रविवार, 30 अक्तूबर 2022

मैच: दक्षिण अफ्रीका ने भारत को पांच विकेट से हराया

मैच: दक्षिण अफ्रीका ने भारत को पांच विकेट से हराया

मोमीन मलिक 

नई दिल्ली/प्रिटोरिया। तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी की घातक गेंदबाजी तथा एडेन मार्कराम और डेविड मिलर के अर्धशतकों की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने रविवार को यहां टी-20 विश्वकप के सुपर 12 के कम स्कोर वाले मैच में भारत को पांच विकेट से हराया। भारत की हार का कारण शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की नाकामी रही, जो ऑप्टस स्टेडियम की तेज और उछाल भरी पिच से सामंजस्य नहीं बिठा पाए। भारत को पांचवें तेज गेंदबाज की कमी खली क्योंकि ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने अपने चार ओवर में 43 रन दिए।

दक्षिण अफ्रीका ने 134 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए तीन विकेट 24 रन पर गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद मार्कराम (41 गेंदों पर 52 रन, छह चौके, एक छक्का) और मिलर (46 गेंदों पर नाबाद 59 रन, तीन चौके, तीन छक्के) ने चौथे विकेट के लिए 76 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी करके अपनी टीम का स्कोर 19.4 ओवर में पांच विकेट पर 137 रन तक पहुंचाया। भारत ने पांच विकेट 49 रन पर गंवा दिए थे, जिसके बाद सूर्यकुमार यादव ने 40 गेंदों पर 68 रन बनाए जिसमें तीन छक्के और छह चौके शामिल हैं। इसके बावजूद पहले बल्लेबाजी करने उतरा भारत नौ विकेट पर 133 रन ही बना पाया।

दक्षिण अफ्रीका की तरफ से एनगिडी ने 29 रन देकर चार विकेट और वेन पर्नेल ने 15 रन देकर तीन विकेट लिये। इस जीत से दक्षिण अफ्रीका ग्रुप दो में पांच अंक लेकर शीर्ष पर पहुंच गया है जबकि भारत दूसरे स्थान पर खिसक गया है। भारत की तरह दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के लिए भी नई गेंद के सामने पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं रहा। अर्शदीप सिंह (25 रन देकर दो) ने अपने पहले ओवर में ही क्विंटन डिकॉक (एक) और अच्छी फॉर्म में चल रहे हैं रिली रोसो (शून्य) को आउट करके भारत को शानदार शुरुआत दिलाई। मोहम्मद शमी (चार ओवर में 13 रन देकर एक) ने कप्तान तेंबा बावुमा (10) को विकेट के पीछे कैच कराया और इस तरह से दक्षिण अफ्रीका पावरप्ले में तीन विकेट पर 24 रन ही बना पाया।

भारतीय गेंदबाजों ने कसी हुई गेंदबाजी करके दस ओवर तक दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 40 रन तक ही पहुंचने दिया। मार्कराम और मिलर ने इसके बाद तेजी दिखाई। इस बीच विराट कोहली ने अश्विन की गेंद पर मार्कराम का कैच भी छोड़ा, जिसका जश्न इन दोनों ने इस ऑफ स्पिनर के अगले ओवर में छक्के जड़कर मनाया। मार्कराम ने 38 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इसके तुरंत बाद हार्दिक पंड्या ने उन्हें पवेलियन की राह दिखाकर भारत की उम्मीदें जगाई।

जब दक्षिण अफ्रीका को 18 गेंदों पर 25 रन की दरकार थी तब रोहित ने अश्विन को गेंद सौंपी। मिलर ने उनकी पहली दो गेंदों पर छक्के जड़कर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। इससे पहले भारत ने पावरप्ले में ही अपने दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट रोहित (15) और केएल राहुल (नौ) के विकेट गंवा दिये। रोहित को कैगिसो रबाडा की गेंद पर जीवनदान भी मिला लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए और जब एनगिडी पांचवा ओवर करने के लिए आए तो भारतीय कप्तान ने गेंदबाज को वापस कैच थमा दिया।

राहुल की खराब फॉर्म जारी रही। एनगिडी ने अपने इसी ओवर में उन्हें स्लिप में कैच कराकर भारत को दूसरा झटका दिया। भारत ने पावरप्ले में दो विकेट पर 33 रन बनाए। एनगिडी ने अपने दूसरे ओवर में विराट कोहली (12) के रूप में भारत को तीसरा बड़ा झटका दिया। पिछले दो मैचों में अर्धशतक जड़ने वाले कोहली ने इस ओवर की पहली दो गेंदों पर चौके लगाए लेकिन जल्द ही उन्होंने फाइन लेग पर रबाडा को कैच थमा दिया। दीपक हुड्डा को पांचवें नंबर पर उतारा गया लेकिन एनरिक नोर्किया ने उन्हें खाता भी नहीं खोलने दिया। हार्दिक पंड्या केवल दो रन बना पाए। एनगिडी की गेंद पर रबाडा ने उनका शानदार कैच लपका।

अब दारोमदार सूर्यकुमार पर था जिन्होंने नोर्किया की गेंद छह रन के लिए भेज कर दबाव हटाने की कोशिश की। स्पिनर केशव महाराज पर लगाया गया उनका छक्का दर्शनीय था। सूर्यकुमार ने एनगिडी पर छक्का और फिर चौका लगाकर 30 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। दस ओवर के बाद भारत का स्कोर पांच विकेट पर 60 रन था और सूर्यकुमार के बल्ले से निकले रनों की बदौलत उसने 15 ओवर में अपना स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया, लेकिन शुरू से रन बनाने के लिए जूझ रहे दिनेश कार्तिक (15 गेंदों पर छह) ने इसके तुरंत बाद अपना विकेट गंवा दिया।

सूर्यकुमार और कार्तिक ने 52 रन की साझेदारी की। सूर्यकुमार ने एक छोर से रन बनाने जारी रखे लेकिन दूसरे छोर से उन्हें कोई मदद नहीं मिली। रविचंद्रन अश्विन भी केवल सात रन बना पाए। पर्नेल ने अश्विन को आउट करने के बाद भारतीय पारी के इस 19वें ओवर में सूर्यकुमार का कीमती विकेट भी लिया


7:45 PM : मार्करम आउट

16 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका ने चार विकेट गंवाकर 102 रन बना लिए हैं। टीम को 24 गेंदों में 32 रन की जरूरत है। फिलहाल डेविड मिलर और ट्रिस्टन स्टब्स क्रीज पर हैं। 16वें ओवर में हार्दिक पांड्या ने एडेन मार्करम को सूर्यकुमार यादव को कैच आउट कराया। मार्करम ने 41 गेंदों पर 52 रन की शानदार पारी खेली। उन्हें रोहित-कोहली ने दो जीवनदान दिए थे। मार्करम और मिलर के बीच 60 गेंदों में 76 रन की साझेदारी निभाई।


7:35 PM :  भारत की खराब फील्डिंग

13वें ओवर में भारी ड्रामा देखने को मिला। ओवर की पांचवीं गेंद पर रोहित शर्मा ने रन आउट का आसान मौका गंवा दिया। मार्करम तब तक हाफ क्रीज पर थे। रोहित स्टंप के पास पहुंचकर थ्रो करने पर भी विकेट को हिट नहीं कर सके। मार्करम को मिला यह दूसरा जीवनदान था। इससे पहले कोहली ने 12वें ओवर में मार्करम का आसान कैच छोड़ा था। 14वें ओवर में मार्करम और मिलर ने मिलकर 17 रन बनाए। इस ओवर में दोनों ने एक-एक छक्का लगाया। 14 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर तीन विकेट पर 85 रन है। अफ्रीका को 36 गेंदों में 49 रन की जरूरत है।


7:13 PM :  मार्करम को मिला जीवनदान

12 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका ने तीन विकेट गंवाकर 65 रन बना लिए हैं। फिलहाल डेविड मिलर 20 गेंदों में 13 रन और एडेन मार्करम 32 गेंदों में 36 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे हैं। दोनों के बीच 40+ रन की साझेदारी हो चुकी है। इस ओवर में अश्विन की पांचवीं गेंद पर विराट कोहली ने डीप मिड ऑन पर मार्करम का आसान कैच छोड़ दिया। गेंद कोहली के हाथ से लगकर छिटक गई। तब मार्करम 35 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे।


7:13 PM : 10 ओवर के बाद द. अफ्रीका 40/3

10 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका ने तीन विकेट गंवाकर 40 रन बना लिए हैं। फिलहाल एडेन मार्करम 25 गेंदों में 23 रन और डेविड मिलर 15 गेंदों में पांच रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे हैं। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए अब तक 16 रन की साझेदारी हो चुकी है। आठवें ओवर में डेविड मिलर बाल-बाल बचे। शमी के इस ओवर की पहली ही गेंद जाकर मिलर के बैटिंग पैड पर लगी। इस पर कप्तान रोहित शर्मा ने रिव्यू लिया।

