कर्नाटक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कर्नाटक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शनिवार, 9 अक्तूबर 2021

शलमाला नाम की एक नदी में हजारों शिवलिंग बनें

बेगंलूरू। कर्नाटक के एक शहर सिरसी में शलमाला नाम की नदी बहती है। यह नदी अपने आप में खास है। क्योंकि इस नदी में एक साथ हजारों शिवलिंग बने हुए हैं। ये सभी शिवलिंग नदी की चट्टानों पर बने हुए हैं। यहां की चट्टानों में शिवलिंगो के साथ-साथ नंदी, सांप आदी भगवान शिव के प्रियजनों की भी आकृतियां भी बनी हुई हैं। हजारों शिवलिंग एक साथ होने की वजह से इस स्थान का नाम सहस्त्रलिंग पड़ा।
मान्यताओं के अनुसार, 16वीं सदी में सदाशिवाराय नाम के एक राजा थे। वे भगवान शिव के बड़े भक्त थे। शिव भक्ति में डूबे रहने की वजह से वे भगवान शिव की अद्भुत रचना का निर्माण करवाना चाहते थे। इसलिए राजा सदाशिवाराय ने शलमाला नदी के बीच में भगवान शिव और उनके प्रियजनों की हजारों आकृतियां बनवा दीं। नदी के बीच में स्थित होने की वजह से सभी शिवलिंगों का अभिषेक और कोई नहीं बल्कि खुद शलमाला नदी के द्वारा किया जाता है।

बुधवार, 29 सितंबर 2021

यादगीर पुलिस ने दलितों का धर्म परिवर्तन किया

यादगीर। कर्नाटक की यादगीर पुलिस ने कुछ दलितों का धर्म परिवर्तन कर उन्हें ईसाई बनाने के प्रयास के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया है।
यादगीर पुलिस अधीक्षक (एसपी) वेदमूर्ति ने कहा कि पुलिस ने सोमवार शाम इनकी गिरफ्तारी की और फिर चारों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपियों की पहचान जेम्स, शांताराज, नीलम्मा और मलम्मा के रूप में की गई है।  नीलाहल्ली गांव में हुए इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें जेम्स को कुछ युवाओं संग बहस करते हुए देखा गया है, जो दलितों को ईसाई धर्म में परिवर्तित कराए जाने का विरोध कर रहे हैं।
आरोपियों को वीडियो में यह तर्क देते हुए भी देखा गया कि उसके पास सामूहिक धर्म परिवर्तन के लिए सरकारी आदेश है। जेम्स को युवाओं के साथ यह भी बहस करते हुए देखा गया है कि वह गांव के दलितों का मतान्तर नहीं, बल्कि रुपांतर कर रहा है।
जेम्स से नाराज इन युवाओं ने यह सवाल किया कि जब गांव में कोई चर्च नहीं है, तो फिर वह दलितों के धर्म परिवर्तन का प्रयास क्यों कर रहा है। इसके जवाब में जेम्स ने कहा कि वह गांव के लोगों के धर्म परिवर्तन का प्रयास इसलिए कर रहा है ताकि उन पर ईश्वर की कृपा बनी रहे।
जब युवाओं ने जेम्स से उस सरकारी आदेश को भी दिखाने की मांग की, जिसमें सामूहिक धर्म परिवर्तन कराने की बात कही गई है, लेकिन वह सरकारी आदेश तो नहीं दिखा पाया बल्कि यह धमकाते हुए देखा गया कि इसके गंभीर परिणाम भुगतने सामने आयेंगे।
इसके बाद युवाओं ने रविवार को सैदपुर पुलिस स्टेशन में जाकर चार आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी, लेकिन जब इन्हें पता चला कि गिरफ्तार हुए आरोपी प्रतिवाद शिकायत दर्ज कराने की योजना बना रहे हैं, तो इन्होंने सोमवार को पुलिस थाने के सामने विरोध प्रदर्शन किया।
ईसाई समुदाय के लोग भी पुलिस थाने के बाहर जमा होकर धरना प्रदर्शन करने लगे और गिरफ्तार किए गए चारों लोगों की रिहाई की मांग करने लगे।
पुलिस के साथ हुई ईसाई समुदाय के लोगों की गहमागहमी में प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उनके लोगों ने गांव में किसी का भी धर्म परिवर्तन नहीं कराया है।

