बुधवार, 27 जुलाई 2022

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित: डीएम 

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित: डीएम 


जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक सम्पन्न

स्वास्थ्य सम्बंधी योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता स्वीकार्य नहीं

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में बुधवार को संगम सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता स्वीकार्य नहीं है। स्वास्थ्य से सम्बंधित जो योजनाएं संचालित है, उनका अच्छी तरह से क्रियान्वयन करते हुए लोगो को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने अस्पतालों में साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के साथ-साथ नियमित अंतराल पर मेडिकल स्टाॅफ का प्रशिक्षण भी कराते रहने का निर्देश दिए है। उन्होंने अस्पतालों में सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित बनाये रखने के भी निर्देश दिए है।

जिलाधिकारी ने जेएसवाई, सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना, प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना, परिवार कल्याण कार्यक्रम, नियमित टीकाकरण, आरसीएच पोर्टल पर पंजीकरण एवं अपडेशन के कार्यों की समीक्षा की। जेएसवाई की समीक्षा करते हुए मेजा, बहरिया, सैदाबाद, बहादुरपुर, सोरांव, हण्डिया की प्रगति खराब पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने सम्बंधित प्रभारी चिक्तिसाधिकारी को लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति लाए जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने गर्भवती महिलाओं का शत-प्रतिशत रजिस्टेªशन कराये जाने का निर्देश दिया है। परिवार नियोजन कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए उन्होंने कैम्प लगाकर लक्ष्य के सापेक्ष नसबंदी सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया है।

उन्होंने बच्चों का शत-प्रतिशत पूर्ण टीकाकरण कराये जाने का भी निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने वीसीजी, डिप्थेरिया, मीजल्स रूबेला का भी शत-प्रतिशत टीकाकरण कराये जाने के लिए कहा है। संस्थागत प्रसव की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने शत-प्रतिशत संस्थागत प्रसव सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के तहत स्वास्थ्य टीम को स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों का शत-प्रतिशत स्वास्थ्य परीक्षण कराये जाने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी श्री नानक सरन सहित अपर मुख्य चिकित्साधिकारीगण तथा प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहे।

आधार नंबर एकत्रीकरण कार्यक्रम, तैयारियों की समीक्षा 

आधार नंबर एकत्रीकरण कार्यक्रम, तैयारियों की समीक्षा 

हरिशंकर त्रिपाठी        

देवरिया। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में निर्वाचन आयोग द्वारा आगामी 1 अगस्त से प्रारंभ होने वाले आधार नंबर एकत्रीकरण कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की गई। उन्होंने अभियान से जुड़े समस्त हितधारकों को निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप आधार नंबर एकत्रीकरण कार्यक्रम को सफल बनाने के संबन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सूची में शामिल सभी मतदाताओं से आधार नंबर एकत्र किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए अभियान 1 अगस्त से प्रारंभ होगा, जिसमें बीएलओ घर-घर भ्रमण करके मतदाताओं का आधार नंबर एकत्र करेंगे।

7 अगस्त एवं 21 अगस्त को समस्त मतदेय स्थलों पर विशेष कैम्प का आयोजन किया जाएगा। डीएम ने बताया कि आधार नंबर एकत्रीकरण पूर्णतया स्वैच्छिक है और इस आधार पर किसी का नाम मतदाता सूची से हटाया नहीं जाएगा। आधार नंबर की गोपनीयता बनाए रखी जाएगी और उसे किसी भी परिस्थिति में सार्वजनिक नहीं किया जाएगा। विशेष कैंप के दिन कोई मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में शामिल, विलोपित अथवा संशोधित कराना चाहता है अथवा नया/संशोधित मतदाता पहचान पत्र प्राप्त करना चाहता है तो उसे आयोग द्वारा नवीनतम फॉर्म 6, 7 व 8 उपलब्ध कराया जाएगा। संबंधित फार्म को भरने में उनकी सहायता भी की जाएगी।

