मंगलवार, 24 सितंबर 2019

जीवित चूहों का प्रसिद्ध मंदिर

रामचन्द्र गहलोत


बीकानेर। थार रेगिस्तान में बीकानेर से लगभग 32 किलोमीटर दूर मरू टीलों के बीच एक चर्चित गांव है-देशनोक। बीकानेर जिले के इस प्रसिद्ध गांव में करणी माता का एक मन्दिर है जो 'चूहों का मन्दिर' नाम से प्रसिद्ध हैं। मरू टीलों के बीच बसा यह छोटा सा गांव इस मन्दिर के कारण दुनियाभर में विख्यात है। इसे 'चूहों का स्वर्ग मन्दिर' भी कहा जाता है। चूहों का ऐसा संगम शायद ही दुनिया में अन्यत्रा कहीं देखने को मिले। इस मन्दिर में हर तरफ चूहे ही चूहे नजर आते हैं। कोई आराम करता हुआ, कोई खाता हुआ, कोई पीता हुआ तो कोई आपस में खेलता हुआ। रोचक बात यह है कि मन्दिर में जहां तक नजर जाती है वहीं ये चूहे विचरण करते हुए नजर आएंगे।


सुबह एवं संध्या की आरती के समय आपको मन्दिर प्रांगण में हजारों की संख्या में चूहे नजर आयेंगे। संध्या आरती के समय तो जो भक्त एक बार जहां खड़ा होता है, आरती पूर्ण होने तक उसे वहीं खड़ा रहना पड़ता है क्योंकि पूरा मन्दिर प्रागंण चूहों से भर जाता है। आरती के पश्चात बड़े-बड़े थालों में इनके लिए भोजन रख दिया जाता है तथा भक्त लोग इतने चूहों को एक साथ भोजन करते देख धन्य हो जाते हैं। कहते हैं इस मन्दिर में एक सफेद चूहा है जो किसी सौभाग्यशाली को ही दिखाई देखा है और उस पर माता की विशेष कृपा होती हैं। यह चूहा बहुत कम लोगों को दिखाई देता है।


इन चूहों को खाने के लिए मन्दिर के पुजारी मिठाई, अनाज, दूध एवं पानी देते हैं। मन्दिर में आने वाले भक्त भी इनके लिए लड्डू, बर्फी, पेड़ा, दूध एवं अन्य मिठाई चढ़ाते हैं। मन्दिर में इन चूहों के लिए एक अलग रसोईघर है जहां बड़े-बड़े कड़ाहों में इनके लिए भोजन तैयार होता हैं। खास बात यह है कि इनके छोड़े हुए भोजन को भक्तों में प्रसाद के रूप में वितरित कर दिया जाता है और भक्त लोग बड़ी प्रसन्नता से प्रसाद ग्रहण करते हैं। चूहों को कोई पक्षी न झपट ले जाए, इसके लिए मंदिर प्रांगण के ऊपर लोहे की जालियां लगी हुई हैं।


मन्दिर में प्रवेश करते ही एक बोर्ड पर लिखा है, कि 'अगर किसी के पैर के नीचे दबकर कोई चूहा मर गया तो बदले में उसे चांदी का चूहा देना होगा। कृपया सावधानी से चलिए, इसलिए श्रद्धालु मन्दिर में पैर घिसटाकर चलते हैं। इस चूहों ने आज तक किसी को नहीं काटा है। गुजरात में फैले प्लेग के दौरान एक वैज्ञानिक दल भी निरीक्षण के लिए आया था परंतु इन चूहों में किसी तरह की कोई बीमारी नहीं पाई गई।


माना जाता है कि करणी माता का वरदान है कि देशनोक में कभी कोई महामारी नहीं फैलेगी। ऐतिहासिक एवं धार्मिक मान्यता के अनुसार करणी माता का जन्म सुआप गांव (जोधपुर) के चारण वंश के मेहोजी के घर विक्रमी सवंत 1444 में अविश्वनी शुक्ल सप्तमी को हुआ था। कहते हैं कि मेहोजी एवं उनकी पत्नी देवल ने इष्टदेवी हिंगलाज की लम्बी आराधना की जिससे प्रसन्न होकर देवी ने दुर्गा रूप में इन्हें दर्शन दिए और वर मांगने को कहा। मेहोजी और देवल ने देवी से अपने घर में जन्म लेने का वर मांगा। देवी ने इन्हें यह वर दे दिया और इनके घर जन्म लेने का वचन भरा। मान्यता हैं कि करणी माता ने नौ की बजाय 21 माह गर्भ में रहकर जन्म लिया था और प्रसूति के समग देवल को दुर्गा रूप में दर्शन देकर अपने वचन का स्मरण कराया था।


मेहोजी और देवल माता ने इनका नाम 'रिधूबाई' रखा था परंतु बचपन से ही अपने अलौकिक चमत्कारों, अंधों, लगड़ों को ठीक करने तथा रोगियों के रोग दूर करने के कारण इनका नाम 'करणी' रख दिया गया। करणी माता ने यहां के जनमानस को अनेक चमत्कार दिखाये और धीरे-धीरे करणी माता यहां के लोगों की असाध्य देवी बन गई। करणी माता के संबंध में यहां अनेक जनश्रुति प्रचलित हैं। कहते हैं कि भूख प्यास से व्याकुल युगल राजा की सेना को माता ने भरपेट भोजन कराया था जबकि भोजन कुछ ही लोगों का था।


करणी माता ने जोधपुर, नरेश जोधा जी के पुत्रा बीका जी को देशनोक के पास एक नई रियासत बसाने का आशीर्वाद दिया तथा खुद अपने हाथों से उसकी नींव रखी जिसका नाम बीकानेर रखा गया। करणी माता के आर्शीवाद से बीकानेर एक समृद्ध रियासत बनकर उभरी। राजपूत नरेश जोधा जी एवं बीका जी जीवन पर्यन्त माता के उपासक रहे। वर्तमान मन्दिर के स्थान पर पहले एक गुफा थी जहां करणी माता ने ज्यादातर समय बिताया। बाद में बीकाजी के वंशज नरेशों में यहां संगमरमर का मन्दिर बनवा दिया। मन्दिर के गर्भगृह में उस गुफा का कुछ हिस्सा अब भी है।


सुआप गांव देशनोक से लगभग 127 किलोमीटर दूर है और यहां पुराना जाल का वृक्ष अब भी है जहां माता का झूला विद्यमान है। मन्दिर का प्रवेश द्वार अत्यंत ही आकर्षक है। प्रवेश द्वार पर फूल, पत्तियों के डिजाईन के अलावा हाथी तराशे गए हैं। प्रवेश द्वार चांदी का बना हुआ है और उस पर महीन कलाकारी की गई है। प्रवेश द्वार के बाहर संगमरमर के बने शेर बैठे हुए दिखाई देते हैं। मन्दिर के बाकी तीन द्वार भी चांदी के बने हुए हैं तथा मन्दिर के गर्भगृह में शुद्ध सोने के अनेकों छत्रा चढ़ाए हुए हंै। करणी माता का सिंहासन भी सोने का बना हुआ है। करणी माता को चूहों एव गायों से विशेष लगाव था, इसलिए इस गांव के लोग अपने पशुओं के क्रय-विक्रम के पश्चात उनका दूध यहां चढ़ाते हैं। इससे इन्हें पशु धन में लाभ मिलता है।


वैसे तो यहां कभी भी आ सकते हैं परंतु नवरात्रों में यहां भारी मेला लगता है तथा दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं। यहां अन्य प्रदेशों से भी श्रद्वालु आते हैं। विदेशी सैलानी भी यहां खूब आते हैं और माता के इस अद्भुत मन्दिर एवं उसके चूहों को देखकर दंग रह जाते हैं। निश्चित रूप से मेरी तरह बीकानेर जाने वाले हर श्रद्धालु की यात्रा इस मन्दिर को देखे बिना अधूरी रह जाती है। (अदिति)


भारत आतंकवाद को पनपने दें,

इमरान खान अब हमारे कश्मीर में क्या चाहते हैं?
क्या भारत फिर से आतंकवाद को पनपने दें?
कश्मीर में शांति पाकिस्तान के हित में भी है। 

अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से साफ कहा कि यदि भारत चाहेगा तो वे कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता करने को तैयार हैं। इमरान खान चाहते हैं कि अमरीका अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर भारत-पाक के बीच वार्ता करवाए। लेकिन सवाल उठता है कि इस वार्ता से पाकिस्तान को क्या हासिल होगा? भारत ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को समाप्त कर आतंकवाद को खत्म कर दिया है। सब जानते हैं कि इस अनुच्छेद 370 के प्रावधानों की वह से कश्मीर घाटी में पाकिस्तान का प्रभाव बढ़ रहा था। इसलिए पाकिस्तान में बैठे कट्टरपंथी हमारे कश्मीर में आतंक फैला रहे थे। लेकिन अब पाकिस्तान के कट्टरपंथियों का कनेक्शन कश्मीर घाटी से कट गया है, इसलिए घाटी में शांति है। 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को हटाने की घोषणा की गई, तब से अब तक पचास दिनों में सुरक्षा बलों को एक बार भी गोली नहीं चलानी पड़ी है। अब जब हमारे कश्मीर में शांति हो रही है तो पाकिस्तान से किस मुद्दे पर वार्ता की जाए? 370 के हटने के बाद जम्मू और लद्दाख में तो जश्न का माहौल है। पाकिस्तान को अब अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भी कोई समर्थन नहीं मिल रहा है। अमरीका और भारत की दोस्ती पाकिस्तान ने 22 सितम्बर की रात को ह्यूस्टन में देख ही ली है। कोई देश नहीं चाहता कि आतंकवाद पनपे। अब इस बात को पाकिस्तान को भी समझना चाहिए। अच्छा हो कि पाकिस्तान कश्मीर को भूल जाए और अपने यहां बैठे कट्टपंथियों पर अंकुश लगाए। कट्टरपंथियों की वजह से पाकिस्तान को भी भारी नुकसान हो रहा है। हाउडी मोदी कार्यक्रम में डोनाल्ड ट्रंप ने मुस्लिम आतंकवाद की बात कह कर पाकिस्तान की ओर ही इशारा किया है। 24 सितम्बर को इमरान खान से मीडिया के सामने संवाद करते हुए ट्रंप ने कहा कि भारत की मजबूत स्थिति का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सुनने के लिए ह्यूस्टन के स्टेडियम में 59 हजार अमरीकी मौजूद रहे। जहां पूरे अमरीका में मोदी मोदी की गूंज हो रही है, वहीं इमरान खान की उपस्थिति को कोई गंभीरता से नहीं ले रहा है। इमरान खान और पाकिस्तान माने या नहीं, लेकिन नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत की स्थिति बहुत मजबूत हुई है। अनुच्छेद 370 को हटा कर मोदी ने बोल्ड कदम उठाया है, इससे आतंकवाद पर लगाम लगी है। पाकिस्तान को अपने ब्लूचीस्तान और सिंध प्रांत के असंतोष पर ध्यान देना चाहिए। अब कश्मीर में पाकिस्तान के लिए कोई गुंजाइश नहीं हैं।
एस.पी.मित्तल