हालांकि, डीआरएस में जब गेंद बल्ले के बगल से जा रही थी तो स्पाइक दिखा। इस पर थर्ड अंपायर ने बल्लेबाज के फेवर में फैसला सुनाया। हालांकि, रोहित इससे नाखुश दिखे। इसके बाद नौवें ओवर की पांचवीं गेंद पर मार्करम और मिलर के बीच रन को लेकर कन्फ्यूजन पैदा हो गई। मार्करम नॉन स्ट्राइकर एंड पर आधे क्रीज तक आगे निकल गए थे। रोहित शर्मा ने थ्रो किया लेकिन वह विकेट के ऊपर से निकल गई। डायरेक्ट हिट पर मार्करम पवेलियन लौट गए होते।


7:05 PM : आठ ओवर के बाद अफ्रीका 33/3

आठ ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका ने तीन विकेट गंवाकर 33 रन बना लिए हैं। फिलहाल एडेन मार्करम 19 रन और डेविड मिलर दो रन बनाकर क्रीज पर हैं। इस ओवर में मोहम्मद शमी गेंदबाजी कर रहे थे। पहली ही गेंद जाकर मिलर के बैटिंग पैड पर लगी। इस पर कप्तान रोहित शर्मा ने रिव्यू लिया। हालांकि, डीआरएस में जब गेंद बल्ले के बगल से जा रही थी तो स्पाइक दिखा। इस पर थर्ड अंपायर ने बल्लेबाज के फेवर में फैसला सुनाया। हालांकि, रोहित इससे नाखुश दिखे।


6:54 PM : दक्षिण अफ्रीका को तीसरा झटका

पावरप्ले के आखिरी ओवर यानी छठे ओवर में दक्षिण अफ्रीका की टीम को तीसरा झटका लगा। मोहम्मद शमी ने कप्तान तेम्बा बावुमा को विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराया। बावुमा 15 गेंदों में 10 रन बना सके। पावरप्ले खत्म होने के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर तीन विकेट पर 24 रन है। फिलहाल डेविड मिलर और एडेन मार्करम क्रीज पर हैं। इससे पहले अर्शदीप सिंह ने एक ही ओवर में क्विंटन डिकॉक और राइली रूसो को आउट किया था।


6:38 PM : अर्शदीप की शानदार गेंदबाजी

पर्थ की पिच पर अर्शदीप सिंह शानदार लय में दिख रहे हैं और बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे हैं। अर्शदीप ने अब तक अपने दो ओवर में सिर्फ आठ रन दिए हैं और दो विकेट ले चुके हैं। अपने दूसरे ओवर में भी उन्होंने एडेन मार्करम को खासा परेशान किया। उनके इस ओवर में सिर्फ चार रन बने। चार ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर दो विकेट पर 13 रन है।


6:30 PM : अफ्रीकी टीम को दो झटके

अर्शदीप सिंह ने अफ्रीकी पारी के दूसरे ओवर में कहर बरपाया है। उन्होंने मैच में अपनी पहली ही गेंद पर क्विंटन डिकॉक को स्लिप में केएल राहुल के हाथों कैच कराया। डिकॉक एक रन बना सके। इसके बाद तीसरी गेंद पर राइली रूसो को एल्बीडब्ल्यू आउट किया। रूसो खाता भी नहीं खोल सके। रूसो ने बांग्लादेश के खिलाफ पिछले मैच में शतक जड़ा था। दो ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर दो विकेट पर सात रन है। फिलहाल एडेन मार्करम और तेम्बा बावुमा क्रीज पर हैं।


भारत पारी :

केएल राहुल का मार्कराम बो एनगिडी        09

रोहित शर्मा का एवं बो एनगिडी                 15

विराट कोहली का रबाडा बो एनगिडी         12

सूर्यकुमार यादव का महाराज बो पर्नेल        68

दीपक हुड्डा का डिकॉक बो नोर्किया            00

हार्दिक पंड्या का रबाडा बो एनगिडी          02

दिनेश कार्तिक का रोसोऊ बो पर्नेल            06

रविचंद्रन अश्विन का रबाडा बो पर्नेल           07

भुवनेश्वर कुमार नाबाद                               00

मोहम्मद शमी रन आउट                            02

अर्शदीप सिंह नाबाद                                 02

अतिरिक्त :                                               08

कुल : 20 ओवर में नौ विकेट पर                133 रन


6:10 PM : भारत ने 20 ओवर में नौ विकेट गंवाकर 133 रन बनाए

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 134 रन का लक्ष्य रखा है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 20 ओवर में नौ विकेट गंवाकर 133 रन बनाए। टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही थी। 23 पर टीम इंडिया को पहला झटका लगा था। कप्तान रोहित शर्मा 14 गेंदों में 15 रन बनाकर आउट हुए थे। इसके बाद तो विकेट की झड़ी लग गई।


6:02 PM : भारत का स्कोर 124 /7 

अभी भारत का स्कोर 18.1 ओवर में सात विकेट पर 124 रन है। सूर्यकुमार यादव तेजी से रन बना रहे हैं।


5:44 PM : सूर्या ने जड़ी शानदार फिफ्टी

सूर्यकुमार यादव ने लगातार दूसरी फिफ्टी जड़ी है। सूर्या ने 30 गेंदों पर यह उपलब्धि हासिल की, जिसमें तीन चौके और तीन छक्के शामिल थे। भारत का स्कोर 15 ओवर में 5 विकेट पर 101 रन है। सूर्या 51 और दिनेश कार्तिक छह रन पर खेल रहे हैं।


5:35 PM : सूर्याकुमार और दिनेश कार्तिक क्रीज पर

भारत का टॉप ऑर्डर फ्लॉप रहा। आठ ओवर के भीतर टीम इंडिया के पांच बल्लेबाज आउट हो गए। अभी क्रीज पर सूर्याकुमार और दिनेश कार्तिक हैं। तबरेज शम्सी की जगह टीम में लिए गए लुंगी एनगिडी ने चार विकेट लिए। भारत का स्कोर 13 ओवर में 5 विकेट पर 84 रन है।


5:20 PM : 1000 रन बनाने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज बने विराट कोहली 

विराट कोहली ने अपनी 12 रनों की पारी के दौरान एक खास माइलस्टोन हासिल किया। कोहली अब टी20 वर्ल्ड कप में 1000 रन बनाने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं। इससे पहले श्रीलंका के महेला जयवर्धने ही 1000 रन का आंकड़ा छू सके थे।


5:15 PM : भारत की आधी टीम आउट

अब हार्दिक पंड्या भी पवेलियन लौट गए हैं। हार्दिक को लुंगी एनगिडी ने कैगिसो रबाडा के हाथों कैच आउट कराया। हार्दिक महज दो रन बना पाए। भारत का स्कोर 50/5 है।


5:10 PM :  दीपक हुड्डा को भी किया चलता

दीपक हुड्डा भी आउट हो गए हैं। हुड्डा को एनरिक नॉर्किया ने विकेट के पीछे कैच आउट कराया। हुड्डा अपना खाता भी नहीं खोल पाए। अभी क्रीज पर सूर्याकुमार और हार्दिक पंड्या हैं। भारत का स्कोर 8 ओवर में 47 रन है।


5: 05 PM : विराट कोहली भी पैवेलियन लौटे

विराट कोहली  भी12 रन बनाकर पैवेलियन लौटे गए हैं। इंडिया का स्कोर सात ओवर में तीन विकेट पर 41 रन है।


4:59 PM : केएल राहुल आउट

टीम इंडिया के दो विकेट गिर चुके हैं। केएल राहुल भी आउट हो गए हैं। उन्हें लुंगी एनगिडी ने एडेन मार्करम के हाथों कैच आउट कराया। भारत का स्कोर 5.5 ओवर के बाद दो विकेट पर 33 रन है। कोहली चार और सूर्या एक रन बनाकर खेल रहे हैं।


4:55 PM :  रोहित शर्मा आउट,भारत का स्कोर- 23/1

भारतीय टीम को बड़ा झटका लगा है। कप्तान रोहित शर्मा 15 रन बनाकर आउट हो गए हैं। उन्हें लुंगी एनगिडी ने कॉट एंड बोल्ड आउट किया। भारत का स्कोर 4.2 ओवर के बाद 23/1 है। केएल राहुल और विराट कोहली क्रीज पर हैं।


4:40 PM :  भारत का स्कोर- 6/0

दो ओवर के बाद टीम इंडिया का स्कोर बिना किसी नुकसान के छह रन है। रबाडा के पिछले ओवर में रोहित शर्मा ने एक बेहतरीन छक्का लगाया। रोहित शर्मा छह और केएल राहुल 0 पर नाबाद हैं।


4:37 PM : पहला ओवर रहा मेडन

भारतीय टीम की बैटिंग शुरू हो चुकी है। पहला ओवर वेन पार्नेल ने डाला, जिसमें कोई रन नहीं बना। एक ओवर के बाद भारत का स्कोर 0/0. रोहित शर्मा और केएल राहुल क्रीज पर हैं।


4:20 PM : हम जानते हैं कि इस पिच पर क्या करना है-रोहित शर्मा

कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस के बाद कहा, “हम बल्लेबाजी करेंगे। यह एक अच्छी पिच है। हम जानते हैं कि इस पिच पर क्या करना है। वाका में आयोजित कैंप ने बल्लेबाजों और गेंदबाजों दोनों को उछाल की आदत डालने में मदद की। टीम में एक बदलाव है, अक्षर बाहर हैं, जबकि दीपक हुड्डा अंदर आए हैं।