जिलाधिकारी ने बीएलओ द्वारा आधार नंबर एकत्रीकरण कार्य का नियमित मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि यदि किसी मतदाता के आधारकार्ड पर पता किसी अन्य स्थान का अंकित है और मतदाता पहचान पत्र पर किसी अन्य जगह का पता है, तो भी उसे घबराने की जरूरत नहीं है। इससे मतदाता पहचान पत्र को आधार से लिंक करने में किसी भी तरह की समस्या नहीं आएगी। मुख्य विकास अधिकारी एवं स्वीप के नोडल अधिकारी रवीन्द्र कुमार ने बताया कि आधार एकत्रीकरण के संबंध में मतदाताओं को जागरूक करने के लिए प्रत्येक गांव में मुनादी कराई जाएगी। युवक मंगल दल, व्यापार क्लब, रोटरी क्लब, नेहरू युवा केंद्र, एनएसएस, एनसीसी जागरूकता अभियान चलाएंगे। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी/एडीएम प्रशासन कुँवर पंकज, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी मंजूर अहमद अंसारी, डीआईओएस विनोद कुमार राय, बीएसए हरिश्चंद्र नाथ, जिला युवा अधिकारी विकास तिवारी, भाजपा के मीडिया प्रभारी अंबिकेश पांडेय, समाजवादी पार्टी से अशोक यादव, बीएसपी के अशोक कुशवाहा, कांग्रेस से शिवशंकर सिंह, भाकपा से आनन्द प्रकाश चौरसिया, एनसीपी से विजय बहादुर सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

वैज्ञानिकों ने फल मक्खियों के दिमाग को हैक किया 

वैज्ञानिकों ने फल मक्खियों के दिमाग को हैक किया 

अखिलेश पांडेय                      

वाशिंगटन डीसी/एल्बनि। अमेरिका में ‘राइस यूनिवर्सिटी’ के वैज्ञानिकों ने फल मक्खियों के दिमाग को हैक किया, जिससे उन्हें रिमोट से कंट्रोल किया जा सके। न्यूरोइंजीनियरों की टीम लक्षित न्यूरॉन्स को सक्रिय करने के लिए मैग्निेटिक सिग्नलों का इस्तेमाल करने में सक्षम थी, जो उनकी शरीरिक स्थिति और मूवमेंट को नियंत्रित करते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, शोधकर्ताओं की टीम ने आनुवंशिक रूप से मक्खियों पर काम शुरू किया। इससे उनके कुछ न्यूरॉन्स ने हीट-सेंसिटिव आयन चैनल्स को व्यक्त किया। वैज्ञानिकों ने फल मक्खियों के दिमाग में आयरन ऑक्साइड नैनोपार्टिकल्स को इंजेक्ट किया, जिसके बाद टीम उन्हें हीट देने और न्यूरॉन को सक्रिय करने के लिए एक मैग्निेटिक फील्ड का इस्तेमाल करने में सक्षम थी।

महापौर ने 'हरेली तिहार' पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं दी 

महापौर ने 'हरेली तिहार' पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं दी 

दुष्यंत टीकम                    

रायपुर। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने छत्तीसगढ़ संस्कृति के प्रमुख त्यौहार 'हरेली तिहार' की अपनी हार्दिक शुभकामनाएं नागरिकबंधुओं को दी है। उन्होने अपनी बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि हमारे छत्तीसगढ़ राज्य की संस्कृति में 'हरेली तिहार' का विशेष स्थान हैं, तथा यह प्रदेश का एक प्रमुख त्यौहार है। विशेषकर हमारे किसान भाईयों के लिए यह त्यौहार बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस दिन हमारे किसान भाई अपनी खेती में काम आने वाले औजारों को धोकर उनकी पूजा करते हैं। अपने कुलदेवता की भी पूजा करते हैं, तथा इस त्यौहार को बडे़ उत्साह के साथ मनाते हैं।

महापौर श्री प्रसाद ने कामना करते हुए कहा कि विश्व में हरियाली छाई रहे, हमेशा सुख शांति बनी रहे, अच्छी पैदावार हो, तथा किसान भाईयों के घर अन्न भण्डार से परिपूर्ण रहे।

