बुधवार, 8 सितंबर 2021

ताइवान की हवाई सीमा में भेजें 19 लड़ाकू विमान

बीजिंग/ ताइपे। दक्षिण चीन सागर पर कब्‍जे के मंसूबे देख रही चीन की सेना ने रविवार को एक साथ 19 लड़ाकू विमान ताइवान की हवाई सीमा में भेजे। इनमें कई ऐसे बॉम्‍बर थे जो परमाणु बम गिराने में भी सक्षम हैं। चीन की इस आक्रामक कार्रवाई के बाद ताइवान की वायुसेना ने जवाबी कार्रवाई की और अपने फाइटर जेट दौड़ाए। 
माना जा रहा है कि चीन ने इतने विमान एकसाथ भेजकर ताइवान को डराने का प्रयास किया है।
इससे पहले 15 जून को 28 चीनी विमानों ने ताइवानी हवाई सीमा का उल्‍लंघन किया था। चीनी मिशन में 10 जे-16 और चार सुखोई-30 विमान शामिल थे। इसके अलावा 4 परमाणु बम गिराने में सक्षम H-6 बॉम्‍बर भी ताइवान के करीबी पहुंचे थे। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि चीन ने एक एंटी सबमरीन विमान को भी भेजा था। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि चीनी विमानों को भगाने के लिए ताइवान ने भी अपने विमान भेजे और मिसाइल सिस्‍टम को भी तैनात किया गया।

किसानों पर लाठीचार्ज का आदेश, कार्रवाई की

राणा ओबरॉय       

करनाल। हरियाणा के करनाल जिले के बसताड़ा टोल प्लाजा पर गत 28 अगस्त काे किसानों पर लाठीचार्ज का आदेश देने वाले पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई तथा आईएएस अधिकारी और करनाल के तत्कालीन एसडीएम आयुष सिन्हा के विवादित आदेशों को लेकर उन्हें निलम्बित करने की मांग को लेकर किसानों का आज यहां लघु सचिवालय के बाहर धरना दूसरे दिन भी जारी रहा। किसान नेताओं राकेश टिकेत, गुरनाम सिंह चड़ूणी और योगेंद्र यादव के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल और प्रशासन के बीच दो दौर की बातचीत हुई लेकिन ये बेनतीजा रहीं। किसान नेताओं की मांग है कि बसताड़ा टाेल प्लाजा पर लाठीचार्ज का आदेश देने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए। वहीं श्री सिन्हा को निलम्बत किया जाये। किसान नेता लाठीचार्ज में गम्भीर रूप से घायल होने और इलाज के दौरान दम तोड़ देने वाले किसान सुशील काजल के परिवार को 25 लाख रुपए मुआवजा और एक सदस्य को सरकारी नौकरी तथा घायल किसानों को दो-दो लाख रुपए मुआवजा देने की भी मांग कर रहे हैं।

जिला प्रशासन ने लेकिन किसान प्रतिनिधिमंडल की ये मांगे नहीं मानी और कहा कि इस सम्बंध में जांच चल रही है तथा जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कार्रवाई को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा। लेकिन किसान नेता इस पर संतुष्ट नहीं हुये और इन्होंने मांगे माने जाने तक अपना धरना जारी रखने का निर्णय लिया है। वहीं लघु सचिवालय के अंदर और वाहर सुरक्षा तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये पुलिस और अर्द्ध सुरक्षा बलों की 40 कम्पनियां तैनात की गई हैं।

टिकैत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रशासन हमारी नहीं सुन रहा है और जो मांगे उसके समक्ष रखी गई है उन पर भी कार्रवाई करने से इनकार कर दिया है। ऐसे में उनके पास अब धरना आगे जारी रखने के सिवा कोई विकल्प नहीं बचा है। जब तब मांगे नहीं मानी जाएंगी यह धरना जारी रहेगा। उधर, लघु सचिवालय के बाहर किसानों का जमावड़ा आज दिन भर जारी रहा। किसानों ने पक्का माेर्चा लगाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। टैंट और तम्बू मगाये जा रहे हैं। धरने पर बैठे किसानों के खाने पीने की व्यवस्था के लिय लंगर की व्यवस्था की गई है।

इससे पहले गत सात सितम्बर को स्थानीय अनाज मंडी में उक्त मांगों को लेकर आयोजित किसान महापंचायत के दौरान भी किसानों की 11 सदस्यीय समिति की जिला प्रशासन के साथ तीन दौर की वार्ता हुई थी लेकिन यह विफल रही थी। इसके बाद किसानों ने अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम अनुसार लघु सचिवालय का घेराव करने के लिये अनाज मंडी से उस ओर कूच कर दिया था। इस दौरान बड़ी संख्या में किसान रास्ते में स्थापित अनेक अवरोधको को तोड़ते हुये लघु सचिवालय तक पहुंच गये थे जहां इन्हें तितर बितर करने के लिये वॉटर कैनन का भी इस्तेमाल किया गया था। स्थिति को बिगड़ने से रोकने के लिये टिकैत समेत कुछ किसान नेताओं को हिरासत में भी लिया गया था लेकिन इन्हें बाद में रिहा कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली-करनाल राष्ट्रीय राजमार्ग पर बसताड़ा टोल प्लाजा पर गत 28 अगस्त को पुलिस ने किसानों पर उस समय लाठीचार्ज किया था जब वे भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) नेताओं को एक बैठक जाने से रोकने के लिये वहां एकत्रित हुये थे। इस लाठीचार्ज में घायल करनाल के रायपुर जाटान गांव के किसान सुशील काजल ने अगले दिन दम तोड़ दिया था। वहीं अनेक किसान घायल हो गये थे। गत 30 अगस्त को भारतीय किसान यूनियन ने घरौंडा अनाज मंडी में महापंचायत कर राज्य सरकार से सुशील काजल के परिवार को 25 लाख रुपए मुआवजा और एक सदस्य को सरकारी नौकरी, घायल किसानों को दो-दो लाख रुपए मुआवजा और लाठीचार्ज के आदेश देने वाले एसडीएम आयुष सिन्हा और पुलिस उपाधीक्षक और अन्य अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग की थी।राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज का कहना है कि प्रजातंत्र में सभी को शांतिपूर्ण ढंग से अपनी बात कहने और आंदोलन करने का अधिकार लेकिन इससे किसी अन्य नागरिकों के अधिकारों का हनन नहीं होना चाहिये।

टी-20 कप के लिए 15 सदस्यीय टीम की घोषणा

अकांशु उपाध्याय         

नई दिल्ली। आगामी टी-20 वर्ल्ड कप के लिए आज 15 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा कर दी गई है। टी-20 वर्ल्ड कप का आयोजन 17 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच ओमान और यूएई में किया जाएगा। टीम में चार सालों के लंबे इंतजार के बाद स्टार ऑफ स्पिनर आर अश्विन की वापसी देखने को मिली है। इस विश्व कप के लिए महेंद्र सिंह धोनी को मेंटर के रूप में लिया गया।इंटरनेशनल डेब्यू के बाद लगातार शानदार प्रदर्शन करने वाले सूर्यकुमार यादव और लेग स्पिनर राहुल चाहर को टी-20 वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम का हिस्सा बनाया गया है। सूर्यकुमार ने चार टी-20 आई मैच खेले हैं और 169.51 के स्ट्राइक रेट के साथ 139 रन बनाए हैं। तीन पारियों में यादव दो फिफ्टी लगा चुके हैं। वहीं, राहुल चाहर ने भी पांच टी-20 आई मैचों में सात विकेट अपनी झोली में डाले हैं।

वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम में रविचंद्रन अश्विन ने अपने चयन से सभी को काफी हैरान किया। अश्विन की 4 साल बाद टी-20 में वापसी हुई है। उन्होंने आखिरी मैच 9 जुलाई 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। इसमें अश्विन ने 4 ओवर में 39 रन दिए थे। उन्हें कोई विकेट नहीं मिला था। वेस्टइंडीज के इसी दौरे में अश्विन ने अपना आखिरी वनडे मैच भी खेला था। इसके बाद से वे लिमिडेट ओवर वाले मैच से बाहर ही रहे।ओवल टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले शार्दूल ठाकुर को वर्ल्ड कप के लिए स्टैंड बाई खिलाड़ियों में शामिल किया गया है। इंग्लैंड के खिलाफ चौथे मैच में उन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से कमाल का खेल दिखाया। पहली पारी में उनके बल्ले से 57 और दूसरी पारी में 60 रन देखने को मिले। साथ ही पहली पारी में टाकुर ने एक और दूसरी पारी में जो रूट के विकेट के साथ 2 खिलाड़ियों को पवेलियन का रास्ता दिखाया।

