शुक्रवार, 25 अगस्त 2023

एसएसपी ने कोतवाल को किया लाइन हाजिर: यूपी

एसएसपी ने कोतवाल को किया लाइन हाजिर: यूपी 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने नई मंडी कोतवाल पर कार्यवाही की गाज गिरने हुए उन्हें लाइन हाजिर कर दिया है। 
एसएसपी की ओर से चलाई गई तबादला एक्सप्रेस के अंतर्गत जनपद के कई इंस्पेक्टरों के तबादले कर दिए गए हैं। एक थानेदार को लाइन हाजिर करने साथ चार इंस्पेक्टर को तबादला करते हुए इधर से उधर भेजा गया है। 
शुक्रवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने जनपद की शांति, सुरक्षा और कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के दृष्टिगत तथा अपराधों एवं अपराधियों पर लगाम लगाने के उद्देश्य से चार इंस्पेक्टर्स का तबादला कर दिया है। थाना नई मंडी के प्रभारी निरीक्षक को लाइन हाजिर करने के अलावा थाना सिविल लाइन के इंस्पेक्टर बदल दिए गए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की ओर से जारी की गई तबादला सूची के मुताबिक थाना कोतवाली पर इंस्पेक्टर क्राइम के रूप में तैनात निरीक्षक संजय कुमार सिंह को अब थाना सिविल लाइन का नए प्रभारी निरीक्षक बनाया गया है। थाना सिविल लाइन के प्रभारी निरीक्षक बबलू सिंह को यहां से हटाकर नई मंडी का नया प्रभारी निरीक्षक नियुक्त किया गया है। थाना नई मंडी के प्रभारी निरीक्षक संतोष कुमार त्यागी को उनके पद से हटाकर अब उन्हें पुलिस लाइन भेजा गया है। 
थाना पुरकाजी पर क्राइम इंस्पेक्टर के तौर पर तैनात निरीक्षक नेमचंद को थाना तितावी का नया प्रभारी निरीक्षक बनाया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने लाइन हाजिर किए गए नई मंडी कोतवाल तथा अन्य इंस्पेक्टर को तुरंत अपना मौजूद कार्यभार छोड़कर नई तैनाती स्थल पर काम का संभालने के निर्देश दिए हैं।

सजा काट कर लौटे व्यक्ति ने जज को कहें अपशब्द

सजा काट कर लौटे व्यक्ति ने जज को कहें अपशब्द 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। 1 साल की सजा काटकर लौटे व्यक्ति ने जमानत नहीं दिए जाने से आग बबूला होकर जज के खिलाफ आपा खोते हुए जमकर भड़ास निकाली। जेल से रिहा होने के बाद सीधे कोर्ट रूम पहुंचे व्यक्ति ने मर्यादित भाषा से बात करते हुए जज को खूब अपशब्द भी कहे। दरअसल केरल हाई कोर्ट के जज विजू अब्राहम ने बीते साल एक व्यक्ति को जमानत देने से इनकार कर दिया था। अदालत में चली सुनवाई के दौरान उस व्यक्ति को कोर्ट द्वारा एक साल की सजा सुनाई गई थी।
बीते दिन जब एक साल की सजा काटने वाला व्यक्ति जेल से रिहा हुआ तो वह अपने घर जाने के बजाय सीधा कोर्ट रूम पहुंचा और एक साल पहले जमानत नहीं देने वाले जज के ऊपर अपना नजला उतारते हुए उन्हें खूब खरी खोटी सुनाई। जिससे हाईकोर्ट में हंगामा खड़ा हो गया। 
बाद में सुरक्षा कर्मियों ने बवाल काट रहे व्यक्ति को काबू में कर कोर्ट रूम से बाहर भेजा। जानकारी मिल रही है कि भरी अदालत में न्यायाधीश के साथ अभद्रता करने वाला व्यक्ति पेशे से वकील था और एक अपराध के सिलसिले में बीते साल पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार किया गया था। जब यह मामला उच्च न्यायालय पहुंचा तो जस्टिस विजू अब्राहम ने मामले की सुनवाई करने के दौरान उसे जमानत देने से इनकार कर दिया था। तकरीबन 1 साल तक जेल में रहे व्यक्ति को हाल ही में ट्रायल कोर्ट द्वारा जमानत दी गई है। कोर्ट रूम में जज के साथ अभद्रता करने के साथ-साथ व्यक्ति ने न्याय व्यवस्था को भी गालियां दी परंतु इस सब के बावजूद जज पूरी तरह से शांत रहे और कहा कि इस पर अदालत का समय खत्म होने के बाद ही कुछ बोलेंगें। फिलहाल यह बात साफ नहीं हुई है कि भरी अदालत में जज के खिलाफ अभद्रता करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध कोर्ट की अवमानना का मामला चलेगा या नहीं ?
अदालत की ओर से भी इस मामले को लेकर आधिकारिक तौर पर अभी कुछ नहीं कहा गया है।