4:10 PM : ये है भारत की प्लेइंग-11

भारत (प्लेइंग इलेवन): रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, हार्दिक पंड्या, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, अर्शदीप सिंह।


4:05 PM : साउथ अफ्रीका की प्लेइंग-11

साउथ अफ्रीका (प्लेइंग इलेवन): क्विंटन डिकॉक (विकेटकीपर), टेम्बा बावुमा (कप्तान), रिले रोसो, एडेन मार्करम, डेविड मिलर, ट्रिस्टन स्टब्स, वेन पार्नेल, केशव महाराज, कैगिसो रबाडा, लुंगी एनगिडी, एनरिक नॉर्किया।

समय सारिणी के अनुसार पुनरीक्षण किया जाएगा

समय सारिणी के अनुसार पुनरीक्षण किया जाएगा

हरिशंकर त्रिपाठी 

देवरिया। जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी (न०नि०) जितेंद्र प्रताप सिंह ने निर्देशित किया है कि समस्त नगर पालिका परिषदों एवं नगर पंचायत की निर्वाचक नामावलियों का राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित समय सारिणी के अनुसार पुनरीक्षण किया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि ड्राफ्ट निर्वाचक नामावली का प्रकाशन की तिथि 31 अक्टूबर, ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामावली का निरीक्षण तथा दावे एवं आपत्तियाँ प्राप्त करने की तिथि 01 से 07 नवंबर, दावे एवं आपत्तियों का निस्तारण करने की तिथि 08 से 12 नवंबर, दावे और आपत्तियों के निस्तारण के उपरान्त पूरक सूचियों की पाण्डुलिपियों की तैयारी तथा उन्हें मूल सूची में यथा स्थान समाहित करने की कार्यवाही करने की तिथि 14 से 17 नवंबर तथा अन्तिम रूप से तैयार निर्वाचक नामावलियों का जनसामान्य के लिए प्रकाशन की तिथि 18 नवंबर निर्धारित की गई है।
जिलाधिकारी ने बताया है कि नगरीय निकायों की निर्वाचक नामावली के पुनरीक्षण कार्यक्रम समस्त सम्बन्धित कार्यालयों के सूचना पट्टों पर प्रदर्शित किया जायेगा।। मतदाता अपना नाम सम्मिलित किए जाने हेतु 01 नवम्बर, 2022 से 04 नवम्बर, 2022 तक की अवधि में आयोग की वेबसाईट http://sec.up.nic.in पर भी ऑन लाइन आवेदन कर सकते है।
जिलाधिकारी ने बताया है कि नगरीय निकायों की निर्वाचक नामावली तैयार कराकर उनके निर्वाचनों का अधीक्षण, निर्देशन एवं नियन्त्रण करना आयोग का संवैधानिक दायित्व है। निर्धारित समय सारिणी के अनुसार निर्वाचक नामावली के पुनरीक्षण का कार्य पूर्ण कराया जायेगा किसी भी परिस्थिति में समय सीमा बढ़ायी नहीं जाएगी। निर्वाचक नामावली के पुनरीक्षण के दौरान पड़ने वाले सार्वजनिक अवकाश दिवसों में सम्बन्धित कार्यालय खुले रहेगें, तथा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कार्यवाही पूर्ण करायी जाएगी।

आदिवासी नृत्य महोत्सव व राज्योत्सव, तैयारियां

आदिवासी नृत्य महोत्सव व राज्योत्सव, तैयारियां


राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव और राज्योत्सव की तैयारियां जोरों पर, जाने क्या-क्या है, आयोजन में

राजधानी के साइंस कॉलेज मैदान में मुख्य मंच, विभिन्न विभागों के मंडप, स्टालों, प्रवेश द्वारों का निर्माण अंतिम चरण में

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए देश-विदेश में मेहमानों के आने का सिलसिला शुरू

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में 01 से 03 नवंबर तक आयोजित किए जा रहे राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव और राज्योत्सव के लिए तैयारियां जोरों से चल रही हैं। साइंस कॉलेज मैदान में मुख्य मंच, विभिन्न विभागों के मंडप, स्टालों, प्रवेश द्वारों का निर्माण अंतिम चरण में है। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए देश-विदेश के मेहमानों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में भारत के सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों समेत नौ देशों मोजांबिक, मंगोलिया, टोंगो, रशिया, इंडोनेशिया, मालदीव, सर्बिया, न्यूजीलैंड और इजिप्ट के 1500 जनजातीय कलाकार शामिल होंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 30 अक्टूबर को रशिया,सर्बिया और अफ्रीकी देश टोंगो के जनजातीय कलाकारों के दल पहुंच रहे हैं।

साइंस कॉलेज मैदान पर राज्योत्सव के दौरान विकास प्रदर्शनी में राज्य शासन के 21 विभागों के स्टॉल, शिल्पग्राम में 40 स्टाल, फूड जोन में 24 स्टाल, थीम हैंगर में विभिन्न उद्योगों और सार्वजनिक उपक्रमों के स्टॉल, 40 व्यावसायिक स्टाल बनाए जा रहे हैं। इस आयोजन में आने वाले दर्शकों के किए अनेक आकर्षण होंगे। छत्तीसगढ़ सहित देश-विदेश की विभिन्न जनजातियों की विविधता पूर्ण संस्कृति, परंपरा और लोककला देखने को मिलेगी। छत्तीसगढ़ सरकार के विभिन्न विभागों की लोककल्याणकारी योजनाओं पर आधारित विकास प्रदर्शनी के माध्यम से पिछले पौने चार वर्षों में छत्तीसगढ़ की विकास गाथा की झांकी दिखेगी। शिल्पग्राम और फूड जोन भी उनके आकर्षण का केंद्र होंगे।

मुजफ्फरनगर: प्रदूषण का स्तर 181 एक्यूआई दर्ज 

मुजफ्फरनगर: प्रदूषण का स्तर 181 एक्यूआई दर्ज 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। लगातार बढ़ रहें वायु प्रदूषण में दो दिन बाद एक बार फिर भारी गिरावट आने से लोगों ने राहत की सांस ली। जिसके चलते धीरे-धीरे शहर की आबो हवा साफ हो रही है। प्रदूषण विभाग की तमाम कोशिशों के बावजूद भी इसमें कोई सुधार नहीं हो रहा है। रविवार को वायु में प्रदूषण की मात्रा सुबह के समय 216 रही। वही, शाम के समय हवा काफी हद तक शुद्ध हो गई। शाम 5:30 बजे जनपद में प्रदूषण का स्तर घटकर 181 एक्यूआई दर्ज किया गया। हालांकि एक दिन पहले जनपद में वायु प्रदूषण 248 एक्यूआई पर है। जो शुक्रवार के मुकाबले 10 पॉइंट कम रहा।

शुक्रवार को यहा 258 एक्यूआई था। इसे प्रतित हो रहा है कि दिन प्रतिदिन वायु प्रदूषण का ग्राफ कम होता जा रहा है। लगातार घट रहें वायु प्रदूषण के चलते सुबह के समय स्माग के स्थान पर हल्का कोहरा रहा। इसके साथ ही लोगों को सुबह के समय ठंड भी सताने लगी है। हालांकि अभी भी लोगों को प्रदूषित हवा से सांस लेने में दिक्कत हो रही है। जिसकी वजह से आंखों में जलन व गले में खरास महसूस होने से दिक्कतें बढ़ गई है।

पूर्वांचल के लोगों ने गंगा घाट पर छठ मैया की पूजा की

पूर्वांचल के लोगों ने गंगा घाट पर छठ मैया की पूजा की

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। तीर्थनगरी शुकतीर्थ में छठ पूजा पर दूरदराज क्षेत्रों से आए पूर्वांचल के लोगों ने छठ पूजा के पर्व पर छठ मैया की पूजा गंगा घाट पर विधि-विधान के साथ की। महिलाओं ने गंगा में खड़े होकर डूबते सूर्य को अर्ध्य दिया। सोमवार सुबह महिलाएं उगते सूर्य के साथ सूर्य व्रत पूरा करेंगी। गंगा घाट पर सुरक्षा को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात रहा। प्राचीन तीर्थनगरी शुकतीर्थ में रविवार को गंगा घाट पर छठ पूजा का पर्व धार्मिक आस्था व श्रृद्धा के साथ मनाया गया।

पूर्वांचल से आकर मुजफ्फरनगर में निवास कर रहे परिवारों ने गंगा घाट पर पहुंचकर गन्ने की फसल को खडा किया व सभी प्रकार के फल, मिष्ठान, नारियल, वस्त्र आदि सहित छठ मैया की पूजा कर परिवार में सुख समृद्धि की कामना की तथा महिलाओं ने श्रृंगार कर गंगा मैया में खडे होकर विशेष पूजा की। छठ पर्व पर सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए क्षेत्राधिकारी भोपा राम आशीष यादव, थाना प्रभारी निरीक्षक सुशील सैनी, शुक्रताल चौकी प्रभारी ललित कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर तैनात रहे। पर रविवार शाम को जिला मुख्यालय, शुगर मिल, खतौँली आदि दूरदराज क्षेत्रों से सैकड़ों महिलाए नंगे पैर गंगा घाट पर पहुंची।

