शुक्रवार, 30 अगस्त 2019

भ्रष्टाचार के खिलाफ सीबीआई के छापे

नई दिल्‍ली। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने भ्रष्टाचार के खिलाफ शुक्रवार को देशभर में अचानक 150 जगहों पर छापेमारी की।
अधिकारियों ने बताया कि यह कार्रवाई दिल्ली, जयपुर, जोधपुर, गुवाहाटी, श्रीनगर, शिलांग, चंडीगढ़, शिमला, चेन्नई, मदुरै, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, मुंबई, पुणे, गांधीनगर, गोवा, भोपाल, जबलपुर, नागपुर, पटना, रांची, गाजियाबाद, लखनऊ और देहरादून में की गई। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान मुख्य रूप से भ्रष्टाचार के उन बिंदुओं को ध्यान रखकर चलाया गया जिनकी वजह से सरकारी तंत्र में आम आदमी और छोटे कारोबारियों को सबसे ज्यादा चोट पहुंचती है।


वित्त मंत्री ने किया,बैंकों के विलय का ऐलान

नई दिल्ली। सुस्त अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को कई बड़े एलान किए हैं।  इस खबर के बाद सरकारी बैंकों के शेयरों में गिरावट आई। वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को दस बैंकों के प्रमुखों को बुलाया था। इनमें यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, केनरा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, इलाहाबाद बैंक, कॉरपोरेशन बैंक, सिंडिकेट बैंक और आंध्रा बैंक शामिल हैं। पंजाब नेशनल बैंक, इंडियन बैंक, यूनियन बैंक और केनरा बैंक में बाकी सरकारी बैंकों का विलय करने की घोषणा कर दी गई है।


भारत सरकार ने कई बैंकों के विलय का एलान कर दिया है। इनमें सरकारी बैंकों के मुनाफे की स्थिति, लोन रिकवरी का स्तर और नीरव मोदी जैसे बड़े घोटाले रोकने पर किए जा रहे कार्यों के बारे में उल्लेख किया है। इसके अलावा पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक और यूनाइटेड बैंक का विलय होगा। अठारह में से छह सरकारी बैंकों का विलय कर दिया गया है। अब विलय के बाद केवल बारह सरकारी बैंक बचेंगे। वहीं देश में पहलेदस बड़े सरकारी बैंक थे, जिनकी शाखाएं विदेशों में भी थी। अब ऐसे बैंकों की संख्या घटकर चार रह जाएगी।


वित्त मंत्री ने कहा कि बैकों ने उपभोक्ताओं के हित में घोषणाएं की हैं। 
पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था पर काम जारी है,तीन लाख फर्जी कंपनियां बंद कर दी गई हैं, बैंकों में कई बड़े सुधार किए गए हैं, बैंक अच्छे प्रबंधन के साथ काम करेंगे, 250 करोड़ से ज्यादा के कर्ज पर निगाह रखेंगे, बड़े कर्ज पर निगरानी के लिए एजेंसी बनेगी, भगोड़ों की संपत्ति पर कार्रवाई जारी रहेगी, कम वक्त में ज्यादा लोन की स्कीम जारी, नीरव मोदी जैसे मामले रोकने के लिए सतर्कता, अभी तक आठ सरकारी बैंकों ने रेपो रेट पर आधारित ब्याज दर की शुरुआत की है, मुश्किल हालात में चार एनबीएफसी को सरकारी बैंकों से मदद मिली है, बैंकों के एनपीए में कमी आई है, एनपीए घटकर 7.90 लाख करोड़ रुपये हुआ है, 18 में से 14 सरकारी बैंकों का मुनाफा बढ़ा है, बैंकों में कर्मचारियों की छंटनी नहीं की गई है, लोन रिकवरी रिकॉर्ड स्तर पर है, रिटेल लोन में हुई बढ़ोतरी, पंजाब नेशनल बैंक में होगा दो बैंकों, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का विलय, केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक का होगा विलय , इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का होगा विलय, यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक का होगा विलय, सरकारी बैंकों की संख्या 18 से घटकर 12 हुई।


सरकार फेल, संस्था आगे आई

गैस आधारित शवदाह गृह के उपयोग के लिए समाज में जागरुकता जरूरी। अजमेर में बेकार पड़ा है संयंत्र। लावारिस शवों एवं जरूरतमंद परिवारों की मदद के लिए सेठ साहिबराम गोयल धर्मार्थ ट्रस्ट तथा अग्रवंशज संस्थान आगे आए। जैन समाज की सार्थक पहल।

अजमेर। विकास प्राधिकरण ने जनप्रतिनिधियों, सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं के पदाधिकारियों की मांग पर अजमेर के पुष्कर रोड स्थित शमशान स्थल पर कोई सवा करोड़ रुपए की लागत से गैस आधारित शवदाह गृह बनाया गया था। इस गृह का निर्माण शिवशंकर हेड़ा के अध्यक्ष पद पर रहते हुए वर्ष 2018 में हुआ। तब यह उम्मीद जताई गई कि इस संयंत्र में शवों का दाह संस्कार होगा, लेकिन समाज में जागरुकता के अभाव में अब इस संयंत्र का उपयोग नहीं हो रहा है। प्राधिकरण के अधिशाषी अभियंता प्रकाश सोलंकी ने बताया कि संयंत्र में शव दाह के मात्र दो हजार रुपए शुल्क निर्धारित किया गया है, जबकि लकड़ी व अन्य सामग्री से दाह संस्कार पर दस हजार रुपए से भी ज्यादा की राशि खर्च होती है। लेकिन धार्मिक और सामाजिक मान्यताओं के चलते संयंत्र का उपयोग नहीं हो रहा है। जबकि प्राधिकरण प्रतिवर्ष बड़ौदा की फर्म मैसर्स अल्फा इक्विपमेंटस को प्रतिमाह 46 हजार 750 रुपए का भुगतान कर रहा है। यह राशि संयंंत्र के रख-रखाव की एवज में की जाती है। सोलंकी ने बताया कि कोई भी परिवार कभी शव का दाह संस्कार संयंत्र में कर सकता है। श्मशान स्थल पर हर समय संबंधित फर्म के कर्मचारी उपलब्ध रहते हैं। मोबाइल नम्बर 8003217992 व 8003720117 पर फर्म के कर्मचारियों से संवाद किया जा सकता है। शवदाह गृह से परिजन को अस्थियां भी दी जाती हैं। 
जैन समाज के प्रतिनिधियों की अपील:
पुष्कर रोड स्थित श्मशान स्थल पर स्थापित गैस संयंत्र में शवदाह के लिए जैन समाज के प्रतिनिधि और अजमेर के जवाहर लाल नेहरू अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अनिल जैन ने भी अपील की है। डॉ. जैन ने कहा कि जैन संस्कृति में यह मान्यता है कि लकडिय़ों के जलने पर जीव हत्या होती है, जबकि हमारे यहां किसी प्रकार से जीव हत्या निषेध हैं। यदि अजमेर के जैन समाज के परिवार भी अपने परिजन का अंतिम संस्कार गैस संयंत्र में करते हैं तो उल्लेखनीय कार्य होगा। अन्य समाजों को भी पहल करनी चाहिए, इससे पर्यावरण भी दूषित होने से बचेगा। आज पर्यावरण को बचाने की सख्त जरूरत है। अजमेर के केसरगंज स्थित दिगम्बर जैसवाल जैन मंदिर कमेटी के प्रतिनिधि आर्किटेक्ट प्रवीण जैन ने बताया कि उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश के अधिकांश बड़े शहरों तथा दिल्ली में जैन समाज के लोग अपने परिजन के शवों का दाह संस्कार विद्युत या गैस आधारित संयंत्र में ही करते हैं। जैन समाज के साधु संत भी विद्युत या गैस संयंत्र में शवों के दहन पर जोर देते हैं। डॉ. अनिल जैन और प्रवीण जैन कहा कि अजमेर में गैस संयंत्र के उपयोग के लिए समाज में जागरुकता की जाएगी। 
दो संस्थाएं आगे आईं:
चूंकि लावारिस शवों के दाह संस्कार के लिए पुलिस के पास बड़ा फंड नहीं होता, इसलिए पुलिस को भी मुश्किल होती है। कई गरीब परिवार भी अपने परिजनों के शवों का अंतिम संस्कार करने में आर्थिक परेशानी महसूस करते हैं। ऐसी परेशानियों और गैस संयंत्र के प्रति जागुरकता बढ़ाने के लिए ही अजमेर के सेठ साहिबराम गोयल धमार्थ ट्रस्ट के सीताराम गोयल और अग्रवंशज संस्थान के प्रतिनिधि सतीश बंसल ने घोषणा की है कि जिन शवों का अंतिम संस्कार गैस संयंत्र में होगा, उसकी दो हजार रुपए की राशि उनके  संस्थान प्राधिकरण में जमा कराएंगे। दोनों प्रतिनिधियों ने पुलिस विभाग से भी आग्रह किया है कि लावारिस शवों का अंतिम संस्कार गैस संयंत्र में ही करवाएं। इसके लिए मोबाइल नम्बर 9414003475 पर सीताराम गोयल और 9414002423 पर सतीश बंसल से सम्पर्क किया जा सकताक है। दोनों प्रतिनिधियों का कहना रहा कि शुल्क जमा कराने पर संबंधित परिवार की पहचान भी गुप्त रखी जाएगी। 
नेत्रदान की तरह संकल्प लें:
गैस संयंत्र में शव का दाह संस्कार कोई एक समाज का मामला नहीं है। इसमें सभी समाजों के परिवारों को पहल करनी चाहिए। जिस प्रकार जागरुक व्यक्ति अपने जीते जी नेत्रदान का संकल्प लेता है, उसी प्रकार गैस संयंत्र में शव दाह का भी संकल्प लें। यदि कोई व्यक्ति जीवत रहते हुए गैस संयंत्र में दाह संस्कार करने का संकल्प लेगा तो मृत्यु पर उसके परिवार को कोई असमंजस भी नहीं होगा। ऐसा संकल्प  करवाने के लिए अजमेर के पर्यावरणविद् और जागरुक लोगों को आगे आना चाहिए। 
आभार:
30 अगस्त को जब मेरा ध्यान अजमेर के गैस आधारित शवदाह गृह की ओर खींचा गया तो मैंने तभी ब्लॉग लिखने का मानस बनाया। प्राधिकरण के कार्य की विस्तृत जानकारी मुझे अधिशाषी अभियंता प्रकाश सोलंकी ने पूरे उत्साह के साथ उपलब्ध करवाई। वहीं मैं समाजसेवी सीताराम गोयल और सतीश बंसल का भी आधार प्रकट कना चाहता हंू कि मेरे एक बार के आग्रह पर दोनों ने गैस संयंत्र का शुल्क वहन करना स्वीकार कर लिया। सीताराम गोयल तो पहले से ही अपने परिवार के सेठ साहिबराम गोयल धमार्थ ट्रस्ट के माध्यम से अजमेर में बैकुंड रथ यात्रा का संचालन कर रहे हैं। परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होने पर गोयल का ट्रस्ट शववाहन को नि:शुल्क उपलब्ध करवाता है। समाज में धन्नासेठ तो बहुत होते हैं, लेकिन वहीं सेठ कहलाने लायक होता है जो समाज सेवा के लिए तत्पर हो। 
एस.पी.मित्तल


अंतर्देशीय अथवा अंतरराष्ट्रीय विवाह ?

पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन के मामलों में तेजी। 
ताजा मामला सिक्ख समुदाय से जुड़ा है। 370 के समर्थक अब जवाब दें। 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर  से हरियाणा के लड़कों के लिए बहु लाने की जो बात मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कही थी उसे भी पाकिस्तान ने यूएन में की गई शिकायत का आधार बनाया है। चूंकि अनुच्छेद 370 की वजह से जम्मू-कश्मीर में अनेक पाबंदियां लगी हुई थी, इसलिए स्थानीय लड़कियों का विवाह दूसरे राज्यों के लड़कों से मुश्किल था। अब पाबंदियां हट गई हैं इसलिए जम्मू-कश्मीर की लड़कियां भी भारतीय कानून के अनुरूप विवाह कर सकती है। इसी संदर्भ में खट्टर ने अपनी बात कही थी, लेकिन पाकिस्तान ने इसे तोड़ मरोड़ कर यूएन में पेश किया है। लेकिन इस बीच पाकिस्तान में हिन्दू लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन करवाने के मामलों में तेजी आ गई है। 30 अगस्त को ही पाकिस्तान में लाहौर के निकट ननकाना साहिब में एक सिक्ख परिवार की 20 साल की लड़की को जबरन ले जाने और फिर मुसलमान बना कर निकाह करने का मामला प्रकाश में आया है। जबरन धर्म परिवर्तन के वीडियो भी जारी हुए हैं। लड़की के पिता और दोनों भाईयों ने अब आत्मदाह की धमकी दी है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मामले में हस्तक्षेप की मांग की है। वहीं अकाली दल नेता सूखबीर सिंह बादल ने कहा कि यह मामला दर्शाता है कि पाकिस्तान में हिन्दुओं और सिक्ख परिवारों पर जुल्म हो रहे हैं। 
370 के समर्थक जवबा दें:
भारत में जो राजनीतिक दल अभी अनुच्छेद 370 के हिमायती बने हुए हैं उन्हें पाकिस्तान में हो रहे जबरन धर्म परिवर्तन पर जवाब देना चाहिए। ऐसे दलों के नेताओं को कश्मीर घाटी में लगी पाबंदियों की तो चिंता है लेकिन पाकिस्तान में हिन्दुओं पर हो रहे जुल्मों पर कोई फ्रिक नहीं है। जबकि पाबंदियों के बाद भी 5 अगस्त के बाद से सुरक्षा बलों ने एक बार भी गोली नहीं चलाई है। उल्टे पाकिस्तान परस्त आतंकी ही कश्मीर के निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार रहे हैं। 30 अगस्त को भी श्रीनगर में एक स्थानीय नगरिक की हत्या का मामला सामने आया है। 28 अगस्त को भी गुर्जर समुदाय के दो मुसलमानों की हत्या की गई। यह सब हत्याएं कश्मीर में दहशत फैलाने के मकसद से हो रही है। 
कश्मीर घाटी में इमरान की अपील बेअसर:
अनुच्छेद 370 को बेअसर किए जाने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार कोई न कोई नया हत्थकंडा अपना रहे हैं। अब इमरान खान ने पाकिस्तान के नागरिकों से अपील की है कि प्रत्येक शुक्रवार को दोपहपर 12:30 बजे अपना काम काज छोड़कर जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के प्रति समर्थन जताएं। चूंकि 30 अगस्त को शुक्रवार रहा, इसलिए पाकिस्तान में तो कई जगह 12:30 बजे लोगों ने समर्थन जताया, लेकिन इमरान की अपील का कश्मीर घाटी में कोई असर नहीं हुआ। इमरान को उम्मीद थी कि जम्मू कश्मीर में भी उनकी अपील पर मुसलमान प्रतिक्रिया देंगे। जम्मू कश्मीर से गत पांच अगस्त को 370 को बेअसर किया गया था, इसके बाद 30 अगस्त को चौथा शुक्रवार रहा, जब लोगों ने जुमे की नमाज अदा की। जम्मू और लद्दाख में तो पहले से ही सामान्य हालत हो गए थे, लेकिन अभी भी घाटी के कुछ जिलों में अनेक पाबंदियां लगी हुई है। लेकिन शुक्रवार को जुमे की नमाज पर घाटी में भी शांति रही। लोगों ने सुकून के साथ मस्जिदों में नजाम अदा की। मस्जिदों से अब शांति बनाए रखने की अपीलें की जा रही है। 
एस.पी.मित्तल