अफसरों द्वारा मनमानी करने पर नाराजगी दिखाई

बृजेश केसरवानी           

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुंडा एक्ट की कार्यवाही करने में अफसरों द्वारा मनमानी किए जाने पर गहरी नाराजगी दिखाई है। वैवाहिक विवाद के मामले में दर्ज मुकदमे में आरोपी को गुंडा एक्ट के अंतर्गत नोटिस भेजे जाने पर नाराजगी जताते हुए हाईकोर्ट ने कहा है कि बिना किसी आधार के गुंडा एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही किए जाने का नोटिस जारी करना प्रथम दृष्टया अधिकारियों का शरारत भरा कदम है। ऐसी कार्यवाही की पुनरावृति रोकने के लिए हाईकोर्ट की ओर से प्रदेश सरकार से जवाब तलब किया गया है।

बुधवार को सोनभद्र के शिव प्रसाद गुप्ता की याचिका पर न्यायमूर्ति एसपी केसरवानी और न्यायमूर्ति पीयूष अग्रवाल की खंडपीठ ने सुनवाई करते हुए कहा है कि नोटिस में कोई भी ऐसा तथ्य नहीं है। जिससे गुंडा एक्ट की धारा 2 बी के अंतर्गत याची के खिलाफ कोई मामला बनता हो। स्थिति को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि संबंधित की ओर से नोटिस बिना क्षेत्राधिकार के ही जारी कर दिया गया है। हाईकोर्ट ने कहा है कि अब अधिकारी वैवाहिक विवाद में भी गुंडा एक्ट के अंतर्गत नोटिस जारी करने लगे हैं। प्रथम दृष्टया यह अधिकारियों का शरारती भरा कदम है। इसी प्रकार के एक अन्य मामले में भी जब कोर्ट की ओर से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया तो अधिकारियों की ओर से वह केस वापस ले लिया गया। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को इस मामले में उठाए गए कदमों की जानकारी देने के साथ हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया है। मामले की अगली सुनवाई आगामी 9 सितंबर को होगी।

2022 के संबंध में सुपरवाइजरों के साथ बैठक की

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 के संबंध में सुपरवाइजरों के साथ बैठक की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी सुपरवाइजरो से अब तक प्राप्त फार्म-06 व फार्म-07 आदि की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देशित किया कि वे अपने-अपने बी.एल.ओ की सूची मोबाइल नम्बर सहित अपने पास रखें तथा सभी बी.एल.ओ की नियमित निगरानी करते हुए प्रगति लाना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि उनके द्वारा एक हफ्ते बाद पुनः बैठक की जायेगी, बैठक में प्रगति न पाये जाने पर संबंधित सुपरवाइजर को निलम्बित करने की कार्यवाही की जाएगी। उन्होने सभी सुपरवाइजरों से कहा कि ठीक प्रकार से कार्य न करने वाले बी.एल.ओ के विरूद्ध लिखित रूप में सूचना संबंधित उपजिलाधिकारी को दिया जाय, जिससे बी.एल.ओ के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित किया जा सके। 
उन्होने कहा कि किसी भी बी.एल.ओ एवं सुपरवाइजर की ड्यूटी नहीं काटी जायेगी उन्होने पर्याप्त संख्या में फार्म सुपरवाइजरों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये बैठक में सुपरवाइजर द्वारा बताया कि बी.एल.ओ सुशील कुमार तिवारी सहायक अध्यापक से फार्म मांगने पर उनके द्वारा नहीं दिया गया एवं कार्य में लापरवाही बरती जा रही है। जिस पर जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षाधिकारी को निर्देश दिये कि दो दिन के अन्दर कार्य में प्रगति न लाये जाने पर सुशील कुमार तिवारी सहायक अध्यापक को निलम्बित कर दिया जाय। बैठक में सुपरवाइजर द्वारा बताया गया कि बी.एल.ओ  रीता सोनी सहायक अध्यापिका कॉल रिसीव नहीं करतीं एवं फार्म जमा नहीं किया है, जिस पर जिलाधिकारी ने निलम्बित करने के निर्देश दिये बैठक में बताया गया कि बी.एल.ओ सारिका सोनकर सहायक अध्यापिका मेडिकल पर हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि इनका मेडिकल चेक कराया जाय, कि क्या वास्तव में बीमार हैं। मेडिकल सही न पाये जाने पर निलम्बित करने के निर्देश दिये बैठक में बताया गया कि बी.एल.ओ कृष्ण प्रताप सिंह एवं लवलेश कुमार मिश्र द्वारा ठीक प्रकार से कार्य नहीं किया जा रहा है, जिस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी प्रकट करते हुए फोन पर वार्ता करने के निर्देश देते हुए कहा कि सही जवाब न पाये जाने पर कड़ी कार्यवाही की जाय बैठक में बताया गया कि सोनाली गुप्ता एवं सारिया कमल द्वारा बी.एल.ओ ड्यूटी की आदेश पत्र नहीं लिया जा रहा है। जिस पर जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षाधिकारी को दोनो से वार्ता कर कार्यवाही करने के निर्देश दिये जिलाधिकरी ने ठीक प्रकार से कार्य न करने पर सुपरवाइजर ईश्वर शरण सिंह एवं प्रमोद कुमार मिश्रा को कड़ी चेतावनी जारी करने के निर्देश दिये है। उन्होने रजिस्टार कानून-गो, चायल को भी कार्य में लापरवाही बतरने पर कड़ी चेतावनी जारी करने के निर्देश दिये बैठक में अपर जिलाधिकारी मनोज उपजिलाधिकारी चायल एवं सिराथू सहित अन्य संबंधित अधिकारी एवं सुपरवाइजर उपस्थित रहे।  
सुशील केशरवानी 

पुलिस ने वाहन लुटेरे गिरोह का पर्दाफाश किया

अतुल त्यागी        
हापुड़। पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। पुलिस ने वाहन लुटेरे गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 5 शातिर वाहन लुटेरों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए वाहन लुटेरों के पास से लूट की 5 ई-रिक्शा, मोबाइल, नशीली गोलियां, 10 हजार की नगदी और अवैध हथियार बरामद हुए हैं।वहीं पुलिस पकड़े गए पांचो शातिर आरोपियों से पूछताछ कर रही है। जानकारी के अनुसार पांच शातिर लुटेरे कोल्ड ड्रिंक में नशीली गोलियां मिलाकर ई-रिक्शा चालकों को पिलाने के बाद ई-रिक्शा लूट कर फरार हो जाया करते थे। 
दरअसल आपको बता दे कि थाना हापुड़ देहात पुलिस ने टियाला मार्ग से पांच शातिर लुटेरों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार पकड़े गए लुटेरे पहले तो कहीं जाने के लिए किराए पर ई-रिक्शा कर लेते थे वही रास्ते में जाते वक्त ई रिक्शा चालकों को किसी बहाने से नशीली गोली डालकर कोल्ड ड्रिंक पिला दिया। जिसके बाद ई-रिक्शा चालकों को बेहोश होने के बाद शातिर लुटेरे अपने साथियों के साथ मिलकर लूट कर बड़े आराम से फरार हो जाया करते थे। वही लूटी हुई ई-रिक्शा को 30 से ₹40000 में बेच दिया करते थे। पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार कर पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़ आसपास के जनपदों में इसी तरह से लूट की वारदात को अंजाम देते थे वहीं पुलिस ने लुटेरों के पास से लुटे हुए 5 ई-रिक्शा, 9 मोबाइल, 10000 की नकदी,करीब 40 नशीली गोलियां, तीन तमंचे, तीन जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। वही पुलिस अभी भी लुटेरों से पूछताछ कर रही है।