सूर्य उपासना, निर्जला व्रत रखकर 'छठ' पर्व मनाया 

सूर्य उपासना, निर्जला व्रत रखकर 'छठ' पर्व मनाया

हरिशंकर त्रिपाठी 

देवरिया। रविवार को रूद्रपुर के एकौना समेत ग्रामीण अंचलों में भी छठ पर्व धूमधाम से मनाया गया। निर्जला व्रत रखकर माताओं ने अस्ताचलगामी सूर्य की उपासना कर पुत्रों के दीर्घायु की कामना की। घाटों पर मेले जैसा माहौल रहा। छठ पर्व की तैयारी कई दिनों से चल रही थी। रविवार को दिन भर महिलाएं व्रत रही और शाम को दउरा में नारियल, चावल, अनार, नाशपाती, संतरा, केला, ठेकुआ, पूड़ी रख कर सज-धजकर नजदीक के पोखरे व नदी घाटों पर पहुंचने लगी। महिलाएं छठ घाट पर पहुंची और छठ वेदी पर दीप जलाकर पूजा किया। अंत में अस्त होते भगवान भाष्कर को अ‌र्घ्य देकर पुत्र के दीर्घायु की कामना की। जिन महिलाओं को संतान नहीं है, वह महिलाएं घंटों पानी में खड़ा रह भगवान भाष्कर से पुत्र की कामना करतीं रहीं।

एकौना घाट पर हजारों की भीड़ रही और मेले जैसा माहौल रहा। यहां ग्रामीणों द्वारा पथ-प्रकाश की भी व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा क्षेत्र के एकौना बकरूआ भेड़ी सराव खूर्द व बूजूर्ग बसडिला धर्मपुर बैदा नगवां नरायनपुर भेलउर बहोरा पाण्डेय माझा सहित विभिन्न गांवों के तालाबों और नदियों पर भी महिलाओं ने छठ पूजा की और यहां भी मेले जैसा माहौल रहा। इस बार छठ पूजा में भी लोग देश भक्ति के रंग में रंगे दिखे। छठ वेदी को भी तिरंगे के रंग में रंगा गया था।

सुरक्षा के लिये घाटो पर एकौना पुलिस द्वारा रखी जा रहा थी नजर

रूद्रपुर क्षेत्र के विभिन्न घाटों पर छठ पूजा के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ती है। इसलिए यहां भारी संख्या में पुलिस तैनात थे।पुलिसकर्मी असलहा लिए घाटों पर नजर जमाये चौकन्ने थे और वहीं से लोगों पर अपनी नजर रख रहे थे।


लोनी: छठ पूजा पर घाट सजा, श्रद्धालुओं की भीड

अविनाश श्रीवास्तव

लोनी/गाजियाबाद। छठ पूजा श्रद्धा और आस्था का प्रतीक है। जिसमें भगवान सूर्य देव को उदय होते हुए तथा डूबते हुए सूर्य देव को जल दिया जाता है। छठ पूजा का त्यौहार बिहार का गौरवशाली त्यौहार है, जिसे स्त्रियां अपने संतान की लंबी उम्र के लिए भगवान सूर्य देव की पूजा करती हैं। छठ पूजा आस्था का सबसे बड़ा त्यौहार है।

राजनीति: मदरसों के सर्वे पर मदनी का पहला बयान

राजनीति: मदरसों के सर्वे पर मदनी का पहला बयान

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। मुस्लिम समुदाय के बड़े और जमीयत उलेमा के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने मदरसों के सर्वे पर अपना पहला बयान दिया है। उन्होंने कहा, “सरकार ने उत्तर प्रदेश में मदरसों का सर्वे कराया है, जो उनका अधिकार है वो जब चाहे सर्वे करा सकते है। लेकिन, मदरसा चलाने के लिए हममें किसी भी दान और सहयोग की जरूरत नहीं होती है। अपने बच्चों को हम किसी का भी गुलाम नहीं बनाना चाहते। इसीलिए हमे किसी भी प्रकार से सरकारी मदद नहीं चाहिए। यदि हम सरकारी मदद लेंगे तो हमारे ऊपर सरकार के नियम भी थोपे जाएंगे।”

दरअसल, मदरसों के सर्वे के बाद पहली बार दारुल उलूम देवबंद के रशीदिया मस्जिद में मदरसा संचालकों का एक सम्मेलन हो रहा है। इसमें देशभर से लगभग 4500 मदरसा संचालक पहुंचे हैं।

‘हमने आजादी के बाद से ही खुद को अलग कर लिया’

सम्मेलन में मदनी ने कहा, “मदरसों में पढ़ाई का बोझ हमारी कौम उठा रही है और उठाती ही रहेगी। हम हमेशा हिमालय से ज्यादा मजबूत खड़े रहेंगे। मदरसों और जमीयत का राजनीति से कभी भी रत्तीभर वास्ता नहीं है। हमने देश की आजादी के बाद से ही खुद को अलग कर लिया था। अगर, हम उस समय देश की राजनीति में हिस्सा लेते तो आज हम सत्ता के बड़े हिस्सेदार होते।”

हमे’दुख है कि आज मदरसों के ऊपर ही प्रश्नचिह्न लगाए जा रहे’

मदनी ने कहा, “दुनिया का कोई भी बोर्ड मदरसों की स्थापना के मकसद को ही अच्छे से नहीं समझ सकता। इसलिए हमारा किसी बोर्ड से जुड़ने का कोई मतलब नहीं बनता। मदरसों को किसी भी सरकारी मदद की कोई जरूरत नहीं है। दारुल उलूम देवबंद और उलेमा ने देश की आजादी में एक मुख्य भूमिका निभाई है। मदरसों के स्थापना का मकसद ही देश की आजादी थी। मदरसे के लोगों ने ही देश को आजाद कराया, लेकिन दुख है कि आज मदरसों के ऊपर ही यह प्रश्नचिह्न लगाए जा रहे हैं। मदरसे वालों को आतंकवाद से जोड़ने के भी निंदनीय प्रयास किए जा रहे हैं।

वैसे तो सम्मेलन में मदरसे में किस प्रकार से बच्चों को तालीम दी जाए और आधुनिक शिक्षा पर चर्चा चल रही है। बता दें कि दारुल उलूम देशभर में मदरसों का एक सबसे बड़ा संगठन है। इससे लगभग 4500 मदरसे जुड़े हैं। 2100 मदरसे तो केवल यूपी में हैं।

मजलिस-ए-शूरा की ही बैठक में लिया था निर्णय

12 से 13 सितंबर को दारुल उलूम की सुप्रीम पावर मजलिस-ए-शूरा की तीन दिवसीय बैठक हुई थी। इसमें ‘कुल हिंद राब्ता-ए-मदारिस-ए-इस्लामिया’ का इजलास यानी सम्मेलन भी बुलाए जाने का निर्णय लिया गया। दारुल उलूम ने 27 अक्टूबर को बाकायदा दारुल उलूम से जुड़े सभी मदरसों के लिए लेटर जारी किया था। लेटर में बताया कि दारुल उलूम देवबंद में आगामी 30 अक्टूबर को कुल हिंद राब्ता-ए-मदारिस-ए-इस्लामिया का एक सम्मेलन करेगा। सभी मदरसा संचालकों को वहा जरूर पहुंचना होगा।

29 अक्टूबर को ही हुई वर्किंग कमेटी की बैठक

29 अक्टूबर को ‘कुल हिंद राब्ता-ए-मदारिस-ए-इस्लामिया’ की वर्किंग कमेटी की बैठक दारुल उलूम देवबंद में सम्पन्न हुई। इसमें 30 अक्टूबर को मदरसों के सभी संचालक इकट्‌ठा होंगे। सम्मेलन दारुल उलूम देवबंद की रशीदिया मस्जिद में होगा। सम्मेलन में मदरसों की समस्याओं के पूर्ण समाधान पर चर्चा की जाएगी। साथ ही शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने और अन्य मसलों पर भी चर्चा कर के निर्णय लिए जाएंगे।

बता दें वर्किंग कमेटी में 50 सदस्य

‘कुल हिंद राब्ता-ए-मदारिस-ए-इस्लामिया’ दारुल उलूम देवबंद से देशभर के करीब 4500 मदरसे जुड़े हैं। ‘कुल हिंद राब्ता-ए-मदारिस-ए-इस्लामिया’ की वर्किंग कमेटी में कुल 50 सदस्य हैं।

दारुल उलूम देवबंद के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने बताया कि मदरसों की शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाने और मदरसों के निजाम को ठीक रखना, उनकी समस्याओं का समाधान करना दारुल उलूम देवबंद का एक बुनियादी मकसद है। इन्हीं मुद्दों पर चर्चा है।

बता दें UP में मदरसों में सर्वे का काम चल रहा है। 12 प्वाइंट्स पर यह सर्वे हो रहा है। 20 अक्टूबर तक सभी जिलों से रिपोर्ट शासन तक आ गई। राज्य में करीब 7,500 मदरसा गैर- मान्यता प्राप्त मिले हैं। अब तक के आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा 585 गैर-मान्यता प्राप्त मदरसे मुरादाबाद में मिले हैं।

