शुक्रवार, 21 अक्तूबर 2022

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को बुके देकर सम्मानित किया

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को बुके देकर सम्मानित किया


आज शामली जिला कांग्रेस कमेटी ने दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे से मुलाकात हुई

अकांशु उपाध्याय/भानु प्रताप उपाध्याय 

नई दिल्ली/शामली। दिल्ली में स्थित आवास पर जनपद शामली के कांग्रेसियों ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे,भंवर जितेन्द्र सिंह पूर्व ग्रह राज्य मंत्री हरियाणा सरकार से मुलाकात करते हुए जनपद की राजनीति पर चर्चा की। कांग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी व यूवा प्रदेश महासचिव अशवनी शर्मा सींगरा के नेतृत्व में जनपद शामली के कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को उनके आवास पर पहुंच कर बुके देकर सम्मानित किया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के द्वारा सबको सम्मान देने का आश्वासन दिया गया। कांग्रेस ओर धीरज देसाई राष्ट्रीय महासचिव ओबीसी से भी चर्चा की। जिलाध्यक्ष दीपक सैनी ने बताया कि कांग्रेस ने श्री मल्लिकार्जुन खड़गे को अध्यक्ष बनाकर इतिहास को बदलने का काम किया है। केवल कांग्रेस पार्टी मे ही अध्यक्ष चुनने की इस तरह की प्रक्रिया है, जिसमें पार्टी के कार्यकर्ताओं को अपनी पसंद का अध्यक्ष चुनने का अधिकार प्राप्त होता है। श्री मल्लिकार्जुन खड़गे जी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी और ज्यादा मजबूत होगी। कांग्रेस मे सभी जाति धर्म के लोगों का सम्मान सुरक्षित है। यूवा प्रदेश महासचिव अशवनी शर्मा सींगरा ने बताया कि श्री मल्लिकार्जुन खड़गे के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से विपक्षीयों के मूहँ बंद हो गए हैं।

भारतीय जनता पार्टी के नेता हमेशा आरोप लगाते थे कि कांग्रेस मे गांधी परिवार के अलावा अन्य किसी को अध्यक्ष नही बनाया जाता है। किंतु कांग्रेस की नेता आदरणीय सोनिया गांधी, श्री राहुल गांधी के त्याग की भावना के चलते आज भाजपा के नेताओं का मुंह बंद हो गया है। खडगे जी के रुप में कांग्रेस पार्टी ने दलित समाज को सम्मान देने का काम किया है। मुख्य रूप से कांग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी, यूवा प्रदेश महासचिव अशवनी शर्मा सींगरा, महेंद्र मगला वरिष्ठ कांग्रेस, गयुरअली कुडाना ब्लॉक अध्यक्ष शामली, विनोद सैन,  कपिल नागर  इन्टरनेशनल खिलाडी, तोमर रिजवान ,महाबीर सैनी, शैखर सैनी , आदि ने मुलाकात की।

जरूरतमंद बच्चों के साथ जन्मदिन मनाया: फाउंडेशन 

जरूरतमंद बच्चों के साथ जन्मदिन मनाया: फाउंडेशन 


जरूरतमंद बच्चों के साथ केक काटकर मनाया जन्मदिन

गोपीचंद/भानु प्रताप उपाध्याय 

बागपत। शुक्रवार को सारथी वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा बड़का रोड पर झुग्गी झोपड़ी में जाकर सारथी वेलफेयर फाउंडेशन के सदस्यों द्वारा प्रमुख सदस्य ध्रुव जैन का जन्मदिन, केक काटकर बच्चो को खिलाकर उन जरूरतमंद बच्चों के बीच जो इन चीजो से वंचित रह जाते है और बहुत ही उम्मीद करते हैं। इस अवसर पर वन्दना गुप्ता ने कहा कि यह जरूरतमंद बच्चे जिनको अपने जन्मदिवस याद ही नही  रहते, एक आस लगाए बैठे हैं, कोई आएगा और साथ में करेंगे मेरा उद्देश्य इस है कि जन्मदिन बनाएं, ना कि एक दूसरे के मुंह पर लगाकर, बल्कि उन बच्चों के साथ मनाएं।

जिनको इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है, जो बच्चे इस चीज को देख नहीं पाते, समझ नहीं पाते और केक बर्बाद ना करें। केक की बर्बादी अन की बर्बादी होती है तो कृपा सभी कुछ पल बच्चों के साथ भी बिताकर जन्मदिन बनाएं। ध्रुव जैन के जन्मदिन की सबको बहुत खुशी हुई। ध्रुव ने बच्चो को चिप्स बांटे, बच्चे बहुत खुश हुए। उनके चेहरे पर अलग ही खुशी दिख रही थी और सभी सारथी फाउंडेशन के सभी सदस्यों ने इस जन्मदिन पर बच्चों के साथ बहुत आनंद लिया।

मुजफ्फरनगर: 22 से 31 तक प्रोत्साहन योजना लागू

मुजफ्फरनगर: 22 से 31 तक प्रोत्साहन योजना लागू

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में दीपावली, गोवर्धन और भैयादूज पर बसों में यात्रियों की ज्यादा भीड़ होने की संभावना को देखते हुए परिवहन विभाग ने व्यवस्था बनाई है। चालक और परिचालकों से ज्यादा काम लेने के मद्देनजर 22 से 31 अक्तूबर तक प्रोत्साहन योजना लागू की है। वहीं यात्रियों की सुविधा के लिए 100 बसों के दो दो फेरे भी बढ़ाए हैं। दस बसें मुजफ्फरनगर से लखनऊ मार्ग पर लगाई हैं। वरिष्ठ केंद्र प्रभारी राज कुमार तोमर ने बताया कि जो चालक परिचालक ;नियमित एवं संविदाद्ध 22 से 31 अक्टूबर तक लगातार 10 दिन की ड्यूटी करते हुए 3000 किमी बस संचालित करेंगे उन्हें वेतन के अतिरिक्त 4000 का प्रोत्साहन दिया जाएगा। नौ दिन ड्यूटी कर 27 सौ किमी चलाने पर एक मुश्त 3150 का भुगतान किया जाएगा।

जो 3000 किमी से अतिरिक्त बस चलाएंगेए उन्हें अतिरिक्त किमी पर 55 पैसे प्रति किमी से अतिरिक्त भुगतान किया जाएगा। इसी प्रकार कार्यशाला के कर्मचारियों को 10 दिन ड्यूटी करने पर 1200 रुपये एवं नौ दिन ड्यूटी करने पर 1000 का भुगतान होगा। इसके अलावा उन्होंने बताया कि त्योहार के मद्देनजर प्रोत्साहन योजना लागू की गई है इस अवधि में विशेष परिस्थितियों को छोड़कर किसी भी चालक और परिचालक को साप्ताहिक अवकाश मान्य नहीं होगा।

डबल क्रू वाली (चालक) कोई भी बस 700 किमीए सिंगल क्रू की बस 350 किमी प्रतिदिन से कम नहीं चलेगी। रात में संचालित होने वाली डबल क्रू की किसी भी बस पर सिंगल चालक न भेजा जाए। सभी चालक एवं परिचालक मार्ग पर पड़ने वाले डिपो से ही डीजल लेंगे। निजी पंप से किसी भी दशा में डीजल नहीं लिया जाएगा। जो व्यवस्था बनाई है, उसमें नियमित व संविदा चालक परिचालकों को प्रतिदिन बसों का संचालन करने के लिए एक दूरी तय की गई हैं। कम से कम दूरी 360 किमी रखी गई हैं। सबसे ज्यादा दूरी मुजफ्फरनगर से पानीपत, काठगोदाम, पानीपत, बिजनौर जाने वाली बस की 1006 किमी रखी गई है।