सीजी: बैठक से पहले 'किसान पोर्टल' लॉन्च किया

दुष्यंत टीकम              
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में कैबिनेट की बैठक से पहले एकीकृत किसान पोर्टल लॉन्च किया। कृषि विभाग द्वारा तैयार एकीकृत किसान पोर्टल पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना तथा कोदो-कुटकी, रागी उपार्जन योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को एक बार ही पंजीयन कराना होगा।
विभिन्न योजनाओं के लिए किसानों के पंजीयन की प्रक्रिया का इस पोर्टल के माध्यम से सरलीकरण किया गया है।
इससे विभिन्न योजनाओं के लिए किसानों का सुगमतापूर्वक पंजीयन हो सकेगा। एकीकृत पोर्टल के माध्यम से योजनाओं के क्रियान्वयन, प्रबंधन, पर्यवेक्षण एवं रिपोर्टिंग में आसानी होगी। एकीकृत किसान पोर्टल में भूमि एवं गिरदावरी के भुंईया पोर्टल से ऑनलाईन सत्यापन होगा तथा सटीक एवं त्वरित डाटा प्राप्त किया जा सकेगा। किसानों की जमीन के भौतिक सत्यापन तथा योजनाओं के तहत किसानों को दी जाने वाली राशि का गणना में भी पोर्टल से आसानी होगा। इस पोर्टल पर उपलब्ध डाटा को आवश्यकतानुसार कैरी फार्वर्ड भी किया जा सकेगा।

10 सितंबर से 10 तक चलेगा उपचार अभियान

दुष्यंत टीकम          
बेमेतरा। छत्तीसगढ़ को वर्ष 2023 तक टीबी मुक्त बनाने के लिए राष्ट्रीय क्षय उन्नमूलन कार्यक्रम के अंतर्गत टीबी की सघन खोज एवं उपचार अभियान 10 सितंबर से 10 अक्टूबर- 2021 तक चलाया जाएगा। अभियान के दौरान डोर टू डोर सर्वे के लिए 120 टीमें लगभग 10 लाख की जनसंख्या को कवर करेंगीं और जिसमें लक्षण नजर आएगा उनकी जांच कराई जाएगी। जिले में अभियान शुरु करने से पहले सीएमएचओ कार्यालय में जिला कार्यक्रम समन्वयक क्षय उन्मूलन सम्पत्ति बंजारे, डीपीएम अनुपमा तिवारी, सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी बीएमओ व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी आरएमओ की एक बैठक आयोजित की जायेगी जिसमें अभियान की रणनीति पर चर्चा की जायेगी। टीवी के संदेहास्पद मरीजों की जांच एवं उपचार के लिए जन जागरूकता को विशेष महत्व देते हुए जनपद पंचायत, सरपंच, सचिव, पंच व पार्षद सहित जनप्रतिनिधियों को भी कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा ।जिला टीबी उन्न्मूलन अधिकारी डॉ. जीएस ठाकुर ने बताया, “टीबी को हराने के लिए ग्राम स्तर पर मितानिन, आरएचओ, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की टीम टीबी मरीजों की खोज करेगी। डॉ. ठाकुर ने लोगों से अपील करते हुए कहा, डोर टू डोर सर्वे में यदि टीम के सदस्य किसी के घर पहुंचे तो टीबी के लक्षण वाले व्यक्ति अपने रोग को छिपाएं नहीं, बल्कि लक्षणों के बारे में खुलकर बताएं। टीबी रोग की पुष्टि होने पर उनका समुचित इलाज होगा। उन्होंने कहा, टीबी हारेगा देश जीतेगा थीम पर चलने वाले अभियान के दौरान टीम के लोग जन सामान्य को माइकिंग, पंपलेट, हाउस स्टीकर के माध्यम से भी टीबी से बचाव के लिए जागरूक करेंगे। टीबी रोगी के बारे में सूचना देने वाले को 500 रुपए प्रोत्साहन स्वरूप दिए जा रहे है। डॉ. ठाकुर ने बताया, टीबी रोग पाए जाने पर रोगियों को मुफ्त दवाएं देने के साथ ही प्रतिमाह पांच सौ रुपये निक्षय पोषण योजना से देने का भी प्रावधान है। जिले को टीबी मुक्त बनाने में सामूहिक सहयोग जरुरी है।
सीएमएचओ डॉ. प्रदीप कुमार घोष ने बताया, “टीबी और कोविड के लक्षण मिलते-जुलते हैं, इसलिए ऐसे में खास सावधानी बरतने की जरूरत है। इससे बचने के लिए जरूरी प्रोटोकॉल जैसे- मास्क पहनना अनिवार्य है, क्योंकि इन दोनों ही बीमारियों में खांसने या छींकने से निकलने वाली बूंदों से संक्रमण की संभावना रहती है। इसलिए अपने साथ दूसरों को सुरक्षित करने के लिए मास्क से मुंह और नाक को ढककर रखें।

पोषण थीम पर फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन

दुष्यंत टीकम            
बिलासपुर। राष्ट्रीय पोषण माह अंतर्गत एकीकृत बाल विकास परियोजना, बिलासपुर शहरी में प्रत्येक दिन अलग-अलग गतिविधियां सूक्ष्म कार्य योजना के साथ आयोजित की जा रही हैं। जिसके तहत् 1 से 7 सितम्बर तक मातृ वंदना सप्ताह मनाया गया। परियोजना अधिकारी एकीकृत बाल विकास परियोजना बिलासपुर से प्राप्त जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय पोषण माह अंतर्गत आयोजित कार्यक्रमों में 1 सितंबर से 7 सितंबर तक पोषण वाटिका प्रदर्शन हेतु प्रशिक्षण व पोषण थीम पर आधारित फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। आंगनबाड़ी केन्द्रो, स्कूलो, घरो में पोषण वाटिका विकसित करने हेतु वृक्षारोपण का कार्य सामुदायिक सहयोग से किया गया। इसके साथ ही कोविड-19 टीेकाकरण हेतु जागरूकता एवं प्रचार-प्रसार कार्यक्रम किये गए। आंगनबाड़ी केन्द्रों में पौष्टिक आहार संबंधी नारा लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन महिलाओं और बालिकाओं के लिए किया गया। श्रेष्ठ पोषण वाटिका का चयन एवं उत्साहवर्धन किया गया।
पोला त्यौहार में पौष्टिक व्यंजन की प्रदर्शनी आयोजित की गई जिसमें महिलाओं ने बढ-चढकर भागीदारी निभाई। नुक्कड़ नाटक का आयोजन कर सामुदाय के लोगों को पोषण संबंधी योजनाओं की जानकारी दी गई व जागरूक किया गया। पोषण माह मे महिलाओं , बच्चों, बालिकाओं  एवं नागरिकों ने बढ-चढकर सहभागिता लेते हुए आयोजनो को सफल बनाया।
मातृवंदन सप्ताह अंतर्गत मातृ शक्ति राष्ट्र शक्ति के तहत् प्रथम बच्चें के साथ माता अथवा गर्भवती महिला हेतु  सामुदायिक स्थल में सेल्फी जोन बनाया गया। जिसमें गर्भवती माताओं में उत्साह दिखाई दिया।  उक्त आयोजन के अंतर्गत प्रधानमंत्री मातृवंदना  योजना का प्रचार-प्रसार कर डोर टू डोर सर्वे कर पात्र हितग्राहियों के अधिक से अधिक संख्या में फार्म भरे गये। मातृवंदना योजना के द्वितीय  व तृतीय के किश्त के लंबित आवेदन भरे गये व करेक्शन क्यू का निराकरण किया गया । साथ-साथ गर्भवती महिलाओ को कोविड-19 टीेकाकरण के लिए जागरूक किया गया। गर्भवती महिलाओं के लिए प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम  पौष्टिक आहार का प्रदर्शन किया गया। स्थानीय एवं मौसमी फल सब्जी के उपयोग हेतु प्रोत्साहित कर स्वास्थ्य पोषण एवं स्वच्छता संबंधी चर्चा आयोजित की गई ।
माह सितंबर 2021 को शिशु सरंक्षण माह के रूप में भी मनाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्रों में उत्सवपूर्वक टीकाकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। विटामिन ‘‘ए’’ की खुराक बच्चों को पिलायी गई। उक्त समस्त कार्यक्रमों में महिला, पुरूष बच्चें, किशोरी बालिकाएं, जनप्रतिनिधी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहें।

