रविवार, 16 जून 2024

मात्र 1 रन से चूका नेपाल, अफ्रीका जीतीं

मात्र 1 रन से चूका नेपाल, अफ्रीका जीतीं 

इकबाल अंसारी 
किंग्सटाउन। टी-20 वर्ल्ड कप के  31वें मुकाबले में नेपाल बड़ा उलट-फेर करने से मात्र 1 रन से चूक गया। साउथ अफ्रीका के खिलाफ हुए इस मुकाबले में नेपाल को जीत के लिए 116 रनों का टारगेट मिला था, मगर ये एसोसिएट टीम निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 114 ही रन बना पाई।
इस टी20 वर्ल्ड कप में यूएसए ने पाकिस्तान को हराकर सबसे बड़ा उलटफेर किया था, अगर नेपाल साउथ अफ्रीका को हराने में कामयाब रहता तो उनकी गिनती भी यूएस के साथ होती। बता दें, कि साउथ अफ्रीका की इस जीत के हीरो तबरेज शम्सी रहे, जिन्होंने 4 विकेट चटकाकर नेपाल को जीतने से रोका।
टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी साउथ अफ्रीका की टीम ने रीजा हेंड्रिक्स की 43 रनों की पारी के दम पर 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 115 रन बोर्ड पर लगाए। हेंड्रिक्स के बाद ट्रिस्टन स्टब्स ने 18 गेंदों पर 27 रनों की सर्वाधिक पारी खेली। वहीं नेपाल के लिए गेंदबाजी में कुशल भुर्तेल चमके जिन्होंने 4 विकेट चटकाए, वहीं दीपेन्द्र सिंह को तीन सफलताएं मिली।
116 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी नेपाल की टीम को कुशल भुर्टेल (13) और आसिफ शेख (42) ने अच्छी शुरुआत देते हुए पहले विकेट के लिए 35 रन जोड़े। इन दोनों को ही शम्सी ने पवेलियन की राह दिखाई। इसके बाद अनिल साह ने 27 रन की पारी खेल नेपाल को टारगेट के नजदीक पहुंचाया।

पाकिस्तान के टी20 वर्ल्ड कप से बाहर होने पर पूर्व क्रिकेटरों ने ऐसे किया रिएक्ट

आखिरी ओवर में नेपाल को जीत के लिए 8 रनों की दरकार थी। ओट्टनील बार्टमैन की तीसरी गेंद पर चौका और चौथी गेंद पर दो रन लेकर गुलशन झा ने नेपाल को जीत की दहलीज पर ला खड़ा किया, मगर आखिरी दो गेंदों पर वह दो रन नहीं बना पाए। आखिरी गेंद पर झा रन आउट हुए और नेपाल मात्र 1 रन से यह मैच हारा।

'संपूर्ण समाधान' दिवस का आयोजन किया: डीएम

'संपूर्ण समाधान' दिवस का आयोजन किया: डीएम 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में शनिवार को सदर तहसील में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी ने जनसमयाओं को सुनते हुए सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को उनके विभाग से सम्बंधित शिकायतों को गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्धता के साथ निस्तारित करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही साथ उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि शिकायतों के निस्तारण से शिकायतकर्ता को संतुष्ट भी होना चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि जन-शिकायतों का निस्तारण शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले बिंदुओं में से एक है, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता स्वीकार्य नहीं है। जिलाधिकारी ने समाधान दिवस में आयें हुए वरासत, अवैध कब्जा, विद्युत बिलों से सम्बंधित शिकायतों का शीघ्रता से निस्तारण किए जाने का निर्देश दिया है।  
सम्पूर्ण समाधान दिवस पर कुल 46 शिकायतें आयीं (राजस्व विभाग की 20, पुलिस विभाग की 10 व अन्य विभागों से सम्बंधित कुल 16 शिकायतें), जिनमें से कुल 6 शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। जिलाधिकारी ने शेष शिकायतों के निस्तारण हेतु सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को शिकायतों को आज ही प्राप्त करते हुए उनको निर्धारित समयसीमा के अन्तर्गत गुणवत्तापूर्ण ढंग से निस्तारण के निर्देश दिए है। जिलाधिकारी ने सभी सम्बंधित अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा है कि शिकायतों का निस्तारण अनिवार्य रूप से निर्धारित समयसीमा के अन्तर्गत हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही एवं उदासीनता पाये जाने पर सम्बंधित विभागों के अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सदर अभिषेक कुमार सिंह, तहसीलदार सदर सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