अभिनेता पर मानसिक उत्पीड़न व गर्भपात का आरोप

अभिनेता पर मानसिक उत्पीड़न व गर्भपात का आरोप 

संदीप मिश्र 

बलिया। भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता पवन सिंह के खिलाफ बलिया की एक अदालत में भरण-पोषण का मुकदमा दायर करने के बाद अब उनकी पत्‍नी ज्योति सिंह ने मानसिक उत्पीड़न व गर्भपात कराने का गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि पवन सिंह ने उसे आत्महत्या करने के लिए उकसाया था। ज्योति सिंह ने इस मामले में पुलिस अधिकारियों को शिकायती पत्र भेजा है, जिसकी पुलिस जांच कर रही है। पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को इस तरह की शिकायत मिलने की पुष्टि की।

बलिया शहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि ज्योति सिंह का शिकायती पत्र प्राप्त हुआ है और पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस मामले में पवन सिंह से उनके मोबाइल नंबर पर फोन करके उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका। भोजपुरी फिल्म अभिनेता पवन सिंह की पत्नी और बलिया शहर कोतवाली क्षेत्र के मिड्ढ़ी मोहल्ले की रहने वाली ज्योति सिंह ने पुलिस अधिकारियों को भेजे गये शिकायती पत्र में कहा है कि उनका विवाह छह मार्च, 2018 को भोजपुरी फिल्म अभिनेता पवन सिंह के साथ जिले के चितबड़ागांव के एक होटल में हुआ था।

विवाह के कुछ दिन बाद ही पवन सिंह के साथ ही उसकी सास प्रतिमा देवी व ननद उसे कम सुंदर होने व बराबरी के स्तर का न होने का ताना मारने लगीं। ज्‍योति ने यह भी आरोप लगाया कि सास ने उसे मायके से मिले लगभग 50 लाख रुपये अपने पास रख लिया और इसके बाद प्रतिदिन उसके साथ गाली गलौज किया जाने लगा। उन्होंने आरोप लगाया कि तरह-तरह से प्रताड़ित करने के साथ ही उन्हें आत्महत्या करने के लिए उकसाया जाने लगा। शिकायती पत्र के मुताबिक जब वह गर्भवती हो गईं तो उसे विटामिन की दवा बताकर गर्भ गिराने वाली दवा खिलाई गई, जिससे उसका गर्भपात हो गया। उन्होंने कहा कि उनके पति शराब पीकर गाली गलौज व मारपीट करने लगे तथा उसे आत्महत्या करने के लिए उकसाने लगे।

ज्योति ने कहा कि उससे मर्सिडीज कार की मांग की जाने लगी। अभिनेता पवन सिंह ने उसे शांति से रहने की ताकीद की और ऐसा न करने पर उसका हाल भी पूर्व पत्नी नीलम की भांति करने की धमकी दी। उन्होंने पति पवन सिंह पर मानसिक उत्पीड़न करने का भी आरोप लगाया है। ज्योति सिंह ने शिकायती पत्र में उल्लेख किया है कि पवन सिंह की पूर्व पत्नी नीलम ने आत्महत्या नहीं की थी लेकिन मीडिया द्वारा पैसे के प्रभाव में इसे आत्महत्या दिखाया गया। ज्योति सिंह ने रविवार को मीडिया से बातचीत में स्‍वीकार किया कि उसने पुलिस अधिकारियों को शिकायती पत्र प्रेषित किया है और उसके पास शिकायतों के सभी साक्ष्य उपलब्ध हैं। वह उपयुक्त समय पर इसे सार्वजनिक करेगी। उल्लेखनीय है कि ज्योति सिंह ने बलिया के परिवार न्यायालय में पवन सिंह के विरुद्ध दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 125 के अंतर्गत भरण-पोषण के लिए गत 22 अप्रैल 2022 को एक मुकदमा दायर किया है, जिस पर अदालत ने पवन सिंह को पांच नवंबर को तलब करते हुए अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस जारी किया है।

ज्‍योति सिंह के अधिवक्ता ने शुक्रवार को यह जानकारी दी थी। अधिवक्ता पीयूष सिंह ने बताया कि ज्योति सिंह ने बलिया के परिवार न्यायालय में भोजपुरी फिल्म अभिनेता पवन सिंह के विरुद्ध दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 125 के अंतर्गत भरण-पोषण के लिए 22 अप्रैल 2022 को एक मुकदमा दायर किया है। उन्होंने बताया कि इस मुकदमे में परिवार न्यायालय की न्यायाधीश रागिनी सिंह ने पवन सिंह को पांच नवंबर को अदालत में पेश होकर अपना पक्ष रखने के लिये नोटिस जारी किया है। उन्होंने बताया कि गत 22 अप्रैल को मुकदमा दाखिल होने के बाद अदालत ने गत दो जून को पवन सिंह को प्रस्तुत होने के लिये नोटिस जारी किया, लेकिन वह निर्धारित तिथि पर अदालत में उपस्थित नहीं हुए।

अधिवक्ता ने बताया कि इसके बाद पवन सिंह को गत सात जुलाई तथा एक अगस्त को नोटिस जारी हुआ, इसके बाद भी वह अदालत में उपस्थित नहीं हुए। उन्होंने बताया कि अब चौथी बार अदालत ने पांच नवंबर की तारीख तय की है। गौरतलब है कि बिहार के आरा जिले के निवासी करीब 36 वर्षीय पवन सिंह भोजपुरी फिल्‍मों के अभिनेता और गायक हैं। वर्ष 2014 में लॉलीपॉप लागेलू भोजपुरी गाने से सिंह को प्रसिद्धि मिली और बाद में उन्हें भोजपुरी सिनेमा में बतौर अभिनेता बहुत ख्याति मिली। उनको कई अवार्ड मिले हैं। वर्ष 2014 में पवन सिंह की पहली शादी नीलम सिंह से हुई थी और मार्च 2015 में नीलम ने अपने घर में आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद वर्ष 2018 में पवन की दूसरी शादी ज्योति सिंह से हुई।

224 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला

224 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरू। आम आदमी पार्टी (आप) ने आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनाव में सभी 224 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है। पार्टी के एक नेता ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आप पहले से ही आधे  से अधिक उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप देने के प्रक्रिया में है और जनवरी 2023 के पहले सप्ताह तक अपनी पहली सूची जारी करने का इरादा रखती है। इसके बाद आप उम्मीदवारों की अगली सूची की घोषणा की जाएगी।

पार्टी प्रवक्ता और आप की कर्नाटक इकाई के संयोजक पृथ्वी रेड्डी ने से कहा कि हमने सभी 224 सीट पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। हमने राज्य के 170 निर्वाचन क्षेत्रों में ग्राम संपर्क अभियान (गांव पहुंच अभियान) के माध्यम से अपना चुनाव प्रचार अभियान शुरू किया है और हम इन 170 निर्वाचन क्षेत्रों में बूथ स्तर पर लोगों को नियुक्त करने की प्रक्रिया में हैं।

उनके मुताबिक, राज्य में करीब 58,000 बूथ हैं और पार्टी हर बूथ पर कम से कम 10 कार्यकर्ताओं की नियुक्ति कर रही है। रेड्डी ने कहा कि हम बूथ स्तर पर काम करके अपनी पार्टी को मजबूत कर रहे हैं। इस तरह हम धन-बल के खिलाफ लड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कर्नाटक में आप को जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है क्योंकि लोग प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार से तंग आ चुके हैं।

कांग्रेस की सरकार बनने पर पेंशन योजना लागू होगी

कांग्रेस की सरकार बनने पर पेंशन योजना लागू होगी

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/गांधीनगर। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि गुजरात में पार्टी की सरकार बनने पर संविदाकर्मियों को पक्का करके पेंशन योजना को लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने राजस्थान में संविदा कर्मियों को पक्की नौकरी दी है, पुरानी पेंशन योजना बहाल की है और समय पर प्रमोशन कर कर्मचारियों को फायदा दिया है और अब यही योजना गुजरात में भी लागू की जाएगी।

गांधी ने ट्वीट किया कि कांग्रेस का पक्का वादा। संविदाकर्मियों को पक्की नौकरी, पुरानी पेन्शन व्यवस्था बहाल कर समय पर प्रमोशन। उन्होंने कहा कि राजस्थान में लागू किया, अब गुजरात में कांग्रेस सरकार बनते ही कर्मचारियों को उनका हक़ मिलेगा। कांग्रेस देगी पक्की नौकरी।

नई निरस्त्र आक्रामक युद्ध तकनीक का प्रशिक्षण

नई निरस्त्र आक्रामक युद्ध तकनीक का प्रशिक्षण

अखिलेश पांडेय/राणा ओबरॉय 

भानु/पंचकूला। चीन से लगी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की रक्षा में तैनात भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) 2020 की गलवान घाटी झड़प जैसी प्रतिकूल स्थितियों से निपटने में बेहतर कौशल हासिल करने के लिए अपने कर्मियों को नई निरस्त्र आक्रामक युद्ध तकनीक का प्रशिक्षण दे रही है। गलवान घाटी में हुई झड़पों में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों ने भारतीय सैनिकों पर धारदार हथियारों से हमला किया था।