'प्रदूषण' से आंखों को दीर्घकालिक क्षति का खतरा

'प्रदूषण' से आंखों को दीर्घकालिक क्षति का खतरा

सरस्वती उपाध्याय 

दिवाली रोशनी का त्योहार है, जिसे पूरे देश में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। देवी लक्ष्मी की पूजा, रोशनी, रंगोली, पटाखे और घर की साज-सज्जा इस त्योहार के आनंद का अभिन्न अंग हैं। लेकिन, ध्यान रहे इस उमंग के उत्सव में जरा-सी भी लापरवाही आपके लिए मुश्किलों को बढ़ाने वाली हो सकती है। त्योहारों के दौरान खान-पान, दिनचर्या और इसे मनाने के तरीकों को लेकर सभी लोगों को विशेष सावधानी बरतते रहने की सलाह दी जाती है। उत्साह के बीच हमेशा ध्यान रखें, स्वास्थ्य आपकी पहली प्राथमिकता है, इससे किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जाना चाहिए। दीपावली के इस त्योहार में मधुमेह के साथ, वजन और आंखों की सेहत को लेकर हमेशा सावधानी बरतते रहने की आवश्यकता होती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं, पटाखे जलाते समय अक्सर लोगों में आंखों की परेशानियां देखी जाती रही हैं। पटाखों को लेकर की गई जरा सी भी लापरवाही न सिर्फ आंखों में चोट का कारण बन सकती है, साथ ही पटाखों से निकलने वाले प्रदूषण के कारण भी आंखों को दीर्घकालिक क्षति का खतरा रहता है। विशेषकर बच्चों में इस तरह के जोखिम अधिक देखे जाते रहे हैं। आइए जानते हैं कि दीपावली के उत्सव में आंखों को स्वस्थ रखने और इससे संबंधित किसी भी प्रकार के जोखिम को कम करने के लिए किन बातों का विशेष ध्यान रखना आवश्यक है ?

नेत्र रोग विशेषज्ञ कहते हैं, दीपावली में पटाखों को लेकर बरती गई लापरवाही के कारण हाथ और उंगली के बाद प्रभावित होने वाला दूसरा सबसे आम अंग हैं- आंखे। पटाखों के धुंआ के कारण आंखों में जलन-चुभन के साथ लालिमा होने का खतरा होता है। इसके अलावा पटाखों से लगने वाली चोट आंखों में घाव, रक्त के थक्के बनने या पुतली को भी नुकसान पहुंचा सकती है। 

बोतल में जलाए जाने वाले रॉकेट लोगों के चेहरों पर उड़कर लग जाते हैं। जिसके कारण आंखों में चोट के सबसे ज्यादा मामले देखे जाते हैं। पटाखों के नजदीक से फटने से आंखों की रोशनी भी खराब हो सकती है। इस तरह की समस्याओं से बचे रहने के लिए आइए जानते हैं क्या करें और क्या नहीं ?

पटाखे जलाते समय सुरक्षा को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही नहीं की जानी चाहिए।
बच्चों द्वारा आतिशबाजी के समय बड़े लोगों को निगरानी रखनी चाहिए। पटाखे हमेशा शरीर से दूर रखकर ही जलाएं।
आतिशबाजी वाले क्षेत्र से सभी ज्वलनशील चीजों को हटा ले।
आतिशबाजी जलाने के लिए लंबी डंडी का प्रयोग करें। जिससे इससे होने वाले धमाके से हाथों या आंखों पर कोई असर न हो।
आंखों को सुरक्षित रखने के लिए आतिशबाजी करते समय सुरक्षात्मक चश्मे पहनें।
अनार जैसे पटाखों से आंखों और चेहरों पर चोट के सबसे ज्यादा मामले देखे जाते हैं इसे हमेशा दूर से ही जलाएं।
आंख में खुजली, जलन होने या चोट लगने पर तुरंत नेत्र रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें।
आंखों को सुरक्षित रखने और किसी भी तरह की समस्या से बचे रहने के लिए इन सावधानियों को अनदेखा न करें।
छोटे बच्चों को कभी भी आतिशबाजी न करने दें।
पटाखों को जलाकर फेंके नहीं इससे चोट का खतरा हो सकता है।
पटाखों को छूने के बाद उसी हाथ से आंखों को न छुएं, इसे रसायनों के आंखों में जाने का खतरा रहता है।
अगर कोई केमिकल आंखों में चला गया हो तो तुरंत आंखों और पलकों को पानी से धो लें।
आंखों में जलन या खुजली हो रही हो तो रगड़ें नहीं, तुरंत हाथों को साफ करके साफ पानी से आंखों को धोएं।

अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 82.91 के स्तर पर 'रुपया'

अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 82.91 के स्तर पर 'रुपया'

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय/कविता गर्ग 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी/मुंबई। विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर की मजबूती के चलते रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 12 पैसे टूटकर 82.91 के स्तर पर आ गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया, डॉलर के मुकाबले 82.89 पर खुला, और फिर फिसलकर 82.91 पर आ गया। इस तरह रुपया पिछले बंद भाव के मुकाबले 12 पैसे टूट गया।

शुरुआती सौदों में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 82.75 के स्तर तक गया। पिछले सत्र में, गुरूवार को अमेरिकी मुद्रा की तुलना में रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर से उबरकर 21 पैसे की मजबूती के साथ 82.79 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.11 प्रतिशत बढ़कर 113 पर आ गया। वैश्विक तेल सूचकांक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.37 प्रतिशत चढ़कर 92.72 डॉलर प्रति के भाव पर था। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रूप से 1,864.79 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 327 अंक चढ़ा, निफ्टी में भी तेजी

एशियाई बाजारों में मिलेजुले संकेतों और एक्सिस बैंक के शेयर के लाभ में जाने से घरेलू शेयर बाजारों के मानक सूचकांकों में शुक्रवार को शुरुआती कारोबार के दौरान तेजी का रुख देखा गया। विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) कई दिन बाद, बृहस्पतिवार को शुद्ध लिवाल बने इससे भी शेयर बाजार को बल मिला। बीएसई का तीस शेयरों वाला सूचकांक सेंसेक्स 327.9 अंक की मजबूती के साथ शुरुआती कारोबार में 59,530.80 अंक पर पहुंच गया। इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 89.65 अंक की बढ़त के साथ 17,653.60 अंक पर पहुंच गया।

एक्सिस बैंक का शेयर करीब छह फीसदी चढ़ गया। एक दिन पहले, बृहस्पतिवार को उसके वित्तीय परिणामों की घोषणा हुई थी। सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से टाइटन, हिंदुस्तान यूनिलीवर, भारतीय स्टेट बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट और महिंद्रा एंड महिंद्रा में शुरुआती कारोबार में तेजी रही। वहीं बजाज फाइनेंस, टेक महिंद्रा, इंडसइंड बैंक, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, डॉ. रेड्डीज, इंफोसिस और टाटा स्टील के शेयर शुरुआती नुकसान में रहे। एशिया के अन्य बाजारों में सियोल और शंघाई के सूचकांक बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे जबकि तोक्यो और हांगकांग में गिरावट दर्ज की गई।

अमेरिकी बाजार बृहस्पतिवार को नुकसान के साथ बंद हुए थे। पिछले कारोबारी सत्र में तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 95.71 अंक यानी 0.16 प्रतिशत की बढ़त के साथ 59,202.90 अंक पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 51.70 अंक यानी 0.30 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,563.95 अंक पर बंद हुआ।

अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.32 प्रतिशत बढ़कर 92.68 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया। इस बीच विदेशी संस्थागत निवेशकों ने भारतीय बाजारों में शुद्ध लिवाली की। उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 1,864.79 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।