सोमवार, 27 सितंबर 2021

बयान: नेता प्रतिपक्ष सिद्धरमैया पर पलटवार किया

हुबली। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने भारतीय जनता पार्टी को तालिबानी बताने वाले कथित बयान के लिए नेता प्रतिपक्ष सिद्धरमैया पर पलटवार करते हुए कांग्रेस को गुलामगीरी की पार्टी बताया। सिद्धरमैया के बयान पर एक सवाल के जवाब में बोम्मई ने कहा, ”यह (कांग्रेस) गुलामगीरी की पार्टी है, इसलिए वे देशभक्ति को भी अलग तरह से देखते हैं।
हमारी पार्टी देशभक्त है, वह गुलामगीरी की पार्टी हैं।” उन्होंने यहां पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान अपनाई गई मैकाले की शिक्षा नीति के कारण, भारत वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने के अवसरों से वंचित हो गया। उन्होंने कहा, ”अब नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री के रूप में) शिक्षा प्रणाली में क्रांतिकारी बदलाव सुनिश्चित करने के लिए एक नयी शिक्षा नीति लाए हैं जो हमारे बच्चों, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को 21 वीं सदी के ज्ञान युग में ले जा सकती है, लेकिन वे (कांग्रेस) उसमें भी दोष ढूंढ रहे हैं।”
इससे पहले, रविवार को सिद्धरमैया ने आरोप लगाया था कि ”भाजपा” तालिबानी” हैं । उन्होंने दावा किया कि कर्नाटक में वास्तव में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) सरकार चला रहा है। बेंगलुरु में एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा था, ”आरएसएस और भाजपा हिटलर के वंश से हैं। भाजपा तालिबानी हैं। उनसे सावधान रहें।” इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बोम्मई ने कहा कि सिद्धरमैया के बयान से साफ पता चलता है कि वह ‘निराश’ हैं।

शुक्रवार, 24 सितंबर 2021

कर्नाटक में विस्फोट होने से 3 लोगों की मौंत हुईं

बेंगलुरु। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के चामराजपेट इलाके में एक परिवहन गोदाम में गुरुवार दोपहर अचानक हुए अस्थाई विस्फोट होने से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी और चार अन्य घायल हो गये।
पुलिस उपायुकत (दक्षिण) हरिश पांडे ने संवाददाताओं से कहा कि विस्फोट की इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गयी और चार अन्य घायल हो गये। विस्फाेट की यह घटना ना तो गैस सिलेंडर और ना ही शॉट सर्किट के कारण हुई। संभवत: यह विस्फोट किसी अस्थिर विस्फोटक के कारण हुआ है।
मृतकों में से दो गोदाम के अंदर काम कर रहे थे जबकि एक अन्य पास के पंक्चर दुकान में काम कर रहा था।
हरिश पांडे ने कहा कि घायलों में दो की हालत गंभीर है जबकि दो मामूली रूप से घायल हैं।
सभी घायलों की हालत खतरे से बाहर बताई जाती है।
उन्होंने कहा कि गोदाम में 60 से अधिक पेटी पटाखों का भंडारण किया गया था, लेकिन पुलिस एफएसएल रिपोर्ट मिलने के बाद ही यह बता पाने में सक्षम हो पायेगी कि कितने बक्से फटे। हरिश पांडे ने कहा कि पुलिस पूछताछ कर रही है कि क्या मालिक के पास परिवहन गोदाम में पटाखों को रखने की अनुमति थी। हमने गोदाम मालिक की पहचान कर ली है और उससे संपर्क करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।

