गुरुवार, 31 अक्तूबर 2019

अलगाववाद की दीवार को गिरा दिया: मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की 144वीं जयंती के मौके पर गुजरात के केवड़िया में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी पर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने राष्ट्रीय एकता के लिए शपथ भी दिलाई। प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 से अलगाववाद की दीवार खड़ी की गई, हमने इसे गिरा दिया। वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में पटेल को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इससे पहले मोदी ने गांधीनगर में मां हीरा बा से मिले। मोदी सरकार ने पटेल जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस मनाने की घोषणा की थी।


मोदी ने यह भी कहा, ''जिस तरह किसी तीर्थस्थल आकर अनुभूति मिलती है, वैसे ही मुझे केवड़िया आकर मिलती है। देश के अलग-अलग हिस्सों से मिले लोहे और मिट्टी से स्टेच्यू ऑफ यूनिटी बनाई गई है। इसलिए यह प्रतिमा विविधता में एकता का जीता-जागता संदेश है। आज से ठीक एक साल पहले प्रतिमा को देश को समर्पित किया गया था। यह प्रतिमा भारत ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व को आकर्षित कर रही है। सरदार पटेल को श्रद्धासुमन अर्पित कर देश गौरव का अनुभव कर रहा है।''


प्रधानमंत्री ने कहा, ''देश के अलग-अलग हिस्सों में स्त्री-पुरुष ने रन फॉर यूनिटी में हिस्सा लिया। पूरी दुनिया में अलग-अलग देश, अलग-अलग पंथ, विचारधाराएं, रंगरूप में लोग जुड़ते गए, कारवां बनता चला गया। भारत की पहचान विविधता में एकता है। यह हमारा गर्व, गौरव, गरिमा है। हमारे यहां विविधता को सेलिब्रेट किया जाता है। हमें विविधता में विरोधाभास नहीं सामर्थ्य दिखता है। यह हमें जीने का जज्बा देता है। जब हम देश की सैकड़ों बोलियों पर गर्व करते हैं तो भाव का बंधन बन जाता है। जब भिन्न-भिन्न खान-पान को विशेषता समझते हैं तो अपनेपन की मिठास आ जाती है। अलग-अलग त्योहारों में शामिल होते हैं तो नई महक आने लगती है, भारतीयता का भाव चारों दिशाओं में फैलता है।''


जम्मू-कश्मीर और लद्दाख, केंद्र शासित प्रदेश

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख आधिकारिक तौर पर दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बन गए। इसी साल 5 अगस्त को केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल लाकर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था। यह बिल 30 अक्टूबर रात 12 बजे से लागू हो गया। इसके तहत जम्मू-कश्मीर में विधानसभा होगी, जबकि लद्दाख बिना विधानसभा या विधान परिषद के केंद्र शासित प्रदेश बना। जम्मू-कश्मीर में 20 और लद्दाख में 2 जिले होंगे। अब केंद्र के 106 कानून भी इन दोनों केंद्र शासित प्रदेशों में लागू हो गए, जबकि राज्य के पुराने 153 कानून खत्म हो गए।


पब्जी के स्थान पर चल रहा था हुक्का बार

गाजियाबाद (यूए)। कविनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत पुलिस ने आरडीसी में छापामारी कर हुक्का बार पकड़ा है। हालांकि, हुक्का बार संचालक व मालिक मौके से फरार होने में कामयाब हो गए। मौके से हुक्का, विभिन्न फ्लेवर के तंबाकू व अन्य सामान बरामद होने के बाद पुलिस ने बार मालिक व संचालक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।
पुलिस के मुताबिक मंगलवार देररात सूचना मिली कि आरडीसी तक सी-ब्लॉक स्थित बिल्डिंग में पब्जी नाम से हुक्का बार चल रहा है। सूचना मिलते ही पुलिस ने बिल्डिंग की घेराबंदी कर हुक्का बार में छापामारी कर दी। पुलिस देख बिल्डिंग में अफरातफरी मच गई। आरडीसी चौकी प्रभारी अरविंद शर्मा ने बताया कि हुक्का बार मालिक आशीष त्यागी व संचालक प्रमोद शटर गिराकर भागने में कामयाब हो गए। बार में मिला सामान जब्त कर आशीष व प्रमोद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।


एकनाथ शिंदे चुने गए विधायक दल के नेता

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच खींचतान जारी है। इस बीच शिवसेना विधायक दल की बैठक हुई। इसमें एकनाथ शिंदे को विधायक दल का नेता चुना गया। इससे पहले भाजपा विधायकों ने देवेंद्र फडणवीस को अपना नेता चुना था।


महाराष्ट्र में एनडीए सरकार बनाने के लिए भाजपा इस बार शिवसेना को डिप्टी सीएम और 13 मंत्री पद देने के लिए तैयार है, लेकिन गृह, राजस्व, वित्त और नगरीय विकास जैसे विभाग शिवसेना को देने के लिए तैयार नहीं है। शिवसेना की नजर इन विभागों पर टिकी है। पिछली सरकार में शिवसेना को 6 कैबिनेट और 7 राज्यमंत्री पद दिए गए थे। पार्टी सूत्रों के अनुसार, भाजपा को शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद देने में कोई समस्या नहीं है, लेकिन गृह मंत्री पद देने को तैयार नहीं है।


शिवसेना विधायकों की बैठक से पहले सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने कहा, ''गठबंधन आज भी है। यह मैं आज भी मानता हूं। लेकिन हमें इसके राजधर्म का पालन करना चाहिए। सत्ता की स्थापना के लिए 50-50 का फॉर्मूला तय हुआ था। मुख्यमंत्री पद के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण पदों का भी सामान रूप से बंटवारा होना चाहिए। यदि भाजपा के पास बहुमत है, तो उसे सत्ता का दावा करना चाहिए।''


राउत ने आगे कहा, ''अगर भाजपा के बड़े नेता कह रहे हैं कि हमारे पास विकल्प खुले हैं तो शिवसेना भी कोई बच्चा पार्टी नहीं है। हम 50 साल से भी पुरानी पार्टी हैं। विकल्प सभी के सामने खुले हैं।'' भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार द्वारा शिवसेना के लिए 'विनाश काले विपरीत बुद्धि' जैसे शब्दों के इस्तेमाल पर राउत ने कहा- वे यह अपने बारे में कह रहे हैं।


भाजपा की ओर से शिवसेना के साथ मिलकर गठबंधन की सरकार बनाने के दावे के बीच उद्धव ठाकरे ने कहा कि सरकार बनाने को लेकर भाजपा की तरफ से अब तक किसी ने संपर्क नहीं किया है। बुधवार को मातोश्री में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में उद्धव ने कहा कि जो संभव होगा, वह सब करूंगा। संभवतः उद्धव का इशारा राज्य में भाजपा के बिना सरकार बनाने के विकल्पों की ओर था। उद्धव शिवसेना को ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद नहीं देने की बात करने वाले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से नाराज नजर आए।


एकता-अखंडता से राष्ट्र निर्माण में योगदान

पंकज राघव संवाददाता 


संभल। देश को एकजुट रखने में पटेल जी का योगदान सराहनीय- एडीएम लव कुश कुमार त्रिपाठी


अपर जिलाधिकारी लवकुश कुमार त्रिपाठी, अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा 31 अक्टूबर को सरदार पटेल जी की जयंती पर उनकी स्मृति में आयोजित 'रन फॉर यूनिटी' को झंडी दिखाकर रवाना किया। राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता दिवस के अवसर पर अपर जिला अधिकारी द्वारा मौजूद वरिष्ठ अधिकारियों, कर्मचारियों, छात्र छात्राओं, आमजनमानस को शपथ भी दिलाई गई। एडीएम ने कहा कि देश को एकजुट रखने में पटेल जी का योगदान सराहनीय रहा है, हमें दैनिक जीवन मे उनके आदर्शों का अनुपालन करना चाहिए। इसी उपरांत कलेक्टर सभागार बहजोई में सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्मदिन दिवस पर शपथ दिलाई।
इस दौरान सीडीओ उमेश कुमार त्यागी, डिप्टी कलेक्टर राजेश कुमार, डिप्टी कलेक्टर प्रेमचंद सिंह, डीडीओ परियोजना निदेशक डीआरडीए, समस्त क्षेत्राधिकारी, पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी, विभिन्न कार्यालयों, पटलों के कर्मचारीगण, गणमान्य नागरिक, स्कूली छात्र, छात्राएं, आमजनमानस आदि मौजूद रहे।


नशे के आदी लापता युवक का शव बरामद

पंकज राघव संवाददाता


नशे के आदी युवक का शव बरामद ।


संभल। नशे के आदी लापता युवक का शव जंगल से बरामद हुआ। युवक नशे की हालत में बुधवार घर से बाइक लेकर गया था। युवक के परिजनों ने काफी तलाश किया था। युवक का शव बृहस्पतिवार को बाइक के नीचे दबा मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में कर, पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों ने व्यक्त की हत्या की आशंका, पुलिस मामले की जांच में जुटी हैं।



रजपुरा थाना के गाँव करकौरा निवासी दरयाव सिंह का बटा सुनील शराब का आदी थाा। एक दिन पूर्व युवक शराब पीने के लिए घर से बाइक लेकर निकल गया । जब देर रात्रि तक युवक घर वापस नही लौटा तो परिजनों को चिंता हुई और युवक की काफी तलाश की लेकिन कहीं पता नही चल सका । आज जब राहगीरों द्वारा जंगल में शव पड़ होने की सूचना युवक के परिजनों को मिली तो मौके पर जाकर देखा तो जंगल से बरामद शव उनके बटे का निकलाा। जिससे परिवार में कोहराम मच गया । जंगल में शव बाइक के नीचे से मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने निकाला और पीएम को भेजा दिया । मृतक के परिजनों ने हत्या की आशंका व्यक्त करते हुए पुलिस को तहरीर दी है जिसकी पुलिस जांच कर रही है ।


उत्तराखंड में अनियंत्रित डेंगू का कहर

स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीमें मिलकर भी नहीं कर पा रही डेंगू पर नियंत्रण


रुद्रपुर। तराई में डेंगू बुखार लगातार बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग संक्रामक रोग की रोकथाम में असफल साबित हुआ है। वहीं जिले में बुधवार तक 900 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है, जबकि अब तक करीब 1671 मरीजों का एलाइजा टेस्ट भी कराया जा चुका है। साथ ही जिला अस्पताल में भर्ती सात नए मरीजों में भी डेंगू के लक्षण मिले हैं।