यूपी: आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन किया

हरिओम उपाध्याय           
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दल के रूप में केंद्र सरकार में शामिल अपना दल की नेता ने भी केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 9 माह से भी अधिक समय से आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन करते हुए कहा है कि किसानों की समस्याओं का हल बातचीत के माध्यम से निकाला जाना चाहिए। उनकी पार्टी हमेशा से किसानों के साथ खड़ी रही है।
 बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दल के रूप में केंद्र सरकार में शामिल अपना दल की मुखिया केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने राजधानी में कहा है कि नए कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग को लेकर पिछले 9 माह से भी अधिक समय से राजधानी दिल्ली के बॉर्डरों पर पडे रहकर धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों के मुद्दे पर संवेदनशीलता बरतते हुए उनका हल निकाला जाना चाहिए। केंद्र सरकार में मंत्री अनुप्रिया पटेल ने दावा किया कि उनकी पार्टी हमेशा किसानों के साथ रही है और केंद्र सरकार से यह भी कहा कि किसानों की समस्याओं का हल बातचीत के ज़रिए निकाला जाना चाहिए। अपना दल की प्रधान मुखिया अनुप्रिया पटेल ने कहा कि हमारी पार्टी हमेशा किसानों साथ खड़ी रही है। किसानों से जुड़ी किसी भी समस्या को संवेदनशीलता के साथ सुना जाना चाहिए। सरकार के साथ बातचीत के माध्यम से ही मसलों को सुलझाया जाना चाहिए।
केद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल से पहले रविवार को भाजपा सांसद वरुण गांधी ने भी किसानों के आंदोलन का समर्थन किया था। मुज़फ्फरनगर में किसानों की महापंचायत पर सांसद वरुण गांधी ने कहा था कि विरोध करने के लिए लाखों किसान जुट रहे हैं। वे हमारे ही समाज का हिस्सा हैं। हमें सदभाव के साथ उनके साथ फिर जुड़ना चाहिए। उनका दर्द और उनका नज़रिया समझकर उनके साथ किसी साझे विचार पर सहमति बनानी चाहिए।

 

विभिन्न समस्याओं व हितों को लेकर सार्थक चर्चा की

हरिओम उपाध्याय                
मेरठ। महानगर में आयोजित की गई रालोद लोक संकल्प समिति की बैठक में युवाओं, व्यापारियों, शिक्षकों, कामगारों, महिलाओं, किसानों एवं विभिन्न वर्गों के लोगों के साथ विभिन्न समस्याओं व उनके हितों को लेकर सार्थक चर्चा की गई। इस दौरान लोक संकल्प समिति की ओर से विभिन्न मुद्दों को लेकर आमंत्रित किए गए महत्वपूर्ण सुझाव भी उपस्थित लोगों ने लिखित रूप से समिति को सौंपे। बुधवार को रालोद लोक संकल्प समिति की बैठक लोक संकल्प संवाद के अंतर्गत महानगर के गंगानगर स्थित दीप होटल में आयोजित की गई। 
इस दौरान लोक संकल्प संवाद के अंतर्गत युवाओं, व्यापारियों, शिक्षको, कामगारों, महिलाओं, किसानों और विभिन्न वर्गों के लोगों के प्रतिनिधिमंडलों के साथ उनकी समस्याओं एवं हितों को लेकर सार्थक चर्चा की गई। लोक संकल्प समिति की बैठक में उपाध्यक्ष अजय तोमर पूर्व विधायक, राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉक्टर रामचंद्र विकल की सुपुत्री एवं रालोद की राष्ट्रीय सचिव पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रमा नागर, सुखबीर सिंह गठीना व अन्य अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे। किसानों की ओर से बैठक में शामिल हुए रालोद के वरिष्ठ नेता चौधरी राममेहर ने किसानों की समस्याओं का समिति के सम्मुख जमकर उल्लेख किया और बताया कि किसान के लिये इस समय खेती किसानी घाटे का सौदा बनकर रह गया है। समिति की ओर से बैठक के दौरान महानगर और जिले के विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों से संगठन और आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर तैयार किये जाने वाले पार्टी के घोषणा पत्र को लेकर महत्वपूर्ण सुझाव आमंत्रित किए गए थे। जिसके चलते विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों की ओर से समिति को लिखित रूप से अपने सुझाव सौंपे गए। बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव पर विस्तृत रूप से चर्चा करते हुए राज्य में उत्पन्न विभिन्न समस्याओं पर विशेष रूप से प्रकाश डालते हुए उनके संबंध में चिंता व्यक्त की गई।

सीजी: नाबालिक बच्चों की तलाश कर सुपर्द किया

दुष्यंत टीकम                  
राजनांदगांव। ऑपरेशन मुस्कान’ ने एक नहीं बल्कि 18 परिवारों में मुस्कान लौटाई है। जिनके गुम नाबालिक बच्चों की तलाश कर राजनांदगांव पुलिस ने उनके सुपर्द किया है। पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रज्ञा मेश्राम के मार्गदर्शन में अगस्त में 3 बालक, 12 बालिकाओं के साथ दीगर जिले के 3 बालिकाओं को उनके माता-पिता के सुपुर्द किया गया। साथ ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रज्ञा मेश्राम ने राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक कार्यालय में ई-कॉमर्स ऑन-लाइन शॉपिंग कंपनी मैनेजरों और कुरियर संचालकों की बैठक ली। इस दौरान पिस्टल, लाइटर गन, आर्टिफिसियल पिस्टल, पेपर-स्प्रे और चाकू के ऑनलाइन ऑर्डर व डिलवरी किए गए सामान की जानकारी ली गई, साथ ही डिलवरी ब्वायों का पुलिस वेरिफिकेशन करने के बाद काम पर रखने की हिदायत दी गई।

छत्तीसगढ़ के दौरे पर आएंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल

दुष्यंत टीकम        
रायपुर। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर मचे घमासान के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी छत्तीसगढ़ के दौरे पर आएंगे। राहुल बस्तर और मैदान इलाकों में विकास कार्यों का जायजा लेंगे। दिल्ली में सत्ता संग्राम को लेकर 24 अगस्त को मुख्यमंत्री बघेल और मंत्री टीएस सिंहदेव ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी। इसके बाद मुख्यमंत्री दोबारा विधायकों के साथ 28 अगस्त को दिल्ली पहुंचे थे। इस दिन राहुल से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि अगले सप्ताह राहुल गांधी छत्तीसगढ़ आएंगे। उसके बाद यह कयास लगाई जा रही थी कि राहुल सात से दस सितंबर के बीच छत्तीसगढ़ आ सकते हैं। प्रशासन और कांग्रेस संगठन ने राहुल के दौरे की तैयारी शुरू कर दी थी। कांग्रेस सरकार के मंत्री, वरिष्ठ विधायक, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने दौरे की तैयारी शुरू कर दी थी। 
अब चर्चा है कि राहुल 15 सितंबर तक प्रदेश के दौरे पर आ सकते हैं। अगले कुछ दिन राहुल गांधी का जम्मू-कश्मीर में दौरा प्रस्तावित है। उम्मीद की जा रही है कि जम्मू के दौरे के बाद राहुल छत्तीसगढ़ आ सकते हैं।पुलिस महकमा भी राहुल के संभावित दौरे की तैयारी में जुटा हुआ है। इस बीच, राहुल के दौरे से पहले सत्ता संघर्ष को सामान्य करने की कवायद भी शुरू हो गई है। इसी कड़ी में मंत्री सिंहदेव एक दिन पहले ही तीजा कार्यक्रम में शामिल होने मुख्यमंत्री निवास पहुंचे। वहां सिंहदेव मुख्यमंत्री की बगल की कुर्सी में बैठे और बात भी करते नजर आए। आखिर में सीएम बघेल और सिंहदेव ने तीजा मनाने पहुंचीं बहनों ने साथ नृत्य भी किया।

सरकार ने हाईकोर्ट में अनुरोध याचिका दायर की

पंकज कपूर         
देहरादून। चारधाम यात्रा खोलने को लेकर उत्तराखंड सरकार ने हाईकोर्ट में अनुरोध याचिका दायर की है। हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा वाले जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं की कमी, कोविड संक्रमण पर नियंत्रण को पर्याप्त तैयारियां नहीं होने, डॉक्टरों की कमी और जिला प्रशासन की रिपोर्ट के आधार पर 28 जून को अग्रिम आदेशों तक रोक लगा दी थी।
इस आदेश के खिलाफ बीती 6 जुलाई को प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की।
मंगलवार को महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर और मुख्य स्थायी अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत ने मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति आरएस चौहान एवं न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ के समक्ष प्रस्तुत होकर मौखिक तौर पर भी चारधाम यात्रा पर लगी रोक हटाने का अनुरोध किया है।
उन्होंने कहा है कि, चारधाम यात्रा से हजारों लोगों की रोजी-रोटी जुड़ी हुई है। कोर्ट ने साफ कहा है कि, जब तक मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है, हाईकोर्ट रोक हटाने पर विचार नहीं कर सकती है।