गुरुवार, 23 सितंबर 2021

बेंगलुरू में विस्फोट होने से तीन लोगों की मौंत हुईं

बेंगलुरू। बेंगलुरू में बृहस्पतिवार की दोपहर को एक विस्फोट में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गयी और चार अन्य घायल हो गए। एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। बेंगलुरू दक्षिण के पुलिस उपायुक्त हरीश पांडेय ने यहां पत्रकारों को बताया, ” पंक्चर ठीक करने की एक दुकान के साथ बने एक परिवहन गोदाम में विस्फोट हुआ। तीन लोगों की मौत हो गयी जबकि चार लोग घायल हो गए हैं।” उन्होंने यह भी बताया कि थारागुपेट इलाके में हुए विस्फोट के पीड़ितों की पहचान कर ली गयी है।
उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि कुछ ‘अस्थिर रसायन’ के कारण विस्फोट हुआ जो एक औद्योगिक खेप का हिस्सा था। पांडेय ने बताया, ”विस्फोट की जांच की जा रही है। यह न सिलेंडर विस्फोट था और न ही पटाखे से हुआ विस्फोट या शॉर्ट सर्किट से हुआ विस्फोट था। कम्प्रेसर के टुकड़े भी नही मिले।
उन्होंने बताया कि फॉरेंसिक विशेषज्ञ विस्फोट की वजह पर अपनी राय देंगे। उन्होंने यह भी बताया कि गोदाम में अब भी ‘अस्थिर रसायन’ के 60 बक्से हैं। इस खेप के स्रोत और मालिक का पता लगाया जा रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विस्फोट इतना ताकतवर था कि दो किलोमीटर तक के दायरे में आने वाले लोगों ने इसकी आवाज सुनी जबकि स्थानीय लोगों को लगा कि भूकंप आया है।

मंगलवार, 21 सितंबर 2021

मिंत्रा व फ्लिपकार्ट के साथ साझेदारी की घोषणा की

बेंगलुरु। भारतीय पुरुष, महिला और अंडर-19 क्रिकेट टीम के आधिकारिक किट प्रायोजक एमपीएल स्पोर्ट्स ने मंगलवार को भारत में अपने खुदरा कारोबार का विस्तार करने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग मंच अमेजन, मिंत्रा और फ्लिपकार्ट के साथ साझेदारी की घोषणा की। इसके साथ, एथलीजर ब्रांड ने कहा कि उसका उद्देश्य भारतीय क्रिकेट टीम के मर्चेंडाइज सामानों को देश भर के क्रिकेट प्रशंसकों के लिए आसानी से सुलभ बनाना है।
बेंगलुरु की कंपनी ने एक बयान में कहा कि टीम की आधिकारिक जर्सी, ट्रेनिंग गियर और लाइफस्टाइल वियर का पूरा कलेक्शन इन मंचों पर पेश किया जाएगा। उसने बताया कि इन सामानों की कीमत 999 रुपये से शुरू होगी और उन्हें देश के उन शहरों में बेचा जाएगा जहां इन ई-कॉमर्स कंपनियों की सेवाएं उपलब्ध हैं। एमपीएल स्पोर्ट्स के प्रमुख शोभित गुप्ता ने कहा, “यह पहली बार है जब टीम इंडिया के मर्चेंडाइज सामान भारत में कई ई-कॉमर्स मंचों पर आधिकारिक रूप से उपलब्ध होंगे।

बुधवार, 15 सितंबर 2021

नाकामियों से उबरकर इतिहास रचने में मदद मिली

बेंगलुरू। भारतीय महिला हॉकी टीम की डिफेंडर उदिता का मानना है कि वर्तमान पर फोकस करने से उनकी टीम को टोक्यो ओलंपिक में शुरूआती नाकामियों से उबरकर इतिहास रचने में मदद मिली। भारतीय महिला हॉकी टीम टोक्यो ओलंपिक में चौथे स्थान पर रही जिसने क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया को हराया ।उदिता ने हॉकी इंडिया की एक विज्ञप्ति में कहा ,” मुझे लगता है कि पहले तीन मैचों में मिली हार के बाद वर्तमान पर फोकस करने से ही हम वापसी कर सके । इससे हमें आस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को हराने में भी मदद मिली और हमने टोक्यो में इतिहास रच डाला । ”
अपने ओलंपिक अनुभव के बारे में उन्होंने कहा ,” एक युवा खिलाड़ी के तौर पर हमने इस ऐतिहासिक अभियान से बहुत कुछ सीखा । हमने जाना कि दबाव का सामना कैसे किया जाता है और कैसे वर्तमान पर फोकस करने से मदद मिलती है ।” हिसार में जन्मी यह खिलाड़ी इस समय बेंगलुरू के भारतीय प्राधिकरण केंद्र में सीनियर महिला टीम की 25 संभावित खिलाड़ियों के शिविर में है।

