शनिवार, 20 नवंबर 2021

फिल्म स्क्रीनिंग का तीसरी बार आयोजन किया

फिल्म स्क्रीनिंग का तीसरी बार आयोजन किया

श्रीराम मौर्य          शिमला। सातवें इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल की दूसरीं स्क्रीनिंग शिमला के आदर्श कंडा जेल में होगी। यहां कैदियों को चुनिंदा अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर की पुरस्कृत फिल्में दिखाई जाएंगी। ये जानकारी देते हुए इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल ऑफ शिमला के फेस्टिवल डायरेक्टर पुष्प राज ठाकुर ने बताया कि कंडा जेल में फिल्म स्क्रीनिंग का आयोजन तीसरी बार किया जा रहा है। बता दें कि 26 से 28 नवंबर तीन दिनों तक शिमला के ऐतिहासिक गेयटी थिएटर में इस अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। इसी के साथ साथ कंडा जेल में भी फेस्टिवल की स्क्रीनिंग साथ साथ चलती रहेगी।

पुष्प राज ठाकुर ने कहा कि महात्मा गांधी ने कहा था अपराध से नफरत करो अपराधी से नहीं। इसी को आधार मानते हुए उनकी संस्था हिमालयन वेलोसिटी जेल सुधारों पर आधारित एक फ़िल्म का निर्माण कर चुकी है। गौरतलब है कि हिमाचल की जेलों में कैदियों के मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के लिए कई तरह की गतिविधियों का आयोजन किया जाता रहा है। कंडा जेल को आदर्श जेल का दर्जा प्राप्त है और यहां करवाई जा रही गतिविधियां में कैदियों को उनकी शिक्षा व योग्यता के अनुरूप काम पर लगाया जाता हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ शिमला के फेस्टिवल डायरेक्टर पुष्प राज ठाकुर ने कहा कि कंडा जेल में कैदियों के लिए पहले भी कई तरह के मनोरंजन परक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाते रहे हैं।
उन्होंने कहा कि जेल में समय बिताने के बाद बाहर निकलकर कैदी एक अच्छा इंसान बने इसके लिए उसे जेल में भी सकारात्मक माहौल मिलना चाहिए। जेल के तनाव से बाहर आने के लिए अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल में दिखाई जाने वाली अवार्ड विनिंग फिल्में एक बेहतर विकल्प साबित हो सकती हैं।

शालेय खेल प्रतियोगिता का शानदार आगाज

दुष्यंत टीकम          रायपुर। राज्य स्तरीय शालेय खेल प्रतियोगिता का शनिवार से शानदार आगाज हो गया। इसी के साथ बिलासपुर के खेल प्रेमियों को एक बार फिर स्कूली बच्चों के शानदार खेल का नजारा देखने का मौका मिल रहा है। पूरे राज्य के कोने-कोने से आए बच्चे भी जहां व्यवस्था से संतुष्ट नजर आए। वहीं खासतौर पर बहतराई के हाकी स्टेडियम में एस्ट्रोटर्फ पर खेलकर स्कूली बच्चों की खुशी का ठिकाना नहीं था और उन्होंने इसे लेकर खुशी जाहिर की कि उन्हें पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्तर के ग्राउंड में खेलने का मौका मिला।

बच्चों ने कहा कि वे ऐसे ग्राउंड में खेलने के लिए बार-बार बिलासपुर आना चाहेंगे। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में पांचों संभाग से खिलाड़ी पहुंचे हैं और नेहरू हाकी, फ्लोरबाल, शूटबाल, टारगेट बाल और चवइक्वांडो में शिरकत कर रहे हैं।

हिमाचल: घाटी के पंचायत भवन का उद्घाटन 

श्रीराम मौर्य         केलांग। अपने चार दिवसीय दौरे के दौरान केबिनेट मंत्री डॉ. मारकंडा ने मयाड घाटी के तिंगरेट में 7 लाख 59 हजार रूपये की लागत से निर्मित पंचायत भवन का उद्घाटन कर जनता को समर्पित किया। पंचायत भवन को पूरी तरह बुडन फिनिशिंग की गई है। इस पंचायत भवन में कार्यालय के साथ पंचायत सचिव के लिए आवास की व्यवस्था की गई है। पंचायत भवन के उदघाटन मौके पर डा मारकंडा ने कहा कि भाजपा कार्यकाल के दौरान लाहौल स्पीति में रिकार्ड विकास कार्य हुए हैं। उन्होंने कहा कि मयाड वैली में ही उनके कार्यकाल में 5 बडे पुलों का निर्माण कार्य हुआ है। कृषि क्षेत्रों में पिछले तीन साल के भीतर 1688 पावर टिलर आवंटित किए गए हैं।

मारकंडा ने कहा कि 1998 में जब वह पहली बार विधायक बने थे उस दौर लाहौल स्पीति का बजट 15 करोड रूपये था जो कि अब बढ 75 करोड रूपये तक पहुंच गया है। कहा कि कांग्रेस कार्यकाल के दौरा हर लाहौल स्पीति के बजट में कटौती की गई। वहीं कांग्रेस सरकारों ने पावर टिलर समेत कृषि उपकरणों पर सब्सीडी केवल 1 हेक्टियर से अधिक कृषि भूमि वाले किसानों को ही दी जा रही थी। सता में आने के बाद उन्होंने इन शर्तों को हटा कर सभी किसानों के लिए सब्सीडी का प्रावधान किया। इस दौरान एसडीएम उदयपुर निशांत तोमर, टीएसी मेंबर शमशेर झेग, तिंगरेट पंचायत प्रधान अनिता, चिमरेट प्रधान प्रेमदार, उपप्रधान तिंगरेट रविन्द्र, अधीशाषी अभियंता लोनिवि बीसी नेगी, एडीओ बिजली बोर्ड प्रेम ठाकुर, एसडीओ जल शक्ति अजय समेत अधिकारी मोजूद रहे।

