराष्ट्र के अकोला जिले का रहने एक युवक कई दिनों से बीमार चल रहा था। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उसकी तबीयत बिगड़ती ही गई। इलाज के ही दौरान डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया। परिजन उसको अर्थी पर लिटाकर श्मशान ले जा रहे थे। राम नाम सत्य है… कहा जा रहा था। तभी अचानक अर्थी हिलने लगी। अर्थी को हिलते देख लोग घबरा गए और पास में स्थित गांव के मंदिर के सीढ़ियों पर ग्रामीण अर्थी रखी दिए। थोड़ी देर बाद अर्थी पर रखा शख्स उठ खड़ा हुआ।

ये युवक अकोला जिले के पातुर तालुका के विवरा गांव का रहने वाला है। और ये घटना बीते बुधवार को हुई। इस युवक का नाम प्रशांत मेशरे है। प्रशांत पेशे से होमगार्ड है। पिछले कुछ दिनों से तबियत बिगड़ने पर उसके परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

डाक्टरों ने घोषित किया मृत, अर्थी से उठ खड़ा हुआ शख्स
दरअसल, युवक की नसें रूक गई थीं। नस चोकअप होने की वजह से डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। 25 साल की उम्र में परिवार का सदस्य खो जाने का परिजनों को बेहद दुख हुआ। मौत की खबर सुनते ही परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया था। यह सोचकर कि होनी को कौन टाल सकता है यही सोचकर परिजनों ने उसके अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी थी।

जमा होने लगी गांव वालों की भीड़
जिस युवक की अर्थी तैयार हो चुकी थी। लोग उसके अर्थी को कांधे पर ले जा रहे थे। राम नाम सत्य है… कह रहे थे। लेकिन कहां गांव और परिवार वालों ने सोचा था कि ये नौजवान अर्थी से उठ खड़ा हो जाएगा। कफन से लपटा युवक को उठ खड़ा देख गांव वालों के लिए चमत्कार से कम नहीं था। यह चमत्कार जंगल में आग की तरह फैल गई। आस पास के भी गांव के लोगों को जब पता हुई तो वो सब भी आ पहुंचे। भीड़ लग गई। भीड़ अनियंत्रित हो गई। नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बुलाया गया। आखिर गांव चर्चा ये हो गई कि युवक के शरीर में देवी आ गई।

रविवार, 23 अक्तूबर 2022

मुंबई: 59307.15 अंक पर रहा सूचकांक सेंसेक्स 

मुंबई: 59307.15 अंक पर रहा सूचकांक सेंसेक्स 

कविता गर्ग 

मुंबई। अंतर्राष्ट्रीय बाजार की मजबूती से उत्साहित निवेशकों की स्थानीय स्तर पर हुई लिवाली की बदौलत बीते सप्ताह लगभग ढाई प्रतिशत की उछाल पर रहे घरेलू शेयर बाजार की चाल अगले सप्ताह डॉलर एवं कच्चे तेल के रुख तथा कंपनियों के तिमाही परिणाम से तय होगी। बीते सप्ताह बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1387.18 अंक की छलांग लगाकर सप्ताहांत पर 59 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 59307.15 अंक पर रहा। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 390.6 अंक की तेजी लेकर 17576.30 अंक पर पहुंच गया।

समीक्षाधीन सप्ताह में बीएसई की दिग्गज कंपनियों की तुलना में मझौली और छोटी कंपनियों में लिवाली की रफ्तार धीमी रही। इससे मिडकैप 95.29 अंक चढ़कर सप्ताहांत पर 24805.15 अंक और स्मॉलकैप 43.97 अंक मजबूत होकर 28566.82 अंक पर पहुच गया। निवेश सलाह देने वाली कंपनी स्वास्तिका इंवेस्टमेंट लिमिटेड के शोध प्रमुख संतोष मीणा के अनुसार, तीन सप्ताह की मजबूती के बाद पिछले सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली।

