शनिवार, 21 मार्च 2020

कोरोनाः इटली में तोड़े मौत के रिकॉर्ड

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से व्हाइट हाउस का एक कर्मचारी संक्रमित पाया गया है। वहीं, चीन में लगातार तीसरे दिन भी कोई घरेलू मामला नहीं मिला है। इटली में एक दिन में 627 लोगों की मौत हुई है। जर्मनी में 24 घंटे में कोरोना के 3000 नए मामले सामने आए हैं। ईरान में शुक्रवार को 149 लोगों की मौत हुई।


तुर्की में कोरोना वायरस से पांच और लोगों की मौत हो गई जिसके साथ ही देश में मृतकों की कुल संख्या नौ पर पहुंच गई है। राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोआन ने लोगों से ‘‘गैर जरूरी वजह’’ से घर से बाहर न निकलने का अनुरोध किया है। स्वास्थ्य मंत्री फहरेत्तिन कोका ने टि्वटर पर कहा, ‘हमने पांच मरीजों को खो दिया जो उम्रदराज थे और उनकी प्रतिरक्षा क्षमता कमजोर थी।’ कोका ने बताया कि संक्रमित मामलों की संख्या 670 पर पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में 3,656 मरीजों में से 311 संक्रमित पाए गए हैं।


वहीं, संयुक्त अरब अमीरात में कोरोना वायरस से दो लोगों की मौत हो गई। अबू धाबी में अभी तक 140 लोग संक्रमित पाए गए हैं जिनमें से 31 स्वस्थ हो गए। हालांकि किसी भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई। अमीरात समाचार एजेंसी ने कहा, ‘स्वास्थ्य एवं रोकथाम मंत्रालय ने देश में कोविड-19 से पहली दो मौतों की घोषणा की है।’ इनमें से एक व्यक्ति 78 वर्षीय नागरिक था जो यूरोप से देश आया था।


अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस की टीम का एक कर्मचारी कोरोनो वायरस पॉजिटिव पाया गया है। व्हाइट हाउस कर्मियों में जानलेवा वायरस का यह पहला मामला है। अमेरिका में अब तक 230 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से टेलीफोन पर बातचीत की और दक्षेस देशों के लिए भारत की कोविड-19 पहल की प्रशंसा की। पेंटागन ने बताया कि दोनों नेताओं ने कोविड-19 वैश्विक महामारी पर चर्चा की और अपनी व्यापक वैश्विक साझेदारी को मजबूत करने वाली पहलों पर आगे बढ़ते रहने के लिए इस अवधि के दौरान करीबी संवाद बनाए रखने की प्रतिबद्धता जताई।


दुनियाभर में कोरोना वायरस के ढाई लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। दुनिया के 163 देशों से इस रोग के कम से कम 256,296 मामले सामने आए और 11015 मरीजों की मौत हो गई। पाकिस्तान में शुक्रवार को कोरोना वायरस से तीसरी मौत हो गई और पुष्ट मामलों की संख्या 481 तक पहुंच गई। प्रधानमंत्री इमरान खान ने लोगों से अगले 45 दिनों तक स्वयं को एक दूसरे से अलग करने का आह्वान किया। पाकिस्तान में कोरोना वायरस से तीसरी मौत कराची में हुई है । सिंध के स्वास्थ्य मंत्री अजरा फजल ने 77 साल के एक बुजुर्ग की मौत की पुष्टि की और कहा कि मरीज को कैंसर भी था।


फ्रांस में कोरोना वायरस से 78 और मौतें हो गईं जिसके साथ ही देश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 450 हो गई। फ्रांस के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी जेरोम सलोमोन ने संवाददाताओं से कहा कि फ्रांस में अब तक 12,612 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। उन्होंने चेतावनी कि इस बीमारी से संक्रमित असली आंकड़ों की तुलना में यह तो बहुत कम आंकड़ा है।


चीन में लगातार तीसरे दिन भी कोई घरेलू कोरोनोवायरस संक्रमित मामला नहीं आया है। हालांकि, देश में सात और लोगों के मारे जाने की पुष्टि की गई। चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर  3255 हो गई है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने शनिवार को कहा कि शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन भी चीनी मुख्य भूमि पर कोविड-19 का कोई भी नया घरेलू मामले दर्ज नहीं किया गया।


इटली में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या तेज गति से बढ़ रही है। इटली में एक ही दिन में रिकॉर्ड 627 मौत इस महामारी के चलते दर्ज की गईं। इसके चलते देश में कई नए तरह के प्रतिबंध घोषित कर दिए गए हैं। इटली में मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,032 हो गई है, जबकि संक्रमित लोगों की संख्या भी 41,035 से बढ़कर 47,021 पर पहुंच गई है।


सरकार से की राहत पैकेज की मांग

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि कोरोना वायरस का लगातार बढ़ रहा संक्रमण बड़ी चिंता का सबब है। इससे देश के लोगों की जिंदगी बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। ऐसे में सरकार बड़े कदम इस महामारी से निपटने के लिए उठाए। कांग्रेस अध्यक्ष ने कृषि,छोटे उद्योग धंधों और स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए खासतौर से राहत पैकेज की मांग की है। सोनिया गांधी ने कहा, कोरोना वायरस से लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी भी प्रभावित हो रही है। सारे व्यवसाय, विशेष रूप से सूक्ष्म,लघु और मध्यम व्यवसाय इस बीमारी के कारण भारी तनाव में हैं। इस असाधारण समय में हमें असाधारण उपायों की जरूरत है। उन्होंने कहा कि काम रुक गए हैं लोग परेशान हैं। ऐसे में लोगों के लोन के ब्याज, ईएमआई और दूसरी देनदारियों में सहूलियत दी जाए। खासतौर से कोरोना ने रोजगार देने वाले सबसे बड़े कृषि क्षेत्र को बुरी तरह से प्रभावित किया है। कृषि क्षेत्र के लिए सरकार को एक विशेष राहत पैकेज देना चाहिए। साथ ही सरकार को इन लोगों की सीधे आर्थिक मदद दे जो इस महामारी के चलते रोजगार खो रहे हैं।


सोनिया गांधी ने अपने बयान में कहा कि 130 करोड़ आबादी वाले इस देश में सिर्फ 15 हजार 700 सैंपल ही टेस्ट किए गए हैं। इस महामारी की पहली ही सूचना मिल गई थी और हमें पता है कि बचाव के लिए टेस्टिंग सबसे ज्यादा जरूरी है। इसे बढ़ा जाए, ऐसा लगता है कि अभी पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर की क्षमता का पूरा इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। सांसद सोनिया गांधी ने कहा, हम सभी इस बीमारी से बचने के लिए जरूरी एहतियात करें। जो लोग इससे संक्रमित हैं, उन्हें निगरानी में रखा जाए। उनको दूसरे लोगों के बीच आने से रोका जाए। वहीं मास्क और दूसरी चीजों की कमी ना हो, इसका ध्यान सरकार रखे। हैंड सेनेटाइजर्स, फेस मास्क और लिक्विड सोप की कालाबाजारी की रिपोर्ट सामने आ रही हैं। सरकार की ये जिम्मेदारी बनती है कि ऐसी चीजों की सप्लाई पर्याप्त मात्रा में हो और इसके लिए जरूरी कार्रवाई की जाए। चिकित्सा सुविधाओं के लिए विशेष बजट जारी किया जाए।
 


168 देशों में 11248 लोगों की मौत

बीजिंग/जेनेवा/नई दिल्ली। विश्व के 168 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ का प्रकोप थमने का नाम नहीं लेे रहा है और अब तक इस खतरनाक वायरस से 11,248 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 269,482 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण फैलता जा रहा है और अब तक इससे संक्रमितों की संख्या बढ़कर 258 हो गयी है। पंजाब के नवांशहर में एक व्यक्ति की मौत से देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से कुल चार लोगों की मौत हो गयी है। कर्नाटक, दिल्ली और महाराष्ट्र में एक-एक व्यक्ति की मौत हुयी थी।


स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि देश में कोरोना के 258 मामलों की पुष्टि हो चुकी है जिनमें से 219 मरीज भारतीय हैं जबकि 39 विदेशी नागरिक हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित 23 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है और अब भी इससे सबसे सर्वाधिक प्रभावित चीन के लोग ही हैं।


हालांकि राहत की बात यह है कि वुहान में पिछले तीन दिन से कोई मामला सामने नहीं आया है। इस वायरस को लेकर तैयार की गयी एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में हुई मौत के 80 प्रतिशत मामले 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के थे। चीन में 81,008 लोगों की कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और करीब 3,255 लोगों की इस वायरस के चपेट में आने के बाद मौत हो गयी है।


विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान चीन में कोरोना वायरस से सात और विश्व भर में 1008 लोगों की मौत हुई है। चीन में अब तक 3255 लोगों की इस वायरस के कारण मौत हुई है। कोरोना वायरस से अब तक पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में 3405, यूरोपीय क्षेत्र में 4899, दक्षिण-पूर्वी एशियाई क्षेत्र में 31, पश्चिमी एशिया क्षेत्र में 1312, अमेरिका के नजदीक पड़ने वाले क्षेत्रों में 178 और अफ़्रीकी क्षेत्र में आठ लोगों की मौत हुई है।


शाहीन बाग में धरना, 28 हुए संक्रमित

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन क़ानून के खिलाफ धरने में शामिल 2 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। दोनों मरीज मां और बेटे हैं और जहांगीरपुरी के निवासी हैं। इन मामलों की पुष्टि के बाद अब दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 28 हो गई है। उधर, शाहीन बाग की प्रदर्शनकारी महिलाएं भी प्रदर्शन बंद करने के बजाए जनता कर्फ्यू के बीच भी धरना देने की बात कह रही हैं। महिलाओं का कहना है कि वे जनता कर्फ्यू के दौरान अपने घरों की बालकनियों, खिड़कियों व दरवाजों पर खड़े होकर तालियां और घंटियां बजाएंगे, इसके साथ ही लोग विरोध स्वरूप नारेबाजी भी करेंगे।


गौर हो, पीएम नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च रविवार के दिन देशवासियों से जनता कर्फ्यू की अपील की है। महिलाओं का कहना है कि 22 मार्च को पीएम द्वारा किए गए जनता कर्फ्यू का वह समर्थन करेंगे। प्रदर्शन में शामिल बुजुर्ग महिलाओं का कहना है कि वे शाम 5 बजे पतंग उड़ाकर कोरोना की लड़ाई में शामिल होकर डॉक्टर, पुलिस व अन्य अधिकारियों को धन्यवाद देंगे। उनका कहना है कि पंतग के ऊपर सीएए, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में नारे लिखे जाएंगे। उसके बाद पहले की तरह प्रदर्शनस्थल पर 22 मार्च के रात 9 बजे वापस लौट आएंगे।


गाजियाबाद कारागार में दी जरूरी सामग्री

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन लोहा विक्रेता मंडल के तत्वाधान में जिला कारागार में हजारों मास्क सैनिटाइजर 1 लीटर 51 बोतल, सैकड़ों तोलिए का वितरण किया गया। वितरण वस्तुएं जिला कारागार अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा को सोपे गए। संस्था के अध्यक्ष अजय गुप्ता, चेयरमैन वीके अग्रवाल, विश्व ब्राह्मण संघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता बीके शर्मा हनुमान आदि ने जिला कारागार में बंद कैदियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों को कोरोना जैसे भयानक महामारी रोकने के उद्देश्य से यह सराहनीय कार्य किया गया। तत्पश्चात सुपरिटेंडेंट विपिन मिश्रा व कारागार वरिष्ठ चिकित्सक डॉ सुनील त्यागी को डासना जेल के कोरोनावायरस की रोकथाम हेतु किए जा रहे प्रभावी प्रयासों के लिए स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। वरिष्ठ समाजसेवी अजय गुप्ता ने बताया कि देश सुरक्षित हो तो हम सुरक्षित रहेंगे। हम स्वास्थ्य तो देश स्वास्थ्य के आधार पर यह आयोजन किया गया। जिला कारागार अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने कहा कि देश में विभिन्न संस्थाओं के समाजसेवी द्वारा अनेकानेक परिस्थितियों में ऐसे सहयोग करना बहुत ही सराहनीय कदम है। इस अवसर पर जेलर आनंद कुमार ने कहा कि परमार्थ  समिति के तत्वधान में हर साल अनेकों कार्यक्रम समाजसेवी द्वारा जेल में आयोजित होते हैं। जिससे जेल प्रशासनिक अधिकारियों का ही नहीं वहां पर सभी कर्मचारी गनों  का मनोबल बढ़ता है। इस अवसर पर जिला कारागार अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा जेलर आनंद कुमार ने सभी समाजसेवियों का दिल की गहराइयों से आभार व्यक्त किया।


आपः बंद के बाद भी मिलेगा वेतन

रवि चौहान


नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कोरोना वायरस के कारण बंद किए गए संविदा कर्मियों, अतिथि शिक्षकों और दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है। शुक्रवार को सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के मद्देनजर बंद किए गए स्थानों पर काम करने वाले संविदा कर्मचारियों, दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों और अतिथि शिक्षकों को वेतन देगी। मनीष सिसोदिया ने अपने शुक्रवार को अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर यह जानकारी दी।
उप मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के कारण बंद किए गए स्थानों पर कार्यरत सभी संविदा, दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों और अतिथि शिक्षकों को वेतन का भुगतान करेगी।


इससे पहले कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए दिल्ली के सभी मार्केट (थोक एवं खुदरा बाजार) को तीन दिनों तक के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है। यह निर्णय कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की एक बैठक लिया गया। संगठन के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के सारे मार्केट शुक्रवार 21 मार्च से सोमवार 23 मार्च तक तक बंद रहेंगे। इससे पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस के कारण सभी माल को 31 मार्च 2020 तक के लिए बंद रखने का आदेश दिया है। माल में स्थित ग्रोसरी, फार्मेसी और सब्जी की दुकानें खुली रह सकती हैं। उन्होंने अपने आधिकारिक अकाउंट से शुक्रवार को ट्वीट कर इस फैसले की जानकारी दी है।


जनपद हरिद्वार की सीमाएं की गई सील

हरिद्वार। हरिद्वार पुलिस ने घूमने आने वाले यात्रियों के लिए जिले की सीमाएं सील कर दी गई है। बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों को वापस भेजा जा रहा है। उत्तराखंड की आईडी पर ही प्रवेश मिल रहा है। हालांकि अभी तक रोडवेज और रेल के माध्यम से कुछ लोग हरिद्वार आ रहे हैं। मुजफ्फरनगर, सहारनपुर और बिजनौर की सीमा हरिद्वार जिले से लगती है। सभी सीमाओं को हरिद्वार पुलिस ने सील कर दिया है। सुबह से ही पुलिस का पहरा सीमाओं पर लगा हुआ है। बैरेकेट लगाकर एक एक वाहन को रोककर पुलिस जांच कर रही है। हरिद्वार या प्रदेश में घूमने के इरादे से आ रहे यात्रियों को वापस लौटाया जा रहा है। जरूरी काम या फिर क्रियाकर्म करने हरिद्वार आने वाले लोगों को छूट दी गई है। बता दें कि पुलिस ने नारसन में मुजफरनगर, खानपुर में भी मुजफ्फरनगर और बिजनौर की सीमा सील की गई है। भगवानपुर में सहारनपुर से लगने वाली सीमा मंडावर और काली नदी और श्यामपुर चिड़ियापुर से लगने वाली बिजनौर की सीमा भी सील की गई है।एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस ने बताया कि सीमाओं पर पुलिस तैनात कर दी गई है प्रदेश के बाहर के लोगों को वापस भेजा जा रहा है जरूरी काम या फिर कर्मकांड करने हरिद्वार आने वाले लोगों को राहत दी गई है।
रोडवेज और रेलवे से चल रही वार्ताः हरिद्वार पुलिस रोडवेज और रेलवे के अधिकारियों से वार्ता कर रही है हरिद्वार पुलिस ने दोनों विभागों को जानकारी दे दी है कि हरिद्वार समेत पूरे उत्तराखंड में यात्रियों की एंट्री बैन की गई है। इसी के चलते हरिद्वार पुलिस की अपील है कि जरूरी काम काज वाले लोग ही हरिद्वार का रुख करें।
हरिद्वार पुलिस की अपीलअपीलःएसपी सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस ने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि अनावश्यक काम के हरिद्वार में ना आया जाए। सोशल मीडिया समेत कई अन्य संसाधनों से हरिद्वार पुलिस यात्रियों से अपील कर रही है।


