रविवार, 5 सितंबर 2021

भारत-यूएसए के पारस्परिक हित के मुद्दों पर चर्चा

वाशिंगटन डीसी। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने शस्त्र नियंत्रण मामलों की अमेरिका की उप विदेश मंत्री और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा राजदूत बोनी जेनकिंस से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने परमाणु अप्रसार, असैन्य परमाणु और अंतरिक्ष सहयोग सहित दोनों देशों के पारस्परिक हित के मुद्दों पर चर्चा की। यह बैठक श्रृंगला के तीन दिवसीय दौरे के अंतिम दिन शुक्रवार को हुई।

वाशिंगटन में अपने प्रवास के दौरान श्रृंगला ने जो. बाइडन प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन भी शामिल थे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस संबंध में ट्वीट के जरिए जानकारी दी। वहीं, जेनकिंस ने श्रृंगला से अपनी मुलाकात पर ट्वीट के जरिए खुशी व्यक्त की।

लोकेश पर फीस के 15 फीसदी का जुर्माना लगाया

लंदन। भारतीय ओपनर लोकेश राहुल पर इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन शनिवार को आउट होने के बाद अम्पायर के फैसले पर नाराजगी जताने पर उनकी मैच फीस के 15 फीसदी का जुर्माना लगाया गया है। यह घटना भारत की दूसरी पारी के 34 वें ओवर की है जब राहुल को जेम्स एंडरसन की गेंद पर विकेट के पीछे आउट करार दिया गया। राहुल का उस समय स्कोर 46 रन था। गेंदबाज और फील्डरों की अपील पर अम्पायर का पहला फैसला नॉट आउट था लेकिन इंग्लैंड ने डीआरएस लिया और अम्पायर को अपना फैसला बदलने के लिए मजबूर होना पड़ा। हालांकि राहुल का मनाना था कि आवाज बल्ले के पैड से लगाने से आयी है न कि बल्ले से लगने से और उन्होंने आउट दिए जाने पर अपना सर निराशा में हिलाया।

राहुल की इस हरकत पर उन्हें एक अयोग्य अंक प्रदान किया गया। पिछले 24 महीने में राहुल का इस तरह का यह पहला अपराध है।

विधानसभा चुनाव की तैयारी करने पर बल दिया

गोपीचंद             
बागपत। सर्वजन लोक शक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमपाल कश्यप व बड़ौत विधानसभा प्रत्यासी राजबीर कश्यप ने ग्राम कोताना के कश्यप समाज को संगठित करने के लिये जन सम्पर्क किया और पार्टी की और से आगामी विधान सभा चुनाव 2022 के चुनाव की तैयारी करने पर बल दिया। 
पार्टी के महा सचिव साइंटिस्ट महेंद्र सिंह कश्यप ने पार्टी की नीतियों को बताया और लोकतंत्र में कश्यप समाज की भागेदारी पर लोगों को जागरूक किया। जनसम्पर्क में मनोज जैन, लोकेंद्र और कश्यप समाज के वरिष्ठ लोग साथ रहें।

कीर्तन भजन के साथ भव्य भंडारे का आयोजन किया

कौशाम्बी। नगर पालिका परिषद भरवारी अंतर्गत नया बाजार बिन्दा मील के पास भगवान भोले नाथ श्री कृष्ण साई बाबा व बजरंगबली हनुमान की भव्य मूर्ति विराजमान है। जहा पर प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के बाद छठी के दिन कीर्तन भजन के साथ भव्य भंडारे का आयोजन किया गया है। जिसमे दूर दूर से हज़ारो की संख्या में लोग प्रसाद ग्रहण करने आये है।
इस मौके पर भव्य कीर्तन का भी आयोजन किया गया है। सबसे अहम बात तो यह है कि इस भंडारे के आयोजन में कस्बा की लगभग शत प्रतिशत महिलाओ ने भी अपनी सहभागिता निभाने में कोई कोर कसर नही छोड़ीं। भगवान श्री कृष्ण की छठी का आयोजन विगत दो वर्ष से वैष्विक महामारी के चलते केवल छठी मनाई जाती थी। अब जैसे ही वैष्विक महामारी से निजात मिली अबकी बार भगवान श्रीकृष्ण की छठी के साथ विशाल भंडारे का आयोजन भी किया गया।
इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से राजू गुलाटी, पुत्र विजय गुलाटी बेद, प्रकाश केशरवानी, अविनाश उर्फ बच्चा, भाई बब्बू अग्रवाल, प्रेम नारायण केशरवानी, अशोक गुलाटी बच्चा, मुनीम पंकज जयसवाल, उत्कर्ष केशरवानी, श्रीच चंद्र विनय केशरवानी, रिंकू दलाल यसवंत आदि मोहल्ले के सभी सहयोगी जन मौजूद थे।
कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने वालो में मुख्य रूप से चायल विधयाक संजय गुप्ता, पूर्व चेयर मैन एवं पूर्व प्रत्याशी सपा विधानसभा सिराथू समाजवादी पार्टी के कैलाश चंद्र केशरवानी, कमलेश केशरवानी, राकेश अरोरा, अतिन केशरवानी तथा कौशाम्बी से पधारे कीर्तन मंडली के हृदय सम्राट अशोक कोकिल आदि लोग मौजूद रहे।
राजू सक्सेना 

हत्यारोपी जोगेंद्र को अरेस्ट कर वैधानिक कार्रवाई की

अतुल त्यागी 
हापुड़। जनपद के थाना बहादुरगढ़ क्षेत्र के गांव सिकंदरपुर में हाल ही में संपत्ति के लालच में दत्तक पुत्र और पुत्रवधू ने अपनी मां की तकिये से गला दबाकर हत्या कर दी थी। जिसके संबंध में बहादुरगढ़ पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए पहले पुत्र वधू ज्योति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था और अब अल्प समय में ही हत्यारोपी दत्तक पुत्र जोगेंद्र को गिरफ्तार कर वैधानिक कार्रवाई की गई है।
थाना बहादुरगढ़ प्रभारी इंस्पेक्टर सुमन कुमार सिंह रविंद्र , सत्यम शर्मा, रवि कुशवाह और महिला सिपाही ज्योति की टीम ने गिरफ्तारी की कार्यवाही को अंजाम दिया।

अस्थायी सब्जी मंडी के निर्माण को हटाने पर रोक

दुष्यंत टीकम          
बिलासपुर। महासमुंद जिले के बागबहारा ब्लाक के तेंदुकोना ग्राम में संचालित जय माता थोक सब्जी विक्रय दुकानों के अस्थायी निर्माण को बंद करने या तोड़ने हेतु मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा जारी आदेश दिनांक 04.09.2021 पर माननीय न्यायालय द्वारा रविवार को सुनवाई करते अस्थायी सब्जी मंडी के निर्माण को हटाने या तोड़ने पर रोक लगा दी।
मामला इस प्रकार है कि, जय माता दी थोक सब्जी विकेता कल्याण संघ बागबहारा सोसायटी, जिसका छ.ग. सोसायटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम के तहत पंजीकृत सोसायटी है। थोक सब्जी मंडी जो पहले वार्ड न०11 में बागबहारा में संचालित हो रहा था। थोक मंडी के हिसाब से यहां जगह काफी छोटा है। जिसके कारण भीड़-भाड़ व गंदगी होने के कारण संक्रमण की ज्यादा संभावना थी। जिसके कारण करोनो संक्रमण आपदा तथा लोक न्यूसेंस को देखते हुए अनुविभागीय अधिकारी बागबहारा द्वारा अपने आदेश दिनांक 13.05.2021 को अस्थायी मार्केट हेतु ग्राम तेंदुकोना ब्लाक बागबहारा में स्थित खसरा नं. 21 रकबा 1.12 हेक्टेयर को सब्जी क्रय-विक्रय करने हेतु आदेश पारित किया था। किन्तु मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगर पालिका परिषद, बागबाहरा द्वारा दिनांक 25/8/2021 को अस्थायी सब्जी मण्डी में निर्माण कार्य रोकने हेतु अनुविभागीय अधिकारी बागबाहरा को पत्र जारी किया गया था. जिससे परिवेदित होकर जय माता दी थोक सब्जी विक्रेता कल्याण संघ ने हाईकोर्ट अधिवक्ता वकार नैयर के माध्यम से रिट याचिका 31/08/2021 को उच्च न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था।
लेकिन सुनवाई होने से पहले, मुख्य नगर पालिका अधिकारी बागबाहरा द्वारा अतिक्रमण हराने हेतु दिनांक 04/09/2021 दिन शनिवार शाम 5 बजे आदेश जारी किया गया, और आदेशित किया कि सोमवार 06/09/21 को 11.00 बजे निर्माण हटाने जाना सुनिश्चित किया गया। उपरोक्त आदेश को ध्यान में रखते हुए हाई कोर्ट अधिवक्ता वकार नैयर ने रविवार को रजिस्ट्रार जनरल सर के माध्यम से उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधिश के समक्ष विशेष आग्रह करने पर उन्होंने केस को गंभीरता से लेते हुए न्यायुमूर्ति गौतम भादुड़ी को केश की सुनवाई हेतु नियुक्त किया गया।
माननीय न्यायमूर्ति गौतम भादुड़ी ने रविवार के विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सुनने के बाद मुख्य नगर पालिका, नगर पालिका परिषद्, बागबहारा द्वारा जारी आदेश दिनांक 04.09.2021 को अवैध कब्ज़ा हटाने सम्बन्धी आदेश को अगली सुनवाई तक रोक लगा दी है।

इलेक्ट्रिक वाहनों को पेश करने में लगी हैं कंपनियां

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। आज के समय में वाहन खरीदने से ज्यादा चिंता पेट्रोल की उंची होती कीमत को लेकर देखने को मिल रही है। आम इंसान एक बार हिम्मत जुटा कर वाहन के लिए भारी रकम खर्च तो कर दे। लेकिन हर रोज पेट्रोल की बढ़ती कीमतों ने लोगों के माथे पर बल ला दिया है। ऐसे में लोग इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की तरफ तेजी से मुखर हो रहे हैं। इस समय बाजार में कई वाहन निर्माता कंपनियां इलेक्ट्रिक वाहनों को पेश करने में लगी हैं, ख़ासकर दोपहिया सेग्मेंट में इनकी भरमार है। जहां एक तरह दिग्गज प्लेयर्स इस सेग्मेंट में नए मॉडलों को पेश कर रहे हैं वहीं स्टार्टअप्स भी पीछे नहीं हैं। हैदराबाद बेस्ड स्टार्टअप प्राइवेट लिमिटेड ने भी हाल ही में अपने नए इलेक्ट्रिक बाइक Atum 1.0 को पेश किया था, जिसकी शुरुआती कीमत 49,999 रुपये (एक्स-शोरूम) तय की गई है।

