गुरुवार, 9 जनवरी 2020

छात्र-शिक्षकों के साथ मारपीट, निंदनीय

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय एक बार फिर चर्चा में है, लेकिन अप्रिय कारणों से ही। विगत दिवस इस विश्वविद्यालय में चेहरा ढके लोगों ने छात्रों एवं शिक्षकों के साथ मारपीट करने के साथ जिस तरह तोड़फोड़ की उसकी जितनी भी निंदा की जाए, कम है। किसी भी शैक्षिक संस्थान में ऐसी हिंसा होना बेहद शर्मनाक है। इससे खराब बात और कोई नहीं कि देश की राजधानी का एक नामी विश्वविद्यालय खौफनाक गुंडागर्दी का गवाह बने। दिल्ली पुलिस को न केवल नकाबधारी हिंसक तत्वों को बेनकाब करना होगा, बल्कि उन्हें शह देने वालों तक भी पहुंचना होगा। अगर हिंसा के लिए जिम्मेदार तत्वों पर शिकंजा नहीं कसा गया तो यह विश्वविद्यालय खूनी छात्र राजनीति का अखाड़ा ही बनेगा और अपनी रही-सही प्रतिष्ठा से भी हाथ धोएगा। हालांकि जेएनयू प्रारंभ से ही वामपंथी विचारधारा का गढ़ रहा है, लेकिन बीते कुछ समय से वहां वैचारिक स्वतंत्रता के नाम पर अराजक एवं असहिष्णु विचारधारा को भी पोषण मिल रहा है। कभी-कभी तो ऐसा लगता है कि जेएनयू में उन्हें विशेष संरक्षण मिलता है जो भारतीयता, राष्ट्रीयता आदि को हेय दृष्टि से देखने को तत्पर रहते हैैं।
यह किसी से छिपा नहीं कि जेएनयू में कभी नक्सलियों का गुणगान होता है तो कभी आतंकियों का। इस तरह के ओछे आचरण को वैचारिक स्वतंत्रता के आवरण में ढकने की भी कोशिश होती है। इस कोशिश में कई राजनीतिक दल खुशी-खुशी इसलिए शामिल होते हैैं, क्योंकि इससे ही उनका हित सधता है। ये वही दल हैैं जो जेएनयू में रजिस्ट्रेशन के साथ पठन-पाठन को हिंसा के सहारे बाधित किए जाने पर तो मौन धारण किए रहे, लेकिन जैसे ही विश्वविद्यालय परिसर में नकाबपोशों के उत्पात की खबर मिली वैसे ही इस निष्कर्ष पर पहुंच गए कि यह सब कुछ सरकार के इशारे पर हुआ है। यह आरोप इसलिए गले नहीं उतरता, क्योंकि नागरिकता कानून के हिंसक विरोध से सरकार पहले ही परेशान हैै।
आखिर कोई सरकार खुद को सवालों से घेरे जाने वाला काम क्यों करेगी? कहीं ऐसा तो नहीं कि सरकार का संकट बढ़ाने पर आमादा ताकतों ने जेएनयू में उत्पात मचाने की साजिश रची हो? इस अंदेशे का एक बड़ा आधार यह है कि दोनों ही पक्ष के छात्र हिंसा का शिकार बने हैैं। बेहतर हो कि सरकार इसके लिए हर संभव कोशिश करे कि जेएनयू में हिंसा फैलाने वालों का सच जल्द सामने आए। आवश्यक यह भी है कि उन कारणों का निवारण किया जाए जिनके चलते जेएनयू अराजक शैक्षिक संस्थान के तौर पर कुख्यात हो रहा है। यह काम इसलिए प्राथमिकता के आधार पर होना चाहिए, क्योंकि इस संस्थान की स्थापना जिन उद्देश्यों के लिए की गई थी उनसे वह दूर जा रहा है।


बगदाद के ग्रीन जोन में रॉकेट से हमला

बगदाद। इराक की राजधानी बगदाद में रॉकेट से एक बार फिर हमला किया गया है। न्यूज एजेंसी एफपी के अनुसार ये हमला बगदाद के ग्रीन ज़ोन में हुआ है। ये वो इलाका है जहां अमेरीकी उच्चायोग के अलावा कई और देशों के दूतावास मौजूद है। कहा जा रहा है कि ये रॉकेट अमेरिकी दूतावास के बेहद करीब गिरी है। रॉकेट से हमले के बारे में इराकी सेना ने भी पुष्टि की है। इराकी सेना ने बताया कि ग्रीन जोन में दो रॉकेट गिरे हैं। बहरहाल, इस हमले में किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिली है। फिलहाल अभी किसी ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। अमेरिकी सेना के एक प्रवक्ता बी कैगनीस ने भी इस हमले की पुष्टि की है। उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा है कि रॉकेट से ये हमला स्थानीय समयक के मुताबिक रात 11:45 पर हुआ।


पंजाब विधानसभा का दो दिवसीय विशेष-सत्र

पंजाब विधानसभा का 2 दिवसीय विशेष सत्र 16 जनवरी से


आमित शर्मा 


चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा में अनुसूचित जाति एवं जनजाति (एससी/एसटी) आरक्षण को और 10 वर्ष तक आगे बढ़ाने की पुष्टि करने के लिए 16 जनवरी से दो दिवसीय सत्र का आयोजन होगा। विधानसभा में संविधान के 126वें संशोधन विधेयक 2019 के तहत बढ़ाए जाने वाले इस कोटे में एंग्लो-इंडियन शामिल नहीं होंगे। पंजाब कैबिनेट ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई बैठक में यह निर्णय लिया। एक प्रवक्ता के अनुसार, मंत्रिमंडल ने राज्यपाल को भारत के संविधान के अनुच्छेद 174(1) के तहत सदन के 10वें सत्र का आवाह्न करने की सिफारिश करने का निर्णय लिया। कैबिनेट ने पंजाब के राज्यपाल वी. पी. सिंह बदनोर के संबोधन को मंजूरी देने के लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत किया। विशेष सत्र 16 जनवरी को सुबह 10 बजे शुरू होगा। अगले दिन 17 जनवरी को संविधान (126वें संशोधन) विधेयक 2019 में संशोधनों की पुष्टि के लिए एक प्रस्ताव रखा जाएगा। इसके बाद सदन स्थगित हो जाएगा। इस दौरान निर्णय लिया गया कि मंत्रिमंडल 14 जनवरी को बैठक करेगा, जिसमें उन विधेयकों को मंजूरी दी जाएगी, जो विशेष सत्र के दौरान सदन के समक्ष रखे जाएंगे।


समान शिक्षा-जनसंवाद का किया आयोजन

मुश्ताक आलम


वाराणसी। सेवापुरी ब्लाक अन्तर्गत कपसेठी बाजार में सभी को सामान शिक्षा एवं पोस्टर प्रदर्शनी जनसंवाद का आयोजन किया गया। जहां आशा ट्रस्ट व मनरेगा मजदूर यूनियन के संयुक्त तत्वावधान में सभी के लिये समान शिक्षा की आवश्यकता पर जोर दिया गया। इस मौके पर बताया गया कि उच्च न्यायालय इलाहाबाद के न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल का आदेश है कि सरकारी खजाने से पैसा लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति अपने बच्चों को सरकारी विद्यालय में ही पढ़ायेंगे। उसी का अनुपालन करवाने, अपने आस-पड़ोस के सरकारी परिषदीय विद्यालय को बचाने, उसकी गुणवत्ता बेहतर बनाने, विद्यालय में समाज की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित कराने जैसे मुद्दों को लेकर यह आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान अभियान के संयोजक दीन दयाल सिंह ने कहा कि शिक्षा के बढ़ते बाजारीकरण के कारण आज समाज का एक बड़ा हिस्सा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से वंचित हो रहा है। कोई स्पष्ट नीति न होने से सरकारी विद्यालयों की स्थिति दयनीय होती जा रही है। इसी क्रम में यूनियन के संयोजक सुरेश राठौर ने कहा कि सरकारी स्कूलों को दयनीय स्थिति में छोड़ दिया जाता है जो दुर्भाग्यपूर्ण है। इस अवसर पर वल्लभाचार्य पाण्डेय, महेन्द्र कुमार, विनय सिंह, राजकुमार पटेल, मुस्तफा, प्रदीप सिंह, उमाशंकर सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।


शिवसेना ने अपराध के विरुद्ध दिया ज्ञापन

शिवसेना ने गरीब महिला सहित पत्रकारों के ऊपर गैराना अपराध के विरोध में कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन


विवेक पांडे, ब्यूरो चीफ 
सीधी से संतोष जायसवाल की रिपोर्ट


सीधी। शिवसेना जिला इकाई द्वारा सिहावल एसडीएम के विरोध में गैराना पूर्वक अपने पावर का इस्तेमाल करने वाले अधिकारी के खिलाफ गरीब महिला रामकली पटेल एवं पत्रकारों के ऊपर आपराधिक मुकदमे वापस लेने को लेकर कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन इस बीच शिवसेना जिला अध्यक्ष विवेक पांडे ने जानकारी दी कि सिहावल तहसील निवासी ग्राम नौढिया की रहने वाली गरीब महिला रामकली पटेल एवं पत्रकारों के ऊपर सिहावल एसडीएम राजेश सिन्हा द्वारा बिना जांच किए ही संविधान की नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए अपने पावर का गलत इस्तेमाल करते हुए फर्जी तरीके से अपराधिक मामले दर्ज करवाएं यह सरासर गरीब महिला रामकली पटेल एवं पत्रकार राजू गुप्ता अरुण गुप्ता एवं सुभाष तिवारी सहित हरीश द्विवेदी के साथ गलत हुआ एवं इस प्रकार की तानाशाही शिवसेना किसी हाल में बर्दाश्त नहीं करेगी श्री पांडे ने कहा कि जनता की सेवा के लिए एसडीएम राजेश सिन्हा को कुर्सी  पर बैठे है तानाशाही दिखाने के लिए नहीं अगर तानाशाही दिखानी  ही है तो मैदान में आए कुर्सी छोड़कर शिवसेना स्वागत करती है हमें कोई डर नहीं मुकदमे की समाज हित एवं राष्ट्रहित में  हम हर लड़ाई को लड़ने के लिए तैयार हैं आर या पार इस बीच श्री पांडे ने कहा कि बिना आग के धुआं नहीं उठता गरीब महिला के साथ भ्रष्टाचार हुआ होगा तब गरीब महिला द्वारा मजबूरन यह कदम उठाने में मजबूर रही होगी एवं एक गरीब के पास उसका धन तो उसकी गायब है सी है जो था वह देने में मजबूर हुई ऐसी स्थिति पैदा करने के लिए पूर्ण जिम्मेदार एसडीएम राकेश सिन्हा जी हैं 707 प्रशासन यह भी ध्यान दें कि पत्रकार कोई भीड़ का हिस्सा नहीं है कि आपका मन किया आप ने मुकदमा दर्ज कर दिया संविधान सबके लिए बराबर है लेकिन जांच कर कार्यवाही करने का अधिकार है एवं जैसा राकेश सिन्हा द्वारा किया गया बहुत ही गलत है आगामी 15 दिवस के अंदर गरीब महिला रामकली पटेल सहित पत्रकारों के ऊपर से मुकदमा वापस नहीं लिया गया तो शिवसेना द्वारा प्रदर्शन  किया जावेगा इस बीच मौजूद रहे शिवसेना जिलाध्यक्ष विवेक पांडे शिवसेना जिला उपाध्यक्ष संत कुमार केवट शिवसेना जिला सचिव संतोष सिंह चौहान उर्फ भोले शिवसेना जिला प्रवक्ता रावेंद्र शुक्ला शिवसेना वार्ड क्रमांक चार प्रमुख सनी भारती जिला महामंत्री आशीष मिश्रा युवा कोषाध्यक्ष लाला वर्मा एडवोकेट पांडे जी सहित कई शिवसैनिक मौजूद रहे।


जिला कार्यकारिणी के लिए भेजे गए 15 नाम

नादौन। बीजेपी मंडल नादौन की कार्यकारिणी गुरुवार को घोषणा कर दी गई है। कार्यकारिणी (Executive) की घोषणा करते हुए बीजेपी मंडल अध्यक्ष कैप्टन हरदयाल सिंह ने बताया कि इसमें दो महामंत्री, चार उपाध्यक्ष, पांच सचिव, एक मीडिया प्रभारी, एक सह मीडिया प्रभारी, एक कोषाध्यक्ष व 32 कार्यकारिणी सदस्य बनाए गए हैं। वहीं, जिला कार्यकारिणी के लिए 15 नाम भेजे गए हैं। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र के चार जिला परिषद वार्डों में प्रत्येक वर्ग को प्रतिनिधित्व देने का प्रयास किया गया है। वहीं 10 महिलाओं को भी इसमें स्थान दिया गया है। इस कार्यकारिणी में पवन शर्मा को दोबारा महामंत्री बनाया गया है। राजेंद्र ठाकुर को महामंत्री, ओमा चंद ठाकुर, सुरेंद्र शिंदा, डॉ नरेश, सुभाष ठाकुर व मीना कुमारी को उपाध्यक्ष का पद सौंपा गया है।