बीएसएनएल के लिए रिवाइवल पैकेज को मंजूरी दी

बीएसएनएल के लिए रिवाइवल पैकेज को मंजूरी दी 

अकांशु उपाध्याय          

नई दिल्ली। बीएसएनएल (BSNL) के लिए मोदी कैबिनेट ने रिवाइवल पैकेज को मंजूरी बुधवार को दे दी है। कैबिनेट की बैठक के बाद दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि बीएसएनएल के लिए 1.64 लाख करोड़ का पैकेज घोषित किया गया है। बताया कि पहला पैकेज 2019 में दिया गया था। वहीं मंत्रिमंडल में बीएसएनएल और भारत ब्रॉडबैंक नेटवर्क लिमिटेड के विलय को मंजूरी दी गई है।

उन्होंने बताया कि दूसरे फैसले के तहत गांवों में कनेक्टिविटी के लिए  26316 करोड़ के पैकेज की कैबिनेट ने मंजूरी दी है। जिन गांवों में 2जी है उन्हें 4जी सर्विस मिले उसके लिए मंजूरी दी गई है। बताया कि बॉर्डर एरिया के लिए भी आदेश दिया गया है, जिसमें पूर्वी लद्दाख भी शामिल होगा, जहां 4जी लाया जा सकता है। कहा कि रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय और कम्युनिकेशन मंत्रालय बताएगा, कि कैसे बॉर्डर एरिया में 4जी नेटवर्क लाया जा सकता है ?

पेट्रोल में 78 बार, डीजल में 76 बार बढ़ोतरी: सरकार 

पेट्रोल में 78 बार, डीजल में 76 बार बढ़ोतरी: सरकार 

अकांशु उपाध्याय          

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने राज्यसभा में बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान पेट्रोल के दामों में 78 बार और डीजल के दामों में 76 बार बढ़ोतरी की गई है। इसी दौरान पेट्रोल के दाम 7 बार और डीजल के दाम 10 बार घटाए गए है। जबकि पेट्रोल के मामले में 280 दिन ऐसे रहे, जब कोई तब्दीली नहीं हुआ। वहीं, डीजल में 279 दिन ऐसे रहे, जब दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ है। बता दें, कि आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने उच्च सदन में केंद्र सरकार पेट्रोल डीजल के दामों को लेकर सवाल किया था। उन्होंने पूछा था कि कितनी बार वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाए गए। 2016 के बाद से इस मद में सरकार ने कितना राजस्व एकत्र किया है।

राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने कहा कि हालत ऐसे हैं कि जब वैश्विक बाजार में पेट्रोलियम पदार्थ की कीमतें घटती हैं, उस वक्त भी भारत में ये बढ़ती रहती है। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल के दामों में बीते सप्ताह गिरावट हुई थी, लेकिन हमारे देश में पिछले एक महीने से पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर हैं। केंद्र ने एक्साइज ड्यूटी में थोड़ी राहत दी थी। सरकार ने पेट्रोल पर 8 रुपए और डीजल पर 6 रुपए एक्साइज ड्यूटी कम की थी। इसके बाद पेट्रोल 9.50 रुपये और डीजल 7 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया, लेकिन जिस तरह से कच्चे तेल के दाम गिर रहे हैं, उसे देखते हुए तेल कंपनियों ने कोई कदम नहीं उठाया, ताकि आम आदमी को थोड़ी सी राहत मिल सके।

संसद के मानसून सत्र में राघव चड्ढा ने पहले भी सरकार से पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी को लेकर सवाल पूछा था। केंद्र सरकार का जवाब था कि उसने इस मद में पिछले 6 सालों में 16 लाख करोड़ रुपये कमाए। राघव चड्ढा ने कहा कि सरकार ने इन पैसों का इस्तेमाल बड़े उद्योगपतियों के कर्ज को चुकाने के लिए किया।

आदिवासी दिवस की छुट्टी के औचित्य पर सवाल उठाएं

आदिवासी दिवस की छुट्टी के औचित्य पर सवाल उठाएं 

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। विधानसभा के मानसून सत्र के आखरी दिन आज पक्ष और विपक्ष द्वारा समय समय पर अलग अलग मुद्दों पर हंगामा किया जा रहा है। विपक्ष द्वारा अविश्वास प्रस्ताव के चर्चा में आदिवासी सम्मान का मुद्दा लेकर सत्ता पक्ष ने जमकर हंगामा किया। दरअसल, भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने अविश्वास प्रस्ताव की चर्चा के दौरान आदिवासी दिवस की छुट्टी के औचित्य पर सवाल उठाएं।

