बुधवार, 25 अक्तूबर 2023

हमास को तबाह करने का संकल्प दोहराया

हमास को तबाह करने का संकल्प दोहराया 

अखिलेश पांडेय 
वाशिंगटन डीसी/जेरूसलम। इजराइल ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र की एक उच्च स्तरीय बैठक में हमास को तबाह करने का संकल्प दोहराया और संयुक्त राष्ट्र प्रमुख, फलस्तीनियों तथा कई देशों के संघर्ष-विराम के आह्वान को नकार दिया।
उसने कहा कि गाजा में युद्ध न सिर्फ उसका, बल्कि ‘‘स्वतंत्र दुनिया का युद्ध है।’’ इजराइल के विदेश मंत्री एली कोहेन ने सात अक्टूबर को इजराइल पर हमास के अप्रत्याशित हमले के बाद देश से जवाबी कार्रवाई में ‘‘संयम बरतने’’ की अपील को खारिज कर दिया। इजराइल पर हमास के हमले में अब तक लगभग 1,400 लोग मारे गए हैं।
वहीं, गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, क्षेत्र में 5,700 से अधिक फलस्तीनी नागरिकों की मौत हुई है। कोहेन ने पूछा, ‘‘आप बताइए कि शिशुओं की हत्या, महिलाओं से बलात्कार और उन्हें जला देने, एक बच्चे का सिर काटने के जवाब में संयम भरी कार्रवाई कैसे की जाती है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ संघर्ष-विराम के लिए कैसे सहमत हो सकते हैं, जिसने आपके अस्तित्व को मिटाने और नष्ट करने का संकल्प जताया हो।
’’ कोहेन ने हमास को ‘‘नया नाजी’’ करार देते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा कि सात अक्टूबर के हमले के खिलाफ संयम भरी कार्रवाई ‘‘हमास का पूरी तरह से खात्मा करना है।’’ उन्होंने जोर देकर कहा, ‘‘हमास को नष्ट करना केवल इजराइल का अधिकार नहीं है।
यह हमारा कर्तव्य है।’’ कोहेन ने सात अक्टूबर के हमलों को चरमपंथ के खिलाफ ‘‘पूरी स्वतंत्र दुनिया के लिए एक चेतावनी’’ बताया और ‘‘सभ्य दुनिया से हमास को हराने के लिए इजराइल के साथ एकजुट होने का आग्रह किया।
’’ उन्होंने आगाह किया कि आज इजराइल पर हमला हुआ है और कल हमास और उसके हमलावर पश्चिमी देशों से लेकर दुनिया के हर क्षेत्र को निशाना बनाएंगे। कोहेन ने कतर पर हमास का वित्त पोषण करने का आरोप लगाया और कहा कि बंधक बनाए गए इजराइल के 200 से अधिक लोगों का भाग्य उसके (कतर के) अमीर के हाथों में था। वहीं, फलस्तीन के विदेश मंत्री रियाद अल-मलिकी ने इजराइली हमलों को रोकने की मांग की।
उन्होंने कहा, ‘‘20 लाख से अधिक फलस्तीनी हर दिन, हर रात जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहे है। अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत उन्हें (इजराइली हमलों को) रोकना हमारा सामूहिक मानवीय कर्तव्य है।’’ संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने दशकों पुराने इजराइल-फलस्तीन संघर्ष पर मासिक बैठक की शुरुआत की, जिसमें युद्ध में शामिल अहम पक्षों समेत कई देशों ने हिस्सा लिया।
इन देशों ने चेतावनी दी कि पश्चिम एशिया में हालात ‘‘दिन बदिन बदतर हो जा रहे हैं।’’ परिषद की बैठक शुरू होने के बाद गाजा में इजराइल की ओर से किए गए हमलों में कई मकान जमींदोज हो गए और कई परिवार मलबे के नीचे दब गए। गुतारेस ने जोर दिया कि नियमों का निश्चित रूप से पालन किया जाना चाहिए।
उन्होंने यह भी कहा कि ‘‘इस तरह के घातक हमले फलस्तीनी लोगों पर सामूहिक दंडात्मक कार्रवाई को न्यायोचित नहीं ठहरा सकते हैं।’’ संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा कि नागरिकों की रक्षा करना ‘‘किसी भी सशस्त्र संघर्ष में सर्वोपरि होता है।’
’ हमास का नाम लिए बगैर गुतारेस ने कहा कि ‘‘नागरिकों की रक्षा का मतलब उन्हें मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल करना कभी नहीं हो सकता।’’ अमेरिका इजराइल में हमास के हमलों और नागरिकों के खिलाफ हिंसा की निंदा करने तथा इजराइल के आत्मरक्षा के अधिकार की पुष्टि करने वाले एक प्रस्ताव को अपनाने पर जोर दे रहा है।
ऐसी उम्मीदें थीं कि प्रस्ताव पर मंगलवार को मतदान हो सकता है, लेकिन राजनयिकों ने कहा कि इस पर अब भी बातचीत जारी है। संयुक्त राष्ट्र में रूस के राजदूत वासिली नेबेंजिया ने परिषद को बताया कि मॉस्को अमेरिकी प्रस्ताव को खारिज करता है और तत्काल संघर्ष-विराम की मांग करता है। नेबेंजिया ने कहा कि अमेरिकी प्रस्ताव में संघर्ष-विराम का जिक्र नहीं है, इसलिए रूस अपने नये प्रस्ताव का मसौदा आगे बढ़ा रहा है।