कालाबाजारी के लिए जा रहे, राशन पकड़ा

अधिकारीयों को भनक तक नहीं और कालाबाजारी को ले जाया जा रहा राशन से लदा कंटेनर पकड़ा, पुलिस ने सांठगांठ कर मामले को दबाने का किया प्रयास,मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने पकड़ा था राशन का भरा कंटेनर


मौके से पुलिस ने राशन से भरी गाड़ी को जप्त कर पहुंचाया था चौकी संतपुरा


मामले की भनक मीडिया को लगते ही मचा हड़कंप, पूरा वाक्या कैमरे में हुआ कैद


एक पुलिसकर्मी का राशन की गाड़ी पकड़कर चौकी लाने की बात स्वीकार करने का ऑडियो हो रहा है वायरल 



बुलंदशहर। सिकंदराबाद के ग्राम मोहम्मदपुर कला में राशन डीलर कालाबाजारी के लिए ले जा रहा था कंटेनर में राशन।
मुखबिर की सूचना पर संतपुरा पुलिस चौकी ने छापा मारकर गाड़ी सहित 50 बोरियों में भरकर ले जाया जा रहा राशन किया था जब्त।राशन डीलर ने पुलिस से सांठगांठ कर छुड़ाया पीछा।गांव वालों का दावा है कि सुबह 4 बजे के करीब गांव में राशन डीलर के घर से राशन से भरी गाड़ी को पुलिस ने पकड़ा था जिसको पुलिस अपने साथ लेकर चली गयी थी।मामले को लेकर मीडिया कर्मियों द्वारा चौकी इंचार्ज नरेंद्र एसआई से पूछा गया तो उन्होंने मामले को सिरे से नकार दिया।


जिसके बाद बात में पेच नज़र आने लगा क्योंकि घटना के चश्मदीद गवाहों ने कैमरे पर दावा किया कि संतपुरा चौकी की पुलिस आज सुबह राशन डीलर के घर से राशन लेकर जा रही गाड़ी को जप्त कर अपने साथ ले गई है!
जब हमारे संवाददाता ने इस मामले में  चौकी पर ही तैनात एक पुलिसकर्मी से फोन पर बात की तो बातचीत में पुलिसकर्मी भी राशन डीलर के घर से राशन भरी गाड़ी जप्त कर चौकी लाये जाने की बात स्वीकारते सुनाई दे रहा है।
पुलिस कर्मी से बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।जबकि मामले की जांच पड़ताल में चौकी के ही पुलिसकर्मी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि आज सुबह मोहम्मदपुर कला से मुखबिर की सूचना पर राशन की कालाबाजारी पकड़ी गई थी।राशन की कालाबाजारी का माल एक कंटेनर में लदा हुआ था जिसको पकड़कर चौकी लाया गया था लेकिन राशन डीलर द्वारा मोटी रकम देने के बाद मामले की बिना अधिकारीयों को सुचना दिए रफा-दफा कर दिया गया।


मामले की पड़ताल गांव में जाकर की गई तो दर्जनों ग्रामीणों ने कैमरे पर खड़े होकर ग्राम प्रधान पर भी गांव में बनाए गए शौचालय को लेकर घोटाला करने का आरोप लगा वही गांव के कुछ परिवारों ने प्रधान के खिलाफ आवाज उठाई और बताया कि ग्राम प्रधान बार-बार कहने के बावजूद भी उनके यहां शौचालय निर्माण नहीं करा रहा है जबकि गांव में अपात्र लोगों के यहां भी शौचालय बनवा दिए गए हैं।ग्रामीणों ने दावा किया कि राशन डीलर प्रीति कार्ड के हिसाब से नहीं देता राशन।कार्ड में दर्ज यूनिटों में से आधा यूनिट काट कर देता है राशन।


वहीं ग्रामीणों ने राशन डीलर पर अभद्रता और गाली गुफ़्तार करने का भी लगाया आरोप।ग्रामीणों ने राशन डीलर के साथ प्रधान की मिलीभगत होने का भी लगाया आरोप।यह पूरा वाक्य जांच पड़ताल के बाद कैमरे में हुआ कैद।अब कालाबाजारी का इतना बड़ा खेल उजागर होने के बाद देखना होगा कि क्या इसी तरह दलालों और कला बाजारों के जेब की ताकत बनता रहेगा गरीबों का निवाला?क्या इन लोगों पर प्रशासन कस पाएगा नकेल?क्या पुलिस द्वारा साठगांठ कर इसी तरह चलता रहेगा राशन की कलाबाजारी का खेल ?अब देखना होगा कि क्या इन सभी बिंदुओं पर जांच कर गरीबों की रोटी छीनने वाले गद्दारों के खिलाफ हो पाएगी कानूनी कार्यवाही ?क्या अब लग पाएगी राशन की कालाबाजारी पर रोक ?


ब्यूरो रिपोर्ट


बच्चा चोरी के शक में संदिग्धों से पूछताछ

फतेहपुर। असोथर थानाक्षेत्र के विधातीपुर गांव में मेरठ और पंजाब प्रांत के रहने वाले बता रहे संदिग्ध लोगों को स्थानीय पुलिस के द्वारा अपनी कस्टडी में ले लिया गया है। बच्चा चोरी की घटना और अफवाह को मध्य नजर रखते हुए स्थानीय पुलिस पूछताछ कर रहीं हैं।


स्थानीय पुलिस के द्वारा की गई छानबीन में कई तथ्य सामने आए हैं। जिसमें सबसे महत्वपूर्ण है संदिग्ध में से किसी के पास नहीं मिला कोई आइडेंटी कार्ड। जिसकी वजह से यह सुनिश्चित कर पाना कठिन हो रहा है। यह संदिग्ध क्या करने आए हैं या इनका उद्देश्य क्या है। वहीं गांव के रहने वाले पप्पू पासवान व श्रीकेशन पासवान ने पुलिस को अपना रिश्तेदार  बताया है।
जिले में चल रही बच्चा चोर गैंग की अफवाह के चलते किसी गांव के ही जागरूक युवक ने दी स्थानीय पुलिस को सूचना।
 (यूनिवर्सल एक्सप्रेस संवाददाता)


भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे एडीओ पंचायत

भ्रष्टाचार के आरोप में घिरे एडीओ पंचायत असमोली


सम्भल! असमोली विकास खंड के एडीओ पंचायत गुरदयाल सिंह एक बार फिर से भ्रष्टाचार के आरोपो को लेकर ज़िले मे चर्चाओं का विषय बने हुए है। आज असमोली विकास खण्ड के कर्मचारियों ने सीडीओ उमेश कुमार त्यागी को एक पत्र दिया, जिसमें एडीओ पंचायत पर अवैध रूप वसूली करने व मानसिक रूप से उत्पीड़न का आरोप लगाया है। अब इस मामले में सीडीओ ने पूरे मामले के जांच के आदेश कर दिए है। वही ग्राम पंचायत अधिकारियों ने बात करते हुए कि एडीओ पंचायत की ओर से वसूली की मांग की जाती है। मांग पूरी न होने पर झूठी शिकायत का आधार बनाकर मानसिक रूप से उत्पीड़न किया जाता है। जिसको लेकर हमने बीडीओ असमोली से भी शिकायत की गई पर एडीओ पंचायत पर कोई कार्यवाही नही गई। हम आपको बता दे कि पूर्व में जब एडीओ पंचायत गुरदयाल सिंह बनियाखेड़ा विकास खण्ड में तैनात थे। तब भी इनके ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उस समय भी मामला ज़िले पर पहुँच गया था। जिसके बाद एडीओ पंचायत को बनियाखेड़ा से तत्काल हटा दिया गया था। वही कुछ समय बाद एडीओ के राजनैतिक रसूक के चलते एडीओ गुरदयाल सिंह को असमोली विकास खंड का चार्ज कर दिया गया। पर कुछ महीने बाद ही फिर से एडीओ पंचायत पर कर्मचारियों वही आरोप लगाना शुरू कर दिए। जिसको लेकर एडीओ पंचायत को बनियाखेड़ा से हटाया गया था।


रिपोर्टर-रामौतार शर्मा


प्रशासन के खिलाफ धरने पर पालिका अध्यक्ष

लोनी नगरपालिका अध्यक्ष बैठी धरने पर "


गाजियाबाद। भारतीय जनता पार्टी की निष्टावान लोनी नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती रंजीता धामा अपने सैंकडों समर्थकों व पार्टी के कार्यकताओं के साथ ट्रोनिका सिटी थाना पँहुची ।
 दो दिन पूर्व वार्ड 46 रामपार्क कालोनी मे विकास कार्यों के उद्घाटन के समय नगरपालिका अध्यक्ष के ऊपर हुये पथराव मे कुछ लोगों के खिलाफ नामदर्ज तहरीर देने के पश्चात भी पुलिस -प्रशासन के दुारा मुकदमा नही लिखा गया था। दो दिन के पश्चात भी मुकदमा पंजीकृत नही हुआ। तो आज सुबह नगरपालिका अध्यक्ष अपने सैकडों समर्थकों व भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को लेकर ट्रोनिका सिटी थाने पर पँहुची तथा प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष  बात रखी लेकिन जाँच के नाम पर पुलिस केवल इस आपराधिक घटना को दबाने मे लगी रही। तब श्रीमती रंजीता धामा जी पुलिस की ढीली कार्य प्रणाली को लेकर आक्रोशित हो गयी तथा अपने समर्थकों के साथ थाने मे ही धूप मे धरने पर बैठ गयी ।
काफी देर तक धूप व गर्मी मे धरने पर बैठने से कमला नामक महिला की तबियत खराब हो गयी तथा उन्हे चक्कर आ गये वो बेहोश हो गयी । ये देखकर पुलिस के हाथ -पाँव फूल गये । 
आक्रोशित समर्थकों के दुारा जमकर नारेबाजी की गयी ।
काफी मान-मनोव्वल के उपरांत जब लोनी नगरपालिका अध्यक्ष धरना खत्म करने को राजी नही हुयी तब जाकर प्रशासन के दुारा उक्त चार व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया ।
धरने पर बैठी श्रीमती रंजीता धामा ने सभी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये कहा कि सूबे मे हमारी सरकार है। केन्द्र मे हमारी पार्टी की सरकार है। ऊपर से लेकर नीचे तक हम लोग जनता का नेतृत्व कर रहे हैं। लेकिन आज का दिन लोनी के इतिहास मे बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण दिन है। क्यूंकि हम लोगों के प्रति जो रवैया आज पुलिस प्रशासन ने दिखाया है वो बेहद ही गलत है निंदनीय है। यदि प्रशासन का ये रवैया हम सत्ताधारी पार्टी के जनप्रतिनिधियों के साथ है तो आम आदमी के साथ किस तरह का होता है। सोचने का विषय है कि आम आदमी को किस तरह से न्याय के लिये दर-दर भटकना पडता है। मै जल्द ही इस विषय को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ से मिलूंगी तथा पूरे प्रकरण से उनको अवगत कराऊंगी । तथा जब तक मुझ पर किये गये हमले के आरोपी जेल नही जायेंगे मै संघर्ष करती रहूगी ।
श्रीमती रंजीता धामा ने आज साथ आये हुये समस्त सभासदों का पार्टी के कार्यकर्ताओं का व अपने समर्थकों का धन्यवाद किया। इस अवसर पर नगरपालिका के समस्त सभासदगण, व्यापीरगण, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेतागण व पार्टी के कार्यकर्ता सहित सैकड़ों की संख्या मे समर्थक उपस्थित रहे।


गणेश उत्सव को लेकर भक्तों में उत्साह

2 सितंबर गणेशोत्सव की धूम को लेकर भक्तों में खासा उत्साह,जगह जगह सजने लगे पंडाल


कोरबा। त्योहारों की शुरुआत प्रथम पूज्य श्री गणेश के आगमन के साथ गणेशोत्सव से होता है।जहाँ पार्वती पुत्र विघ्नविनाशक श्री गणेश जी के 2 सितंबर को जगह जगह विराजमान करने को लेकर लोगों में विशेष उत्साह देखने को मिल रहा है।और बल,बुद्धि के देवता का शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्रों के हर गली मोहल्ले में स्थापना की तैयारी जोर शोर के साथ अंतिम चरण पर हैl