दरोगा को सरेआम गालियां, भूत बना दूंगा

दरोगा को सरेआम गालियां, भूत बना दूंगा 

संदीप मिश्र 
फर्रुखाबाद। गस्त पर निकले दरोगा ने जब अवैध खनन करके ले जाए जा रहे गाड़ियों के काफिले को रोक लिया तो मौके पर पहुंचे खनन माफिया ने दरोगा की बुरी तरह से फजीहत करते हुए सरेआम धमकी दे डाली कि दरोगा जी यह मुलायम सिंह यादव की सरकार नहीं है। बीजेपी की सरकार है। होश में रहिए। नहीं तो भूत बना दूंगा भूत। 
खनन माफिया द्वारा दी जा रही धमकियों का कुछ देर तो दरोगा ने विरोध किया, मगर बाद में चुपचाप अपनी गाड़ी में बैठकर वहां से चलते बने। सोशल मीडिया पर मामला वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक के आदेश पर थाना कादरी गेट की आईटीआई चौकी पर आरोपी दबंगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। दरअसल सोशल मीडिया पर बीते दिन से खनन माफिया दबंगों की दबंगई का एक वीडियो तेजी के साथ वायरल हो रहा है। 20 अगस्त की रात का होना बताये जा रहे वीडियो के मुताबिक आईटीआई चौकी इंचार्ज सुरजीत सिंह जिस समय कार में सवार होकर गस्त करने के लिए निकले थे। उसी समय थाने में सूचना मिली कि बीबर रोड पर विवाद एवं फायरिंग हो गई है। 
गोली चलने की सूचना पर वह चीता मोबाइल के साथ मौके पर पहुंचे थे। सड़क पर एक तरफ अवैध खनन लदी गाड़ियों का काफिला खड़ा हुआ था और मौके पर आशीष प्रताप सिंह उर्फ सचिन ठाकुर पुत्र गिरीश चंद्र निवासी चिलसरा शमशाबाद हाल पता नारायणपुर कादरी गेट अपने साथी भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष अमित ठाकुर पुत्र रघु पाल निवासी भगवानपुर ताजपुर अमृतपुर, मनु चतुर्वेदी पुत्र विमल निवासी नागपुर, अंशुल मिश्रा उर्फ छतरी पुत्र रूपेश मिश्रा निवासी बिजाधरपुर फतेहगढ़ तथा 8-10 अज्ञात साथियों के साथ मौके पर मौजूद मिला। 
अवैध खनन को लेकर जांच पडताल करने में लगे चौकी इंचार्ज सुरजीत एवं सिपाहियों को दबंगों ने चारों तरफ से घेर लिया और आरोपियों ने दरोगा के साथ अभद्रता करते हुए जमकर गाली गलौज की। इस दौरान खनन माफिया सचिन ठाकुर ने कहा कि दरोगा जी होश में रहिए। यह मुलायम सिंह यादव की सरकार नहीं है, यह भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। मैं तुम्हारा भूत बना दूंगा भूत। तुम मुझे नहीं जानते हो जूते से मारेंगे तुम्हारे बिल्ले नोंच कर पैदल कर दूंगा। दरोगा की भारी फजीहत का यह मामला जब सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वायरल हुआ तो अब पुलिस अधीक्षक के आदेश पर आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 504, 506, 188, 338 तथा 353 एवं आपराधिक कानून संशोधन अधिनियम 1932 की धारा 7 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया। उधर भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष अमित ठाकुर के खिलाफ अवैध खनन और दरोगा के साथ गाली गलौज एवं मारपीट करने के मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद चौतरफा हड़कंप मच गया है। 
उम्मीद की जा रही है कि पार्टी हाईकमान की ओर से भाजयूमो जिला उपाध्यक्ष के खिलाफ पार्टी स्तर पर कार्यवाही की जा सकती है।