डॉलर के मुकाबले रुपये के 83 रुपये प्रति डॉलर तक लुढ़कने वहीं अमेरिकी बॉन्ड रिटर्न रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने जैसी विपरीत परिस्थितियों के बावजूद बाजार लचीला बना रहा। अगले सप्ताह त्योहारी सीजन के मद्देनजर बाजार में लिवाली बने रहने की उम्मीद है। अगले सप्ताह वैश्विक बाजारों की दिशा, डॉलर इंडेक्स, अमेरिकी बॉन्ड यील्ड और कच्चे तेल की कीमतों पर बाजार की नजर बनी रहेगी। इसके साथ ही घरेलू मोर्चे पर अगले सप्ताह अक्टूबर का मासिक वायदा सौदा निपटान से कुछ अस्थिरता हो सकती है लेकिन कंपनियों के चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के परिणाम से बाजार को समर्थन मिलेगा।

मंगलवार, 11 अक्तूबर 2022

सेंसेक्स और निफ्टी में करीब डेढ़ फीसदी की गिरावट 

सेंसेक्स और निफ्टी में करीब डेढ़ फीसदी की गिरावट 

कविता गर्ग 

मुंबई। रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के गंभीर रूप लेने की आशंका से वैश्विक स्तर से मिले कमजोर संकेतों के साथ ही घरेलू स्तर पर हुई चौतरफा बिकवाली के दबाव में आज शेयर बाजार लगातार दूसरे दिन गिरावट में रहा और इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी में करीब डेढ़ फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 843.79 अंक टूटकर 57147.32 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 257.45 अंक उतरकर 16983.55अंक पर रहा। छोटी और मझौली कंपनियों पर भी बिकवाली का असर देखा गया जिससे बीएसई का मिडकैप 1.61 प्रतिशत गिरकर 24757.61 अंक पर और स्मॉलकैप 1.47 प्रतिशत फिसलकर 28589.23 अंक पर रहा।
बीएसई में शामिल सभी समूहों में बिकवाली हुई। इस दौरान धातु , पावर,, एनर्जी, टेलीकम्युनिकेशंस, आईटी और टेक जैसे समूहों में तेजी बिकवाली हुयी। बीएसई में कुल 3563 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 2347 कंपनियों को नुकसान हुआ जबकि 1086 कंपनियां ही लाभ में रही। 130 में कोई बदलाव नहीं हुआ।
वैश्विक स्तर पर चीन के शंघाई कंपोजिट 0.19 प्रतिशत की बढ़त को छोड़कर शेष सभी प्रमुख सूचकांक गिरावट में रहा। इसमें ब्रिटेन का एफटीएसई 1.26 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 1.28 प्रतिशत, जापान का निक्केई 2.64 प्रतिशत और हांगकांग का हैंगसेंग 2.23 प्रतिशत की गिरावट शामिल है।

सोमवार, 19 सितंबर 2022

शिंदे को दशहरा रैली आयोजन की अनुमति मिली 

शिंदे को दशहरा रैली आयोजन की अनुमति मिली 

कविता गर्ग 

मुंबई। महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे के शिवसेना गुट को मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BKC) मैदान में दशहरा रैली आयोजित करने की अनुमति मिल गई है। जिसके बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को एक और बड़ा झटका लगा है। शिवाजी पार्क में दशहरा रैली करना शिवसेना के लिए एक विशेष कार्यक्रम माना जाता है, जहां पार्टी नेता कैडर की उपस्थिति में राजनीति के तमाम पहलूओं पर अपने विचार रखते हैं। ऐसे में दोनों गुटों द्वारा बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स मैदान में दशहरा रैली की मेजबानी के लिए अनुमति मांगने को लेकर एक आवेदन दायर किया गया था।

फिलहाल बृहन्मुंबई नगर निगम ने शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित करने के आवेदनों पर कोई फैसला नहीं लिया है। जबकि बीएमसी पर लगभग तीन दशकों से उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी का शासन है, यह वर्तमान में प्रशासक इकबाल चहल द्वारा नागरिक निकाय के कार्यकाल की समाप्ति के बाद चलाया जा रहा है। दशहरा रैली में दोनों खेमे का आमना-सामना होना बीएमसी चुनावों के लिए काफी महत्वपूर्ण हो जाता है, जहां शिवसेना के दोनों धड़े अपनी ताकत साबित करने की कोशिश कर रहे हैं।