यूनिवर्सल एक्सप्रेस प्रतिनिधि को सम्मान

यूनिवर्सल एक्सप्रेस प्रतिनिधि को सम्मान
 अविनाश श्रीवास्तव


प्रयागराज। एसडीएम श्री पुष्कर श्रीवास्तव  के द्वारा सेक्रेटरी लोक सेवा आयोग की संस्तुति के आधार पर बृजेश केसरवानी जिला प्रतिनिधि प्रयागराज यूनिवर्सल एक्सप्रेस को सम्मानित किया गया है। 'ब्रेन ओ ब्रेन' स्टेट लेवल कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में एसडीएम उपस्थित रहे और वहां मीडिया मित्रों को सम्मानित किया गया। जिन्होंने निर्भीक निष्पक्ष और न्‍यायप्रिय पत्रकारिता का जीवन जिया है। परिवर्तन और जागरूकता की दहलीज पर खड़े रहे हैं। ऐसे संघर्षशील कलम के सिपाहियों, जिनमें पत्रकारिता के दौरान बिना डरे निडर होकर सच दिखाने का साहस रहा हैं और सामाजिक तत्वों के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहे हैं। जिसका परिणाम यह है कि एसडीएम के द्वारा सम्मानित किए गए सभी पत्रकार मित्र लगभग 10 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं और लोगों को न्याय दिलाने मे सफल रहे हैं।


धोखेबाज प्रधानमंत्री (संपादकीय)

धोखेबाज प्रधानमंत्री (संपादकीय)


भारत गणराज्य के प्रधानमंत्री को धोखेबाज कहने का अर्थ है कि गणराज्य द्वारा चयनित सरकार अथवा संसद विश्वास के योग्य नहीं है। इतना भद्दा आरोप लगाना और आरोप का व्यापक विरोध ना होना, राष्ट्रीय गरिमा के विरुद्ध है। वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का नेतृत्व कर रहे हैं। दुनिया में भारत को विभिन्न स्रोतों से स्थापित करने का उद्धत प्रयास कर रहे हैं। राष्ट्रीय विकारों के विरुद्ध कार्यरत संघर्षशील व्यक्ति कुछ तो गलतियां भी कर सकता है या कुछ कमियों का शेष रहना स्वाभाविक होता है। परिपूर्णता अथवा संपूर्णता मनुष्य से सदैव अछूती रहती है।जब कार्यसिद्धि की जाती है तो करता, स्वयं भी सही और गलत के मझधार में बना रहता है। ज्यादातर परिणाम सफलता से चूक जाते हैं इसमें करता का गुणधर्म दोषमुक्त हो जाता है। यदि परिणाम सफल हो जाता है तो भी उसके विपरीत की प्रक्रिया दोनों स्थिति में स्थिर बनी रहती है। यदि सच में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र से कोई धोखा किया है, राष्ट्र विरोधी, दोषपूर्ण कार्य किया है? जिससे राष्ट्र अथवा राष्ट्र वासियों को क्षति या कष्ट उत्पन्न हुआ है या भविष्य में होने की संभावना है। उस तथ्य के प्रमाण सार्वजनिक करें मार्कंडेय काटजू।


न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू सर्वोच्च न्यायालय में स्थाई न्यायाधीश रह चुके हैं। भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष पद पर कार्य कर चुके हैं और वर्तमान में भारतीय पुनर्मूल्यांकन संघ के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत है। काटजू के द्वारा एक ट्वीट लिखा गया है। जिसमें उन्होंने राहुल गांधी को बदतमीज और मोदी को धोखेबाज शब्दों से परिभाषित किया है। ऐसी स्थिति में दलगत विचारधारा से अलग प्रत्येक भारतीय काटजू से यही अपेक्षा करेगा कि वह अपने शब्दों की प्रमाणिकता सार्वजनिक करें। ताकि भारत की जनता के सामने मोदी का सच स्पष्ट हो सके।


राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'


महिला थानेदार की तबीयत बिगडी

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। महिला थाना इंचार्ज ममता पवार की अचानक थाने में तबियत बिगड़ गई। आनन-फानन में उनको प्राईवेट हॉस्पिटल में भर्ती किया गया।  चिकित्सकों के मुताबिक उनको ब्रेन हैमरेज हुआ है, इलाज चल रहा है। हॉस्पिटल में एडीजी सहित तमाम पुलिस अफसर मौजूद रहे। हालांकि पहले बताया जा रहा था कि उन्होंने ज़हर खाया है। लेकिन चिकित्सकों और पुलिस अफसरों ने हैंमैरेज की पुष्टि की है।हालांकि थाने के अन्य लोग बता रहे कि  थाना प्रभारी 4 दिनो से कॉफी तनाव में थी और किसी से बात नही करती थी। बहुत परेशान लग रही थी। सुबह 8 बजे चाय वाला जब थाने में चाय देने आया तो उनके मुह से झाग निकल रहा था। हालांकि पुलिस अफसरों ने इन बातों से इनकार किया है।


सुधा को बनाया कार्यकारी अध्यक्ष

नई दिल्ली। महिला कांग्रेस की हरियाणा इकाई की पूर्व अध्यक्षा सुमित्रा चौहान के बाद अध्यक्षा का पद खाली है। हरियाणा में चुनावी बिगुल बज चुका है, जिसमें कांग्रेस किसी भी प्रकार की कोर-कसर नहीं छोडऩा चाहती। ऐसे में इस इकाई को मार्गदर्शन के लिए एक मुखिया का होना आवश्यक है, जिसके चलते कांग्रेस ने हरियाणा महिला कांग्रेस इकाई की कार्यकारी अध्यक्षा सुधा भारद्वाज को बनाया है। गौरतलब है कि 7 सितंबर को महिला कांग्रेस की पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुमित्रा चौहान ने भाजपा ज्वाइन की थी। सुमित्रा चौहान को हरियाणा में महिला कांग्रेस की कमान 19 फरवरी 2014 को सौंपी गई थी। उनके कार्यकाल के दौरान हरियाणा में महिला कांग्रेस ने कई प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम तथा प्रदेश स्तरीय यात्राओं को भी आयोजन किया। हरियाणा में पुरूषों की कांग्रेस पार्टी जहां पांच साल से आपसी कलह व गुटबाजी में फंसी हुई है। वहीं महिला कांग्रेस ने कई ऐसे कार्यक्रम किए जिन्हें अन्य प्रकोष्ठों द्वारा लागू किया गया।


लाचार और बेबस करने वाली सरकार

किसानों को लाचार व बेबस बनाने वाली सरकार को भुगतना पड़ेंगे इसके गंभीर परिणाम प्रदेश अध्यक्ष पं. सचिन शर्मा


अश्वनी उपाध्याय


नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय कार्यालय जोनापूर महरौली मै बैठक हुई। बैठक मे जिला मुज्जफरनगर के अनेक पदाधिकारियों औऱ सदस्यो ने भाग लिया। बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल अंबावता  जी ने कहा कि संगठन क़ा महत्व तभी तक है जब तक संगठन समाज के पीड़ित किसान तक ईमानदारी से  अपनी पहुंच बनाए। उसकी समस्याओ को हल करे। और कहा कि संगठन मै सभी सदस्य औऱ पदाधिकारी  कार्यकर्ता कि तरह व्यवहार करें। 


अध्यक्ष ने आगामी 2अक्टूबर  को विजय घाट पर होने वाली  किसानों कि महा रैली के लिए देश के सभी किसानों क़ा आव्हान करते हुए कहा कि इस किसान विरोधी सरकार से किसानों के हित की समस्त मांगों को पूरा करने के लिए 2 अक्टूबर को महापंचायत की जाएगी। यदि इस सरकार ने किसानों  की मांगों को पूरा नहीं किया तॊ देश भर मै रेल रोको आन्दोलन किया जाएगा। 


किसानों के हक की लड़ाई को जीत के रहेंगे । 
राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवनीत पंवार जी ने अपने संबोधन मै कहा की किसानों के हक लिए सरकार से अब आर पार की लड़ाई लड़ी। बैठक मै प्रमुख रूप से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी अवनीत पंवार राष्ट्रीय महा सचिव पं प्रवीण शर्मा (नीटू)  प्रदेश महासचिव ठा.मुकेश सोलंकी प्रदेश सचिव युवा, केशव चौधरी, सुधीर त्यागी मुजफ्फरनगर, इसरार त्यागीी, देशराज बंसल, महाकार कसाना, जयराम कसाना, योगेंद्र पवार, ओमपाल राठी, युवा विधानसभा अध्यक्ष गाजियाबाद गौरव यादव, शकील मलिक मोहम्मद, इस्लाम खान आदि उपस्थित रहे।


योगी कैबिनेट की 'स्मार्ट सिटी'को मंजूरी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने मंगलवार को सबेरे 11 बजे से कैबिनेट की बैठक बुलाई है। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार प्रदेश के सात शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए राज्य स्मार्ट सिटी मिशन की गाइड लाइंस को मंजूरी दी जाएगी। इन शहरों में मेरठ, गाजियाबाद, अयोध्या, फिरोजाबाद, गोरखपुर, मथुरा-वृंदावन और शाहजहांपुर शामिल हैं।


कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री और मंत्री अब अपना आयकर खुद भरेंगे, इससे संबंधित 1981 के अधिनियम में संशोधन किया जाएगा। अभी तक मुख्यमंत्री और मंत्रियों का आयकर सरकार अपने खजाने से भरती है। कैबिनेट बैठक में नोएडा इंटरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट (जेवर एयरपोर्ट) के निर्माण के लिए चयनित कंसल्टेंट प्राइस वाटरहाउस कूपर्स लिमिटेड द्वारा तैयार किए गए टेंडर दस्तावेजों (आरएफक्यू और आरएफपी) ड्राफ्ट में संशोधन को मंजूरी दी जाएगी।


कैबिनेट बैठक में बेसिक शिक्षा विभाग के तहत सभी निदेशालयों के बीच परस्पर समन्वय, प्रशासनिक एवं वित्तीय नियंत्रण सुनिश्चित करने के उद्देश्य से महानिदेशक, स्कूल शिक्षा (डीजी एसई का पद सृजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी। इसके कर्तव्य एवं अधिकार भी तय किए जाएंगे।खादी वस्त्रों पर मिलेगी पांच फीसदी की विशेष छूटकै बिनेट बैठक में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में खादी के वस्त्रों की फुटकर बिक्री पर पांच फीसदी की विशेष छूट देने का फैसला किया जाएगा।


– खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में मूल्य समर्थन योजना के तहत मक्का खरीद नीति को मंजूरी दी जाएगी।
– यूपी दुकान और वाणिज्य अधिष्ठान अधिनियम-1962 में संशोधन को मंजूरी दी जाएगी।
– उप निदेशक सेवायोजन राजीव यादव के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई के बारे में फैसला किया जाएगा।
– जौनपुर में नए स्थापित मेडिकल कालेज को स्वशासी माध्यम से संचालन के लिए सोसाइटी के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी।
– यूपी आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई (इटावा) के चिकित्सा शिक्षकों, अधिकारियों, कर्मचारियों और रेजीडेंट डाक्टरों को एसजीपीजीआई लखनऊ की तरह भत्ते देने का फैसला किया जाएगा।
– यूपी विकलांग कल्याण विभाग राजपत्रित अधिकारी सेवा (द्वितीय) संशोधन नियमावली, 2019 को मंजूरी दी जाएगी।
– यूपी सेवाकाल में मृत सरकारी सेवकों के आश्रितों की भर्ती (बारहवां संशोधन) नियमावली-2019 को मंजूरी दी जाएगी।
– यूपी सचिवालय विधायी विभाग अधिकारी सेवा नियमावली 2013 में पहले संशोधन को मंजूरी दी जाएगी।
– स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग, यूपी एवं मुख्य लेखा परीक्षा अधिकारी सहकारी समितियां एवं पंचायतें द्वारा आडिट वाली संस्थाओं पर बकाया आडिट शुल्क माफ करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी।
– जौनपुर के विधानसभा क्षेत्र बदलापुर में बस स्टेशन के निर्माण के लिए जमीन देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी।
– हाईकोर्ट के रिटायर मुख्य न्यायाधीश, न्यायाधीश एवं उनके पति, पत्नी तथा परिवार के आश्रित सदस्यों को प्रदान की जा रही चिकित्सा सुविधाओं के बारे में फैसला किया जाएगा।


आजम के घर लगा नोटिसो का अंबार

रामपुर। सपा सांसद आजम खां के घर के बाहर लगे नोटिसों के अंबार को देखकर आसपास के लोग हैरान रह गए। मंगलवार को आजम खां के रामपुर स्थित आवास के मुख्य दरवादे के बाहर गंज पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने जमीन हथियाने समेत अन्य कई मामलों से संबंधित कोर्ट की कई नोटिस एक साथ चिपका दिए हैं। 
इनमें से कई नोटिस आजम खां की पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम के नाम की भी है। बता दें कि रामपुर से सपा सांसद आजम खां के खिलाफ अबतक 80 से भी ज्यादा मामले दर्ज हो चुके हैं। इनमें से ज्यादातर जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन हड़पने से संबंधित हैं।


मालूम हो कि सांसद आजम खां इन दिनों पूरे परिवार के साथ कई मामलों में तमाम आरोपों से घिरे हुए हैं और यह आंकड़ा आए दिन बढ़ता ही जा रहा है। बीते शुक्रवार को उनके बेटे अदीब आजम सहित 38 लोगों के खिलाफ जिला कारागार के फांसी घर की जमीन की खरीद-बिक्री करने के आरोप में गंज थाना ने पुलिस रिपोर्ट दर्ज की थी। इसके साथ ही आजम खां पर यतीमखाना मामले में भी भैंस चोरी, बकरी चोरी, किताब चोरी, गैर इरादतन हत्या, लूटपाट, धोखाधड़ी सहित अन्य गंभीर धाराओं में कई मुकदमें दर्ज जो चुके हैं। इसमें उनकी पत्नी तजीन फातिमा, दोनों बेटे और दिवंगत मां का नाम भी शामिल है।


आतंक की संस्थागत खिलाफत जरुरी

न्यूयॉर्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया में कहीं भी होने वाले आतंकवादी हमले को 'बड़ा या छोटा' या 'अच्छा या बुरा'नहीं बल्कि 'आतंकवादी कार्रवाई' ही माना जाना चाहिए। सोमवार को 74वें संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र से इतर 'लीडर्स डायलॉग ऑन स्ट्रेटेजिक रिस्पांसेस टू टेरेरिस्ट ऐंड वॉयलेंट एक्ट्रिमिस्ट नरेटिव्ज': आतंकवाद और हिंसक कट्टरपंथी विमर्श पर रणनीतिक प्रतिक्रियासे संबंधित नेतृत्व वार्ता : में अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने बहुपक्षीय स्तर पर आतंकवाद के खिलाफ सहयोग को संस्थागत रूप देने का आह्वान किया और जोर देकर कहा कि इस दिशा में भारत मित्र देशों के क्षमता निर्माण और पहले से जारी सहयोग को बढ़ाने की खातिर काम करेगा। इस बैठक के बाद विदेश मंत्रालय में सचिव (पश्चिम) ए गितेश शर्मा ने कहा, ''प्रधानमंत्री ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए यह जरूरी है कि आतंकवादियों को पैसा और हथियार हासिल नहीं होने दिए जाएं।''


मोदी ने यह भी जोर देकर कहा कि संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध सूची और वित्तीय कार्य योजना बल (एफएटीएफ) जैसी प्रणालियों का राजनीतिकरण नहीं होने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन प्रणालियों को लागू करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया के किसी भी हिस्से में होने वाले आतंकवादी हमले को '' आतंकवाद ही माना जाना चाहिए, इसे 'बड़ा या छोटा' अथवा 'अच्छा या बुरा' नहीं माना जाना चाहिए।'' उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय और क्षेत्रीय ढांचे के जरिए खुफिया जानकारी साझा करने की प्रक्रिया और जारी सहयोग में 'गुणात्मक सुधार' की जरूरत है। भारत के अनुभव को साझा करते हुए प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि लोकतांत्रिक मूल्यों, विविधता और समावेशी विकास, आतंकवाद, कट्टरपंथ और अतिवाद को बढ़ावा देने वाली विचारधाराओं के खिलाफ बेहद अहम हथियार हैं। मोदी ने कहा कि जिस तरह दुनिया ने जलवायु परिवर्तन जैसी चुनौतियों के खिलाफ एकजुटता दिखाई है उसी तरह आतंकवाद के खिलाफ भी वैश्विक एकता और इच्छाशक्ति का प्रदर्शन करना चाहिए। बैठक में आतंकवाद तथा हिंसक कट्टरपंथ को बढ़ावा देने वाली ऑनलाइन उपलब्ध सामग्री को खत्म करने के लिए 'क्राइस्टचर्च कॉल टू एक्शन' के बारे में भी चर्चा हुई। भारत ने भी आतंकवाद, घृणा और हिंसा को बढ़ावा देने वाली सामग्री से साइबर स्पेस को मुक्त करने से जुड़े 'क्राइस्ट चर्च कॉल' का समर्थन किया है। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने क्राइस्ट चर्च कॉल का समर्थन करने पर भारत की प्रशंसा की और कहा कि भारत के समर्थन से यह संपूर्ण पहल एक नए स्तर पर पहुंच गई है।


मैं भी हकदार, निष्पक्ष तरीके से देते

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र में सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की एक पुरानी टीस फिर उभर आई और उन्होंने कहा कि यह अन्याय है कि उन्हें कभी नोबेल शांति पुरस्कार नहीं मिला। उन्होंने शिकायत भरे लहजे में कहा कि मुझे कई चीजों के लिए नोबेल पुरस्कार मिलता अगर वे इसे निष्पक्ष तरीके से देते, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में उनके पूर्ववर्ती बराक ओबामा को साल 2009 में दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिए जाने पर हैरानी जतायी। ओबामा को शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया था। उन्होंने कहा कि उन्होंने ओबामा के राष्ट्रपति बनने के तुरंत बाद उन्हें पुरस्कार दे दिया और उन्हें पता तक नहीं था कि उन्हें यह क्यों मिला। आप जानते हैं? मैं बस इस बात पर उनसे सहमत हूं। वह संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ द्विपक्षीय बैठक में बोल रहे थे।


योगी ने किया 5 आईपीएस का तबादला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को पांच आईपीएस अफसरों का तबादला किया है। इसके साथ ही योगी सरकार ने मिर्जापुर जिले के एसपी को हटा दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मिर्जापुर जिले के एसपी के ऊपर यह कार्रवाई स्कूल में बच्चों को नामकरोटी खिलाने के मामले में एक अखबार के पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज कराने को लेकर हुई है। दरअसल पत्रकार ने बच्चों का नमक-रोटी खाने वाला वीडियो वायरल कर दिया था।जिसके बाद प्रशासन ने पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज किया था। पत्रकार पर राज्य सरकार को बदनाम करने के लिए रची गई साज़िश का हिस्सा होने का आरोप लगाया। हालांकि बाद में जांच कर स्कूल के प्रभारी अध्यापक तथा ग्राम पंचायत के सुपरवाइज़र को निलंबित कर दिया गया। जिसके बाद योगी सरकार ने मिर्जापुर जिले के एसपी को हटाकर डीजीपी मुख्यालय से अटैच कर दिया है।


इन अफसरों का हुआ तबादला


मनोज कुमार सोनकर, एसपी पीलीभीत, अब डीजीपी मुख्यालय से सम्बद्ध
अवधेश कुमार पांडेय, एसपी मिर्जापुर, अब डीजीपी मुख्यालय से सम्बद्ध
अभिषेक दीक्षित, सेनानायक, 35वीं वाहिनी पीएसी लखनऊ, अब एसपी पीलीभीत
विजय ढुल, एसपी मानवाधिकार लखनऊ, अब एसपी सिदार्थनगर
डा. धर्मवीर सिंह, एसपी सिदार्थनगर, अब एसपी मिर्जापुर


तेजी से बढ़ रहा 'हिका',चेतावनी जारी

नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग ने दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश होने का अनुमान जाहिर किया है। मौसम विभाग के मुताबिक आज तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में भारी बारिश हो सकती है। इसके साथ ही असम, मेघालय, महाराष्ट्र और गोवा के अलग-अलग स्थानों पर भी बारिश देखने को मिल सकती है। वहीं उत्तरी भारत के बारे में मौसम विभाग ने कहा कि उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल के तापमान में भारी गिरावट देखी जा सकती है।


इसके अलावा गुजरात में 'हिका' तूफान को लेकर चेतावनी जारी करते हुए मौसम विभाग ने कहा कि तूफान की वजह से गुजरात के तट पर प्रचंड हवा चलेगी। खराब मौसम के मद्देनजर मौसम विभाग ने मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है। हालांकि मौसम विभाग ने कहा कि वैसे हिका के गुजरात की ओर आने की आशंका नहीं है, लेकिन इससे राज्य के तट पर प्रचंड हवा चलेगी।