गुरुवार, 9 सितंबर 2021

एलिजिबिलिटी टेस्ट की फाइनल आंसर-की जारी

बेंगलुरु। कर्नाटक टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट 2021 की फाइनल आंसर-की जारी कर दी गई है। इस वीक के अंत तक परिणाम घोषित होने की उम्मीद है। लिखित परीक्षा में शामिल हुए उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आंसर-की चेक कर सकते हैं और डाउनलोड कर सकते हैं। प्रोविजनल आंसर-की 24 अगस्त को जारी की गई थी, और उम्मीदवारों को 31 अगस्त तक ऑब्जेक्शन दर्ज करने के लिए कहा गया था। विभाग ने ऑनलाइन जमा की गई आपत्तियों के अलावा किसी अन्य मोड द्वारा दर्ज किए गए ऑब्जेक्शन पर विचार नहीं किया। बता दे कि कर्नाटक टीईटी 2021 फाइनल आंसर-की म्मीदवारों द्वारा उठाए गए ऑब्जेक्शन का विश्लेषण करने के बाद तैयार की गई है।

मंगलवार, 7 सितंबर 2021

सीएम पद संभाला, दिल्ली दौरे पर हैं बासवराज

बेंगलुरू। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद मंगलवार को दिल्ली को चौथी बार दिल्ली दौरे पर हैं। जहां वह मंत्रिमंडल में चार रिक्त मंत्री पदों को भरने के संबंध में केंद्रीय नेताओं से बातचीत कर सकते हैं। कई विधायकों द्वारा कैबिनेट से बाहर किए जाने पर नाराजगी व्यक्त करने के बीच राज्य में भारतीय जनता पार्टी भाजपा के भीतर असंतोष व्यापत है। नेताओं को शांत करने के लिए श्री बोम्मई के पास अपने मंत्रिमंडल में चार मंत्री के खाली पदों को भरने और विभिन्न बोर्डों और निगमों में अध्यक्षों की नियुक्ति करने का विकल्प है। राज्य में असंतुष्ट विधायकों में एसए रामदास, सांसद रेणुकाचार्य, सीपी योगेश्वर, रमेश जारकीहोली और श्रीमंत पाटिल शामिल हैं। सर्वश्री जारकीहोली, योगश्वर और पाटिल बार-बार दिल्ली का दौरा कर केंद्रीय नेतृत्व के साथ मंत्री पद की पैरवी कर रहे हैं। इसके अलावा एमटीबी नागराज और आनंद सिंह सहित कुछ मंत्रियों ने भी अपने विभागों के बंटवारे पर नाराजगी व्यक्त की है।

श्री सिंह इस मुद्दे पर हालांकि सबसे मुखर रहे हैं और उन्होंने मंत्री पद तथा विधानसभा सदस्यता से भी इस्तीफा देने के संकेत दिए हैं। इस पर संभावना जतायी जा रही है कि मुख्यमंत्री दिल्ली में इन दोनों मुद्दों पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से चर्चा करेंगे। श्री बोम्मई की इससे पहले दिल्ली दौरे के दौरान श्री नड्डा से मुलकात नहीं हो सकती थी। भाजपा अध्यक्ष निजी कारणों से उपलब्ध नहीं थे।

सोमवार, 6 सितंबर 2021

भाजपा ने बेलगावी, हुबली-धारवाड़ में बढ़त बनाईं

बेंगलुरु। कर्नाटक में हुए निगम चुनावों के शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बेलगावी, हुबली-धारवाड़ में बढ़त बना रखी है। जबकि कांग्रेस कलबुर्गी शहर में आगे है।
कलबुर्गी में निगम की 55, हुबली-धारवाड़ 82 तथा बेलगावी में 58 सीटे हैं। पूर्वाह्न 11 बजे तक भाजपा ने हुबली-धारवाड़ में 25 सीटें जीती है। वहीं कांग्रेस के खाते में 14 सीटें गई हैं। जबकि तीन सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी हुए हैं।
वहीं बेलगावी में भाजपा ने 14 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है। जबकि कांग्रेस की झोली में छह सीटें गई हैं। वहीं निर्दलीय ने पांच तथा ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईए) एक सीट जीती है।
उधर, कलबुर्गी में कांग्रेस ने पूर्वाह्न सवा दस बजे तक 12 सीटें जीती थी, जबकि भाजपा ने तीन वार्डों तथा जनता दल (एस) ने एक सीट पर जीत हासिल की थी।