गणेश चतुर्थी को 2 दिन शेष रह गए है।और 2 दिन बाद यानि कि 2 सितंबर सोमवार को विघ्नहर्ता के आगमन को लेकर शहर सहित ग्रामीण इलाकों के चौक चौराहों में पंडाल की सजावट को अंतिम रूप दिया जा रहा है।जिसके साथ 10 दिन तक गणेशोत्सव पर्व की धूम रहेगी।गणपति बप्पा ही एक ऐसे देवता है जिसे बाहर,घर,दूकान सभी जगह विराजमान किया जाता है और विधि-विधान पूर्वक पूजन कर मनोवांछित फल की कामना की जाती है।मान्यता है कि जहाँ गणपति विराजमान होते है वहां शुभता और संपन्नता आती है।जीवन में किसी भी प्रकार का संकट हो श्रीगणेश की कृपा से हर परेशानी और बाधा से मुक्ति मिल जाती है।जिसके कारण इन्हें विघ्नों को दूर करने वाले मंगलमूर्ति देव भी कहे जाते है।किसी भी देव की पूजा या कोई मंगल कार्य बिना गणेश जी की पूजा के सम्पन्न नही होता है।गणेश जी को प्रथम पूज्य का वरदान स्वयं भगवान महादेव के साथ सभी देवतागणों द्वारा दिया गया था।तथा सभी देवताओं में गणेश जी ही एक ऐसे देवता है जिनकी पूजन विधि भी बेहद सरल और सटीक है।इसीलिए जगह जगह प्रथम पूज्य गणेश जी की स्थापना कर और धूमधाम से पूजा अर्चना की जाती है।मान्यतानुसार गणेश जी का जन्म भाद्रपद शुक्ल पक्ष चतुर्थी को मध्याह्न काल में स्वाति नक्षत्र और सिंह लग्न में हुआ था।जिसके कारण इसी दिन विशेष मुहूर्त में गणेश चतुर्थी मनाई जाती है और पूरे विधि विधान के साथ मूर्ति स्थापना कर 10 दिन तक उनकी पूजा अर्चना बड़े धूमधाम से की जाती है।गणेशोत्सव सम्पन्न होने के बाद भगवान विश्वकर्मा जयंती तत्पश्चात नवरात्रि पर्व की धूम रहेगी।


अंबेडकर मूर्ति की दुर्गति चरम पर:दिनेश

लोनी क्षेत्र में भारत रत्न बाबा भीम राव अम्बेडकर जी की प्रतिमा की दुर्गति अपने चर्म पर है:दिनेश गुर्जर


गाजियाबाद। दिल्ली सहारनपुर रोड स्थित दो नंबर बस स्टैंड के पास भारत रतन बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति  खड़ी की गई है। मूर्ति का कोई रखरखाव एवं देखभाल नहीं की जा रही है। आस पास लोगो द्वारा काफी कूड़ा फेंका जाता है। जिसे देख कर दिल भर आता है भारत रत्न बाबा साहिब की प्रतिमा समय के साथ के साथ चोटिल अथवा क्षतिग्रस्त भी हो गयी।या असामाजिक तत्वों द्वारा कर दी गयी है। अब हालही में बारिश के कारण और नाले की सफाई ना होने के कारण बाबा साहिब की प्रतिमा खड़ी है जो गिर भी सकती है। भारत रत्न बाबा साहिब की प्रतिमा के साथ हो रहे दुराचार का अंतराष्टीय प्रभाव क्या होंगे। दूसरे देश क्या सोचेंगे कि बाबा साहिब की उन्ही के देश मे इज्जत नही है। अंतराष्टीय स्तर पर देश की छवि खराब होने का खतरा भी है। ये बेहद संवेदन शील मामला है। इस प्रतिमा के इस तरह की हालत देख किसी की भी आंखे नम हो सकती है और मन मे सवाल आयगा की लोनी में सैकड़ो संस्थाएं बाबा साहिब के नाम से कार्य कर रही है, जो तरह तरह की क्रांति का दम भरती है क्या उन संस्थाओं को भारत रत्न की प्रतिमा के साथ हो रहा दुराचार नही दिखता इसी कारण बाबा साहिब के नाम से चल रही संस्थाए व बाबा की भक्ति करने वाले लोगो की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लग जाता है।
मेरा लोनी के क्षेत्र में सामाजिक संस्थाओं सहित लोनी के जनप्रतिनिधियों से और बसपा, बामसेफ, भीमआर्मी, भीमसेना, सपा, कांग्रेस, व भाजपा इत्यादि सक्रिय संघठन व  राजनीति व सामाजिक व्यक्ति तुरंत आगे आये और इस प्रतिमा के संरक्षण का जिम्मा ले  व मैं लोनी के निर्वाचित हुक्मरानों से भी विशेष अनुरोध करता हूं कि बाबा साहिब की प्रतिमा के साथ हो रहे दुराचार को तुरंत निवारण हेतु कोई कदम उठाए। 


यदि कोई सामाजिक व राजनैतिक संघठन इस कि जिम्मेदारी नही लेता है तो ये बड़े ही दुर्भाग्य की बात होगी। तो प्रशाशन को अनुरोध है कि इस प्रतिमा को शिफ्ट करा कर किसी सरकारी कार्यालय में अथवा किसी पार्क में स्थापित किया जा सकता है। जिस से भारत रत्न बाबा साहिब भीम राव अम्बेडकर जी  की प्रतिमा के साथ न्याय होगा।
उपरोक्त पूरे मामले के संदर्भ में पुलिस के माध्यम से प्रशाशन को सूचित करने का अनुरोध किया गया है की इतने कोई सामाजिक या राजनीतिक संस्था इसके संरक्षण का जिम्मा नही लेती तब तक पुलिस इस प्रतिमा का पूरा ख्याल रखे ।उम्मीद है कोई संस्था इस प्रतिमा का जिम्मा लेगी।
अन्यथा एक धरना प्रदर्शन करके कार्रवाई की जाएगी धरना प्रदर्शन करने वालों में प्रधान अरविंद बैंसला हरेंद्र पहलवान राहुल भाटी रिंकू पहलवान पम्मी गुर्जर रविशंकर बाल्मीकि सचिन त्यागी मुकेश जाटव शीलू गुप्ता अशोक पंडित जी अशोक जोगी सुनील जोगी प्रधान उमेश नागर योगेश नागर आदि लोग शामिल रहेंगे


हो सकता है मध्य प्रदेश अध्यक्ष ऐलान

भोपाल।कांग्रेस में अबतक प्रदेश अध्यक्ष का फैसला नही हो पाया है, लेकिन कवायद जोरों पर है। गुरुवार को सीएम कमलनाथ के दिल्ली रवाना होने पर भोपाल से लेकर दिल्ली तक हलचल तेज हो गई है। इस पद के दावेदार के लिए कई बड़े नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं ।सुत्रों की माने तो दिग्विजय और अजय सिंह का नाम सामने आने के बाद सिंधिया ने पीसीसी चीफ के लिए पार्टी के कई नेताओं के सामने अपना दावा पेश कर दिया है।खबर ये भी है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ आज शुक्रवार को दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करने वाले है।कहा जा रहा है कि आज कल में कांग्रेस नए अध्यक्ष का ऐलान कर सकती है, चुंकी सीएम कमलनाथ इसके बाद वैष्णों देवी यात्रा पर जाने वाले है।


मध्यप्रदेश में कांग्रेस के नए अध्यक्ष के लिए कवायद जोरों पर है, बावजूद इसके पीसीसी चीफ का फैसला नही हो पाया है। देर के चलते एक के बाद एक नेता दावेदारी ठोक रहे है।बुधवार को जब इस पद के लिए दिग्विजय सिंह खेमे के विधायक सक्रिय हुए तो गुरुवार को आदिवासी विधायकों ने भी अपनी दावेदारी कर दी। बिसाहूलाल ने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी की है।वही  पिछले दिनों प्रभारी महासचिव दीपक बावरिया रायशुमारी करने भोपाल आए थे। उन्होंने अपनी रिपोर्ट हाईकमान को सौंप दी है। बावरिया ने मंगलवार को कहा था कि प्रदेशाध्यक्ष के बारे में  इस महीने के अंत तक फैसला होने की उम्मीद है।इसी बीच गुरुवार को कमलनाथ दिल्ली पहुंचे है , सियासी गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरु हो गया है। कयास लगाए जा रहे है कि आज कमलनाथ सोनिया से मुलाकात कर नाम फायनल कर सकते है। वही  पार्टी आज कल में नए प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान कर सकती है।


सूत्रों के हवाले से खबर है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पीसीसी चीफ पद के लिए अपनी दावेदारी पेश की है। बताया जा रहा है कि पार्टी नेताओं के सामने उन्होंने अपनी दावेदारी ठोकी।समर्थकों ने भी सिंधिया का नाम आगे बढ़ाया है। हालांकि बीते हुए दिनों रायशुमारी में भी सिंधिया का नाम तेजी से ऊपर आया था।लेकिन बुधवार को जिस तरह से दिग्विजय का नाम सामने आय़ा है समीकरण बदले बदले नजर आ रहे है। खैर अंतिम फैसला सोनिया गांधी को लेना है।सुत्रों की माने तो कांग्रेस चौंकाने वाली फैसला कर सकती है। वही सिंधिया के बीजेपी नेताओं से संपर्क में होने की बात भी सामने आ रही है। 


अभी दौड़ में ये नेता शामिल


पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व मंत्री मुकेश नायक, वर्तमान मंत्री उमंग सिंगार, ओमकार सिंह, मरकाम कमलेश्वर पटेल, सज्जन वर्मा, बाला बच्चन के अलावा पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन और पूर्व प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष शोभा ओझा के नाम की चर्चा जोरों पर है। हालांकि अजय सिंह इंकार चुके है।


 


किसान के बेटे ने बनाया हेलीकॉप्टर,उड़ाया

किसान के बेटे ने खुद के दम पर बनाया हेलीकॉप्टर, 20 फीट तक उड़ने का किया दावा


दौसा। राजस्थान के दौसा के बांदीकुई क्षेत्र के आभानेरी ग्राम पंचायत के दो हजार आबादी वाले गांव के माटी के लाल चेतराम गुर्जर ने विषम परिस्थितियों में उड़ने वाला हेलीकॉप्टर बना कर कमाल कर दिया है। आईटीआई डिग्री धारी युवक के पढा़ई के दौरान एक उड़ने वाले हेलीकॉप्टर बनाने का सपना था। जिसको लेकर लूज पार्ट्स और जुगाड़ करके एक आदमी के बैठकर चार सौ किलो वजनी लोहे की बांडी का हेलीकॉप्टर एक साल की कड़ी मेहनत कर बना डाला। युवक का दावा है कि यदि उसे अनुमति मिले तो वह यह हेलीकॉप्टर बीस फीट ऊंचाई तक उड़ा सकता है।
इसको बनाने में उसने प्रतिदिन बारह से पन्द्रह घंटे की मेहनत की है। साथ ही इसमें करीब दस लाख रूपये का खर्चा हुआ है। जिसको लेकर किसान पिता ने उसके सपनों को पंख लगाने के लिए सहयोग किया। हेलीकॉप्टर को बनाते समय इसे तीन बार बदला गया। पहले इसमें मोटर साइकिल का सिंगल पेट्रोल इंजन लगाया गया लेकिन यह नहीं उड़ सका फिर युवक ने डीजल का इंजन लगाया लेकिन हलिकॉप्टर के कंपंन के कारण सफलता नहीं मिली। लगातार बदलते मॉडल के चलते हांन्डा सीबीजेड मोटर बाईक के दो इंजन लगाने के बाद और हेलीकॉप्टर का थोड़ा रूप में विस्तार कर युवक ने सफलता प्राप्त करते हुए हेलीकॉप्टर को बीस फीट ऊंचाई से ऊपर उड़ने का दावा किया। दस लीटर पेट्रोल भराव की क्षमता रखने वाला यह हेलीकॉप्टर बनाते समय युवक ने यूट्यूब पर जानकारी जुटाई। यदि केन्द्र और राज्य सरकार की युवक को मदद मिले तो युवक इसको और बेहतर बना सकता है।


त्रिलोकी नाथ


कश्मीर हिंसा का जिम्मेदार पाक:राहुल

राहुल गांधी ने पाकिस्तान को ठहराया कश्मीर में हिंसा का जिम्मेदार


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कश्मीर में हिंसा को लेकर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने राजनीतिक मतभेद अलग रखते हुए कश्मीर मामले पर पाकिस्तान या फिर किसी भी अन्य देश के हस्तक्षेप को बर्दाश्त न करने की बात कही है। राहुल ने अपने ट्विटर हैंडल से लगातार दो ट्वीट कर कश्मीर मुद्दे पर अपनी बात रखी। उन्होंने अपने ट्वीट में सरकार से कई मुद्दों पर मतभेद की बात कही, लेकिन अन्य देशों को कश्मीर से दूर रहने की सलाह दे डाली। राहुल गांधी ने अपने पहले ट्वीट में लिखा,
राहुल गांधी'मैं कई मुद्दों पर इस सरकार से सहमत नहीं हूं। लेकिन मैं साफ करना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का अंदरूनी मामला है और इस मामले में पाकिस्तान या फिर किसी भी अन्य देश के हस्तक्षेप की कोई जगह नहीं है.' राहुल गांधी ने अपने पहले ट्वीट में तो कश्मीर पर हस्तक्षेप न करने की बात कही, वहीं उन्होंने दूसरा ट्वीट करते हुए पाकिस्तान को आड़े हाथों लिया और उसे आतंक का समर्थन करने वाला देश बताया।


त्रिलोकी नाथ


भाजपा संयोजको को दिया दिशा-निर्देश

राणा ओबरॉय


रोहतक। भारतीय जनता पार्टी हरियाणा की पन्ना प्रमुख की बैठक रोहतक के जिला विकास भवन में हुई।जिसमें प्रदेश संयोजक भारत भूषण मिड्डा ने मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए पन्ना संयोजको को दिशा निर्देश दिए।
पानीपत जिला पन्ना संयोजक डॉ सुरिंदर टुटेजा के मार्गदर्शन में सभी विधानसभा के संयोजक एवं विस्तारकों ने हिस्सा लिया। विधानसभा पन्ना संयोजक अशोक छाबड़ा, राजबीर सिंह आर्य, अमरजीत सिंह कोहली,व अन्य भी रोहतक में हुई मीटिंग का विशेष हिस्सा बने।