उन्होंने कहा कि जहां आदिवासी दिवस मनाया जाता है, वहां आदिवासियों का अस्तिव खतरे में है। जिसके बाद सत्ता पक्ष के आदिवासी विधायकों ने जमकर हंगामा किया। कांग्रेस के आदिवासी विधायक कवासी लखमा और अमरजीत भगत ने विधानसभा में जमकर नारेबाजी की और विधायक चंद्राकर को माफ़ी मांगने को कहा।

ईडी की पूछताछ का विरोध, धरना देने पर गिरफ्तार 

ईडी की पूछताछ का विरोध, धरना देने पर गिरफ्तार 

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। नेशनल हेराल्ड मामले में तीसरे दिन की पूछताछ के बाद भारी मन से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी दिल्ली में ईडी कार्यालय से रवाना हुईं। सोनिया गांधी को अगले आदेश तक पूछताछ के लिए नहीं बुलाया जायेगा। अगर जरूरत पड़ी, तो ईडी सोनिया गांधी को फिर से समन जारी कर सकती है। सोनिया गांधी ने नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े कथित धनशोधन मामले में बुधवार को तीसरी बार प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष अपना बयान दर्ज कराया।

इधर, कांग्रेस सांसदों ने नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े धनशोधन के मामले में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ का विरोध करते हुए बुधवार को संसद भवन के बाहर धरना दिया, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। कांग्रेस सांसदों ने संसद भवन से विजय चौक तक मार्च निकाला। इसके बाद वे विजय चौक पर धरने पर बैठ गए। बाद में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने कहा, आज हमारे सांसदों को गिरफ्तार किया गया है। यह लोकतंत्र की हत्या है। संसद में मोदी सरकार महंगाई पर चर्चा नहीं होने दे रही है। राजनीतिक प्रतिशोध के खिलाफ हम आवाज उठा रहे हैं, तो हमें गिरफ्तार किया गया है।

दिल्ली: बोर्ड द्वारा विभिन्न पदों पर वैकेंसी निकाली

दिल्ली: बोर्ड द्वारा विभिन्न पदों पर वैकेंसी निकाली 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल, दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड द्वारा विभिन्न पदों पर वैकेंसी निकाली गई हैं। इस भर्ती के लिए उम्मीदवार कल से आवेदन कर सकेंगे। वहीं, भर्ती के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 27 अगस्त 2022 है। बता दें इस भर्ती अभियान के द्वारा 547 पदों को भर्ती की जाएगी। आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों डीएसएसएसबी की ऑफिशियल साइट dsssb.delhi.gov.in पर जाना होगा।

शैक्षणिक योग्यता...
इस भर्ती अभियान के द्वारा विभिन्न पदों को भरा जाना है। जिसके लिए शैक्षिक योग्यता और आयु सीमा चेक करने के लिए उम्मीदवार ऑफिशियल साइट की मदद ले सकते हैं।

आवेदन शुल्क...
इस भर्ती अभियान के लिए अभ्यर्थी को आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा। उम्मीदवारों को आवेदन शुल्क के तौर पर 100 रुपये का भुगतान करना होगा। महिला उम्मीदवार और अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पी.डब्ल्यू.डी. और भूतपूर्व सैनिक श्रेणी के उम्मीदवारों को आवेदन शुल्क के भुगतान से छूट दी गई है। इस भर्ती अभियान से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट की मदद ले सकते हैं।