महिला भर्ती के मसले पर यथास्थिति का आदेश

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय से बुधवार को आग्रह किया कि वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीएम) के जरिये महिलाओं की भर्ती के मसले पर इस साल यथास्थिति का आदेश दे। क्योंकि इसके लिए बुनियादी संरचना खड़ी करने की आवश्यकता होगी। हालांकि केंद्र ने न्यायालय को कल शाम हुए उस फैसले से भी अवगत कराया जिसमें महिलाओं को एनडीए के जरिये सशस्त्र सेना में शामिल किये जाने को हरी झंडी दी गयी है।
केंद्र सरकार की ओर से अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) ऐश्वर्या भाटी ने न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की अध्यक्षता वाली खंडपीठ को अवगत कराया कि केंद्र ने महिलाओं को एनडीए के जरिये सशस्त्र सेनाओं में भर्ती किये जाने का कल शाम ही फैसला किया है। सुश्री भाटी ने हालांकि इस साल के एनडीए परीक्षाओं में यथास्थिति बनाये रखने का न्यायालय से अनुरोध किया।
न्यायालय ने एएसजी को एक हलफनामे के जरिये अपना बयान रिकॉर्ड पर लाने का निर्देश दिया और मामले की सुनवाई 22 सितम्बर तक के लिए स्थगित कर दी। गौरतलब है कि कुश कालरा की याचिका पर न्यायालय ने गत 18 अगस्त को अंतरिम आदेश जारी करते हुए एनडीए की परीक्षाएं महिलाओं के लिए खोलने का निर्देश दिया था।

कार्यकर्ताओं व लोगों ने सीएम का स्वागत किया

पंकज कपूर                   
नैनीताल। मुख्यमंत्री धामी बोले सबसे पहले भाजपा सरकार सरलीकरण, समाधान पर कार्य करेगी। मुख्यमंत्री धामी बोले मैं नैनीताल आकर अभिभूत हूं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जन आशीर्वाद यात्रा के अंतर्गत नैनीताल पहुंचे। हजारों भाजपा कार्यकर्ताओं व स्थानीय लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया।
भाजयुमो कार्यकर्ताओं की ओर से तल्लीताल से वाहन रैली के माध्यम से उन्हें कार्यक्रम स्थल पंत पार्क मल्लीताल लाया गया। सीएम ने कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत, जिला प्रभारी मंत्री यशपाल आर्य, विधायक संजीव आर्य के साथ भारत रत्न जीबी पंत की मूर्ति पर पुष्प अर्पित किए।
मुख्यमंत्री ने एवरेस्ट विजेता शीतल राज के नेतृत्व में आदि कैलास की चोटी के लिए बेटियों के दल को फ्लैग ऑफ किया। इसके साथ मुख्यमंत्री ने यहां एक अरब से अधिक योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इन प्रोजेक्‍ट में नैनीताल की बाजारों का कुमाउंनी शैली में सुदृढ़ीकरण, बलियानाला ट्रीटमेंट समेत अन्य कार्य प्रमुख हैं।
इस अवसर पर विधायक संजीव आर्य, राम सिंह कैड़ा, नवीन दुमका व दिवान बिष्ट, प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट, प्रदेश मंत्री पुष्कर काला, प्रदेश मंत्री राजेंद्र बिष्ट, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया, दीपक मेहरा, मजहर नवाब, पीसी गोरखा, मनोज साह, मेयर जोगेंद्र रौतेला, प्रकाश रावत, आनंद दरमवाल, आनंद बिष्ट, मनोज जोशी, योगेश रजवार, डॉ हरीश बिष्ट, रूपा देवी, रेखा रावत, संजय वर्मा, प्रतिभा जोशी, शांति मेहरा समेत कमिश्नर सुशील कुमार, डीआईजी नीलेश आनंद, डीएम धीराज गर्ब्याल, केएमवीएन के एमडी नरेंद्र भंडारी समेत अन्य उपस्थित थे। समाचार लिखे जाने तक स्वागत समारोह जारी है।
उत्तराखंड को दस वर्षों में देश का पहला अग्रणी राज्य बनाएंगे। अल्मोड़ा के रैमजे मैदान से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह वादा प्रदेशवासियों से किया। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के सात साल के कार्यकाल में देश का अभूतपूर्व विकास हुआ है। भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार विकास के एजेंडे पर कार्य कर रही है। 60 दिन में उनकी सरकार ने 150 फैसले लिए हैं। सभी घोषणाएं धरातल पर उतारेंगे। मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित कलक्ट्रेट भवन का लोकार्पण करने सहित 299 करोड़ लागत की 102 विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

जन आशीर्वाद रैली के रैमजे इंटर कॉलेज पहुंचने पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने घोषणाओं की झड़ी लगा दी। उन्होंने मछोड़ उप तहसील को तहसील का दर्जा देने, अल्मोड़ा में एक बड़ा पार्किंग स्थल बनाने, अल्मोड़ा को रेल लाइन से जोड़ने का प्रयास करने, जागेश्वर श्रावणी मेले, पूर्व पर्वतीय विकास मंत्री रहे सोबन सिंह जीना के चार अगस्त को पैतृक गांव में होने वाले समारोह, द्वाराहाट के स्याल्दे बिखौती मेले और चनौदा शहीद दिवस समारोह को राज्य मेले का दर्जा देने समेत दर्जनों घोषणाएं कीं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 22 से 24 हजार पदों पर नियुक्त प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पदों को जल्द भरा जाएगा। कोरोना काल के चलते सरकारी सेवा में अधिकतम आयु पार करने वालों के लिए एक साल बढ़ाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के ऐसे युवा जो संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में प्री परीक्षा पास करते है उन्हें तैयारी के लिए 50 हजार रुपये की सहायता देगी। कोरोना के कारण आर्थिक नुकसान झेल रहे पर्यटन व्यवसाय और अन्य व्यवसाय से जुड़े लोगों के लिए 200 करोड़ की धनराशि बतौर राहत पैकेज के रूप में जारी की गयी है।
आजीविका क्षेत्र से जुड़े स्वयं सहायता समूहों, महिला मंगल दलों समेत कलस्टर के आधार पर आजीविका चलाने वालों के लिए 119 करोड़ का राहत पैकेज दिया गया है। कोविड से अपने माता-पिता खोने वाले बच्चों के भरण-पोषण वात्सल्य योजना के तहत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेलों में राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए खेल नीति बनाई गई है।

बीजेपी ने अपने प्रभारियों का नाम घोषित किया

पंकज कपूर    
देहरादून। 2022 में होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी ने अपने प्रभारियों का नाम घोषित कर दिया है। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में प्रभारियों की घोषणा कर बीजेपी ने चुनावी तैयारियों का खांका खींचना शुरू कर दिया है। उत्तराखंड में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी को चुनाव प्रभारी और लॉकेट चटर्जी व सरदार आरपी सिंह को सहप्रभारी बनाया गया है।
उत्तराखंड में बीजेपी प्रचंड बहुमच से सत्ता में वापसी करना चाहती है। पार्टी ने इस बार प्रदेश में 51 प्रतिशत वोट और 60 सीटें हासिल करने का लक्ष्य बनाया है। इस लक्ष्य को साधने के लिए बीजेपी पूरी तरह से तैयारी में जुट गई है। पार्टी के खाते में बेशक केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकारों के डबल इंजन से हासिल उपलब्धियों की एक लंबी फेहरिस्त है, लेकिन वो सत्ता रोधी रुझान के भय से भी डरी हुई है। राज्य के मतदाताओं को अपने वश में करने के लिए पार्टी योजनाबद्ध तरीके से कदम बढ़ा रही है।
सत्ता हासिल करने के लिए बीजेपी वोट प्रतिशत पर दे रही है ध्यान।
बीजेपी ने 51 प्रतिशत वोट का लक्ष्य बनाया है। 2017 के चुनाव में पार्टी को 46.51 प्रतिशत वोट मिले थे। पार्टी का अनुमान है कि 51 प्रतिशत वोट लेकर वो 60 सीटें प्राप्त कर सकती है। इसी के ही साथ पार्टी ने हर बूथ मजबूत करने के अभियान पर है। 11235 बूथों पर पार्टी ने 21 सदस्यों की टीम तैयार की है। पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने इन 2,35,935 कार्यकर्ताओं से संवाद और सत्यापन का काम भी खत्म कर लिया है।
पार्टी ने प्रदेश में 2391 शक्ति केंद्र बनाए हैं। एक शक्ति केंद्र पर एक पालक और एक बीएलए बनाया गया है। हर शक्ति केंद्र को चार से पांच बूथों की जिम्मेदारी दी गई है। इसी के ही साथ पार्टी ने हर पंचायत में दो स्वास्थ्य स्वयंसेवक बनाए हैं। सियासी जानकारों के मुताबिक, कोरोना की तीसरी लहर की आशंका से निपटने के लिए पार्टी स्वयंसेवकों के माध्यम से जनता को यह एहसास दिलाना चाह रही है कि केंद्र और राज्य सरकार ने कितना काम किया है।