पाकिस्तान: आत्मघाती हमले में 3 लोगों की मौंत हुईं

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में मस्तुंग रोड पर फ्रंटियर कोर (एफसी) के एक चेकपोस्ट के पास रविवार को आत्मघाती हमले में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गयी और 20 अन्य घायल हो गये।

स्थानीय समाचारपत्र 'डॉन' ने क्वेटा के पुलिस उप महानिरीक्षक अजहर अकरम के हवाले से यह जानकारी दी। श्री अकरम ने बताया कि घायलों में से 18 सुरक्षा अधिकारी थे जबकि दो राहगीर थे। उन्होंने मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जतायी है। श्री अकरम ने बताया कि एक आत्मघाती हमलावर ने अपनी मोटरसाइकिल पर छह किलोग्राम विस्फोटक लाद कर एफसी के काफिले के एक वाहन को टक्कर मार दी। विस्फोट में दो लोगों की मौत हो गयी।

किसान: भाजपा सरकार की नीति करेगीं अनदेखी

हरिओम उपाध्याय         

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की नीति और नीयत किसानो के हितों की अनदेखी करने वाली है। सरकारी प्रचार में किसान को बहुत कुछ देने का दावा किया जा रहा है। जबकि हकीकत में उसकी झोली खाली की खाली है। अखिलेश यादव ने रविवार को पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री डा केपी यादव को श्रद्धांजलि देने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश में किसान जीवन-मरण की लड़ाई लड़ रहा है। उसको मिल कुछ नही रहा है, पर उसे दुगनी आमदनी का रंगीन सपना देखने को मजबूर किया जा रहा है। किसानों की बदहाली की कहानी भाजपा राज में कोई सुनने वाला नहीं है। उसकी खेती की लागत दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। डीजल मंहगा है।

बिजली का बिल बढ़ चढ़कर आ रहा है। खाद, बीज के दाम बढ़ गए हैं। किसानों को कर्ज मिलने में तमाम दिक्कतें पेश आती हैं। भाजपा अपने किए सभी वादे भूल गई हैं, वह सिर्फ किसानों को गुमराह करने में लगी है। उन्होने कहा कि बाढ़ से हो रही तबाही से बेखबर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार विज्ञापनी प्रचार उत्सवों के आयोजन में व्यस्त है। प्रदेश के दर्जनों जिलों में नदियां उफान पर हैं। बाढ़ की विभीषिका में फंसे लोग जान-माल की गुहार लगा रहे हैं। तटबंध टूट रहे हैं, सड़क-सम्पर्क मार्ग तेज लहरों के बहाव में ध्वस्त हो रहे हैं, हर ओर तबाही है। बेबस पशु चारा-पानी को तरस रहे हें। बीमारियां फैल रही हैं। भाजपा सरकार को इधर देखने की फुर्सत नहीं है, वह आए दिन अपनी विज्ञापनी प्रचार उत्सवों के आयोजन में व्यस्त है।

अखिलेश यादव ने कहा कि फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल से हुयी मौतों के बाद भी सरकार सोयी हुयी है और संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के कोई प्रयास नहीं किये जा रहे हैं। प्रदेश में लचर स्वास्थ्य सेवाओं के कारण जनता बेहाल है। बारिश-जलजमाव के कारण संचारी रोग तेजी से फैल रहा है। जलजनित बीमारियों से संक्रमित रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। सरकार की ओर से संक्रमण रोकने की दिशा में कोई प्रयास नहीं हो रहा है न तो समय से दवाओं का छिड़काव हुआ और न ही इलाज की समुचित व्यवस्था। उन्होने कहा कि फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल से 50 से अधिक मौत होने के बाद भी शासन-प्रशासन की नींद नहीं टूटी। लखनऊ और समीपवर्ती जिले टाइफाइड की चपेट में है। लखनऊ में अब तक टाईफाइड से लगभग सौ लोग प्रभावित हो चुके है। जिला अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर बुनियादी सुविधाओं का भी अकाल है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रचार में लीन भाजपा सरकार नींद से जागे और लखनऊ व प्रदेश के शहरों, बस्तियों, गांवों में फैल रहे खतरनाक जानलेवा बुखार से प्रभावित होने वाले बच्चो और बड़ों के लिए स्तरीय चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्ति करे। वायरल फीवर से यूपी के बाल-बच्चों वाले परिवार बेहद चिंतित और भयभीत हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार की प्राथमिकता में स्वास्थ्य सेवायें नहीं है। वैश्विक महामारी में आम जनता का भरोसा सरकार ने तोड़ दिया। इलाज, बेड, आक्सीजन संकट के समाधान में भाजपा सरकार पूरी तरह फेल रही। वैक्सीनेशन के नाम पर हो-हल्ला मचाने वाली भाजपा सरकार वैक्सीन आपूर्ति में ही पिछड़ती जा रही है। कोरोना संकट के दौर में ब्लैक फंगस का सही इलाज अस्पतालों में नहीं हो पाया। दवाओं, इंजेक्शन की तलाश में लोग दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर रहे। पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा है। जनता त्रस्त है। भाजपा सिर्फ सत्ता बचाने में व्यस्त है।

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार में उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने की दिशा में अनेक महत्वपूर्ण कार्य हुए थे। लखनऊ में कैंसर हॉस्पिटल, मातृ-शिशु रेफरल हॉस्पिटल, प्रदेश में दर्जनों मेडिकल कॉलेज की स्थापना 102-108 एम्बुलेंस सेवाओं से प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए ठोस कार्य किये गये थे। असाध्य रोगों-कैंसर, लीवर, किडनी, हार्ट के मुफ्त इलाज की व्यवस्था की गई। स्वास्थ्य सेवाओं में बुनियादी ढांचा मजबूत किया गया, लेकिन भाजपा सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं को ध्वस्त कर दिया है। जनता का जीवन संकट में डालने वाली भाजपा की विदाई तय है। उन्होंने दावा कर ते हुए कहा कि 2022 में पूर्ण बहुमत से पार्टी की जीत होगी।

इस अवसर पर पूर्व मंत्री जगदीश नारायण राय, विधायक लकी यादव, पूर्व विधायक ओम प्रकाश दुबे उर्फ बाबा दुबे , विधायक जगदीश सोनकर, विधायक शुषमा पटेल , पूर्व एमएलसी लल्लन यादव, विधायक शैलेंद्र यादव ललई सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

वेबसीरीज '92 डेज' बनाने जा रहे हैं एक्ट्रेस सलमान

कविता गर्ग        
मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान वेबसीरीज '92 डेज' बनाने जा रहे हैं।
सलमान खान अपने बैनर 'सलमान खान फिल्म्स' तले वेब सीरिज '92 डेज' बनाने जा रहे हैं। इस वेब सीरीज की शूटिंग 04 अक्‍टूबर से शुरू होने वाली है। इस वेब शो की शूटिंग आगरा, धौलपुर, मुरैना, ग्‍वालियर, दतिया, झांसी, ओरछा और चंदेरी के लोकेशनों पर होगी। सलमान खान के बहनोई आयुष शर्मा इस सीरीज में लीड रोल में हैं जबकि अन्य कलाकार दक्षिण भारत से लिये गये है।
बताया जा रहा है कि इस वेब सीरीज की कहानी थोड़ी बहुत फिल्म 'बागबान' की तरह है। इसे वेब सीरीज को सलमान के साथ-साथ दक्षिण भारत के दो और प्रोडक्शन हाऊस प्रोड्यूस कर रहें हैं।

अगले सप्ताह जी7 मंत्रियों की बैठक की योजना

टोक्यो। जापान ने कहा है कि रूस और चीन की भागीदारी के साथ अगले सप्ताह जी7 विदेश मंत्रियों की बैठक की योजना है। जाे अफगानिस्तान पर केंद्रित होगी। जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी ने यह जानकारी दी।
उन्होंने रविवार को एनएचके टेलीविजन को बताया कि अफगानिस्तान की स्थिति पर चर्चा करने के लिए अगले सप्ताह जी7 देशों के विदेश मंत्रियों के स्तर पर एक बैठक की उम्मीद है। बैठक में रूस, चीन और अन्य देशों के मंत्रियों की उपस्थिति की भी उम्मीद है। उन्होंने कहा, “यह बैठक आठ सितंबर को हो सकती है। मोत्तागी ने इस तरह की बैठकों में रूसी और चीनी प्रतिनिधिमंडलों में भाग लेने के महत्व पर जोर दिया क्योंकि वे एक देश हैं, अफगानिस्तान पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।
मोटेगी के अनुसार, अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लैंकेन द्वारा ऑनलाइन आयोजित 20 से अधिक देशों के राजनयिकों द्वारा सुझाव एकत्र किए जाएंगे। जापानी विदेश मंत्री वेस याक ने कहा कि उन्हें 8 सितंबर की शुरुआत में आयोजित किया जा सकता है। तालिबान (रूस में अवैध) ने अफगानिस्तान पर नियंत्रण पाने के लिए एक बड़ा अभियान शुरू किया जब संयुक्त राज्य अमेरिका ने घोषणा की कि वह देश से अपने सैन्य कर्मियों को वापस ले लेगा।
15 अगस्त को, अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी ने इस्तीफा दे दिया और देश भाग गया, और तालिबान बलों ने बिना किसी प्रतिरोध के काबुल में प्रवेश किया। प्रसिद्ध गुरिल्ला कमांडर अहमद शाह मसूद (1953-2001) के बेटे अहमद मसूद के नेतृत्व में पंजशीर प्रांत में तालिबान शासन का विरोध करने वाली विपक्षी ताकतों ने प्रतिरोध की पेशकश की।