पदों के लिए आवेदन करें महिला उम्मीदवार

मंडी। जिला की विभिन्न पंचायतों में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के खाली पड़े पदों को भरने के लिए इच्छुक महिला उम्मीदवार बाल विकास परियोजना अधिकारी सदर मंडी के कार्यालय में 2 फरवरी तक आवेदन कर सकती हैं। बाल विकास परियोजना अधिकारी धनी राम ने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र अनसर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, जबकि आंगनबाड़ी केंद्र जागर, जला व हटौण में आंगनबाड़ी सहायिकाओं  के एक-एक पद के लिए ये चयन प्रक्रिया की जा रही है। उम्मीदवार आवेदन के लिए साधारण आवेदन पत्र के साथ समस्त प्रमाण पत्रों की सत्यापित छाया प्रतियां अवश्य लगाएं। साक्षात्कर 3 फरवरी को प्रातः 10 बजे बाल विकास परियोजना अधिकारी सदर मंडी (कल्याण भवन) में लिए जाएंगे।


दुकानें बंद, काले बिल्ले लगाकर जताया रोष

मंडी। शहर के केंद्र में बने इंदिरा मार्केट के व्यापारियों ने मार्केट की छत पर लगाई गई हिमाचल खादी व ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का विरोध किया। इसके विरोध में व्यापार मंडल ने मार्केट में दुकानों को बंद रखने के साथ ही काले बिल्ले लगाकर रोष भी जताया। व्यापार मंडल ने इसके साथ ही जिला प्रशासन पर वादाखिलाफी करने का आरोप भी लगाया। व्यापार मंडल के अनुसार जिला प्रशासन ने उन्हें आश्वस्त किया था कि इंदिरा मार्केट की छत पर किसी भी प्रकार की व्यावसायिक गतिविधि को नहीं किया जाएगा, लेकिन अब मार्केट की छत पर ही हिमाचल खादी और ग्रामोद्योग की प्रदर्शनी लगा दी गई है। इंदिरा मार्केट की छत पर लगाए गए मेले का इंदिरा मार्केट का व्यापार मंडल विरोध कर रहा है और जिसके विरोध में इंदिरा मार्केट के व्यापार मंडल ने 2 घंटे के लिए सांकेतिक तौर पर मार्केट पूरी तरह से बंद कर दी।


बर्फबारी से एक हाईवे सहित 854 सड़के बंद

शिमला। बर्फबारी के चलते हिमाचल में पांच एनएच और एक स्टेट हाईवे सहित 854 सड़कें बंद हैं। इसके अलावा 3866 बिजली ट्रांसफार्मर और 38 आईपीएच स्कीमें प्रभावित हुई हैं। प्रधान सचिव (आपदा प्रबंधन व राजस्व) ओंकार शर्मा ने बताया कि गत दिन हिमाचल में अच्छी बर्फबारी हुई है। एक फीट से लेकर 5 फीट तक बर्फबारी  रिकॉर्ड की गई है। इसके चलते जिलों में पहले ही येलो अलर्ट जारी किया गया था। सभी जिला के डीसी को अलर्ट रहने के आदेश दिए गए थे। साथ ही मशीनरी में तैनात की थी। उन्होंने कहा कि उक्त बंद सड़कों में से काफी सड़कें आज बहाल कर दी जाएंगी। कोशिश रहेगी कि अगले दो तीन-दिन जनजीवन पहले की तरह सामान्य हो सके।


कांगड़ा में भव्य परशुराम भवन का निर्माण

कांगड़ा। बज्रेश्‍वरी देवी मंदिर कांगडा में संस्कृत महाविद्यालय शुरू होगा, इसी तरह कांगड़ा का मकर संक्रांति पर्व जिलास्तरीय होगा। ये घोषणा सीएम जयराम ठाकुर ने आज ब्राह्मण कल्याण परिषद के रजत जयंती समारोह  में की। उन्होंने कहा कांगड़ा में परशुराम भवन बनेगा, इसके लिए जल्द जमीन की औपचारिकताएं पूरी होंगी।उन्होंने भवन निर्माण को 21 लाख रुपये देने की भी बात कही। ठाकुर ने कहा समुदाय कोई भी हो सबसे पहले वह समाज का हिस्सा है। ब्राह्मण समुदाय की समाज में महत्वपूर्ण भूमिका है। सीएम जयराम ने कहा संस्कारों को अपने जीवन का हिस्सा बनाते हुए परशुराम के संदेशों को अपने जीवन में ढालें। समारोह में बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता शांता कुमार, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री विपिन परमार, शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी भी मौजूद रहे। इस अवसर पर ब्राह्मण कल्याण परिषद की स्मारिका का भी विमोचन किया।


पुलिस ने चार तस्करों को किया गिरफ्तार

हल्द्वानी। हल्द्वानी पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है शहर में एसओजी की संयुक्त टीम ने लाखों रुपए की शराब के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों को कार्रवाई करते हुए न्यायालय में पेश किया गया है। प्रभारी दिनेश पंत व टीपीनगर चौकी प्रभारी राहुल राठी ने मुखबिर की सूचना पर कारवाही करते हुए भारी मात्रा में दो वाहनों से अंग्रेजी शराब का जखीरा पकड़ा। जानकारी के अनुसार पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी थी और सूचना पाकर पुलिस टीम ने हरिपुर जमन सिंह चौराहे पर चैकिंग अभियान चला दिया। पुलिस ने दोनों वाहनों का आते देख और रोक कर तलाशी ली तो पिकअप संख्या यूपी22एटी 2492 से 180 अंग्रेजी शराब पेटी बरामद हुई। इसके साथ ही इकॉन कार संख्या यूके 04एम-1149 से 10 पेटी शराब बरामद हुई। कार में सवार तस्करों ने पूछताछ में अपना नाम यशपाल पाल पुत्र छत्रपाल सिंह निवासी देवलचौड़ रामपुर रोड, अब्दुल सलाम पुत्र अनवर हुसैन व इंतजार पुत्र हबीब निवासी दड़ियाल जिला रामपुर बताया।वही पकड़े गये चौथे शराब तस्कर ने अपना नाम अमित पुत्र भानु प्रताप दीक्षित निवासी किदवई नगर कानपुर हाल निवासी पनचक्की चौराहा दमुवादूंगा बताया। अमित ने बताया कि हरिपुर जमन सिंह में उसने एक गोदाम किराए पर ले रखा है। जहां से वह शराब तस्करी का धंधा करता है। जब पुलिस ने अमित से गहनता से पूछताछ की तो वह गोदाम में पुलिस को ले गया। जहां से पुलिस को 110 और अंग्रेजी शराब की पेटियां बरामद हुई। कुल मिलाकर पुलिस ने 300 पेटी शराब बरामद की।


सामना करने के लिए वार्नर होगा तैयार

नई दिल्ली। आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर भारत में तीन मैचों की वनडे सीरीज में अपनी छाप छोड़ने को तैयार हैं। सीरीज की शुरुआत 14 जनवरी से मुंबई में हो रही है। वार्नर ने इसे लेकर सोशल मीडिया पर एक फोटो पोस्ट की है। वार्नर ने गुरुवार को इंस्टाग्राम पर फोटो के साथ लिखा कि भारत हम आ रहे हैं। वहां सीरीज शानदार होगी। भारतीय प्रशंसकों को देखकर खुश होऊंगा। आस्ट्रेलिया ने 2019 में भारत का दौरा किया था। इस दौरे पर आस्ट्रेलिया ने 3-2 से सीरीज अपने नाम की थी वो भी तब वह सीरीज के अपने शुरुआती दो मैच हार चुकी थी। उस दौरे पर वार्नर टीम के साथ नहीं थे क्योंकि वे बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण निलंबन झेल रहे थे। इसी कारण स्टीव स्मिथ भी उस विजयी आस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा नहीं थे। अब जबकि यह दोनों वापस आ चुके हैं तो आस्ट्रेलियाई टीम काफी मजबूत हो रही है।


पुलिस ने तीन आतंकवादियों को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने तीन आतंकवादियों को पकड़ा है। इनके पास से कई आपत्तिजनक चीजें भी बरामद हुई हैं। दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सूत्रों ने गुरुवार दोपहर में इन आतंकवादियों की गिरफ्तारी की पुष्टि की।दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के लोधी कालोनी इलाके में मौजूद पड़ताल केंद्र में इन आतंकवादियों से पूछताछ जारी है, गुरुवार सुबह तीन अलग-अलग टीमों ने इन आतंकियों से पूछताछ की थी। इसके बाद स्पेशल सेल की तीनों टीमों ने आतंकवादियों से मिली जानकारियां आपस में साझा की। स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक, फिलहाल इन तीनों आतंकवादियों से अलग-अलग बातचीत करने के बाद इस वक्त एक साथ बैठाकर पूछताछ की जा रही है। अब से थोड़ी ही देर में इन आतंकवादियों की आधिकारिक जानकारी दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल द्वारा पुलिस मुख्यालय में दिए जाने की उम्मीद है। सूत्रों ने बताया कि इन तीनों से मिली जानकारी के आधार पर तमाम संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी भी शुरू कर दी गई है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक, “गुरुवार को तीनों आतंकवादियों को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के वजीराबाद इलाके में हुई एक मुठभेड़ के बाद पकड़ा जा सका। ये तीनों आतंकवादी आईएसआईएस से प्रभावित थे।” उल्लेखनीय है कि 25 नवंबर, 2010 को भी दिल्ली पुलिस ने आईएसआईएस से प्रभावित तीन आतंकवादियों को असम में पकड़ा था। उन आतंकवादियों के पास से विस्फोटक भी जब्त किया गया था।


झूठी अफवाह फैलाने के लिए कार्रवाई की मांग

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि वह हिंसा रुकने के बाद ही नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) की वैधता पर सवाल करने वाली याचिकाओं पर सुनवाई करेगा। प्रधान न्यायाधीश एस.ए.बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि प्रदर्शन के दौरान पहले ही बहुत ज्यादा हिंसा हुई है। इस पीठ में न्यायमूर्ति बी.आर. गवई व सूर्यकांत शामिल हैं। प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि देश पहले से ही कठिन समय से गुजर रहा है और शांति बहाली के लिए प्रयास होना चाहिए और मामले में इस तरह की याचिकाएं मदद नहीं करेंगी।अदालत की यह टिप्पणी वकील विनीत ढांढा द्वारा दायर याचिका पर आई है, जिसमें उन्होंने सीएए को संवैधानिक घोषित करने व सभी राज्यों को इसे क्रियान्वित करने के लिए कोर्ट से निर्देश देने की मांग की गई है। ढांढा ने सीएए की संवैधानिकता की रक्षा के लिए शीर्ष कोर्ट का रुख किया और साथ ही कार्यकर्ताओं, छात्रों, मीडिया हाउसों के खिलाफ झूठी अफवाह फैलाने के लिए कार्रवाई की मांग की है।