भड़काऊ भाषण को लेकर 'एससी' का सख्त फैसला 

भड़काऊ भाषण को लेकर 'एससी' का सख्त फैसला 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने भड़काऊ भाषण को लेकर शुक्रवार को सख्त फैसला सुनाया है। कोर्ट ने सख्त लहजे में कहा कि 21वीं सदी में एक धर्मनिरपेक्ष देश के लिए इस तरह के भड़काऊ भाषण चौंकाने वाले हैं। अदालत ने कहा कि पुलिस अब हेट स्पीच मामले में एफआईआर दर्ज होने का इतंजार किए बिना कार्रवाई करे। इस मामले में किसी भी तरह की निष्क्रियता अदालत की अवमानना मानी जाएगी।

संयुक्त राष्ट के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस हाल ही में तीन दिनों की यात्रा पर भारत आए थे। इस दौरान उन्होंने भारत के मानवाधिकार रिकॉर्ड और बढ़ रहे हेट स्पीच के मामलों पर आलोचना की थी। इसके दो दिन बाद सुप्रीम कोर्ट ने देश में नफरत भरे भाषणों की घटनाओं पर चिंता जाहिर की है। सुप्रीम कोर्ट ने नफरत भरे भाषणों को ‘बहुत ही गंभीर मुद्दा’ करार देते हुए शुक्रवार को उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को सरकारों को निर्देश दिया कि वे ऐसे मामलों में शिकायत दर्ज होने का इंतजार किए बिना दोषियों के खिलाफ आपराधिक मामले तुरंत दर्ज करें।

शीर्ष अदालत ने चेतावनी दी कि प्रशासन की ओर से किसी भी तरह की देरी अदालत की अवमानना के दायरे में आएगी। न्यायमूर्ति के. एम. जोसेफ और न्यायमूर्ति हृषिकेश रॉय की पीठ ने शाहीन अब्दुल्ला नामक व्यक्ति द्वारा दायर याचिका पर दोनों राज्य सरकारों को नोटिस भी जारी किये। पीठ ने कहा कि राष्ट्र के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने को बनाए रखने के लिए नफरती भाषण देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए, भले ही वे किसी भी धर्म के हों।

पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने का फैसला

पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने का फैसला

अमित शर्मा 

चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने का शुक्रवार को सैद्धांतिक फैसला किया। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने यहां राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के बाद घोषणा की कि सरकार ने दीवाली का तोहफा देते हुए पुरानी पेंशन योजना को लागू करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने कैबिनेट बैठक में इस आशय का सैद्धांतिक फैसला लिया है।

इससे लाखों कर्मचारियों को फायदा होगा। हम पंजाब को पुरानी पेंशन योजना के तहत ला रहे हैं।’’ वित्त मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना में शामिल होने का विकल्प दिया जाएगा। मान ने एक महीने पहले कहा था कि उनकी सरकार सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल करने पर विचार कर रही है।

2004 में बंद कर दी गई पुरानी पेंशन योजना की बहाली राज्य सरकार के कर्मचारियों की प्रमुख मांगों में से एक रही है। पिछले साल अगस्त में, आम आदमी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता चीमा ने वादा किया था कि अगर पार्टी पंजाब में सत्ता में आयी तो पुरानी पेंशन व्यवस्था को बहाल किया जाएगा।

उसके जो मन में आता है, बोलता रहता है: नीतीश

उसके जो मन में आता है, बोलता रहता है: नीतीश 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। नीतीश कुमार के अभी भी भाजपा के संपर्क में होने के राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के दावे को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि ‘‘उसके जो मन में आता है, बोलता रहता है।’’ गौरतलब है कि राजनीतिक रणनीतिकार किशोर ने बृहस्पतिवार को दावा किया था कि कुमार ‘‘अभी भी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संपर्क में हैं और अगर परिस्थितियां बनती हैं तो वह फिर पार्टी के साथ गठबंधन कर सकते हैं।’’

किशोर के इस दावे पर पत्रकारों के सवाल के जवाब में नीतीश ने कहा, ‘‘मैं इस पर क्या कहूं। उसके जो मन में आता है, बोलता रहता है। वह सिर्फ पब्लिसिटी (प्रचार) के लिए ऐसे बयान देता है। सभी को पता है कि वह किस पार्टी के लिए काम करता रहता है।’’ गौरतलब है कि किशोर ने बुधवार को कहा था कि जदयू (जनता दल यूनाइटेड) के सांसद और राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश के माध्यम से नीतीश कुमार अभी भी भाजपा के संपर्क में बने हुए हैं।

वहीं, किशोर ने पश्चिम चंपारण में बुधवार को जनसभा में आरोप लगाया था, ‘‘भाजपा के साथ संबंध तोड़ने के बाद नीतीश कुमार को हरिवंश से पद छोड़ने को कहना चाहिए था। अगर वह पद पर बने रहने की जिद कर रहे थे तो उन्हें जदयू से निकाला जा सकता था। लेकिन नीतीश कुमार भविष्य के लिए यह विकल्प खुला रखे हुए हैं।’’ किशोर तीन सप्ताह लंबी ‘पदयात्रा’ के दौरान पश्चिम चंपारण में थे। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘वह जो भी बोलना चाहता है, बोलने दीजिए। हमारा उससे कोई मतलब नहीं है। वह मेरे साथ काम करता था। लेकिन मैंने जिन लोगों की इज्जत की है उन्होंने मेरे साथ कितना दुर्व्यवहार किया है, ये तो आपको पता ही है ना।’’

खुद को उच्च न्यायालय का न्यायाधीश बताकर बिहार के पुलिस प्रमुख (पुलिस महानिदेशक) को कॉल करके शराब व्यापार के मामले में आरोपी निलंबित आईपीएस अधिकारी से साथ नरमी बरतने को कहने वाले ठग के संबंध में सवाल करने पर नीतीश कुमार ने कहा, ‘‘पुलिस ने मामले में फरार चल रहे आईपीएस अधिकारी के अलावा अन्य सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। डीजीपी ने समय रहते मामले का खुलासा कर लिया था।’’

राज्य पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने ठग अभिषेक अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया था जिसके बाद उसे न्यायिक हिरासत में बृहस्पतिवार को जेल भेज दिया गया। अग्रवाल को धोखाधड़ी, दूसरे का वेश धरने, सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाने और साइबर अपराध के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बिहार में अति पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित सीटों के साथ निकाय चुनाव होने के संबंध में पटना उच्च न्यायालय के फैसले से जुड़े सवालों पर मुख्यमंत्री कुमार ने कहा, ‘‘बिहार देश का पहला राज्य है जिसने अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए सीटें आरक्षित की हैं। हम पटना उच्च न्यायालय के इस फैसले का स्वागत करते हैं और जल्दी ही (चुनावी) प्रक्रिया शुरू करेंगे।’’

23 को अयोध्या के 'दीपोत्सव' में शामिल होंगे पीएम 

23 को अयोध्या के 'दीपोत्सव' में शामिल होंगे पीएम 

उमर सिंह 

अयोध्या। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दीपावली की पूर्व संध्या यानी नरक चतुर्दशी पर 23 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश में अयोध्या के दीपोत्सव में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री शाम करीब पांच बजे भगवान श्री रामलला विराजमान के दर्शन और पूजा करेंगे तथा इसके बाद श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र स्थल का निरीक्षण करेंगे। पीएम ग्रैंड म्यूजिकल लेजर शो के साथ-साथ सरयू नदी के तट पर राम की पैड़ी में 3-डी होलोग्राफिक प्रोजेक्शन मैपिंग शो भी देखेंगे।

शाम लगभग 5:45 बजे प्रधानमंत्री प्रतीकात्मक भगवान श्रीराम का राज्याभिषेक करेंगे और शाम लगभग 6:30 बजे सरयू नदी के न्यू घाट पर आरती देखेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री द्वारा भव्य दीपोत्सव समारोह की शुरुआत की जाएगी। इस वर्ष दीपोत्सव का छठा संस्करण आयोजित किया जा रहा है और यह पहली बार है जब प्रधानमंत्री इस समारोह में व्यक्तिगत रूप से भाग लेंगे।