डाकिया का ठेला ले भागा चोर, पुलिस परेशान

डाकिया का ठेला ले भागा चोर, पुलिस परेशान 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जिस दौर में चिट्ठियां लिखने-पढ़ने की परंपरा खत्म-सी हो गई है, उस वक्त खालिस सरकारी डाक के चोरी हो जाने की खबर किसी को भी हैरान कर सकती है। 
मगर, घटना कुछ ऐसी ही घटी है, शहर के खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के बख्शी बाजार में। यहां तीन दिन पहले डाक बांटने पहुंचे एक डाकिया की साइकिल में टंगा थैला कोई चोर ले भागा। इसमें कुल 92 चिट्ठियां थीं। इन गायब दस्तावेजों में कितने लोगों का भविष्य दर्ज है, किसी को कोई अंदाजा नहीं। चिट्ठियां चोरी होने की शिकायत डाक विभाग ने पुलिस से की है।
यह घटना घटी है, प्रयागराज सिटी डाकघर के पोस्टमैन अरविंद त्रिपाठी के साथ। वह खुल्दाबाद के बख्शी बाजार इलाके में डाक बांटते हैं। 21 अगस्त को वह बख्शी बाजार में रहने वाले हुसैन इरशाद नकवी के घर डाक देने पहुंचे थे। उन्होंने साइकिल बाहर खड़ी की और घर के अंदर चले गए। चिट्ठियों का झोला उन्होंने हैंडल पर टांग रखा था। हुसैन इरशाद के परिवार वालों ने डाक लेने से मना कर दिया। इस बीच, बातचीत में काफी देर हो गई।
कुछ देर बाद जब वह लौटे तो साइकिल पर पर टंगा थैला गायब था। कोई चोर उनका झोला ले जा चुका था। इसमें 78 स्पीड पोस्ट और 14 पंजीकृत पत्र थे। अब 92 लोगों के यहां जरूरी दस्तावेज नहीं पहुंच सकेंगे। इसमें किसकी नौकरी का पत्र है, किसमें आधार कार्ड, बीमा पॉलिसी या बैंक के डेबिट कार्ड-क्रेडिट कार्ड, इसका किसी को कोई अंदाजा नहीं है। प्रशिक्षण अवधि में थाने का प्रभार संभाल रहीं आईपीएस अधिकारी नीतू का कहना है कि यह किसी स्मैकिया की हरकत हो सकती है। मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई कराई जा रही है।
आजाद भारत में नमक की चोरी एक अद्भुत वारदात है। यह हुई है, नवाबगंज थाना क्षेत्र के मंसूराबाद में। मंगलवार की रात बगैर नंबर की गाड़ी से आए शातिरों ने दुकानों के बाहर रखा 15 बोरी नमक पार कर दिया। चोरी की यह घटना सीसीटीवी में भी कैद है। बावजूद इसके ऐसी चोरी से अचंभित पुलिस चोरों का कोई सुराग नहीं लगा सकी है।
आमतौर पर ऐसी धारणा है कि नमक की कोई चोरी नहीं करता है। इसी कारण नमक की बोरियां अधिकांश दुकानदार बाहर ही रखते हैं। लेकिन, यही बेफिक्री मंसूराबाद चौराहा स्थित दुकान के मालिक अर्जुन प्रसाद केसरवानी को भारी पड़ गई। वह रोज की तरह मंगलवार रात को भी दुकान बंदकर घर गए थे।
बुधवार सुबह दुकान खोली तो बाहर रखा 15 बोरी नमक गायब था। सीसीटीवी कैमरा खंगालने से पता चला कि रात करीब दो बजे एक बिना नंबर की गाड़ी आई और उसी में चोर सारा नमक लाद ले गए। इस मामले से अचंभित चौकी प्रभारी मंसूराबाद राकेश कुमार का कहना है कि पहली बार ऐसी घटना सुनी है। चोरों की तलाश की जा रही है।