बता दें कि, जिला मुख्यालय रुद्रपुर में स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीमें मिलकर भी डेंगू पर नियंत्रण नहीं कर पा रहे हैं। रुद्रपुर स्थित जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में बुधवार को सात नए मरीज भर्ती कराए गए। सभी मरीजों में डेंगू के लक्षण मिलने पर एलाइजा टेस्ट किया जा रहा है। डेंगू वार्ड में भर्ती बहेड़ी, यूपी निवासी नीलम शर्मा ने बताया कि, उसे एक सप्ताह से तेज बुखार था।


जांच में डेंगू के लक्षण मिले हैं। वहीं, दरिया नगर निवासी सलोनी, रम्पुरा निवासी लज्जावती, पहाड़गंज निवासी लतीफ, शिवनगर निवासी सुदेवी, ट्रांजिट कैंप निवासी जयंती ढाली और प्रतापपुर निवासी चंद्रभान ने बताया कि, उन्हें भी कुछ दिनों से बुखार की शिकायत है। इधर, स्वास्थ्य विभाग ने रुद्रपुर ट्रांजिट कैंप, खेड़ा व रम्पुरा में लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया है।


सीपीयू कर्मी भी डेंगू की चपेट में….पाठकों को बता दें कि, रुद्रपुर में तैनात सीपीयू के दो दरोगा भी डेंगू बुखार की चपेट में आ गए हैं। दोनों का शहर के निजी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। पुलिस के मुताबिक, सीपीयू के दरोगा प्रकाश चंद्र और सतपाल पटवाल को डेंगू की शिकायत थी। दोनों का निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। इससे पूर्व रुद्रपुर कोतवाली के एक दरोगा समेत 16 पुलिस कर्मी भी डेंगू की चपेट में आए थे।


वहीं समाजसेवी सुशील गाबा समेत शहर के कई लोगों ने बुधवार को डेंगू के खिलाफ फॉगिग अभियान जारी रखा। उन्होंने खेड़ा वार्ड, गुलमोहर कॉलोनी, वसुंधरा फेस 1 और 2 में डोर टू डोर फॉगिग कराया। वहां पंजाबी महासभा कोषाध्यक्ष पंकज कालड़ा, अशोक श्रीवास्तव, जहागीर कुरैशी, अमित गंभीर, बंटी, धनंजय सिंह, गौरव गांधी, सोनू गगनेजा, अनिल कालड़ा आदि थे।


पहाड़ों में डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मेयर रामपाल सिंह ने कहा कि, डेंगू पर नियंत्रण के लिए नगर निगम धरातल पर काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि, कुछ लोग डेंगू को लेकर नगर निगम पर गलत आरोप लगा रहे हैं। मेयर ने यह भी कहा कि, फॉगिग के लिए आठ नई मशीनें खरीदी गई हैं। सीएसआर से भी टीवीएस श्रीचक्रा कंपनी से पांच मशीनें नगर निगम को दी हैं। इसके साथ ही 15 पिट्ठू मशीनें वार्डों में छिड़काव के लिए लगाई गई हैं। वहीं तीन हजार लीटर के टैंक के साथ एक मशीन भी कीटनाशक छिड़काव कर रही है।


15 दिन बाद हुआ 'गांधी यात्रा' का समापन

पन्द्रह दिन पूर्ब शुरू हुई पद यात्रा का  कनैली गांव पहुँच कर हुआ समापन


जगह जगह गर्म जोशी से हुआ पद यात्रा का स्वागत मिला अपार जनसमर्थन


पदयात्रा का मुख्य उद्देश्य केंद्र प्रदेश सरकार की बिभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी उपलब्ध कराना और योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचाना


कौशाम्बी। गांधी के सिद्धांतों को घर-घर पहुंचाने के उद्देश्य से 15 दिन पूर्व पदयात्रा लेकर निकले सांसद बिनोद सोनकर ने आज मंझनपुर बिधायक लालबहादुर के साथ मंझनपुर विधानसभा में घूमने के बाद पदयात्रा का समापन कनैली गांव पहुंचकर कर दिया है। पदयात्रा का मुख्य उद्देश्य केंद्र प्रदेश सरकार की बिभिन्न योजनाओं का लाभ आम जनता तक पहुंच रहा है। आम जनता को योजनाओं के बारे में जानकारी उपलब्ध कराना और योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचाना पर पद यात्रा का मुख्य उद्देश्य था। देश के राष्ट्रपिता महात्मा मोहनदास करमचंद गांधी के सिद्धांतों को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से शुरू की गई। पदयात्रा का आज अंतिम दिन रहा और आज हाजीपुर में स्वास्थ्य कैंप से पद यात्रा का शुभारंभ हुआ। इस पद यात्रा में सांसद बिनोद सोनकर के साथ मंझनपुर बिधायक लालबहादुर सैकड़ो भाजपा पदाधिकारी सांसद के कदम से कदम मिला कर आगे बढ़ रहे थे। स्वास्थ्य कैंप में तमाम लोगों के स्वास्थ्य की जांच कर उन्हें स्वस्थ रहने के गुर बताए गए हैं। हजियापुर के बाद गांधी का संदेश लेकर सांसद विनोद सोनकर के नेतृत्व में सैकड़ों लोग जन जागरूकता संदेश के साथ लक्ष्मणपुर पहुंचे जहां ग्रामीणों ने सांसद और पदयात्रा में शामिल अन्य लोगों को माल्यार्पण कर उनका जोरदार स्वागत किया है। इसी पदयात्रा के अभियान में मुस्तफाबाद और विजया चौराहे पर अलग-अलग किसान सम्मान निधि और समाज कल्याण कार्यक्रम कैम्प का आयोजन किया गया है। चौराहे पर पशु विभाग की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से कैम्प का आयोजन किया गया बारा कौशाम्बी ब्लॉक में सभा का आयोजन कर केंद्र प्रदेश सरकार की योजनाओं से आम जनता को अवगत कराते हुए गांधी के सिद्धांतों पर चलने के लिए लोगों को प्रेरित किया गया है। वहीं विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को इस सभा के माध्यम से सम्मानित किया गया है। सांसद विनोद सोनकर के नेतृत्व में जैसे-जैसे पदयात्रा आगे बढ़ रही थी। नेनुवा गांव फैजुल्लापुर  गांव में पदयात्रा का ग्रामीणों ने जगह-जगह भव्य स्वागत किया है। ग्रामीणों द्वारा पदयात्रा में शामिल लोगों के लिए जलपान की भी व्यवस्थाएं कराई गई थी। मवई गांव में रुक कर सांसद ने पौधारोपण कर हरियाली का संदेश दिया और कनैली गांव पहुंचकर यह पदयात्रा जनसभा में तब्दील हो गई। जहां रोजगार मेला बिजली बिल की समस्याओं के समाधान और प्रशासनिक व्यवस्थाओं के समस्याओं के समाधान के लिए कैंप का आयोजन किया गया था। जहां हजारों ग्रामीण पहुंचे और मौजूद अधिकारियों ने ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान कर ग्रामीणों को राहत प्रदान की है। पद यात्रा में जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि जगजीत सिंह, अजय सिंह, पिन्टू द्विवेदी, बृजेन्द्र नारायण मिश्रा ,दुर्गेश गुप्ता एडवोकेट ,अशोक चौधरी, अरुण सिंह, दुर्गेश गुप्ता एडवोकेट, गुलाब कुशवाहा ,शिवाकांत मिश्रा ,राजेंद्र पांडे ,भूपेंद्र सिंह ,अरविंद द्विवेदी ,संजय जयसवाल ,अशोक चौधरी सहित सैकड़ों लोग शामिल रहे।


सुशील केसरवानी 


एनसीआर में दुनिया के सबसे ज्यादा रोगी

गाजियाबाद (यूए)। पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त उद्योग व्यापार मंडल के महानगर अध्यक्ष द्वारा बुलाई गई एक बैठक में वातावरण में जो प्रदूषण शहर की हवा को प्रदूषित कर रहा है। उस विषय पर गंभीरता से विचार करते हुए, गाजियाबाद के अध्यक्ष उदित मोहन गर्ग ने कहा कि आज गाजियाबाद पूरे विश्व में सबसे प्रदूषित शहर बन गया है। गाजियाबाद का AIQ लेवल 600 को पार कर गया है और गाजियाबाद विश्व का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है और इसे बनाया है।


जगह-जगह कूड़ा फेंक कर
अपनी गाड़ियों को चला कर हम अपनी शान समझते हैं
कच्चे एवं गड्ढे तथा नवनिर्मित इमारत के आसपास के रास्तों पर रास्तों पर गाड़ी तेज रफ्तार से चलानाा।


अभी भी संभल जाए अभी वक्त है। नहीं तो ऐसा ना हो कि हमारी आने वाली पीढ़ियो को सांस की बहुत सारी बीमारियां उपहार में दे कर जाएंगे और यह एक ज्वलंत विषय है। कृपया, इसके बारे में सोचें और अपने शहर को बचाएं और कम से कम प्रदूषण फैलाएं|
हमें कुछ उपाय भी आज का समय देखते हुए अपनाने होंगे जैसे कि
सभी व्यापारी एवं क्षेत्रवासी एवं प्रतिष्ठान के बाहर पानी की सुबह शाम बौछार करें
कच्चे रास्तों पर या कहीं सड़क टूटी हो या किसी की मकान दुकान बन रहा हो वहां बहुत धीमी गति से अपने वाहन को चलाएं ताकि वहां धूल द्वारा प्रदूषण ना फैले


आज की इस बैठक के माध्यम से मैं( उदित मोहन) शासन एवं प्रशासन को यह भी बताना चाहता हूं कि प्रदूषण उद्योगों से नहीं बल्कि सबसे ज्यादा प्रदूषण वाहनों से फैल रहा है उसका उदाहरण है कि जब हमारे क्षेत्र में कावड़ यात्रा का प्रयोजन हुआ था तब शहर में वाहनों की गति थम जाने की वजह से प्रदूषण लेवल जीरो आ गया था और उद्योग अपनी जगह पूरे चल रहे थे|
आज की बैठक की माध्यम से हम व्यापारी गाजियाबाद नगर निगम के नगर आयुक्त साहब एवं जिलाधिकारी महोदय से निवेदन करना चाहते हैं कि आप भी पिछले वर्ष की तरह जगह-जगह पानी की गाड़ियों से छिड़काव करवाकर एवं उचित कार्यवाही कर बजाय चालान कटवाने की जगह हम सभी शहर वासियों को संतुष्ट करें हमारा आप शहर के अधिकारियों से करवंद निवेदन है|