  हरियाणा: ऐलनाबाद चुनाव को लेकर हुईं बातचीत
राणा ओबराय           चंडीगढ़। हरियाणा भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने वीरवार को राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज के सम्पादक राणा ओबराय से ऐलनाबाद चुनाव को लेकर हुई विशेष बातचीत में माना जीत तो जीत होती है। वह चाहे एक वोट से हो, साथ ही उन्होंने यह भी कहा हम चुनाव में अपने प्रदर्शन से पूरी तरह खुश हैं। क्योंकि हमारे प्रत्याशी ने 60 हजार वोट हासिल किए हैं। सम्पादक ने बराला से एक सवाल में पूछा कि विश्व की सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद भाजपा के पास चुनाव लड़ने के लिए प्रत्याशी क्यो नही होता। इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा चुनाव सिर्फ जितने के लिए लड़ा जाता है। 
यदि दूसरी पार्टी से भी कोई व्यक्ति जीतने वाला मिल जाता है तो हमारी पार्टी उसको चुनाव लड़वाने में परहेज नही करती। चुनाव में रणजीत सिंह की कार्यशैली के बारे में पूछने पर बराला ने बताया ऐलनाबाद चुनाव में जेलमंत्री रणजीत सिंह ने भाजपा प्रत्याशी की दिल से मदद की है। 
जब बराला से पूछा कि अब आसपास कोई चुनाव नही तो क्या करेंगे इस पर जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि संगठन को मजबूत करने के लिए काम करेंगे। जब बराला से यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव के बारे पूछा तो उन्होंने कहा जीत निश्चित है और योगी फिर से यूपी में भारी बहुमत के साथ सरकार बनायेगे।

गंदे पानी से मच्छर और आपदा फैल सकती हैं

गंदे पानी से मच्छर और आपदा फैल सकती हैं
संदीप मिश्र          
बाराबंकी। स्थानीय जनता ने मुख्यमंत्री सहित प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग से इस गंभीर मुद्दे को तत्काल जांच कराकर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही करने व बजट के दुरुपयोग की रिकवरी की मांग की है।
लोक निर्माण खंड तीन बाराबंकी के अभियंताओं ने जनता के दर्द को नजरअंदाज कर मोहारी पुरवा से दशहराबाग तक नाला निर्माण, सैंमवेल निर्माण , मानक के विपरीत कार्य को कराकर अपनी कमाई का जरिया बनाकर उच्च अधिकारियों को गुमराह करते हुए बहाने बनाकर बजट से अपनी जेबे भरने का काम किया और कराएंं जा रहे काम को एन, क्रेन, प्रकरेण, अनुभवहीनता, लेबर एवं साधन विहीनता का परिचय देते हुए निर्माण कार्य को लटका कर अपना बजट बढ़ाते रहें।
जहां एक और अभियंताओं ने भी खुलकर साथ दिया और निर्माण कार्य पूर्ण करने का समय पर समय बढ़ा कर उच्च अधिकारियों को गुमराह कर बजट से खेल खेला जाता रहा। वहीं दूसरी ओर दिखावे के लिए कार्य चलता रहा। 
जिसका खामियाजा बारिश होने पर कई मोहल्लों के निवासियों को घर के अंदर पानी भर जाने से लाखों का नुकसान उठाकर संतोष करना पड़ा ,जो आज भी जारी है। जिसका मुख्य कारण मोहारीपुरवा से नाला निर्माण के सभी बंघे खोल दिए गए आगे आखरी में नाला निर्माण पर बंघा लगाकर पानी रोकने दिया गया।
इतना ही नहीं नगर पालिका परिषद द्वारा पानी निकालने के कार्य में भी अभियंता व ठेकेदारों ने अपना सहयोग नहीं दिया। जिससे आज भी पानी भरा है।
ठंड को देखते हुए गंदे पानी से मच्छर एवं दैवी आपदा फैल सकती है।
अभियंताओं ने अगर इस ओर ध्यान न दिया तो कभी भी कोई आपदा से इनकार नहीं किया जा सकता।
गाजियाबाद: हिंडन एयर बेस का भ्रमण कराया
अश्वनी उपाध्याय         
गाजियाबाद। नेह नीड फाउंडेशन माधव कुंज शताब्दी नगर मेरठ द्वारा बच्चों को गाजियाबाद पुलिस द्वारा भारतीय वायु सेना के हिंडन एयर बेस का भ्रमण कराया गया। जहां उनको वायु सेना के बारे में बताया गया।ग्लोबमास्टर जैसे प्लेन एवं हेलीकॉप्टर एवं अनेक प्रकार के वायुयान दिखाए गए उसके उपरांत सभी बच्चों के साथ गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर थाने में बच्चों को भोजन कराया गया। 
बच्चों के साथ चर्चा की गई।फाउंडेशन की फाउंडर रीमा ने बताया कि वह सरस्वती विद्या मंदिर शताब्दी नगर परतापुर मेरठ में अनाथ बच्चों को पढ़ाती है एवं समय-समय पर उनको पुलिस ब्लॉक एवं अन्य स्थानों पर भ्रमण के लिए भ्रमण कर आती है।रीमा ने बताया कि पढ़ाई के साथ साथ सर्वागीण विकास की हमारी कल्पना है। बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ सामाजिक ज्ञान कराना ही हमारा उद्देश है। रीमा ने बताया कि गाजियाबाद पुलिस अधीक्षक देहात से उन्होंने वार्ता की एवं एसपी द्वारा बच्चों को भारतीय वायुसेना के अंदर एयरवेज का भ्रमण कराया गया। 
लोनी बॉर्डर थाने में एसपी, ग्रामीण, क्षेत्राधिकारी लोनी रजनीश उपाध्याय, लोनी बॉर्डर निरीक्षण प्रभारी सचिन कुमार, लोनी थाना प्रभारी अजय चौधरी, टोनिका सिटी थाना प्रभारी रविंद्र पंत एवं वरिष्ठ उप निरीक्षक प्रदीप शर्मा, उप निरीक्षक ब्रजकिशोर गौतम, राघवेंद्र तोमर आदि पुलिस के अधिकारी बच्चों के साथ-साथ रहे। बच्चों के साथ चर्चा की बच्चों ने बताया कि उनको बहुत अच्छा लगा।