मुकेश ने रिलायंस जियो के लॉन्च की घोषणा की

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। पांच साल पहले जब मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो के लॉन्च की घोषणा की तो किसी को भी गुमान नही था कि जियो, देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था की रीढ़ साबित होगा। भारत में इंटरनेट की शुरूआत हुए 26 वर्ष बीत गए हैं। कई टेलीकॉम कंपनियों ने इस सेक्टर में हाथ अजमाया, पर कमोबेश सभी कंपनियों का फोकस वॉयस कॉलिंग पर ही था।
5 सितंबर 2016 को जियो की लॉचिंग पर मुकेश अंबानी ने “डेटा इज न्यू ऑयल” का नारा दिया और इस सेक्टर की तस्वीर ही बदल गई। अक्तूबर से दिसंबर 2016 की ट्राई की परफॉरमेंस इंडीकेटर रिपोर्ट के आंकड़े बताते हैं कि प्रति यूजर डेटा की खपत मात्र 878.63 एमबी थी। सितंबर 2016 में जियो लॉन्च के बाद डेटा खपत में जबर्दस्त विस्फोट हुआ और डेटा की खपत 1303 प्रतिशत बढ़कर 12.33 जीबी हो गई।
जियो के मार्केट में उतरने के बाद केवल डेटा की खपत ही नहीं बढ़ी डेटा यूजर्स की संख्या में भी भारी इजाफा देखने को मिला। ट्राई की ब्रॉडबैंड सब्सक्राइबर रिपोर्ट के मुताबिक 5 साल पहले के मुकाबले ब्रॉडबैंड ग्राहकों की तादाद 4 गुना बढ़ चुकी है। जहां सितंबर 2016 में 19.23 करोड़ ब्रॉडबैंड ग्राहक थे वहीं जून 2021 में यह 79.27 करोड़ हो गए हैं।
विशेषज्ञों का मानना हैं कि डेटा की खपत में बढ़ोतरी और इंटरनेट यूजर्स की तादाद में भारी इजाफे की वजह डेटा की कीमतों में हुई कमी है। दरअसल जियो की लॉचिंग से पूर्व तक 1 जीबी डेटा की कीमत करीब 160 रू प्रति जीबी थी जो 2021 में घटकर 10 रू प्रति जीबी से भी नीचे आ गईं। यानी पिछले 5 वर्षों में देश में डेटा की कीमते 93% कम हुई। डेटा की कम हुई कीमतों के कारण ही आज देश दुनिया में सबसे किफायती इंटरनेट उपलब्ध कराने वाले देशों की लिस्ट में शामिल है।
डेटा की कीमतें कम हुई तो डेटा खपत बढ़ी। डेटा खपत बढ़ी तो डेटा की पीठ पर सवार काम धंधों के पंख निकल आए। आज देश में 53 यूनीकॉर्न कंपनियां हैं जो जियो की डेटा क्रांति से पहले तक 10 हुआ करती थी। ई-कॉमर्स, ऑनलाइन बुकिंग, ऑर्डर प्लेसमेंट, ऑनलाइन एंटरटेनमेंट, ऑनलाइन क्लासेस जैसे शब्दों से भारत का अमीर तबका ही परिचित था।
आज रेलवे बुकिंग खिलड़कियों पर लाइने नहीं लगती। खाना ऑर्डर करने के लिए फोन पर इंतजार नही करना पड़ता। किस सिनेमा हॉल में कितनी सीटें किस रो में खाली हैं बस एक क्लिक में पता चल जाता है। यहां तक कि घर की रसोई की खरीददारी भी ऑनलाइन माल देख परख कर और डिस्काउंट पर खरीदा जा रहा है।
ऑनलाइन धंधे चल निकले तो उनकी डिलिवरी के लिए भी एक पूरा जाल खड़ा करना पड़ा। मोटरसाइकिल पर किसी खास कंपनी का समान डिलिवर करने वाले कर्मचारी का सड़क पर दिखाई देना अब बेहद आम बात है। मोटर साइकिल के पहिए घूमें तो हजारों लाखों परिवारों को रोजी रोटी मिली।
जोमैटो के सीइओ ने कंपनी के आईपीओ लिस्टिंग के महत्वपूर्ण दिन रिलायंस जियो को धन्यवाद दिया। यह धन्यवाद यह बताने के लिए काफी है कि रिलायंस जियो, भारतीय इंटरनेट कंपनियों के लिए क्या मायने रखती है। नेटफ्लिक्स के सीईओ रीड हैस्टिंग्स ने उम्मीद जताई थी कि काश जियो जैसी कंपनी हर देश में होती और डेटा सस्ता हो जाता।

कर्मचारी पर 5 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप

हरिओम उपाध्याय      
सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जनपद के बेहट तहसील इलाके में स्थित डाकघर के एक कर्मचारी पर 5 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगा है। डाकघर के अधिकारियों के चक्कर काटने के बाद अब ग्राहक पुलिस  की शरण मे पहुंचे और घोटाले की जांच किए जाने की मांग करते हुए तहरीर दी। आरोप ये भी है कि जब ग्राहक शिकायत लेकर कोतवाली बेहट पहुंचे तो पुलिस ने उल्टा ग्राहकों को ही बेवकूफ बता डाला। 
दरअसल, पूरा मामला जनपद सहारनपुर की कोतवाली व तहसील बेहट इलाके के गांव खुरर्मपुर स्थित डाकघर का है। 
शुक्रवार को कोतवाली बेहट पहुंचे डाकघर के ग्राहकों ने कोतवाली बेहट पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि गांव खुरर्मपुर में स्थित डाकघर में करीब दो हज़ार खाताधारक है। जिनमे क्षेत्र के किसान और मजदूर शामिल है।  बताया गया कि डाकघर में राजेश धीमान नाम का पोस्टमैन है। आरोप है कि पोस्टमैन काफी संख्या में ग्राहकों की पासबुक अपने साथ ले गया और कई दिनों से गायब है।  जब ग्राहक अपने पैसे निकलवाने के लिए मुजफ्फराबाद स्थित दूसरी शाखा में पहुंचे तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। पता चला कि जिन खातों से लोग पैसे निकलवाने आ रहे है उन खातों में पैसे जमा ही नहीं हुए। जिसके बाद ग्राहकों में यह खबर आग की तरह फैल गई।
कोतवाली पहुंचे ग्राहकों का कहना है कि वे डाक विभाग के अफसरों से गुहार लगा लगा कर थक चुके है। पुलिस को तहरीर देकर ग्राहकों ने बताया कि डाकखाने में करीब 5 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है। मामले की जांच कर कार्यवाई की जाए और ग्राहकों को उनकी रकम वापस दिलाई जाए। दूसरी ओर शिकायत लेकर कोतवाली आये ग्राहकों ने पुलिस पर भी गम्भीर आरोप लगाए। ग्राहकों का कहना था कि पुलिस मामले की जांच करने के बजाय उल्टा उन्हें ही बेवकूफ बता रही है।
वहीं शनिवार को सहारनपुर पहुंचे जनपद के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य सचिव डॉ रजनीश दुबे ने सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक के दौरान इस ठगी को लेकर जनपद के अधिकारियों से बात की। साथ ही आरोपी के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया।  जिसके बाद सहारनपुर के डीएम अखिलेश सिंह ने मीडिया को बताया कि इस मामले में आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। साथ ही यूपी के जनरल पोस्टमास्टर को भी इसकी रिपोर्ट भेजी जा रही है।

कंपनियों ने पेट्रोल व डीजल के दामों में गिरावट की

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने आज पेट्रोल और डीजल के दामों में गिरावट की है। आज के पेट्रोल-डीजल के दामों  को पढ़कर कई चेहरों के भाव में परिवर्तन होना लाजमी है। कंपनियों ने पेट्रोल की कीमत 13 से 15 पैसे, तो वहीं डीजल की कीमत 14-15 पैसे घटाई है। हालांकि इन तेलों के रेट कम होने के बावजूद अब भी देश के प्रमुख बड़े शहरों में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से ऊपर बनी हुई है। 
पेट्रोल-डीजल की कीमत होने के बाद आज दिल्ली में पेट्रोल का दाम 101.19 रुपये जबकि डीजल का दाम88.62 रुपये प्रति लीटर है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 107.26 रुपए व डीजल की कीमत 96.19 रुपए प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल का दाम 101.62 रुपए जबकि डीजल का दाम 91.71 रुपये लीटर है, तो वहीं चेन्नई में पेट्रोल 98.96 रुपये प्रति लीटर है तो डीजल की कीमतआज 93.26 रुपए लीटर है। मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, ओडिशा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में पेट्रोल का भाव 100 रुपये पार हो चुका है तो वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत सबसे अधिक है।


यूपी: बचाव के लिए टीके की एक खुराक प्राप्त की

हरिओम उपाध्याय           
लखनऊ। वैश्विक महामारी कोविड-19 की दूसरी लहर पर लगभग काबू पा चुके उत्तर प्रदेश वैक्सीनेशन के मामले में देश में अव्वल स्थान पर पहुंच चुका है।
प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का आंकड़ा 07 करोड़ 69 लाख 93 हजार के पार हो चुका है। अब तक छह करोड़ 46 लाख से अधिक नागरिकों ने कोविड से बचाव के लिए टीके की कम से कम एक खुराक प्राप्त कर ली है। यह देश के किसी एक राज्य में हुआ सर्वाधिक टीकाकरण है।
आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को बताया कि प्रदेश के 24 जिले कोरोना से मुक्त हो चुके है जिनमें अलीगढ़, अमेठी, अमरोहा, अयोध्या, बागपत, बलिया, बांदा, बस्ती, बिजनौर, चित्रकूट, देवरिया, फतेहपुर, गाजीपुर, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, हाथरस, ललितपुर, महोबा, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, रामपुर, शामली और सीतापुर शामिल है। यहां आज कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है।
पिछले 24 घंटे में हुई टेस्टिंग में 63 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 12 जिलों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 300 से भी कम रह गई है। आज प्रदेश में कोरोना के कुल 250 मरीज है। कोरोना की रिकवरी दर 98.7 फीसदी है। शुक्रवार को दैनिक पॉजिटिविटी दर 0.01 प्रतिशत रही।
सूत्रों ने बताया कि अब तक 07 करोड़ 32 लाख 18 हजार 111 कोविड सैम्पल की जांच की जा चुकी है। पिछले 24 घंटे में 02 लाख 31 हजार 390 कोविड सैम्पल की जांच की गई और 26 नए मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 15 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। अब तक 16 लाख 86 हजार 323 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।