संजय को राज्यसभा से एक हफ्ते के लिए सस्पेंड किया 

संजय को राज्यसभा से एक हफ्ते के लिए सस्पेंड किया 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद संजय सिंह को राज्यसभा से एक हफ्ते के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। उन्हें पेपर फाड़कर और उसे डिप्टी चेयरमैन की तरफ उड़ाने के आरोप में सस्पेंड किया गया है। अब तक राज्यसभा के 20 और लोकसभा के 4 सांसद निलंबित किए गए हैं जो कांग्रेस पार्टी से हैं। इसके तुरंत बाद राज्यसभा को कुछ देर किए स्थगित कर दिया गया था। लेकिन अब कार्यवाही फिर से शुरु हो चुकी है। राज्यसभा के डिप्टी चेयरमैन हरिवंश नारायण सिंह ने कहा कि संजय सिंह वेल में थे और नारेबाज़ी कर रहे थे। बताया जा रहा है कि आप सांसद संजय सिंह सदन के भीतर गुजरात में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के मामले को उठा रहे थे। इस दौरान उन पर नारेबाजी करने, पेपर फाड़कर स्पीकर की चेयर की ओर उछालने का आरोप है। संजय सिंह को इस सप्ताह की कार्यवाही के लिए सदन से निलंबित कर दिया गया। दरअसल, गुजरात के बोटाद में हाल ही में जहरीली शराब पीने से 37 लोगों की मौत हो गई है।

जबकि 50 से ज्यादा लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इससे पहले मानसून सत्र के 7वे दिन मंगलवार को विपक्ष ने GST और महंगाई पर हंगामा किया था। इसके बाद, राज्यसभा से विपक्ष के 19 सांसदों को एक हफ्ते के लिए सस्पेंड कर दिया गया। हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही पहले एक घंटे और फिर दिनभर के लिए स्‍थगित करनी पड़ी। लोकसभा में सोमवार को भारी हंगामे के बीच स्पीकर ओम बिड़ला ने कांग्रेस के 4 सदस्‍यों को निलंबित कर दिया था। ज्योतिमणी, माणिकम टैगोर, टीएन प्रथापन और राम्या हरिदास को पूरे सत्र के लिए निलंबित किया गया है। दरअसल, लोकसभा में विपक्ष ने महंगाई और GST पर जमकर हंगामा किया। कार्यवाही शुरू होने के कुछ देर बाद ही विपक्षी नेताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। स्पीकर ओम बिड़ला ने विपक्षी सदस्यों से कार्यवाही चलने देने की अपील की, लेकिन उन्होंने GST के खिलाफ नारेबाजी और तख्तियां दिखाना जारी रखा। इसके बाद स्पीकर ने चार सांसदों को निलंबित कर दिया था।

टीएमसी सांसदों ने संसद के पास विरोध प्रदर्शन किया है। गारो और खासी जनजाति को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने की मांग की है। TMC सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय ने कहा कि हम संविधान की आठवीं अनुसूची में गारो और खासी को शामिल करने की मांग कर रहे हैं। मैं आज शून्यकाल में इस मुद्दे को संसद में उठाने जा रहा हूं।स्पीकर ओम बिड़ला ने विपक्षी नेताओं से पूछा कि आप यहां नारे लगाने आए हैं या जनता से संबंधित मुद्दों को उठाने आए हैं। देश की जनता चाहती है कि सदन चले, लेकिन यह ऐसे नहीं चल सकता, मैं सदन में ऐसी स्थिति नहीं रहने दूंगा। स्पीकर ने कहा, “अगर आप तख्तियां दिखाना चाहते हैं, तो घर के बाहर करें।” इसके बाद उन्होंने सदन को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया था।

बस के खाई में गिरने से 20 यात्री घायल, 2 फंसे

बस के खाई में गिरने से 20 यात्री घायल, 2 फंसे 

श्रीराम मौर्य                  

शिमला। शिमला में बुधवार को एक बस के खाई में गिरने से 20 यात्री घायल हो गए और दो अन्य यात्री उसमें फंस गए। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने यह जानकारी दी। शिमला जिला आपातकालीन संचालन केंद्र (डीईओसी) के अनुसार, दुर्घटना अपराह्न दो बजकर 15 मिनट पर हीरा नगर क्षेत्र में हुई थी। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार, जिस समय बस खाई में गिरी उसमें 25 यात्री सवार थे। लगभग 20 से 23 यात्री घायल हो गए और दो यात्री अंदर फंस गये। विभाग ने कहा कि पुलिस का एक दल घटनास्थल पर पहुंच गया है और फंसे हुए दो यात्रियों को बाहर निकालने के प्रयास जारी हैं।