जंगल में प्रेमी नहीं पहुंचा, तो शिकायत दर्ज की
हरिओम उपाध्याय       
कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के घाटमपुर के कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में शनिवार को प्रेम-प्रसंग का अनोखा मामला सामने आया है। जिसमें प्रेमिका पूरी रातभर जंगल में प्रेमी का इंतजार करती रही। लेकिन जब नहीं पहुंचा तो प्रेमिका ने थाने का रूख किया और सुबह थाने पहुंची और पुलिस से शिकायत की। जिसके बाद प्रेमी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। फिलहाल, ये मामले पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। क्योंकि रात में जंगल में अकेले थी और वहां पर कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था।
जानकारी के मुताबिक लड़की ने अपने प्रेमी के बारे में पुलिस से शिकायत की है और कहा कि वह उससे शादी करना चाहती है। यमुना किनारे स्थित एक गांव निवासी युवती ने बताया कि उसका दो साल से गांव के ही एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था और उसका प्रेमी दूसरे राज्य में प्राइवेट नौकरी करता है और दिवाली के त्योहार के दौरान घर आया था। इस दौरान उसकी मुलाकात हुई और दोनों ने शादी करने का फैसला किया। प्रेमी ने 11 नवंबर की रात 11 बजे उसे फोन किया और उससे तय जगह पर पहुंचने के लिए कहा. इसके बाद लड़की उस जगह पर पहुंच गई और प्रेमी उसे यमुना के किनारे जंगल में ले गया और कुछ देर बाद आने को कहा,  लेकिन उसके बाद नहीं आया। लड़की का कहना है कि वह पूरी रात तक बैठी रही लेकिन प्रेमी वापस नहीं लौटा और वह सुबह सुबह नौ बजे तक उसका इंतजार करती रही।  
इसके बाद लापता लड़की की तलाश करते हुए रिश्तेदार जंगल पहुंचे तो लड़की के बारे में पता चला। लड़की ने जब अपने घरवालों को आपबीती सुनाई। इसके बाद शनिवार को वह पिता के साथ कोतवाली पहुंची और पुलिस से शिकायत की। लड़की ने इस बात से इनकार किया कि उसने प्रेमी पर कुछ भी गलत किया है और कहा कि वह उससे शादी करना चाहती है। इंस्पेक्टर रामऔतार ने बताया कि युवक की तलाश जारी है। ताकि दोनों के बीच बातचीत हो सके।  
गाजियाबाद को पूरे भारत में 18वां स्थान मिला

अश्वनी उपाध्याय          गाजियाबाद। आश्चर्यजनक रूप से स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में गाज़ियाबाद शहर को पूरे भारत में 18वां तथा यूपी में दूसरा स्थान मिला है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की उपस्थिति में आज विज्ञान भवन नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के परिणामों की घोषणा की गई। इस समारोह में गाजियाबाद से महापौर आशा शर्मा, नगरआयुक्त महेंद्र सिंह तंवर, अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार और नगर स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहें। इसके अलावा गाजियाबाद शहर को बेस्ट बिग सिटी इन इनोवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिस (10 लाख से 40 लाख) पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है। इसके साथ ही गाजियाबाद को गार्बेज फ्री सिटी में 3 स्टार रेटिंग भी प्राप्त हुई।

आपको बता दें कि वर्ष 2019-2020 में भारत में 19वां स्थान तथा उत्तर प्रदेश में तीसरा स्थान। गाजियाबाद को स्वस्थ सर्वेक्षण में प्राप्त हुआ था। गार्बेज फ्री सिटी में पिछले साल 1 स्टार रैंकिंग मिली थी। इस अवसर पर नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर की ओर से शहर को और अधिक बेहतर बनाने तथा अगले साल बेहतर रैंकिंग लाने के लिए करने के लिए अभी से कमर कसने के निर्देश देते हुए अधिकारियों तथा सफाई कर्मचारियों को शुभकामनाएं भी प्रेषित की गई।

इंदौर को 5वीं बार 'स्वच्छ' शहर घोषित किया

विजय भाटी           इंदौर। इंदौर शहर को लगातार 5वीं बार देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ ने दिल्ली में आज स्वच्छ पुरस्कार दिए। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर शहर से हर दिन 1200 टन कचरा निकलता है। इसके बावजूद भी नगरपालिका और नागरिकों के सहयोग से मिली इस उपलब्धि के लिए इंदौर के सभी नागरिक बधाई के पात्र हैं।

पहली बार वर्ष 2017 में इंदौर को देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया था। उसके बाद से लगातार इंदौर ने पहले स्थान पर कब्जा जमाया हुआ है। इस बार इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में सर्वश्रेष्ठ शहर घोषित किया गया है। इसमें स्वच्छता मिशन के कार्यक्रम के तहत न केवल स्वच्छता का काम किया जाता है बल्कि इसके माध्यम से लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराया जा रहा है। इंदौर को डस्ट फ्री शहर माना गया है। यहां नदी नालों के गंदे पानी को पुनः उपयोग करने लायक बनाने का काम भी किया जाता है। सर्वेक्षण ने नतीजे अभी वैबसाइट पर अपलोड नहीं किए गए हैं। इसलिए अभी गाज़ियाबाद की रैंकिंग के बारे में कुछ भी कहना संभव नहीं है।