कपड़ा क्षेत्र के लिए पीएलआई योजना को मंजूरी

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को कपड़ा क्षेत्र के लिए 10,683 करोड़ रुपये की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को मंजूरी दे दी। केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कपड़ा क्षेत्र के लिए पीएलआई योजना को मंजूरी दी गई। ठाकुर ने कहा कि इस योजना से घरेलू विनिर्माण और निर्यात को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।
ठाकुर ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एमएमएफ (कृत्रिम रेशे) परिधान, एमएमएफ फैब्रिक्स तथा टेक्निकल टेक्सटाइल के 10 खंडों/उत्पादों के लिए 10,683 करोड़ रुपये की पीएलआई योजना को मंजूरी दी है। कपड़ा क्षेत्र के लिए पीएलआई योजना बजट 2021-22 में 13 क्षेत्रों के लिए की गई घोषणाओं का हिस्सा है। बजट में 13 क्षेत्रों के लिए 1.97 लाख करोड़ रुपये की योजनाओं की घोषणा की गई थी।

अंतिम: द फाइनल ट्रुथ के पहले गाने का टीज़र जारी

कविता गर्ग         
मुंबई। बहुप्रतीक्षित फिल्म अंतिम: द फाइनल ट्रुथ के पहले गाने का टीज़र जारी कर दिया गया है और यह फेस्टिवल के लिए एकदम परफ़ेक्ट गीत है। यह टीज़र गणपति उत्सव की भव्यता को दर्शाता है। 
टीज़र से इतना तो साफ़ हो गया है कि 'विघ्नहर्ता' नामक यह गाना ऊर्जा और भव्य से भरपूर एक फेस्टिवल सॉन्ग है, जो गणपति के वास्तविक सार को कैप्चर करेगा। यह एक तरह की झलक है कि ट्रैक कैसा होगा। वहीं गाने के टीजर के साथ फिल्म के प्रति उत्साह पहले से कई ज़्यादा बढ़ गया है। 
इस छोटे टीज़र में, हमें सलमान खान और आयुष शर्मा की कुछ आकर्षक और मोहक झलकियाँ देखने मिल रही हैं जो प्रत्याशा को और भी उच्च स्तर तक ले जाती हैं। 
'अंतिम: द फाइनल ट्रुथ' में सलमान खान और आयुष शर्मा पहली बार बड़े पर्दे पर एक साथ नज़र आएंगे और इसे सलमान खान फिल्म्स द्वारा प्रस्तुत किया गया है और सलमा खान द्वारा निर्मित है।  फिल्म का निर्देशन महेश मांजरेकर ने किया है।

एफआईआर रद्द किए जाने की मांग, इनकार किया

अकांशु उपाध्याय          
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर तीन पत्रकारों के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को रद्द किए जाने की मांग के मामले की सुनवाई करने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हम पत्रकारों के लिए सुप्रीम कोर्ट से एफआईआर को रद्द करने की इजाजत देकर अलग से एक नया रास्ता नहीं खोल सकते हैं।
बुधवार को उत्तर प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर तीन पत्रकारों के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द किए जाने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनवाई की गई। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार के महत्व को समझते हैं। हम नहीं चाहते कि प्रेस का गला दबाया जाए।
सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि हम पत्रकारों के लिए सुप्रीम कोर्ट से एफआईआर को रद्द करने की इजाजत देकर अलग से एक नया रास्ता नही खोल सकते।
हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इन तीनो याचिकाकर्ताओं पर 2 महीने तक कोई दंडात्मक कार्यवाई नही किए जाने का आदेश देते हुए उन्हें इलाहाबाद हाईकोर्ट जाने को कहा है।
दरअसल एक संस्थान दि वॉयर से जुड़े तीन जॉर्नलिस्टो के ऊपर यूपी में अलग अलग जगहों पर एफआईआर दर्ज की गई है। इन सभी ने एफआईआर को रद्द करने की मांग करते हुए इन सभी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी।

सरकार के गठन होने पर अब्दुल्ला ने बयान दिया

काबूल। अफगानिस्तान में तालिबानी सरकार के गठन होने पर फारुख अब्दुल्ला ने एक विवादित बयान दिया है। फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि तालिबान इस्लामिक उसूलों के आधार पर अच्छी तरह से सरकार चलाएगा। बड़ी बात ये है कि धर्मनिरपेक्ष देशों के नेता फारुख अब्दुल्ला इस्लामिक उसूलों के सरकार की तरफदारी कर रहे हैं।
मीडिया से बात करते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष और लोकसभा सदस्य डॉ फारुख अब्दुल्ला ने कहा, “अफगानिस्तान एक अलग मुल्क है। उन्हें अब मुल्क को संभालना है। मैं यही उम्मीद करुंगा कि वे हर एक के साथ इंसाफ करेंगे और एक अच्छी हुकुमत चलाएंगे। इस्लामिक उसूलों पर एक अच्छी सरकार चलाएंगे। उन्हें कोशिश करनी चाहिए कि हर मुल्क के साथ अच्छे संबंध बनाएं।
तालिबान नेता मुल्ला हसन अखुंद नई अफगान सरकार का नेतृत्व करेगा।
तालिबान ने मंगलवार को घोषणा की कि मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद अफगानिस्तान की नई सरकार का नेता होगा। यह फैसला राजधानी काबुल समेत अफगानिस्तान के अधिकांश हिस्सों पर चरमपंथी इस्लामी समूह के कब्जे के दो सप्ताह बाद आया है। अखुंद इस समय तालिबान के निर्णय लेने वाले शक्तिशाली निकाय रहबरी शूरा या नेतृत्व परिषद का प्रमुख है। वह तालिबान के जन्मस्थान कंधार से ताल्लुक रखता है और सशस्त्र आंदोलन के संस्थापकों में से एक है।

राज्यपाल रानी मौर्य ने राष्ट्रपति को इस्तीफा सौंपा

पंकज कपूर           
देहरादून। उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राज्यपाल के सचिव बीके संत ने इसकी पुष्टि की है। उत्तराखंड के राज्यपाल पद से बेबी रानी मौर्य के इस्तीफे के बाद प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। अहम सवाल यह है कि उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, ऐसे में नया राज्यपाल कौन होगा। अटकलें हैं कि फिलहाल उत्तर प्रदेश या महाराष्ट्र के राज्यपाल को उत्तराखंड का अतिरिक्त प्रभार दिया जा सकता है। यह भी चर्चाएं हैं कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक और त्रिवेंद्र सिंह रावत को भी कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।
बेबी रानी मौर्य ने 27 अगस्त 2018 को उत्तराखंड के राज्‍यपाल पद की शपथ ली थी। राज्यपाल के तौर पर बीती 26 अगस्त को उन्होंने अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा किया था। मीडिया से बातचीत में उन्होंने प्रदेश में महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के मुद्दों पर जोर दिया था। उनका कहना था कि प्रदेश की महिलाएं मेहनती और जुझारू हैं। महिलाओं को राजभवन से जो बेहतर सहयोग किया जा सकता है उसके लिए आगे भी ठोस प्रयास किए जाएंगे।
इस बीच दो दिन पहले नई दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात के बाद से ही उनके इस्तीफा देने की चर्चाएं चल रही थीं। बेबी रानी मौर्य साल 1995 से 2000 तक आगरा की महापौर रही हैं। वर्तमान राष्ट्रपति और तत्कालीन भाजपा राष्ट्रीय अनुसूचित मोर्चा अध्यक्ष रामनाथ कोविंद के साथ कोषाध्यक्ष रहने के साथ ही राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य भी रही हैं। ऐसे में अटकलें हैं कि वे उत्तर प्रदेश की राजनीति में फिर से सक्रिय हो सकती हैं। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उन्हें भाजपा में कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।
 