यूपी सरकार की उपलब्धियां गिनाई

 जनपद के प्रभारी मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने की प्रेस वार्ता
उत्तर प्रदेश सरकार के 3 वर्ष पूरे होने पर गिनाई उपलब्धिया


रामायण यादव
कुशीनगर। जनपद के प्रभारी मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने निर्धारित समय पर कलेक्ट्रेट के सभागार में एक प्रेस वार्ता की। जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार के 3 वर्ष पूरे होने के उपरांत उसके उपलब्धियों को गिनवाया श्री वर्मा ने बताया की उत्तर-प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आवास के अंतर्गत कुल 30 लाख आवास निर्माण पूरे देश में प्रथम स्थान बनाया है। जबकि शौचालय निर्माण के अंतर्गत प्रदेश में दो करोड़ 61 लाख शौचालय निर्माण कार्य पूर्ण हुआ है और प्रदेश का पूरे देश में प्रथम स्थान पर रहा। बिजली के क्षेत्र में पूरे प्रदेश में एक करोड़ 24 लाख घरों को सौभाग्य योजना के अंतर्गत कनेक्शन दिया गया है। इस योजना में भी उत्तर प्रदेश पूरे देश में प्रथम रहा है। उन्होंने बताया कि उत्तरप्रदेश सरकार ने 46 लाख किसानों का ₹36000 करोड़ का अल्पकालीन ऋण माफ कर दिया। उन्होंने बताया कि यूरिया की प्रदेश में पर्याप्त  मात्रा में उपलब्ध ता है 36 लाख मैट्रिक टन यूरिया की सप्लाई की जा रही है उन्होंने फास्फेटिक खाद के बारे में भी बताया कि पूर्व के 21 लाख टन के सापेक्ष वर्तमान सरकार 22 लाख टन फास्फेटिक खादकी रिकॉर्ड आपूर्ति कर रही है साथ ही श्री वर्मा ने बताया की खाद के दाम लगातार घटे हैं किसानों के अनाज की खरीदारी के संदर्भ में उन्होंने बताया कि पूर्व में हो रही खरीदारी के अपेक्षा वर्तमान सरकार ने 7 गुना अधिक अनाज किसानों से खरीदा है उन्होंने बताया कि धान की 46 लाख टन की रिकॉर्ड खरीद सरकार के द्वारा की गई है श्री वर्मा ने बताया पूर्व के एक लाख 92 हजार किसानों के सापेक्ष वर्तमान सरकार ने 16 लाख 26 हजार किसानों से अनाज खरीदा है 3 वर्ष की उपलब्धियों को गिनाते हुए श्री वर्मा ने बताया कि जब सरकार बनी थी तो किसानों का पूरे प्रदेश में 27 हजार करोड़ रुपए गन्ना का भुगतान शेष था जिसका वर्तमान सरकार ने भुगतान तो करवाया ही अभी तक की स्थिति में कुल 10,000 करोड़ भुगतान ही किसानों का शेष है पूर्व के अपेक्षा गन्ने का उत्पादन बढ़ा है तथा इथेनॉल उत्पादन में उत्तर प्रदेश पूरे देश में प्रथम स्थान पर है उन्होंने पूरे प्रदेश के बारे में बताते हुए कहा कि हमारी सरकार आने के बाद एक भी चीनी मिल बंद नहीं हुई है बल्कि हमने उसे चलाने का ही काम किया है 
श्री वर्मा ने बताया ईपास मशीन से खाद्यान्न का वितरण करने से उसमें पारदर्शिता आई है और भ्रष्टाचार समाप्त हो गया है बिजली के क्षेत्र में उन्होंने बताया कुल एक लाख 436 गांव का विद्युतीकरण किया गया है साथ ही शहरों में 24 घंटे एवम् सुदूर के गांव में भी औसतन 20 घंटे बिजली की सप्लाई की जा रही है उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में विद्यालयों की स्थिति सुधरने की बात बताई उन्होंने बताया कि विद्यालयों में बैठने की व्यवस्था, पानी बच्चों के ड्रेस ,बैग जूता, मोजा सहित सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं सभी विद्यालयों में टाइल्स लगाए जा रहे हैं जबकि अनिवार्य रूप से  स्वच्छ शौचालयों की भी व्यवस्था की गई है प्रभारी मंत्री ने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में कॉपी किताब और बिल्डिंग सभी में परिवर्तन आने से छात्र-छात्राओं के भीतर स्वयं को लेकर एक मानसिक परिवर्तन हुआ है एवं उनके प्रतिभाओं को निखारने का प्रयास अनवरत जारी है और इसमें हम काफी सफल रहे हैं चिकित्सा क्षेत्र में श्री वर्मा ने आयुष्मान योजना को दुनिया की सबसे महत्वपूर्ण योजना बताया और उन्होंने कहा कि पांच लाख तक के उपचार सरकार की तरफ से मुफ्त उपलब्ध कराए जा रहे हैं साथ ही मुख्यमंत्री आरोग्य योजना में आम आदमी को स्वास्थ्य लाभ  दिया  जा रहा है साथ ही कन्याओं के सामूहिक विवाह की अद्भुत योजना का संचालन प्रदेश सरकार कर रही है प्रत्येक जोड़े पर सरकार के द्वारा 51000 का खर्च वहन किया जाता है जिसमें 35 हजार सीधे लाभार्थी के खाते में दी जाती है उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में डिफेंस कॉरिडोर की स्थापना की जा रही है जिसके अंतर्गत हम दुनिया में हथियारों की सप्लाई करके आर्थिक लाभ तो कम आएंगे ही अपने लोगों को अधिक से अधिक रोजगार भी मुहैया करा सकेंगे उन्होंने एक जनपद एक उत्पाद को प्रदेश की महत्वाकांक्षी योजना बताते हुए कहा इस योजना का दूरगामी परिणाम देखने को मिलेगा और प्रदेश के विकास में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी कानून व्यवस्था पर चर्चा करते हुए उन्होंने बताया प्रदेश की कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त की गई है साथ ही पूर्व की सरकारों ने कमिश्नर प्रणाली लागू नहीं की जबकि वर्तमान सरकार ने उसे लागू किया है और उत्तर प्रदेश पूरे देश में कानून व्यवस्था को लेकर एक उदाहरण बनने की स्थिति में है उन्होंने जनपद कुशीनगर में 524.65 किलोमीटर नई सड़क का निर्माण होने की बात बताएं तथा 20345 शहरी तथा 10980 ग्रामीण आवासों का निर्माण कर गरीबों की स्थिति में सुधार लाने के महत्वपूर्ण प्रयास को सरकार की उपलब्धि बताया उन्होंने बताया कि पूरे उत्तर प्रदेश में 27464 मुसहरों को आवास दिया गया है जिसमें 3600 कुशीनगर जनपद के मुसहरों को दिया गया है श्री वर्मा ने बताया कि उज्जवला योजना के अंतर्गत पूरे प्रदेश में 1.47 करोड़ लाभार्थियों को गैस कनेक्शन देकर प्रदेश ने देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है साथ ही इतने बड़े बजट का सबसे अधिक अधिकांश हिस्सा किसानों के हित को ध्यान में रखकर बनाया गया है कोरोना को लेकर श्री वर्मा ने बताया कि हम इस महामारी से मजबूती से मुकाबला करते हुए उबर कर बाहर आ जाएंगे हम अपने दैनिक दिनचर्या को अपनी पारंपरिक व्यवस्थाओं से जोड़कर रहे तो काफी सारी समस्याएं अपने आप दूर हो जाएंगे और बताया कि हर घर में तुलसी अदरक हल्दी काली मिर्च जैसी महत्वपूर्ण चीजें हमें काफी लाभ दे सकती हैं और हमें इसका इस्तेमाल भी करना चाहिए  एक प्रश्न के उत्तर में श्री वर्मा ने बताया की 2011 की आर्थिक जनगणना के आधार पर विभिन्न योजनाओं में कुछ ऐसे भी लाभार्थी हैं जिन्हें लाभ नहीं मिल पा रहा था इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार ने कई समानांतर योजनाएं चलाई हैं जिससे उनको लाभ दिया जा रहा है उन्होंने बताया कि कोरोना जैसे महामारी में जो मजदूर काम नहीं कर सकेंगे उनके विषय में भी सरकार गंभीर है और हम सीधे मजदूरों को भुगतान करेंगे जिससे उनके सामने रोटी का संकट खड़ा ना हो इस अवसर पर जिला अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी प्रेमचंद्र मिश्रा विधायक खड्डा जटाशंकर त्रिपाठी हाटा पवन केडिया कसया रजनीकांत मणि त्रिपाठी फाजिलनगर गंगा सिंह कुशवाहा जिला पंचायत अध्यक्ष विनय प्रकाश गौड़ जिलाधिकारी कुशीनगर भूपेंद्र एस चौधरी पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र  मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार अपर जिलाधिकारी विंध्यवासिनी राय  पूर्व जिला अध्यक्ष जेपी शाही कॉपरेटिव बैंक के चेयरमैन लल्लन मिश्र पूर्व महामंत्री मार्कंडेय शाही परियोजना निदेशक संजय पांडे डीसी मनरेगा सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


कांग्रेसियों ने चलाया जागरूकता अभियान

सन्दीप मिश्रा


रायबरेली। कोरोना वायरस के देश मे बढ़ते मामलो पर चिंता जताते हुए जिला व शहर कांग्रेस कमेटी द्वारा कांग्रेस कार्यालय तिलक भवन एवं सिविल लाईन चौराहे पर कांग्रेस सेवादल के संयोजकत्व मे कोरोना वायरस से बचाव के लिए जन-जागरण अभियान चलाया गया। तिलक भवन मे मुख्यअतिथि डा.मनीष सिंह डायरेक्टर सिम्हैंस हॉस्पिटल, श्री ए.के.पाण्डेय आयुर्वेदाचार्य एवं बाल जी त्रिपाठी अध्यक्ष केमिस्ट एशोसिएसन का कांग्रेस जिलाध्यक्ष पंकज तिवारी, पूर्व जिलाध्यक्ष वी.के.शुक्ल व शहर अध्यक्ष श्री सईदुल हसन ने बुकें भेटकर स्वागत किया।
इस अवसर पर डा.मनीष सिंह ने सभा मे उपस्थित लोगो को बताया की यह वायरस एक मीटर से ज्यादा की दूरी पार नही कर सकता है, इसी लिए भीड़-भाड़ वाली जगह मे जाने से बचे और एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रहे। श्री सिंह ने कहा कि पूरा देश इस वायरस से लड़ रहा है और आने वाले 30 दिन देश की जनता को सर्तक रहने की आवष्यकता है। उन्होने सलाह दी कि सर्दी, जुखाम, खांसी, बुखार, गले मे दर्द व लूजमोशन होने पर तुरन्त जांच कराये। ए.के.पाण्डेय ने तुलसी और नीबू का सेवन अधिक से अधिक करने की सलाह दी ताकि आपके शरीर को अंदर से वायरस से लड़ने की ताकत मिलती रहे। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पंकज तिवारी ने आये हुए सभी लोगो से आग्रह किया कि कांग्रेस पार्टी का हर कार्यकर्ता इस मुसीबत की घड़ी मे जनता का सहयोग करे और बूथ स्तर पर कोरोना वायरस से बचने का उपाय लोगो को बताये। शहर अध्यक्ष सईदुल हसन ने सभी अतिथियों का आभार जताया और इस विषम परिस्थियो मे कांग्रेस कार्यकर्ताओ से लोगो को जागरूक करने का आवाहन किया।
जिला प्रवक्ता महताब आलम ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मौके पर निःशुल्क मास्क, सेनी टायजर और साबुन का वितरण किया गया, सभा का संचालन श्री राजकुमार दीक्षित ने किया । इस अवसर पर वी.के.शुक्ल, विजय शकर अग्निहोत्री, निर्मल शुक्ल, खुर्शीद अजीज, महताब आलम, श्रीमती शैलजा सिंह, कल्याणचन्द्र श्रीवास्तव, हाफिज रियाज, अजीत सिंह, धर्मेन्द्रपाल सिंह, जितेन्द्र शुक्ल, पंकज सोनकर, आशीष द्विवेदी, धीरज श्रीवास्तव, आर.के सिंह, घनष्याम शुक्ल, उमेश मिश्रा, संजय शुक्ल, सर्वोत्तम मिश्रा, अनीता श्रीवास, अखिलेश मिश्रा, किरन तिवारी, कन्हैयालाल सोनकर, मुन्ना घोसी, एस.एम, सोनू खान, सै0अरशद, पवन त्रिवेदी, सफ्फू खान, विवेक चौरसिया, रामसुमिरन, रूपेश कुमार सहित सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद रहे।


नक्सलियों से मुठभेड़ में 9 जवान घायल

सुकमा। नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच जिले के कसालपाड और मिनपा जंगल में मुठभेड़ होने की खबर है। मिली जानकारी के अनुसार मुठभेड़ में 9 जवानों के घायल होना बताया जा रहा है वहीं 1 नक्सली का शव बरामद हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार सर्चिंग पर निकले सुरक्षा बलों के जवानों और नक्सलियों में कसालपाड एवं मिनपा जंगल में मुठभेड़ हुई। सुरक्षा बल को इस क्षेत्र में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने सर्चिंग अभियान चलाया और जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में 9 जवानों के घायल होने की खबर है और एक नक्सली का शव बरामद किया गया है।


संक्रमण के बाद एक्शन में आई सरकार

रायपुर। कोरोना वायरस के दशहत ने तीन दिनों में राजधानी में बड़ी तेजी से बदलाव हुआ है, राजधानी में प्रदेश के पहले करना संक्रमित मरीज मिलने के बाद से लोग दहशत में है। कोरोना ने तेजी से भागते रायपुर पर लगाम लगा दिया है। 19 मार्च को प्रदेश में कोरोना का पहला पॉजिटिव मरीज मिलने के साथ ही सरकार एक्शन में आ गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद इसकी निगरानी कर रहे है। मुख्यमंत्री ने कैबिनेट की बैठक रद्द की और आपदा प्रबंधन समिति की बैठक बुलाकर इससे निपटने की व्यवस्था करने निर्देश दिए। सरकार ने तीन दिनों में बड़े फैसले लिए।