इनको भी 'हक की आवाज' उठाने का सिला

शासन प्रशासन से हक़ मांगने पर हुआ जानलेवा हमला 
अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। लोनी विधानसभा में हक़ के लिए आवाज उठाना डीएलएफ अंकुर विहार निवासी विनय कुमार को महंगा पड़ गया। भ्रष्ट प्रतिनिधि के गुंडों ने रात में घर के पास हमला करके जान से मारने की कोशिश की।
पीठ में फ्रेक्चर और हाथ-पैर का मांस फट गया। इसी व्यक्ति की पत्नी के दोनों हाथ आज से दो साल पहले बिजली विभाग की लापरवाही से काटने पड़े थे।
इसी घटना के बाद विनय कुमार ने समाज सेवा व सामाजिक बदलाव के लिए फेसबुक, व्हाटसअप और ट्वीटर के माध्यम से लोगो को जागरूक, शासन-प्रशासन और प्रतिनिधियों को रिमाइंडर करते रहते थे। उसका खामियाजा उन्हें कल रात 9.45 मिनट पर अपने घर के नीचे बाइक खड़ी करते समय मिला। घात लगाकर पीछा कर रहे हमलावर बाईकर्स ने ताबड़ तोड़ डंडों से वार किया और मोटरसाइकिल खड़ी करने की भी मोहलत नही दी। चीख पुकार होने पर लहू लुहान विनय कुमार को वही छोड़ गुंडे हाथ मे पिस्टल लहराते हुए भाग गए। 
जब स्थानीय लोग विजय मिश्रा, प्रभात कुमार आदि विनय कुमार को लेकर स्थानीय चौकी व थाने गए तब भी कोई संतोषजनक कार्यवाही नही हुई, न ही लोनी थाना में कोई सुनवाई हुई। फिर साथ गए पड़ोसियों ने पीड़ित को दिल्ली के गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल में भर्ती कराया,  राााााााा, उसका मेडिकल करवाया।
 मजबूरी में उन लोगों को एसडीएम साहब का सहारा लेना पड़ा। थाने में उनकी बात करवाने के बाद पीड़ितों को थोड़ा रेस्पॉन्स मिला। इस विषय मे स्थानीय भाजपा नेता विजय मिश्रा का कहना है  कल की घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। यह शर्मसार करने वाली घटना है। इस कार्य मे लिप्त लोगो पे त्वरित कार्यवाही और गिरफ्तारी नही होती है तो जनता का विश्वास प्रशासन से उठ जाएगा। कभी कोई जनहित में आवाज नही उठाएगा। स्थानीय विधायक नन्द किशोर गुर्जर ने भी घटना की निंदा करते हुए लोनी थाना पुलिस को कार्यवाही के लिए निर्देश दिए हैं। लेकिन अभी तक एफआईआर दर्ज नही हुई है।


प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियां की ध्वस्त

आकांक्षु उपाध्याय


गाजियाबाद। लोनी में क्षेत्र में प्रदूषण की स्थिति अत्यंत गंभीर हो चुकी है। वायु गुणवत्ता सूचकांक 500 के करीब पहुंच चुका है। जिसके कारण स्थानीय निवासियों को तरह-तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जो लोग हृदय और फेफड़ों से संबंधित बीमारियों से ग्रस्त है। उनके लिए यह स्थिति और भी कठिन और पीड़ादायक हो गई है।  जिस को ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी के निर्देशन में उप जिला अधिकारी एवं डीएसपी लोनी के द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए, बेहटा, कृष्ण विहार आदि क्षेत्रों में वायु को प्रदूषित करने वाली संचालित अनाधिकृत औद्योगिक इकाइयों को ध्वस्त कर दिया गया। हालांकि अभी ध्वस्तिकरण का कार्य जारी रहेगा।


यूपी में फिर मिली खाद आपूर्ति में धांधली

प्रतापगढ़। खाद्यान माफियाओ पर पुलिस का शिकंजा।गरीबों के राशन की कालाबाजारी। पुलिस ने पकड़ा 300 बोरी सरकारी खाद्यान। एफसीआई गोदाम बिहार के पास से पकड़ा गया खाद्यान। जिले भर में सरकारी खाद्यान की काला बाजारी। खाद्य विपणन अधिकारी धनंजय सिंह की मिली भगत से खेल।विपणन गोदामों से एम आई कोटेदारों को कम देते है राशन। 50 किलो की बोरी में रहता है 45 किलो राशन। 300 बोरी से अधिक चोरी का सरकारी गल्ला बेचने के लिए ले जा रहा अशोक साहू । बाघराय थाने के बीट इंचार्ज उपनिरीक्षक गिरीश धर द्विवेदी ने धर दबोचा । एफसीआई गोदाम की बोरी मिलने पर लोगों में मचा हड़कंप। दरोगा पर मामले को रफा-दफा करने का बन रहा है दबाव।


देश की एकता और समृद्धि के लिए एक दौड़

मोहित श्रीवास्तव


गाजियाबाद,लोनी। भारत के जन-नायक एकता के परिचायक भारत रत्न से सम्मानित लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की जयंती के अवसर पर "एक भारत श्रेष्ठ भारत " ये हम सब का सपना है। उसी के लिये प्रति वर्ष 31 अक्टूबर को पूरे देश मे "RUN FOR UNITY " देश की एकता के लिये दौड, लोनी नगर पालिका क्षेत्र की इन्द्रापुरी कालोनी स्थित शहीद भगत सिंह पार्क से शुरू हुई। जिसका समापन 2नं स्थित भारत रत्न बाबा डा.भीमराव अम्बेडकर जी की मूर्ति पर हुआ ।
इस अवसर पर दौड का शुभारंभ, पूर्व लोनी नगर पालिका अध्यक्ष मनोज धामा ने अमर शहीद भगत सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। 
इस अवसर पर मनोज धामा ने अपने विचार रखते हुये कहा कि जिस तरह से सरदार पटेल ने आजादी के बाद देश को एक करने के लिये पूरे देश मे लंबी यात्रा की थीी। उसी प्रकार आज हम भी एक भारत बनाने के लिये एकता की दौड लगाते हैं।  
भारतीय जनता पार्टी के द्वारा सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊँची मूर्ति की स्थापना सरदार सरोवर डैम केवडिया गुजरात मे की गयी है। जिसे 'स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी' के नाम से जाना जाता है। महापुरूष किसी एक समाज के नही होते, महापुरूष सर्वसमाज के होते हैंं। ये हम सभी का दायित्व है कि हम उनका सम्मान करे तथा उनके सम्मान मे एक दिन अनेकों तरीकों से उनको अपनी तरफ से श्रध्दांजलि अर्पित करे। हम लोग 'RUN FOR UNITY' के माध्यम से देशभर मे एकता व अखंडता का संदेश दे रहे है। आज का दिन देशभर मे महापर्व के रूप मे मनाया जा रहा है।
इस अवसर पर कार्यक्रम संयोजक व सभासद रोहित भारद्वाज, सभासद रूपेन्द्र चौधरी,  सतपाल शर्मा,बबलू शर्मा, निशा सिंह,जिला महामंत्री राजेन्द्र वाल्मीकि, अशोक त्यागी,हिमांशु शर्मा, अश्विनी कुमार,संतोष तोमर, जितेन्द्र कश्यप, राहुल गुर्जर, राजेश सोम, राजीव शर्मा, अंकुर राठी, सतेन्द्र शर्मा, आकाश गौतम, अंकुश पांचाल,रवि वत्स,नरेश वर्मा, अभिषेक शर्मा, रण सिंह, संजय उपाध्याय,दिनेश, संजय लौहरा, सहित सैकड़ों की संख्या मे भारतीय जनता पार्टी के देवतुल्य कार्यकर्ता, कालोनीवासी, व बडी संख्या मे युवा शक्ति उपस्थित रही।


एकता कपूर का अंखियों से गोली मारे डांस

एकता कपूर का अंखियों से गोली मारे डांस


मुंबई। दिवाली जा चुकी है, लेकिन अभी भी इसका खुमार लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। फिल्म स्टार्स और अन्य सिलेब्रिटीज भी इसके जोश से अभी बाहर नहीं निकल पाए हैं। तभी तो अभी भी सोशल मीडिया पर उनके फोटोज और विडियो जमकर शेयर किए जा रहे हैं और वे वायरल भी हो रहे हैं। 


ऐसा ही एक विडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें एकता कपूर और राजकुमार राव डांस करते नजर आ रहे हैं। दोनों गोविंदा और रवीना टंडन पर फिल्माए गए सुपरहिट गाने अंखियों से गोली मारे थिरकते नजर आ रहे हैं। जिस धुन और देसी स्टाइल में दोनों नाच रहे हैं, वह काफी दिलचस्प है। उनके डांसिंग स्टाइल से आप भी रिलेट करने लगेंगे।
इस विडियो को एकता ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी शेयर किया है। विडियो पोस्ट करते हुए एकता ने लिखा, इसे शेयर करना ही था। मुझे डांस करना नहीं आता पर मुझे लगता है कि जूम्बा और मेरे पार्टनर ने मेरी मदद की। दिवाली पर एक छोटा सा गेट टुगेजर जो बाद में राजकुमार राव के साथ मेरे डांस से और भी मजेदार हो गया।
बता दें कि राजकुमार राव ने अपना बॉलिवुड डेब्यू एकता कपूर के प्रॉडक्शन की फिल्म रागिनी एमएमएस से किया था और तभी से दोनों के बीच अच्छी दोस्ती है। इस फिल्म के बाद वह हाल ही में एकता के प्रॉडक्शन की ही फिल्म जजमेंटल है क्या में नजर आए।


भंसाली की फिल्म में साथ दिखेंगे दीपिका-रणवीर

मुंबई । संजय लीला भंसाली ने हाल ही में अपनी अगली फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी की घोषणा कर दी है। यह भी तय हो गया है कि इस फिल्म में आलिया भट्ट मुख्य किरदार में नजर आएंगी। इसके बाद खबर है कि संजय लीला भंसाली जल्द ही अपनी अगली फिल्म की घोषणा कर सकते हैं। 
बीते दिनों संजय लीला भंसाली की फिल्म इंशाल्लाह काफी चर्चा में थी। लेकिन सलमान खान के फिल्म छोड़ देने के बाद यह बंद हो गई। इसके बाद भंसाली ने आलिया भट्ट के साथ अगली फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी की घोषणा की थी।