बासमती चावल का होगा उत्पादन

नई दिल्ली। ईरान और अमेरिका के बीच टकराव से खाड़ी क्षेत्र में गहराते फौजी तनाव से भारत में बासमती चावल निर्यातकों की चिंता बढ़ गई है, क्योंकि ईरान बासमती चावल का सबसे बड़ा आयातक है और हालिया घटना से ईरान की खरीदारी पर असर पड़ सकता है। ईरान पिछले कुछ महीने से भारत से बासमती चावल नहीं खरीद रहा है, लेकिन भारतीय कारोबारियों को उम्मीद थी कि जनवरी के आखिर तक ईरान आयात खोल सकता है। अब, फौजी तनाव की स्थिति में इसमें विलंब हो सकता है। साथ ही, भारतीय कारोबारी भी अब ऐसे हालात में ईरान को अपना माल भेजने से घबराएंगे। पंजाब बासमती राइस मिल्स एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी आशीष कथूरिया ने ताजा घटनाक्रम पर आईएएनएस से बातचीत में कहा कि ईरान और अमेरिका के नई दिल्ली। बीच टकराव से जो हालात पैदा हुए हैं, उसमें भारतीय कारोबारी ईरान से कारोबार करने में घबराएंगे क्योंकि ऐसी स्थिति में कई बार ऐसा होता है कि लाखों टन माल पड़ा रह जाता है और जो माल जाता भी है, उसका पैसा आना मुश्किल हो जाता है। हालांकि उन्होंने कहा कि ऐसे हालात में संभव है कि ईरान को सीधे माल न जाए बल्कि दुबई को ज्यादा निर्यात हो, जहां से ईरान जरूरत के अनुसार चावल उठा सकता है। खाड़ी क्षेत्र में फौजी तनाव बढ़ने के बाद देश में बासमती धान और चावल के दाम में गिरावट आई है। बीते सप्ताह 1121 बासमती धान का दाम जहां 3,150 रुपये प्रति क्विंटल था, वहां इस सप्ताह घटकर 2,800-2,900 रुपये प्रति क्विंटल पर आ गया है। वहीं, 1121 बासमती चावल का दाम भी घटकर 5,000-5,500 रुपये प्रतिक्विंटल के बीच आ गया है। कथूरिया ने बताया कि पिछले साल के मुकाबले इस साल देश में बासमती का उत्पादन तकरीबन 28 फीसदी ज्यादा हुआ है और निर्यात सुस्त है जिसके चलते बासमती के दाम में पिछले साल के मुकाबले तकरीबन 25 फीसदी की गिरावट आई है। उत्तराखंड के चावल कारोबारी लक्ष्य अग्रवाल ने कहा कि चावल का निर्यात इस साल पहले से ही घटा हुआ है और खाड़ी क्षेत्र के ताजा घटनाक्रम के बाद बासमती चावल का निर्यात घटने की आशंकाओं से चावल की घरेलू कीमतों में नरमी बनी हुई है। हालांकि बासमती एक्सपोर्ट डेवलपमेंट फाउंडेशन के निदेशक ए. के . गुप्ता का कहना है कि सिर्फ युद्ध की स्थिति में खाद्य उत्पादों के आयात-निर्यात में रुकावटें आती हैं। ऐसी स्थिति अभी पैदा नहीं हुई है, इसलिए बासमती चावल निर्यात पर बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने बताया कि ईरान में आगे चुनाव होना है जिसकी वहज से आयात खुलने में देर हो सकती है। ईरान चावल के अपने घरेलू उत्पादकों को प्रोत्साहन देने के लिए साल के आखिर में कुछ महीनों के लिए भारत से बासमती चावल का आयात रोक देता है, लेकिन नए साल में आयात पर प्रतिबंध हटा लेता है। इस साल अब तक ईरान ने बासमती चावल आयात पर प्रतिबंध नहीं हटाया है। कथूरिया का अनुमान है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल बासमती चावल का निर्यात तकरीबन 10 फीसदी घट सकता है। वाणिज्य एवं मंत्रालय के आंकड़ों पर गौर करें तो रुपये के मूल्य में बासमती चावल का कुल निर्यात चालू वित्त वर्ष 2019-20 के शुरुआती आठ महीने यानी अप्रैल से लेकर नवंबर तक तकरीबन चार फीसदी घट गया है। पिछले साल अप्रैल-नवंबर के दौरान भारत ने 18,439.77 करोड़ रुपये का बासमती चावल निर्यात किया था जो इस साल 3.89 फीसदी घटकर 17,723.19 करोड़ रुपये रह गया है। बासमती चावल कारोबारियों का अनुमान है कि इस साल देश में बासमती चावल का उत्पादन तकरीबन 80-82 लाख टन होगा।


डीएम के आदेश का उल्लंघन करता स्कूल

 लखनऊ। मोहनलालगंज क्षेत्र के अंतर्गत केपीएस पब्लिक स्कूल इन खेड़ा आज छुट्टी के बावजूद भी खुला रहा डीएम के आदेश का नहीं हो रहा पालन, कोचिंग के नाम पर कक्षा 9 से 12 तक संचालित होती है कक्षाएं। इलाहाबाद के कौशांबी में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के छात्र और छात्राओं के फार्म भरवा कर इसी विद्यालय में कक्षाएं संचालित होती है। कहीं ना कहीं शिक्षा के शिक्षा अधिकारियों की ऊंची पहुंच के चलते ऐसे मोहनलालगंज क्षेत्र में कई बगैर मान्यता प्राप्त चल रहे हैं विद्यालय यह तो सिर्फ एक बानगी है। एसकेपीएस विद्यालय में नाही शौचालय व पेयजल की व्यवस्था है एक हैंडपंप भी है वह भी माशाअल्लाह है


एम्स में मरीजों को दवा की है दिक्कत

रायपुर। छत्तीसगढ़ की जनता को एम्स की सौगात मिलने से दूरदराज के क्षेत्रों व अन्य राज्यों से आने वाले मरीजों के लिए वरदान साबित हो रहा है वहीं दूसरी ओर एम्स में स्थित शासकीय मेडिकल स्टोर से दवा खरीदने के लिये मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दवा खरीदने के लिये मरीजों को एक ही दवा के लिये तीन बार अलग-अलग लाईन लगाना पड़ रहा है,जिसके चलते आये दिन एम्स के गेट नं.एक में स्थित अमृत फार्मेसी शासकीय मेडिकल स्टोर की टीम व मरीजों के बीच विवाद हो रहा है। मरीजों का कहना है कि इलाज के दौरान डाक्टरों द्वारा लिखी गई पर्ची को लेकर वे दवा लेने के लिये शासकीय मेडिकल स्टोर में पहुंचते है तो उन्हें दवा लेने के लिये अलग-अलग काउंटर में तीन बार लाईन लगाना पड़ रहा है जिसके चलते घंटो खड़े रहना पड़ता है। स्टोर संचालकों द्वारा एक काउंटर पर पहले बुक जमा कराया जाता है उसके बाद दूसरे काउंटर में पर्ची दिया जाता है उसके बाद तीसरे काउंटर में दवा दिया जाता है। शासकीय मेडिकल स्टोर में जेनरिक दवाओं के मूल्यों में छूट के चलते बड़ी संख्या में मरीजों की दवा लेने के लिए भीड़ लग रही है। स्टोर संचालक द्वारा कुछ दवाओं को ही स्टोर में उपलब्ध होने की बात कहकर मरीजों को दिया जा रहा है वहीं महंगी दवाईयों के लिए मरीजों को बाहर के मेडिकल स्टोर से खरीदने के लिए कहा जा रहा है। मरीजों ने एम्स के डायरेक्टर डॉ. नितिन एम. नागरकर से मेडिकल स्टोर में सभी दवाएं उपलब्ध कराने की मांग करते हुए एक ही काउंटर से दवा बिक्री किये जाने की मांग की है।


कॉस्टेबल ने लगाए अधिकारियों पर आरोप

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में तैनात एक महिला कॉस्टेबल का वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें उन्होंने अपने अधिकारियों द्वारा शोषण करने का आरोप लगाया है। महिला कॉन्स्टेबल रो-रो कर अपने ऊपर हुए शोषण की कहानी बता रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि जिस तरीके से देश-प्रदेश में बलात्कार हो रहे हैं। उन महिलाओं को मैं कैसे भरोसा दिला दूंगी और कैसे उनको न्याय मिलेगा? जब मेरे अधिकारी स्वयं मेरा खुद का शोषण कर रहे हैं। कप्तान साहब के पीआरओ और आरआई ने किया है शोषण। जिसके बचाव में पुलिस अधीक्षक स्वयं खड़े हैं। पीआरओ के ऊपर महिला कॉस्टेबल ने लगाया है आरोप कि पुलिस अधीक्षक से मिलने नहीं दे रहे हैं। महिला कॉस्टेबल अपने ऊपर होने वाले अत्याचारों के विरुद्ध पुलिस अधीक्षक से मिलकर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करने का मन बना चुकी है किंतु प्रदेश की भ्रष्ट नीति के कारण महिला को अधिकारियों से नहीं मिलने दिया जा रहा है। इसके पीछे वजह चाहे जो भी रही हो, लेकिन इससे यह जाहिर होता है कि योगी की पुलिस अपना आपा खो चुकी है और स्वयं अपराधिक प्रवृत्ति के संपर्क में आ चुकी हैं।


माघ मेले में पांटून पुल पर वनवे यातायात

माघ मेला क्षेत्र में बनाये गये पान्टून पुल पर वनवे यातायात का किया जायेगा संचालन
प्रयागराज। पुलिस अधीक्षक यातायात, प्रयागराज ने बताया है कि माघ मेला 2020 को सकुशल सम्पन्न कराये जाने हेतु माघ मेला क्षेत्र में बनाये गये पान्टून पुल पर (संगम क्षेत्र से झूंसी की ओर तथा झंूसी से संगम क्षेत्र की ओर) वनवे यातायात का संचालन कराया जायेगा, जिसके तहत दारांगज संगम क्षेत्र से झूंसी की ओर जाने वाले तीर्थयात्री पान्टून पुल संख्या 01, 03, 05 का प्रयोग करते हुए झूंसी संगम लोवर क्षेत्र की ओर से जायेंगे। इसी प्रकार झूंसी की ओर से दारागंज संगम क्षेत्र की ओर आने वाले तीर्थयात्री पान्टून पुल संख्या 02, 04 का प्रयोग कर दारांगज संगम अपर क्षेत्र की ओर जायेंगे।
मौनी अमावस्या स्नान पर्व 24.01.2020 के दिन लखनऊ रोड का वनवेप्लान आवश्यकतानुसार पर्व समाप्ति तक संचालित किया जायेगा। लखनऊ की ओर से आने वाले वाहनों को नवाबगंज से कोखराज बाईपास से धूमनगंज की ओर से शहर क्षेत्र में लाया जाएगा। इसी प्रकार प्रतापगढ़ की ओर से आने वाले वाहनों को सोरांव बाईपास से मोड़कर कोखराज बाईपास से धूमनगंज की ओर से शहर क्षेत्र में लाया जाएगा या सहसों की ओर मोड़ कर झूंसी मेला क्षेत्र की ओर जाया जाएगा।
रिपोर्ट बृजेश केसरवानी जिला संवाददाता इलाहाबाद प्रयागराज


केजरीवाल के खिलाफ भाजपा से विश्वास

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ भाजपा की ओर से कवि कुमार विश्वास लड़ेंगे चुनाव ?
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आप पार्टी के पूर्व नेता और कभी अरविंद केजरीवाल के सबसे करीबी रहे कवि कुमार विश्वास चुनाव लड़ सकते हैं।
चर्चा है कि कुमार विश्वास जल्द भाजपा में शामिल हो सकते हैं ? और भाजपा उन्हे नई दिल्ली विधानसभा सीट से आप पार्टी के उम्मीदवार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के विरुद्ध मैदान में उतार सकती है। भाजपा की ओर से अभी इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, पर कहा जा रहा है कि दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित कई नेता चाहते हैं कि कुमार विश्वास को भाजपा की ओर से अरविंद केजरीवाल के खिलाफ खड़ा किया जाए।


बच्चों से भरी बस अनियंत्रित होकर पलटी

बच्चों से भरी स्कूली बस अनियंत्रित होकर पलटी । प्रयाग पब्लिक स्कूल लालगोपालगंज की थी बस । बाघराय थाना क्षेत्र के जमलामऊ में हुई घटना।छुट्टी के आदेश के बाद भी खुला था स्कूल।
आधा दर्जन बच्चे घायल। स्कूली बस पलटी बाल बाल बचे बच्चे।
आये दिन होता हैं हादसा
 प्रतापगढ़। प्रयाग पब्लिक स्कूल श्रृंगवेरपुर की बस जमलामऊ में पलटी बाल बाल बचे बच्चे जिसका ड्राइवर बस छोड़ के तुरन्त भाग निकला फिर गाँव वालों ने दौड़ के बस का सीसा तोड़ कर बच्चो को बाहर निकाला जिसमे से कुछ बच्चे चोटिल भी हो गए है जिनका नाम   आर्या मिश्रा पुत्रीअजय कान्त मिश्रा गौरा, रिचा मिश्रा पुत्रीआलोक मिश्रा गौरा, प्रज्ञा मिश्रा पुत्री रामा कान्त मिश्रा रामपुर कोटवा,अंकिता यादवपुत्री पवन कुमार यादव महन्दापुर  अंश पांडे पुत्र दीपक पांडे सुकुलपुर,छितिज सिंह पुत्र ओम प्रकाश सिंह,कालू सिंह का पुरवा, विशप द्विवेदी,पुत्र प्रदीप द्विवेदी विसनाही,अंश त्रिपाठी,पुत्र दुर्गेश त्रिपाठी रामपुर कोटवाहै जिनको बिहार के साई नाथ अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  