उन्होंने कहा कि घायलों को इलाज के लिए इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इस हादसे में अन्य जानकारी की प्रतीक्षा है।

अस्पतालों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 4,115 संयंत्र 

अस्पतालों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 4,115 संयंत्र 

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को लोकसभा को बताया कि कोविड महामारी के दौरान देश में अस्पतालों को जरूरत के अनुरूप ऑक्सीजन उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के लिए कुल 4,115 प्रेशर स्विंग ऐडसॉर्प्शन (पीएसए) संयंत्र स्थापित किये गए, जिनकी क्षमता 4,755 मीट्रिक टन है। लोकसभा में हंसमुखभाई एस पटेल के प्रश्न के लिखित उत्तर में इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने यह जानकारी दी। सदस्य ने पूछा था कि कोविड-19 महामारी के दौरान देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन उत्पादक संयंत्रों द्वारा उत्पादन क्षमता में कुल वृद्धि का ब्यौरा क्या है?

कुलस्ते ने कहा कि राष्ट्रीय चिकित्सा आयाोग द्वारा विनियमन में संशोधन करके सभी मेडिकल कॉलेजों के लिये पीएसए संयंत्र स्थापित करना अनिवार्य कर दिया गया है। मंत्री ने बताया, ‘‘अस्पतालों की आवश्यकताओं हेतु ऑक्सीजन के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के लिये प्रेशर स्विंग एडसॉर्प्शन (पीएसए) संयंत्र स्थापित किये गए हैं, जिससे देशभ में चिकित्सा ऑक्सीजन आपूर्ति ग्रिड पर पड़ने वाला भार घटा है।’ ’ इस्पात राज्य मंत्री ने बताया कि देश में अस्पतालों को जरूरत के अनुरूप ऑक्सीजन उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के लिये कुल 4,115 प्रेशर स्विंग एडसॉर्प्शन (पीएसए) संयंत्र स्थापित किये गए जिसकी क्षमता 4,755 मीट्रिक टन है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने पीएम केयर्स के अंतर्गत 1,225 पीएसए संयंत्र स्थापित एवं परिचालित करके राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों को सहयोग प्रदान किया है।

वर्ष 2022-23 में 5जी मोबाइल सेवा प्रारंभ, संभावना

वर्ष 2022-23 में 5जी मोबाइल सेवा प्रारंभ, संभावना

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को लोकसभा को बताया, कि दूरसंचार सेवा प्रदाताओं द्वारा वर्ष 2022-23 के दौरान 5जी मोबाइल सेवा प्रारंभ करने की संभावना है। लोकसभा में दीपसिंह शंकरसिंह राठौड़ और रमेश बिधूड़ी के प्रश्न के लिखित उत्तर में संचार राज्य मंत्री देबुसिंह चौहान ने यह जानकारी दी। सदस्यों ने पूछा था कि क्या सरकार की भारत में 5जी प्रौद्योगिकी शुरू करने की कोई योजना है। संचार राज्य मंत्री ने कहा कि 5जी सेवाओं को धीरे-धीरे शुरू करने और सेवाओं का वातावरण तैयार होने एवं मांग बढ़ने पर इसकी पूरी क्षमता प्राप्त करने की संभावना है‌‍।

चौहान ने कहा कि दूरसंचार विभाग ने 15 जून, 2022 की अधिसूचना के तहत 600 मेगाहर्ट्ज, 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज, 2500 मेगाहर्ट्ज, 3300 मेगाहर्ट्ज, 26 गीगा हर्ट्ज बैंडों के स्पेक्ट्रम की नीलामी की प्रक्रिया पहले शुरू कर दी है, जिसमें 5जी सेवाओं को शुरू करने हेतु आवश्यक स्पेक्ट्रम शामिल है।