घटिया निर्माण में लगे ठेकेदार, मनमानी पर उतारू

घटिया निर्माण में लगे ठेकेदार, मनमानी पर उतारू

विधुत फीडर कोखराज राला में घटिया सामग्री से ठेकेदार कर रहे निर्माण

तीसरे किस्म की ईट मानक से कम, सीमेंट काफी हल्का, दरवाजा लगा कर भवन खड़ा करने में लगे हैं ठेकेदार 

कौशाम्बी। सिराथू तहसील के कोखराज राला में विद्युत विभाग द्वारा निर्माण कराए जा रहे फीडर के ठेकेदार घटिया निर्माण में लगे हैं। लेकिन, विद्युत विभाग के अधिकारी चैन की बंसी बजा रहे हैं। भवन निर्माण में तीसरे दर्जे की ईट खुले आम प्रयोग हो रहा है। तीसरे दर्जे की ईंट से भवन बनाया जा रहा है। जो हल्के दबाव में टूट रहा है। मानक से कम सीमेंट का मिश्रण किया जा रहा है। बिल्डिंग में लगाए जाने वाले दरवाजे भी काफी हल्के हैं। जमकर कमीशन खोरी हो रही और ठेकेदार मनमानी पर उतारू है।
लेकिन विभागीय अधिकारियों ने अभी तक घटिया निर्माण पर रोक लगाने का प्रयास शुरू नहीं किया है।
ग्रामीणों का कहना है कि बिजली विभाग में निर्माण में घटिया क्वालिटी का सामान लगाकर ठेकेदार जर्जर भवन बनाने को तैयार है। लेकिन अभी तक विद्युत अधिकारियों ने घटिया निर्माण की जांच कर ठेकेदार पर मुकदमा दर्ज नहीं कराया है, जिससे विभागीय अधिकारियों की कमीशन खोरी से इनकार नहीं किया जा सकता। 
इलाके के लोगों ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का ध्यान आकृष्ट करते हुए घटिया निर्माण करने वाले ठेकेदार और उन्हें संरक्षण देने वाले विद्युत अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज कराकर घटिया निर्माण रोकने और उसे ध्वस्त कराकर गुणवत्तापूर्ण नया निर्माण कराए जाने की मांग की है।
विष्णु कुमार सोनी 

पाइपलाइन बिछाने में 'जल निगम' की लापरवाही

पाइपलाइन बिछाने में 'जल निगम' की लापरवाही 

गड्ढे छोड़कर भाग रहे है जल निगम के ठेकेदार

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों को नष्ट करने वाले इन ठेकेदारों पर आखिर अधिकारी कब मुकदमा दर्ज कराकर उनकी अवैध गतिविधियों पर रोक लगाएगे ?