बृजेश केसरवानी जिला संवाददाता इलाहाबाद प्रयागराज


आरोपी को पेश कर, लिया पुलिस रिमांड

रोपड़ से नशा बेचने आता तो खरड़ को बना लिया अड्डा, अब हुआ गिरफ्तार


अमित शर्मा


रूपनगर। रोपड़ से नशा बेचने आता तो खरड़ को बना लिया अड्डा, अब हुआ गिरफ्तार मोहाली एसटीएफ ने एयरपोर्ट रोड स्थित नाका लगाकर एक युवक को 60 ग्राम हेरोइन सहित पकड़ा है। 
एसटीएफ ने एयरपोर्ट रोड स्थित नाका लगाकर एक युवक को 60 ग्राम हेरोइन सहित पकड़ा है। आरोपी की पहचान रोपड़ के रहने वाले अज्जू उर्फ अजय कुमार के रूप में हुई है। आरोपी पिछले करीब 6 महीनों से खरड़ स्थित आंसल प्लाजा में किराए के मकान में रहने अपना कारोबार यहां से कर रहा था। आरोपी को कोर्ट में पेश कर एक दिन का पुलिस रिमांड लिया है। आरोपी पहले रोपड़ से सप्लाई करता था, लेकिन कुछ महीनों पहले खरड़ में किराए का फ्लैट ले लिया और अब यहां से यह काम कर रहा था।


खाद और बिजली के उत्पादन पर दिया जोर

इलेक्ट्रॉनिक सिटी को मोहाली में फिल्माया जाएगा : मनीष तिवारी


आमित शर्मा


मोहाली। श्री आनंदपुर साहिब से संसद सदस्य, मनीष तिवारी ने मोहाली में इलेक्ट्रॉनिक और फिल्म सिटी के विकास का विचार प्रस्तुत किया और जिला अधिकारियों से इस परियोजना के लिए भूमि मोहाली- चिह्नित करने और इस परियोजना को लागू करने के लिए कहा। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि यह नई परियोजना रोजगार के अधिक अवसर पैदा करेगी। जिला प्रशासनिक परिसर में जिला अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान गामडा की चल रही और आगामी परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए तिवारी ने कहा कि मोहाली शहर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के करीब है और शहर का विकास बहुत ही बारीकी से किया गया है और उसके अनुसार योजना बनाई गई है। शहर अगला बड़ा आईटी होगा। शहर का आकर्षण, जो बड़े औद्योगिक घरानों को आकर्षित कर रहा है, ताइवान के पैटर्न पर इलेक्ट्रॉनिक और फिल्म सिटी विकसित होने पर और भी अधिक बढ़ेगा। सांसद ने अधिकारियों और कर्मचारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि जिले में समय पर विकास कार्य किया जाए ताकि जिले के लोगों को लाभ मिल सके। उपायुक्त श्री गिरीश डायलन की उपस्थिति में, श्री तिवारी ने सभी विभागों विशेषकर नगर निगम, जल आपूर्ति और स्वच्छता, ग्रामीण विकास, बागवानी और अन्य विभागों के कार्यों की समीक्षा की और सब्सिडी का आह्वान किया। उन्होंने अधिकारियों से गेमिंग और एनीमेशन के लिए राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र की भूमि पर कब्जा करने के लिए कहा। उन्होंने अधिकारियों से जैविक ईंधन परियोजनाओं की संभावनाओं पर गौर करने के लिए भी कहा ताकि ईंधन की कम लागत से लोगों को लाभ मिल सके। लोकसभा के सदस्य ने जिले में बुनियादी ढांचे के चल रहे काम में तेजी लाने का आह्वान किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे व्यवस्था बनाकर जन कल्याणकारी गतिविधियों से निपटें। सरकारी योजनाओं के तहत धन के समुचित उपयोग की वकालत करते हुए, श्री तिवारी ने गीले और सूखे कचरे के संग्रह को बढ़ावा देने और कचरे से खाद और बिजली के उत्पादन पर जोर दिया। इस अवसर पर अध्यक्ष पंजाब बड़े औद्योगिक विकास बोर्ड श्री पवन दीवान, ए.डी.सी. (जे) श्रीमती साक्षी साहनी, एडीसी। (विकास) श्रीमती आशिका जैन, आयुक्त नगर निगम, मोहाली, श्री कमल कुमार, जिला सामाजिक सुरक्षा अधिकारी, श्री रविन्द्र सिंह, प्रभागीय वानिकी अधिकारी, श्री गुर अमनप्रीत सिंह, जिला कल्याण अधिकारी, श्री सुख भासर सिंह। पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव हरप्रीत सिंह बंटी उपस्थित थे।


साडे 3 साल में नही हुआ,निकासी का प्रबंध

साढ़े तीन साल में पानी की निकासी का प्रबंध नहीं हो पाया, हाईवे किनारे फैले कीचड़ से लोग परेशान, लारसन एंड टूबरो (एलएंडटी) का मोहाली-खरड़ हाईवे फ्लाईओवर प्रोजेक्ट निर्धारित समय से करीब 1 साल 1 महीना डिले चल रहा है


मोहाली। टूबरो (एलएंडटी) का मोहाली-खरड़ हाईवे फ्लाईओवर प्रोजेक्ट निर्धारित समय से करीब 1 साल 1 महीना डिले चल रहा है, जिसके काम को अब जल्द पूरा करवाने के लिए एक ओर जिला प्रशासन तेजी दिखा रहा है, वहीं इन सबके विपरीत पुल बनाने वाली एलएंडटी कंपनी की ओर से इस प्रोजेक्ट के तहत बरती जा रही लापरवाही यहां से रोज गुजरने वाले ट्रैफिक के लिए समस्या बनी हुई है। करीब 4 महीने से कंपनी की ओर से खानपुर स्थित पुल के पास जंक्शन बनाने का काम चल रहा है। इसके साथ पूर्व में बनाए जा चुके 3.2 किमी. एलीवेटेड पुल को रोड से कनेक्टिविटी देने से पहले हाईवे के दोनों ओर सर्विस लेन बनाने का काम भी चल रहा है। जिसके तहत अब तक करीब एक किलोमीटर रोड कई हिस्सों में बनाई जा चुकी है। लेकिन इन रोड्स के बनाने के साथ इस कंपनी की ओर से बाकी के टूटे हुए हाईवे की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा। आलम यह है कि हाईवे के किनारों की कच्ची सड़क मौजूदा समय में ट्रैफिक के लिए भारी समस्या बन गई है।
लारसन एंड टूबरो (एलएंडटी) का मोहाली-खरड़ हाईवे फ्लाईओवर प्रोजेक्ट निर्धारित समय से करीब 1 साल 1 महीना डिले चल रहा है।


⚠पिछले 3 दिन से रुक-रुक कर हो रही बरसात के कारण हाईवे किनारे कच्ची सड़कों पर कीचड़ फैल गया है व पानी के निकासी के प्रबंध न होने के कारण जगह-जगह पानी जमा हो गया है। हालात यह हैं कि कार वाले जाम में फंस रहे हैं तो टू व्हीलर चालक इस कीचड़ पर फिसल कर गिर रहे हैं। राहगीर तो इस रोड से गुजर भी नहीं पा रहा है। हैरानी की बात यह है कि हाईवे के करीब 5 किलोमीटर के एरिया में यह समस्या पिछले 2 साल से बरकरार है, लेकिन प्रशासन इस समस्या का समाधान एलएंडटी कंपनी से करवाने में लाचार है। यह समस्या पिछले 2 साल से माॅनसून के सीजन में आती रही है, लेकिन इस बार सर्दियों में हुई बरसात में भी उक्त समस्या का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। समस्या का समाधान न होने के कारण हाईवे के दोनों किनारों पर फैला कीचड़ प्रशासन के लिए चुनौती बन गया है। हालांकि इस बारे में दैनिक भास्कर की ओर से हर बार प्रशासन को चेताया जाता रहा है, लेकिन इसके बावजूद प्रशासन इस समस्या की ओर गंभीर नजर नहीं आ रहा। पिछले 3 दिन से चल रही हल्की बरसात के कारण हाईवे पर पानी की निकासी के प्रबंध न होने के से हाईवे के कच्चे व टूटे हुए किनारों व सड़कों के कीचड़ फैल गया है। इस कीचड़ के फैलने के कारण दिनभर हाईवे पर वाहनों की कतारें लग रही हैं व ट्रैफिक धीमी गति से चलता हुआ नजर आ रहा है।


पंजाब बोर्ड ने पेपरों की डेटशीट बदली

पंजाब बोर्ड ने 10वीं और 12 वीं के कुछ पेपरों की डेटशीट बदली, पढ़ें-कब है आपका इग्जाम


मोहाली। स्कूल शिक्षा बोर्ड ने राज्य सरकार द्वारा सरकारी छुट्टियों की नोटिफिकेशन जारी होने के बाद दसवीं और 12वीं के कुछ पेपरों की तारीख बदल दी है। बोर्ड ने सात पेपरों की तारीख में बदलाव किया है। इसकी पुष्टि बोर्ड के सचिव मोहम्द तैय्यब ने की। उन्होंने बताया कि 12वीं कक्षा के लोक प्रशासन विषय का पेपर पहले चार मार्च को निर्धारित था। लेकिन अब यह पेपर सोलह मार्च को होगा। जबकि 16 मार्च को करवाया जाने वाला संस्कृत विषय का पेपर चार मार्च को करवाया जाएगा।12वीं कक्षा के ही राजनीतिक शास्त्र, भौतिक विज्ञान, बिजनेस स्टडी की परीक्षा पहले नौ मार्च को करवाई जानी थीं। लेकिन अब यह परीक्षा तीस मार्च को संपन्न होगी। वहीं, 12वीं कक्षा का वोकेशनल ग्रुप की नौ मार्च को होने वाले सारे विषयों की परीक्षा अब तीस मार्च को करवाई जाएगी। वहीं, 13 मार्च को होने वाली सारे विषयों की परीक्षा अब 27 मार्च को करवाई जाएगी। दसवीं श्रेणी के विषय गृह विज्ञान की परीक्षा पहले आठ अप्रैल को होनी थी। अब यह परीक्षा चार अप्रैल को करवाई जाएगी। वहीं,  छह अप्रैल को होने वाली कंप्यूटर विषय की परीक्षा 13 अप्रैल को करवाई जाएगी। बोर्ड की परीक्षा संबंधी सारी जानकारी बोर्ड मैनेजमेंट द्वारा अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। इसके लिए छात्रों को बोर्ड की वेबसाइट www.pseb.ac.in पर लॉगिन करना होगा। जिक्रयोग है कि इससे पहले प्रबंधकीय कारणों के चलते बोर्ड ने 5वीं और आठवीं कक्षा की परीक्षा की डेटशीट में बदलाव किया था।


सीटीयू बसों का बड़ा किराया, सफर महंगा

चंडीगढ़ में सफर हुआ मंहगा, सीटीयू बसों का किराया बढ़ा, पढ़ें-कितनी हुई वृद्धि


अमित शर्मा


चंडीगढ़। ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) की बसों में अब सफर करना और महंगा हो गया है। यूटी प्रशासन ने स्थानीय व लंबी दूरी के लिए चलने वाली एसी और नॉन एसी बसों के किराये में 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। इससे सीधे आम जनता की जेब पर असर पड़ेगा। गौरतलब है कि प्रशासन ने बीते दिनों पानी के दाम भी बढ़ाए हैं। बुधवार को यूटी सचिवालय में हुई एक बैठक में किराया बढ़ाने के प्रस्ताव को प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने मंजूरी दे दी है। गौरतलब है कि सीटीयू ने लंबे समय से किराये में बढ़ोतरी नहीं की थी, जबकि पंजाब और हरियाणा सहित अन्य रोडवेज कई बार किराया बढ़ा चुके थे। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर के सामने ट्रांसपोर्ट सेक्रेटरी एके सिंगला ने बढ़े किराये पर बातचीत की और लोकल रूट पर सीटीयू को हो रहे घाटे के बारे में जानकारी दी। बता दें कि सीटीयू को लंबी दूरी की बसों में लाभ हो रहा है लेकिन स्थानीय स्तर पर चलने वाली बसों में प्रति किलोमीटर करीब 35 रुपये का घाटा पड़ रहा है। सीटीयू शहर में करीब 400 बसें चला रहा है, ऐसे में कई साल से किराया नहीं बढ़ाने की वजह से सीटीयू का घाटा बढ़ता जा रहा है। पीजीआई के बाहर लग रहे लंगर को किया जाएगा शिफ्ट:
प्रशासक ने पीजीआई के डायरेक्टर प्रोफेसर डॉ. जगतराम के साथ भी चर्चा की, जिसमें उन्होंने अपने कई मुद्दे प्रशासक के समक्ष रखे। पीजीआई डायरेक्टर ने बताया कि पीजीआई ओपीडी में मरीजों की भीड़ बढ़ती जा रही है, जिस पर प्रशासक ने ओपीडी की भीड़ कम करने के लिए उन्हें अतिरिक्त भूमि देने का फैसला लिया है। इसके अलावा उन्होंने पीजीआई के बाहर लंगर लगने के चलते गंदगी होने का भी मुद्दा उठाया है। इस पर प्रशासक ने कहा कि अधिकारी लंगर को अन्य जगह शिफ्ट करने के लिए काम करेंगे। यूटी प्रशासन ने पंजाब सरकार के उस प्रस्ताव का विरोध किया है, जिसमें उन्होंने सुखना लेक की बाउंड्री से ईको सेंसटिव जोन की दूरी सिर्फ 100 मीटर करने की सिफारिश की है। वाइल्डलाइफ सेंचुरी के आसपास ईको सेंसटिव जोन जरूरी है। बता दें कि 2017 में चंडीगढ़ प्रशासन ने वाइल्डलाइफ सेंचुरी के आसपास यूटी बाउंड्री के अंदर आने वाले क्षेत्र को ईको सेंसटिव जोन घोषित किया था। चंडीगढ़ की रेंज में इस ईको सेंसटिव जोन की दूरी 2 से 2.75 किलोमीटर के करीब है, जबकि पंजाब के अंदर आते एरिया को अभी तक ईको सेंसटिव जोन घोषित नहीं किया गया है। यही कारण है कि पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा था, जिसमें उन्होंने सुखना वाइल्डलाइफ सेंचुरी से 100 मीटर दूरी करने की सिफारिश की है।