योगी सरकार पर तंज, कम से कम हमारे घर मत तोड़िए

योगी सरकार पर तंज, कम से कम हमारे घर मत तोड़िए 

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) चीफ और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी की योगी सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि, अगर इन (कांवडियों) पर फूल बरसा रहे हैं, तो कम से कम हमारे घर तो मत तोड़िए। एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से कुछ अखबारों की फोटो शेयर की है। फोटो शेयर करते हुए ओवैसी ने लिखा, पुलिस ने पंखुड़ियां बौछार कीं, कांवड़ियों का झंडों से इस्तक़बाल किया, उनके पैरों पर लोशन लगाया और उनके साथ इंतेहाई शफ़क़त से पेश आए। दिल्ली पुलिस ने लोहारों को हटाने की बात की, ताकि कांवड़िया नाराज़ न हो जाएं। उ.प्र हुकूमत ने यात्रा के रास्तों पर गोश्त पर पाबंदी लगा दी।

ओवैसी ने कहा कि, यह ‘रेवड़ी कल्चर’ नहीं है? मुसलमान, खुली जगह पर चंद मिनट के लिए के नमाज़ भी अदा करे तो बवाल हो जाता है। मुसलमानों को सिर्फ मुसलमान होने की वजह से पुलिस की गोलियों, हिरासती तशद्दुद, NSA, UAPA, लिंचिंग, बुल्डोज़र और तोड़-फोड़ का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं, उन्होंने ट्वीट में लिखा, कांवड़ियों के जज़्बात इतने मुतज़लज़ल हैं कि वे किसी मुसलमान पुलिस अहलकार का नाम भी बर्दाश्त नहीं कर सकते। यह भेद-भाव क्यों? यकसानियत नहीं होनी चाहिए? एक से नफ़रत और दूसरों से मोहब्बत क्यों? एक मज़हब के लिए ट्रैफिक डाइवर्ट और दूसरे के लिए बुलडोज़र क्यों? ओवैसी ने ट्वीट में लिखा, अगर इन पर फूल बरसा रहे हैं, तो कम से कम हमारे घर तो मत तोड़िए।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कांवड़ यात्रा पर आप टैक्स पेयर के पैसों से हेलीकॉप्टर से फूल बरसा रहे हैं। पुलिस के ऑफिसर उनके पैरों की मालिस कर रहे हैं। गाजियाबाद में आपने लोहार की दुकान को बंद करवा दिया। मेरठ के एक पुलिस स्टेशन में एक मुसलमान ऑफिसर का आपने नाम हटवा दिया। अगर कोई चंद मिनट के लिए नमाज़ पढ़ता है तो पब्लिक पॉलिसी डिस्टर्ब हो रही है। मैं भाजपा से कहता हूं कि आप सबके साथ समान व्यवहार करें भेदभाव ना करें। अगर सबका साथ सबका विकास है तो हम पर फूल नहीं चढ़ाते हमारे घरों पर बूलडोजर चढ़ा देते हैं।

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव भी चाहते हैं, ठाकरे 

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव भी चाहते हैं, ठाकरे 

कविता गर्ग                 

मुंबई। शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कहा कि उनके नेतृत्व में महा विकास आघाडी (एमवीए) गठबंधन का प्रयोग गलत नहीं था और लोगों ने उसका स्वागत किया था। शिवसेना के मुखपत्र सामना को दिए साक्षात्कार के दूसरे भाग में ठाकरे ने कहा कि वह महाराष्ट्र में न केवल स्थानीय निकाय, बल्कि विधानसभा चुनाव भी चाहते हैं। उन्होंने दावा किया कि शिवसेना का मुख्यमंत्री फिर से होगा और वह पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य का दौरा करेंगे।