किसान मोर्चा का आह्वान, आयोजित की महापंचायत

हरिओम उपाध्याय          
मुजफ्फरनगर। रविवार को जिला मुख्यालय के महावीर चौक के निकट स्थित राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान पर राष्ट्रीय किसान मोर्चा के आह्वान पर आयोजित की जा रही किसान महापंचायत में शामिल होने के लिए आए किसानों पर राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा किए जाने की तैयारियां कर रखी थी। जिसके लिए उनकी ओर से बाकायदा शासन और प्रशासन से हेलीकॉप्टर से किसानों पर पुष्पवर्षा किए जाने की अनुमति मांगी गई थी। लेकिन किसान महापंचायत के आयोजन की पूर्व संध्या पर प्रशासन ने राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी को जीआईसी के मैदान पर पुष्पवर्षा की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा की अनुमति न मिलने से बुरी तरह से आहत हुए रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने इसके लिए सीधे तौर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जिम्मेदार ठहराते हुए सत्ता के दबाव में अफसरों द्वारा पुष्पवर्षा की अनुमति ना देने का किसान विरोधी निर्णय लेने का आरोप लगाया है। रविवार को जयंत चौधरी की ओर से ऐलान किया गया है कि जब तक उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार को हम किसानों व समाज के अन्य तबकों के साथ मिलकर हटा नहीं देते हैं तब तक किसी से भी कोई भी फूल माला स्वीकार नहीं करेंगे।

 


यूके: परिवर्तन यात्रा में प्रदर्शन कर दावेदारी दिखाईं

पंकज कपूर      
देहरादून। लालकुआ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट के दावेदारों ने लालकुआ में हुई परिवर्तन यात्रा में शक्ति प्रदर्शन कर टिकट की दावेदारी दिखायी। लालकुआ से हल्दूवानी तक सभी प्रमुख दावेदार अपने-अपने समर्थकों के साथ सड़क पर दिखे वही बात करें काग्रेंस से प्रबल दावेदार बरिष्ठ नेता हरेंद्र बोरा कि तो उन्होंने ने रैली को सफल बनाने के लिए पुरी ताकत झोंक दी कहें तो हरेंद्र बोरा के समर्थकों ने रैली में भीड़ खड़ी कर रैली को सफल ही नेताओं को अपनी शक्ति का एहसास भी कराया। जिसे देख काग्रेंस के शीर्ष नेतृत्व ने हरेंद्र बोरा के प्रति खुशी व्यक्त की वही हरेन्द्र बोरा कांग्रेस के परिवर्तन यात्रा के रथ पर सवार होकर बड़े नेताओं के साथ हल्दूवानी पहुंचे जिसे देखकर लगा कि शीर्ष नेतृत्व भी हरेंद्र बोरा के काफी हद तक समर्थन में।
बताते चलें कि नगर में आयोजित काग्रेंस कि परिवर्तन यात्रा कार्यक्रम के मौके पर बड़ी संख्या में युवा कार्यकर्ताओं ने अपने मजबूत नेता हरेंद्र बोरा के समर्थन में जोशीले नारों के साथ बाईक रैली के रूप में निकाले जो हरेंद्र बोरा जिन्दाबाद के नारे लगा रहे थे वही यात्रा के दौरान हरेंद्र बोरा के समर्थन में बड़ी संख्या में युवा ,महिलाएं,बुजुर्ग कार्यकर्ता भी दिखे इधर लालकुआ पहुचने पर परिवर्तन यात्रा का हरेंद्र बोरा कि अगुवाई में हजारों कि संख्या में कार्यकर्ताओ ने वीआईपी गेट समीप यात्रा का फूलों की वर्षा एंव आतिशबाजी के साथ भव्य स्वागत किया जिसके बाद प्रारंभ हुई यात्रा में हरेन्द्र बोरा के समर्थक कार्यक्रम स्थल हरेंद्र बोरा जिंदाबाद, कांग्रेस पार्टी जिन्दाबाद के नारे लगाते हुए पहुंचे वही कार्यक्रम में हरेंद्र बोरा के समर्थन में कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ देखकर काग्रेंस के नेता खुश नजर और उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं का आभार जताकर धन्यवाद दिया।वही लालकुआं से निकली यात्रा रथ पर हरेंद्र बोरा सवार होकर नेताओं के साथ हल्दूवानी पहुंचे इधर हरेंद्र बोरा के समर्थकों कि भीड़ रात तक डटी रही।
इस मौके पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हरेंद्र बोरा ने कहा कि आज समाज का हर वर्ग सरकार की गलत नीतियों व मंहगाई का शिकार है। उन्होंने कहा कि अगर हमें बीजेपी को सबक सिखाना है तो खुलकर हर घर से सभी लोगों को कांग्रेस का समर्थन देना होगा। उन्होंने कहा कि मंहगाई आज इस कदर बढ़ गई है कि लोगों का जीना दुशवार हो गया है। उन्होंने कहा कि अगर यही चलता रहा तो लोगों को खाने के लाले पड़ जाएंगे उन्होंने कहा कि आज वक्त आ गया है।इस सरकार को सबक सिखाया जाए उन्होंने कहा कि आओ साथ चलें व इस बार परिवर्तन कर कांग्रेस को लाएं।

अभिषेक से अपर आवास आयुक्त का पदभार लिया

पंकज कपूर                   
देहरादून। उत्तराखंड से आज की सबसे बड़ी खबर आईएएस और पीसीएस अधिकारियों की एक और लिस्ट जारी इकबाल अहमद को अपर सचिव ऊर्जा युवा आशीष श्रीवास्तव को उपाध्यक्ष जिला स्तरीय विकास परिषद टिहरी वीके कृष्ण कुमार को पुलिस मुख्यालय भेजा गया आलोक कुमार पांडे को अपर सचिव सहकारिता तथा निबंधक उमेश नारायण पांडे को निदेशक कर्मचारी बीमा योजना अभिषेक त्रिपाठी से अपर आवास आयुक्त का पदभार लिया गया। वापस प्रकाश चंद दुमका को अपर आयुक्त आवास बनाया।हरवीर सिंह को फिर नैनीताल में भेजा गया अपर जिलाधिकारी नैनीताल बनाया गया।
मोहन सिंह बर्निया को सचिव, मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) की जिम्मेदारी सौंपी गई है। अवधेश कुमार सिंह को हरिद्वार नगर मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी मिली है। विवेक राय को काशीपुर नगर निगम का आयुक्त बनाया गया है। शैलेंद्र सिंह नेगी को विशेष भूमि अधिपत्य अधिकारी तथा उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी का अतिरिक्त कार्यभार मिला है।
चंद्र सिंह मार्तोलिया को अधिशासी निदेशक राजस्व पुलिस भूलेख सर्वेक्षण प्रशिक्षण संस्थान अल्मोड़ा से अवमुक्त किया गया। रामजी शरण शर्मा को सचिव जिला विकास प्राधिकरण टिहरी का अतिरिक्त जिम्मेदारी मिली। मोहन सिंह बर्निया को सचिव, मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
हरवीर सिंह को अपर जिलाधिकारी प्रशासन नैनीताल तथा सचिव नैनीताल जिला विकास प्राधिकरण का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया। पंकज उपाध्याय को हल्द्वानी नगर आयुक्त बनाया गया। सुंदरलाल सेमवाल को उत्तराखंड लोक सेवा आयोग, हरिद्वार के परीक्षा नियंत्रक की जिम्मेदारी सौंपी गई है। आकांक्षा वर्मा को नगर आयुक्त, नगर निगम काशीपुर से अवमुक्त किया गया है।
अपूर्व पांडे को संयुक्त मजिस्ट्रेट, देहरादून की जिम्मेदारी मिली है। विशाल शर्मा को नगर आयुक्त, नगर निगम रुद्रपुर की जिम्मेदारी मिली। अतुल सिंह को संयुक्त मजिस्ट्रेट रुड़की बनाया गया है। श्याम सिंह राणा को उत्तराखंड परिवहन निगम के महाप्रबंधक की जिम्मेदारी सौंपी गई है। किशन सिंह नेगी को नगर आयुक्त, नगर निगम कोटद्वार बनाया गया है। नारायण सिंह नबियाल को सचिव जिला विकास प्राधिकरण उधमसिंह नगर की जिम्मेदारी मिली है। अनिल गर्ब्याल को गढ़वाल मंडल विकास निगम का महाप्रबंधक बनाया गया है। रज्जा अब्बास को संयुक्त सचिव, मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण की जिम्मेदारी मिली।
विवेक प्रकाश को बनाया गया प्रधान प्रबंधक नादेही चीनी मिल। अवधेश कुमार सिंह को हरिद्वार नगर मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी मिली है। विवेक राय को काशीपुर नगर निगम का आयुक्त बनाया गया है। शैलेंद्र सिंह नेगी को विशेष भूमि अधिपत्य अधिकारी तथा उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी का अतिरिक्त कार्यभार मिला है। जयबर्धन शर्मा को अल्मोड़ा डिप्टी कलेक्टर बनाया गया है। वैभव गुप्ता को हरिद्वार डिप्टी कलेक्टर बनाया गया है।  मुक्ता मिश्र को पौड़ी डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है। युक्ता मिश्र को देहरादून डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है।
कृष्ण नाथ गोस्वामी को चंपावत डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी है। अमृता परमार को पौड़ी डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है।  रविंद्र सिंह को नैनीताल डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है। गोपाल सिंह चौहान को अल्मोड़ा डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है। सीमा विश्वकर्मा को उधम सिंह नगर डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है।
राजकुमार पांडे को बागेश्वर डिप्टी कलेक्टर बनाया गया है। शालिनी नेगी को उत्तरकाशी डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी मिली है। प्रत्यूष सिंह को विशेष भूमि अध्यापित अधिकारी एवं डिप्टी कलेक्टर उधम सिंह नगर बनाया गया है। संतोष कुमार पांडे को चमोली डिप्टी कलेक्टर की जिम्मेदारी दी गई है।

मधमक्खियों के हमले में एक महिला की मौंत हुईं

दुष्यंत टीकम         
अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। यहां जंगल में मधमक्खियों के हमले में एक महिला की मौत हो गई। जबकि 4 महिला बुरी तरह से घायल हो गई है।
जानकारी के अनुसार उदयपुर के केसगवा इलाके में गांव की कुछ महिलाएं जंगल में लकड़ी लेने गई थी। इस दौरान मधुमक्खियों ने महिलाओं पर हमला कर दिया।
मधुमक्खियों के हमले से बुरी तरह घायल सभी महिलाओं को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां एक महिला की मौत हो गई। वहीं अन्य चार महिलाओं का इलाज जारी है।