आईटीबीपी के प्रशिक्षण में मार्शल आर्ट की विभिन्न तकनीक जैसे कि जूडो, कराटे और क्राव मागा के 15-20 अलग-अलग युद्धाभ्यास शामिल हैं। आईटीबीपी के अनुभवी प्रशिक्षक करीब तीन महीने तक चलने वाला यह प्रशिक्षण दे रहे हैं। आईटीबीपी के महानिरीक्षक ईश्वर सिंह दुहन ने कहा कि नई निरस्त्र युद्ध तकनीक में रक्षात्मक और आक्रामक दोनों स्वरूप शामिल हैं। हमने पूर्व महानिदेशक संजय अरोड़ा के निर्देश पर पिछले साल अपने कर्मियों के लिए यह मॉड्यूल अपनाया था। ये युद्ध कौशल, विरोधियों को रोक देंगे तथा उन्हें अशक्त कर देंगे।

दुहन चंडीगढ़ से करीब 25 किलोमीटर दूर भानु में स्थित मूल प्रशिक्षण केंद्र (बीटीसी) की अगुवाई करते हैं। चीन ने भारतीय सैनिकों पर बर्बर हमले करने के लिए पत्थरों, नुकीली छड़ों, लोहे की छड़ों और एक प्रकार की लाठी ‘क्लब’ का इस्तेमाल किया था। भारतीय सैनिकों ने जून 2020 में गलवान (लद्दाख) में एलएसी पर भारतीय सीमा की ओर चीन द्वारा एक चौकी स्थापित करने का विरोध किया था। इन झड़पों में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे, जबकि चीन ने अपने चार सैनिकों के मारे जाने की बात स्वीकार की थी।

यहां प्रशिक्षण पर नजर रख रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि निरस्त्र युद्ध तकनीक में सैनिकों को अपनी ताकत का इस तरीके से इस्तेमाल करने का प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि विरोधियों को करारा जवाब मिले। दुहन ने कहा कि हमने एक योजना बनायी है जिसमें सीमा और अत्यधिक ऊंचाई पर किसी सैनिक को 90 दिन से ज्यादा तैनात नहीं किया जाएगा। ऐसी व्यवस्था की गयी है जिससे सीमा चौकियों से सैनिकों का समय रहते स्थानांतरण हो सकेगा। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि ये उपाय और निर्देश पहले नहीं थे, लेकिन अब हम इन चीजों को गंभीरता से लागू कर रहे हैं क्योंकि सीमा अब काफी सक्रिय है।

अधिकारियों ने बताया कि आईटीबीपी ने कई वैज्ञानिक मानदंडों का अध्ययन किया और उसे डीआरडीओ के डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एप्लाइड साइंसेज (डीआईपीएएस) से सूचनाएं मिली कि कैसे लंबे समय तक सैनिकों की तैनाती से मानव शरीर को अपूरणीय क्षति पहुंच सकती है। उन्होंने कहा कि इसे देखते हुए यह फैसला किया गया है कि अत्यधिक ऊंचाई पर तैनात सैनिकों की तीन महीने की अवधि के दौरान अदला-बदली करने की आवश्यकता है। उल्लेखनीय है कि भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख पर 29 महीने से गतिरोध बना हुआ है। पैंगोंग झील इलाके में हिंसक झड़प के बाद पांच मई 2020 को पूर्वी लद्दाख सीमा पर दोनों देशों के बीच गतिरोध पैदा हो गया था।

फिल्म 'हीरो नंबर 1' के रीमेक में काम करेंगे टाइगर 

फिल्म 'हीरो नंबर 1' के रीमेक में काम करेंगे टाइगर 

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्राफ सुपरहिट फिल्म 'हीरो नंबर 1' के रीमेक में काम करते नजर आ सकते हैं। वर्ष 1997 में प्रदर्शित फिल्म हीरो नंबर 1 में गोविंदा और करिश्मा कपूर ने लीड रोल किया था।डेविड धवन के निर्देशन में बनी फिल्म हीरो नंबर 1 को लोगों ने खूब पसंद किया था। टाइगर श्रॉफ फिल्म हीरो नंबर 1 के रीमेक में काम करते नजर आ सकते हैं। बताया जा रहा है कि इस फिल्म को जगन शक्ति निर्देशित करेंगे, वहीं जैकी भगनानी इस फिल्म को प्रोड्यूस करेंगे।

मेकर्स इस फिल्म को बड़े पैमाने पर फिल्माना चाहते हैं, जिसमें कई इंटरनेशनल शेड्यूल होंगे। इस फिल्म की शूटिंग साल 2023 में शुरू हो सकती है। फिल्म के प्री-प्रोडक्शन का काम चल रहा है।

फिल्म स्त्री के सीक्वल ‘स्त्री 2’ में काम करेगी श्रद्धा

फिल्म स्त्री के सीक्वल ‘स्त्री 2’ में काम करेगी श्रद्धा

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री श्रद्धा कपूर अपनी सुपरहिट फिल्म स्त्री के सीक्वल ‘स्त्री 2’ में काम करती नजर आएगी। वर्ष 2018 में प्रदर्शित सुपरहिट फिल्म स्त्री में श्रद्धा कपूर ,राजकुमार राव, पंकज त्रिपाठी, अपारशक्ति खुराना, अभिषेक बनर्जी, फ्लोरा सैनी और विजय राज ने अहम भूमिका निभाई थी।

श्रद्धा कपूर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा किया है, जो कि ठुमकेश्वरी का बिहाइंड द सीन वीडियो है। वीडियो में श्रद्धा कह रही हैं। अंदाजा लगाओ कौन वापस आ गया। यह तो बस छोटी सी झलक है कि मैं वापस आ रही हूं। स्त्री लौट आई है। सुपर वाइब। सेट पर लौटकर काफी अच्छा लग रहा है। यह मेरे लिए बहुत अच्छा है, क्योंकि हम बहुत जल्दी स्त्री 2 की शूटिंग शुरू करने जा रहे हैं।

पीएम ने सूर्योपासना के महापर्व 'छठ' की बधाई दी

पीएम ने सूर्योपासना के महापर्व 'छठ' की बधाई दी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को लोगों को सूर्योपासना के महापर्व छठ की बधाई दी। मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में कहा कि आज देश के कई हिस्सों में सूर्य उपासना का महापर्व छठ मनाया जा रहा है। छठ पर्व का हिस्सा बनने के लिए लाखों श्रद्धालु अपने गाँव, अपने घर, अपने परिवार के बीच पहुँचे हैं। मेरी प्रार्थना है कि छठ मइया सबकी समृद्धि, सबके कल्याण का आशीर्वाद दें। उन्होंने कहा कि सूर्य उपासना की परंपरा इस बात का प्रमाण है कि हमारी संस्कृति, हमारी आस्था का, प्रकृति से कितना गहरा जुड़ाव है। इस पूजा के जरिये हमारे जीवन में सूर्य के प्रकाश का महत्व समझाया गया है। साथ ही, ये सन्देश भी दिया गया है कि उतार-चढ़ाव, जीवन का अभिन्न हिस्सा है। इसलिए, हमें हर परिस्थिति में एक समान भाव रखना चाहिए।

छठ मइया की पूजा में भांति-भांति के फलों और ठेकुआ का प्रसाद चढ़ाया जाता है। इसका व्रत भी किसी कठिन साधना से कम नहीं होता।” प्रधानमंत्री ने कहा कि छठ पूजा की एक और ख़ास बात होती है कि इसमें पूजा के लिए जिन वस्तुओं का इस्तेमाल होता है उसे समाज के विभिन्न लोग मिलकर तैयार करते हैं। इसमें बांस की बनी टोकरी या सुपली का उपयोग होता है। मिट्टी के दीयों का अपना महत्व होता है। इसके जरिये चने की पैदावार करने वाले किसान और बताशे बनाने वाले छोटे उद्यमियों का समाज में महत्व स्थापित किया गया है। इनके सहयोग के बिना छठ की पूजा संपन्न ही नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि छठ का पर्व हमारे जीवन में स्वच्छता के महत्व पर भी जोर देता है। इस पर्व के आने पर सामुदायिक स्तर पर सड़क, नदी, घाट, पानी के विभिन्न स्त्रोत, सबकी सफाई की जाती है। छठ का पर्व एक भारत-श्रेष्ठ भारत का भी उदाहरण है। आज बिहार और पूर्वांचल के लोग देश के जिस भी कोने में हैं, वहाँ, धूमधाम से छठ का आयोजन हो रहा है।

दिल्ली, मुंबई समेत महाराष्ट्र के अलग-अलग जिलों और गुजरात के कई हिस्सों में छठ का बड़े पैमाने पर आयोजन होने लगा है। मुझे तो याद है, पहले गुजरात में उतनी छठ पूजा नहीं होती थी। लेकिन समय के साथ आज करीब-करीब पूरे गुजरात में छठ पूजा के रंग नज़र आने लगे हैं। ये देखकर मुझे भी बहुत ख़ुशी होती है। आजकल हम देखते हैं, विदेशों से भी छठ पूजा की कितनी भव्य तस्वीरें आती हैं। यानी भारत की समृद्ध विरासत, हमारी आस्था, दुनिया के कोने-कोने में अपनी पहचान बढ़ा रही है। इस महापर्व में शामिल होने वाले हर आस्थावान को मेरी तरफ़ से बहुत-बहुत शुभकामनाएँ।