ठाकरे ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उन लोगों को सब कुछ दे रही है, जो दूसरी पार्टियों से आए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने मुख्यमंत्री (शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे) पद से लेकर नेता प्रतिपक्ष (जो अभी राकांपा के अजित पवार के पास है) का पद भी ऐसे लोगों को दिया है। उन्होंने कहा, “दिल्ली शिवसेना से शिवसेना को लड़ाना चाहती है और मराठी भाषी लोगों को बांटना चाहती है। अगर वर्तमान शासक विपक्ष से डरते हैं तो यह उनकी अक्षमता है।लोकतंत्र में कोई भी दल स्थायी विजेता नहीं होता।” ठाकरे ने कहा कि लोगों ने एमवीए के प्रयोग का स्वागत किया था और तीन दलों का यह गठबंधन इसलिए करना पड़ा क्योंकि भाजपा ने उनसे किया वादा नहीं निभाया था। सामना के कार्यकारी संपादक और राज्यसभा सदस्य संजय राउत को दिए साक्षात्कार में ठाकरे ने कहा, “शिवसेना का फिर से मुख्यमंत्री होगा। मैं पार्टी के आधार और कार्यकर्ताओं के विस्तार के लिए काम करूंगा। मैं अगस्त से राज्य का दौरा शुरू करूंगा।

मैं चाहता हूं कि अधिक से अधिक लोग पार्टी के सदस्य बनें।” उन्होंने कहा, “मैंने भाजपा से 2019 में क्या मांगा था?… ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री का पद और इस पर सहमति बनी थी। यह पद मेरे लिए नहीं था। मैंने (अपने पिता और शिवसेना के संस्थापक) बालासाहेब से वादा किया था कि मैं शिवसेना के नेता को मुख्यमंत्री बनाऊंगा। मेरा वादा अब भी अधूरा है।” ठाकरे ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री का पद एक चुनौती के रूप में स्वीकार करना पड़ा।

आतंकी मलिक की अचानक तबीयत बिगड़ी, भर्ती 

आतंकी मलिक की अचानक तबीयत बिगड़ी, भर्ती 

अकांशु उपाध्याय            

नई दिल्ली। दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद आतंकी यासीन मलिक की अचानक तबीयत बिगड़ गई है। जिसके बाद उसे दिल्ली के RML अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बता दें यासीन मलिक 22 जुलाई से भूख हड़ताल पर है। आतंकी यासीन मलिक का कहना है, जो उसका मामला विचाराधीन चल रहा है उस पर सही से जांच नहीं की जा रही है। इसलिए वह भूख हड़ताल पर बैठे हैं।

वहीं, जेल के आला अधिकारी भी यासीन मलिक से बात करने पहुंचे। लेकिन, उसने भूख हड़ताल छोड़ने से मना कर दिया, जिसके बाद आज तबियत खराब होने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

रेलवे स्टेशनों को विकसित करने की योजना बनाई 

रेलवे स्टेशनों को विकसित करने की योजना बनाई 

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को लोकसभा को बताया कि व्यवहार्यता अध्ययनों के आधार पर देश में रेलवे स्टेशनों को विकसित करने की योजना बनाई गई है, जिसमें बिहार का दरभंगा रेलवे स्टेशन भी शामिल है। लोकसभा में गोपाल जी ठाकुर के प्रश्न के लिखित उत्तर में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने यह जानकारी दी। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि रेल मंत्रालय द्वारा रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास के लिये तकनीकी आर्थिक व्यवहार्यता अध्ययन किया जाता है।

इन व्यवहार्यता अध्ययनों के निष्कर्ष के आधार पर स्टेशनों को विकसित करने हेतु कार्य एवं चरणों में शुरू किये जाने की योजना बनाई गई है। उन्होंने कहा, ‘‘ दरभंगा रेलवे स्टेशन इस प्रकार के अध्ययनों के लिये चिन्हित किये गए स्टेशनों में से एक है।’’ मंत्री ने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर रेलवे स्टेशनों को पुनर्विकसित करना एक जटिल प्रकृति का कार्य है और इसके लिये विस्तृत तकनीकी आर्थिक व्यवहार्यता अध्ययन और शहरी स्थानीय निकायों आदि की विभिन्न सांविधिक मंजूरी की जरूरत होती है। उन्होंने बताया कि इसे पूरा करने के लिये फिलहाल कोई समय सीमा निर्धारित नहीं की जा सकती है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-292, (वर्ष-05)

2. बृहस्पतिवार, जुलाई 28, 2022

3.शक-1944, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अमावस्या, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः05:20, सूर्यास्त: 07:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै.। उत्तरभारत में बरसात की संभावना। 

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक कासहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालयहोगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीरसिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27,प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.inemail:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवलव्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...