24 लाख 60 हजार नकली करेंसी बरामद

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस द्वारा हिसार जिले में एक व्यक्ति के कब्जे से 24 लाख 60 हजार रुपये मूल्य के नकली करंसी नोट बरामद किये गए हैं।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान हिसार के बारह मोहल्ला निवासी रोहित उर्फ रमन के रूप में हुई है। आरोपी को सिटी पुलिस स्टेशन की एक टीम ने एक गुप्त सूचना के बाद गिरफतार किया है।
पंजाब रजिस्ट्रेशन नंबर की स्कूटी सवार आरोपी को सेक्टर -14, हिसार के गेट नंबर 2 से गिरफ्तार किया गया है। तलाशी लेने पर पुलिस ने वाहन से नकली करेंसी बरामद की है। आरोपी से 500 रुपयें मूल्य की 38 पैकेट और 200 रुपये के 28 पैकेट बरामद किए गए हैं।
प्रारंभिक पूछताछ के दौरान, यह पता चला कि अभियुक्त को पंजाब के एक अज्ञात व्यक्ति से केवल फोन पर सम्पर्क स्थापित कर नकली नोटों की सप्लाई कल ही मिली थी। इससे पहले आरोपी राजगुरु मार्केट में एक कपड़े की दुकान पर काम करत था। उसके खिलाफ मामला दर्ज कर गहन पूछताछ की जा रही है।


शामली:पत्रकारों का अनिश्चितकालीन धरना

शामली। पत्रकारों के लगातार हो रहे शोषण और करीब 3 महीने पहले News24 के संवाददाता अमित शर्मा के साथ पुलिस द्वारा की गई अमानवीय घटना को लेकर आज जनपद शामली में जिले के समस्त पत्रकारों ने कलेक्ट्रेट में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू किया पत्रकारों की मांग है कि एसपी शामली अजय कुमार पांडे को तत्काल जनपद शामली से हटाया जाए वह ऐसो कांधला को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए जिनके द्वारा कांधला के एक पत्रकार को फर्जी मुकदमे में जेल भेजा गया है।  बता दें कि पूरा मामला जनपद शामली का है जहां पर लगातार पत्रकारों के उत्पीड़न के खिलाफ  कलेक्ट्रेट शामली में आज से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है ।


अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन


पत्रकार पुलिस की कार्यप्रणाली से संतुष्ट नहीं है पुलिस द्वारा आए दिन किसी न किसी पत्रकार के खिलाफ फर्जी मुकदमा कर उसे जेल भेजा जा रहा है बीते करीब 3 माह पहले जीआरपी शामली पुलिस द्वारा News24 के संवाददाता अमित शर्मा के साथ जो अमानवीय घटना की गई थी उसे पूरा देश जानता है इस प्रकरण में शामली के पत्रकारों ने डीजीपी महोदय ओपी चौधरी से मिलकर पूरे प्रकरण की जांच किसी निष्पक्ष जांच एजेंसी से कराए जाने की मांग की थी लेकिन डीजीपी  द्वारा पुलिस की समकक्ष सिविल पुलिस शामली पूरे प्रकरण की जांच सौंपी गई थी जिसमें शामली पुलिस कप्तान अजय कुमार पांडे द्वारा जांच को क्राइम ब्रांच द्वारा कराया गया जिसमें जीआरपी कांड के सभी आरोपियों को क्लीन चिट दे दी गई है तो वहीं जीआरपी कांड के आरोपी बहाल भी हो चुके हैं पत्रकारों की मांग है कि अमित शर्मा वाले प्रकरण की जांच सीबीआई से कराई जाए क्योंकि पुलिस की जांच पुलिस कर रही है लिहाजा पत्रकार को न्याय मिलना नामुमकिन ही नहीं असंभव भी है साथी पत्रकारों की यह भी मांग है कि जिस जांचकर्ता ने अमित शर्मा प्रकरण की पूरी जांच की है उसके फोन कॉल बातचीत मिलने का समय और जांचकर्ता कब-कब किस से मिले और कहां रुके इन सब बिंदुओं पर प्रशासनिक जांच कराई जानी चाहिए पत्रकारों की मांग है कि शामली एसपी अजय कुमार पांडे को तत्काल प्रभाव से शामली से स्थानांतरण किया जाए। बीते कुछ दिन पहले शामली के कांधला पुलिस ने कहा एक दैनिक अखबार के पत्रकार को फर्जी मुकदमे में जेल भेज दिया था जिस पर कांधला के पत्रकारों ने थाने पर धरना प्रदर्शन किया था जिसके बाद जिलाधिकारी शामली में एसपी शामली ने पत्रकारों को आश्वासन दिया था कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी और आरोपी एसएचओ कांधला को निलंबित किया जाएगा। लेकिन आज तक उस में भी शामली पुलिस कप्तान अजय कुमार पांडे द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई है। जिससे भी पत्रकारों में नाराजगी है और पत्रकारों की मांग है कि एसएचओ कांग्ला को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए और उनकी भी प्रशासनिक जांच कराई जाए। पत्रकारों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाती तब तक वह अनिश्चितकालीन धरना शामली कलेक्ट्रेट में जारी रखेंगे। वहीं इस मामले पर जब पुलिस कप्तान से उनका पक्ष जानने के लिए संपर्क किया गया तो बात नही हो सकी।


5 इनामी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

दंतेवाड़ा। माओवादियों की खोखली विचारधाराओं से तंग आकर औऱ छत्तीसगढ़ सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर दंतेवाड़ा जिले में 5 इनामी नक्सलियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल दंतेवाड़ा डी. एन. लाल एवं पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा डॉ. अभिषेक पल्लव के समक्ष आत्मसमर्पण किया। आत्मसमर्पित नक्सलियों पर छत्तीसगढ़ शासन की नई ईनामी पालिसी के तहत मिलिट्री प्लाटून नं. 24 के सदस्य कुहरामी मंगल के ऊपर 2 लाख, पल्लेवाय मेडिकल टीम प्रभारी महरुराम बंजाम के ऊपर 2 लाख, एलओएस सदस्य जयराम मंडावी और सीएनम अध्यक्ष नरेश नेताम, शांति इस्ता के ऊपर 1-1 लाख का ईनाम घोषित था। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने आत्मसमर्पित माओवादियों को 10-10 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि प्रदान की और मुख्य धारा में जुड़ने पर बधाई दी।


'सिंधिया' को नहीं बनाया अध्यक्ष तो 'इस्तीफा'

दतिया। 15 साल बाद मध्य प्रदेश की सत्ता में वापसी करने वाली कांंग्रेस का आतंरिक कलह खुलकर सामने आने लगा है। अब कार्यकर्ता खुलेआम पार्टी छोड़ने की बात कह रहे हैं। ताजा मामला ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़ा है। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में सिंधिया का अहम रोल रहा है। लेकिन सरकार बनने के बाद से ही उन्हें प्रदेश की राजनीति से दूर कर दिया गया है। इसे लेकर अब समर्थक खुलकर पार्टी की खिलाफत कर रहे हैं।


दतिया की जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष अशोक दांगी ने एक चिट्ठी जारी कर पार्टी को साफ कर दिया गया है कि,”अगर ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश की राजनीति से अब और दूर रखा गया तो वो अपने 500 समर्थकों के साथ कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे देगें।”


अपनी चिठ्ठी में कांग्रेस नेता दांगी ने लिखा कि, “मध्य प्रदेश की सत्ता में कांग्रेस की वापसी में ज्योतिरादित्य सिंधिया का अहम रोल रहा। उनके बूते ही पार्टी ने चंबल-ग्वालियर रीजन में अच्छा प्रदर्शन किया। लेकिन सरकार बनने के बाद से ही प्रदेश से उन्हें दूर रखा जा रहा है।” प्रदेश के कुछ कांग्रेस नेताओं को सिंधिया की नेतृत्व क्षमता और लोकप्रियता हजम नहीं हो रही है। इसलिए उन्होंने षडयंत्र करके सिंधिया को प्रदेश की सियासत से दूर किया हुआ है। उन्होंने साफ कर दिया कि अगर पार्टी ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनाया तो वो अपने कार्यकर्ताओं के साथ दस जनपथ के बाहर प्रदर्शन करेंगे और अगर ये मांग पूरी नहीं हुई तो सामूहिक रूप से अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस्तीफा सौंप देंगे।


चिदंबरम के बाद,आजम पर गिरेगी गाज

रामपुर। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद आजम खान की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एक के बाद एक उनके खिलाफ केस दर्ज होते जा रहे हैं। अब उत्तर प्रदेश की रामपुर पुलिस ने उनके खिलाफ डकैती की धाराओं में केस दर्ज किया है। आजम खान पर आरोप है कि उन्होंने अपना स्कूल बनवाने के लिए लोगों को डरा धमकाकर उनके घर का सामान लूट लिया और उन्हें वहां से भगा दिया।
रामपुर कोतवाली में दर्ज हुई एफआईआर में एसपी सांसद आजम खान, पूर्व सीओ आले हसन, फसाहत शानू , वीरेंद्र गोयल, एसओजी के सिपाही धर्मेंद्र का नाम शामिल है। पांचों के खिलाफ डकैती, आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है। घटना 15 अक्टूबर 2016 की है। पीड़ित नन्हे का आरोप है कि सत्ता के दबाव में पुलिस ने उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की थी।


अवैध कब्जा करके बनवाया पब्लिक स्कूल
आजम पर आरोप है कि उन्होंने यतीम खाना सराय गेट के पास बनाए गए अपने रामपुर पब्लिक स्कूल के लिए घोसीपुरा के लोगों को धमका कर उनके घर तुड़वा दिए। उनके साथ मारपीट की और उनके घरों में रखा सामान लूट लिया।


जांच में आरोप पाए गए सही
पुलिस ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर मामले की जांच कराई गई। जांच के दौरान पीड़ित द्वारा लगाए गए आरोप सही पाए गए जिसके बाद पुलिस ने केस दर्ज किया। पुलिस ने बताया कि अवैध जमीन पर अवैध तरीके से रामपुर पब्लिक स्कूल बनाया गया है।


आजम पर साठ से ज्यादा एफआईआर
आपको बता दें कि आजम खान पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने पिछले तीन महीनों में 64 मामले दर्ज किए हैं, जिनमें से अकेले 28 मामले पिछले महीने ही दर्ज हुए हैं। ये सारे केस गंभीर धाराओं में दर्ज हैं। उनके ऊपर सरकारी जमीन कब्जाने से लेकर लगभग दो हजार हरे पेड़ कटवाने तक का आरोप है। उत्तर प्रदेश सरकार आजम को पहले ही भूमाफिया घोषित कर चुकी है। रामपुर कोर्ट आजम की गिरफ्तारी को लेकर अंतरिम राहत देने से इनकार कर चुकी है। हाई कोर्ट ने भी उन्हें अंतरिम राहत देने वाली याचिका खारिज कर दी थी।


एसएसपी ने की अपराध समीक्षा बैठक

एसएसपी ने राजपत्रित व अराजपत्रित अधिकारियों के साथ की अपराध समीक्षा बैठक


गोरखपुर। कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ सुनील गुप्ता पुलिस लाइन सभागार में समस्त राजपत्रित व  अराजपत्रित अधिकारियों के साथ देर रात में । बैठक शुरू होने से पहले वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने सभी थाना प्रभारियों के थाना क्षेत्रों के बारे में जानी स्थिति सभी को एक शब्दों में कहा कि अपने-अपने क्षेत्रों में रहे भ्रमण सील आगे बैठक कर  अपराध की समीक्षा की  एवं अपराध व अपराधियों पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने हेतु निर्देश दिये  कि मोहर्रम गणेश चतुर्दशी  सकुशल संपन्न कराने के लिए अपने अपने क्षेत्र में रहे मुस्तैद संदिग्ध व्यक्तियों पर हमेशा बनाए रखें नजर बच्चा चोरी के अफवाहों पर रखें विशेष नजर किसी  प्रभारी के क्षेत्र में  अवैध तरीके से शराब नहीं बिकनी चाहिए  आगामी त्योहारों को ध्यान में रखते हुए  अपने क्षेत्र में गस्त को बढ़ा दे  सभी  प्रभारी  अपने-अपने क्षेत्रों में सतर्कता बरतें जमानत पर छूटे अपराधियों/बदमाशों तथा हिस्ट्रीशीटरों की सूची को अद्यावधि करके उन पर सतत निगरानी रखने तथा बनाये गये टीम (आई-कार्ड अवतार एन्टी-बैट) द्वारा इलेक्ट्रानिक बायोमैट्रिक फिंगर प्रिन्ट कराकर डोजियर तैयार कराया जाय लूट व चोरी की घटनाओं की रोकथाम पर विशेष ध्यान देते हुए यह बताया गया कि अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण कर व्यापारी बन्धुओं द्वारा अपने-अपने दुकानों के सामने लगाये गये सीसीटीवी कैमरों को चिन्हीत कर लें ताकि घटनाओं का शीघ्र अनावरण किया जा सके। जनपद के   सभी  प्रभारियों को निर्देशित किया  कि  लम्बित गैर जमानतीय वारण्ट का शत-प्रतिशत तामीला कराना सुनिश्चित करें।   कि अपने-अपने क्षेत्र में महिलाओं एवं बच्चों से सम्बधित होने वाले घटनाओं पर सतर्क दृष्टि रखते हुए त्वरित कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जनपद के सभी थाना प्रभारी   अपने-अपने ़क्षेत्र में भ्रमणशील रहकर पूर्व में बनाये गये नाका प्वाइंट पर पर्याप्त पुलिस बल लगाकर प्रभावी ढंग से कार्यवाही करायें।किसी भी दशा में अवैध शराब का निष्कर्षण एवं  बिक्री हो नही होना चाहिये। यातायात व्यवस्था को सुगम व सुचारु रुप से संचालन हेतु अतिक्रमण पर विशेष ध्यान दिया जाय एवं जहाॅ पर एक बार अतिक्रमण हटवा दिया जाय  वहा सुनिश्चित करें कि दुबारा वहाॅ अतिक्रमण न होने पाये। पुलिस आम जनमानस की मित्र है मित्रवत व्यवहार करते हुए आए हुए फरियादियों की थाना स्तर पर त्वरित कार्रवाई करते हुए निस्तारण करें।बैठक में प्रमुख रूप से पुलिस अधीक्षक नगर डॉटर कौस्तुभ पुलिस अधीक्षक क्राइम अशोक कुमार वर्मा  पुलिस अधीक्षक दक्षिणी विपुल कुमार श्रीवास्तव  पुलिस अधीक्षक उत्तरी  अरविंद कुमार पांडे सहायक पुलिस अधीक्षक क्षेत्राधिकारी कैंट रोहन प्रमोद बोत्रे क्षेत्राधिकारी कोतवाली बी पी सिंह क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ प्रवीण कुमार सिंह क्षेत्राधिकारी कैंपियरगंज दिनेश कुमार सिंह क्षेत्राधिकारी खजनी श्रीमती रचना  क्षेत्राधिकारी बांसगांव नितेश सिंह क्षेत्राधिकारी चौरीचौरा सुमित शुक्ला  क्षेत्राधिकारी एसएसपी ऑफिस कृष्ण  योगेंद्र नरायन एसएस रीडर टीपी श्रीवास्तव सीए बाबू केसी चौहान क्षेत्राधिकारी एलआईयू पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक के प्रतिनिधि रहे बैठक में मौजूद।