दुनिया के कई देशों में 8 नवंबर को दिखेगा 'चंद्र ग्रहण'

दुनिया के कई देशों में 8 नवंबर को दिखेगा 'चंद्र ग्रहण'

अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। दिवाली के अगले दिन आंशिक सूर्य ग्रहण के लगभग एक पखवाड़े बाद भारत और दुनिया के कई अन्य देशों में 8 नवंबर को पूर्ण चंद्र ग्रहण दिखाई देगा। प्रसिद्ध खगोल विज्ञानी देबी प्रसाद दुआरी ने यह जानकारी दी। दुआरी ने कहा कि भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और रूस के अलावा एशिया के कई अन्य हिस्सों, उत्तर व दक्षिण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी अटलांटिक महासागर व प्रशांत महासागर क्षेत्र के लोग इस खगोलीय घटना का दीदार कर सकेंगे।

दुआरी ने कहा कि पूर्ण चंद्र ग्रहण हर जगह नहीं दिखाई देगा और शुरुआत में लातिन अमेरिका के कुछ देशों में आंशिक चंद्र ग्रहण नजर आएगा। उन्होंने कहा कि आठ नवंबर को भारतीय समयानुसार दोपहर दो बजकर 39 मिनट पर चंद्र ग्रहण शुरू होगा और लगभग तीन बजकर 46 मिनट पर यह पूर्ण चरण में पहुंच जाएगा। साढ़े चार बजे के आसपास चंद्रमा पूरी तरह से पृथ्वी की छाया से ढक जाएगा। दुआरी ने बताया कि पूर्ण ग्रहण पांच बजकर 11 मिनट पर समाप्त हो जाएगा, जबकि आंशिक ग्रहण शाम के छह बजकर 19 मिनट के आसपास खत्म होगा। उन्होंने कहा कि भारत के सभी हिस्सों में ग्रहण चंद्रोदय के समय से दिखाई देगा, लेकिन आंशिक और पूर्ण, दोनों ही रूपों के प्रारंभिक चरण नहीं दिखाई देंगे, क्योंकि दोनों घटनाएं तब शुरू होंगी, जब देश में चंद्रमा हर जगह क्षितिज से नीचे होगा।

दुआरी ने बताया कि कोलकाता सहित पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों के लोग पूर्ण चंद्र ग्रहण के गवाह बन सकेंगे, जबकि देश के बाकी हिस्सों में लोगों को केवल ग्रहण का आंशिक चरण और उसमें होने वाली प्रगति दिखाई देगी। कोलकाता शहर में चंद्रमा पूर्वी क्षितिज से लगभग चार बजकर 52 मिनट पर निकलना शुरू होगा और इसके दो मिनट बाद पूरी तरह से दिखाई देगा। दुआरी ने बताया कि नयी दिल्ली में चंद्रोदय के बाद लगभग साढ़े पांच बजे से आंशिक ग्रहण देखा जा सकेगा, जिसमें चंद्रमा 66 प्रतिशत ढका नजर आएगा। उन्होंने कहा कि भारत में अगला पूर्ण चंद्र ग्रहण सात सितंबर 2025 को दिखाई देगा।

मोच की समस्या से परेशान, अपनाएं घरेलू उपाय 

मोच की समस्या से परेशान, अपनाएं घरेलू उपाय 

सरस्वती उपाध्याय 

मोच की समस्या से हर लोग कभी न कभी परेशान रहे होंगे। मोच आने पर व्यक्ति की अत्यधिक पीड़ा का सामना करना पड़ता है। हड्डियों में किसी तरह के क्षतिग्रस्त होने से मोच की समस्या उत्पन्न होती है, क्योंकि हड्डियों में उत्तक एक दूसरे से जुड़े होते हैं। चलते-चलते अचानक मुड़ जाने से दौड़ते वक्त पैर ट्विस्ट हो जाने या फिर गिरने की वजह से पैर में मोच आ जाती है। दरअसल हड्डियों में किसी भी तरह का डैमेज होने से मोच की समस्या होती है। ऐसे में इसे भी घरेलू उपचार के जरिए ठीक किया जा सकता है।

मोच का घरेलू उपचार

बर्फ से सिकाई- मोच लगने के तुरंत बाद उस जगह पर बर्फ की सिकाई करने से सूजन नहीं आती है। इसके अलावा बर्फ की सिकाई करने से दर्द भी दूर हो जाती है। ऐसे में मोच आने पर हर एक से दो घंटे में बर्फ से सिकाई करनी चाहिए। हालांकि सीधे ही बर्फ से सिकाई नहीं करनी चाहिए। बर्फ को हमेशा किसी कपड़े में लपेटकर सिकाई करनी चाहिए।

लौंग का तेल- मोच की समस्या आने पर लौंग का तेल भी काफी असरदार है। लौंग के तेल में एनेस्थेटिक गुण मौजूद होते हैं। जो स्वेलिंग और दर्द को कम करता है। इस तेल को दो चम्मच लेकर मोच वाले जगह पर अच्छे से मालिश करें। मसल्स के पेन में भी काफी आराम मिलेगा। दिन भर में तीन से चार बार लौंग के तेल से मालिश करें। काफी हद तक राहत मिलेगा।

हल्दी का दूध- हल्दी का दूध कोई भी दर्द को खींचने में काफी मददगार होता है। माेच की समस्या आने पर हल्दी का दूध जरूर पिएं। यह पेनकिलर जैसा काम करता है। हल्दी एक नहीं कई गुणोंं से भरपूर है। यह एंटीसेप्टिक के रूप में काम करती है। इसे इस्तेमाल करने के लिए पानी में दो चम्मच हल्दी डालकर उसका पेस्ट बना लें। अब इस हल्दी के पेस्ट को मोच वाली जगह पर लगाएं और दो घंटे के लिए छोड़ दें। फिर गुनगुने पानी से साफ कर लें। इसके साथ ही एक ग्लास गर्म दूध में आधा चम्मच फिटकरी मिलाकर पीने से भी दर्द में काफी आराम मिलता है।

सेंधा नमक- सेंधा नमक सूजन विरोधी होती है और मांसपेशियों के दर्द एवं ऐंठन को कम करने में मदद करता है। इसमें प्राकृतिक तौर पर मैग्नीशियम होता है जो हड्डियों के दर्द को दूर कर सकता है। यह नमक द्रव पदार्थ को बाहर निकाल देता है और सूजन से आराम दिलाता है। गुनगुने पानी में सेंधा नमक डालकर प्रभावित जगह पर सिकाई करने से काफी आराम मिलता है।

अरंडी का तेल- अरंडी के तेल में बहुत से औषधीय गुण होते हैं, जो हड्डियों के दर्द को कम करने में कारगर होता है। गठिया रोग के लोगों के लिए अरंडी के तेल से मालिश करने से सूजन एवं ऐंठन कम होती है। इसके अलावा मोच को ठीक करने के लिए अरंडी के तेल का उपयोग फायदेमंद होता है।

जम्मू-कश्मीर को प्रत्येक भारतीय का 'गौरव' बताया

जम्मू-कश्मीर को प्रत्येक भारतीय का 'गौरव' बताया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू-कश्मीर को प्रत्येक भारतीय का गौरव बताया और कहा कि यह वक्त पुरानी चुनौतियों को पीछे छोड़ने और नयी संभावनाओं का पूरा लाभ उठाने का है। जम्मू-कश्मीर रोजगार मेला को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि तेज गति से विकास के लिए नए नजरिये और नयी सोच के साथ काम करने की आवश्यकता है। मोदी ने कहा कि हम सभी वर्गों और नागरिकों को समान रूप से विकास का लाभ देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

जम्मू-कश्मीर प्रत्येक भारतीय का गौरव है। हमें एक साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर को नयी ऊंचाइयों पर ले जाना होगा। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के 20 अलग-अलग स्थानों पर सरकारी विभागों में काम करने के लिए नियुक्ति पत्र पाने वाले 3,000 युवाओं को बधाई दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि इन युवाओं को लोक निर्माण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग, पशुपालन, जल शक्ति और शिक्षा-संस्कृति जैसे विभिन्न विभागों में सेवा देने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में अन्य विभागों में 700 से अधिक नियुक्ति पत्र सौंपने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं।

जम्मू-कश्मीर जाने वाले पर्यटकों की संख्या में रिकॉर्ड वृद्धि का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास और संपर्क बढ़ने के कारण राज्य में पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा मिला है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सरकारी योजनाओं का लाभ बिना किसी भेदभाव के समाज के प्रत्येक वर्ग तक पहुंचे। प्रधानमंत्री न यह भी कहा कि जम्मू-कश्मीर में दो नए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), सात नए मेडिकल कॉलेज, दो सरकारी कैंसर संस्थान और 15 नर्सिंग कॉलेज खोलकर वहां स्वास्थ्य एवं शिक्षा बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ट्रेन के जरिये कश्मीर तक संपर्क में सुधार लाने के प्रयास भी किए जा रहे हैं।