सीएम के आदेश का उड़ रहा मजाक

प्रदेश के मुख्यमंत्री के आदेश गढढा मुक्त होगी सडक का खीरी जनपद में उडाया जा रहा है मजाक?
जनप्रतिनिधियों व लोकनिर्माण के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के चलते आए दिन होते है हादसे?
लखीमपुर खीरी । गोलागोकरननाथ खीरी धार्मिक और व्यापारिक नगर गोलागोकरन नाथ जिसे छोटीकाशी के नाम से जाना पहचाना जाता है इस नगर में रेल पहले से बंद है रही सडक मार्ग की तो वह जर्जर होकर गहरे गढढों में तब्दील हो चुकी है।इस मार्ग पर चलना जोखिम से भरा है बीते माह में नजर डाली जाए तो एक दर्जन से अधिक राहगीरों की इस सडक दुघर्टनाओं में असमय मौत हो चुकी है।इधर रेल मार्ग बंद है और रेलवे ने अपने काम में रफ्तार भी बढाई है जिसके पूरे होने के बाद ही समस्याओं का निराकरण होगा।
बताते चलें कि आसाम रोड के नाम से जाने जानी वाला यह सडक मार्ग को राष्ट्रीयराज्य मार्ग के नाम से पहचान मिली हुई है इस मार्ग की हालत यह हो गई है कि सडक गढढों में तब्दील हो चुकी है।पीलीभीत-बस्ती मार्ग की यह सडक पूरी तरह टूटकर बिखर गई है जगह जगह पर गहरे गढढे हो गए हैजिसमे सबसे अधिक खराब हालात खुटार से गोला तथा गोला से लखीमपुर के है वैसे कमोबेश पूरा मार्ग ही धवस्त हो चुका है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री की कमान संभालने के बाद दो बार सडकों को गढढों से मुक्त कराने का आदेश दिया था जिसमें पूरे प्रदेश में जोरशोर से काम चला और काफी हद तक सफलता भी मिली पर पीलीभीत-बस्ती मार्ग पर सुधार कम दिखाई पडा जिसमें खुटार से गोला वाया लखीमपुरखीरी में केवल कागजों पर ही सडकें गढढा मुक्त हो गई सवाल यह उठता है कि सडक गढढा मुक्ति के नाम पर लाखों रुपयों का फर्जीवाड़ा किया गया है जिसमें किसी राजनेता ने कोई आवाज तक नहीं उठाई आखिर क्यों? जनता के मत से चुने हुए जनप्रतिनिधियों ने जनपद की इस सबसे बडी समस्या पर खामोशी क्या यही दायित्व है? अपनी जनता की असमय हो रही मौतों पर चुप्पी और खामोशी के पीछे आखिर क्या कारण है?लोकनिर्माणविभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने इस गंभीर समस्या पर अपने दायित्वों का पालन क्यों नहीं किया?कही इसके पीछे भ्रष्ट व्यवस्था तो नहीं है हावी? गढढा मुक्ति के नामपर खानापूर्ति कर भारी भरकम बजट का बंदरबांट कर लिया गया है और बजट के अभाव का बहाना बता कर लीपा पोती की जा रही हो?मामला चाहें जो हो पर भाजपा सरकार में इस सडक मार्ग से गुजरना खतरनाक है किसी समय भयानक सडक हादसों में राहगीरों को अस्पताल और पोस्टमार्टम हाउस तक पहुंच सकता है यह है रामराज। हलांकि इसके लिए जितना जिम्मेदार भाजपा है उससे कम विपक्ष भी नहीं है इस मार्ग को लेकर सपा बसपा और कांग्रेस जिसमे किसी दल ने आजतक आंदोलन करना तो दूर की बात आवाज तक नहीं उठाई है जबकि सपा का गढ और बसपा की मजबूत पकड वाला यह जनपद है और यहां के राज नेताओं की खामोशी के चलते आम जनता आक्रोशित है पर वह मजबूर है पर समय आने पर हिसाब चुकता करेगी।इधर रेलवे ने रेल मार्ग पर काम को लेकर रफ्तार बढाई है और रेल चलने पर ही इस समस्या का समाधान होने की सम्भावना है।


होतीलाल रसतोगी


बेटे ने पिता की गला रेत कर हत्या की

गुरुग्राम में गुस्साए बेटे ने पिता की गला रेतकर हत्या की 


गुरुग्राम।पहले बुजुर्ग बाप का बेरहमी से गला काटा। फिर बुजुर्ग हो चली मां के गले पर चलाए एक के बाद एक दो बार चाकू। फिर बीच बचाव कर रहे छोटे भाई पर भी किया कातिलाना हमला। पुलिस दर्दनाक वारदात के पीछे की वजह तलाशने में जुट गई है। गुरुग्राम की साइबर सिटी के शिवाजी नगर थाना क्षेत्र में सोमवार शाम 7 बजे पुलिस को कंट्रोल रूम में मिली सूचना से हड़कंप मच गया। सूचना थी कि 33 वर्षीय बेटे ने अपने बाप का बेरहमी से कत्ल कर दिया। इसके बाद बीच-बचाव करने आई मां पर भी चाकू से दो बार गदर्न पर वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।


दिल दहला देने वाले इस वारदात में जब छोटा भाई बीच में आया तो उस पर भी कातिलाना हमला कर उसे भी गंभीर रूप से घायल कर दिया। इस बीच स्थानीय निवासियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर आरोपी को पकड़ लिया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी गिरफ्त में है, लेकिन पुलिस वारदात के पीछे की वजह को तलाशने में जुटी है।गुरुग्राम पुलिस की माने तो शिवाजी नगर थाना क्षेत्र में 64 वर्षीय सुशील मेहता अपनी 50 वर्षीय पत्नी अपने दो बेटों के साथ मकान में रहते थे, लेकिन सोमवार शाम को ये वारदात हो गई।


योजना: दिल्ली के डार्क स्पॉट होंगे रोशन

दिल्ली के डार्क स्पॉट होंगे रोशन, केजरीवाल सरकार की 'स्ट्रीट लाइट योजना'


 नई दिल्‍ली। दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे की तर्ज पर केजरीवाल सरकार अब डार्क स्पॉट पर स्ट्रीट लाइट लगाएगी। दिल्ली सचिवालय में सोमवार को अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना की घोषणा की। इस योजना को 1 नवंबर से लागू किया जाएगा।इस योजना के तहत दिल्ली में दो लाख दस हजार स्ट्रीट लाइट लगेंगी।इसे लगाने की जिम्मेदारी तीनों डिस्कॉम (बिजली कंपनियों) की होगी। इसमें 20 या 40 वॉट की एलईडी लाइट लगेंगी। तीन से पांच साल तक स्ट्रीट लाइट के मरम्मत की जिम्मेदारी स्ट्रीट लाइट सप्लायर कंपनी की होगी। इस योजना पर सौ करोड़ का खर्च आएगा। दस करोड़ रुपये प्रति वर्ष मरम्मत पर खर्च होंगे। सरकार का दावा है कि इस योजना के तहत दिल्ली के ब्लैक स्पॉट को तीन माह में खत्म कर दिया जाएगा।


मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना में खर्च का अनुमान 100 करोड़ है और वार्षिक रख-रखाव लागत 10 करोड़ रुपये है। सरकार को उम्मीद है कि योजना दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा बढ़ाने और महिलाओं के खिलाफ अपराध को कम करने के लिए एक प्रभावी कदम होगा।मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि इस योजना के तहत लाइट लगवाने की अनुमति देने का अधिकार विधायक को होगा। वहीं डार्क स्पॉट भी चिह्नित करेंगे। फिर भवन मालिक की अनुमति ली जाएगी। इसके बाद बिजली कंपनी का सर्वे होगा।


भूकंप के झटकों से हिला उत्तर भारत

नई दिल्‍ली। दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप के बाद लोगों में दहशत फैल गई और लोग अपने-अपने दफ्तर और घरों से बाहर निकल गए। दिल्ली के साथ-साथ कश्मीर में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। लोग भूकंप से बुरी तरह से डरे हुए हैं। भूकंप के झटके 4 बजकर 35 मिनट पर महसूस किए गए हैं।


भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.1 नापी गई है, इसका केंद्र पाकिस्तान के रावलपिंडी के पास बताया जा रहा है। भूकंप के झटके हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, कश्मीर, हिमाचल प्रदेश की अलग-अलग जगहों पर भी महसूस किया गया है।


नीतीश को दिखाए काले झंडे,फेंकी स्‍याही

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की गाड़ी पर मंगलवार को स्याही फेंकी गई और काले झंडे दिखाए गए। मुजफ्फरपुर में गरीब जनक्रांति पार्टी के कार्यकर्ताओं ने नीतीश कुमार को काला झंडा दिखाते हुए जमकर प्रदर्शन किया। पुलिस ने गरीब जनक्रांति पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता उमाशंकर यादव और जिला छात्र अध्यक्ष अंकित कुमार को हिरासत में  लिया है। नीतीश कुमार एसकेएमसीएच में पीएसीयू और अन्य योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करने गए थे।


दोनों लोगों को मुख्यमंत्री की यात्रा में व्यवधान डालने के लिए हिरासत में लिया गया है। दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। मुख्यमंत्री की यात्रा की चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था किए जाने के बावजूद इनती बड़ी चूक कैसे हुई, इसकी जांच की जा रही है। पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।


रेल कॉरिडोर योजना राज्य हित में नहीं

रायपुर। भाजपा शासन काल में शुरू किए गए रेल कारिडोर प्रोजेक्ट पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। कल मीटिंग में सीएम भूपेश बघेल द्वारा इस प्रोजेक्ट को लेकर तीखे तेवर दिखाने के बाद अब इसे रद्द करने की मोग उठने लगी है। कहा जा रहा है कि इसमें प्रायवेट सेक्टर को लाभ पहुंचाने रेल कारिडोर की प्लानिंग की गई।
रेलवे कारपारेशन की कल की मीटिंग के बाद नागरिक संघर्ष समिति के अध्यक्ष विश्वजीत मित्रा ने सरकार से मांग की है कि प्रदेश को लूटने वाली इस परियोजना को बंद करना ही बेहतर होगा। मित्रा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और रेल मंत्री पीयूष गोयल को लेटर भेजकर कहा है कि रेल कारिडोर योजना छत्तीसगढ़ के हित में नहीं है। इससे छत्तीसगढ़ की नैसर्गिक संसाधनों की लूटपाट मच जाएगी। कवर्धा, शिवरीनारायण, मुंगेली तरफ से रेल लाईन निकालने पर बड़ी संख्या में पेड़ों को काटना पड़ेगा।विश्वजीत ने कहा है कि पिछली सरकार नें जनता की सुविधाओं के नाम पर निजी हाथों में खनिज उत्खनन को लेकर ये खेल खेलने का प्रयास था। इससे आम रेल यात्रियों या जिन शहरों से गांव से ये रेल लाइन गुजरती उन्हें भी कोई लाभ नहीं मिलता वरन शासकीय भूमि और निजी भूमि का अधिग्रहण किया जाता और मुआवजे के नाम पर खेल खेला जाता। माल ढुलाई से हम रेलवे को प्रति वर्ष 100 करोड़ के ऊपर की राशि देते है जो कि कोयला और आयरन ओर (लौह अयस्क) से राजस्व की माल गाड़ी भाड़ा से प्राप्त हो रही है।
उन्होंने अपने पत्र में लिख है, राज्य की खनिज संपदा के दोहन और निजी तथा शासकीय भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया से उत्तपन्न होने वाली व्यवहारिक दिक्कतों का ध्यान रखते हुए रेल कॉरिडोर के अनुबंध को समाप्त करने पर निर्णय लेने की कृपा करें। ज्ञातव्य है, सीएम ने कल मीटिंग में रेल कारिडोर के औचित्य पर सवाल खड़े़ करते हुए अफसरों से पूछा था कि इससे छत्तीसगढ़ के लोगों को क्या लाभ होगा। सारा कोयला गुजरात, पंजाब समेत दूसरे राज्यों में चला जाएगा तो यहां के उद्योगों का क्या होगा। सीएम ने तल्ख अंदाज में कहा कि यहां का कोयला जब खतम हो जाएगा तो हमें अपना ही कोयला खरीदना पड़ेगा। उन्होंने चीफ सिकरेट्री से 15 दिन में इस पर जवाब मांगा था कि रेल कारिडोर से छत्तीसगढ़ पर क्या प्रभाव पड़ेगा।