शनिवार, 4 सितंबर 2021

अनुसंधानकर्ताओं द्वारा मॉड्यूलर उपकरण बनाया


बेंगलुरु। भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अनुसंधानकर्ताओं ने एक सर्व सुविधायुक्त, आत्मनिर्भर एवं मॉड्यूलर (जिसमें अनेक हिस्से होते हैं) उपकरण बनाया है। जो सूक्ष्मजीवों को विकसित करने में मददगार होगा। इस उपकरण की मदद से वैज्ञानिक बाह्य अंतरिक्ष में जीव विज्ञान संबंधी प्रयोग करने में सक्षम हो सकेंगे।
बेंगलुरु स्थित आईआईएससी की ओर से जारी एक वक्तव्य में बताया गया कि ‘एक्टा एस्ट्रोनॉटिका’ में प्रकाशित अध्ययन में अध्ययन दल ने दिखाया कि ‘स्पोरोसारसिना पास्चराई’ नाम के जीवाणु के विकास पर नजर रखने और उसे उत्प्रेरित करने के लिए उपकरण का किस तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है, वह भी इस तरह जिसमें मानवीय दखल कम से कम हो।
इसमें बताया गया कि इस तरह के जीवाणु कठोर पर्यावरण में किस प्रकार का व्यवहार करते हैं, यह समझने पर मानव अंतरिक्ष मिशन मसलन इसरो द्वारा नियोजित भारत के पहले मानव वाले अंतरिक्ष यान ‘गगनयान’ के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल पाएगी। इस अध्ययन से जुड़े वरिष्ठ अध्ययनकर्ता एवं मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के सहायक प्राध्यापक कौशिक विश्वनाथन ने कहा कि इसके पूरी तरह से सर्व सुविधायुक्त होने की जरूरत है, जिसकी किसी और पर निर्भरता नहीं हो।
इसके अलावा सामान्य प्रयोगशाला की तरह आप समान संचालन परिस्थितियों की उम्मीद नहीं कर सकते।” आईआईएससी और इसरो के दल द्वारा तैयार किए गए उपकरण में जीवाणु विकास पर नजर रखने के लिए एलईडी और फोटोडाओड सेंसर है। इसमें भिन्न प्रयोगों के लिए विविध कक्ष हैं और प्रत्येक कक्ष से डेटा एकत्रित और सुरक्षित किया जाएगा।


शनिवार, 28 अगस्त 2021

दुष्कर्म मामले को सुलझाने में पुलिस को कामयाबी

बेंगलुरु। कर्नाटक के गृह मंत्री अरग ज्ञानेंद्र ने शनिवार को कहा कि मैसुरू सामूहिक दुष्कर्म मामले को सुलझाने में पुलिस को कामयाबी मिली है। बहरहाल उन्होंने उन खबरों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया जिसमें कहा गया है कि घटना के संबंध में चार या पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है।
उन्होंने विस्तार से जानकारी दिए बिना कहा कि पुलिस को कामयाबी मिली है। इससे पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज एस बोम्मई ने भरोसा जताया कि पुलिस मैसुरू सामूहिक दुष्कर्म मामला जल्द से जल्द सुलझा लेगी और दोषियों को पकड़ लेगी। उन्होंने बताया कि पुलिस के पांच दल मामले की जांच कर रहे हैं। बोम्मई ने यहां पत्रकारों से कहा कि पुलिस ने मैसुरू मामले को बहुत गंभीरता से लिया है। मुझे विश्वास है कि पुलिस को जल्द से जल्द मामला सुलझाने में कामयाबी मिलेगी।
गौरतलब है कि मैसुरू में एक छात्रा से 24 अगस्त को शहर के बाहरी इलाके में सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोषियों ने पीड़िता के साथ मौजूद उसके एक पुरुष दोस्त से मारपीट भी की। उन्होंने दुष्कर्म की वीडियो सार्वजनिक न करने के लिए उनसे तीन लाख रुपये भी मांगे। कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक और पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण सूद सामूहिक दुष्कर्म मामले की जांच की निगरानी कर रहे हैं। इस घटना को लेकर जनता में काफी रोष है।