बच्चियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी को निभाएं सीएम

बच्चियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी को निभाएं सीएम 

मनोज सिंह ठाकुर 
भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने राज्य में बच्चियों की सुरक्षा के मुद्दे को लेकर आज एक बार फिर सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि बच्चियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की है और वे इस बारे में सोचें।
सिंह ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर पोस्ट किया, 'शिवराज जी कन्या पूजन के नाम पर अपहरण कहाँ हो रहा है? आप देख रहे हैं कि नहीं ? इसी भोपाल में आपकी नाक के नीचे। मुझे टार्गेट करने से समय बचा हो तो ज़रा बच्चियों को भी बचा लीजिए।
बेटियों की सुरक्षा भी फ़िलहाल आपकी ही ज़िम्मेदारी है।' इसके पहले सिंह ने कथित तौर पर मुख्यमंत्री चौहान के नवरात्रि के दौरान कन्या पूजन को लेकर भी बयान दिया था। इसके बाद चौहान ने कल विभिन्न स्थानों पर अपने बयान में कहा कि बेटियों की पूजा सनातन संस्कार है, लेकिन इसको लेकर भी ''नाटक नौटंकी'' की बात की जा रही है।
उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि सनातन और शिवराज का विरोध करते हुए कोई नेता इतने निचले स्तर पर पहुंच जाएगा कि उन्हें बेटियों के सम्मान से भी तकलीफ होने लगी है। इसके बाद आज सुबह  सिंह ने इस मामले को लेकर फिर चौहान से सवाल किया है।
दरअसल राजधानी भोपाल में दो दिन पहले कन्या पूजन के बहाने एक गिरोह ने दो मासूम बच्चियों को अगवा कर लिया था। इस बीच पुलिस ने कोलार क्षेत्र में एक किराए के मकान दबिश दी, जिसमें अपह्त बच्चियां मिली, जिन्हें पुलिस ने आरोपियों के चंगुल से मुक्त करा लिया और मौके से एक नाबालिग लड़की सहित पांच आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया।
पकड़े गए परिवार के पास से दो और बच्चियां मिली हैं, इनमें एक तीन माह की है तथा एक ढाई वर्ष की है। पूछताछ में आरोपियों ने इन बच्चियों को अपनी बच्चियां बताया, लेकिन पुलिस को मामला संदेहास्पद लग रहा था। पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी हुयी है।

सरकार ने व्यवस्था को डबल बीमार बनाया

सरकार ने व्यवस्था को डबल बीमार बनाया 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे ने उत्तर प्रदेश के कानपुर में 14 बच्चों को संक्रमित खून चढ़ाने की घटना को गंभीर लापरवाही और शर्मनाक स्थिति बताते हुए कहा है कि केंद्र तथा राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार ने व्यवस्था को डबल बीमार बना दिया है। 
खडगे ने बुधवार को यहां जारी बयान में भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा ''डबल इंजन सरकार ने हमारी स्वास्थ्य व्यवस्था को डबल बीमार कर दिया है।'' उन्होंने कहा ''यूपी के कानपुर में एक सरकारी अस्पताल में थैलीसीमिया के 14 बच्चों को संक्रमित खून चढ़ा दिया गया, जिससे इन बच्चों को एचआईवी एड्स और हेपेटाइटिस बी, सी जैसी चिंताजनक बीमारियाँ हो गई हैं।
'' उन्होंने कहा ''ये गंभीर लापरवाही शर्मनाक है। मासूम बच्चों को भाजपा सरकार के इस अक्षम्य अपराध की सजा भुगतनी पड़ रही है। मोदी जी कल हमें 10 संकल्प लेने की बड़ी-बड़ी बातें सिखा रहे थे, क्या उन्होंने कभी अपनी भाजपा सरकारों की रत्ती भर भी जवाबदेही तय की है।