एक महीना बाद पीसीएस 2018 मेंस परीक्षा

प्रयागराज। पीसीएस 2018 मेंस परीक्षा होने में अब लगभग 1 महीना बचा हुआ है। अगर तैयारी ठीक हो चुकी होती है तो सामान्यतः आखिरी के दो महीने केवल रिवीजन के लिए रखे जाते हैं। फिर भी बहुत से अभ्यर्थी ऐसे होंगें जो विभिन्न कारणों से अभी तक सिलेबस पूरा नहीं कर पाए होंगे। ऐसे में पेपर छोड़ने की जगह स्मार्ट स्टडी का तरीका अपनाना चाहिए। स्मार्ट स्टडी की कुछ स्ट्रेटेजीज में से एक शेयर कर रहा हूँ, हो सकता है आपके काम आ जाये। मुख्य परीक्षा के जीएस के पेपर्स में कुल 20 प्रश्न आने है, कुछ बहुत ही एक्स्ट्रा आर्डिनरी लोगों को छोड़ कर कोई भी सारे 20 प्रश्न अच्छी तरह से नहीं अटेम्ट कर पाता है। इसलिए अगर सिलेबस पूरा तैयार नहीं हो पा रहा है तो ये मत सोचिये की ऐसी दशा केवल आपकी अकेले की है।


हो सके तो जीएस 1 और जीएस 4 को पूरा तैयार कर लीजिए और अगर ये भी नहीं हो पा रहा है तो नीचे बताया गया तरीका सभी चारों जीएस के पेपर्स में अप्लाई कर लीजिए। हर पेपर की पहले 10 यूनिट्स अच्छी तरह तैयार करिये जिस से की इन भागों से आने वाले सभी प्रश्नों के बहुत अच्छे उत्तर लिखे जा सकें। इस से दो फ़ायदे होंगें पहला ये की आपका 50 प्रतिशत सिलेबस पूरा हो गया और दूसरा ये कि क्योंकि प्रश्नपत्र के शुरुआती प्रश्न इन्ही यूनिट्स से होंगे तो ऐसे में आप इनके अच्छे उत्तर लिख कर परीक्षक पर एक मनोवैज्ञानिक बढ़त बना लेंगे। बाकी बची यूनिट्स में से आधे वो टॉपिक्स छांट लीजिये जो अपेक्षाकृत आसान और छोटे है, इन्हें दो तीन बार सरसरे तौर से पढ़ डालिए और बाकी बचे टॉपिक्स को भी अगर समय मिले तो एक दो बार देख लीजिए जिस से कुछ भी मिलता जुलता लिखने लायक हो सकें (अगर संभव हो तो)।


उत्तर प्रदेश स्पेशल को बिल्कुल न छोड़े क्योंकि हो सकता है कि हर प्रश्न के साथ उत्तर प्रदेश से संबंधित कोई सवाल पूछ लिया जाए, इसलिए ये एक महत्वपूर्ण भाग बन जाता है। हिंदी मीडियम वाले कुछ न मिले तो वाणी की उत्तर प्रदेश समग्र अध्ययन देख ले और अगर अंग्रेजी माध्यम से हैं तो भी इसी को देख ले और एग्जाम में ट्रांसलेट करके लिख डाले।परीक्षा कक्ष में कोशिश करें कि पहले 10 प्रश्न में अपना सर्वश्रेष्ठ दें। बाद के भी कोई प्रश्न न छोड़े भले ही आता हो या न आता हो। जिन प्रश्नों के बारे में कुछ भी न पल्ले पड़े उनमें भी कुछ न कुछ मिलता जुलता लिख के आएं। ऐसे में परीक्षक भले ही ज्यादा अंक न दे लेकिन एक या दो अंक तो दे ही देगा जो बहुत मायने रखते हैं।


सहायक शिक्षक भर्ती में बड़ी राहत

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती में मेरिट पर सामान्य वर्ग में चयनित आरक्षित श्रेणी के (एमआरसी) अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने ऐसे अभ्यर्थियों को अगले शिक्षा सत्र 2020 -21 में उनकी वरीयता वाले जिलों में तैनात करने का निर्देश दिया है।
कोर्ट ने कहा कि वर्तमान सत्र में की गयी एमआरसी अभ्यर्थियों की तैनाती संविधान के अनुच्छेद 14 व 16 (1) के विपरीत है। कोर्ट ने मनमाने तरीके से तैनाती का आदेश रद कर दिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया ने एक हजार से अधिक याचिकाओं को निस्तारित करते हुए दिया है। कोर्ट ने कहा कि इस आदेश का लाभ एमआरसी (मेरिट में चुने गए आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थी) अभ्यर्थियों को ही मिलेगा। इन्हें आरक्षित श्रेणी में मानते हुए वरीयता वाले जिले में इनकी तैनाती की जाए। जो पहले से नियुक्त हो चुके हैं और एमआरसी श्रेणी के हैं, उनके सहित याचीगण तीन माह में अर्जी दें। सरकार उस पर तीन माह के भीतर आदेश जारी करे।


एनआरसी की अंतिम सूची कल होगी जारी

असम एनआरसी की अंतिम सूची कल होगी जारी


गुवाहाटी। असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) तैयार होने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। एनआरसी की अंतिम सूची 31 अगस्त 2019 को जारी की जाएगी। केंद्रीय गृह मंत्री ने असम के लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है। असम पुलिस ने भी 29 अगस्त 2019 को लोगों से समाज में भ्रम की स्थिति पैदा करने की कोशिश में जुटे तत्वों द्वारा फैलाई जा रही अफवाहों में नहीं आने अपील की। गृह मंत्रालय ने साफ किया है कि किसी व्यक्ति का एनआरसी में नाम शामिल नहीं होने का अर्थ यह नहीं है कि उसे विदेशी घोषित कर दिया गया है। गृह मंत्रालय ने कहा है की अंतिम एनआरसी से बाहर रह गए सभी लोग विदेशी ट्रिब्यूनल में अपील कर सकते हैं। विदेशी ट्रिब्यूनल की संख्या बढ़ाई जा रही है। अपील दायर करने की समयसीमा को 60 दिन से बढ़ाकर 120 दिन कर दिया गया है।


एनआरसी की प्रक्रिया की निगरानी पर सुप्रीम कोर्ट


31 जुलाई 2018 को जारी किए गए एनआरसी के ड्राफ्ट में 40.7 लाख लोगों के नाम सूची से बाहर कर दिए गए थे। इसके बाद 26 जून 2019 को एक अतिरिक्त ड्राफ्ट सूची आई जिसमें करीब एक लाख और लोगों के नाम सूची से बाहर निकाले गए थे। एनआरसी की अंतिम सूची अब 31 अगस्त को प्रकाशित हो रही है। एनआरसी की प्रक्रिया की निगरानी पूरी तरह से सुप्रीम कोर्ट कर रही है। इसका मुख्य उद्देश्य असम में अवैध अप्रवासियों की पहचान करना है।


भारत का सबसे ऊंचा स्काई साईकिलिंग ट्रैक

भारत का सबसे ऊंचा स्काई साइकिलिंग ट्रैक मनाली में बनाया गया


मनाली। पर्यटन स्थल गुलाबा में 9,000 फीट की ऊंचाई पर देश का सबसे ऊंचा 'स्काई साइकिलिंग ट्रैक' बनाया गया है। ट्रैक का सफलतापूर्वक परीक्षण 29 अगस्त 2019 को किया गया था। इस ट्रैक की लंबाई 350 मीटर है. अक्टूबर के पहले सप्ताह में इसे आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा।यह ट्रैक अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण खेल संस्थान मनाली के निदेशक कर्नल नीरज राणा की देखरेख में बनाया गया है। स्काई साइकिलिंग ट्रैक से सरकारी राजस्व को भी बहुत मजबूती मिलेगी। इस ट्रैक से सैलानियों को भी साहसिक गतिविधियों में भाग लेने का मौका मिल सकेगा।


मुख्य बिंदु:-स्काई साइकिलिंग ट्रैक 9,000 फीट की ऊंचाई पर बनाया गया है।350 मीटर स्काई साइकिलिंग सहित 450 मीटर लंबी जीप लाइन का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है। इसके अलावा, राज्य सरकार गुलाबा की वादियों में प्रकृति वाटिका का निर्माण कर रही है, जिस पर लगभग दो करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।वन विभाग द्वारा इस संस्थान के सहयोग से पूरे सुरक्षा मानकों को देख इसे तैयार किया गया है।स्काई साइकिलिंग और जीप लाइन हेतु कुछ स्थानीय युवाओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है, जो इनका संचालन करेंगे। आठ युवाओं को अभी तक अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण और साहसिक खेल संस्थान मनाली द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस वाटिका में भव्य प्रवेश द्वार सहित पार्किंग, टिकट बुकिग कक्ष, रोप क्रॉस, पिकनिक एरिया, टावर सहित ट्री हाउस, वॉकिग ट्रेक, किट्स प्ले एरिया, ट्री ग्रोव, लॉन, योग एवं मेडिटेशन, प्रकृति झरना, रेस्तरां व शॉपिग कांप्लेक्स, शौचालय, फूलों का बगीचा, स्नो गेम्स, जीप लाइन तथा रैपलिग जैसी साहसिक गतिविधिया करवाई जाएंगी।इन सुविधाओं को पार्क में शुरू करने का उद्देश्य घाटी में पर्यटन को बढ़ावा देने समेत स्थानीय लोगों हेतु रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है।


'विश्वकप' में हार के बाद बड़े बदलाव

लखनऊ। विश्व कप के सेमी फाइनल में मिली हार के बाद टीम इंडिया में बड़े बदलाव की बात कही जा रही थी। वेस्टइंडीज दौरे पर टीम इंडिया में कुछ बदलाव देखने को मिला भी। माही ने इस दौरे से किनारा किया था और टीम में शामिल नहीं हुए थे। वेस्टइंडीज दौरे के बाद टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज खेलनी है लेकिन इस सीरीज में माही को मौका नहीं दिया गया है।इसके बाद से अटकले लगायी जा रही है कि धोनी का क्रिकेट करियर खत्म हो गया है। माना तो यह भी जाता है माही का क्रिकेट करियर विश्व कप के बाद ही खत्म हो गया था लेकिन इस बारे में कोई भी कुछ नहीं बोल रहा है।जानकारी के मुताबिक माही को कुछ लोगों ने संन्यास की सलाह भी दे डाली थी लेकिन माही ने अभी इस पर कोई फैसला नहीं किया था। एमएसके प्रसाद की अगुवाई वाली चयन समिति ने गुरुवार को भारतीय टी-20 टीम ऐलान किया था। इस टीम में ऋषभ पंत को मौका दिया गया है और माही को उपेक्षा का शिकार होना पड़ा है। बीसीसीआई के सूत्र बता रहे हैं कि चयन समिति माही के नाम पर विचार नहीं कर रही है और वह अगले साल टी-20 विश्व कप को ध्यान में रखकर टीम को चुन रही है।


चयन समिति चाहती है कि पंत को अभी से तैयार किया जाये और इस वजह से उनको ज्यादा से ज्यादा मौका दिया जाये, हालांकि मौजूदा वेस्टइंडीज दौरे पर उनका प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा है। वेस्टइंडीज दौरे पर तीन टी-20 में पंत केवल 69 रन ही बना सके थे। इसके बाद वन डे की दो पारियों में केवल 20 रन का योगदान दे सके लेकिन चयन समिति चाहती है कि पंत को और मौका दिया जाये ताकि वह अपने आप को तैयार कर सके।दूसरी ओर माही ने सेमी फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ 72 गेंदों पर 50 रन बनाए थे। पूरे विश्व कप में माही की सुस्त बल्लेबाजी टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा रोड़ा साबित हुई थी। भारत बड़े स्कोर के लिए संघर्ष करती नजर आयी। बीसीसीआई के चयनकर्ताओं ने आपस में विचार करने के बाद इस नतीजे पर पहुंची है।इसके साथ चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद के माध्यम से माही को संदेश दिया गया है कि आगे उनको टीम में लेना मुश्किल होगा। चयनकर्ताओं को लगता है कि समय आ गया है कि माही से आगे युवा खिलाडिय़ों के बारे में सोचा जाये।


जानकारी तो यहां तक मिल रही है कि माही के साथ चयनकर्ताओं अकेले में बैठक की है और उनको बता दिया था कि आपकी पारी खत्म हो चुकी है और युवाओं को मौका दिया जायेगा। उधर माही भी चयनकर्ताओं की बात से सहमत नजर आ रहे हैं। अब देखना होगा कि माही आखिर कब संन्यास की घोषणा करते हैं या नहीं।


हिंदी टीचर ना होने से छात्राए नाराज

रेवाड़ी। सेक्टर-4 के राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पिछले 3 महीनों से हिंदी की टीचर नहीं है और ना ही 15 दिन से संस्कृत की टीचर आ रही है। इस बात से नाराज छात्राओं ने सड़क पर बैठकर ही पढ़ाई की। छात्राओं ने कहा कि जब उन्हें खुद ही पढ़ना है तो वो स्कूल क्यों जाएं ?