देशभक्ति-सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए अभ्यास

15 जनवरी को देशभक्ति और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, 22- 23 और 24 जनवरी को पूर्वाभ्यास किया जाएगा


आमित शर्मा


नंगल। सरकारी ब्वॉयज स्कूल में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस का समारोह आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए एसडीएम कनु गर्ग ने कहा कि इस समारोह में सभी विभागों के कर्मचारी जो ड्यूटी पर तैनात होंगे वह अपनी ड्यूटी को पूरे अनुशासित तरीके से पूरा करने के निर्देश दिए।
इस बात का प्रगटावा आज नगर कौंसिल दफ्तर में एसडीएम कनू गर्ग ने मीटिंग के दौरान सभी अधिकारियों के सामने रखा। यह विशेष बैठक आज विभिन्न विभागों के उच्च अधिकारियों एवं स्कूल मुखिया के साथ की गई। उन्होंने कहा कि 15 जनवरी को देश भक्ति एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का चयन होगा और चयनित कार्यक्रमों का पुनर्मिलन 22-23 और 24 जनवरी को किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने सभी अधिकारियों को यह निर्देश भी दिए कि यह समारोह को प्रभावी बनाने के लिए सभी कार्यक्रम समय अनुसार संचालित किए जाएं। उन्होंने कहा कि इस समारोह दौरान सभी छात्रों एवं सभी शहर वासियों को इस समारोह में बैठने के लिए उचित व्यवस्था की जानी चाहिए। उन्होंने चिकित्सा सुविधाएं, पेयजल एवं स्वच्छता के लिए सभी अधिकारियों की ड्यूटी भी लगाई और उनको ठीक ढंग से सुनिश्चित किया जाए इस बात का भी ध्यान रखने को कहा। इस मीटिंग के दौरान तहसीलदार रामकिशन, नायब तहसीलदार दिलीप सिंह, कार्यवाहक अधिकारी मनजिंदर सिंह, ओ एम ई युद्धवीर सिंह, अधीक्षक ब्रह्मानंद, स्टेनो दीदार सिंह, गुरनाम सिंह, सुधीर कुमार और विभिन्न विभागों एवं स्कूल के मुखिया भी शामिल थे।


550 वर्षीय टेबल कैलेंडर समर्पित

550 वर्षीय प्रकाश प्रभु को समर्पित एक टेबल कैलेंडर जारी 
अमित शर्मा


चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह ने गुरु नानक के 550 वर्षीय प्रकाश प्रभु को समर्पित एक टेबल कैलेंडर जारी किया। वर्ष 2020 का टेबल कैलेंडर पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के वकील हरप्रीत संधू द्वारा तैयार किया गया है। टेबल कैलेंडर में गुरुद्वारा बेर साहिब, सुल्तानपुर लोधी के सुंदर चित्र और गुरु नानक द्वारा रचित बानी के उद्धरण शामिल हैं।


बच्चों के लिए 3 केंद्र स्थापित करने को मंजूरी

पटियाला, गुरदासपुर और फिरोजपुर में बच्चों के लिए प्रारंभिक हस्तक्षेप केंद्र स्थापित करने को मंजूरी
आमित शर्मा


चंडीगढ। कल्याण विभाग ने पटियाला, गुरदासपुर और फिरोजपुर में बच्चों के लिए तीन जिला प्रारंभिक हस्तक्षेप केंद्र स्थापित करने को मंजूरी दी है। DEIC (डिस्ट्रिक्ट अर्ली इंटरवेंशन सेंटर) का उद्देश्य चिकित्सीय सेवाएं प्रदान करना है, साथ ही चार जन्म दोषों जैसे कि बीमारियों, कमियों और विकास संबंधी देरी के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदान करना है। इनमें 31 विकलांगता विकार शामिल हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि वर्तमान में बठिंडा, होशियारपुर, लुधियाना, रोपड़ और तरनतारन जिलों में पांच डीईआईसी हैं। मौजूद हैं और प्रत्येक डीईआईसी में हैं चिकित्सा अधिकारी (एमबीबीएस), दंत चिकित्सक, प्रारंभिक हस्तक्षेप के विशेषज्ञ विशेषज्ञ, फिजियोथेरेपिस्ट, ऑप्टोमेट्रिस्ट, सामाजिक कार्यकर्ता, मनोवैज्ञानिक, लैब टेकनीशियन, स्टाफ नर्स, डीन टेक्नीशियन मौजूद है। उन्होंनेे कहा कि अब गुरदासपुर, पटियाला और फिरोजपुर में तीन नए  डीईआईसी मंजूर किए गए हैं।


पीएसीएल कर्मचारी संघ-प्रबंधन की बैठक

पंजाब एलक्लीज़ एंड केमिकल्स लिमिटेड के एक यूनिट को बंद करने के मुद्दे पर मान्यता प्राप्त यूनियन पी.ऐ.सी.एल. कर्मचारी संघ की प्रबन्धन के साथ बैठक


अमित शर्मा


नंगल। नंगल स्थित पंजाब सरकार की उद्योगिक इकाई पंजाब एलक्लीज़ एंड केमिकल्स लिमिटेड के एक यूनिट को बंद करने के मुद्दे को लेकर इकाई की मान्यता प्राप्त यूनियन पी.ऐ.सी.एल. कर्मचारी संघ तथा प्रबन्धन के बीच आज हेड आफिस चंडीगढ़ मीटिंग हुई। मीटिंग के दौरान प्रबन्धन द्वारा यह स्पष्ट किया गया कि इस यूनिट को बंद करने अथवा चलाने के सभी विकल्प खुले हैं जिस पर अंतिम फैसला बोर्ड आफ डायरेक्टर तथा सरकार का होगा। प्रबंधन द्वारा यह भी स्पष्ट किया गया कि यूनिट-1 को आधुनिक बनाने का खर्च लगभग 30करोड़ का है जिसे जुटाने के लिए सरकार से चर्चा भी चल रही है। यूनियन द्वारा यह स्पष्ट तौर पर कहा गया कि यह यूनिट भूतपूर्व मुख्यमंत्री सरदार बेअंत सिंह द्वारा लोगों को रोज़गार देने के लिए स्थापित किया गया था तथा इस यूनिट को बंद करने के किसी भी निर्णय का यूनियन ज़ोरदार विरोध करेगी। ज्ञात रहे कि पी.ऐ.सी.एल. के एक यूनिट जिसमें लगभग 150 से 200 पक्के तथा कर्मचारी कार्यरत हैं, को बंद करने के प्रबन्धन के निर्णय को लेकर यूनियन तथा प्रबन्धन में एक गतिरोध बना हुआ था जिसपर पंजाब विधानसभा स्पीकर के.पी.राणा जी ने यह बयान जारी किया था कि इस यूनिट को कभी बन्द नहीं होने दिया जाएगा। मीटिंग में यूनियन की तरफ से संजय कुमार (प्रधान), नितन कुमार (सचिव) तथा शिव जी सिंह,दिनेश कुमार, राजकुमार सैनी, हरिओम, संजीव सहोड़ तथा शक्ति शरण सिंह शामिल थे।


चलती कार में आग,सूझबूझ से बचाई जान

चलती कार बनी आग का गोला, टोल प्लाजा स्टाफ ने सूझबूझ दिखाई और बचाई दो युवकों की जान


चंडीगढ़। अचानक धुंआ उठने लगा और वो देखते ही देखते आग का गोला गई, लेकिन उसमें सवार दो युवकों की जान बाल-बाल बच गई। हादसा हरियाणा के अंबाला में टोल प्लाजा के पास हुआ। टोल प्लाजा कर्मियों ने सूझबूझ दिखाते हुए दोनों युवकों की जान बचा ली। मिली जानकारी के अनुसार, पीबी23आर 4998 नंबर की एक डस्टर गाड़ी पंजाब से हरियाणा की ओर जा रही थी। जैसे ही गाड़ी शम्भू टोल प्लाजा के पास पहुंची, उसमें से धुंआ निकलने लगा। देखते ही देखते कार ने आग पकड़ ली। यह देखकर कार में सवार दोनों युवक घबरा गए। वहीं सामने खड़े टोल प्लाजा स्टाफ के कर्मियों ने तुंरत हरकत में आते हुए फायर बिग्रेड कर्मियों को आवाज दी। इधर दोनों युवक कार से उतर कर भागे और उधर टोल प्लाजा पर मौजूद फायर बिग्रेड की गाड़ी आई। फिर फायर कर्मियों ने किसी तरह आग को नियंत्रित किया। दोनों युवकों को टोल कर्मियों ने संभाला।


'ओपन क्वार्टरफाइनल' में पहुंची साइना

नई दिल्ली। भारतीय स्टार बैडमिंटन (Badminton Player Saina Nehwal) खिलाड़ी सायना नेहवाल गुरुवार को मलेशिया ओपन (Malaysia Open) में कोरिया की आठवीं वरीयता प्राप्त एन से यंग को हरा कर क्वार्टरफाइनल में पहुंच गईं हैं। सायना ने एन से यंग को 25-23,21-12 से मात दी। क्वार्टरफाइनल में अब सायना का मुकाबला स्पेन (Spain) की स्टार कैरोलिना मारिन (Carolina Marin) से होगा। मारिन (Carolina Marin) चीन की साई यैन यैन (Cai Yan Yan) को 21-16,21-18 हराकर क्वार्टरफाइनल में पहुंची हैं।


बता दें, सायना ने बेल्जियम की लिएन टान को मात देकर दूसरे राउंड में प्रवेश किया था। 36 मिनट तक चले इस मुकाबले में सायना ने टान को 21-15, 21-17 से मात दी। उधर, पुरुष एकल मुकाबले में समीर वर्मा टूर्नामेंट से बाहर हो गए।मलेशिया के वर्ल्ड नंबर-14 ली जी जिया ने 33वीं वरीयता प्राप्त समीर को सीधे सेटों में 21-19, 22-20 से हराया। दोनों के बीच अब तक 4 मुकाबले हुए हैं। इनमें भारतीय शटलर को एक मैच में जीत मिली। वहीं, साइना और यंग के बीच अब तक दो मुकाबले हुए। दोनों ने एक-एक मैच जीता है ।


एक ही पखवाड़े में लगेगा दूसरा ग्रहण

नई दिल्ली। साल 2019 के अंत में 26 जनवरी को दशक का आखिरी सूर्यग्रहण लगा था, जिसके 15 दिनों के अंदर यानी एक ही पखवाड़े में अब दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है। यह ग्रहण 10 जनवरी को यानी कल लगेगा, जो प्रच्छाया चंद्र ग्रहण होगा। इस ग्रहण की खासियत यह है कि इसे आंखों से नहीं देखा जा सकता। हालांकि इसका प्रभाव सामान्य ग्रहण जितना ही होगा। इस ग्रहण के प्रभाव से चंद्रमा धुंधला होता नजर आएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये साल का पहला ग्रहण है और इस साल में कुल 6 ग्रहण लगेंगे जिसमें 2 सूर्य और 4 चंद्र ग्रहण होंगे। ग्रहण के विषय में जानकारों का कहना है कि इसका प्रभाव पूरे विश्व पर देखने को मिलेगा। ज्योतिषियों के मुताबिक जब कभी भी एक पखवाड़े में दो ग्रहण पड़ते हैं तो पृथ्वी के प्लेटोनिक स्तर के आपस में टकराने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। इस ग्रहण का मध्य भाग समुद्र के बीच में पड़ रहा है, इसलिए जल से संबंधित आपदा आने की संभावना ज्यादा है।