 


आरबीआई की व्यापारिक लेन-देन पर रोक

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मंगलवार को यहां मुंबई स्थित पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड पर किसी भी प्रकार के व्यापारिक लेन-देन पर रोक लगा दी है, जिससे बैंक के निवेशकों और शहर में व्यापारी वर्ग को बड़ा झटका लगा है। 
शीर्ष बैंक के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने कहा कि आरबीआई निर्देशों के अनुसार, जमाकर्ता बैंक में अपने सेविंग, करंट या अन्य किसी खाते में से 1,000 रुपये से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकते हैं।
पीएमसी बैंक पर आरबीआई की अग्रिम मंजूरी के बिना ऋण और अग्रिम धनराशि देने या रीन्यू करने, किसी भी प्रकार का निवेश करने, फ्रेश डिपोजिट स्वीकार करने आदि से रोक लगा दी है।


आठवें दिन भी बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल के दाम में मंगलवार को लगातार आठवें दिन वृद्धि दर्ज की गई। पेट्रोल का भाव देश की राजधानी दिल्ली में फिर 74 रुपये लीटर को पार कर गया है और डीजल भी 67 रुपये लीटर से ऊंचे भाव पर मिलने लगा है। उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की मांग कमजोर रहने की आशंकाओं से फिर तेल के दाम में नरमी देखी जा रही है। हालांकि, खाड़ी क्षेत्र के तनाव को देखते हुए ज्यादा नरमी की संभावना नहीं है। 
सऊदी अरब के तेल संयंत्रों पर हमले के बाद कच्चे तेल के दाम में आए जोरदार के बाद भारत में पेट्रोल और डीजल की महंगाई थमने का नाम नहीं ले रही है। इस हमले के बाद भारत में पेट्रोल दो रुपये से ज्यादा महंगा हो गया है। वहीं, डीजल का दाम दिल्ली में 1.70 रुपये लीटर बढ़ गया है तो कुछ अन्य शहरों में डीजल के दाम में इससे ज्यादा की वृद्धि हुई है। पेट्रोल के दाम मंगलवार को दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 22 पैसे, जबकि चेन्नई में 23 पैसे प्रति लीटर बढ़ गए। डीजल के दाम में दिल्ली में 14 पैसे, कोलकाता में 12 पैसे जबकि मुंबई और चेन्नई में 15 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई।इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 74.13 रुपये, 76.82 रुपये, 79.79 रुपये और 77.06 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। चारों महानगरों में डीजल के दाम भी बढ़कर क्रमश: 67.07 रुपये, 69.47 रुपये, 70.37 रुपये और 70.91 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं।


इसी महीने 14 सितंबर को सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सऊदी अरामको के तेल संयंत्रों पर ड्रोन से हुए हमले के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में बीते सोमवार को यकायक तकबरीन 20 फीसदी का उछाल आया जो कि 28 साल बाद आई सबसे बड़ी एक दिनी तेजी थी। कथित तौर हमले की जिम्मेदारी यमन के हौती विद्रोहियों ने ली थी।
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के नवंबर डिलीवरी अनुबंध में इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर पिछले सत्र के मुकाबले 0.34 फीसदी की नरमी के साथ 64.43 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।
एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (ऊर्जा एवं करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता ने कहा कि यूरोप और जापान के विनिर्मिाण क्षेत्र के आंकड़ों के इंतजार में बाजार अभी ठहरा हुआ है क्योंकि मंदी की आशंकाओं से तेल की मांग नरम रहने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि उनका कहना है कि खाड़ी क्षेत्र के तनाव को देखते हुए तेल के दाम में बहरहाल ज्यादा नरमी की संभावना नहीं है।


जांच मे कुर्क नहीं होगी अचल संपत्ति

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अपने अहम आदेश में बॉम्बे हाईकोर्ट के उस फैसले पर मुहर लगा दी, जिसमें हाईकोर्ट ने कहा था कि आपराधिक मामलों में जांच के दौरान पुलिस किसी भी आरोपी की अचल सम्पत्तियों को कुर्क नहीं कर सकती। हालांकि चल संपत्ति को जब्त करने पर सुप्रीम कोर्ट ने कोई रोक नहीं लगाई है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए कहा कि सीआरपीसी की धारा 102 में अवैध सम्पत्तियों को जब्त और कुर्क करने का पुलिस का अधिकार शामिल नहीं है। पीठ के लिए आदेश पढऩे वाले न्यायमूर्ति खन्ना ने कहा कि यह सहमति से लिया गया फैसला है, लेकिन न्यायमूर्ति गुप्ता ने कुछ अतिरिक्त कारण दिए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने किसी मामले की आपराधिक जांच के दौरान किसी सम्पत्ति को जब्त करने का पुलिस को अधिकार देने वाली आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 102 की व्याख्या की।


इससे पहले, बॉम्बे हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया था कि पुलिस को जांच के दौरान सम्पत्ति जब्त करने का कोई अधिकार नहीं है. महाराष्ट्र सरकार ने अदालत के उक्त फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी। राज्य सरकार ने तर्क दिया कि था कि सुप्रीम कोर्ट के तपस नियोगी में फैसले के अनुसार, पुलिस बैंक खातों को फ्रीज कर सकती है। उसी तरह अपराध करने वालों की संपत्ति जब्त करने का पुलिस को अधिकार होना चाहिए। लेकिन सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार की इन दलीलों को खारिज कर दिया।


अमेरिका की तर्ज पर दिल्ली की दिवाली

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण को कम करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार जागरूकता बढ़ाने के साथ-साथ कई व्यवस्थाएं कर रही है, जिससे की दिल्ली वासी प्रदूषण रहित हवा में सांस ले सकें। अब सूबे के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिवाली के लिए एक खास योजना बनाई है। इसके तहत दिल्ली के लोग अमेरिका की तर्ज पर एक जगह इकठा होकर लेजर फायरवर्क्स का आनंद ले सकेंगे।


रिपोर्ट के मुताबिक, केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए हम सामूहिक दिवाली मनाने की योजना बना रहे हैं। हम दिल्ली वालों को साथ में दिवाली मनाने के लिए बुलाएंगे। लेजर फायरवर्क्स की व्यवस्था होगी और सभी एक जगह पर मिलेंगे। इसके बाद लोग अपने घर जाकर दिए जला सकते हैं। अगर वे नहीं आना चाहते तो वे टीवी पर इसे देख सकते हैं। अगले साल हम इसे बड़े स्तर पर आयोजित करने की योजना बना रहे हैं।
केजरीवाल के मुताबिक, दिल्ली सरकार को लेजर फायरवर्क्स के लिए महंगे उपकरणों को इम्पोर्ट करने की जरूरत पड़ेगी। अमेरिका के शहरों में जैसा 4 जुलाई को लेजर फायरवर्क्स का प्रदर्शन होता है, दिल्ली में भी कुछ ऐसा ही होगा। इस पूरी प्रक्रिया पर केजरीवाल कहते हैं कि यह तो अभी सिर्फ शुरुआत है।


विराट के खिलाफ तीन नेगेटिव पॉइंट्स

विराट कोहली पर लग सकता है बैन


बेंगलुरु। विराट कोहली एक बार फिर से मैदान पर अपने बर्ताव की वजह से फंस गए हैं। तीसरे टी-20 मैच के दौरान दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी के साथ कंधा टकराने की वजह से आईसीसी ने उन्हें एक नेगेटिव पॉइंट दिया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को मैदान पर दुर्व्यवहार के लिए चेतावनी दी है।साथ ही विराट के अनुशासनात्मक रेकॉर्ड में एक अन्य नेगेटिव पॉइंट भी जोड़ दिया है। इसी के साथ अब विराट के खाते में तीन नेगेटिव पॉइंट जुड़ चुके हैं और अब वे बैन के करीब पहुंच चुके हैं। दरअसल बेंगलुरु में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए आखिरी टी-20 मुकाबले में रन लेने के दौरान विराट का कंधा ब्यूरेन हेंड्रिक्स से गलत ढंग से टकरा गया था जिसकी वजह से उन्हें आईसीसी की आचार संहिता के पहले स्तर का दोषी पाया गया है।


सितंबर, 2016 में आईसीसी के नए नियमों के लागू होने के बाद से कोहली की ये तीसरी गलती है। उन्हें आईसीसी के आर्टिकल 2.12 के तहत चेतावनी दी गई है। रविवार को खेले गए मैच में भारतीय पारी के दौरान पांचवें ओवर की चौथी गेंद पर रन दौड़ते वक्त विराट कोहली का कंधा गलत ढंग से ब्यूरन हेंडरिक्स से टकरा गया। रन दौड़ने के दौरान हेंडरिक्स उनके रास्ते में आ गए। इस पर विराट ने उन्हें कंधे से धकेलते हुए किनारे कर दिया था।


तमन्ना ने खोले खूबसूरती के राज

नई दिल्ली। फिल्म इंडस्ट्री की चुनिंदा अदाकारों में से एक तमन्ना भाटिया ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में अपनी खूबसूरती के राज़ खोले और बताया कि वह आज भी नारियल तेल और घी में विश्वास रखती हैं।


तमन्ना ने कहा, “मैं नारियल तेल की बड़ी फैन हूं। मुझे लगता है कि घी, नारियल तेल और चंदन ऐसी चीज़ें हैं जो आपको प्राकृतिक तरीके से पोषण देती हैं। मुझे हमेशा से कैमिकल्स की जगह प्राकृतिक प्रोडक्ट्स में यकीन रहा है।अगर आपको यकीन नहीं है तो उनकी कुछ तस्वीरें देखें तो आपको खुद-ब-खुद समझ आ जाएगा। हालांकि, तमन्ना को साफ और निखरी हुई त्वचा जन्म से मिली है लेकिन इसके बावजूद वह इसे बरकरार रखने के लिए पारंपरिक उपायों का इस्तेमाल करती हैं, जिससे उनकी त्वचा हर दम हल्दी और ग्लोइंग रहती है।तमन्ना ने सही और हेल्दी खाने पर ज़ोर देते हुए कहा, ” मैं जानती हूं कि ये हम अक्सर सुनते रहते हैं लेकिन खाना हमारी त्वचा और स्वस्थ शरीर के लिए बेहद ज़रूरी होता है। दिन में खूब सारा पानी पिएं, हरी सब्ज़ियां खाएं, फल खाएं और स्वस्थ खाएं।”जब तमन्ना से पूछा गया कि क्या स्वस्थ खाने के अलावा भी वह अपनी त्वचा के लिए कुछ करती हैं, तो उन्होंने ब्यूटी टिप्स देते हुए कहा, ” मैं निश्चित रूप से क्लिनसिंग, टोनिंग और मॉइश्चराइज़ करती हूं। यह रूटीन हमारी त्वचा के लिए सबसे अहम है, जो कई लोग नहीं करते और इसी वजह से नुकसान होता है।”