कलेक्टर ने राजधानी में धारा 144 लागू करते हुए भीड़ वाले जगहों, ठेले गुमठी, चौपाटी ,फास्टफूड की दुकानों को बंद करने जारी किया। शासन ने प्रदेश के सभी निजी और सरकारी बसों के परिचालन पर रोक लगा दी है, जिससे प्रदेश भर में कही कोई बसे नहीं चलेगी। वही दूसरे राज्यों से आने जाने वाली बसों पर भी 31 मार्च तक प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। सरकार ने बिजली बिल नगदी की बजाये ऑनलाइन जमा करने कहा है। नगर निगम और पंचायतो के टैक्स जमा करने के समय को एक महीना बढ़ाते हुए 30 अप्रेल किया गया है।


आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों के बंद रखने कहा है। स्कूलों के अनिश्चितकाल तक बंद कर दिया गया। स्कूल कालेजो की परीक्षाएं स्थगित की गई। प्रदेश के सभी स्कूल कालेज जिम, लाइब्रेरी, होटल रेस्टोरेंट पब, बार को 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है। जमीनों की रजिस्ट्री अब एक महीने बाद ही होगी। प्रदेश के आधा दर्जन जिलो में धारा 144 लागू कर दी गई है। लोगो को मास्क पहनने, सेनेटाइजर उपयोग करने निर्देशित किया गया।


मंत्रियो सहित विधायकों ने आम जनता से मुलाकात को स्थगित करते हुए सिर्फ ईमेल और पत्र से शिकायत सुनने की निर्णय लिया। अन्य प्रदेशो से आने वाले प्रत्येक व्यक्तियों की जाँच एयरपोर्ट में करने की व्यवस्था की गई। हाइकोर्ट समेत राजधानी के जिला न्यायलय में बेहद जरुरी केसो की सुनवाई होगी बाकि सुनवाई एक महीने बढ़ा दी गई। कोरोना के खौफ से प्रदेश के अधिकांश मंदिरो के पट बंद हो गये है। डोंगरगढ़ के बब्लेश्वरी मंदिर, राजधानी के महामाया मंदिर, रतनपुर के महामाया मंदिर में नवरात्री का मेला और कार्यक्रम स्थगित किया गया तो वीआईपी रोड स्थित राममंदिर में रामनवमी का कार्यक्रम इस बार नहीं मनाया जायेगा।23 मार्च से 25 मार्च तक शराब दुकाने तीन दिनों के लिए बंद की गई।


आने वाले तीन दिन लोगो को विशेष सावधानी बरतनी होगी। डॉक्टरों की माने तो कोरोना से बचाव का एकमात्र उपाय सुरक्षा और सावधानी है।


सीएम ने की जनसाधारण से अपील

शिमला। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां सभी राजनीतिक पार्टियों की बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने सभी पार्टियों के नेताओं से राज्य में कोराना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार का पूर्ण सहयोग करने का आग्रह किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जरूरी वस्तुओं की जमाखोरी और मुनाफाखोरी से सख्ती से निपटा जाएगा। उन्हांेने कहा कि सरकार ने विभिन्न सार्वजनिक उपयोगिता बिलों जैसे बिजली, पानी आदि के भुगतान की तिथि को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के स्थगित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उन संदिग्ध व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी, जो पृथकीकरण से बचते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने राज्य में पांच निर्माताओं से अधिक तादाद में सेनेटाईजर बनाने के लिए कहा है।


जय राम ठाकुर ने कहा कि सभी अध्यापकों को 31 मार्च, 2020 तक स्कूल न आने की छूट दी गई है। उन्होंने कहा कि केवल आपात स्थिति में संबंधित उपायुक्त अध्यापकों की सेवाएं ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जरूरी वस्तुओं का पर्याप्त भण्डारण है। उन्होंने कहा कि डाॅक्टर, पेरा मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मचारियों और स्वच्छता कर्मचारियों को पर्याप्त स्वच्छता किट्स उपलब्ध करवाई जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश कोरोना वायरस के खतरे से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए, 14 मार्च, 2020 को हिमाचल प्रदेश महामारी (कोविड-19) नियम एवं विनियमों-2020 अधिसूचित करने वाला देश का पहला राज्य है। जय राम ठाकुर ने कहा कि इस बीमारी ने विश्व के अधिकतर विकसित देशों में महामारी का रूप ले लिया है। उन्होंने कहा कि अमरीका जैसी महाशक्तियों में भी कोविड-19 के 14 हजार मामले सामने आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले कल तक इससे संबंधित कोई भी पोजिटिव मामला नहीं था। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में सामने आए दो मामले चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि इन दोनों मरीजों के सैंपल आगे की जांच और सत्यापन के लिए पुना भेजे गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य को इस खतरे को फैलने से रोकने के लिए अधिक सतर्क और तैयार रहना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने रोकथाम उपाय के तौर पर 31 मार्च, 2020 तक सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त राज्य में सभी मुख्य मंदिरों को आम जनता के लिए बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया है। उन्होंने कहा कि होटल एसोसिएशन ने भी इस मामले में सरकार को अपना पूर्ण सहयोग दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य में धार्मिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और सामाजिक कार्यक्रमों और लोगों की भीड़ जमा होने पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाया है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि मास्क और सेनेटाईजर के मूल्यों को निर्धारित किया गया है और इन आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी को सख्ती से निपटा जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए सूचना, सम्पर्क व संप्रेषण पर विशेष बल दिया गया है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि लोगों में घबराहट न फैले। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में मुख्य कार्यालयों में कर्मचारियों की उपस्थिति को कम करने के लिए एक प्रणाली विकसित की जाएगी ताकि इन कार्यालयों में भीड़-भाड़ से बचा जा सके।
जय राम ठाकुर ने राज्य में जनता कफ्र्यू को सफल बनाने के लिए विपक्षी दलों से सहयोग का आग्रह किया ताकि लोगों को 22 मार्च को घर में ही रहने के लिए प्रेरित किया जा सके, जिससे यह वायरस समुदाय में न फैल सके। उन्होंने कहा कि इससे कोविड-19 वायरस के फैलने की श्रृंखला टूट जाएगी। उन्होंने कहा कि जनता कफ्र्यू को ध्यान में रखते हुए सभी प्रकार की बस सेवा तथा सभी अन्तर्राज्यीय वाहनों को 21 मार्च मध्य रात्रि से आगामी आदेशों तक निलम्बित कर दिया गया है।



मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थिति की निगरानी के लिए राज्य और जिला नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया गया है और हेल्पलाइन-104 चैबीस घण्टे काॅल सेंटर के रूप में कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी सरकारी मेडिकल काॅलेजों सहित विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों में आइसोलेशन वार्डों की पहचान की गई है, जहां पर्याप्त संख्या में बिस्तरों की क्षमता है। जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य के तीन मेडिकल काॅलेज आईजीएमसी शिमला, कांगड़ा के टांडा में स्थित डाॅ. राजेन्द्र मेडिकल काॅलेज और नेरचैक मेडिकल काॅलेज को पाॅजिटिव मामलों के उपचार के लिए चिन्हित किया गया है। उन्होंने कहा कि सभी जिला अस्पतालों और मेडिकल काॅलेजों में एन-95 मास्क सहित व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाए गए हैं। उन्होंने आम जनता से आग्रह किया कि वे छोटी बीमारियों के लिए अस्पताल जाने से बचें। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने अंतर्राज्यीय बस सेवाओं में केवल 10 प्रतिशत की कमी की है। उन्होंने कहा कि एचआरटीसी की अंतर्राज्यीय बस सेवा और निजी बसों को 50 प्रतिशत तक कम किया जाएगा। उन्होंने राज्य के लोगों से सामाजिक दूरियां अपनाने का भी आग्रह किया और जहां तक संभव हो पारिवारिक कार्यक्रमों जैसे विवाह पार्टियों आदि में जाने से बचें ताकि इस वायरस को फैलने से रोका जा सके। जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने आगामी आदेशों तक घरेलू और विदेशी पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगा रखा है। उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सा अधिकारी और कर्मचारी लोगों की सेवा के लिए पूर्ण समर्पण से कार्य कर रहे हैं। उन्होंने सभी से कोविड-19 के नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग को पूर्ण सहयोग देने तथा बड़ी संख्या में एकत्रित न होने का आग्रह किया।राज्य भाजपा अध्यक्ष डाॅ. राजीव बिन्दल ने प्रदेश में इस खतरे को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाने की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों को उचित ढंग से सेनिटाईज करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस को उचित ढंग से सेनिटाईज किया जाना चाहिए। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देशवासियों को देश में जनता कफ्र्यू का पालन करने का आह्वान किया है। उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे राज्य में जनता कफ्र्यू को सफल बनाने के लिए सहयोग दें। राज्य कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि इस संकट के समय कांग्रेस पार्टी राज्य सरकार के साथ है। उन्होंने राज्य सरकार से मास्क और सेनिटाईजर उचित मूल्य की दुकानों में उपलब्ध करवाने का आग्रह किया। उन्होंने सुझाव दिया कि सीमा पर दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों पर सख्त निगरानी रखी जाए। विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्यों से आने वाले पर्यटकों और कर्मियों के प्रवेश पर विशेष जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि डाॅक्टर, पेरामेडिकल स्टाफ और स्वच्छता कर्मियों को पर्याप्त सुरक्षा उपकरण प्रदान करना सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।



विधायक सीपीएम राकेश सिंघा ने कहा कि ऐसी स्थिति को युद्ध की तरह लेकर लोगों के विश्वास को जीतना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इस बीमारी को रोकने के लिए पूर्ण पृथकीकरण का पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए बीमारी का प्रकोप बढ़ने पर लोगों के पृथकीकरण के लिए भवन चिन्हित किए जाने चाहिए। उन्होंने राज्य सरकार से आग्रह किया कि समाज के उन वर्गों को कुछ राहत देने की घोषणा करें, जो दो वक्त के खाने के लिए रोजाना काम करना पड़ता है ताकि उन्हें घर पर रहने के लिए प्रेरित किया जा सके।



सीपीएम नेता संजय चैहान, बीएसपी नेता सुरेश सैनी, कांशी राम, सीपीआई नेता रोशन लाल डोगरा ने भी इस अवसर पर अपने बहुमूल्य सुझाव दिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आर.डी. धीमान ने राज्य सरकार द्वारा राज्य में इस वायरस के प्रसार की जाँच व रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों के बारे में एक विस्तृत रिपोर्ट दी।मुख्य सचिव अनिल खाची, पुलिस महानिदेशक एस.आर. मरडी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुंडू, सचिव रजनीश और देवेश कुमार भी इस अवसर पर उपस्थित थे।


कोरोना ने छीनी रोटी, घर के पड़े लाले

कोरोना ने छीनी इनकी रोटी, अब घर के पड़े लाले


विशेषर नेगी
रामपुर बुशहर । कोरोना वायरस के खतरे को लेकर सरकार के ताजा निर्देशों की सूचना आम लोगों तक न पहुंचने के कारण ऊपरी क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। किन्नौर प्रवेश सीमा से आगे किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने नहीं दिया जा रहा है, ऐसे में मजदूर तबके के लोगों को वापस घर जाना और दो वक्त की रोटी की समस्या हो गई है। काम के लिए घरों से किराए का बंदोबस्त कर किन्नौर जाने वाले लोग किन्नौर प्रवेश सीमा में उतारे जाने के बाद घर वापसी की सोचकर संकट में पड़ गए हैं।


बाहरी राज्यों के कई गरीब लोग किन्नौर सीमा से पैदल वापस जाने के लिए मजबूर हैं। उनका कहना है पहले इस बात की जानकारी न तो उन्हें थी न ही दी गई, अब यहां उतारा जा रहा है। मजदूरों को भी काम न मिलने से उनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं। खासकर नेपाली न तो वापस जा पा रहे हैं और न ही नेपाल से उनके साथी आ सकते हैं। किन्नौर प्रवेश द्वार पर चिकित्सकों की टीम हर व्यक्ति की गहनता से जांच कर रही है। बाहरी राज्यों से आने वालों को वापस भेजा जा रहा है।
मोहम्मद सहीद ने बताया वे जम्मू-कश्मीर से किन्नौर जा रहे थे लेकिन किन्नौर बॉर्डर पर रोककर वापस भेजा जा रहा है। किराया-भाड़ा कुछ नहीं है तथा अब वापस कैसे जा सकते हैं। गोवा से आ रहे टीककं ठाकुर ने बताया कि उनकी रामपुर तक कहीं भी जांच नहीं हुई। किसी ने नहीं बताया कि कोरोना को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। वे ट्रेन से आए हैं। अम्बाला के व्यापारी हरदीप कुमार ने बताया व्यापार के सिलसिले में वह किन्नौर जा रहे थे लेकिन चौरा चैक पोस्ट पर उन्हें रोककर वापस भेजा गया। कोरोना की वजह से उन्हें आगे जाने नहीं दिया गया।


किन्नौर प्रवेश द्वार चौरा में तैनात चिकित्सक अभिषेक ने बताया कि सवारियों की स्क्रीनिंग की जा रही है । कोरोना वायरस के संभावित खतरे को देखते हुए प्रशासन की ओर से दिशा-निर्देश हैं कि कोई भी बाहरी राज्य का व्यक्ति या पर्यटन से जुड़े लोग किन्नौर प्रवेश द्वार से आगे न जा सकें। हम लोगों से भी निवेदन कर रहे हैं कि वे घरों से बाहर न निकलं और जहां हैं वहीं रहें। उधर, परिवहन निगम के बस चालक ने बताया कि कोई भी बाहर से आदमी बस में आ रहा है तो उसकी मशीन लगाकर सही तरीके से जांच करनी चाहिए। जांच का सिस्टम अभी तक ठीक नहीं हुआ है। इससे बीमारी फैल सकती है।


तेजप्रताप को मर्डर की धमकी मिली

पटना। इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है पटना से जहां आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव को मर्डर की धमकी मिली है। तेजप्रताप यादव ने बताया कि उनके साथियों और वकील को भी धमकाया जा रहा है। सबको बम से उड़ाने की धमकी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि कोर्ट के बाहर पिस्टल भिड़ाकर उनके साथियों और गवाहों को धमकाया गया है।


तेजप्रताप यादव ने अपने ससुर के ऊपर एक बहुत बड़ा गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मर्डर की साजिश उनके ससुर चन्द्रिका प्रसाद यादव की ओर से रची जा रही है। उन्होंने कहा कि मेरे ससुर मेरे सहयोगियों को धमका रहे हैं। आज कोर्ट में तारीख थी। इस दौरान उनके लोगों ने डराने-धमकाने का काम किया है किया है। उन्होंने बताया कि उनके वकील को भी लोगों ने डराया है।


आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव ने कहा कि एक बहुत बड़ी साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा कि वह कोर्ट में हुई इस घटना को लेकर थाने में एफआईआर भी दर्ज कराने जा रहे हैं। तेजप्रताप ने बताया कि डॉ धर्मेंद्र आज कोर्ट गए हुए थे। कोर्ट के बाहर 3 अपराधियों ने हथियार के साथ आकर बोले की गवाही वापस ले लो। केस वापस ले लो। उन्होंने सरकार से अपनी सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने बताया कि 10 नंबर आवास के बाहर भी गुंडे मवाली को भेजा जाता है।अजयदीप चौहान


कालाबाजारी पर एसडीएम के सख्त निर्देश

उप जिलाधिकारी ने कालाबाजारी करते हुए विक्रांत मेडिकल स्टोर के संचालक को किया गिरफ्तार