सड़क पर बैठी छात्राएं


छात्राओं ने बताया कि स्कूल प्रशासन की ओर से उन्हें कई बार आश्वासन दिया गया। शुक्रवार को टीचर्स के आने की बात कही गई थी, लेकिन जब टीचर्स नहीं आई तो मायूस छात्राओं ने स्कूल के बाहर ही पढ़ाई शुरू कर दी। छात्राओं ने ये भी बताया कि उनके स्कूल को दूसरी तगह शिफ्ट किया जा रहा है। वो दूर जाकर पढ़ाई करने में असमर्थ हैं, इसलिए उनके स्कूल को दूसरी जगह शिफ्ट नहीं किया जाए।छात्राओं ने ये भी चेतावनी दी की सीएम मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा रेवाड़ी आ रही है। अगर स्कूल प्रशासन ने कुछ नहीं किया तो वो खुद जाकर सीएम से फरियाद करेंगी।वहीं कांग्रेस के पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव भी छात्रों से मिलने पहुंचे। उन्होंने कहा कि वो अपने स्तर पर प्रशासन से जरूर बात करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार का 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' नारा सिर्फ टीवी तक ही सीमित रह गया है।आपको बता दें हल्का नारनोंद के मदनहेड़ी गांव में भी छात्राएं धरने पर बैठी है। उनका आरोप है कि मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया है। वो अब मंत्री से माफ़ी की मांग कर रही है।


छात्रों ने 'राष्ट्रपति' से मांगी इच्छा मृत्यु

झज्जर। हरियाणा के झज्जर-सांपला मार्ग पर गांव गिरावड़ के पास स्थित एक मेडिकल कॉलेज के 49 छात्र छात्रों ने प्रबंधन की कार्यशैली से नाराज होकर राष्ट्रपति से इच्छामृत्यु की इज्जात मांगी है। वर्ल्ड कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च में एमबीबीएस फाइनल ईयर के छात्रों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक पत्र लिखकर इच्छामृत्यु की अनुमति मांगी है। छात्रों ने आरोप लगाया है कि कॉलेज में पाठ्यक्रम चलाने के लिए बुनियादी सुविधाएं नहीं हैं।


बता दें कि 49 छात्रों द्वारा लिखे इस पत्र में कहा है कि उन्होंने 2016 में रोहतक के पंडित बीडी शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय में आयोजित परामर्श के माध्यम से एडमिशन लिया था।आगे कहा कि कॉलेज के पास ना तो हमें पढ़ाने के लिए डॉक्टर हैं और ना ही इनके अस्पताल में मरीज है। 2018 में हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी और अन्य सुसज्जित कॉलेजों में उनके स्थानांतरण की मांग की गई।


चुनाव से पहले कैबिनेट की अंतिम बैठक

चंडीगढ़। आज प्रदेश सरकार की कैबिनेट बैठक होगी। बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर करेंगे और ये बैठक शाम 4 बजे के आसपास हरियाणा सचिवालय में होगी जानकारी के मुताबिक मनोहर सरकार इस बैठक में कई बड़े प्रस्ताव पास कर सकती है। इसके साथ ही बैठक में मनोहर सरकार जनता को कई बड़ी सौगातें भी दे सकती है। इन घोषणाओं के अलावा जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीएम ने जो घोषणाएं की हैं, उन पर भी कैबिनेट मुहर ला सकती है।


चुनाव से पहले आखिरी बैठक !


हरियाणा विधानसभा चुनाव और आचार संहिता लगने से पहले होने वाली ये बैठक कई मायनों में अहम है क्योंकि माना ये जा रहा है कि विधानसभा चुनाव का शेड्यूल जारी होने से पहले मनोहर कैबिनेट की ये आखिरी बैठक हो सकती है। 8 सितंबर को जन आशीर्वाद यात्रा के समापन रैली में पीएम नरेंद्र मोदी हरियाणा आ रहे हैं। रोहतक में होने वाली पीएम मोदी की रैली की तैयारियों पर भी बैठक में चर्चा हो सकती है।


पोर्न फिल्म दिखा कर,अप्राकृतिक यौन संबंध

नई दिल्ली। दिल्ली के चांदनी महल इलाके में यौन शोषण का मामला सामने आया है। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, आरोपी बच्चों को पहले पोर्न फिल्में दिखाता था इसके बाद उनके अप्राकृतिक यौन संबंध बनाता था। उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।


दरअसल, आरोपी मोहम्मद शाहिद ने खुद इस बता को कुबूला कि वह मोबाइल में बच्चों को पोर्न वीडियो दिखाता था. इसके बाद पुलिस ने उसका मोबाइल चेक किया तो हैरान करने वाला खुलासा हुआ। आरोपी मोबाइल में पोर्न साइट्स पर सर्च करके बच्चों को गंदी फिल्में दिखाता था, इसके बाद उनका यौन शोषण करता था। अब तक वह कुल आठ बच्चों को अपनी हवस का शिकार बना चुका है, इनमें 6 लडक़े और 2 लड़कियां शामिल हैं। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है


मार्मिक:बेटे की हत्या कर,फंदे पर लटकाया

जशपुरनगर। जशपुरनगर के रानी बगीचा में पिता ने बेटे के गले में स्कूल बेल्ट को फंसाकर उसे घसीट-घसीटकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई। हत्या की इस घटना को आत्महत्या बताने के लिए पिता ने खुद ही थाने पहुंचकर सूचना दी।


घटना के दो दिन बाद नया मोड़ आया, जब वारदात के वक्त मौजूद स्वसहायता समूह की महिलाएं व फाइनेंस कंपनी की मैनेजर ने थाने पहुंचकर पुलिस को जानकारी दी कि छात्र की मौत उसके पिता की पिटाई से हुई है। इसके बाद पुलिस ने डॉक्टरों से शॉर्ट पोस्टमार्टम रिपोर्ट मंगाई। इसमें डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे की मौत फांसी से नहीं, बल्कि दम घुटने से हुई है। इसके बाद पुलिस ने पिता को हिरासत में ले लिया। पूछताछ के बाद आरोपी पिता ने जुर्म कबूल कर लिया है।एसआई सुनील दास ने बताया कि रानी बगीचा निवासी अमित राणा ने कोतवाली पहुंचकर सूचना दी कि बेटा अनिल प्रियंक राणा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। अमित ने पुलिस को बताया था कि शाम को जब वह घर गया तो उसका बेटा स्कूल की बेल्ट के सहारे फंदे पर लटका हुआ था। उसके जिंदा होने की उम्मीद पर उसने फंदे से उसे उतारा और जिला अस्पताल लेकर पहुंचा, जहां उसे मृत घोषित कर दिया है। दरअसल पिता फाइनेंस कंपनी की किस्त से परेशान था।


वेदों में असाध्य रोगों का इलाज संभव:मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विज्ञान भवन में शुक्रवार को योग पुरस्कार वितरित किए। उन्होंने कहा, ''हमारे पास हजारों साल पुराना लिटरेचर है, वेदों में गंभीर बीमारियों से जुड़े इलाज की चर्चा है, लेकिन दुर्भाग्य से हम अपनी पुरातन रिसर्च को आधुनिकता से जोड़ने में इतने सफल नहीं हो पाए। इसी स्थिति को बीते 5 सालों में हमने लगातार बदलने का प्रयास किया है।''


उन्होंने कहा, ''आज मुझे योग के साधकों, योग की सेवा करने वालों, दुनियाभर में योग का प्रचार प्रसार करने वाले साथियों और संगठनों को पुरस्कार देने का मौका मिला है। पुरस्कार पाने वाले साथियों को मैं बधाई देता हूं। आयुर्वेद, योग और नेचुरोपैथी, सिद्ध, यूनानी और होम्योपैथी के बाद लद्दाख की चिकित्सा पद्धति 'सोवा-रिग्पा' आयुष (एवाईयूएसएच) परिवार का छठा सदस्य हो गया है। इस कदम के लिए मैं मंत्री जी और उनके विभाग को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।''


मोदी ने कहा, ''हमारे देश में परंपरा ऐसी बनी है कि बड़े-बड़े नाम जो टीवी पर चमकते हों या जो नेता कहे जाते हों, उन्हीं पर डाक टिकट बनते हैं। आयुर्वेद के लिए खप जाने वाले पर भी डाक टिकट बन सकते हैं क्या? यही तो बदलाव हुआ है हिंदुस्तान में। आयुष पद्धति को समृद्ध करने वाली 12 हस्तियों के सम्मान में डाक टिकट भी जारी हुए हैं। ये वे साथी हैं जिन्होंने अपना पूरा जीवन लोगों के उपचार में लगा दिया। किसी ने योग को माध्यम बनाया तो किसी ने आयुर्वेद को, किसी ने यूनानी से सेवा की तो किसी ने होम्योपैथी से।''


''आज हम देखते हैं कि जिस भोजन को हमने छोड़ दिया, उसको दुनिया ने अपनाना शुरु कर दिया है। जौ, ज्वार, रागी, कोदो, सामा, बाजरा, सांवा, ऐसे अनेक अनाज कभी हमारे खान-पान का हिस्सा हुआ करते थे। लेकिन अब ये सब चीजें हमारी थालियों से गायब हो गई हैं। मैं दुनिया में कहीं भी जाता हूं, कोई कितना ही बड़ा लीडर हो, उनसे बात की शुरुआत योग से ही होती है। शायद ही विश्व का कोई नेता होगा, जिसने योग पर बात करने में मेरे साथ 5-10 मिनट न खपाए हों।''
''दुनिया का कोई व्यक्ति जो भारत की भाषा भी नहीं जानता, पर जब योग की बात आती है तो सोचता है कि अच्छा होता कि मैं योग से जुड़ जाता। हमारे महापुरुषों ने इस एक विधा को लेकर जो समर्पण किया, इसका हमें गर्व है।''
''अब हमें योग के अलावा आयुष की अन्य विद्याओं को भी दुनिया भर में पहुंचाना है। योग ने खिड़की खोल दी है, दरवाजे खुलने में देर नहीं लगेगी। देश में आयुष का जो आधुनिक इंफ्रास्टरक्चर तैयार हो रहा है उसके लाभ भी व्यापक हैं। विशेषकर छोटे-छोटे गांवों, कस्बों, शहरों में घर के पास स्वास्थ्य सेवाएं मिल रही हैं। नए अस्पताल बनने से मेडिकल से जुड़ा पूरा ईको सिस्टम यहां विकसित हो रहा है।''
''हमने पिछले दिनों संसद में नेशनल मेडिकल कमीशन का जो कानून पारित किया है उससे देश में स्वास्थ्य शिक्षा और उससे जुड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में बहुत मदद मिलेगी। जब हम देश में 1.5 लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोल रहे हैं, तो आयुष को भी हम भूले नहीं हैं। देशभर में 12 हजार 500 आयुष सेंटर बनाने का हमारा लक्ष्य है। हमारी कोशिश है कि ऐसे 4 हजार आयुष सेंटर इसी वर्ष हम तैयार कर दें।


दो हजार करोड़ लागत की नहर बह गई

पानी छोड़ते ही 2 हजार करोड़ की लागत से बनी नहर बही, अफसरों ने चूहों को जिम्मेदार ठहराया


गिरिडीह। झारखंड के उत्तरी छोटानागपुर में बनी बहुप्रतीक्षित कोनार नहर परियोजना के उद्घाटन के 13 घंटे बाद ही बह गई। घटिया निर्माण के कारण बगोदर में नहर की बांध टूट गई। आला अफसरों का तर्क है कि चूहों के बिल खोदने से बांध कमजोर हो गई थी। इस परियोजना से हजारीबाग, गिरिडीह और बोकारो में सिंचाई की दिक्कतों को दूर करने का लक्ष्य है। इसमें करीब 2176 करोड़ रुपए की लागत आई। नहर का 100 फीट हिस्सा टूटने के बाद छह गांवों की 100 एकड़ में लगी फसल बर्बाद हो गई। कई इलाकों में पानी भर गया। रघुवर दास सरकार में जल संसाधन मंत्री रामचंद्र सहिस ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। मंत्री ने 24 घंटे में रिपोर्ट तलब की है।जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने कहा कि बांध बहने की जो प्रारंभिक रिपोर्ट मिली है, उससे यही लग रहा है कि चूहों ने मिट्‌टी के बांध में कई बिल खोद दिए थे, जिससे बांध कमजोर हाे गया। जब नहर में पानी छोड़ा गया तो बिलों में पानी भरने से यह बह गया।


370 के बाद, श्रीनगर जाएंगे सेना प्रमुख

श्रीनगर। सेना प्रमुख बिपिन रावत जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद आज पहली बार श्रीनगर पहुंचेंगे। इस दौरान सेना प्रमुख कश्मीर घाटी में भी सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। यहां सुरक्षाबलों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है या नहीं, यह भी समीक्षा करेंगे।


हाल ही में जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक और केंद्र सरकार ने कहा था कि राज्य में हालात सामान्य हैं। यहां जनजीवन फिर से पटरी पर लौटा है। राज्यपाल ने कहा था कि अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से अब तक कोई जनहानि नहीं हुई। हर एक कश्मीरी की जान हमारे लिए अहम है। हम नहीं चाहते यहां एक भी व्यक्ति अपनी जान गंवाए। राज्य के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बांदीपोरा, संबल और गांदरबल क्षेत्र का दौरा किया था। यहां उन्होंने स्थानीय पुलिस और सेना के अधिकारियों से सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चर्चा की। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को संसद में प्रस्ताव पास कर अनुच्छेद 370 खत्म कर दिया था। सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है। जम्मू-कश्मीर में विधानसभा होगी।


जीरो पॉइंट पर होगी 'भारत-पाक' वार्ता

तनाव के बीच जीरो प्वाइंट पर आज होगी भारत-पाक वार्ता


नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 को खत्म किए जाने के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच हालात तनावपूर्ण हैं। एक तरफ जहां पाकिस्तान लगातार भारत को धमकी दे रहा है तो दूसरी तरफ भारत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान पर दबाव बनाने में सफल हो रहा है।