यह फिल्म हुसैन जैदी के उपन्यास द माफिया च्ीन्स ऑफ मुंबई पर बेस्ड है। सूत्रों के मुताबिक भंसाली जल्द ही अपनी अगली फिल्म की भी घोषणा करेंगे। इस फिल्म के बारे में कोई ऑफिशल जानकारी तो नहीं दी गई है लेकिन चर्चाएं जोरों पर हैं।
पिछले महीने दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह को भंसाली के ऑफिस में देखा गया था। चर्चा है कि एक बार फिर से यह जोड़ी भंसाली की फिल्म में दिखाई दे सकती है। इसके अलावा कुछ दिन पहले कार्तिक आर्यन भी संजय लीला भंसाली के ऑफिस के बाहर दिखे थे। खबरों की मानें तो कार्तिक भी फिल्म का हिस्सा हो सकते हैं।


एसडीएम ने दिलाई राष्ट्रीय एकता दिवस की शपथ

गाजियाबाद,मोदीनगर(यूए)। राष्ट्रीय एकता दिवस पर एसडीएम सौम्या पांडे ने दिलाई शपथ। गुरुवार को लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस अवसर पर आईएएस अधिकारी सौम्या पांडे ने मोदीनगर तहसील सभागार में लोह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल व पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी के चित्रों पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उन्होंने तहसील कर्मचारियों एवं सुरक्षाकर्मियों को राष्ट्रीय एकता दिवस की शपथ दिलाई तथा देश की एकता अखंडता और सुरक्षा के लिए राष्ट्र की अंतर्निहित ताकत को एकजुट करने के लिए प्रेरित किया । इस दौरान तहसीलदार उमाकांत तिवारी भी मौजूद रहे।


राष्ट्रीय दिव्यांग खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लिया

धमतरी। राष्ट्रीय दिव्यांग खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए धमतरी जिले से सर्वाधिक दिव्यांग खिलाड़ी कल अपने कोच कु.देवश्री जोशी की अगुवाई में हैदराबाद के लिए रवाना हुए जिसमें राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता सेवती ध्रुव व रजनी जोशी शामिल है। प्रतियोगिता में शामिल होने वाले अन्य दिव्यांग खिलाड़ियों में धमतरी जिले से सोनु ध्रुव, केशनाथ ध्रुव, महेश्वर यादव, तोषण साहू,विजय कुलदीप शामिल है।
उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय दिव्यांग प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ से कुल 40 खिलाड़ी बिलासपुर से रवाना हुए जिसमें से 7 रुद्री धमतरी में स्थित एक्ज़ेक्ट फाउंडेशन संस्था द्वारा संचालित दिव्यांग आवासीय प्रशिक्षण केंद्र से है जो 10 कोचों की अगुवाई में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय प्रतियोगिता में करेंगे। यह प्रतियोगिता 1 से 4 नवम्बर तक हैदराबाद में आयोजित होगी।
रुद्री स्थित एक्ज़ेक्ट फाउंडेशन दिव्यांग आवासीय प्रशिक्षण केंद्र की व्यवस्थापिका लक्ष्मी सोनी ,शशि निर्मलकर व रूबी कुर्रे ने बताया कि हमारे प्रशिक्षण केंद्र से सर्वाधिक विद्यार्थियों का चयन राष्ट्रीय प्रतियोगिता में होना हमारे लिए गर्व की बात है। हम बेहतर करने का प्रयास करते है जिसका परिणाम है कि धमतरी जिले के दिव्यांग खिलाड़ी विभिन्न राज्यों में राष्ट्रीय स्तर पर अपना बेहतर प्रदर्शन कर जिले व प्रदेश का नाम रोशन करते है और ये हमारी संस्था के लिए अत्यंत गर्व व हर्ष का विषय है कि हमारे एक्ज़ेक्ट फाउंडेशन के सर्वाधिक विद्यार्थी खिलाड़ी छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय दिव्यांग खेल प्रतियोगिता में करेंगे।


ब्रिटेन में 12 दिसंबर को होगा आम चुनाव

लंदन। ब्रिटेन में आगामी 12 दिसंबर को आम चुनाव होना तय माना जा रहा है। ब्रिटेन की संसद के निचले सदन 'हाउस ऑफ कॉमन्स' ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की 12 दिसंबर को चुनाव कराने की योजना का समर्थन किया। हाउस ऑफ कॉमन्स में दिसंबर में चुनाव कराने के पक्ष में 438 सांसदों ने वोट किया जबकि विरोध में केवल 20 मत पड़े।
साल 1923 के बाद पहली बार दिसंबर महीने में ब्रिटेन में आम चुनाव कराने तय किए गए। इसके एक दिन बाद यानी 13 दिसंबर को चुनावों के नतीजे भी आ जाएंगे। जॉनसन ने कहा कि जनता को ब्रेक्जिट और देश के भविष्य के लिए विकल्प देना चाहिए। अब इस बिल को हाउस ऑफ लॉर्ड्स में भेजा जाएगा।
पीएम जॉनसन को उम्मीद है कि आम चुनाव उन्हें ब्रेक्जिट के लिए एक नया जनादेश देगा और वर्तमान संसदीय गतिरोध को तोड़ेगा, जिसके कारण ब्रिटेन के ब्रेक्जिट से बाहर होने में 31 जनवरी तक की समयसीमा तय हो गई है। उन्होंने कहा कि यह देश के लिए 'ब्रेक्जिट प्राप्त करने को एक साथ आने का समय' है, उन्होंने वोट के कुछ मिनट बाद 1922 की बैकबेंच कंजर्वेटिव की समिति की बैठक छोड़ दी।
इससे पहले जॉनसन 31 अक्टूबर तक ब्रेक्जिट को लेकर अड़े हुए थे और उन्होंने कई बार कहा कि अब इसकी समयसीमा नहीं बढ़ाई जाएगी। हालांकि उन्हें सदन में बहुमत नहीं प्राप्त है और इस मामले में उनके कई सांसद विपक्ष के साथ आ गए।


अयोध्या फैसला खुले मन से स्वीकार करें

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद पर फैसला आने से पहले सभी पक्ष आपसी भाईचारे और शांति की अपील कर रहे हैं। इस बीच, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आए उसे सभी को खुले मन से स्वीकार करना चाहिए। बता दें कि 16 अक्टूबर को शीर्ष अदालत की 5 सदस्यीय संविधान बेंच अयोध्या विवाद पर फैसला सुरक्षित रख लिया था।
आरएसएस ने ट्वीट कर कहा, 'आगामी दिनों में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के वाद पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय आने की संभावना है। निर्णय जो भी आए उसे सभी ने खुले मन से स्वीकार करना चाहिए। निर्णय के पश्चात देशभर में वातावरण सौहार्दपूर्ण रहे, यह सबका दायित्व है।' गौरतलब है कि वीएचपी और बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने भी फैसले के बाद भाईचारा बनाए रखने की बात कही थी।
माना जा रहा है कि 17 नवंबर से पहले शीर्ष अदालत इसपर फैसला सुना सकती है। संवैधानिक बेंच में सीजेआई रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर शामिल हैं। बता दें कि 17 नवंबर को चीफ जस्टिस गोगोई रिटायर हो रहे हैं और उनके रिटायरमेंट के पहले फैसला आने की उम्मीद है।


राहुल गांधी करेंगे पूरे देश की यात्रा

नई दिल्ली । पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जल्द पूरे देश की यात्रा शुरू करेंगे। इस यात्रा के दौरान राहुल गांधी सभी प्रदेशों का दौरा करेंगे। जनवरी के दूसरे सप्ताह से शुरू होने वाली इस यात्रा के दौरान राहुल गांधी जनसभाओं के बजाए लोगों से सीधे मिलने की कोशिश करेंगे। ताकि, कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा को सीधी टक्कर दी जा सके। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की यात्रा का खाका तैयार किया जा रहा है। पार्टी की कोशिश है कि जिन राज्यों में वर्ष 2021 और 2022 में विधानसभा चुनाव हैं, वहां ज्यादा वक्त दिया जाएगा। क्योंकि, इन दो वर्षों में एक दर्जन से अधिक प्रदेशों में विधानसभा चुनाव होने हैं। पार्टी इन प्रदेशों में बेहतर प्रदर्शन करने में सफल रही, तो लोकसभा में इसका लाभ मिलेगा। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 1989 लोकसभा चुनाव में हार के बाद स्लीपर क्लास में यात्रा की थी। इस यात्रा के दौरान उन्होंने लोगों से मुलाकात की और पार्टी नेताओं से भी मिले थे। पार्टी के एक नेता ने बताया कि कई यात्राओं में सोनिया गांधी ने भी उनके साथ स्लीपर क्सास में सफर किया था। राजीव गांधी की रेलगाड़ी के स्लीपर क्लास में यात्रा को लोगों का काफी समर्थन मिला था।


लद्दाख के पहले राज्यपाल को दिलाई शपथ

नई दिल्ली। त्रिपुरा कैडर के 1977 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी (सेवानिवृत्त) राधाकृष्ण माथुर ने गुरुवार को नवगठित केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के पहले उपराज्यपाल पद की शपथ ली। गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा गुरुवार को खत्म हो गया। अब जम्मू-कश्मीर दो केंद्र शासित प्रदेशों लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में बंट गया है। जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल ने माथुर काे पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।


राधाकृष्ण माथुर देश के मुख्य सूचना आयुक्त, रक्षा सचिव, रक्षा उत्पादन सचिव, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम सचिव और भारत के मुख्य सचिव और त्रिपुरा के मुख्य सचिव भी की भूमिका भी निभा चुके हैं। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के छात्र रहे माथुर को रक्षा मामलों की गहरी समझ है। बताया जाता है कि उनके अनुभवों को देखते हुए ही उन्हें सामरिक तौर पर संवेदनशील नए केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख की कमान सौंपी गई है।