इस अवसर पर 15 लाख से अधिक दीये जलाए जाएंगे। दीपोत्सव के दौरान विभिन्न राज्यों के विभिन्न नृत्य रूपों के साथ पांच एनिमेटेड झांकियां और 11 रामलीला झांकियां भी प्रदर्शित की जायेंगी। श्री मोदी भव्य म्यूजिकल लेजर शो के साथ-साथ सरयू नदी के तट पर राम की पैड़ी में 3-डी होलोग्राफिक प्रोजेक्शन मैपिंग शो भी देखेंगे।

ताजमहल के 22 कमरों को खोलने की मांग, खारिज

ताजमहल के 22 कमरों को खोलने की मांग, खारिज 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल के 22 बंद कमरों को खोलने की मांग वाली याचिका को शुक्रवार को खारिज कर दिया है। बता दें कि इससे पहले इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने इस याचिका को खारिज किया था। साथ ही कहा था कि याचिकाकर्ता को जाकर इतिहास का अध्ययन करना चाहिए। वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए कहा कि हाई कोर्ट ने बिल्कुल सही फैसला किया था। याचिका जनहित की बजाय, प्रचार के लिए दाखिल की गई लगती है।

याचिकाकर्ता ने SC में दी थी चुनौती
मालूम हो कि इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच से याचिका खारिज होने के बाद याचिकाकर्ता के वकील रुद्र विक्रम सिंह ने कहा सुप्रीम कोर्ट में आदेश को चुनौती दी थी। अब सुप्रीम कोर्ट ने भी इसे खारिज कर दिया है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा था कि कमरे को खोलने की मांग के लिए किसी भी ऐतिहासिक शोध की जरूरत है, हम रिट याचिका पर विचार करने में सक्षम नहीं हैं, यह याचिका खारिज की जाती है।

तथ्य खोज समिति के गठन की मांग
जस्टिस एमआर शाह और जस्टिस एमएम सुंदरेश की पीठ ने याचिका को ‘पब्लिसिटी इंटरेस्ट लिटिगेशन’ करार देते हुए खारिज कर दिया। पीठ ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस आदेश में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया, जिसने मार्च 2022 में याचिकाकर्ता की याचिका को खारिज कर दिया था। वहीं, याचिकाकर्ता ने ताजमहल के वास्तविक इतिहास की स्टडी करने और विवाद को शांत करने और स्पष्ट करने के लिए एक तथ्य खोज समिति के गठन की मांग की।

दशकों से बंद हैं दरवाजे
गौरतलब है कि दायर याचिका में ताजमहल में मौजूद 22 कमरों को खोलने की मांग की गई है। इससे पता चल सके कि इनके अंदर किसी देवी देवता की मूर्ती या शिलालेख है या नहीं। ताजमहल के ये 22 कई दशकों से बंद हैं। इतिहासविदों के अनुसार कहा जाता है कि मुख्य मकबरे और चमेली फर्श के नीचे 22 कमरे हैं, जो अभी तक बंद है।

छठ पर्व के दौरान यमुना नदी प्रदूषित नहीं हो: सीएम 

छठ पर्व के दौरान यमुना नदी प्रदूषित नहीं हो: सीएम 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का आदेश दिया गया है कि छठ पर्व के दौरान यमुना नदी प्रदूषित नहीं हो। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘यमुना के घाटों पर पहले की तरह छठ पर्व मनाया जाएगा। सभी अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि यमुना प्रदूषित ना हो, यह सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रबंध किए जाएं।’

बता दें कि  छठ पर्व 30 और 31 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस पर्व में उगते और डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। यह पर्व दिल्ली में रह रहे पूर्वांचल के लोगों में काफी लोकप्रिय है।

सीएम योगी ने शहीद पुलिसकर्मियों को नमन किया

सीएम योगी ने शहीद पुलिसकर्मियों को नमन किया

संदीप मिश्र 

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर राजधानी में पुलिस लाइन के ग्राउंड पर शहीद पुलिसकर्मियों को नमन किया। पुलिस स्मृतिका पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश पुलिस को देश का सर्वाेत्तम पुलिस बल बताते हुए उनके लिए कुछ राहत भरी घोषणाओं का पिटारा भी खोल दिया। इस मौके पर पुलिस महानिदेशक तथा प्रमुख सचिव सचिव गृह भी मुख्यमंत्री के साथ रहे। 

शुक्रवार को पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर पुलिस लाइंस ग्राउंड पर आयोजित किए गए कार्यक्रम में पुलिस महानिदेशक देवेंद्र सिंह चौहान तथा प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद के साथ पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद हुए पुलिसकर्मियों को नमन करते हुए पुष्पांजलि अर्पित की। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पुलिस को देश का सर्वाेत्तम पुलिस बल बताते हुए पुलिसकर्मियों के मोटरसाइकिल भत्ते को बढ़ाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सभी पुलिसकर्मियों को अब प्रति माह 500 रूपये मोटर साइकिल भत्ता दिया जाया करेगा। 

पुलिस स्मृति दिवस पर मुख्यमंत्री ने पुलिसकर्मियों के 200 रूपये साइकिल भत्ते को बढ़ाकर 500 रूपये मोटरसाइकिल का भत्ता देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते वर्ष 7 बलिदानी पुलिसकर्मियों को नमन करने के साथ ही उनके परिवारजनों से भेंट की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद हुए पुलिसकर्मियों के परिवारजनों को सम्मानित भी किया।

खुद को मरा दिखाने वाला इनामी बदमाश लंगड़ा हुआ 

खुद को मरा दिखाने वाला इनामी बदमाश लंगड़ा हुआ 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। शिक्षक की हत्या करने के बाद फरार होते हुए खुद को मरा दिखाने वाला 50000 का इनामी बदमाश पुलिस के साथ हुए एनकाउंटर में लंगड़ा हो गया है। अरेस्ट किए गए बदमाश को फिलहाल इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हत्यारोपी के पास बाइक के अलावा एक तमंचा, दो जिंदा तथा दो खोखा कारतूस बरामद किए गए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल के निर्देश पर अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत पुलिस अधीक्षक देहात अतुल कुमार श्रीवास्तव के निकट पर्यवेक्षण तथा क्षेत्राधिकारी जानसठ शकील अहमद एवं प्रभारी निरीक्षक विश्वजीत सिंह की अगुवाई में जानसठ पुलिस की बदमाशों के साथ मुठभेड़ हो गई।

चेकिंग के दौरान हुए इस एनकाउंटर में बाइक पर सवार होकर आ रहा बदमाश पुलिस द्वारा रोके जाने पर फायरिंग करते हुए मौके से भाग लिया। पुलिस ने खुद का बचाव करते हुए खतौली-मीरापुर मार्ग पर बदमाश की घेराबंदी कर ली। पुलिस की ओर से मीरापुर दलपत पुलिया के समीप चलाई गई गोली से बदमाश लंगड़ा होकर जमीन पर गिर पड़ा। घायल हुए बदमाश के पास से तलाशी लिये जाने पर पुलिस ने एक बाइक एक तमंचा तथा दो जिंदा एवं दो खोखा कारतूस बरामद किए है। पूछताछ किए जाने पर बदमाश ने अपना नाम अजय उर्फ अजीत पुत्र किरण सिंह निवासी राज नगर एक्सटेंशन थाना बापूधाम गाजियाबाद हाल निवासी वंडर सिटी थाना कंकरखेड़ा मेरठ बताया। छानबीन किए जाने पर पता चला एनकाउंटर में लंगड़ा कर गिरफ्तार किया गया बदमाश एक शिक्षक की हत्या करने के बाद मौके से फरार हो गया था। बाद में तिकड़म भिडाते हुए बदमाश ने शातिराना तरीके से खुद को मरा हुआ दिखा दिया था। पुलिस ने घायल हुए बदमाश को फिलहाल इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है।