किसी सार्वजनिक कार्यक्रम को मंजूरी नहीं होगीं

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में गणेश चतुर्थी पर किसी सार्वजनिक कार्यक्रम को मंजूरी नहीं दी जाएगी। डीडीएमए की ओर से मंगलवार को जारी एक बयान के अनुसार, जिला मजिस्ट्रेट और पुलिए उपायुक्त यह सुनिश्चित करेंगे कि भगवान गणेश की प्रतिमाएं टेंट और पंडाल में नहीं स्थापित की जाएं।
इसके अलावा यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी धार्मिक अथवा सार्वजनिक स्थल पर लोगों की भीड़ नहीं जमा हो। बयान में कहा गया कि किसी तरह का जुलूस निकालने की भी मंजूरी नहीं दी जाएगी। डीडीएमए ने लोगों से यह पर्व घरों में मनाने को कहा है। इस बयान में कहा गया कि इसी माह गणेश चतुर्थी है और कोविड-19 के हालात तथा लोगों के इकट्ठा होने पर लगी पाबंदियों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि पर्व से जुड़ा कोई भी आयोजन सार्वजनिक तौर पर करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

मोहाली फार्महाउस में होगा रात्रिभोज का आयोजन

राणा ओबराय                   
चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने वाले राज्य के खिलाड़ियों और स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा के लिए बुधवार को रात्रिभोज का आयोजन कर रहे हैं और उनके लिए वह खुद लजीज़ व्यंजन तैयार करेंगे। रात्रिभोज का आयोजन मोहाली के सिसवां में सिंह के फार्महाउस में होगा। 
मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ”पंजाब के ओलंपिक पदक विजेताओं और नीरज चोपड़ा से किए गए अपने वादे को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह उनके वास्ते खुद भोजन तैयार करेंगे। भोज में पटियाला के पुलाव, गोश्त, चिकन, आलू और जरदा राइस जैसे लजीज व्यंजन परोसे जाएंगे।” मुख्यमंत्री ने पिछले महीने ओलंपिक पदक विजेताओं के लिए आयोजित समारोह में उनसे, उन्हें अपने हाथ का बना भोजन कराने का वादा किया था।


घरेलू शुरुआती कारोबार में 23 पैसे टूटा रुपया

कविता गर्ग              
मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट तथा अमेरिकी मुद्रा में मजबूती के रुख के बीच बुधवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 23 पैसे टूट गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 73.48 प्रति डॉलर पर खुलने के बाद और नीचे आया। बाद में यह 23 पैसे के नुकसान से 73.65 प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था। पिछले कारोबारी सत्र में रुपया 73.42 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। इस बीच, छह मुद्राओं की तुलना में अमेरिकी मुद्रा का रुख दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.02 प्रतिशत की बढ़त के साथ 92.53 पर पहुंच गया।


अभिनेता अक्षय ने अपनी मां को श्रद्दांजलि दी

कविता गर्ग                  
मुंबई। मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती अभिनेता अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का बुधवार को सुबह निधन हो गया। अक्षय कुमार ने ट्विटर पर यह जानकारी दी और अपनी मां को श्रद्धांजलि दी। अभिनेता की मां हीरानंदानी अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती थीं। उनके निधन का कारण अभी ज्ञात नहीं है।
‘बेल बॉटम’ के अभिनेता ने ट्वीट किया, ”वह मेरी जिंदगी का अहम हिस्सा थीं। आज मुझे असहनीय पीड़ा महसूस हो रही है। मेरी मां अरुणा भाटिया ने आज सुबह इस दुनिया को अलविदा कह दिया और परलोक में मेरे पिता के पास चली गईं।” अभिनेता ने कहा, ”मैं आपकी दुआओं का सम्मान करता हूं। मैं और मेरा परिवार मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं। ओम शांति।”
कुमार ने मंगलवार रात को माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर उनकी मां के अच्छे स्वास्थ्य के लिए दुआ मांगने वाले शुभचिंतकों को धन्यवाद दिया था। अपनी मां के अस्पताल में भर्ती होने की सूचना पाकर अभिनेता सोमवार को देश लौटे। वह ब्रिटेन में अपनी आगामी फिल्म ‘सिंड्रेला’ की शूटिंग कर रहे थे।

शुरुआती कारोबार में 42 अंको तक टूटा सेंसेक्स

कविता गर्ग               
मुंबई। वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख के बीच आईटी कंपनियों के शेयरों में गिरावट से बुधवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स करीब 42 अंक टूट गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मंगलवार के बंद स्तर की तुलना में मामूली लाभ के साथ खुला, लेकिन उतार-चढ़ाव भरे में यह नुकसान में आ गया।
बाद में यह 41.84 अंक या 0.07 प्रतिशत के नुकसान के साथ 58,237.64 अंक पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी शुरुआती कारोबार में 15.35 अंक या 0.09 प्रतिशत टूटकर 17,346.75 अंक पर आ गया। सेंसेक्स की कंपनियों में इन्फोसिस का शेयर सबसे अधिक एक प्रतिशत से अधिक टूट गया। पावरग्रिड, एचसीएल टेक, टीसीएस, टेक महिंद्रा, मारुति और बजाज ऑटो के शेयर भी नुकसान में थे।


सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है इंस्ट्राग्राम पोस्ट

कविता गर्ग          
मुबंई। इंडियन क्रिकेटर शिखर धवन और उनकी पत्नी आयशा मुखर्जी की शादी को पूरे 8 साल बीत चुके हैं और अब शादी के 8 सालों बाद दोनों ने अलग होने का फैसला कर लिया है। केवल फैसला ही नहीं वो अलग हो गए हैं। इसका खुलासा शिखर धवन की वाइफ आयशा मुखर्जी ने मंगलवार को अपने नए इंस्टाग्राम अकाउंट पर किया है। भारतीय स्टार क्रिकेटर शिखर धवन की पत्नी आइशा मुखर्जी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाली है, जिसमें दोनों के बीच तलाक की खबर है हालांकि अभी शिखर धवन की तरफ से इस बारे में किसी तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई है।आइशा मुखर्जी की यह इंस्टाग्राम पोस्ट लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। शिखर धवन और आइशा मुखर्जी ने साल 2012 में शादी की थी। आयशा ने अपने पहले पति को तलाक दे दिया था, जिनसे उन्हें 2 बेटियां हैं। बाद में 2014 में शिखर और आयशा को एक बेटा हुआ, जिसका नाम जोरावर है। सूत्रों के हवाले से इस खबर को हालांकि पुष्ट माना जा सकता है।शिखर धवन की पत्नी आइशा मुखर्जी ने अपनी पोस्ट में तलाक से जुड़ी बाते लिखी हुई हैं। इंस्टाग्राम पर आयशा ने तलाक के बारे में लिखा कि एक बार तलाक हो चुका है लग रहा था कि दूसरी बार काफी कुछ दांव पर था। मुझे काफी कुछ साबित करना था। इसलिए जब मेरी दूसरी शादी टूटी तो यह काफी डरावना था।
उन्होंने इसके आगे लिखा कि मैंने ये सोचा था कि तलाक एक गंदा शब्द है लेकिन फिर मेरा दो बार तलाक हो गया। मजे की बात है कि शब्दों के कितने ताकतवर मतलब और संबंध हो सकते हैं। मैंने तलाकशुदा के रूप में खुद से यह फील किया है। पहली बार जब मेरा तलाक हुआ तब मैं काफी ज्यादा डरी हुई थी, मुझे लगा कि मैं अपने माता-पिता को निराश कर रही हूं और साथ ही मैं अपने बच्चों को नीचा दिखा रही हूं और कुछ हद तक मुझे लगा कि मैंने भगवान का भी अपमान किया। तलाक काफी गंदा शब्द था। इसलिए सोचिए मेरे साथ दोबारा ऐसा हुआ। यह काफी भयानक था।

शिखर ने अभी तक नहीं दिया इसपर कोई बयान
भले ही आइशा की यह पोस्ट इस वक्त वायरल हो रही है, लेकिन अभी तक शिखर धवन की तरफ से इसको लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। शिखर ने ऐसी कोई जानकारी नहीं दी है। ऐसे में शिखर के बयान के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि आइशा की यह पोस्ट किस बारे में है।