पाक ट्रेन आग में 65 की मौत,30 गंभीर जख्मी

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की कराची-रावलपिंडी तेजगाम एक्सपेस ट्रेन में आग लग गई है। इसके कारण 65 लोगों की मौत हो गई है तो वहीं 30  से अधिक लोग घायल हैं। ट्रेन में यह घटना लियाकतपुर में घटी, जो रहीम यार खान के नजदीक है। रिपोर्ट्स के अनुसार घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि बचाव दल आग को बुझाने की कोशिश में लगा हुआ है। ट्रेन कराची से रावलपिंडी जा रही थी जब उसमें यह हादसा हुआ। यह आग गैस सिलेंडर फटने की वजह से लगी, जिसे लेकर एक यात्री ट्रेन में यात्रा कर रहा था। सिलेंडर से आग लगने की पुष्टि पाकिस्तान रेलवे अधिकारियों ने की है। मिली जानकारी के अनुसार यात्री ट्रेन के अंदर नाश्ता बना रहा था, जिसके कारण आग लग गई। धमाके की वजह से तीन बोगियां आग की चपेट में आ गईं। अग्निशमन विभाग मौके पर पहुंचकर आग को बुझाने में जुटा है। घटनास्थल पर बचाव कार्य जारी है।


निर्भया के दोषियों को फांसी, याचिका विकल्प

दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 की रात को निर्भया से सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। दोषियों को फांसी देने के लिए पूरे देश में प्रदर्शन हुए थे।


सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल जुलाई में ही चारों की फांसी के खिलाफ लगाई पुनर्विचार याचिकाएं खारिज कर दी थीं इसके बाद भी इन्होंने अभी तक राष्ट्रपति से दया की गुहार नहीं लगाई तिहाड़ जेल ने दोषियों को हिंदी और अंग्रेजी में नोटिस दिए, इन्हें पढ़कर सुनाया गया और वीडियो रिकॉर्डिंग भी की गई ।


नई दिल्ली। दिल्ली में 16 दिसंबर, 2012 की रात हुए बर्बर निर्भया सामूहिक दुष्कर्म कांड के चाराें दोषियों मुकेश सिंह, अक्षय कुमार सिंह, विनय शर्मा और पवन कुमार को फांसी देने की तैयारी शुरू हाे गई है। तिहाड़ जेल प्रशासन ने इन्हें नाेटिस देकर कहा है कि मृत्युदंड के खिलाफ अगर सात दिन में राष्ट्रपति के पास दया याचिका नहीं लगाई ताे फांसी की कार्यवाही शुरू कर दी जाएगी।


सुप्रीम काेर्ट ने पिछले साल जुलाई में ही चाराें की पुनर्विचार याचिकाएं खारिज कर दी थीं। लेकिन इन्हाेंने अभी तक राष्ट्रपति से दया की गुहार नहीं लगाई है। यह इन लाेगाें के पास उपलब्ध आखिरीविकल्प है। तिहाड़ जेल मुख्यालयनेसात दिन में जवाब भी मांगे तिहाड़ जेल मुख्यालय ने 28 अक्टूबर को उन तीन जेलों के अधीक्षकों को गोपनीय चिट्ठी लिखी थी, जहां चारों दोषी बंद हैं। मुकेश और अक्षय जेल नंबर दो, विनय जेल नंबर चार और पवन जेल नंबर 14 (मंडोली जेल) में बंद है। मुख्यालय ने पत्र में कहा कि चारों दोषियों को माैत की सजा सुनाई जा चुकी है। इनसे जुड़ा कोई मामला अब सुप्रीम कोर्ट में लंबित नहीं है। मुख्यालय ने सात दिन में इनके जवाब भी मांगे हैं। संबंधित जेल अधीक्षकाें ने 29 अक्टूबर काे चारों दोषियों को हिंदी और अंग्रेजी में लिखित नाेटिस दे दिए। उनसे रिसीविंग भी ली गई है। जेल सूत्रों के अनुसार, दोषियाें काे यह चिट्ठी पढ़वाई गई है और उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी की गई। इस बीच अक्षय, विनय और पवन के वकील एपी सिंह ने कहा कि इस मामले में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की जाएगी। 'निचली अदालत काे सूचना देंगे' तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने बताया किचारों दाेषियों को नोटिस दिया है कि आपकीकानूनी लड़ाई खत्म हो चुकी है। राष्ट्रपति को दया याचिका देना चाहते हैं, तो एक हफ्ते में दे दें। यदि दया याचिका दायर नहीं करते हैं तो इसकी सूचना निचली अदालत को दी जाएगी और आगे की कार्यवाही के लिए आग्रह करेंगे।


'लौह पुरुष' जयंती पर 'राष्ट्रीय एकता दिवस'

नई दिल्ली। स्वतंत्र भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री और गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की गुरुवार को 144वीं जयंती है। देश की आजादी में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है। देश को एकता के सूत्र में बांधने वाले पटेल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के केवडिया में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर लौह पुरुष को श्रद्धांजलि दी और स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर एकता परेड में शामिल हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, 'सरदार पटेल के विचारों में देश की एकता को हर व्यक्ति महसूस कर सकता है। आज हम उनकी आवाज़ को सबसे बड़ी प्रतिमा के नीचे सुन रहे हैं। आज यहां आकर मुझे काफी शांति मिली है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने एकता दिवस के मौके पर जवानों ने मॉक ड्रिल ने करके दिखाई। इस दौरान यहां एक मॉक आतंकी हमले का रुपांतरण किया गया और किस तरह जवानों ने इसका सामना किया, ये प्रदर्शित किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर देशवासियों को एकता की शपथ दिलाई। मोदी ने देशवासियों को आंतरिक सुरक्षा, राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने के लिए शपथ दिलवाई। बता दें आजादी के समय देश छोटी-छोटी 562 रियासतों में बंटा हुआ था। ब्रिटिश शासन ने इनके सामने विकल्प रखा था कि ये भारत या पाकिस्तान में से किसी एक को चुन लें। ऐसे में कई रियासतें भारत तो कुछ पाकिस्तान में शामिल होना चाहती थीं। लेकिन कई स्वतंत्र रहना चाहती थीं। एक समस्या ये भी थी कि कुछ रियासतें काफी दूर होने के बावजूद पाकिस्तान में शामिल होना चाहती थीं। ऐसे में इस समस्या का निदान सरदार पटेल ने किया और भारत में इन रियासतों का विलय कर उन्हें एकता के सूत्र में बांधा। इस काम में उन्हें काफी चुनौतियां का सामना करना पड़ा था, लेकिन उन्होंने अपनी बुद्धि और अनुभव के बल पर इसमें सफलता हासिल की। भारत को एक विशाल राष्ट्र बनाने के पीछे उनकी सबसे बड़ी भूमिका थी। सरदार पटेल की कही बातें आज भी देश के युवाओं को प्रेरणा देती हैं। उनकी याद में देश की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी बनाई गई है।


पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर गुरुवार को पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। अंसारी, सोनिया, मनमोहन, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उनकी समाधि शक्ति स्थल पहुंचकर उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी दादी को याद करते हुए ट्वीट किया, 'आज मेरी दादी इंदिरा गांधी जी का बलिदान दिवस है। आप के फौलादी इरादे और निडर फैसलों की सीख हर कदम पर मेरा मार्गदर्शन करती रहेगी। आपको मेरा शत् शत् नमन।' गौरतलब है कि इंदिरा का जन्म 19 नवंबर 1917 को इलाहबाद में हुआ था। वह तीन बार देश की प्रधानमंत्री रहीं। 31 अक्टूबर, 1984 को उनके अंगरक्षकों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी।


पिछड़ा कश्मीर मुख्यधारा में आएगा

नई दिल्ली। कश्मीर पूरी तरह बदल जाएगा। कल से कश्मीर दो हिस्सों में बंट जाएगा जम्मू और कश्मीर व लद्दाख। दोनों ही जगह कल से लेफ्टिनेंट गवर्नर काम करना शुरू कर देंगे और बहुत से नए कानून लागू हो जाएंगे। सबसे बड़ी बात हिंदी वहां की पहली भाषा होगी। अब तक वहां उर्दू अधिकृत भाषा थी। नरेंद्र मोदी सरकार ने 370 हटाने के साथ ही वहां आधार जैसे कानून लागू करने की दिशा में पहला कदम उठा दिया था। अब वहां एक झंडा होगा और एक संविधान। नरेंद्र मोदी की सरकार का यह कदम हालांकि विपक्ष को नहीं भाया था लेकिन आम कश्मीरी अब तक इससे सहमत ही नजर आता है। घाटी में चल रही पाकिस्तान की नापाक हरकतों पर भी अब पूरी तरह नकेल कसी जा सकेगी। और कश्मीर के अलगाववादी की भट्टी पर रोटी सेकने वाले नेताओं की सुविधाओं का भी खात्मा हो सकेगा। कश्मीर की तकदीर अब बदल जाएगी। अब कश्मीर स्वर्ग बनने की ओर अपने कदम बढ़ाएगा। और वहां की जमीन पर हिंदुस्तान का कोई भी आदमी अपना हक जता सकेगा। सारे नए कानून के लागू होते ही कश्मीर हिंदुस्तान की मुख्यधारा में लौट आएगा।


आरबीआई चोर है के नारे लगाए

मुंबई। आरबीआई चोर है आरबीआई चोर है। ये नारे लगाते रहे पीएमसी बैंक घोटाले के प्रभावित लोग मुंबई में। पीएमसी बैंक घोटाले के प्रभावित लोगों का प्रदर्शन जारी है। फिर इकट्ठा हुए लोग और उनका गुस्सा हट पड़ा आरबीआई पर। उनका कहना था कि आरबीआई का प्रतिबंध पीएमसी बैंक पर से तत्काल हटना चाहिए। उनका अपना जमा किया हुआ पैसा उनको वापस मिलना चाहिये। उनमें से कोई अपनी किडनी बदलवाने के लिए रुपया निकालना चाहता है तो कोई रोजमर्रा के खर्चों को पूरा करने के लिए। पीएमसी बैंक घोटाला महाराष्ट्र सरकार की गले की हड्डी बन गया है। ऊपर से गठबंधन की फांस भी सरकार बनने में रोड़ा बनी हुई है। ऐसे में पीएमसी बैंक के पीड़ितों को तत्काल राहत मिलती हुई दिख नहीं रही है।