'मेड इन चाइना'का पहला गाना रिलीज

नई दिल्ली। राजकुमार रॉव और मोनी रॉय की आगामी फिल्म 'मेड इन चाइना' का पहला गाना 'ओढ़नी' रिलीज हो चुका है। इस गाने में दोनों जबरदस्त डांस करते दिखे. इस गाने को नेहा कक्कड़ और दर्शन रावल ने मिलकर गाया है। गाने में सचिन-जिगर अपना म्यूजिक दिया है। वहीं, इसका लिरिक्स नरेन भट्ट और जिगर सरैया ने तैयार किया है।


बता दें, राजकुमार राव की यह फिल्म कॉमेडी का फ्लेवर तो देती ही है साथ-साथ बाजारवाद पर जमकर चोट भी करती है। राजकुमार यहां एक एंटरप्रन्योर की भूमिका में हैं। ट्रेलर देखकर समझ आ रहा है कि उनके नए-नए बिजनेस आइडियाज लोगों को लोटपोट करने वाले हैं। फिल्म में राजकुमार राव के अलावा मौनी रॉय, अमायरा दस्तूर, परेश रावल, बोमन ईरानी और सुमित व्यास भी मुख्य किरदारों में नजर आएंगे। फिल्म इस साल दिवाली पर सिनेमाघरों में रिलीज की जाएगी।


ब्रूना ने तकनीक से बेटी को जन्म दिया

नई दिल्‍ली। एक्‍ट्रेस ब्रूना अब्‍दुल्‍ला ने हायप्‍नो-बर्थिंग तकनीक से अपनी बेटी को जन्म दिया है। इस तकनीक के तहत गर्भवती महिला पानी के भीतर अपने बच्‍चे को जन्‍म देती है।


ब्रूना ने अपने इस प्रसव के बारे में पूरी जानकारी अपने सोशल मीडिया पर शेयर की है। उन्‍होंने अपने पति और बेटी के साथ एक तस्‍वीर भी साझा की है। ब्रूना ने अपने इस प्रसव के बारे में एक लंबे नोट में लिखा, 'मैंने सोचा था कि मेरे बच्‍चे का जन्‍म बेहद शांतिपूर्ण माहौल में होगा, जहां मैं उसके आने का इंतजार करूंगी और मेरे आसपास सिर्फ वही लोग होंगे जो मेरे इस पल को लेकर बहुत ही उत्‍सुक और खुश होंगे। मैं बहुत भाग्‍यशाली हूं कि ऐसा ही हुआ।'उन्‍होंने लिखा, 'मेरी बेटी का जन्‍म गर्म पानी के पूल में हुआ और मेरा पति, मेरी मां और मेरा डॉक्‍टर उस समय मेरे साथ थे। मैंने इस दिन के लिए अपने आप को काफी तैयार किया था। मैं संयमित भोजन करती थी, ध्‍यान करती थी, एक्‍सरसाइज करती थी और हर छोटी-बड़ी चीज को लेकर सोचती थी। मैं शनिवार के दिन अपना बच्‍चा पैदा करना चाहती थी, चाहती थी कि मेरा लेबर पेन 4 घंटे से ज्‍यादा न हो, मैं पानी में अपना बच्‍चा पैदा करना चाहती थी, मैं ये सब बिना दवाओं के करना चाहती थी और ऐसा ही हुआ।


इमरान को फिर झेलनी पड़ी शर्मिंदगी

नई दिल्‍ली। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को पाकिस्‍तानी पत्रकार द्वारा कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के बाद वहां के हालातों को लेकर पूछा गया यह सवाल, एक सवाल नहीं, बल्कि वक्तव्य लगा, जिससे वह नाराज हो गए।


नाराजगी में उन्‍होंने इस पत्रकार के सवाल पर इमरान से ही पूछ लिया कि कहां से लाते हैं हो ऐसे रिपोर्टर? यह सुन इमरान खान शर्मिंदा हो गए। बता दें 74वें संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में भाग लेने के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिका गए। पत्रकार का सवाल खत्‍म ही हुआ था कि डोनाल्‍ड ट्रंप ने इमरान खान से पूछ लिया कि ऐसे रिपोर्टर कहां से लाते हो? यह सुन इमरान खान शर्मिंदा हो गए और उन्‍होंने अपनी गर्दन झुका ली। इसके बाद अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने इस पत्रकार से ही पूछ लिया कि क्‍या तुम इनकी (इमरान खान) टीम से हो?उन्‍होंने पत्रकार से कहा कि आप एक वक्‍तव्‍य दे रहे हैं, न की सवाल पूछ रहे हैं। इस बात से न केवल इमरान खान और इस पत्रकार को शर्मिंदगी झेलनी पड़ी, बल्कि पाकिस्‍तानी चैनल भी हतप्रभ रह गए और उन्‍हें प्रसारण रोकना पड़ा।


देश में एक लाख शिक्षकों के पद खाली

नई दिल्ली। सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे उम्मीदवारों के लिए सरकार द्वारा बंपर भर्तियां निकलने की संभावना जताई गई है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) ने एक ट्वीट में कहा है कि केंद्र और राज्य सरकार के स्कूलों को मिलाकर देश में शिक्षकों के करीब एक लाख खाली पदों की पहचान की गई है। ट्वीट में लिखा गया है कि 'केंद्र सरकार 14,000 और राज्य सरकार में लगभग 84,000 शिक्षकों के पद खाली हैं। इनमें से करीब 14,000 पद के लिए भर्ती की अधिसूचना जारी की जा चुकी है।


अन्य खाली पदों को भरे जाने के लिए राज्यों से बातचीत जारी है। मानव संसाधन मंत्रालय के अनुसार 14,000 पदों के लिए केंद्र व राज्य स्तर पर भर्तियां होने वाली हैं। इन भर्तियों के लिए अधिसूचना उन राज्यों के शिक्षा विभाग द्वारा जारी की जाएगी। बता दें कि सरकार ने शिक्षकों को ट्रेनिंग देने के लिए निष्ठा योजना शुरू की थी। इसके तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दुनिया की सबसे बड़ी योजना के तहत 42 लाख शिक्षकों को ट्रेनिंग देने की घोषणा की थी, जो अभी जारी है।


 


राजस्थान बसपा कार्यकारिणी भंग

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने राजस्थान में पार्टी की कार्यकारिणी भंग कर दी है। उन्होंने यह कदम बसपा के सभी छह विधायकों के कांग्रेस में चले जाने और पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट की घटना के बाद उठाया है। बसपा के राजस्थान प्रदेश प्रभारी भगवान सिंह बाबा ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि राजस्थान में पार्टी की संपूर्ण कार्यकारिणी भंग कर दी गई है। उन्होंने बताया कि यह कदम पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती के निर्देश पर उठाया गया है। पार्टी के राष्ट्रीय समन्वयक रामजी गौतम एवं राज्यसभा के पूर्व सदस्य मुनकाद अली को प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है। उल्लेखनीय है कि राज्य में बसपा के सभी छह विधायक 16 सितंबर को कांग्रेस में शामिल हो गए। इसके बाद दो दिन पहले हुई पार्टी की प्रदेश स्तरीय बैठक में कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे।


रेप पीड़िता पर रंगदारी का आरोप

पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के मामले में शाहजहांपुर। शिकायतकर्ता लड़की पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। रंगदारी के मामले में उसके खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। जिसके चलते शिकायतकर्ता अपने वकील के साथ मंगलवार को अग्रिम जमानत के लिए अदालत पहुंची। हालांकि अभी तक उसकी अग्रिम जमानत को लेकर कोई जानकारी बाहर नहीं आई है। इससे पहले पीड़िता को हिरासत में लिए जाने की अपुष्ट ख़बर भी आई थी।


बता दें कि इस मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम यानी एसआईटी ने सोमवार को अपनी स्टेटस रिपोर्ट इलाहाबाद हाई कोर्ट के सामने पेश कर दी। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर पिछले करीब 20 दिनों से एसआईटी स्वामी चिन्मयानंद से जुड़े मामले में जांच कर रही है। उधर, जेल में बंद चिन्मयानंद को खराब स्वास्थ की वजह से केजीएमयू में भर्ती किया गया है। गौरतलब है कि इस मामले की जांच के दौरान ही एसआईटी ने दो एफआईआर दर्ज की है। एक मामला स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ रेप की धाराओं में दर्ज किया गया है। दूसरा मुकदमा पीड़ित लड़की और उसके दोस्तों के खिलाफ ही दर्ज किया गया है, जो रंगदारी से जुड़ा हुआ है। एसआईटी ने इस मामले में स्वामी चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया है। उधर, पीड़ित लड़की के तीन दोस्तों सचिन, विक्रम और संजय को भी गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि इस मामले में एसआईटी पीड़िता को भी गिरफ्तार कर सकती है।


नक्सलियों की फायरिंग में तीन की मौत

संवाददाता–मिथुन मंडल 


कांकेर। जिले के अंतागढ़ के तुमापाल कोसरोंडा मार्ग पर नक्सलियों ने रेलवे लाइन कार्य में लगे पेट्रोल टैंकर गाड़ी में विस्फोट कर दिया था। जिसके बाद नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी थी। वही इस फायरिंग में तीन मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिनकी मौत हो गई है।


विदित हो कि नक्सलियों ने अपनी दहशत फैलाने के लिए अंतागढ़ के तुमापाल कोसरोंडा मार्ग पर विकास कार्य बाधित किया। जहां रेलवे लाइन कार्य में लगे पेट्रोल टैंकर में विस्फोट कर उसे उड़ा दिया और अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। इस फायरिंग में घायल राकेश कोपोड़ी पिता हीरालाल कोपोड़ी उम्र 24 वर्ष, दुनेश्वर सिंह पिता महेन्द्र सिंह उम्र 24 वर्ष और अजय कुमार सलाम पिता अंकालू राम सलाम उम्र 23 वर्ष की इलाज के दौरान मौत हो गई। वही इस घटना की जानकरी मिलते ही मौक्व पर सुरक्षा बल पहुंचा है और जवाबी हमला करते हुए नक्सलियों को रोकने फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद से इलाके में नक्सलियों और जवानों के बीच मुठभेड़ अब भी जारी है। यह घटना ताडोकी थाना क्षेत्र की है।


पाक ने आतंकियों को प्रशिक्षित किया

न्यूयॉर्क। विदेश संबंध परिषद (सीएफआर) में एक समारोह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से पूछा गया कि क्या पाकिस्तान की ओर से कोई जांच कराई गई थी कि कैसे ओसामा बिन लादेन एबटाबाद में रह रहा था।