नेहा ने नंदिता की एक फोटो साझा कर बधाई दीं

कविता गर्ग            
मुबंई। एक्शन हीरो विद्युत जामवाल और उनकी गर्लफ्रेंड नंद‍िता महतानी के गुचपुच सगाई रचाने की खबरें चल रही हैं। दोनों को हाल ही में ताजमहल पर स्पॉट किया गया। यहां उनकी तस्वीरों में दोनों एक दूसरे का हाथ थामे नजर आए। लेक‍िन इसके अलावा नंद‍िता की रिंग ने भी सभी का ध्यान खींचा है।
अब एक्ट्रेस नेहा धूपिया ने विद्युत और नंद‍िता की एक फोटो साझा कर कपल को बधाई दी है। उन्होंने लिखा 'अब तक की सबसे अच्छी खबर उनके बधाई मैसेज ने विद्युत और नंद‍िता के सगाई की अटकलों पर कंफर्मेशन की मुहर लगा दी है।
विद्युत और नंद‍िता शन‍िवार को ताजमहल पहुंचे थे। गर्लफ्रेंड नंद‍िता के साथ विद्युत पहली बार बाहर नजर आए हैं। इस दौरान दोनों ने ताजमहल के आगे कई तस्वीरें ली हैं। ये फोटोज सोशल मीड‍िया पर वायरल हो रही हैं।
विद्युत ने इस ताजमहल विजिट के लिए ऑल व्हाइट आउटफ‍िट चुना है, वहीं नंद‍िता भी व्हाइट टॉप और फ्लोरल स्कर्ट में नजर आईं। दोनों हाथों में हाथ डाले नजर आए।
ताजमहल से विद्युत की अन्य फोटोज भी फैन पेज पर छाई हुई हैं। इनमें वे पुलिस सुरक्षा के बीच ताजमहल के चारों ओर घूमते नजर आ रहे हैं।  उन्होंने पुलिस के साथ तस्वीरें भी ली हैं।
गौरतलब है कि विद्युत ने जनवरी में फैशन डिजाइनर नंद‍िता महतानी के साथ फोटो साझा कर डेट‍िंग की खबर कंफर्म की थी। लेक‍िन कपल ने आज तक अपने रिलेशनश‍िप पर पब्ल‍िकली कोई बयान नहीं दिया है।
सोशल मीड‍िया पर उनकी तस्वीरें काफी कुछ बताती हैं। कुछ समय पहले नंद‍िता ने विद्युत को प्रोड्यूसर के तौर पर उनकी पहली फिल्म के लिए बधाई भी दी थी। उन्होंने लिखा 'बधाई हो V!कामयाबी, प्यार और गुड लक तुम्हें और तुम्हारी टीम को इसपर विद्युत ने भी रिप्लाई किया 'थैंक्यू नंदी बेबी।
 

संकट से निपटने की कोशिश करेगा 'तालिबान'

काबूल/ बीजिंग। की मदद से तालिबान अफगानिस्तान के आर्थिक संकट से निपटने की कोशिश करेगा। यह बात तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कही। उन्होंने इटली के एक न्यूजपेपर से बातचीत में कहा कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी और देश पर कब्जे के बाद तालिबान मुख्य रूप से चीन से मिलने वाली मदद पर निर्भर रहेगा।
जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा, तालिबान चीन की मदद से अफगानिस्तान के आर्थिक संकट से निकलने की कोशिश करेगा। तालिबान ने 15 अगस्त को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा कर लिया था. इसके बाद से अफगानिस्तान की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो चुकी है।
अफगानिस्तान को दी जा रही आर्थिक मदद भी रोक दी है। ऐसे में अब तालिबान को चीन का ही सहारा नजर आ रहा है। जबीउल्लाह ने कहा, चीन हमारा सबसे महत्वपूर्ण भागीदार है और हमारे लिए एक मौलिक और असाधारण अवसर का प्रतिनिधित्व करता है। इतना ही नहीं चीन अफगानिस्तान में निवेश और पुनर्निर्माण के लिए तैयार है।
जबीउल्लाह ने कहा, न्यू सिल्क रोड जो एक बुनियादी ढांचा पहल है, इसके जरिए चीन व्यापार मार्ग खोलकर अपना वैश्विक प्रभाव बढ़ाना चाहता है। इसे तालिबान द्वारा प्राथमिकता में रखा गया है। उन्होंने कहा, देश में कॉपर की खदानें हैं, जो चीन की मदद से दोबारा आधुनिकीकरण के बाद संचालित हो सकती हैं। चीन दुनिया भर के बाजारों के लिए हमारा पास है।
मुजाहिद ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि भविष्य में महिलाओं को यूनिवर्सिटी में पढ़ने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि महिलाएं नर्स के रूप में, पुलिस में या मंत्रालयों में सहायक के रूप में काम करने में सक्षम होंगी। लेकिन उन्होंने इस बात से इनकार कर दिया कि महिलाओं को कैबिनेट में जगह मिलेगी।
क्या कहते हैं विशेषज्ञ।
यूएस एशिया प्रोग्राम के जर्मन मार्शल फंड के सीनियर ट्रान्साटलांटिक फेलो एंड्रयू स्मॉल ने कहा कि अफगानिस्तान में चीन की भागीदारी राजनीतिक स्थिरता पर निर्भर करेगी। उन्होंने अलजजीरा से बातचीत में कहा, चीन बड़े पैमाने पर मदद नहीं करता। यह शर्तों के आधार पर सहायता प्रदान करेगा। चीन मानवीय सहायता तो प्रदान कर सकता है, लेकिन नई सरकार को आर्थिक संकट से उबारने वाला नहीं है।

करिश्मा कपूर के साथ 1 फैमिली फोटो शेयर किया

कविता गर्ग                      
मुबंई। बॉलीवुड इंडस्ट्री की कपूर सिस्टर्स करीना कपूर खान और करिश्मा कपूर सिर्फ बहनें ही नहीं हैं, बल्कि एक दूसरे की बेस्ट फ्रेंड भी हैं। करीना और करिश्मा को अक्सर ही एक दूसरे के साथ चिल करते हुए देखा जाता है। बता दें कि करीना कपूर खान अपने पेरेंट्स के भी काफी करीब हैं और वो अपनी फैमिली को अपनी दुनिया मानती हैं।
करीना कपूर खान ने हाल ही में अपने पेरेंट्स और बहन करिश्मा कपूर के साथ एक फैमिली फोटो शेयर किया है। फोटो में कपूर फैमिली काउच पर बैठी नजर आ रही है। फोटो में करीना कपूर खान व्हाइट टी शेर्ट और डेनिम पैंट पहने कैजुअल लुक में नजर आ रही हैं। करीना ने अपने बालों को खुला ही रखा है।
वहीं दूसरी ओर करिश्मा कपूर भी जींस और लूज ब्लैक टी शर्ट पहने काफी स्टनिंग लग रही हैं। वहीं उनके पेरेंट्स रणधीर कपूर और मां बबीता भी कैजुअल लुक में नजर आ रहे हैं। करीना ने अपनी फैमिली फोटो को शेयर करते हुए लिखा है, 'माई वर्ल्ड" इसके साथ करीना ने हार्ट इमोजी भी लगाई है।
इससे पहले करीना कपूर खान ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर बेटे तैमूर अली खान संग एक क्यूट फोटो शेयर किया था। फोटो में तैमूर और करीना की एक दूसरे के साथ खास बॉन्डिंग देखते ही बनती है। फोटो में तैमूर मजेदार फेस बनाते हुए नजर आ रहे हैं।

बाइडेन और ब्रिटेन के पीएम से अव्वल साबित हुए

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। दुनियाभर के नेताओं की लोकप्रियता पर किए गए सर्वे में पीएम नरेंद्र मोदी सबसे पॉपुलर लीडर आंके गए हैं। उन्हें सर्वे में शामिल 70 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया। वे लोकप्रियता के मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन से भी अव्वल साबित हुए।
द मॉर्निंग कंसल्ट की ओर से किए गए सर्वे में दुनिया के 13 ग्लोबल लीडर को शामिल किया गया। इनमें पीएम नरेंद्र मोदी, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन, जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल, मैक्सिको के राष्ट्रपति,इटली के पीएम मारियो, ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन और ब्राजील के राष्ट्रपति जारिए बोलसनरो समेत कई बड़े राष्ट्राध्यक्ष शामिल रहे. इस सर्वे का नतीजा 2 सितंबर को अपडेट किया गया।
सर्वे में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकप्रियता के मामले में दुनिया के बाकी नेताओं से भारी साबित हुए। उन्हें सर्वे में शामिल 70 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया। वे इस पॉपुलेरिटी सर्वे में पहले स्थान पर आए। जबकि बाइडेन-जॉनसन जैसे बड़े वर्ल्ड लीडर पीछे रह गए। इस सर्वे में जापान के पीएम योशिदा सुगा सबसे निचले स्थान पर आए। उन्हें केवल 25 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया। ऑनलाइन किए गए इस सर्वे में भारत के 2126 लोगों को शामिल किया गया।

डेयरी उत्पाद से संबंधित प्रावधानों का उल्लंघन

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। नियामक ने कहा, चूंकि ई-कॉमर्स खाद्य कारोबार परिचालकों (एफबीओ) द्वारा काफी उत्पाद बेचे जाते हैं। ऐसे में सभी ई-कॉमर्स कंपनियों को निर्देश दिया गया है कि वे ऐसे उत्पादों को अपने मंच से हटाएं। ये वो उत्पाद होंगे जिन्हें डेयरी के नाम से बेचा जा रहा है। यह डेयरी उत्पाद से संबंधित नियामकीय प्रावधानों का उल्लंघन है।
एफएसएसएआई ने राज्यों को पौधों से बनने वाले पेय और खाद्य उत्पादों के लिए डेयरी लेबल के इस्तेमाल की जांच का भी निर्देश दिया है। एफएसएसएआई ने स्पष्ट किया है कि भविष्य में भी इस तरह के उत्पाद की बिक्री की अनुमति नहीं दी जाएगी।
जांच के आदेश एफएसएसएआई ने राज्यों के खाद्य सुरक्षा विभागों को निर्देश दिया है कि वे एफबीओ द्वारा बेचे जाने वाले ऐसे उत्पादों की जांच करें। नियामक ने कहा है कि यदि एफबीओ द्वारा उत्पाद लेबल का उल्लंघन कर कोई सामान बेचा जा रहा है, तो उन्हें इसमें संशोधन के लिए 15 दिन का समय मिलेगा। एफएसएसएआई ने कहा कि इन कदमों से खाद्य एवं सुरक्षा अधिनियम-2005 का उल्लंघन करने वाले एफबीओ के खिलाफ उचित प्रवर्तन कार्रवाई सुनिश्चित हो सकेगी।