छठ महापर्व की 'सूर्य-पूजा' की तैयारियां

नई दिल्ली। बिहार व पूर्वी उत्तर प्रदेश में धूम धाम से मनाए जाने वाले छठ महापर्व की तैयारियां शुरू हो गई है। पर्व की लोकप्रियता देश की राजधानी दिल्ली में भी हर साल की तरह इस साल भी देखने को मिल रही है। एक तरफ जहां छठ पूजा के लिए यमुना घाटों को तैयार किया जा रहा है वहीं, पूजन सामग्री के लिए बाजार भी सज गए हैं। व्रतियों ने भी इस पर्व की तैयारी शुरू कर दी है। बृहस्पतिवार को यह व्रत नहाए-खाय के साथ शुरू होगा। घरों में व्रती इसकी तैयारी में जुटे हुए है। इस पर्व का मुख्य प्रसाद ठेकुआ, खजूर होता है जो आटे का बनता है। इसके लिए भी व्रतियों ने तैयारी शुरू कर दी है। पूजन सामग्री के भंडारण के लिए नए बर्तन भी खरीदे जा रहे हैं। साड़ियों की दुकानों पर भी रौनक है, व्रती नई साड़ी पहनकर ही अस्तांचल सूर्य व उदय होते सूर्य को अर्घ्य देती हैं।


पूजन सामग्री की बात करें तो पूर्वी दिल्ली इलाके में खासतौर से प्रसाद के लिए बाजार सजे हुए हैं। पूजन सामग्री के लिए दिल्ली के पालम इलाके, पूर्वी दिल्ली, द्वारका, बुराड़ी, गोपालपुर, जहांगीर पुरी समेत कई जगहों पर खरीदारी की जा रही है। कोशी, पीतल का सूप, बांस का सूप, दउरा, केला, संतरा, अनार, सेब, पानी फल, गागल, पानी वाला नारियल, गन्ना, कच्ची हल्दी, मूली, अदरक, सूथनी आदि की दुकानें भी जगह-जगह लगी हुई हैं।


सजाए जा रहे हैं घाट


दिल्ली में यमुना के किनारे बड़ी संख्या में छठ व्रती शाम का अर्घ्य देने घाट पर पहुंचते हैं। इसे लेकर खास तैयारी चल रही है। छठ पूजा के लिए घाट पर लकड़ी की बाड़ लगाने के साथ ही जिस घाट पर सीमेंट की सीढ़ियां नहीं हैं वहां मिट्टी को ही काटकर सीढ़ियां बनाई जा रही हैं, ताकि यमुना के तट पर व्रत रखने वाली महिलाओं की पूजा करते समय किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। प्रशासन की तरफ से भी सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं। घाटों पर नजर रखने के लए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जा रहे हैं।
 
सूर्य देव की उपासना का पर्व


छठ पूजा सूर्य देव की उपासना का पर्व है। चार दिनों तक यह पर्व चलता है। कार्तिक शुक्ल पक्ष की खष्ठी को छठ पूजा अस्तांचल सूर्य को अर्घ्य देकर की जाती है। इस बार छठ महापर्व 31 अक्टूबर को नहाय-खाय से शुरू हो रहा है। पंडित कौशल पांडेय के अनुसार, भगवान सूर्य को समर्पित इस पूजा में सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। इसे दुनिया के कठिन व्रतों में से एक माना जाता है। व्रती दो दिनों तक निर्जला रहते हैं। कार्तिक शुक्ल चतुर्थी को यह व्रत आरंभ हो रहा है। दूसरे दिन खरना होगा। पूरे दिन व्रत करने के बाद शाम को व्रती प्रसाद ग्रहण करेंगे। इस दिन छठ पूजा का प्रसाद व्रती अपने हाथों से बनाएंगे। मुख्य प्रसाद ठेकुआ, टिकरी बनाया जाएगा। खष्ठी को व्रती अस्तांचल सूर्य को तालाब, नदी के घाट के किनारे अर्घ्य देंगे। सप्तमी को प्रात: सूर्योदय के समय अर्घ्य देंगे व विधिवत पूजा कर प्रसाद वितरित किया जाएगा।


चार दिन की पूजा


-31 अक्टूबर को नहाय खाय के साथ पूजा शुरू होगी।
-1 नवंबर को खरना होगा।
-2 नवंबर को अस्त होते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।
-3 नवंबर को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।


ट्रेन में लगी आग,16 की मौत 30 जख्मी

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के लियाकतपुर में गुरुवार को ट्रेन में आग लगने से 16 यात्रियों की मौत हो गई और 30 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। यह जानकारी स्थानीय मीडिया ने दी।


बताया गया है कि तेजगाम एक्सप्रेस कराची से रावलपिंडी जा रही थी। ट्रेन में एक यात्री गैस सिलेंडर लेकर जा रहा था। अचानक उसमें विस्फोट हो गया। विस्फोट होते ही बोगी में आग लग गई। इस हादसे में झुलसकर 16 लोगों की जान चली गई और 30 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। राहत और बचाव का कार्य जारी है। एक प्रत्यक्षदर्शी मुसाफिर के अनुसार विस्फोट तब हुआ जब एक यात्री ट्रेन में नाश्ता तैयार कर रहा था।


भीषण सड़क हादसे में 8 लोगो की मौत

बरेली में ट्रक-वैन और बाइक में भीषण टक्कर, 8 लोगों की दर्दनाक मौत


बरेली। एक दर्दनाक सड़क हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, ट्रक-वैन और बाइक की भीषण टक्कर हो गई। इस टक्कर में 8 लोगों की मौत हो गई वहीं, करीब 4 लोग घायल बताए जा रहे हैं। हादसे में मारे जाने वाले में 2 बच्चे, 4 महिला, और 2 पुरूष बताए जा रहे हैं।


बताया जा रहा है कि हादसे में मारे जाने वाले 8 लोगों में 5 लोग एक ही परिवार के थे। हादसे की जानकारी के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।


घटना की जानकारी के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सड़क दुर्घटना में मारे गए लोगों की मौत पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने दिवंगत लोगों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को घायलों के उचित इलाज कराने के निर्देश दिए। बरेली देहात के पुलिस अधीक्षक (एसपी) संसार सिंह ने बताया कि बुधवार शाम बीसलपुर से बरेली की तरफ जा रहे एक ट्रक ने पहले एक बाइक को टक्कर मारी और फिर एक कार को टक्कर मार दी, जिससे आठ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।


बेकार की बातों पर ध्यान न दें: तुला

राशिफल


मेष-स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। आय में वृद्धि तथा उन्नति मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। पार्टनरों का सहयोग समय पर प्राप्त होगा। यात्रा की योजना बनेगी। घर-बाहर कुछ तनाव रहेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें।


वृष-पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बनेगा। स्वादिष्ट व्यंजनों का लाभ मिलेगा। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल रहेंगे। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। काम में मन लगेगा। शेयर मार्केट में लाभ रहेगा। नौकरी में सुविधाएं बढ़ सकती हैं। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। धन प्राप्ति सुगमता से होगी।


मिथुन-दु:खद सूचना मिल सकती है, धैर्य रखें। फालतू खर्च होगा। कुसंगति से बचें। बेकार की बातों पर ध्यान न दें। अपने काम पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। लाभ होगा।


कर्क-भूले-बिसरे साथी तथा आगंतुकों के स्वागत तथा सम्मान पर व्यय होगा। आत्मसम्मान बना रहेगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। बड़ा काम करने का मन बनेगा। परिवार के सदस्यों की उन्नति के समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता रहेगी। पारिवारिक सहयोग बना रहेगा। किसी व्यक्ति की बातों में न आएं, लाभ होगा।


सिंह-घर-बाहर प्रसन्नतादायक वातावरण रहेगा। नौकरी में चैन महसूस होगा। व्यापार से संतुष्टि रहेगी। संतान की चिंता रहेगी। प्रतिद्वंद्वी तथा शत्रु हानि पहुंचा सकते हैं। मित्रों का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। यात्रा की योजना बनेगी। प्रसन्नता रहेगी।


कन्या-यात्रा मनोनुकूल मनोरंजक तथा लाभप्रद रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति संभव है। व्यापार-व्यवसाय से मनोनुकूल लाभ होगा। घर-बाहर सफलता प्राप्त होगी। परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी। काम में लगन तथा उत्साह बने रहेंगे। मित्रों के साथ प्रसन्नतापूर्वक समय बीतेगा।


तुला-स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। बनते कामों में विघ्न आएंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। जीवनसाथी से सामंजस्य बैठाएं। फालतू खर्च होगा। कुसंगति से बचें। बेवजह लोगों से मनमुटाव हो सकता है। बेकार की बातों पर ध्यान न दें। आय में निश्चितता रहेगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा। जल्दबाजी न करें।


वृश्चिक-बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा मनोरंजक रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में सुकून रहेगा। जल्दबाजी में कोई आवश्यक वस्तु गुम हो सकती है। कानूनी अड़चन आ सकती है। विवाद न करें। व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता बनी रहेगी।


धनु-नई योजना लागू करने का श्रेष्ठ समय है। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। सामाजिक कार्य सफल रहेंगे। मान-सम्मान मिलेगा। कार्यसिद्धि होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। घर-बाहर प्रसन्नता का माहौल रहेगा। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। बड़ा कार्य करने का मन बनेगा। सफलता के साधन जुटेंगे। जोखिम न उठाएं।


मकर-किसी जानकार प्रबुद्ध व्यक्ति का सहयोग प्राप्त होने के योग हैं। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। किसी राजनयिक का सहयोग मिल सकता है। लाभ के दरवाजे खुलेंगे। चोट व दुर्घटना से बचें। व्यस्तता रहेगी। थकान व कमजोरी महसूस होगी। विवाद से बचें। धन प्राप्ति होगी। प्रमाद न करें।


कुंभ-स्वास्थ्य का ध्यान रखें। आय में कमी रह सकती है। अपनी बात लोगों को समझा  पाएंगे। ऐश्वर्य के साधनों पर बड़ा खर्च होगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। हितैषी सहयोग करेंगे। धनार्जन संभव है।


मीन-प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। किसी वरिष्ठ व्यक्ति के सहयोग से कार्य की बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। परिवार के लोग अनुकूल व्यवहार करेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। नए लोगों से संपर्क होगा। आय में वृद्धि तथा आरोग्य रहेगा। चिंता में कमी होगी। जल्दबाजी न करें।