इस ग्रहण के प्रभाव से षडग्रही योग बन रहा है। इस चंद्र ग्रहण में पांच ग्रह एक साथ होंगे जबकि चंद्रमा और राहु एकसाथ होंगे। इस बार का चंद्र ग्रहण इस ओर इशारा कर रहा है कि इस दौरान आक्रोश से भरी कोई घटना हो सकती है। गर्भवती महिलाओं को इस दौरान चंद्रमा की रौशनी में जाने से बचना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को चंद्र ग्रहण के दौरान अपनी नाभि पर चंदन का लेप लगाएं, तुलसी के पत्ते का सेवन करें और घर में गंगाजल का छिड़काव करें।


जनजीवन सामान्य बनाने में जुटा प्रशासन

शिमला। भारी बर्फबारी के बाद शिमला जिला प्रशासन जनजीवन को सामान्य बनाने में जुट गया है। डीसी शिमला अमित कश्यप शहर की सड़कों पर खुद राहत और बचाव कार्य की निगरानी कर रहे हैं। डीसी शिमला ने शहर भर में दोपहर बाद तक यातायात बहाल (Traffic restore) करने का दावा किया है। राजधानी शिमला से बाहर जाने वाली सड़कों को भी जल्द बहाल कर दिया जाएगा। ऊपरी शिमला के रास्तों में भारी बर्फबारी को देखते हुए फिलहाल सड़क यातायात बंद है। डीसी शिमला (DC Shimla) का दावा है कि हजारों की संख्या में आदमी औऱ मशीनें यातायात बहाली के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं। शिमला शहर को भी अलग-अलग सेक्टरों में बांटकर अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। शिमला से नारकंडा सड़क पर भी दर्जनों मशीनें काम पर लगाई गई हैं। हाटकोटी शिवपाल खिड़की रोड पर भी तेज गति से काम चल रहा है। बाहर से आने वाले खाने पीने के सामान को भी शहर में पहुंचाने के लिए अतिरिक्त व्यवस्था की जा रही है।


दूध, ब्रेड, मक्खन, अंडे, अखबार और दवाइयां ट्रांसमिशन के माध्यम से चौकी से वाहनों के द्वारा पहुंचाई जा रही है। डीसी अमित कश्यप ने कहा है कि लगातार भारी मात्रा में बर्फबारी (Snowfall) होने की वजह से सड़कें बंद होना स्वाभाविक था क्योंकि मशीनों और कर्मचारियों को काम करने का मौका नहीं मिल पाया। जनवरी महीने में पहली बार रिकॉर्ड लगातार 72 घंटे में बर्फबारी हुई है जिससे थोड़ी मुश्किल होना स्वाभाविक था लेकिन मौसम खुलते ही प्रशासन ने युद्ध स्तर पर सड़क खोलने बिजली और पेयजल व्यवस्था बहाल करने में तेजी लाई है और उम्मीद जताई है कि आज शाम तक बिजली पानी और सड़क व्यवस्था बहाल कर दी जाएगी। डीसी ने कहा कि बाहर से शिमला पहुंचने वाले सैलानियों (Tourists) के वाहनों को प्रवेश द्वार पर रोका जा रहा है ताकि शहर में सड़कों पर जाम की स्थिति पैदा ना हो।


शहर में जगह-जगह पर पेड़ गिरने की घटनाएं भी पेश आई हैं जिनको हटाने का काम भी सुचारू तरीके से चल रहा है। शहर में किसी तरह की भी कोई दिक्कत लोगों को नहीं आने दी जाएगी और अभी तक किसी भी तरह की दुर्घटना की जानकारी प्रशासन के ध्यान में नहीं आई है। उन्होंने ने कहा कि मैन एंड मशीन सुबह पांच बजे से सड़कों की बहाली करने में जुटी हुई है और दोपहर होते-होते पैदल यातायात को दुरुस्त कर दिया गया है और शाम होते-होते शिमला में ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू कर दिया जाएगा जबकि ऊपरी शिमला के रास्तों को भी युद्ध स्तर पर खोलने का काम काम सुचारू तरीके से किया जा रहा है। डीसी ने बर्फबारी का आनंद लेने वाले सैलानियों से भी अपील की है कि वह किसी भी तरह की परेशानियों दुर्घटना आदि से बचने के लिए सावधानी से वाहन चलाएं और पहाड़ों में बर्फबारी के दौरान सड़कों पर फिसलन को ध्यान में रखते हुए हैवी गियर में गाड़ी चलाएं जिससे दुर्घटनाओं का अंदेशा कम हो जाता है। अति उत्साह में आकर दुर्घटना का शिकार ना हों और अपने यात्रा का भरपूर आनंद ले सकें।


मुश्किल दौर से गुजर रहा है देशः सीजेआई

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन क़ानून (CAA) को संवैधानिक करार दिए जाने की एक याचिका पर चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया अरविंद बोबडे ने टिप्पणी की है। गुरुवार को नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA)को संवैधानिक (constitutional)करार देने के लिए एक याचिका दायर की गई। जिस पर सीजेआई ने कहा- अभी देश मुश्किल दौर से गुजर रहा है, इस समय शांति पर ध्यान देने की ज्यादा जरूरत है। इस तरह की याचिकाएं (petition)दाखिल करने से कुछ फायदा नहीं होगा। उन्होंने कहा इन याचिकाओं पर तभी सुनवाई होगी जब देश में हिंसा खत्म हो जाएगी।


चीफ जस्टिस (CJI)ने कहा- ‘देश अभी मुश्किल दौर से गुजर रहा है। ऐसे में इस वक्त हर किसी का लक्ष्य शांति स्थापित करना होना चाहिए। इस तरह की याचिकाओं से कोई मदद नहीं मिलेगी। इस कानून के संवैधानिक होने पर अभी अनुमान लगाया जा रहा है।’ उन्होंने कहा- ये हम कैसे घोषित कर दें कि संसद द्वारा अधिनियम संवैधानिक है? हमेशा संवैधानिकता का अनुमान ही लगाया जा सकता है। चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया ने कहा- ‘नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA)के खिलाफ जो भी याचिकाएं दाखिल की गई हैं, उनकी सुनवाई तभी शुरू होगी जब हिंसा पूरी तरह से रुक जाएगी। बता दें, उन्होंने ये बातें वकील विनीत ढांडा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में CAA को संवैधानिक घोषित करने की याचिका पर की।


शिमलाः रेस्क्यू कर 43 पर्यटकों को बचाया

शिमला। राजधानी शिमला में आज धूप खिली हुई है। वहीं पहाड़ी क्षेत्रों में अनंद लेने जा रहे पर्यटकों को भी रेस्क्यू किया गया है। शिमला के ढली में बर्फबारी के बीच फंस 43 पर्यटकों को भी प्रशासन की ओर से रेस्क्यू कर लिया गया है।बतया जा रहा है कि यह बर्फ का अनंद लेने के लिए उपलरी क्षेत्रों में चले गए थे मगर भारी बर्फबारी के कारण वहीं फंस कर रह गए पर्यटकों की पहचान दिल्ली के पास सैनिक नगर के चौबीस लोगों को कोटि के बदायूंनी घाटी 3/4 किलोमिटर से बचाया और सिदार होटल कोटि में अपने प्रवास की व्यवस्था की जिसमें 7 पुरुषों, 11 महिलाओं, 4 बच्चों और 2 ड्राइवर थे। पिंजौर के एक व्यक्ति को नालदेहरा के पास जबलंदा से बचाया गया है और उसकी नालदेहरा में रहने की व्यवस्था की गई। जींद हरियाणा के पांच लोगों को मशोबरा बिफरीकरण से वुड्रीना की सड़क से बचाया गया है। हरियाणा के 13 व्यक्तियों को झंझट के पास बचाया गया और वहानों के माध्यम से शिमला पहुंचाया गया।


दमाद की हत्या कर, शव फेंखते पकड़ा

दामाद की हत्या कर शव फेंकते समय ससुर गिरफ्तार


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में पुलिस ने बुधवार को दामाद की हत्या कर शव को ठिकाने लगाने की कोशिश करते समय ससुर को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी बिजली विभाग में अवर अभियंता पद से बस्ती जिले से ही सेवानिवृत्त हुआ था। पुलिस ने बताया कि कोतवाली के बड़ेवन के पास बुधवार सुबह बक्से में छिपाकर रखी युवक की लाश बरामद की गई। बक्से के साथ पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नाम निजामुद्दीन निवासी ठाकुरगंज जिला लखनऊ बताया है। पुलिस के पूछताछ में उसने बताया कि चार-पांच दिन पहले पैसों के लेन-देन को लेकर रिश्ते में दामाद कमाल के साथ लखनऊ में ही मारपीट हुई थी। इस दौरान कलाम घायल हो गया था और बाद में उसकी मौत हो गई। घटना को छिपाने के लिए शव को लोहे के बक्से में बंद कर दिया और शव को प्लास्टिक में पैक कर केमिकल की गोली भी रख दी थी, जिससे दुर्गन्ध न आने पाए। आरोपी ने बताया कि वह बस्ती जिले में बिजली निगम में जूनियर इंजीनियर पद से सेवानिवृत्त हुआ था। इसीलिए शव को ठिकाने लगाने के लिए बस्ती को चुना। पुलिस का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। 


विद्यासागर ठाकुर


बंद के कारण बैंकों में कामकाज रहेगा ठप

नई दिल्ली। आज ट्रेड यूनियन का भारत बंद है। भारत बंद में प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारिोयं ने पश्चिम बंगाल में कई जगहों पर रेलवे ट्रैक को जाम किया। साथ ही मुंबई में भी भारत पेट्रोलियम के कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ दस केंद्रीय मजदूर संघों ने बुधवार (8 जनवरी) को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। इस हड़ताल में कांग्रेस के मजदूर संगठन-इंटक के अलावा वामदलों के मजदूर संगठन- एटक, सीटू, एआईयूटीयूसी, टीयूसीसी, एसईडब्ल्यूए, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ, यूटीयूसी और सोशलिस्ट पृष्ठभूमि के- एचएमएस समेत अनेक मजदूर संघ शामिल हो रहे हैं। हालांकि, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समर्थित भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) हड़ताल में शामिल नहीं हो रहा है। संघों का दावा है भारत बंद में 25 करोड़ लोग शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि इस हड़ताल को बैंकों का भी समर्थन हासिल है। ऐसे में बैंकिंग सेवाएं आज बुरी तरह से प्रभावित हो सकती हैं।
जानिए भारत बंद से जुड़ी हुई अहम बातें :-
हड़ताल का समय?
देशव्यापी हड़ताल बुधवार (8 जनवरी) को सुबह छह बजे शुरू।
भारत बंद में कौन कौन से ट्रेड यूनियन ले रहे भाग?
-कांग्रेस मजदूर संगठन- इंटक
-वामदलों का मजदूर संगठन- एटक
-सीटू
-एआईयूटीयूसी
-टीयूसीसी
-एसईडब्ल्यूए
-एआईसीसीटीयू
-एलपीएफ
-यूटीयूसी
-सोशलिस्ट
किन बैंक यूनियनों ने किया हड़ताल का समर्थन?
-भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए)
-अखिल भारतीय बैंक अधिकारी संघ (एआईबीओए)
-भारतीय बैंक कर्मचारी महासंघों
-बैंक कर्मचारी सेना महासंघ आदि
बैंक की कैसी सेवाएं होंगी प्रभावित :-
बैंकों में राशि जमा करने, निकासी करने, चेक क्लियरिंग और विभिन्न वित्तीय साधनों को जारी करने का काम हड़ताल की वजह से प्रभावित हो सकता है। हालांकि, निजी क्षेत्र के बैंकों में सेवाओं पर कोई असर पड़ने की संभावना नहीं है।
भारत बंद क्यों हो रहा है?
ट्रेड यूनियनों का कहना है कि केंद्र सरकार की आर्थिक और जन विरोधी नीतियों के विरोध में हड़ताल का आयोजन किया गया है। इसके अलावा, वे लेबर लॉ का भी विरोध कर रहे हैं। साथ ही स्टूडेंट यूनिनय शिक्षण संस्थानों में फीस बढ़ाने का विरोध कर रहे हैं।
ट्रेड यूनियन ने क्या कहा :-
दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने संयुक्त बयान में कहा, ‘आठ जनवरी को आगामी आम हड़ताल में हम कम से कम 25 करोड़ लोगों की भागीदारी की उम्मीद कर रहे हैं। उसके बाद हम कई और कदम उठाएंगे और सरकार से श्रमिक विरोधी, जनविरोधी, राष्ट्र विरोधी नीतियों को वापस लेने की मांग करेंगे।’
जानिए सरकार ने क्या कहा :-
केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को चेताया है कि यदि वे हड़ताल में शामिल होते हैं तो उन्हें इसका नतीजा भुगतना पड़ेगा। कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कर्मचारियों को यह चेतावनी देते हुए हड़ताल से दूर रहने को कहा गया है। सरकारी आदेश में कहा गया है कि यदि कोई कर्मचारी हड़ताल पर जाता है तो उसे उसके नतीजे भुगतने होंगे। वेतन काटने के अलावा उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जा सकती है। केंद्र सरकार के सभी विभागों को भेजे गए आदेश में कहा गया है कि, ‘इस तरह का कोई सांविधिक प्रावधान नहीं है जो कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने का अधिकार देता हो।’
सरकार की चेतावनी :-
केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को चेताया है कि यदि वे आठ जनवरी को हड़ताल में शामिल होते हैं तो उन्हें इसका ‘नतीजा’ भुगतना पड़ेगा। केंद्र सरकार की नीतियों मसलन श्रम सुधार, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश और निजीकरण के खिलाफ केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने बुधवार को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कर्मचारियों को यह चेतावनी देते हुये हड़ताल से दूर रहने को कहा गया है।
कौन सा यूनियन हड़ताल में नहीं ले रहा हिस्सा
न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, भारत बंद में भारतीय मजदूर संघ हिस्सा नहीं ले रहा है।
ओडिशा विश्वविद्यालय में परीक्षा स्थगित
ओडिशा के उत्कल यूनिवर्सिटी ने बुधवार को निर्धारत परीक्षाओं को देशव्यापी हड़ताल के मद्देनजर मंगलवार को स्थगित करने की घोषणा की। यह हड़ताल केंद्र सरकार की श्रम विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रमुख ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाई गई है। अधिसूचना में कहा गया, ‘आठ जनवरी को विभिन्न संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद और परीक्षार्थियों को होने वाली असुविधा को ध्यान में रखते हुए बुधवार को होने वाली सभी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है।’ इसमें कहा गया है कि उक्त परीक्षाओं की नई तारीख बाद में अधिसूचित की जाएगी।