प्रयागराज: खुदकुशी मामलें में चार्जशीट दाखिल
बृजेश केसरवानी           
प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं बाघंबरी मठ के महंत नरेंद्र गिरि के कथित खुदकुशी मामलें में शनिवार को सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। सीबीआई की चार्जशीट आनंद गिरी समेत आध्या तिवारी संदीप तिवारी के खिलाफ है। नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आनंद गिरि समेत अन्य आरोपी नैनी जेल में बंद हैं। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष  महंद नरेंद्र गिरि का शव 20 सितंबर को प्रयागराज उनके आश्रम से मिला था। उस समय कहा गया था कि नरेंद्र गिरि ने खुदकुशी की है और उनकी मौत पर कई दावे किए गए थे। बाद में जांच सीबीआई ने जांच पड़ताल शुरू की। सीबीआई ने मुख्य आरोपी आनंद गिरि समेत अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है।

नरेंद्र गिरि की मौत मामले में सीबीआई ने आनंद गिरि के अलावा संदीप तिवारी और उसके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। सीबीआई ने दो महीने तक चली लंबी सुनवाई के बाद शनिवार को प्रयागराज सीजेएम कोर्ट में आनंद गिरि समेत तीनों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की। कोर्ट ने चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए 25 नवंबर की तारीख तय की है।
सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल होने के बाद तीनों आरोपियों की मुश्किलें बढ़ने वाली है। कुछ दिन पहले कोर्ट ने आरोपी आनंद गिरि की जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। 
नरेंद्र गिरि की मौत मामले में सीबीआई ने बाघंबरी गद्दी से जुड़े तमाम कर्मचारियों और मठ के साधु-संतों के बयान दर्ज किए है। इस मामले में एफआईआर की तहरीर देने वाले अमर गिरि, महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी बलबीर गिरि समेत नरेंद्र गिरि के वसीयत को तैयार करने वाले वकील, नरेंद्र गिरि के डॉक्टर्स, प्रॉपर्टी डीलर्स के बयान दर्ज किए हैं।

समाधान दिवस पर जनसमस्याएं सुनीं: कौशाम्बी
विजय कुमार         कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार एवं राधेश्याम विश्वकर्मा ने सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर तहसील चायल में जनसमस्याएं सुनीं एवं सम्बन्धित अधिकारियों को समयान्तर्गत व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। 
सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 82 शिकायतें प्राप्त हुई। जिसमें से 09 शिकायतों का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया। समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतें-भूमि विवाद, अवैध कब्जा, विद्युत, कृषि एवं पैमाइश आदि से संबंधित थी। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी राम दरस राम चायल क्षेत्राधिकारी श्यामा कांत, तहसीलदार दीपिका सिंह, नायब तहसीलदार मोहिब अहमद
 सहित तहसील स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

यूके: फिरौती मांगने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया

यूके: फिरौती मांगने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया
पंकज कपूर        
रुड़की। रूड़की की पिरान कलियर पुलिस ने अपहरण कर फिरौती मांगने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर एक महिला समेत चार युवको को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने पूरी प्लानिंग के साथ मुजफ्फरनगर निवासी एक व्यक्ति को अपने चुंगल में फंसाया और तय प्लानिंग के मुताबिक़ पीड़ित के परिजनों से फिरौती की मांग की, पीड़ित परिजनों ने पुलिस से गुहार लगाई तो सारा मामला खुलकर सामने आया।
बता दें कि रुड़की की गंगनहर कोतवाली में घटना का खुलासा करते हुए एसपी देहात परमेन्द्र सिंह डोभाल ने बताया कि करीब तीन दिन पूर्व मुजफ्फरनगर निवासी अब्दुल जब्बार पिरान कलियर आया था, और वापस अपने घर नही लौटा, तभी जब्बार के मोबाइल फोन से उसके परिजनों को कॉल आई और जब्बार के अपहरण की जानकारी देते हुए दो लाख रुपये की फिरौती की डिमांड की गई, पैसे ना देने के एवज में बलात्कार के झूठे मुकदमे में फंसाने और अंजाम भुगतने की धमकी भी दी गई थी। अपहरण और फिरौती की खबर सुनते ही परिजनों के होश फाख्ता हो गए, तभी परिजनों ने कलियर पुलिस को पूरा माजरा बताया, पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्लांनिग के साथ परिजनों को रकम देने की बात कही और फोन नम्बरों को ट्रेस किया, तभी आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए।
पुलिस ने एक महिला समेत नईम पुत्र नसीम निवासी बेलड़ा, समीर पुत्र सुल्तान निवासी रुड़की, आमिर पुत्र नसीम अहमद निवासी ग्राम बेलड़ा और आशिफ पुत्र फरहत निवासी महमूदपुर को गिरफ्तार किया है, साथ ही जब्बार को सकुशल बरामद कर लिया। आरोपियों के कब्जे से मोबाइल फोन भी बरामद हुए है।