'अमृत कलश' यात्रा कार्यक्रम का आयोजन

'अमृत कलश' यात्रा कार्यक्रम का आयोजन 

हरिशंकर त्रिपाठी 
देवरिया। मेरी माटी मेरा देश अभियान के अंतर्गत आज विकास भवन से 'अमृत कलश' यात्रा कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसमें बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों एवं आम जनमानस में सहभागिता निभायी।
सदर सांसद डॉ रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक भारत श्रेष्ठ भारत के संकल्पना साकार हो रही है। अमृत कलश यात्रा से लोगों में जागृति आई है और राष्ट्रवाद की नई अलख जग रही है। राष्ट्रवाद की अलख से देश 2047 तक विकसित राष्ट्र की कतार में अग्रणी बनेगा। सदर सांसद ने अमर शहीद रामचंद्र विद्यार्थी, सोना सोनार के बलिदान को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।
सांसद सलेमपुर रविंदर कुशवाहा ने कहा कि मेरी माटी मेरा देश कार्यक्रम आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की पहल पर प्रारंभ हुआ। इस कार्यक्रम के अंतर्गत स्वंतत्रता संग्रह सेनानी, सीमाओं पर बलिदान करने वाले शहीदों के गांव से मिट्टी लेकर दिल्ली में अमृत उद्यान की स्थापना की जाये। हमारी नई पीढ़ी को अपने विरासत और इतिहास की जानकारी होनी चाहिए। स्वंत्रता आंदोलन के वीरों की वजह से अग्रेजों को देश छोड़ना पड़ा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अमर शहीदों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के सपनों के भारत का निर्माण किया जा रहा है। देश हर क्षेत्र में सर्वांगीण विकास कर रहा है। देश समृद्ध एवं शक्तिशाली बन रहा है। 2047 तक हमारा देश विकसित राष्ट्र में शामिल होगा।
विधायक रामपुर कारखाना सुरेंद्र चौरसिया ने अमर शहीदों एवं राष्ट्रनायकों को श्रद्धांजलि अर्पित की।
जिलाधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने कहा कि भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित मेरी माटी मेरा देश-अमृत कलश यात्रा कार्यक्रम अपनी मिट्टी का वन्दनोत्सव है, जिसमें हम सभी के लिए अपनी विराट सांस्कृतिक विरासत से प्रगाढ़ रूप से रूबरू होने, उसकी भव्यता पर गर्व करने और ऐसे गर्वजनित रस में डूब कर उत्सव में आनंद लेने का स्वर्णिम अवसर है।
कार्यक्रम के दौरान अमर शहीदों के परिजनों को भी सम्मानित किया गया जिसमें भटनी के कोडरा निवासी अमर शहीद सिपाही प्रेमचंद की पत्नी तेतरी देवी, बरडीहा दलपत निवासी अमर शहीद अंशुमान सिंह के पिता सूबेदार मेजर रवि प्रताप सिंह, अमर शहीद चंद्रभान चौरसिया की पत्नी पिंकी कुमारी चौरसिया शामिल हैं।
उच्च प्राथमिक विद्यालय मुकुंदपुर की छात्राओं ने वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई से संबंधित गीत नाट्य एवं शिव तांडव प्रस्तुत किया। प्राथमिक विद्यालय बरौना तथा कस्तूरबा गांधी राष्ट्रीय बालिका विद्यालय देवरिया की छात्राओं ने देशभक्ति से परिपूर्ण गीत प्रस्तुत किये। संस्कृति विभाग से नामित कलाकार मोहिनी द्विवेदी ने लोकगीत, देवी भक्ति गीत एवं देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकांत राय ने किया।
इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष पंडित गिरीश चंद तिवारी, सीडीओ प्रत्यूष पांडेय, जिला विकास अधिकारी रविशंकर राय, जिलाध्यक्ष भाजपा भूपेन्द्र सिंह,राजेश कुमार मिश्रा,अजय उपाध्याय,अम्बिकेश पाण्डेय,अजय कुमार दूबे,रामदास मिश्रा,नवीन सिंह,रविन्द्र किशोर कौशल,धनुषधारी मणि,कृष्णानाथ राय,श्रीनिवास मणि,तेजबहादुर पाल,राहुल कुमार,मारकंडेय गिरी,जितेन्द्र सिंह,बृजेश गुप्ता,रामेश्वर पाण्डेय,वीरेन्द्र सिंह,प्रमोद,अभिषेक सहित बड़ी संख्या में आमजन मौजूद थे।