सचिन विशौरिया


गाजियाबाद। जनता की सुरक्षा के लिए जागरूक हुआ लोनी का प्रशासन। लोनी की सड़कों पर सैनिटाइजिंग छिड़काव करा कर अधिकारियों ने की कार्रवाई। लोनी उपजिलाधिकारी ने कालाबाजारी कर रहे मास्क व सैनिटाइजर विक्रेताओं पर भी की बड़ी कार्रवाई। उप जिला अधिकारी ने बताया प्रधानमंत्री के आदेश अनुसार 1 दिन के कर्फ्यू से संक्रमण को एक हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। उसी मुहिम को आगे बढ़ाते हुए सार्वजनिक स्थलों पर, बस आदि सार्वजनिक वाहनों एवं सार्वजनिक उपयोग में आने वाले संयंत्रों को सैनिटाइज किया गया है। जिससे संक्रमण का प्रभाव नहीं होगा। जिस प्रकार से कालाबाजारी बढ़ रही है। उसके विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। यदि कोई कालाबाजारी करता पकड़ा जाएगा तो निश्चित रूप से उसके विरुद्ध कार्रवाई होगी। इस प्रकार की यदि कोई सूचना आती है तो उस पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। साथ-साथ उन्होंने यह भी बताया की मास्क का निर्माण बहुत साधारण है। जिसे कोई भी मनुष्य बनाकर उपयोग कर सकता है। मास्क 'यूज एंड थ्रो' पर आधारित है। जिसे एक बार उपयोग किया जाता है और यह एक रुपए की कीमत में तैयार किया जा सकता है।


मातृभूमि ट्रस्ट का बेहतर आयोजन

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। मातृभूमि ट्रस्ट लोनी स्थित डीएलएफ अंकुर विहार में कोरोना नहीं फैलने देगी। कॉलोनी के अंदर व आसपास मातृभूमि ट्रस्ट के सौजन्य से सैनिटाइजर बांटने का अभियान चलाया गया। मास्क बितरित करने का अभियान चलाया गया था। कार्यक्रम के आयोजन आरपी पांडे के द्वारा बताया गया कि हमारे क्षेत्र में साफ-सफाई की उचित व्यवस्था नहीं है। जबकि वायरस गंदगी से ही फैलता है। इसीलिए ट्रस्ट के द्वारा स्थानीय संसाधनों को सुरक्षित करने का प्रयास किया गया है। ताकि क्षेत्र के लोगों में वायरस घुसपैठ ना कर सके। कॉलोनी के अंदर आने जाने वाले सभी कमर्शियल वाइकल प्राइवेट वाइकल को सेंट्राइस किया गया। जिसमें ट्रस्ट के सदस्य सुरेश पटेल अमित त्रिपाठी धर्मेंद्र त्रिपाठी  विनोद शुक्ला हरि पाल  विजेंद्र शुक्ला अनुज शर्मा अनिल कौशिक अनिल शर्मा आदि की अहम भूमिका रही।


बसों में पेट्रोल छिड़ककर लगाई आग

सोनौली बार्डर:अराजक तत्वों ने दो बसों में पेट्रोल छिड़ककर लगा दिया आग
महाराजगंज। इंडो नेपाल न्यूज़ सोनौली डेस्क। सोनौली कोतवाली क्षेत्र के कुनसेरवा चौराहे के पास एक खाली प्लाट में घड़ी दो यात्री बसों में कुछ लोगों ने आग लगा दिया है। जिसमें दोनों बस जलकर खाक हो गई है ।
शुक्रवार की देर रात को एकाएक प्लाट की पिछली छोर पर खड़ी दो बसों में आग लगने की खबर जैसे ही पुलिस को मिली सोनौली पुलिस मौके पर पहुंचकर अन्य बसों को हटवाया। लेकिन तब तक दोनो बसें बुरी तरह से जलकर खाक हो गई। पुलिस मौके पर पहुंचकर फायर बिग्रेड बुलाकर आग पर काबू पाया।
अंदेशा व्यक्त किया जा रहा है कि दोनों बसों को पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी गई है।
जलने वाली दोनों बसें जिनके नंबर यूपी 70 AT 1929 तथा up56T 073 है । जिनके मालिक मकसूद अख्तर और दीपक गिरी है। यह दोनों बसें खंनुवा से चलकर नौतनवा होते हुए ठूठीबारी तक चलती है।
इस मामले में बस मालिक मकसूद अख्तर जो मोटर प्राइवेट यूनियन के अध्यक्ष भी है ने कहा कि इस घटना को अंजाम देने कुछ टेंपो वालों का है, जो अक्सर सवारियों को लेकर बसों में तोड़फोड़ मारपीट आगजनी करते रहते हैं।
बता दे कि इस तरह की एक घटना सीमावर्ती क्षेत्र में पहली घटना है। यह घटना अराजक तत्वों के लिए दुस्साहस भरा कदम कहा जा सकता है।


मस्जिद में इमाम ने बताए, बचाव-उपाय

निगोहा कस्बे की मस्जिद में इमाम ने बताएं कोरोना वायरस से बचने के उपाय


लखनऊ। राजधानी लखनऊ निगोहां नोवेल कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए केंद्र सरकार व राज्य सरकारें अलर्ट हो चुकी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे जैसे सैनिटाइजर ,मॉस्क लगाए रखना भीड़-भाड़ का एकत्रित ना होना प्रति 2 घंटे में अपने हाथों को धोना किसी से हाथ ना मिलाना अपने आसपास सफाई रखना इत्यादि यदि ऐसे छोटे-छोटे उपाय किए जाए तो कोरोना जैसी महामारी से बचा जा सकता है। इसी क्रम में निगोहां भगवान पुर कस्बे मे स्थित जामा मस्जिद मे जुमे की नमाज अदा करने आए लोगो को मस्जिद के इमाम ने कोरोना से बचाव के उपाय बताए।
मौजूदा हालात को देखते हुए मस्जिद के इमाम साहब ने कहा कि आज की सुरक्षा कल की जिंदगी है।
वही इमाम साहब ने यह भी बताया की बच्चे व बुजूर्ग कोरोना को देखते हुए मस्जिद की जगह घर पर ही नमाजें आदा करे जिससे कोरोना जैसे वायरस से बचा जा सके।


गंगा जमुनी तहजीब का प्रतीक जनपद लखनऊ में रहने वाले सभी संप्रदाय के लोग मौजूदा हालात को देखते हुए एक हैं। और कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए तैयार है।


 मोहम्मद इश्तियाक शेरखान


रोबोट करेंगे देखभाल, देंगे दवाई

देव गुर्जर 


गौतम बुध नगर। तेजी से फैलते कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने और डॉक्टरों एवं मेडिकल स्टाफ को इस घातक वायरस से बचाने के लिए नोएडा के अस्पताल में रोबोट का इस्तेमाल होते हुए देखा जा सकेगा।


जानकारी के अनुसार, नोएडा का फेलिक्स अस्पताल कोरोना संक्रमित मरीजों की देखभाल के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को तीन रोबोट देगा। यह रोबोट कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की सेवा में काम करेंगे। इन रोबोट का काम संक्रमित मरीजों को खाना और अन्य सामान देना आदि होगा। इससे मरीज के संपर्क में कम लोग ही रहेंगे।


काशी विश्वनाथ मंदिर पर लगाया ताला

दुनिया भर में भय का पर्याय बन चुके कोरोना वायरस से बचाव के लिए  देश के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के तमाम बड़े व छोटे मंदिरों को बंद कर दिया गया है। UP में संकटमोचन मंदिर में जहां लोग बंद मंदिर के मुख्य द्वार पर ही माला-फूल चढ़ा रहे हैं वहीं काशी विश्वनाथ मंदिर भी आम श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया है।


वाराणसी। काशी विश्वनाथ मंदिर 24 मार्च तक बंद
वाराणसी स्थित द्वादश ज्योतिर्लिंग में से एक बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर को कोरोना से बचाव के मद्देनजर 21 मार्च से 24 मार्च तक श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया। इस दौरान पुजारियों की नियमित पूजा-अर्चना पर रोक लागू नहीं होगी। पुजारी मंदिर में प्रवेश कर दैनिक पूजा-अर्चना करते रहेंगे। DM कौशल राज शर्मा ने यह आदेश दिया है। इस दौरान मंदिर के पुजारियों के अलावा आम दर्शनार्थियों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।


काशी के कोतवाल कालभैरव का मंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद
काशी के कोतवाल कहे जाने वाले बाबा काल भैरव का मंदिर भी अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। मंदिर के महंत परिवार की ओर से मिली जानकारी के अनुसार पूजा-अर्चना होती रहेगी। श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगाई गई है।


संकट मोचन मंदिर 25 मार्च तक बंद, मुख्य द्वार पर ही लोग चढ़ा रहे माला-फूल
कोरोना के प्रकोप के कारण वाराणसी का प्रसिद्ध संकटमोचन मंदिर भी शनिवार की सुबह से आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। मंदिर बंद होने के बाद भी काफी संख्या में लोग पहुंचे और मुख्य गेट पर ही माला फूल चढ़ाने के साथ भगवान हनुमान को नमन किया। कुछ लोगों ने गेट के बाहर सड़क पर ही हनुमान चालीसा व अन्य पाठ किया। बता दें कि संकट मोचन मंदिर में हर शनिवार व मंगलवार को भारी भीड़ उमड़ती है। श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के मद्देनजर ही शुक्रवार शाम मंदिर के महंत प्रो. विश्वम्भरनाथ मिश्र ने मंदिर के कपाट आम लोगों के लिए बंद करने का फैसला लिया।


शहर के दक्षिणी भाग में स्थित संकटमोचन मंदिर वाराणसी ही नहीं देश विदेश के श्रद्धालुओं के लिए आस्था का बड़ा केंद्र है। PM  ने भी जब वाराणसी से चुनाव लड़ने का फैसला किया था  तो सबसे पहले यहीं आकर आशीर्वाद लिया था।  मंदिर को 25 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है।


गंगा आरती में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश 31 मार्च तक के लिए प्रतिबंधित
बता दें कि वाराणसी में होने वाली गंगा आरती में आम लोगों की प्नवेश पर पहले ही रोक लगा दिया गया है। यह निर्णय जिला प्रशासन और गंगा सेवा निधि ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया है। गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्रा ने कहा- दशाश्वमेध घाट पर होने वाली मां गंगा की दैनिक आरती का स्वरूप 31 मार्च तक के लिए सांकेतिक किया गया है।


चित्रकूटः मंदिरों पर लगा ताला
कोरोनावायरस का असर चित्रकूट में भी देखने को मिल रहा है। यहां 31 मार्च तक कामदगिरि परिक्रमा और कामतानाथ के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई। मझगवां SDM हेमकरण धुर्वे ने बताया कि राम घाट स्थित मंदिर महाराजाधिराज मतगजेंद्र नाथ शिव मंदिर में भी आज ताला लगा दिया गया। सुबह पूजन और शाम को आरती व भगवान का भोग सेवायतों द्वारा संपन्न होगा।


गोरखपुरः गोरखनाथ पीठ श्रद्धालुओं के लिए किया गया बंद
इसके अलावा गोरखपुर के गोरखनाथ पीठ को भी श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है। गोरखनाथ पीठ श्रद्धालुओं के लिए 31 मार्च तक बंद रहेगा।  इस दौरान गोरखनाथ पीठ में नियमित भोग और आरती आम दिनों की तरह होती रहेगी। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही इस मठ के महंत हैं।


ज्ञात है कि कोरोना वायरस के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार, 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी प्रदेश धार्मिक आयोजनों पर भी रोक लगाते हुए लोगों से अपने घर पर रहकर ही पूजा करने की अपील की है। मां वैष्णो देवी और मां कामाख्या के मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद किए जा चुके हैं। इस बीच अब उत्तर प्रदेश के भी प्रमुख मठ-मंदिरों में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लग गई है।


दीमक रोधी रसायन से मां-बेटी की मौत

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में दीमक से बचाव के लिए निजी स्तर पर किए गए पेस्ट कंट्रोल ने दो जिंदगियां छीन लीं। परिवार की लापरवाही से कीटनाशकों का दुष्प्रभाव जाने बिना उनके उपयोग से यह स्थिति बनी। पेस्ट कंट्रोल के लिए लगाई जाने वाली सामग्री को और प्रभावी बनाने के लिए परिवार ने उसमें सल्फास पाउडर भी मिला दिया था।


एक कमरे में पेस्ट कंट्रोल के बाद मां और ढाई वर्ष की बेटी सामने वाले कमरे में सो गए। कमरे में लगे एसी का कंप्रेशर बाहर गलियारे में लगा था। कीटनाशकों की जहरीली गैस कंप्रेशर से होते हुए एयर कंडीशनर (एसी) के माध्यम से कमरे में पहुंच गई। हादसे में मां-बेटी की मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से बीमार तीन लोग अस्पताल में भर्ती हैं।


पुलिस के अनुसार इकबाल कॉलोनी निवासी शादाब शेख के घर के फर्नीचर में दीमक लग गई थी। उसे मारने के लिए घर की महिलाओं ने थर्माइट किलर नाम का पेस्ट कंट्रोलर और सल्फास मंगवाया। दोनों को मिलाकर फर्नीचर और घर की दीवारों में छिड़काव कर कमरा बंद कर दिया।


गुरुवार रात करीब 10 बजे 35 वर्षीय रेशमा और ढाई साल की बेटी आयशा पेस्ट कंट्रोल किए गए कमरे के सामने वाले कमरे में एसी चालू करके सो गई। रात में दोनों का कीटनाशकों की गैस से दम घुटने लगा तो तीसरी मंजिल पर सो रहा देवर इरफान उन्हें लेकर निजी अस्पताल पहुंचा। इसी बीच रेशमा का पति शादाब भी अस्पताल पहुंचा। वहां डॉक्टर ने मौसम का हवाला देकर खुली हवा में सोने को कहा और वापस भेज दिया। तीनों वापस आए और उसी कमरे में सो गए।


इरफान भी ऊपर अपने कमरे में पत्नी शाहिना के साथ एसी चालू करके सो गया। सुबह सात बजे रेशमा, शादाब, आयशा, भाई इरफान शेख और शाहिना की तबीयत बिगड़ी तो स्वजन सभी को निजी अस्पताल लेकर पहुंचे। इस बीच रेशमा और बच्ची आयशा की मौत हो गई। शादाब, इरफान और शाहिना की हालत गंभीर है।


मंत्री की भतीजी से छेड़छाड़ का मामला

लखनऊ। प्रदेश सरकार में एक मंत्री की भतीजी ने हुसैनगंज कोतवाली में कुछ लोगों पर छेड़छाड़ की एफआइआर दर्ज कराई है। वहीं, दूसरे पक्ष ने अपहरण का आरोप लगाकर रिपोर्ट दर्ज कराई है। इंस्पेक्टर हुसैनगंज अंजनी कुमार पांडेय के मुताबिक दोनों पक्षों में पुराना विवाद चल रहा है। पेशबंदी में एफआइआर दर्ज कराई गई है। मामले की छानबीन की जा रही है। इंस्पेक्टर ने बताया कि अक्षय अपार्टमेंट में रहने वाले बिल्डर सुदर्श अवस्थी का आरोप है कि बुधवार रात असलहे से लैस कुछ लोगों ने उन्हें अगवा कर लिया। इस दौरान आरोपितों ने उनकी पिटाई की और गाड़ी में घुमाते रहे। आरोप है कि आरोपितों के साथ एक पुलिसकर्मी भी शामिल था। उन्होंने एक व्यक्ति पर केस कराया है। उधर, सुदर्श पर एक युवती ने छेड़छाड़ की एफआइआर दर्ज कराते हुए कार्रवाई की मांग की है। पुलिस का कहना है कि फ्लैट के मेंटिनेंस को लेकर दोनों पक्षों का कोर्ट में विवाद चल रहा है।