शिक्षक दिवस पर शिक्षकों का सम्मान किया: सीएम

दुष्यंत टीकम 
रायपुर। शिक्षक दिवस के मौके पर आज शिक्षकों का सम्मान किया है। प्रदेशस्तरीय सम्मान समारोह में राज्यपाल अनुसूईया उईके और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शिक्षकों का सम्मान भी किया और प्रदेश के विकास में शिक्षकों के योगदान को सराहा भी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस दौरान अपने संबोधन में शिक्षकों के समपर्ण, योगदान और कर्त्वयनिष्ठा की तारीफ भी की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कोरोनाकाल में जिस तरह से शिक्षकों ने प्रदेश में पढ़ाई की व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से संचालित रखी, वो अपने आप में मिसाल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि "प्रदेश में कोरोना काल में शिक्षकों ने जिस तरह से पढ़ाई की व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित करायी।
वो अपने आप में मिसाल है। शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला ने पढ़ाई की जो व्यवस्था तैयार की, उसका शिक्षकों बेहद ही अच्छे तरीके से निर्वहन किया, फिर वो पढ़ई तुंहर द्वार योजना हो, मोहल्ला क्लास हो या अन्य पद्धति"मुझे याद है कि मध्यप्रदेश के साथ जब छत्तीसगढ़ था, तब ही साल 1998 में आखिरी बार शिक्षकों की भर्ती की गयी थी, उसके बाद 2018 तक कोई भी भर्ती नहीं की गयी, लेकिन जब हमारी सरकार आयी तो अब 15 हजार भर्तियां की गयी। पहले शिक्षाकर्मी हुआ करते थे, ये पदनाम ऐसा था जो शिक्षको को चुभता था, कि पता नहीं वो कर्मी है कि क्या है… उसे दूर करने का काम हमारी सरकार ने किया है" मुख्यमंत्री ने प्रदेश भर में खोले गये स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के बारे में कहा कि प्रदेश सरकार ने अब तक 172 स्कूलों का संचालन कराया है। इस स्कूल का मकसद उन बच्चों को अच्छी और गुणवत्ता पूर्वक शिक्षा देना है, जो गरीब है, जिनके माता पिता इंग्लिश मीडियम स्कूल में नहीं पढ़ा पाते हैं। हमने हर ब्लाक हर विकासखंड, निगम स्तर पर स्कूलों को खोलने का काम किया है।

पैरालंपिक में सुहास ने मेडल जीतकर रचा इतिहास

टोक्यो। पैरालंपिक में सुहास यतिराज ने सिल्वर मेडल जीत इतिहास रच दिया है। एसएल4 क्लास फाइनल में सुहास यतिराज ने फ्रांस के लुकास माजूर से हारकर गोल्ड मेडल से चूक गए। माजूर ने सुहास को 15-21, 21-17, 21-15 से हराया। टोक्यो पैरालंपिक में बैडमिंटन में यह भारत का तीसरा पदक है। गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) के 38 वर्षीय जिलाधिकारी (डीएम) सुहास पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी भी बन गए हैं। इससे पहले शनिवार को भारतीय शटलर प्रमोद भगत ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए बैडमिंटन सिंगल्स एसएल-3 का गोल्ड मेडल जीता था।
ओडिशा के रहने वाले 33 साल के प्रमोद भगत ओलंपिक या पैरालंपिक में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय शटलर हैं। उनके अलावा इसी इवेंट में भारत के मनोज सरकार ने ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया। इसके साथ ही टोक्यो ओलंपिक में भारत की पदकों की संख्या 18 हो गई है। भारत ने अब तक 4 गोल्ड, आठ सिल्वर और छह ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं। भारत टोक्यो पैरालंपिक में निशानेबाजी में पांच और बैडमिंटन में तीन पदक जीत चुका है।  वहीं भारतीय शटलर कृष्णा नागर फाइनल में पहुंचकर भारत का 19वां पदक पक्का कर चुके हैं।
कर्नाटक के 38 वर्ष के सुहास के टखनों में विकार है। कोर्ट के भीतर और बाहर कई उपलब्धियां हासिल कर चुके सुहास कम्प्यूटर इंजीनियर है और 2007 बैच के आईएसएस अधिकारी भी। वह 2020 से नोएडा के जिलाधिकारी हैं और कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में मोर्चे से अगुआई कर चुके हैं। एनआईटी कर्नाटक से कंप्यूटर इंजीनियर के रूप में स्नातक की उपाधि प्राप्त लेने वाले सुहास इससे पहले प्रयागराज, आगरा, आजमगढ़, जौनपुर, सोनभद्र जिलों के जिलाधिकारी रह चुके है।
सुहास की पेशेवर यात्रा 2016 में शुरू हुई जब वह पूर्वी यूपी के आजमगढ़ जिले के डीएम थे और वहां एक बैडमिंटन चैंपियनशिप का आयोजन किया गया था। सुहास ने कहा कि, ‘मैं टूर्नामेंट के उद्घाटन में अतिथि था और भाग लेने की इच्छा व्यक्त की। तब तक यह मेरे लिए एक शौक था क्योंकि मैं बचपन से बैडमिंटन खेल रहा था। मुझे वहां खेलने का मौका मिला और मैंने राज्य स्तरीय खिलाड़ियों को हरा दिया। उन्होंने कहा कि इस जगह पर देश की पैरा-बैडमिंटन टीम के वर्तमान कोच गौरव खन्ना ने उन्हें देखा और इसे पेशेवर के तौर पर अपनाने की सलाह दी। इसी साल उन्होंने बीजिंग में एशियाई चैम्पियनशिप में भाग लिया और स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले गैर-रैंक वाले खिलाड़ी बन गए।
सुहास 2017 और 2019 में एकल और युगल में गोल्ड जीत चुके हैं।
सुहास ने 2017 और 2019 में बीडब्ल्यूएफ तुर्की पैरा बैडमिंटन चैम्पियनशिप में पुरुष एकल और युगल स्वर्ण जीता. उन्होंने ब्राजील में 2020 में स्वर्ण पदक जीता।  जब जुलाई में तोक्यो पैरालिंपिक में उनकी भागीदारी की पुष्टि हुई, तो सुहास ने कहा कि यह प्रतियोगिता निस्संदेह एक चुनौती होगी और अपनी श्रेणी में दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी होने के नाते, वह पदक के दावेदार होंगे।


'विंडोज 11’ की रिलीज के लिए उलटी गिनती शुरू

कविता गर्ग       
मुंबई। विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम ‘विंडोज 11’ की अगली बड़ी रिलीज के लिए उलटी गिनती शुरू हो गई है। माइक्रोसॉफ्ट ने घोषणा की है कि विंडोज 11 सपोर्टेड डिवाइस पर 5 अक्टूबर से शुरू हो जाएगा। माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि आने वाले विंडोज 11 में मिलने वाले इन 7 फीचर्स के बारे में यूज़र्स को जानना चाहिए। माइक्रोसॉफ्ट ने स्टार्ट के साथ यूजर के कंटेंट को सामने और सेंटर में रखा है। स्टार्ट, क्लाउड और माइक्रोसॉफ्ट 365 का लाभ यूज़र्स को लेटेस्ट फाइल को दिखाने के लिए देता है, फिर भले ही उन्हें किसी भी डिवाइस पर देखा गया हो।
स्नैप लेआउट स्नैप लेआउट, स्नैप ग्रुप और डेस्कटॉप ‘मल्टीटास्क करने और आपके डिवाइस की स्क्रीन को ऑप्टिमाइज़ करने का एक पॉवरफुल तरीका प्रदान करते हैं। ये फीचर यूज़र्स को ऐप्स और विंडो को एक साथ ग्रुपिंग करके बेहतर ढंग से ऑर्गनाइस करने की अनुमति देगा।
माइक्रोसॉफ्ट टीम अब टास्कबार में उपलब्ध है। माइक्रोसॉफ्ट टीम चैट को टास्कबार में इंटीग्रेटेड किया गया है। ये लोगों से जुड़ने का एक तेज़ तरीका प्रदान करता है।
विजेट विजेट्स, एआई द्वारा पॉवर्ड एक नया पर्सनलाइज्ड फ़ीड है, जिसका उद्देश्य यूज़र्स को उन सूचनाओं तक पहुंचने का तेज़ तरीका प्रदान करना है, जिनकी उन्हें परवाह है।
एक्सेसिबिलिटी में सुधार माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार, विंडोज 11 अब तक का सबसे इन्क्लूसिवली विंडोज वर्जन है, जिसमें विकलांग व्यक्तियों के लिए और उनके द्वारा बनाए गए नए एक्सेसिबिलिटी फीचर्स हैं।
मिलेगा टच, डिजिटल पेन और वॉयस इनपुट का सपोर्ट: विंडोज 11 टच, डिजिटल पेन और वॉयस इनपुट को सपोर्ट करता है।  माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार, नया ओएस टच, डिजिटल पेन और वॉयस इनपुट के माध्यम से इस्तेमाल किए जाने पर स्पीड, एफिशिएंसी और बेहतर अनुभवों के लिए अनुकूलित है।