गुरुवार, 26 अगस्त 2021

कर्नाटक: मैसूर में मेडिकल की छात्रा से गैंगरेप किया

मैसूर। कर्नाटक के मैसूर में मेडिकल की छात्रा के साथ गैंगरेप की घिनौनी वारदात सामने आई है। पुलिस ने बताया कि मेडिकल छात्रा अपने एक पुरुष मित्र के साथ बाइक पर पीछे बैठकर चामुंडा हिल्स की ओर जा रही थी, तभी कुछ बदमाशों ने उन्हें रोक लिया और इस बर्बर घटना को अंजाम दिया। वारदात पर प्रतिक्रिया देते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने डीजीपी प्रवीण सूद को दोषियों जल्द से जल्द को पकड़ने के लिए कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।
पुलिस के अनुसार कि गिरोह के बदमाशों ने शुरूआत में छात्रा और उसके दोस्त को वहां रोककर उनसे पैसे मांगे थे। जब उन्होंने पैसे देने से इंकार कर दिया तो बदमाशों ने पीड़िता के दोस्त पर हमला करना शुरू कर दिया। पीड़िता के दोस्त की पिटाई के बाद वह सब पीड़िता को क्राइम स्पॉट पर ले गए और उसे अपने हवस का शिकार बनाया। मैसूर पुलिस आयुक्त डॉ. चंद्रगुप्त ने क्राइम स्पॉट का दौरा किया और मामले की जांच के लिए कई टीमें गठित की है।

रविवार, 22 अगस्त 2021

नेताओं को 'प्रताड़ित' करने की साजिश, निशाना

बेंगलुरू। कर्नाटक में कांग्रेस के विधायक और पूर्व मंत्री बीजेड जमीर अहमद खान ने आरोप लगाया कि उन्हें देश के अनेक राज्यों में प्रभावशाली मुस्लिम नेताओं को 'प्रताड़ित' करने की साजिश के तहत निशाना बनाया जा रहा है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने खान की संपत्तियों की हाल में तलाशी ली थी। खान ने यह दावा भी किया कि ऐसे प्रभावशाली मुस्लिम नेताओं की एक सूची तैयार की गयी है। उन्होंने कहा, ''मेरे लोग मेरी पूंजी हैं। जब तक मैं राजनीति में हूं, मैं ऐसा कुछ नहीं करुंगा जिससे मेरे लोगों को शर्म से अपने सिर झुकाने पड़ें।
उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि ईडी के छापों ने उनके बारे में कई लोगों के मन में संदेह को दूर कर दिया है। खान ने कहा, ''एक घर बनाने को मेरे सबसे बड़े अपराध की तरह दिखाया जा रहा है। इसलिए ईडी ने मुझ पर छापे मारे। ईडी ने जिस उम्मीद के साथ मेरे यहां छापे मारे, वह झूठी साबित हुई।
उन्होंने आरोप लगाया, ''विभिन्न राज्यों के प्रभावशाली मुस्लिम नेताओं की एक सूची तैयार की गयी है और उन्हें प्रताड़ित करने के प्रयास जारी हैं। इसी साजिश के तहत मुझे निशाना बनाया जा रहा है, लेकिन मैं ऐसी चीजों से डरने वाला नहीं।ईडी ने पांच अगस्त को विभिन्न स्थानों पर खान के आवास और दफ्तरों से जुड़े परिसरों पर एक साथ तलाशी ली थी। अपने ट्वीट पर संवाददाताओं के सवालों का जवाब नहीं देना चाह रहे चामराजपेट के विधायक ने कहा कि उन्हें जो कहना था, कह चुके हैं और मीडिया के सामने उन्हें और कुछ नहीं कहना।
मुस्लिम नेताओं की सूची बनाये जाने और उन्हें प्रताड़ित करने की साजिश के खान के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने कहा, ''मैं उनसे बात करता हूं, देखते हैं कि उनका क्या पक्ष है। हम पार्टी में विचार-विमर्श करेंगे।कांग्रेस विधायक ने शुक्रवार को शिवकुमार से उनके आवास पर मुलाकात की थी। इस बीच खान दिल्ली में हैं और अटकलें लगने लगीं कि ईडी ने उन्हें तलब किया है।
हालांकि इस तरह की अटकलों को खारिज करते हुए खान ने कहा, ''मैं निजी कामकाज से अक्सर दिल्ली जाता हूं। ईडी ने मुझे नहीं बुलाया, यह मीडिया के दिमाग की उपज है। अगर ईडी मुझे बुलाती है तो मैं मीडिया को बताऊंगा और नोटिस दिखाऊंगा।