सूफी संत ने लोगों को जागरूक किया

अंबेडकरनगर। चीन से फैला कोरोना वायरस अब पूरी दुनिया के लिए बन गया है आफत। जिससे निजात पाने के लिए अभी तक कोई ऐसा फार्मूला नहीं तैयार किया जा सका है कि इस कोरोना वायरस से निजात पाया जा सके। कई देश इसके निजात के लिए दवाइयां बनाने में लगी हुई है और आशा की चिंगारी भी नजर आ रही है किंतु समस्या इस बात की है कोरोना वायरस अब भारत में पांव पसारता हुआ नजर आ रहा है जिसे ध्यान में रखते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युद्ध स्तर की तैयारी की है। डब्ल्यूएचओ की गार्डलाइन जारी है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एडवाइजरी का सिलसिला शुरू है फिर हाल इससे पूर्णतः निजात पाने का अभी कोई विकल्प सामने नहीं आया है। सबसे बड़ा विकल्प बचाव ही बताया जा रहा है कि लोग ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो। भीड़-भाड़ इलाकों में न जाएं। हाथ मिलाने से परहेज करें, दूरी बनाकर बातें करें। मुंह पर मास्ट या गम्छा का प्रयोग करें।


साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें और जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके एहतियात बरतें और लोगों को भी इसके बारे में जागरूक करें। कोरोना वायरस ने देश की चिंता को बढ़ा दी है जिसे देखते हुए धर्मस्थलों पर आग्रह निवेदन करते हुए 2 अप्रैल तक के लिए पूर्णतया बंद कर दिया गया। वहीं जहां भी धार्मिक स्थल अभी संचालित हैं। उन्हें भी बंद करने की अपील की जा रही है और संदेश दिया जा रहा है कि लोग इकट्ठा न हो। भीड़भाड़ वाली जगह पर न जाएं पूरी तरह से सचेत रहें।


इसी क्रम में नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा क्षेत्र में स्थित विश्व प्रसिद्ध सूफी संत सैय्यद हजरत मखदूम अशरफ के आस्ताने पर आए श्रद्धालुओं को जागरूक करने का काम किया गया। टांडा तहसील एसडीएम अभिषेक पाठक ,बसखारी थाना अध्यक्ष मनोज सिंह ,अधिशासी अधिकारी राजमणि वर्मा की उपस्थिति में इंतजामिया कमेटी के कार्यालय में दरगाह क्षेत्र के जिम्मेदारान लोगों के साथ मिलकर गहन विचार-विमर्श किया गया। लोगों की भीड़ को कम कर दिया जाए जो कि स्थानीय लोगों के साथ-साथ आए हुए श्रद्धालुओं के लिए भी कारगर साबित होगा।


मस्जिदों में इबादत करने के सिलसिले को रोकने की सलाह दिया गया और श्रद्धालुओं को एक साथ इकट्ठा होने से परहेज किया जाए तमाम सतर्कता बरतनी की बातों पर और सलाह पर लोगों ने अपनी पूर्ण सहमति देते हुए यह निष्कर्ष निकाला कि दरगाह आस्ताने को 2 अप्रैल तक बंद करने की सहमति हो गई। इस दौरान सीओ सिटी धर्मेंद्र सचान ने क्षेत्रों का भ्रमण भी किया और कोरोना वायरस के बारे में लोगों को तमाम प्रकार की जरूरी सावधानियों के बारे में भी बताया। कहां की भीड़भाड़ वाले स्थानों पर लोग जाने से बचें।


पुलिस लाइन में कार्यशाला का आयोजन

रुद्रपुर। कोरोना वायरस से बचाव के सम्बन्ध में जनपद ऊधम सिंह नगर पुलिस को जागरूक करने तथा इसके बचाव के लिए की जाने वाली कार्यवाही,  सावधानियाँ एवं इसे फैलने से रोकने हेतु क्या उपाय करें, के विषय पर पुलिस लाइन रुद्रपुर मैदान में 01 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें डा० अविनाश खन्ना, डा०उषा जंगपागी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ऊधमसिंहनगर द्वारा दी गयी जनपद के समस्त पुलिस कर्मियों को विस्तृत जानकारी दी गई। पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड देहरादून के निर्देशानुसार ,श्री बरिदंरजीत सिंह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ऊधमसिंहनगर  महोदय द्वारा कोरोना वायरस के सम्बन्ध में जागरूक करने हेतु दिये गये निर्देशों के क्रम में आज दिनाँक 18ध्03ध्2020 को पुलिस लाइन रुद्रपुर ऊधमसिंहनगर के मैदान में कोरोना वायरस के सम्बंध में जागरूकताध्बचावध्उपाय सम्बंधित कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें जनपद के सभी थानों,रेडियो शाखा,पुलिस कार्यालय,अभिसूचना, पुलिस लाइन,फायरसर्विस,अभिसूचना,च्त्क्,यातायात,सीपीयू,होमगार्ड के कर्मियों द्वारा प्रतिभाग किया गया, जिनको डा०अविनाश खन्ना,डा०उषा जंगपांगी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ऊधमसिंहनगर द्वारा कोरोना वायरस के सम्बंध में जानकारी दी गयी एवं इससे बचने के उपायों के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा की गयी, इस दौरान उनके द्वारा कोरोना वायरस के सम्बंध में फैल रही भ्रांतियों के सम्बंध में भी चर्चा की गयी। व एसडीआरएफ टीम द्वारा सभी को कोरोना वायरस से बचने हेतु एक डैमों दिखाया गया।एसडीआरएफ टीम प्रभारी उपनिरीक्षक राजेंद्र सिंह, हेडकांस्टेबल रवि रावत, कानि०रतन शाही व नवीन कुवँर मौजूद रहे। इस दौरान श्री प्रमोद कुमार अपर पुलिस अधीक्षक अपराध, श्री मनोज कुमार क्षेत्राधिकारी रुद्रपुर,श्री वंशबहादूर यादव मुख्य अग्निशमन अधिकारी ऊधमसिंहनगर,श्री शिवराज सिंह राणा प्रतिसार निरीक्षक पुलिस लाइन,श्री विजय कुमार प्रभारी अभिसूचना, श्री मनीष शर्मा प्रभारी यातायात, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी गण एवं समस्त थानों के पुलिस कर्मी, महिला पुलिस कर्मी, होमेगार्ड के जवान इत्यादि मौजूद रहे।


दोषियों की फांसी पर राष्ट्र ध्वज सम्मान

गोपीचंद सैनी


बागपत/बड़ौत। कल्याण भारती सेवा संस्थान के तत्वावधान में बड़ौत नगर की फूस वाली मस्जिद के पीछे संस्थान के कार्यकर्ताओं व नगर वासियों ने नुक्कड़ पर भारतीय न्याय व्यवस्था के समान में राष्ट्र ध्वज तिरंगे को लहराते हुये, निर्भय कांड के दोषियों के भयानक कुकृत पर दण्ड दिये जाने पर अपनी खुसी का व्यक्त की।
संस्थान के प्रबन्ध निदेशक गोपी चन्द सैनी ने देश के नागरिकों को भारतीय न्याय व्यवस्था के प्रति श्रद्धा एवं विश्वास बनाये रखने की अपील कि। जिसमे सुरेश चन्द जैन, रामनिवास, शोकत अली, हेमचं जैन,  सभासद अनुज जैन, राशिद अली, यूनुस कामरेड, अजेय जैन, सुधीर, प्रवीण, पप्पू भाई विशाल जैन, मोनू आदि व्यकि उपस्थित रहे।
             


विश्वकर्मा समाज की सांसद को बधाई

रामचन्द्र जांगड़ा विश्वकर्मा जी को हरियाणा राज्यसभा सांसद निर्विरोध चुने जाने पर लोनी भाजपा नेता कपिल पांचाल अंकुश पांचाल ने शिष्टाचार भेंट की


रवि चौहान


नई दिल्ली। भाजपा मंत्री बलराम नगर मंडल कपिल पांचाल राम विहार मंडल के महामंत्री अंकुश पांचाल ने भाजपा हरियाणा भवन में मिलकर राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा विश्वकर्मा जी को कपिल पांचाल अंकुश पांचाल सचिन जांगिड़ एवं समस्त विश्वकर्मा वंसीयो की तरफ से विश्वकर्मा भगवान का पटका पहनाकर फूल मालाओं बुके देकर बधाई एवं शुभकामनाएं दी। भारतीय जनता पार्टी का धन्यवाद किया और रामचन्द्र जांगड़ा जी को भाजपा हरियाणा राज्यसभा सांसद निर्विरोध चुने जाने पर विश्वकर्मा समाज में खुशी लहर दौड़ रही हैं। भाजपा नेता कपिल पांचाल व खास तौर से विश्वकर्मा समाज की युवा टीम ने विश्वकर्मा समाज की उन्नति पर चर्चा करते हुए राज्यसभा सांसद जी ने बताया जल्द होगी विश्वकर्मा समाज के सम्मनित नेताओं की पहली बैठक। फिर आयोजित किया जायेगा विश्वकर्मा समाज का महा सम्मेलन।
मुख्य रूप से भानु प्रकाश शर्मा भाजपा मंत्री बलराम नगर मंडल, कपिल पांचाल राम विहार मंडल महामंत्री, अंकुश पांचाल, सचिन जांगिड़ जिलाध्यक्ष विश्वकर्मा समाज, मनोज जांगिड़ दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष विश्वकर्मा समाज, दिपेश विश्वकर्मा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विश्वकर्मा समाज, अनुराग जांगड़ा विश्वकर्मा समाज सेवी विपिन कुमार आदि लोगों मौजूद रहे।


जेट ने किया रेप, पुलिस की टालमटोल

दहेज की मांग न पूरी होने पर जेठ ने किया बलात्कार पुलिस फर्जी मामला बोल जाँच में जुटी


समीर मिश्रा


कानपुर। देश की सरकारें महिलाओ की सुरक्षा को लेकर कई कड़े कदम लगातार उठा रही है। जिससे महिलाओ पर हो रहे उत्पीड़न की रोकथाम हो सके। परन्तु सरकारी तन्त्रो कीलापरवाही की वजह से महिला उत्पीड़न में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। ज्यादातर मामले दहेज को लेकर को रहे है। कई मामले ऐसे भी है जो हिंसक रूप लेकर बलात्कार में भी तब्दील हो रहे है। जिसे क्षेत्रीय पुलिस भी फर्जी मामला करार दे ठंडे बस्ते में डाल देती है। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है थाना कल्याणपुर स्थित चन्देल नगर पुराना शिवली रोड निवासी एक महिला के साथ उसके जेठ ने ये कहकर बलात्कार किया कि उसके परिजनों ने दहेज में कार नही दी। जिसकी भरपाई उसके साथ बलात्कार करके की जा रही है। बलात्कार के बाद ये धमकी दी गई कि अगर उसने किसी को कुछ बताया तो इसी घर मे मारकर दफन कर देंगे। चूंकि पीड़ित महिला ने डर और दहशत के मारे मुह पर ताला लगा लिया। महिला के डर को चुप्पी में तब्दील होता देख ससुरालीजनों का अत्याचार चरम पर पहुच चुका था। अत्याचारो से टूटी महिला ने जब मामला परिजनों को बताया तो परिजनों ने तत्काल थाना कल्याणपुर थाने में मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई। परन्तु अभी तक पुलिस ने किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नही किया है। वही रिपोर्ट वापस लेने को लेकर पीड़ित महिला व उसके परिजनों पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है। पुलिस है कि बलात्कार जैसी गम्भीर धाराओ के बाद भी किसी भी आरोपी पर हाथ डालने से जाने क्यो संकोच कर रही है।


क्या है पूरा मामलाः- चन्देल नगर प्लाट नo 3 निवासी संजीव त्रिपाठी की सुपुत्री का विवाह आवास विकास सत्यम विहार निवासी श्री राम सुपुत्र संजीव शुक्ला से रीति रिवाजों के साथ छ: वर्ष के आसपास हुआ था। दहेज में साजो सामान के साथ लगभग पांच लाख नकद रू भी दिये गए। जिससे उनकी पुत्री और दामाद शांति से सुखमय जीवन व्यतीत कर सके। पीड़ित महिला के अनुसार विवाह के कुछ समय बाद से ही ससुरालीजनों के व्यवहार में बदलाव आ गये थे। बात बात पर छीटाकशी की जाने लगी थी। जब मामला बर्दाश्त के बाहर जाने लगा तो इस बारे में पति से शिकायत की तो पति उस पर बिफर कर कहने लगा तुम्हारे घरवालो ने इनोवा कार देने को कहा था वो क्यो नही दी? इस पर महिला ने पति से कहा इतना दिया गया क्या कम है। धीरे-धीरे उत्पीड़न बढ़ता ही जा रहा था। वही दूसरी तरफ जेठ शक्ति लगातार उसे अश्लीलता भरी नजरो घूरा करता था। जिसे वो नजर अंदाज कर देती थी पति संजीव जो कि मुम्बई में बैंक में मैनेजर की पोस्ट पर कार्यरत था। उसके जाने के बाद मौका मिलता देखकर जेठ शक्ति अर्धरात्रि उसके कमरे घुसकर जबरन विधि विरुद्ध उसके साथ बलात्कार किया और पीड़िता को धमकी दी। अगर उसने अपना मुह खोला तो उसे इसी घर मे ज़िंदा दफना देंगा ये सब कार न देने का नतीजा है। डरी सहमी महिला को कुछ सूझ नही रहा था कि वो क्या करे? हद तो तब हो गई जब पूरे घर ने मिलकर उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। इस दौरान जेठ ने उस पर चाकू फेककर हमला भी किया जो उसके हाथ मे घुस गया था।


कई माह बीत जाने के बाद कुछ सभ्रांत रिश्तेदारो ने समझा बुझाकर दोबारा महिला को पति संजीव के साथ विदा करवा दिया। ये कहकर कि वो अब मुम्बई में उसके साथ रहेंगी। इसी वजह से महिला ने जेठ के कृत्य को छुपा लिया परंतु कुछ समय उपरांत ही पति उसे फिर से दहेज को लेकर प्रताड़ित करने लगा कुछ दिन बाद फिर उसे मुम्बई से घर लाकर अलग किराये के मकान में रहने लगा। यहाँ भी कुछ दिन काटने के बाद उसे छोड़कर चला गया। जिसका किराया भी महिला के परिजन ही दे रहे थे। काफी समय बीतने के बाद भी जब वो नही आया तो महिला को लगने लगा कि अब पानी सर से ऊपर गुजर चुका है। महिला ने जेठ की करतूत से लेकर ससुरालीजनों की प्रताड़िता की पूरी कहानी परिजनों को सुनाई जिसे सुनकर पूरा परिवार सन्न रह गया। 