'मिर्ज़ापुर सीज़न 3' में काम करेगी अभिनेत्री दुग्गल

'मिर्ज़ापुर सीज़न 3' में काम करेगी अभिनेत्री दुग्गल 

कविता गर्ग 
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री रसिका दुग्गल वेबसीरीज 'मिर्ज़ापुर सीज़न 3' में काम करती नजर आएंगी। रसिका दुग्गल ने वेबसीरीज मिर्ज़ापुर में बीना त्रिपाठी का किरदार निभाया है। रसिका दुग्गल ने मिर्जापुर सीज़न 3 के साथ शो की वापसी का संकेत दिया है। इंस्टाग्राम पोस्ट में, रसिका दुग्गल ने मिर्जापुर शो से एक क्लिप साझा करके एक संकेत दिया। 
वीडियो में वह फोन पर बात करते हुए कह रही हैं, जल्दी करेंगे ठीक है। मिर्ज़ापुर 3 की रिलीज़... रिस्क नहीं ले सकते। रसिका दुग्गल ने मिर्जापुर सीज़न 3 में अपना काम पूरा कर लिया है और हाल ही में उन्हें इसके लिए डबिंग करते हुए भी देखा गया था। मिर्ज़ापुर सीज़न 3 के अलावा, रसिका अपने सीज़न 3 के लिए अत्यधिक प्रशंसित सीरीज दिल्ली क्राइम में नीति सिंह के रूप में अपनी भूमिका को फिर से निभाएंगी। उनकी आनेवाले प्रोजेक्ट में लॉर्ड कर्जन की हवेली, फेयरी फोक, लिटिल थॉमस भी शामिल हैं।

‘इंडिया’ को ‘भारत’ में बदलने की सिफारिश

‘इंडिया’ को ‘भारत’ में बदलने की सिफारिश

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) पैनल ने स्कूल के सभी पाठ्यपुस्तकों में ‘इंडिया’ को ‘भारत’ में बदलने की सिफारिश की है। समिति के अध्यक्ष सी आई इस्साक ने बुधवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि NCERT पैनल ने सभी विषयों के पाठ्यक्रम में भारतीय ज्ञान प्रणाली (IKS) शुरू करने की सिफारिश की है।
‘प्राचीन इतिहास’ के बजाय ‘शास्त्रीय इतिहास’ पढ़ाया जाए’
एनसीईआरटी पैनल ने पाठ्यपुस्तकों में ‘प्राचीन इतिहास’ के बजाय ‘शास्त्रीय इतिहास’ को भी शामिल करने की सिफारिश की है। सामाजिक विज्ञान की एक उच्च स्तरीय समिति ने इसकी सिफारिश की है, जिसके मुताबिक, सभी कक्षाओं की स्कूली पाठ्यपुस्तकों में इंडिया को ‘भारत’ से बदल दिया जाना चाहिए। हालांकि, NCERT के अधिकारियों ने कहा कि पैनल की सिफारिशों पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है।
आई इस्साक ने समाचार एजेंसी PTI को बताया कि, समिति ने सर्वसम्मति से सिफारिश की है कि ‘भारत’ नाम का इस्तेमाल सभी कक्षाओं के छात्रों के लिए पाठ्यपुस्तकों में किया जाना चाहिए। हमने पाठ्यपुस्तकों में ‘प्राचीन इतिहास’ के बजाय ‘शास्त्रीय इतिहास’ को शामिल करने की भी सिफारिश की है।’ उन्होंने कहा कि समिति ने पाठ्यपुस्तकों में विभिन्न युद्ध में ‘हिंदू जीत’ को उजागर करने की भी सिफारिश की है।

‘हिंदू जीत को किया जाए उजागर’
भारतीय ऐतिहासिक अनुसंधान परिषद (आईसीएचआर) के सदस्य आई इस्साक ने कहा कि ‘वर्तमान में हमारी विफलताओं का उल्लेख पाठ्यपुस्तकों में किया गया है। लेकिन, मुगलों और सुल्तानों पर हमारी जीत का कुछ भी नहीं है।’
बता दें कि NCERT, राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) 2020 के अनुरूप स्कूली पाठ्यपुस्तकों के पाठ्यक्रम को संशोधित कर रहा है। परिषद ने हाल ही में इन कक्षाओं के लिए पाठ्यक्रम, पाठ्यपुस्तकों और शिक्षण सामग्री को अंतिम रूप देने के लिए 19 सदस्यीय राष्ट्रीय पाठ्यक्रम और शिक्षण सामग्री समिति (NSTC) का गठन किया है।
कौन-कौन है समिति में शामिल?
आई इस्साक ने कहा, ‘समिति ने सभी विषयों के पाठ्यक्रम में भारतीय ज्ञान प्रणाली (IKS) को शामिल करने की भी सिफारिश की है। समिति के अन्य सदस्यों में ICHR के अध्यक्ष रघुवेंद्र तंवर, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU)  प्रोफेसर वंदना मिश्रा, डेक्कन कॉलेज डीम्ड विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति वसंत शिंदे और हरियाणा के एक सरकारी स्कूल में समाजशास्त्र पढ़ाने वाली ममता यादव शामिल हैं।