इस पर उन्होंने कहा, “पाकिस्तानी सेना, आईएसआई ने अलकायदा और इन सब समूहों को अफगानिस्तान में लड़ने के लिए प्रशिक्षित किया, उनके संबंध हमेशा से थे, यह संबंध होने ही थे, क्योंकि उन्होंने उन्हें प्रशिक्षित किया।”उन्होंने कहा, “जब हमने इन समूहों से मुंह मोड़ा तो हमसे सब सहमत नहीं हुए। सेना के अंदर भी लोग हमसे सहमत नहीं हुए, इसलिए पाकिस्तान के अंदर हमले हुए।” उन्होंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के उस बयान का जिक्र किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तानी सेना को इस बात की जानकारी नहीं थी कि बिन लादेन एबटाबाद में रह रहा था। इमरान ने कहा, “जहां तक मैं जानता हूं पाकिस्तानी सैन्य प्रमुख, आईएसआई को एबटाबाद के बारे में कुछ पता नहीं था। अगर किसी को पता भी होगा तो वह संभवत: निचले स्तर में होगा।”अमेरिका के पूर्व रक्षा मंत्री जेम्स मेट्टिस ने कहा था कि वह पाकिस्तान को सबसे खतरनाक देश मानते हैं, जिसके संबंध में पूछे गए सवाल पर इमरान ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि जेम्स मेट्टिस यह पूरी तरह समझते हैं कि पाकिस्तान क्यों कट्टरपंथी (रेडिक्लाइज्ड) हो गया।”उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने 9/11 के बाद आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका के युद्ध में शामिल होकर सबसे बड़ी गलती की।


“9/11 के बाद आतंक के खिलाफ अमेरिका के युद्ध में शामिल होना पाकिस्तान की सबसे बड़ी भूल
इमरान ने कहा, “9/11 के बाद आतंक के खिलाफ अमेरिका के युद्ध में शामिल होना पाकिस्तान की सबसे बड़ी भूल थी। 70,000 पाकिस्तानी इसमें मारे गए। कुछ अर्थशास्त्री कहते हैं हमारी अर्थव्यवस्था को इससे 150 अरब तो कुछ का कहना है कि हमें इससे 200 अरब की हानि हुई। इसके बावजूद अफगानिस्तान में अमेरिका के जीत हासिल नहीं करने पर हमें जिम्मेदार ठहराया गया।”


उन्होंने कहा कि 1980 के दशक में सोवियत संघ से लड़ने के लिए जिन समूहों को प्रशिक्षित किया गया था उन्हें बाद में अमेरिका ने आतंकवादी घोषित कर दिया। इमरान ने कहा, “उन्हें बताया गया कि विदेशी ताकतों से लड़ना 'जिहाद' है। लेकिन अब जब अमेरिका अफगानिस्तान में आ गया है तो उन्हें आतंकवादी ठहरा दिया गया।


भारत नही कहेगा,मध्यस्था नहीं करूंगा

न्यूयॉर्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आतंकवाद पर पाकिस्तान को खरी खरी सुनाई। ह्यूस्टन में पीएम मोदी ने साफ कहा कि आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़नी होगी। ह्यूस्टन में हाउडी कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर आतंकवाद पर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि भारत जो कर रहा है, उससे कुछ ऐसे लोगों को भी दिक्कत हो रही है, जिनसे खुद अपना देश संभल नहीं रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद और उसे बढ़ावा देने वालों के खिलाफ अब निर्णायक लड़ाई लड़ने की जरूरत है।


बता दें पाकिस्तान से बातचीत के संबंध में भारत कई बार अपना रुख साफ कर चुका है कि जब तक वह सीमा पार से आतंकवाद बंद नहीं करेगा, बातचीत नहीं हो सकती। कुल मिलाकर कश्मीर पर मध्यस्थता नहीं होनी है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तगड़ा झटका देते हुए साफ कहा कि जब तक भारत नहीं चाहेगा, मध्यस्थता नहीं करूंगा। न्यूयॉर्क में ट्रंप से मुलाकात के दौरान इमरान खान ने गिड़गिड़ाते हुए कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता की मांग की लेकिन ट्रंप ने दो टूक जवाब देते हुए कहा कि भारत चाहेगा तो ही मध्यस्थता करूंगा।


ट्रंप ने कहा, “नरेंद्र मोदी और इमरान खान दोनों मेरे अच्छे दोस्त हैं. मैं तैयार हूं. कश्मीर का मुद्दा जटिल है। अगर दोनों पक्ष तैयार हों तब ही मैं मध्यस्थतता कर पाऊंगा।” ट्रंप से मुलाकात के दौरान इमरान खान ने इस बात का भी दुखड़ा रोया कि भारत बातचीत को तैयार नहीं है। इमरान खान ने कहा कि यह एक बड़े संकट की शुरुआत है। हम मामले को सुलझाने के लिए अमेरिका की ओर देखते हैं।


लाभप्रद गुणकारी दही (विविध)

दही एक दुग्ध-उत्पाद है जिसका निर्माण दूध के जीवाणु किण्वन द्वारा होता है। लैक्टोज का किण्वन लैक्टिक अम्ल बनाता है, जो दूध प्रोटीन से प्रतिक्रिया कर इसे दही मे बदल देता है। साथ ही इसे इसकी खास बनावट और विशेष खट्टा स्वाद भी प्रदान करता है। सोया दही, दही का एक गैर दुग्ध-उत्पाद विकल्प है जिसे सोया दूध से बनाया जाता है।खाने में दही का प्रयोग पिछले लगभग 4500 साल से किया जा रहा है। आज इसका सेवन दुनिया भर में किया जाता है। यह एक स्वास्थ्यप्रद पोषक आहार है। यह प्रोटीन, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, विटामिन B6 और विटामिन B12 जैसे पोषक तत्वों से समृद्ध होता है।


इसमें कुछ ऐसे रासायनिक पदार्थ होते हैं, जिसके कारण यह दूध की अपेक्षा जल्दी पच जाता है। जिन लोगों को पेट की परेशानियां जैसे- अपच, कब्ज, गैस जैसी बीमारियाँ घेरे रहती हैं, उनके लिए दही या उससे बनी लस्सी, मट्ठा, छाछ का उपयोग करने से आंतों की गरमी दूर हो जाती है। डाइजेशन अच्छी तरह से होने लगता है और भूख खुलकर लगती है।


दही में छुपा है खूबसूरती का ख़जाना-दही एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो खाने में स्वास्थ्यवर्धक तो है ही साथ ही ये सौंदर्य निखारने के लिए भी अच्छा स्रोत माना जाता है। गर्मियों में अक्सर तेज धूप शरीर पर पड़ने से त्वचा झुलस या टैन हो जाती है, ऐसे में दही टैनिग कम करने के लिए बेहतर विकल्प माना जाता है। इतना ही नही दही में बेसन मिलाकर लगाने से भी चेहरे पर चमक आती है।


परिजनों का अच्छा सहयोग मिलेगा:कन्या

राशिफल


मेष-आपको अपने शत्रुओं द्वारा बनाई गई कुछ छोटी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अधिकारियों के साथ व्यवहार करते समय आपको सावधान रहना चाहिए और उन्हें विरोधी नहीं बनाना चाहिए। खर्च में काफी वृद्धि हो सकती है जो आपको तनाव में रख सकती है।पारिवारिक जीवन में आप सदस्यों के प्रति जिद्दी हो सकते हैं। आप भावनात्मक रूप से परेशान हो सकते है और तनाव की स्थिति में रह सकते है। यदि आपको अपनी आंखों की दृष्टि से कोई असुविधा है, तो आपको नेत्र संबंधी सलाह लेनी चाहिए।


वृष-आपकी मां की स्वास्थ्य-स्थिति आपको चिंतित बनाए रखेगी। बच्चों का स्वास्थ्य भी चिंताजनक हो सकता है किंतु भौतिक एवं आर्थिक समृद्धि के लिए आज का दिन लाभदायक है। आपको विभिन्न स्रोतों से लाभ होगा।आपके कुछ शत्रु मित्र के रूप में भेष बदलकर आपको नुकसान पहुंचा सकते है। पारिवारिक संदर्भ में आपको पूर्ण सहयोग मिलेगा और सामाजिक रूप से आप अधिक लोकप्रिय हो सकते हैं। आपके पास नए अधिग्रहण हो सकते है, जो आपको खुश करेंगे।


मिथुन-आज आप कुछ धार्मिक कर्म में संलग्न हो सकते है, जिसके कारण आपकी सामाजिक लोकप्रियता में बढ़ोतरी संभव है। आपका पारिवारिक जीवन आनंदित रहेगा और आप मानसिक रूप से शांत रहेंगे।आप दूसरों के लिए मददगार सिद्ध होंगे और लोग इसके लिए आपका बहुत सम्मान करेंगे। भाग्य का साथ मिलने के कारण आप आर्थिक रूप से स्थिर स्थिति में रहेंगे।


कर्क-इस अवधि के दौरान आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप नाम और शोहरत हासिल करेंगे। आपके विरोधि निष्क्रिय रहेंगे और आपको महत्पूर्ण अधिकारियों से पूर्ण सहयोग मिलेगा। आपको अपने सभी प्रयासों में सफलता मिलेगी और आपकी कुछ महत्वाकांक्षाएं पूरी होंगी।जीवनसाथी के साथ संबंध सुखद रहेंगे, परंतु रिश्तेदारों के साथ आपका मतभेद हो सकता है। बच्चों का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। आपका स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है, इसलिए अपना अधिक ध्यान रखिये।


सिंह-आज अनुकूल ग्रह स्थिति आपकी बेहतरी और प्रगति के मार्ग को प्रशस्त करेगी। आप आज व्यापारिक विस्तार की योजनाएं बनाएंगे और उन्हें लागू करने में भी सफल होंगे। वित्तीय लाभ उम्मीद से बेहतर रहेगा।आप भूमि में निवेश कर सकते है। घरेलू मोर्चे पर वांछित काम समय पर पूरा होगा। प्रेमियों के मध्य निकटता बढ़ेगी और कुछ के विवाह संबंध भी पक्के हो सकते है। कामकाज संबंधी यात्राएं लाभदायक रहेंगी।


कन्या-आज लाभकारी विकास संभव है जो भविष्य में आपको अच्छे परिणाम देगा। आज आपको अपनी पसंद की जगह पर स्थानांतरित किया जा सकता है। छात्र अपना ध्यान उचित प्रयासों में लगाएं।आर्थिक रूप से आप समृद्ध रहेंगे और नए सौदे भी प्रगति करेंगे। आपको परिवार और दोस्तों का अच्छा सहयोग मिलेगा। आप किसी पवित्र स्थान की यात्रा भी कर सकते है।