परिजनों ने तत्काल पुलिस में पीड़िता के ससुरालीजनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई किन्तु रिपोर्ट दर्ज हुए सप्ताह होने को आया है। अभी तक किसी भी व्यक्ति की गिरफ्तारी नही हुई है जब भी पूछा जाता है। तो पुलिस ये कहकर टरका देती है अभी जाँच हो रही है। जबकि बलात्कार के मामले में तत्काल गिरफ्तारी होनी चाहिये परिजनो का आरोप है कि पुलिस ने आरोपियों से मोटी रकम ले ली है। तभी तो पुलिस ये कह रही है बलात्कार हुए जमाना हो गया। अभी तक कहा थी पुलिस के व्यवहार से साफ झलकता है कही न कही।आरोपियों को पुलिस की सेवाएं प्राप्त हो रही है। शायद यही वजह है बलात्कार जैसे संगीन अपराधो को जन्म देने वाले अपराधी बेखौफ होकर घिनौने कृत्यों से बचकर सरकारी तन्त्रो द्वारा महिला सुरक्षा के दावों को खिलखिलाकर ठहाके लगाते हुए नजर आते है।


राहतः संक्रमण का सफल उपचार

जयपुर। कोरोनावायरस की चपेट में आकर हजारों लोगों की जान जा चुकी है। लाखों लोग इससे संक्रमित है। ऐसे में दुनिया भर के डॉक्टर अपनी जान की परवाह किये बिना ही मरीजों को बचाने में जी जान से जुटे हैं, इन्हीं में से एक हैं जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में कार्यरत डॉ. प्रकाश केसरवानी. जिन्होंने कोरोना से संक्रमित तीन मरीज का सफल इलाज कर उन्हें ठीक कर दिया। डॉक्टर केसवानी का नाम इस कारण भी सुर्खियों में है की इन्होंने तीन-तीन बुर्जुगों को ठीक किया है।


गौरतलब है कि कोरोना वायरस की अबतक कोई सटीक दवा ईजाद नहीं हुई है। लेकिन राहत है कि इसके बाद भी जयपुर में भर्ती तीन मरीज इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। भारत में कोरोना के कुल 14 मरीज अबतक ठीक हो चुके हैं। यह देश के डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की बडी कामयाबी है। डॉक्टर प्रकाश केसवानी ने बताया की तीन मरीजों में से एक इटली से आया था, उसकी देखरेख करने वाला भी कोई नहीं था। ऐसे में खुद डॉक्टर प्रकाश केसवानी ने अपने हाथों से उसे खाना खिलाया और उसका इलाज भी किया।
अस्पताल में डॉक्टर केसवानी जहां मरीजों से जुझते रहे साथ ही इस बात का भी ख्याल रखा की यह बीमारी किसी तरह भी उनके घर न पहुंचे, इसका उन्होंने खास ख्याल रखा। कई सावधानियां भी बरती. लोगों को भी सावधानी बरतने की सलाह दे रहे है।


डॉ. प्रकाश केसवानी ने बताया कि जब पहला केस अस्पताल में आया तो उन्होंने इस रोग से मिलते-जुलते लोगों के लक्षणों का इतिहास खंगालना शुरू किया और तब उन्हें लगा कि इससे लड़ने की क्षमता एचआईवी ड्रग्स में भी होती है और उसे देने का फैसला किया। इसके अलावा क्लोरीन का भी इस्तेमाल किया, जिसका रिजल्ट काफी अच्छा आया और तीनों मरीज ठीक हो गए।


जहां एक ओर कोरोना से मरने वालों में सबसे ज्यादा बुर्जुग लोग है, वहीं यहां के डॉक्टरों ने तीन तीन बुर्जुग को ठीक कर नयी मिसाल कायम कर दी है। ठीक हुए बुर्जुग मरीजों में एक तो जयपुर के ही रहने वाला थे, जिनकी उम्र करीब 85 साल थी। कोरोना को लेकर पूरी दुनिया सकते में है, हजारों लोग इसकी चपेट में आकर काल के गाल में समा चुके है। खौफ के साये में हर कोई जी रहा है। ऐसे विपरीत माहौल में कोरोना से ठीक हो जाना निश्चित ही अच्छी खबर है। जो कोरोनो की नेगेटिविटी के बीच एक अच्छा पॉजीटिविटी का अहसास कराती है।


राष्ट्रपति कोविंद का होगा कोरोना टेस्ट

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार लगातार अपील कर रही है तो वहीं कुछ लोगों की लापरवाही बीमारी को आगे बढ़ा रही है। ऐसे में अब खबर है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भी कोरोना वायरस का टेस्ट होगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सांसद दुष्यंत सिंह ने कनिका कपूर की पार्टी में शामिल होने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी। जिसके बाद राष्ट्रपति का भी टेस्ट होना बाकी है। वहीं रामनाथ कोविंद के 15 मार्च को प्रस्तावित सोनभद्र जिले में निर्धारित कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है। वैसे सांसद दुष्यंत सिंह ने कनिका कपूर के पॉजिटिव पाए जाने के बाद खुद आइसोलेशन वार्ड में चले गए थे।


इसके अलावा सरकार उनकी पार्टी में शामिल हुए लोगों की निगरानी कर रही है। कनिका कपूर के खिलाफ योगी सरकार ने एफआईआर करवाई है। शुक्रवार को देश में सबसे ज्यादा 50 पॉजिटिव केस सामने आए। देहरादून और मध्य प्रदेश में कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद सरकार और ज्यादा अलर्ट हो गई है। एक घंटे से भी कम समय बाद कोरोना वायरस (COVID-19) की पुष्टि हो गई। यहां तक कि पुष्टि के मामलों की संख्या 256 तक पहुंच गई। जिसमें पंजाब, महाराष्ट्र, दिल्ली और कर्नाटक में एक-एक की मौत हो गई। भारत में इस महामारी से मरने वालों की संख्या 5 हो गई है। कई राज्यों की सरकारों ने स्कूल, कॉलेज, मूवी थिएटर, मॉल, पार्क और अन्य सार्वजनिक स्थानों को बंद करने के साथ सामाजिक गड़बड़ी के लिए स्थितियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कमर कस रखी है।


हापुड़ः तार चोर गैंग के तीन गिरफ्तार

अतुल त्यागी जिला प्रभारी
हापुर। विद्युत लाइन चोरी करने वाले तीन अभियुक्तों को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया। 8 कुंतल विद्युत तार, एक छोटा हाथी एक अवैध तमंचा दो कारतूस बरामद किए। जनपद की थाना गढ़मुक्तेश्वर पुलिस ने विद्युत लाइन के तार की चोरी करने वाले गैंग के तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर की तीन व्यक्ति चोरी के तार के साथ छोटा हाथी में माल लादकर बेचने की फिराक में ग्राम की तरफ जाने वाली सड़क पर बंद पड़े भट्टे के कमरे की आड़ में खड़े हैं। यदि पुलिस सतर्कता दिखाएं तो पकड़े जा सकते हैं। सूचना पाकर तुरंत थाना गढ़मुक्तेश्वर प्रभारी निरीक्षक अपनी टीम राजपाल सिंह तोमर अपनी टीम वरिष्ठ उप निरीक्षक अजय कुमार उपनिरीक्षक मनीष चंद्र चौहान, प्रीतम सिंह भजनलाल, हेड कांस्टेबल स्वराज कांस्टेबल, विजय धामा, विक्रांत, विवेक कुमार, राजकुमार शर्मा के साथ बताए गए स्थान पर संदिग्ध वाहन व्यक्ति की चेकिंग करने लगे। बताए गए स्थान पर पहुंचने पर पुलिस को आता देख अभियुक्तों ने जान से मारने की नियत से पुलिस पर फायर कर दिया। पुलिस ने बचाव कर जवाबी कार्रवाई करते हुए घेराबंदी करके तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्तों की पहचान जितेंद्र पुत्र निरंजन विजय पाल पुत्र छत्रपाल भूपेंद्र पुत्र निरंजन सभी निवासी नयागांव इनायतपुर थाना गढ़मुक्तेश्वर जनपद हापुर के रूप में हुई है।


सपा ने निशुल्क मास्क-सैनिटाइजर बाटेंं

आदर्श श्रीवास्तव


लखीमपुर खीरी। सपा नेता क्रांति कुमार सिंह ने लखीमपुर सदर चौराहा मजदूरों और सदर कोतवाली और छाउछ चौराहे पर करीब दो हजार माक्स सैनिटाइजर बाटेंं। सपा नेता क्रांति कुमार सिंह संदेव समाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर लेते हैं हिस्सा। सरकार पर हमला बोलते हुए कहा सरकार अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है। तब वो अपने निजी खर्च से जनता को जागरूक भी कर रहे हैं और मास्क कालाबाजारी हो रही है। निशुल्क बांट रहे हैं मास्क और सैनिटाइजर। अभी मैगलगंज और बर्बर में भी बाटेंगे मास्क और सैनिटाइजर।सपा नेता क्रांति कुमार सिंह ने कहा कल जनता कर्फ्यू के कारण मोहम्मदी नहीं बाट पाएंगे। इस लिए परसो मोहम्मदी में बाटेंगे मास्क और सैनिटाइजर।


शराब की दुकानों पर खुलती है बोतलें

सूरज कश्यप/गुड्डू सिंह


कानपुर। थाना फजलगंज क्षेत्र में इस समय जगह-जगह शराब पिलाई जा रही है। जहां सरकार द्वारा अपराध रोकने को लेकर समय-समय पर अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए जाते हैं और सभी नियमों का सख्ती से पालन कराने को भी कहा जाता है पर लगता है। इसकी जमीनी हकीकत तो कुछ और ही बयां करती है । सरकारी नियमों की मानें तो किसी भी शराब या बियर की दुकान पर ना तो कोई कैंटीन चलनी चाहिए और ना ही किसी दुकान पर ग्राहकों को शराब पिलाने देना चाहिए। पर कुछ चंद पैसों की लालसा में आजकल शराब व्यापारी और बियर शॉप मालिक अपनी दुकानों में खुलेआम अवैध कैंटीन चलाते पाए जा रहे हैं । जिस पर ना तो क्षेत्र पुलिस की नजर जा रही है और ना ही अबकारी विभाग की सारी नैय्या डांवाडोल चल रही है ।
 
थाना फजलगंज क्षेत्र के चार खंभा कुए के पास गन हाउस के बगल में बनी बीयर शॉप में दिनदहाड़े शॉप संचालक कैंटीन चला रहे हैं हैरत की बात तो यह है कि इन बियर शॉप के संचालक को ना तो पुलिस का डर है और ना ही आबकारी विभाग का पूछे जाने पर बियर शॉप किसी राजेश की बताई जा रही है जो खुद को एक बड़ी राजनैतिक पार्टी से जिला कार्यसमिति सदस्य बताते हैं साथ ही बीयर शॉप के सेल्समैन की मानें तो इस अवैध कैंटीन की जानकारी क्षेत्रीय थानाध्यक्ष व संबंधित चौकी प्रभारी को भी है बात किसी एक बियर शॉप या किसी एक कैंटीन संचालक की नहीं है । दरअसल फजलगंज थाना क्षेत्र में कई जगह बियर शॉप पर शाम होते ही जाम से भरे गिलास आपस में टकराते हैं । इसके चलते इन शराब की दुकानों के बाहर आए दिन छोटे-मोटे विवाद होते रहते हैं जो किसी भी दिन एक बड़ी घटना का रूप ले सकते हैं ।


इन गलतियों से फैलता है संक्रमण

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हर कोई तैयारी कर रहा है। आपने वायरस से बचाव के लिए सैनिटाइजर और फेस मास्क खरीद लिया होगा। संक्रमण रोकने के लिए कुछ लोगों ने घर से भी काम करना शुरू कर कर दिया है। इसके बावजूद हम रोजाना ऐसी गलतियां कर रहे हैं जो वायरस को बड़ी आसानी से शरीर में घुसने दे रहा है। डॉक्टर कोरोना वायरस संक्रमण के इस घड़ी में आम लोगों को लगातार सलाह दे रहे हैं कि अपने हाथों को चेहरे से दूर रखें। इसके बावजूद हम इस गंभीर चेतावनी को नजरअंदाज कर रहे हैं। आइए जानते हैं ऐसी बड़ी गलतियां जो कभी आपने नोटिस तक नहीं किया होगा…


हम हर घंटे 23 बार छूते है चेहरा


अतंरराष्ट्रीय मेडिकल पत्रिका एनसीबाआई में छपे एक शोध में खुलासा हुआ है कि हम हर घंटे लगभग 23 बार अपना चेहरा छूते हैं। कुछ लोग हर घंटे इससे ज्यादा बार भी चेहरे पर जाने-अनजाने हाथ फेर लेते हैं। इसी पत्रिका में की दूसरी शोध में बताया गया है कि हम एक घंटे 15 बार अपनी उंगलियों को नाक के भीतर ले जाते हैं। सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि जाने-अनजाने 90 फीसदी लोग चेहरे, नाक, मुंह या आंखों को हर घंटे लगातार छूते हैं।


आपका हाथ कर रहा है मदद कोरोना वायरस फैलाने में मदद


विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन का कहना है कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए हाथों को अपने चेहरे से दूर रखना बहुत जरूरी है। दरअसल 80 फीसदी लोगों के हाथों में बैक्टिरिया या वायरस होता है। ऐसे में जब भी कोई व्यक्ति अपने उंगलियों से चेहरे को छूता है तो संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। डॉ. स्वामीनाथन का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण के इस घड़ी में बार-बार हाथों को धोते रहना ही बचाव का सबसे प्रभावी तरीका है।


बताते चलें कि अभी तक भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से लगभग 2.44 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 86,025 लोग ठीक भी हो चुके हैं। भारत में अब तक कुल 194 लोग संक्रमित हो चुके हैं। देश में इसकी वजह से 4 लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है।


कविता गर्ग


बचावः बीएसएनएल देगा 5 जीबी डाटा

नई दिल्ली। भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) ने अपने लैंडलाइन ग्राहकों को फ्री में इंटरनेट ऐक्सेस ऑफर करने के लिए नए ‘Work@Home’ प्रमोशनल ब्रॉडबैंड प्लान को लॉन्च किया है। सरकारी टेलीकॉम कंपनी द्वारा ये प्लान भारत में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लोगों को घर से काम करने के लिए बढ़ावा देने के उद्देश्य से लाया गया है।


इस प्लान में सारे लैंडलाइन ग्राहकों को 10Mbps तक स्पीड के साथ रोज 5GB डेटा दिया जाएगा। ये प्रमोशनल ऑफर अंडमान और निकोबार समेत सारे सर्किलों में लागू होगा. BSNL के Work@Home में ग्राहकों को रोज 5GB डेटा का ऐक्सेस दिया जाएगा, हालांकि, ये लिमिट क्रॉस हो जान के बाद इंटरनेट की स्पीड घटकर 1Mbps हो जाएगी। इस प्लान में कोई मंथली चार्ज शामिल नहीं है और ना ही कोई सिक्योरिटी डिपॉजिट देना होगा।


ध्यान रहे, चूंकि ये ऑफर बीएसएनल के लैंडलाइन यूजर्स के लिए एक्सक्लूसिव तौर पर लाया गया है, ऐसे में अगर आपके पास कंपनी का लैंडलाइन कनेक्शन नहीं है तो आपको इसका फायदा नहीं मिलेगा बीएसएनएल के इस कदम से कंपनी को अपने लैंडलाइन यूजर्स को ब्रॉडबैंड सब्सक्राइबर्स में बदलने में मदद मिलेगी और कंपनी एयरटेल और जियो जैसी प्राइवेट कंपनियों का बेहतर तरीके से मुकाबला कर पाएगी।