इन तमाम घटनाक्रम के बीच पाकिस्तान ने गजनवी बलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया जोकि 290 किलोमीटर रकी गति से मार करने में सक्षम है। इसके अलावा पाकिस्तान भारत के लिए अपने एयरस्पेस बंद करने की तैयारी कर रहा है। पाकिस्तान के इन तमाम फैसलों से भारत-पाक के बीच तनाव में इजाफा हुआ है।इन सब के बीच पाकिस्तान ने इस बात की पुष्टि की है कि वह शुक्रवार को करतारपुर कोरिडोर को खोलने को लेकर भारत से तकनीकी मुलाकात करने जा रहा है। सिख श्रद्धालुओं को वीजा देने की प्रक्रिया एक सितंबर से शुरू हो सकती है। जिससे कि नवंबर माह में ननकाना साहब में गुरु नानक के 550वीं जन्मदिवस के मौके पर श्रद्धालु यहां पहुंच सके। इसके अलावा पाकिस्तान की ओर से इस बात की भी पुष्टि की गई है कि वह कुलभूषण जाधव को काउंसलर एक्सेस दे सकता है।


पाकिस्तान की ओर से जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 को खत्म किए जाने के बाद जिस तरह से पाकिस्तान ने प्रतिक्रिया दी है, उसका भारत ने पुरजोर विरोध किया है। भारत की ओर से पाक के बयान की आलोचना करते हुए कहा गया है कि हम भारत के आंतरिक मामले में पाकिस्तान के गैरजिम्मेदाराना बयान की निंदा करते हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि हम पाकिस्तान के नेतृत्व द्वारा भारत के आंतरिक मामले पर दिए गए गैरजिम्मेदाराना बयान की कड़ी निंदा करते हैं।


कुपोषण के खिलाफ मुख्यमंत्री का अभियान

महराजगंज। जिला मुख्यालय स्थित एनआईसी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग रूम में शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले के सभी अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर जनपद के बच्चों को कुपोषण से बचाने एवं जनपद के हर गांव में लोगों को इसके बारे में जागरूक करने के सख्त निर्देश दिया।
वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पोषण माह के अंतर्गत 0-5 वर्ष व 6 माह से 6 वर्ष तक के बच्चो पौष्टिक आहार की व्यवस्था की जाए। जिससे उन्हे कुपोषण से बचाया जा सके। इसको जनपद प्रत्येक गांव में लोगो के बीच जाकर जागरूक करने की जरूरत है। जागरूकता से ही इस गम्भीर बीमारी से बचाव है। इसमें सभी अधिकारी बैठकर उसका दिशा-निर्देश बनाकर लोगो को जागरूक करने की योजना बनाएं। उन्होने सख्त चेतावनी दिया कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान जिलाधिकारी अमरनाथ उपाध्याय, सीडीओ पवन अग्रवाल, सीएमओ क्षमाशंकर पांडेय ,पीडी, डीडीओ सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे।


प्रत्यक्ष,स्पष्ट होंगे ग्राम पंचायत चुनाव

यूपी की जिला व क्षेत्र पंचायतों के चुनाव सीधे जनता से करवाने को केन्द्र को भेजा जाएगा प्रस्ताव
लखनऊ। प्रदेश के पंचायतराज मंत्री चौधरी भूपेन्द्र सिंह ने संकेत दिया है कि प्रदेश सरकार जल्द ही केन्द्र सरकार को पंचायतीराज एक्ट में बदलाव के लिए प्रस्ताव भेजेगी। यह प्रस्ताव जिला व क्षेत्र पंचायतों के चुनाव सीधे जनता से करवाने के लिए भेजा जाएगा। प्रदेश में अभी जिला व क्षेत्र पंचायत प्रतिनिधियों के चुनाव अप्रत्यक्ष तौर पर होते हैं।श्री चौधरी ने बुधवार को विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में बतौर कैबिनेट मंत्री अपना कार्यभार संभाला। अभी तक श्री चौधरी पंचायतीराज विभाग के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे। बीती 22 अगस्त को हुए मंत्रिमण्डल विस्तार में उन्हें तरक्की देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया और पंचायतीराज विभाग ही उनके पास रहने दिया गया।एक बातचीत में श्री चौधरी ने कहा कि मुख्ममंत्री योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि यह चुनाव भी ग्राम पंचायतों की ही तरह प्रत्यक्ष तरीके से करवाए जाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की 75 प्रतिशत जनता गांवों में रहती है और पंचायती राज विभाग सीधे इस 75 प्रतिशत ग्रामीण जनता से जुड़ा हुआ है। प्रदेश की मौजूदा भाजपा सरकार के कार्यकाल में केन्द्रीय वित्त आयोग से बड़ी धनराशि ग्राम सभाओं को दी गई है।


कारागार कॉलोनी में हेड वार्डन पर फायरिंग

बस्ती। जिला कारागार कॉलोनी में बुधवार रात जेल के हेड वार्डन पर फायरिंग की गई वारदात को स्कूटी सवार बदमाशों ने अंजाम दिया जेल गेट पुलिस चौकी इंचार्ज की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने जेल में बंद हिस्ट्रीशीटर अंकित पांडे उसकी रिश्तेदार सुधा पांडे अतुल पांडे व 4 अज्ञात पर केस दर्ज कर लिया है। जेल प्रशासन के अनुसार बैरक नंबर 4 में बंद अंकित पांडे के कुछ बंदियों से मारपीट हो गई थी। हेड वार्डन ओम प्रकाश मिश्रा ने जेल प्रशासन को इसकी रिपोर्ट भेज दी थी। इस आधार पर 25 जुलाई को अंकित को बैरक नंबर 9 में शिफ्ट कर दिया गया था।अंकित तभी से जेल प्रशासन पर दबाव बना रहा था कि उसकी बैरक में कुछ करीबियों को भी भेजा जाए। ताकि उसकी खुशामद हो सके लेकिन ऐसा नहीं हुआ इसी बात को लेकर अंकित के इशारे पर हेड वर्णन पर फायरिंग की गई सीओ सदर आलोक सिंह का कहना है मुकदमा दर्ज कर मामले की तफ्तीश की जा रही है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी जेलर सतीश चंद त्रिपाठी ने बताया अंकित पर विष्णुदत्त ओझा हत्याकांड व दर्जनभर लूट छिनैती के अपराध दर्ज हैं।


तौफीक खान


प्रेमी जोड़े की पिटाई, पुलिस पर हमला

महाराजगंज। कोठीभार थाना क्षेत्र के ग्राम भारत खंड पकडी में बीती रात प्रेम प्रसंग के मामले में युवकों ने जहां प्रेमी प्रेमिका की जमकर पिटाई कर दी वहीं मौके पर पहुंची डायल 100 पुलिस पर भी हमला बोल दिया, पुलिस पर हमले की जानकारी मिलते ही कई थानों की पुलिस पहुंची, पुलिस क्षेत्राधिकारी निचलौल भी पहुंचे और किसी तरह स्थिति को सामान्य किया, इस मामले में जहां पुलिस आगे की कार्रवाई में लग गई है, वहीं पुलिस ने लगभग एक दर्जन से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है।
     घटना के संदर्भ में बताया जाता है कि कोठीभार थाना क्षेत्र के ग्राम भारत खंड पकडी निवासी मारकंडे कसौधन पुत्र वीरेंद्र कसौधन जो गांव में घूमकर अंडे बेचने का कार्य करता है, गांव की एक लड़की से अवैध संबंध हो गया, इस अवैध संबंध की जानकारी गांव के कुछ लड़कों को भी लग गई और वह पकड़ने की फिराक में थे, की बीती रात मारकंडे कसौधन अपनी प्रेमिका के घर में घुस गया, इधर पहले से घात लगाए लड़कों ने घर में घुसने की जानकारी मिलने के बाद लड़की के घर को घेर लिया और कमरे से निकालकर प्रेमी व प्रेमिका की जमकर धुनाई कर डाली, स्थिति काफी विस्फोटक थी, इसी दौरान किसी ने स्थिति को विस्फोटक देख डायल हंड्रेड कंट्रोल को फोन करके सूचना दी, सूचना मिलते ही पीआरबी 2585 मौके पर पहुंची, लेकिन डायल 100 पुलिस के पहुंचते ही उग्र लोगों ने पुलिस को घेर लिया औऱ हमला बोल दिया, इसकी जानकारी मिलते ही कोठीभार, घुघली व निचलौल पुलिस के साथ ही पुलिस क्षेत्राधिकारी निचलौल रणविजय सिंह मौके पर पहुंचे और किसी तरह स्थितियों को सामान्य किया, यह घटना रात लगभग 2 बजे की बतायी जा रही है और डायल 100 कंट्रोल को रात 3 बजे जानकारी मिली। 
     घटना के बाद पुलिस ने एक दर्जन से ज्यादा लोगो को हिरासत में ले लिया है और आगे की कार्यवाही में लग गयी है, गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है और सुरक्षा की दृष्टि से चिउटहा पुलिस चौकी प्रभारी पुलिस बल के साथ गांव में मौजूद थे।


करोड़ो के मेडिकल कॉलेज में नहीं होता इलाज

400 करोड़ के इस मेडिकल कॉलेज में नहीं होता मरीजों का इलाज, पढि़ए खबर में कैसे नर्सों से खानी पड़ती है डांट


400 करोड़ के इस मेडिकल कॉलेज में नहीं होता मरीजों का इलाज, पढि़ए खबर में कैसे नर्सों से खानी पड़ती है डांट
मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर, टेक्नीशियन व अन्य स्टाफ मनमाने तरीके से ड्यूटी कर रहे हैं, जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है।
 
जगदलपुर। संभाग के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज में ओपीडी टाइमिंग सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक है। डॉक्टर 1 बजे ही अपने चेंबर से गायब हो जाते है, तो टेक्नीशियन और अन्य स्टाफ 1.30 बजे हॉस्पिटल से निकल जाते हैं। इस प्रकार की मनमानी को लेकर मेडिकल कॉलेज प्रबंधन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।


मरीजों को वापस लौटना पड़ा
मेडिकल कॉलेज में स्टाफ की मनमानी को लेकर गुरुवार को पत्रिका की टीम ने पड़ताल की। इस दौरान दोपहर १ बजे मेडिसिन ओपीडी में ताला लगा हुआ मिला। वहीं दोपहर 1.30 बजे चर्म एवं यौन रोग ओपीडी में ब्लड सैंपल लेना वाला कोई नहीं था। इससे 8 से 10 मरीजों को वापस लौटना पड़ा। यहां पर मौजूद स्टॉफ नर्स ने जांच के लिए दूसरे दिन आने के लिए कहा। वहीं कुछ मरीजों ने कहा की दूर से आए हैं, दूसरे दिन जांच के लिए आने में काफी दिक्कत होगी, तो स्टाफ नर्स ने कहा कि इससे मुझे कोई मतलब नहीं है। इलाज करवाना है, तो आओ नहीं तो तुम्हारी मर्जी। डॉक्टर और स्टाफ की मनमाने ड्यूटी की वजह से जिले के दूर दराज से आने वाले लोगों को बिना इलाज और जांच के वापस लौटना पड़ता है। मरीजों की शिकायत के बावजूद हॉस्पिटल प्रबंधन इस मामले पर कोई पहल नहीं कर रहा है।


100 का नया और खास नोट होगा जारी

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) जल्द ही 100 रुपए का नया और खास नोट जारी करेगा। केंद्रीय बैंक ने यह बात अपनी सालाना रिपोर्ट में कही है। आरबीआई ने कहा कि इन नोटों पर वार्निश की एक खास लेयर चढ़ी होगी। जिससे इनकी उम्र लंबी हो जाएगी यानी ये जल्दी फटेंगे नहीं। फिलहाल यह नोट ट्रायल के तौर पर जारी किए जाएंगे।


इस समय दुनिया के कई देश वार्निश वाले नोटों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके अच्छे लाभ मिल रहे हैं। अन्य देशों के इस अच्छे अनुभव को देखते हुए आरबीआई भी अब इसे अपनाने जा रहा है। भारत में 100 रुपए के नोट से इसकी शुरुआत होगी। मौजूदा समय में प्रचलित नोट कटने-फटने या मैले हो जाने के कारण जल्दी खराब हो जाते हैं। इस कारण आरबीआई को हर साल लाखों करोड़ रुपए के नोट बदलने पड़ते हैं। आमतौर पर हर पांच में से एक नोट हर साल हटाना पड़ता है। इसी समस्या से निपटने के लिए दुनिया के कई देश प्लास्टिक के नोटों का भी इस्तेमाल करते हैं।


क्या होती है वार्निश


हम सभी के घरों में लकड़ी का फर्नीचर होता है। इस फर्नीचर पर एक चमकदार और पारदर्शी लेयर चढ़ी हुई दिखाई देती है। यह लेयर वार्निश की होती है। इससे फर्नीचर की उम्र बढ़ जाती है। अभी नोटों पर भी इसी तरह की एक पतली सी लेयर चढ़ाई जाएगी। इस लेयर के चढ़ाए जाने के बाद नोट गंदगी से बचेंगे और जल्दी खराब नहीं होंगे। नोटों पर यह वार्निश प्रिंटिंग के बाद चढ़ाई जाएगी। हालांकि, इस नोट छापने की लागत में बढ़ोतरी होगी ।
7.2 करोड़ कम हुए 2,000 के नोट 


पिछले वित्त वर्ष के दौरान 2000 रुपए के नोटों का चलन काफी कम हो गया। 2018-19 में चलन में रहे 2000 रुपये के नोटों की संख्या में 7.2 करोड़ की कमी दर्ज की गई। पिछले वित्त वर्ष में नई 2000 की करंसी की संख्या 336 करोड़ से घटकर 329 करोड़ पीस रह गई। वहीं, 500 रुपये के नोट की संख्या वित्त वर्ष 2017-18 के 1546 करोड़ के मुकाबले 2018-19 में बढ़कर 2151 करोड़ पीस थी ।
करेंसी बना रहे जालसाज, बढ़े नकली नोट 


दरअसल, करंसी जालसाज 200, 500 और 2000 रुपए के नए नोटों की नकल के तरीके तलाश रहे हैं। रिजर्व बैंक के डेटा के मुताबिक, इनके डुप्लिकेशन के मामलों में तेज बढ़ोतरी हुई है। सरकार ने नवंबर 2016 में नोटबंदी के बाद इन्हें जारी किया था। 500 रुपए के नए डिजाइन वाले नोट 2017 में जारी हुए थे। वित्त वर्ष 2017-18 के मुकाबले पिछले वित्त वर्ष में इसकी नकल में 121 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। वहीं, 2000 रुपये की करंसी के मामले में यह आंकड़ा 21.9 फीसदी है। सरकार ने 200 रुपए के नए नोट 2017 में पेश किए थे। इसके 12,728 जाली नोट मिले, जबकि पिछले साल सिर्फ 79 ही पकड़े गए थे।