चारधारा का प्रचार, दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया

बेंगलुरु। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने कुख्यात आतंकवादी संगठन आईएसआईएस की विचारधारा का प्रचार करने के आरोप में केरल में कन्नूर जिले के दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। एनआईए के सूत्रों ने बताया कि मिजा सिद्दीकी और शिफा हैरिस को 17 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था। मिजा पर शिफा और उसके चचेरे भाई मुशाब अनवर को कट्टरपंथी बनाने और उन्हें आईएसआईएस में शामिल होने के लिए प्रेरित करने का आरोप है। वहीं शिफा पर अनवर और मिझा के कहने पर आईएसआईएस की गतिविधियों को समर्थन देने के लिए मोहम्मद वकार लोन को फंड ट्रांसफर करने का आरोप लगाया गया है।
उन्होंने बताया कि मिजा ने सीरिया में आईएसआईएस में शामिल होने के लिए अपने सहयोगियों के साथ ईरान की यात्रा की थी। एनआईए ने केरल के मोहम्मद अमीन से सुराग मिलने के बाद उसे गिरफ्तार किया।अमीन पर आईएसआईएस मॉड्यूल के लिए नए सदस्यों को कट्टरपंथी बनाने और भर्ती करने का भी आरोप है। उसने मिज़ा को आईएसआईएस के लिए भोले-भाले मुस्लिम युवाओं को प्रचारित करने, प्रेरित करने, कट्टर बनाने और भर्ती करने के लिए इंस्टाग्राम पर एक पेज बनाने का निर्देश दिया था।
एनआईए ने गत पांच मार्च को अमीन और उसके सहयोगियों की आतंकवादी गतिविधियों से संबंधित मामला दर्ज किया था। मामले की विस्तृत जांच की जा रही है।

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

20 को कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर आएंगे नायडू

बेंगलुरु। उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू तुंगभद्र बांध तथा विश्व प्रसिद्ध हम्पी स्मारक को देखने के लिए 20 अगस्त को कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर आएंगे। नायडू वेंकैया 20 अगस्त को हेलिकॉप्टर से हुबली आएंगे और यहां से विजयनगर जाएंगे। विजयनगर पहुंचने के बाद वह 5.20 बजे विजयनगर तालुका स्टेडियम जाएंगे। जहां से वे सीधे तुंगभद्र बांध जाएंगे। उपराष्ट्रपति 21 अगस्त को हम्पी जाएंगे तथा श्री वीरुपक्ष मंदिर, श्रीकृष्ण मंदिर, कमला महल तथा अन्य स्मारकों को देखेंगे। स्मारकों तथा मंदिरों का भ्रमण करने के बाद वह रात में हम्पी में ही ठहरेंगे। श्री नायडू विशेष हेलिकॉप्टर से अगले दिन हुबली हवाई अड्डा के लिए रवाना हो जाएंगे।

सोमवार, 2 अगस्त 2021

विस्तार की कवायद में 1 सप्ताह का समय नहीं

बेगंलुरू। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई अपने मंत्रिमंडल के विस्तार पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में हैं। सूत्रों ने सोमवार को बताया कि मुख्यमंत्री रविवार को राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे और उनका भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने का कार्यक्रम है।
रविवार को, दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले, बोम्मई ने कहा था कि कैबिनेट विस्तार की कवायद में एक सप्ताह का समय नहीं लगेगा और नेतृत्व की ओर से सोमवार तक निर्देश आने की संभावना है। बोम्मई ने 28 जुलाई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और 26 जुलाई को उनके पूर्ववर्ती बी एस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इस बीच, मंत्री बनने के इच्छुक कई विधायकों ने बोम्मई से मुलाकात की है।