किशोरी का अपहरण कर बलात्कार, 10 साल कैद

किशोरी का अपहरण कर बलात्कार, 10 साल कैद

अतुल त्यागी 

हापुड़। सामान खरीदने के लिए बाजार गई किशोरी का अपहरण करने के बाद उसके साथ बलात्कार करने के आरोपी को दोषी पाते हुए अदालत द्वारा उसे 10 साल कैद की सजा सुनाई गई है। दोषी को अर्थदंड से दंडित करते हुए उसके ऊपर 10,000 का जुर्माना भी लगाया गया है जिला एवं सत्र न्यायालय की विशेष पॉक्सों अदालत की ओर से दिए गए एक बड़े फैसले के अंतर्गत तकरीबन 6 साल पहले हुए किशोरी के अपहरण और उसके साथ बलात्कार करने के मामले में आरोपी युवक को दोषी करार देते हुए अदालत द्वारा दोषी को 10 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई है।

दोषी को अर्थदंड से दंडित करते हुए अदालत द्वारा उसे 10000 रूपये के अर्थदंड से भी दंडित किया गया है। अभियोजन की कहानी के अनुसार हापुड कोतवाली क्षेत्र की एक कॉलोनी में रहने वाली 15 वर्षीय लड़की वर्ष 2016 की 7 दिसंबर को बाजार में सामान खरीदने के लिए गई थी। इसी दौरान कॉलोनी में रहने वाले योगेश कश्यप ने किशोरी का अपहरण कर लिया और सुनसान स्थान पर ले जाकर उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दे दिया।

रात के समय किसी तरह से किशोरी अपने घर पहुंची और परिजनों को अपने साथ हुए घटनाक्रम की जानकारी दी। पीड़िता के भाई की तहरीर पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही में जुट गई थी। उसी समय से यह मामला अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष पॉक्सो श्वेता दीक्षित की अदालत में चल रहा था। बृहस्पतिवार की देर रात शाम हुई इस मामले की सुनवाई में दोषी पाए गए योगेश कश्यप को दोषी करार देते हुए उसे 10 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई है।

देश की रक्षा के लिए दिया गया 'बलिदान' व्यर्थ नहीं 

देश की रक्षा के लिए दिया गया 'बलिदान' व्यर्थ नहीं 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आजादी और 75 साल की उम्र में पूरा होगा वीर शहीद पर खड़ी है। शुक्रवार को 'अमित' ने कहा कि यह बेहतर है। अमित शाह ने , “ आज भारत हर क्षेत्र में प्रगति कर रहे हैं और ताकत से 75. देश के सदस्य देश की शुरुआत के बाद देश के वीर का शहीद हुआ। " पुलिस को तैनात किया गया था। उन्होंने कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से उन सभी शहीद जवानों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि देश की रक्षा के लिए दिया गया जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा और देश इसी प्रकार विकास के रास्ते पर आगे बढ़ता जाएगा।

होम ने कहा कि यह स्थिति में सक्षम है। बदलने की स्थिति में बदलने के लिए, यह स्थिति को बदलने में मदद कर सकता है। उन्नत वातावरण का परिणाम है कि देश के अनुकूल वातावरण के साथ सफल हो गया है। अमित शाह ने कहा कि वैगत में अद्यतन परिवर्तन परिवर्तन है। पहली बार, जैसे-जैसे-अक्सर प्राकृतिक दृष्टि से व्यवस्थित होते हैं। लेकिन 8 में होम मिनिस्टर ने कहा कि खराब गुणवत्ता में 70% से अधिक एक सुंदरी का चिह्न है। खराब होने की स्थिति में भी यह खराब हो गया था।

अमित शाह ने कहा कि इंटर्नलटर सुरक्षा के लिए केंद्रीय गृह ने कई क्रियाएँ सक्रिय किए और उन️ उन️ कदम️ कदम️ उन्होंने कहा कि आज के देश के 'नैटस्' लगे हों तो बेहतर हों। यह कहा गया था, " मोदी सरकार सैनिक के लिए पूरी तरह से कटी हुई है। आवास, हाउसिंग सेटिंग रेश्यो और लाईट के रॉटर को मानव जीवन पर स्टाइल बदलने के लिए बेहतर तरीके से संपादित किया जाता है।

पीएम इमरान को 5 साल के लिए अयोग्य करार दिया

पीएम इमरान को 5 साल के लिए अयोग्य करार दिया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। विदेशी नेताओं से मिले उपहारों की बिक्री से प्राप्त हुई आई को छिपाने के मामले की सुनवाई करते हुए चुनाव आयोग द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को 5 साल के लिए अयोग्य करार दिया गया है। इलेक्शन कमीशन की ओर से सुनाए गए इस फैसले के बाद पीटीआई अध्यक्ष अब 5 साल तक संसद के सदस्य नहीं बन सकेंगे। इस फैसले के बाद चुनाव आयोग के दफ्तर के बाहर फायरिंग की घटना को भी अंजाम दिया गया है।

शुक्रवार को तोशाखाने के मामले में पाकिस्तान के चुनाव आयोग द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को विदेशी नेताओं से मिले उपहारों की बिक्री करके प्राप्त हुई आय को छिपाने के लिए 5 साल के लिए अयोग्य करार दिया गया है। सत्तारूढ़ गठबंधन सरकार के सांसदों की ओर से इसी साल के अगस्त महीने में चुनाव आयोग में 70 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ एक मामला दायर किया गया था।

जिसमें सांसदों ने प्रधानमंत्री को विदेशी लोगों से प्राप्त हुए उपहारों की बिक्री से प्राप्त हुई आय का खुलासा करने में विफल रहने पर पूर्व प्रधानमंत्री को अयोग्य घोषित करने की मांग की थी। 19 सितंबर को हुई सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग द्वारा अपना फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। शुक्रवार को मुख्य चुनाव आयुक्त सिकंदर सुल्तान राजा की अध्यक्षता वाली चुनाव आयोग की चार सदस्यीय पीठ ने सर्वसम्मति से फैसला सुनाया कि पूर्व प्रधानमंत्री भ्रष्ट आचरण में शामिल थे और उन्हें संसद के सदस्य के तौर पर अयोग्य घोषित किया जाता है।

मनोरंजन: फिल्म रामसेतु का गाना 'जय राम' रिलीज 

मनोरंजन: फिल्म रामसेतु का गाना 'जय राम' रिलीज 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'रामसेतु' का गाना 'जय राम' रिलीज कर दिया गया है। फिल्म रामसेतु में अक्षय कुमार के साथ जैकलीन फर्नांडीस और नुसरत भरुचा की भी अहम भूमिका है। यह फिल्म एक आर्कियोलॉजिस्ट के बारे में है जिसे यह जांचने की जिम्मेदारी दी गई है कि राम सेतु सच है या सिर्फ एक कल्पना।

रामायण की कहानी के अनुसार रामसेतु का निर्माण प्रभु श्रीराम की सेना ने भारत से श्रीलंका के बीच किया था और यह फिल्म उसी राम सेतु पुल को बचाने के मिशन के बारे में है। रामसेतु का गाना श्री राम रिलीज हो गया है। इस गाने में अक्षय कुमार, नुशरत भरुचा और जैकलिन फर्नांडीस नजर आ रहे है।

गाने में राम सेतु से जुड़ी कहानी भी दिखाई दे रही है। इस गाने में राम सेतु की खोज की जा रही है। इसके लिए विज्ञान का सहारा लिया जा रहा है। जय श्री राम गाने को विक्रम मोंट्रोसे ने गाया है। वहीं गाने को शेखर अस्तित्व ने लिखा है। राम सेतु का निर्देशन अभिषेक शर्मा ने किया है। यह फिल्म 25 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