कौशाम्बी। हर घर जल योजना के तहत गांव क्षेत्र में जल निगम के पाइपलाइन बिछाए जाने में लगे ठेकेदार पूरे जिले में बेलगाम है। अफसर का शिकंजा इन पर कसता नहीं दिख रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार के पंचायती विभाग द्वारा गांव-गांव में इंटरलॉकिंग सीसी रोड सड़क नाली आदि का निर्माण कराने में करोड़ों की रकम खर्च की जा रही है।
लेकिन हर घर जल योजना के तहत पाइपलाइन बिछाए जाने में सड़क खोदकर पाइप तो डाल दिया जाता है। लेकिन फिर सड़के समतल नहीं की जाती है। गड्ढे छोड़कर ठेकेदार भाग खड़े होते हैं।
जिले के दर्जनों गांव के लोगों ने अधिकारियों से शिकायत की लेकिन उसके बाद भी हर-हर जल योजना का पाइप डालने में लगे ठेकेदारों पर अंकुश लगाने में अधिकारी सफल नहीं हो सके हैं।
जिले के जिस क्षेत्र में देखो, जिधर देखो, उधर गड्ढे ही गड्ढे दिखाई देते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार की पूरी विकास योजना चौपट होती दिख रही है। आवा गमन के दौरान साइकिल सवार पैदल बाइक सवार गड्ढे में गिरकर चोटहिल हो रहे हैं। लेकिन उसके बाद भी विभागीय अधिकारी से लेकर ठेकेदार गंभीर नहीं है। मंझनपुर तहसील क्षेत्र के सेवक़ूपुर आदि गांव में पाइप लाइन डालने के नाम पर खोदे गए गड्ढे को समतल नहीं किया है, जिससे आए दिन लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों को नष्ट करने वाले इन ठेकेदारों पर आखिर अधिकारी कब मुकदमा दर्ज कराकर उनकी अवैध गतिविधियों पर रोक लगाएगे।
शशिभूषण 

पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति के साथ बातचीत की

पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति के साथ बातचीत की

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत 
नई दिल्ली/बीजिंग। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ अपनी बातचीत में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इस बात पर जोर दिया कि चीन-भारत संबंधों में सुधार साझा हितों को पूरा करता है और यह क्षेत्र एवं दुनिया में शांति और स्थिरता लाने में सहायक होगा।
चीन ने जोहानिसबर्ग में ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) शिखर सम्मेलन के इतर दोनों नेताओं के बीच हुई वार्ता का शुक्रवार को ब्योरा जारी कर यह जानकारी दी।
भारत के विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने बृहस्पतिवार को बताया था कि प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर बातचीत के दौरान शी चिनफिंग को पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर ‘‘अनसुलझे’’ मुद्दों के संबंध में भारत की चिंताओं से अवगत कराया। क्वात्रा के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने रेखांकित किया कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बनाए रखना और एलएसी का सम्मान भारत-चीन संबंधों को सामान्य बनाने के लिए आवश्यक है।
चीनी ब्योरे में दोनों नेताओं के बीच बुधवार को हुई बातचीत को ‘‘स्पष्ट और गहन’’ बताया गया है। इसमें कहा गया है, ‘‘23 अगस्त को (चीन के) राष्ट्रपति शी चिनफिंग और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के मौके पर वर्तमान चीन-भारत संबंधों और साझा हित के अन्य मामलों पर विचारों का स्पष्ट और गहन आदान-प्रदान किया।
’’ इसमें कहा गया, ‘‘राष्ट्रपति शी ने इस बात पर जोर दिया कि चीन-भारत संबंधों में सुधार दोनों देशों और लोगों के साझा हितों को पूरा करता है और क्षेत्र एवं दुनिया की शांति, स्थिरता और विकास के लिए भी सहायक है।
’’ नयी दिल्ली में चीनी दूतावास द्वारा जारी बयान में कहा गया, ‘‘दोनों पक्षों को अपने द्विपक्षीय संबंधों के समग्र हितों को ध्यान में रखना चाहिए और सीमा मुद्दे को उचित तरीके से सुलझाना चाहिए ताकि सीमा क्षेत्र में शांति की संयुक्त रूप से रक्षा की जा सके।
’’ जोहानिसबर्ग में बृहस्पतिवार को संवाददाता सम्मेलन में क्वात्रा ने कहा कि मोदी और शी अपने-अपने संबंधित अधिकारियों को सैनिकों की शीघ्र वापसी और तनाव कम करने के प्रयासों को तेज करने का निर्देश देने पर सहमत हुए।
क्वात्रा ने कहा कि मोदी ने जोहानिसबर्ग में ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन से इतर समूह के नेताओं के साथ बातचीत की। क्वात्रा ने कहा कि मोदी ने शिखर सम्मेलन से इतर शी से बातचीत की और संबंधों को सामान्य बनाने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा का सम्मान करने की महत्ता के साथ ही भारत की चिंताओं से उन्हें अवगत कराया।
विदेश सचिव ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर अन्य ब्रिक्स नेताओं से बातचीत की। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से बातचीत में प्रधानमंत्री ने भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के पश्चिमी सेक्टर में एलएसी पर अनसुलझे मुद्दों पर भारत की चिंताओं का उल्लेख किया।
’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति एवं सामंजस्य बनाए रखना तथा एलएसी का सम्मान करना भारत-चीन संबंधों को सामान्य बनाने के लिए आवश्यक हैं।’’ क्वात्रा ने कहा, ‘‘इस संबंध में दोनों नेता अपने संबंधित अधिकारियों को सैनिकों की शीघ्र वापसी और तनाव कम करने के प्रयासों को तेज करने का निर्देश देने पर सहमत हुए।’’ सरकार पूर्वी लद्दाख क्षेत्र को पश्चिमी सेक्टर कहती है।