शनिवार, 31 जुलाई 2021

आयुर्विज्ञान संस्थान स्थापित के लिए मंजूरी मांगी

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई ने राज्य के हुबली-धारवाड़ में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) स्थापित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मंजूरी मांगी है। मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी बयान के मुताबिक बोम्मई ने प्रधानमंत्री से कलाबुर्गी में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल को क्षेत्रीय एम्स जैसे संस्थान के रूप में उन्नयन करने की भी प्रधानमंत्री से अपील की है। बयान में कहा गया है कि मोदी ने मुख्यमंत्री को राज्य के विकास के लिए पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया और राज्य की प्रगति के लिए उन्हें शुभकामनाएं दी।

मंगलवार, 27 जुलाई 2021

सीएम के इस्तीफे से आहत, समर्थक ने खुदकुशी की

बेंगलुरू। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफे से आहत होकर उनके एक समर्थक ने आत्महत्या कर ली है। जिस पर मुख्यमंत्री ने युवकों से ऐसे कदम नहीं उठाने का आग्रह किया है।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि मृतक की पहचान रवि(35) के तौर पर की गई है और वह चामराजनगर जिले के बोम्मालपुर गांव का रहने वाला था।
येदियुरप्पा ने इस घटना पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि राजनीति में अनेक उतार चढ़ावों का होना आम बात है और युवाओं को ऐसे कदम उठाने से परहेज करना चााहिए। उन्होंने कहा " यह सही कदम नहीं हैं और मुझे रवि के आत्महत्या करने पर बहुत दुख है। मैं उसके इस तरह के लगाव से अभिभूत हूं लेकिन इस तरह के कदमों की सराहना नहीं करना चाहता हूं।"
उन्हाेंने कन्नड भाषा में किए गए टवीट में कहा " अगर किसी परिवार को इस तरह के दुख का सामना करना पड़े तो इसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है।"
पुलिस ने बताया कि रवि एक दिहाड़ी मजदूर था और उसने येदियुरप्पा के इस्तीफे की वीडियो देखकर गांव में एक अन्य युवक गुरूस्वामी को कहा था कि येदियुरप्पा की आंखों में आंसू थे। इस बात को लेकर वह रात भर परेशान रहा और सुबह कैंटीन जाकर उसने आत्महत्या कर ली।
रवि को 2017 में हुए उपचुनाव में येदियुरप्पा के साथ देखा गया था। इस घटना के बाद चामराजनगर जिले के भाजपा कार्यकर्ताओं ने रवि के घर का दौरा किया है।

पार्टी की राज्य इकाई को बैठक बुलाने के निर्देश दिएं

बेंगलुरु। भरतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता बी एस येदियुरप्पा के कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद राज्य के नए मुख्यमंत्री के चयन की प्रक्रिया शुरू करने के वास्ते भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व ने पार्टी की राज्य इकाई को मंगलवार शाम को यहां विधायक दल की बैठक बुलाने के निर्देश दिए हैं।
येदियुरप्पा मंत्रिमंडल में गृह मंत्री रहे बसवराज एस बोम्मई ने यहां संवाददताओं से कहा,” एक निजी होटल में शाम सात बजे पार्टी विधायक दल की बैठक है।” मंत्रिमंडल को भंग कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके बाद भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक होगी जहां अंतिम निर्णय (नए मुख्यमंत्री के संबंध में) लिया जाएगा।
पार्टी के एक शीर्ष पदाधिकारी ने बताया कि भाजपा केन्द्रीय नेतृत्व के पर्वेक्षक – केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, जी कृष्ण रेड्डी और भाजपा के महासचिव तथा कर्नाटक प्रभारी अरुण सिंह के विधायक दल की बैठक में शामिल होने की उम्मीद है। गौरतलब है कि येदियुरप्पा ने अपने कार्यकाल के दो वर्ष पूरे होने के दिन सोमवार को पद से इस्तीफा दे दिया था।

विभाग द्वारा लगाईं गई प्रदर्शनी का शुभारंभ किया: यूपी

विभाग द्वारा लगाईं गई प्रदर्शनी का शुभारंभ किया: यूपी       बृजेश केसरवानी           प्रयागराज। विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष/मेलाधिकारी श्री...