BSNL द्वारा Work@Home प्लान एक्टिवेशन के दिन से लेकर एक महीने तक के लिए ऑफर किया जा रहा है। ये प्लान मौजूदा लैंडलाइन ग्राहकों के लिए है, हालांकि नए ग्राहक इस ऑफर का फायदा कंपनी के किसी भी रेगुलर लैंडलाइन प्लान को ऐक्टिवेट कर उठा सकते हैं।


देश में नए 22 मामले, संक्रमित 258

नई दिल्ली। देश में आज कोरोना के 22 नए मामले सामने आए हैं। देश में अब संक्रमित मरीजों की संख्या 258 तक पहुंच गई है। रेलवे ने जनता कर्फ्यू के मद्देनजर रविवार को 3,700 ट्रेनों का परिचालन रद्द करने की घोषणा की है। गो एयर ने रविवार की अपनी सभी उड़ानें रद्द कर दी हैं, वहीं इंडिगो महज 60 फीसदी घरेलू उड़ानों का संचालन करेगी। सेना भी वर्क फ्रॉम होम का फॉर्मूला अपनाने जा रही है। आज सामने आए 22 नए मामले, 258 हुई संक्रमितों की संख्याभारत में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 258 हो गई है। आज 22 नए मामले सामने आए हैं। इनमें 219 भारतीय और 39 विदेशी शामिल हैं। वहीं चार लोगों की इस जानलेवा वायरस से चार लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 23 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। यह आंकड़े शनिवार सुबह नौ बजे तक के हैं।



जनता कर्फ्यू के मद्देनजर रेलवे ने रविवार को देशभर में 3,700 ट्रेनों का परिचालन रद्द करने की घोषणा की है। रेलवे की घोषणा के मुताबिक, रविवार को रद्द होने वाली ट्रोनों में पैसेंजर के साथ-साथ लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें भी शामिल होंगी। रेलवे के मुताबिक, 'शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात 10 बजे से देश के किसी भी स्टेशन से कोई पैसेंजर या एक्सप्रेस ट्रेन नहीं खुलेंगी।'


'गो एयर' ने रविवार को जनता कर्फ्यू के दिन स्वेच्छा से अपनी सभी उड़ानें रद्द करने की घोषणा की है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में लोगों से कोरोना वायरस के बीच रविवार को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था, जिसके बाद गो एयर ने यह फैसला लिया। एयरलाइन ने शुक्रवार को कहा, 'गो एयर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रस्तावित जनता कर्फ्यू के समर्थन में रविवार 22 मार्च को स्वेच्छा से अपनी सभी उड़ानें रद्द करने का फैसला लिया है।'


इंडिगो ने शुक्रवार को कहा कि रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ के मद्देनजर वह महज 60 प्रतिशत घरेलू उड़ानों का परिचालन करेगी। इसके अलावा, इस महामारी के चलते एयरलाइन की मांग में कमी आई है, उसके मद्देनजर वह अपनी घरेलू उड़ानों में फिलहाल 25 प्रतिशत कमी कर रही है।


सेना भी 23 मार्च से करेगी वर्क फ्रॉम होम
सैन्य मुख्यालय में तैनात 35 फीसदी अधिकारी और 50 प्रतिशत जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) 23 मार्च से एक सप्ताह तक घर से कमा करेंगे। अधिकारियों और जेसीओ का दूसरा समूह 30 मार्च से घर से काम शुरू करेगा। सेना ने कहा कि समूहों को एक दूसरे से मिलने से बचाया जाएगा।  यह सुनिश्चित किया जाएगा कि वे कार्य के समय हर वक्त फोन और इलेक्ट्रानिक माध्यमों पर उपलब्ध रहें। मुख्यालय के प्रवेश और निकास द्वारों पर भीड़ से बचने के लिए सैन्य कर्मियों को अलग-अलग ड्यूटी टाइम पर बुलाए जाने का भी फैसला किया गया है।
 


भोपाल पहुंचे कांग्रेस के बागी विधायक

बेंगलुरु। मध्यप्रदेश कांग्रेस के 20 पूर्व बागी विधायक शनिवार को एक चार्टर्ड एयरक्राफ्ट से बेंगलुरू से भोपाल पहुंचेंगे। सूत्र ने बताया कि 12 दिन रिसॉर्ट में रहने के बाद ये लोग आज भोपाल जाएंगे। एक पार्टी सूत्र ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया, “हमारे पूर्व बागी विधायकों ने आज (शनिवार) को भोपाल के लिए रवाना होने का फैसला किया है, क्योंकि कमलनाथ के इस्तीफा देने और शुक्रवार को उनकी सरकार गिरने के बाद अब उन्हें वहां रहने की आवश्यकता नहीं है।”


हालांकि सभी पूर्व बागियों को शुक्रवार दोपहर को इस्तीफा होने के बाद बेंगलुरु छोड़ना था, लेकिन शायद वे अपने ‘नेता’ (ज्योतिरादित्य सिंधिया) के आदेश की प्रतीक्षा कर रहे थे। पूर्व कांग्रेस नेता और केन्द्रीय मंत्री, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 10 मार्च को कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद 11 मार्च को दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ले ली थी। सिंधिया ने ये कदम शासन और अन्य मुद्दों पर पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के साथ गंभीर मतभेदों के चलते उठाया था।


सूत्र ने बताया, “पूर्व बागियों में से एक (सुरेश धनखड़) अपने परिवार में हुई एक मृत्यू के बाद शुक्रवार को भोपाल के लिए रवाना हो गए थे। बाकी के सभी लोग शनिवार को एक साथ भोपाल जाने के लिए रिसॉर्ट में थे।”


विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने गुरुवार रात को 16 पूर्व बागियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया था, जिसके बाद राज्य में 15 महीने पुरानी कांग्रेस सरकार के गिरने का रास्ता तैयार हो गया था। स्पीकर ने 10 मार्च को ही कमलनाथ की सिफारिश पर इन बागियों में से 6 के इस्तीफे स्वीकार कर लिए थे। इन बागियों ने मीडिया के सामने नाथ सरकार को लेकर कई बयान भी दिए थे। सूत्र ने बताया, “पूर्व नेताओं को शनिवार शाम तक भोपाल लौटने की सलाह दी गई है, क्योंकि गुरुवार रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित किया गया जनता कर्फ्यू सुबह 7 बजे से 9 बजे तक लागू रहेगा।”


वीडियो कांफ्रेंस से सभी सीएम को निर्देश

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज नई दिल्ली से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) की रोकथाम के लिए की गई तैयारियों और इंतजामों के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में शामिल हुए।


इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव, मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल, भारत सरकार में संयुक्त सचिव श्रीमती ऋचा शर्मा, स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक, एम्स के डायरेक्टर डॉ. नितिन एम. नागरकर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


बॉलीवुड सिंगर के खिलाफ एफआईआर

लखनऊ। सिंगर कनिका कपूर के कोरोना वायरस से पीड़ित होने की खबर जब से सामने आई है, तबसे देश भर में कोरोना को लेकर खौफ और तेजी से बढ़ गया है। कनिका 15 मार्च को लंदन से वापस आई थीं। मगर एयरपोर्ट पर उन्होंने अपना चेकअप नहीं कराया। ऐसे में यूपी सरकार ने उनपर सख्त कदम उठाने का फैसला लिया है। उनपर कानूनी कार्रवाई कर दी गई है।


कनिका पर संवेदनशील मुद्दे पर जानकारी छिपाने के आरोप में कार्रवाई की गई है। कुछ समय पहले ही आला अधिकारियों इसपर मीटिंग की थी। सिंगर पर आईपीसी धारा 188,269 और 270 के तहत एफआईआर दर्ज हुई है। कनिका के खिलाफ लखनऊ के सरोजिनी नगर थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें कि लंदन से वापस आने के बाद उन्होंने अपना चेकअप नहीं कराया और वे लखनऊ में कई लोगों से मिलीं। वापस आने के बाद कनिका ने रविवार को गैलेंट अपार्टमेंट में एक पार्टी ऑर्गनाइज की थी। पार्टी में वसुंधरा राजे, दुष्यंत सिंह समेत कई बड़ी हस्तियां मौजूद थीं।


पिता के बयान को कनिका ने नकारा, बोलीं 400 नहीं 10 लोगों से मिलीं


कनिका ने दी सफाई


बता दें कि कनिका ने सोशल मीडिया पर पोस्ट के जरिए कनिका ने अपनी ओर से सफाई दी। उन्होंने लिखा- ''पिछले चार दिनों से मुझे फ्लू है। मैंने अपना टेस्ट करवाया और कोरोना पॉजिटिव निकला. इस समय में क्वारनटीन में हूं। डॉक्टरों की सलाह के मुताबिक मेरा उपचार चल रहा है। जिन लोगों के मैं संपक में आई हूं, उनको भी देखा जा रहा है।''


कनिका कपूर को अस्पताल में कैसे रखा गया है? सिंगर ने बताया


''मुझे 10 दिन पहले एयरपोर्ट पर भी स्कैन किया गया था। लेकिन पिछले 4 दिनों से मुझमें कोरोना के लक्षण आए हैं। मैं सभी से अनुरोध करती हूं कि वो भी इस समय ज्यादा से ज्यादा अकेले रहें और अगर कोरोना जैसे लक्षण लगे तो तुंरत अपना टेस्ट करवाएं। हम इस परिस्तथिति से निकल सकते हैं अगर सभी साथ मिलकर सरकार के दिशा-निर्देश का पालन करें।''


3 दिन से नये संक्रमण की पुष्टि नहीं

बीजिंग। चीन में लगातार तीसरे दिन कोरोना वायरस (Coronavirus) का कोई नया स्थानीय मामला सामने नहीं आया, लेकिन इस घातक विषाणु के संक्रमण के कारण सात और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 3255 हो गई ।


चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने शनिवार को बताया कि चीनी मुख्यभूमि पर शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन कोविड-19 का कोई स्थानीय मामला सामने नहीं आया। उसने बताया कि शुक्रवार को सात लोगों की मौत हुई और 36 नए संदिग्ध मामले दर्ज किए गए। सभी सातों लोगों की मौत वायरस के केंद्र हुबेई प्रांत और उसकी राजधानी वुहान (Wuhan) में हुई। एनएचसी ने बताया कि चीनी मुख्यभूमि में शुक्रवार तक संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या बढ़कर 81,008 हो गई। इनमें से 3,255 लोगों की मौत हो गई है, 6,013 मरीजों का उपचार चल रहा है और 71,740 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।


आयोग ने बताया कि 106 लोगों के अब भी वायरस से संक्रमित होने का संदेह है। उसने बताया कि विदेश से चीन आ रहे लोगों में कोविड-19 संक्रमण के 41 नए मामले शुक्रवार को सामने आए। इसके साथ ही चीन में विदेश से आए लोगों में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 269 हो गए है। हालांकि एनएचसी ने यह नहीं बताया कि विदेशों से आए ये संक्रमित लोग विदेशी हैं या चीनी।


संकटः निजी लैब में जांच के 5 हजार

रवि चौहान


नई दिल्ली। कोरोना वायरस के लगातार बढते मामलो के चलते एक चिंता की बात यह है कि अब इनकी जांच प्राइवेट लैब की जायेगी। जिसकी लोगो भारी कीमत चुकानी पडेगी। जिससे बचने के लिए लोग इस बिमारी को और ज्यादा छिपाने की कोशिश करेंगे।  सूत्रो के जानकारी मिली है कि देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमण के मामले बढ़ने पर मान्यता प्राप्त निजी प्रयोगशालाओं (लैब) को मंजूरी दिए जाने की तैयारी है. इसके साथ ही इन लैब्स को प्रत्येक कोविड-19 (COVID-19) जांच की कीमत 4,500 रुपये से 5,000 रुपये के बीच रखने का निर्देश दिये जाने की संभावना है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने कोविड-19 जांच शुरू करने का इरादा रखने वाली निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाओं के लिए मंगलवार को दिशानिर्देश जारी किए थे, जबकि ICMR ने उनसे यह जांच मुफ्त रखने की अपील की थी।


भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर- ICMR) के एक अधिकारी ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि कोई भी इसे मुफ्त में नहीं करना चाहता और यही कारण है कि निजी लैब को कोविड-19 के लिये हर जांच की कीमत 4,500 से 5,000 रुपये के बीच रखने को कहा जाएगा.’ आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक करीब 51 निजी प्रयोगशालाओं ने सरकार से संपर्क कर उन्हें इस श्वसन रोग के लिये जांच की इजाजत देने का अनुरोध किया है।


इस महामारी से देश में अब तक 236 लोग संक्रमित हैं। गौरतलब है कि फिलहाल ICMR ने इस वायरस की जांच केलिए अपनी 72 प्रयोगशालाओं को उपकरणों से लैस किया है। इसके अलावा सीएसआईआर  (CSIR)और डीआरडीओ (DRDO) जैसे संगठनों की 49 प्रयोगशालाएं भी इस हफ्ते के अंत तक जांच के लिये सुसज्जित की जाएंगी। ICMR एनसीआर और भुवनेश्वर में भी दो जांच केंद्र स्थापित कर रही है। ये केंद्र रोजाना 1400 नमूनों की जांच कर सकते हैं।


फ्रांस से लौट जोखिम में डाले जीवन

हैदराबाद। कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर अब भी कई लोग लापरवाह हैं और वो दूसरों की जान भी जोखिम में डाल रहे हैं। ऐसा ही एक मामला तेलंगाना (Telangana) से सामने आया है। कुछ दिन पहले एक शख्स फ्रांस (France) से लौटा था। लिहाजा प्रशासन ने उन्हें दो हफ्ते के लिए घर में रहने के लिए कहा था। लेकिन उसने इस होम क्वारंटाइन की परवाह किए बगैर शादी कर ली. इस शादी में एक हज़ार से ज्यादा मेहमान पहुंचे थे। मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है।


दूल्हे के रिश्तेदार एक बड़े मंत्री
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये शादी गुरुवार को हुई। ये शख्स शादी के लिए हैदराबाद से डेढ़ सौ किलोमीटर दूर हनामकोंडा पहुंचा था। राज्य के सीएम के चंद्रशेखर राव ने लोगों से अपील की है कि वो शादी में सिर्फ 200 मेहमानों को बुलाएं। लेकिन इसके बावजूद इस शादी में एक हज़ार से ज्यादा लोग पहुंचे थे। कहा जा रहा है कि दूल्हे के रिश्तेदार एक बड़े मंत्री हैं।


रिसेप्शन को किया गया रद्द
शादी के बाद एक बड़े रिसेप्शन का भी प्लान था, लेकिन सीएम ऑफिस को जैसे ही मामले की जानकारी मिली रिसेप्शन को तुरंत रद्द करने के लिए कहा गया। प्रशासन अब ये पता करने की कोशिश में है कि इस शादी में कौन-कौन लोग पहुंचे थे। सारे मेहमानों पर नजर रखी जा रही है। पुलिस के मुताबिक ये शख्स 12 मार्च को फ्रांस से लौटा था।