सौ तरह के गुलाब

गुलाब एक बहुवर्षीय, झाड़ीदार, कंटीला, पुष्पीय पौधा है जिसमें बहुत सुंदर सुगंधित फूल लगते हैं। इसकी १०० से अधिक जातियां हैं जिनमें से अधिकांश एशियाई मूल की हैं। जबकि कुछ जातियों के मूल प्रदेश यूरोप, उत्तरी अमेरिका तथा उत्तरी पश्चिमी अफ्रीका भी है। भारत सरकार ने १२ फरवरी को 'गुलाब-दिवस' घोषित किया है। गुलाब का फूल कोमलता और सुंदरता के लिये प्रसिद्ध है, इसी से लोग छोटे बच्चों की उपमा गुलाब के फूल से देते हैं।गुलाब प्रायः सर्वत्र १९ से लेकर ७० अक्षांश तक भूगोल के उत्तरार्ध में होता है। भारतवर्ष में यह पौधा बहुत दिनों से लगाया जाता है और कई स्थानों में जंगली भी पाया जाता है। कश्मीर और भूटान में पीले फूल के जंगली गुलाब बहुत मिलते हैं। वन्य अवस्था में गुलाब में चार-पाँच छितराई हुई पंखड़ियों की एक हरी पंक्ति होती है पर बगीचों में सेवा और यत्नपूर्वक लगाए जाने से पंखड़ियों की संख्या में बृद्धि होती है पर केसरों की संख्या घट जाती हैं। कलम पैबंद आदि के द्बारा सैकड़ों प्रकार के फूलवाले गुलाब भिन्न-भिन्न जातियों के मेल से उत्पन्न किए जाते हैं। गुलाब की कलम ही लगाई जाती है। इसके फूल कई रंगों के होते हैं, लाल (कई मेल के हलके गहरे) पीले, सफेद इत्यादि। सफेद फूल के गुलाब को सेवती कहते हैं। कहीं कहीं हरे और काले रंग के भी फूल होते हैं। लता की तरह चढ़नेवाले गुलाब के झड़ भी होते हैं जो बगीचों में टट्टियों पर चढ़ाए जाते हैं। ऋतु के अनुसार गुलाब के दो भेद भारतबर्ष में माने जाने हैं सदागुलाब और चैती। सदागुलाब प्रत्येक ऋतु में फूलता और चैती गुलाब केवल बसंत ऋतु में। चैती गुलाब में विशेष सुगंध होती है और वही इत्र और दवा के काम का समझ जाता है।


भारतवर्ष में जो चैती गुलाब होते है वे प्रायः बसरा या दमिश्क जाति के हैं। ऐसे गुलाब की खेती गाजीपुर में इत्र और गुलाबजल के लिये बहुत होती है। एक बीघे में प्रायः हजार पौधे आते हैं जो चैत में फूलते है। बड़े तड़के उनके फूल तोड़ लिए जाते हैं और अत्तारों के पास भेज दिए जाते हैं। वे देग और भभके से उनका जल खींचते हैं। देग से एक पतली बाँस की नली एक दूसरे बर्तन में गई होती है जिसे भभका कहते हैं और जो पानी से भरी नाँद में रक्खा रहता है। अत्तार पानी के साथ फूलों को देग में रख देते है जिसमें में सुगंधित भाप उठकर भभके के बर्तन में सरदी से द्रव होकर टपकती है। यही टपकी हुई भाप गुलाबजल है।


गुलाब का इत्र बनाने की सीधी युक्ति यह है कि गुलाबजल को एक छिछले बरतन में रखकर बरतन को गोली जमीन में कुछ गाड़कर रात भर खुले मैदान में पडा़ रहने दे। सुबह सर्दी से गुलाबजल के ऊपर इत्र की बहुत पतली मलाई सी पड़ी मिलेगी जिसे हाथ से काँछ ले। ऐसा कहा जाता है कि गुलाब का इत्र नूरजहाँ ने १६१२ ईसवी में अपने विवाह के अवसर पर निकाला था।


भारतवर्ष में गुलाब जंगली रूप में उगता है पर बगीचों में दह कितने दिनों से लगाया जाता है। इसका ठीक पता नहीं लगता। कुछ लोग 'शतपत्री', 'पाटलि' आदि शब्दों को गुलाब का पर्याय मानते है। रशीउद्दीन नामक एक मुसलमान लेखक ने लिखा है कि चौदहवीं शताब्दी में गुजरात में सत्तर प्रकार के गुलाब लगाए जाते थे। बाबर ने भी गुलाब लगाने की बात लिखी है। जहाँगीर ने तो लिखा है कि हिंदुस्तान में सब प्रकार के गुलाब होते है।


'पनीर टिक्का' भारतीय व्यंजन

पनीर टिक्का एक भारतीय व्यंजन है जो पनीर के टुकडो को मसाले में लपेटकर और तंदूर (ग्रील्ड) में पकाया जाता हैं। यह चिकन टिक्का और अन्य मांसाहारी व्यंजनों का शाकाहारी विकल्प है। यह एक लोकप्रिय पकवान है जो भारत और देशों में व्यापक रूप से एक भारतीय डायस्पोरा के साथ उपलब्ध है।


तैयारी:-पनीर के टुकड़ों को मसाले में डुबोकर शिमला मिर्च, प्याज़ और टमाटरों के साथ एक डंडी में लगाकर तन्दूर में भूना जाता है। इसे गरमागरम नीम्बू के रस और पुदीने की चटनी के साथ परोसा जाता है।पनीर के टुकड़ो को (पनीर एक प्रकार का ताजा चीज होता हैं) अच्छी तरह से मसाले में लपेटा जाता है फिर शिमला मिर्च, प्याज और टमाटर के साथ एक ग्रिल करने वाली लोहे की छड पर व्यवस्थित किया जाता है। ये छड़ें तंदूर में लगी रहती हैं इसलिए ये पनीर एवं अन्य चीज भी गरम हो जाती हैं। इसके बाद इन गर्म चीजों में नींबू का रस और चाट मसाला अच्छी तरह लगाया जाता हैं। यह कभी कभी सलाद या पुदीने की चटनी के साथ परोसा जाता है। टिक्का व्यंजन पारंपरिक रूप से टकसाल चटनी के साथ अच्छी तरह से चलते हैं। पनीर के कुरकुरापन के चलते इसका स्वाद बिलकुल अलग होता हैं।


बदलाव:-जब पनीर टिक्का को ग्रेवी के साथ परोसा जाता है, इसे पनीर टिक्का मसाला कहा जाता है। पनीर टिक्का को रोल के तरह भी लपेट कर बनाया जाता है, जिसमे पनीर टिक्का को भारतीय रोटी के साथ लपेटा जाता है। पनीर टिक्का एक प्रकार कबाब के रूप में भी बनाया जाता है।


हाल के वर्षों में पनीर टिक्का को कई प्रकार से बनाया जाने लगा हैं जिसमे से एक कश्मीरी पनीर टिक्का हैं। इसमें पनीर के साथ कटा हुआ बादाम डालकर ग्रिल किया जाता हैं। कई प्रकार के चीनी व्यंजन जैसे पनीर टिक्का मसाला चाउ मीन भी आजकल उपलब्ध हैं।


भारत में अंतर्राष्ट्रीय फास्ट फूड चेन पिज्जा हट और डोमिनोज़ ने पनीर टिक्का को अपने मेन्यू में भी शामिल किया है जिसमे पनीर टिक्का को पिज्जा के टॉपिंग की तरह पेशकश करते हैं, जबकि सबवे नामक फ़ूड चेन पनीर टिक्का सैंडविच बनाता है। और मैकडॉनल्ड की अपने मेनू में एक पनीर टिक्का लपेटो। आईटीसी के बिंगो ब्रांड ने आलू के चिप्स के पनीर टिक्का स्वाद का प्रयोग किया है। इससे पहले, 2003 में, नेस्ले के मैगी ब्रांड ने पनीर टिक्का की तुरंत तैयार होने वाले तैयार करने के लिए तैयार किया। अन्य कंपनियां पनीर टिक्का के मसाला मिक्स और खाने के लिए तैयार हैं।


बबूल का हरियाली से संबंध

इसका वानस्पतिक नाम ऐकेशिया अरेबिका (Acacia arabica) है। यह मध्यम वर्ग का काँटेदार वृक्ष बलुई जमीन में नदी के किनारे अधिक उगता है। इसकी छाल से निकला गोंद बहुत अच्छा होता है। लकड़ी मजबूत होती है और बैलगाड़ी बनाने के काम आती है।


आदरणीय भारत के राष्ट्रिय नागरिक महोदय व् नागरिक बन्धुओं हमारे भरत के नागरिकों पर राज करने वाले राष्ट्रिय नागरिकों से विनम्र अपील हमारे देश का कोई भी प्रधानमंत्री अगर किसी राज्य में बीस करोड़ की मदद देने की घोषणा करते है यह तो अच्चा है परन्तु मान लो की किसी राज्य की जनता पेड़ के पत्तों के पत्तल दोने का व्यापर करने में सक्षम है तो प्रधानमन्त्री जी को यह घोषणा करने की करपा करनी चाहिए की केन्द्र सर्कार दस करोड़ नगद देगे और दस करोड़ के सालाना राज्य की जनता से पेड़ के पत्तों के पत्तल दोने खरीदेंगे फिर देश की जनता को भोज के लिए हर गैस सरेण्डर के साथ मुफ्त देंगे जो देश की जनता जल पानी बर्बादी से जानलेवा मलेरिया व जल पानी बर्बादी से स्टील के बर्तन व् स्टील के ठीकरे धोनें पर चमड़ी कटने की बीमारी न हो जो जितना आमिर आदमी उतना बरबाद क्यों उसका इलाज ही नहीं होता स्टील के बर्तन को धोने वाले की परेशानी दूर बर्तन धोने वाले को रोज लगभग दोनों समय 150 ठकरे धोने से निजात मिलेगी स्टील के बरतन को धोने से जो जल बहता है जल बहने से मलेरिया के मछरों का आतंक मिट सकता है मलेरिया की बिमारियों पर परिवार बरबाद होने में कमी आएगी दवाइयों में शासनात्मक कमीशन बाजी व घोटाले बाजी जो देश को बरबाद करने में तुली हुई ह उसमें कमी आ सकती है यह योजना हर परिवार के पास पहुचती है तो हर परिवार ६ सदस्य ४० हजार रूपये की बचत व सरकार को मलेरिया के लिए परेशानी में कमी आएगी मानव व जानवरों को एलरजी नमक बिमारियों से छुटकारा पाने में मदद मिलेगी और किसी राज्य का मुख्यमंत्री जो अपने राज्य को मेहनतकस व महत्वाकान्सी आत्म शक्तिशाली बनाना चाहता है तो अपनी राज्य की जनता को पेड़ के पत्तों के पत्तल दोने का व्यापर करवाने व पेड़ के पत्तों के पत्तल दोने में खाने का प्रचार होना चाहिए सरकारें जनता नो पेड़ के पत्तों के पत्तल दोने का व्यापर का अनुदान देगी तो उस राज्य में हरियाली की कमी कभी नहीं आएगी। इसका वानस्पतिक नाम बैसिआ लैटीफालिया या मधुका इंडिका (Bassia latifolia or Madhuca indica) है। यह उत्तर भारत में हर जगह उगता है। सैपोटेसिई कुल का यह पौधा ३०-४० फुट ऊँचा होता है। इसकी लकड़ी जलाने के काम आती है तथा पत्तों से दोना पत्तल बनाए जाते हैं। इसका फूल गरमी के शुरू में झड़ता है, जो इकठ्‌टा कर खाया जाता है। इससे बहुत बड़े पैमाने पर शराब भी बनाई जाती है।