बता दें कि एकनाथ शिंदे ने 30 जून को महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। शिवसेना के एनसीपी और कांग्रेस के साथ गठबंधन जारी रखने के विरोध में शिवसेना के 38 अन्य विधायक राज्य के बाहर उनके साथ शामिल हो गए। ऐसे में शिंदे ने राज्य सरकार के पतन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वहीं उन्होंने सीएम बनने की जंग में देवेंद्र फडणवीस को भी पछाड़ दिया। जिसके बाद शुरुआत में फडणवीस ने सरकार का हिस्सा बनने से भी इनकार कर दिया था। हालांकि बाद में उन्हें डिप्टी के रूप में कैबिनेट में शामिल किया गया।

शुक्रवार, 16 सितंबर 2022

महिला के परिजनों को 23.20 लाख देने का निर्देश

महिला के परिजनों को 23.20 लाख देने का निर्देश

कविता गर्ग 

मुंबई/ठाणे। ठाणे में मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण (एमएसीटी) ने 2018 में सड़क दुर्घटना में जान गंवाने वाली 21 वर्षीय महिला के परिजनों को मुआवजे के रूप में 23.20 लाख रुपये देने का निर्देश दिया है। न्यायाधिकरण के अध्यक्ष और प्रधान जिला न्यायाधीश अभय जे मंत्री ने 9 सितंबर के अपने आदेश में संबंधित बीमा कंपनी को दावा दायर करने की तारीख से 7.50 प्रतिशत ब्याज के साथ राशि प्रदान करने का निर्देश दिया। पूजा पंडित अहिरे 23 जून, 2018 को कपूरबावड़ी में बस से उतरते समय तेज रफ्तार ऑटोरिक्शा की चपेट में आने से गंभीर रूप से घायल हो गईं। महिला की 25 जून को एक अस्पताल में मृत्यु हो गई। अस्पताल ने उनके परिजनों को 2 लाख रुपये का चिकित्सा बिल भी दिया था।

मुआवजे की राशि में आमदनी से नुकसान के लिए 19.65 लाख रुपये, चिकित्सा खर्च के रूप में 1.85 लाख रुपये और विभिन्न अन्य नुकसानों के लिए 1.68 लाख रुपये शामिल हैं। एमएसीटी ने कहा कि महिला के पिता को 9 लाख रुपये, मां को 13,80,000 रुपये और उनके भाई को 40,000 रुपये का भुगतान किया जाएगा। आवेदकों की ओर से अधिवक्ता यू आर विश्वकर्मा व बीमा कंपनी की ओर से अरविंद तिवारी पेश हुए।

बुधवार, 14 सितंबर 2022

छत्रपति शिवाजीराजे का 75 वर्ष की उम्र में निधन 

छत्रपति शिवाजीराजे का 75 वर्ष की उम्र में निधन 

कविता गर्ग

मुंबई/पुणे। छत्रपति शिवाजी महाराज की बारहवीं पीढ़ी के वंशज छत्रपति शिवाजीराजे भोसले का मंगलवार को यहां एक निजी अस्पताल में उम्र संबंधी बीमारियों के कारण निधन हो गया। उनके भतीजे व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य उदयनराजे भोसले ने ट्वीट किया, छत्रपति परिवार के वंशज और सतारा के पूर्व महापौर श्रीमंत छत्रपति शिवाजीराजे भोसले का 75 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उनका पार्थिव शरीर सतारा के अदालत वाड़ा में अंतिम दर्शन के लिये रखा जाएगा। आदरणीय चाचाजी को भावभीनी श्रद्धांजलि।

भारतीय जनता पार्टी के विधायक शिवेंद्र राजे भोसले ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया। शिवेंद्र राजे ने कहा कि सतारा के महापौर के तौर पर उनका काम उल्लेखनीय था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति शिवाजीराजे भोसले के निधन पर शोक व्यक्त किया। उनका निधन 12 सितंबर को महाराष्ट्र के पुणे में हुआ था।