लापरवाही: घायल व्यक्ति को मृत घोषित किया
हरिओम उपाध्याय    
मुरादाबाद। यूपी के मुरादाबाद में डॉक्टर्स की लापरवाही का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। सड़क हादसे में घायल व्यक्ति को प्राइवेट और सरकारी अस्पताल के डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। जिसके बदा उसे मोर्चरी में रख दिया गया। अलगे दिन सुबह घायल व्यक्ति को मोर्चरी में सांस लेते देखा गया।  जैसे ही इस बात की जानकारी डॉक्टर्स को मिली पूरे स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। जिसके बाद आनन-फानन में दोबारा उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद उसका इलाज फिर से शुरू किया गया। उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे बाद में मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया।  
हैरान करने वाली ये घटना संभल के हजरतनगर गढ़ी थाना इलाक के पोटा बराही गांव की है। यहां रहने वाले श्रीकेश गौतम को गुरुवार रात मंडी समिति के बाइक बाइक ने तेज टक्कर मार दी थी। इस घटना में वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। 
जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए दिल्ली रोड पाकबड़ा के एक प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। शुरुआती इलाज के बाद उन्हें मुरादाबाद के ब्राइट स्टार अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जब वहां भी उनकी हालत नहीं सुधरी तो उन्हें मझोला के साईं अस्पताल और इसके बाद कांठ रोड के विवेकानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया।
पीड़ित श्रीकेश गौतम के रिश्तेदार ने बताया कि विवेकानंद अस्पताल ने परिवार को बताया कि मरीज की मौत हो चुकी है।  यह बात सुनते ही उनके परिवार वाले बेसुध होगए। मृत घोषित किए जाने के बाद श्रीकेश का परिवार पूरी तरह से टूट चुका था।  
जिसके बाद शव समझकर उनको पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रख दिया गया। श्रीकेश के परिवार की मौजूदगी में जैसे ही अवधेश ने चोट के निशान नोट करने केलिए श्रीकेश की चादर उठाई तो उनके शरीर में उन्हें कुछ हलचल महसूस हुई। जिसके बाद वहां हड़कंप मच गया। सच का पता चलते ही श्रीकेश के परिवार ने वहां हंगामा खड़ा कर दिया साथ ही अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाया।


अमिताभ ने थ्रो बैक तस्वीरों को अपलोड किया

अमिताभ ने थ्रो बैक तस्वीरों को अपलोड किया 
कविता गर्ग        
मुंबई। बॉलीवुड में अभिनय की कलां से महानायक के रूप में जाने जाने वाले अभिनेता अमिताभ बच्चन ने अपने एकाउंट पर एक थ्रो बैक तस्वीरों को अपलोड किया है। इन तस्वीरों को देखकर यूजर्स विभिन्न प्रकार की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।
अभिनेता अमिताभ बच्चन ने अपने सोशल मीडिया पर एक फोटो अपलोड किया है। इसमें दो फोटो जोडकर एक फ्रेम में शेयर किये हैं। इन तस्वीरों में कोट पेंट में नजर आ रहा है लेकिन लुक अलग दिखाई दे रहा है। एक फोटो में उन्होंने चश्मा लगाया हुआ है, हाथ में घड़ी पहनी हुई है और स्माइल देते हुए पोज दे रहे हैं। दूसरी तस्वीर में भी वह अलग अंदाज में फोटो खिंचवाई हुई है। इस फोटो को शेयर करते हुए उन्होंने केप्सन में लिखा है कि जाने कहां गये ये दिन... उनकी यह तस्वीरें जवानी के वक्त की है। इस फोटो को देखकर यूजर्स ने लिखा कि चले गये है अब वापस लाकर दिखाओ सर।, आज भी हमारी यादो में जिंदा है... वो दिन।, आपके दिन तो अभी भी है सर।, सर इतनी रात में मच्छर मार रहे हो क्या।
मुंबई: जल्द रिलीज होगी 'आर्या सीजन 2' मूवी
कविता गर्ग      
मुबंई। राम माधवानी द्वारा निर्देशित आर्या सीजन 2 जल्द ही डिज्नी-हॉटस्टार पर रिलीज होगी। सुष्मिता सेन स्टारर इस एक्शन ड्रामा के पहले सीजन के लिए बहुत अच्छी समीक्षा मिली थी और हाल ही में, निर्माताओं द्वारा दूसरे सीजन 2 का शानदार और दमदार टीजर रिली किया गया है। सुष्मिता ने मुख्य भूमिका में एक बार फिर वापसी कर ली है और अब, एक्ट्रेस ने आर्या से उनके जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में बात की है।
सुष्मिता सेन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि आर्या से पहले, मैं एक अभिनेता की तरह थी, व्यक्तिगत मोर्चे पर भी, मुझे काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ा और साथ ही एक चुनौतीपूर्ण 5 साल की अवधि का सामना करना पड़ा। 
मुझे लगा कि यूनिवर्स को मुझे रिवॉर्ड देना था क्योंकि मैंने वहां पहुंचने के लिए बहुत मेहनत की है और मैं आर्या को वह रिवॉर्ड कह सकती हूँ।’
सुष्मिता ने आगे कहा, ‘यह सिर्फ प्रोफेशनल लेवल पर नहीं, बल्कि सही समय पर आया है। आर्या की भूमिका निभाना एक बढ़िया अनुभव रहा है और इसे सफलतापूर्वक करने के लिए, एक मां और एक महिला के रिश्ते को प्रदर्शित करना, जो परिवार को एक साथ रख सकती है, भले ही परिवार अंडरवर्ल्ड और ड्रग माफिया का हो, आप सभी को एक साथ जोड़ते हैं।’
सुष्मिता आगे कहती हैं, ‘मुझे लगता है कि आर्या ने कई लेवल पर मेरी जिंदगी बदल दी है। एक अभिनेता के रूप में इसका हिस्सा बनना एक रोमांचक अनुभव था और यह प्यारी सीरीज है। मुझे लगता है कि यह एक ऑल-राउंड अनुभव था जिसने निश्चित रूप से मेरे जीवन को बेहतर के लिए बदल दिया है।
याद दिला दें कि हाल ही में मेकर्स द्वारा आर्या 2 का टीजर जारी किया गया था जिसमें दर्शकों को सुष्मिता के गुस्सैल लुक को करीब से देखने का मौका मिला जिसके बाद अब सभी को सीरीज़ के रिलीज़ होने का इंतजार है। बता दें कि अभी तक डिज़्नी-हॉटस्टार पर रिलीज होने वाले ‘आर्या 2’ की रिलीज डेट सामने नहीं आई है।