यह बताते हुए कि कैसे जम्मू-कश्मीर के लोगों ने हमेशा पारदर्शिता पर जोर दिया है, प्रधानमंत्री ने सरकारी सेवाओं में आ रहे युवाओं को इसे प्राथमिकता बनाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि मैं जब भी पहले जम्मू-कश्मीर के लोगों से मुलाकात करता था तो मुझे हमेशा उनका दर्द महसूस होता था। यह व्यवस्था में भ्रष्टाचार का दर्द था। जम्मू-कश्मीर के लोग भ्रष्टाचार से नफरत करते हैं। मोदी ने भ्रष्टाचार की बुराई को खत्म करने के लिए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और उनकी टीम द्वारा किए गए उल्लेखनीय कार्यों की प्रशंसा भी की।

दक्षिण कोरिया में 151 लोगों की मौंत, शोक जताया 

दक्षिण कोरिया में 151 लोगों की मौंत, शोक जताया 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/सियोल। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दक्षिण कोरिया में भगदड़ में लोगों की मौंत पर रविवार को शोक जताया और कहा कि भारत दुख की इस घड़ी में उस देश के साथ है। दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में ‘हैलोवीन’ के दौरान भीड़ के एक संकरी गली में घुसने के प्रयास से मची भगदड़ में कुचलकर कम से कम 151 लोगों की मौंत हो गई है।

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘सियोल में भगदड़ में इतने युवाओं की मौत से बहुत स्तब्ध हूं। अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं। हम मुश्किल की इस घड़ी में कोरिया गणराज्य के साथ एकजुटता व्यक्त करते हैं।’’

फिल्मी सितारों की तरह आकर्षक होगी स्किन, जानिए

फिल्मी सितारों की तरह आकर्षक होगी स्किन, जानिए 

सरस्वती उपाध्याय 

जब भी हम आईने के सामने खड़े होते हैं तो एक बात जरूर मन में आती है कि काश हमारी स्किन भी फिल्मी सितारों की तरह आकर्षक होती! इस बात को कोई भी नकार नहीं सकता कि चमकदार और ग्लोइंग स्किन हर इंसान चाहता है। फिर चाहे वो लड़का हो या लड़की। क्योंकि स्किन अच्छी हो तो इंसान को किसी तरह के बनावटी मेकअप की जरूरत नहीं होती। बिना केमिकल वाले प्रोडक्ट के भी वह भीड़ में अकेला नजर आता है।इसलिए, आज हम आपके लिए कुछ ऐसा ही लेकर आए हैं।

सेब का सिरका करेगा सपना साकार
जैसा कि हम जानते हैं कि सेब हमारी सेहत के लिए बहुत लाभकारी है। पुराने लोगों का कहना है कि अगर आप एक सेब रोज खाते हैं तो आपको कभी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होगी। यह बात सच है, लेकिन सेब ही नहीं सेब का सिरका भी हमारी सेहत के साथ हमारी स्किन के लिए काफी लाभकारी होता है। इसे एप्पल साइडर विनेगर भी कहा जाता है। यह स्किन के लिए बेदाग और जवां बनाए रखने में काफी सहयोगी है।

विटामिन और प्रोटीन से भरपूर
सेब के सिरके की खास बात यह भी है कि इसे आप लंबे समय तक स्टोर करके रख सकते हैं। ये जल्दी से खराब नहीं होता है। सेब के सिरके में कई तरह के विटामिन, एंजाइम, प्रोटीन और लाभकारी तत्व मौजूद होते हैं। इसके अलावा इसमें एसिटिक एसिड की मात्रा काफी ज्यादा होती है।

इन आसान तरीकों से पाएं चेहरे पर निखार
सेब के सिरके को आप अपने स्किन केयर रुटीन में भी शामिल कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल से मुहासों की समस्या भी दूर होती है। साथ ही इससे आपकी स्किन खूबसूरत और ब्राइट भी होती है। इतना ही नहीं इस सिरके में त्वचा में हुए इन्फेक्शन को भी दूर करने का काम करता है।

सेब के सिरके का इस्तेमाल करते वक्त रखें इन बातों का ध्यान

  • हर चीज़ को यूज़ करने से पहले उसके नियमों के बारे में पढ़ लेना चाहिए। सेब के सिरके को कभी भी सीधा चेहरे पर नहीं लगाना चाहिए। इसे यूज़ करने से पहले सिरके को पानी के साथ मिलाकर करें। उसके बाद इसे चेहरे पर इसे लगाएं।
  • सेब का सिरका चेहरे पर लगाने से पहले अपनी स्किन को अच्छे से क्लीन कर लें। अगर आपने अपने चेहरे पर किसी भी तरह का कुछ लगाया हुआ है तो उसे हटाना बेहद ज़रूरी है। चेहरे को अच्छे से साफ करने के बाद ही सिरके को चेहरे पर लगाएं।
  • किसी भी चीज़ को चेहरे पर लगाने से पहले अपनी स्किन के बारे में सही जानकारी रखें। आपको पता होना चाहिए कि आपकी स्किन किस तरह की है और किन चीज़ों से इफेक्ट होती है।
  • सेब के सिरके का इस्तेमाल करते वक्त अपनी आंखों के आसपास के हिस्से पर इसे न लगाएं। कई दफा ऐसा करने से आंखों के नीचे खुजली और जलन होने लगती है। इसलिए ध्यान रहे आंखों के आसपास वाले हिस्से के अलावा इसे पूरे चेहरे पर लगाएं।

समान नागरिकता संहिता को लेकर सवाल, भड़के  

समान नागरिकता संहिता को लेकर सवाल, भड़के  

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/अहमदाबाद। गुजरात में विधानसभा चुनाव का एलान होने से पहले समान नागरिकता संहिता को लेकर चर्चाएं काफी तेज हो चली हैं। भाजपा इसके पक्ष में है, जबकि विपक्षी नेता विरोध जता रहे हैं। इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से समान नागरिकता संहिता को लेकर सवाल पूछा गया तो वह भड़क गए। उन्होंने भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि उनकी नीयत में खोट है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 44 में साफ-साफ लिखा है कि समान नागरिक संहिता लागू करना सरकार की जिम्मेदारी है। ऐसे में सरकार को इसे लागू करना चाहिए। वहीं, इसे ऐसा बनाना चाहिए, जिसमें सभी समुदायों की रजामंदी हो, लेकिन उनकी नीयत में खोट है। केजरीवाल ने इस दौरान उत्तराखंड विधानसभा चुनाव का हवाला भी दिया। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड चुनाव से पहले भी एक समिति बनाई गई थी, जो चुनाव जीतने के बाद अपने घर चली गई। अब यही काम गुजरात में भी किया जा रहा है। चुनाव के बाद यहां की समिति भी अपने घर चली जाएगी।

केजरीवाल ने पूछा कि अगर समान नागरिक संहिता लागू करनी ही है तो मध्यप्रदेश में क्यों नहीं करते? उत्तर प्रदेश में क्यों नहीं बनाते? अगर उनकी नीयत समान नागरिक संहिता लागू करने की होती तो इसे क्यों नहीं बनाते और देश में लागू क्यों नहीं करते? क्या वे लोकसभा चुनाव का इंतजार कर रहे हैं? इन्हें समान नागरिक संहिता लागू नहीं करनी है, बल्कि इनकी नीयत खराब है।

फिल्म ‘दिल तो पागल है’ के प्रदर्शन के 25 साल पूरे 

फिल्म ‘दिल तो पागल है’ के प्रदर्शन के 25 साल पूरे 

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान, माधुरी दीक्षित, करिश्मा कपूर और अक्षय कुमार स्टारर फिल्म ‘दिल तो पागल है’ के प्रदर्शन के 25 साल पूरे हो गए हैं। यशराज बैनर तले बनीं फिल्म दिल तो पागल है 30 अक्टूबर 1997 को प्रदर्शित हुई थी। फिल्म के प्रदर्शन के 25 साल पूरे हो गए हैं। इस फिल्म के 25 साल पूरे होने पर यशराज फिल्म्स ने फिल्म के कुछ दृश्यों का एक वीडियो शेयर किया है और साथ ही नोट भी साझा किया है।

यशराज फिल्म की तरह से साझा किए गए वीडियो के बैकग्राउंड में ‘दिल तो पागल है’ सॉन्ग बजते हुए सुना जा सकता है और साथ ही फिल्म के दृश्यों की कुछ खास झलक शामिल की गई हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन दिया गया कि 25 साल पहले राहुल ने पूछा मोहब्बत क्या है? और दिल तो पागल है’ ने सभी के लिए प्यार और दोस्ती को फिर से परिभाषित किया! एक ऐसा फिल्म का जश्न मनाना, जो हमारे दिलों के करीब है। हैश टैग दिल तो पागल है के 25 साल।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-385, (वर्ष-05)

2. सोमवार, अक्टूबर 31, 2022

3. शक-1944, कार्तिक, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:25, सूर्यास्त: 05:44। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम-34+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...