पुजारी की लड़की से जबरन निकाह

नई दिल्ली। पाकिस्तान के लाहौर के ननकाना साहिब क्षेत्र में एक सिख लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का मामला सामने आया है। लड़की कई दिनों से लापता थी। गुरुवार को उसे जबरन इस्लाम कबूल कराने के बाद मुस्लिम शख्स से उसकी शादी कराए जाने की खबर सामने आई। 19 साल की लड़की का नाम जगजीत कौर है और वह गुरुद्वारा तंबू साहिब के ग्रंथी (पुजारी) भगवान सिंह की बेटी है। उसका बंदूक की नोक पर धर्म परिवर्तन कराया गया है। जगजीत कौर के परिवार का कहना है कि यदि लड़की को रिहा नहीं किया गया तो वह पंजाब के राज्यपाल के घर के सामने खुद को आग के हवाले कर लेंगे। जगजीत के भाई सुरिंदर सिंह ने कहा हमारे परिवार ने एक दुखद घटना देखी है जब कुछ गुंडे जबरदस्ती हमारे घर में घुसे और उन्होंने मेरी छोटी बेटी को अगवा कर लिया। उन्होंने उसे प्रताड़ित किया और जबरन उसे इस्लाम कबूल करवा लिया।


खुद को स्थापित करने का समय:मिथुन

राशिफल


मेष:- आपको कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। समय पर ढंग से चीजों को पूरा करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करना होगा। जल्दबाजी में निर्णय न लें और जोखिम से बचें। 
वृष:- भाग्य आपके साथ रहेगा है। आप प्रभावशाली लोगों से संपर्क स्थापित करेंगे। आप एक नई साझेदारी में प्रवेश कर सकते हैं जो आने वाले समय में आपके लाभ को बढ़ा सकते हैं। 
मिथुन:- यह खुद को स्थापित करने का अच्छा समय है। बाधाएं और मुश्किलें भी अब दूर होने लगेंगी। आप राजनीतिक गतिविधियों के प्रति आकर्षित होंगे और आपको कुछ नई जिम्मेदारियां भी दी जा सकती हैं। 
कर्क:- आपको जल्द ही घर में किसी नए सदस्य के आने के बारे में अच्छा समाचार सुनने को मिलेगा। आपके जीवनसाथी के साथ आपके रिश्तों में सुधार आएगा। वह आपका भरपूर सहयोग करेंगे। घर में कोई शुभ कार्य संपन्न हो सकता है। प्रेम संबंधों में बात का बतंगड़ न बनाएँ और अहंकार से बचें। 
सिंह:- प्रेम संबंधों के लिए समय उपयुक्त नहीं है। भावनाओं में ना बहें और किसी पर इतना भी भरोसा ना करें कि वह आगे चलकर आपके लिए मुसीबत बन जाये। समय कमज़ोर चल रहा है अतः धैर्य और संयम के साथ अपने कार्यों में निरंतरता बनाये रखें। 
कन्या:- आज आपको अपने जीवनसाथी या सहयोगियों का साथ आधे-अधूरे मन से मिलेगा। इसके कारण आप किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुँच पाएंगे। यह स्थिति आपको मानसिक उलझन और तनाव में डालेगी। आपको स्वास्थ्य सम्बन्धी कुछ मामूली परेशानी हो सकती है।
तुला:- दिन मिलाजुला परिणामों वाला रहेगा, लेकिन व्यापक स्तर पर चीजें आपके पक्ष में होंगी। कार्य स्थल पर बाधाओं और कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। खर्च बढ़ेंगे। आपको एक नया दृष्टिकोण अपनाना होगा और वांछित परिणामों के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। 
वृश्चिक:- परिणाम आपके पक्ष में होंगे। आप भावनात्मक रूप से अलग-थलग महसूस कर सकते हैं और इससे पार पाने के लिए आपको मुद्दों पर काम करने की आवश्यकता होगी। 
धनु:- आज व्यवसायिक सन्दर्भ में कुछ परेशानियां रह सकती हैं। किन्तु आमदनी में बढोत्तरी संभव है। वैवाहिक जीवन सुखद एवम् अनुकूल रहेगा। पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा।  
मकर:- अपने आप को साबित करने के लिए आज आपको कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता हो सकती है। वरिष्ठों को खुश करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। 
कुंभ:- आपके सहकर्मी समूह के मध्य आपकी लोकप्रियता में वृद्धि संभव है। व्यावसायिक रूप से चीजें सुचारू रहेंगी और आपको अच्छी प्रगति प्राप्त होगी। दुर्घटनाएं हो सकती हैं इसलिए वाहन सावधानी से चलाएं।
मीन:- आर्थिक नजरिए से दिन अच्छा बीतेगा रहेगा। आर्थिक लाभ भी शुभ रहेगा। आपके कार्य पूर्ण तो होंगे किन्तु उनमे कुछ देरी हो सकती है। दैनिक क्रियाकलापों में आप अपने परिवार के सदस्यों की भागीदारी और प्रदर्शन से प्रसन्न होंगे। नई नौकरी चाहने वाले विशेष रूप से तकनीकी क्षेत्र में, अच्छे पद को प्राप्त करेंगे। जो लोग नौकरी कर रहे हैं उन्हें समय पर पदोन्नति मिलने की पूरी संभावना है।


उष्‍माघात-अतिताप, बचाव-लक्षण

गर्म, शुष्क त्वचा अतिताप के सामान्य संकेत होते हैं। इससे त्वचा लाल और गर्म हो सकती है क्योंकि रक्त कोशिकाएं ताप अपव्यय को बढ़ाने के प्रयास में चौड़ी हो जाती हैं, कभी-कभी होंठ सूज जाते हैं। शरीर को ठंडा करने में असमर्थता के कारण पसीने के माध्यम से त्वचा सूखी होने लगती है।अन्य संकेत और लक्षण कारणों पर निर्भर हैं। ऊष्माघात के साथ निर्जलीकरण जुड़ा हुआ है जो कि मिचली, उल्टी, सिर दर्द और न्यून रक्त दबाव का उत्पादन कर सकते हैं। यह अचानक बेहोशी या चक्कर आने तक बढ़ सकता है, खासकर अगर व्यक्ति खड़ा है।गंभीर ऊष्माघात के मामले में, व्यक्ति भ्रमित या शत्रुतापूर्ण हो सकता है और नशे में धुत्त लग सकता है। हृदय दर और श्वसन दर में वृद्धि होगी (टेकिकार्डिया या टेकिपनिया) क्योंकि रक्तचाप कम हो जाता है और हृदय, शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति करने का प्रयास करने लगता है। रक्तचाप में कमी, रक्त वाहिकाओं के संकुचन का कारण बन सकता है, जिसके परिणामस्वरूप, ऊष्माघात के उन्नत मामलों में त्वचा का रंग पीला या नीला हो जाता है। कुछ पीड़ित, खासकर छोटे बच्चों को मिर्गी आ सकती है। अंततः, जैसे-जैसे शरीर के अंग विफल होते जाते हैं, मूर्च्छा और कोमा फलित होने लगती है।


ऊष्माघात
ऊष्माघात का कारण गर्मी से पर्यावरणीय संपर्क होता है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर में एक असामान्य तापमान पैदा होता है। गंभीर मामलों में, तापमान 40 °से. (104 °फ़ै) तक अधिक हो सकता है। ऊष्माघात थकाऊ या गैर-थकाऊ हो सकती है, जो इस पर निर्भर करता है कि क्या व्यक्ति गर्मी में काम कर रहा था। गर्मी के दिन में अत्यधिक शारीरिक श्रम एक स्वस्थ शरीर में भी ताप पैदा कर सकते हैं ।जो शरीर को ठंडा करने की शारीरिक क्षमता से भी अधिक हो सकती है, क्योंकि पर्यावरण का ताप और आर्द्रता शरीर को ठंडा करने की यंत्र की सामान्य दक्षता को कम कर देती है। कम पानी पीना अन्य कारकों में से एक हैं, यह हालत को ख़राब कर सकता है। गैर-श्रम ऊष्माघात आमतौर पर दवाओं द्वारा उत्पन्न होता है जो कि वाहिकाविस्फार, पसीना और अन्य ताप को कम करने वाले तंत्रों को कम कर देता है, जैसे कोलीनधर्मरोधी दवा, एंटीथिस्टेमाइंस और मूत्रल। इस स्थिति में, अत्यधिक पर्यावरणीय तापमान का सामना करने के लिए शरीर की सहनशीलता काफी सीमित हो सकती है, यहां तक कि आराम करने के समय भी।


यमाचार्य नचिकेता वार्ता

गतांक से...


मैंने तुम्हें बहुत पुरातन काल में पूजन की चर्चाएं की है। पूजा किसे कहते हैं पूजा का अभिप्राय क्या है? हम उसको जानना चाहते हैं उसको जान करके उसका सदुपयोग करना ही वह उसकी पूजा कहलाती है। हमारे शरीर में जो अग्नि का प्रभाव हो रहा है। उस अग्नि का सदुपयोग करना। हे ब्रह्मचारीजन, तू अग्नि विद्या का अध्ययन कर, यह विद्या को अध्ययन कर रहा है। अपने में अध्ययनशील बना हुआ है। वेद मंत्र के ऊपर विचार-विनिमय करता हुआ अपनी धुर्वा में गति करता है। कहीं उधरवा में गति कर रहा है, कहीं पुरुषार्थ प्रतिक्रिया में रत हो जाता है। विचार-विनिमय क्या है। वह ग्राह्यपथ्‍य नाम की अग्नि का पूजन कर रहा है। ग्राहपथ्‍य नाम की अग्नि उसे कहते हैं। जो ब्रह्मचारीयो के ह्रदय में सीमट करके ब्रह्मचारी तेजस्वी बना रहता है। और उसको प्राप्त होता हुआ ऊंची ऊंची उड़ान उड़ रहा है। वह लोक लोकातंरो के लिए अपने में विचार विनिमय करता रहता है। जब हम अपने पूज्य पाद गुरुओं के द्वारा अध्ययन करते थे। तो वह अपने विचारों में और ब्रह्मचारीयो के विचारों का दोनों का समन्वय करते रहते थे। और उनका समन्वयक करते हुए विचारते रहते, ज्ञान और विज्ञान की धाराओं में रह-रहकर के एक-एक अणु और परमाणु में गति करते हुए ऊंची ऊंची उड़ान उड़ते रहते हैं। तो विचार-विनिमय क्या है यमाचार्य ने कहा, हे नचिकेता। सबसे प्रथम ब्रह्मचारी अपने स्वर्ग लोक में चला जाता है। वह विद्या का अध्ययन करता है। उसको क्रिया में रूप बनाना अपने में ब्रह्मचर्य का पालन करना
। उसका सदुपयोग करना यह  नाम की अग्नि के समीप जब ब्रह्मचारी चला जाता है। तो वह स्वर्ग में चला जाता है। उसका वही स्वर्ग है। आचार्य भी उसे मन ही मन में नतमस्तक हो जाता है। ब्रह्मचर्य के दोनो शब्दों में उसकी प्रतिभा भाषित रहती है। ब्रह्मचर्य दो ही शब्द है। ब्रह्म कहते हैं परमपिता परमात्मा को और च्रय कहते हैं प्रकृति को। दोनों का अनुसंधान करना है यह उसका कर्तव्य कहलाता है। प्रत्येक सांस की प्रत्येक गति जब वह एक सूत्र में पिरो देता है तो वह ब्रह्मचारी बन जाता है। विद्या का अभिप्राय केवल यही है विद्या के ऊपर हमारा अन्यथा अनुसंधान होना चाहिए। नचिकेता को यमआचार्य ने कहा, कि हम जब पूज्य पाद गुरुदेव के द्वारा अध्ययन करते थे तो एक समय हम विचार-विनिमय करते-करते इन नोदामई मंत्रों का अध्ययन कर रहे हैं और अध्ययन करते हमें एक वेद मंत्र स्मरण आया। वेद मंत्र कहता था कि 'प्रमाणमवृहे वचनाम ब्रह्म वाचा वर्तमाम्‌ देवा: वाचन्‍नम्‌ ब्रह्मवाचा मन:' वेद का मंत्र कहता था कि हम उस परमाणुवाद के क्षेत्र में, ज्ञान और विज्ञान के क्षेत्र में, अपने को कैसे ऊंचा बनाए। तो मुनिवरो, जब आचार्य के समीप पहुंचे तो आचार्य ने हमें नोदा में से मंत्रों को उद्धृत करते हुए कहा कि संभूति 'ब्रह्मवाचा ग्रहलोकाम वचनाम्‌ ब्रह्मलोकवती' यही तो व्रत कहलाता है। उन्होंने पूज्यपाद गुरुओं ने यह वर्णन कराया है जो अनुवाद है, परमाणु वाद है। इसी में ब्रह्मांड निहित रहता है। इसी विद्या को जानकर के मानव समाज और राजनीति समाज को ऊंचा बना करके। हम अपने उदारवागति में ऊंची-ऊंची उड़ान उड़ते रहते हैं। तो यह वाक उन्होंने प्रकट कराया। इस बात का अध्ययन करते हुए हम तुम्हें यही उच्चारण कर रहे हैं। वही ब्रह्मचारी का स्वर्ग है। स्वर्ग किसे कहते हैं जहां दुखद की घटना न आए,कलह न आए। परंतु स्वर्ग उसे कहते हैं जो आप कह रहे। यहां एक दूसरे का वायुमंडल बन जाता है। हर एक सांस बन बन जाता है। वह नरकीय ग्रह कहलाता है। जिस विद्यालय में एक दूसरे के विचारों में मत हो जाता है। एक दूसरे के विचारों में विवाद की प्रवृत्ति बन जाती है। वह विद्यालय अपवित्र हो जाता है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्रधिकृत प्रकाशन विवरण
August 31, 2019 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-28 (साल-01)
2. शनिवार,31अगस्‍त 2019
3.शक-1941,भादप्रद शुक्‍लपक्ष प्रदोष ,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:53,सूर्यास्त 6:56
5.न्‍यूनतम तापमान -27 डी.सै.,अधिकतम-35+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, बरसात की संभावना!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...