सांप्रदायिक माहौल खराब करने की कोशिश: सिन्हा

सांप्रदायिक माहौल खराब करने की कोशिश: सिन्हा 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने शुक्रवार को कहा कि कुछ लोग घाटी में निर्दोष नागरिकों की हत्या को न्यायोचित ठहरा कर सांप्रदायिक माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने ऐसे लोगों के खिलाफ कानून के तहत सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी दी। श्रीनगर के बाहरी इलाके ज़ेवान में आयोजित पुलिस सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए सिन्हा ने कहा, ‘‘ हमें सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि कुछ तत्व सांप्रदायिक सौहार्द्र को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

हमें उन पर नजर रखने और ऐसे तत्वों से कड़ाई से निपटने की जरूरत है।’’ उप राज्यपाल ने कहा कि संविधान ने सभी नागरिकों को अभिव्यक्ति की आजादी दी है, लेकिन कुछ तत्व इस मौलिक अधिकार की आड़ में निर्दोष नागरिकों की हत्या को न्यायोचित ठहराने की कोशिश कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग निहित हितों के लिए निर्दोष लोगों की हत्या को न्यायोचित ठहरा रहे हैं। सभी को अभिव्यक्ति की आजादी है और यह संविधान में निहित है। लेकिन जो भी अपने शब्दों और कृत्यों से देश की एकता और अखंडता से खेलेगा उसे आने वाले दिनों में देश के कानून के तहत कार्रवाई का सामना करना होगा।’’ पाकिस्तान का नाम लिए बिना सिन्हा ने कहा कि पड़ोसी देश और उसके पिट्ठू पिछले तीन साल में जम्मू-कश्मीर में हुए सकारात्मक विकास को पचा नहीं पा रहे हैं।

सिन्हा ने कहा, ‘‘हमारा पड़ोसी जम्मू-कश्मीर में हो रहे विकास को पचा नहीं पा रहा है और इसलिए अब अपने पिट्ठुओं के जरिये निर्दोष नागरिकों को निशाना बना रहा है। कुछ तत्व हैं जो लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। जो भी जम्मू-कश्मीर की शांति और विकास को बाधित करने की कोशिश करेगा उसे अपने कायराना कृत्य की कीमत चुकानी होगी।’’ सिन्हा ने कहा कि पुलिस और सुरक्षा बलों की कोशिश की वजह से देश गत तीन दशकों से आतंकवाद और अलगाववाद का सफलतापूर्वक सामना कर रहा है। उन्होंने कहा,‘‘ हमारे साहस और वीरता की वजह से हम सफलतापूर्वक पड़ोसी देश और देश में मौजूद कुछ तत्वों के आतंकवाद और अलगाववाद फैलाने के मंसूबों को नाकाम कर रहे हैं।’’ सिन्हा ने कहा, ‘‘जवानों के बलिदान ने जम्मू-कश्मीर की विकास गतिविधियों में अहम भूमिका निभाई है जिसे यहां के लोग गत तीन साल से देख रहे हैं।

अगर केंद्र शासित प्रदेश के किसी क्षेत्र में पर्यटन बढ़ा है तो यह केवल पर्यटन विभाग की कोशिश का नतीजा नहीं है बल्कि सुरक्षा के माहौल की वजह से है जिसे हमारे जवानों ने बनाया ताकि पूरे देश और दुनिया के लोग यहां आने पर सुरक्षित महसूस कर सकें।’’ सिन्हा ने कहा कि भारत, दुनिया का ‘‘ सबसे शक्तिशाली लोकतांत्रिक समाज’’ है, जो सभी नागरिकों को विकास का अवसर प्रदान करता है।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई हमारे बीच असंतोष का बीज बोने की कोशिश करता है तो यह समाज की जिम्मेदारी है कि वह ऐसे तत्वों का सामाजिक बहिष्कार करे। हाल में हुई हत्याओं के खिलाफ जिस तरह से लोगों ने प्रदर्शन किया, अपना आक्रोश दिखाया, उसने मुझे उम्मीद दी है कि आतंकवाद के घाटी में गिने चुने दिन बचे हैं।’’ सिन्हा ने कहा, ‘‘हमें वचन लेना चाहिए कि हम आतंकवाद के ताबूत में आखिल कील ठोकेंगे और यह बलिदान देने वाले जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।’’ उप राज्यपाल ने इसके बाद पुलिस शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

'भाजपा' की शाखा के नेतागण झूठा आरोप लगा रहे हैं

'भाजपा' की शाखा के नेतागण झूठा आरोप लगा रहे हैं

अगरतला। त्रिपुरा के शाही वंशज एवं स्वायत्त जिला परिषद (एडीसी) के सत्तारूढ़ ‘तिपरा मोथा’ के अध्यक्ष प्रद्योत किशोर देववर्मन ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि लोकसभा सांसद और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जनजातीय शाखा के नेतागण उनके खिलाफ झूठा आरोप लगा रहे हैं और अपमानजनक टिप्पणियां कर रहे हैं। श्री देववर्मन ने कहा कि भाजपा दुर्भावनावश पिछले कुछ दिनों से एडीसी प्रशासन के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही है, भ्रष्टाचार का अभियान चला रही है।

एडीसी के उप क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से भाजपा जनजाति मोर्चा ने 19 अक्टूबर को राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपा है, जो कि भ्रामक और निराधार है। भाजपा के आरोपों का खंडन करते हुए उन्होंने कहा कि तिपरा मोथा केवल एक वर्ष पहले एडीसी की सत्ता में आई है जबकि कैग की टिप्पणी 2014 से चल रही प्रथाओं के लिए है, उस समय कम्युनिस्ट का शासन था और उसके बाद दो वर्षों तक भाजपा का शासन रहा।

इसी प्रकार, त्रिपुरा सरकार द्वारा दिए गए धन का उपयोग नहीं करने पर उन्होंने कहा कि राज्य ने वादा के अनुसार एडीसी को कोई फंड जारी नहीं किया इसलिए आरोप निराधार है। उन्होंने आरोप लगाया,“ राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा के कार्यकर्ताओं ने व्यक्तिगत रूप से मेरे खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए और मेरी मौत की इच्छा सहित अपमानजनक टिप्पणियां की और पुतले भी फूंके।जनजातियों में अशांति उत्पन्न करने के लिए तिपरासा के लोग चालाकी से तिपरासा के खिलाफ लामबंद हुए, लेकिन मुझे पता है कि इसके संरक्षक और वास्तुकार पर्दे के पीछे हैं।” उन्होंने दावा किया कि भाजपा उनसे नाखुश है क्योंकि मोथा अपनी ग्रेटर तिपरालैंड और राज्य के मूल निवासियों की समस्याओं का संवैधानिक समाधान जैसी मुख्य मांगों पर अडिग रही है।

उन्होंने कहा, “भाजपा लंबे समय तक मुझे सत्ता, धन और खूबसूरत सपनों के माध्यम से लुभाने की कोशिश करती रही, जैसा कि आमतौर पर वह अन्य क्षेत्रीय पार्टियों के साथ करती है लेकिन मैंने उन्हें अस्वीकार कर दिया। इसलिए, उनके पास मुझे आहत करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा है।” उन्होंने कहा, “मुझे कोई समस्या नहीं है अगर मेरी मौत से त्रिपुरा के स्वदेशी लोगों, प्रगति और समृद्धि का स्थायी समाधान होता है। लेकिन मैं अपनी प्रतिबद्धता से समझौता नहीं करूंगा।

आईपीएफटी को 2018 के चुनावों में भाजपा ने धोखा दिया और त्रिपुरा के लोगों को सत्ता परिवर्तन करने के लिए प्रेरित किया। जनजातीय मुद्दों का समाधान करने के लिए एक उच्चाधिकार समिति का भी गठन हुआ लेकिन दुर्भाग्यवश साढ़े चार वर्षों में कुछ नहीं हुआ।हिंसा और घृणा की संस्कृति ने समाज में सौहार्द को नष्ट किया है और पिछले 75 वर्षों में हमें गुलामों की तरह जीने पर मजबूर किया है, एक दिन ऐसा आएगा जब मैं आपके बीच नहीं रहूंगा और तब आपको मेरे त्याग और बलिदान का एहसास होगा।”