तुला-आज आप कठिनाइयों को दूर करने और प्रगति की ओर बढ़ने में सक्षम होंगे। आपकी मेहनत का फल आज आपको मिलेगा। आपके पास अपने आर्थिक पक्ष में वृद्धि लाने के लिए बहुत अच्छे अवसर होंगे।वित्तीय लाभ प्राप्त हो सकते हैं और नई साझेदारी भी होने की संभावना है। आज आप थोड़े लापरवाह भी हो सकते है। आपको संपत्ति के मामलों और पारिवारिक संबंधों पर भी नजर रखनी चाहिए।


वृश्चिक-नए वाहन या संपत्ति खरीदने के लिए अपनी योजनाओं को स्थगित कर दें क्योंकि यह आपके बड़े नुकसान का कारण हो सकता है। नौकरीपेशा जातकों को अधिकारियों के साथ अपने संबंधों के मामले में कठिन समय का सामना करना पड़ सकता है।अपने अधिकारियों पर हावी होने की कोशिश न करें वरना आप खुद मुसीबत में पड़ सकते हैं। धन संबंधी मामलों में आपके पिता की सलाह आपके लिए मददगार साबित हो सकती। माता के सुख में सामान्य कमी आपको अनुभव हो सकती है। इस समय आप कुछ समय निकाल कर अपने जीवनसाथी के साथ घूमने फिरने भी जा सकते है


धनु-आप खुश और हंसमुख रहेंगे। आपके पास कई अवसर होंगे और वरिष्ठों से सहयोग प्राप्त होगा। वित्तीय स्थिति में भी काफी सुधार होगा। आपका पारिवारिक जीवन खुशहाल और आनंदमय रहेगा। आप अच्छे स्वास्थ्य में होंगे ।सामान्य रूप से लोगों के साथ आपके संबंध बेहतर होंगे और आपकी लोकप्रियता बढ़ेगी। यह अवधि निवेश के लिए परिपक्व है जो आपके करियर को बेहतरी की ओर ले जा सकती है।


मकर-प्रभावी सहकर्मींं आपकी कार्यशैली को और बेहतर करने के लिए बहुत सारे विचार प्रदान कर सकते हैं। आपको अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करने के लिए पर्याप्त अवसर मिलेंगे। राजनेताओं को नई जिम्मेदारियां मिल सकती हैं।सिनेमा और मीडिया से जुड़े क्षेत्रों के लोगों के पास खुद को व्यस्त रखने के लिए पर्याप्त काम होगा। यह माता-पिता के लिए अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने और अपने बच्चों का विवाह करने का एक आदर्श समय है।


कुंभ-आप अपने सहभागी के संवेदनशील मुद्दों को समझने में उसकी मदद कर सकते है। व्यापारी ग्राहकों की पसंद में दिलचस्पी लेंगे, इसलिए आसानी से आर्थिक लाभ अर्जित कर पाएंगे। प्रेम संबंधों में रिश्तों की बात आने पर अपनी सच्ची भावनाओं को छिपाएं नहीं।अविवाहित युवक और युवतियों को अपना जीवनसाथी मिल सकता है। आपको अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से अच्छी खबर मिलेगी और आप अपने परिवार में एक उत्साहजनक नई भूमिका निभा सकते हैं।


मीन-पेशेवर यात्राएं अधिक हो सकती हैं। आपको अपने वरिष्ठों और आधिकारिक लोगों से सहायता, प्रशंसा और पुरस्कार प्राप्त होगा। आपको अपने कार्यस्थल पर सुना और देखा जा सकता है जो आपकी संतुष्टि को बढ़ाएगा।तुरंत पैसा बनाने की योजनाओं या आकर्षक प्रस्तावों से दूर रहना बेहतर है। परिवार के सदस्यों के साथ कुछ गलतफहमी घरेलू माहौल को कड़वा बना सकती है। आपके बच्चों का स्वास्थ्य आपकी चिंता का कारण हो सकता है I


भू-वितरणवाद का पूंजीवाद

आधुनिकता शब्द आमतौर पर उत्तर-पारंपरिक, उत्तर-मध्ययुगीन ऐतिहासिक अवधि को संदर्भित करता है, जो सामंतवाद (भू-वितरणवाद) से पूंजीवाद, औद्योगीकरण धर्मनिरपेक्षवाद, युक्तिकरण, राष्ट्र-राज्य और उसकी घटक संस्थाओं तथा निगरानी के प्रकारों की ओर कदम बढ़ाने से चिह्नित होता है। (बार्कर 2005, 444) अवधारणा के आधार पर, आधुनिकता का सम्बन्ध आधुनिक युग और आधुनिकता से है, लेकिन यह एक विशिष्ट अवधारणा का निर्माण करती है। जबकि इन्लाईटेनमेंट, पश्चिमी दर्शन में एक विशिष्ट आंदोलन की ओर इशारा करता है, आधुनिकता केवल पूंजीवाद के उदय के साथ सम्बंधित सामाजिक जुड़ाव को संदर्भित करती है। आधुनिकता, बौद्धिक संस्कृति की प्रवृत्तियों को भी संदर्भित कर सकती है, विशेष रूप से उन आन्दोलनों को जो धर्मनिरपेक्षीकरण और उत्तर-औद्योगिक जीवन के साथ जुड़े हुए हैं, जैसे कि मार्क्सवाद, अस्तित्ववाद और सामाजिक विज्ञान की औपचारिक स्थापना. इस संदर्भ में, आधुनिकता को 1436-1789 के सांस्कृतिक और बौद्धिक आंदोलनों के साथ जोड़ा गया है जिसका विस्तार 1970 के दशक तक या उसके बाद तक हुआ है। यह बहुत सी सही कहा गया हैं कि "आधुनिकीकरण पुरानी प्रक्रिया के लिए चालू शब्द हैं. यह सामाजिक परिवर्तन की वह प्रक्रिया हैं जिससे काम विकसित समाज विकसित समाजो की सामान्य विशेषेताओं को प्राप्त करते हैं"


लोमस और कागभुसडं कार्यकलाप

लोमस ऋषि और कागभुसडं कार्य-कलाप


मुनिवरो, आज हम तुम्हारे समक्ष पूर्व की भांति कुछ मनोहर वेद मंत्रों का गुणगान गाते चले जा रहे हैं। यह भी तुम्हें प्रतीत हो गया होगा, आज हमने पूर्व से जिन वेद मंत्रों का पठन-पाठन किया। हमारे यहां इन वैदिक साहित्य में, वैदिक मंत्रों में भिन्न-भिन्न प्रकार का वर्णन होता है। क्योंकि वास्तव में यह वैदिक ज्ञान है। यह परमपिता परमात्मा की प्रतिभा कहलाती है। जिससे परमपिता परमात्मा में निष्ठा होती है और वह परमात्मा का ज्ञान और विज्ञान है। इसमें प्रत्येक मानव परंपरागतो से ही अनुसंधान करता रहता है। बहुत पुरातन काल हुआ ऋषि मुनि वेद मंत्र के ऊपर, उसके गर्भ में परिणत होकर के एक ऊंची उड़ान उड़ते रहे हैं। परंतु ऋषि-मुनियों का एक विशेषता 'ब्रह्मवाचा: वर्णोंति हिरण्यम' रहा है कि परमपिता परमात्मा का जो ज्ञान और विज्ञान है। वह इतना नितांत है इतना विचित्र है कि हम उस ज्ञान को चिंतन और मनन में लाने वाले मौन हो जाते हैं। प्रत्येक अवस्था में मानव मौन हो जाता है तो वह उनकी प्रवृत्ति मानव के हृदय में प्रविष्ट हो रही है। एक बड़ा विचित्र गंभीर ऋषि मुनियों का अध्ययन के प्रति क्रिया उनके समीप आती रही है। आज मै कोई विशेष विवेचना देने नहीं आया हूं। केवल कुछ परिचय देने आया हूं कि ऋषि-मुनियों ने यही कहा है कि हम परमपिता परमात्मा की सृष्टि में जब शिशु के रूप में दृष्टिपात आते हैं। कितना ही ज्ञान और विज्ञान में रमण कर जाएं, परंतु जब उसके अंतिम छोर पर हम परिणत होते हैं। तो शिशु के रूप में आते है। बहुत पुरातन काल हुआ मुझे काल स्मरण आ रहा है। जब महर्षि लोमश और कागभुसडं अपने-अपने स्थानों पर विद्यमान हो करके बहुत गंभीर अध्ययन करते रहते थे। एक समय ऋषि लोमस ने कागभुसडं जी से यह प्रश्न किया कि महाराज यह ब्रह्म यज्ञ और आंतरिक यज्ञ क्या है तो देखो कागभुसडं जी ने ॠषि जी से कहा कि भौतिक जगत और आंतरिक जो है यह जो प्रवृत्ति वाला गुण है। इसका समन्वय परमपिता परमात्मा की सृष्टि से माना गया है। परंतु यह जो हो रहा है इसमें जो सचहोता बने हुए हैं। वह नाना प्रकार की वस्तुओं को हृदय रूपी यज्ञशाला में यज्ञ कर्म कर रहे हैं। अथवा वह जो ज्ञान रूपी अग्नि प्रदीप्त हो रही है। उस ज्ञान रूपी अग्नि में ब्रह्म जगत से लाकर के आंतरिक जगत में जो हो रहा है वह चित्र में दृष्टिपात आता है। क्योंकि जो भी आंतरिक जगत में हो रहा है इंद्रियां जो श्रोता बनी हुई है। वैसा करके एकत्रित करके प्रवेश करा देती है। उससे मुनिवर संस्कारों का जन्म होता है। संस्कारों की उपलब्धियां होती है। 19 संस्कारों का समन्वय हमारा चित्र मंडल में प्रवेश करता है। चित्र मंडल का संबंध अहंकार से होता है। अहंकार का संबंध ही चतुरांतकरण से बंद करके वह प्रकृति का विशाल मंडल हमें दृष्टिपात आता है। तो बेटा यह योगिकवाद वाक्य कहलाते हैं। आज मैं तुम्हें एक विशाल क्षेत्र में ले गया कि मैं ऋषि कागभुसडं जी ने ॠषि लोमस मुनि को यह वाक्य प्रकट कराया। परंतु देखो उन्होंने कहा कि इसका कोई छोर नहीं है तो कागभुसडं जी ने कहा कि मानव चिंतन और मनन करता ही रहता है। जितना भी संसार का औसत है जितना भी संसार का रूप हमें दृष्टिपात आता है। परंतु जब इसको ज्ञान लेते हैं तो मौन हो जाते हैं। जब मौन हो जाते हैं तो मौन होने के पश्चात वही शिशु के शिशु बन जाते हैं। क्योंकि जैसे बालक आपदा में पीड़ित हुआ। आपदा जैसे शांत हुई और वह बालक मौन शिशु बना रहता है। परंतु देखो इसी प्रकार परमपिता परमात्मा के अनुपम जगत में प्रत्येक मानव शिशु के रूप में रहता है। चाहे कोई कितनी भी विशाल उडान उड़ने वाला क्यों ना हो?


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


september 25, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-53 (साल-01)
2. बुधवार,25 सितबंर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन, कृष्‍णपक्ष,तिथि एकादशी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 6:15,सूर्यास्त 6:10
5. न्‍यूनतम तापमान -24 डी.सै.,अधिकतम-33+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...