टीवी के पॉपुलर एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला का निधन

कविता गर्ग                        
मुबंई। टीवी के पॉपुलर एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला हमारे बीच नहीं रहे। उनके अचानक हुए निधन से उनके परिवार, दोस्तों और फैंस काफी निराश हो गए हैं। हर कोई सदमे में है और यह मानने को तैयार नहीं है कि सिद्धार्थ का निधन हो गया है। सिद्धार्थ शुक्ला को 2 सितंबर की सुबह दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 
सिद्धार्थ शुक्ला के निधन से बाद से ही, उनसे जुड़ी खबरें इंटरनेट पर छाई हुई हैं। ऐसी ही एक रिपोर्ट थी जहां कहा गया था कि सिद्धार्थ को उनके डॉक्टरों ने हैवी वर्कआउट और एक्सरसाइज में कटौती करने की सलाह दी थी। हालांकि, सिद्धार्थ की टीम ने ऐसी सभी खबरों का खंडन किया और उन्हें निराधार बताया।  स्पॉटबॉय को दिए बयान में सिद्धार्थ की टीम कहा। अब उनके बारे में कुछ भी लिखा जा रहा है। कृपया किसी भी आधारहीन रिपोर्ट पर विश्वास न करें। 
सिद्धार्थ शुक्ला के निधन से पूरी टीवी इंडस्ट्री में शौक की लहर हैं। आसिम रियाज, दोवोलीना भट्टाचार्जी, गौहर खान, हिना खान, राहुल महाजन, विकास गुप्ता समेत टीवी इंडस्ट्री से उनके कई दोस्त उनके जाने पर भावुक हुए है। सिद्धार्थ के निधन का सबसे बड़ा सदमान उनकी दोस्त रही शहनाज गिल को लगा है। दोनों के बीच एक अच्छी बॉन्डिंग और रिश्ता था।  इसे दोनों पब्लिक के सामने और स्क्रीन पर भी दिखाते थे। कई लोगों का मानना था कि उनका रिलेशनशिप दोस्ती से बढ़कर है। 
फैंस सिद्धार्थ और शहनाज की जोड़ी को सिडनाज कहकर बुलाते थे। दोनों की केमेस्ट्री को लोग काफी पसंद भी करते थे। आखिरी बार दोनों की जोड़ी ‘बिग बॉस ओटीटी’ और ‘डांस दीवाने 3’ में दिखाई दी थी।  दोनों ही शो में दोनों रोमांस और मस्ती करते हुए नजर आए थे। इसके वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं।

वैगनआर के नए अवतार स्माइल को लॉन्च किया

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। जापानी कार निर्माता कंपनी सुजुकी ने अपने बाज़ारों के लिए वैगनआर के नए अवतार वैगनआर स्माइल को लॉन्च किया है। कंपनी ने इस कार को एमपीवी का डिज़ाइन दिया है। जिसमे स्लाइडिंग डोर्स दिए गए हैं। कंपनी ने फिलहाल इस एमपीवी को घरेलु बाज़ारों के लिए पेश किया है, अन्य देशों में इसके लॉन्च को लेकर अभी कोई जानकारी सांझा नहीं की गई है। कंपनी ने वैगनआर स्माइल की शुरुआती कीमत लगभग 8.30 लाख रुपये तय की है। वहीं इस कार के टॉप वेरिएंट की कीमत लगभग 11.44 लाख रुपये तय की गई है।
कंपनी ने इस कार को मिनी वैन जैसे डिज़ाइन और बॉक्सी लुक दिया है। इस कार के फ्रंट में रेडिएटर ग्रिल और राउंड शेप हेडलाइट्स दिए गए हैं। कंपनी ने इस कार के सालाना 60,000 यूनिट्स की बिक्री का लक्ष्य रखा है, जिसके अनुसार कंपनी को हर महीने लगभग 5,000 यूनिट्स की बिक्री करनी होगी।
कंपनी ने इस कार में स्लाइडिंग डोर्स का इस्तेमाल किया है, जैसे ओमनी में देखने को मिलते हैं। इस कार की ऊंचाई को कंपनी ने मौजूदा वोंगर आर से 45 एम एम ज्यादा रखा है। कार में पीछे की तरह वर्टिकल शेप में टेललैंप दिए गए हैं, जिसमे ड्यूल पेंट स्कीम ऑफर किया जा रहा है।
स्माइल के इंटीरियर को कंपनी ने मौजूदा वोंगर आर से कुछ हट कर तैयार किया है। इसका इंटीरियर ऐसी तैयार किया गया है कि यह युवाओं की पहली पसंद बन जाये। कंपनी ने इसमें मांउटेड स्टीयरिंग व्हील, ट्चस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम और डैशबोर्ड से लगा गियरनॉब दिया है। कंपनी ने इसके केबिन में ड्यूल टोन थीम का इस्तेमाल किया है, जो काफी आकर्षक दिखाई देता है।
कंपनी ने इस कार में अपहोल्स्ट्री ऑप्शन, अंडर-सीट स्टोरेज और एक छोटे मल्टी इंफॉर्मेश डिस्प्ले के साथ एनालॉग इंस्ट्रूमेंट दिया है। कंपनी इस कार में ग्राहकों के लिए कस्टमाइज़ेशन पैकेज की भी पेशकश करती है,जिसमे अपने हिसाब से डिज़ाइन और लुक देने के लिए डिकल्स, बॉडी किट, रूफ रेल्स, अलॉय व्हील्स और अन्य एक्सेसरीज़ का चुनाव कर सकते हैं। 
वैगनआर आर स्माइल में 657सीसी की क्षमता का 3 सिलिंडर युक्त नेचुरल एस्पायर्ड पेट्रोल इंजन का इस्तेमाल किया गया है, जो 58 एन एम का टॉर्क और 47 बीएचपी की पावर जेनरेट करता है। ये कार इंजन भारत में बिकने वाले मारुती ऑल्टो से भी छोटा है। ये कार इंजन केवल सीवीटी ट्रांसमिशन गियरबॉक्स के साथ आता है। ग्राहक इस कार में ऑल व्हील ड्राइव और फ्रंट व्हील ड्राइव का चुनाव कर सकते हैं।

वैज्ञानिकों की खोज, सूरज कब और कैसे मरेगा ?