शनिवार में अघोषित कर्फ्यू जैसे हालात

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। सभी सरकारें आम लोगों से सोशल डिस्टेंस मेंटेंन करने को कह रही है। वहीं बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर द्वारा लापरवाही किए जाने का मामला सामने आया है. जिसके बाद कनिका कपूर के खिलाफ लापरवाही के आरोप में लखनऊ के सरोजनी नगर थाने में शुक्रवार को मुकदमा दर्ज किया गया है। देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 50 नये मामले सामने आने के बाद शुक्रवार शाम को कुल मामलों की संख्या 250 पहुंच गई है। शनिवार सुबह तक यह संख्या बढ़कर 285 हो गई है। जबकि संक्रमितों के संपर्क में आने वाले 6,700 से अधिक लोगों को कड़ी निगरानी में रखा गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि देश में COVID-19 से संक्रमितों में 32 विदेशी हैं, जिनमें 17 इतालवी, तीन फिलीपीन के, दो ब्रिटेन और एक-एक कनाडा, इंडोनेशिया और सिंगापुर का निवासी है। इनमें अबतक दिल्ली, कर्नाटक, पंजाब और महाराष्ट्र में हुई चार मौतें भी शामिल है।


हादसे में इंजीनियर सहित 3 की मौत

चमोली। उत्तराखंड में शनिवार को बदरीनाथ हाईवे पर एक दर्दनाक हादसा हो गया। बदरीनाथ हाईवे पर मार्ग चौड़ीकरण के दौरान पहाड़ी से बोल्‍डर गिरने से एक इंजीनियर समेत तीन लोगों की दबने से मौत हो गई। पुलिस ने शवों को मलबे से निकाल लिया है।


जानकारी के अनुसार घटना सुबह तड़के करीब 4 बजे की बताई जा रही है। रोड पर जमा मलबे की सफाई की जा रही थी कि, अचानक चट्टान से पत्थर आ गया।जिसकी चपेट में पोकलैंड मशीन के आ गई। इसमें तीन लोगों की मौके पर ही दबने से मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंचकर राहत बचाव का कार्य प्रारंभ किया। अन्य मशीनों के जरिये यहां पर से मलबा और बोल्डर हटाए गए। तब तक तीनों लोगों की मौत हो गई थी। मृतकों की शिनाख्त राकेश (ऑपरेटर), हिमांशु (जेई) और पंकज शामिल है।पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया।


'मीडिया कर्मी' संयम और सावधानी बरतें

नई दिल्ली। न्यूज़ चैनल्स और समाचार पत्रों को संयम दिखाना चाहिए। दो/चार दिन अपने रिपोटर्स, कैमरामैन, फोटोग्राफर्स को फील्ड में मत भेजिए। डेस्क रिपोर्टिंग या न्यूज़ रूम लाइव से काम चलाएं। अगर दो चार दिन पत्रकारिता की गला काट स्पर्धा को विराम दे देंगे तो देश का कोई नुकसान नहीं होगा बल्कि देश का भला करेंगे हम लोग।


यदि गलती से भी कोई रिपोर्टर, उसका कैमरामैन या फोटोग्राफर #कोरोना की चपेट में आ गया, तो उसका साथ भी सबसे पहले मीडिया संस्थान ही छोड़ेंगे। ये बात में व्यक्तिगत अनुभव से कह रही हूँ।


मेरे प्यारे रिपोर्टर साथियों, आपको भी सोशल डिस्टेंस बनाने की जरूरत है। आप अमृत पीकर नहीं आये हैं। ना हम देश चला रहे हैं, ना ही दुनिया। इस मामले में सयुंक्त रूप से संस्थानों पर दवाब बनाइये। छुट्टी नहीं ले सकते तो कम से कम ऑफिस में रहिए। पुष्ट सूत्रों से मिल रही सूचनाओं को क्रॉस चेक कीजिये और खबर बनाइये। 


प्रियंका कौशल


 


जीवन में अच्छे दोस्त जरूरी

लोग अपना अधिकतर समय ऑफिस में ही गुजार देते हैं। दिन का एक बहुत बड़ा हिस्सा ऑफिस में काम, बॉस और सहकर्मियों के साथ ही बीत जाता है। ज्यादातर वर्किंग लोग सप्ताह में 5 या 6 दिन करीब 8 से 9 घंटे तक काम करते हैं। एक ऑफिस में बहुत सारे लोग एकसाथ काम करते हैं। ऐसे में कई लोगों की सोच और काम करने का तरीका अलग-अलग होता है। साथ में काम करते हुए कुछ लोगों से हमारी अच्छी बॉन्डिंग भी हो जाती है।


धीरे-धीरे ये बॉन्डिंग काफी स्ट्रॉन्ग हो जाती है जो एक अच्छी फ्रेंडशिप में बदल जाती है। दरअसल जिस तरह स्कूल और कॉलेज में सबको एक इमोशनल सपोर्ट के लिए दोस्तों की जरूरत होती ठीक उसी तरह वर्कप्लेस या ऑफिस में भी लोगों को दोस्तों की जरूरत पड़ती है। आइए आपको बताते हैं कि किन वजहों से ऑफिस में दोस्त बनाना जरूरी होता है।
चुनौतियों में देते हैं आपका साथ
आप और आपके दोस्त ऑफिस में बहुत कुछ शेयर करते हैं क्योंकि आप दोनों एक ही माहौल में काम करते हैं। ऐसे में आपकी ऑफिस से जुड़ी सभी जरूरतों को आपका दोस्त बेहतर समझ सकता है। जब भी कभी आपके साथ आपके ऑफिस में कोई परेशानी होती है तो आपके दोस्त ही होते हैं जो आपकी सिचुएशन को अच्छे से समझ सकते हैं और आपको सपोर्ट कर सकते हैं।
बढ़ाते हैं हौसला
कई बार जब आप ऑफिस नहीं जा पाते हैं तो आपके दोस्त आपके काम की जि़म्मेदारी उठा लेते हैं। आपकी परेशानी में आपको मोटीवेट करते हैं। इसके अलावा जब आप ऑफिस या वर्कप्लेस से जुड़ी किसी बात को लेकर कन्फ्यूज होते हैं तब वह आपको सही फैसला लेने में मदद करते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं आपके दोस्त वर्कप्लेस पर आपका उत्साह भी बनाए रखते हैं जिससे काम करने में आपका मन लगा रहता है. कई चीजों में वह आपका हौसला भी बढ़ाते हैं।
निभाते हैं साथ
जब कभी भी आपकी अपने बॉस या सीनियर के साथ खटपट हो जाती है तब अक्सर आपके दोस्त ही आपके समर्थन में उतरते हैं। ऐसी सिचुएशन में वह आपको मानसिक रूप से सपोर्ट करते हैं। ऑफिस में मौजूद आपके दोस्त स्ट्रेस को कम करते हैं और आपके लिए एक कम्फर्टेबल माहौल तैयार करते हैं। यही दोस्त मानसिक जरूरतों में आपके साथ खड़े होते हैं। कई बार आपकी तबीयत खराब होने पर भी वह आपके पास खड़े होते हैं।
सुख-दुख के पल में एकसाथ
आपके ऑफिस के दोस्त आपका केवल लंच टाइम पर ही साथ नहीं देते बल्कि आपकी हर खुशी और गम में भी आपका साथ निभाते हैं। वह वर्कप्लेस में मिलने वाली सफलता की तारीफ करते हैं। आपकी परेशानी में आपका साथ निभाते हैं। वह आपके साथ हर सुख-दुख के पलों को शेयर करते हैं।


घरेलू उपचार से मुंहासे दूर करें

चेहरे पर एक्ने होना काफी आम बात है। मगर जब इनकी तादाद बढ़ जाए तो मानों चेहरे की सारी रौनक छिन जाती है। चेहरे पर हो रहे बार बार एक्ने को दूर करने के लिये अगर घरेलू उपचार की सहायता ली जाए तो इससे कुछ ही दिनों में आराम मिल जाता है। अगर आप भी चेहरे की खूबसूरती को लेकर फिक्रमंद हैं और फेस से एक्ने या उसके काले दाग मिटाना चाहती हैं तो एप्पल साइडर विनेगर से बना टोनर लगाएं।
चेहरे से दाग धब्बे और मुंहासे कैसे मिटाता है 
एप्पल साइडर विनेगर में एसिटिक, साइट्रिक, लैक्टिक और स्यूसिनिक एसिड होता है। जिस कारण से यह मुंहासों के निशान को कम करने में मदद कर सकता है। स्किन डैमेज को ठीक करके पुरानी स्किन को हटा कर नई स्किन को बढ़ावा देता है, जिससे मुंहासों के निशान में कमी आती है। इस प्रक्रिया को अक्सर केमिकल पीलिंग के रूप में जाना जाता है। यह प्रकृति तौर पर एसिडिक होता है इसलिए इसका उपयोग त्वचा पर सावधानी के साथ किया जाना चाहिए।
एक्ने क्लिर टोनर के लिए सामग्री
*2 बड़ा चम्मच एप्पल साइडर वेनिगर
*1 चम्मच 
*1 चम्मच गुलाब जल
*2-3 बूंद एसेंशियल ऑयल (लैवेंडर या कैमोमाइल)
*1 स्प्रे बॉटल 
एक्ने क्लिर टोनर बनाने और लगाने का तरीका
1.एक कटोरे में एप्पल साइडर वेनिगर डालें।
2.फिर इसमें पानी डालें। 
3.उसके बाद 2-3 बूंद एसेंशियल ऑयल की मिलाएं। 
4.अच्छी तरह से मिक्स करने के बाद फिर इसे स्प्रे बोतल में डालें। 
5.चेहरे को क्लींजर से साफ करने के बाद इस टोनर का उपयोग करें। इसे दिन में 2 बार इस्तेमाल करें।
संवेदनशील या ड्राय स्किन वाले लोग इस टोनर का उपयोग सतर्कता से करें। अपने चेहरे या गर्दन पर एप्पल साइडर वेनिगर का उपयोग करने से पहले पैच टेस्ट जरूर कर लें। इसे स्किन पर सीधे लगाए जाने पर जलन महसूस हो सकती है। इस कारण से इसे पानी के साथ ही मिलाकर लगाएं।


कोरोना के बहाने फिल्म का मजाक

मुंबई। अक्षय कुमार की पत्नी और ऐक्ट्रेस ट्विंकल खन्ना सोशल मीडिया पर अपनी राय बेबाक तरीके से रखती हैं। वह कई रोजाना अपने पोस्ट्स से अपने फैंस को एंटरटेन करती रहती हैं। अब उनका रीसेंट पोस्ट चर्चा में है जिसमें उन्होंने कोरोना के बहाने अपनी फिल्म का मजाक उड़ाया है। ट्विंकल ऑथर और प्रड्यूसर बन चुकी हैं और वह अपनी ऐक्टिंग स्किल्स का कई बार मजाक उड़ा चुकी हैं। एक बार तो उन्होंने यह तक कह दिया था कि सारी फिल्मो पर बैन लगना चाहिए ताकि इन्हें कोई देख न सके। वह अपनी फिल्म मेला का कई बार पहले भी मजाक उड़ा चुकी हैं। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप रही थी।


ट्विंकल का मानना है कि लोगों को यह फिल्म उनकी बेकार ऐक्टिंग की वजह से याद है। ट्विंकल ने रीसेंट ट्वीट में फिर से मेला का मजाक उड़ाया है। दरअसल हिस्टोरियन रामचंद्र गुहा ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने अयोध्या में रामनवमी पर होने वाले मेले को रोकने की बात लिखी है। उन्होंने कोरोना वायरस की वजह से चिंता जताई है। 
इसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए ट्विंकल खन्ना ने लिखा है, मेले कुल मिलाकर हेल्थ के लिए नुकसानदायक होते हैं। वर्क फ्रंट पर बात करें तो उन्होंने अक्षय कुमार स्टारर फिल्म पैडमैन प्रड्यूस की थी। इस फिल्म में सोनम आहूजा और राधिका आप्टे थीं।


सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट

रायपुर। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ सोशल मीडिया में आपत्ति जनक पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल करने वाले के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सिविल लाइन थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल के नेतृत्त्व में कार्यकर्ताओं ने एक आवेदन दिया, सोशल मीडिया पर इस तरह की टिप्पणी का विरोध किया और पोस्ट करने वाले व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।



इस मामले में सिविल लाइन सीएसपी नासर सिद्दीकी का कहना है कि कांग्रेसियों द्वारा सोशल मीडिया पर सांसद राहुल गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले पर तत्काल एफआईआर की मांग की है। वही कांग्रेस नेता सुबोध हरितवाल ने कहा कि इस तरह का पोस्ट सोशल मीडिया पर किसी भी व्यक्ति के लिए करना गलत है। हम इसका विरोध करते हैं और थाने आकर इस पोस्ट के खिलाफ तत्काल एफआईआर की मांग की गई. सिविल लाइन पुलिस द्वारा तत्काल एफआईआर कर मामले को विवेचना में लिया गया है।


2 राज्यों से चाइल्ड पोर्नोग्राफी की शिकायतेंं

नई दिल्ली। चाइल्ड पॉर्नोग्राफी के मामलों में सबसे अधिक शिकायतें यूपी और दिल्ली में आई हैं। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को लोकसभा में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीते चार वर्षों में राष्ट्रीय बाल अधिकार सुरक्षा आयोग के पास चाइल्ड पॉर्नोग्राफी की कुल 56 शिकायतें आई हैं जिनमें 17 यूपी और 10 दिल्ली से थीं। ईरानी द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक 2016-17 और 2017-18 में सात मामले दर्ज किए गए थे। वहीं 2018-19 में 23 और 2019-20 में 19 मामले दर्ज हुए थे। स्मृति ने बताया, आयोग ने इसके अलावा 31 वेबसाइट्स चिह्नित की जिन पर चाइल्ड पॉर्नोग्राफी से जुड़ी सामग्री परोसी जा रही थी। आयोग ने स्वत: संज्ञान लेते हुए गृहमंत्रालय के साइबर क्राइम पोर्टल में 31 मामले भी दर्ज कराए।


2018 में हुए 501 बाल विवाह


स्मृति ईरानी ने एक दूसरे सवाल के जवाब में सदन को बताया कि 2018 में देशभर में 501 बाल विवाह के मामले दर्ज किए गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 20-24 वर्ष आयुवर्ग की ऐसी महिलाएं जिनका विवाह 18 की आयु से पहले हुआ था की संख्या में गिरावट आई है। 2005-06 में जहां इनकी संख्या 47.4 फीसदी थी 2015-16 में यह घटकर 26.8 फीसदी हो गई।


युवा ज्यादा सतर्कता बरतेंः डब्ल्यूएचओ

नई दिल्ली। कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या में बढ़ोतरी को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया के युवाओं के लिए संदेश जारी किया है। डब्ल्यूएचओ ने युवाओं को सतर्क करते हुए कहा कि कोरोना ने युवाओं को भी अपनी चपेट में लिया है। युवाओं को खासकर बुजुर्गों और कमजोर लोगों से दूर रहना चाहिए। डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर जनरल ने कोरोना से संक्रमित लोगों की ताजा जानकारी देते हुए कहा कि अब तक दुनिया भर में 2 लाख 10 हजार से ज्यादा लोगों में कोरोना पॉजिटिव मिला है। कोरोना से अब तक 9,000 लोगों की जानें जा चुकी है। डब्ल्यूएचओ कहना है कि हर दिन एक नई कठिनाई और चुनौती भरा है। कोरोना सबसे ज्यादा बुजुर्ग लोगों के लिए बड़ी मुसीबत बन रहा है। दुनिया के कई देशों से कोरोना से ग्रसित लोगों का डाटा लिया जा रहा है। लगभग सभी डाटा में 50 साल से कम उम्र वाले लोग अस्पतालों में भर्ती किए जा रहे है।


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...