 

एटीपी फाइनल्स के सेमीफाइनल में प्रवेश किया

एटीपी फाइनल्स के सेमीफाइनल में प्रवेश किया
अखिलेश पांडेय          
तूरिन। एक साल पहले ही विश्व रैंकिंग में शीर्ष 30 में पहुंचे नॉर्वे के 22 वर्ष के कैस्पर रूड ने सत्र के आखिरी एलीट एटीपी फाइनल्स के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। इससे पहले शीर्ष वरीयता प्राप्त नोवाक जोकोविच, दूसरी रैंकिंग वाले दानिल मेदवेदेव और तीसरी रैंकिंग वाले अलेक्जेंडर ज्वेरेव पहले ही सेमीफाइनल में पहुंच चुके हैं।
रूड ने आंद्रे रूबलेव को 2, 6, 7, 5, 7, 6 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई। अब उनका सामना अमेरिकी ओपन चैम्पियन मेदवेदेव से होगा। इससे पहले औपचारिकता के एक मैच में जोकोविच ने ब्रिटेन के कैमरन नॉरी को 6, 2, 6, 1 से हराया। नॉरी चौथी रैंकिंग वाले स्टेफानोस सिटसिपास की जगह खेल रहे हैं।

योगासन तरीके से समस्याओं का निवारण
मो. रियाज         योग शारीरिक और मानसिक हर तरह की समस्याओं का निवारण नेचुरल तरीके से करता है। मोटापे की समस्या से परेशान हों या फिर तनाव ग्रस्त हों। नियमित योगासन करने से दोनों ही परेशानियों का हल निकलता है और असर देखने को मिलता है। इतना ही नहीं शरीर संबंधी कोई भी रोग हो। जैसे कम लंबाई होने पर भी योगासन से काफी हद तक अपनी लंबाई बढ़ा सकते हैं। बच्चे हो या बड़े नियमित योगाभ्यास से लंबे हो सकते हैं। दरअसल मानव शरीर अपने जींस के मुताबिक ही ग्रोथ पाता है। ऐसे में कई बच्चों या बड़ों की लंबाई कम हो सकती है। हर इंसान अच्छी लंबाई चाहता है। इसलिए वह शारीरिक कसरत से लेकर दवाएं और बूस्टर आदि का सेवन तक करने लगते हैं। हालांकि इन उपायों से लंबाई बढ़ने के चांस कम होते हैं। लेकिन योगासन से नेचुरल तरीके से लंबाई बढ़ाई जा सकती है। चलिए जानते हैं लंबाई बढ़ाने वाले योगासन के बारे में। 
ताड़ासन: इस आसन को करने के लिए अपने दोनों एड़ी और पंजे के बीच कुछ दूरी बनाकर सीधे खड़े हो जाएं। दोनों हाथों को कमर की सीध से ऊपर ले जाते हुए हथेलियों और उंगलियों को मिलाएं। नजर सामने और गर्दन सीधी रखें। पैरों की एड़ियों को ऊपर की ओर उठाते हुए पूरे शरीर को भार पंजो पर दें। पेट को अंदर रखें। संतुलन बनाते हुए इसी अवस्था में कुछ देर रहें।
शीर्षासन: लंबाई बढ़ाने के लिए ये योगासन करते समय घुटनों के बल बैठ जाएं। अब सांस लेते हुए सिर को घुटनों से होते हुए फर्श तक ले जाएं। दोनों हाथों की उंगलियों को सिर के पीछे से पकड़ते हुए पीछे के भाग को सहारा दें। अब पैरों को धीरे धीरे ऊपर उठाएं और एकदम सीधा रखें। आप इसके लिए दीवार का सहारा ले सकते हैं। अपना शरीर सीधा रखें। संतुलन बनाते हुए इस पोजीशन में 20 सेकेंड तक रहें। इस दौरान गहरी सांस लें। फिर सांस छोड़ते हुए पुरानी वाली मुद्रा में आ जाएं। 
वृक्षासन:  लंबाई बढ़ाने के लिए इस योगासन को करने के लिए फर्श पर एक पैर के बल पर खड़े हो जाएं। अब हाथों को बगल में रखें और बाएं पैर पर खड़े होते हुए दाहिने पैर को घुटनों पर मोड़ लें। इस अवस्था में संतुलन बना कर रखें और फिर दोनों हाथों को सिर के ऊपर से उठाते हुए कोहनी को मोड़ें। अब अपनी हथेलियों को आपस में मिला लें। धीरे धीरे सांस लेते हुए कुछ देर इस पोजीशन में रहें और फिर दूसरे पैर से भी यही प्रक्रिया दोहराएं। 
चक्रासन: लंबाई बढ़ाने के लिए आप चक्रासन कर सकते हैं। इसे करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल लेटकर अपने दोनों हाथों और पैरो को एक सीध में रखें। अब पैरों के घुटनों को मोड़ते हुए दोनों हाथों को पीछे की ओर ले जाएं। दोनों पैरों पर वजन डालते हुए कूल्हों को ऊपर की ओर उठाएं। फिर दोनों हाथों पर भी अपना वजन डालें और कंधों को ऊपर उठा लें। जमीन से शरीर को उठाते समय अपने हाथ और पैर को पूरी सीध में रखें।