तालिबान के साथ चीन की 'वास्तविक समस्या' हैं

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने मंगलवार को कहा कि चीन, पाकिस्तान, रूस और ईरान यह समझ नहीं पा रहे हैं कि तालिबान के साथ उन्हें क्या करना है ? तालिबान के अपनी अंतरिम सरकार के ब्योरे की घोषणा के कुछ समय बाद बाइडन ने संवाददाताओं से कहा कि तालिबान के साथ चीन की ”वास्तविक समस्या” है।
बाइडन ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ”चीन को तालिबान के साथ वास्तविक समस्या है। मुझे यकीन है कि वे तालिबान के साथ कुछ हल निकालने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसा ही पाकिस्तान, रूस, ईरान भी कर रहे हैं।” तालिबान द्वारा काबुल में अपनी नयी अंतरिम सरकार के गठन की घोषणा पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ”वे सभी (चीन, पाकिस्तान, रूस और ईरान) समझ नहीं पा रहे हैं कि अब वे क्या करें। तो देखते हैं कि आगे क्या होता है। यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या होता है।”
इस बीच, संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत रह चुकीं निक्की हेली ने एक ऑनलाइन याचिका शुरू की जिसमें अमेरिका की सरकार से अफगानिस्तान की तालिबान सरकार को मान्यता नहीं देने का अनुरोध किया गया है। हेली ने कहा, ” यह कहना जरूरी है कि इस प्रशासन के तहत अमेरिका को तालिबान को अफगानिस्तान की वैध सरकार के रूप में मान्यता नहीं देनी चाहिए।
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि तालिबान के नियंत्रण में अफगानिस्तान का नया गृह मंत्री एफबीआई की वांछित सूची में शामिल एक आतंकवादी है। गौरतलब है कि तालिबान ने मंगलवार को मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद के नेतृत्व वाली एक अंतरिम सरकार की घोषणा की, जिसमें प्रमुख पदों पर विद्रोही समूह के कई कट्टर सदस्यों को नियुक्त किया जाना है। इसमें गृह मंत्री के रूप में सिराजुद्दीन हक्कानी का नाम भी शामिल है, जो आतंकवादी संगठन हक्कानी नेटवर्क से ताल्लुक रखता है और उसका नाम वैश्विक आतंकवादियों की सूची में शामिल है।

इंडोनेशिया: जेल में आग लगने से 41 कैदियों की मौंत

जकार्ता। इंडोनेशिया की राजधानी के निकट बुधवार तड़के एक जेल में आग लगने से कम से कम 41 कैदियों की मौत हो गई, वहीं 39 अन्य झुलस गए। न्याय मंत्रालय के सुधार विभाग के प्रवक्ता रिका अपरिआंती ने कहा कि यह आग राजधानी के बाहरी इलाके में स्थित तांगेरांग जेल के ‘सी’ ब्लॉक में लगी। इस जेल में मादक पदार्थों की तस्करी से जुड़े अपराधियों को रखा जाता है। अधिकारी आग लगने के कारणों की जांच कर रहे हैं।
उन्होंने बताया कि इस जेल की क्षमता 1225 कैदियों को रखने की है लेकिन यहां दो हजार से अधिक कैदियों को रखा गया था। आग लगने के वक्त जेल के ‘सी’ ब्लॉक में 122 कैदी थे। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों और सैनिकों को आग बुझाने के काम में लगाया गया। प्रवक्ता ने बताया कि कई घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका और सभी कैदियों को अस्पताल पहुंचाया गया।

यूके: कृषि एवं उद्यान आदि विभागों की समीक्षा की

पंकज कपूर              
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय में कृषि एवं उद्यान आदि विभागों की समीक्षा की। कृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल, मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. सन्धु, अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्धन, सचिव शैलेश बगोली, आर. मीनाक्षी सुन्दरम के साथ ही सम्बन्धित विभागों के अधिकारी समीक्षा बैठक में उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि एवं औद्यानिकी के क्षेत्र की योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन से स्वरोजगार को बढ़ावा देने एवं पलायन रोकने में मदद मिल सकती है। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक किसानों को लाभान्वित करने तथा कृषि उत्पादों को बढ़ावा देने के लिये राज्य एवं केन्द्र सरकार की कृषि एवं औद्यानिक विकास से सम्बन्धित योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जायें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के परम्परागत उत्पादों के साथ ही फल एवं सब्जी उत्पादन पर विशेष ध्यान दिया जाय। इसके लिये प्रोसेसिंग यूनिटों की स्थापना के साथ ही उत्पादों की मार्केटिंग के लिये मार्केटिंग कम्पनी बनाये जाने की कार्य योजना अविलम्ब तैयार की जायें। उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादों को सिंचाई की बेहतर व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिये सिंचाई एवं लघु सिंचाई विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन में कृषि विभाग की भी सहभागिता सुनिश्चित करायी जायें।
मुख्यमंत्री ने परम्परागत कृषि विकास योजना तथा इसके अधीन लघु कृषक समूह प्रमाणीकरण के कलस्टर तैयार करने में भी तेजी लाये जाने हेतु भारत सरकार से पुनः अनुरोध किये जाने के भी निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में आने वाले करोड़ों पर्यटकों तक राज्य के जैविक एवं परम्परागत उत्पादों की पहुंच बनाने के भी प्रयास होने चाहिए। उन्होंने राज्य के चार जनपदों में मधु ग्राम योजना का प्रस्ताव भी अविलम्ब तैयार करने तथा हार्टिटूरिज्म को बढ़ावा देने पर भी बल दिया।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं कि किसानों एवं कास्तकारों को गुणवत्ता युक्त बीज एवं खाद आसानी से उपलब्ध हो इसकी व्यवस्था की जाय, उन्होंने उद्यान विभाग के उद्यानों के बेहतर उपयोग पर ध्यान देने तथा उनमें मौसमानुकूल नर्सरी विकसित करने पर भी ध्यान देने को कहा। मुख्यमंत्री ने एरोमा पार्क के विकास में तेजी लाने, जड़ी-बूटी एवं हर्बल उत्पादन को भी स्वरोजगार से जोड़ने की कार्य योजना बनाने को कहा।
सचिव आर मीनाक्षी सुन्दरम ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से विभागीय प्रगति एवं कार्यकलापों की जानकारी दी।


सिराजुद्दीन को अफगानिस्तान का गृहमंत्री बनाया

काबुल। जो मोस्ट वांटेड आतंकवादी है, जिसके सिर पर अमेरिका ने इनाम घोषित कर रखा है तालिबान ने अब उसी सिराजुद्दीन हक्कानी को अफगानिस्तान का नया गृहमंत्री बना दिया है। मंगलवार को तालिबान ने अफगानिस्तान में अपनी केयरटेकर सरकार बना ली। इस सरकार में सिराजुद्दीन हक्कानी को गृहमंत्री बनाया गया है। सिराजुद्दीन हक्कानी का नाता पाकिस्तान के नॉर्थ वजीरिस्तान इलाके से है। खूंखार आतंकवादी संगठन हक्कानी नेटवर्क को चलाने वाले सिराजुद्दीन हक्कानी के बारे में कहा जाता है कि वो नॉर्थ वजीरिस्तान के मिराम शाह इलाके में रहता है। हक्कानी नेटवर्क के इस शीर्ष आतंकवादी का नाम एफबीआई की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में अभी भी शामिल है। सिराजुद्दीन हक्कानी के कारनामों की लिस्ट भी काफी बड़ी है।
अफगानिस्तान के नए गृह मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी का नाम वैश्विक स्तर के आतंकवादियों की सूची में है। खास बात यह भी है कि अमेरिका ने उसके बारे में सूचना पर 50 लाख डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है। अमेरिका सिराजुद्दीन हक्कानी को अपना बड़ा दुश्मन मानता है। साल 2008 में जनवरी के महीने में काबुल में एक होटल पर हुए हमले का आरोप सिराजुद्दीन के सिर पर है। इस हमले में छह लोग मारे गये थे, जिसमें अमेरिकी भी शामिल थे। यूनाइटेड स्टेट के खिलाफ अफगानिस्तान में क्रॉस बॉर्डर अटैक में भी सिराजुद्दीन का हाथ माना जाता रहा है। इसके अलावा साल 2008 में अफगानी राष्ट्रपति हामिद करजई की हत्या की साजिश रचने में भी इस खूंखार आतंकी का नाम सामने आया था।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-389 (साल-02)
2. बृहस्पतिवार, सितंबर 9, 2021
3. शक-1984,सावन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:44, सूर्यास्त 07:10।
5. न्‍यूनतम तापमान -23 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...