'घूस में भैंस' देने दफ्तर पहुंची महिला

खुशबू गुप्ता


सिधी। घूस में पैसे देते हुए आपने बहुत बार देखा और सुना होगा, लेकिन क्या आपने किसी को घूस में भैंस देते हुए देखा है। हैरान कर देने वाला ये मामला मध्‍य प्रदेश के सीधी जिले की है, जहां सिहवाल के तहसीलदार ऑफिस में एक महिला अचानक भैंस लेकर पहुंच गई।


भैंस लेकर दफ्तर पहुंची महिला ने कहा कि उसके पास नाम बदलने के एवज में घूस देने के लिए पैसे नहीं है, इसलिए वो भैंस लेकर आई है। महिला ने अधिकारियों से कहा कि वे उनकी भैंस ले लें और उसका काम कर दें। महिला का आरोप है कि नाम बदलने के एवज में अधिकारियों ने उससे घूस मांगी थी। महिला जब भैंस लेकर दफ्तर पहुंची तो वहां हड़कंप मच गया। वहीं महिला के आरोपों को अधिकारियों ने खारिज कर दिया है। अधिकारियों के मुताबिक 14 नवंबर को ही नाम बदलने का काम हो चुका है और महिला का भैंस लेकर आना एक साजिश का हिस्‍सा है। 


भैंस लेकर दफ्तर पहुंची रामकली ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसने अपने पैतृक संपत्ति में नाम बदलने के लिए आवेदन दिया था। जिसके एवज में उससे 10 हजार रुपये की घूस मांगी गई। महिला के मुताबिक 10 हजार रुपये देने के बाद भी उसका काम नहीं हुआ और दोबार उससे घूस मांगी गई। महिला ने कहा कि उसके पास घूस में देने के लिए और पैसे नहीं थे, लिहाजा वो भैंस लेकर पहुंच गई। तहसीलदार ने कहा कि महिला से घूस मांगने का मामला एसडीएम कोर्ट में है और उसका काम 14 नवंबर को ही हो चुका है।


घोटाले में डीएम के खिलाफ चार्जशीट दायर

सृजन घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने बुधवार को विशेष अदालत में भागलपुर के पूर्व डीएम वीरेंद्र यादव समेत 10 लोगों के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की।


भागलपुर। सृजन घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने बुधवार को विशेष अदालत में भागलपुर के पूर्व डीएम वीरेंद्र यादव समेत 10 लोगों के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की।


करोड़ों रुपये के सृजन घोटाले में दायर की गई चार्जशीट में नाम आने के बाद विरेंद्र यादव पहले आईएएस अधिकारी हैं जिनका आधिकारिक तौर पर इस घोटाले में संलिप्त होने को लेकर नाम सामने आया है। वीरेंद्र यादव वर्तमान में बिहार सरकार के पिछड़ा वर्ग एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग में विशेष सचिव के पद पर हैं।


जानकारी के मुताबिक 2014 में वीरेंद्र यादव भागलपुर के जिलाधिकारी थे और उसी दौरान सबसे ज्यादा पैसों की हेराफेरी का मामला सामने आया है। वीरेंद्र यादव 18 जुलाई 2014 से 4 अगस्त 2015 तक भागलपुर के डीएम थे। वीरेंद्र यादव 2004 बैच के बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। गौरतलब है, 2017 में भागलपुर में सृजन घोटाले का मामला सामने आया था। जिसके बाद राज्य सरकार में इस पूरे मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।


बता दें कि आरजेडी सृजन घोटाले को लेकर लगातार राज्य सरकार पर आक्रमक रही है और आरोप लगाती रही है कि इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी समेत कई मंत्रियों की संलिप्तता है।


सृजन घोटाला क्या है?


बताया जाता है कि बिहार का यह सृजन घोटाला एनजीओ, नेताओं, सरकारी विभागों और अधिकारियों द्वारा मिलकर किया गया घोटाला है। जानकारी के मुताबिक विकास के नाम पर भेजे गए पैसे को एनजीओ के एकाउंट में पहुंचाया गया। इसके बाद उस पैसे को बांटा गया।


दाऊद का गुर्गा एजाज पटना से गिरफ्तार

अनुराग गोयल


पटना। अभी-अभी बड़ी खबर आ रही है। पटना से अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम का गुर्गा एजाज लकड़ावाला गिरफ्तार किया गया है। मुंबई पुलिस ने ये बड़ी कार्रवाई की है। हालांकि इस संबंध में पटना पुलिस कोई जानकारी नहीं दे रही है। बताया जा रहा है कि जक्कनपुर इलाके से एजाज लकड़ावाला को गिरफ्तार किया गया है। मुंबई पुलिस पिछले छह महीने से उसे गिरफ्तार करने की कोशिश में जुटी थी।


बताया जा रहा है कि एजाज लकड़ावाला के पटना पहुंचने की सूचना पर ये कार्रवाई की गयी है। बताया जा रहा है कि मुंबई पुलिस ने पटना पुलिस के सहयोग से उसे गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि मुंबई से दिल्ली तक एजाज लकड़ावाला पर 25 केस दर्ज है। एजाज लकड़ावाला महाराष्ट्र पुलिस का मोस्ट वांटेड अपराधी है। एजाज पर रंगदारी, वसूली, हत्या और फिरौती वसूलने के मामले मुंबई और दिल्ली में 25 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। बताया जाता है कि कभी किसी दौर में वह छोटा राजन गैंग का मेंबर था। अंडर वर्ल्ड डान के गुर्गा के पटना से गिरफ्तारी होने की खबर से ही हड़कंप मचा हुआ है। आखिर दाउद के सहय़ोगी का पटना कनेक्शन क्या हैं वो पटना क्यों पहुंचा था। क्या पटना में किसी बड़े वारदात को अंजाम देने की सूचना थी। बहुत सारे सवाल एजाज लकड़ावाला की गिरफ्तारी से उठने लगे हैं। गिरफ्तारी की खबर से पटना पुलिस भी अलर्ट मोड में आ गयी है।


जल-जीवन हरियाली, नशा-मुक्त बिहार

अनामिका


पटना। बिहार के मुख्यमंत्री सीएम नीतीश कुमार ने बिहारवासियों के नाम खुला पत्र लिखा है। पत्र में सीएम ने बिहारवासियों से 19 जनवरी को बनने वाली मानव श्रृंखला में भाग लेकर इसे सफल बनाने की अपील की है।


बिहारवासियों के लिए लिखे गए पत्र में सीएम ने लिखा है कि बिहार की जनता हमेशा से ही इतिहास रची है। एक बार फिर से इतिहास रचने का समय आ गया है। आगे पत्र में लिखा गया है कि हमें नई पीढ़ी को ऐसा बिहार देना है जहां जल जीवन हरियाली हो, नशा मुक्त बिहार हो। एक ऐसा बिहार हो जो दहेज मुक्त हो और जहां बाल विवाह जैसी कुरीतियां ख़त्म हो। इसलिए 19 जनवरी को 11.30 बजे से 12.00  बजे तक हाथों में हाथ थामे विशाल मानव श्रृंखला बना कर एक नया इतिहास रचें। 'जल-जीवन- हरियाली, तभी होगी खुशहाली'।


 


नोएडा हॉस्पिटल में लगी आग, 1 की मौत

देव गुर्जर


गौतम बुध नगर। दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर 24 स्थित ESIC हॉस्पिटल में भीषण आग लग गई है। हॉस्पिटल के बेसमेंट में ये आग लगी है। हॉस्पिटल के 8वीं और 9वीं मंजिल तक धुंआ भर गया है। आग लगने के बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मरीजों को अस्पताल से बाहर निकाला गया।


फायर ब्रिगेड की 6 गाड़ियां आग बुझाने की कोशिश कर रही है। आग लगने के बाद मरीजों और स्टाफ को हॉस्पिटल से बाहर निकाल लिया गया है। आग के कारण अस्पताल में भर्ती करीब 40 मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कराया गया है। ग्राउंड फ्लोर पर काफी धुआं फैल गया है। बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट के कारण ये आग लगी है।


इससे पहले पूर्वी दिल्ली के पटपड़गंज इंडस्ट्रियल एरिया में एक प्रिंटिंग प्रेस में आग लग गई। आग बुझाने के लिए दमकल की 30 गाड़ियां मौके पर पहुंची। वहीं इस आग में प्रिंटिंग प्रेस के एक कर्मचारी की मौत हो गई है।


विधानसभा का एक दिवसीय विशेष-सत्र

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा का एक दिवसीय विशेष सत्र 16 जनवरी को बुलाया गया है। सत्र में केवल अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षण की समयावधि में 10 साल की वृद्धि किए जाने का अनुसमर्थन प्रस्ताव पारित होगा। अनुसूचित जाति और जनजाति के आरक्षण को बढ़ाने का केंद्र सरकार ने लिया है निर्णय। देश के सभी रा’यों में आरक्षण बढ़ाने का अनुमोदन जरूरी, विशेष सत्र में होगा अनुमोदन। बुधवार की दोपहर चेन्नई रवाना होने के पूर्व एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया को ्रविधानसभा के विशेष सत्र की जानकारी दी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार साल का पहला सत्र होने के कारण इसमें रा’यपाल का अभिभाषण भी होगा। अनुसुइया उइके का बतौर रा’यपाल पहला अभिभाषण होगा। इसकी अधिसूचना 9 जनवरी को होगी।


सड़क हादसे में 3 की मौत, मामला दर्ज

रायपुर। सड़क हादसे में टिकरापारा धरसीवा, व अभनपुर क्षेत्र में तीन लोगों की गंभीर रूप से घायल हो जाने के बाद उपचार के दौरान मौत हो गई। घटना की रिपोर्ट थाने में दर्ज की गई है। मिली जानकारी के अनुसार बोरियाखुर्द टिकरापारा निवासी प्रशांत कुमार शुक्ला 30 वर्ष पिता लक्ष्मी शुक्ला की कमाल मोटर के पास मोतीनगर टिकरापारा में सड़क किनारे मृत अवस्था में देखकर किसी ने घटना की सूचना टिकरापारा थाने में दी। घटना की सूचना पर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर लाश का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।


मृतक को किसी अज्ञात वाहन ने ठोकर मार दिया जिसके चलते उसके सिर में गंभीर चोंट लगने के चलते उसकी मौत हो गई है। इसी तरह धरसींवा थाने में बस स्टैंड सांकरा के पास 31 दिसंबर को तिलक राम यादव 42 वर्ष पिता सीताराम यादव निवासी देवसरा बेरला को तेज रफ्तार से आ रही मोटरसाइकिल क्रमांक एमवी 0465 के चालक ने टक्कर मार दिया जिसके चलते इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं अभनपुर थाना क्षेत्र में कानामुक्का थाना भखारा धमतरी निवासी चमनलाल निषाद 27 वर्ष ने रिपोर्ट दर्ज करायी है कि 7 जनवरी को टीवीएस एक्सल से आते समय बिसाहू राम निषाद पिता प्रेमलाल निषाद 55 वर्ष को किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दिया। जिसके चलते घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने तीनों मामले में अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ धारा 279, 304 ए के तहत अपराध दर्ज कर मर्ग कायम कर लिया है।