विशेष: आज मनाया जाएगा 'फादर्स डे'

विशेष: आज मनाया जाएगा 'फादर्स डे'

सरस्वती उपाध्याय 
हर साल जून के तीसरे रविवार को पिताओं के त्याग, प्रेम और समर्पण का जश्न मनाया जाता हैं। यह दिन, जिसे पितृ दिवस के रूप में जाना जाता है, पिताओं को उनके अटूट स्नेह और जीवन में अमूल्य योगदान के लिए सम्मानित करने का अवसर प्रदान करता है।
वैसे तो पिता के अमूल्य प्रेम, बलिदान, अटूट स्नेह का आभार व्यक्त करने का कोई एक दिन नही होता, क्योंकि पिता अपना पूरा जीवन संतान के लिए न्यौछावर कर देता है, पिता की कड़ी तपस्या से ही संतान का जीवन सुखों से भर जाता है।
इस साल, 'फादर्स डे' आज मनाया जाएगा। इस खास मौके पर, आइए हम उन पिताओं की सराहना करें जो अपने बच्चों की परवरिश और बेहतरी के लिए अथक प्रयास करते हैं।

पिताओं की भूमिका: समाज की आधारशिला

पिता सिर्फ परिवार के मुखिया नहीं होते, बल्कि वे समाज की आधारशिला भी होते हैं। वे बच्चों को जीवन के मूल्यों, अनुशासन और नैतिकता सिखाते हैं। वे अपने बच्चों के सपनों को पूरा करने में मदद करते हैं और उन्हें हर मुश्किल में सहारा देते हैं।
आज के बदलते दौर में, पिताओं की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो गई है। वे न सिर्फ कमाने वाले हैं, बल्कि घर के कामों में भी बराबर भागीदारी करते हैं। वे बच्चों की भावनात्मक जरूरतों को भी समझते हैं और उनका ध्यान रखते हैं।

पितृ दिवस कैसे मनाएं ?

पितृ दिवस मनाने के कई तरीके हैं। आप अपने पिता को उनके पसंदीदा भोजन बनाकर खिला सकते हैं, उनके लिए कोई तोहफा खरीद सकते हैं, या फिर उनके साथ क्वालिटी टाइम बिता सकते हैं। आप उन्हें एक कार्ड लिखकर भी बता सकते हैं कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं और उनका सम्मान करते हैं।
इस फादर्स डे, आइए हम अपने पिताओं को उनके अनमोल योगदान के लिए धन्यवाद दें और उन्हें बताएं कि वे हमारे जीवन में कितने महत्वपूर्ण हैं।

यहां कुछ और विचार दिए गए हैं, जिनसे आप फादर्स डे को खास बना सकते हैं:-

अपने पिता के साथ उनकी पसंदीदा गतिविधि करें।
उनके लिए एक विशेष वीडियो या फोटो एल्बम बनाएं।
उन्हें किसी स्पा या मसाज के लिए ले जाएं।
उनके लिए घर की सजावट करें।
उनके नाम पर कोई दान करें।