किसानों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेना चाहिए

किसानों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेना चाहिए
हरिओम उपाध्याय     
लखनऊ। आंदोलन के बाद तीन विवादित कृषि कानूनों की वापसी की केन्द्र सरकार की घोषणा का वह स्वागत करती हैं। फिलहाल इसे चुनावी स्वार्थ व मजबूरी का फैसला बताकर बीजेपी सरकार की नीयत पर भी शक किया जा रहा है और इसलिए केन्द्र सरकार को इसको लेकर कुछ ठोस फैसले करने की जरूरत है।   
उन्होंने लिखा है कि केन्द्र सरकार को किसानों की उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने के लिए नया कानून बनाना चाहिए और किसानों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेना चाहिए।  
मायावती ने लिखा है कि देश की आन, बान व शान से जुड़े अति गम्भीर मामलों को छोड़कर आंदोलन कर रहे किसानों पर दर्ज सभी मुकदमों की जल्द से जल्द वापस लेना चाहिए और इसके लिए केन्द्र सरकार को पहल करनी चाहिए।

3 कैबिनेट मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा दिया
नरेश राघानी         
राजस्थान। आज शाम करीब पांच बजे अशोक गहलोत कैबिनेट की बैठक होने वाली है। सूत्रों के अनुसार इस बैठक में सभी मंत्री इस्तीफा दे सकते हैं। पहले ही तीन कैबिनेट मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं। इसकी जानकारी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय माकन की ओर से दी गई है। 
इन तीन मंत्रियों में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और राजस्व मंत्री हरीश चौधरी शामिल हैं।

कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की घोषणा 
अकांशु उपाध्याय          
नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा की। पृष्ठभूमि में शनिवार को आरोप लगाया कि सिर्फ भाजपा की सरकार में कैबिनेट की मंजूरी के बिना कानून बनाए और निरस्त किए जाते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा करते हुए कहा कि संसद के आगामी सत्र में इसके लिए समुचित विधायी उपाय किए जाएंगे।
चिदंबरम ने ट्वीट किया, ”गृह मंत्री ने प्रधानमंत्री की घोषणा को एक राजनेता की तरह उठाया गया कदम बताकर सराहना की। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री को किसानों की बहुत फिक्र है। रक्षा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने किसानों के कल्याण को ध्यान में रखकर फैसला किया है।
उन्होंने सवाल किया, ” पिछले 15 महीनों में ये योग्य नेता और उनकी अच्छी सलाह कहां थी? क्या आप लोगों ने इसका संज्ञान लिया कि प्रधानमंत्री ने कैबिनेट की बैठक के बिना ही यह घोषणा की?” पूर्व गृह मंत्री ने आरोप लगाया कि यह सिर्फ भाजपा के शासन में होता है कि कानून कैबिनेट की मंजूरी के बगैर बनाए और निरस्त किए जाते हैं।

किसानों की मांग को मान लेना चाहिए: वरुण
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद वरुण गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को कानूनी रूप से बाध्यकारी बनाने से संबंधित किसानों की दूसरी मांग को मान लेना चाहिए। शनिवार को गांधी ने प्रधानमंत्री की ओर से किये गए कृषि कानून वापस लेने की घोषणा का स्वागत करते हुए अपने पत्र में लिखा है कि किसानों की दूसरी मांग को स्वीकार करने से किसानों को एक बहुत बड़ा आर्थिक सुरक्षा चक्र मिल जायेगा।
उन्होंने लखीमपुर खीरी घटना की निष्पक्ष जांच कराने और इसमें घटना के आरोपित एक केन्द्रीय मंत्री पर सख्त कार्यवाही करने की मांग की । गांधी ने पत्र में लिखा है कि देश के किसानों ने भीषण बारिश, तूफान और विपरीत मौसम का सामना करते हुए आंदोलन को शांतिपूर्ण तरीके से जारी रखा। इसके लिए किसानों को बधाई दी जानी चाहिए।
उन्होंने लिखा कि अगर कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला उचित समय पर कर लिया जाता तो उन 700 किसानों की जान बचाई जा सकती थी जिन्होंने इस आंदोलन की राह में अपने प्राण न्योछावर कर दिए।
भाजपा सांसद ने किसान आंदोलन में मारे गए सभी 700 किसानों के लिए एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा दिए जाने की भी मांग की है जिससे पीड़ित परिवार आसानी से अपना जीवन गुजार सकें। उल्लेखनीय है कि किसान आंदोलन और किसानों की मांगों का समर्थन करते हुए इस मुद्दे पर  गांधी पूर्व में कई बार अपनी ही सरकार के खिलाफ मुखर होकर बोलते रहे हैं।