मैंने क्या पाप किया, जो मेरी सरकार गिरा दी

मैंने क्या पाप किया, जो मेरी सरकार गिरा दी

मनोज सिंह ठाकुर

छतरपुर। मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से छतरपुर के बड़ा मलहरा में एक जनसभा के दौरान जब मध्य प्रदेश सरकार के शराबबंदी को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि जो सरकार खुद नशे में है, मैं उनके बारे में क्या कहूं। उन्होंने कहा कि मैंने क्या पाप किया था, जो शिवराज सिंह चौहान ने मेरी सरकार गिरा दी।

उन्होंने दावा किया कि राज्य में एक साल बाद कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी और सरकार बनते ही राज्य के किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा एवं सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल की जाएगी। बता दें कि मध्य प्रदेश में नवंबर 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं। जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा, ‘हम किसानों के हित में काम करते हैं। जब मैं (18 दिसंबर 2018 से 23 मार्च 2020 में) मुख्यमंत्री था तो मैंने अधिकारियों से स्पष्ट कहा था कि हमें कागजों को नहीं भरना है किसानों का पेट भरना है।’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस में तब किसानों की कर्ज माफी शुरू की थी उसे शिवराज सिंह चौहान की वर्तमान सरकार ने बंद कर दिया। 2018 में कांग्रेस ने किसानों के कर्ज माफ करने के चुनावी वादे पर 15 साल के अंतराल के बाद राज्य में सत्ता में वापसी की थी। हालांकि, कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार तत्कालीन कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के वफादारों के विद्रोह के कारण 15 महीने बाद ही मार्च 2020 में गिर गई थी, जो बाद में अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए।

कमलनाथ ने कहा, ‘एक साल बाद कांग्रेस की सरकार बनते ही किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा।’ उन्होंने कहा कि राज्य के सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए कांग्रेस पार्टी प्रतिबद्ध है। कमलनाथ ने कहा कि जो अधिकारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि एक साल बाद जब कांग्रेस की सरकार बनेगी तो जनता हर बात का हिसाब लेगी।

उन्होंने कहा, ‘मैं गर्व से कहता हूं कि मैं हिंदू हूं, लेकिन बेवकूफ नहीं हूं। भाजपा धर्म और जाति के नाम पर लड़ाने की राजनीति करती है, हम समाज को जोड़ने की राजनीति करते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘भाजपा ने 18 साल के कार्यकाल में राज्य को किसान आत्महत्या में नंबर वन बना दिया है, महिलाओं पर अत्याचार में नंबर वन बना दिया है और बेरोजगारी में नंबर वन बना दिया है। भाजपा अपने 18 साल के कामकाज का हिसाब जनता को दे।’

कमलनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान से सबसे बड़ा सवाल मैं यह पूछना चाहता हूं कि राज्य के लाखों बेरोजगारों को रोजगार कैसे मिलेगा? उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नौजवानों से वादा किया था कि वे हर साल दो करोड़ रोजगार देंगे। उन्होंने कहा था कि किसानों की आमदनी दोगुनी करेंगे। लेकिन इस विषय में सरकार ने कुछ नहीं किया। इसलिए ये राष्ट्रवाद की राजनीति करते हैं, चीन और पाकिस्तान की बात करते हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘वे (भाजपा) कांग्रेस पार्टी को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने की कोशिश ना करें, कांग्रेस सच्चे राष्ट्रवादियों की पार्टी है। भाजपा वाले बता दें कि इनके परिवार में कौन स्वतंत्रता संग्राम सेनानी था। कांग्रेस में स्वतंत्रता सेनानियों की लंबी परंपरा है।’ उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान सिर्फ झूठ, घोषणा, कलाकारी और ध्यान मोड़ने की राजनीति कर रहे हैं।

कमलनाथ ने कहा कि भारत की संस्कृति लोगों को जोड़ने की है। हम दिल जोड़ते हैं, रिश्ते जोड़ते हैं, संबंध जोड़ते हैं। कांग्रेस की संस्कृति लोगों को जोड़ने की संस्कृति है। आज इस संस्कृति पर हमला हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज ऐसा कोई देश नहीं है जहां इतनी भाषाएं हों, जहां इतने धर्म हों, जहां इतने त्योहार हों। हम दक्षिण की ओर जाते हैं तो हमारी धोती भी लुंगी बन जाती है। माताओं बहनों का साड़ी पहनने का तरीका बदल जाता है। भारत की सांस्कृतिक विविधता की यही पहचान है।

कमलनाथ ने कहा, ‘जब मैं मुख्यमंत्री बना तो मैंने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया, 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली दी, युवाओं को रोजगार देने की पहल की। आज का नौजवान ठेका और कमीशन नहीं चाहता वह रोजगार चाहता है। मुख्यमंत्री चौहान नौजवानों को बताएं कि वह उन्हें रोजगार क्यों नहीं दे रहे हैं?’ हालांकि, कमलनाथ के वादों पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘कमलनाथ पिछली बार सरकार चलाने में असमर्थ थे और उन्हें लोगों को बताना चाहिए कि जब वह पार्टी के नेता थे तो उनकी पार्टी के नेताओं ने उन्हें कैसे छोड़ दिया।’

उन्होंने कहा, ‘जो बनी बनाई सरकार नहीं चला पाये, वे आगे कहां से सरकार बनाएंगे। कमलनाथ के 15 महीने के शासन को जनता ने झेला है। वो भ्रष्टाचार का तांडव, वो भी लिखित में झूठ कर्जा माफी का, बेरोजगारी का। इसलिए इन बातों में अब कोई दम बचा नहीं है।’ मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में कांग्रेस पूरी तरह बिखर चुकी है। राज्य की जनता को धोखा देने वाली कांग्रेस के असली चरित्र को लोग अच्छी तरह समझ चुके हैं।

पीएम ने केदारनाथ-बद्रीनाथ धाम के दर्शन किए

पीएम ने केदारनाथ-बद्रीनाथ धाम के दर्शन किए

पंकज कपूर 

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के दर्शन किए। केदारनाथ में वे गर्भगृह में करीब 20 मिनट तक पूजा करते रहे। प्रधानमंत्री ने आदिगुरु शंकराचार्य के समाधि स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बद्रीनाथ के माणा गांव में सरस मेला का अवलोकन किया और स्थानीय शिल्पकारों एवं उद्यमियों से बातचीत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ में दर्शन के वक्त ‘चोला डोरा’ नामक पारंपरिक पोशाक पहनी जिसे चंबा (हिमाचल प्रदेश) की महिलाओं ने हाथ से बनाया है। यह पोशाक प्रधानमंत्री को उनकी हालिया हिमाचल यात्रा के दौरान उपहार स्वरूप मिली थी। बकौल रिपोर्ट्स, प्रधानमंत्री ने उन महिलाओं से वादा किया था कि वह ठंडे स्थान पर जाने पर यह पोशाक पहनेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गौरीकुंड को केदारनाथ और गोविंदघाट को हेमकुंड साहिब से जोड़ने वाली दो नई रोपवे परियोजनाओं सहित 3400 करोड़ रुपये से अधिक की कनेक्टिविटी परियोजनाओं की आधारशिला रखी। उन्होंने 12.4 किलोमीटर लंबे हेमकुंड रोपवे का शिलान्यास किया जो गोविंदघाट को हेमकुंड साहिब से जोड़ेगा। पीएम मोदी ने करीब 1,000 करोड़ रुपए की सड़क चौड़ीकरण परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया।