जी20 समिट में शामिल नहीं होंगे राष्ट्रपति पुतिन

जी20 समिट में शामिल नहीं होंगे राष्ट्रपति पुतिन  

सुनील श्रीवास्तव  
नई दिल्ली। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन सितंबर महीने में भारत में होने जा रही जी20 समिट में शामिल नहीं होंगे। क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने पुतिन के भारत नहीं आने के पुष्टि की है। साथ ही उन्होंने कहा है कि येवगेनी प्रिगोझिन की विमान दुर्घटना में हुई मौत में क्रेमलिन की संलिप्तता के आरोप बिल्कुल झूठ हैं। पेसकोव का कहना है कि पश्चिमी देशों का कहना है कि प्रिगोझिन की मौत के पीछे क्रेमलिन का हाथ है, यह पूरी तरह से झूठ है।
23 अगस्त को रूस से खबर आई थी कि वैगनर आर्मी चीफ येवगेनी प्रिगोझिन का प्लेन क्रैश हो गया है। यह विमान दुर्घटना मॉस्को और सेंट पीटर्सबर्ग के बीच हुई थी। इस हादसे में प्रिगोझिन समेत 10 लोगों के मारे जाने की बात कही गई थी। प्रिगोझिन उसी वैगनर आर्मी के चीफ थे, जिसने जून में रूसी सेना के खिलाफ विद्रोह किया था। खास बात ये है कि कभी प्रिगोझिन को पुतिन के सबसे करीबी नेताओं में एक माना जाता था। येवगेनी प्रिगोझिन पुतिन के रसोइये के तौर पर जाने जाते थे।
वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि उन्हें उन रिपोर्टों पर आश्चर्य नहीं है, जिसमें वैगनर चीफ येवगेनी प्रिगोझिन की प्लेन क्रैश में मौत की बात कही जा रही है। उन्होंने इस घटना के पीछे राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को बताया है। जानकारों का कहना है कि यह घटना पुतिन के लिए दूसरों को चेतावनी देने का एक तरीका हो सकती है जो उन्हें धोखा दे सकते हैं। या रूसी सेना को अपना समर्थन दिखाने का एक तरीका हो सकता है। दरअसल, प्रिगोझिन ने जून में रूसी रक्षा मंत्री और सेना पर गंभीर आरोप लगाते हुए विद्रोह किया था।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-312, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शनिवार, अगस्त 26, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें  संदीप मिश्र  लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि बीएएलएल...