कृषि कानूनों को निरस्त करने का फैसला किया

कृषि कानूनों को निरस्त करने का फैसला किया 
सुनील श्रीवास्तव     
वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी सांसद एंडी लेविन ने भारत में तीन कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने के फैसले का स्वागत किया है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को घोषणा की कि सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने का फैसला किया है। जिसे लेकर पिछले साल से किसान प्रदर्शन कर रहे हैं।
उन्होंने प्रदर्शन कर रहे किसानों से घर लौटने की अपील की। कांग्रेस सदस्य एंडी लेविन ने शुक्रवार को कहा, ”यह देखकर खुशी हुई कि प्रदर्शन के एक साल से भी अधिक समय बाद भारत में तीन कृषि कानूनों को निरस्त किया जाएगा। 
यह प्रमाण है कि जब भारत और दुनियाभर में कामगार एक साथ आ जाते हैं तो वे कॉरपोरेट हितों को हरा सकते हैं और प्रगति कर सकते हैं।
गुरु नानक जयंती के पावन अवसर पर शुक्रवार को राष्ट्र को दिए संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये कानून किसानों के फायदे के लिए थे लेकिन वह जनता से क्षमा चाहते हैं कि सरकार किसानों के एक वर्ग को राजी नहीं कर सकी।
नैंसी पेलोसी को जान से मारने की धमकी दीं
सुनील श्रीवास्तव        
वाशिंगटन डीसी। अमेरिका एरिजोना में अमेरिकी अटॉर्नी कार्यालय ने कहा कि बुलहेड के एक शख्स को प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी को जान से मारने या नुकसान पहुंचाने की धमकी देने का दोषी ठहराया गया है। कार्यालय ने शुकव्रार को एक वक्तव्य में बताया कि न्यायाधीश ने 77 वर्षीय स्टीवन आर्थर मार्टिस को पेलोसी को जान से मारने या नुकसान पहुंचाने की धमकी देने का दोषी पाया।
उसे 25 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी। ये धमकियां गत जनवरी में दो बार फोन करके दी गयी। जिसके बाद संघीय जांच ब्यूरो ने उसका पता लगाया। उन्होंने बताया कि उसे पूर्व में ऐसी धमकियां देने को लेकर आगाह किया गया था। इस बीच, एक संघीय मजिस्ट्रेट ने अलास्का के सीनेटरों के खिलाफ धमकी भरे संदेश देने के आरोपी एक शख्स की हिरासत बरकरार रखने का शुक्रवार को आदेश दिया।
अलास्का अमेरिकी अटॉर्नी कार्यालय की प्रवक्ता लीजा ह्यूगटन ने ईमेल में बताया कि अदालत ने जे एलेन जॉनसन को हिरासत में रखे जाने का आदेश दिया है। इस हफ्ते की शुरुआत में अदालत ने जॉनसन को एक अमेरिकी अधिकारी की हत्या करने, आग्नेयास्त्रों को रखने और आग लगाकर संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धमकी देने का दोषी ठहराया था। डेल्टा जंक्शन के जॉनसन पर अमेरिकी सीनेटर लीजा मर्कोव्स्की और डैन सुलिवन को धमकियां देने का आरोप है।

वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई

वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई
अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई। हालांकि तेज हवाओं के कारण रविवार से इसमें उल्लेखनीय सुधार आने की उम्मीद है। शनिवार को सुबह नौ बजे दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 377 दर्ज किया गया। शुक्रवार को यह आंकड़ा 370 था। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली।
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो मौसम के औसत तापमान से दो डिग्री अधिक है। पड़ोसी जिले गाजियाबाद (342), गुड़गांव (340) और नोएडा (363) में भी वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गयी।
शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ”अच्छा”, 51 और 100 के बीच एक्यूआई को ”संतोषजनक”, 101 और 200 के बीच ”मध्यम”, 201 और 300 के बीच ”खराब”, 301 और 400 के बीच ”बेहद खराब” तथा 401 और 500 के बीच एक्यूआई को ”गंभीर” श्रेणी में माना जाता है। संबंधित प्राधिकारियों के अनुसार, तेज हवाएं चलने के कारण रविवार से वायु गुणवत्ता में सुधार होने की संभावना है।

प्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने शहर में गैर आवश्यक सामान ला रहे ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध और स्कूल तथा कॉलेज अगले आदेश तक बंद रखने समेत 10 दिशानिर्देश बुधवार को जारी किए। दिल्ली में शनिवार को अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। सुबह साढ़े आठ बजे सापेक्ष आर्द्रता 85 फीसदी दर्ज की गई। मौसम विभाग ने दिन में आसमान में बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है।

क्रिप्टोकरेंसी को 'परिसंपत्ति' के रूप में मान्यता
अकांशु उपाध्याय          नई दिल्ली। आरएसएस से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच ने कहा है कि सरकार को क्रिप्टोकरेंसी लेनदेन को ”परिसंपत्ति वर्ग” के रूप में मान्यता देने और इसे विनियमित करने के लिए एक कानून लाना चाहिए। स्वदेशी जागरण मंच (एसजेएम) के सह-संयोजक अश्विनी महाजन ने सुझाव दिया कि सरकार को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि डेटा और हार्डवेयर घरेलू सर्वर पर ही रहे, जो क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन में उपयोग किया जाता है।
उन्होंने कहा कि इससे सरकार को अवैध लेनदेन का पता लगाने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा, ”वर्तमान में, दुनिया में कहीं से भी कोई भी निजी संस्थाओं द्वारा संचालित निजी एक्सचेंजों के माध्यम से इसमें निवेश कर सकता है। और इससे भी बुरी बात यह है कि क्रिप्टोकरेंसी को किसी भी केंद्रीय प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है।
उन्होंने कहा कि निजी एक्सचेंजों के माध्यम से एन्क्रिप्टेड लेनदेन कैसे किए जा रहे हैं, इसमें निवेश करने वाले
कौन हैं और निवेशक उनके साथ क्या कर रहे हैं, यह देखने के लिए कोई तंत्र नहीं है।
महाजन ने कहा, ”क्रिप्टोकरेंसी को विनियमित करने और इसके साथ किए गए लेनदेन को परिसंपत्ति वर्ग के रूप में मान्यता देने के लिए कानून की आवश्यकता है। इससे कराधान और राष्ट्रीय सुरक्षा के उद्देश्यों के लिए
लेनदेन की बेहतर समझ विकसित करने में मदद मिलेगी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-33 (वर्ष-05)
2. रविवार, नवंबर 21, 2021
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:42, सूर्यास्त 05:27।
5. न्‍यूनतम तापमान -12 डी.सै., अधिकतम-26+ डी.सै.। 
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक शिवाशुं व राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...