मुजफ्फरनगर: जाट समाज का बडा सम्मेलन बुलाया

मुजफ्फरनगर: जाट समाज का बडा सम्मेलन बुलाया

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। जाट आरक्षण का मुद्दा एक बार फिर से तूल पकडने लगा है। 20 नवम्बर को जहां दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में बडा सम्मेलन बुलाया गया है, वहीं इसके लिए मुजफ्फरनगर में जाट समाज का बडा सम्मेलन बुलाया गया है। इसकी तैयारियों के लिए जाट महासभा के पदाधिकारियों ने तैयारियां व जनसंपर्क शुरु कर दिया है।
आर्य समाज जीटी रोड खतौली पर जाट सभा की बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता डॉक्टर करण सिंह ने खानपुर की। बैठक में अखिल भारतीय जाट महासभा के प्रदेश मुख्य महासचिव धर्मेंद्र तोमर ने बताया कि केंद्र में भारत सरकार द्वारा जाटों को पिछड़ा वर्ग श्रेणी में वैधानिक प्रक्रिया पूर्ण कर आरक्षण दिया गया था, लेकिन वर्तमान सरकार ने सन 2015 में केंद्रीय सेवा में आरक्षण रददृ कर दिया था, समाज और संगठनों के विरोध के कारण सरकार ने आरक्षण बहाल करने का वादा किया था।
आज तक केंद्र सरकार ने जाट आरक्षण को लेकर कोई कदम नहीं उठाया है। उत्तर प्रदेश के साथ-साथ आठ अन्य राज्यों में जाटों को आरक्षण प्राप्त है। इसी संबंध में वर्तमान सरकार को वादा याद करने के लिए 20 नवंबर को दिल्ली तालकटोरा स्टेडियम में राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन होगा, जिसकी तैयारी में जिला वह मंडल स्तर पर अधिवेशन चल रहे हैं।
जिला अध्यक्ष ब्रजवीर सिंह ने बताया कि जाट आरक्षण की मांग को लेकर दिनांक 29 अक्टूबर को मुजफ्फरनगर में विशाल सम्मेलन आयोजित किया जाएगा जिसमें अखिल भारतीय जाट महासभा के राष्ट्रीय महासचिव चौधरी युद्धवीर सिंह, प्रदेश अध्यक्ष प्रताप चौधरी और प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी शामिल होंगे।
मंडल अध्यक्ष योगेंद्र सिंह ने कहा कि सहारनपुर मंडल की तीनों जिलों में संगठन को मजबूत कर जाट आरक्षण बहाली की मुहिम को चलाया जाएगा। बैठक में मुख्य रुप से तहसील अध्यक्ष जसवीर राणा,धनेन्द्र तोमर पूर्व सभासद, ओमपाल सिंह चेयरमैन, टीटू प्रधान ब्लॉक अध्यक्ष विजयपाल चेयरमैन अनिल प्रधान, राकेश ताजपुर, चहक सिह राठी प्रधान, अरविंद बालियान, दयानन्द आर्य , खानपुर अशोक, प्रधान दुधाहेडी, गूडडु प्रधान, कुलदीप सिंह, अंकुर तोमर, नीरज बालियान,अकुर काकराण, अमन रॉयल ,आशीष बालियान, मुकेश चौहान, अमित चौधरी, विशान्त राठी, विशाल तोमर सभासद, युवराज तोमर, ओमप्रकाश सिंह आदि समाज के लोग उपस्थित रहे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  


1. अंक-339, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बृहस्पतिवार, अक्टूबर 26, 2023

3. शक-1944, आश्विन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त: 06:13।

5. न्‍यूनतम तापमान- 15 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

फैक्ट्री में आग लगने से 6 लोगों की मौत

फैक्ट्री में आग लगने से 6 लोगों की मौत  कविता गर्ग  पुणे। महाराष्ट्र में पुणे जिले के पिंपरी चिंचवड इलाके में मोमबत्ती बनाने वाली एक फैक्टरी...