सेतुपति ने अपने को-एक्टर शाहरुख की तारीफ की

सेतुपति ने अपने को-एक्टर शाहरुख की तारीफ की 

कविता गर्ग 
मुंबई। फिल्म 'जवान' में विलेन का रोल निभाने वाले साउथ स्टार विजय सेतुपति ने अपने को-एक्टर शाहरुख खान की जमकर तारीफ की है। उन्होंने बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान को एक शानदार कहानीकार बताया है।
जवान से ही विजय सेतुपति ने हिंदी सिनेमा में कदम रखा। हालांकि, उससे पहले वो हिंदी वेब सीरीज़ फर्जी में शाहिद कपूर के साथ नजर आए थे।
शाहरुख की तारीफ करते हुए विजय सेतुपति ने कहा, “शाहरुख खान की आवाज़ सुनकर मैं हैरान रह गया था। वो एक शानदार कहानीकार हैं। उनका दिमाग बहुत तेज़ है। मैंने उनसे एक इंटरव्यू में कहा था कि वो एक स्टार से ज्यादा एक शख्स के तौर पर आकर्षक हैं।”
हाल ही में एक इंटरव्यू में भी उन्होंने शाहरुख के बारे में खुलकर बात की थी। उन्होंने बताया था कि कैसे शाहरुख खान जवान की शूटिंग के दौरान उनकी तारीफ किया करते थे ? साथ ही उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया था कि वो शाहरुख से क्या-क्या सीखे हैं ?

शाहरुख से क्या सीखें विजय ? 

विजय ने कहा था, “मैं हर किसी से कुछ न कुछ सीखता हूं। शाहरुख खान से जो मैं सीखा हूं, वो ये है कि उनका एनर्जी लेवल कभी नीचे नहीं जाता है। एक दिन शूटिंग के दौरान उनकी तबीयत ठीक नहीं थी। लेकिन आप ये बात तब तक नहीं जान पाएंगे, जब तक वो आपको खुद न बता दें। उनके अंदर ये शानदार क्वालिटी है।”
विजय ने कहा कि शाहरुख ने मेरे बारे में कई चीज़ें बताईं, जिससे मुझे बहुत खुशी हुई। उनका कहना था कि वो इस बात से बेहद खुश हुए थे कि शाहरुख उनके परफॉर्मेंस के कई पहलुओं को नोटिस किया करते थे।
जवान में विजय ने विलेन का रोल निभाया था। फिल्म में उनके दमदार अभिनय को खूब सराहा गया था। इस फिल्म का निर्देशन साउथ के निर्देशक एटली ने किया था। जवान शाहरुख खान के करियर की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी बनी। इसने एक हज़ार करोड़ से ज्यादा का बिज़नेस किया था।

बिभव की न्यायिक हिरासत 22 तक के लिए बढ़ाई

बिभव की न्यायिक हिरासत 22 तक के लिए बढ़ाई 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के आरोपी बिभव कुमार की न्यायिक हिरासत 22 जून तक के लिए बढ़ा दी है। शनिवार को बिभव कुमार की न्यायिक हिरासत खत्म हो रही थी, जिसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया।
इससे पहले, 31 मई को कोर्ट ने बिभव कुमार को 14 जून तक की न्यायिक हिरासत में भेजा था। 27 मई को कोर्ट ने बिभव की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। 14 जून को हाईकोर्ट ने बिभव कुमार की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया था। हाईकोर्ट बिभव की जमानत याचिका पर 1 जुलाई को अगली सुनवाई करेगा।
तीस हजारी कोर्ट ने 7 जून को बिभव कुमार की दूसरी जमानत याचिका खारिज कर दी थी। तब कोर्ट ने कहा था कि इस मामले की जांच अभी प्रारंभिक चरण में है। पीड़िता के दिलो दिमाग में अपनी सुरक्षा को लेकर खतरा है। तीस हजारी कोर्ट ने यह भी कहा था कि स्वाति मालीवाल आम आदमी पार्टी की सांसद हैं और वो अपनी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने गई थी।
कोर्ट ने कहा था कि इस बात की भी आशंका है कि अगर बिभव को जमानत दी जाती है तो वो गवाहों को प्रभावित कर सकता है। दिल्ली पुलिस ने 18 मई को बिभव कुमार को गिरफ्तार किया था। बता दें कि इस मामले में स्वाति मालीवाल ने 17 मई को कोर्ट में अपना बयान दर्ज कराया था। घटना 13 मई की है। वहीं, दिल्ली पुलिस ने 16 मई को स्वाति मालीवाल का बयान दर्ज कर एफआईआर दर्ज किया था।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-239, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. रविवार, जून 16, 2024

3. शक-1945, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दशमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 45 डी.सै., अधिकतम- 28+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...