अति लाभकारी अदरक

अदरक (वानस्पतिक नाम: जिंजिबर ऑफ़िसिनेल / Zingiber officinale), एक भूमिगत रूपान्तरित तना है। यह मिट्टी के अन्दर क्षैतिज बढ़ता है। इसमें काफी मात्रा में भोज्य पदार्थ संचित रहता है जिसके कारण यह फूलकर मोटा हो जाता है। अदरक जिंजीबरेसी कुल का पौधा है। अधिकतर उष्णकटिबंधीय (ट्रापिकल्स) और शीतोष्ण कटिबंध (सबट्रापिकल) भागों में पाया जाता है। अदरक दक्षिण एशिया का देशज है किन्तु अब यह पूर्वी अफ्रीका और कैरेबियन में भी पैदा होता है। अदरक का पौधा चीन, जापान, मसकराइन और प्रशांत महासागर के द्वीपों में भी मिलता है। इसके पौधे में सिमपोडियल राइजोम पाया जाता है।


सूखे हुए अदरक को सौंठ (शुष्ठी) कहते हैं। भारत में यह बंगाल, बिहार, चेन्नई,मध्य प्रदेश कोचीन, पंजाब और उत्तर प्रदेश में अधिक उत्पन्न होती है। अदरक का कोई बीज नहीं होता, इसके कंद के ही छोटे-छोटे टुकड़े जमीन में गाड़ दिए जाते हैं। यह एक पौधे की जड़ है। यह भारत में एक मसाले के रूप में प्रमुख है।


अदरक का अन्य उपयोग:-अदरक का इस्तेमाल अधिकतर भोजन के बनाने के दौरान किया जाता है। अक्सर सर्दियों में लोगों को खांसी-जुकाम की परेशानी हो जाती है जिसमें अदरक प्रयोग बेहद ही कारगर माना जाता है। यह अरूची और हृदय रोगों में भी फायदेमंद है। इसके अलावा भी अदरक कई और बीमारियों के लिए भी फ़ायदेमंद मानी गई है।


वातावरण अनुकूल मशरूम

कुकुरमुत्ता (मशरूम) एक प्रकार का कवक है, जो बरसात के दिनों में सड़े-गले कार्बनिक पदार्थ पर अनायास ही दिखने लगता है। इसे या खुम्ब, 'खुंबी' या मशरूम भी कहते हैं। यह एक मृतोपजीवी जीव है जो हरित लवक के अभाव के कारण अपना भोजन स्वयं संश्लेषित नहीं कर सकता है। इसका शरीर थैलसनुमा होता है जिसको जड़, तना और पत्ती में नहीं बाँटा जा सकता है। खाने योग्य कुकुरमुत्तों को खुंबी कहा जाता है।


'कुकुरमुत्ता' दो शब्दों कुकुर (कुत्ता) और मुत्ता (मूत्रत्याग) के मेल से बना है, यानि यह कुत्तों के मूत्रत्याग के परिणामस्वरूप उत्पन्न होता है। ऐसी मान्यता भारत के कुछ इलाकों में प्रचलित है, किन्तु यह बिलकुल गलत धारणा है।उपर्युक्त सारणी में दिये गये विभिन्न प्रकार की मशरूम प्रजातियों की वानस्पतिक वृद्धि (बीज फैलाव) व फलनकाय (फलन) अवस्था के लिये अनुकूल तापमानों को देखने से यह स्पश्ट हो जाता है कि मशरूम को कृषि फसलों की भांति फेरबदल कर चक्रों में उगाया जा सकता है। जैसे मैदानी भागों व कम उँचाई पर स्थित पहाड़ी भागों में शरद ऋतु में श्वेत बटन मशरूम, ग्रीश्म ऋतु में ग्रीष्मकालीन श्वेत बटन मशरूम व ढींगरी तथा वर्शा ऋतु में पराली मशरूम व दूधिया मशरूम।


भारत के मैदानी भागों में श्वेत बटन मशरूम को शरद ऋतु में नवम्बर से फरवरी तक, ग्रीष्मकालीन श्वेत बटन मशरूम को सितम्बर से नवम्बर व फरवरी से अप्रैल तक, काले कनचपडे़ मशरूम को फरवरी से अप्रैल तक, ढींगरी मशरूम को सितम्बर से मई तक, पराली मशरूम को जुलाई से सितम्बर तक तथा दूधिया मशरूम को फरवरी से अप्रैल व से सितम्बर तक उगाया जा सकता है।


मध्यम उंचाई पर स्थित पहाड़ी स्थानों में श्वेत बटन मशरूम को सितम्बर से मार्च तक, ग्रीष्मकालीन श्वेत बटन मशरूम को जुलाई से अगस्त तक व मार्च से मई तक, षिटाके मशरूम को अक्टूबर से फरवरी तक, ढिंगरी मशरूम को पूरे वर्ष भर, काले कनचपड़े मशरूम को मार्च से मई तक तथा दूधिया मशरूम को अप्रैल से जून तक उगाया जा सकता है।


अधिक उंचाई पर स्थित पहाड़ी क्षेत्रों में श्वेत बटन मशरूम को मार्च से नवम्बर तक, ढिंगरी मशरूम को मई से अगस्त तक तथा षिटाके मशरूम को दिसम्बर से अप्रैल तक उगाया जा सकता है।


यज्ञ कैसे करें ‌?

यज्ञ कैसे करें
 मुनिवरो, हम तुम्हारे समक्ष पूर्व की भांति कुछ मनोहर वेद मंत्रों का गुणगान गाते चले जा रहे थे। यह भी तुम्हें प्रतीत हो गया होगा, आज हमने पूर्व से जिन वेद मंत्रों का पठन-पाठन किया। हमारे यहां परंपरागतो से ही उस मनोहर वेदवानी का प्रसार होता रहा है। जिस पवित्र वेद वाणी में उस परमपिता परमात्मा की महिमा का गुणगान किया जाता है। क्योंकि वह परमपिता परमात्मा अनंतमयी है और वह सब रूप माने गए हैं। वह परमपिता परमात्मा में परिणत रहते हैं। क्योंकि सब उसका आयतन है उसका सदन है। उसका ग्रह है और वह उसी में वास कर रहे हैं। इसलिए हम परमपिता परमात्मा का यह यज्ञोमयी स्वरूप वर्णन करते रहते हैं और वह वास्तव में इस ब्रहम् और आंतरिक दोनों जगत में रहने वाला है। उस परमपिता परमात्मा की जो अनंतता है। वह एक प्रकार की यज्ञशाला के रूप में प्राय: हमें दृष्टिपात आ रही है। यह अपने में बड़ा अनूठा रहा है अनुपम है। मुनिवर देखो हमारा वेद का मंत्र यह कह रहा है कि यज्ञ अग्नि स्वरूप है। अग्नि प्रत्येक पदार्थ का विभाजन कर देती है और उसमें भेदन करने की सत्ता विद्वान रहती है। इसलिए अग्नाम् ब्रह्मा: यह अग्नि ब्रह्मा ‌बन करके रहती है। वही अग्नि जो वेदों का गीत गाने वाला पंडित्व होता है। उसकी वाणी भी सजातीय हो करके अग्नि स्वरूप बन जाती है।अग्नि नाना प्रकार की बनती है। जैसे हमारे यहां ब्राह्म अग्नि भी मानी गई है। जब पंडित्व ब्रह्मा का बखान करता है अथवा ब्रह्म की प्रतिभा में रत हो जाता है। तो ब्राह्मण मानो वेद के मंथन करने वाला पंडित अपने में महान बनता हुआ। उस महान अग्नि के रूप में परिणत हो जाता है।वह  अग्नि माना गया है इसलिए यह सर्वत्र ब्रह्मांड अग्नि में ही सजातीय हो रहा है। जिसके ऊपर परंपरागतो से ही आचार्य विचार-विनिमय करते रहे हैं। आज मैं इस संबंध में तुम्हें विशेषता में नहीं ले जाना चाहता हूं। विचार केवल यह है कि हम उस अग्निमयी स्वरूप को अग्नि में धारण करते चले जाए और जब भी मानव बुद्धिमता पंडित और विवेक में परिणत हो जाता है। तो वह अग्निमयी स्वरूप बन जाता है। आओ मेरे प्यारे देखो विचार यह चल रहा है यज्ञम् भूतम ब्रह्मा: कहीं से मुझे प्रेरणा आ रही है कि यज्ञ के ऊपर कुछ विचार-विनिमय किया जाए। हमारे यहां संसार एक यज्ञ रूप माना गया है। यह एक प्रकार की यज्ञशाला है। यह जो मानवीय शरीर है वह भी एक प्रकार की यज्ञशाला है और इस यज्ञशाला और ब्रह्मांड में दोनों का समन्वय कर दिया जाता है। तो वह भव्य यज्ञ में परिणत हो जाता है। विचार-विनिमय यह है कि हम परमपिता परमात्मा के अनतंमयी यज्ञ को जानने वाले बने। स्वयं वह परमपिता परमात्मा ब्रह्म तत्व को अपने संरक्षण में लिए हुए। इस ब्रह्मांड को गतिमान बना रहा है। आज का हमारा वेद मंत्र यह कहता है कि 'यज्ञम ब्रह्मा:'।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


नवंबर 01, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-88 (साल-01)
2. शुक्रवार, नवंबर 01, 2019
3. शक-1941, कार्तिक-शुक्ल पक्ष, तिथि- पंचमी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:28,सूर्यास्त 05:48
5. न्‍यूनतम तापमान -18 डी.सै.,अधिकतम-24+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित


 


17 अक्टूबर से यूएई में खेला जाएगा टी-20 कप

लंदन। रवि शास्त्री का भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के रूप में कार्यकाल अगले महीने टी-20 विश्व कप के साथ समाप्त हो जाएगा और उन्होंने स्वीक...