महिला प्रत्याशी सहित तीन का अपहरण

पत्थलगांव। नगरीय निकय चुनाव संपन्न होने के बाद छत्तीसगढ़ में त्रिस्तररीय पंचायत चुनाव को लेकर सियासी गलियारों में घमासान मचा हुआ है। उम्मीदवार लगातार अपने चुनावी क्षेत्रों का दौरा कर जनता को अपने पक्ष में वोट करने की अपील कर रहे हैं। इसी बीच पत्थलगांव इलाके से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है।


खबर है कि एक महिला जनपद प्रत्याशी सहित तीन लोगों का अपहरण हो गया है। मामले को लेकर परिजनों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है। मिली जानकारी के अनुसार रजनी सिदार पत्थलगांव इलाके से जनपद सदस्य प्रत्याशी के तौर पर चुनावी मैदान में उतरी हैं। लेकिन बुधवार रात अज्ञात लोगों ने रजनी सिदार सहित तीन लोगों का अपहरण कर लिया। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने बुलडेगा गांव में इस घटना को अंजाम दिया है।
मामले में फिलहाल शिकायत दर्ज कराई गई है, लेकिन अभी परिजनों ने किसी पर शंका या आरोप नहीं लगाया है। वहीं, पुलिस शिकायत दर्ज कर रजनी सिदार की तलाश में जुट गई है।


उपभोक्ता फोरम का आम्रपाली पर जुर्माना

भिलाईनगर। अल्ट्रा होम कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा छावनी में अपने प्रोजेक्ट आम्रपाली वनांचल सिटी में फ्लैट बुक करने के बाद निर्माण कार्य प्रारंभ ही नहीं किया, जिसे व्यवसायिक कदाचरण और सेवा में निम्नता करार देते हुए जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष लवकेश प्रताप सिंह बघेल व सदस्य राजेन्द्र पाध्ये ने बिल्डर संस्थान के अधिकृत प्राधिकारी और प्रोजेक्ट मैनेजर पर 1 लाख 18 हजार रुपये हर्जाना लगाया। 
परिवादीगण की शिकायत
अनावेदक बिल्डर कंपनी अल्ट्रा होम कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड एवं छत्तीसगढ़ राज्य इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कारपोरेशन के मध्य लीज डीड के निष्पादन के चलते बिल्डर कंपनी को 99 वर्षीय पट्टे पर भूमि प्रदान की गई थी, इस भूमि पर बिल्डर कंपनी द्वारा विभिन्न लोगों को आवासीय उद्देश्य से उप पट्टे पर मकान बना कर अस्थाई कब्जा प्रदान किया जाना था। इस आम्रपाली वनांचल सिटी प्रोजेक्ट में बालाघाट निवासी परिवादीगण श्रीमती हरजीत कौर उदय और उदय प्रकाश सिंह ने फ्लैट नंबर डी.291 बुक करवाया, जिसकी कीमत 4141800 रुपये थी।


परिवादियों ने फ्लैट की बुकिंग राशि 107000 रुपये भुगतान किया और उसके बाद लगातार निर्माण कार्य के संबंध में जानकारी लेते रहे परंतु अनावेदक बिल्डर द्वारा निर्माण कार्य प्रारंभ ही नहीं किया गया जबकि 2 वर्ष के भीतर यूनिट का कब्जा प्रदान किया जाना था। परिवादियों ने फ्लैट हेतु बैंक से ऋण भी स्वीकृत कराया थाए जिसे निरस्त करवाना पड़ा। फोरम द्वारा बिल्डर के दिल्ली स्थित मुख्य कार्यालय एवं भिलाई स्थित शाखा कार्यालय में नोटिस भेजी गई। नोटिस मिलने के बाद भी अनावेदक बिल्डर कंपनी प्रकरण में उपस्थित नहीं हुई और ना ही उसके द्वारा जवाब पेश किया गया। 
फोरम का फैसला
प्रकरण में विचारण के पश्चात जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष लवकेश प्रताप सिंह बघेल व सदस्य राजेन्द्र पाध्ये द्वारा यह आदेश पारित किया गया कि, फ्लैट के संबंध में परिवादियों और अनावेदक बिल्डर कंपनी के बीच अनुबंध निष्पादित हुआ था, अनुबंध निष्पादित होने के बाद ना तो फ्लैट का निर्माण प्रारंभ किया गया और ना ही परिवादियों को उनकी रकम लौटाई गई, यह कृत्य स्पष्ट रूप से व्यवसायिक दुराचरण एवं सेवा में निम्नता की श्रेणी में आने वाला कृत्य है। 
जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष लवकेश प्रताप सिंह बघेल व सदस्य राजेन्द्र पाध्ये ने अनावेदक बिल्डर कम्पनी पर 118000 रुपये हर्जाना लगाया, जिसके अंतर्गत जमा राशि 107000 रुपये और उस ब्याज, मानसिक कष्ट की क्षतिपूर्ति 10000 रुपये एवं वाद व्यय के लिए 1000 रुपये अनावेदक बिल्डर द्वारा परिवादियों को अदा किया जाएगा।


निर्भया-कांड के 1दोषी की क्यूरेटिव पिटिशन

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप के चार दोषियों में से एक विनय कुमार ने फांसी की सजा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दायर की है। क्यूरेटिव पिटिशन में विनय ने मांग की है कि उसे 22 जनवरी को फांसी न दी जाए। इससे पहले दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया केस के सभी गुनहगारों के खिलाफ डेथ वारंट जारी कर फांसी की सजा की तारीख तय कर दी है। कोर्ट में सुनवाई के दौरान अभियोजन ने कहा था कि अब किसी भी दोषी की कोई भी याचिका किसी भी कोर्ट या राष्ट्रपति के समक्ष लंबित नहीं है। सभी दोषियों की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी थी। कोर्ट से डेथ वारंट जारी करने का आग्रह करते हुए अभियोजन ने कहा था, ''डेथ वारंट जारी करने और तामील करने के बीच दोषी सुधारात्मक याचिका दायर करना चाहते हैं तो कर सकते हैं।''


क्या कहा निर्भया की मां ने


दो दोषियों-मुकेश और विनय के वकील ने कहा कि वे सुप्रीम कोर्ट में सुधारात्मक याचिका दायर करने की प्रक्रिया में हैं। कोर्ट की ओर से डेथ वॉरंट जारी होने के बाद निर्भया की मां ने कहा था कि यह आदेश (मौत की सजा पर अमल के लिए) कानून में महिलाओं के विश्वास को बहाल करेगा।


क्या हुआ था दिसंबर 2012 में


आपको बता दें कि दिसंबर 2012 में निर्भया के साथ 6 लोगों ने बस में गैंगरेप किया था। इसके बाद इलाज के दौरान निर्भया ने दम तोड़ दिया था। 6 में एक आरोपी नाबालिग था। वहीं एक आरोपी राम सिंह ने जेल में खुद को फांसी लगा ली थी। इसके बाद बाकि चार आरोपियों का भी फांसी की सजा सुनाई गई थी। तमाम का प्रक्रियाओं के बाद 22 जनवरी को अब इस सभी को फांसी दी जाने वाली है।


2020-21 के लिए रिटर्न फार्म नोटिफाई

नई दिल्ली। करदाताओं की सहूलियत के लिए आयकर विभाग ने करीब चार महीने पहले ही आकलन वर्ष 2020-21 के लिए रिटर्न फॉर्म को नोटिफाई कर दिया है। इसमें विभाग ने बड़े स्तर पर बदलाव करते हुए करदाताओं से कई नई तरह की जानकारियां मांगी हैं। आयकर विभाग अमूमन किसी आकलन वर्ष का आईटीआर फॉर्म अप्रैल के पहले सप्ताह में जारी करता है। करदाताओं की मांग पर केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने इस बार चार महीने पहले जनवरी की शुरुआत में ही दो फॉर्म नोटिफाई कर दिए हैं। विभाग ने अभी आकलन वर्ष 2020-21 के लिए आईटीआर फॉर्म-1 सरल और आईटीआर-4 सहज फॉर्म को नोटिफाई किया है। अन्य फॉर्म भी जल्द करदाताओं के सामने आ जाएंगे। हालांकि, इन्हें अभी एक्टिवेट नहीं किया गया है।


मकान के संयुक्त मालिक तो भरें आईटीआर-2


आयकर विभाग ने बताया है कि सालाना 50 लाख रुपये से कम आय वाले व्यक्तिगत करदाता या अविभाजित हिंदू परिवार (एचयूएफ) अगर किसी मकान के संयुक्त रूप से मालिक हैं, तो अब वे आईटीआर-1 नहीं भर सकेंगे। दरअसल, कर बचाने के लिए आमतौर पर नौकरीपेशा दंपति संयुक्त रूप से किसी मकान को खरीदते हैं। इस पर बैंक से बड़ा कर्ज भी मिल जाता है। 2020-21 के लिए उन्हें आईटीआर-2 फॉर्म भरना होगा।


देना होगा पासपोर्ट नंबर


आयकर विभाग ने आगामी आकलन वर्ष से जिन करदाताओं के पास पासपोर्ट है, उनके लिए रिटर्न फॉर्म में इसकी जानकारी देना अनिवार्य कर दिया है। यह नियम आईटीआर-1 और आईटीआर-4 के अलावा आने वाले सभी रिटर्न फॉर्म पर भी लागू होंगे।


विदेश यात्रा का विवरण


अगर किसी करदाता ने वित्त वर्ष 2019-20 में परिवार के साथ विदेश यात्रा की है, तो उसे रिटर्न में ज्यादा जानकारियां देनी होंगी। इस यात्रा में अगर 2 लाख रुपये से ज्यादा खर्च आता है तो करदाता आईटीआर-1 फॉर्म नहीं भर सकेंगे। अगर ये करदाता आईटीआर-4 के दायरे में आते हैं, तो इन्हें खर्च की गई राशि का खुलासा करना होगा।


ज्यादा बिजली खपत का खुलासा


वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान किसी करदाता ने बिजली बिल पर 1 लाख रुपये से ज्यादा खर्च किए हैं, तो वह आईटीआर-1 दाखिल नहीं कर सकेगा। ऐसे करदाता को आईटीआर फॉर्म-4 का इस्तेमाल करना होगा और उन्हें बिजली बिल पर खर्च राशि की जानकारी भी देनी होगी।


1 करोड़ से ज्यादा जमा पर सहज फॉर्म


आयकर विभाग के मुताबिक, किसी करदाता ने 2019-20 में किसी एक या ज्यादा बैंकों के चालू खाते में 1 करोड़ से ज्यादा राशि जमा की है, तो उन्हें भी आईटीआर फॉर्म-4 यानी सहज चुनना होगा। साथ ही वित्त वर्ष के दौरान जमा की गई कुल राशि का भी खुलासा करना होगा।


1 साल में दो बार जुड़वा बच्चों को जन्म

फ्लोरिडा। एक महिला ने एक साल में दो बार 2-2 बच्चों को जन्म दिया। फ्लोरिडा में रहने वाली मां ने पहली बार मार्च 2019 में दो बच्चों को जन्म दिया था। इसके बाद दिसंबर में भी उनके दो बच्चे हुए। एलेक्सजैंड्रिआ वोलिस्टन नाम की महिला ने कहा कि उन्हें ऐसा महसूस हो रहा है जैसे उन्हें दो बार इनाम मिल गया हो। मार्च में जुड़वां बच्चों को जन्म देने के बाद वोलिस्टन मई में प्रेग्नेंट हो गई थीं। तभी डॉक्टर ने कह दिया था कि दोबारा जुड़वां बच्चे होने की संभावना है।


5 बच्चों को करनी पड़ रही है देखभाल


वोलिस्टन ने कहा कि चारों बच्चे फिलहाल ठीक हैं। दिसंबर में प्रीमैच्योर स्थिति में दोनों का जन्म हुआ था। एक को हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई है, जबकि दूसरे को कुछ दिनों में घर भेज दिया जाएगा। पहले से वोलिस्टन की एक बेटी है, इसलिए अब उन्हें 5 बच्चों की देखभाल करनी होगी। उन्होंने कहा कि शुरुआत में जुड़वां बच्चों को जन्म देने को लेकर वह काफी नर्वस थीं। उन्हें डर था कि क्या उनका शरीर दो बच्चों को संभाल पाएगा। लेकिन आगे चलकर सबकुछ सही से हो गया। वोलिस्टन ने कहा कि उनकी ग्रैंडमदर ने भी दो बार जुड़वां बच्चों को जन्म दिया था लेकिन उन बच्चों की मौत हो गई थी। इसलिए वोलिस्टन ने कहा कि उन्हें ऐसा लगता कि ग्रैंडमदर ने उन्हें अपने बच्चे गिफ्ट किए हैं। अमेरिकी सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, औसतन एक हजार डिलिवरी में जुड़वां बच्चे होने की संभावना करीब 36 बार होती है।


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...