रविवार, 4 सितंबर 2022

सड़क दुर्घटना में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन की मौंत

सड़क दुर्घटना में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन की मौंत 

कविता गर्ग 

मुंबई। टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की महाराष्ट्र के पालघर में रविवार को हुई एक सड़क दुर्घटना में मौंत हो गई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह दुर्घटना उस वक्त हुई जब मिस्त्री की कार मुंबई से सटे पालघर जिले में एक डिवाइडर से टकरा गई। उस समय मिस्त्री मर्सिडीज कार में अहमदाबाद से मुंबई लौट रहे थे।

पुलिस अधिकारी ने कहा, दुर्घटना अपराह्न लगभग 3.15 बजे हुई। मिस्त्री अहमदाबाद से मुंबई की ओर जा रहे थे। यह हादसा सूर्या नदी पर बने पुल पर हुआ। ऐसा लग रहा है कि यह एक दुर्घटना है। इस हादसे में मिस्त्री के साथ यात्रा कर रहे दो अन्य लोग घायल हुए हैं जिनमें कार चालक भी शामिल है। सभी घायलों को गुजरात के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक, हादसे के बारे में अधिक जानकारी घायलों से जुटाने की कोशिश की जाएगी।

मंगलवार, 30 अगस्त 2022

59,000 के आंकड़े को पार करने में कामयाब, सेंसेक्स 

59,000 के आंकड़े को पार करने में कामयाब, सेंसेक्स 

कविता गर्ग 

मुंबई। भारतीय शेयर बाजार ने मंगलवार को शानदार वापसी की है। निवेशकों की ओर की भारी खरीदारी के चलते मंगलवार का दिन बाजार के लिए बेहद मंगल साबित हुआ है। सेंसेक्स फिर से 59,000 के आंकड़े को पार करने में कामयाब रहा है। आज का कारोबार खत्म होने पर मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स 1535 अंकों की तेजी के साथ 59,507 तो नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 438 अंकों की तेजी के साथ 17,7457 अंकों पर बंद हुआ है। बुघवार को बाजार गणेश चतुर्थी की छुट्टी की वजह से शेयर बाजार बंद रहेगा।

सेक्टर का हाल...
बाजार में तेजी का आलम ये था कि सभी सेक्टर के इंडेक्स हरे निशान में क्लोज हुए हैं। आईटी , बैंकिंग, ऑटो, फार्मा, एफएमसीजी, एनर्जी , मेटल्स, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, ऑयल एंड गैस के अलावा मीडिया सेक्टर के शेयर में खरीदारी रही। मिडकैप और स्मॉल कैप शेयरों में भी तेजी देखी गई। निफ्टी के सभी 50 शेयरों में हरे निशान बंद हुएतो सेंसेक्स के भी सभी 30 स्टॉक्स हरे निशान में क्लोज हुए हैं।

चढ़ने वाले शेयर्स...
बाजार में चढ़ने वाले शेयरों पर नजर डालें तो बजाज फिनसर्व 5.47 फीसदी, बजाज फाइनैंस 4.86 फीसदी, इंडसइंड बैंक 4.15 फीसदी, टेक महिंद्रा 3.96 फीसदी, आईसीआईसीआई बैंक 3.72 फीसदी, कोटक महिंद्रा 3.46 फीसदी, टाटा स्टील 3.29 फीसदी, एचडीएफसी 3.28 फीसदी, एचयूएल 3.27 फीसदी, एचडीएफसी बैंक 3.21 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ।

गिरने वाले शेयर्स...
गिरने वाले शेयर्स पर नजर डालें तो एनएमडीसी 1.29 फीसदी, डॉ लालपैथ लैब 1.20 फीसदी, कोरोमंडल इंटरप्राइजेज 0.85 फीसदी, बारत इलेक्ट्रानिक्स 0.76 फीसदी, भेल 0.68 फीसदी, सन टीवी 0.49 फीसदी, ग्लेनमार्क 0.35 फीसदी, आरबीएल बैंक 0.29 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है।

गणतंत्र दिवस    'संपादकीय'

गणतंत्र दिवस    'संपादकीय' 'भारत' देश है हमारा, संविधान पर विवाद नहीं। 'सभ्यता' सबसे पहले आई, ...