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। क्या होगा अगर हमारा सूरज मर जाए। कैसा दिखेगा वो। हमारा सौर मंडल, हमारी धरती, जीव-जंतु क्या जीवित रह पाएंगे। या सूरज को मरते हुए देख पाएंगे। वैज्ञानिकों यह पता लगा लिया है कि हमारा सूरज कब और कैसे मरेगा। इसके बाद सौर मंडल का क्या होगा। धरती का क्या होगा। लेकिन अच्छी बात ये है कि जब सूरज मरेगा। तब इंसानों की प्रजाति उसे देखने के लिए बचेगी ही नहीं।
पहले तो वैज्ञानिकों को लगा था कि सूरज के मरने पर सौर मंडल एक नेबुला में बदल जाएगा। जिसमें सारे ग्रह टूट-फूटकर गैस और पत्थरों के रूप में एकसाथ घूम रहे होंगे। या बिखर रहे होंगे। लेकिन जब बारीकी से अध्ययन किया गया तो यह इससे भी ज्यादा विशालकाय और भयावह निकला। अंतरिक्ष विज्ञानियों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने 2018 में यह थ्योरी दी थी कि सूरज के मरने पर सौर मंडल नेबुला में बदल जाएगा। 
सूरज की उम्र करीब 460 करोड़ साल है।  लगभग इसी समय में सौर मंडल के अन्य ग्रह भी बने हैं। सभी ग्रहों और सूरज के अध्ययन के बाद यह जानकारी जुटाई गई है कि सूरज अगले 10 बिलियन साल यानी 1000 करोड़ साल और जीवित रहेगा। इसके मरने के साथ ही कई अन्य प्रक्रियाएं भी होंगी। अगले 500 करोड़ सालों में यह प्रक्रिया धीरे-धीरे शुरु हो जाएगी। अंत के समय सूरज एक रेड जायंट से कमजोर होकर व्हाइट ड्वार्फ  बनकर रह जाएगा।
सूरज का केंद्र सिकुड़ कर खत्म हो जाएगा या फिर बेहद छोटा हो जाएगा, जिससे सूरज गर्मी पैदा करने क्षमता खो देगा। लेकिन इसकी बाहरी परतें ठंडी होकर टूटकर बिखर जाएंगी और यह मंगल ग्रह की कक्षा तक पहुंच जाएंगी। इस प्रक्रिया में हमारी धरती भी सूरज की परतों से टकराकर बिखर जाएगी। लेकिन सूरज के कमजोर पड़ते ही धरती से जीवन खत्म होने लगेगा। मैग्नेटिक फील्ड खत्म होने लगेगी। गुरुत्वाकर्षण खत्म होने लगेगा। ऐसे में जीवन की कल्पना की ही नहीं जा सकती।
एक चीज तो तय है कि उस समय तक इंसान तो क्या उसका भूत तक धरती पर नहीं बचेगा। क्योंकि इंसानों की प्रजाति अधिकतम 100 करोड़ साल में खत्म हो जाएगी। इससे बचने का एक ही तरीका है कि हम अपने लिए कोई अन्य ग्रह खोजकर वहां बस जाएं।  सूरज के खत्म होने की एक वजह ये है कि वह हर 100 करोड़ साल पर अपनी गर्मी और रोशनी को 10 फीसदी बढ़ा रहा है। एक समय ऐसा आएगा जब वह ऊर्जा खत्म होगी और वह ठंडा होने लगेगा।
सूरज की लगातार बढ़ती गर्मी और रोशनी से धरती पर जीवन खत्म होने लगेगा। हमारे समुद्र भाप बनकर अंतरिक्ष में उड़ जाएंगे। जमीन इतनी गर्म हो जाएगी कि इस पर रहना मुश्किल हो जाएगा। यही वो समय होगा जब धरती से इंसान समेत सारे जीव मारे जा चुके होंगे, अगर उन्होंने अपने लिए कोई अन्य ग्रह नहीं खोजा तो।
साल 2018 में हुई स्टडी में कंप्यूटर मॉडल का उपयोग किया गया था। 90 फीसदी तारों के साथ यही होता है कि वो पहले रेड जायंट होते हैं, जो बाद में खत्म होने पर व्हाइट ड्वार्फ बन जाते हैं। यहीं पर उनकी मृत्यु हो जाती है। मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी के एस्ट्रोफिजिसिस्ट अलबर्ट जिल्सट्रा ने कहा कि जब भी कोई तारा मरता है तो वह अंतरिक्ष की एक बड़ी घटना होती है। 
अलबर्ट ने बताया कि तारे के मरने पर भारी मात्रा में धूल, पत्थर और गैस निकलती है। जो तेजी से अपने आसपास के इलाके में फैलती है। यह उस तारे के वजन का आधा हो सकती है। किसी भी तारे का केंद्र उसका जीवन तय करता है।  अगर केंद्र कमजोर हो रहा है, इसका मतलब ये है कि तारे को अब ऊर्जा नहीं मिल रही है।  उसका पावर सेंटर खत्म हो रहा है। मरने वाले तारे से निकली गैस, धूल और पत्थर अपने आसपास के ग्रहों और अन्य अंतरिक्षीय वस्तुओं से टकराते हुए अंतरिक्ष में फैल जाती है। अलबर्ट सूरज की उम्र पता करने वाली टीम में शामिल हैं।
अलबर्ट ने आगे बताया कि सूरज से निकलने वाली धूल, गैस और पत्थरों का गुबार करीब 10 हजार साल तक अंतरिक्ष में तैरता रहेगा। जो कि अंतरिक्ष की दुनिया में एक बेहद छोटा समय है।  इसकी वजह से एक नेबुला का निर्माण होगा, जो हजारों सालों तक दिखाई देगा। अगर इंसान जीवित रहे और किसी अन्य ग्रह पर अपना ठिकाना बना लिया तो वो इस नजारे को देख पाएंगे, नहीं तो मानकर चलिए कि हमारी प्रजाति समेत कई जीवों की प्रजाति का सर्वनाश हो जाएगा।
अलबर्ट और उनकी टीम के वैज्ञानिकों ने अलग-अलग ग्रहों की उम्र का पता लगाने के लिए एक गणितीय मॉडल बनाया है, जो कई तरह का कारकों पर निर्भर करती है. ऐसे कई नेबुला हैं जो हमें दिखाई देते हैं, यानी उनके तारे मर चुके हैं और उनके धूल, गैस और पत्थर अंतरिक्ष की गहराइयों में तैर रहे हैं. जैसे - हेलिक्स नेबुला, कैट्स आई नेबुला, रिंग नेबुला और बबल नेबुला।
इन नेबुला को 18वीं सदी के साइंटिस्ट विलियम हर्सेल ने खोजा था। ये नेबुला उस समय के टेलिस्कोप से एक ग्रह जैसे दिखते थे। बाद में तकनीक आगे बढ़ी तो पता चला कि नहीं ये तो खत्म हुए तारे से निकली गैस, धूल और पत्थर के जमावड़ा है, जो अंतरिक्ष में धीरे-धीरे फैलकर खत्म हो रहा है।  करीब 30 साल पहले वैज्ञानिकों ने कुछ अजीब सा देखा था। जिसे पड़ोसी गैलेक्सी का सबसे चमकीला नेबुला कहा गया।  इससे यह पता चला कि ये कब खत्म हुआ होगा, कितने समय से यह ऐसे ही तैर रहा है। इसका भविष्य क्या होगा।
अलबर्ट और उनकी टीम की स्टडी में विलियम हर्सेल और उसके बाद की गई सारी स्टडीज के आंकड़ों का विश्लेषण करके देखा गया तो पता चला कि इनके परिणाम सटीक है। लेकिन मॉडल अलग-अलग हैं। अलबर्ट कहते हैं ज्यादा बुजुर्ग और कम वजन वाले तारे धुंधले नेबुला बनाते हैं। युवा और बड़े तारे चमकीले और ताकतवर नेबुला बनाते हैं।  पिछले 25 सालों से दुनियाभर के वैज्ञानिक इस बात पर विवाद कर रहे हैं।
अलबर्ट ने कहा कि यह संभव नहीं है कि सूरज जैसे कम वजन वाले तारे से आप बहुत ताकतवर और चमकीला नेबुला हासिल कर लो। अगर सूरज के वजन से दोगुना वजन का कोई तारा टूटता तो शायद हम एक चमकीले नेबुला की उम्मीद कर सकते थे। लेकिन सूरज से निकलने वाले नेबुला को सिर्फ 10 हजार सालों तक देखा जा सकेगा। वह भी टेलिस्कोप की मदद से।
सूरज के वजन का 1.1 फीसदी वजन का कोई तारा खत्म होता है तो वह फुस्सी बम की तरह होता है। उसके फूटने से बनने वाला नेबुला पता ही नहीं चलता। सूरज से तीन गुना ज्यादा वजन के तारे जब टूटकर खत्म होते हैं, तब वो बेहद चमकीले नेबुला का निर्माण करते हैं, जो दूर से भी दिखाई देते हैं। यानी सूरज के खत्म होने पर बनने वाला नेबुला बहुत चमकीला होने की उम्मीद नहीं है। बस एक चीज इसे चमकीला बना सकती है, वो सौर मंडल के अन्य ग्रहों के फट जाने की वजह से बढ़ने वाली उसकी तीव्रता।
अलबर्ट कहते हैं कि यह एक बेहतरीन परिणाम है. इस वजह से नहीं कि हमने सही गणित लगाई है। बल्कि इस वजह से भी हमने कई पुरानी थ्योरी को खारिज कर दिया है। किसी भी तारे की उम्र की गणना आसान नहीं होती। उसमें इतने सारे फैक्टर्स की जांच करनी होती है, कि वैज्ञानिक का भी दिमाग खराब हो जाता है। लेकिन अब हमें यह पता है कि सूरज कब मरेगा।

किसानों को मुजफ्फरनगर में पहुंचना शुरू किया

हरिओम उपाध्याय            
मुजफ्फरनगर। संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने शनिवार को दावा किया कि 15 राज्यों के हजारों किसानों ने रविवार को होने वाली किसान महापंचायत में हिस्सा लेने के लिये उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में पहुंचना शुरू कर दिया है। केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे एसकेएम ने कहा कि महापंचायत से साबित हो जाएगा कि आंदोलन को सभी जातियों, धर्मों, राज्यों, वर्गों, छोटे व्यापारियों और समाज के सभी वर्गों का समर्थन प्राप्त है।
एसकेएम ने एक बयान में कहा, ”पांच सितंबर की महापंचायत योगी-मोदी सरकार को किसानों, खेत मजदूरों और कृषि आंदोलन के समर्थकों की शक्ति का एहसास कराएगी। मुजफ्फरनगर महापंचायत पिछले नौ महीनों में अब तक की सबसे बड़ी महापंचायत होगी।” बयान में कहा गया है कि किसानों के वास्ते भोजन की व्यवस्था के लिए 500 लंगर सेवाएं शुरू की गई हैं, जिसमें सैकड़ों ट्रैक्टर-ट्रॉलियों पर चलने वाली मोबाइल लंगर प्रणाली भी शामिल है। महापंचायत में भाग लेने वाले किसानों के लिए 100 चिकित्सा शिविर भी लगाए गए हैं। पंजाब के कुल 32 किसान संघों ने राज्य सरकार को प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामले वापस लेने के लिए 8 सितंबर की समय सीमा दी है।
एसकेएम ने कहा कि अगर मामले वापस नहीं लिए गए तो किसान 8 सितंबर को बड़े विरोध प्रदर्शन की रूपरेखा तैयार करेंगे। तीन विवादास्पद कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर जारी किसानों के विरोध प्रदर्शन को नौ महीने से अधिक समय हो गया है। किसानों को डर है कि ये कानून एमएसपी प्रणाली को खत्म कर देंगे और उन्हें बड़े कॉरपोरेट घरानों की दया पर छोड़ दिया जाएगा। सरकार के साथ 10 से अधिक दौर की बातचीत विफल रही है। सरकार कानूनों को प्रमुख कृषि सुधारों के रूप में पेश कर रही है।

इस बीच भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने मुजफ्फरनगर में कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा समेत देश के विभिन्न हिस्सों से सैकड़ों किसान महापंचायत में हिस्सा लेने के लिये पहुंचने लगे हैं। उन्होंने बताया कि बीकेयू महासचिव युद्धवीर सिंह भी किसान महापंचायत में शामिल होने पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत समेत अन्य वरिष्ठ नेता कल यहां पहुंचेंगे।
राकेश टिकैत के बेटे चरण सिंह टिकैत ने कहा कि उनके पिता तब तक घर नहीं आएंगे, जब तक सरकार तीन कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती। इस बीच मुजफ्फरनगर जिले के अधिकारियों ने महापंचायत के मद्देनजर सभी शराब की दुकानों को बंद करने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि शनिवार शाम छह बजे से पांच सितंबर को महापंचायत खत्म होने तक शराब की सभी दुकानें बंद रहेंगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से यह कदम उठाया गया है।

50 छात्रों ने सेल में प्रवेश के लिए आवेदन दिया

सदींप मिश्र                           
बरेली। बरेली कॉलेज में तीसरी मेरिट के छात्रों के स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश हो रहे हैं। पहली और दूसरी मेरिट में भी कई छात्र प्रवेश लेने से वंचित रह गए थे। ऐसे करीब 50 छात्रों ने कॉलेज के ग्रीवांस सेल में प्रवेश के लिए आवेदन दिया है। कॉलेज प्रशासन ने इन छात्रों को प्रवेश देने का मौका दिया है। इन छात्रों के प्रवेश और तीसरी मेरिट के छात्रों के प्रवेश के बाद सीटें खाली रहीं तो फिर चौथी मेरिट जारी की जाएगी।
हालांकि छात्रों को 6 सितंबर तक ही विश्वविद्यालय में 100 रुपये शुल्क के साथ छात्र का प्रवेश पंजीकरण होगा। उसके बाद 400 रुपये विलंब शुल्क देना होगा। प्रवेश समन्वयक डा. वीपी सिंह ने बताया कि पहली और दूसरी मेरिट में आने वाले बीए में 34, बीएससी जीव विज्ञान में चार, बीएससी गणित में तीन और बीकॉम में नौ छात्रों ने प्रवेश के लिए आवेदन किया है। छात्रों का कहना है कि वह किन्हीं कारणों से प्रवेश नहीं ले सके थे। ऐसे छात्रों को प्रवेश का मौका दिया जाएगा।
1 लाख 10 हजार से अधिक हुए प्रवेश।
विश्वविद्यालय के संबद्ध महाविद्यालयों में शनिवार रात 7 बजे तक 110132 प्रवेश हो चुके थे और 63805 का पंजीकरण शुल्क भी जमा हो गया था। सबसे ज्यादा 66085 प्रवेश बीए में ही हुए हैं। बीएससी में प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या बढ़कर 26 हजार हो गई है।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-386 (साल-02)
2. सोमवार, सितंबर 6, 2021
3. शक-1984,सावन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:44, सूर्यास्त 07:10।
5. न्‍यूनतम तापमान -23 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...