क्या बोले सीएम धामी ?
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि हम उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ बनाने के जिस विकल्प रहित संकल्प को लेकर आगे बढ़ रहे हैं वो आपके (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) मार्गदर्शन में अवश्य होगा। गौरीकुंड को केदारनाथ और गोविंदघाट को हेमकुंड साहिब से जोड़ने वाली दो नई रोपवे परियोजनाओं सहित 3400 करोड़ रुपये से अधिक की कनेक्टिविटी परियोजनाओं के लिए मैं पीएम मोदी के प्रति आभार व्यक्त करता हूं।

क्या बोले पीएम मोदी ?
पीएम मोदी ने कहा कि आज बाबा केदार और बद्री विशाल जी के दर्शन करके मन प्रसन्न हो गया, जीवन धन्य हो गया। माणा गांव, भारत के अंतिम गांव के रूप में जाना जाता है। लेकिन मेरे लिए सीमा पर बसा हर गांव, देश का पहला गांव है। 21वीं सदी के विकसित भारत के निर्माण के दो प्रमुख स्तंभ हैं। पहला- अपनी विरासत पर गर्व, दूसरा- विकास के लिए हर संभव प्रयास। देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर मैंने लाल किले पर एक आह्वान किया, ये आह्वान हैं गुलामी की मानसिकता से पूरी तरह मुक्ति का। क्योंकि आजादी के इतने वर्षों बाद भी, हमारे देश को गुलामी की मानसिकता ने ऐसा जकड़ा हुआ है कि प्रगति का कुछ कार्य कुछ लोगों को अपराध की तरह लगता है।

पीएम मोदी ने कहा कि विदेशों में वहां की संस्कृति से जुड़े स्थानों की ये लोग तारीफ करते नहीं थकते थे, लेकिन भारत में इस प्रकार के काम को हेय दृष्टि से देखा जाता था। आस्था के ये केंद्र सिर्फ एक ढांचा नहीं, बल्कि हमारे लिए प्राणवायु की तरह हैं। वो हमारे लिए ऐसे शक्तिपुंज हैं, जो कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी हमें जीवंत बनाए रखते हैं। विकास के इन सभी प्रोजेक्ट्स के लिए, उत्तराखंड को और देश-विदेश के हर श्रद्धालु को मैं बहुत-बहुत बधाई देता हूं। गुरुओं की कृपा बनी रहे, बाबा केदार की कृपा बनी रहे, बद्री विशाल की कृपा बनी रहे, हमारे सभी श्रमिक साथियों को भी शक्ति मिले, यही प्रार्थना करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि अयोध्या में इतना भव्य राममंदिर बन रहा है, गुजरात के पावागढ़ में मां कालिका के मंदिर से लेकर विन्ध्याचल देवी के कॉरिडोर तक, भारत अपने सांस्कृतिक उत्थान का आह्वान कर रहा है। पहले जिन इलाकों को देश की सीमाओं का अंत मानकर नजरअंदाज किया जाता था,हमने वहां से समृद्धि का आरंभ मानकर काम शुरू किया।

पीएम मोदी ने कहा कि पहले देश का आखिरी गांव जानकर जिसकी उपेक्षा की जाती थी, हमने वहां के लोगों की अपेक्षाओं पर फोकस किया। पहले देश के विकास में जिनके योगदान को महत्व नहीं दिया गया, हमने उन्हीं को साथ लेकर प्रगति के महान लक्ष्यों की ओर बढ़ने का संकल्प लिया। एक संवेदनशील सरकार, गरीबों का दुख-दर्द समझने वाली सरकार कैसे काम करती है, आज देश के हर कोने में लोग अनुभव कर रहे हैं। कोराना काल में जब वैक्सीन लगवाने की बारी आई, अगर पहले की सरकारें होती, तो शायद अभी तक वैक्सीन यहां तक नहीं आता। हिमालय की हरी भरी पहाड़ियों पर रेल गाड़ी की आवाज उत्तराखंड के विकास की नई गाथा लिखेगी।

पीएम मोदी ने कहा कि देहरादून एयरपोर्ट भी अब नए अवतार में सेवा दे रहा है। आधुनिक कनेक्टिविटी राष्ट्ररक्षा की भी गारंटी होती है। इसलिए बीते 8 सालों से हम इस दिशा में एक के बाद एक कदम उठा रहे हैं। भारतमाला के तहत देश के सीमावर्ती क्षेत्रों को बेहतरीन और चौड़े हाइवे से जोड़ा जा रहा है। सागरमाला से अपने सागर तटों की कनेक्टिविटी को सशक्त किया जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि हिमालय की हरी भरी पहाड़ियों पर रेल गाड़ी की आवाज उत्तराखंड के विकास की नई गाथा लिखेगी। देहरादून एयरपोर्ट भी अब नए अवतार में सेवा दे रहा है। भारतमाला के तहत देश के सीमावर्ती क्षेत्रों को बेहतरीन और चौड़े हाइवे से जोड़ा जा रहा है। सागरमाला से अपने सागर तटों की कनेक्टिविटी को सशक्त किया जा रहा है। पहले जिन इलाकों को देश की सीमाओं का अंत मानकर नजरअंदाज किया जाता था, हमने वहां से समृद्धि का आरंभ मानकर काम शुरू किया। पहले देश का आखिरी गांव जानकर जिसकी उपेक्षा की जाती थी, हमने वहां के लोगों की अपेक्षाओं पर फोकस किया

मोदी की अपील
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के माणा गांव में कहा, मैं देश के सभी पर्यटकों से अपील करता हूं कि अपनी यात्रा के बजट के कम-से-कम 5% से लोकल उत्पाद ज़रूर खरीदें। पीएम ने कहा, अगर सभी यात्री स्थानीय लोगों का उत्पाद खरीदेंगे तो रोज़गार बढ़ेगा।” इससे पहले, पीएम मोदी ने बदरीनाथ धाम में पूजा की थी।

ये दशक उत्तराखंड का दशक होगा
पीएम मोदी ने कहा कि बाबा के सान्निध्य में उनके आदेश से उनकी कृपा से पिछली बार जब आया था तो कुछ शब्द निकले थे। वो मेरे नहीं थे। कैसे आए, क्यों आए, किसने दिए पता नहीं। यूं ही मुंह से निकल गया था कि ये दशक उत्तराखंड का दशक होगा। पक्का विश्वास है कि इन शब्दों पर बाबा, बद्री विशाल और मां गंगा के आशीर्वाद की शक्ति बनी रहेगी।

आस्था घरों के विकास पर नफरत का भाव रहा
पीएम मोदी ने कहा कि मैंने लाल किले से कहा था कि गुलामी की मानसिकता से पूरी तरह मुक्त हों। इसकी जरूरत इसलिए पड़ी, क्योंकि हमारे देश को इस मानसिकता ने ऐसा जकड़ा है कि प्रगति का हर कार्य कुछ लोगों को अपराध की तरह लगता है। लंबे समय तक हमारे यहां आस्था घरों के विकास को लेकर नफरत का भाव रहा। विदेशों में ऐसे काम की तारीफ करते नहीं थकते थे। अपनी संस्कृति को लेकर उनमें हीन भावना, आस्था पर अविश्वास और विरासत से विद्वेश वजह थी।

रामनगरी में मोदी की दिवाली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली की पूर्व संध्या पर रविवार को अयोध्या में रहेंगे। पीएमओ के मुताबिक, प्रधानमंत्री भगवान श्री रामलला विराजमान की पूजा-अर्चना करने के बाद तीर्थ क्षेत्र में निर्माण कार्यों का मुआयना करेंगे। अयोध्या में छठी बार दीपोत्सव समारोह का आयोजन होने जा रहा है जिसमें 15 लाख+ दीये जलाए जाएंगे। प्रधानमंत्री पहली बार इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-377, (वर्ष-05)

2. शनिवार, अक्टूबर 22, 2022

3. शक-1944, कार्तिक, कृष्ण-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:18, सूर्यास्त: 06:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...